बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई

छवि स्रोत,बिहारी लड़की की चुदाई दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़कियों वाला सेक्स: बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई, मैंने पहले उसे चौंक कर देखा और फिर पूछा- क्या?आकांक्षा- तू प्रिया मैडम और सर के बारे में सोच रहा था ना!मैं ये सुनकर चलते चलते रुक गया और एकटक उसे देखता रहा.

सेक्सी पिक्चर बीएफ पिक्चर सेक्सी पिक्चर

ये मेरी एक सच्ची सेक्स कहानी है और अन्तर्वासना पर दूसरी सेक्स कहानी हैबड़े पापा की बेटी की चुदाईमेरा आप सभी से निवेदन है कि इस चुदाई की कहानी को पूरा पढ़ कर मजा लें और मुझे अपने विचारों से अवगत कराएं. सेक्सी पिक्चर देवर भाभी की चुदाईमेरे प्यारे पाठको, आपको मेरी फैमिली सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected].

फिर आपसे भी मैंने बात की तो न जाने क्यों मुझे आपके अन्दर वो बात दिख गई जो मैं किसी मर्द के अन्दर चाहती थी. हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्सी वीडियोमेरी चूत चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैंने कैसे पहली बार अपनी चूत और गांड चुदवाई? शादी से पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था कॉलेज का! मेरा सेक्स करने का बहुत मन करता था.

भाभी की चुत ने पानी निकाल दिया और उनकी चुत की मलाई की चिकनाई की वजह से मेरा लंड चुत में फिसलने लगा.बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई: मैंने सोचा कि बहुत देर हो गई है, कोई आ जाए, इससे पहले भाभी का काम उठा देता हूँ.

उसके होंठों को छोड़ कर मैं उसकी चूचियों से होते हुए उसकी नाभि पर किस करते हुए नीचे तक आ गया.लेकिन वह घटनाक्रम आज भी मेरी यादों में बसा है और उसने मुझे मेरे शुरू से ही कामुक बना दिया जो मैं अब तक हूँ.

सेक्स फिल्म हिंदी में बीएफ - बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई

मैंने बिना देर किए उसकी चूत पर अपना जीभ को टिका दिया और चुत चाटने लगा.लेकिन करूं तो करूं क्या … दो महीने बाद मेरा फिसड्डी पति विदेश की नौकरी पर 7 महीने के लिए चला गया.

उल्फ़त को देखते मैं बेड से उठा और उसको गोद में भरकर बेड पर पटक दिया. बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई उसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, मेरा नाम दीपक है और मैं एक बार फिर से आपके लिए एक कहानी लेकर आया हूँ।जब मैं किसी काम से बिहार गया था तो मैं पटना स्टेशन पर दोपहर 1 बजे उतरा। मेरा काम दो तीन दिन का था और उस वक्त बहुत तेज गर्मी पड़ रही थी।मैं प्लेटफॉर्म से बाहर निकलकर एक कोने में खड़ा होकर जूस पी रहा था.

माँ- ये मंगलसूत्र निकाल दूं क्या … शायद तुझे मेरी चुचियां दबाने में दिक्कत हो.

बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई?

वो करीबन 35 के आसपास का रहा होगा और मेरी चूत चोदने की बात कर रहा था. जिससे भाभी की चीख निकल गई और बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से … तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और मोटा भी!मगर मैं बिना रुके धकापेल चुदाई करने लगा. मैंने आरुषि का मोबाइल चैक किया तो मुझे समझ में आ गया कि वो अपने पति से झगड़ा करके यहां आयी है और शायद इसी लिए वो मुझे कुछ बता नहीं रही थी.

रात की बात याद करके मुझे बहुत शर्म भी आ रही थी और ठरक से लौड़ा भी टाइट हो रहा था. दस मिनट तक किस करने के बाद मैंने उसकी नाइटी को उतार दिया और उसके मम्मों को चूसने लगा. हम भाई बहन की चुदाई में हमारे माँ बाप रुकावट ना बनें, इसलिए मैंने योजना बनाकर बाप बेटी की चुदाई करवा दी.

उसकी चूचियां एकदम मस्त उछल उछल कर उसकी उंगलियों की संगत कर रही थीं. मैंने थोड़ा सब्र किया।मैं यह जानता था कि माँ ने भी काफी समय से चुदाई नहीं की है और वो मेरे मनाने से मान जायेगी।माँ ने पीला ब्लाउज और पेटिकोट पहना हुआ था और वो दूसरी तरफ करवट करके सो रही थी।मैंने 1 बजने का इंतज़ार किया ताकि माँ सो जाये. वो कहने लगे कि अगर किसी चीज की ज़रूरत हो बता देना, शर्माना मत। इसे अपना ही घर समझना.

