बीएफ व्हिडीओ देसी

छवि स्रोत,दिनांक का शुद्ध रूप

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स वीडियो बीपी हिंदी: बीएफ व्हिडीओ देसी, मैंने अपने आप को संभाला और कहा- फिर मेजबान और मेहमान दोनों तैयार हैं तो शुरू करें पार्टी?उसने कहा- यहाँ नहीं।फिर कहाँ, कहीं और चलना है क्या?” मैंने पूछा.

योगा करने वाली सेक्सी वीडियो

सोनम रानी, फिर तो एक ही तरीका है कि तू किसी से जी भर के चार छः बार चुदवा ले. ससुर पत्तों का सेक्सी वीडियोलेकिन तभी बस ने ब्रेक लगाए और एक झटका इतनी जोर लगा कि मुझसे सम्भला ही न गया और मेरे चुचे उसकी छाती से रगड़ खा गए.

परवीन की चूत में भी आग लगी हुई थी और मैं भी मौका खोना नहीं चाहता था. हिंदी आदिवासी सेक्सीजब उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा तो मैं थोड़ा सा घबरा गया, मैं उसके लंड पर हाथ रख कर ऐसे ही लेटा रहा.

कमसिन कॉलेज गर्ल के साथ मेरी सेक्स कहानी में अभी तक आपने पढ़ा कि डॉली को चोदने के बाद हम दोनों नंगे ही लिपटकर सो गये.बीएफ व्हिडीओ देसी: एक बात और मैं अपनी कॉपी में चूत का चित्र बनाती लण्ड का चित्र बनाती, कभी चूत में लण्ड घुसा हुआ चित्र बनाती और फिर उसे एकटक देखती रहती या वो कागज़ अपनी चूत में रगड़ने लगती.

अगले ही पल भाभी ने मेरी लोअर को खींच दिया और मेरी जांघों को नंगी करते हुए मेरे लंड को अंडरवियर में तना हुआ छोड़ दिया.आह … लंड चुसाई का क्या गर्म अहसास था … इसके सामने तो मानो चूत की चुदाई भी फीकी पड़ जाए.

दिनेश लाल यादव की पत्नी कौन है - बीएफ व्हिडीओ देसी

परवीन मेरे लंड पर अपने होंठों को घुमा रही थी, तो मुझे बहुत ही मज़ा आने लगा.तुम प्लान बताओ कि कैसे सेलिब्रेट करना है?मैंने बोला- कल सुबह जिम में मिलते हैं … फिर सोचते हैं.

भाभी को अब पहले से भी ज्यादा मज़ा आ रहा था, इसलिए वो खुल कर अब मेरा साथ दे रही थीं. बीएफ व्हिडीओ देसी उन्होंने प्यार से एक चांटा मेरे गाल पे लगा दिया और मेरी गर्दन में हाथ डाल कर मुझे अपने और भी करीब खींच लिया.

मैं खुद घुटने के बल बेड पे खड़ा हुआ और लौड़ा पीछे से उसकी चुत पे सैट करके एक झटके में पेल दिया.

बीएफ व्हिडीओ देसी?

मैंने अपना लंड उसके आगे किया, तो उसने झट से पकड़ लिया और मुँह आगे करके चूसने के लिए लपकी. अब धीरे धीरे मैं उनकी मैक्सी ऊपर सरकाने लगा और कुछ समय में मैक्सी अलग हो चुकी थी. उसे पता था कि मुझे उसके लंड से चुदने में मजा आ रहा है इसलिए मैं झट से उसकी बात मान गयी.

साथियो, आपके लौड़े खड़े हो रहे होंगे और आप सोच रहे होंगे कि वो लौंडिया कैसी दिखती होगी. चाची बोलीं- अब उदासी ही मेरी किस्मत में है, वह तो मेरी बेटी और तुम मेरी किस्मत में हो. मौसी की चूत में लंड गपागप की आवाज के साथ उनकी चूत की चुदाई करने लगा.

जब मैं चाची के घर पहुंचा तो वह एक लम्बी सी मैक्सी में बैठी हुई कपड़े धो रही थी. मैंने अब अपने लंड में वैसलीन लगा ली और थोड़ी वैसलीन उसकी चुत पे लगाकर उसके ऊपर लंड सैट कर दिया. राहुल खड़ा खड़ा कसमसाता रहा और सीमा के घुंघराले बालों में उंगलियाँ फिराता रहा.

