बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी बलात्कार वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

হলিউড সেক্স: बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए, मैं यहां ऊपर तुम्हारे साथ बेड पर सोऊंगा, चारपाई पर 2 लोगों से सोया नहीं जाता.

हिंदी सेक्सी तमिल

फिर अपने घुटनों पर बैठते हुए उनकी कमर को पकड़ा और उनकी नाभि पर मेरा होंठ चला गया, जिसे मैंने पूरी शिद्दत के साथ अपने जीभ को उनकी नाभि के चारों ओर घुमाया. सेक्सी कॉम एचडी मेंहम लोगों ने उनसे पहले ही कह दिया था कि यहां पर एक लव गार्डन है, वहां मिलने आना है.

आपको मेरी यह सच्ची कहानी कैसी लगी, माफ़ कीजिएगा अगर कोई ग़लती हुई होगी तो… क्योंकि मैंने पहली बार यहाँ अपनी कहानी को पोस्ट किया है. धोती सेक्सी वीडियोमैंने कमरे में आकर साड़ी बदलना शुरू किया ही था कि तभी मुझे मेरे पीछे कुछ हरकत सी होती लगी.

वैसे मैं अपनी सहेली के साथ ड्रिंक करती हूँ और मैं ये बात मकान मालिक को नहीं बताई क्योंकि हम दोनों को बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड बने कुछ दिन ही हुए थे, इसलिए मैंने ये बात उसको नहीं बताई कि मैं शराब पीना पसंद करती हूँ.बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए: फिर चाची ने कंचन के लिए कहा कि आने दे उस चुड़ैल को, बताती हूँ उसे कल…यह कह कर चाची अन्दर चली गईं.

उसका लाल होता चेहरा गवाही दे रहा था कि मेरी ही तरह वो भी अब काम वासना में जल उठी है.इससे मुझे मेरे लंड में सिहरन सी हो जाती और शिखा कनखियों से मेरे लंड को फूलते हुए देख कर होंठ दबा कर हल्के से मुस्कुरा देती.

पंजाबी लड़कियां सेक्सी - बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए

मैंने अपनी उंगलियां उन दोनों की चूत से निकालीं और दोनों के जूस को मिक्स करके एक बोतल में डाल दिया.अब मैं जा कर सोफे पे बैठ गया, थोड़ी देर बाद बेडरूम का दरवाज़ा खुला मैं सेजल भाभी को देखता ही रेह गया.

कुछ पल बाद ही उसने मेरे लंड को किसी छोटे बच्चे के जैसे लॉलीपॉप समझ कर चूसना शुरू कर दिया. बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए फिर मैंने उनसे पूछा कि आपको कहां जाना है?उन्होंने बताया कि उनको यहां से 10 किलोमीटर दूर होटल पर जाना है, वो किसी प्रॉजेक्ट के काम से यहां आई हुई थीं.

5 इंच है, जिसने कई लड़कियों और भाभियों की चूत को फाड़ कर उन्हें संतुष्ट किया है.

बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए?

कुछ देर बाद जब नहीं घुसा तो लंड को चूत पर रगड़ने लगी और फिर अपने होंठों में होंठ डाल दिए. आखिर बोल पड़ा- मैडम, इतनी सफाई? वैक्सिंग कराती हैं क्या?थोड़ी देर बाद डॉ भगत ने अपने दिल की यह बात बयाँ कर दी. दोस्तो, मेरा आपसे वादा है कि आप सब मेरी कहानी को पढ़कर एकदम गर्म हो उठेंगे.

लड़की- मगर आपको देख कर कोई नहीं कह सकता कि आप 35 साल से ऊपर की होंगी. भाभी ने मुझको गले से लगा लिया और बड़े प्यार से सहला कर मुझको समझाने लगीं- देखो यह सब ग़लत है, मैं तुमसे उम्र में बड़ी हूँ और यह प्यार नहीं… बस तुम यही समझ लो कि वो कुछ पल की फीलिंग थी, खुद को थोड़ा वक़्त दो, सब समझ जाओगे. कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी… मुझे इसके बारे में जरूर लिखें, मेरे मेल पर अपने कमेंट्स भेजें.

मैंने कहा कि अभी मेरा तो निकला ही नहीं है तो कैसे रहने दूँ?पर उसकी हालत देख कर मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसके बाजू में लेट गया. अब बस उस मौके का इन्तजार है, जब चाची और कंचन दोनों को एक ही बिस्तर पर चोद सकूँगा. तभी मैंने महसूस किया कि जो मेरे पीछे खड़े हैं, वो कुछ ज्यादा ही चिपक के खड़े हैं और चिल्ला रहे हैं.