तो मुझे नहीं पता था कि कितना वक्त था मेरे पास। लेकिन मैंने मीनाक्षी के गालों को चूमा, फिर उसके होंठों को चूमा और दोनों हाथों से उसके चूतड़ मसल दिए. थोड़ी देर बाद मैम झड़ गईं और उनकी चुत का पूरा पानी मेरे मुँह में गिर गया.

पर मैंने खुद से कहा कि लगता है अब पूरी उम्र बिना चुदे ही रहना पड़ेगा.

जब मेरा पूरा रस आपा के गर्भ में समा गया तो मैंने आपा के गर्म जिस्म को अपनी गिरफ्त से आजाद किया.

भाभी रोज सुबह एक्सरसाइज करती थीं और जॉगिंग पर जाती थीं, इसकी वजह से भाभी की कमर पतली और गांड मोटी बन गई थी. उसकी चूचियों की कसावट को देखकर कोई नहीं बोल सकता था कि वो दो बच्चों की मां है।फिर उसने बताया कि दिल्ली में वो जिम करती थी और उसका पति उसके बूब्स ज्यादा नहीं दबाता है; वो सेक्स भी बहुत दिनों में करता है।मगर उसको ख़ुद सेक्स इंजॉय करने का बहुत शौक था. उमेश सर गेट पर ही खड़े थे और उन्होंने मुझे मुस्कुराते हुए देखा और मेरी गांड पर फिर से एक हाथ दे मारा.

शायद उन्हें लगा कि जैसे कमर पर कोई खुजली कर रहा है या कोई कीड़ा काट रहा है तो उन्होंने अपनी कमर पर हाथ फेरा मगर उससे पहले ही मैंने अपना हाथ वापस खींच लिया।अब मुझे अजीब सी मस्ती चढ़ने लगी या यूं कहिए सेक्स की खुमारी होने लगी।मैं फिर से उनकी कमर को छूना चाहता था मगर मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी।कुछ देर सोचने के बाद में लगा कि वो नींद में है कोई दिक्कत नहीं. मेरी बहन मेरे लंड को सहलाती हुई कहे जा रही थी- आज मैं तेरे लंड सेअपनी चूत की प्यासबुझाऊंगी मेरे भाई. वो कुछ ही देर में मेरी अम्मी को ताबड़तोड़ चोद रहा था और मेरी अपनी कुहनियों के बल रसोई की स्लैब से अपने आपको टिकाए हुए खड़ी थीं.

वो कहते हैं ना कि लंड को एक बार चूत का चस्का लग जाए, तो कुछ और नहीं दिखाई देता.

श्रुति ने मेरा मोबाइल लिया हुआ था और वो मेरे फोन में मेरे मैसेज पढ़ रही थी. कुछ मिनट के बाद उसने अपनी बुर से पानी छोड़ दिया और मैंने सारा पानी पी लिया. उसके गले पर किस करते हुए मैं धीरे से काट भी देता था और मेरा लंड उसकी गांड को टच कर रहा था; जिससे वह पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी।उसने मुझे लिटाया और खुद मेरे ऊपर आकर मुझे पागलों के जैसे किस करने लगी.

मैंने जानबूझ कर चाबी को उठा कर टेबल के नीचे ऐसे फेंक दिया कि वो आसानी से ना मिले. धीरे धीरे चुदते हुए अब वो भी गर्म हो गई थी और फिर से आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरे लंड को गपागप गपागप अंदर बाहर लेने लगी. ये पहले से ज़्यादा तेज़ थी और साथ ही मैडम की बातों से लग रहा, जैसे उन्हें बहुत ज़्यादा दर्द हो रहा हो.

भाई की शादी के दौरान भाई की साली मुझे पसंद आयी तो मैंने उसे देखना शुरू किया.

जीजा बस मुझे देखकर मुस्कुरा रहे थे।मैं हँसती हुई वहाँ से भाग गई।दीदी जब नहा कर बाहर निकली तो मैंने अपने कपड़े लिये और तुरंत बाथरूम में घुस गई।मैंने अपने आपको आईने में देखा।मेरी साँसें तेज़ी से चल रही थी जीजा की वो हरकत सोच सोच कर दिल में हलचल मची हुई थी। मैंने अपने सारे कपड़े उतार फेंके. फिर उसने पूछा- तुम भी सिंगल हो क्या?मैंने कहा- अगर मेरी लाइफ में कोई होती तो मैं इस वक्त किसी और के साथ डिनर कर रहा होता.

बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई मैंने इसका फायदा लेते हुए एक ही झटके में उसकी चड्डी निकाल दी।अब मेरे सामने उसकी गोरी गोरी चूत मुझे अपने पास बुला रही थी।मैंने उसकी चूत को हाथ लगाया।शांता के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं. इसके बाद मैंने अपने शरीर का सारा भार दी के ऊपर डाला और एक जोर का धक्का लगा दिया.

बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई तो मेरे प्यारे दोस्तो और भाभियो, रिश्तों में चुदाई की मेरी यह सच्ची सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल जरूर करना।[emailprotected]. काफी देर चूत चोदने के बाद मैंने अब उसे सीधा लेटा दिया और उसकी गर्दन बिस्तर से नीचे लटका दी.

आज मैंने अपनी बेटी को बिल्कुल दुल्हन की तरह तैयार किया था, जैसे आज इसकी सुहागरात हो.

मराठी सेक्सी बीपी सेक्स

उसी जगह पर जब मैं उससे मिलने के लिए पहुंचा तो वो दोनों पहले से ही एक दूसरे के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा ले रही थीं. मैंने लंड चूसने के बाद उसकी एक गोली मुँह में भर ली और चूसनी शुरू कर दी. मां- क्या? आठ इंच का लौड़ा! तू कैसे ले लेती है रण्डी साली इतना बड़ा लौड़ा।मौसी- दीदी, शुरुआत में दर्द होगा पर फिर बाद में मज़े ही मज़े हैं.

पाँच मिनट लण्ड को चूसने के बाद उन्होंने मुझे लेटाया और मेरे कमर के नीचे दो तकिये रख दिये. शायद वीर्य बाहर इसलिए निकाला कि वो लोग अब दूसरा बच्चा अभी नहीं चाह रहे थे।उसके साथ ही मेरी भी पैंटी पूरी गीली हो गई मेरी चूत से लगातार बह रहे कामरस से!दीदी उठकर बाथरूम चली गई और मेरे साथ सो गई आकर!लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी।फिर कुछ दिन और रुकने के बाद मैं अपनी ससुराल चली गई. जब हम किसी रिश्तेदार या जानकार के यहां जाते हैं तो इस तरह के ख्याल आना लाजमी है.

तभी मैंने देखा कि राजीव खिड़की के पास खड़ा था और हम लोगों की चुदाई देख रहा था.

और अब 12 साल हो चुके मेरी फुद्दी की चुदाई हुए! अब तो मेरी फुद्दी पूरी जवान लड़की जैसी हो गई है।मौसी- ओह दीदी, फिर मनीष जी के चोदने से पहले तेरी फुद्दी को खोलना होगा. पहले तो मैं उन्हें सोते हुए देखता रहा, फिर थोड़ी सी हिम्मत करके मैंने उनके चूचों को छूने की सोची और उन पर एक हाथ रख दिया आराम से।ओह्ह्ह … क्या मस्त फीलिंग थी! मैं उस पहली फीलिंग को शब्दो में बयां नहीं कर सकता. जैसे ही उसने मेरे लंड को अपने गर्म से मुंह में लिया तो मेरे मुंह से एकदम से मस्ती भरी सिसकारी निकल गयी.

पर अभी मैं रात में आपा की चूत की चुसाई कर रहा था तो इससे ज़ोहरा को इतना मजा मिल रहा था कि वो मजे से पागल हो रही थी. भाभी ने बोला- क्या भूल गए?मैंने जवाब में बोला- स्वीटडिश खाना भूल गया था. उसके बाद पिता जी ने मौसी को जमीन पर टांगें रखवा कर पलंग के सहारे से कुतिया जैसा बना दिया और पीछे से आकर मौसी की योनि में लिंग डाल कर कुत्ता कुतिया के जैसे कामक्रीड़ा करने लगे.

गोल गोल आंखें, सुतवां नाक, गुलाब जैसे होंठ, उसके नीचे संतरे जैसी चुचियां, फिर सुराही जैसी कमर … और आखिर में 34 साइज के कूल्हे. वो मुझे रोक रही थी और कहे जा रही थी कि जान बस करो … मुझसे जरा भी बर्दाश्त नहीं हो रहा है … मेरी जान मुझे शांत कर दो.

