बीएफ पिक्चर चूत

छवि स्रोत,भाभी xnxx

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी शायरी इमेज: बीएफ पिक्चर चूत, अचानक मुझे ध्यान आया कि ये मैं क्या कर रहा हूं … मैंने तो कुछ और ही प्लान कर रखा था.

सेक्स बीएफ वीडियो मूवी

मैंने दीदी को गले लगाया और उसका हालचाल पूछा, तो वो अपनी ससुराल में बहुत खुश थी. मुसलमान की बीएफ पिक्चरमैंने अनिकेत को एक किस की, तो बदले में वो भी मेरी जीभ को चूसने लगा.

डॉगी पोजीशन में चोदने के बाद थॉमस ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मुझे दीवार के पास ले गया. एक्स एक्स वीडियो हिंदी कॉममैं अपने प्रेम को अपने अंदर समेटे खुशी के बहाने अपनी प्रेमिका को महसूस कर लेता था.

वो बोला- क्या हुआ भाभी? पसंद नहीं आया क्या?मैंने उसके हाथों से गुलदस्ता लेकर उसका थैंक्स कहा.बीएफ पिक्चर चूत: फिर मैंने उसके नीचे उसकी गोलियों पर किस की और उनको मुँह में भर लिया.

मैंने भाभी से पूछा- अब भैया के साथ आप सेक्स नहीं करती क्या?भाभी उदास हो कर बोली- डॉक्टरों ने आपके सामने ही तो मना किया था, वैसे भी हार्ट अटैक की दवाइयों से आदमी का सेक्स खत्म हो जाता है.उसने गर्लफ्रेंड की नाभि को बहुत जोर से चूसा, जिससे मेरी गर्लफ्रेंड एकदम से गरमा गई.

बीएफ सेक्स इंग्लिश पिक्चर - बीएफ पिक्चर चूत

दोस्तो नमस्कार! मैं मधु (शहद) आप लोगों का एक बार फिर अपनी आत्मकथा के दूसरे भाग में स्वागत करती हूँ। आप लोगों ने मेरी कहानियों को बहुत सराहा है जिसके लिए आप लोगों का मैं अपना गाउन खोलकर स्वागत करती हूं।मैं आप सबसे कहानी में देरी के लिए माफी भी चाहती हूं कि कहानी आने में देरी हो जाती है.‘आह आह्ह थॉमस बहुत मजा आ रहा है … तुम कितना मस्त चोदते हो … आह थॉमस बेबी फक मी फास्ट.

मुझे बस अब इस बात का इन्तजार रहता था कि कब शालिनी अकेले में मिले और मैं उसको चोद सकूं. बीएफ पिक्चर चूत मैंने कुछ देर बाद नोटिस किया कि अब वो मुझे समझाने के बाद मेरे कंधे पर हाथ रख कर पूछने लगते थे ‘समझ गई ना?’मैं भी हां में सर हिला देती.

उसी समय अनिकेत की पैंट खुल कर नीचे हो गयी और टट्टों के साथ लंड की जड़ तक जीभ फिराने लगी थी.

बीएफ पिक्चर चूत?

उसने लंड चूसने का कहा, तो मैंने उसके मोटे लंड को अपने होंठों से लगा लिया और उसके लंड का मज़ा लेने लगी. मेरा पूरा लंड बड़ी तेजी से मीता की अधखुली चूत को चीरता हुआ अंत तक समा गया. मुझसे चुदास बर्दाश्त नहीं हो रही थी, बस मन कर रहा था कि उनकी तरफ मुँह करके उनके होंठों को चूमने लगूं और अपनी चुचियों को उनके मुँह में भर दूं.

इसकी पेंटी तो और भी छोटी थी … जो सिर्फ मेरी चूत के एरिया को ही ढक रही थी. दूसरे राउंड में मैंने रकुल की चूत की आग को अपने लंड के पानी से ठंडा किया. अब जब भी मेरा मन सेक्स का होता है, तो मैं ममा के साथ लेस्बियन कर लेती हूँ.

फिर मैंने एक साथ मां की चुत में दो उंगलियां डाल दीं और अन्दर बाहर करने लगा. कुछ ही देर के बाद मेरी प्यारी नेहा एक पराये मर्द के सामने नंगी होने वाली थी. मैं छुड़ाने का नाटक करती रही लेकिन मैं बहुत गर्म हो रही थी और मुझे मजा आ रहा था.

