बिहार बिहारी बीएफ

छवि स्रोत,y2mate डॉट कॉम

तस्वीर का शीर्षक ,

कामुकता.काम: बिहार बिहारी बीएफ, उन दोनों के उतरते ही मैं कार को साइड में पार्क करके नाश्ता करने चला गया.

जापानी एचडी सेक्स वीडियो

मैं उसने दिन हल्के नारंगी का कुर्ता और सफ़ेद रंग का सलवार पहन रखा था और भाई ने नीले रंग की कमीज और नीले रंग की जींस पहनी हुई थी. सेक्स वीडियो कामसूत्रमेरी माँ को बुआ बोल रही थी- मैं भी क्या करूँ भाभी? पहले मेरे पति मुझे खूब चोदा करते थे.

मॉम बोलीं- हां यार, मेरी चूचियों को बहुत लोगों ने दुहा और दबाया है. 𝘀𝗲𝘅 𝘃𝗶𝗱𝗲𝗼𝘀बहुत दिनों के बाद गैर मर्द का लंड चूत में लेकर मुझे अलग ही मजा आ रहा था.

अब मैं केवल अंडरवियर में था, मेरा लन्ड एकदम खड़ा हुआ था जो अंडरवियर से बाहर निकलने की कोशिश में था.बिहार बिहारी बीएफ: फिर मैंने दारू के नशे में रवि को बोला- तू नीचे आ जा … मैं अब तेरी लुगाई की गांड मारूंगा.

उस दिन पहली बार मैं ज्यादा देर नहीं टिक पाया, एक तो कई दिन से टट्टे वीर्य से भारी थी, और ऊपर से जो आज मैंने देखा उसका प्रभाव.चूंकि यह मेरी पहली कहानी है और मैं बहुत दिन से सोच रहा था कि आपके सामने अपनी कहानी प्रस्तुत करूं.

कॉन्डम की जानकारी photos - बिहार बिहारी बीएफ

बीच-बीच में चूचियों के निप्पलों को दो उंगलियों के बीच में लेकर दबा रहा था.वो तेजी के साथ मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसके गीले बालों में हाथ फिरा रहा था.

मैंने जोश में आकर मां की चूत में लंड को अंदर घुसा दिया और उनकी चूचियों को एकदम से पीने लगा. बिहार बिहारी बीएफ मैंने कहा- तुम जैसी परी के साथ तो सात जन्म सुहागरात मना लें, तब भी शायद लालसा पूरी न हो.

एक दिन क्लब में मिली एक भाभी मुझे अपने घर ले गयी वहां मैंने सेक्सी भाभी से सेक्स किया.

बिहार बिहारी बीएफ?

हेमा चाची बोलीं- क्या करूं यार … आज तो बड़े लंड से चुदने का मन कर रहा है. तुमने कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?मैंने कहा- नहीं मोसी जी।शराब का नशा मुझ पर चढ़ा हुआ था और मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था. उनके आते ही हम दोनों अलग हो गये और मेरे पति उस प्लम्बर को गाली देने लगे.

दरअसल बात यह है कि हनी तलाकशुदा नहीं है, उसकी शादी कभी हुई ही नहीं. हम यही सोचे कि ट्यूशन पढ़ाएंगे तो टाइम पास के साथ ही कुछ पैसा भी आने लगेगा जिसको हम कालेज की पढाई में भी लगा सकूंगा. मेरी वाइफ को डॉक्टर ने पूर्ण विश्राम बताया था, इस वजह से वह कुछ काम नहीं कर पाती थी.

मैं समझ गया था कि मॉम अपनी चूत को साफ करना चाहती थी, पापा के कारण गंदी हो गई थी. फिर उसने लड़की को उठा दिया और उसको भी अपने कपड़े उतारने के लिए कहा. फिर दूसरे दिन मेरी बहन आई और उसने रीमा के लेटर का मुझसे जवाब मांगा.

और कुछ ही देर बाद पापा ने चाची के सारे कपड़े निकाल दिये।मैं ये सब खिड़की के पास खड़े होकर देख रहा था।चाची ने पापा का थोड़ा सा भी विरोध नहीं किया कि ये सब गलत है या कुछ … बल्कि चाची पापा का साथ दे रही थी।पापा और चाची बिल्कुल नंगे हो चुके थे. हम दोनों ही चुदाई के जोश के मारे पागल थे … और थक गए थे … लेकिन रुकना नहीं चाहते थे.