हल्का फुल्का तैयार होकर मोहल्ले की नजर से बचते हुए हम दोनों एक रेस्टोरेन्ट पहुंचे, जहां पर खाना खाया गया और फिर पैदल ही पास की मार्केट में टहलने लगे. मैं काम के नशे में चूर थी, उसने कब मेरे मुँह के अन्दर लंड डाला और कब मैं लंड चूसने लगी, कुछ पता ही नहीं चला क्योंकि ये काफी जल्दी हुआ.

चाची जी धीरे से बोलीं- तुमने मुझे आज जो खुशी दी है, वह मुझे आज तक नहीं मिली, आज के बाद से मैं तुम्हारी दीवानी हो गई हूं.

नम्रता के निप्पल टाईट होने लगे थे, जो अभी तक सूखे हुए अंगूर की तरह लग रहे थे.

फिर उसको अपने शरीर से थोड़ी दूर हटाकर उसने उसके चूचों को चूसना शुरू कर दिया. उनका एक हाथ मेरी छाती पर सांप की तरह सरक रहा था और दूसरा हाथ नीचे मेरी लोअर में तने लौड़े पर जाकर उसको और ज्यादा जोशीला बना रहा था. अब मैं उनकी चुत चाटने लगा था और मैं एक बार पैन्ट में झड़ भी चुका था.

मेरी पूरी पैंटी उसके लंड के पानी से भर गई हम थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे. भाभी- सच रोमी?मैं- सच भाभीजी, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और हर पल आपके बारे में सोचता रहता हूं. फिर उसने उठ कर सुइट के मिनी फ्रिज से एक बोतल निकाली, जो शैम्पेन की थी.

उन्होंने मुझे दिवाल से सटा दिया और अपने लंड को मेरी गांड की तरफ से मेरी ताजी फटी चुत में डालने लगे.

सॉरी मास्टर उम्म्म हम्म फ़क योर लिटिल स्लट हार्डर मास्टर (अपनी इस छोटी सी रंडी को और जोर से चोदो)मैंने उसके दूध मसलते हुए चुदाई तेज कर दी. प्रिया- तुम क्या करते हो?मै- बताया तो था कि पढ़ाई।प्रिया- मैं भूल गई थी। तुम्हारी गर्लफ्रैंड है?मैं- नहीं!प्रिया- क्यों? काफी हैंडसम हो, फिर भी एक भी नहीं है हो ही नहीं सकता।मैं- सचमें नहीं है. जब मेरी चूत की प्यास बढ़ने लगी तो मैं अपनी सहेलियों के साथ ही मिलकर अपनी चूत को शांत कर लेती थी.

सीमा की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’पर अब दोनों एक जान होकर चुदाई में लग गए थे. ऐसा लग रहा था कि बहुत दिनों से भाभी एक मर्द के होंठों की प्यासी है. अब वो तेज स्वर में बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक मी … फक हार्ड … (चोदो चोदो चोदो और तेज चोदो)मैं और तेज धक्के देने लगा.

सीमा बोली- तुम अब रुक कर कपड़े बदल कर कॉफ़ी पीकर जाना, वर्ना बीमार पड़ जाओगे.

हम दोनों बुरी तरह से उत्तेजित भी थे इसलिए जल्दी-जल्दी में लंड फिसल रहा था. वो बोली- मैं अभी सिखा दूँगी … अभी और भी बहुत कुछ सिखाना पड़ेगा तुम्हें.

बीएफ व्हिडीओ देसी मैंने बगल के टेबल पे रखी नारियल के तेल की शीशी उठाई और उसको उसकी गांड पे धार लगा कर तेल डाल दिया. भाबी- मुझे ऐसे देखते हुए तुम्हें शर्म नहीं आती क्या? ऑश … सॉरी में तो भूल ही गई थी … शर्म और तुम्हें … जो कि अपने भाई की वाइफ को ऐसे चोदता हो, उसे शर्म किधर से आती होगी.

बीएफ व्हिडीओ देसी मैंने थोड़ी हिम्मत करके दीदी के कंधे पर से दूसरी तरफ के स्तन को स्पर्श किया. चूँकि भाभी मुझसे अभी इतनी नहीं खुली थीं, तो वो कहीं और चलने की ज़िद करने लगीं.

