लखनऊ के बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,अमिताभ बच्चन की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

शिल्पी राज सेक्स वीडियो: लखनऊ के बीएफ सेक्सी, वो बहुत देर तक वैसी ही रही जब तक कि उसको यह अहसास नहीं हुआ कि उसका बेटा भी वहीं है, और वो बहुत देर तक उस स्थिति में नहीं रह सकती.

सेक्सी वीडियो हॉट सेक्सी बीएफ

चाची के दो छोटे छोटे बच्चे भी थे, पर चाची तो ऐसे लगती थीं कि अभी कॉलेज में पढ़ती हों और अभी उनकी शादी भी न हुई हो. स्कूल की लड़कियों का बीएफ वीडियोवो इतने तेजी से झटके मार रहा था जैसे सुनामी आ रही है और दुनिया अब थोड़ी देर में खत्म हो जाएगी.

लेकिन एक घंटे बाद ज़ायरा का फ़ोन आया और बोली- क्या सच में हम दोनों चल सकते हैं?अब मैं थोड़े मजे लेने के मूड में था, तो बोला- तुम्हारी मर्जी हैं. बीएफ बॉईजतेरे जैसी सेक्सी लड़की के सामने तो मैं सारी दौलत लुटाने के लिए तैयार हूं.

” नीलम ने अपने ससुर को समझाते हुए कहा।बेटी यह देखो तुम्हारे साथ थोड़ी देर रहने पर भी यह कैसे उठ जाता है.लखनऊ के बीएफ सेक्सी: ऐसा लग रहा था मानो एक मशीन के दो छेदों में दो पिस्टन एक साथ अन्दर बाहर हो रहे हों.

उठने के बाद मैंने अपने जानकार को फोन लगा कर सारी बात बता दी क्योंकि स्थिति गंभीर हो गई थी.पूजा के बाल खींचते हुए मैं उसकी गांड पर थप्पड़ मारते हुए मैं उसे चोद रहा था मानो घोड़ी की लगाम पकड़ उसे डंडी से मारते हुए दौड़ने को कहा जा रहा हो और घोड़ी हिनहिनाते हुए दौड़ रही हो.

राजस्थानी सेक्सी चुदाई बीएफ - लखनऊ के बीएफ सेक्सी

महेश ने ज्योति की गांड से उंगली निकाली और नीचे झुक कर अपनी जीभ उसकी गांड के छेद पर टिका दी.झड़ने के बाद उसने मेरे लंड पर लगा सारा रस पी लिया और लंड का लॉलिपॉप की तरह चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया.

अगर ऐसी चुदाई मिल जाये तो बरसों की प्यास पर सुकून की बूंदें गिर जाती हैं. लखनऊ के बीएफ सेक्सी फिर उनके बॉस ने मेरे हस्बैंड को कुछ पैसे भी दिए और कहा- आगे जब भी मनीषा जी को मेरी जरूरत हो तो मुझे याद कर लेना.

लेकिन मन में एक ऊहापोह थी कि क्या प्रतीक मेरी भावनाओं को समझेगा? अगर उसने कहीं मुझे घर से बाहर निकाल दिया या बच्चा गिराने को कहा तो क्या होगा.

लखनऊ के बीएफ सेक्सी?

उसके पैसे लौटाने के बाद मैंने उसकी पैंटी को खींच दिया और उसकी योनि को चाटने लगा. ये सब इतना अनायास हुआ था कि हम दोनों अपने संतुलन खो बैठे और मैं भाभी को अपनी बांहों में लेते हुए बिस्तर पर गिर पड़ा. हैलो मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हैं आप सब? उम्मीद करती हूँ आप सब मजे में होंगे.

मैं उसके साथ सेक्स करना चाहता हूं, लेकिन यह आपकी परमीशन के बिना संभव नहीं है. अब आगे:गीत मुझे बताए जा रही थी कि खूबसूरती का आलम ये था कि जो भी मर्द हमें देख ले, वो हमें चोदने का ख्वाब जरूर देखता रहा होगा. हम अब पहले से ज्यादा खुले कपड़ों में आ गये थे क्योंकि अब तक तो बाकी लोग भी साथ थे इसलिए इतनी आजादी में सांस लेने का मौका नहीं मिल पाया था.