धीरे धीरे मैंने अपना हाथ जांघों के बीच में देकर भाभी की चूत तक पहुंचा दिया. मेरी ममा का रुझान बड़ी उम्र के इंसानों में ना होकर 27-28 साल से कम उम्र के लड़कों में है.

तभी पिता जी के फोन पर किसी का कॉल आ गया और वे जल्दी में आवाज लगाते हुए चले गए- अदिति मैं जरूरी काम से जा रहा हूँ.

कपड़ों को ठीक करने के बाद भाभी आंखे बंद करके और अपना सिर पीछे करके सीट पर पसर गई.

अब आगे:उस अफ्रीकन क्लाइंट रॉबर्ट ने व्हिस्की के गिलास को होंठों से लगाया और एक चुस्की लेते हुए कहा- देर मत करो डार्लिंग … अब मुझे बिकनी पहन कर दिखाओ. एक पॉइंट बच्चेदानी का मुंह भी होता है जो लेडी की क्लिटोरियस से भी अधिक सेंसिटिव होता है. उसके हाव-भाव देखकर मैं समझ गया था कि इसके साथ एक बहुत ही सेक्सी चैट सेशन होने वाला है.

साथ में वो बोल रहा था- ओह्ह नीला … सो गुड … बहुत मजा दे रही हो यार … इतने अच्छे से चूस रही हो तुम … आह्ह अब छोड़ भी दो जान … नहीं तो मैं मुंह में ही झड़ जाऊंगा. मैंने भाभी की आग को ठंडा करने के लिए फिर से उनकी साड़ी उठाई और अपनी बड़ी उंगली उनकी चूत में डाल दी. कुछ देर वो मेरी चूत में उंगली करता रहा और मैं चुदने के लिए तड़प उठी.

भाभी चुप हो गईं और धीरे से अपनी उंगली पर अपनी साड़ी के पल्लू को लपेटते हुए बोलीं- वो ये सब नहीं करते हैं.

पर उंगली य बैंगन कभी लन्ड की जगह नहीं ले सकते।जब वो 3 महीने घर नहीं आये, उसी दौरान एक ऐसा वाकया हुआ जिसे याद करके मैं आज भी रोमांचित य उत्तेजित हो जाती हूँ. मगर उसका नम्बर नहीं लग रहा था!मैं जिस काम से आया था, वहाँ जाकर अपना कार्य करने लगा. अर्पित कभी मेरे निचले होंठ को अपने होंठों में लेकर चूसता तो कभी ऊपर वाले होंठ को चूसने लगता.

मैं अपनी किस्मत को सराहते हुए ईश्वर को बार-बार इस पल के लिए धन्यवाद दे रहा था. 143 का प्रयोग करके जुड़ सकते हैं, अगर आपका रिस्पांस अच्छा मिला तो मैं आपको अपनी आगे की कहानियां फिर बताती रहूंगी. जिसमें मैं और मेरे साथ कॉलेज के 5 होनहार छात्र भी थे।मैं इस प्रतियोगिता में सिर्फ इस वजह से थी क्योंकि एक तो टीम में 1 सदस्य कम पड़ रहा था.

फिर मैं उसके पेट को चूमते हुए नीचे आने लगा और उसके लोवर को उतार दिया.

उसके मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं और बोली- आह्ह … आराम से … मैं कहीं नहीं भाग रही. तभी उसने आराम से सनम के बाल पकड़ कर उठाया और उसके मुंह में लंड डाल दिया.

बीएफ पिक्चर चूत अब रश्मि भी मस्ती में आकर अपनी गांड को उठा उठा कर चुदवाना शुरू कर चुकी थी. उफ्फ़ … अंकल जान लोगे क्या मेरी?”मैं कभी उस नाजनीन की पीठ चूसता, कभी गर्दन, कभी कान चूसता चला गया.

बीएफ पिक्चर चूत मुझे जीजू की वो बात याद आने लगी थी, जिसमें उन्होंने मेरे पति के साथ मेरी दीदी के चुदने पर अपनी अनापत्ति जता दी थी. जवाब में मैं भी ऊपर नीचे होकर उसकी चूत में धक्के देने लगा ।मेरे हाथ उसके स्तनों तक पहुंच रहे थे जो कि उसके स्तनों को जोर से मसल रहे थे.

