विदेशी बीएफ व्हिडिओ

छवि स्रोत,हमको सेक्स करना है

तस्वीर का शीर्षक ,

चाइना की बीएफ मूवी: विदेशी बीएफ व्हिडिओ, वो बस मेरी बनके रहती और मैं उसे वो सारे सुख देता, जिसके सिर्फ़ उसने सपने ही देखे होंगे.

बालेश्वर सेक्स वीडियो

मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और सलोनी से कहा- मेरे लण्ड की जड़ पर सिन्दूर से तिलक करो और पाँच बार चुम्बन करो. हिंदी चोदी चोदा वीडियोसुमन किसी लता की तरह पंकज से लिपटी हुई थी और अपनी उन्नत चूचियों को उसके सीने में चिपकाकर अपनी चूत उसके लंड पर रगड़ रही थी।तभी एकाएक पंकज ने सुमन को पीठ के बल लिटा दिया और उसकी ड्रेस को ऊपर करके सुमन की गदराई हुई चूत के प्रथम दर्शन किए.

मैंने सायरा के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा- सायरा, मैं हगने जा रहा हूं … अगर तू चाहे तो मुझे शौच करा सकती है. मेरा लैंड खड़ा नहीं होता हैमैं उसकी तरफ देखने लगा कि ये तो ग्राहकों को देखने के लिए ही कह रहा है.

मैं- तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरी मां का महंगा शैम्पू चुराने की? मैं अभी जाकर उसको ये सब बता दूंगा और वो तुम्हारी गांड पर लात मारकर तुम्हें घर और काम से निकाल देगी.विदेशी बीएफ व्हिडिओ: उसने मुझसे पूछा कि ये सूटकेस किस लिए लिया है? क्या कहीं बाहर चलने का इरादा है?मैंने कहा- नहीं, बस होटल वालों को ये बताने के लिए लिया है कि हम लोग बाहर से आए हैं.

यानि एक बोतल नाचेगी और जिसके आगे रुकेगी, वो कोई सच बताएगा या सबके कहने से उसे कुछ करना पड़ेगा.अगर किसी दिन ज्यादा मन किया, तो रवि भाई से हफ्ते में दो दिन के लिए आपको मांग कर ले आया करूंगा.

सेक्स के गाना - विदेशी बीएफ व्हिडिओ

एक तो उनको चाचा का लंड नहीं मिल रहा था और ऊपर से मेरे जैसा जवान लड़का घर में था.चाचा जी ने तुरंत मेरे मुँह से लंड निकाला और उसे मेरे से अलग कर दिया और साइड में बैठने को कहा.

मैंने उसके मुंह से खाना खाया।उसके बाद वह सरप्राइज की तैयारी करने चली गई. विदेशी बीएफ व्हिडिओ आदमी- क्या अब तक मिला नहीं!मैं- मिले तो बहुत, लेकिन सब बहुत महंगे हैं.

मैंने सिगरेट का कश खींचते हुए लंड सहलाया और उससे कहा- जान, मेरा मन तेरे पीछे से करने को है.

विदेशी बीएफ व्हिडिओ?

चाचा जी ने तुरंत मेरे मुँह से लंड निकाला और उसे मेरे से अलग कर दिया और साइड में बैठने को कहा. उस कहानी पर मुझे मेल करने वाले दोस्तों का शुक्रिया अदा करता हूं।मैं अपने सारे राज राज ही रखता हूँ; मैं नहीं चाहता कि मेरी किसी भी दोस्त को कोई परेशानी आए. डॉक्टर- अगर घर में इलाज करने के लिए होता … तो मैं आपको घर का इलाज बता देता.

मुझे आज अपनी बीवी बनाकर चोदो मेरे राजा!मैं जोश में आ गया और लन्ड को तुरंत चौथे गियर में डाल दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा।फिर मैं बोला- भाभी जी, आपका राज आज आपको कली से फूल बना देगा!वो बोली- भाभी नहीं, अफसाना बोलो। आज से तुम मेरे शौहर हो, मैं तुम्हारी रखैल हूं. वो- तुम ऐसे क्यों हो?मैं- मैं बस ऐसा ही हूँ … पर जैसा भी हूँ, तुम्हारे लिए हूँ. जब भी उनके फ्रेंड्स की दारू पार्टी होती है, तो ड्रिंक्स और नॉन वेज ऊपर रहता है, बाद में डिनर नीचे.

मैं- दर्द का क्या हाल है?बिन्नी- कोई दर्द वर्द नहीं है … सब ठीक है. डेढ़ घंटे बाद जब हम सेक्स से निवृत हुए तो उस समय रोहिणी एक शांत समुद्र की तरह नजर आ रही थी. मैंने पूछा- वैसलीन किस लिए चाचा जी!उन्होंने कहा- गांड में चिकनाई नहीं होती इसलिए अलग से चिकना करना पड़ता है.