मैं बोली- धीरे डाल साले कुत्ते … साले अपने लंबे लंड से क्या मेरी चुत फाड़ देगा?वह बोला- रुक जा मेरी रंडी … अभी तो शुरूआत है, आगे आगे देख क्या होता है.

हरियाणी सेक्सी

मैं तो बस इसी बारे में एक रिक्वेस्ट करने आया था आपसे बात करने के लिए. यह वो पल होता है जिसकी जद में आये हुए लोग और उनकी आइंदा तमाम नस्लें भी सदियों तक इस पल के फ़ैसले के पाबन्द रहते हैं. एक दिन मैंने भी रूपाली की तरह ही अपने रूम में फोन को छिपाकर रख दिया.

मैं यही सोचा करता था कि कब मैं भी चुदाई के मज़े लूँगा, वो समय कब आएगा. पवन अपना हाथ मेरी कमर के पीछे से निकालते हुए मेरे हाथ पर रखते हुए बोला- मैडम, आपने तो कहा था कि आप एक बार पकड़ने के बाद छोड़ती नहीं पर आपने तो बहुत ढीला पकड़ा हुआ है, आज थोड़ा टाइट पकड़ लो नहीं तो फिर गाड़ी तेज कैसे दौड़ेगी. कुछ देर बाद चाची- अरे कोई देख लेगा … किसी को पता चल गया, तो क्या होगा.

फिर शोभा ने मम्मी को खड़ा किया और साड़ी उतार दी- ये मालिनी है, कामिनी की मम्मी। कुछ दिन पहले ही मैंने इसकी बच्चेदानी की सफाई की थी.

मैंने बगल के टेबल पे रखी नारियल के तेल की शीशी उठाई और उसको उसकी गांड पे धार लगा कर तेल डाल दिया. तभी मैंने अपना लंड पीछे कर लिया, जिससे लंड उसके हाथ से निकल गया और वो खड़ी हो गयी. मैंने सोचा कि शायद हो सकता है कि अनजाने में काजल का हाथ मेरी जांघ पर आ गया हो इसलिए इतनी जल्दी किसी निष्कर्ष पर पहुंचना ठीक नहीं था.

मैं जानता था कि अगर हेतल यहां पर हमारे साथ रुकने के लिए आई तो वह मेरे लंड को अपनी चूत में लेने का भी प्लान बनायेगी. इतना कह कर उसने मेरे गाल पे हल्का सा किस किया और मुझे ‘आई लव यू’ बोला. नम्रता मेरे बताये पोजिशन के अनुसार खड़ी हो गयी और उसने अपने दोनों कूल्हों को पकड़कर फैला दिया.

अब वो सिर्फ पैंटी में थी और मैं चड्डी में!इसके बाद मैंने उसकी पैंटी उतारी और उसने मेरी चड्डी. जब हम दोनों एक साथ झड़ने को हुए, तो उसने बोला- मैं भी आ रही हूँ … मेरा भी होने वाला है.

मां ने पूछा- कहां पर?अंकल- सुबह जब आप उस आदमी का लंड चूस रही थीं पूजा जी. यह सुनते ही मेरी आंखों में चमक आ गयी और मैंने उसको कस कर चूम लिया और उसके मम्मों को साड़ी के ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया. फिर अचानक ही दोनों का शरीर अकड़ गया और दोनों की वासना का ज्वार उमड़ पड़ा.

कभी हाथ कभी मुंह से होते होते वो समय आ आ गया कि मैंने उससे मुंह खोलने को कहा और कहा- जब तक मैं न रोकूं, तुम चूसती रहना और जो जीवन अमृत निकले गटकती जाना.

सोनू ने एक बार तो पीछे हटने की कोशिश की मगर मैंने उसकी गर्दन को नहीं छोड़ा. उसके गोरे चूचे और उसके चूचों पर ब्राउन रंग के निप्पल देख कर अजय ने उसके निप्पलों को मसलना शुरू कर दिया. अब हमारे दोनों के बीच का फ़ासला कम हो गया था, शरीर आपस में सट चुके थे और दोनों एक दूसरे के शरीर की गर्मी महसूस कर रहे थे.

