हिंदी बीएफ जींस वाली

छवि स्रोत,बीएफ सेक्स वीडियो नंगी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्सी बीएफ हिंदी: हिंदी बीएफ जींस वाली, उसकी सांसें बहुत तेज चल रही थीं जो मुझे फोन पर साफ साफ सुनाई दे रहा था.

8 सेक्सी बीएफ

सुभाष बोला- क्या कर रहा था बे? इधर ड्राईवर अपनी बारी का इन्तजार करते करते पैंट में ही पानी छोड़ देता तो! चल जा उसे भी भेज दे … और सुन मेरे गांव पर रोक लेना. सेक्सी बीएफ 100 सालये आवाजें सुन कर मेरा लंड और ज्यादा कड़क हो गया और मैं अब पहले से दोगुनी ताकत लगाने लगा.

कभी उनकी गांड में और कभी उनके मुंह में लंड देकर मैं पापा के मजे लेता रहा. हाथी का सेक्सी वीडियो बीएफजैसे जैसे मेरा लौड़ा अंदर घुस रहा था माँ की सिसकारियाँ बढ़ती ही जा रही थी.

तभी अचानक से पर्दा हटा और वही भाभी मेरी बर्थ पर लेटने के लिए अन्दर आ गई.हिंदी बीएफ जींस वाली: उधर उसकी आह निकली और इधर मैं अपनी ज़ुबान से लंड का प्री-कम चाटने लगी.

दीदी ने मेरा लंड हिलाया और जीजा को उलाहना देते हुए कहा- इसके लिए इतना बड़ा हथियार होना चाहिए.इस चूत चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे हम लखनऊ में मिले और मैंने उस सेक्स को बेचैन लड़की को चोदा होटल में लेजाकर.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ चलने वाला - हिंदी बीएफ जींस वाली

ऐसी चिकनी चीज है तू।मुझे गुस्सा आया और मैं बोला- ठीक है आज तुम्हें दिखा ही देता हूं अपना लंड.मौसी के कहने पर मैं आहिस्ता से वहां से उठा और अपनी वाली जगह पर आकर लेट गया.

ललिता की टांगें फैला कर मैंने अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत के मुंह पर रख दिया. हिंदी बीएफ जींस वाली अब मैं बड़ी बेसब्री से निगार आंटी को पाने का इंतज़ार करने लगा था कि कब वो मुझसे मिलने बुलाएं और कब लंड का काम बने.

उनके होंठ इतने रसीले थे कि उनको मैं जितना पी रहा था मेरी प्यास और ज्यादा बढ़ जा रही थी.

हिंदी बीएफ जींस वाली?

प्रिया के मुँह से ये बात सुनकर मुझे खुशी भी थी कि प्रमोशन मिल गया और मैं दुखी भी था कि प्रीति ने ऐसा किया. मैं अपनी दीदी को मजे से चोद रहा था और दीदी चुदते हुए कामुक आवाज़ निकाल रही थीं. उसने देखा कि उनका बेटा और बेटी एक दूसरे से एकदम नंगे होकर लिपटे हुए हैं.

उसने मेरी बात पर चुटकी ली- हम्म … मतलब मैं चीज हूँ!मैंने हंस कर कहा- यदि गुलाब के फूल की तारीफ़ करते हुए मैंने उसे चीज कहा है तो तुम उसे अपने लिए क्यों ले रही हो!तो वो बोली- मतलब मैं कोई चीज नहीं हूँ … कुछ और हूँ … बताओ न मैं क्या हूँ?मैंने कहा- तुम सुन्दर सी हुस्न की परी हो. फिर उनकी टांगें खोल कर चुत पर लंड का निशाना साधते हुए एक तेज धक्का दे दिया. कुछ देर तक उसके बूब्स को दबाने के बाद वो पलट गयी और उसने खुद ही मेरे हाथों को अपनी चूचियों पर दबाना शुरू कर दिया.