एक पल रुकने के बाद उसने घूमकर मेरा लंड मुँह में लिया और जोर जोर से चूसने लगी. फिर भाभी ने अपने दोनों पैरों को दोनों तरफ फैलाते हुए अपने हाथों से चूत को और फैला दिया. मेरे ग्रुप में भी वही लड़का है, जो मेरे साथ हमेशा ऑफिस का काम करता है.

मुझे अंदाजा हो गया कि शायद इसी लिए इसने मुझे ऐसे वक्त पर बुलाया है जब बच्चे भी घर पर नहीं हैं. उसके बाद नेहा ने मेरी टीशर्ट उतारनी शुरू कर दी और मेरी छाती को चूमने लगी.

थोड़ी थोड़ी देर में उनमें से कोई बाहर आता … पकोड़े पर हाथ साफ़ करता और बियर के घूँट मारकर दोबारा पूल में चला जाता.

मेरे अंदर आशीष को पाने के लिए ऐसा जुनून था कि मैं उसके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार थी.

” नीलम ने जल्दी से अपने ससुर से अलग होते हुए कहा।क्या हुआ बेटी अब माफ़ी किस बात के लिए माँग रही हो?” महेश ने हैरान होते हुए कहा।वो … पिता जी हमें इतना आगे नहीं बढ़ना चाहिए था. उस दिन बहुत रात हो गयी थी, तो मैंने अपने घर कॉल करके बता दिया कि मैं अपनी सहेली के घर रुकी हूँ. मैंने अन्दर देखा कि बाथरूम में बाथटब था, मैंने सोचा उसी में इसके साथ कुछ किया जाए.

दीदी ‘उह … आह … ऊऊऊऊऊ … आ आ आ…’ करते हुए बेड को दोनों हाथों से जोर से पकड़े हुए थी. कुछ देर में यशिमा ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और वो मस्ती से मेरा लंड चूस रही थी. सोनिया- बहुत बदमाश हो तुम … मैं पहले से यहां लगभग नंगी लेटी हूं और ऊपर से तुम चाहते हो कि मैं तुम्हें खुल कर बताऊं.

नीलम ने कहा कि आज उसकी चूत दुख रही है तो महेश ने कहा कि वो उसका दर्द ठीक कर देगा.

प्रिन्स नीता की चूत के अंदर उंगली डालने लगा और अंदर बाहर करने लगा और बोला- भाभीजी, अब मुझसे रहा नहीं जाता. आदी- तो क्या हुआ आज?मैं- आज मैंने चुदवा लिया … मुझे कुमार से चुद कर बहुत मज़ा आया … यार इतने दिन बाद चुद कर मेरी तो खुजली एकदम से मिट गई. पहले तो मुझे लगा था कि ये सब टाइम पास करने का जरिया है … और फालतू का काम है.

लेकिन तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए, वो तुम्हारे बारे में हमेशा सोचते रहते हैं. मैंने उसकी कमर पर ऑयल ड्रापर से तेल गिराया और उसकी पीठ पर मालिश करने लगा. लगभग 30 मिनट तक चोदने के बाद मैंने अपना पानी सरोज भाभी की चूत में भर दिया.

कई बार इस साइट के माध्यम से सेक्सी भाभी और चुदक्कड़ आंटी को खोजने में भी मुझे काफी सहायता मिली है.

टीना मेरी सहकर्मी है, हम दोनों काफी जल्द ही बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे. अब तक नामित, निक और डेविड ने मुझे लगातार धुंआधार चोद डाला था और मैं लस्त होकर निढाल अपने रूम में बेड पर एक घंटे तक बिना होश के पड़ी रही थी.

लखनऊ के बीएफ सेक्सी उसके बाद मैंने भाभी की चूचियों को हाथों में दबोच लिया और तेजी से उसकी पीठ पर झुक कर उसकी चूत को चोदने लगा. आप लोगों को तो पता होगा ही, अगर एक बार मुट्ठी मारी, फिर अपने आपको मुट्ठी मारने से रोक पाना बहुत मुश्किल हो जाता है.