फिर मोबाइल मैंने हॉल के एक कोने में टेबल पर ऐसा रख दिया जिससे मॉम को भी मालूम नहीं चले कि मोबाइल का कैमरा चालू है.

उसके जिस्म से चिपके हुए कपड़ों में से झलकता छोटा सा निप्पल याद आ गया.

तो उन्होंने कहा- अच्छा आज से पहले तो ऐसा नहीं हुआ?मैंने कहा- रोज ही होता है लेकिन आपने ध्यान ही आज दिया. मैं दुकान पर बैठ गया और सोचने लगा कि कहीं ये मुझसे चुदवाना तो नहीं चाहती है. उन्होंने दूध दबाते हुए देखा तो बोलीं- अच्छा … इसीलिए रोमांटिक मूवी देखनी थी.

उसके दोनों निप्पलों को मैंने खूब मसला और उसे खूब दर्द दिया, खूब तड़पाया।फिर वो बोली- अब यार सब्र नहीं होता, अब तो अंदर डाल ही दो।मैंने कहा- ऐसे कैसे, तुझ जैसे रंडी अगर इस तरह शरीफों वाली भाषा बोलेगी, तो साला चोदने का मज़ा ही नहीं आएगा. सामने मुझे दिखाई दिया कि मेरे मॉम पापा रसोई में बिल्कुल नंगे एक दूसरे से चिपके हुए थे. मैंने उससे पूछा- तुमने तो पहले भी किया होगा … इतना दर्द कैसे हुआ?वह बोली- आपके साले का लंड छोटा सा है और पतला भी है.

फिर मॉम के मोबाइल पर उनकी सहेली रेशमा का कॉल आ गया और दोनों के बीच औरतों वाली बातें शुरू हो गई.

फिर मॉम ने और भी सामान निकाला अलमारी में से … सभी औरत को संतुष्ट करने वाले नई तकनीक वाले विदेशी सैक्स खिलौने थे. जब भी हम दोनों शहर के बाहर निकलते हैं, तो दीदी अपनी चुत के लिए नए नए लंड ढूँढती है. बरखा अपनी टांगों के नीचे बैठी और गांड को उठा कर मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और फिर से लॉलीपॉप की तरह मेरे लंड को चूसने लगी.

क्योंकि जब मैं चाची की चुची को दांत से काटता था, तो उनकी हल्की सी सिसकारी वाली चीख़ निकल जाती थी. फिर मैं आशी की स्कर्ट ऐसे ही ऊपर उठा कर उसकी पेंटी साइड में सरका कर उसकी अनछुई बुर सहलाने लग गयी. तभी शायद रूपाली की नजर मुझ पर पड़ी और उसने मेरी गर्लफ्रेंड से दरवाजा बंद करने को कहा.

मैंने कहा- अच्छा ठीक है … सुनो पुराने घर में कुछ रिपेयरिंग का काम हो रहा है.

उसने मेरे लंड के पास अपने मुंह को किया तो बोली- नहीं हो पायेगा मुझसे. एक मिनट बाद मैंने अचानक एक झटका दे दिया, जिससे आधे से थोड़ा ज्यादा लंड अन्दर घुस गया.

बिहार बिहारी बीएफ पैन्ट में मेरा खड़ा लंड भी दिखाई देने लगा यहां देख कर बरखा ने मुझे आंख मारी और अपने बड़े बड़े बूब्स को हिलाने लगी जिससे उसका एक बूब्स लगभग ब्लाउज से बाहर निकल ही आया था यह देख कर मेरा लंड भी पूरे जोश में खड़ा हो गयाफिर मैं पंखे की प्लेट को ठीक करने लगा जिससे पंखे में आवाज आ रही थी. तुमने कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?मैंने कहा- नहीं मोसी जी।शराब का नशा मुझ पर चढ़ा हुआ था और मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था.