मेरे मुँह में लौड़े के अन्दर रहने के टाइम से अब कोई भी घड़ी का टाइम मिला सकता था. सेक्स कहानियों को पढ़ कर न जाने कितनी ही बार अपने हाथ से लंड हिला कर सुख ले चुका हूँ.

मैंने उसकी बुर से उंगली निकाल कर उंगली चूसी तो उसकी बुर का नमकीन माल मुझे बड़ा स्वादिष्ट लगा.

डॉक्टर से मैंने सीरियसली पूछा- सच में कल मुझे छुट्टी दे रहे हो क्या?तो डॉक्टर बोला- वैसे यहां अब एडमिट की जरूरत तो नहीं है.

जिसमें पहली कुंवारी चुत की चुदाई की कहानी आज आपको सुना रहा हूँ, जिसमें मैंने गाँव की लड़की को चोदा; मजा लीजियेगा. भाभी हंस दीं और बोलीं- चिकनी और खुरदुरी को छोड़ो … जल्दी से धकापेल कर दो. फिर कुछ देर बाद ये सब बोले- तुम सब हम सबसे पहले लंड की भीख मांगो और बोलो कि मालिक हमको अपनी रखैल बना लो, हमें रंडी की तरह चोद दो.

भाभी की घर में सेक्स की कहानी को मैं आगे लिखता रहूंगा, फिलहाल आप मुझे अपने सुझाव मेरी ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं. वो बोली- अच्छा … ऐसा क्या सिखाया उसने!मैंने कहा- वो एक शादीशुदा औरत थी … उसका पति कुवैत में था, तो मुझे ट्यूशन पढ़ाने के बहाने अपने घर बुलाया और अपनी हवस पूरी की. एक पल को मैं ये सोचकर गुस्सा हो जाता कि अंकल को रोज चोदने के लिए एक मस्त गांड मिल गयी और मैं यहां तड़पता रह गया.

जींस उतरते ही ट्विंकल की केले के तने जैसी चिकनी चिकनी दूध जैसे गोरी जांघें मेरे सामने नंगी हो गई थीं.

हार्डकोर सेक्स इंडियन स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी भतीजी की गांड फाड़ी. तो हो सकता है कुछ गलतियां रह जाएं, जिनके लिए मैं अभी से माफी मांग लेता हूँ. फिर उसने पूछ लिया- अभी करना है या पहले खाना खा लें?मैं एकदम से चुप हो गया और फिर सोचने लगा कि जब गांड चुदाई करवानी ही है तो पहले ही चुदवा लो, खाने के बाद क्या होगा.

उन सबने मुझे बारी बारी अपने बारे में बताया और आखिर में मैंने भी अपना नाम उन सबको बताया. नमस्ते दोस्तो, मैं अनिल अपनी बीवी की गैर मर्द से चुदाई की कहानी की दूसरी किश्त पेश कर रहा हूं. मैंने हल्के से अपने हाथ को उनके पेट पर रख दिया तो वो आँख खोल कर मेरी तरफ़ मुस्करा दी.

राहुल के साथ वो काफी टाइम से रिलेशन में थी और उन दोनों के बीच में लगभग सब कुछ हो चुका था.

मेरी उंगली उसकी गीली चुत में सट से घुस गई और उसकी एक मीठी आह निकल गई. उसके बाद फिर हमने रात का खाना खाया और फिर हम कंप्यूटर में गेम खेलने लगे.

विदेशी बीएफ व्हिडिओ शरीर से शरीर चिपकते ही बिन्नी मुझसे एक बार फिर ज़ोर से लिपट गई और बोली- लेकिन करना नहीं है, मैं कल दुबारा आ जाऊंगी. उसने पहले मेरी गांड को चाट कर मजा दिया, फिर गांड मार कर!मित्रो, मैं निहार एक बार फिर से आपके सामने अपनी गे सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ.

विदेशी बीएफ व्हिडिओ कुछ देर तक ऐसा करने के बाद मानवेन्द्र ने मेरी गांड के छेद को चौड़ा करना चालू किया. वो- तो झूठ बोलना सीख लो ना!मैं- सच कहूँ, अगर मैं झूठ बोला तो आज तुम मेरे बिस्तर पर होतीं न कि मैं तुम्हारे.

उस दिन मैम ने हम लोगों को कुछ कुछ बताया और पहले दिन सब को एक एक करके कंप्यूटर पर सबको समझाने लगीं.

