सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी

छवि स्रोत,भोजपुरी बीएफ फिल्म वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो चोदने की: सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी, लेकिन क्या बताऊं, उस समय उनकी चूचियाँ मखमल की तरह मेरे सीने से लग गईं.

जंगल लव सेक्सी बीएफ

5 इंची लंड को देख उनके मुँह से आह निकल गई- मस्त लंड है यार!इतना बोल कर भाभी ने लंड को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगीं। मैंने भाभी से ये बिल्कुल भी उम्मीद नहीं की थी। उन्होंने अच्छे से मेरा लंड चूसा-चाटा. भोजपुरी सेक्सी बीएफ आवाज मेंउनके मुँह से एक लंबी चीख निकली जिस पर मैंने ध्यान नहीं दिया और लगातार पूरे जोश के साथ धक्के देने लगा.

फिर अनिता की कमर को पकड़ कर एक झटका मारा, टोपा चुत को फैलाता हुआ अन्दर घुस गया और अनिता की दर्दनाक चीख निकल गई. सेक्सी बीएफ हिंदी में न्यूफिर मैंने पूछा- माँ सीमा नजर नहीं आ रही है?माँ गुस्से से बोली- क्यों सीमा फिर चाहिए, पाप करते समय शर्म नहीं आती है… तुम्हारे चाचा आये थे वो उसे शहर ले गए.

उन सिसकारियों के कारण मेरी उत्तेजना बढ़ने लगी और मैं तेज़ी से धक्के लगा कर अपने लिंग को उनकी योनि के अन्दर बाहर करने लगा.सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी: मैंने कहा- क्या हो गया दीदी? आप मुझे ऐसे क्यूँ देख रही हो?दीदी मुस्कुराती हुई बोली- मैं अपनी सविता को देख रही हूँ जो पता नहीं कब जवान हो गई!मैं मुस्कुरा दी.

चल अब तू निकल, मुझे नीतू को काम समझाना है और इसे कुछ अच्छे कपड़े भी दिलाने होंगे.फिर हम दोनों अलग हुए, मामा जी फ्रेश होने बाथरूम चले गये, मैं पूरे कपड़े पहन कर किचन में चाय नाश्ता बनाने लगी.

करीना कपूर बीएफ सेक्स वीडियो - सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी

मैं उठा और उसे लिटाकर अपना गीला लंड उसकी चूत पर रखा और उसे अन्दर डालने की कोशिश करने लगा.उसकी आँखों में छाई हुई हलकी हलकी लाली दर्शा रही थी कि वो बहुत उत्तेजित थी.

पसीने की बहती हुई धारें उनकी छाती से शुरु होकर उनके पेट से होते हुए नीचे लोअर की इलास्टिक को भिगा रहे थे. सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी फिर उसके थोड़ा नॉरमल होते ही मैंने एक ही झटके में अपना पूरा 7 इंच का लंड उसकी चूत की जड़ तक घुसा दिया तो वो बेहोश ही हो गई.

पूजा- ठीक है मामू मगर पुरानी टी-शर्ट का क्या करोगे आप?संजय- कल बता दूँगा.

सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी?

अब जमीला की चुचियों को मैं मसलते हुए रफीक के हाथ में मेरा मस्ताना और हम पहुंच गए बाथरूम. जिसमें गरीब छात्रों और बीमार लोगों को भरती करवाने पर कमीशन मिलता था. मुझे तो जैसे बस इसी पल का इंतज़ार था, मैंने उसको अपने शिकंजे में लेने के लिए कहा- मानसी, आज तक मैंने ऐसा कुछ किया है जो तेरी मर्ज़ी के खिलाफ हो? मैंने तुझसे कभी मिलने की ज़िद नहीं की, कोई गलत बात नहीं की, हमेशा एक अच्छे दोस्त की तरह रहा तेरे साथ और आज तू मुझ पे इतना भी विश्वास नहीं करती? नहीं जाना तेरे साथ कहीं.

अपने लंड पर मैंने थोड़ी सी पेस्ट्री की क्रीम लगाई और आंटी की चुत में लंड डालने लगा. दोस्तो फ्लॉरा चेंज कर रही थी मगर जॉय के रिमोट के चक्कर में वो सिर्फ़ ब्रा-पेंटी में बाहर आ गई थी. ले आज तेरी मैं गांड चोदती हूँ।जैसे ही उसने अपना नकली मोटा लंड मेरी गांड में डाला.

मैं पहले ही बता चुकी हूँ कि उसने यह शर्त रख दी थी कि जब वो मेरे साथ हो तब सुमित सिर्फ देखेगा, न तो छुएगा और न ही नज़दीक आने की चेष्टा करेगा. मैंने आकाश से कहा- मैं तो मज़ाक कर रही थी यार, तुम सच में पैसे ले आए?आकाश बोला- तुम्हारे लिए ये सब मज़ाक होगा पर मैंने तुम पहले ही कहा था तुम्हारे लिये में कुछ भी कर सकता हूँ. क्या कर रहा है?’ भाभी सिसियाईं।मैं- तुमने ही तो चोदने को कहा।भाभी मदहोशी से मेरे होंठों को चूमने लगीं। मेरे सीने के नीचे उनके बोबे बुरी तरह से दबे हुए थे। ये सब बहुत ही शानदार आनन्द था।भाभी- चुदाई के समय लंड-चुत, चुदाई, चोदना, गांड.

वो घबरा गया कि क्या हो गया… बाहर से राहुल के पापा बोल रहे थे- हम दोनों जा रहे हैं, घर ठीक से बंद कर लो. तू जल्दी कर और अपना लंड मेरी इस निगोड़ी चुत में डाल कर इसको शांत कर दे एक बार वरना मैं पागल हो जाऊँगी यार!पर मेरा लक्ष्य अभी बहुत दूर था.

