बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में

छवि स्रोत,क्वालिटी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्स वीडियो कॉम: बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में, आज पूरी तरह से फाड़ दो मेरी बुर को … कल अगर कोई कसर रह गई हो, तो आज पूरी कर दो.

बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में

तब मैंने उसे अपना नाम बंध्या बताया, तो वह खुश हो गया और मुझसे बोला कि मेरा नंबर लिख लो और अपना नंबर बता दो. सेक्सी वीडियो बीएफ में दिखाइएजब वो मेरे पास से गुजरी, तो जैसे ही अन्दर से इशारा हुआ कि रुको वापस आती हूँ.

मेरी सांसें तेज चलने लगीं और उसके बदन की खुशबू मेरी सांसों की गर्मी को और भी बढ़ा रही थी. सेक्सी वीडियो बीएफ वालाभैया नहा कर नाश्ता करके बैंक चले गए और भैया को विदा करके भाभी मेरे पास आ गईं.

जी … मुझे नहीं पता कुछ भी …” मैंने शर्मिंदा सी होकर जवाब दिया।अच्छा … तुझे अब कुछ भी नहीं पता … यू.बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में: मैंने आंटी से कहा कि जब भी उनको मेरी ज़रूरत हो, हम मिल लिया करेंगे.

क्योंकि गर्मी के कारण लण्ड के आस-पास पसीना आने लगता था और मुझे खुजली होती थी.उसने मेरी कुर्ती को उतरवा दिया और मेरी ब्रा में कैद मेरे उरोज उछल कर बाहर छलक पड़े.

जिओम्यूजिक बीएफ - बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में

राहुल का लण्ड ज्यादा बड़ा नहीं था लेकिन एकदम सख्त लोहे की रॉड की तरह तना हुआ खड़ा था.मैं बोली- आह मर गई … बचाओ … मैं मर गई … आह मम्मी आ जाओ … मुझे इस राक्षस से बचा लो … आह बहुत दर्द हो रहा है … आह मम्मी … मम्मी हेल्प मी … बचा लो मम्मी, मैं मर जाऊंगी … बहुत दर्द हो रहा है.

वो भी समझ रहा था कि मैं उसके साथ सेक्स करना तो चाहती हूँ लेकिन नारी सुलभ विरोध कर रही हूँ. बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में आप लोगों से आग्रह करता हूँ की आप मेरी कहानी को ध्यान से पढ़ें क्योंकि यह कहानी मेरे जीवन की आपबीती है.

तुझे पता है ना कि मुझे क्या चाहिए … अगर तू मुझे वो देगा, तो मैं किसी को कुछ नहीं बोलूँगी.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में?

प्रशांत को इस तरह देखकर नीना को अब होश कहां रहा? उसका दिल जोर-जोर से धड़कने लगा. अब यह मेरी सहन शक्ति के बाहर हो गया और मैं उसको मारे उत्तेजना एवं सहन नहीं होने के कारण ‘कुत्ती … कमीनी … हरामजादी … मां की लौड़ी … और पता नहीं न जाने क्या क्या बोल गई. वो और भी तेज ‘अआहा ऊनंह ऊउमंह आहा ऊन्ह्ह ऊम्मह आहाआ ऊनंह ऊउम्मंह हाआअ.

मामी- दिखाओ तो ऐसा क्या है इसमें?मैंने फिल्म चला कर मामी को दिखा दी. मैंने कहा- अब शाम तो हो गयी; कब बताओगी सरप्राइज़?तो फ़िर से दोनों बोली- पहले काफ़ी तो पी लें. मैंने कहा- कहो तो मैं नहला दूं?तो वाणी बोली- नेकी और पूछ पूछ … चलो.

ये बात फिर अब्बा हज़ूर और अम्मी के पास गयी और उन्होंने भी इजाजत दे दी. क्या मतलब है पीछे से आई थी? अभी तुम्हारी शीट से निकली है या नहीं?” उनका लहज़ा बहुत ही सख़्त था. रमेश जी ने सुजाता को अपने पास बुलाया और सुजाता को बोलने लगे- मेरे लंड के ऊपर बैठोगी तुम?सुजाता रमेश जी लंड के ऊपर बैठ गई.

थोड़ी ही देर में हम पार्किंग में पहुंच गए, तब उस महिला ने मुझे लिफ्ट के पास जाकर इंतजार करने को बोला. मैं पलट कर उसकी तरफ घूम गई तो उसने मेरे होंठों को चूसना शूरू कर दिया.