कुछ देर बाद हम पागल होने लगे और एक दूसरे के होंठों को मुँह में खींच कर चूसने लगे. उसने दुबली सी रोशनी दीदी को अपने मम्मों से उठा कर उसके मुँह तक खींच लिया और सारा जूस गट गट करके पीने लगी.

मैंने रुक कर लंड निकाला और उनके मुँह में दे दिया, वो मेरे लंड को चूसने लगीं.

मैं और भाभी बहुत बातें करते हैं और मुझे उनसे बातें करना बहुत अच्छा लगता था.

इसी के साथ मोहन ने जब दूसरा झटका लगाया, तब उसका पूरा लंड मेरी चुत में घुस गया. मैंने फ़ौरन बाहर जाकर मेरे दोस्त को बताया कि माल चुदाई के मतलब का एकदम मस्त है. अपनी मौसी के आंसू पौंछने के बाद मैं अपनी चारपाई पर वापिस आने लगा तो मौसी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- राजीव… मुझे बच्चा चाहिए! और तुम्हारा शरीर भी तगड़ा है! क्या तुम मेरी मदद कर सकते हो?मैं मौसी की बात सुन कर एकदम से हैरान परेशान हो गया कि मौसी यह क्या बोल रही है? मैं तो सपने में भी ऐसा कुछ नहीं सोच सकता था.

मेरी हालत अब थोड़ा बिगड़ने लगी कि तभी बालू बोले- इधर तख्त पर आइये!अब हम दोनों तख्त पर चले गये. तब मुझे ध्यान आया कि वो पीछे वाला आदमी कुछ ज्यादा ही चिपक कर खड़ा है और वो लोग उसी को देखकर मुस्कुरा रहे हैं. हालांकि मेरे मन में उनके लिए कोई भी गलत भावना नहीं थी क्योंकि मैंने उनको कभी उस नज़र से देखा नहीं था.

पापा का नाम सुनते ही बोली- नहीं नहीं उनसे कुछ ना कहना, मैं आज ही उसका किसी होटल में इंतज़ाम कर देती हूँ.

दूसरा बूब खाली करके मुँह ऊपर किया तो उनकी गुलाब की पंखुड़ियों जैसे होंठ का रसपान करने लगा. उसके मुंह से ऊँऊँऊँऊँऊँ… ऊँऊँऊँऊँ की ध्वनि निकली- ‘क्या करते हैं… प्लीज़ तंग न करिये ना. तेरे जैसी को छोड़ कर नहीं चोद कर जाते मेरी जान… पर क्या करें भाई का पैसों का ऑर्डर है तो खैर… कभी तेरी अकड़ भी निकालेंगे रंडी.

मैंने आंटी जी की गांड को अपने मुँह पर खींच ली और ज़ोर ज़ोर से चाटने लगा. पूजा भी कामवासना से आपे से बाहर हो गई और मेरे लंड को लुंगी के ऊपर से ही पकड़कर दबाने लगी. मैं चुप रहा, उसकी आवाज मुझे मदहोश करने ही लगी थी कि इतने में वो बोली- चलो मैं रखती हूँ, कोई आ गया है बाय.

भाबी हंस कर बोलीं- तू रात में इतना शोर क्यों मचा रही थी… आराम से सोया कर ना.

भाई ने भी फ्री की चूत मिलते देख मंजरी को सब्जबाग दिखाए और एक दिन उसकी चूत की सील उसी के घर में तोड़ दी. मैंने अपने दोस्त से कहा कि तुम उसे लेकर अन्दर जाओ और जगह देख कर उसे चोदना.

बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए ”आंटी बोलीं- जब बाथरूम में झाँक कर मुझे नंगी नहाते हुए देख रहे थे, वो गन्दा काम नहीं कर रहे थे. मैं कंबल के अन्दर उसके पाँव सहला रहा था जिससे उसकी आँखों में छा रही मदहोशी साफ दिख रही थी.

बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए मैंने सोच लिया था कि अब मैं मौसी की मदद करूंगा और जब मौसी खुद ही कह रही तो इसमें कोई पापा भी नहीं!इस तरह से मैंने अपने दिल को झूठी सच्ची दिलासा दिलाई और मौसी की चुदाई करने की सोच ली. तभी अचानक चूड़ियों के खनकने की आवाज आई, जो कि उनके चूतड़ धोने के कारण हुई थी.