सुबह को मैंने वहाँ सफ़ाई करवा दी थी और रात को टीना को वहाँ बुलाया था.

मगर अब उनके खड़े लंड को देखकर वो समझ गई इनसे बहस करना बेकार है और वो उनके हवाले हो गई- ठीक है कुत्तों.

क्या हुआ है?फ्लॉरा भागती हुई जॉन के पास आई और उससे आकर लिपट कर रोने लगी. ‘तो ये लो मेरी जान…’ मैंने अपना लंड पैंट से बाहर निकाल के उसे थमा दिया. उसने जल्दी से हाथ बाहर निकाला- छी:… जीजू ये क्या है अपने मेरे हाथ पर ये क्या कर दिया.

गुड मगर ये सब लिया तो अंडरगार्मेंट्स भी दिला दो ना। उसकी भी इच्छा होगी ना, मगर आप को किसी की इच्छा से क्या लेना-देना है।गुलशन- अनीता, तुम ज़्यादा बोल रही हो, मैंने कब तुम्हारी इच्छा को दबाया बोलो? आज जो तुम ये मॉर्डन कपड़े पहन कर घूम रही हो, ऐश कर रही हो. फिर मैंने जल्दी से उसकी सलवार उतार कर कच्छा निकाल दिया और उसे नीचे से नंगी कर दिया और मैंने अपनी दो ऊँगलियों की सहायता से उसकी पेशाब करने वाली छेद को थोड़ा फैला कर अपनी जीभ को उसमें तेज़ी से नचाने लगा. और अपने भाग्य को कोसने लगी।अगर ये बात जीजाजी को बताते तो वो मानते नहीं और दीदी के ऊपर ही सारा इल्ज़ाम डाल देते।मैंने कहा- डॉक्टर ने एक हल बताया है.

फिर मैं फूफा जी के पैरों की तरफ गई और उनकी पैंट को खींच कर उतार दिया और कच्छे को भी उतार फेंका.

इधर की चुदाई की कहानी पढ़ने से मेरा भी मन किया कि अपने साथ घटी चुदाई की कहानी लिखूँ और आप सबके सामने पेश करूँ. मेरे जितने भी दोस्त थे, जब कभी भी हम खेल खेल में एक दूसरे की निकर उतार कर देखते तो मेरी लुल्ली उन सब में दुगनी बड़ी थी. मैंने तुरंत उठ कर माला का ब्लाउज एवम् पेटीकोट उतार कर उसे नग्न किया और फिर अपनी टी-शर्ट एवम् लोअर उतार दिया.

फिर तुम मुझसे क्यों चुदीं?भाभी थोड़ी रुआंसी हो कर बैठ कर कहने लगीं- वो मुझे पसंद नहीं करते. मैं उसके पीछे-पीछे अपनी हवस से बेबस होकर उसके लंड को करीब से देखने की चाह में बढ़ा जा रहा था. वो अजीब सी आवाज़ें निकालने लगी- ओह साले कितना चूसोगे… चोद दो मुझे… बाबू अब… उंगली से कुछ नहीं हो रहा है जल्दी करो.

क्या जो घर का काम आप करती हो वह सब तुम्हारी मंझली बहू कर लेगी?मेरी बात सुन कर अम्मा बोली- आप चिंता नहीं करें, तुम्हें कोई कष्ट नहीं होगा.

मेरे पास पहुंचते-पहुंचते उसका लंड लगभग आधा तन चुका था जो कपड़े के अंदर किसी केले की शेप जैसे लग रहा था. नर्म हाथों में आते ही मेरा लंड अपनी औकात पर आ गया और फूल कर कुप्पा हो गया.

सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी और मुझसे पूछा- कल कहाँ खोए हुए थे?तो मैंने डरते हुए कहा- मेरी नजर गलत जगह चली गई थी, सॉरी!तो वो बोली- गलत जगह कहाँ?मैंने कहा- आप पर! वो आप पूरी गीली हो गईं थीं तो कुछ थोड़ा ज्यादा ही…तो उन्होंने कहा- इसमें कोई गलत नहीं है. रास्ते से मैंने कुछ नाश्ता ले लिया और अरमान को काल करके बोल दिया कि वो नाश्ते न बनाएं, हम लेकर आ रहे हैं.

सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी फिर ऐसे ही कुछ और दिन बीत गये और मुझे जानवी की चूत से ही काम चलाना पड़ा. ’ करने लगी। मैं लगभग 5 मिनट उसकी चुत चूसने के बाद उसकी क्लिट पर अपनी जीभ फेरने लगा, इससे वो पूरा मदहोशी में आ गई और सीत्कारियाँ भरने लगी।मैं फुल स्पीड में उसकी क्लिट पर अपनी जीभ लपलपाते हुए चला रहा था, वो मस्ती में ‘उई.

जोश में मैं बड़बड़ाने लगी- अहाहा हहाहय ऊऊहयहा… मेरी जान… और ज़ोर से चोदो मुझे… और ज़ोर से… उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक मी… फक मी!मेरी बातें सुनकर पीटर को भी जोश आ गया और उसने अपने एक हाथ का अंगूठा मेरी गांड के छेद में घुसा दिया! मुझे तो मुँह मांगी मन्नत मिल गयी.