न्यू सेक्सी बीएफ इंडियन

फिर हमारी बातें होती रहीं और अंत में सुमन ने अपने मुंह से ही बोल दिया कि पंकज का लंड मेरे लंड से बड़ा है. वो लंड को फिर से चूसने लगी।अफसाना ये देखकर मुस्कराते हुए उठी और अपनी मैक्सी पहन कर चली गयी. मैं- अनामिका, ये बताओ क्या तुम सच में चाहती हो ना कि मैं तुमको चोद दूँ … कोई जबरदस्ती तो नहीं है न?अनामिका ने एक अजीब सी झिझक के साथ दबी दबी आवाज में कहा- हां हां … वो ना …तभी प्रियंका पीछे से बोली- अरे बिंदास बोल न … जीजू वो मेरा ब्वॉयफ्रेंड कमीना है … वो मुझको चोदना ही नहीं चाहता है और मैं हमेशा गर्म ही रहती हूँ.

उस दिन मुझे मुठ मारने और अपनी फेंटेसी को पूरा करने का एक बहुत ही अनोखा और बहुत ही कामुक तरीका मिल गया था. फिर मैंने अपर्णा के एक दूध को अपने मुंह में भर लिया और उसका दूध पीने लगा. मेरे बदन में हल्के झटके लगते रहे और इस ट्रेन में सेक्स के परमानंद में मेरी आंखें बंद हो गयीं.

संजू अपनी बढ़ायी सुनकर फूल गई और बोली- अच्छा बाबा, पर वो कितने बजे आ रहा है!मैंने कहा- शाम चार बजे तक.

मुझे लगा कि चलो आज कुछ करने का मौका मिलेगा, यही सोच सोच कर मैं खुश हो रहा था. ये सब कह कर प्रियंका मेरे होंठों को चूसने लगी और मेरे साबुन लगे लंड को अपने हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगी. शायरा ने अब बहुत कोशिश की कि उसके मुँह से चीख ना निकले, पर ये ऐसा धक्का था कि किसी भी लड़की की चीख निकल जाती.

मुम्बई की बारिश का कोई भरोसा नहीं होता है कि कब तक रुके।वो जब बाथरूम से निकली तब तक मैंने भी चेंज कर लिया और एक टी शर्ट व लोअर पहन लिया।उसने भी एक नार्मल टी शर्ट और नीचे हाफ पैंट पहनी थी जिसमें से उसकी गोरी गोरी टांगें दिख रही थी. तभी मुझसे रहा न गया और पास जाकर मैंने सुमन से उसकी चूत के बढ़े झाँटों के बारे में पूछ ही लिया।हमेशा ही अपनी मुनिया को चिकनी रखने वाली सुमन ने सिसकारी भरते हुए मुझे अपनी वासना से बोझिल उनिंदी निगाहों से देखा और मादक आवाज़ में धीरे से कहा- मुझसे क्या पूछ रहे हैं … इन्होंने ही कहा था कि झाँट साफ़ मत करना।वो पंकज की तरफ़ इशारा करके बोली. उनकी बात मानकर ऐसे ही सूरज धीरे धीरे लंड निकालता और डाल देता, मुझे भी हल्का हल्का मजा आने लगा और मैं भी लंबी लंबी ‘आआहह … आहह.

फिर चाचा जी ने बोला- अब पता है ना बेटा … क्या करना है तुम्हें?मैंने कहा- क्या करूं चाचा जी?चाचा बोले- ब्लू फिल्मों में नहीं देखा क्या! अब तुम्हें लंड मुँह में लेना है. मैंने बिन्नी से कहा- बाथरूम जा कर अपने हाथ धो कर आओ, रोहन ने इन्हें गंदा किया हुआ है.

[emailprotected]सेक्सी इंडियन वाइफ स्टोरी का अगला भाग:पतिव्रता बीवी की चुदाई दोस्त के बड़े लंड से करायी- 3. पापा जी, आग मेरी चूत में लगी है और आप मेरी गांड की प्यास बुझाने में लगे हो. वो गांड में उंगली के साथ साथ अपनी दूसरे हाथ से उसकी चूत चोदने लगी … ताकि चूत की गर्मी से गांड का दर्द पता ना चले.

मैंने अगले ही जोरों से उनके होंठों को चूमते हुए कहा- मासी आज से मैं आपका मर्द हूं.

मुझे कुछ लगा तो मैंने भाभी से पूछा- चूत की झांटें कब साफ़ की थीं, ऊपर से नीचे तक एकदम मखमल की तरह चिकनी लग रही है. इसमें आपको आसानी से अपनी सेक्स इच्छा पूरी करने का मौका मिल जाता है. वैसे भी मैट्रो में भीड़ इतनी ज्यादा थी कि दूर दूर खड़ा रहना मुमकिन नहीं था।कुछ ही देर में लंड में हरकत होनी शुरू हो गयी.