मैं जल्दी से फ्लोर साफ करके पानी लेकर उसके पास गया, उस पर पानी की छींट मारी. मैंने उसके बालों को सर के पास से पकड़ा और अपना बॉक्सर नीचे करते हुए अपना लटका हुआ लंड मंजू के मुँह में डाल दिया. हमारे मुहल्ले में रहने वाले मीतेश का लिफाफा खोला तो मैं दंग रह गया.

मिठाई का डिब्बा देते हुए मैंने रेखा को रिसेप्शन में आने के लिए धन्यवाद कहा. एक दो बार मेरी नजर अमन से भी टकरायी और हम एक दूसरे को देखकर मुस्कराये.

इसका केवल एक ही मतलब निकल रहा था कि उसने शादी से पहले अपनी चूत की बहुत ठुकाई करवाई है.

मेरी सच्ची सेक्सी कहानी हिन्दी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त ने पढ़ाई के लिए कमरा किराये पर लिया.

मैंने पूछा- किधर चलना है?मामी ने कॉलोनी में होली के प्रोग्राम के बारे में बताया. मेरा बेटा अभी छोटा है इसलिए उसे मैं अपनी सास के पास छोड़ आई हूँ … और पति विदेश में सर्विस करते हैं … इसीलिए मैं अकेली ही जा रही हूँ. मनोहर मेरी चूचियों को दबाने लगा और धीरे धीरे मेरी गांड में लंड चलाने लगा.

बात आगे बढ़ाने से पहले अपने बारे में आपको मैं सामान्य जानकारी दे देता हूं. मेरा एक हाथ उसकी चूचियों पर था और दूसरे हाथ से मैं उसकी देसीचुत को कपड़ों के ऊपर से ही छेड़ रहा था. आपके साथ रिश्तों में चुदाई की घटनाएं कभी हुई हैं तो वो कैसे हुई? अपने संदेश में मुझे बतायें.

उनकी चूचियां मसलते हुए मैंने आंटी की सहेली हो ध्यान से देखा तो उनकी उम्र भी करीब 32 साल की ही थी.

तकरीबन 10 मिनट चुंबन करने के बाद और भाभी के होंठों का रस पीने के बाद से मैंने फिर से उनकी चुत में उंगली घुसा दी. मैं मौके की तलाश में हूं कि उनकी जवान बेटी की कुंवारी चूत चोदने चान्स कैसे मिलेगा. अब इसके बाद मैंने हर पेपर में उससे बात की और आखिरी में हमने एक दूसरे के नम्बर ले लिए.

पर इस तरह से कि उनको लगे कि ये सब गलती से हो गया … पर वो सब समझ रही थीं. उसके बाद प्रीति ने अपना गाउन नीचे गिरा दिया और मेरे हाथ पकड़ कर अपनी चूचियों पर रख दिए. वो मदहोश करने वाली आवाजें निकाल रही थी।मैं और तेजी से उसके मम्में दबाने लगा.

हरि के बाद विशाल और राज की पैंट उतारी तो उन सबके लंड भी बहुत बड़े बड़े थे … मेरे शिबु से सभी के लंड काफी बड़े थे.

उस अंधेरी गली में मैं पूरी नंगी होकर किसी सड़क छाप रंडी की तरह एक रिक्शावाले से उछल उछल कर गांड की चुदाई करवा रही थी. उधर जीभ के स्पर्श से एक बार को तो मामी ने भी हलचल सी की, लेकिन मैं अपने काम में लगा रहा.

हिंदी बीएफ जींस वाली और तीसरी आवाज माँ के पैरों में पड़ी पायलों के बजने से आ रही थी।हम दोनों अपनी अपनी पूरी ताकत लगा रहे थे. जो घटना उस रात हुई, वैसी ही घटना कई बार और भी हुई, मगर अभी तक मैं मां की चूत नहीं मार सका था.

हिंदी बीएफ जींस वाली मेरी नाइटी कुछ ज्यादा ही सेक्सी थी जो कि मेरे घुटनों से भी थोड़ा ऊपर ही जा रही थी. वो बोली- पापा, आप ये क्या कर रहे हैं?पापा बोले- बेटी, मैं तेरे लिए कुछ भी करने को तैयार हूं.