साली जी, आज शाम को कुछ स्पेशल बना के खिलाओ न!” मैंने निष्ठा का ध्यान बटाने के उद्देश्य से कहा.

सेक्सी बीएफ हिंदी ऑडियो में

जैसा कि आप सभी को पता है कि मुझे लंड पर बैठ कर उछलने में बहुत मजा आता है. नेहा ने कहा- कोई बात नहीं सर … हमें तो ऐसी डांट सहन की आदत होती है. नेहा अपनी मम्मी से बहुत डरती थी लेकिन उसने मुझे इशारा कर दिया था कि वह मुझे चाहने लगी है.

अब तक मामी के दो बच्चे हो चुके थे और मामी भी मामा के साथ सूरत ही चली गई थीं. मैंने लंड को वापस खींच लिया और एक ही झटके में पूरा लंड भाभी की चूत में दे मारा. उसने बात आगे बढ़ाते हुए कहा- मैं ये बात तुम्हें कभी नहीं बताने वाली थी.

फिर मैंने शाजिया का चेहरा अपने हाथ में प्यार से लिया और कहा कि मैं कसम देता हूँ कि ये बात बाहर नहीं जाएगी … हम तीनों के बीच ही रहेगी.

जब सांसें कुछ काबू में आईं तो मैं निष्ठा की पीठ और नितम्ब सहलाने लगा और मेरी उंगलियां स्वतः ही उसकी गांड की दरार में रेंगने लगीं. मुझे याद नहीं कि किस तरह उसने मेरी चूत को पकड़ा था और कुछ हिस्सों पर ऐसे दबाया कि मेरी चूत में पानी का प्रेशर बन गया. दोस्तो, मैं आपको बता नहीं सकता कि मुझे उनके जिस्म को चाटने में कितना मजा आ रहा था.

वाह क्या गजब की मोटाई थी, करीब सवा दो इंच मोटा लंड मेरी चूत की सैर करके बाहर आ गया था. उस रात मेरे छोटे भाई ने मुझे जीभर के चोदा और मेरी हालत एक अधमरी कुतिया सी कर दी. मैंने उसकी ब्रा को उसके मम्मों से निकाल दिया … और मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा.

सरोज का शरीर थोड़ा भरा हुआ और चब्बी था जिससे वह इतनी सेक्सी लगती थी कि दिल करता था उसको पकड़ कर कभी भी चोद दो. उसका हाथ हटाकर मैंने लंड को उसकी चुत के छेद पर सैट किया और होंठ उसके होंठों पर रख दिए.

मानो पूछ रही हो कि कौन आया है?मैंने उसे इशारों में समझाया- रुको मैं देखता हूँ. इस पोजीशन का एक फायदा ये रहा था कि इस पोज में मेरा लंड उसकी बच्चेदानी तक पहुंच रहा था. उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा- बहू, तू तो बहुत मस्त है री … तेरी चूत ने तो मेरे जैसे पहलवान का भी पानी सोख लिया.

मेरे पति घर में नहीं थे और मेरे जिस्म में काम की अगन जल रही थी फिर भी मैंने लोक लाज और संस्कारों से प्रेरित होकर मद्धम आवाज में उन्हें समझाने की कोशिश की- जेठ जी, ये पाप है और मेरे पति घर पर नहीं हैं.

उनका लंड फूल कर एक मोटे तंदरुस्त साढ़े सात इंच लम्बे लौड़े में तब्दील हो चुका था. ऐसा करने से अब उसके दोनों ही छेदों में दो मर्दों के लंड ज्यादा अंदर तक जाने लगे. अब तक मेरी बेचैनी भी शवाब पर थी, तो मैंने लंड को पूरा का पूरा एक साथ ही चूत की जड़ में बिठा दिया और ऐसा करते वक्त मैंने प्रतिभा के हवा में उठे पैर उसके चेहरे की ओर दबा दिए, जिससे चूत और भी उभर कर लंड लेने के लिए सामने आ गई.

वो कुछ देर तक तो मानो मुझे चुपचाप देखता ही रहा और ख्यालों में कहीं खो गया।मैं सोचने लगी क्या हुआ, आगे क्यूँ नहीं बढ़ रहा?तो सिर उठा के देखा तो वो मुझे देखता हुआ पता नहीं क्या सोच रहा था।मैंने दबी हुई सी आवाज में पूछा- क्या हुआ?तो वो वापस होश में आया और बोला- कुछ नहीं, तुम्हारी खूबसूरत और मासूमियत पे फिसल गया।मैंने कहा- फिसलने से कोई फायदा नहीं है. अच्छा सुनो न जानू … मैं थोड़ी देर बाद में बात करती हूँ … अम्मी बुला रही हैं.

