बीएफ फिल्म देहाती हिंदी

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म बीएफ बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

आकर्षक सेक्सी वीडियो: बीएफ फिल्म देहाती हिंदी, मेरी पत्नी का नाम है सुधा … जिससे मेरी ज़्यादा बनती नहीं है, शादी के 10 साल निकल चुके हैं लेकिन रोज किसी न किसी बात को लेकर झगड़ा होता रहता है.

बीएफ सेक्स वीडियो भाई बहन का

आंटी के चूचे इतने बड़े थे कि मेरे दो हाथों की पकड़ में ही नहीं आ रहे थे. सेक्सी बीएफ देहाती औरत कीअमूमन सोसाइटी में पूल फ्लैट्स के पास होते हैं पर यहाँ पूल सोसाइटी के क्लब के पीछे की ओर बना था, जहां कुछ एकांत सा रहता है, शायद इसीलिए सात बजे के बाद लोग अपने बच्चों को नहीं भेजते थे.

फिर मैंने सोच लिया कि क्या वही एक मर्द रह गया है क्या इस दुनिया में, अभी तो मेरी जवानी चढ़ी है, अभी तो इसने और उफान पकड़ना है. बीएफ इंग्लिश सेक्सी बीपीफिर सुनील ने कहा- चल, आज मैं तेरी प्यास ऐसे बुझाऊंगा जैसे किसी ने नहीं बुझाई होगी.

पापा के आने के बाद भी मुझे जब भी मौका मिलता है, तो आंटी अपनी चूत को मेरे हवाले कर देती हैं.बीएफ फिल्म देहाती हिंदी: बातों बातों में अंजू बोली- मामा आपकी गर्लफ्रेंड की कोई बात बताओ ना?मैंने कहा- अरे … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं.

फिर उस नौकर ने एकदम से मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड को मेरे मुंह में और तेजी के साथ पेलना शुरू कर दिया.उसके बाद तो हम दोनों हमेशा जब फ्री होते थे तो किसी होटल में जाकर चुदाई करते थे.

एचडी फुल एचडी सेक्सी बीएफ - बीएफ फिल्म देहाती हिंदी

फिर रात को मैंने तीन बजे के करीब एक फिर से उसकी चूत पर अपने लंड से हमला कर दिया.चौथे दिन मुझे उसका फोन आया और उसकी आवाज़ सुनकर मेरे जान में जान आई।लेकिन वो कुछ उदास लग रही थी.

मुझे बाद में शिवानी से ही पता लगा कि उसने सागर का लंड एक बार नहीं तीन बार लिया और उसको कैसे पटाया. बीएफ फिल्म देहाती हिंदी फिर उसने अपनी बड़ी सी हथेली पर ढेर सारा थूक लेकर मेरी छोटी सी चुत पर लगा दिया.

गांड का तो पूछो मत, इतनी मोटी और कड़क गांड है उनकी कि चलती है तो ऐसा लगता है जैसे अपने पास बुला रही हो.

बीएफ फिल्म देहाती हिंदी?

मेरा पेट भी नहीं निकला हुआ है और मेरा चेहरा भी ज्यादा बूढ़ा नहीं लगता है जिसके कारण मेरी 40 साल की उम्र असल में 10 साल कम ही लगती है. मैं भी पूरी गर्म हो चुकी थी इसलिए मैंने उसके लंड को अपने हाथ में ही पकड़े रखा. आंटी की फूली हुई चूत को देख कर मन कर रहा था कि बस आंटी की चूत को नंगी करके अपने दांतों से काट ही लूं.

लग रहा था कि कहीं उन्होंने अपनी बेटी से सब कुछ सच सच न बता दिया हो. मैंने उसकी गर्दन को चूमना शुरू किया और फिर एक झटके में नीचे से अपना लिंग उसकी योनि में धकेल दिया. जैसा कि आप जानते हैं कि मैं अपने चाचा ससुर से चुदती हूँ और मुझेचाचा ससुर के साथ चुदाईमें बहुत मज़ा आता है.

किस के दौरान मेरा हाथ सिर्फ उसके चेहरे को पकड़े हुआ था और मैंने उसे कहीं नहीं छुआ था. करीब दस मिनट बाद मैंने देखा, वो लड़का मेरे पास वाली बेंच पर आके बैठ गया. ”पापा के मैनेजर को मुझे चाबी और गाड़ी के पेपर्स दिए।देखो नीतू बेटा, गाड़ी आराम से चलाना, और कुछ प्रॉब्लम हो मुझे तुरंत कॉल करना … पापा को ज्यादा तकलीफ मत देना, वह वैसे ही बिज़नेस के काम से परेशान रहते हैं। पापा के मैनेजर ने मुझे समझाया।आप टेंशन मत लो समीर अंकल … मैं सब ठीक से करूंगी.