मैं अपनी विधवा मां और तलाकशुदा मौसी के साथ पूर्वी उत्तर प्रदेश के एक छोटे गांव में रहता हूं। दोनों का बदन सेक्सी चोदने लायक है भरा हुआ. उस आदमी के मुंह से एकदम से सिसकारियां निकलने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ … करके वो अपने लंड को चुसवाने का मजा लेने लगा. मैं उन भूरे निप्पलों को पकड़ कर उनसे खेलने लगा।मामी मदहोशी में वासना भरी आवाजें किये जा रही थी।मैं उनकी आवाज से और उत्तेजित होता जा रहा था।मैंने दोनों चूचों को अपने हाथों में भरा और एक साथ दबाने लगा.

मेरी ठरक भी उनको देख कर उमड़ रही थी।थोड़ी देर के बाद मेरी पीठ पर बीच में बैठी हुई लड़की के बूब्स टकराने लगे और मेरा लन्ड खड़ा हो गया.

जैसे ही मैंने उसकी गांड में अपने लंड का सुपारा डाला, वह चिल्लाने लगी और निकालने के लिए कहने लगी. बीच बीच में मैं हल्का हल्का धक्का मारने लगा। 5 मिनट के बाद लण्ड का सुपाड़ा पहली बार अंदर गया। उसे दर्द हो रहा था।मैंने शांता को कहा- अभी प्लीज हिलना मत … बड़ी मुश्किल से अंदर गया है।वो बोली- साहब, धीरे धीरे ही अंदर डालना।मैंने कहा- अगर ऐसा ही चलता रहा तो पूरे दिन में भी लण्ड अंदर नहीं जायेगा। तुम थोड़ी देर के लिए सहन कर लेना. तो पीछे से सागर ने मेरी कमर पकड़ कर मुझे सहारा दिया और उसका हाथ जैसे ही मेरी कमर को छुआ मुझे कुछ कुछ होने लगा।मैं कुछ आगे बढ़ी ही थी कि तब तक पीछे से एक और धक्का लगा.

पर राजीव उससे बोलने लगा- प्लीज़ यीशा, इतना कुछ हो गया है तो थोड़ा और हो जाने दो. वो खुश हो गये और बोले- मेरे एक गुरूजी हैं, उनका लंड मेरे लंड से भी ज्यादा बड़ा है.

उसके दूध 38 के हैं और गांड 40 की।वो रंग की गोरी है और पूरी मस्त चोदू माल लगती है. अब तक मुझे भी थकान से राहत मिल गई थी, तो मैं उठ कर तैयार हुई और उसके साथ चली गई. अचानक मेरी नजर कोने में गई तो मुझे पता चला कि मेरे शौहर कोने से झांक रहे हैं.

2021 की सेक्सी हिंदी

मगर मैंने उसको आंखों से चोदते हुए होंठ गोल किये और बिना सीटी बजाए एक ठंडी हवा का झोंका उसके गालों पर मारा.

उसके बूब्स सहलाने लगा। फिर नीचे ही नीचे उसकी चूत में लंड को धकेलता रहा. शायद उसने यह महसूस कर लिया कि मैं जागी हुई हूँ क्योंकि मेरी सांस तेज हो गयी थी. मैंने पहले जब उसे देखा था तब वो छोटी सी थी, लेकिन अब वो पूरी जवान हो गई थी और एकदम से गदरा गई थी.

मेरे इस ड्रेस की वजह से सब मुझे ही देख रहे थे, लेकिन मुझे इस ड्रेस में अपने बेटे से बचना था. यह बात पिछले साल की नवंबर महीने की है, एक बार हमारी रिश्तेदारी में किसी की मौत हो गयी तो चाचा और पापा को जाना पड़ा और वहीं पर रुकना पड़ा।ऐसा पहली बार हुआ था कि चाचा घर पर नहीं थे. ಬ್ಲೂ ಮೂವಿशनाज़ में भी आँखों के इशारे से ‘थोड़ी देर बाद आती हूँ’ बताकर मुझे जाने को कहा.

तुमने बहुत इंतजार कराया है चारू … न जाने इतने दिन कैसे मैंने तुम्हारी याद में रात रातभर तुम्हें महसूस करके काटें हैं। अपनी बीवी के साथ होता था तो भी तुम्हारा ही चेहरा मेरी नजरों में घूमता था. मेरी बॉडी एक मस्त दिखने वाली बॉडी है, क्योंकि मैं रोजाना जिम जाता हूँ.