मैंने एक दिन हिम्मत करके कह दिया- शाजिया अब इंतज़ार नहीं होता, बस मुझे तुम्हारी चूत लेनी है. पूजा- तो तुम शेव क्यों नहीं कर देते?मैं- जरा पैर उठाकर मेरे कंधे पर रख लो. ऑटो वाले ने सामने वाली सीट से एक लड़के को आगे बुला लिया और मुझसे बोला कि अब बैठ जाओ.

हिंदी में बीएफ सेक्सी हिंदी बीएफ सेक्सी

उसने एक जोरदार प्रयास किया ताकि मैं उसकी चूत से जीभ निकाल लन्ड अंदर डाल दूं.

जब काफ़ी देर तक लड़की ने कोई रिएक्शन नहीं दिया तो रमेश गुस्से से भर गया।गुस्से में वो बोला- क्या यहाँ नौटंकी करने आई है साली? अरे जब इतनी शर्म थी तो चुदने आना ही नहीं चाहिए था तुझे!इतना बोल कर रमेश ने अपना मोबाइल हाथ में उठा लिया।रश्मि- किसे फोन कर रहे हैं अंकल?लड़की ने घबरा कर अपने दोनों हाथ चेहरे से हटा लिए. अरे जब अपना खुद का दूध उबाल पर हो तो गैस पर रखा दूध किसे याद रहता है।वो मेरे दूधों से मैक्सी के ऊपर से ही खेल रहा था। उसके दोनों हाथ दूध से फिसलते हुए मेरी उठी हुई गोल गांड पर आकर रुक गए. ’मुझे मालूम था कि इसको मेरी चीखें सुनने में ज्यादा मजा आएगा इसलिए मैं मजा लेते हुए कुछ ज्यादा ही चीखने लगी थी.

रमेश- अच्छा इतना पसंद आया मेरा लंड तुम्हें?रश्मि- बिल्कुल अंकल।उस रात रमेश ने रश्मि को किसी गली की कुतिया की तरह रात 3 बजे तक अलग अलग पोजीशन में चोदा. मैं समझ गया कि अब यहाँ कोई खेल होने वाला है।मैंने देखा वो मम्मी उन अंकल के बिस्तर पर जाकर बैठ गयी. हिंदी चुदाई ब्लू फिल्मइसके बाद हमने देखा कि वहां महिला पुलिस वालीं जल्दी जल्दी अपने कपड़े पहनने की कोशिश कर रही थीं.

फिर उसने अपने होंठों से मेरी चूत का एक होंठ खोला और अपने मुँह में चूसने लगा. इस कामुकता में मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गयी जोर से सरोज की चूत को काटने लगी.

मैंने अपने द्वारा लिखने का बहुत प्रयास किया, पर उस याद को सोच कर ही मेरे हाथ खुद ब खुद चूत पर चले जा रहे हैं और चुचे के निप्पल कड़क हुए रहे हैं. फिर अर्पित मेरी वेस्ट लाइन पर चूमने लगा और चूमते हुए दांतों से पैंटी नीचे सरकाने लगा. मैं दावे के साथ कह सकती हूं कि उसकी चूत में तुम्हारे लंड के नाम की खुजली हो रही है.

कुदरत का खेल देखो … मैं स्टैंड की तरफ चला जा रहा था और वो भी मेरे पीछे आ रही थी. मैंने गांड हिलाना बंद कर दिया और उसके मस्त लौड़े का झटका अपने चूत की गहराई में लेने लगी. विनीता कहने लगी कि दिन स्कूल में कट जाता है और शाम के समय वो कुछ गरीब और पढ़ने में तेज बच्चों को निशुल्क पढ़ाया करती है, ताकि वो सफल हो सकें और इस बहाने उसका भी मन लग जाता है लेकिन फिर तन्हाई में रात काटनी मुश्किल हो जाती है.

सरोज आंटी कहने लगी- राज, कई दिन से मैं एक बात सोच रही थी कि मैं कहूँ या नहीं कहूँ?मैंने कहा- कहो आंटी, बताओ क्या बात है?सरोज आंटी बोली- जब तुम मुझे आंटी कहते हो तो मुझे लगता है कि मैं बहुत बूढ़ी हो गई हूँ.