चूंकि पूरी ताकत से मेरे ऊपर आ गई थीं, तो मेरे मुँह से भी ‘आह निकल गई.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीपी पिक्चर

वो ज़ोर ज़ोर चिल्ला रही थीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैं किचन के फ्रिज से बर्फ और कई सामान लाकर उनकी चुत के होंठों पर जम गया. यह देख मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ी, फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसके बाल खींचने लगा और उसकी मस्त गांड पर हाथ से थपकी मारनी शुरू कर दी और बोलने लगा- देखो जान, जब तुम किसी और से चुदोगी तो वो तुम्हें ऐसे घोड़ी बना के चोदेगा और तुम्हारे बाल खींचेगा, ऐसे तुम्हारी गांड पर मारेगा!मंजू बेचारी पर हवस इतनी हावी हो चुकी थी कि वो न तो मना कर पा रही थी न ही कुछ बोल पा रही थी, बस सुन कर मजे लिए जा रही थी. अब तो जब भी इच्छा होती भाभी के पास पहुँच जाता या भाभी की इच्छा होती तो वो बुला लेती.

वो बोला- फिकर नॉट फिकर नॉट… मैं तेरी चुत क्या तुम्हारे मम्मों को भी आज पकौड़ा बना दूँगा. तो मैंने उसे अपनी सारी जानकारी दी और अंत में उसका नाम भी पूछ लिया तो पता चला कि उसका नाम नेहा है और वो यहाँ अपने ससुराल में रहती है. मम्मों को मसलते हुए पीने में जो मजा आ रहा था… उसका आनन्द ही अलग था.

मुझे बिना कुछ कहे वे अन्दर आ गईं और नाश्ता टेबल पर लगाने लगीं… फ़िर बोलीं- चलो फटाफट नाश्ता कर लो.

चाची मेरा मजाक बनाते हुई बोली- मार ली चाची की गांड? चल हट मेरे ऊपर से!चाची सीधी होकर बिस्तर पर लेट गई और मुझे अपने ऊपर लेते हुए अपनी चुत में मेरा लंड घुसवा लिया. फिर चाची बोलीं- तुम्हारा लंड तो अभी से ही तेरे चाचा के लंड बराबर है. मेरे ये कहने से वो बड़ी आँखें करके मुझे देखने लगी, वो बोली- ये कैसे हो सकता है जीजू?मैंने कहा- मुझे तुम्हारी सील देखनी होगी तभी मैं तुम्हारी बात का यकीन करूंगा.

मैंने तब भी उसकी तरफ कातर भाव से देखा और उससे छोड़ देने की विनती भरी निगाहों से याचना की. मेरे घर के पास ही एक परिवार रहता है जिसमें एक बुजुर्ग दंपति और एक हाल में हुई जवान विधवा औरत, जिनका नाम काजल (बदला हुआ नाम) रहती थीं. मैं अवाक रह गई और अपनी बड़ी सी आंखें फाड़ कर उनके चेहरे को देखने लगी.

जब मैंने उसे नंगी किया तो एक चीज़ और मुझे बहुत अच्छी लगी कि मैंने उसे एक साल पहले चोदा था और आज भी उसे याद है कि मुझे चूत पे झांटें बहुत पसंद हैं. फिर मैंने अपने होंठ उसके होंठों से टच किए और फिर धीरे से उसके एक होंठ को अपने होंठों के बीच में भर लिया, जैसे संतरे की फांक दबा लेते हैं.

उस समय शीनू की माँ कुछ काम से आईं तो बुआ ने बातों बातों में उसको बताया कि सनी की तबियत खराब है. यहीं मेरी मुलाकात मेरे मकान मालिक की लड़की से हुई, उसका नाम पूजा था. अब वो उछल उछल कर मेरे मुँह में लंड डालने लगे, मेरा मुँह छिल रहा था, पर मैं कुछ कर भी तो नहीं सकती थी.

एकाध बार मुझे ऐसा लगा कि शायद चाची ने मुझे उनको इस तरह से वासना भरी निगाहों से घूरते हुए देख लिया है.

पहले मैं उससे पूछती हूँ कि उसे बालों वाली चुत पसंद है या शेव की हुई. मैं भाभी को किस करते हुए नीचे आने लगा और मम्मों को किस करते हुए उनकी टांगों के बीच बैठ गया. उसने पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर ले लिया और मेरे लंड पर जोर जोर से उछल कर मजे लेने लगी.

मैं आपको उसके बारे में बता दूँ, वो अभी 12वीं में थी और उसकी उम्र 18 वर्ष की रही होगी. मुझे बहुत पसंद आया!” नताशा ने तुरंत कहा- और अब तुम्हारी कामचोरी नहीं चलेगी, तुम्हें अपने दोस्त का साथ देना पड़ेगा!उसकी इस बात पर सब हंस दिए, और नताशा शर्मा गई.