लगभग 5 मिनट की चुदाई में ही उसने अपनी चुत का पानी छोड़ दिया और निढाल होकर लेट गई. फिर बुआ दूसरे विषय पर आते हुए बोलीं- बेटा, उस समय तुम दीदी के बारे में क्या कह रहे थे कि वो आतीं … तो उनको ही मजा आता.

मैं बोला- प्रियंका सुरभि को लेने गयी है, तुम भी चलो … आंटी के यहां से दीवान ऊपर लाना है. फिर अचानक से उसने अंडरवियर उतार दिया और मेरा लंड गप्प से अपने मुँह के अन्दर कर लिया. वैसे अगर आज के लिए माफ कर दिया, तो कल वो दिन भी दूर नहीं होगा … जब मैं उसके रसीले होंठों पर भी किस करूंगा.

बीएफ फिल्म मौसी की

मेरी गर्म चूत की चुदाई ऐसी हो रही थी … जैसे कोई अनुभवी चोदू करता है.

जल्दी से भाग कर मैं अन्दर चली गयी और देखा तो वहां अब तक सिर्फ झाड़ू लगाने वाली आंटी आयी थीं. एक दिन उसका फ़ोन आया कि वो कुछ काम से मुम्बई आ रही है और वो मेरे साथ ही रहेगी 2-3 दिन तक!मेरे मन में लड्डू फूटने लगे. समय ज्यादा नहीं मिला लेकिन इसी में हमने जितना हो सका एक दूसरे के होंठों को चूमा.

मैंने उसकी ओर देखा तो वो बोला- यार एक बार टच करने दे ना प्लीज?मैं बोली- नहीं, दिमाग नाम की चीज है या नहीं? यहां क्लास में कैसी हरकत कर रहा है, किसी ने देख लिया तो?वो बोला- यार कोई नहीं देखेगा, अभी आधे घंटे से पहले कोई नहीं आने वाला. आंटी को भी प्रियंका ने बता दिया था, वो भी उसकी एक आवाज पर बाहर आ गईं. औरतों के फोटोमैं- दोस्त तो होते ही है सर खाने को!वो- तुमसे दोस्ती किए दो दिन नहीं हुए हैं और तुम तो ऐसे बात कर रहे हो, जैसे की मुझे सालों से जानते हो.

मैं उसके तने हुए मोटे उरोज़ों को दबाने में मशगूल हो गया।अपर्णा मेरे ऊपर ही लेट गयी और हम किस करने लगे. मैंने भी प्यार से बिन्नी के गालों और बालों को सहलाना शुरू किया और धीरे धीरे उसके मुँह में लौड़े को आगे पीछे करता रहा.

इसी के साथ ही वो मेरे कान की लौ को भी काट लेता और मेरी गर्दन पर चुम्बन कर देता. वो- बच्चा आगे आ गया या जानबूझकर फायदा उठा रहा है?मैं- तुम हमेशा ऐसा ही क्यों सोचती हो, मैं तो हम‌ भीगे ना‌‌ … इसलिए थोड़ा तेज चला रहा था … और अचानक से बच्चा आगे आ गया. इसलिए मैं आप लोगों के साथ अपनी सुहागरात वाले किस्से को सुनाना चाहती हूं.

” ये कहते हुए उसने मेरी तरफ हाथ बढ़ाया … और मैं अपना हाथ उसके हाथ में देते हुए उसे ताड़ने लगा. कहानी के पिछले भागपड़ोसन के साथ होटल में सेक्स का मजामें अब तक आपने पढ़ा कि भाभी ने मेरी थ्री-सम सेक्स की इच्छा को जानकर अपनी सहेली ट्विंकल को बुलाने के लिए फोन उठा लिया था. मैं- तब तक क्या ऐसे ही रहोगी? पता है ना कपड़े से इन्फैक्शन हो सकता है.

वो बड़ी गर्मजोशी के साथ प्रियंका की चूत को उंगली से चोदने के साथ चूसने में लगी थी.

बिन्नी ने अंदर से दरवाजा बंद किया और कई देर बाद बाहर निकली, तब तक मैंने भी कमरे की अंदर से कुंडी लगा ली थी. इस आनंद को मैं बर्दाश्त नहीं कर पाया और मेरे माल की पिचकारी लंड से छूट पड़ी.