बिहार बिहारी बीएफ उनकी चूत में उंगली घुसा कर देखी तो उनकी चूत पूरी गर्म और गीली हो चुकी थी. मैं इंदौर में अपनी फैमिली के साथ रहता हूं और एक जिगोलो क्लब चलाता हूं.

कपड़े की लंबाई महज इतनी कि जैसे बस चड्डी को बहुत मुश्किल से छुपा रही हो.

लड़कियों के दूध दिखाएं

नीचे आने के बाद उसने अपने बैग से औजार निकाले और वो वॉश बेसिन के नीचे लेट कर पाइप को ठीक करने लगा. अब मैं आशी की कसी हुई चूची चूस रही थी जिसकी वजह से आशी कामुकता से भरी आहें भरने लग गयी थी. फिर जब मेरा लंड पूरा अन्दर चला गया, तो मैंने झटका देना बंद करके उसकी चूचियों को टटोलना और मसलना चालू कर दिया.

फिर हम दोनों ने चुदाई का एक और राउंड किया और बाद में मैंने उसको उसके घर छोड़ दिया. मैं मुस्कुराते हुए बोला- शायद तुम्हारी दीदी ने चेंज किया होगा, तो ये यहां रह गए होंगे. मैंने बाहर निकाली और देखा दोनों अच्छी क्वालिटी की थी, पतले स्ट्रेप, बॉडी की शेप के टाइट कप, कहीं जाली और कहीं सुन्दर कढ़ाई, मतलब देखते ही सेक्स आ जाये.

मैंने दीदी की पैंटी को धीरे से नीचे सरकाया … उन्होंने फिर से अपनी टांगें हवा में लहरा दीं.

बरखा कहने लगी- इस कच्छी को निकालने के लिए तुम क्या पंडित के मुहूर्त का इंतजार कर रहे हो?इतना कहते ही मैंने बरखा को अपनी गोद में उठा लिया और उसे वहां टेबल के ऊपर बैठाया, उसकी टांगों को फैला कर उसकी कच्ची को उसकी गांड से अलग कर दिया. गर्लफ्रेंड की पहली चुदाईजब मैंने की तो उस दिन के बाद से वो मेरे अलावा किसी को नजर उठा कर भी नहीं देखती थी. तो उसने अपने होंठों में चॉकलेट कुछ इस तरह से दबा ली कि उसका आधे से ज्यादा हिस्सा बाहर रह गया.

उसके बाद जब भी उसे मौका मिला, उसने मुझसे मसाज और चुदाई दोनों करवाई. मुझे पहली बार चाची के साथ ऐसी हरकत करने का मौका मिला था इसलिए मैं उस अहसास को पूरा भोगना चाह रहा था. उधर मेरा दोस्त उसकी बुर के फांकों को दांत से पकड़कर खींच देता, तो वह चिहुँक जाती.

हमारे मोहल्ले के सारे मर्द मुझे वासना की नजर से ही देखते हैं क्योंकि मैं देखने में बहुत ही हॉट और सेक्सी माल लगती हूँ. 22 अप्रैल 2018 को उसने एक बेटे को जन्म दिया, जिसका पिता मैं ही हूँ.

चाची बोली- अभी ला रही हूँ भैयाजी!और उसका बाद चाची उठ कर चली गयी।उन्होंने फ्रीज़ से पानी की एक बोतल निकली और पापा को देने चली गयी. और जब चाची बहुत देर तक वापस नहीं आई तो मुझे डर लगने लगा और मैं भी पापा के कमरे की तरफ चल दिया. मैं अपने घर के पास खड़ा था कि मेरी ताई की लड़की यानि मेरी चचेरी बहन आई और उसने मुझे एक लेटर दिया.

कुछ देर के बाद वो कपड़े पहन कर बाहर आई और मुझ पर गुस्सा होते हुए कहने लगी कि भैया आपको नॉक करके आना चाहिए था.

मेरा लंड आराम से जाने लगा, तो मैं समझ गया कि ये मादरचोद खेली खाई लड़की है. सुहागरात में मामा मामी की चुदाई कर रहे थे तो मैंने मामी की नंगी चूत देखी. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है और ये बिल्कुल सच्ची घटना है.