मुझे जो चाहिए होता है, वो सामने से आ जाता है … एक बार फिर ये बात सिद्ध हो चुकी थी. रश्मि अपने हाथ को अपनी गांड पर ले गयी और उंगली से रमेश का वीर्य निकाल कर चाटने लगी.

तभी मेरा लंड फिर खड़ा होने लगा, तो मैं मां के पीछे गया और उनको अपनी बांहों में भर लिया. मैंने कहा- नहीं, मैं गांड नहीं मरवाता हूँ।वो बोले- तो मेरा अपने हाथ से ही हिलाकर निकाल दो. निप्पल तो मैं ऐसे चूस रहा था कि अगर उसमें दूध होता, तो मेरे मुँह में भर जाता.

जहां मैं 2 महीने से रह रहा हूँ, वहां एक दिन एक नए परिवार के सदस्य आए हुए थे. मैंने अमित को जबरदस्ती हटाया और मादक आवाज़ में उससे बोली- मेरे से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है. इस समय उसके होंठों पर लिपस्टिक नहीं थी, पर मेरे चूसने से वो लाल हो गई थी.

बीएफ पिक्चर चूत उसके पति के आने के बाद अब वह मुझसे बात नहीं कर सकती थी इसलिए उसने मुझे बात करने के लिए मना कर दिया. मैंने पूछा- मां आप क्यों रो रही हो?मां- नहीं हर्षद, मैंने बरसों से इन आसुँओं को बहुत रोके रखा है … जी भर के रो लेने दे मुझे … मैं बहुत प्यासी हूँ हर्षद.

एक्स वीडियो सेक्सी हिंदी में

मैं हंस दी कि क्या मुझे उन पार्टीज में सिर्फ यही पहन कर जाना होगा?मेरी बात पर ममा भी हंस दीं. फिर सरोज ने नीचे झुक कर मेरे ससुर के लिंग को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. अब आगे:मैं यहां एक बात लिखना चाहता हूँ दोस्तो … कि आज की इंटरनेट क्रांति ने उन सभी द्वारों (सेक्स) को खोल दिया था, जो कभी इस उम्र के लड़के या लड़कियों के लिए बंद थे.

शाजिया को फिर हम दोनों जिम के कसरत करने की मशीन के पास ले गए और पोजीशन बना कर बारी बारी फिर से शाजिया की चुदाई की. क्यूंकि वो लड़का हमारे हॉस्टल में चाय देने और लड़कियों के कपड़े प्रेस करने के लिए ले जाने की वजह से आता रहता था. ई-मेल सेक्सी ब्लू पिक्चरसेक्सी भाभी की देसी चुताई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक बिहारन भाभी को पटाकर अपने रूम में बुलाया था.

नमकीन चुतरस के स्वाद के साथ चॉकलेट का स्वाद लेना मुझे एक अलग तरीके की मस्ती का अहसास दिला रहा था.

गर्लफ्रेंड ने बॉस से कहा- सर आज काम बंद क्यों करवा दिया?बॉस बोला- आज तुमको मैं एन्जॉय कराने के मूड में हूँ … तुम मेरे साथ एन्जॉय करना चाहोगी?गर्लफ्रेंड तो अन्दर से चुदासी सी हो ही रही थी. मैंने उसके सुपारे को नीचे ऊपर करके उसके लंड के टोपे को अपने चुसाई से गीला कर दिया.

मैं तो यही सोच रही थी कि बस … मगर 10-11 मिनट में तुमने क्या क्या कर दिया … पूछो ही मत!मैं- क्यों?वो- क्यों क्या … घर आने के बाद में 10 मिनट तक बैठ कर यही सोच रही थी कि तुम कहां कहां क्या क्या कर रहे थे … मेरे गले पर सीने पर … और तुमने वहां भी हाथ लगा दिया था. उसके जाते ही मैंने रूम लॉक करके रूम का टेम्प्रेचर 17 पर किया और बाथरूम में चला गया. उसे मेरे कड़क लंड का एहसास हुआ, तो बदले में उसने भी मुझे होंठों पर चूम लिया.

इस पर उन्होंने शरमाते हुए कहा कि मुझे याद नहीं है कि उस रात क्या क्या हुआ था.

