हिंदी बीएफ सेक्सी डांस

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो हिंदी चुदाई वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदा चोदी के वीडियो: हिंदी बीएफ सेक्सी डांस, सब्र का फल मीठा होता है।मैं एक बढ़िया मौके की तलाश में था कि पूरे इत्मिनान के साथ उसके साथ मज़ा करूँ।फिर आख़िर वो दिन आ ही गया.

बिहारीचुत

जैसे ही मुझे अपने लंड पर प्रिया के गर्म गर्म और गीले प्रवेशद्वार का अहसास हुआ, खुशी के मारे मेरे लंड ने तुनक कर एक झटका सा खाया और मेरा सुपाड़ा फूल कर और भी मोटा हो गया. प्रेम की चुदाईसाथ ही मेरा लंड 7″ का है। मैं राँची का रहने वाला हूँ।मैं आपका ज्यादा वक्त ना लेते हुए सीधे स्टोरी पर आता हूँ।यह बात उस समय की है.

और बिना रुके धक्के मारने लगा।अब मुझे उसका लंड मोटा महसूस हो रहा था. बीएफ कैसे बनाया जाता हैमैंने वो देखा है।उन्होंने कहा- उसको क्या बोलते हैं?‘मुझे पता नहीं है.

तो उसने सोनू को बताया कि जमील अपनी हर चुदाई की वीडियो बनाता है और फिर उसको देख-देख कर रात में सबको बजाता है।सोनू ने तस्लीमा से कहा- मुझे भी देखनी है तुम्हारे चुदाई की वो क्लिप्स.हिंदी बीएफ सेक्सी डांस: में जल्दी खत्म कर दूँगा और आप हो ही इतनी सेक्सी कि पहले राउंड में कोई ज्यादा टिक ही नहीं सकता.

उसकी सिसकारियां मुझे पागल करती जा रही थी। मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया जिससे उसकी चुत बिल्कुल मेरे सामने थी।मैंने अपने लंड को उसकी चुत के छेद पर रखा और एक हल्का सा झटका दिया जिससे करीब 2 इंच लंड उसकी चुत में घुस गया.यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने उनकी गाण्ड की तरफ देखा तो उनकी गाण्ड से खून आने लगा। लेकिन मैंने गाण्ड से लण्ड बाहर नहीं निकाला और अन्दर ही डाले रखा। अब मैं तेज झटके देने लगा.

जंगल सेक्सी बीएफ - हिंदी बीएफ सेक्सी डांस

जैसी मेरे बीवी की चूत से आती है।मैंने हैरान हो कर कहा- क्या तुम सच कह रहे हो.मैंने उसको अपना नंबर दे दिया था। काफ़ी देर होने के कारण और स्नेहा की चुदाई करने से मैं भी बहुत थक गया था.

जो पति को सबसे ज़्यादा पसंद हो।6- दोनों पार्ट्नर्स को नहाना चाहिए और जिस्म के गैरज़रूरी बालों की सफाई ज़रूर करनी चाहिए।7- बेडरूम का वातावरण बहुत ही अहम रोल अदा करता है. हिंदी बीएफ सेक्सी डांस उनकी चूत का द्वार खुला था और अन्दर से लाल लाल एक छोटी सी गुफा जैसे दिख रही थी.

पर उसने इसका कोई विरोध नहीं किया।फिर मैं उसके मम्मों को दबाने लगा अब उसके मुँह से मादक आवाज़ निकलनी शुरू हो गई थी।वो ‘आहह आहह.

हिंदी बीएफ सेक्सी डांस?

मुझे कैसा लग रहा था, यह एहसास सच में बहुत ही सुंदर था, मैं चाह रही थी कि वो इसी तरह उन्हें मसलता रहे।फिर वो मेरी दूसरी चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा, मैं काफ़ी उत्तेजित हो गई मुझे लगने लगा. ’एक बार फिर चाचा मेरी चूत पीना छोड़ कर खड़े हो गए और मुझे अपनी बाँहों में भर लिया।‘चच्च्च्च्चाचा. उसका यह मैसेज देख कर मैं खुश हो गया।मैंने तुरंत उसे मैसेज किया- तुम भी आओ ना जान.

क्योंकि उसके मम्मी-पापा बगल वाले कमरे में सो रहे थे।हम एक-दूसरे देखते-देखते किस करने लगे और वो किस फिर स्मूच में बदल गया। हमारे होंठ एक-दूसरे के साथ जैसे चिपक गए थे. हर सुख-दुःख में मेरी साथी है।मुझे पता है कि लड़के सेक्स के भूखे रहते हैं. और मुझे मना कर रही हो।और ये कह कर मैं मौसी के जिस्म पर चढ़ गया और अपना लंड उनने मुँह में ज़बरदस्ती देकर उनके मुँह को ही चोदने लगा और धीरे धीरे वो भी लौड़ा चूसने लगीं।करीब 10 मिनट के बाद मैं उनके मुँह में ही झड़ गया और उन्हें पहले अपना पानी फिर धीरे-धीरे उनके मुँह में मूत कर उन्हें अपना मूत भी पिला दिया.