कमसिन जवान कॉलेज गर्ल की नंगी चूत देखकर लण्ड फिर खड़ा हो गया था लेकिन ऐसी हालत में चोदना मुनासिब नहीं था. मैं जानता था कि अगर हेतल यहां पर हमारे साथ रुकने के लिए आई तो वह मेरे लंड को अपनी चूत में लेने का भी प्लान बनायेगी.

पर ये सब दूर दूर से हो रहा था, मेरे बदन को छूने की उनकी हिम्मत नहीं हो रही थी, या फिर वो मुझसे ग्रीन सिग्नल मिलने की राह देख रहे थे. मैंने अपनी किताब साइड में रख दी … और शोना की तरफ करवट लेके लेट गया. मैंने सोचा कि भाभी को देखने का कल वाला समय ही सही रहेगा क्योंकि रात में जाने में खतरा था.

देसी वीडियो सेक्सी एचडी

मेरे भैया एक कंपनी में काम करते हैं।भैया की शादी को दो साल हो चुके हैं। मेरी भाभी की उम्र 24 साल है.

दोस्तो, मैं नीतीश (मेरठ से) एक बार फिर हाजिर हूं अपनी अगली कहानी को लेकर. मैं नहाकर आती हूं।मैं बाथरूम के सामने ही कुर्सी लगा कर बैठ गया।भाभी- अरे यहां क्यों बैठे हो? बरामदे में बैठो न?मैंने कहा- भाभी आप नहा लो न। नहलाने तो आप दे नहीं रही हो। तुम्हें नहाते हुए ही देख लूं।हट बेशर्म!” भाभी ने झेंपते हुए जवाब दिया।मैं- भाभी प्लीज़, बहुत दिन हो गए हैं किसी को नहाते हुए नहीं देखा। तुमसे दूर तो बैठा हूँ. मैंने लंड बाहर निकलवा दिया और बिस्तर पर अपनी टांगें खोल कर मुँह के बल लेट गयी.

इसलिए भाभी मुझे देखते ही सबसे पहले अपनी मैक्सी का गला ठीक करती थीं. एक महीने बाद भाभी अपने पति के पास चली गई क्योंकि उनको मेरे बीज से बच्चा चाहिए था. सेक्स पावर बढ़ाने के लिए क्या करेंआप जो बोलोगे मैं वो करूंगी।तब रमेश अंकल हंसने लगे और बोले- ये हुई ना बात.

उस घर में मेरी शादी करवा कर आज वो भी पछता रहे हैं, पर मैं उन्हें खुश हूँ, ऐसे दिखा देती हूँ. उसके लंड को चूसने के बारे में सोचते हुए मैंने अपने छोटे से लंड की मुट्ठ मारी और अपना पानी अंडरवियर में ही निकाल दिया.

लेकिन ज्यादा दबाने और चूसने के कारण मेरे मम्मे काफी आकर्षक हो गए हैं. जब भी वो पानी लेने या नहाने जाती थीं, मैं छुप कर देखने की कोशिश करता रहता था. अभी के लिए पड़ोसन की चूत की चुदाई की कहानी पढ़ने के लिए आप सभी का बहुत धन्यवाद.

अब मैंने उसको खड़ा किया और बाइक पर झुका के वापिस घोड़ी बना दिया और उसकी साड़ी ऊपर कर दी. तो वो बोली- मुझे अब बहुत नींद आ रही है, तंग मत करो!उस दिन से पहले कभी कौसर बेगम ने मुझे ऐसा कभी नहीं कहा था. मैंने इससे पहले साहिल को हीना की बस एक ही फोटो दिखाई थी जिसको देख कर साहिल मुट्ठ मारा करता था.

यह कह के उन्होंने मेरे छेद पर थूका और बोला- आज तो तेरी गांड फाड़ के ही रहूँगा.

मैं झड़ने वाला था, करीब 4-5 झटकों में चूत में ही अपना लावा निकाल दिया. कमर के ख़म के और नीचे हाथ ले जाने की बजाए मैंने पैंटी के इलास्टिक के साथ-साथ पेट के सेंटर की ओर हाथ बढ़ाया.

उस दिन मुझे बहुत गर्व हो रहा था अपने भाई के लंड पर। मगर मैंने अपने भाई के मोटे लंड से चूत को चुदवा कर मजा लेना जारी रखा. उसने भी किस में पूरा साथ दिया। अब अक्षिता का भी सब्र जवाब दे रहा था. सुमन भाभी का फिगर 36-24-36 का था, उनके पति आर्मी और जम्मू और कश्मीर में पोस्टेड हैं.