मैं भाभी के मम्मों को चूसते हुए उनके गोरे पेट पर आ गया और उनकी नाभि पर जीभ फिराने लगा.

नवीन बीपी व्हिडिओ

आंटी ने मेरी तरफ देखकर हंसते हुए कहा कि ये किताब बस मैं यूं ही ले आई थी. मौसी की उम्र 38 साल है और वो साढ़े पांच फिट की हाइट वाली एक मदमस्त महिला हैं. मैंने कहा- प्रीति तुम यहां आओ, इसीलिए मैंने छुट्टी ली और मैं यहां किस लिए रहूंगा.

पहली बार चूत को चोदने का वो मजा मैं यहां पर शब्दों में नहीं लिख सकता हूं. अब मामी जी को भी चुदाई में मज़ा आ रहा था और वो भी अपनी गांड उछाल उछाल कर बहुत मजे से चुदवा रही थीं. फिर अचानक नीरव ने कहा- डार्लिंग, कल तुम कॉलेज बंक कर सकती हो क्या मेरे लिए?मैंने कहा- यार, कल तो मेरा टेस्ट है.

उसके बाद पापा ने मेरे चेहरे के पकड़ा और मेरे होंठों पर होंठ रख कर चूसने लगे.

दो मिनट तक मोसी बाहर आई नहीं तो मैं अंदर गया तो देखा कि मोसी एक पैर साइड में रखकर अपनी चूत मसल रही है. मेरी मा सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि माँ की चुत चुदाई दो पराये मर्दों से होते देखी मैंने. अगली सुबह फिर दोपहर तक डॉक्टर ने हम लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी और मैं सहेली को उसके घर ले गयी.

मेरा प्लान ये है कि हम जिया के साथ एक टास्क खेलेंगे जिसमें जीत हमारी होगी जिसके बदले आज हम जिया की गांड मारेंगे. हुआ यूं कि मैं रोज़ाना की तरह बुर्का पहने बस स्टैंड पर खड़ी बस आने का इंतज़ार कर रही थी. मैंने उन्हें पानी की बोतल दे दी और उन्होंने पानी पी कर बोतल वापस दे दी.

हालांकि शुरूआत मेरी तरफ से नहीं हुई थी लेकिन मैं जानता था कि भागीदार तो मैं भी था. मैंने सरिता दीदी को अपनी बांहों में लेते हुए कहा- कहीं जाने के लिए तैयार हो क्या?वो बोली- नहीं, कहीं नहीं जाना.

[emailprotected]फैमिली सेक्स स्टोरी का अगला भाग:विधवा ताई ने मेरी वासना जगायी-2. उसने अलीज़ा की खबर ली और वो जिस थाने में थी, वहां से उसका ट्रांसफर करवा दिया. फिर बुआ ने मेरे कंधे पर हाथ रखते हुए पूछा- तुमने अभी तक शादी क्यों नहीं की?मैंने भी खुल कर बात करना शुरू कर दी- मुझे अभी तक आप जैसी लड़की ही नहीं मिली.

मुझे पूरा यकीन था कि सबके सोने के बाद कुछ न कुछ कांड जरूर होने वाला है.

फिर मैंने अपने चेहरे पर लगे उसके पानी को हाथ से साफ़ करके चाटने लगी. मैंने जाकर दरवाजा खोला तो सामने मेरे हस्बैंड थे लेकिन आज वो अकेले नहीं थे। उनके साथ उनका एक दोस्त था जो अक्सर घर पर आता जाता रहता था।हस्बैंड को देखकर मैं बोली- आप?वे बोले- क्यूं, किसी और का इंतजार कर रही थी क्या?हस्बैंड ने मुस्करा कर पूछा. इसके साथ ही 2 मिडी फुल सॉल्डर और एक लो लेंथ दिला दिया जो उसकी गांड के थोड़ा नीचे तक आ रहा था.