अब तक इस सेक्स कहानी के दूसरे भागमेरी मस्त पड़ोसन की चाय और गर्म चूत-2में आपने पढ़ा था किअरे कहां चल दी मेरी रोसोगुला … इतनी जल्दी थक गयी क्या?”नहीं मेरे राजा … आज शादी के 25 साल बाद में पहली बार झड़ी हूँ ना इसलिए.

लंड चिकना हो गया और सीमा ने दोबारा से मेरे लंड की मुट्ठ मारना शुरू कर दिया.

तभी उसने मुझे बेडरूम में चलने को कहा और आंटी ने मेरे लंड को हाथ से पकड़ा और मुझे बेडरूम की तरफ ले जाने लगी, फिर से मेरा लंड तैयार हो गया था. मैं कुछ देर तक आराम से अपनी उंगली को शिल्पा की मखमली गांड के छेद में अन्दर बाहर करता रहा. मैं इस वक्त नशे में उसे देविका समझ बैठा … और उसकी दोनों चुचियों को अपनी छाती से रगड़ने लगा.

फिर मैं धीरे-धीरे उसे किस करते-करते धक्के लगाने लगा। उसे भी मज़ा आने लगा. मैंने देखा कि मिशिका रिशु के विशालकाय लंड को अपने मुंह में लेकर बड़े ही मजे से चूस रही थी. वो उस सख्त चीज को मेरी जांघ के बीच में सलवार के ऊपर से ही जहां मेरी फूली जगह थी, वहां आगे पीछे कमर करके झटके मार मार कर रगड़ रहे थे.

इंदु को इस आसन में मजा आने लगा, वो बोली- मैंने ऐसे पहले कभी नहीं किया.

मेरे घर से थोड़ी ही दूर पर एक घर था, जिसमें एक छोटा परिवार रहता था और मैं उसी में रहने वाली एक लड़की से प्यार करता था. फिर राहुल का लण्ड अपने मुंह से निकाल कर वह सीधी बेड पर लेट गयी और कहने लगी- अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है. करीब 15 मिनट तक चूमने के बाद मैंने भाभी से कहा- कल मेरा एग्जाम है तो सुबह मुझे जल्दी उठना होगा.

तब महेश अब्दुल को बोला- लगता है वन्द्या का काम होने वाला है, वन्द्या झड़ने वाली है. माल निकल जाने के बाद हम दोनों ही एकदम से शिथिल हो गए थे और बस कुछ ऐसा लगा कि हम दोनों की दम निकल गई हो. जब लंड पूरी तरह खड़ा हो गया तो मुझे लिटा कर वो मेरे ऊपर चढ़ गईं और अपनी चूत मेरे लंड पर रख कर उछलने लगीं.

वर्षा बोली- दीदी मैं जब तक जिन्दा हूँ, आपको कुछ भी नहीं होने दूंगी.

उसका लंड काफी बड़ा था जो मुझे और मेरी चूत दोनों को ही काफी संतुष्ट कर रहा था. मैंने हताश होकर पर्ची को पलट कर देखा, शुक्र था कि उस गंदे लव लेटर के पीछे एक एस्से टाइप क्वेस्चन का आन्सर भी लिखा हुआ था.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में बॉस मेरी बीवी के ऊपर झुककर मेरी बीवी के होंठ चूसने लगा और उसके दोनों संतरे दबाने लगा. दोनों की गांड के नीचे एक एक तकिया लगाया, जिससे उनकी गांड भी साफ नज़र आने लगी.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में थोड़ी देर बाद मैंने हाथ इधर-उधर घुमाना शुरू कर दिया और हाथ को पूरी कमर पर फिराते हुए भाभी की चूचियों को छुआने लगा. मैंने लंड उसकी चूत के ऊपर रखा और धीरे से धक्का दे दिया और आधा लंड उसके चुत में पेल दिया.

शीला मुझसे बोली- हम दोनों बहनों की सेवा पसंद आई पतिदेव को या नहीं?‘तुम दोनों ने मुझे पागल कर दिया है, चार बार पानी छोड़ने के बाद भी लंड खड़ा है.

सेक्सी बीएफ लेडीस वाली

उनके शरीर के भार और धक्कों के फोर्स के कारण पूरी टेबल सरकने लगी थी. यह कह कर अब्दुल ने उठाकर मुझे टेड़ा कर दिया और अपना लंड मेरी चूत को चौड़ा करके डाल दिया. ऐसा काला हुस्न मैंने आज तक नहीं देखा था और मैं हैरान था कि किसी लड़के ने आज तक उसको भोगने की कोशिश क्यों नहीं की.