मैंने सोचा कि वो सो रही है।दूसरी बार मैंने थोड़ा दबाव डाला और कोहनी से उनके बूब्स को दबाया तो उन्होंने आँख खोलकर मेरी ओर देखा. तो रवि बोला- बिना कंडोम के मैं उसे तुम्हारी चूत में कैसे लंड घुसाने दूं. शायरा की चुत के साथ साथ मैंने उसके दिल में भी अपने लिए जगह बना ली थी.

मैं बोली- क्या तुम कभी टाइम पर नहीं आ सकते हो? कोई बात नहीं, तुम्हें मैं अच्छी तरह सिखा दूंगी कि जब कोई बुलाता है तो टाइम पर कैसे पहुंचा जाता है. उसके ऐसा करने से मैं भी थोड़ा हड़बड़ा गया था, इसलिए मैंने तुरन्त अपना मुँह दूसरी तरफ‌ कर लिया और बाहर खिड़की की ओर देखने लगा. हाय, मैं सुनीता हूँ मेरी 28 साल की उम्र है लेकिन मेरा फिगर बड़ा ही खतरनाक है.

विदेशी बीएफ व्हिडिओ एक बार मैंने उनके लंड की पूरी चमड़ी नीचे खींची ओर उसके गुलाबी सुपारे को प्यार से देखा और फिर जीभ से उसे चाटने लगा. अब आगे दोस्त की चुदासी बीवी की कहानी:कुछ दिन बाद अनिल की बीवी आ चुकी थी.

बीएफ पिक्चर वीडियो ब्लू फिल्म

फिर मैंने धीरे धीरे उसके ब्लाउज के हुक खोल दिये और ब्लाउज के दोनों पल्ले अपनी अपनी साइड में नीचे तक जा खिसके. फिर उसके हाथ मेरे सिर पर आ गये और वो लंड को पूरा मेरे गले तक फंसाने लगा. अब मैं उसकी टांगें और चौड़ी करके चूत चाटने लगा और मीनू मेरा लौड़ा चूसने लगी।मैं बीच बीच में उसकी चूत में उंगली भी कर रहा था.

पर इस बार सूरज रुक नहीं पाया और कुछ पलों में ही मेरी चूत में ‘आह … आहह … आहह … सुहानी मैं गया … आहहआ … आह. मैंने पहले उसकी झांटों पर काट-काट कर छोटा किया और फिर बाकी बची हुयी झांटों को रिमूवर से अच्छे से कवर कर दिया. ब्लैक पोर्न वीडियोलोटे में से जल लेकर सलोनी की बुर पर छिड़का, फर्जी मंत्र पढ़ा और उसकी बुर व नाभि पर एक एक फूल रख दिया.

ऐसे ही कुछ मिनट तक मैंने मासी की झड़ी हुई चुत को चाटा, तो मासी की चूत फिर से गर्मा गई.

थोड़ी देर रूक कर मैं भी राजेश और डॉक्टर को देखने दूसरे वार्ड की ओर चला गया. जिसके लिए आप सभी ने मुझे मेल के द्वारा बहुत प्यार दिया … उसके लिए आप सभी का बहुत धन्यवाद.

अस्मिता शुरू में तो कंडोम से चुदी थी लेकिन पिछले दो साल से बिना कंडोम के चुद रही थी. वो- हांआआआ …उसने मुँह सा बना के मुझे चिड़ाते हुए कहा और हम दोनों फिर से हंसने लगे. उनका सख्त लंड मेरे मुँह में जगह बनाता हुआ घुस गया और हलक तक जा कर अटक गया.

मैंने उससे कहा- तेरी शादी के बाद भी तो एक ब्वॉयफ्रेंड है उसका क्या?ये सुनकर वो पहले तो चुप हो गई.

उसके जाने के बाद मैं तैयार होकर घूमने निकल गयी और दिन भर घूमती रही. पर अब भी जब वो आते हैं, मैं उनसे अपने मन की सारी बातें बताता हूँ।और वो अभी भी मेरे सबसे अच्छे दोस्त और सेक्स पार्टनर भी हैं।तो दोस्तो … यह थी कहानी रोनी और उसके चाचा जी की। मुझे आपके कमैंट्स का इंतज़ार रहेगा. शायरा ने अब बहुत कोशिश की कि उसके मुँह से चीख ना निकले, पर ये ऐसा धक्का था कि किसी भी लड़की की चीख निकल जाती.

ओपन सैक्सअब मैंने विमला को उल्टा कर दिया और उसकी पीठ पर चुंबन की झड़ी लगा दी. रोनी रोहिणी की गांड में लंड डाले हुए बोला- रंडी अभी बोल रही थी लंड डालो.