तो वो भी मुझे रो-रो के धीमे स्वर में कह रही थी।फिर मैं थोड़ा रुका और उसे किस करने लगा। उसने शायद काफ़ी टाइम से कोई बड़ा लण्ड नहीं लिया था. संजय- जब तुम दो दिन बाहर थे उस दौरान मैंने और भाभी ने शारीरिक संबध बना लिए थे।मेरे पैरों तले जमीन खिसक गई. अभी तो पिक्चर शुरू हुई है।फिर दोषी (दुष्यंत को चुदते वक्त मैं दोषी कहती थी) ने भी अपनी पैंट की जिप खोल दी। उसका गदहे जैसा लंड जैसे ही बाहर आया.

वो भी मेरा साथ दे रही थी।उसके बाद मैंने उसकी साड़ी को हटाने के लिए उसको खड़ा किया और उसकी साड़ी को खोलने लगा।उसकी साड़ी को उसके मम्मों से हटा कर मैं उसके ब्लाउज के ऊपर से उसकी चूचियों पर किस करने लगा। मैं किस करते-करते उसके पेट पर आ गया और उसने साड़ी को नाभि से नीचे बाँध रखी थी। मैं उसकी नाभि पर किस करने लगा और फिर उसकी सेक्सी नाभि में अपनी जीभ देकर चाटने लगा।उसके मुँह से अब ‘एयेए. मेरे लाख मना करने पर भी भैया मुझे रामेसर चाचा के लड़के के घर लेकर पहुंच गए.

कारण मी एका अशा घरातून आले होते कि ज्या घरात रीतीभाती खूप पाळल्या जातात.

फिर कभी ऐसी कोशिश नहीं की। वो हमारे यहाँ अभी भी काम कर रही है।[emailprotected].

बैंक में दिन तो बड़ी आसानी से निकल जाता था लेकिन परेशानी होती रात को. छीईईई …ईई … हटाओ … इसे …” प्रिया ने मेरे हाथ को झटकते हुए कहा और खुद ही अपने सूट को उठाकर मेरे लंड को साफ करने लगी. चूसने का मन कर रहा था।दो दिन तक उसकी कोई मेल नहीं आई मैंने बस पिक के लिए लिखा कि आप फोटो में बहुत प्यारी लग रही हो.

और कहा- भाभी आपकी ब्रा का साइज़ तो बहुत बड़ा है।वो हँसने लगीं और कहने लगीं- तुम्हें साइज़ नहीं पता क्या?मैंने कहा- मैंने देखा ही कहाँ है?वो दो कदम और आगे बढ़ कर बोलीं- तो देखकर नाप लो ना. तो अपना एक हाथ मैंने उसकी चूत पर रख दिया और उसे चुम्बन करने लगा।वो मेरा साथ दे रही थी क्योंकि शायद वो भी मुझे काफ़ी पसन्द करने लगी थी।मूवी ख़त्म होने के बाद उसे मैंने होटल चलने कहा. उन्होंने मुझे अपनी बाँहों में ले लिया और चूमने लगे।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं- आप तो अभी से शुरू हो गए.

अब तो भाभी ने मुझे प्रॉमिस किया है कि वो अपनी सहलियों की चूत भी मुझे दिलाएंगी.

मैं बोला- रानी, यह तो शुरूआत है, आज तो तुझे सारी रात नंगी रखूंगा और अपने लौड़े पर नचाऊंगा. सिम्मी इतनी वासना और मस्ती में आ चुकी थी कि मैंने कब अपना अंडरवियर उतार फेंका, उसको भनक भी नहीं लगी. फिर एक दिन उन्होंने मुझे कहा कि कल होली है और इस बार उन्हें होली अकेली मनानी पड़ेगी … इसलिए वह उदास हैं.

पर इस बार मैं आप सबको अपनी पहली सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूँ।मेरी उम्र 27 साल है. रूम ठीक किया और निशा ने जा कर गेट खोल दिया।मैं हॉल में टीवी देख रहा था।फिर अंकल बोले- रात में मौसम खराब होने के कारण हम लोगों की फ्लाइट कैंसिल हो गई थी इसलिए हम वापस आ गए।फिर अंकल और मैं एक कमरे में और निशा व आंटी एक कमरे में सो गए।मुझे अंकल-आंटी पर बहुत गुस्सा आ रहा था. अब वह पीछे से मुझे पकड़ कर अपने शरीर से चिपका कर मेरी गुदा में अपना लण्ड गड़ाएंगे।कुछ ही देर में चाचा ने खुली छत पर मुझे बाँहों में भर कर पूछा- किसी को खोज रही हो क्या जान?चाचा एक हाथ मेरी गदराई चूची पर आ गया और उन्होंने दूसरा हाथ मेरी चूत पर ले जाकर दबा दिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !‘आहह्ह्ह्…सीईईई.

फिर वो हँस दिए और वेटर चला गया।मैं- आपने उसके सामने मुझे अपनी बीवी क्यों कहा?भाई- मेरी जान आज तुम मेरी बीवी लग रही हो न.

मैं सिर्फ़ मुँह ताक रही थी, मैं बोली- ये मुझे विकी पहले ही बता चुका है. प्रिया की बहन नेहा कॉलेज में गयी हुई थी और उसका भाई कुशल पास के ही मैदान में क्रिकेट खेल रहा था.