मैंने सुनील जी को अपनी तरफ खींचा और उनके लोअर को उतारने लगी- मेरे राजा, तुम भी तो दिखाओ अपना हथियार … जिसकी कल मैंने तस्वीर देखी थी और देखने के बाद फुद्दी में आग लग गई थी. उसने एक पतली सी झीनी सी नाइटी पहन रखी थी जिसके अंदर उसकी लैस वाली ब्रा और पेंटी साफ-साफ दिखाई दे रही थी. और मुझसे घर वापस जाने और उसके आने का इंतजार करने को कहा।मैं निराश हो गया और घर वापस आया.

मैंने आंटी से बोला- आपके घर पर तो कोई नहीं है?आंटी बोलीं- मेरे पति बंगलौर किसी काम से गए हुए हैं.

ब्लू कुरती और टाइट लैगैंग्स में, जिसमें उसकी चिकनी जांघें और सुडौल टांगें दिख रही थीं. मेरा पूरा लंड आंटी अपने मुंह में लेकर उसको ऊपर से नीचे तक निचोड़ने में लगी हुई थी. अब उसकी शादी हो चुकी है लेकिन फिर भी जब उसके पति कहीं बाहर गए हुए होते हैं तो वह एक दो दिन के लिए मेरे पास अपनी गांड मरवाने आ जाती है.

कुछ देर बाद मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा और पीछे से उसकी चूत और गांड के छेद पर लंड फिराने लगा. जब मैंने पहली बार देखा तो देखा कि मेरी मम्मी नंगी नीचे लेटी हुई थी और मेरे पापा बिल्कुल नंगे मम्मी की चूत में लंड डालकर उसे आगे पीछे कर रहे थे. मुझे भी उसकी बात सही लगी, वैसे भी इतनी मेहनत करने के बाद मुझे दूसरे दौर के लिए ताकत की जरूरत थी.

उसका रिप्लाई था कि तुम तो एक छोटे से चूहे हो, तुमको कौन अपनी गांड देखने देगी. लंड फच्च-फच्च की आवाज करता हुआ आंटी की चूत की चुदाई करने में लगा रहा.

वे चारों भी नंगे खड़े थे और अब्दुल मुझे चोदने के लिए मेरे ऊपर चढ़ गया था. बाद में आंटी ने मुझे बताया कि उनके पति ऐसा कभी नहीं करते, बस अन्दर डाल कर कुछ झटके लगाते हैं और सो जाते हैं. मैं अपना मुँह ऊपर कर के दोनों हाथ से डॉली का मुँह लंड पर दबाने लगा.

फिर साड़ी एक हाथ से समेट कर दोनों जांघें फैला उसके लिंग के ऊपर बैठ गयी.

मेरे मुँह से गालियां निकलने लगीं- ले साली रांड … बहुत दिनों से इसी दिन का इंतज़ार था मुझे. मेरा जब जी करे उन्हें चोद लेता था, दिन में देविका जी, तो रात में मोहिनी जी. उन लोगों ने मुझे अपनी गाड़ी से उसी शादी के पंडाल के पास पहुंचा दिया.

फिर उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और मैंने भी संध्या को कस कर पकड़ लिया. मेरे प्रिय पाठकों आप लोगों अपना जो प्यार प्रेषित करते हैं, वो मेरे लिए एक बड़ा स्पोर्ट है.

मेरी प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा के कारण मैं घर पर ही था और मेरी चचेरी भाभी सोनम, जिनकी अचानक ही तबीयत बिगड़ गयी थी, वे भी घर पर ही रुक गई थीं. मेरा बॉयफ्रेंड अकेले अपने घर चला गया और मैं अपनी सहेली के साथ घर आई ताकि मेरे घर वालों को शक नहीं हो. उसने मुझे गाली देते हुए कहा- बोला- साली अभी चुदवाएगी या नहीं?मैंने ना में सर हिलाया, तो बोला- साली मेरे को पता है … तेरा बेटा भी आया है.

बीएफ वीडियो बिहार की

परफेक्ट फिगर, कूल्हे थोड़े उठे हुए, लंबाई 5 फुट 6 इंच, एकदम स्लिम तो नहीं, पर भरी बदन की मल्लिका थी कल्पना.