इंग्लिश हॉट सेक्स बीएफ

अब मेरा लन्ड फिर से अपने असली रूप में आ गया और वह हिम्मत करके उसको मुंह में लेकर चूसने लगी. जब मां घर आईं, तो मैंने उनसे पूछा कि सारी रात कहाँ रहीं?तो मां ने हंस कर बताया कि आज मैं चार से चुद रही थी. पर ये बता सेक्स के मज़े लेने के लिए तुझे शादी की क्या जरूरत है? तुम तो इतनी खूबसूरत हो कि कोई भी लड़का सैट हो जाएगा.

मैं- देखो कल जो हुआ उसके लिए सॉरी बोला है, दोस्ती में इतना तो चलता है. अब स्थिति ये हो गई थी कि पोर्न मूवीज के हर सीन पर रवि कुछ कहता, तो पिंकी भी उसे रसदार जवाब दे देती. लगाने के बाद वो मेरी ओर देखकर स्माइल करने लगा और फिर इसी तरह हमने कई पोज दिये.

मैं ये सुनकर निहाल हो गया कि मेरी संस्कारी बीवी अपने यार की फ़रमाइश पर अपनी चूत की झाँटें बढ़ाती रही लेकिन मुझे बताया भी नहीं!चूँकि मैंने एक सप्ताह से उसे चोदा ही नहीं था तो उसका ये राज़ मेरे लिए राज़ ही रहा।मैं इधर अपने खयालों में खोया था और उधर पंकज ने सुमन की चूचियाँ चूसकर निप्पल लाल कर दिए थे. अब मैं जोश में आ गया और लन्ड की रफ्तार बढ़ा दी और अंदर-बाहर करने लगा. हालांकि अन्तर्वासना साईट पर कहानियों को पढ़ पढ़कर चुदाई का लिखित ज्ञान मिल गया था लेकिन उसको अभी अनुभव बनाना बाकी था।मेरी कोई गर्लफ्रेंड तो थी नहीं इसलिए बस जब मन करता तब हाथ से ही हिलाकर अपने लंड को शांत कर लेता था।जब मैं दिल्ली आया तो इस शहर में आने के बाद तो जैसे कि सब कुछ ही बदल गया।यहाँ के हुस्न को देखकर मेरा लंड बेकाबू हो जाता था.

उसके आने से पहले ही मैंने अपने फ़ोन में वीडियो रिकॉर्डिंग चालू करके उसे ऐसी जगह पर इस तरह से रख दिया था कि कमरे में जो भी बात हो या काम हो, सब चुपचाप रिकॉर्ड होता रहे।पंकज के रूम में आने के बाद हम दोनों ने एक दूसरे को हाय बोला और दोनों अपनी ख़ुशी या झेंप छुपाते हुए बैठ गए।मैं अपनी ख़ुशी छिपा रहा था और पंकज बेचारा इस झेंप में था कि खुश होने से कहीं मैं अपनी बीवी को उससे चुदवाने से मना न कर दूं. अब तक मैंने भी उसका लंड पैंट से बाहर निकाल कर हिलाना शुरू कर दिया था.

बाहर हो रही हल्की बारिश की बूंदें हमारे शरीर पर गिर रही थीं और उसी बारिश में मैं अपर्णा को चोद रहा था।ऐसे बारिश में मैं पहली बार किसी लड़की के साथ सेक्स कर रहा था और अपर्णा के लिए भी ये पहली बार का ही बिल्कुल ही एक नयी तरह का अनुभव था.

”कुछ देर बाद सलोनी आई तो मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी स्कर्ट ऊपर उठा दी. किचन बनाने का तरीकामेरे पीछे खड़ा होकर उसने मेरी कलाई को बांधकर ऊपर लटके एक हुक से बांध दिया. कचोरा फोनआज मैं तीन थैला लेकर गया था, पर आज देखा कि उस लिस्ट में ज्यादातर शाम को खाने पीने की और महफ़िल जमाने की चीजें ही लिखी थीं. हम तीनों को वाइन पीते हुए काफी समय हो गया था और रात के 12 बज रहे थे।मैं अब वह से जाना चाहती थी.

पर मेरे लंड की फड़कन और उसकी चूत की कुलाचें मुझे मतवाला बनने पर विवश कर रही थीं.

पिंकी पहले तो नाराज हुई, पर जब अनिल ने भी उसके मम्मों पर हाथ फिराया … तो वो कामाग्नि में जल उठी. मैंने भी देर ना करते हुए उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया और उसकी टांगों को हवा में उठा कर उसकी गुलाबी चुत पर अपना लंड टिका दिया. वो- जैसा कमीना तू है ना, वैसे ही तेरे सारे दोस्त होंगे … और लगता तू मुझे भी वैसा ही बना कर छोड़ेगा.