हिंदी बीएफ सेक्सी डांस उसने फिर से वही स्माइल दी और चली गई।उसके बाद मैं अगले दिन फिर गया और बाइक उसके सामने रोक दी। उस समय उसके साथ एक सहेली भी थी। उसने अपनी सहेली के कान में कुछ कहा और मेरी बाइक पर बैठ गई।मैं सोच रहा था कि उससे बात कहाँ से शुरू करूँ।मैंने उसका नाम पूछा. उसके लिए आप सबका धन्यवाद।आज की कहानी में जिसके बारे में मैं बता रहा हूँ.

हिंदी बीएफ सेक्सी डांस मैंने उसे लेटाया और उसकी चूत पर जीभ से किस किया।वो फिर मदहोश होने लगी और कहने लगी- अब मत तड़पाओ जान. ’उसका हाथ मेरे लोअर पर मेरे लंड को सहला रहा था।अब मैंने देर ना करते हुए उसकी जींस को भी उतार दिया और देखा कि उसने काली पैंटी पहनी हुई है। मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी.

फिर मैं नीचे गई, नहा कर उन दोनों के लिए नाश्ता चाय बनाया और लेकर ऊपर गई.

माधुरी दिक्षित सेक्सी सेक्सी

मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- फट गई है मेरी … अब नहीं कर सकती प्लीज चलो. उस दिन गुरुवार का दिन था।मैं बेटियों को स्कूल जाने के लिए नाश्ता बना रही थी. ’मेरा आधा लंड अन्दर जा चुका था। मैं उसके होंठों को चूसने लगा और साथ ही मैं उसके एक चूचे को हाथ से दबा रहा था।कुछ ही पलों में देखा कि वो थोड़ी ठीक हुई.

मैं उसे देखते ही रह गया।उसने इशारे से कहा- अन्दर आ जाओ।मैं अन्दर जाकर सोफे पर बैठ गया और वो पानी लेकर आई. मैंने कहा कि मेरे पर इतनी मेहरबानी की वजह क्या है?तो उसने कहा- तुम मुझे बहुत पसंद हो. विमान में ज्यादा भीड़ नहीं थी और उसके और मेरे बीच में कोई भी अन्य यात्री नहीं आया था।विमान के सभी द्वार बंद हो चुके थे.

आह … आह … आह … आहह आ…ह …”अंकल- क्या हुआ?मैं- उफ़्फ़ … उफ़्फ़ थोड़ा और घुसाओ न.

जल्द ही मीशू फिर गर्म हो गयी और मेरा लंड पैन्ट के ऊपर से ही मसलने लगी. उस दिन के बाद से मैंने अपनी भाभी जान को कई बार चोद दिया है।ये मेरी मुस्कान भाभी बहुत ही मस्त है. उसने बताया कि उसकी आयु 26 साल है और अभी 6 महीने पहले ही उसकी शादी हुई है.

मैं उसके ऊपर आ गया उसके होंठों को चूसने लगा और उसके चूचों से खेलने लगा. मेरी पिछली कहानी थीपति के बॉस से चूत गांड चुदवा कर मजा आयाजिसमें मैंने जिक्र किया था कि मैं अपने चचेरे भाई से चुदवाती थी. पर ब्लू-फ़िल्म बहुत देखी थीं।मैंने उसे कस कर पकड़ लिया और उसके होंठ चूसने लगा.

तभी मुनीर माइक के अंडकोषों को हाथ से हल्के दबाते हुए माइक के सीने पे लेट माइक को मुँह लगा कर चूमने लगी. तो मैंने भी देर ना करते हुए पिंकी की चूत में लण्ड को डाल दिया और उसे जोर-जोर से चोदने लगा।पिंकी- आआआह्ह.

तो वो टाँगें पसार कर मुस्कुरा रही थीं।अब मैं एक हाथ से उनकी चूत में और कभी उनकी गाण्ड में उंगली कर रहा था और दूसरे हाथ से उनकी चूचियाँ मसल रहा था और वो मेरे लंड को सहला रही थी।फिर मैंने उनकी पैन्टी उतार दी और अपना अंडरवियर भी निकल कर फेंक दिया।अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मेरा लंड बहुत बुरी तरह से सख्त हो गया था. मेरी दोनों चूचियों को पकड़ कर पूरी ताकत से धक्का लगा दिया।चाचा का सुपाड़ा मेरी चूत के अन्दर घुस गया था।‘उह. ”तो जब मैं खिलती हुई कली थी और मेरी चूत में चुदने की इच्छायें पैदा होने लगी थीं तो तब तो तुम घर आ आ कर हफ्ता भर रुका करते थे न.

मैंने ज़्यादा देर ना करते हुए एक धीरे से झटके से अपने लण्ड को उसकी चूत में सरका दिया। वो इतनी टाइट भी नहीं थी इसलिए आधा लण्ड आराम से चूत में चला गया। अब मैं लौड़े को आगे-पीछे करने लगा.

यानि 5’2″ की नाटे से कद की हैं। उनका 34-30-35 का फिगर एकदम मस्त है और वो गोरी बहुत हैं। मतलब ऐसा माल दिखती हैं कि किसी के भी लण्ड का पानी निकल जाए।अब जैसे ही उसने मेरी रजाई उतारी. लेकिन वह अभी कुछ देर पहले मेरे कमरे में आकर पूछने लगा कि क्या सोचा है. अनु’ बोलता हूँ।इस प्रकार दो महीने पहले शुरू हुआ हमारा प्यार आज भी जारी है।कहानी पर अपनी राय दीजिये![emailprotected].