उनके बड़े बड़े नितंब देखकर मेरा लंड पूरे जोश में आ गया, मन किया कि अभी अपना 7 इंच का लंड बुआ की गांड में डाल दूं. मुझे ऐसा लग रहा था कि सुषी की चूत दीवार में लगी है और मैं दीवार को चोद रहा हूँ. लेकिन मैं उसकी गांड पर लंड टिका कर शॉट मारने ही वाला था कि वो आगे से हट गई और खड़ी हो गई.

उसने ही ये सब बातें मुझे बताई थीं कि बार बार एक ही लड़के के लंड से चुदवाने में उसको मजा नहीं आता है. मैं एकदम से हैरान हो गया कि इतनी ज़ल्दी कैसे मेरे लंड को मुँह में ले लिया. देसी बीएफ वीडियो भोजपुरीउसकी मोती उंगली घुसते ही मैं चिहुंक उठी ‘अअअह … ओहह … ऊम्म …’अब तक निक ने मेरे होंठों को अपने होंठों से लगा दिया था, वो मुझे लंबे चुम्बन देने लगा.

मैंने पेंटी के ऊपर से चूत पर हाथ फेरा, वो सहम गई और उसके मुँह से मस्त आवाज आई- अहहहह हहहह. मेरी बीवी की दोनों चूचियां लाल हो गई थीं, पर वह आदमी काफी देर तक दोनों चूचियां चूसता रहा.

गर्मी भी लग रही है, आप दोनों एक काम करो, सलवार कमीज़ रहने दो और साड़ी ब्लाउज उतार कर आराम से बैठो, यहां किसी को आना तो है नहीं, फिर बेवजह हिचक कैसी. इस चक्कर में गीता का दाना डिल्डो से रगड़ा जा रहा था, तो वो भी झड़ने को आ गयी और वो दोनों गुत्मगुत्था हो गईं. वैसे तो मैं अपनी सास से नहीं डरती थी लेकिन उस वक्त बदनामी से डर लगता था.

मेरे दिमाग में भी बहुत कुछ चल रहा था, जैसे कि कल्पना कैसी दिखती होंगीं? क्या क्या करना पड़ेगा आज? कैसे खुश करूँगा उन्हें? और खुश कर भी पाऊंगा या नहीं!यही सब सवाल मन में लिए मैं अपनी तैयारी में लग गया. वो भी मेरी मदद करने लगी और एक ही झटके में उसने मेरा कच्छा लगभग फाड़ते हुए उतार दिया था. उन्होंने मेरी जीएफ के बारे में पूछा तो मैंने मना कर दिया कि मेरी कोई जीएफ नहीं है.

फिर उसने कहा- चल आजा मेरे घोड़े … चढ़ जा मेरे ऊपर मेरी चुत पहले से ही काफ़ी गीली है.

मैंने खाला से पूछा- ज़रीना के लिए क्या सोचा है?तो खाला बोलीं- अभी सोच रहे हैं … सोचती थी कि तुमसे इसका निकाह करवा दूँगी. उसके अहसास से ही मेरी चूत में से पानी बहने लगा था। इतने में ही दरवाजे को बाहर से कोई ठोकने लगा.

मैंने फ्रिज में से दूध निकाला, चाय बनाई और थरमस में चाय भरके मेरे यार से मिलने निकल पड़ी. मैंने उसके दूधिया गोरे स्तन और उनके उभरे हुए भूरे निप्पलों को देखा और पागल हो गया। मैंने उनके बायें आम को निचोड़ लिया. लेकिन वो मेरी ममेरी बहन थी, जिस वजह से मैं उसको चोदने का नजरिया बना ही नहीं पा रहा था.

मैंने अंकित से बड़ी रिक्वेस्ट की, तब मुश्किल से वो माना और हम दोनों वहां से निकल आए. लेकिन जैसे जैसे मैं बढ़ती गई, वैसे ही मेरे जीवन में हर बार एक अलग आदमी आता गया. सबसे पहले आप सभी का धन्यवाद कि मेरी प्रकाशित पंजाबी चुदाई कहानीनौकर से जवानी की प्यास बुझाईको आप सभी ने खूब पसंद किया और मेरी कहानी को प्यार दिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में फिर आया वो दिन … सच कहूँ तो मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं था कि कल्पना का मैसेज आएगा या वो मुझे बुलाएंगी, लेकिन ऐसा हुआ. फोरप्ले तो उसके बस का था ही नहीं और मैं तड़पती सुलगती और उसे गालियां देती रह जाती थीं।साल भर बाद मैंने कोई भी नौकरी करने की ठानी.

