नंगी चुदाई वाली बीएफ

छवि स्रोत,साधु वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मोनालिसा की सेक्सी: नंगी चुदाई वाली बीएफ, उसकी टांगें पूरी तरह से फ़ैल गई थीं और मुझे अपनी जीभ उसकी चूत में अन्दर तक चलाने में आसानी होने लगी थी.

मेवाती बीएफ फिल्म

फिर मैंने उससे पूछा- तुम्हारी कोई जीएफ है?उसने बताया- मैं सीतापुरा में एक फैक्ट्री में काम करता हूँ और वहां मेरी एक प्रेमिका है. एक्स एक्स एक्स भोजपुरी वीडियो बीएफतब मुझे मौका मिल गया और मैं मोनिका से बात करने आ गई- और बता, सब कैसा चल रहा है?मोनिका बोली- भाभी, पूछने की अब फुर्सत मिली है आपको? खैर कुछ खास नहीं चल रहा है.

उसने 40 लाख के लोन की डिमांड की थी और उसकी प्रॉपर्टी के तरत उसे सिर्फ 25 लाख ही दिया जा सकता था. बीएफ सेक्सी दिखाओ बीएफ सेक्सीवो मुस्कुरा दीं और कहा- क्या सच में मैं हॉट लग रही हूँ?मैं बोला- हां सच में!उन्होंने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं बोला- मेरी एक गर्लफ्रेड थी, अब नहीं है.

सोनम की चूत पर पापा की उगलियों की रगड़ उसे और अधिक मदहोश कर रही थीं.नंगी चुदाई वाली बीएफ: दूसरा शायद मेरी चूत का स्वाद तुम्हें अच्छा लगे और मेरी कम्पनी को लोन मिल जाए.

वो बुरी तरह से भीग चुकी थी और उसकी सलवार कमीज उसके बदन पर चिपकी हुई थी.मेरे नंगे होते ही सुमैत्री ने झट से मेरा लंड अपने हाथों में ले लिया और बोली- ओह जानू … तुम्हारी सुमैत्री की चूत तुम्हारे लंड के लिए कितनी प्यासी है.

चाची भतीजा का बीएफ - नंगी चुदाई वाली बीएफ

मैंने मम्मी को पूरी तरह से नंगी कर दिया और खुद भी पूरा नंगा हो गया.लंड को माजा की बोतल समझ कर उन्होंने उसे पूरा खाली कर दिया था, तब भी भाभी ने मेरे लंड को चूसना चालू रखा ताकि लंड फिर से खड़ा हो जाए.

पर मैं अंदर झाँकता रहा।मुखिया जी माँ को अपनी जाँघों पर बैठने का इशारा करने लगे. नंगी चुदाई वाली बीएफ सोनाली सोहम को अपने साथ लिए हुई थी इसलिए उसे कपड़े देखने में तकलीफ हो रही थी.

तो किसी मोटे हाथी जैसे दोस्त के खड़े नौ इंची के मस्त लंड पर मुझे ही गांड खोल कर बैठना पड़ा और उचकना पड़ा.

नंगी चुदाई वाली बीएफ?

मैंने उन्हें आश्वासन दिया कि अगर सब कुछ ठीक रहा, तो मैं तुरंत ही फाइल पास करके लोन मंजूर कर दूंगा. मेरा परिवार कुछ दिन के लिए गाँव गए थे दादा जी के घर में! वहां ताई की बहू की चूत चुदाई कैसे हुई?दोस्तो, मैं कुणाल हूँ. मैंने जोश में आकर अपने हाथों से सोनाली की चूत की दोनों पंखुरियों को दोनों तरफ खींचकर अपनी जुबान उसकी चूत के अन्दर घुसेड़ दी और अन्दर बाहर करते हुए हिलाने लगा.

घर पर मैं और मेरा देवर ही थे और ससुर जी किसी काम से बाजार गए हुए थे. सानू हंस पड़ा और बोला- अरे यार … ‘तुम्हारी’ में अब कौन डाल सकता है, पर अब भी तुम नमकीन तो हो. माँ मुखिया जी का इन सब में साथ तो नहीं दे रही थी पर इसका विरोध भी नहीं कर रही थी.