या और कुछ भी बाकी है।मैं- मुझे लंड तुम्हारी गाण्ड में डालना है।यह कहते हुए मैंने सुपारा उसकी गाण्ड में फंसा दिया।कोमल- प्लीज. जिससे जाकिर भी तुम्हें अपना लंड गांड मराने के भी साथ में चुसवा सके.

उसके बाद फ्लाइट की सभी लाइटें बंद होने लगीं। कुछ लोग सो भी चुके थे और मैं भी दो पैग लगाकर सोने का मूड बना रहा था। मैंने देखा कि वो महिला अपने पैर ऊपर करके बैठी है. ’मेरा आधा लंड अन्दर जा चुका था। मैं उसके होंठों को चूसने लगा और साथ ही मैं उसके एक चूचे को हाथ से दबा रहा था।कुछ ही पलों में देखा कि वो थोड़ी ठीक हुई. इतने में टी टी आ गया उसने टिकट चैक करी और मेरे से दूसरे टिकट के बारे में पूछा, तो मैंने बता दिया कि वो सीट खाली है.

हिंदी आवाज में सेक्सी वीडियो एचडी में

तो उसने जल्दी से एक सेक्सी नाईटी पहन ली और बिस्तर पर चादर डालकर सो गई।कुछ देर बाद पुनीत ने देखा कि रॉनी बीयर के नशे में मस्त होकर सो गया है.

क्या सॉफ्ट माल सी थी। उसकी चूची को छू कर ऐसा लगा था कि जैसे उसकी चूची को किसी ने कायदे से मसला ही न हो।ममता- राजी नहीं. मेरे मुंह से सिसकारियाँ निकल रही थी ‘आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह उम्म्ह…’ और जीजू मेरी चूत को चोद रहे थे. तो उसने हाथ में लौड़ा पकड़ कर छेद पर लगाया और बोली- अब ज़ोर लगा।मैंने वही किया, मैंने धीरे से अपना लण्ड उसकी चूत पर रखा और एक अच्छा झटका मारा और उसको बहुत दर्द हुआ.

इस वक्त तक मेरे मन में ये बात कभी नहीं आई थी कि मैं अपनी बहन के साथ सेक्स करूँगा. मैं आप अपनी एक सच्ची कहानी बताने जा रही हूँ जो मेरे और मेरे देवर की है. सेक्सी बीएफ 2022 कीअब अंकल का पूरा का पूरा लंड और सुपारा मेरे मुँह के अन्दर आ जा रहा था.

पर मैंने हिम्मत नहीं हारी और मेडीसिन की वजह से मुझमें भी कामोत्तेजना बढ़ रही थी।अब नीलेश ने अपना लण्ड मेरे मुँह में दे दिया. अपना लण्ड मेरी प्यासी चूत में डाल दो।मैं भी उसे चोदना चाहता था। इसी लिए मैंने भी उसे और ना तड़पाते हुए उसकी चूत में लण्ड डाल दिया।लण्ड की खुराक मिलते ही वो सिसकारियां भरने लगी।मैं अब उसे जोर लगा कर चोदने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा। मैंने उसके मम्मों को दबा-दबा कर लाल कर दिए। वो एक बार झड़ चुकी थी.

उसकी गालियों से खुश होकर मैंने उसके चुचे को दबाना शुरू किया तो मधु ने अपने पैर नीचे किए और मुझे पकड़ के अपनी तरफ खींच के गले लगाया और जोर से भींच के अपना पानी छोड़ना शुरू कर दिया. वो बोली- दीदी, आप तो बहुत मस्त माल हो यार! आपका फिगर बहुत मस्त है।और फिर धीरे-2 करके उसने मुझे पूरी नंगी कर दिया. पर मैं उसके बाद भी उससे बात करने की कोशिश करता रहा और अंत में जाकर उसने ‘हाँ’ बोल दिया.

आखिरकार 15-20 झटके मारने के बाद मैंने अपना रस उनकी गांड में भर दिया और उनके ऊपर गिर गया. तारा ने उसके सीने को चूमना शुरू किया, फिर बारी बारी उसके स्तनों के चूचुकों को चूसा और फिर नीचे की तरफ चूमते हुए लिंग तक पहुँच गयी. क्योंकि उसके डैड दिल्ली से और उसकी माँ ईरानी थी। उसके स्तन अभी भी टाइट लगते थे.

मुझे भी अपनी प्यासी चूत में लंड चाहिए था और जीजू तो मुझे चोदना ही चाहते थे.

मेरे और मेरे जीजू के बीच अब सब कुछ साफ़ हो गया था और हम दोनों लोग सेक्स के बारे में भी बातें करते थे. उस नजर को मैं बहुत अच्छे तरह से पहचानती थी। साफ़ दिख रहा था कि अगर उसे मौका मिले.