फिर मुझे एक शैतानी सूझी और मैंने उसके एक चूतड़ को जोर से मसल दिया, पर वो बस मुस्कुरा कर शांत हो गई. लेकिन अमित के करने के स्टाइल से लग रहा था कि काफी लड़कियां चोदी होगी इसने।अमित ने धीरे से मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटना शुरू किया. पहले तो अंकल ने मेरी चूत चाटी और मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से घुसाने लगे.

ऐसा लग रहा था कि चाची के चूचे उनके ब्लाउज को चीर कर बाहर निकल आएंगे. फिर कुछ देर तक मैं भाभी के नंगे जिस्म से खेल करता रहा, भाभी की चूत सहलाता रहा. मैं बोला- ठीक है … आगे से मुँह से बोलना, जो भी हो … और हां जाओ आज रेस्ट करो … कल एग्जाम नहीं है.

वो मेरे पास आईं और मेरे गालों पर किस करते हुए बोलीं- कहां खो गए राजाधिराज?तब जा कर कहीं मुझे होश आया.

दिल्ली में हमने इलाज कराया, पर कोई फ़र्क नहीं पड़ा … इसलिए पापा मां को गांव ले गए. उसके बाद उसने मेरी बहन को सीधा घुमा कर बहन की चूत को चूसना शुरू कर दिया.

इधर मुझे पता चला कि ज़िन्दगी में पहली बार मुझे लड़कियों के साथ एक ही रूम में पढ़ना पड़ेगा. बाहरवीं के एग्ज़ाम के बाद जया कल्याण आ गयी थी और यहीं पर बिरला कॉलेज में एडमिशन ले लिया था. अब आप तो जानते ही हैं कि सर्द रात में जब अनजान लेडी सामने हो और शादी का माहौल हो तो वासना कितनी बढ़ जाती है.

उस दिन मेरी छोटी सगी बहन और ज़ाफिरा से चला भी नहीं जा रहा था क्योंकि उन दोनों की चूत बहुत ही कोमल और कच्ची थीं. इशा- जीजा जी … आंह … छोड़ो … आप यहां क्या कर रहे हो … और ये सब क्या है?इस बीच राजीव का लंड यीशा की चुत से अलग हो गया था और हवा में एकदम नब्बे डिग्री के कोण में खड़ा था. मगर मैंने ज्यादा नहीं सोचा क्योंकि अभी तो बस चूत चोदने का पूरा मजा लेना था.

बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई जब मैंने पहली बार जाना कि मेरी सोनाक्षी दीदी तो एक बड़ी रांड है, तो मैं हैरान रह गया. वो मुझे पढ़ाते पढ़ाते कभी मेरे कंधे पर हाथ रखते, तो कभी मेरी पीठ पर और कभी मेरी जांघ पर हाथ रख कर मुझे समझाते.

सेक्सी वीडियो डॉट कॉम डॉट कॉम

खुशबू के चूचे काफी बड़े और टाईट हैं, उसकी गदराती जवानी को देखकर कोई भी उसे चोदना चाहेगा. मैं उसका एक दूध चूसता, तो दूसरा हाथ से मसलता, दूसरा चूसता, तो पहला मसलता. धीरे धीरे करके वो मेरे लंड पर बैठ गयी और मेरा लंड उसकी चूत में अंदर चला गया.

अब एक बार फिर से अंकल ने अपने लंड के मोटे सुपारे पर क्रीम लगाई और फिर अपना लंड मॉम की गांड के छोटे से छेद पर सटा दिया. भाई ने मुझको खींच कर अपनी बांहों में ले लिया और पागलों के जैसे किस करने लगा. छत्तीसगढ़ी में बीएफहोटल रूम सेक्स कहानी के पिछले भागचाची को होटल में लेजाकर चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि चाची की चुदाई का राज प्रियंका भाभी ने जान लिया था और वो भी मुझसे चुदने के लिए कहने लगी थीं.

मैंने अभी सम्भल पाती कि अंकल ने अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया.

पर मुझे रात में ही टाइम मिलेगा, दुकान पर से नहीं आ सकता, पापा नहीं आने देंगे. थोडी़ देर बाद दोनों ने ताश खेलने का प्रस्ताव रखा तो हम तैयार हो गये.

उसने मुझे बेड पर धकेला और मेरे तने हुए लंड को एकदम से अपने मुंह में भर लिया. उधर उमेश सर बार बार बोल रहे थे कि आंह … मजा आ रहा है मेरी जान … लंड को और अन्दर तक लो. मैंने आंख खोलकर देखा तो उसने भी गुस्से वाली नजरों से आंख मारकर अपनी जीत का इशारा किया और बदला लेने का जश्न भी मना लिया।मुझे उसकी इस हरकत पर प्यार आ गया.