अब प्रिया इतनी गर्म हो चुकी थी कि मेरा लौड़ा उसकी चूत बजाने को तैयार था. पर न उसका मन भरा था न मेरा।ऐसा मौका शायद फिर नहीं मिलता इसलिए मिनी भी पूरा मज़ा ले लेना चाहती थी.

उन्होंने मेरी आंखों में झांकते हुए कहा- रुक क्यों जाता है … पूरा बोल ना … क्या बोलना चाहता है?मैंने कहा- आप बुरा मान जाओगी. परेशान होकर उन्होंने नजमा आंटी से कहा, तो आंटी ने अपनी सहेली की चुदाई के लिए को अपने घर में बुला लिया. बुआ ने हंस कर मुझसे कहा- हितेश ऐसे मुझे क्या देख रहे हो?मैंने कुछ नहीं बोला और अपनी निगाहें उनके तने हुए मम्मों पर से हटा कर नीचे कर लीं.

सेक्सी ब्लू वीडियो फिल्म

इसी परम्परा का निर्वाह करने के लिए मैं अपनी मां के साथ अपने ननिहाल गई थी.

ममता आंटी मस्ती से मेरे आंड चाटते हुए मेरे लंड को फुल मजा देने में लगी थीं. फिर मैंने उससे पूछा कि आपका कैसा चल रहा है?उन्होंने मुझे बताया कि मैंने अपने पति को छोड़ दिया है. चाय नाश्ता मुझे पकड़ाते हुए बोली- कल की रात मेरी जिन्दगी की बहुत ही खूबसूरत रात थी.

इस तरह से हम तीनों अन्तर्वासना की सेक्स कहानियों के नियमित पाठक हो गये. मेरी नंगी गांड मारने की कहानी में पढ़ें कि मैंने एक गर्लफ्रेंड पटायी और मैं सेक्स करने उसके घर गया. दरभंगा के बीएफचल राज, जल्दी से अपनी दीदी की प्यास बुझा दे, कब से तेरी बहन तुम्हारा लंड चुत में लेने के लिए तड़प रही है.

लंड को घुसा कर मेरी चूचियों को दबाते हुए वो मेरी पीठ पर बेतहाशा चूमने लगा. वो कमर उठा उठाकर चुदते हुए मेरा साथ दे रही थी और मैं हर शॉट में स्पीड बढ़ाता जा रहा था। पूरे कमरे में अब आह्ह… आह्ह… आह… और पच्च… पच्च… की आवाज़ गूंज रही थी।कुछ देर उसे इसी स्थिति में चोदने के बाद हम दोनों साथ में झड़ गये।उसके चेहरे पर चुदाई के बाद जो संतुष्टि, आनंद और मजे की लहर उठी उसको वो छुपा नहीं पा रही थी.

मैंने मौसा का आईडी पता किया और पासवर्ड क्या है वो देख कर अपने फोन में सेव कर लिया. मैंने बुआ को समझाया कि हां थोड़ा दर्द तो होगा … मगर फिर मज़ा भी बहुत आएगा. ऐसा लग रहा था जैसे मैं उसके बॉस की बीवी नहीं बल्कि उसकी गर्लफ्रेंड हूं.

इससे हुआ यूं कि किसी को भी नीचे का कुछ दिख नहीं सकता था कि मेरा हाथ कहां रखा हुआ है. 15 मिनट तक दोनों मेरे लंड और टट्टों को चूस चूस कर चाटती रहीं और फिर उन्होंने अपनी अपनी पोजीशन बदल ली. उन्होंने पूछा- पूरा बोल न … यदि तू मेरा पति होता तो क्या?मैंने कहा- कुछ नहीं … बस …तो वो बोलीं- क्या सच में मैं तुझे इतनी पसंद हूँ?मैंने कहा- हां चाची … सच में आप मुझे बहुत सुन्दर लगती हो.

मैं रोज फैमिली सेक्स की वीडियो देखा करता था जिसमें पोर्न स्टार एक मॉम का रोल प्ले करके अपने बेटे से चुदवाती थी.