दूसरी बात वहां सिर्फ प्रेमी-प्रेमिका और पति-पत्नी को जाने की अनुमति होती है, भाई-बहन को नहीं. अब मॉम की चुत बिलकुल नवीन के लंड के सीध में थी और इस तरह बैठने से मॉम की चुत ने अपना मुँह भी खोल दिया था. अलका चुप रही; फोन पर सिर्फ उसकी सांसों की हल्की हल्की आवाज़ मी कानों में आ रही थी.

चूत की बीएफ

आप भी मुझे प्यार करेंगे क्या?”भाईजान खुश हो बोले- हां जूही, मैं तो कब से तुझे प्यार करने को सोच रहा था.

अब नताशा दो सांडों के बीच फंसी किसी बछिया की तरह कराहने लगी- ऊऊऊऊऊ… आआआआ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आख… ओए! आआआ… आउच!अब तक आर्थर का बेलेस्टिक राकेट डराने वाले साइज़ में परिवर्तित होकर टनटनाने लगा था. ”उसने अपने कंधे पर मेरी टांगें रख कर अन्दर लंड पेल कर जोरदार चुदाई शुरू कर दी. गौर से देखने पर मालूम हुया कि उसने हाथों में चूड़ा पहना हुआ था, मतलब उसकी नयी नयी शादी हुई थी.

मैंने गुस्से में आंटी को पकड़ कर उनको अपने नीचे लिटाया और जोरों से होंठों पर किस करना चालू कर दिया. इस बात से वो लड़की मुस्कुराई और बोली- मुझे भाभी को बता कर जाना पड़ेगा. सूरत लड़की की सेक्सी वीडियोआपको ऐसा बोलते शर्म नहीं आती?मैंने बोला- अब तुमको ये करने में शर्म नहीं आती तो मुझे बोलने में क्यों आएगी, सीधे बताओ कौन था वो लड़का?वो फिर से अनजान बनने की कोशिश करने लगी और बोली- कौन लड़का?हालांकि उसके चहरे से घबराहट साफ दिखाई दे रही थी.

उसके धक्के से मेरी सारी बॉडी हिल रही थी और मेरी चूचियां तो उछल उछल कर उसे और तेज़ चोदने के लिए कह रही थीं. पिंकी अब रेंगती हुई रोशनी के पास जाने लगी और उसके आम के ऊपर के अंगूर को चूस लिया.

उसका लोअर बिल्कुल स्किन फिट था, जो उसके फिगर को छिपा नहीं पा रहा था. मेरे वहां जाते ही वो मुझे नीचे अपने बेडरूम में ले गयी और मुझे अपनी बांहों में भर लिया. अचानक उनके धक्के से मैं बाहर आ गया और दी ने दरवाजे को अहिस्ता के साथ बंद करते हुए मुझे अपनी ओर खींच लिया.

मैं फिर से गरम हो गई और अब मुझे रहा ही नहीं जा रहा था अब अन्दर डालो जल्दी से… उम्म्म…”उसने मुझे पलंग के किनारे पर लिटाया और लंड को चुत के अन्दर डाल कर मुझे चोदने लगा. मैं बोला- पूजा, अब तो एक ही रास्ता है कि हम दोनों ही एक दूसरे की मदद करें… लेकिन अगर अंकुश को पता चला तो?पूजा बोली- अंकुश को कुछ फर्क नहीं पड़ेगा चाहे उसके सामने ही हम कुछ भी करें!मैंने पूजा का मन भी टटोल लिया कि वो भी लंड की भूखी थी. घर आने के बाद मैं उसको देखने लगा तो वो सिल्क की नाइट ड्रेस में बिल्कुल अप्सरा लग रही थी.

मैं उसको कुछ भी कह सकने की स्थिति में नहीं थी क्योंकि मेरा बेटा भी उसके साथ मिल कर मेरी चुदाई कर रहा था.

उनकी गांड से अपना लंड निकाला और उनके हैंडकफ खोल दिए, वो ज़मीन पे गिर गईं. मैं तो अपने लंड को कोसने में लगा था कि दीदी की चूचियों का स्पर्श क्या मिला, साले ने अपनी औकात दिखा दी.

भाभी ने मुझे खाना खाने के लिये फोन पर कहा तो मैं पजामा और टी-शर्ट पहन कर मैं भाभी के यहाँ खाना खाने के लिये चला गया. पढ़ें कि कैसे हुआ ये सब!पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…मैं अपनी मम्मी के यारों से चुदी! कैसे? मेरी इस हॉट सेक्स स्टोरी में पढ़ें! मैं पूरी चालू हूं। मेरी मां भी मेरे जैसी है, हम दोनों मां बेटी को एक दूसरी के सब राज़ पता हैं। एक बार मां ने चुदना था अपने यार से पर कोई जगह नहीं थी, मैं मम्मी को जंगल में एक सेफ जगह ले गई चुदाई के लिए, मम्मी के यार भी वहीं आ गए. वो बिना कुछ बोले ऐसे ही खड़ी रही, तो मैंने फिर से पूछा कि मुझे सच बताओ.