रोहन भी थॉमस से चुदते हुए मुझे देख रहे थे और मैं भी रोहन को अब देख रही थी. मुझे विडियो कॉल पर आने में कोई दिक्कत नहीं है।मैंने फोन को बेसब्री से थाम रखा था. और चोदो … और तेज़ … मजा आ रहा है … और तेज़ और तेज़।सुनील मुझे आहह … आहह … हम्म … हम्म … ये ले साली रांड.

बाप और बेटी का एक्स एक्स एक्स वीडियोजबरदस्त चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैडम मेरे साथ कुछ अलग तरह का सेक्स करना चाहती थीं. फिर वो पीछे की ओर घूमी और अपनी पेंसिल स्कर्ट में अपनी गांड उठाकर मेरे सामने कर दी.

बीएफ सेक्सी नया

मेरे और मामी की उम्र में, उम्र का कम ही फर्क था, तो इस पर मामी बोलीं कि तुम तो मेरी उम्र के ही हो, तुम ही बताओ कि मैं कैसे जी रही होऊँगी. मैंने अतिम पलों में तेजी से खुद को पीछे खींच कर लंड बाहर निकाला और प्रतिभा की पीठ पर फुहार छोड़ने लगा. उस रात हमने सबको जिम से जल्दी रवाना कर दिया और जिम 10 बजे ही अन्दर से बंद कर दी.

तेरी गांड नहीं लूँगा तो क्या तेरी माँ की गांड मारूंगा बहन की लौड़ी?रश्मि रमेश की डांट से थोड़ा सहम गई और उसने टांगें खोल दीं और दर्द सहने के लिए खुद को तैयार करने लगी।मस्त कुँवारी गांड देख रमेश का लंड फड़फड़ा उठा. इस चुबंन और आलिंगन के साथ ही मैंने मीता के लाल होते चेहरे के साथ ही एक सिहरन सी महसूस की. लंड खाली करके उन्होंने लंड निकाल लिया और हांफते हुए स्टूल पर बैठ गए.

मुझे पता था कि रेलवे स्टेशन के पास एक मेडिकल स्टोर रातभर खुला रहता है. कुछ ही पलों बाद मैं रॉबर्ट के लंड पर जोर-जोर से उछल रही थी और ‘आह आह आह. अह्ह्ह मा मैं आई!हाँ मेरी रानी … और ले … उफ्फ क्या चूत है तेरी!” कह कर अर्जुन ने रफ़्तार बढ़ा दी और मैं उसके लंड पे झड़ने लगी।मेरा जिस्म शांत हो गया था लेकिन अर्जुन मुझे चोदे जा रहा था.

हम लोग कुछ इस तरीके से बैठे थे कि आगे पूजा और समीर … और उनके सामने मैं और नीना थे. मेरी नंगी मम्मी की गांड चुदाई का यह सीन देख कर मेरा लंड फिर खड़ा हो गया.

आज मेरी इस सेक्स कहानी का दूसरा पार्ट आपकी सेवा में हाजिर कर रहा हूँ.

मैं भी थॉमस के आगे कुतिया बन कर उससे अच्छे से अपनी गांड मरवा रही थी और आहें भर रही थी. पति पत्नी कैसे सेक्स करते हैंमैंने आगे हाथ करते हुए हल्के से मामी के चूचों को दबा दिया और उनकी गर्दन पर पीछे से किस किया. হিন্দি ভূতের বইमैंने कबर्ड से सिगरेट का पैकेट लिया और एक सिगरेट खुद, एक मौसी को दे दी. हम होटल गये और मैंने बैग लेकर पेमेंट की और वहां से चेक आउट कर दिया.

मैंने कहा- अच्छा तो तुमको मेरी चीखों से मजा आ रहा था और मैं मरी जा रही थी.

फिर मैंने अपने पतिदेव की फेवरेट गुलाबी रंग की ब्रा पैंटी का सेट निकाल कर पहना। मेरे पति कहते थे कि इस ब्रा पैंटी में मैं मुर्दों को भी उठने पर मजबूर कर सकती हूं।खैर यही पहन कर मैं छत पर गयी अपने आशिक के पास … मैंने स्टोर रूम का दरवाजा खोला. क्योंकि मुझे ऐसा लगता था कि उनके पति उन्हें नहीं चोदते या सही से नहीं चोदते. रात के डेढ़ बजे एक नर्स घबराई हुई आई और उस ने मुझे दवाई का एक पर्चा दिया और बोली- आपके पेशेंट के साथ कुछ इमरजेंसी है.