इंडियन सेक्स बीएफ हिंदी

वो मेरी पेंटी को मेरे पैरों के नीचे तक इतनी तेजी से लाया कि मैं कुछ नहीं कर सकी. मैंने उससे पूछा कि उसको मेरी सर्विस कहां पर चाहिए तो उसने बताया कि वह दिल्ली में ही मिलना चाहती है. मैंने उसको कोई शक ना होने दिया और उसके बाद वो औरत भी अपने घर चली गई.

तू जब आई सामने से, तब तो दिमाग ने मुझे मना किया, कहा कि अपने काम पर ध्यान दे. हम दोनों जब कंपनी से बाहर निकले तो शिखा कहने लगी कि उसके सिर में दर्द हो रहा है और उसका सिर बहुत भारी सा लग रहा है. बीएफ ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओदोनों चिल्लाने लगीं- आआआ … उईईईई … मादरचोद लम्बी रेस के घोड़े … यू फक सो गुड …वे दोनों तरह तरह की आवाजें निकाल रही थीं.

भाभी मुस्कुराने लगी और मुझे कहने लगी- अब तुमने मेरा शरीर और मेरी चूत सब देख ली है, जरा उसका भी हिसाब किताब चेक करो.

हम दोनों एक दूसरे के इस राज को राज ही बने रहने देंगे और अपनी आग को भी बुझा लेंगे. मैं कसमसा गयी और उसे देखने लगी।वो बोला- ऐसे क्या देख रही है?मैंने कहा- आराम से दबाओ।वो हंसने लगा और फिर उसने मेरे दोनों बूब्स ज़ोर से भींच दिये.

साथ ही मैं एकता के चूतड़ों पर चमाट लगाने लगा और उसकी पीठ पर चूमने लगा. मेरी एक उंगली मामी की चूत में क्या गई, वो तो एकदम से कामुक आवाजें लेते हुए जोर से ‘अओउउ. मेरा लंड अभी भी खड़ा था जो भाभी की चूत से टकरा रहा था, मैंने भाभी की पीठ पर हाथ फिराना शुरू किया उनके चूतड़ों को सहलाया, उनके पटों को सहलाया.

वो जोश में सिर्फ गर्दन हिला मना कर रही थी और जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी.

पूरे गांव में इन तीनों औरतों ने मेरी मम्मी का नाम लेकर फैला दिया कि उसकी बेटी अब रंडी हो गई है. जब सुजाता घुटनों पर बैठी, तो बिना ब्रा के उसके दोनों चूचे बाहर को लटक कर मस्ती से झूलने लगे. नैना ने फ़ोन काटा और मुझसे बोली- रमित …वो कुछ कहने ही वाली थी कि फ़ोन दोबारा बजने लगा, नैना ने फ़ोन उठाया तो बोली- ओह शिट …मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोली- हस्बैंड का फ़ोन है.

गर्ल की बीएफआंटी बोली- किस भैंस की बात कर रहे थे तुम?मैंने आंटी के चूचों की तरफ देखा और फिर यहाँ-वहाँ देखकर यह सुनिश्चित किया कि कोई आस-पास में न हो. कुछ पल बाद मैं भी नीचे आया और प्रिया की पिंक कलर की ब्रांड न्यू सेक्सी पेंटी को धीरे से उतार दिया.

बीएफ पिक्चर कुत्ता

तकलीफ के मारे जरीना का मुँह खुल गया और आंख से पानी आ गया, वह जोर से चिल्लाई- आईईई माँम्म्म्म्म् म्माआआ … घुस्स्स गया आआआ … मेरी बुर फ़. वह महिला रंग में तो गोरी थी और दिखने में भी ठीक थी, वो मुझसे पूछने लगी- क्या बात है?मैंने कहा- आपके पास पी. माँ बाप कब चल बसे, मुझे खुद नहीं पता, किसी रिश्तेदार का मुँह कभी नहीं देखा, बस खुद को जब से याद करता हूँ तो एक जोड़ी कपड़े में आधे भूखे पेट ही याद करता हूँ.