जिस दिन उसके सफेद दूधों का हल्का सा भाग भी दिखाई दे जाता था उसी दिन मैं बाथरूम में जाकर मुठ मार लिया करता था. मैं जानती थी कि अगर मैं गांव में गई तो मेरी चूत को बहुत दिनों तक लंड नहीं मिलेगा.

उसकी बुर पूरी तरह से चिकनाहट युक्त गीली हो रही थी जिसका फायदा मैं और मेरा लौड़ा उठाना चाह रहा था. फिर मैंने हिम्मत करके एक और सवाल पूछ दिया- मॉम आपका कॉलेज की दिनों में कोई अफेयर था क्या?मॉम मुस्कराई और बोली- नॉटी बॉय … मेरा कोई अफेयर नहीं था लेकिन लड़के लोग मुझ पर लाइन मारने की कोशिश करते रहते थे क्योंकि कॉलेज के दिनों में मैं बहुत ही हॉट और सेक्सी दिखती थी. एक पल बाद भाभीजान की आवाज निकली- मार दिया कमीने मादरचोद निकाल बाहर … वरना मैं मर जाऊंगी कमीने … नहीं चुदना मुझे तुझसे … साले हरामी … अपनी माँ का भोसड़ा समझा है क्या … जो एकदम से घुसा दिया … आह रंडवे … निकाल जल्दी मेरी फट गई.

थ्री एक्स हिंदी मूवी

दो रातों से चल रही हनी की चुदाई अब नित्यकर्म बन गया जो मेरे सास ससुर के लौटने के बाद भी जारी रहा.

वो उठ मेरे आगे आईं और मुझे समझाने लगीं कि इसमें किसी की कोई गलती नहीं थी … और अब क्या फायदा, जो होना था हो गया. फिर मैंने बाथरूम जाकर अपने आपको साफ किया और बाहर आकर मॉम के साथ लिपट कर लेट गया. मेरे पापा ने चाची को खूब चोदा, चाची भी ऊपर नीचे होकर खूब मज़े से चुदवा रही थी और खूब सिसकारियाँ ले रही थी.

बड़ी थोड़ी देर में बोली- अच्छा जीजू थोड़ा मदद करो न … मेरी ब्रा का हुक खोल दो … पर केवल एक हाथ से खोलना. अचानक उस लड़के ने आशिमा की चूत से हाथ निकाला और पहले सूंघा फिर चारों उँगलियों को चूसने लगा. सुहागरात कैसे मनाया जाता है दिखाइएसामने मुझे दिखाई दिया कि मेरे मॉम पापा रसोई में बिल्कुल नंगे एक दूसरे से चिपके हुए थे.

आधे-एक घन्टे बाद मैंने शीनू को जगाया … तो वो जाग गई … मैं उसके सामने ही बैठा था. मॉम का हॉट, सेक्सी और अर्धनग्न बदन मेरे होश उड़ाए जा रहा था और मेरा नीचे का सामान खड़ा हो गया था.

डील फाइनल हो गयी थी, फिर हम सब पूरे नंगे हो गए और फिर खाने को ज़मीन में दरी बिछा कर खाने लगे. मुझे पीछे खड़ा देख, आशिमा मुझे अवॉयड करने के लिए बाथरूम में घुस गयी. ये सुनकर वो डर गई और रोते हुए बोली- प्लीज माफ़ कर दो … मुझसे गलती हो गई.

शोरूम के अन्दर जा कर हम दोनों ने फॉर्मल बातें शुरू कीं, मैं कोशिश कर रहा था कि रवि जी को शक़ न हो कि मैं निशा को जानता हूँ. उसने बताया- मेरा टीचर मेरी लेता जरूर है पर मुझे प्यार भी बहुत करता है. मैंने उसे बियर निकाल कर दी, पर उसने एक घूंट पीते ही उसे बाहर निकाल दी और बोली- बहुत बेकार स्वाद है.

ऐसा करते-करते करीब 10 मिनट हो गयातो उन्होंने मुझे गांड स लंड निकालने को कहा.

कुछ ही दिनों में सब्जी वाले और उसके दोस्तों ने मेरी चुत का भोसड़ा बना दिया. लेकिन ऐसे गेम खेलने में कोई बुराई भी नहीं है क्योंकि हैं सब औरतें ही ना!मैं बोला- मॉम, आपने आपकी तरह सेक्सी फिगर वाली औरत के शरीर को टच किया है?मॉम बोली- हमारे ग्रुप में 5-6 औरतों का फिगर मेरा जैसा है या मेरे से भी अच्छा है.