आयशा को चोदने में मुझे बहुत मजा आ रहा था, वो अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मेरा साथ दे रही थी. अब एक दिन ऐसा हुआ कि मुझे उनके शहर में अपने काम से जाना पड़ा और काम खत्म नहीं हुआ तो रात रुकना पड़ गया. बूब्स दबाने की वजह से वो कुछ ज़्यादा ही गर्म हो गई थी और उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

मैंने कहा- अरे यार विलास, भाभी ने देख लिया, तो लेने के देने पड़ जाएंगे. मैंने सुपारा गांड में फंसाया और जब तक भाभी कुछ कहतीं मैंने एक धक्का दे मारा.

मैं बोला- अब के बाद जब भी जरूरत होगी, मैं ऐसे ही संतुष्ट कर दिया करूंगा.

तब वो डॉगी स्टाइल में हो गयी और कहने लगी- मैंने सुना है डॉगी स्टाइल में गांड मरवाने में कम दर्द होता है.

लेकिन उसकी आँखों से लग रहा था कि उसे कुछ और ही चाहिए था।जानता मैं भी था … लेकिन चाहता था वो पहल करे, मुझे औरत का यह गुण आकर्षित करता है।फिर हम मेरे लैप्टॉप पे कुछ देखने लगे. मैंने उसकी इच्छा पूरी की उन्हीं के घर में! कैसे हुआ ये सब?नमस्कार अंतर्वासना के प्रिय पाठकगण, मैं भगवानदास फिर से चटकती चुतों को लंडवत नमस्कार करते हुए अपने सेक्सजीवन की एक और देसी घटना लेकर हाज़िर हूं. वीरू का लौड़ा बेशक अभी अभी जवान हुआ था, उसका आकार शब्बो के शौहर शौकत मियां के मुकाबले बहुत बड़ा था।ऐसे लौड़े को अपने हाथ में मसलते हुए शब्बो ने अपनी बेकार जा रही जवानी को अपने छोटे मालिक के हवाले कर दिया ताकि उसकी ज़ाया हो रही इस जवानी का मजा उन दोनों को मिल सके.

इसके बाद वो मेरे पेट को चाटने लगी, मुझे गुदगुदी होने लगी और मज़ा भी आ रहा था. इस पर वो हंस दी और उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपनी चूचियों के बीच घुसा दिया. भाभी को दर्द बहुत हुआ वो ज्यादा चिल्ला नहीं पाईं क्योंकि मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से दबा रखा था.

मैंने और मेरे लंड ने मन बना लिया था कि इसको कैसे भी करके चोदना ही है.

लड़का मुझे एक ही नज़र में भा गया था लेकिन मैं उससे कुछ बोली नहीं थी. मैंने पूछा कि क्या गिफ़्ट लाई है?शनाया ने कहा- ये सरप्राइज है … और इस गिफ़्ट को लेने के लिए मुझे सुबह घर से बाहर रहना होगा. पहले दिन तो उसका छोटा भाई भी आया था, पर जब हम पढ़ने लग गए तो वो बोर होने लगा और वापिस अपने घर चला गया.

तो उर्वशी ने बोला- फ्लैट की चाबी ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाले मकान मालिक को दे कर आई हूँ, बाकी मैं वापस आकर बताऊंगी. चु…!मैं- मतलब आप चुदवा नहीं सकती, पर क्यों?भाभी- मैं अपने पति को धोखा नहीं दे सकती. मैंने कहा- मजा नहीं आ रहा, तो निकाल लूं?वह चुप हो गया, तो मैं चालू हो गया.

अब आगे सेक्सी भाभी Xxx कॉम स्टोरी:मैंने आंखें खोल कर देखा तो एक औरत मेरी ओर पीठ करके मेरे लंड पर अपनी गांड का दबाव बनाए सोयी हुई थी.

जैसा कि मैंने आपको बताया कि हमारे घर में एक फकीर का आना जाना रहता था. मैंने अपना लंड हाथ में लिया और उसके गांड के छेद पर सैट कर दिया, हल्का सा धक्का लगाया तो वो दर्द से बहुत तेज तेज सिसकारियां लेने लगी.