जब मुझसे नींद बर्दाश्त नहीं हुई तो मैं वहीं सोफे पर ही आंख बंद करके लेट गया. उनको मैंने अपना टारगेट इसलिये बनाया था क्योंकि मैं बहुत दिन से देख रही थी कि उनकी कामुक निगाहें हर पल मेरा पीछा करती हैं. मैंने उसकी गांड के दोनों तबलों को ऊपर नीचे होते देखा, तो मैं अपने लंड को सहलाने लगा.

बीएफ व्हिडीओ देसी ये उससे बात करने का अच्छा मौका था और मैं इस मौके को हाथ से जाने नहीं देना चाहता था. आखिर में मेरा टाइम भी आ गया और मैंने अपना लंड बाहर खींच कर पानी उनके पेट पे निकाल दिया.

chut फोटो

उसके बाद सोनू ने आखिरकार मेरे लंड को खींच कर बाहर निकाल लिया और उसको अपने हाथ में लेकर टोपे को आगे-पीछे करने लगी. सीमा गजब की सुंदर लग रही थी … गोरा मखमली बदन … चिकनी चूत … खुले घुंघराले बाल …. फिर मैंने उससे पड़ोसी के बारे में पूछा- वह कहां है?तो उसने कहा- वह अभी नहा रहा है.

मैंने उसको विश्वास दिलाया कि वो मुझसे सब बातें शेयर कर सकती है। फिर उसने मुझसे तभी पूछ लिया- क्या आपने कभी किसी के साथ सेक्स किया है?उसके इस सवाल पर एक बार तो मैं चुप सा हो गया लेकिन फिर कह दिया- नहीं, मैंने अभी तक किसी के साथ सेक्स नहीं किया है. मेरी इस दो-अर्थी बात को सुन कर वो हंसी और आंख फैला कर बोली- मुझसे आपको क्या काम पड़ेगा भला. सेक्सी पिक्चर चाहिए सेक्सी पिक्चर चाहिएसुमन भाभी की प्लानिंग जो भी रही हो, फिलहाल मैं फिर से अकेला हो गया हूँ.

लड़की गर्म और बारिश की ठंडी बूंदें उसके बदन पर … आहह हहहह आप समझ ही सकते हो कि कैसा लगता होगा.

आप सभी मित्रों को मेरी अपने ही बेटे के लंड से चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताईयेगा. 7 इंच लम्बा और ककड़ी जितना मोटा काला लंड मेरी मां के सामने था। अंकल के लंड पर नब्ज़ काफी थे और उनकी झाटें भी ज्यादा बड़ी नहीं थी।अंकल फिर मेरी मां के पास आए और उन्होंने मेरी मां का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और उसे हिलाने लगे और दूसरे हाथ से मेरी मां की चूत को सहलाने लगे.

इस पर मैं उसके साथ मज़ा लेने को बेकरार हो गई और बोली- अंकल किसी को पता लग गया तो?कैसे पता लगेगा. वह मुझे गंदी गालियां दे रही थी।मैं उसकी जांघों को चूमते हुए नीचे आता गया और उसके पैरों की उंगलियां भी चूमीं जिससे ज्योति मचलने लगी और बोल रही थी कि चोदो, चोदो प्लीज़ … तन्मय आज मेरी चूत पूरी रात भर चोदो। अपने लण्ड के पानी से भर दो मेरी चूत. उसके आंखें बन्द करने से और दाँत भीचने से ऐसा लग रहा था कि अभी सुराख इतना नहीं फैला है कि लंड आसानी से अन्दर चला जाए.

मैंने पीछे से एकदम से जानू की आंखों को बंद किया, तो वो घबरा कर खड़ी हो गई.

सीमा बोली- तुम अब रुक कर कपड़े बदल कर कॉफ़ी पीकर जाना, वर्ना बीमार पड़ जाओगे. भाबी के हज़्बेंड यानि कि भैया का नाम विकास था, जो कि पेशे से एक टूरिस्ट वैन के ड्राइवर थे. मैंने उसको बताया कि मुझे एक हॉट फिगर वाली लड़की चाहिए, जो आगे से और पीछे से मस्त दिखती हो.