सेक्सी खुल्लम-खुल्ला चोदी चोदा

फिर वो वैसे ही रस से सना हुआ लंड मेरे मुँह के पास ले आया और लंड चूसने को कहा. मेरी आज की कहानी उस वक्त की है जब मेरे दिल और दिमाग़ में वासना पूरी तरह से छाई हुई थी, नीलू की चूत चोदने के बाद मैं हर एक लड़की को हवस भरी निगाहों से देखने लगा था और उसको अपनी वासना के चंगुल में लाने की ताक में रहने लगा था. तो मेरे प्यारे मामू, कपड़े मैं निकालूं या आप निकालोगे?संजय- तू इत्ती सी है मगर बहुत पॉवर वाली लड़की है.

फिर मैंने आबिदा से पूछा- तुम ये सब कब से करवा रही हो और क्यों करवाती हो?तो उसने बताया कि वो लगभग एक साल करवा रही है. वहां छिपा दो और दूसरी चादर ले आओ। तब तक मैं राधा रानी की चुत को गर्म पानी से आराम देकर आता हूँ।राधा- काका, नीचे तो माँ जी होंगी. लगता है संदीप ने इन दोनों को भी मुझे अपने लंड चुसवाने के लिए पहले ही बुलाया हुआ है। मैंने सोचा- हिमांशु, अब तो तू भगवान भरोसे है… रात को ना तो कोई साधन है और ना दूर-दूर तक कोई आदमी…संदीप जाकर उनके पास बैठ गया और उसने भी अपनी शर्ट निकाल दी और बनियान भी… संदीप का बदन बनावट में उन दोनों से दोगुना भारी था… उसकी छाती उठी हुई और डोले भी काफी मोटे और मजबूत थे.

ऋतु भी धीरे-धीरे मेरे सामने आ कर बैठ गई, उसका चेहरा मेरे लंड से सिर्फ एक फुट की दूरी पर रह गया.

मैंने देखा कि फूफा जी अब भी वैसे ही पड़े हैं जैसे मैं लिटा कर गई थी. अब मैंने उसे नीचे लेटा दिया और उसकी साड़ी को ऊपर करके अपना लंड निकाल कर उसकी बुर पर लगा दिया. सुमित बोला- इनको देखो, साली इतनी सुंदर लड़की है और ये चूतिया इस सुंदर लड़की से लड़ रहा है.

मैं नाश्ता के बाद जाने के लिए बैग उठा कर बाहर निकला तो मुझे याद आया कि चाची के घर भी जाना है… फिर मैं बैग घर में रख कर पहले चाची के घर चला गया. प्लीज़ निकाल लो।लेकिन मैंने उसके चूचों को मसलते हुए धीरे-धीरे चोदना जारी रखा। जब उसकी सिसकारियाँ बढ़ने लगीं. संजय- मेरी जान तुम्हें कितना भी चोद लूँ मगर तुम थकती नहीं हो, ऐसा क्या है तुम्हारे अन्दर.

कहाँ तक पहुँच गई वो?टीना- बड़ी आग लगी है तेरे अन्दर सुमन के नाम की? बताती हूँ पहले तू ये बता कि पूजा के क्या हाल हैं. वो उठने वाला नहीं है। फिर तो उसको तो हिला-हिला कर उठाना पड़ता है।अरे क्या यार.

उसने सफेद रंग का कुर्ता और पंजाबी स्टाईल का सलवार पहनी थी, शायद आज ब्रा भी पहनी हुई थी. अब मेरी चूत में जलन होने लगी तो मैंने यह बात रोहन को बताई तो उसने मेरी चूत से लंड निकाल लिया और मेरी गांड में डाल दिया. वहां दोनों ने साथ में सफ़ाई की, फिर गुलशन ने कमरे में आकर बेड को ठीक किया, चादर बदली और अनिता के साथ लेट गए.

फिर उन्होंने बोला- अगर अपने पापा की मार से बचना है, तो जैसा मैं बोलती हूँ तुम वैसा ही करो.

मेरे भी आनन्द की सीमा न थी मैं भी सिसकार रहा था- हाय मेरी रंडी, तुम्हारी बुर कितनी टाइट और गर्म है, ओह मेरी प्यारी बहन, लो अपनी बुर में मेरे लंड को… ओह ओह. बड़ा आया नंगा होने में शर्म वाला, कल तक तो तुझे मैं ही नहलाती थी। चल निकालता है या मैं खींच कर निकाल दूँ?मॉंटी डर गया क्योंकि टीना अगर गुस्सा हो गईं तो फिर वो सब अच्छा-बुरा भूल जाती हैं इसलिए उसने चुपचाप चड्डी निकाल दी।मॉंटी की लुल्ली सोई हुई कोई 3″ की होगी, जिसे देख कर टीना की हँसी निकल गई।टीना- हा हा हा… क्या इस मूँगफली को मुझसे छुपा रहा था हा हा हा. जब रिया मेरे बदन से उतर गयी तो मैंने कोहनियों के बल उठकर अपनी चूत को देखा तो वो ऐसी हो गई थी जैसे किसी बिना चुदी चूत पर पहली बार में 10 लड़कों ने चढ़ाई कर दी हो.

5 इंची लंड को देख उनके मुँह से आह निकल गई- मस्त लंड है यार!इतना बोल कर भाभी ने लंड को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगीं। मैंने भाभी से ये बिल्कुल भी उम्मीद नहीं की थी। उन्होंने अच्छे से मेरा लंड चूसा-चाटा. अब मामा जी का लंड पूरी तरह से गीला हो चुका था, अब मामा लंड मेरे मुँह से निकाल कर नीचे उतर गये.