मैंने उसको समझाया कि सेक्स का असली मजा लेने से पहले ये भी लेकर ट्राई कर लो. मैंने थोड़ी देर तक रुकने के बाद फिर से उसकी चुत में एक बड़ा धक्का दे मारा और अपना पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया.

फिर मैं अन्दर से एक पुरानी ब्रा और एक पेटीकोट पहन कर उसके सामने आ गयी.

जिसने मेरी चूमने की ताक़त को दुगना कर दिया और मैं उसके होंठों पर ऐसे टूट पड़ा, जैसे भूखा भेड़िया अपने शिकार पर टूटता है.

इससे पहले कि वो अंदर जाती … मैंने उनका हाथ पकड़ कर खींचा और सीढ़ी के नीचे ले गया और उनको वहीं दिवार पर टिका कर उनकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा। उन्होंने गुर्राते हुए मुझे डांटा … पर मैं नहीं माना और उनके बूब्स जोर से दबाने लग गया।उन्होंने अपनी पूरी ताक़त से मुझे धकेला और ‘तुझे समझ में नहीं आता बेशर्म … और अगर फिर से ऐसी कोई भी हरकत करी तो तेरे घर वालों के सामने ही तेरा सारा भूत उतार दूंगी. तो मेरे प्यारे दोस्तो, यदि आप लोगों के पास भी ऐसा ही कोई वाकया हो तो मुझे जरूर मेल करना और इस उत्तेजक किस्से पर अपनी राय से मुझे अवगत कराना. दीदी ने मेरी उत्तेजना को देख कर मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे बूब्स को चाटने लगी.

एक दिन मैंने अपने ममेरे भाई को बाथरूम से निकलते हुए देखा तो मेरा ध्यान उसके जिस्म पर गया. फिर वो मुझसे बोले- तुम तो गुडलुकिंग हो … फिर भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. पैर जैसे ही मेरे लंड पर टच हुआ तो मेरे लंड एक झटका मार दिया और आंटी ने आंखें खोलकर बहाने से मेरे लंड की तरफ देखा.

दो मिनट रुकने के बाद जब वो शांत हुई तो मैंने धीरे-धीरे चाची की गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया.

उसने मेरे पेंट को उतार दिया और फिर अपनी जुबान से धीरे धीरे मेरे लंड को चाटने लगा. एक बार मन तो किया कि जाकर चाची के चूचों को मैं अभी अपने हाथ से दबा ही दूं लेकिन फिर कुछ सोच कर मैं रह गया. अगले दिन जब मैं स्कूल से घर आई, तो अर्पित ने मुझे बुलाया और अन्दर अपने रूम में ले गया.

मेरी गम्भीर मुद्रा देख कर राजनाथ ने मुझे आगे बताया कि एक बार मैंने तुम्हारी मॉम के साथ ट्राय भी किया था, पर मॉम ने मुझे भाव नहीं दिया था. क्योंकि ससुर जी तो हमेशा पूजा पाठ में लगे रहते हैं और आप उनसे हर रात मिन्नतें करती रहती हो कि आज की रात तो कम से कम वो आपको सॅटिस्फाइ कर दें. अब मैं भी अपना माल जल्दी निकालना चाहता था … क्योंकि मेरा शरीर एक चरम सीमा जैसी भावना से पूरे जोश में आ गया था.

उसने अपनी बहू को इसी पोजीशन में दबाए रखा और पीछे से धक्कों की रेल चला दी। नीलम पसीने से तरबतर हो गयी। उसकी कमसिन जवानी को उसके मोटे तगड़े ससुर ने मसल कर रख दिया था। उसके कानों में धक्कों की फच-फच … पट-पट … फच-फच की आवाज़ गूँज रही थी।तभी महेश की नजर कोने में रखे मक्खन पर चली गयी.

दूसरे दिन सुबह उनका फोन आया और भाभी ने कहा कि शिवा भूलना मत … ठीक 8 बजे तक आ जाना. हां आप ठीक समझे … भाभी की प्यारी सी चुत की मालिश करने बारी आ गई थी.

बीएफ फिल्म देहाती हिंदी मगर हमारी शादी के लिए मेरे घर वाले ही तैयार नहीं थे क्योंकि उनको पता लग रहा था कि कमाऊ लड़की हाथ से निकल जाएगी. कॉलेज में दिन बहुत जल्दी बीत जाता था और कब घर जाने का वक्त नजदीक आ जाता था कभी ध्यान जाता ही नहीं था क्लास में.

बीएफ फिल्म देहाती हिंदी ये मौका अच्छा था, इसलिए मैंने बिंदु को फ़ोन करके बोला- तुम अपना सामान पैक कर लो, मैं आ रहा हूँ. उस रात अर्पित भी मुझे चोदना चाहता था, लेकिन मेरी गांड बुरी तरह से परपरा रही थी.