सलहज चुद रही थी, बीच बीच में अपने पति को गालियां भी दे रही थी- आह मजा आ गया जीजा जी. उसने कहा- तू कुछ भी कर लेकिन मेरे अंदर की आग को अभी शांत कर दे प्लीज. इसके बाद मैं करवट बदलते हुए उनके करीब को हो गया और उनको पीछे से हग कर लिया.

मेरी और उस लड़के की एक दूसरे से बहुत अच्छी दोस्ती हो गयी और हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करने लगे. अपने आस-पास के गे लड़कों की लोकेशन पता करना, अगर कोई पसंद आ जाए तो फिर उससे पिक्चर्स मांगना, अगर वो पिक्चर्स ना दिखाना चाहे तो अपनी फेक पिक्चर्स भेज कर उसकी असली पिक्चर्स देखने की कोशिश करना वगैरह … वगैरह … कामों में दिन आराम से निकल जाता था. मैंने फिर से ऊपर आकर पूछा- दीदी एक बात बता न?दीदी ने कहा- हां पूछ न?मैंने कहा- दीदी आपकी साईज क्या है?दीदी मेरी इस बात पर हंस दीं- हा हा हा … मेरी किस चीज की साइज़ जानना है तुझे?मैंने कहा- आपके मम्मों की और कमर की साइज़ जाननी है.

अब तो सुजाता भी पागल होने लगी थी और अपने हाथ से अपना दूध पकड़ कर रमेश को पिलाते हुए कहने लगी- और चूसो प्लीज. तभी उसने भी फिर से मेरा लंड पकड़ लिया था जो कि उसके हाथों का ही इंतजार कर रहा था.

उसने तेल की बोतल पकड़ी और थोड़ा सा तेल अपने लंड पर लगा दिया और उंगली से मेरी गांड पर भी लगवा दिया.

एक दिन जब साहिल स्कूल आया तो उसे देखते ही मेरी बॉडी में करंट दौड़ने लगा. इंग्लिश बीएफ सेक्स इंग्लिश बीएफ सेक्सकुछ ही देर बाद भाभी गांड उठाते हुए झड़ गईं और मैं भी उनकी चुत में ही झड़ गया और भाभी के ऊपर ही लेट गया. मोहिनी बीएफइसके बाद अगले भाग में अपनी आपा सारा की जबरदस्त सील तोड़ चुदाई का किस्सा सुनाने वाला हूँ. थोड़ी देर आराम करने के बाद सीमा आंटी उठने की कोशिश कर रही थीं, पर उनसे उठा ही नहीं जा रहा था.

तभी मैंने पीछे से राधिका आंटी की गांड पर हाथ रखा और एक हाथ से उनकी चूत के छेद पर लंड को रख दिया.

एक ऐसा माल जिसे देखकर, जितने बाराती थे, बड़े बूढ़े … साला जिसका खड़ा ना होता हो … उसके लंड को खड़ा कर दे. पन्द्रह मिनट की भयंकर चुदाई के बाद मेरा टाइम छूटने का होने वाला था. जब वो मेरे पास से गुजरी, तो जैसे ही अन्दर से इशारा हुआ कि रुको वापस आती हूँ.

मैंने महसूस किया कि उनका गर्म वीर्य मेरे अन्दर गया और मेरी चूत उसके वीर्य से भर गई। वो हाँफते हुए मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे ऊपर निढाल हो गए।करीब 5 मिनट वो मेरे ऊपर ही पड़े रहे। फिर वो मुझसे अलग हुए. वह बोले- फिर अंकल बोली?मैं बोली- नहीं … राजा जी थोड़ा आराम से करना … मुझे दर्द ना हो. मैंने भी उसकी बात मान ली और बिना देर किए उसकी चुत में अपना लंड घुसा दिया और उसने भी बड़ी आसानी से लंड निगल लिया.

इंडियन देसी बीएफ हिंदी में

भाभी मुझसे कहने लगी- राज! कई साल पहले मुझे ऐसा ही दर्द हुआ था, तब प्रोफेसर साहेब ने मुझे पीछे से भींच कर दो-तीन बार ऊपर उठा दिया था, जिससे मेरी कमर में से एक चट की आवाज़ आई थी और मुझे आराम आ गया था, परन्तु अब उनका पेट आगे निकल आया है और उनमें ताकत भी नहीं है, क्या तुम मुझे वैसे ही उठा सकते हो?मैंने कहा- भाभी! पहले दरवाजा बंद कर लो. दो मिनट के बाद जब प्रमिला को अच्छा लगने लगा, तब चार इंच के करीब अन्दर बाहर करने लगा. भाभी की चूत का दाना किसमिस जैसा था जो फूल कर छोटे अंगूर जैसा हो गया था.