मुझे अच्छा लगेगा और दूसरी बात हम अच्छे दोस्त बन सकते हैं तो शॉर्ट में नहीं खुल कर सब बात डिटेल में बताओ।सुधीर- ओके भाभी. अब उसके हाथ मेरे सिर पर पकड़ बना रहे थे, उसको अच्छा लग रहा था और वो अपनी गांड आगे धकेलता हुआ मुझे अपने आँड चुसवा रहा था. मेरी सांसें रुक रही थीं। उसका लम्बा मोटा सख्त लंड मेरी गांड में घुसा हुआ था। मेरी गांड कुलबुलाने लगी.

सेक्सी वीडियो हिंदी बिहार की

हैलो दोस्तो… एक गांड की गे सेक्स स्टोरी भेज रहा हूँ।इस शहर में मैं चार वर्ष और रहा मैंने बी.

उसने कहा कि मैंने पहले कभी लंड चूत में नहीं लिया है, अतः धीरे करना. अब मैंने नीचे से हल्के हल्के झटके लगाने शुरू कर दिए थे और रुचिका भी ऊपर से झटके लगा रही थी जिससे हम दोनों को मज़ा आने लगा, हम दोनों की सिसकारियाँ निकलने लगीं. मेरे चूतड़ों पर हाथ फेरता रहा। फिर अपनी उंगली से मेरी गांड टटोली। थोड़ी देर गांड पर हाथ फेरता रहा.

भांजी ने अपने घर में नथ खुलवाईऔरएक लौड़े से दो चूतों की चुदाईयदि आप ये दो कहानियाँ पढ़ेंगे तो आपको पूरी पृष्ठभूमि मालूम हो जाएगी और नीचे लिखी कहानी बेहतर समझ आ सकेगी. पर मुझे मत भूलना।मैंने भाभी के माथे पर चूमते हुए कहा- तुम्हें तो मैं जिंदगी भर नहीं भूलूंगा जान।फिर मैं वहाँ से निकल कर घर जा के सो गया।अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे पिंकी को पटा कर मैंने उसकी सील तोड़ी।मेरी देसी भाभी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे बताएं![emailprotected]. सेक्स बांग्ला बीएफ वीडियोउसका लंड फिर से तनाव में आने लगा था और दो मिनट बाद उसने अपना अंडरवियर भी नीचे निकाल फेंका और वो हट्टा कट्टा देसी मर्द पूरा नंगा होकर अपने खड़े लंड के साथ जग्गी के साथ मिलकर अपने लौड़े को मेरे मुंह पर फिराने लगा.

नमस्कार दोस्तो, आपने मेरी पिछली कहानीकोचिंग क्लास के सर की बीवी की कामुकताको इतना पसंद किया और मुझे बहुत पॉज़िटिव मेल्स भी मिले जिनका मैंने रिप्लाई भी किया इन सब के लिए आपका शुक्रिया। आप में से कुछ ने मुझसे पूछा कि इसका अगला पार्ट कब आएगा तो ये रहा अगला पार्ट… पढ़िए और मजे कीजिए!जैसा मैंने बताया कि मेडम की चुदाई मेरे द्वारा होने लगी थी और सर को कोई ऐतराज नहीं था. थोड़ी देर बाद दोनों 69 के पोज़ में आ गए और संजय ने पूजा की बुर को इतने ज़बरदस्त तरीके से चूसना शुरू कर दिया.

आंटी ने मुझे बेडरूम में बुलाया और पूछा- क्या कभी तुमनेबॉडी मसाजकी है?मैं- नहीं तो!आंटी- तो आज सीख लो!मैं- मतलब क्या है आपका?आंटी- अरे पागल, तुम मेरी बॉडी मसाज करो, मैं तुम्हें 500 रुपये दूँगी. ऋतु मचल पड़ी और उसके मुंह से सिसकारी फूट पड़ी- आआह… म्म्म्म ममम… जोऊऊर… से ए ए… आआहहह!मेरी लम्बी जीभ ऋतु की चूत कुरेदने में लग गई. एक दिन की बात है मैं और मेरा दोस्त रात को सिनेमा देखने पणजी गए थे और आते वक्त रात के 11:00 बज रहे थे.

ज़रूर सफल हो जाओगी।मोना- और कोई उपाय नहीं है क्या बाबा? ये बहुत मुश्किल है, ऐसी लड़की कहाँ से लाऊं. ये सब गलत है!तो मेरे भाई ने मेरे होंठों पर किस करते हुए कहा- तुम भी तो यही चाहती थी ना?मैं समझ नहीं पाई कि भाई को ये सब कैसे पता चल गया कि मैं भी यही चाहती थी।भाई मेरे होंठों को जोर-जोर से चूमने लगा. लंड को अन्दर और अन्दर करने के लिए वो मेरी बहन की कमर को पकड़ के जोर-जोर से झटके मार कर अन्दर करता जा रहा था.

उसकी चूत को मैं चोदूँगा, दोनों एक साथ उसकी चूत और गांड चोदेंगे जिससे मेरी बहना को एक साथ दो लण्ड का मजा मिले, बेचारी 6 महीने से लण्ड को तड़प रही है.

आदी को बहुत मजा आने लगा, वो कहने लगा- यस प्रमिला भाभी, आज मेरी लंड की भूख को मिटा दो।मैंने कहा- हाँ क्यों नहीं देवर जी, आज आपके लंड की भूख मैं मिटा दूंगी और तुम मेरी चूत की प्यास बुझा देना!आदी ने कहा- हा क्यों नहीं भाभी, आज आप जो बोलोगी, वो मैं करूँगा।मेरे देवर आदी ने मेरा सर पकड़ा और अपने लंड को मेरे मुँह में अंदर बाहर करने लगा. !तो उसने मुस्कुरा के मुझसे कहा- तुमने कभी सैक्स किया है?मैं हड़बड़ा गई.