फिर मॉम के मोबाइल पर उनकी सहेली रेशमा का कॉल आ गया और दोनों के बीच औरतों वाली बातें शुरू हो गई. मेरा लंड आधा मामी की चूत में घुस गया और मामी चिल्लाई- आआआह आईई ईईई!उनको दर्द हो रहा था. तभी उसने एक जोर का झटका लगा दिया और उसके लंड का टोपा मेरे अन्दर घुसता चला गया.

करीब 10 मिनट बाद भाभी को आराम हुआ, तो उन्होंने अपनी गांड उठाकर चुदाई चालू करने का इशारा कर दिया. फिर क्या था अपनी तो जैसे लॉटरी लग गई!सुबह मैं जल्दी ही उठ कर नहा धो कर तैयार होकर मामा के घर पहुँच गया. कोमल- ठीक है … दो दिन बाद मेरे घर वाले मेरे मामा के घर जा रहे हैं, मैं घर में बहाना बना कर रुक जाऊंगी.

बिहार बिहारी बीएफ मैं उनके इस तरह से अपने कंधे पर हाथ देख कर कुछ चौंक गया, लेकिन मैंने उनसे कहा- हां आप कुछ भी पूछ सकती हैं. फिर मॉम मेरे मुंह पर आ गई और मुझे ज़ोरदार किस देना शुरू कर दिया मेरे होंठों पे, गाल पे, गर्दन पे!मुझे तो बहुत मज़ा आ रहा था … सपने में भी मैंने ऐसा नहीं सोचा था कि मॉम के साथ यह करने को मौका मिलेगा.

सेक्सी डॉक्टर वाली सेक्सी

मेरा तो यह लाइव वीडियो देख के बुरा हॉल था और मैं खुद भी नंगा हो गया था. ये सेक्स कहानी अब से एक साल पहले उस वक्त की है, जब मैं यूनिवर्सिटी में पढ़ता था. मुझे अब हर हाल में सेक्स चाहिए था, मुझे अपना लोड़ा या तो किसी के मुंह में ठूँसना था या फिर चूत या गांड में घुसाना था, जो भी हो हर हाल में मुझे अपना कामरस निकालना था.

मैंने पूछा- सुरेखा नहीं आ रही क्या?मेरे सवाल पर मेघा हंसते हुए बोली- उसके बिना पार्टी का मजा कहां आने वाला है. दीदी ने पहले तो झट से मना कर दिया, लेकिन मैंने जिद की … तो वे मान गईं. शिवजी सेक्सीमामा जी ने मुझसे कहा कि 22 मई तक घर मिर्जापुर आ जाना, यहां बहुत से काम हैं … जो तुम्हें ही करना है.

वासना उसके अंदर भी भर गई थी, अब सहन करना उसके भी बस में नहीं रह गया था.

फिर मैंने दारू के नशे में रवि को बोला- तू नीचे आ जा … मैं अब तेरी लुगाई की गांड मारूंगा. फिर अब मैं जीत रहा हूं तो आप बोल रही हो खेल खत्म?मुझे रोता देख कर मॉम थोड़ी पिघल गई और बोली- अरे बेटा रो मत … बोल क्या करना है?मैं खुश हो गया और बोला- मॉम, मैं आपके बूब्स बिना कपड़ों के देखना चाहता हूं एक बार बस!मॉम मेरी नीयत पहले ही समझ चुकी थी और मॉम सैक्स के लिए काफी दिनों से प्यासी थी.

इस उम्र में हर माँ बाप या मामी मामा जैसे लोग ही तो उनको सही राह दिखाते हैं, ताकि वे किसी जानकारी के अभाव में कोई गलत कदम न उठा बैठें. फिर मेरा लंड से पानी उसकी गांड पर निकल गया और वह अपनी गांड को साइड में ले जाकर लेट गई. मैंने चाची की चूची दबाते हुए कहा कि तुम मेरी रखैल नहीं हो … अब तुम मेरी पत्नी बन जाओ … चाचा के बाद मुझे अपना दूसरा पति बना लो.