नंगी चुदाई वाली बीएफ अंजलि बोली- मैं खुद तुमसे सेक्स करना चाहती थी मगर कह नहीं पा रही थी. मोनिका बोली- राज, अगर तेरे सामने हम दोनों को कोई चोदेगा तो तू क्या करेगा?वो बोला- वाउ मामी यार … मजा आ जाएगा, पर उसका लंड गधे जैसा होना चाहिए.

नंगी चुदाई वाली बीएफ मैंने किस करते करते ही उसकी टी-शर्ट में हाथ डाल दिया और उसके दूध दबाने लगा. उसे मेरा इस तरह करना सहा नहीं जा रहा था, उसकी मीठी आहें तो रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी.

अदिति मादक सिसकारियां ले रही थी, उसकी गर्म सांसें मेरे कान और गाल को गर्म कर रही थीं.

घोड़ा और घोड़ी का बीएफ

मेरा दिमाग ही खराब हो गया था कि मिहिका ने कुछ नहीं बोला, साली चुपचाप चली गई. अगली सुबह संजना का फोन आया- आज घर पर कोई नहीं है, ऑफिस ओपन होते ही भईया से कोई बहाना करके घर आ जाना, मुझे तुमसे मिलना है. तुम मेरे मिसकॉल करने पर चुपके से दरवाजा खोल देना और तुम लोग बीच वाले कमरे में नंगे होकर सेक्स करना.

फिर शलाका ने मुझे बेड पर अपने बाजू में लिटा लिया और वह अब मेरे कपड़ों को उतारने लगी. मैंने उसकी बात को सुनते हुए उसके माथे पर माल की धारा गिरा दी और वह धीरे धीरे उसके स्तनों तक जा पहुंचा. मैं बेसब्री से उसका इंतजार कर रहा था क्योंकि मेरी उससे केवल फोन पर ही बात हुई थी.

सोनाली भी मेरे सीने से लेकर कमर तक अपने दोनों हाथों से साबुन लगाकर नहला रही थी.

[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी:घर में अकेली चाची की चूत का मजा. बेरोजगारी के चलते मैंने अपने गांव में ही मोबाईल ठीक करने की दुकान खोल ली थी. उनकी पूरी साड़ी और बाकी कपड़े उतारने के बाद वो मेरे सामने पूरी नंगी हो गई थीं.

आह क्या चूसा भाई उसने … बस 5 मिनट में ही उसने मेरा पानी निकाल दिया. मैंने भी समय ना गंवाते हुए उन्हें बांहों में जकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से किस करने लगा. अब उसे मजा आने लगा, उसने मुझसे और जोर जोर से धक्का देने के लिए कहना शुरू कर दिया.

हैलो साथियो, मैं कविता एक बार फिर से आपको अपने परिवार की कामवासना से रुबरू कराने हाजिर हूँ. मैंने भी उसकी गांड जोर से रगड़ते हुए कहा- सोनाली, कोई ऊपर आकर हमें इस हाल में देखेगा तो हमारी बहुत बदनामी होगी.

इतनी सुंदर औरत को पैसे देकर चुदने की क्या जरूरत है, इसे तो कोई भी अपनी जान बनाकर रख सकता है. पोर्न आंटी सेक्स कहानी में मेरे पड़ोस में रहने वाली मस्त माल की चुदाई है. मैं जब सोता हूँ तो मेरी आदत है कि मैं कुछ पकड़ कर रखूं, उस रात भी मैंने तकिया पकड़ कर रखा था.

चाची दर्द से चिल्लाने लगीं- उन्ह साले कुत्ते बाहर निकल अपने लंड को … आंह मेरी गांड फट गई … आंह दर्द हो रहा है … लंड बाहर निकाल मादरचोद फट गई मेरी गांड.

कहीं और मिलना पड़ेगा।मुखिया जी- तू ही बता कहाँ मिलें?माँ- मेरे खेत में एक छोटी सी झोपड़ी है, वहीं मिल लेंगे अगर आप चाहो तो!मुखिया जी- ठीक है. मैंने भी उनका दिल नहीं तोड़ा और बोली- पहले बाथरूम जाना है और खाना खाकर करना. मैंने भाभी को उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उनकी एक टांग उठा कर चोदना शुरू कर दिया.