मैं- नहीं मेरी जान, सेक्स में नयापन कभी ख़त्म नहीं होता, हम हर बार कुछ नया करेंगे और हर आसन में चुदाई करेंगे, बस तुम मेरा साथ देती रहना!अर्पिता- धत! मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ, तुम्हें चाहती हूँ, जो बोलोगे वो करुँगी, इस चूत के मालिक तुम हो, जैसे चाहो इस्तेमाल करना, यह देखो तुम्हारे नाम की जो मेहँदी लगाई थी उसका रंग अभी भी कम नहीं हुआ है. दीदी ने गुलाबी रंग का पंजाबी सूट, पैरों में पंजाबी जूती और आंखों पर नज़र का चश्मा लगा था. मैंने उससे पूछा कि कोई तकलीफ तो नहीं हुई चुदाई में?तो उसने हंस कर कहा- बिल्कुल नहीं.

बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए वो बोला- चुपचाप को-ऑपरेट करो… वरना तेरे इन मस्त मम्मों पर दांतों के निशान भी बना दूंगा. यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!दोस्तो, लग रहा था कि ऊपर वाला मेरे ही साथ था उस दिन!सब को सोया देख मैं भी बाथरूम में चला गया और जाते ही पूजा मामी को अपनी बाहों में भर लिया और उसके लिप्स को चूसने लगा.

सेक्सी बीएफ फिल्में दिखाएं

हम दोनों एकदम नंगे एक दूसरे से लिपटे हुए प्यार की नदी में गोते लगा रहे थे. बताओ कैसी कही?मैंने उन तीनों से पूछा तो तीनों ही खुश हो गई और जो पोजीशन मैंने बताई थी वैसी ही हो गई।दिशा प्रीति और दीक्षा की बारी बारी से चूत चाटने लगी जिससे वो दोनों सिसियाने लगी और मस्त होकर मेरे लंड और पोते चूसने लगी. उसके बाद चंदर बोला- अपनी टांगें चौड़ी करके लेटो, अब मैं तुम्हारी चुत को चाटूंगा और खाऊंगा.

फिर मैंने अपने कैमरे को निकाल के रिकॉडिंग शुरू कर दी और कैमरे को बिस्तर के सामने रख दिया ताकि सब साफ साफ रेकॉर्ड हो सके और मंजू को बोला- तुम्हें कैसा लंड पसंद है?मंजू नशे में थी लेकिन चुप हो गयी. थोड़ी देर इसी अवस्था में पड़े रहने के बाद नवीन ने अपना लंड मॉम की चुत से बाहर निकाला. मोठी ऑंटी सेक्सीमैं दरवाजा ओपन रखूंगी ताकि तुम बाहर से हमारी आवाजें सुन सको, पर अन्दर मत देखना, जिसने देखा उसकी छुट्टी… ओके…!”ठीक है… कोमल प्रॉमिस.

मेरा भाबी के साथ अफेयर तब शुरू हुआ, जब कालेज से आते वक्त दो चॉकलेट लाता, एक मेरे यहां बच्चे के लिए और एक भाबी के बेटे के लिए.

फिर थोड़ी देर बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसके चूचों को पकड़ के ताबड़तोड़ ठोकरें मारने लगा. उनसे मिलने के बाद मेरी लाइफ बिल्कुल बदल गई और मैं अब मर्दों से बिना चुदे नहीं रह सकता था.

मुझे अब कुछ कुछ होने लगा, मुझे धीरे धीरे जाने क्या सुरूर चढ़ने लगा। जीजा मेरे सामने आकर खड़े हो गए, उनके हाथ में दारू का ग्लास था और वह अपने हाथ से अपने लन्ड को पैंट के ऊपर से ही दबा रहे थे. उसे मेरी बात समझ में नहीं आई तो बोली- क्यों मैंने क्या किया है?मैंने सीधा ही बोल दिया- मैं उसी की बात कर रहा जो तुम कुछ देर पहले कर रही थीं. मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसके दोनों तरफ घुटनो के बल बैठ कर पीछे से हाथ डाल कर चूचे पकड़ लिए, हौले हौले से उनको सहलाया.

मेरी हिम्मत तो अब बहुत बढ़ चुकी थी और मेरा लंड भी नीचे जंगली सांप की तरह उछल रहा था.