जब मैं थॉमस के लंड से उतरी, तो मेरी चुत से थॉमस के पानी की लार टपक रही थी. जेठ जी मस्ती में आकर मेरी हवा में उठी हुई मेरी टांगों के तलुवे चाटने लगे. चूंकि हमारे यहां ऑटो मीटर पर नहीं चलता है, उसका किराया रूट के हिसाब से तय होता है.

हिंदी फिल्म सेक्सी बीएफ वीडियो

मैं उन्हें एक बार फिर से अपने बारे में बता देता हूँ कि मेरा नाम सन्दीप सिंह है और मेरी उम्र 26 साल है. तुम बस आज देखते रहो मेरी चूत को!उसके बाद शाम को मैं अपने घर चला आया. नमस्कार दोस्तो … कॉलेज की कुंवारी लड़की की चुदाई की कहानी में आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है.

प्लीज़ आंटी एक बार कर लेने दो … बहुत दिन से आपको पटाने की कोशिश कर रहा हूँ … आज मौका मिला है.

इस चुद चुदाई देसी ग्रुप स्टोरी के पिछले भागगांड मरवाने की तलब- 1में आपने पढ़ा कि मेरी गांड में खुजली हो रही थी, लंड लेने की इच्छा हो रही थी तो लेडी डॉक्टर ने मुझे उसके दूध वाले के पास भेज दिया.

मैं और मां ने एक दूसरे को आशंका से देखते हुए लगभग एक साथ ही पूछा- क्या बात है … बोलिए न!तभी पिताजी बोले- अरे मेरे पास सतारा से लता का फोन आया था. मैंने अपने हाथ पेट के रास्ते उनकी साड़ी के अन्दर डालकर उनकी गर्म चुत पर रख दिए. बीएफ एचडी भोजपुरीमुझे विश्वास ही नहीं हुआ कि उस जैसी कमसिन कन्या मेरे साथ चुदाई को राज़ी हो जाएगी.

तो उसके बाद उसने अपना एक हाथ मेरी चुचियों पर रख दिया और घुमाने लगा. नेहा अपने कमरे में जाने का बहाना बनाकर आई तो मैंने नेहा से कहा- नेहा मुझे बाथरूम जाना है. अगले दिन हम दोनों से कोई चलने परेशानी हो रही थी तो हमने स्कूल ना जाने का सोचा और हम दोनों नाश्ता करके सो गयी।उसके बाद अक्सर हम अपनी रात राजू के साथ रंगीन करने लगी.

उसने मुझे बताया कि उसका घर भी मेरे घर से करीब दो किलोमीटर और आगे है. थॉमस ने हंसते हुए मेरी गांड थपथपाई और चूत में धक्के मारने शुरू कर दिए थे.

एक बात का ध्यान रखना!” मैंने मुस्कुराते हुए कहा।क्या?” सानिया ने मेरी और आश्चर्य से देखा।इन पैसों के बारे में अपनी मम्मी या और किसी को मत बताना।हओ.

मैंने बिन्दू को घोड़ी बनने को कहा तो बिन्दू फट से तैयार हो गई और उसने अपने बड़े और गोरे गोल चूतड़ों को मेरे सामने कर दिया. मुँह में भर भर के चूची चूसने लगा और धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर भी करने लगा. अब मेरा मुँह दुखने लगा तो मैंने लंड को मुँह से बाहर निकाल दिया और सांस लेने लगी.

इंग्लिश ब्लू पिक्चर बीएफ पर क्या करता, मैं उसे रोक भी तो नहीं सकता था, आखिर मेरी हैसियत ही क्या थी. मेरी निगाहों से निगाहें मिलने से वो थोड़ी शरमाई और नीचे नज़र झुका कर बैठ गई.

मैं कुछ समझ पाती कि अनिकेत ने अपने पैर के अंगूठे से उस रसगुल्ले को अन्दर मेरी नंगी चुत में ठेल दिया. रीता- मेरी गाँड ज्यादा खाने से नहीं … आपके लंड के घुसने की वजह से बड़ी हो गयी है। गलती आप करो और इल्ज़ाम मुझ पर लगाओ? यह कहाँ का इन्साफ है?उसकी गांड को गौर से देखते हुए रमेश बोला- अरे हां, तुम बिल्कुल सही कह रही हो. और जैसे ही मैंने अंगूठे को चूसा उसने अपनी चूत को जांघों में भींच कर दो तीन बार हिलाया, अपने सिर को हिलाया और आ … आ … करके झड़ गई.