अनिल उसकी चूत में अपना प्यासा फन फनाता लंड डाल कर धक्के पर धक्के दे रहा था.

बीएफ सेक्सी बुर की चुदाई वीडियो

स्पेशली वो समूच किस के बारे में, जिसमें हम दोनों एक दूसरे में समा गए थे. उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी, जिससे मेरे को पक्का यकीन हो गया कि वो अभी सोई नहीं थी और अपनी चुदाई करवाना चाहती थी. मैंने उसकी तरफ कातर भाव से देखा, तो उसने कहा- घबराओ मत, पहली बार में ऐसा होता ही है.

तभी उनका हाथ नीचे मेरे जींस पे लंड पे घूमने लगा और मेरा हाथ उनके मम्मों और पीठ पे. तभी मुझे याद आया कि इसको तो 8 महीने की बच्ची है … इसको तो दूध अब भी आता होगा. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो.

महीने में 2-3 बार ही सेक्स करता है और जल्दी झड़ कर पलट कर सो जाता है.

जब मैं भाई के लंड को घूर रही थी तो वो बोला- देख क्या रही है, चूस ले इसे!मैं तुरंत नीचे बैठ गई और भाई के लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. मैं बोला- लेकिन तुम आओगी कैसे … वो भी 3 दिनों के लिए?वो बोली- तुम बस देखते जाओ. मैंने रीतिका से प्रीति का नम्बर लिया और प्रीति को पटाने की शुरूआत कर दी.

बिंदु की सिसकारियां अब और भी तेज़ हो गयी थीं और वह मुझे अपनी चूचियों को प्यार से चूसते हुए देख रही थी. वो मुझे चोदते चोदते मेरे होंठों को चूसने लगा और मेरे होंठों का रसपान करते हुए मेरी चूत को अपने लंड से चोदने लगा. वे सेक्सी सिसकारियां ले रही थीं और धीमी आवाज में बोल रही थीं- चोद दे मादरचोद … अपनी मॉम को चोद दे … और जोर से चोद … साले रंडी बना कर चोद … आह अपनी मॉम की चूत को फाड़ दे … आह मेरी चूत को बना दे भोसड़ा.

रात बस होने ही वाली थी और सुमिना को लग रहा था कि इस समय काजल का अकेले जाना ठीक नहीं है।अब आगे:काजल मेरे साथ गाड़ी में बैठी हुई थी। पहले मैंने सुमिना के कपड़े ड्राइक्लीनर की दुकान पर दिये और फिर मैं काजल से उसके घर का पता पूछने लगा. मेरा वीर्य उसकी चूत में से बह कर बाहर आ रहा था लेकिन उसने इसकी परवाह नहीं की और वो एक साफ़ नेपकिन लेकर मेरी बीवी की ओर बढ़ी.

अब मीनू ने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया और उसको सहलाते हुए बोली- बहुत मस्त यार ये तो. भाभी को चोदते चोदते कब मैं उनके नीचे आ गया और वो कब शेरनी की तरह मेरे लंड पर अपनी चुत में उछल उछल कर अन्दर लेने लगीं, मुझे होश ही नहीं रहा. मुझे इन्तजार था कि ये हब्शी किसी भूखे भेड़िये की तरह मेरा ब्लाउज और पेटीकोट भी खींचेगा.

चूचियां रगड़ते रगड़ते उसने अपना हाथ मेरे लोअर में डाल दिया और मेरा लण्ड मसलने लगी.

चयन ने मेरा लंड अपनी गांड में लेने के बाद कहा- मोंटू आज तुमने मुझे बहुत मज़ा दिया. हम दोनों को एक दूसरे के लंड चूत को चूसने और चाटने का मजा मिल रहा था. हालाँकि टीवी स्क्रीन से ही थोड़ी बहुत रोशनी आ रही थी … अंकित ने साफ़ कह दिया कि आज उठ कर कोई नहीं जाएगा.

” नीलम के दिल ने जवाब दिया मगर अगले पल ही जो आवाज़ नीलम को सुनायी दी. आंटी को हाथ से स्पर्श का आभास हो रहा था, मगर वह कोई विरोध नहीं कर रही थीं.

पर इस चक्कर में उसके जोर लगाने से उसका खड़ा मस्त लंड मेरी गांड के छेद पर बार बार हल्के हल्के धक्के भी दे जाता था तो मुझे मजा आ जाता था. फिर मैंने उसे कमर दर्द की मालिश के लिए बाम की शीशी दे दी और वो चली गई. वो बोली- सॉरी … पैर गीले थे इसलिए फर्श पर गीलेपन की वजह से मेरा पैर फिसल गया.