पूजा आंटी- अभी तो 3 इंच ही गया है … चुप कर मादरचोद और एंजाय कर … अभी तो पूरी रात पड़ी है. फिर वरमाला का प्रोग्राम हुआ, तो सभी लोग उसमें मजा लेने में लगे हुए थे.

जैसे ही मैं खिड़की के पास पहुंचा तो वहां से आ रही आवाजें सुनकर मैं तो दंग रह गया. हम दोनों ने कपड़े पहने और मैं बैग उठा ही रहा था कि मोनिका के यूरिन वाली बात याद आ गई. ये अलग बात है कि जो कोई मेरी वाईफ को देखता है, उसकी आँखों में कामुकता नजर आने लगती है.

अब मैंने उसकी चूत पर अपने लंड को रखा और हल्का सा धक्का दिया, तो लंड फिसल गया. अपने जिस्म की इस सेक्सी फिगर को मेंटेन करना मुझे बहुत अच्छा लगता है. मैं दरवाजा खुला रखूंगी उस वक्त।सारी बातें फाइनल होने के बाद मैं रात होने का इंतज़ार करने लगा.

हिंदी बीएफ जींस वाली गांड चुदाई का मौका मुझे मिला था लेकिन इससे ज्यादा खुशी तो आकाश सर को हो रही थी. साथ ही चेतावनी भी दी कि आगे से मैं तुझे कोई पैसे नहीं दूंगा जो तूने अपनी मामी को जरा भी इस प्लान के बारे में बताया तो.

હિન્દી સેક્સ હિન્દી સેક્સ

मैंने होटल में आकर मुकेश जी को कॉल किया- डीएसपी साहब किस रूम में आना है?मुकेश- अपना वही 308 नम्बर है. बुआ से मेरी कुछ देर बात हुई, फिर मैं वहां से उठ कर अजय के रूम में चला गया और सफर की थकान के चलते सो गया. मैं पहली बार किसी लड़की को इस तरह असलियत में नंगी देख रहा था और वो भी इतने करीब से.

उस सेक्सी इंडियन भाभी के बारे में सोच कर मैं अक्सर भाभी के नाम की मुठ मारा करता था. एक हाथ से मैं लंड को सहलाने लगा और दूसरे हाथ से मौसी की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को छेड़ रहा था. सेक्सी बीएफ बीएफ सेक्स वीडियोअपनी जांघों को भींचने लगी लेकिन सुमित ने मेरी टांगों को पकड़ लिया था.

ये मुझे काफी बाद में पता लगा था कि उनके पति की उम्र उनसे काफी ज्यादा थी.

कुछ देर बाद मैंने आंटी से कहा- दूसरी बार फिर से हो जाए?आंटी ने हंसकर हामी भर दी. जिया ने चालाकी से मुझे उन दोनों के पास से हाटने के लिए अंदर भेज दिया था.

पैंट उतारने पर मेरा सांप जैसा फुला हुआ लौड़ा उसके सामने था, लेकिन लंड फ्रेंची में कैद था. मैं बड़बड़ाने लगा- आह्ह्ह चूत में क्या मजा आ रहा है … बड़ी टाइट चूत है मेरी बिटिया की. फिर उन्होंने कहा- पिछले एक साल से मेरे शौहर ने मुझे हाथ तक नहीं लगाया है.

हम बात करते रहे तो बलविंदर ने कहा- चलो अब तुम्हें हल्का सा मादक द्रव्य पिलाते हैं.

मुझे आपको मूतते हुए देखना है।”छी:, मुझे मूतते हुए देखने में तुझे क्या मजा मिलेगा?”भाभी तुम करो तो सही! दोनों को मजा मिलेगा!”कहकर मेरी कलाई पकड़ी और अपने तने हुए लंड पर लगा दिया।उसके बरमूडे के ऊपर से उसके तने हुए लंड के अपनी मुट्ठी में भरने की कोशिश करने लगी. मैंने सुभाष की तरफ देखा कि झूठ पकड़ जाने पर उसका चेहरा कैसा दिखता है. मस्ती में सराबोर होकर मैं तेज तेज सिसकारियां लेते हुए बोलने लगी- चोद साले … आह्ह … और चोद … जोर से चोद साले कुत्ते, बुझा दे मेरी चूत की प्यास … चोद मुझे … और तेज चोद अपनी इस रंडी को … उफ्फ आह्ह … तेरे लंड को खा जाऊंगी मैं मादरचोद.