करीब 10 मिनट के बाद मैंने उनके मुँह में अपना पानी छोड़ा और उन्हें पिला दिया। फिर हम नंगे ही नहा कर बाहर आए और मैंने उन्हें बिस्तर पर पटक दिया और कहा- अब तुम्हारी चूत चोदूँगा।वो बोलीं- प्लीज़ चूत में मत डालो. मैंने कहा- यार प्लीज़ इतना गुस्सा मत हो … आई लव यू!मगर रवि को इस बात का गुस्सा था कि मैंने अपना मजा लेकर उसे प्यासा छोड़ दिया. चाहे इसके लिए कितने भी नायरों से क्यों ना चूत चुदानी पड़े।तभी जेठ ने भी मेरी छाती की घुंडी को जोर से मसक दिया और मैं सीतकार उठी- आहह्ह्ह्… आहसीईई.

तो मैंने इशारे में पूछा- क्या हुआ?वो बोली- बहुत दिनों बाद मुझे ये आनन्द मिला है. उनके मुँह से सिसकारियां निकल रही थीं, जो मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. फिर मैं पलट कर अपनी फ्रेंड के पास गया और बोला- चल आज थ्री-सम करते हैं.

हिंदी बीएफ सेक्सी डांस जब मैंने दोबारा पूछा, तो उसने बताया कि उसका पति उसे ज्यादा टाईम नहीं देता. तो उसने बड़े आराम से अपने हाथ ऊपर करके मेरी मदद की।दोस्तो क्या बताऊँ.

राजस्थानी वीडियो देसी सेक्सी

गाण्ड क्यों कुरेदता है?मैंने एक उंगली उसकी गाण्ड में रहने दी और दूसरी उसकी चूत में घुसेड़ी मुँह में मेरा लंड लिए वो मस्त चुद रही थी।क्या किस्मत थी मेरी. ’ आईस्क्रीम की तरह चूसने और चाटने लगी थी। वो फिर से गरम होती जा रही थी।अब मैं उसको पलट कर उसकी पीठ पर चढ़ गया और अपना लंड उसकी गाण्ड के पास रगड़ने लगा।मैं बैठकर उसकी गाण्ड के होल में अपना लंड फँसाकर अन्दर डालने की कोशिश करने लगा। लेकिन 2 बार की चुदाई के बाद भी लंड आसानी से अन्दर नहीं घुस पा रहा था। मैं थोड़ा थूक गाण्ड में लगाकर लंड डालने लगा. यह तो बड़ा है।और उसकी आँखें डर से फ़ैल गईं।‘इससे अपने मुँह में लो और लॉलीपॉप जैसे चूसो.

उसकी झाँटों ने चूत के आगे एक ढक्कन सा बना रखा था। मैंने अपनी उंगलियों से झाँटों को साइड में किया. यह घटना मेरी आंखों के सामने हुई, पर मैं कुछ ना कर सका बल्कि उसी बहाव में खुद बह गया. देसी पार्क सेक्स वीडियोआप ला दो।मैं खुश हो गया और शॉप पर गया और नेट में एक बिकनी सैट और एक रेड फैंसी ब्रा-पैन्टी ले आया।मार्किट से आते-आते शाम हो गई.

तो वो पागलों की तरह मुझे किस करने लगी।मैंने उसकी पैन्टी उतार दी।उसकी नंगी चूत देखकर मैं पागल हो रहा था, मेरा लण्ड पूरा खड़ा हो गया था, मैंने अपना लोवर उतार दिया। मेरा खड़ा लण्ड मेरी चड्डी से बाहर आने को मचल रहा था।तभी पिंकी ने मेरा लण्ड अपने हाथों से पकड़ लिया और ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगी।पिंकी बोली- जान.

मैंने एकदम से पूरा लौड़ा मुंह में उतार कर एक चुप्पा मारा तो जीजू बोले- रांड, नया लौड़ा देख टूट पड़ी?उस वक़्त मैं सच में ही एक रंडी से कम नहीं थी. एक बार दिखाओ तो सही?मैंने उसी समय दूसरे टैब पर टॉम एंड जेरी वाला कार्टून लगा कर दिखा दिया.

काफ़ी देर तक भाभी मेरा लंड चूसती रही और अचानक मुझे लगा कि मैं बेड में सूसू कर रहा हूँ. लेकिन हम दोनों पति-पत्नी जानते थे कि वह जाग रही है और सोने का नाटक कर रही है. उन्हें खुश करना होगा।मेरे बॉस ने कहा कि वो दो आदमी हैं तुमको दोनों को खुश करना होगा।मैं करती.

तब भाभी ने अपनी टाँगें पूरी चौड़ी की हुई होती थीं। उस वक्त चूत इतनी टाईट नहीं लगती थी और कई बार तो ये भी नहीं पता चलता था कि लंड अन्दर है.

कुछ देर बाद ज्योति अपने शरीर को ऐंठते हुए बोली- मेरा होने वाला है राजा … आह … मैं गई …यह बोल कर वो झड़ने लगी. मैं उसकी चूत में ही झड़ गया। एक-एक बूँद उसकी चूत में गिरा दी। फिर हम बाथरूम गए. जिसे तू कह दे वह चोद ले।” शिवम ने अपनी तरफ से समर्पण करते हुए कहा।न.

सेक्सी सुहागरात इंडियनमगर हां उसकी एक बात मैंने जरूर ध्यान की थी, उसने अब वो पतली सी चैन पहनना बन्द कर दिया था. वो कुछ बोलने ही वाली थी, मैंने उसे अपनी बांहों में लिया और बेड पे लिटा दिया.