बीएफ का गाना

रजू ने मीनू की तरफ आश्चर्य से देखा और फिर मेरी तरफ देख कर मुस्कराने लगी.

इस वजह से मैं भाभी का और अधिक ख्याल रखने लगा था जैसे कि उनके बाजार के छोटे-मोटे काम कर देता था. ” मैंने उसे यकीन दिलवाने की कोशिश की।मैंने उसकी उलझन खत्म करने के लिहाज़ से कहा- अरे … यह कॉफी तो बातों-बातों में ठंडी हो गयी, अब तुम फटाफट दो कप कड़क कॉफी और बना लाओ फिर साथ साथ पीते हैं. ” महेश ने अपनी बहू की बात सुन कर खुश होते हुए कहा।पिता जी मैं आपको दुखी नहीं देख सकती, मगर आज के बाद आप मुझे कभी कुछ करने को नहीं कहोगे.

वो बोला- तुमको मज़ा आया?मैंने कहा- हां मजा बहुत आया, पर दर्द भी हुआ. मैं नीचे उतरी और कोई मुझे देखे नहीं, वैसे जल्दी से कार में बैठ गई … क्योंकि ऐसे कपड़ों में मामा और मामी मुझे जाने नहीं देते. देवर भाभी की ब्लू बीएफउसको किस करता हुआ उसके 34 साईज के बोबों को टी-शर्ट के ऊपर से ही मसलने लगा और जोर जोर से दबाने लगा.

वो मुझसे मेरे बारे में और मेरी फैमिली के बारे में बातचीत कर रहे थे. मैंने उसकी टांग को उठाकर अपनी पीठ पर सेट किया और उसके होंठों को काटते हुए अपना लौड़ा उसकी चूत पर लगा कर रगड़े लगा.

अंकल का चेहरा आनन्द से भर गया, उनके मुँह से काम वासना से भरी हुई सिसकारियां निकलने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’फिर मैंने धीरे धीरे उनका पूरा लंड चूसना शुरू किया और पूरा लंड अपने गले तक उतार लिया. उनमें कोई ऐसी पॉपुलर साइट नहीं रह गई थी जहां पर मैंने चुदाई के वीडियो देख कर मुठ नहीं मारी हो. कुछ ऐसी ही कल्पनाओं में डूबा हुआ मैं अपने लंड पर तेजी से हाथ को चला रहा था.

यह सुनकर मेरी तो खुशी का कोई ठिकाना ही ना रहा क्योंकि आज मैं एक कुंवारी गांड मारने जा रहा था. मेरी उम्र उस समय 19 साल और 4 महीने की हो चुकी है। मैं आशीष से एक बार मिल चुकी थी उसकी बुआ के घर में. वो अभी भी नजर नीचे किये हुए बैठी थी और मैंने उसके हाथ को ऐसे ही पकड़ रखा था.

सोनम आंटी ने पूरा लंड अपनी चूत में उतरवा लिया और अपने चूचों को दबाने लगी.

वो उनको अपने हाथ से दबाने के लिए मचल रहा था लेकिन अभी ऋतु की आंखें बंद थीं और वो कुछ नहीं कर रहा था. इस धकापेल में कब राहुल के हाथ सारिका के मम्मों की गोलाई नाप गये पता ही नहीं चला.

तो मैंने भी सोचा कि क्यों मैं किसी की हँसती-खेलती जिंदगी को बर्बाद करने का जरिया बनूँ. ” उपिंदर ने मेरी मम्मी के होंठों का एक भरपूर चुम्बन लिया और बोला- आ जा मालिनी, तेरी हैप्पी होली भी हो जाएगी और कामिनी और शैली के लिए होली की बढ़िया मिठाई भी तैयार हो जाएगी. मुझे लगा जैसे अब उसका दर्द कुछ कम है, वो अपनी गाँड को भी थोड़ा थोड़ा हिला रही है तो फिर से उसे किस करते हुए उस पर पकड़ बनाई और फिर एक ज़ोर का धक्का उसकी बुर में मारा और मेरा आधा लंड उसके बुर को चीरता हुआ उसमें घुस गया.

उसकी हालत अब जल बिन मछली जैसी हो गयी थी, उसकी आंखों से आँसू छलक उठे थे, लग रहा था कि उसे बहुत दर्द हो रहा था जो उसके चेहरे से जाहिर हो रहा था। इसलिए मैं भी वहीं रूक गया और उसके आंसुओं को अपने होंठों से साफ करने लगा. कुछ दो मिनट बाद वो मेरे लंड को सहलाने लगी थी और मुझे दूसरी पारी खेलने के लिए तैयार कर रही थी. नॉनवेज स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक ससुर अपनी जवान और हसीन बहू को अपनी कामवासना का शिकार बनाना चाह रहा है.