पंजाबी सेक्सी वीडियो फुल एचडी मेंतभी अंकल बोले- एक राउंड और हो जाए?अम्मी बोलीं- परवेज, मैं आज से आपकी हूँ … आप जितना करना चाहो, उतना प्यार कर सकते हो. उसने अपने नाखून मेरी कमर में गड़ा दिए, जिससे मुझे भी बहुत दर्द होने लगा.

सेक्सी वीडियो जंगली जानवर का

कोमल की तो जैसे जान ही निकल गई, वो ‘आआह्ह आअहह अहीईई ईस्सस … बाआअप रे … ईईई … आआऊऊ मर गई उई मम्मी रे … नआआहींईई … आआऔऊउ … की आवाज के साथ चिल्ला उठी. साहिल ने धक्के देने बंद कर दिये तो हीना समझ गई कि साहिल का माल उसकी चूत में खाली हो चुका है. मैं दीदी की चुत में लंड पेलता, तो दीदी मेरी छाती से चिपक कर अपनी चूचियों का सुख मुझे देने लगती.

उसने उठ कर दरवाजा हल्का सा बंद कर दिया ताकि हमारी सेक्स की आवाजें बाहर न जा सकें और हमें सर्दी भी कम लगे. अगली बार मैं फिर किसी सेक्सी भाभी या आंटी की चुदाई की कहानी आपके लिए लेकर आऊंगा. भाभी- क्यों?मैं- मुझे कोई आपके जैसी मिली ही नहीं जिसे देख कर रातों की नींद हराम हो जाये.

मैंने आंटी की चिकनी चुत पर अपना मुँह रखा और चुत के दाने को चूमने, चूसने लगा. अब आगे:अगली सुबह हम नाश्ते की मेज पर तीनों मिले। तीनों के चेहरे पर एक अजीब सी मुस्कुराहट थी। इधर वीणा और विक्रम दोनों जानना चाहते थे कि अदला-बदली संपन्न करने के लिए मेरे दिमाग में क्या चल रहा है?मैंने दोनों के सामने ही रीना को फोन लगाया और बात करने लगा। उधर रीना को पता नहीं था कि हम दोनों की बातें विक्रम और वीणा भी सुन रहे हैं. मेरे इस हरकत से श्वेता मैडम जोश में आ गईं और बड़ी बड़ी सिसकारियां भरने लगीं.

फिर एक दिन मुझे वो पता चला जिसके बारे में सोच कर मेरी चूत में आज भी खुजली हो उठती है. जब हिरेन 18 की उम्र को पार कर रहा था तो एक दिन मैंने सुबह के वक्त उसका लंड उसकी पैंट में तना हुआ देखा था.

मेरी इस रंगीन चूत चुदाई की कहानी पर आपके मेल का मुझे इन्तजार रहेगा.

दरवाजा बंद करते हुए मुझे पीछे से पकड़ा, अंकल मेरी गर्दन पर पीछे से किस करने लगे और अपना लंड मेरे कूल्हों पर घिसने लगे. जुदाई कैसे करनी चाहिएइस तरह वो कुछ देर मेरे आधे लंड से खेली और फिर मेरी निक्कर ऊपर कर के लेट गई. ओपन सेक्स दाखवादो घण्टे चलने के बाद बाथरूम वगैरह जाने के लिए बस रुकी और मेरी सलहज शान्ति देवी चलकर संवाहक के पास आई और मेरी तरफ देख कर कहने लगी कि कंवर साहब पीछे गाड़ी उछलने के कारण मेरी हालत खराब हो रही है. इसके अलावा अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए कमेंट बॉक्स का प्रयोग भी करें.

उन्होंने मेन लाइट ऑफ करके एसी का तापमान और कम करके 20 डिग्री कर दिया और रिमोट से सीलिंग की एलईडी लाइट जला दी.

मैं आने वाले मज़े को सोच बिना झिझक के पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो गई. अब खुल्लम खुल्ला लंड चूत चुदाई जैसे शब्द माहौल की कामुकता को खोलने लगे थे. क्या तुम्हारे पास कोई ट्राउजर है जो मैं पहन सकूं?उसने कहा, हां शालिनी जी, मैं आपको देता हूं.