बुआ जोर से चिल्लाईं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उई माँ मर गयी … आह!मैंने कान के पास जा कर पूछा- क्या हुआ?बुआ ने कहा- कुछ नहीं … दर्द हो रहा है.

दोस्तो, मैंने सेक्स वाली पिक्चर में ही ऐसा देखा था, पर यह सब मेरे साथ हकीकत में हो रहा था. मैंने पूछा- भाभीजान, मैं झड़ने वाला हूँ … जल्दी से बताओ किधर निकालूं?भाभी- आह साले अन्दर ही निकाल दो मेरे राजा … मुझे तुम्हारा पानी अपनी चुत में चाहिए. अब उसने मेरी चूत में लंड को रखा और मेरे ऊपर लेटता हुआ मेरी चूत में लंड को घुसाने लगा.

गर्लफ्रेंड को कैसे इंप्रेस करेंलेकिन मेरी बीवी अकेली बच्चे को सम्भाल पाने में कठिनाई महसूस कर रही थी तो उसने दोबारा उस लड़की को बुला लिया. मैंने अन्जान बनने का नाटक किया और बोला- क्या मम्मी! आप ये क्या बोल रही हो, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा.

एक्स एक्स चूत चुदाई

जब मैं टेबल से नीचे उतर रहा था तो बरखा ने अपने बूब्स मेरे लंड से टच कर दिए. पर उससे पहले उसने शरारत से दोनों को उठा कर मेरे गोद में बैठा कर कहा- बेटा जब तक पापा नहीं हैं … तब तक इन्हीं की गोद में बैठ कर नाश्ता कर लो … ये भी पापा समान हैं. कुछ कहानी हकीकत में सही लगती हैं और कुछ कल्पनाओं से भरी होती हैं, लेकिन सभी में मजा बहुत ज्यादा आता है.

अब मैं पहले दिन से ही पूरा दिन भाभीजान और भतीजी के साथ बिताया; भाभी के साथ खूब मस्ती की. उसके बाद उसने जैसे ही मेरी चुत में अपना लंड डाला, मुझे बहुत दर्द हुआ. दो मिनट तक होंठों को चूसने के बाद अनिरुद्ध ने अपनी पैंट की जिप को खोल कर लंड को बाहर निकाल लिया.

अब मैंने उसकी हरकत को नजरअंदाज करते हुए हल्का सा अपने लौड़े को पीछे कर एक सटीक और जोरदार धक्का लगाया, परिणाम ये हुआ कि लंड उसकी कमसिन चुत की दरार को चीरता हुआ जड़ तक उसकी कुंवारी चूत में समा गया. मैं शादीशुदा लड़की हूँ। रिश्तेदारी में मैंने एक लड़के को लड़की जैसा बर्ताव करते देखा तो मैंने कुछ करने का फैसला किया उस लड़के की भलाई के लिए. मैंने लोअर नीचे खिसकाकर अपना लण्ड बाहर निकालकर हनी के मुंह में दे दिया, वो चूसने लगी.

उसने जाते समय मुझसे कहा- जब भी तुम लोगों का मन हो, तो मुझे बुला लेना, मैं तुम दोनों के साथ चुदने के लिए राजी हूँ. मैंने भी भाभी से ओके कह कर उनको सीधा चित लिटाते हुए उनकी दोनों टांगें चौड़ी करते हुए फैला दीं.

यह सुनकर मॉम बहुत खुश हो गई, बोली- थैंक यू बेटा जी, यह अप्सरा अपने बेटे को भी खुश कर देगी.

आशी ने खूब चूमा अपने बाप को और अपने बाप के मुरझाये लंड को भी खूब किस किये. एक्सएक्सएक्स2020मैं भी नंगी बेड पर पड़ी थी और अपनी चूचियों को अपने हाथों से छिपाने लगी. चोदने वाला कार्टूनराजेश ने थोड़ी शराब पी रखी थी, वो बोले- सरदारनी को नंगी किये हुए बहुत समय हो गया है. बुआ ने शर्माते हुए कहा- होंठों पर प्यार किया था … बस अब तू और नहीं पूछेगा.