इलेक्ट्रॉनिक बीएफमैं भी उसकी इन बातों से और ज्यादा उत्तेजित हो रहा था और तेजी से उसकी चूत को पेल रहा था. साथ ही उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी यह सिम्पल सी सेक्स स्टोरी पढ़ कर मजा आया होगा.

चुदाई बुर की चुदाई

मैंने स्वीटी के होंठों पर फ्रेंच किस किया और चूमते चाटते हुए मैं उसकी चूचियों पर आ गया. वो मेरे सीने से लग कर बोली- थैंक्यू मनोज, तुमने सच में मुझे बहुत मजे दिए. पिताजी ने एक पुराने दिखने वाले पक्के घर के आगे अपने वाहन को रोका और मुझे अपना सामान लेकर उतर जाने को कहा.

और तीसरी आवाज माँ के पैरों में पड़ी पायलों के बजने से आ रही थी।हम दोनों अपनी अपनी पूरी ताकत लगा रहे थे. अपने होंठों से मौसा के होंठों की चुसाई और अपनी जीभ से उनकी जीभ की चुसाई मैंने पूरी की. मैं बोला- अंडरवियर पहन लो, या ऐसे ही नंगा रहने का इरादा है?वो बोले- हां, इरादा तो ऐसे ही रहने का है.

मैंने पिंकी को एक मेकअप का पैकेट भी लाकर दिया, जिसमें लिपस्टिक, नेल पॉलिश और सारे आइटम थे. उसको पढ़ते हुए लंड हिलाता था और उसकी नंगी फोटो देख कर मुठ मारता था. फिर कुछ देर के बाद मां के आने की आहट हुई और हम दोनों एक दूसरे से अलग होकर नॉर्मल हो गये.

मुझे बहुत ही मादक क्षण लगा ये जब मेरी उंगलियां उसकी चूत के पानी में भीग रही थीं. मैंने अब लंड हाथ में पकड़ कर कोमल दीदी की चूत के हवाले कर दिया और उनके ऊपर लेट कर चुत में धक्के लगाने लगा.

उसके बाद मैं अपने दोस्त को बाहर ले गया और उसे कहा कि वो एक घंटे के बाद आये.

वो जब मेरी चूत में लंड को ठोकता तो मैं अपनी गांड को उठा कर उसके लंड के लिए अपनी चूत में और अंदर तक रास्ता बना देती. सेक्स स्टोरी बीएफफिर चालू हुआ चुदाई का अद्भुत खेल। उसने टाइट जीन्स और टीशर्ट पहनी हुई थी जो लिपटा लिपटी में कब उसके बदन से अलग हो गयी, पता ही नहीं चला. सेक्सी बीएफ हिंदी में नयामेरी चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं मेरी सहेली को डिलीवरी के लिए अस्पताल ले गयी. लेकिन शायद वो आ कर जा चुका था और मेरे बेहोशी की वजह से वो अंदर नहीं आ पाया।ये सब सुन कर मुझे बहुत अच्छा लग रहा था कि शायद किस्मत मुझे ये मौका देना चाहती है।मैंने कहा- मैम मैं आपकी क्या मदद करूं?उसने कहा- तुम क्या करोगे?मैंने कहा- मैम आप जो कहें?उसने कहा- अच्छा.

10 मिनट तक मैं ऐसे ही उनको चोदता रहा और फिर उनकी चूत में अपना सारा रस छोड़ दिया।इसके बाद मैं उनकी बगल में आ गया.