बीएफ फिल्म देहाती हिंदी मैं अपने घर जा रहा था, तो उन्होंने मुझे रोका और पूछा- कहां जा रहे हो?मैं बोला- अभी कपड़े बदल कर आता हूँ. आज पहली बार उसकी चुदाई की तसल्ली उसके चेहरे पर साफ दिखाई दे रही थी.

ममता कुलकर्णी की बीएफ

”हाँ जान तुम बिलकुल सही कह रही हो।”इस मधुर की बच्ची ने तो मुझे डरा ही दिया था। इन औरतों को किसी बात को घुमा फिराकर बताने में पता नहीं क्या मज़ा आता है?अचानक मुझे लगा मेरी सारी चिंताएँ एक ही झटके में अपने आप दूर हो गयी हैं।मैंने एक बार फिर से मधुर को अपनी बांहों में जकड़ लिया … अलबत्ता मेरे ख्यालों में फिर से गौरी का कमसिन बदन, सख्त उरोज और नितम्ब ही घूम रहे थे. अब मेरे मुँह से मादक आवाजें निकलने लगी थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई … आहह …इसके बाद मेरे बॉस ने मुझे छोड़ दिया और मुझे घोड़ी बना दिया. अब क्या करें दोस्तो … हूँ तो मैं भी इंसान ही … जितना मन लड़कों का होता है सेक्स का … उतना ही लड़कियों का भी होता है, बल्कि ज्यादा ही होता है.

थोड़ा नारियल तेल मैंने मेरे लंड पर लगा कर उनकी गांड में डालने की कोशिश की. अब मैं एक हाथ से स्वरा की चूची दबा रहा था और दूसरा हाथ धीरे धीरे उसकी पैंटी के ऊपर पहुंच चुका था. सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी भाषा मेंमैंने पहले भी कई सरदारनियों की चुदाई की है, पर जो स्वाद एक कुंवारी सरदारनी की चुदाई में मुझे आया, वो उन चुदी-पिटी फुद्दियों में नहीं आया था.

काली गहरी आंखें, लम्बी नाक और हल्के गुलाबी होंठ। कभी उन पर लिपस्टिक लगा लेती थी तो किसी मॉडल से कम नहीं लगती थी.

मगर आज मुझे अपनी उसी सोच का बहुत ही दुख हो रहा है कि मैंने तुमको क्या सोचा था और तुम क्या निकली. जब वो उचकते उचकते थक गई तो बगल में लेट गई और हाथ से करतब दिखाने लगी.

राहुल के पूछने पर वो बोली कि उसे रात को कॉफ़ी पीने से नींद नहीं आती. मुश्ताक ने नायरा से कहा- मुझे फ्रेंच किस नहीं सिखाओगी?तो नायरा ने मुस्कुराकर मुश्ताक के होंठ से अपने होंठ भिड़ा दिया. मां को तो मैंने कुणाल के बारे में नहीं बताया था लेकिन मैं अच्छी तरह जानता था कि काजल, कुणाल और सुमिना के बीच में क्या खिचड़ी पक रही है.

फिर उन्होंने अपना लंड धीरे से निकाल कर मेरे मुँह पर रख दिया … और अपना सारा वीर्य मेरे मुँह पर छोड़ दिया.

” कहकर मैं जोर जोर से हंसने लगा।गौरी को पहले तो कुछ समझ ही नहीं आया पर बाद में वो ‘हट’ कहते हुए शर्मा कर रसोई में चीनी लाने चली गई।उसने चीनी के दो चम्मच मेरे गिलास में डाल कर उसे हिलाया और फिर उसी चम्मच से अपने गिलास में भी चीनी डाल कर उसे हिलाने लगी।अरे मेरी जूठी चाय वाली चम्मच से ही तुमने अपने गिलास में भी चीनी मिला ली?”तो त्या हुआ? अपनो में तोई जूठा थोड़े ही होता है. अब वो जाग गई और बोली- ये क्या कर रहे हो?इस बार मैं डर गया और मैंने उसे छोड़ दिया. पति को भी कुछ नया करने का मौका मिल रहा था इसलिए वो भी ज्यादा ही उत्तेजित हो रहे थे.

सेक्सी बीएफ वीडियो भाभी काअब मेरा मन कर रहा था कि दीदी की पोजीशन बदलवा दूं लेकिन लंड चूसने की बात पर दीदी मुझसे गुस्सा हो गई थी इसलिए मैंने चुप रहना ही ठीक समझा. मैं जोरदार धक्के मारने लगा, आंटी मेरे सब धक्कों का जवाब अपनी गांड उछाल कर दे रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर से चोद … कितना मज़ा देने लगा.