मैं उसके पास गया और बहुत आराम से उससे पूछा- आशिमा, वह लड़का कौन था?कॉलेज का एक दोस्त है!” आशिमा ने डरते हुए धीरे से बोला.

जब उसे मेरी छुअन का अहसास रुकता सा महसूस हुआ, तो उसकी आंखें एक पल के लिए मुझे देखने के लिए खुलीं. मॉम ने मेरा इशारा समझते हुए चाची को हाथ से धकेलते हुए चित लेटने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि मैं अपनी शादी से सेक्स से खुश नहीं हूँ और मैं चाहती हूँ कि कहीं ऐसा न हो कि उसको भी मायूसी झेलना पड़े.

फिर अगले दिन उसका मैसेज आया- थँक्स फॉर हेल्पिंग मी।मैंने उसको इट्स ओके बोला. पापा ने एक छोटा सा डीडीए फ्लैट गुरूग्राम के पास ही दिल्ली में ले रखा था. उसके जाने के दस मिनट बाद ही सभी के लंड बैठ पाए होंगे, ऐसा मेरा अंदाज था.

मौसी बीएफ वीडियो

हम लोगों के पेपर शुरू होने वाले थे तो उसने मुझको कहा कि उसका गणित कमजोर है, तो मैं उसकी घर पर आकर मदद कर दूँ. यदि उसके हाथ आजाद होते, तो शायद वो मुझे धक्का देकर हटा देती … लेकिन मैं इस खेल का पुराना खिलाड़ी था और वो एक नई कली थी. हम दोनों के मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं और पूरा रूम गूंज रहा था.

ये मुझे तब पता चला जब चाचा चाची को चोद रहे थे।जब मैं छोटा था तो काफी समय चाची के साथ बिताता था.

उस वक़्त मैं और मेरा भाई, हम दोनों छोटे थे, इसीलिए हम दोनों हमारे मॉम पापा के साथ एक ही बेडरूम में सोते थे.

तभी 20 मई 2017 को मेरे मामा जी का फोन आया और मामा जी ने बताया कि 27 मई को उनके पुत्र नीरज, जो कि मेरे बड़े भैया हैं, उनकी शादी फिक्स हो गयी है. यदि उस वक्त मेरी मॉम किसी वजह से पीछे घूम कर जाने लगती थीं, तो उनसे बात करने वाला उनकी तोप सी उठी हुई गांड के नजारे लेने लगता. सेक्स चूत फोटोग्राफीमैं उसको सपनों में नंगी देखा करता था और अपने लन्ड का वीर्य निकालता था.

जब तक सामने से कोई लड़की या महिला मुझसे चुदने का इशारा नहीं कर देती है, तब तक मैं चुदाई की सोचता भी नहीं हूँ. मेरा लन्ड तो पहले से खड़ा था और टैबलेट लेने के बाद तो आग की रॉड बन गया था. फिर अचानक से काव्या बोली- अभी नहीं जीजाजी … आज रात को मैं आपके कमरे में आऊंगी.

मैंने दोनों हाथों से उसकी बुर के होंठों को खोला और ऊपर बनी घुंडी को अपने आगे के दांतों से पकड़कर खींचा. दूसरी घटना ब्रिटेन के एक डॉक्टर की भी है जो काफी समय तक सुर्खियों में रही.

वो मुझे रोकने लगी, पर मैंने उसको किचन में सेक्स के लिए मना ही लिया.

अब वो मेरे बाजू में लेट गई और मैं तो लेटा हुआ था ही!हम दोनों मान बेटा थक गए थे. वैसे तो मैं दिखने में साधारण सा ही हूँ, लेकिन मेरा लंड मेरी ताक़त है. जब पहली बार मैंने उस सेक्सी लड़की की फोटो देखी थी तो वो मुझे देखने में काफी मोटी लगी थी.

गुजराती नमकीन जब हम वापस आने के लिए निकले तब अंधेरा हो गया था और दिन भी ठंड के थे तो ज्यादा ट्रैफिक नहीं था. लंड उसकी चूत में ही तन गया और मैंने दोबारा से उसकी चुदाई शुरू कर दी.