मेरी 34-30-34 फीगर को अच्छे से संभाल नहीं पाते, मैं सेक्स के लिए तड़पती रहती हूँ. मैंने देखा कि लड़के का लंड उसकी पैंट की चैन के पास एक साइड में किसी मोटे डंडे की तरह तनकर साइड में निकला हुआ है. ऐसा ही किया उस रंडी ने… कहानी लगभग तैयार है, मुझे सिर्फ उसको एक बार पढ़ के उसका संपादन करना है ताकि कोई त्रुटि न रह जाए.

मैंने अपना मुंह जैसे ही उसकी चूत पर टिकाया, उसके शरीर में एक सिहरन सी हुई और उसकी नींद खुल गई. जब मामी ने फोन उठाते ही मेरी आवाज़ सुनते तो तुरंत मेरी खैर खबर के बहुत से प्रश्न कर दिए. उसका लंड सख्त होकर किसी मोटे डंडे की तरह मेरे मुंह को घायल करता हुआ अंदर बाहर हो रहा था.

सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी नीतू एकदम से लंड को टच करने से घबरा गई थी मगर गोपाल पर तो वासना सवार हो गई थी, उसने नीतू का हाथ पकड़ लिया. मैंने क्या किया? प्लीज़ आप मुझे ऐसे डराओ मत।संजय- सुमन ये तुम्हें डरा नहीं रहे.

हिंदी फिल्म सेक्सी बताओ

जो मुझे आज रिलेक्स फील हुआ और मैं बिना किसी के जगाए जल्दी भी उठ गया?टीना- अरे कुछ नहीं किया. साथ ही मनोज ने म्यूजिक चला दिया और हम सभी केक से खेलने लगे और म्यूज़िक पे डांस करने लगे. मैं उसको देख रहा था और जब वो नीचे बस की साइड से गुजर रहा था तो उसने भी मुझे देख लिया कि मैं उसको ही देख रहा हूँ.

मैं तुझे पूरी बात बताता हूँ, जिसकी वजह से ये सब हुआ ओके!ओ हैलो आप लोग भी कन्फ्यूज हो ना. लंड को अन्दर और अन्दर करने के लिए वो मेरी बहन की कमर को पकड़ के जोर-जोर से झटके मार कर अन्दर करता जा रहा था. बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी 2021अब रोहित मुझे एक लड़के की तरह नहीं बल्कि एक मर्द के रूप में नज़र आ रहा था क्योंकि जब से रोहन ने मुझे उन दोनों के कारनामे बताये हैं तब से मेरा नजरिया रोहित के प्रति पूर्ण रूप से बदल चुका है।तभी रोहित ने मुझसे कहा- मौसीजी… मेरी तबियत ठीक नहीं है, मैं आप लोगों के साथ घूमने नहीं चल पाऊँगा।सब लोग तैयार हो चुके थे.

!सुमन ने यह बात कुछ अलग अंदाज से कही थी, जो गुलशन जी को भी अजीब लगी.

मानसी मेरा हाथ पकड़ते हुए- मान भी जा मेरी जान, बता कहाँ चलना है?मैं- कहीं नहीं जाना अब तेरे साथ ओये. ?’वो बोली- अब वो मेरी चूचियों को देख कर अपना मोटा लंड निकाल कर हाथ से सहला रहा है।मैं समझ गया कि अब वो भी फैन्टेसी में जा चुकी है, मैं बोला- और बोलो डार्लिंग.

मैं तेरा पापा हूँ तू समझती क्यों नहीं मेरी बात को?फ्लॉरा- पापा मेरी शर्म अपने ही खोली है. अब मैंने देखा कि चाची कुछ नहीं बोली तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई, मेरा लंड टाईट हो गया था, मैं उसे चाची के हाथ के पास सटा कर चाची की चूची को दबाने लगा. थोड़ी देर बूब चूसने के बाद मैंने बोला- मेरा लंड चूस!वो लंड चूसने लगी, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

मैं भी नीचे से ऊपर कमर उठा उठा कर उन्हें चोद रहा था, बहुत मजा आ रहा था.

यह कहानी विशेष रूप से अन्तर्वासना के बुजुर्ग और उम्रदराज पाठकों के लिए है. एक तो टोपे की यह स्किन जो लंड के निचले हिस्से से जुड़ी है, हटानी पड़ेगी. ला हमको भी टेस्ट करवा।साहिल अब मम्मों को चूसने लगा और वो दोनों बारी-बारी चुत को चाटने लगे। इधर अजय भी चरम पर आ गया.

बीएफ देवर भौजाई की चुदाईउनकी बड़ी गांड बहुत ही मस्त थी, मैं लगातार दीदी की चुत को चाटे जा रहा था. और कहा- चल इसी खुशी में मैं भी तेरा चूत चाट देती हूं।अब हम 69 की मुद्रा में एक दूसरी का चूत चाट रही थी, चूत चाटने का मेरा पहला अनुभव था, शायद कोमल भी पहली बार चाट रही थी, पर मैं चूत बहुत ही साफ रखती थी इसलिए कोमल इत्मीनान से चूत चाटने लगी, और किसी लड़की की जीभ पाकर मेरी चूत भी बौरा उठी, मचलने लगी, मैं खुद से ही अपनी कमर उसके मुंह मे दबाने लगी और कोमल की चूत से पेशाब और योनि रस की गंध आ रही थी.