लखनऊ के बीएफ सेक्सी तो जाहिर है कि परमीत के लो कट काले टॉप से उसके चमकते गोल कटीले नोकदार उरोज के स्पष्ट दीदार संजय को होने लगे थे. 15-20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद प्रिन्स बोला- भाभी मेरा होने वाला है, कहाँ गिराऊँ?नीता बोली- अंदर ही गिरा दो!8-10 जबरदस्त धक्कों के साथ प्रिन्स ने अपने माल नीता की चूत में गिरा दिया.

असल में उन सभी के मर्दों ने ऐसा कभी उनसे जिक्र भी नहीं किया था, तो बिना बात किये ग्रुप सेक्स का प्रश्न ही नहीं उठता था.

कुत्ते कुत्ते की सेक्सी वीडियो

वो जानबूझ कर झुक झुक कर मुझे अपनी चुचियों की झलक दिखा रही थीं, जिससे मैं और गर्म होता जा रहा था. बाकी दिन रोज की तरह ही गुजर गया शाम को 4:30 बजे मैंने एक ऑटो लिया और पार्क पहुंच गया. दीदी लंड देख कर बोली- क्या कर रहे हो साकेत … ये सब ठीक नहीं है? प्लीज़ तौलिया लपेट लीजिए ना?साकेत भैया- अरे प्रिया अभी तो शुरू हुआ है.

हर एक धक्के के साथ मैंने पूरे लंड को उसकी चूत में फंसा दिया और वो मेरे विशाल लंड को अब आराम से चूत में लेने लगी. मैंने जानकार से कहा कि जल्दी ही कोई लेडी डॉक्टर भेज दे ताकि मेरी साली की फटी हुई गांड की सिलाई की जा सके. हल्की चांदनी की रोशनी में हमारे दोनों के नंगे बदन खूबसूरत लग रहे थे.

कई बार तो मूवी हाल में बैठे बैठे ही उसने शबनम की चूत का बुरा हाल कर दिया.

वो भी अपने दोनों हाथों से मेरी पीठ को सहलाने लगी।मैंने कसकर उसे अपने सीने से लगा लिया।अब मैंने लंड पर थोड़ा दबाब देना शुरू किया. आपको मेरी दीदी की ये सेक्स कहानी कैसी लग रही है … प्लीज़ मुझे मेल करें ताकि मैं अपनी दीदी के साथ आपके मेल पढ़ कर मजा कर सकूँ और उसकी मदमस्त चुदाई की कहानी आपके लिए लिख सकूँ. भाभी ने उसे मनाने के लिए और उसे कंफर्टेबल फील कराने के लिए मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

मैंने उससे पूछा कि आपकी शादी को कितने महीने हुए हैं?उसने कहा- महीने … अरे साल हो गए हैं. मुझे पता लग गया था कि इसकी चूत को अब चुदाई के लिए तैयार करने का यह सही मौका आ गया है. अब तो मेरा खुद ही मन करने लगा था कि उनके लंड को अपने हाथ में लेकर अच्छी तरह से उसको प्यार करूं.

फिर मैंने बोला- अब जरा झाड़ू भी ऐसे ही लगा लो और बर्तन भी ऐसे ही साफ कर लो. कुछ देर बाद परी मैम ने कहा- प्लीज़ डाल दो न … अब बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से फाड़ डाल मेरी चुत को … साली बहुत तंग करती है … जल्दी से फाड़ डाल आज इसे.

ऐसे में अचानक मेरी चूत में अलग सी गर्माहट आ गई और मैंने जोर से अपनी कमर आगे पीछे करना शुरू कर दिया. मैंने हैरान होते हुए कहा- उस साले बुड्डे का लंड अब खड़ा भी होता है?वो हंस कर बोली- साले का लंड दबा खा कर ही खड़ा हो पाता है … फिर भी उसने मेरी चुत में आग लगा कर मुझे छोड़ दिया था. उसने मेरे मम्मों को खूब चूसा, फिर मेरे मम्मों में लंड फंसा कर चुदाई भी की.

उसके तेज धक्कों से मिल रहे आनंद के कारण मैं जल्दी ही सातवें आसमान पर पहुंच गया.