थोड़ी देर खेलने के बाद मैंने अपनी जीन्स की चैन खोली और उसे मेरा लंड पकड़ा दिया और कान में धीरे से बोला चूसने के लिए … लेकिन उसने मना कर दिया चूसने के लिए!फिर मैंने भी ज़िद नहीं की और वो मेरे लंड से खेलने लगी. मैं ज्यादा तारीफ नहीं करता औरत की तो बस इतना बोला- जैसा आपने खुद को फोन पे बोला था आप वैसी ही हैं. इधर रेखा भी आज अच्छे मूड में दिख रही थी और गुनगुनाते हुए अपने काम को अंजाम दे रही थी.

கேரளாசெக்ஸ் தமிழில்

मैंने भाभी से एक बार और चुदाई के लिए कहा और तुरंत ही उनके ऊपर चढ़कर चुदाई शुरू कर दी. वो पूछने लगी- कितना टाइम लगेगा?मैंने कहा- अभी कहाँ!तो बोली- फिर बेडरूम में चलो. उसने मुझसे कोई बात नहीं की और गाली देकर सीधी मुझे बेड पर लेटा दिया.

इस दौरान वो एक बार झड़ चुकी थी और मेरा भी मस्ती की वजह प्रीकम बार बार बाहर निकल रहा था.

प्लीज आप चाचा को कुछ मत बताना, नहीं तो मेरा यहां आना-जाना ही बंद हो जायेगा.

मैं झटकों के साथ साथ उस के बूब्स भी दबा रहा था।धीरे धीरे मैंने स्पीड बढ़ा दी. मैं अपनी गांड पर उसके लंड को महसूस करते हुए और अपने हाथ को उसके हाथों में मिलते हुए बोली- तुम जैसे पकड़ाना चाहो मैं वैसे पकड़ लूंगी पर मेरी गाड़ी तेज दौड़नी चाहिए. सेक्सी एचडी एचडी वीडियोक्या आप हमारी मदद करेंगे?रश्मि ने मुझे कुछ भी बोलने से मना किया हुआ था, लेकिन अब मेरे मन में कुछ और ही चल रहा था.

इधर मेरी बीवी की ड्रेस भी ऐसी चिपकी हुई थी कि उसकी बॉडी से कि अजय को मेरी बीवी के बदन का माप लेने में कोई दिक्कत नहीं हो रही थी. बेड पर पटकने के बाद एक ही झटके में उन्होंने कोमल के स्कर्ट और चड्डी को उतार दिया. बस वो लंड चूत न कह कर अंग्रेजी में बूब्स और लॉलीपॉप सकिंग फकिंग जैसे शब्द यूज कर रही थीं.

मैंने कहा- क्यों ना आप मेरे साथ कहीं घूमने चलो, इससे आपका दिल भी लग जाएगा और आप थोड़ा बहुत दिल्ली शहर भी देख लेंगी. आह्ह … उसने तीसरे धक्के में पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया.

राहुल उसे लेकर धीरे धीरे पूल के दूसरे कोने में ले जाने लगा जहां पंकज-सारिका आपस में चिपटा खड़े थे.

सामने से वह औरत बोली- अरे आपको लगी तो नहीं … बहुत जोर से दरवाजा बंद किया उसने. मैंने उसकी टी-शर्ट को निकाल दिया और देखा कि उसने अन्दर कुछ नहीं पहना था. आप सबको मेरी एकदम ताज़ी कहानी कैसी लगी, मुझे ईमेल करके बताना और हां … सबसे अहम बात, विकी और शरद से सेक्स किया है, इसका मतलब ये नहीं कि मैं किसी के भी साथ सो सकती हूँ.

सुल्तान पिक्चर डाउनलोड उसने अपने नाखून मेरी कमर में गड़ा दिए, जिससे मुझे भी बहुत दर्द होने लगा. वो मेरे लंड के सुपारे पर चिकोटी काटते हुए बोली- जब तुम चक्कर लगा रहे थे, तो तुम्हारी मटकती हुई गांड मुझे बहुत अच्छी लग रही थी, मन कर रहा था कि तुम्हारे कूल्हे को कच्चा खा जाऊं.

उसकी चूत की गुफा में बहुत अंधेरा था मगर उसको चाट कर जो नमकीन स्वाद आया उसका मजा भी अलग ही था. उसने ऐसा ही किया, फिर क्या था, उसके सिर को पकड़कर चुदाई शुरू की, तो नम्रता ने भी मेरी जांघ को पकड़कर अपना बैलेंस बना लिया ताकि मैं अच्छे से उसके मुँह को चोद सकूं. अब मैं और अदिति जिम के अलावा हर संडे मिलते, कभी बाहर घूमने जाते तो कभी फिल्म देखने.