डेविड को तो इतनी इस तरह की बात सुनने की उम्मीद ही नहीं थी इसलिए वो कुछ बोल नहीं पाया. फिर मैंने उनसे पूछा कि आपको कहां जाना है?उन्होंने बताया कि उनको यहां से 10 किलोमीटर दूर होटल पर जाना है, वो किसी प्रॉजेक्ट के काम से यहां आई हुई थीं. उसके निप्पल को चूसते हुए मैंने अपना एक हाथ उसकी बुर को मसलने के काम पे लगा दिया था.

डॉग लेडीस सेक्सी फिल्मअब मैं पिंजरे के पंछी की तरह से थी, जिसके पर तो हैं, मगर उड़ नहीं सकता था. इसके बाद मैंने उससे लंड चूसने को बोला तो उसने मना कर दिया क्योंकि गुजरात में लड़कियां लंड चूसने को अच्छा नहीं मानतीं, इसलिए रीटा ने भी लंड नहीं चूसा.

দেশি মাগি

मुझे मालूम तो था कि पहली चुदाई में ये सब दर्द होना ही था, मगर मुझे पैसे के लिए ये सब करना पड़ रहा था. ये आप पक्के में जान लीजिएगा कि भारत में कोई सच्चा जिगोलो क्लब एक भी नहीं है. मैं वहां से चलने लगा तो उसने मुझे वेस्ट ऑफ़ लक बोला और मैंने भी थैंक्यू कहा और दीदी के साथ रूम में आ गया.

”मैं और मकान मालिक उनकी कार में बैठकर डॉक्टर के पास गए और वहां पर मैंने डॉक्टर से कुछ विटामिन्स की गोलियां और कुछ सीरप वगैरह लिखवा लिए क्योंकि मैं ऑफिस जाती हूँ और काम करती हूँ तो थक जाती हूँ. भाभी बड़े प्यार से मेरे बालों पर हाथ चलाते हुए अपना दूध मुझे चुसाने लगी थीं. आप भी मुझे प्यार करेंगे क्या?”भाईजान खुश हो बोले- हां जूही, मैं तो कब से तुझे प्यार करने को सोच रहा था.

उसकी बुर काफी लपलपा रही थी, उसमें से प्रीकम निकल रहा था, जो चुदाई के लिए चिकनाहट बना रहा था. अशोक जी आप यह बताइए कि आपको बालों वाली चाहिए या क्लीन शेव चाहिए?”उधर से जवाब आया- मैं खुद उसकी हजामत बनाऊंगा. उसने मेरी पीठ पे चुम्बन करने शुरू कर दिए और थोड़ी ही देर में उसके थूक से मेरी पूरी कमर गीली हो गई थी.

मैंने उन्हें समझाते घर के सामने वाली गली तक छोड़ा और उसके अगले ही दिन मुझे अपने गाँव किसी काम से चार दिनों के लिए आना पड़ गया. हैलो फ्रेंड्स, मैं अमन कपूर… मैं नॉएडा की एक मल्टीनेशनल कम्पनी में काम करता हूँ.

फ़िर मैंने वहां से एक डिल्डो एक बेल्ट और हैंडकफ लिए और फ़िर हम दोनों वहां से निकले.

मैं- सोनिया ये सब तू कहीं बाहर भी तो कर सकती थी?सोनिया- भैया, बाहर हमें बहुत डर लगता था. सेक्सी बीपी विदेवमैंने भाभी की जाँघों में किस किया और किस करते हुए झुककर उनकी पेंटी के ऊपर से उनकी गीली हो चुकी चुत को भी टेस्ट किया. जैसलमेर जिले की सेक्सी वीडियोइसका नतीजा यह हुआ कि जब मैं दूसरे साल में गई तो मैं खुल कर अपनी जवानी सबको दिखा देना चाहती थी. मगर हर चुदाई के सिर्फ 10000 ही मिलेंगे और मैं बस एक बार ही चोदूंगा.

इस बीच मेरे लंड फिर खड़ा हो गया तो भाभी बोली- क्यों? ये नहीं मानेगा क्या?और हाथ से मेरी मुठ मारने लगी, थोड़ी देर बाद वो मेरा लंड मुह में लेकर चूसने लगी।इस बार मुझे काफी मजा आया, मैं पूरी तरह से मदहोश हो चुका था और अंत में मैं भाभी के मुँह में ही झड़ गया.

जिया के साथ भी ऐसा कुछ ऐसा ही हुआ।दिन बीतते गए, एक महीना हो गया, हम दोनों के बीच एक अनकहा सा अपनापन उभरने लगा. बता ना?मैंने उसको बताया कि आज शाम को उस दलाल ने बुलाया है मुझे चुदवाने के लिए. अब मैं अपने भाई के सोने का वेट कर रहा था कि कब वो सोए और मैं कुछ कर सकूँ.