कुछ देर तक वे दोनों धींगा मस्ती करते रहे और एक दूसरे के शरीर से मजा लेते रहे. माँ ने मेरी सासु से पूछा- क्या आपको मेरा लड़का पसंद है?सासु कोई जबाव देतीं, तब तक मैंने कह दिया कि माँ मैंने अब तक अपनी बीवियों को छोड़ कर, अपनी सासु और दोनों सालियों की चुदाई का मजा ले लिया है. जिस तरह जब किसी लड़की की शादी हो जाती है उसके बाद उसका आकार ही बदल जाता है.

रा वन मूवी

तो आंटी ने कहा- किसके लिये ये जंगल साफ करूं? कोई शिकार करने आता ही नहीं।मैं हंसते हुए बोला- अब मैं हूं ना … हर रोज शिकार करने आया करूंगा. मदहोशी में उसके मुंह से निकल रहा था- हहाय … जान…न…नू … आह्ह … और जोर से करो. एक मिनट बाद मैंने अचानक एक झटका दे दिया, जिससे आधे से थोड़ा ज्यादा लंड अन्दर घुस गया.

एक तो दारू का नशा उस पर बदन तोड़ चुदाई ने उसकी सारी शक्ति छीन ली थी. मेरी आवाजें निकलने लग गयी, मैं कहने लगी- आह्ह्ह मेरे राजा … चोदो ना अपनी सोनिया को … और जोर से चोदो.

उसने मुझे फिर से गले लगाया और गर्दन और किस करते हुए बोली- मैंने तलाक़ ले लिया … साले नामर्द से पीछा छूट गया.

मेरे दो घर हैं, एक पुराना वाला और एक नया फ्लैट, जिसमें मेरा बेटा विशाल रहता था. जब मेरा पानी निकल गया, तो चाची मुझे चूमते हुए बोलीं कि अब मेरी चूत को कौन शान्त करेगा. आप सभी को गाँव की कुंवारी चुत की वासना की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.

मुझे समझ नहीं आ रहा था कि वो सच में अपने दोस्त से मेरी चूत को चुदवाने वाली है. मैंने पोर्न वीडियो में देखा था और उसी तरह मुझे एक बार लंड मुंह में लेना था. मैं तुम्हें कुछ ऐसे गोल्डन वर्ड बताउंगी, जो तुम्हें और जिसको तुम चोदोगे, दोनों को एनर्जी देंगे.

इसमें मॉम तो साफ साफ दिख ही रही थी, साथ में टीवी भी!मॉम के साथ सेक्स की कहानी जारी रहेगी.

बिहार बिहारी बीएफ: जैसे ही मेरा पानी उसकी चुत में गिरा, तो मैं और भी निढाल होकर उसके ऊपर गिर गया. जब चोदने की बारी आती है, तो साली नखरे दिखाने लगती हो … एकमद चुप रह साली रंडी … आज तेरी चुत का मैं भोसड़ा बना दूँगा.

उनमें एक लगाकी जो मेरी हमउम्र थी और मेरी बुआ लगती थी, उसे मैंने चोदा. तो मैंने बुआ को कैसे चोदा?नमस्कार मित्रो, मैं रोमी एक बार फिर से आपके बीच एक और गर्म कहानी लेकर हाजिर हूँ कि मैंने अपनी बुआ को चोदा. इस तरह की घटनाएं ज्यादातर उन अस्पतालों में होती हैं जहां पर ज्यादा भीड़-भाड़ रहती है.

मैं बोला- तो अब क्या करोगी?वो पास आकर बोली- तुमसे प्यार … थोड़ा तुम भी कर लेना.

एक दिन पूछा तो उन्होंने बताया- ऐसा नहीं है कि मैं अपने पति से खुश नहीं हूँ. फिर जब एक और ब्रेकर आया, तो इस बार उसने मुझसे टकराने के साथ ही मुझे पीछे से गले लगा लिया और धीरे से मुस्कुराते हुए पूछा- इतना ठीक है या और जोर से हग करूं?मैंने भी ख़ुश हो गया और मैंने ‘और जोर से …’ बोल दिया. फिर उन्होंने मेरी पढ़ाई के बारे में पूछा उन्होंने उस दिन काफी शराब पी हुई थी.