जब नीरा घर में नहीं होती, और मेरा मन कर जाए तो मैं क्या करता हूँ?मैंने पूछा- क्या?वो उठ कर गए किचन में और वापिस आए. तना हुआ लंड मैंने हाथ में लेकर कहा- पापा ये क्या है? आप नहीं सुधरोगे?वो बोले- मैंने जानबूझकर नहीं किया. सलोनी मेरे लौड़े को अपने मुँह में रख कर आराम से अन्दर बाहर कर रही थी.

जैसे ही मैंने भाभी की चुत पर जीभ को लगाया, उन्होंने मेरे बाल खींचना शुरू कर दिए. आह्ह … मजा आ गया दोस्तो, आंटी के मुंह में लंड देकर मैं तो जन्नत की सैर करने लगा. लण्ड को ललिता की चूत में सेट करने के लिए मैंने थोड़ा सा बाहर निकाला तो खून से सना लण्ड देखकर मैं भी घबरा गया लेकिन यह घबराने का नहीं बल्कि मौज उड़ाने का समय था.

ब्लू दिखाएं ब्लू

शेव करते वक़्त मैं जानबूझ कर अपनी उंगलियां मौसी की चूत के छेद में डाल देती थी. तभी मेरे लंड को अन्दर से कुछ गरम पानी सा एहसास हुआ … शायद भाभी झड़ चुकी थीं. मैंने पाया कि मनोहर एक अच्छा दोस्त ही नहीं बल्कि एक अच्छा इन्सान भी है.

मैं- हां दीदी?दीदी- सुनो राज … मुझे आने में देर लगेगी, इसलिए तुम खाने के लिए बाहर से कुछ ऑर्डर कर लेना.

मैं तो सोच रहा था आकाश सर जिया मेम की गांड भी मारते होंगे लेकिन उनकी बातों से ऐसा नहीं लग रहा था कि वो मेम की गांड चुदाई भी करते होंगे.

मैंने धक्के देने शुरू किए, तो उसके मुँह से मस्त आवाज़ निकलना शुरू हो गयी ‘अह… और अन्दर डालो. मेरी पीठ को सहलाते हुए मां ने मेरे कान में कहा- शाबाश, दीपू मेरे शेर, मजा आ गया आज तो. बीएफ सेक्स करता हुआमैंने लंड पेलते हुए कहा- हां चाची कभी नहीं जाऊंगा …मैं जोर जोर से चूत में लंड के धक्के देता रहा.

उस बाहर वाली लड़की की चुदाई के ख्यालों में मैंने काफी देर तक अपने लंड को रगड़ा. मेरे मुंह से सिसकारियां तो नहीं निकल रहीं थी क्योंकि हसन का लंड मुंह में था. मौसी की पैंटी को मैंने खींचने की कोशिश की लेकिन उनकी भारी गांड के नीचे दबी हुई थी.

नौकरानी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे घर वालों ने एक आंटी को काम पर रखा. वो अपने दोनों हाथों से अपने मेरा लंड हिला रही थी और मुँह से चूसे जा रही थी.

मैं तो भाभी की बात सुनकर एकदम से खुश हो गया- थैंक्यू भाभी … वैसे आपके पति बहुत लकी हैं!रेशमा- आपको ऐसा क्यों लगता है?मैं- इतनी सुंदर किसी की बीवी हो, तो वो लकी तो होगा ही ना!रेशमा- आप मुझे मक्खन मत लगाओ … मैं इतनी भी लकी नहीं हूँ.

इस इंडियन भाभी के साथ इंडियन सेक्स कहानी पर अपने विचार जरूर बतायें. अमन ने लबालब अपने लंड के पानी से मेरी चूत को भर दिया और बहुत देर तक अमन मेरे ऊपर ही पड़ा रहा. उसने मेरी गांड ऊँची की और पीछे से मेरी चूत चोदने लगा।मैं उस बेड और विवेक के लंड के बीच फंस गई थी.

बीएफ चुदाई वाली चलने वाली इतना सब होने के बाद अब वह ये भी नहीं कह सकती है कि तुम लोग हरामी हो गये हो क्योंकि मम्मी खुद ही पापा के लंड से चुदते हुए रंगे हाथ पकड़ी जा चुकी है. मैं मंजू के होंठों को किस करने लगा, हमारी आंखें मिलीं और मैंने उससे लंड चूसने का इशारा किया.