जब वापस आई तो मेरी आंखें खुली रह गई।उसने पिंक कलर की हाफ नाइटी पहन रखी थी और अंदर ब्रा और पैंटी भी नहीं थी।वो साड़ी में एक पतिव्रता नारी की तरह गयी थी और जब वापस आई तो एक सेक्स बम बनकर आई.

भाई ने मुझको खींच कर अपनी बांहों में ले लिया और पागलों के जैसे किस करने लगा. कुछ देर बाद शोभा भाभी चित लेट गईं और सुमन भाभी ने मेरा लंड शोभा भाभी की चुत में पेल दिया. मैंने चाची की चूत से जीभ हटायी तो उन्होंने फिर से मुझे उनकी चूत को चाटने का इशारा किया.

बीएफ चाहिए सेक्सीराजीव- कुछ नहीं होगा मेरी जान … विशाल नशे में सो रहा है, उसे कौन बताएगा. भाभी जी की चुत चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे एक भाभी ने मुझसे सम्पर्क किया कि उसे माँ बनना है.

सेक्सी फिल्म गोपा गोपी

जब मुझे इस बारे में पता चला, तब लगा कि बंदी में कुछ न कुछ ख़ास तो होगा ही तब तो लौंडा लगा हुआ था. मैं बहुत से शहर घूमा हूँ, पर पिछले तीन साल से तो गुड़गांव में ही रह रहा हूँ. सांस लेने के लिए हम एक बार रुके और दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्करा दिये.

कुछ देर चोदने के बाद मैंने अपना लंड उसकी चुत से निकाल कर उसके मुँह में डाल दिया- आंह … चूस मेरी रंडी चूस इसे. उमेश सर के घर जाकर मैंने डोरबेल बजाई, तो सर ने दरवाज़ा खोला और अन्दर बुला लिया. उसकी योनि की कल्पना में मैंने न जाने कितनी ही रातें अपने लंड को हाथ में लिये और चारू-चारू करते हुए काटी थी.

दोनों बुआ उधर नहीं थीं, तो मैं समझ गया कि ये दोनों मेरे कमरे में होंगी. तूने आना तुम क्यों कर दिया है? आता रहा कर!शकील ने उत्तर दिया- टाइम मिलता है तो मैं आ जाता हूं. मेरी बहन ने कहा- अब तुम दोनों एक साथ मेरी चूत में घुसाओ और अंदर गिराओ।दोनों ने वैसा ही किया।फिर सभी निढाल होकर नंगे ही एक दूसरे से लिपटे हुए बेड पर पड़े हुए थे।मेरी बहन की चिकनी चूत से मर्दाना रस बह रहा था.

और दोस्तो, मुझे यह बताते हुए बिल्कुल भी संकोच नहीं है कि मुझे भी वो सब देखना बहुत ही रोमांचक लगता था. अगर मेरी जगह कोई मेहमान या रिश्तेदार होता तो क्या इज्जत रह जाती हमारी?मेरी बात पर उसके होश सफेद हो गये और वो गिड़गिड़ाने लगी- नहीं साहब, गलती हो गयी.

पेटीकोट उतना नीचे तो नहीं था कि मौसी के चूतड़ ही दिखने लगें लेकिन जहां से मौसी की गांड की दरार शुरू होती थी वहां तक का भाग जरूर दिख रहा था.

मैंने कहा- इतनी देर में तो किस हो जाती मेरी प्यारी भाभी!!ये कहकर मैंने उसके चेहरे को पकड़ा और अपने होंठ उसके होंठों से सटा दिये. मारवाड़ी देहाती बीएफमेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा ही थे क्योंकि मैं उनका एकलौता बेटा हूं. एकदम नंगी लड़कीचूत में उंगली करते हुए उसने धीरे से कहा- बहन की चूत, एक से ज्यादा लोगों से चुदवा कर आ रही है तू तो. मैंने भी लंड का लावा लगभग तीन चार बार निकाला और मैं पूरी तरह से थक गया.

एक मिनट तक लंड को उसकी बुर में फंसा कर मैं उसके ऊपर लेटा रहा और उसे सहलाता रहा.

मैंने भी प्रिन्सिपल के लंड पर हाथ रख दिया और उनकी गोद में लेटी सी हो गई. मैंने सोनिया भाभी से बोला- आज से 7 दिन तक आप मेरी बीवी हो … और 9 महीने बाद हम दोनों मां बाप बन जाएंगे. आखिरकार एक चरम पर पहुंच कर उसने मेरी चूत में रस भर दिया और मुझसे अलग हो गया.

अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरी पढ़ कर मेरा मन किसी लड़की की कुंवारी चूत चोदने के लिए करता था. जल्दी ही दोनों की शादी का दिन भी निश्चित हो गया और शादी का दिन भी आ गया. मैंने उन्हें बोला- बुआ ठीक है, पर मैं आप दोनों की गांड मारना चाहता हूँ.

क्सक्सक्स सेक्सी चुड़ै वीडियो

फिर मैंने इसी पोजीशन में उसको सीधा किया, जिसके कारण हमारे चेहरे अब एक दूसरे से दो इंच की दूरी पर थे. उस दिन मैंने 3 बार चुत की हरियाणवी चुदाई की और अगले एक हफ्ते तक, उसके पति के आने तक उसकी चुत को खूब पेला. थोड़ी देर में ही चाची की पकड़ ढीली हो गयी तो मैंने चाची की चूत को सलवार के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया.

मैंने भी उसकी चूत में लंड की ठोकर देते हुए बारी बारी से उसकी दोनों चूचियों को खूब चूसा.

उसके दस मिनट बाद मेरा लावा फूटने वाला था तो मैंने बोला- भाभी मेरा पानी आने वाला है, कहां निकालूं?भाभी ने बोला- अंदर ही निकाल दो.

मैंने उसकी पैंटी के उपर से अपनी उंगलियों से छेड़खानी शुरू कर दी और ऊपर से ही उसकी भगनासा को सहलाने लगा. ननदोई जी ने बहुत सारी पोजिशन में मेरी चुदाई की और पूरी कोशसिह की कि उनका वीर्य मेरी चूत के अंदर टिका रहे. हिंदी बीएफ पंजाबीमैं तो नंगा ही था, फिर मैंने झट से टॉवल पहनी और रिंकी और में उसको मम्मी पापा को बताने से मना करने लगे.

उससे मैं बोलने लगा- आज तो तुझको अपने भाईजान का कटा हुआ लौड़ा अपनी इस कटी हुई चुत में लेना ही होगा. जब मैं अपनी बहन की चुत चूसने लगा तो वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ़्फ़्फ़. कुछ देर बाद मौसा जी का फोन बजा और वो जल्दी से ‘अर्जेंट कॉल है …’ बोलकर बाहर निकल गए.

वो 24 साल की मस्त भरे बदन की मालकिन है उसके चुचे इतने बड़े हैं कि वो ब्रा में समा ही नहीं पाते, हमेशा बाहर झांकते रहते हैं. बस इतना कह कर वो अपने घर चली गईं और मैं भी उनकी मटकती गांड को देखता रहा जो भाभी के चलने पर काफी दिलकश लग रही थी.

उसको अच्छे से साफ किया और फिर वापस बिस्तर पर आकर एक दूसरे को बांहों में लेकर पड़े रहे.

उस से प्रेरित होकर मैंने सोचा था कि काश यही लण्ड मुझे मिल जाये तो मैं खूब उछल उछल के चुद जाऊँ और अपनी बरसों की प्यास बुझा लूँ।लेकिन मैंने वासना पूर्ति के लिए ऐसा नहीं किया। मुझे लगा कि यह हमारे संस्कारों के विरुद्ध होगा. अब मैंने एक झटका लगाया और अपना पूरा लन्ड उसकी गांड में डाल दिया और धीरे धीरे उसकी गांड में धक्के लगाने लगा।करीब बीस मिनट तक ज्योति की गांड मारने के बाद मैंने अपना लन्ड उसकी गांड से निकाल लिया. ननदोई जी ने बहुत सारी पोजिशन में मेरी चुदाई की और पूरी कोशसिह की कि उनका वीर्य मेरी चूत के अंदर टिका रहे.

मियां खलीफा सेक्सी वीडियो बीएफ जैसे वसंत ऋतु में जंगल नए रूप रंग में निखर आते हैं, वैसे ही माधवी भाभी का रूप, उनका गदराया बदन और उनकी हर एक अदा निखर रही थी. मेरी माँ और मौसी जी लगभग नंगी होकर एक दूसरे को चूमने का प्रयास कर रही थीं और वे दोनों एक दूसरे के ब्लाउज खोल रही थीं.