वह बोला- जैसे कि?मैंने कहा- आपकी चौड़ी और मजबूत छाती है जो आपकी शर्ट और कोट के अंदर से ही पता चल रही है.

मैंने भी उसको चुम्मे वाली काफी स्माइली भेज दीं और उसको अपना नंबर भी भेज दिया.

मुझे एकदम से मस्ती चढ़ गई और मैं उसके सर को अपने हाथ से पकड़ कर अपना दूध पिलाने लगी. कभी मेरी गर्दन पर किस करती और कभी मेरी छाती के निप्पलों को किस करती. हिंदी बीएफ देसी पिक्चरइसके बाद उस औरत ने मेरी बीवी के पेट से वह पानी साफ कर दिया और दूसरा आदमी मेरी बीवी के ऊपर चढ़ गया.

आज तेरी वजह से सुहागरात हो जाएगी, तेरा नाम हमेशा लूंगा कि मेरे भाई के कारण मेरी सुहागरात हुई थी. पर वो नहीं मानी और बोलीं- मैंने कभी किया ही नहीं और मुझे अच्छा नहीं लगता. मन कर रहा था कि एक बार फिर से पकड़ कर उसकी चूत में लंड को घुसा दूं मगर मैं ऐसा करके उसको नाराज नहीं करना चाहता था.

पापा ने मुझे धक्का मारा, मैं नीचे फर्श पे गिर गई और उन्होंने मुझे भी लाठी से खूब मारा. दारू पीने के बाद मीठा खाने से और तेज नशा होता है इसलिए मैं डेरी मिल्क का बड़ा पैक लाया था.

मेरा उससे दस साल की उम्र का फासला होने के बाद भी वो मेरी अच्छी दोस्त सी बन गयी थी.

धीरे धीरे मैंने अपनी उँगलियों के पोरों से मीशा के गुलाबी निप्पल सहलाने लगा. एक बार को मैंने उसको मेरी मम्मी के साथ बात करते सुन लिया कि उसकी उम्र इकत्तीस साल है और वो कुंवारी है और अभी तक उसकी शादी नहीं हुई है. मैं बार-बार पेंटी के आस-पास चूम रहा था लेकिन चूत को बिल्कुल नहीं छू रहा था.

बीएफ ब्लू गाना कौशल्या कौशल्या आई लव यू मेरी रानी, तुम कमाल की हो … काश मेरे जीवन में तुम पहले आती, तुम्हें जिंदगी की हर ख़ुशी देता … ओह आह्ह मेरी जानू उम्ह्ह्ह उम्ह्ह्ह …”आई लव यू टू मेरे स्वामी … मेरे राजा आह्ह ह्ह्ह मास्टर ओ मास्टर आमार दुस्टो रोजा एक्टू धीरे धीरे ओरे बाबा मोरे जेबो आह्ह उम्ह्ह …”की होलो कौशल्या आमार मिष्टी दोही, भालो लगछे हम्म …”मैंने चुदाई जारी रखी. जब शिल्पा ने बताया कि विक्रम 3 दिन के लिए अपने दोस्तों के साथ घूमने जा रहे हैं.

कमर मेरी उनके कमर से चिपक गई थी, तभी मेरे सलवार के ऊपर से ही कमर के नीचे जांघों में कोई सख्त चीज चुभ रही थी. मैंने कहा- आंटी, आप इस वक्त यहां पर?आंटी ने कहा- तेरे अंकल तो सो गए हैं इसलिए मैं यहाँ टाइम पास करने के लिए आ गई. मैं इस झटके को सह न पाई और मैंने आगे कुर्सी में बैठी रंजना दीदी को जकड़ लिया.

भारत की बीएफ हिंदी

अब तक आपने पढ़ा था कि शादी के माहौल में मेरे मौसेरे भाई निहाल ने मेरे साथ हरकत करनी शुरू कर दी थी. वैसे मैं पढ़ाई मैं ज्यादा तेज तो नहीं हूँ पर औरों के मुकाबले होशियार हूँ। मैंने उसे एग्जाम में मदद की और फिर हमारी दोस्ती गहरी होती गयी।उस साल मेरी किस्मत भी मेरे साथ थी क्योंकि इत्तेफाक से वो भी मेरे ही प्रक्टिकल ग्रुप में थी। मैं उसे मदद करने के बहाने उसे छू लेता, कभी उसके हाथ से मैं अपना हाथ टकरा देता तो कभी उसकी गांड के पास अपना लंड सेट कर देता. मेरा लंड फटने वाला था, मैंने कहा- तुम जवान हो और क्या तुमने भाई बहन के सेक्स की कहानियां नहीं पढ़ीं हैं?बोली- हां मगर!मैं कहा- बस कुछ नहीं बोलो … मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ.