फिर उसने मेरे होंठों पे अपने होंठ रख दिये और ज़ोर से दबा दिया। फिर उसने एकदम से अपना पूरा लंड घप्प करके मेरी चूत में उतार दिया और उसके लंड की खाल पीछे सरकती हुई अटक गयी और उसका लिंगमुंड मेरी चूत की झिल्ली यानि सील को पूरी फाड़ता हुआ मेरे जिस्म की गहराई में उतर गया और सचिन मेरे ऊपर गिर गया।मुझे उस पल इतना असहनीय दर्द हुआ हुआ. इन चारों सहेलियों ने एक अपना व्हाट्सएप्प ग्रुप बना रखा था, पर सबने आपस में एक दूसरे को कसम दे रखी थी कि वे इस ग्रुप को अपने पतियों को भी नहीं बतायेंगी. वही बड़ी बड़ी पिछाड़ी और उनमें छिपी हुई दीदी की गांड ऐसी लग रही थी कि मानो उनके जांघिए को फाड़ कर बाहर निकल आएगी.

मैंने वासना से मारी जा रही थी, चाहर रही थी कि ये दोनों मुझे चोद चोद कर अधमरी कर दें. थोड़ी देर बाद सुधीर सर ने पीछे से मेरी चूत में अपना लन्ड डाल दिया और राजेश्वर सर मेरे मुख में अपना लन्ड पेलने लगे.

बैटरी ऑन करके शबनम ने नायरा से कहा- ला तेरी मुनिया की मालिश कर दूं. उधर संजय ने अपने ऊपर के कपड़े निकाल दिए, बनियान तो उसने पहनी ही नहीं थी, ऐसे में उसका कसरती आकर्षक चिकना बदन माहौल को कामुक बनाने लगा. तभी दीदी ने साकेत भैया का हाथ पकड़ ली और बोली- नहीं … इसको मत खोलिए.

आबूरोड सेक्सी वीडियो

बुर्का और ऊपर करके वो टॉप के बटन खोलकर सामने से वो मेरे बूब्स चूसते हुये मुझे चोदने लगा।उसके झटके देखके लग रहा था कि अभी उसको बहुत कुछ सीखना बाकी है.

अमेरिकन जैसे खड़ी अंग्रेजी बोलते हैं और उनकी स्पेलिंग भी ठीक से समझ नहीं आती है. दरअसल मैंने अपनी तीन उंगलियों को एक साथ चूत में अन्दर तक डाल दिया था. मैंने भी अपनी गर्दन पीछे करके उन्हें चूमना शुरू कर दिया और अपने हाथों से सुनीता की ब्रा के ऊपर से चुचे दबाने लगा.

अब मैं बॉस के होंठों को चूस रही थी और उनके लंड को चूत में लेकर बैठी हुई थी. ” (अपनी रंडी को चोदिए मेरे मालिक)उम्मम हम्मम्म यसस … आहहहह फ़क मी लाइक होर. सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती मेंसाथ ही मैं ये भी सोचने लगी थी कि ये भी मेरी इस बात का क्या जवाब देगा.

डिनर पर मैंने मौका देख मामी से बात करनी चाही- मामी, मुझे आपसे कुछ बात करनी है. वैसे जहां तक मुझे लगता है कि उसकी सादगी को देख कर शायद ही किसी के मन में उसके साथ सेक्स करने का विचार आता होगा.

मगर उसकी सादगी देख कर मेरे मन में अभी सेक्स के विचार नहीं आ रहे थे. अब वो रोज रात को मेरे बोबे दबाता और अपना लंड मेरी गांड पर घिसता था. मैंने पूछा- क्यों नहीं हो सकती?वो बोला- मैंने मां से तुम्हारी और मेरी शादी के बारे में बात की थी लेकिन उसने साफ मना कर दिया.

उन्होंने कहा- नहीं नहीं कर लेना … मैंने कब मना किया है … तुम्हारी जिंदगी है, जो चाहे करो. मैंने बिस्तर की चादर को हटाया और उसके बाद हम दोनों नंगे ही बिस्तर पर आ गए. अब आगे की कहानी:मैं सिगरेट और शराब लेकर नंगे बदन ही बेड पर आकर बैठ गया था.

ऐसी मनमोहक चूत अगर मिल जाये तो मैं उसका गुलाम बन कर रहूं जिन्दगी भर।वो ऊपर से अपने स्तनों पर दारू को गिराने लगी जो नीचे बह कर उसकी चूत तक आ रही थी.

तेजी से अपनी जीभ को मेरी चूत में मेरे पति ने अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. तभी भाभी ने उसका सर हिलाते हुए और उसके सर पर हाथ फेरते हुए कहा- मोना, अभी ये अन्दर डालेगा.