मैं जाने लगा तो स्वीटी मैडम मेरे सीने से लग गईं और हम दोनों ने एक लम्बा स्मूच किया. खासकर औरतों की चूत चाट कर निकली हुई मलाई खाने में मुझे बड़ा मजा आता है.

जब मुझसे बर्दाश्त से बाहर हो गया तो मैंने कहा- अब सब कुछ हो जाने दो प्लीज. उसने कुछ पल बाद अपनी गांड को मेरी तरफ धक्का दिया, जिससे मेरा लंड उछाल मारने लगा. कुछ देर बाद मैंने उसका टॉप और जींस उतार दिया और खुद भी कमीज और निक्कर उतारकर उसकी ब्रा और पैंटी खींचने लगा.

कार्टून सेक्स वीडियो बीएफ

आखिर मैंने उससे पूछ ही लिया- भाभी अब ताजी सब्जी क्यों नहीं रख रही हो?तो उसने बताया- क्या करूं सब्जी मंडी से ताजी सब्जियां लाने वाला कोई नहीं है.

मैंने कुछ नहीं किया बस सोचने लगा कि जब उसने लंड चूस ही लिया तो साली चुदेगी भी पक्के में!मैंने भी साफिया को नजरअंदाज करना शुरू कर दिया. जो पति अपनी पत्नी की जरूरतों को पूरा ना करे वो किस काम का पति?फिर मैंने मौसी की घूँघट उठाया और उनके होंठों पर किस करने लगा. बस टाइम निकलता रहा और हम लोग ऐसे ही बातें करके, वीडियो कॉल करके टाइम पास करते रहते थे.

उसने कहा- मेरे अंदर ही डालो, मैं इसका पूरा मज़ा लेना चाहती हूँ।मैंने अपना सारा माल उसकी चूत में निकाल दिया. भाभी की रस भरी चूत में मेरा लंड बुलेट ट्रेन की रफ्तार से चलने लगा था. सेक्स बीएफ सेक्स बीएफ सेक्स बीएफसुमैत्री ने कहा- उफ्फ … एक तो मोटा तगड़ा लंड ऊपर से एक्स्ट्रा डॉटेड और रिब्ड कंडोम लगाया हुआ है … क्या जान लोगे मेरी?मैंने बोला- नहीं, आज जान नहीं बल्कि तुम्हारी गांड की मस्ती लेनी है.

मैं ऊपर वाले से प्रार्थना करने लगा कि हे कामदेव आज मिहिका का पति नहीं आना चाहिए. आह तुमसे चुदने के लिए ही बनी हूं मैं … आह आह हचक कर चोदो मुझे … मेरी जवानी, मेरा हुस्न, ये इश्क़ बस तुम्हारे लिए ही है … आह चोदो मुझे, चोदो माय लव.

अमन यह सुनते ही खड़ा हुआ, उसने अपने लंड को हाथ में पकड़ा और मेरी चूत पर रख कर धीरे से धक्का लगाया. चेतना झड़ने का नाम नहीं ले रही थी और सर्दियों में मुझे पसीना आने लगा था. मैंने कहा- क्या पता है आपको?तो भाभी बोली- रात में मैंने सब देखा है.

थोड़ी देर में मैं कमरे में अन्दर आ गया, मैंने सबसे कहा- बाहर जाओ और सो जाओ. कुछ देर बाद जब बातों का दौर शुरू हुआ तो सना ने बताया कि रियान और उसका पुराना रिश्ता है. जैसे तैसे सितम्बर में वाइफ मायके गयी, तब तक चीजें थोड़ा सही हो चुकी थीं.

झट से मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर ऐसे चलानी शुरू कर दी मानो वो कटोरी में रखी मलाई हो.