लंड चुसाई से पहले हमने एक दूसरे की आंखों में देखा, एक अनचाहा अनजाना सा फ़्लाइंग किस किया और फिर किसी भूखे भेड़िये की तरह एक दूसरे के लंड पर ऐसे टूट पड़े, जैसे होड़ लगी हो कि पहले कौन किसे फ्री करेगा. मैंने दारू खत्म की और लाइट ऑफ करके स्वाति भाभी की गांड से चिपक कर सो गया. फिर बात ही बात में उसने अपना हाथ मेरी जांघ पर रख दिया और हल्के से सहलाने लगा.

सेक्सी बीएफ सील पैक वाला

वो धीरे धीरे अपने हाथों को आगे पीछे करके मुझे अपने चरम तक पहुंचाने लगी।बीच बीच में वो मेरे लंड को दबा देती थी जिससे मेरे मुँह से आह्ह … निकल जाती थी।इस सब क्रिया के दैरान हम दोनों सिर्फ एक दूसरे की आँखों में ही देख रहे थे। मुझे पहली बार अपने चरमसुख पर पहुंचने में इतना मजा आ रहा था।जैसे ही मैं झड़ने को हुआ तो उसको मेरे बदन की हरकत पता चल गयी और उसने मेरे लंड को छोड़ दिया. भाभी मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगीं और ट्विंकल से बोलीं- मेरी जान ऐसे मजा ले … साली क्या हिला रही है. मैंने एक जोर का झटका मारा तो मेरा लंड फिसल गया। मैंने उस पर थूक लगाया और फिर से लौड़ा छेद पर टिकाया.

हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं अपने जिस्म के उभारों को निखारने के लिए डॉक्टर के पास गयी.

हॉट गर्ल की गांड की कहानी में पढ़ें कि मेरा भाई मुझे चोदना चाह रहा था पर मेरी चूत दुःख रही थी.

उसके ऊपर आते ही मैंने लन्ड को तुरंत चूत में घुसा दिया और फुल स्पीड से चोदने लगा।वो सिसकारियां लेते हुए चुदने लगी और कहती रही- आह्ह … चोदो राजा … आह्ह फाड़ दो इस चूत को … इसकी आग को शांत कर दो … आह्ह चोदो … और चोदो।मैंने चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी और लंड को तेजी से अंदर-बाहर करने लगा. मनमोहन जी का दिल्ली में अपना मकान था लेकिन वो अक्सर गांव में अपनी जायदाद को संभालने आ जाया करते थे. लड़की को चोदते हुएइसी तरह बताते बताते अभिषेक ने एक बार गलती से मेरी जांघ पर हाथ रख दिया, तो उसने तुरंत ही हटा दिया.

मैं- हां, एक प्यासी औरत, जो सेक्स, खुशी, हंसी, प्यार सबकी प्यासी है. विमला ने अन्दर झांक कर देखा और बोली- क्या मैं अन्दर आ सकती हूँ!मैंने कहा- आपको इस तरह के बोल शोभा नहीं देते. जब मैं सारा सामान खरीदने लगा, तो दुकान वाले ने पूछ ही लिया कि घर के सब लोग आ गए क्या!वहां पर भी मैंने हां में सिर हिलाया और सामान लेकर वापस चल दिया.

तो मैम ने उससे पूछा कि आज तुम अकेले कैसे! बाकी के दोनों लड़के कहां हैं?अभिषेक ने जवाब दिया कि वो दोनों नहीं पढ़ेंगे. इस सबके काफी दिन बाद मेरी पहचान हुई जोहरा जी से, जो 45 वर्ष की एक गृहिणी थीं और इंदौर की रहने वाली थीं.

डायरी में पिंकी ने अनिल द्वारा बनायी गयी रवि के लिए सभी बातों और रवि से सेक्स न करने की बात का भी जिक्र किया था.

वो तो अपनी मस्ती करने के लिए चली गयी लेकिन मुझे घर में अकेले रहते हुए ख्याली उतार-चढ़ाव आने लगे. लेखक की पिछली कहानी थीमैं बनी स्कूल की नंबर वन रंडीअब इस नयी कहानी का मजा लें. संध्या- आआआ भड़वे … मैं झूठ बोल रही हूं क्या … पिछली बार ऐसे ही पिलाया था ना पायल दीदी ने अपना दूध? और साले तू भी तो कैसे उस हरामिन का दूध पी रहा था, जैसे मैंने तो तुझे कभी पिलाया ही नहीं था … बहनचोद साला.