उसके लंड चूसने का अंदाज बड़ा मस्त था … आह क्या साली रंडियों के जैसे लंड चूस रही थी, मुझे मजा आ रहा था. वो ‘आह … उह … ओह … आह …’ करके आवाज निकालती रहीं और मैं भी ‘आह … आह …’ करके उनको पेलता रहा. और रही बात चुदाई की, तो मैंने सोचा कि ज्यादा बड़ी मांग रखने से हो सकता था कि परमीत पीछे हट जाए और मैं ये बिल्कुल नहीं चाहती थी.

वो बोली- ठीक है, मैं साबुन लगा देती हूँ, पर मुझे नहीं भिगोना! और पहले लाईट बंद करो. मेरी बहन ने भी हम दोनों के लंड हाथ में ले लिए और आगे पीछे करने लगीं. लेकिन जो था, यही था और बहुत चाहते हुए भी वो खुद की कोई मदद नहीं कर सकती थी.

लखनऊ के बीएफ सेक्सी जितने जोर से मैंने उसके चूचे दबाए, उतना ही उसकी चुत ने ज्यादा पानी छोड़ा. ” नीलम ने शर्म से अपना मुँह दूसरी तरफ कर रखा था।बेटी इसमें तुम्हारा कोई दोष नहीं है, बस हम दोनों इंसान हैं और गलती तो इन्सानों से ही होती है.

वीडियो सेक्सी अंग्रेजी पिक्चर

साफ़ साफ़ क्यों नहीं कहती कि गांव की जान कामिनी की चुत चोदने के लिया लौंडे लंड उठाए घूमते हैं. उसने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर चुत के मुँह पर सैट किया और धक्का लगाने को बोला. मेरी ब्रा जैसे ही उनको दिखाई दी उन्होंने मेरे कबूतरों को अपनी उंगलियों में दबोच लिया और मुझे बेड पर लेकर गिर गये.

ऐसे ही करते-करते मेरे चाचा के लड़के यानि कि मेरे भाई को मेरे बारे में पता लग गया कि मैं किरायेदार लड़के को पसंद करती हूँ और उससे रात भर बातें करती रहती हूं. उसके होंठों को चूसते हुए मैं कभी उसकी चूची को जो से दबा देता, तो उसके मुँह से मीठी सी आवाज निकल जा रही थी. सेक्सी में बीएफ मूवीअब मुझसे रहा न गया और मैंने उसको अपनी तरफ खींच कर उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

सोफा थोड़ा साइड में था। इसीलिए महेश को वहां पर बैठने में कोई झिझक नहीं हुई.

तब राजेश्वर सर बोले- क्यों रजनी … फुल इंजॉय हो गया था क्या?मैंने कहा- सर, आपको मुझसे क्या काम था?सुधीर सर बोले- हमें भी वो ही काम था जो तुम उस रूम में कर रही थीमैंने कहा- सर, आपने मेरे बारे में ऐसे कैसे सोचा? मैं आपकी स्टूडेंट हूँ. मेम- आह चूत को फाड़ना है क्या … धीरे धीरे चोदो मेरी जान … प्लीज़ …मैं मेम को धीरे धीरे चोदने लगा.

हैलो! कैसे हो दोस्तो, मैं सपना एक बार फिर से एक नई कहानी लेकर हाजिर हुई हूँ और आशा करती हूँ कि आपको ये सच्ची घटना भी पसंद आएगी. मैंने पापा के लंड को अपने हाथ में ले लिया और उनके लंड को हिलाना शुरू कर दिया. वो किस्सा मैं आप लोगों को बाद मैं अपनी दूसरी सेक्स कहानी में बताऊंगा.

मैंने सोचा कि शायद इससे बात बनने वाली है तो मैं उसके पास जाकर बैठ गया.

कुछ समय बाद, छन छन आवाज़ आई, उसने दरवाज़े के अंदर सिर्फ अपना हाथ किया और चुड़ी खनका कर उंगली से मुझे आने का इशारा किया. कितना लम्बा और मोटा था उनका ओफ्फ … मेरी तो जान ही निकल गयी उनके साथ करते हुये!”नीलम अपने पति को जलाने के लिए जाने क्या क्या बोल गयी. तू मुझसे पहले भी कहीं चुदवा चुकी है। अशीष ने बोला था कि आज मुझसे पहले तू लौड़ा अपनी चू़त में ले चुकी है.