उसने फिर से अपने लंड को पकड़ा और वापस मेरी चूत की फांकों में ऊपर-नीचे रगड़ा. दीदी ने भी मेरे सामने ही अपनी गांड और चूत की सफाई की।फिर हम दोनों बिस्तर पर आ गए।अब मेरी नंगी दीदी ने कहा- कैसा लगा ये सब करके अपनी दीदी के साथ?मैं बोला- मैंने तो कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि कभी आपके साथ ये सब करूँगा, मुझे भी बड़ा मजा आया।फिर दीदी अपनी ब्रा और टॉप पहनने लगी तो मैंने दीदी से कहा- क्या आज रात हम दोनों नंगे सो सकते हैं?इस पर दीदी ने हामी भर दी और हम दोनों चिपक कर एक साथ सो गए.

कुछ देर लंड रगड़ने के बाद उसने अपना एक हाथ मेरे पेट के पास लगाया और मुझे अपनी दूसरी साइड लिटा दिया. शब्बो सिसकारने लगी- आआह वीरू, और रगड़ अपनी चाची की गांड … मसल दे जोर से!बोलते हुई शब्बो ने लाज शर्म किनारे रख वीरू का लौड़ा उसके शॉर्ट्स के ऊपर से मसलना चालू किया।आख़िरकार दोनों के जिस्म को हवस की आग अपने लपेटे में ले चुकी थी. मॉम तेज़ तेज़ धक्के मार रही थी और मैं सटासट अपना लंड उसकी चूत में अन्दर तक पेल रहा था.

जीजा बोला- इस बार कहां लोगी डार्लिंग?आरजू ने कहा- मम्मों पर आने दे जानू. मेरे दोस्त ने ही उसको बताया हुआ था कि गांव में एक बस रवि ही उसका ऐसा दोस्त है, जो हर मजबूरी में मेरा काम चलाता है. मुझे अपने पति से कई सालों से ऐसा मजा नहीं मिला था, जो तुमने दो दिनों में पूरा मजा दे दिया.

नंगी चुदाई वाली बीएफ नसीब से उस समय वो भी घर पर अकेली थी तो उसने मुझे झट से ऊपर बुला लिया. मैंने खिड़की के दरवाजे की सांस से देखा कि भाभी और वो मास्टर बैठ कर कुछ बात कर रहे थे.

निशा मधुकर का बीएफ

उसने स्कूटी की चाबी ली और घर के बाहर आकर बोली- स्कूटी तुम चलाओ, मैं रास्ता बताती रहूंगी. एक बाबा बोला- पत्नी जी, आज सुहागरात किस तरह से मनाई जाए?मैं कुछ नहीं बोली. मैंने उसे अपने सीने से चिपका लिया और सविता ने भी मुझे कस कर जकड़ लिया.

इसी बीच मैंने उसे बताया कि इस समय मैं अकेला रह रहा हूँ क्योंकि बीवी बाहर गई हुई है. वो अपने चरम आनन्द महसूस कर रही थी … अपनी गुदाज़ जांघों के बीच उसने मेरे सर को जकड़ लिया और चूतड़ उठा कर चीख कर झड़ने लगी. ब्लू पिक्चर सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चरये एक सत्य घटना पर आधारित कहानी है, जिसके पात्रों के नाम गोपनीयता की वजह से बदल दिए गए हैं.

मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मैं किसी 20 साल की नई लड़की को चोद रहा हूं.

मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख लिया और उसकी चूत को बुरी तरह से चोदने लगा. अपना पैग एक सांस में खींच कर बलदेव ने मुझे अपनी गोदी में बिठा लिया.

फिर मैंने अपना लंड दीदी की चूत में डाल दिया चूत बहुत टाइट लग रही थी. उसने अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को जकड़ लिया था और तेज तेज आवाजों के साथ चिल्ला रही थी- आह मेरे पंडित जी, आह मस्त चोद रहे हो मैं बस जाने ही वाली हूँ … आह और जोर जोर से अपना लंड पेलो … आह आह मैं गई!बस वो झड़ गई और निढाल हो गई. मैंने अपना मोबाइल निकाला, नाम से नंबर सेव किया और उसके फ़ोन पर कॉल करके बोला- उपासना जी, जब केले आ जाए तो प्लीज मुझे सूचित कर देना, मैं आर्डर दे दूंगा.

फिर मैंने मौसी को बेड पर लेटाया और कहा- ओके मेरी जान, आज हमारी सुहागरात है, आप ऐसा समझो.