बीएफ में सेक्स वीडियो

वो बोली- सॉरी, गुस्से में डांट दिया मैंने, बुरा क्यों मान रहा है?मैंने कहा- गलती तो मुझसे हो गई है लेकिन अब मैं आपके साथ कुछ नहीं करूंगा. ” मुकुल राय के मुख से लम्बी लम्बी सिसकारियां निकलनी शुरू हो गयी थी, अपने पापा के मुख से आनंदमयी सिसकी सुन परीशा के होंठों की मुस्कान उसके पूरे चेहरे पर फ़ैल गयी. जैसे ही भैया का लंड मेरी चूत में गया, मेरी जोर से चीख निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…लेकिन भैया ने मेरी कोई परवाह नहीं की और हम दोनों सेक्स करने लगे और साथ में एक दूसरे की बाहों में आकर एक दूसरे किस भी कर रहे थे.

कहते हैं कि भारतीय चुत काली होती है, पर रीना की चुत तो हल्की लाल थी और उसके ऊपर का दना एकदम गोल किसी मटर जैसा दाना था. अब मुश्ताक ने सीमा को नीचे पलटा और ऊपर चढ़ कर उसकी टांगें चौड़ी कीं और अपना लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया. मैंने पूछा- क्या हुआ अनिल जी, कुछ पता चला क्या?वो बोला- अभी इतनी जल्दी नहीं खुलेगी ये, अभी थोड़ा और वक्त चाहिए.

चुम्बन और निप्पल की मिंजाई से उसको राहत सी मिली और गांड के दर्द को भूलने लगी. उसकी गांड के बारे में क्या बताऊं आपको … जो एकदम मस्त सी, अनछुई सी, बिल्कुल वर्जिन, कोरी सी, गोरी-गोरी सी, परफेक्ट शेप वाली और गोल-गोल है. वे थोड़े धार्मिक प्रवत्ति के हैं, उनकी उम्र करीब पचास की हो चुकी थी और बेटियों की शादी हो चुकी थी, इसलिये अब वो सेक्स को गलत मानने लगे हैं और पूजा पाठ में ज्यादा ध्यान लगाने लगे हैं.

मैंने कहा- मॉम आप अपनी बुर को साफ नहीं करती हो क्या?तो मॉम ने कहा- हां करती हूं, पर अभी कुछ दिनों से नहीं की है. मैं अपने यहां अपनी चूत में उंगली करती रहती थी और उधर से वो दोनों एक दूसरे के साथ नंगे लेट कर गर्म चुदाई की बातें करते हुए मुझे भी गर्म करते रहते थे.

मैं एक बॉटल लेकर आया और पास में ही एक मेडिकल स्टोर था, वहां से डॉटेट कंडोम का एक पैकेट ले लिया … क्योंकि मुझे पता था कि आज क्या होने वाला है.

मैंने आंटी का पैर थोड़ा सा और सरका दिया तो आंटी का पैर मेरे खड़े हुए लंड से टच हो गया. सेक्सी इंग्लिश सेक्सी वीडियो बीएफजिस गिलास में उसने अपना माल निकाला था उसने वो गिलास मुझे दे दिया पीने के लिए. हीरोइन की सेक्सी वीडियो बीएफअंकित और सीमा कुछ ज्यादा ही सेक्सी थे तो कई बार अंकित अपने मोबाइल का ब्लूटूथ ओन करके पोर्न मूवी लगा देता जिस पर सभी एतराज तो करते पर देखते सब थे. और वो भी अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चूत चुसवा रही थी।चूत के दाने को मैं मुंह में लेकर चूस रहा था और अपने एक उंगली से उसके छेद को सहला भी रहा था.

ऐसा फूल सा बदन बनाया था उसका कि देखते ही आंखों को सुकून के साथ साथ एक तड़प भी लगने लगती थी.

वो बोले- कमरे तो सारे फुल हैं लेकिन हम आपके लिए व्यवस्था कर देंगे लेकिन उसके लिए आपको अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा. कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने उसे खड़ा किया और किस करते हुए उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया. नीलम के चूसने से उसका सुपारा एकदम लाल हो गया था। नीलम को ये मस्त लंड चूसने में मजा तो आ रहा था लेकिन साथ ही छत पर होने की वजह से डर भी लग रहा था.

पूरी चुदाई करके जब वो चूत के ऊपर से उतरा, तो बोला- सच-सच बताना कि तुमको कैसा लगा?मैंने उससे लिपटते हुए कहा- तुम अपनी बताओ, तुम्हें मजा आया कि नहीं?उसने कहा- मेरी तो आज लॉटरी लगी है, जो तुम्हारी चूत के आज दर्शन ही नहीं बल्कि मेरा लंड इसमें अन्दर तक सैर भी करके आ गया है. इस पोजीशन में मेरी गांड उठकर पति के सामने आ गई और वो अपने लंड को हिलाते हुए मेरे पैरों के बीच में आकर खड़े हो गये. फिर मैं नीचे की तरफ़ गया, तो उसकी जाँघों पे किस करते हुए पैर की उंगलियों को चूसने लगा.