झवाझवीचे सेक्सी व्हिडिओ

जिसका ध्यान मैंने चुदाई के वक्त नहीं दिया था, पर सुमन भाभी की ये पहले से ही प्लानिंग थी. मैं उसके चुचों को जोर जोर से दबाता, लेकिन उसे तो जैसे फर्क ही नहीं पड़ रहा था … उलटे उसे आनन्द आता. मैं दिखने में बहुत आकर्षक हूँ, रंग गोरा है, अ़च्छा कसरती शरीर है क्योंकि मैं जिम भी जाता हूँ.

थोड़ी देर बाद उसने कहा- अब बस … कोई आ जाएगा!ऐसा कहकर उसने मेरा मुँह अपनी चुत से अलग करके अपनी साड़ी नीचे कर ली. क्योंकि मैंने नशे में उन्हें गले तो लगा लिया था, पर अब मुझे उनकी सांसें मेरी छाती पर महसूस होने लगी थीं.

ये सब दलीलें सुनकर मेरे घर वाले मान गए और थोड़ी ना नुकुर के बाद चाची के घर वाले भी ये सोच कर मान गए कि उनकी बेटी का घर फिर से बसने वाला था.

जरूर योग में ऐसी ही अवस्था को समाधि कहते होंगे जहां ना खुद की खबर होती है, न जग की. फिर ताऊ जी ने चाची को चोदते हुए बोला- आज रात को मैं उसका चोदन करूंगा, तुम उसे मेरे पास भेज देना. अब शादी प्रिया की हो रही थी, मेरे शहर में हो रही थी ऊपर से मेरी रहनुमाई में हो रही थी और मैंने अपने जान-पहचान वाले फ़्लोरिस्ट से जय-मालाएं और बाकी हार बुक किये थे, इसलिए अब यह कार-सेवा तो मुझे ही करनी थी.

मैं जानता था कि हीना से रूबरू होने के बाद साहिल खुद पर ज्यादा देर तक काबू नहीं रख पाएगा. अपनी भीगी हुई पैंटी और ब्रा में स्वीमिंग पूल से बाहर निकली और चूत वाले एरिया पर एक सारोंग (पतला सा कपड़ा) लपेट लिया. मेरा लंड शायद उसकी टाईट चूत से छिल गया था और दर्द हो रहा था, पर मज़ा इतना ज्यादा था कि दर्द भूल गया था.

मैं दोपहर को अपने घर वापस आई तो मेरी सहेली भी मेरे साथ मेरे घर आई थी.

बीएफ व्हिडीओ देसी: मेरे मुंह में तो पहले से ही पानी आ रहा था इसलिए मैंने उसके लंड को अपने मुख में भर लिया और उसको पूरे मजे के साथ चूसने लगी. टाइम का पता ही नहीं चला।मुझे बहुत तेज़ पेशाब लगी थी तो मैं बिस्तर से उठी.

मैंने न्यूजपेपर हटा कर पूछा- क्या बात है भाभी, आप वहां फर्श पर क्या कर रही हो?भाभी घबरा कर बोली- कुछ नहीं. मैं अपनी पहली कहानी लिख रहा हूँ, यदि गलती दिखे तो प्लीज़ माफ कीजियेगा. मैं और वंश एक दूसरे की बांहों में बांहें डाल के आये और खाने की टेबल में बैठ गए.

मैं उठना चाहता था लेकिन पता नहीं क्या सोच कर मैं अभी ऐसे ही लेटे हुए मौसी के होंठों द्वारा अपने लंड की चुसाई का मजा लेना चाहता था.

वह बहुत ही ज्यादा गर्म हो गई और बोली- प्लीज़ जान … फक मी (चोदो मुझे)।फिर मैंने अपनी जीभ से उसकी चूत के दाने को धीरे धीरे चाटना शुरू किया. बारह बजते ही मैं अपने कमरे से बाहर निकल कर पीछे की दीवार से कूद कर ऋतु के घर के पीछे जाने लगा, तो उसी समय अनुषी ने भी मुझे देख लिया. मैं घर का काम करती हूँ और कभी कभी मम्मी को स्कूटी से बाजार करवाने के लिए लेकर जाती हूँ.