फिर मैं अंदर गया तो उसने दरवाज़ा बंद किया और फिर मैंने उसे पीछे से पकड़ कर किस करना शुरू कर दिया। और किस करते-करते उसके रूम में चले गए।उसके घर में पांच रूम थे।मैंने किस करते हुए उसके सारे कपड़े निकाल दिये, फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए. साथ ही बॉस मेरी बीवी की चूत लगातार चोद रहा था और हर शॉट के साथ मेरी बीवी की दोनों मदमस्त चूचियां हिल रही थीं.

वह सब पी जाये और फिर मेरे बाल पकड़ कर, मुझे गालियां देते, पूरी बेरहमी से अपना मूसल जैसा लिंग मेरी कसी हुई योनि में उतार कर फाड़ दे मेरी योनि को। मैं चीखती चिल्लाती रहूं और वह पूरी बेरहमी से धक्के लगाते मेरी योनि का कचूमर बना दे। एकदम सख्त क्रूर मर्द बन कर मुझे एक दो टके की रंडी बना के रख दे। धीरे-धीरे सुलगती आकांक्षायें यूं ही और आक्रामक होती गयीं।सुलगना क्या होता है यह कोई मुझसे पूछे.

अपने रूम में गे पॉर्न देखकर मुट्ठ मारना या फिर किसी गे डेटिंग ऐप पर सारा दिन चैट में लगे रहना. ‘आपके दोस्तों के साथ कार्यक्रम कैसा था … आपको देख के मज़ा आया?’‘तू मस्त चीज़ है, कमाल कर दिया. निकालो … प्लीज़ … छोड़ दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… दर्द हो रहा है … अइया …’ जैसी दर्द भरी आवाजें निकालती रही, मगर मैं उसकी चूत को सहलाता रहा और अपने लंड को उसकी गांड में पूरा डाल कर लेटा रहा.

उन्हें मैंने बहुत प्यार से समझाया और गले लगा कर कहा- मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ भाभी … मैं आपको रोते हुए नहीं देख सकता. रवि घुटने के बल बैठ कर मेरी वाइफ की गांड को चूमने लगा, किस करने लगा, दाँत से काटने लगा. तो दोनों एक दूसरे को देख कर हंसने लगीं और बोलीं- नहीं ऐसी कोई बात नहीं है.

मगर मेरे पति मेरे जैसे नहीं हैं, वो कभी भी ये नहीं जान पाते कि मेरे अन्दर क्या चल रहा है.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में: राहुल ने कहा- ठीक है।मैं सब काम खत्म करके लगभग पौने दस बजे अपने कमरे में आ गयी और अंदर से कुंडी बंद कर ली. ”एक औरत की वासना की भूख मिटा दे, ऐसा कोई मर्द नहीं है दुनिया में मेरे राजा.

फिर पहली बार प्रिया ने साथ दिया और अपनी नरम मुलायम बांहें मेरे गले में डाल कर मुझे सर पर किस किया. मैं अपने लंड को सहलाता हुआ उनके आने का इंतज़ार करने लगा, तभी देखा कि कोई आ रहा है. बस 5-7 मिनट उसकी गांड मारने के बाद मैंने लंड उसकी चूत में घुसा दिया और 20 मिनट तक उसको चोदता रहा.

मैं उसकी तरफ देखती रही, तो उसने अपने लंड को सहलाते हुए पूछा- तुम्हारा नाम क्या है?मैं अचकचा कर बोली- निशा … और तुम्हारा?तो उसने बोला- मेरा नाम डेविड है और मैं नामित का बॉस हूँ.

सबसे परेशान होके मैंने किसी दूसरे शहर में नौकरी तलाश करने का फ़ैसला कर लिया. कुछ देर की धकापेल के बाद मैं पूरा होने वाला था, तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी. वह औरत जो वहां बैठी थी, वो उठ कर गई और थोड़ी ही देर में ही एक व्हिस्की की बोतल और गिलास ले आई.