हिन्दी सेक्सी पोर्न

लेकिन वो तो एक वेश्या है, और हम उनके जैसे नहीं बनना चाहते हैं सक्सेना जी. मैंने कहा- मेरे बहुत कम बाल है और वो मुलायम भी बहुत हैं।मैं अपने मन ही मन में सोच रही थी कि काश पूजा भाभी एक बार मेरी चूत का देखे और उसको वो अपने हाथ से सहलाए और मैं उसकी पेंटी के अंदर अपने हाथ को डालकर मजा लूं. मैं अकेले में उसे गर्लफ्रेंड ही कहता था जैसे- हेलो गर्लफ्रेंड! कैसी हो?फिर एक दिन मैंने मौका देख कर गर्लफ्रेंड के गालों की एक चुम्मी ले ली और वो भागते हुए बाहर चली गई.

उसने कीकू की स्कर्ट में हाथ डाल कर उसकी चड्डी उतार दी और मेरी तरफ फेंकी, मैंने वो चड्डी कैच की और अपने मुँह के पास ले जा कर सूंघी. अंकित के घर में उसके दो भाई हैं, जो स्कूल में पढ़ते हैं, उसके पापा डॉक्टर हैं और उसकी मम्मी अनु हाउसवाईफ है. उसने मेरा माथा चूमा और कहा- यह बहुत लंबा विषय है, इसके बारे में जितना बताऊंगी उतना कम है, अभी तो मैंने तुम्हें तुम्हारी उम्र के हिसाब से मोटी-मोटी बात ही बताई हैं। और तुझे भी तो प्रेरणा के यहाँ जाना है ना, देख ग्यारह बज रहे हैं।अब मुझे समय का ध्यान आया मैं ‘ओह.

उस कोने की तरफ ही बैडरूम का दरवाजा है हम दोनों की उधर से पीठ थी और न जाने कब जमीला ने सबीना को बुला लिया और दोनों दरवाजे से रफीक की गांड चुदाई देख रही थी. तू उधर देख काका की कितनी उमर है, मगर कितनी देर से चोदने में लगे हुए है। हय मेरी चुत की आग कब शांत होगी. चूँकि उसके पति की डेथ हो चुकी थी जिससे कई सालों से सेक्स की भूखी थी जिस भूख को मेरे हल्के से खड़े लंड और घूरती नजरों ने और भी बढ़ा दिया।उस दिन के बाद से वो कुछ ज्यादा ही फ्रैंक होने लगी, सालों के बाद हमारी किराएदार वाली बिल्डिंग में आने लगी, मुझसे कुछ ज्यादा बात करने लगी और अपने पपीतों को ज्यादा दिखाने लगी।एक दिन वो बीमार हो गई, उस समय उसके बच्चे भी कहीं ट्रिप पर गए थे.

मैंने रुचिका की चूत की एक एक फांक को अच्छे से चूसा और अपनी जीभ से उसकी चूत के पूरे लाल भाग को मज़े दे देकर चाटा. वैसे मेरे पति का लंड भी 7 इंच का है, वे मेरी चुदाई खूब करते भी हैं, फिर भी उनका टूरिंग जॉब है इसलिए मेरी प्यास तो बनी ही रहती है.

अगर कोई मुझे चोदने के पैसे दे देता था, वो सोने पे सुहागा हो जाता था.

आंटी शर्मा रही थीं तो मैंने लाइट ऑफ कर दी। बेड पर बाजू में उनका बच्चा सो रहा था। मैंने नाइट लैंप ऑन किया. सेक्सी बीएफ भाभी को चोदामैं अपनी उंगली उसकी चूत के अन्दर डाल करआगे-पीछे करने लगा!वो अब नियंत्रण से बाहर हो गई थी, वो आआह्ह्ह ह्ह ऊऊऊ ऊओह्ह्ह करते हुए चिल्लाने लगी- घुसाना है तो अपना लंड घुसा! इस उंगली से क्यों सहला रहा है?एकाएक उसने मेरे लंड को पकड़ लिया. बीएफ सेक्सी हिंदी चुदाई बीएफऔर वैसे मैं तुम्हें कैसी लगती हूँ?मैं बोला- ये कैसा प्रश्न हुआ? अच्छी और कैसी?तो वो बोलीं- ऐसे नहीं, कल वाली नज़र से?मैंने कहा- अच्छी और कैसी!उन्होंने कहा- अच्छी मतलब?मैंने कहा- अच्छी मतलब अच्छी बढ़िया!तो वो बोली- ठीक है…फिर बोली- तुम्हें कैसी लड़कियाँ पसंद हैं?तो मैंने कहा- कैसी भी!वो बोली- कोई फिगर तो होगा, मतलब दिखने में कैसी?तो मैंने कहा- आप अपने जैसी मान लो!उन्होंने कहा- ठीक है, देखते हैं. पर मैंने उनको पकड़ लिया। कुछ देर की पीढ़ा के बाद भाभी ने मेरे लंड को अपनी चुत में ले लिया.

बस आधा मिनट ही और बीता होगा कि वो मुझ पर हाँफते हुए ढेर हो गई और मुझे अपनी बाहों में कस लिया साथ में अपनी चूत मेरे लंड पर पूरी ताकत से दबा दी उसने!मैंने एक बात नोट की कि वह झड़ने में ज्यादा समय नहीं लेती थी, बस पांच छः मिनट की रगड़ाई या चूत चुसाई और वो एक्सट्रीम पर आ जाती थी.

सुमन- अच्छा समझ गई आपका मतलब पापा के मन में मेरे लिए कुछ गंदा विचार नहीं, बस मेरे टच होने से उनका खड़ा हुआ, यही ना!टीना- हाँ यार जब समझ गई तो मुझे क्यों पका रही है?सुमन- सॉरी दीदी अब आगे से ध्यान रखूँगी कि पापा से दूर रहूँ बेचारे मेरी वजह से ऐसे ही परेशान होंगे. रोहित इस बात को समझ गया फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया औरअपने लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगा. आधा लंड चुत को फैलाता हुआ अन्दर घुस गया।मोना- आऐय यइ उफफफफ्फ़ बहुत मोटा है आपका आह.