रवीना टंडन बीएफ वीडियोघर के माहौल के कारण और अपने नेचुरल स्वभाव से मैं बहुत रोमैंटिक लड़की हूं।मेरी फिगर का साइज है 32-26-36. मैंने बुर्का पहन रखा था और अंदर हरा टॉप और सफ़ेद लेगी पहनी थी, हम काफी दूर ऐसी जगह पर गए जहां कोई देखने वाला नहीं था।गाड़ी को स्टैंड पे लगा के मैं सीट पे बैठी थी, वो मेरे करीब था.

घोड़े वाली सेक्सी वीडियो में

इसी के चलते मैंने पोर्न की तरफ देखना शुरू किया तो मुझे अन्तर्वासना पर प्रकाशित होने वाली चुदाई की कहानी पढ़ना बहुत अच्छा लगने लगा. रोहन- रियली?सोनिया- हम्मम्म … इसलिए जब भी मैं तुम्हें चंपू बुलाऊं, तो समझ जाया करो … मैं तुम्हें चिढ़ा नहीं रही हूं, बल्कि तुम्हारी मासूमियत के प्रति अपनी पसंद जाहिर कर रही हूँ. रोहन- हाय … इसका मतलब तुम इस वक्त सिर्फ अपनी ब्रा और पेंटी में लेटी हो?सोनिया- ह्म्म्मम्म … मुझे बहुत शर्म आ रही है रोहन.

मैंने भी उसकी आंखों में आंखें डाल कर उसी नजरों को अपनी चाहत से रूबरू करा दिया. दीपा ने अपनी चूत तो उसके मुंह पर रख दी और सुनील का अपनी ओर खींच कर उसका बरमूडा नीचे खींचा और लंड को आज़ाद किया. अब हम आठों ने तय किया कि इस पैसे का उपयोग हम स्कूल के सभी छात्रों के साथ पिकनिक करने में करेंगे.

रोहन- वैसे जान तुम्हारी चुचियों का साइज क्या है?सोनिया- अंदाज करो … तुमने तो आज बहुत अच्छे से फील किया था?रोहन- हम्म्म्म … 38??सोनिया- ओह्ह्ह जानू तुम तो आसपास भी नहीं पहुंचे … किसी दिन खुद माप लेना. मुझे गरियाते और चोदते हुए उन्होंने और जोर जोर से मेरी गांड मारना शुरू कर दिया. इस बार वो उठ कर मेरे लंड पर बैठते हुए मुझे चोदने के मूड में आ गई थी.

मैं नीता का एक बूब दबा और चूस रहा था तो प्रिन्स दूसरा बूब मस्ती के साथ दबा दबा के चूस रहा था. मेरी इस बात को वही समझ सकता है जिसने किसी गैर की बीवी के जिस्म को भोगा हो.

जैसे ही मैं कुतिया बनी तो उसने पूरा लंड मेरी गांड के अंदर बहुत जोर से पेल दिया.

होटल के इस सन्नाटे भरे माहौल में हमारी सिसकारियां शायद कुछ शोर मचा सकती थीं, इसलिए उसने मुझे संयम रखने को कहा. जबरदस्ती गांड मारने वाली बीएफइस गांड चुदाई स्टोरी पर आप अपने विचार दे सकते हैं।[emailprotected]. पंजाबी बीएफ की चुदाईप्रतीक ने थोड़े गुस्से के साथ मेरे सामने देखते हुए पूछा- क्या … क्या ये सच कह रहा है?मैंने सिर्फ हां में अपना सिर हिलाया और इसी शर्म के कारण मेरी नजर नीचे झुक गई. मैं देखता ही रह गया और उन्होंने एक ही झटके में अपना पहला पैग खत्म कर लिया.

मैंने सारा पानी उसकी चूत में छोड़ दिया और वो मुझे फिर होंठों पर किस करने लगी.

इस वक्त मेरा ध्यान भाभी की चुदाई से ज्यादा उनके मुँह से निकलने वाली चीखों पर था. उनके न रहने पर मां के पास उनके जान-पहचान वाले लोग आते हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि मेरी मां और मैं कोई गलत काम करते हैं. मेरे जिस्म की आग मेरे पति के बॉस ने मेरी जोरदार चुदाई करके ठंडी कर दी.