143 सेक्सी वीडियो

हॉस्पिटल से निकल कर रेवती मुझे सीधा अपने घर ले गई और कहने लगी- आप अकेले रहते हैं और आपकी देखभाल करने के लिए कोई भी नहीं है. इशारों-इशारों में हम दोनों ने ही बात क्लियर कर दी थी कि क्या करना है।फिर मैंने कहा- डोर लॉक कर दो. फिर हटा लिया।फिर धीरे से पकड़ा और हल्के हाथों से ऊपर-नीचे करने लगी।कुछ देर बाद मेरे लंड से पानी निकालने लगा.

सन्नी का गुस्सा देख कर निधि डर गई और तोते की तरह एक ही बार में सारी दास्तान उसको सुना दी।सन्नी- वाह. मुझे भी कुछ मज़े लेने दे।वो मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे पूरे शरीर को चाटने लगीं।सच यार. उसने जानबूझकर चादर के नीचे से अपना शॉर्ट्स खोल दी जिससे उसका लंड चादर में तम्बू बनाने लगा.

तो मेरे हाथ पकड़ कर मेरे मुँह में लंड पेल दिया।जब मैंने उनका लंड देखा. जैसे ही वो मेरे पास आई मेरे तो पसीने छूटने लगे।उसने मेरे हाथ पर हाथ रखा और कहने लगी- तुम्हारा लंड काफी बड़ा लगता है।वो मेरे तरफ देख मुस्कुराने लगी और अपना हाथ मेरी पैंट पर रख दिया और मुझे किस किया।मुझे बहुत डर लगा और मैं वहाँ से हट गया।तो उसने कहा- डरो मत. भाभी अब भी मेरे पास आती थीं लेकिन मैंने उनसे दूरी बना ली थी और ऐसा प्रकट करने लगा था, जैसे वो मेरी लवर तो हैं लेकिन बस दूर वाली लवर.

वो एकदम सच्ची घटना है इसकी सत्यता को आप खुद ही तय करना।बात उन दिनों की है. उफ्फ्फ क्या रूप था उसका, तंग लो कट ब्लाउज में ऊपर के दो बटन खुले हुए, जिसमें से उसकी अड़तीस इंच की साइज की गदराई चूचियां, काले बालों के बीच से दूधिया दर्शन दे रही थी.

और इसमें दर्द हो रहा है।चाची- मुट्ठ मार कर सो जाओ।मैं- मुझे मुट्ठ मारना नहीं आता.

मैंने कस कर मोनू को छाती से भींच लिया। मोनू के लंड ने मेरी गुलाबी चूत में गरम-गरम फव्वारा सा चला दिया और मैं बहुत ज़ोर से झड़ गई. देशी sexy videoतुम?मैंने कहा- हाँ हमारा कुक 10 दिनों के लिए घर गया है और पानी की मोटर भी खराब हो गई है. एक्स एक्स वीडियो डॉट कॉम सनी लियोनमैंने वे दोनों टैबलेट खा लीं, तब अंकल फिर से बहुत ही धीरे से बोले- अब तू 3 महीने तक कितनी भी चुदाई करवा ले सोनू. मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था और जीजू का लंड आसानी से मेरी चूत में अन्दर जा रहा था.

अपने-अपने धक्के गिनो, बआवाजे बुलंद।” थोड़ी देर बाद उसने आदेश दिया।और इधर मेरी कमर चलनी शुरू हुई उधर शिवम की.

मैं- अंकल आपका लंड तो चुत में घुसने वाला है… पर दर्द क्यों हो रहा है?अंकल ने अपना लंड मेरी बुर में सटा कर हल्का से दबाया तो लंड का सुपारा बुर के अन्दर चला गया. मानो कमीज को फाड़कर बाहर निकल आएंगी। उसे देखने के बाद अच्छे-अच्छे का दिमाग़ खराब हो जाने वाला फिगर था उसका।मैं तो उसके चूतड़ों का दीवाना बन गया था, जब वो चलती थी. फिर प्रिया मुझे अलग हुई और बोली- आप तो बोल रहे थे कि कुछ नहीं होगा, ये क्या हालत बना दी मेरी?मैंने कहा- सॉरी बेबी.

चाचा मेरी बुर की फांकों को फैलाकर मेरी चूत चाटने लगे। वे अपनी जीभ और होंठों से मेरी चूत के अंदरूनी हिस्से को चूसते हुए चाचा मुझे थोड़ी ही देर में जन्नत दिखाने लगे। मैं भी कमर उठाकर सब कुछ भूल कर अपनी चूत फैलाकर चटवाने लगी।तभी चाचा मेरी चूत पीना छोड़कर खड़े होकर अपना हलब्बी लण्ड निकाल कर मुझसे बोले- बहू अब तुम इसकी सेवा कर दो. उस समय आंटी दूसरे कमरे में सो रही थीं।इतने में वो एकदम से बोल पड़ीं- इनमें से कौन सी ब्रा तुम्हें अच्छी लग रही है।मैंने कहा- ब्लैक और वाइट. अगर तुम चिल्लाई, तो बदनामी भी तुम्हारी होगी।वह बात भी सही कह रहा था मैं बिलकुल नंगी किसी दूसरे की छत पर क्या कर रही हूँ.