दोस्तो, वैसे दिक्कत तो मुझे भी थोड़ी हो रही थी क्योंकि अभी तक मेरा लंड वर्जिन था. कुछ देर ऐसे ही करने बाद पापा सीधा हो गए और मम्मी की कमर नीचे तकिया लगा कर उनकी टांगें चौड़ी करके कंधे पर रख लीं. छोटी से छोटी जानकारी भी उसने मुझे दी, जिसके आधार पर मैंने आप लोगो के लिए ये कहानी लिखी है.

एक्स एक्स एक्स एक्स दिखाएंमैं ज़ोर से चिल्लाई- आह्हह हहह ओह्ह हहह ओह्ह माँ मोहक थोड़ा आराम से बेबी। ओह्ह हम्म्म ओह हम्म्म नो नो नो ओह्ह मोहक!फिर मोहक ने कहा- सीधी लेट जाओ. मैं मेडिकल स्टोर पर गया और देर तक चुदाई करने वाली एक गोली लेकर आ गया.

फुल एचडी हिंदी बीएफ फिल्म

शायद ये जानकर कि उसकी बॉडी में जो चीज सबसे ज्यादा मस्त है, मैंने उसका नाम ही नहीं लिया. मुखिया जी को खुश कर देगी तो तेरी और तेरे परिवार की सारी परेशानी खत्म हो जाएगी. वो गाली देती हुई बोली- माँ की चूत दस मिनट की … तुम मेरी चूत से लंड बाहर निकालो, मैं अभी लंड चूस कर खड़ा कर देती हूँ.

उसने मुझसे कहा- चल भोसड़ी के गांडू लंड को चाट कर साफ कर!उसके लंड की सारी नसें फूली हुई थीं, उसका लौड़ा मस्त लग रहा था. अब मैं दुबारा उसकी चुत का दाना रगड़ने लगा और उसे कुछ ज्यादा सा तैयार किया. कुछ मिनट उसके मुँह को चोदने के बाद मेरे लंड ने श्रेया के मुँह में ही वीर्य छोड़ दिया और श्रेया भी उसे गयी.

मेरा मुँह उसके चूचों को भरके उसके दोनों निप्पलों को बारी बारी से काट रहा था. अञ्जलि को नीचे घुटनों के बल बैठा कर मैंने स्क्रबर से फिर से उसकी चूत को रगड़ा, फिर दोनों पैरों को मसल कर अञ्जलि को झाग से तर कर दिया. अब मैंने अपना हाथ धीरे धीरे उसकी गांड के छेद तक ले गया और धीरे से एक उंगली उसकी गांड में डाल दिया.

अब मैं पूरी ताकत से धक्के मारने लगा और दूसरी तरफ नीचे से नीता जोर जोर से सिसकारियां लेकर झड़ने लगी. मैंने भाभी को बिस्तर में बिठाया औऱ पूछा- अब चूत के पास दाद तो नहीं है न?उन्होंने ना में सर हिलाया.

मैं- सुन लिया हिजड़े, कैसे तेरी शरीफ बहन मेरे लौड़े से चुदने के लिए मचल रही है.

वो काफी सेक्सी माल है, मैंने उसकी फोटो मास्टर के साथ एफबी पर देखी थी. चुदाई सेक्सी वीडियो चुदाईउसका तन्नाया हुआ लौड़ा शब्बो की मांसल जांघों पर रगड़ रहा था।शब्बो का कभी दायां तो कभी बायां मम्मा चूसते हुए वो शब्बो की प्यास और बढ़ा रहा था. हिंदी सेक्सी देहाती ब्लूमैंने उससे कहा- अभी तुम नए साइज की ब्रा मत खरीदना … क्या पता बाद में वो भी छोटी पड़ने लगें. शाम ढले, शैली के पति अमरचंद अपनी ड्यूटी बजा कर आए तो जरूरी शिष्टाचार के साथ सारी बातें बताईं.

जब तक मेरी नींद खुलती, तब तक वे पूरा लंड पेल चुके थे और शुरू हो गए थे.

मेरी नींद जब खुली तब अदिति मेरी बांहों से छूटने की कोशिश कर रही थी. एक शाम मैं ऑफिस से घर आया तो …दोस्तो, ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी गदरायी जवान बीवी की है. मैं बहुत प्यार से उसके दूध सहलाता जा रहा था और निप्पल चूसता जा रहा था.