और फिर जब अपने पर नियंत्रण नहीं रख सका तब अपने एक हाथ से उस उरोजों को तथा दूसरे हाथ से योनि को सहलाने लगा. मैं आंटी के गले पर किस करते हुये नीचे आया और कुर्ते के ऊपर से ही उसकी बाईं चूची चूसने लगा और दूसरी वाली हाथ से दबा रहा था. कुछ देर के बाद भाभी बोल रही थीं- अब और मत तड़पाओ मेरे राजा, जल्दी से अपना लंड मेरे चूत में डाल दो.

देसी भाभी की सेक्सी हिंदी में

तभी मैं उसके पास गया और धीरे धीरे उसके शरीर में हाथ फेरने लगा और उसके साथ ही बेड पर लेट गया. बिल्कुल भी ज़ाहिर नहीं होने देगा कि कमीना तुझे दो सौ बार चोद चुका है. क्या मैं तुम्हारे पास बैठ जाऊं?’मैं भी बैठ गया और वो मेरे नजदीक आ आकर बैठ गई.

करीब एक घंटे की चुदाई के बाद फूफा जी 15 मिनट तक ऐसे ही मेरी चूत में लंड गाड़े मुझ पर लेटे रहे.

सब मज़े से बियर गटक रहे थे।संजय ने अजय को इशारा किया कि वो प्लान को शुरू करे।अजय- अरे यार सब ऐसे चुप क्यों हो.

मैं स्लैब की ओर झुकी हुई थी किचन में, अचानक से मामा जी ने धक्का मारा, आधा लंड मेरी चूत में घुस गया. वो मेरी बहन की उनके प्रेमी के साथ हुए सेक्स की है, जिसे मैंने अपनी आँखों से देखा था. झारखंडी में बीएफ‘अच्छा स्नेहा, एक बात बता, जब हमनेपहली बार चुदाईकी थी उसके बाद तुम्हें कैसा लगा था, मतलब चलने फिरने में या उठने बैठने में कोई तकलीफ हुई थी?’‘हाँ वो… उस दिन अच्छा, आप तो चले गये थे मुझे रगड़ के… मैं आपको दरवाजे तक छोड़ने गई थी उसके बाद मेरे पैर ही ठीक से नहीं पड़ रहे थे; ऐसा लगता था कि पांव रखती कहीं हूँ पड़ता कहीं है.

वह थोड़ा छटपटाई और उसकी चीख भी निकली- उईई ईई मार डाला रे आह्ह्ह उईई आआह्ह! बाहर निकाल दो! मुझसे और दर्द… आह्ह्ह… बर्दाश्त नहीं होता!अब मैंनेअपना लंड पूरी ताकत से उसकी चूत में घुसा दियाऔर जोर-जोर के धक्के लगाने शुरू कर दिए! कुछ देर बाद वो शांत हो गई और मेरे लंड का पूरा मज़ा लेने लगी. फटाक से वो मेरे ऊपर आ गईं और मेरे लंड के ऊपर बैठ कर अपनी चुत में मेरा लंड सैट कर लिया। अब मामी थोड़ा सा झटका देने के साथ ही लंड का कुछ हिस्सा उनकी चुत के अन्दर चला गया। लंड घुसते ही उनकी चीख निकल पड़ी- ओह आ. रफीक एक एक्सपर्ट की तरह मस्ताना के टोपे की और गोलियों की मालिश करने लगा और चूसने लगा.

मैंने बिना सोचे अपने घर वालों को छोड़ दिया था। आज 21 साल हो गए मुझे उनसे मिले हुए। तुम्हारे पापा के प्यार में कोई कमी नहीं थी मगर अपने परिवार से दूर होना क्या होता है. ’‘लेकिन नहीं, मेरी अंतरात्मा ने मुझे झिड़का ऐसे विचार पर इसके अलावा मैंने उससे वादा किया था कि उसे चोदूंगा नहीं.

मैं उसके बारे में ही सोच रहा था, तभी मैंने रात को जब शिवानी बहुत गहरी नींद में थी.

मोना- देख नीतू, वैसे तो सारा काम मैं अकेले ही करती हूँ मगर कभी-कभी बीमार होती हूँ तो मुश्किल हो जाती है. मैंने बैठते हुए पूछा- आंटी जी, आपने जवाब नहीं दिया?उसने मुझे पूछा- क्यों मजाक करते हो बाबू, क्या आपको सच में नहीं पता है?हाँ, मुझे सच में नहीं पता है. ‘आआअह… इस्स… काटो मत यार… दर्द हो रहा है… आआह… मेरी चूत में आग लगी है… कुछ करो न…!’‘तो गाड़ी रोको और उन पेड़ों के झुण्ड में चलो.

ओके गूगल एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ मुझे बहुत अच्छा लगा कि तुमने कोई ज़बरदस्ती नहीं की।इतने में अन्दर से कमरे के दरवाजे की आवाज़ आई, हम थोड़ा ढंग से बैठ गए। महक आई और प्रिया को देख मुस्कुराने लगी, राजेश उसके पीछे-पीछे आके हम दोनों से मिला और बाद में वो जल्दी में निकल गया।मैं भी थोड़ी देर बाद निकल गया. हुआ यह कि इस चालक लड़की ने अपने फौजी अफसर पति को पटा लिया कि वो अपनी बीवी को किसी पराये मर्द से चुदते हुए देखे.