मैंने आपको अपनी पिछली कहानीमेरे दोस्त का भाई मेरा पति बन गयामें बताया था कि मैं अमित जी से कैसे चुदा. हालांकि अब तक कभी भी चाची ने मुझे कोई इशारा ऐसा नहीं दिया था जिससे मैं ये साफ़ समझ सकूँ कि चाची मुझ पर फ़िदा हैं या मुझसे चुदना चाहती हैं. चूंकि मेरी सहेली का भी एक बॉयफ्रेंड था और वो भी अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाती थी.

सेक्सी बफ इंडिया

तभी उसकी सास ने आवाज़ देकर उसे नीचे बुलाया और वो जाने लगी, जाते जाते उसने मुझे अपना नंबर दिया और मिसकाल देने को बोला. मैंने अपनी साड़ी संभाली और उससे पूछा कि ये क्या बदतमीज़ी कर रहे हो… तुम्हें ऐसा करते हुए शरम नहीं आती?मेरी इस बात पर वो हंसने लगा और सोफे पे बैठ गया. वो मेरे दूध दबाता हुआ बोला- जब तक इस लंड का पानी ना निकले, इसको चूसती रहो.

थोड़ी देर मेरे होंठ चूसने के बाद वो उठीं और नाइटी उतार के एक साइड फेंक दी और अपनी टांगें फैला कर मेरे पैरों के ऊपर बैठ गईं, मेरा लंड पैन्ट के अन्दर से उनकी पेन्टी पे टच करने लगा.

चूंकि हम दोनों ही जॉइंट फॅमिली में रहते हैं इसलिए किसी के भी घर पर चुदाई का नो चांस! और चूंकि मैं और वो दोनों ही शहर के संभ्रांत घरों से थे, तो किसी होटल में जाने का रिस्क नहीं ले सकते थे.

उसने मुझे औए दबाया और अपनी गांड मेरे मुँह के सामने लाया और बोला- चाट मादरचोद, यहीं से तेरा खाना आता है. उसने कहा- क्यों ना आज ही मैं तुम्हें तुम्हारी जोरदार कहानी दिला दूँ. ऐश्वर्या राय की सेक्सी सेक्सी वीडियोलेकिन जब मैं उसके ऊपर से नहीं हटा, तो अपने आपको मुझसे छुड़ाने के लिये मुझे जगह-जगह काटने लगी.

सुबह जैसे ही उनकी उठने की आवाज आयी, मैं उनके दरवाजे पे जा के खड़ा हो गया. वो पहली नज़र में भी हो सकता है और कुछ मुलाकातों के बाद भी हो सकता है. मैंने उसके होंठ चूसे और लंड बाहर खींच लिया- देखो जान, थोड़ा दर्द तो होगा ही पर बाद में मजा बहुत आएगा.

मन तो कर रहा था कि इसको अभी चोद डालूँ लेकिन मैं सही मौके का इन्तजार कर रहा था. मैंने उनको डॉगी स्टाइल में आने को कहा और वो कुतिया जैसी घुटने के बल मेरी तरफ चुत करके चुदाई की पोज़िशन में आ गईं.

मैं रात के 10 बजे पूजा के घर के पीछे छुप कर सबके सोने का इंतजार करने लगा.

जीन्स में खड़ा लंड तंबू बना हुआ था और मैंने चुपचाप उससे छुपाते हुए चाय पी रहा था. थोड़ी देर उनको किस करने के बाद उनको गोद में उठाया और सीधे उनके बेडरूम की तरफ बढ़ने लगा. फ़िर रमन ने मेरे सर को पकड़ा और लंड को मेरे मुँह में डाले हुए ही मुझे फर्श पे लेटा दिया और वो मेरे ऊपर लेट गए.

हरियाणा सेक्सी वीडियो हिंदी मैंने अगले ही पल उनका एक बूब ब्रा के ऊपर से ही मुँह में भर लिया और चूसने लगा. धीरे धीरे मैंने उसकी साड़ी को ऊपर उठाया और उसकी टांगों को थोड़ी देर सहलाने के बाद मैंने उस भाभी की चूत में उंगली करना चालू कर दिया.