वीडियो में सेक्सी भेजिए वीडियो में

निकला।’अपना वीर्य निकलने से पहले ही जेठ ने अपना लण्ड बाहर खींच लिया और लण्ड मेरे मुँह तक लाकर तेज-तेज हाथ से हिलाते हुए मेरे मुँह पर माल की पिचकारी मारने लगे।‘आह. मैं भी खड़े-खड़े ही जेठ के लण्ड को पकड़ कर मस्ती भरी सिसकारी लेकर चूत पर रगड़ते हुए फनफनाते लौड़े का आनन्द ले रही थी।जेठ जी मेरी चूचियाँ और चूतड़ों को दबा सहला रहे थे, वे बोले- नायर से चूत चुदाने पर कैसा लगा?मैं उनको सब बताना चाहती हूँ. मैंने कोमल के मुँह में अपना लंड डाल दिया और कोमल धीरे-धीरे लंड चूसने लगी थी। मेरा लंड धीरे-धीरे फिर खड़ा हो गया और हल्का-हल्का रस छोड़ने लगा जो कोमल के मुँह में ही जा रहा था। वह इसे बाहर निकालने की कोशिश करती.

मैंने देर न करते हुए अपने सारे कपड़े उतार दिए।अभी भी मैं उसकी खूबसूरती को देखे जा रहा था। मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाली.

एक बात तो थी कि चाची के साथ होली खेलने में बड़ा मजा आया था। मैंने पहली बार किसी औरत के साथ होली खेली थी। मुझे यह तो पता नहीं कि फिगर वगैरह कैसे नापते हैं.

परेजू डरा डरा सा था, वो कुछ खास नहीं कर रहा था … मैं उसकी छोटी बहन जो थी. अरे मैं तुम्हारी इज़ाज़त के बिना कुछ न करूँगा बस!”हाँ, फिर ठीक है!” कहकर उसने मेरे गले में अपनी बांहें डाल दी और मैंने भी दोनों उभारों को ब्लाउज के ऊपर से दबाकर किनारों से खुले उरोजों की घाटी पे अपने होंठ रख दिये. सेक्स मराठी सेक्सी मराठीअब तक वो भी गर्म हो गयी थीं, क्योंकि वो मुझसे कह रही थीं कि वो मेरा लंड चूसना चाहती हैं.

विकास भी खिड़की की तरफ देखकर भौंचक्का रह गया और उसका लंड भी कुछ ही सेकेंड में ढीला हो गया. तो वह मुझे प्यार से सहलाने लगा। मैं पलटा और उसकी तरफ पीठ करके लेट गया। धीरे से मैंने अपने कूल्हे उससे सटा दिए। उसने मुझे बाँहों में भर लिया और मुझे सहलाने लगा। मैंने धीरे से अपनी लुंगी ऊपर को की. जैसे ही पिंकी का पानी निकला तो मैंने अब पिंकी को नीचे बैठा दिया और उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया, पिंकी बड़ी मस्ती से मेरे लंड को चाट रही थी!क्या मजा आ रहा था यारों… ऐसे लगता था कि जन्नत की सैर कर रहा हूँ।फिर मैंने उसके सर को पकड़ा और जोर जोर से झटके उसके मुँह को ही चोदने लगा, करीब 10 मिनट बाद मेरा सारा माल उसके मुँह में ही डाल दिया।अब आगे.

लगभग 36-26-38 का रहा होगा। उनकी मोटी और मुलायम सी गाण्ड देख कर तो मेरा लंड बैठ ही नहीं रहा था. अपने थूक से मेरे लंड को अच्छे से साफ करने के बाद प्रिया ने अपना मुँह फिर से मेरे लंड पर झुका दिया.

मैंने धीरे से धक्का लगाया और चूत में सुपारा घुस गया। दूसरा धक्का लगाया और चाची चिल्लाने लगीं- छोड़ हरामी.

उसका चेहरा फिल्म हीरोइन उर्वशी रौतेला की तरह लगता है और उसकी हेयर स्टाइल भी ‘सनम रे गाने. वह भी चुदाई में शामिल होना चाहता था, इसलिये बीच चुदाई में ही वह सामने आ गया. इतने में प्रिया बोली- देखो ये जल्दी खत्म करो और हमें शादी में जल्दी जाकर वापस भी आना है … उधर मुझे देर नहीं करनी है, ऐसे मौके का मुझे पूरा फायदा उठाना है.

ಬುಳು ಫಿಲ್ಮ್ जिससे उसका सारा बदन मेरे बदन से चिपक सा गया।शायद अब वो भी मेरी नीयत को समझ गई थी।वो झट से उठी और बिना कुछ बोले नीचे जाने लगी. तुम्हें मेरी चूत पर साठ धक्के लगाने की सजा दी जाती है। साठ धक्कों से पहले झड़ गये तो तुम्हारी गांड पे चार जोर की लातें मैं मारूंगी।”नहीं झड़ूंगा।” उसने भरोसा दिलाया।तुम.

अगर वो नहीं आए तो तुम भी स्कूल मत आना।पिताजी का नाम सुनते ही मेरे पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई, मैं गिड़गिड़ाते हुए टीचर के पास गया, कहा- प्लीज टीचर. और मैं रोज इसी तरह तुम्हारी तलाशी लेती रहूँगी।’टीचर ने सबके सामने मुझे अपमानित करते हुए कहा।मुझे उनके इस भेदभाव पर बहुत गुस्सा आया. मैंने उसके मुँह की तरफ लंड किया तो पहले उसने मेरे लंड को चूमा और फिर लंड चूसने लगी.