क्योंकि अगर हमारे सीनियर हम दोनों लोग बात करते देख लेते, तो हम दोनों को एक दूसरे से अलग कर देते थे. लेकिन भैया ने मेरे दोनों हाथ पकड़ रखे थे और भाबी ने मेरा सिर अपनी बुर में घुसाया हुआ था. वो पूछता जाता कि आप कंफर्टबल तो हैं ना? जहाँ कोई प्राब्लम हो तो बता दीजिएगा.

अंग्रेजों की सेक्सी पिक्चर भेजो

मनोज ने कुछ हैवी स्नैक्स आर्डर कर दिए थे, ताकि डिनर की जरूरत ख़त्म हो जाये. तुम तो जानते ही हो कि जब मैं तुमसे मिली थी तो हमारा पहला सेक्स होने ही वाला था लेकिन सोनम ने अपनी मां को बता कर हम दोनों को रंगे हाथ पकड़वा दिया था. मैंने एक बार फिर से लन्ड पूरा बाहर निकल कर कपड़े से साफ किया और फिर उसकी चूत में रगड़ने लगा.

उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और ऐसा लग रहा था कि इनकीचूत पर बालआते भी नहीं होंगे.

लेकिन फिर वो कहने लगी कि मैं तो कनाडा में रहती हूं और मैं उस लड़के के साथ कैसे बात कर सकती हूं.

दोस्तो, मुझे शुरू से ही लड़कियों से ज्यादा औरतों में ही रूचि रही है. फिर मैंने कहा कि किसी को चाहती हो … या चाहती थीं?उसने मेरी इस बात पर कुछ नहीं कहा, बस चुप हो गई. सबसे सुंदर सेक्सी बीएफतभी दरवाजा खुलने की आवाज सुनकर श्वेता दीदी कमरे से बाहर आ गई और दीदी से पूछने लगी- क्या हुआ प्रिया … कहां जा रही हो?दीदी- कुछ नहीं.

वो बोली- बहुत हरामी लौड़ा है तुम्हारा, मेरे मुंह में ही निकलने दो इसके माल को. वो तुरंत उठने लगी मगर मैं उसे फिर से बिस्तर पर गिरा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया अब वो हिल भी नहीं पा रही थी।मैंने अपने दोनों पैरो से उसके पैर फैला दिये और गांड में लंड लगा कर अन्दर करने लगा।वो बस कहे जा रही थी- नहीं अंकल, वहाँ मत करिए … वहां बहुत दर्द होगा. तब भी ऑफिस में इस बात की पाबंदी थी कि प्यार मुहब्बत की बातें करने के लिए आप ऑफिस के समय का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे.

अब मेरा एक हाथ उसके एक दूध पर था दूसरा हाथ उसकी साफ चूत को सहला रहा था. उसे मालूम था कि मनोज को चुसवाना बहुत पसंद है और दूसरे मर्द के वीर्य के ऊपर उसका पति नहीं निकालना चाहता.

जैसा हम सब के साथ होता है, ऐसे शहर में रहना जहाँ आप नए हों, हमेशा मुश्किल होता है.

वो रोहित की गोद में लैपटॉप की तरफ सर करके लेट गई और बीएफ देखने लगी. कुछ पल बाद मैंने फिर से दूध को मसला, तो मोसी भी मजा लेते हुए सिसकारने लगीं. वन्दना सामने से नीरू की चूत चाट रही थी और पीछे से मेरा लन्ड ले रही थी.

सेक्सी बीएफ सेक्सी वीडियो सेक्स वो सिसकारियां भर रही थी- अहहह … उफ़फ्फ़ ज़ोर से राजा … ये रंडी आज तुम्हारी है … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्म्म … उफ्फ़ … मैं बहुत दिनों से प्यासी हूँ … अहह … मेरी आज प्यास बुझा दो. मगर बाहर आने के बाद मैंने उसके कान में कहा- तुम वॉशरूम में जाओ तो अपने चूत रस से भीगी हुई पैंटी को निकाल कर अपने पर्स में रख कर ले आना.