जिससे मुझे पता चला कि वो पंजाब के एक गाँव की रहने वाली है और जयपुर में सोडला में एक ‘पीजी’ में रहती है।अब वो जब भी इन्स्टिट्यूट से बाहर जाती थी. इतनी लम्बी लम्बी दो दो चुदाई की वर्ज़िश के बाद सांसों को काबू करने में लगे थे. मैंने सोचा अगर ये सैंडल इतनी अच्छी हैं तो इसे पहनने वाली कितनी खूबसूरत होगी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफ हिंदी मूवी

ऐसा 5 मिनट चलने के बाद वो मेरे ऊपर आ गया और मेरा ब्लाउज खोलने लगा, तो मैं शर्मा गई. यह कहानी है जब मैं लुधियाना प्राइवेट बैंक में लोन विभाग में जॉब करता था. तभी वो फिर जोर से खांसी और मेरे हाथ उठा के सीने पर रख दिया और दबाने का इशारा किया। मैं दबाने लगा; कुछ देर बाद वो शांत हुई पर मैं अपना हाथ नहीं हटाया और वहीं चुची पर फेरने लगा, मुझे इसमें काफी मजा आ रहा था और मेरा लंड तो पूरा तन चुका था.

मगर वाइफ का बहाना बनाया तो नीना ने बीच में दखल देते हुए कहा कि उसे दो-तीन घंटे तो लगेंगे ही, इतने में आप भाई साहब का काम भी कर लेंगे।नीना की बात में वजन भी दिखा।वैसे भी हम दोनों पति-पत्नी लंड-चूत के मामले में बहुत ईमानदार हैं. फिर अचानक उन्होंने मुझसे पूछा कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा- नहीं.

मॉम ने अपना गाउन नीचे उठाया अपना हाथ पीछे ले जाकर ब्रा का हुक खोला और गाउन के अन्दर से अपनी ब्रा बाहर निकाल कर नवीन की ओर उछाल दिया.

फिर मेरा लंड खड़ा होते ही मैंने चाची से पूछा कि कंडोम है?चाची ने कहा- हां अलमारी में है, ले लो. बल्कि इसलिए हैं कि आपको अपनी इकलौती खूबसूरत जवान कुँवारी बहन के साथ प्यार करने का मौका मिला. उसने कहा- जी पूछिए?उसने कहा- मेरी एक चाची की लड़की है वो भी आपकी उम्र की ही है.

ऊपर से नीचे तक उसकी हाथ की पांचों उंगलियों को अपने मुँह में ले कर चूसा. आर्थर संग हम वोदका पीने में लगे थे जबकि एरिक मेरी पत्नी का साथ देते हुए लिकर पीने लगा था. वो मेरे करीब आईं और भाभी मेरे लंड को पकड़ कर उसमें सेलोटेप से 50 ग्राम का तोला बाँधने लगीं.

उन्होंने कहा- मुझ पर विश्वास करो मेरे फ्लैट में मैं अकेला रहता हूं.

बीएफ फिल्म सेक्सी में दिखाइए: मैंने उससे कहा कि साक्षी मैं तुझसे बहुत प्यार करता हूँ और तुझको ठंड लग रही थी न, इसलिए मैं ये सब कर रहा था ताकि तुझको ठंड ना लगे. मैंने नताशा को नर्म गद्दे पर बिठा दिया और स्वयं खिड़की के सामने की सोफा चेयर पर बैठ गया, बोला- जाइए दोस्तो, हमारी रानी को खुश कीजिए!आर्थर और एरिक नताशा के नजदीक आ गए और नताशा बेड पर बैठ कर अपनी लाल कच्छी को एक साइड खिसकाती हुई उन्हें अपनी सुन्दर गुलाबी, बालरहित, क्लीन शेव्ड चूत के दर्शन कराने लगी.

साले ने चुदाई में निचोड़ डाला…भाभी- देखा उसका कमाल?मैं- हां भाभी काफी मजा दिया साले ने!भाभी- एक दो बार और मजा ले तब याद भूल नहीं पाएगी इस राजू की. बरामदे का दरवाज़ा एक गैलरी में खुलता था और गैलरी के उस पार ड्राइंग रूम था. मैं तो कब से यही चाहती थी, मैंने उसका एक हाथ पकड़ा और अपने बोबे पे रख कर दबवाने लगी.

शाम तो जब उससे मिली तो अशोक ने कहा कि मैंने उसे जो बताया था आपके बारे में… तब मैंने उसे पूरी बात बताई.

उनकी ज़ोर से चीख निकल गई, उनकी चीख दबाने के लिए मैंने उनके होंठों को चूसना शुरू किया और दोनों हाथों से उनकी चुचियां सहलाने और दबाने लगा. आशीष बोला- मैं जानता हूँ तुम्हारा नंगी होकर मेरा सामने आना कहाँ तक ठीक है. वरना मैं तो घर पर ही आपको मौका दे देती, मैं भी तू आपसे प्यार करती हूँ.