कहां खोये हुए थे?मैं उसकी बात पर शरमा गया क्योंकि मेरे पास जवाब ही नहीं था. ये सब देख कर अब मां को और ज्यादा शक होने लगा कि हम दोनों के बीच में कुछ न कुछ गड़बड़ जरूर है. मैं झेंप गया और बिना कुछ बोले आँगन में बनी नाली में मूत्र त्याग करने लगा.

தமிழ் செக்ஸ் ஆன்ட்டி வீடியோஸ்

मगर मैंने मुठ नहीं मारी ये सोच कर कि कल वैसे भी उसकी चूत मिलने ही वाली है. भाभी अपने एक हाथ को अपने सर के नीचे दबा कर सो रही थीं और दूसरे हाथ से मेरे लंड का मुआयना कर रही थीं. बस मेरे पास ये 3 दिन ही हैं … तुम मना मत करना क्योंकि तुम ही मेरी आखिरी उम्मीद हो.

उसने पूरा जोर लगा दिया और उसके लंड का सुपाड़ा मेरी चूत को खोल कर अंदर प्रवेश कर गया. वो एकदम से सिसकार उठी- ऊईई … आह्ह।मेरी उंगली करीब 2 इंच अंदर चली गयी थी.

वो उठीं और मेरी अंडरवियर उतार दी और लंड हाथ में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

अब मुझे उसकी शर्ट का बटन खोलना था ताकि मैं उसके दूधों को हाथ में ले सकूं. मैं कॉन्डम लेने गया तो आंटी सिसकारते हुए चूत में लंड डालने के मिन्नत कर रही थी. मामी की कामुकता और तड़पइसके आगे लिखने में कुछ समय लग गया इसके लिए माफी चाहता हूं.

मैं तेजी से जीभ को अंदर बाहर करते हुए मौसी की चूत में जीभ से चोदने लगा. मैं समझ गया था कि ये ज़रूर कोई बात थी, मगर क्या बात थी, ये मुझे नहीं पता था. सर ने उनको छोड़ दिया और बोले- अब बताओ डार्लिंग क्या ख्याल है?जिया बोली- किस बारे में?आकाश- तुम्हारी ऐस फक करने के बारे में?सर ने मेम की गांड को दबा दिया.

उसकी चूचियां तेजी से हिल रही थीं क्योंकि उसकी सांसें बहुत तेजी से चल रही थीं.

हिंदी बीएफ जींस वाली: किसी भी लड़की को अपने भाई को पटाने में मुश्किल इसलिए होती है क्योंकि भाई-बहन के रिश्ते में हमें शर्म आती है. सलोनी मेरे लौड़े को अपने मुँह में रख कर आराम से अन्दर बाहर कर रही थी.

निगार आंटी ने जब ये देखा तो वो एकदम से शर्मा गईं और सॉरी कहने लगीं. उसे मैं चुदाई की बातों से पूरी तरह गर्म कर देता था।वैसे तो हम एक ही घर में रहते थे पर डर की वजह से उससे मिल नहीं पाता. मेरी इस काल्पनिक सोच पर आधारित भाई बहन की चुदाई सेक्स कहानी में अब अगले भाग में आगे लिखूंगा.

मुझे उनकी हंसी से राहत मिली और मैं समझ गया कि लौंडिया हंसी मतलब फंसी.

जब आप मां को खड़े होकर घूर रहे थे, मां उसी समय आपको वहां से भगा देती. नीचे वाली डबल सीट मेरे पति और मेरे बेटे की थी जबकि ऊपर वाली सीट मेरी थी. लेखक की पिछली कहानी:पत्नी की सहेली की चुदाईअपने बेटे की शादी के बाद दिये शानदार रिसेप्शन के अगले दिन मैं मेहमानों द्वारा दिये गए शगुन के लिफाफे खोल रहा था.