उसने भी हल्के से मेरे होंठों को चुम्बन कर दिया और अपने दोनों पांव ऊपर लेकर मेरे ऊपर लेट गयी. मुखिया जी ने अपना पसीना माँ की साड़ी से पौंछा और अपने कपड़े पहनने लगे. ये कह कर मैंने विलास की गांड को दोनों हाथों तानकर गांड का छेद खुला कर दिया और ढेर सारा थूक अपने मुँह से छेद पर थूक दिया.

कॉलेज वाली लड़की का बीएफ वीडियो

मैंने बड़े प्यार और वासना से उनके पूरे शरीर को देखा और उनको खड़ा करके उनकी चूत चाटने लगा. अब आगे ट्रिपल Xxx हिंदी स्टोरी:वो बड़ी आईस क्यूब आधी पिघल गयी थी और उसका पानी फ़लक के शरीर पर चमक रहा था, जो उसे और भी सेक्सी बना रहा था. मैं अपनी बीवी के बारे में आपको बता दूं कि वह एक बहुत ही खूबसूरत अच्छे दिल वाली मासूम और अपने शौहर के लिए वफादार औरत है.

उसकी ऊपर उठती गांड बता रही थी कि उसे भी मेरे लौड़े से चुदवाने में मजा आ रहा है.

इसी बीच मैंने उससे पूछ लिया- तुम मुझसे किस प्रकार से सेक्स करना पसंद करोगी.

जैसे पानी की बूंदें उसके जिस्म पर पड़तीं, उसकी मदमस्त जवानी को देखकर मैं घायल हो गया. मैंने राज को सोफे पर बिठाया और बोली- अब बताओ … तुम मेरे साथ क्या कर रहे थे?वो कुछ नहीं बोला. ब्लू फिल्म देसी वालामैंने चाची से पूछा- अन्दर ही निकल जाऊं या बाहर ही निकलूं?चाची बोलीं- अब तू मेरे मुँह में आ जा.

अब मेरी माँ मुखिया जी से माफी मांगने लगी, बोली- मुखिया जी, मेरी बेटे ने ये सब नादानी में किया है. फिर ऐसे ही थोड़ी देर इधर उधर की बातें हुईं, भाभी अपने पति से सटती जा रही थीं. थोड़ी शर्म और हल्की मुस्कान के साथ उसने जवाब दिया- तुम मुझे अपनी गर्लफ्रैंड या अपनी बीवी समझ कर अपने हिसाब से कुछ भी कर सकते हो.

गीली चूत ने लौड़े की गर्मी से ख़ुश होकर खुद अपने आपको खोलना चालू कर दिया. जब मैं स्खलन करने वाला था, मैंने अपना लंड निकाल लिया और उसके हाथ पर स्खलन कर दिया.

उसके ससुराल चले जाने के बाद से अभी कुछ दिन पहले ही मेरी और उसकी मुलाकात हुई क्योंकि देश में लॉकडाउन के कारण 2 साल वो अपने मायके नहीं आई थी.

मैंने उसकी साड़ी पेटीकोट ऊपर को खिसकाया और उसकी तड़पती फड़कती चूत में पेल दिया. शाम ढले, शैली के पति अमरचंद अपनी ड्यूटी बजा कर आए तो जरूरी शिष्टाचार के साथ सारी बातें बताईं. दोस्तो, मैं हर्षद आपका पुन: अपनी मनोरंजक सेक्स कहानी की दुनिया में स्वागत करता हूँ.

অনলাইন সেক্স ভিডিও मेरी पिछली प्रकाशित कहानी थी:सहेली का अन्तर्वासना और पहला सेक्सआज भी मैं जो लिख रही हूँ, वो भी मेरे मन की वो बात है, जो मेरा मन सदा से चाहता रहा था. मैं उनकी नीचे चूत के पास आ गया और उनके पैरों को पूरा खोला और उनके छेद को देखने लगा.