सेक्सी चूत लंड लंड

लेकिन मेरे लण्ड के नसीब से वो इतनी जल्दी दरवाजा बंद नहीं कर पाई थीं कि मैं भी उनके साथ अन्दर घुस गया।अब हम दोनों बाथरूम में थे, मैंने अपनी जेब में से रंग निकाला और चाची को रंग लगाया. अबकी बार मैंने पूरा का पूरा लण्ड उसकी बुर में ठेल दिया और धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करने लगा। इसी के साथ ही मैं उसे चूमे भी जा रहा था।पहली बार होने के कारण मैं बहुत जल्दी झड़ गया और प्रिया के नंगे बदन पर गिर पड़ा। कुछ देर बाद जब मैं उठा तो प्रिया कपड़े पहन रही थी. तो झट से पानी छोड़ देती हैं।दूसरी सांवली औरतें जो चुदने में बहुत सारा नखरा दिखाती हैं। लेकिन जब भी चुदती हैं तो आदमी को पानी पिला देती हैं।तीसरा प्रकार होता है काली औरतों का.

लेकिन अनु सोई रही और हिली भी नहीं। मैं जानता था कि वो क्या चाहती है।मैंने भी सीधा उसकी स्कर्ट को उसकी कमर तक चढ़ा दिया और उसकी पैन्टी पर हाथ रख दिया। अब मैं धीरे-धीरे उसे उतारने लगा. मुझे नहीं पता था कि लंड में से वीर्य छूटता है और वो चरम सीमा होती है.

मेरे इस वक्तव्य से सहमत जरूर होंगे।मैंने उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूत में लंड घुसाना शुरू किया। एक बार ऐसा हुआ कि मैंने जरा जोर से धक्का मारा.

उसकी गालियों से खुश होकर मैंने उसके चुचे को दबाना शुरू किया तो मधु ने अपने पैर नीचे किए और मुझे पकड़ के अपनी तरफ खींच के गले लगाया और जोर से भींच के अपना पानी छोड़ना शुरू कर दिया. तभी उसने मुझे पकड़ के पूरा गले से लगा लिया और अपने दोनों पैरों से क्रॉस मुझे लॉक कर लिया. लेकिन थोड़े टाइम बाद मैं नॉर्मल हो गई और अपनी गाण्ड उठा कर चुदने लगी क्योंकि मैंने दवा ले रखी थी।लेकिन प्रकाश दूर बैठ कर अपने लौड़े की मुठ्ठ मार रहा था और इधर नीलेश मुझे बजा रहा था।काफ़ी देर तक उसने मुझे रगड़ा और मेरे अन्दर ही अपना माल छोड़ दिया।उसने ये सब बिना कन्डोम के किया था।मैं काफ़ी देर बिस्तर पर पड़ी रही।इतनी देर में ही प्रकाश मेरे नजदीक आ गया.

पर जीजू दीदी के आ जाने के डर से खुलकर मुझे चोद नहीं सके और उन्होंने उस दिन मुझे कहा कि अभी तो तेरी गांड भी मारनी है. उसे महसूस हो रहा था कि जिस तरह वह अपने पति को याद कर रही है, उसी तरह मीठानंद भी अपनी पत्नी को बहुत याद करते होंगे. उसी स्टाइल में उसने भी कुतियागिरी दिखाते हुए मेरा अंडरवियर खींच कर उतार दिया।मेरा अंडरवियर उतरते ही उसने मेरा लंड ‘गप्प’ से अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी।दोस्तो.

अंकल ने अपनी जीभ चुत के रोएं पर लगा कर चाटना चालू किया तो बहुत गुदगुदी होने लगी.

हिंदी बीएफ सेक्सी डांस: उसके ऐसे उछलने की वजह से उसके बड़ी-बड़ी चूचियां जोर जोर से हिलने लगी. मैं सोच रहा था कि इसको कैसे पटाऊँ और ये तो पटा-पटाया माल निकला।दोस्तो.

‘फूफा जी ने मेरे सील तोड़ी’ यह कहानी आपको बहुत पसंद आई और आप लोगों ने इसे सराहा भी. मुझे बहुत दर्द हो रहा है।मैं सुमा को किस करने लगा और थोड़ी देर रुक गया।सुमा को दर्द कम हो गया. मैं चाची के उन मम्मों को छिपी निगाहों से देखता रहता था, पर चाची को इस बात का पता नहीं लगता था.

मादरचोद, साली, रांड, छीनाल, चोदीचे तुझ्या गांडीत पहिले मी लंड घालणार आहे, नंतर मी तुझी पुच्ची झवीन.

तो मॉम ने आंटी को मशीन निकाल दी। मैं आंटी से अपना पजामा ठीक करवा रहा था और आंटी के पास बैठा था।उस दिन मेरे हाथ पर चोट भी लगी थी. तभी मैंने उसकी गर्दन पर किस करते हुए उसकी गांड पे अपने लंड का दबाव और बढ़ा दिया. मैंने फटाफट उसकी स्कर्ट को हटा दिया और शर्ट को भी हटा दिया और उसकी चूची जोर जोर से दबाने लगा, साथ साथ किस भी करने लगा.