वो मुझे जो भी काम कहती थीं, मैं उसको तुरंत पूरा करता था, चाहे वो कैसा भी काम हो और किसी भी समय हो. मुझे ये तो नहीं पता कि मैं अपना दिल हारने लगी थी या नहीं, पर इतना जरूर जानती हूं कि अंत में परमीत ताश के खेल में हार गई थी और उसके हारते ही कोमल ने एक बीयर की बोतल को परमीत के सामने रख दी. फिर मैं लेटे लेटे अपने पैर के अंगूठे से उसकी गांड के छेद को छेड़ने लगा.

राजस्थानी देसी सेक्सी वीडियो फिल्म

मैंने स्पीड ब्रेकर पर ब्रेक दबाना शुरू किया, तो वो मेरे साथ चिपक गईं और मुझे पकड़ कर बैठ गईं. आंटी- साले तुम मर्द लोग तो अपना माल हमारे मुँह में छोड़ते हो और तुम हमारा माल नहीं लोगे. मैं कपड़े पहन कर चाची के साथ ही सोफे पर उनकी जांघों से जांघें चिपका कर बैठ गया.

मैंने सोचा कि क्यों ना मयूर से शादी करके उसे भी यहां बुला लूं और सब कुछ मेरे पति (प्रतीक) को बता दूं. उसकी मौसी के वापस आने के बाद की कामरस कथा मैं अगली बार लिखूंगा जब हम तीनों होटल में गये थे और वहां पर चुदाई का एक जबरदस्त दौर चला था.

दीदी श्वेता दीदी का हाथ पकड़ते हुए बोली- श्वेता … पता नहीं क्यों मुझे बहुत डर लग रहा है.

अगर अब हमने इसको अधूरे हाल में छोड़ा तो यह हम दोनों को ही मार डालेगी. ”अपना हाथ दो!”मैंने हाथ आगे बढ़ाया तो उन्होंने अपना लंड मेरे हाथ में पकड़ा दिया. अमृता मेरे लंड का मजा लेने के लिए तड़प रही थी और उसकी तड़प उसकी गांड की उचकन से साफ जाहिर हो रही थी.

पहले तो उसने मना किया, लेकिन दुबारा कहने पर थोड़ी देर लौड़ा भी चूसकर गीला कर दिया. मेरे हाथ पकड़ के उन्होंने मुझे अपने पास खींचा और अपनी बांहों में लेकर डांस करने लगे. मैंने टॉवल से अपना शरीर पौंछा और तौलिया बेड पर डाल कर आईने के पास नंगी खड़ी होकर बाल सुखाने लगी.

वो बोला- भाभी, ऐसी भी क्या लाज है, यहां पर हम चारों के अलावा और कौन है.

लखनऊ के बीएफ सेक्सी: वह बहुत ही कामुक होकर सिसकारियां भर रही थीं ‘ईईईई आआआ उउउ आ आ आह …’कुछ देर बाद मैंने परी मैम को घोड़ी बनने के लिए बोला. मैंने सायरा को ऊपर से नीचे तक देखा, हुस्न भी उसके सामने इस समय फीका लगता.

इस बार वो नीचे लेटा रहा और मुझे अपने लन्ड पर बिठाया और मैं उसके लन्ड पर उछलने लगी. यहाँ पर ज्यादातर पुरुष जो उसके संपर्क में आते थे, उससे उम्र में काफी छोटे थे. उसने कोमल को कुछ इशारा भी किया और कोमल ने नजरें बचाते हुए हां में अपना सर भी हिलाया.

तभी विवेक पीछे से बोला- बंध्या तू बिल्कुल चिंता नहीं कर हम तुझे फुल सेटिस्फाइड करेंगे और इतना मजा देंगे कि वो मजा तुझे कभी नहीं आया होगा। अभी हम दोनों एक साथ लन्ड डालेंगे.

जब उन्हें लग गया कि मैं खाली हो गया तो उन्होंने अपने हाथ को मेरे लंड पर दबा के बचा रस निकालने को नीचे से ऊपर की तरफ ले गयी. फिर वो मेरे फोर्स करने पर अपने चूचों की फोटो मेरे साथ शेयर करने के लिए तैयार हो गई. चाची को एक पल के लिए बुरा लगा, मगर उन्हें अगले ही पल अच्छा लगने लगा.