बीएफ सेक्सी इंडियन बीएफ सेक्सी इंडियन

” समीर ने अपनी बहन से कहा और अपने होंठों को ज्योति के नर्म होंठों पर रख दिया. आंटी ने कमरे में जाते से एसी चालू कर दिया और मेरे कपड़े भी इतनी जल्दी उतार दिए कि जैसे भूखी शेरनी को बहुत दिनों से खाना मिला हो. उस वक्त मुझे लग रहा था कि प्रिया ने शायद अपना प्रेमी जान कर नींद में ही मेरा लंड पकड़ लिया होगा और जब उसकी आंख खुली होगी तो उसने अपना हाथ वापस बाहर निकाल लिया होगा.

अब तुम ही बताओ मैं क्या दूं?इस बात पर मैंने हंसते हुए अपना हाथ धीरे से उसके उसके चूतड़ों के बीच में घुसाते हुए गांड पर फेरते हुए बोला- ये दे दो.

मैं मदहोश होकर सिसकारियां भरना चाहती थीं लेकिन आवाज बाहर न जाए इसलिए अपनी कामुकता को अंदर ही दबा कर रख रही थी.

हालाँकि हर्ष काफी लंबा और हट्टा कट्टा था पर फिर भी उसके दोनों हाथों में मेरी गांड नहीं आ रही थी. पर यह होड़ में आखिर में ही हार गई। मैं झड़ कर निढाल हो गयी।अगले ही पल रॉकी के लन्ड ने भी अपना काम पूर्ण किया और वीर्य का एक फव्वारा निकला और मेरी चूत को लबालब कर गया। रॉकी मेरी ऊपर ही पसर गया और हाँफने लगा।कुछ देर आराम करने के बाद जब घड़ी में समय देखा तो शाम के 5. बीएफ सेक्सी नेपाली चुदाईमैंने पूछा- स्मायरा जी उठ गईं क्या?भाभी बोली- उसको ही तो देख रही हूँ … पता नहीं कहां गई है.

उसमें से ज्यादा कुछ साफ तो दिखाई नहीं दे रहा था लेकिन उसकी गोरी बांहें बिल्कुल नंगी थीं. ” नीलम ने अपने ससुर के क़रीब आते ही उससे थोड़ा दूर होते हुए कहा।हाँ कहो बेटी, मगर तुम मुझसे दूर क्यों हो रही हो?” महेश ने हैरान होते हुए कहा।पिता जी मुझे कुछ अच्छा नहीं लग रहा है, प्लीज आप मुझे अकेला छोड़ दो। मैं आपके साथ यह सब नहीं कर सकती. फिर बोली- आप ये सब भी देखते हो? मैंने तो आपको बहुत ही शरीफ इन्सान समझा था.

अपनी सासू जी की सेक्स कथा सुनकर मेरे अन्दर पूरे शरीर में करंट सा दौड़ रहा था. उनकी ये बात सुनकर मुझे समझ आया कि ये किस प्रोग्राम की बात कर रहे थे.

मैंने हाथ को चूत से हटाया और मेरा लंड उसकी चूत पर सलवार के ऊपर से ही टकराने लगा.

अभी तक तो मैं ही उनका सारथी बना हुआ था पर अब वो भी रथ चलाने लगी थी।तभी बाथरूम में फ्लश की आवाज़ आयी तो मामी सीधी खड़ी होकर भागने को हुई तो मैंने उनकी कलाई पकड़ ली. मैंने अपने हाथ उसकी कमर पर रखा, तो उसके मुँह से एक सिसकारी निकल गयी. फिगर उसका 34-30-36 था। गांड भी बहुत मस्त थी उस चालू चीज की।शक्ल से तो वो सती सावित्री दिखती थी लेकिन अंदर से पक्की वाली रांड थी.

घोड़ा कुत्ता की बीएफ उसने मुझसे पूछा कि एल लगना क्या होता है?मैंने उसको ऐसे ही बोल दिया कि तुमको पता ही होगा, पर तुम ऐसे ही नाटक कर रही हो. भाभी के मुँह से जोर जोर से आह उह की सिसकारियां निकलने लगीं और वो मेरा सिर अपनी चूत पर दबाने लगीं.