बेटे ने मां को चोदा सेक्स वीडियो

हाथ जब पैंटी के अंदर जा सकता था तो वहां नहीं डाला? जब विन्नी चुदने को तैयार है तो पूरी तरह उसको निर्वस्त्र क्यों नहीं किया?दोस्तो, ऐसा मैंने इसलिए नहीं किया क्योंकि मुझे अकेले को केवल अपनी ही भूख नहीं मिटानी थी. और जाते जाते बोल गई- नेहा, चादर बदल दे बेटी, बंटी ने काफी गंदी कर दी है. एक कमरे में मीनू होम वर्क कर रही थी और आंटी दूसरे रूम में टीवी देख रही थीं.

अरबाज़- सच है पहले चूत देखी, चूतड़ देखे, चोदा उसके बाद शक्ल देखी। लेकिन मज़ा आ गया।ऐसी ही बातें हो रही थीं, सब हंस रहे थे, दारू पी रहे थे।सोफे पे सुलेमान मेरे पास बैठा था, कुरैशी मम्मी के और अरबाज़ शैली के पास।तीनों मर्द हमारी चूचियों को जांघों को सहला दबा रहे थे।कुरैशी- सुलेमान यार, तूने माल मस्त फंसाया है। कामिनी की गांड मार के मज़ा आ गया. मम्मी की आंखों से आंसू निकल रहे थे लेकिन उस पर तो कोई असर हो ही नहीं रहा था.

मैंने पांच या छह बार उसी अवस्था में उतने ही लंड को थोड़ा निकाल कर अन्दर डालना शुरू किया.

विनीता ने मेरा एक हाथ अपने स्तनों पर रख दिया और मेरा दूसरा हाथ अपनी गाँड पर रखने लगी. हो सकता है कि मेरी ऑफिस की उस सेक्सी लेडी के साथ सेक्स करने में तुम मेरी मदद कर पाओ. मैं आपके मैसेज और मेल का जवाब जरूर दूंगी … प्लीज मुझे मेल और मैसेज जरूर करें.

रमेश ने झुक कर अपने दोनों हाथों से रश्मि की गांड को फाड़ कर देखा और फिर उसकी चूत पर मुंह लगा दिया. हॉट गर्ल Xxx स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी उस देहाती गर्लफ्रेंड ने मुझे पूरी रात के लिए अपने घर बुलाया. नेहा ने अपने हाथ से रॉन को पकड़ रखा था और पैर भी ऊपर करके रॉन को जैसे जकड़े हुए थी.

मैं हंस दी कि क्या मुझे उन पार्टीज में सिर्फ यही पहन कर जाना होगा?मेरी बात पर ममा भी हंस दीं.

बीएफ पिक्चर चूत: उन्होंने काली पैंटी ही पहनी थी, शायद सैट वाली ब्रा पैंटी थी, जिसके कारण उनका रंग और भी निखर रहा था. वो कभी मुझे पूरी जान से कस लेती और कभी मेरी गर्दन तो कभी कंधे पर काट लेती.

पत्नी के वापस लौटने पर मैंने अकेले रहने वाले एक मित्र के फ्लैट की चाभी ले ली और हमारा काम वहां चलता रहा. मैंने गलती से रात को सोते समय पम्प के बटन को ऑन ही रख दिया और पम्प रात भर चलता रहा. मीता की सुराही जैसी गर्दन और उसके कुर्ते के अन्दर उसकी उभरी हुई चूचियां कहर बरपा रही थीं.

इसीलिए पिछले सात महीने से मैं उसकी ऑफिस में चुदाई करने की प्लानिंग कर रहा था.

इससे मुझे ये फायदा हुआ कि अब वे मेरी गांड को कोरी समझ कर लंड से धीरे धीरे धक्के देने लगे. उससे चुदाई के बाद मेरा पूरा बदन फ्रेश हो चुका था और मेरे शरीर मैं एक अलग ही ऊर्जा थी. अंकुश के मुँह से इन गालियों को सुन कर मैं और गर्म हो गई और चुदाई के मजे लेने लगी.