अहहाह अहः आहाहाह…मेरा लंड अन्दर उसकी बच्चेदानी को छू रहा था, वो मजे लेकर चुदवा रही थी- अब तक कहाँ था मेरे राजा… चोद मुझे… और जोर से चोद. यह ऑडियो दो लड़कियों का है जो आजकल के लड़कों, बॉयफ्रेंड के बारे में अपने विचार बता रही हैं. पूजा- देखा… मैंने कहा था ना!ऋतु- पर जब मैंने उससे कहा कि हम इसके लिए उसे कुछ पैसे देंगे या फिर कुछ और भी जो वो चाहे तो बात आगे बढ़ी.

सेक्सी हिंदी वीडियो नंगी सीन

देखा अंकल आ चुके थे। मैं उनके कमरे में चली गई। अंकल पलंग बैठे थे उनके बदन में केवल एक कच्छा ही था। सामने कूलर चल रहा था और वो ठंडी हवा ले रहे थे।मैंने आज उनका पूरा बदन देखा. मैंने लंड हिलाते हुए आंटी को देखा तो आंटी ने बोला- पहले मेरी चुत को शांत करो. नहीं दोबारा मैं मॉंटी से इलाज नहीं करवाऊंगी अपना हाँ!टीना- अरे ऐसे ही मजाक कर रही हूँ यार.

उसका लंड लड़की की गांड में चला गया है, तो मेरा लंड तुम्हारी गांड में क्यों नहीं जा सकता है. उन्होंने मुझे जाते देखा तो बुला लिया और मुझसे बात करने लगीं। वो इस समय बिस्तर में अधलेटी सी थीं।आंटी टीवी देखते हुए मुझसे बोलीं- कभी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कुछ किए हो.

अभी छोड़े देता हूँ।मैं उसके बगल में बैठ गया।वह फिर बोला- देखेंगे।तब तक और दोस्त आ गए, हम सब शाम को घूमने निकल गए।मेरे रूममेट का नाम सुकांत सिंह था.

आप अपने विचार मुझे मेल कर सकते हैं, साथ ही इंस्टाग्राम पर भी जोड़ सकते हैं. ‘पक्का प्रॉमिस और मुझे भगवान की कसम अगर तुम्हारी मर्जी के खिलाफ मैंने कुछ भी किया तो!’ मैंने वादा किया. इससे पहले कि मम्मी पापा उठ जाएँ… और कॉलेज भी तो जाना है ना तुम्हें, मुझे भी स्कूल के लिए तैयार होना है.

मैं भी नीचे से ऊपर कमर उठा उठा कर उन्हें चोद रहा था, बहुत मजा आ रहा था. वो जब भी बच्चे को दूध पिलातीं, तो मैं उनके चूचों से खेलता रहता था। वो भी मुझे प्यार से खुद के चिपका लेती थीं। चाची कहती थीं- मेरा प्यारा बेटा बहुत सुन्दर है. वो शायद मेरे चेहरे से मेरी हालत का अंदाज़ा लगा सकती थी और इसलिए मुझे तड़पा रही थी.

फिर धीरे-धीरे बातों को सेक्स की तरफ़ मोड़ दो। अगर ये चुदी हुई है तो इसको कुछ बुरा नहीं लगेगा और अभी तक तो सब प्लान के हिसाब से हो रहा था।अजय- देख ये फ्लॉरा कितनी समझदार है और तू बस नाटक करती है। कल मान जाती तो मज़ा आता ना.

सेक्सी बीएफ इंडिया हिंदी: उधर शायद फूफा जी के लंड पर भी मेरे होंठों का नशा चढ़ने लगा… फूफा जी का लंड धीरे धीरे अकड़ना शुरू हो गया था और 7 इंच से 8 इंच और फिर 9 इंच का हो गया. मैं- ऐसा क्या खास है आज?जमीला- राजेश डार्लिंग, आज तेरे लिए एक सरप्राइज है, घर चलो तभी पता चलेगा.

मेरे वीर्य की बूदें उछल कर सीधा माँ के ऊपर उसकी साड़ी और पेट पर जा गिरी जो मेरे सामने खड़ी हो कर डांट रही थी. तू आ तो सही।पूजा ख़ुशी से कुर्सी के पास आई और जब वो बैठने लगी तो संजय ने चालाकी से उसका स्कर्ट ऊपर को कर दिया।अब पूजा संजय के खड़े लंड पर बैठी थी बीच में बस पतला सा बरमूडा और पेंटी आ रही थी।पूजा- ऑउच मामू मुझे नीचे कुछ चुभ रहा है।संजय- अच्छा ऐसी बात है. मैंने बाहर आकर बेल बजाई तो थोड़ी देर में नीलम ने दरवाजा खोला और ड्राइंग रूम में ले गई.

इस बार चुदाई इतनी तेज थी कि मैं दो बार झड़ चुकी थी तब मुरुगन का लंड फटने को हुआ.

थोड़ी देर बाद जमीला खड़ी हुई और मुझे किस करने लगी मैंने उसके मुँह में जीभ घुसा दी और वो मेरी जीभ चूसने लगी. उसके निप्पस डार्क ब्लैक कलर के थे, पेट एकदम सपाट, नाभि अन्दर की ओर घुसी हुई, बुर पर काले रंग के बाल थे, मोटी टाँगें और कसी हुई पिंडलियाँ!वो पलटी तो उसकी गांड देखकर ऐसा लगा कि शायद उसने अपनी गांड में गद्दा लगा रखा है. मेरी रंडी बहनिया, मेरी कुतिया!और ऐसा कहते हुए मैंने अपनी जीभ उसकी बुर में ठेल दी.