उसने मेरी शर्त को ऊपर करके मेरी ब्रा को निकाल दिया और मेरी चूची को चूसने लगा. फिर मैंने बातें बनाते हुए कहा- वो जब से आई हैं, तब से इस छोटे से घर में कैद हैं. मैंने पूछा- वो कैसे?फिर वो उठी और अपनी अलमारी खोल कर उसके अंदर से एक पिंक कलर का लंड की शेप वाला खिलौना सा लेकर आई.

बीएफ स्टेशन

अन्तर्वासना पर बिना किसी दिक्कत के अपनी बात शेयर करने के लिए, ये एक अच्छा पटल है. मुझे उसकी आंखें वासना से भरी ऐसी दिख रही थीं … जैसे वो मुझे अभी ही खा जाएगी. अन्दर तो उसने कुछ पहना ही नहीं था, तो उसकी 36 इंच की चुचियां देख कर लंड मचल गया.

तभी मैंने देखा उसका एक दोस्त अपनी सहेली को गोद में उठाकर ऊपर किसी कमरे में ले गया. चुदाई के बाद टेबल के मेजपोश से लंड पौंछ कर बोला- तुम निबटोगे?मैंने मना कर दिया।वह बड़ा थैंकफुल था- अरे यार मजा आ गया! तुमने बड़ी मदद की.

अच्छा लगा बापू जी!” ज्योति ने इस बार हिम्मत करते हुए कहा।बेटी तुम बेवजह शरमा रही हो अगर तुम मेरा साथ दो तो मेरा यह लंड तुम्हें जन्नत की सैर करवायेगा.

राजीव ने शबनम को नीचे पलटा और अपना मुंह उसकी चूत में ले गया और उसकी दोनों टाँगें चौड़ी कर अपनी जीभ उसकी चूत में घुसेड़ दी. मैं हमेशा बस में भी मौका देख कर उसकी गांड और मम्मों को दबा देता था. विजय की पत्नी रजनी ने उसको राहुल का फ्लैट बताया और जब राहुल ने दरवाजा खोल कर पैकेट लिया तो रजनी ने मुस्कुरा कर राहुल को हेलो बोला.

चूत से हल्की हल्की बूँदों की मादक महक सारे कमरे में जोश जगा रही थी. दोस्तो, मेरी यह सेक्स कहानी एकदम सच है, मैंने जो अनुभव किया था, वो जस का तस आपके सामने लिख दिया है. राहुल ने फटाफट शावर लिया और अपना कॉस्टूम पहन कर ऊपर से ट्रैक सूट डाल लिया और स्वीमिंग पूल की ओर चल दिया.

मेरी चाची बहुत बाजार की चीजें खाती है और मैं भी उनका खूब साथ देती हूँ.

बीएफ फिल्म देहाती हिंदी: वो बोले- कमरे तो सारे फुल हैं लेकिन हम आपके लिए व्यवस्था कर देंगे लेकिन उसके लिए आपको अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा. उनकी इस दो अर्थी बात से मुझे कुछ समझ आया, तो मैंने कहा- पूरा चैन चाहिए तो फिर मुझे आपके ऊपर चढ़ना पडेगा.

अब मुझसे और कंट्रोल नहीं हो रहा था, मैंने कहा- मेरा गिरने वाला है, कहाँ लोगी, मुंह में या कहीं और?उसने कहा- मेरे बूब्स पे गिरा दो।मैंने कहा- एक बार टेस्ट तो करो, अच्छा लगेगा. करीब 10 मिनट बाद ज्योति ने मुझे धक्का देकर दूर किया और कार का दरवाजा खोलकर बैठ गई. तुम अपने हाथ से ठीक तरह से मालिश नहीं कर पा रही होगी इसलिए दर्द नहीं जा रहा.

वो मेरे लंड को सहलाते हुए पॉर्न मूवी देख रही थी और मैंने अपनी भतीजी को नंगी करना शुरू कर दिया था.

माँ ने हर्ष से पूछा- इस टाइम क्या काम है बेटा?तो हर्ष बोला- दीदी एक्टिवा सीखने के लिए कह रही थी. आपको मेरे चूतड़ बहुत अच्छे लगते हैं ना?” परीशा पापा के बॉल्स सहलाते हुए बोली।मुकुल राय- हां बेटी, बहुत ही सेक्सी चूतड़ हैं तुम्हारे!”परीशा- और मेरी गांड? मेरी गांड अच्छी लगी आपको?मुकुल राय- तुम्हारी गांड तो बिल्कुल जानलेवा है बेटी। जब नहा के टाइट कपड़ों में घूमती हो तो ऐसा लगता है जैसे कपड़े फाड़ के बाहर निकल आएँगे। तुम्हारे मटकते हुए चूतड़ों को देख के तो हमारा लंड ना जाने कितनी बार खड़ा हो जाता है. वो दोनों हाथों से मेरे चूचों को दबाने लगा और हाथों में लेकर मसलने लगा.