नंदा बोली- हाय राम, कितनी देर से सो रहे थे, पता ही नहीं चला शाम हो गयी. थोड़ी देर में हस्बैंड को नशा होने लगा और मुझे भी थोड़ी थोड़ी मस्ती चढ़ने लगी. मैंने बहुत सारा थूक अपने लंड पर लगाया और चूत के अन्दर डालने की कोशिश करने लगा.

भोजपुरी सेक्सी हॉट बीएफ

एक शाम मैं ऑफिस से घर आया तो …दोस्तो, ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी गदरायी जवान बीवी की है. नेकेड सेक्सी गर्ल चुदाई कहानी तीन लड़कियों की है जो आपस में शादी से पहले अपनी चुदाई के किस्से आपस में एक दूसरी को बता रही थी. अब आगे बाप बेटी Xxx कहानी:जब मैं मां को ये सब बताया तो मां ने कहा- अब तो हम लोग को पता चल गया है कि बाप बेटी को चोदना चाहता है.

अब मैं उसके सामने पेटिकोट और एक खुले ब्लाउज और खुली ब्रा के साथ उसके सामने लेटी थी. वो अपने हाथों से मेरा सर जोर दबाने लगी और बोली- ओह हर्षद, कितने गंदे हो तुम … कहां कहां भी जीभ डालते हो, मुझे गुदगुदी हो रही है.

इसलिए सब क्लाइंट्स, फ्रेंड्स और जो भी मेरे दोस्त उस नम्बर से जुड़े थे, उन सबको अपना पर्सनल नम्बर अपडेट करने के लिए व्हाट्सैप मैसेज किए.

अब भाभी की चूत एकदम साफ़ दिख रही थी और उसमें मास्टर का लंड अन्दर बाहर होता हुआ एकदम साफ़ दिख रहा था. जिसको उसके क्लास टीचर ने देख लिया था और उसको अपने पेरेंट्स को बुलाने को बोला था. बेस्ट फ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि जब लम्बे अरसे के बाद दो दोस्त मिले तो उन्होंने पुरानी यादें ताजा करने के लिए एक दूसरे की गांड मारी.

मैंने कहा- क्यों क्या हुआ … बात बन गई क्या?उसने मुझे उपरोक्त घटना बताई और बोली- आज रात मेरी सुहागरात है. दोस्तो, अभी तो शुरूआत हुई थी लेकिन मैं समझ चुका था कि सविता काफी गर्म औरत थी और उसे कई दिनों से किसी मर्द का साथ नहीं मिला था. इस बात से आज मैंने भी सोच लिया था कि आज मैं पापा को पटा कर ही दम लूंगी.

कभी कभी कोई महिला अपनी काम वासना में असंतुष्ट सहेली या भाभी दीदी को भी शामिल करा लेती रही.

नंगी चुदाई वाली बीएफ: देर रात को मेरा फ़ोन बजा, मैंने बिना स्क्रीन देखे, फ़ोन उठाया और कान में लगा कर बोला- हां जान. थोड़ी देर में ही हम दोनों की जीभ आपस में केक के लिए झगड़ने सी लगी थीं.

मैंने पूछा- तौलिया कहां है?उन्होंने बोला- ये बाथरूम के गेट के अन्दर ही टंगी है. मैं अपने बारे में आपको अपनी पिछली कहानियों में आपको बता ही चुका हूं कि मैं कसरती बदन का हूँ. ’‘आह बहुत टेस्टी हैं तेरे निप्पल मेघा …’इधर पजामे में सर का हाथ अन्दर चल रहा था.

मैंने मानसी से कहा कि अब से तुम्हें जब भी चुदना हो, मेरा लंड तुझे चोदने के लिए तैयार है.

वो बोलीं- मैंने शाम को ही देख लिया था, जब तू मेरी ब्रा पर मुठ मार रहा था. मैंने पूछा- ये तुमने कैसे जाना कि मोहल्ले के मर्दों के लंड से लार टपकने लगती है?आरजू ने बताया- एक बार सब्जी लेकर मैं घर आ रही थी तो पीछे से ना जाने कौन जोर से मेरी गांड दबाकर भाग गया था. कुछ देर तक बात करने के बाद मैंने उससे कहा- तुमसे बात करके मुझे बहुत अच्छा लगा.