वहां पर उसकी मम्मी और बुआ और सब रिश्ते की महिलाएं ही थीं, वो सब भी साथ बैठ कर पी रही थीं. उसने कहा- पहले बैठो तो सही!मैं बैठ गया और बो भी मेरे साथ बैठ गई और बोली- शिवा, हमारी शादी के तुरंत बाद ही तुम्हारे दोस्त चले गये. और धीरे धीरे मैं उसके पेट पर आया और उसकी गहरी नाभि पर किस करने लगा.

ஆந்திர செக்ஸ்ய் வீடியோ

मेरी बुर केला खाने की आदी है, लौकी पेलोगे तो चिल्लायेगी ही!”इस बीच मैंने धक्के मारना शुरू कर दिया था, जब डिस्चार्ज किया तो अवनीत ने कहा- मामू, मैं तो रोहित की दीवानी हूँ और उसके बिना रह नहीं सकती लेकिन मेरी चूत आज से तुम्हारे लण्ड की दीवानी हो गई. इस पर मैं कुछ सोचने लगा, तो उमेश सर बोले- चिंता मत करो, मैं इन फोटो को किसी को भेजूंगा नहीं … ना ही तुमको कोई दिक्कत होगी. एकदम से ब्रेक लगने से मैं झटके से आगे लड़ने वाली थी, तो संजय ने मुझे पकड़ लिया.

मैंने उसकी पैंटी के उपर से अपनी उंगलियों से छेड़खानी शुरू कर दी और ऊपर से ही उसकी भगनासा को सहलाने लगा. मैं भी चाचा का साथ देते हुए बोला- आह्ह चाचा … फाड़ दो … आह्ह … मैं आपका लंड बहुत दिनों से लेना चाहता था.

मॉम ने कहा- हां आज से एक हफ्ते के लिए मैं तुम्हारी रंडी दासी सब हूँ.

एक वक्त के लिए में भूल ही गया था कि मैं शादीशुदा, दो बच्चों का बाप और एक नॉकरीपेशा आदमी हूँ. बीच बीच में मैं उसको किस करता हुआ उसके मम्मों को दबाता रहा, जिससे वो फिर से गर्म हो गई. अब चूंकि स्टेशन आने की जल्दी में मैंने स्कर्ट टॉप के नीचे ब्रा पेंटी भी नहीं पहन पाई थी … जिससे तनिष्क गर्मा गया था.

हम दोनों साथ में लेट गये और मैं उसके मोटे बूब्स पर सिर रख कर लेट गया. उसकी बुर पकौड़ा सी फूली हुई थी और एकदम कुंवारी थी … मतलब बिना चुदी हुई थी. गाड़ी हल्की हल्की हिल भी रही थी और उसकी जांघों मेरे चूतड़ों पर आकर लग रही थीं.

जैसे ही मैंने उसकी गांड में अपने लंड का सुपारा डाला, वह चिल्लाने लगी और निकालने के लिए कहने लगी.

बीएफ फिल्म वीडियो चुदाई: मैं यहां तुम्हारे बेडरूम में आया, तो देखा कि तुम पूरी नंगी लेटी हो और विशाल भी सो रहा है. उसके मुंह से एकदम से कामुस सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … फक मी मैडी… आह्ह … फास्ट … फक मी कमॉन… चोदो मुझे, और तेज … आह्ह बहुत मजा आ रहा है.

उठने के बाद अमित चेयर में बैठ गया, मैंने उसके रूमाल से उसकी आंखों को बंद कर दिया और मैंने अपने घुटनों पर बैठकर उसकी पैंट का बटन खोला, जिप खोली और उसके लंड को हाथ से सहलाने लगी. धीरे धीरे मेरा मन डोला और मैंने उससे सेक्स की बातें करना शुरू कर दिया. एक सुबह जब मॉम मुझे उठाने आईं, तो मैं उनसे पहले ही जग गया और अंडरवियर नीचे करके लोअर में ही लंड खड़ा करके इस तरह से सोया कि मेरे लंड का सुपारा और उसकी लम्बाई दोनों का आसानी से पता चल जाए.

मैंने कहा- मैं अपनी तारीफ खुद नहीं करता … तुम्हें सोनल ने बताया होगा ना.

मैं जानती थी कि तुम शादी के समय से ही मुझे रिझाने की कोशिश कर रहे थे … लेकिन अन्नु, मैं संदीप के साथ शादी के बंधन में बंध गयी थी. वो अम्मी को चूमने लगे, साथ ही अपने दोनों हाथों से अम्मी की गांड को सलवार के ऊपर से मसलने लगे. मैंने देखा कि मां सो गयी हैं, तो मैं भी उनके बारे में सोचते हुए सो गया.