मुस्लिम लड़की की नंगी फोटो मैंने इस तरह कमली को सैट किया और उसकी गांड पर ठीक से थूक कर लंड को सैट कर दिया. उसने मेरे पूरे शरीर में साबुन लगा देखा और मुझसे चिपक कर बोली- जीजू, आपसे अलग होने का मन ही नहीं हो रहा था.

फिर मैंने लन्ड को बाहर निकाला और उसकी गांड में डालने की नाकाम कोशिश करने लगा. वो महिला बोली- कमल सेठ, एक बार हमारी लड़की को भी अपने मेहमान को दिखा दो. सन्नी मेरे रूम में बैठकर ड्रिंक कर रहा था, काफ़ील उधर चलने को उठ गया.

सेक्सी बीपी बीएफ हिंदी में

असलम- फिर!मैं- फिर वो एक धक्का नहीं देते, धक्के पर धक्का देते चले जाते. फिर उसकी एक टांग अपने कंधे में ले ली और दूसरी फर्श पर लटका कर उसकी फुद्दी में लंड डाल कर चोदने लगा. राजेश बोल कर चुप हुआ, तो मैं बोला- इस समय मैं जयपुर के एक सरकारी अस्पताल के एल-थ्री ग्रेड के कोविड वार्ड में एडमिट हूँ.

मैं उसकी तरफ देखने लगा कि ये तो ग्राहकों को देखने के लिए ही कह रहा है. मैं उसकी पीठ और गर्दन पर चुम्बन की बौछार कर रहा था, लेकिन सायरा मुझे रोकते हुए बोली- अभी नहीं पापा, सोनू जाग रहा है.

मेरे जैसे ही उसको भी हर तरफ मैं ही मैं दिख रहा होऊंगा‌, तभी तो वो रात को ही मेरे पास आ गयी.

उसकी रूममेट, जिसको इन्होंने सुरभि मैम के रूम में रात के लिए शिफ्ट कर दिया था. अपने मम्मों पर हाथ महसूस करके उसने भी मेरी शर्ट में अन्दर हाथ डाल दिया और वो भी मेरे सीने पर हाथ फेरने लगी. उसकी दोनों बाँहें पकड़कर मैंने उसे नीचे की ओर दबाया तो टप्प की आवाज हुई और मेरे लण्ड का सुपारा सलोनी की बुर के अन्दर हो गया.

मानवेन्द्र ने पहले मेरे दोनों पैरों को अपने पैरों से चौड़ा किया … फिर दोनों हाथों की उंगली को, जो मेरी गांड में थीं, एक दूसरे के विपरीत दिशा में खींच कर गांड को चौड़ा करने लगा. मैंने पास पड़ी अपनी पैंट की जेब से कंडोम निकाला और उसे अपने लंड पर चढ़ा लिया. तब मेरी पहली चुदाई के बाद सुरभि मैम बाथरूम में थीं, मैंने उनको बुला लिया था.

मैं बोली- तुम्हें सवाल करने का हक नहीं दिया है मैंने मेरे कुत्ते! जैसा मैं कह रही हूं बस वैसा करो.

विदेशी बीएफ व्हिडिओ: शायद वो मेरे अगले धक्के का इंतजार कर रही थी, इसलिए मैंने भी अब एक जोरदार धक्का और लगा दिया. कभी वो मेरे होंठों को, तो कभी मेरे मम्मों पर थूकता और उन्हें चूसकर काट भी लेता.

वो बोली- ये सब करता है तू लैपटॉप में? बता दूं आंटी को?उस समय मैं कुछ कहने लायक नहीं था. उसकी सुडौल कसी हुई गोल गोल गांड ने मुझे एक गहरी कामवासना में डाल दिया था।शनाया अब टेडी को फर्श पर लेटा कर खेल रही थी. मैंने भाभी की दोनों टांगों को अपने कंधे पर रख कर अपना लंड भाभी की चूत में आधा डाल दिया.

दोस्तो, मैं उम्मीद करती हूं कि आप लोगों को यह सेक्स कहानी बहुत अच्छी लगी होगी.

संध्या चाची- आह मेरे देवर जी … और जोर से चोद भड़वे … क्या तेरी गांड में दम नहीं है कुत्ते की औलाद, कुछ तो मेरी देवरानी का ख्याल कर … नहीं तो वो अपने जेठ से चुदवाने आ जाएगी. मैंने भी उसका साथ बराबरी से दिया और उसको ये नहीं मालूम चलने दिया कि मैं मानसी नहीं रूपा हूँ. सुपारे को इस तरह रगड़ते रहने पर सायरा बोली- लगता है आपके लंड को मेरी गांड की महक अच्छी लगी.