रांची सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,मराठी बीपी सेक्सी बीपी मराठी

तस्वीर का शीर्षक ,

किचन बर्तन: रांची सेक्सी बीएफ वीडियो, स्वरा की चूत में लगते लंड के धक्कों के साथ ही उसके चूचे भी उछल रहे थे.

ओपन सेक्सी तेलुगू

अब मैं दिमाग़ लड़ाने लगा और मेरे मन में अलग अलग तरह के विचार आने लगे. इंग्लिश सेक्सी सेक्सी फोटोऔर मैं भी उसकी कमर को जकड़ते हुए अपने होठों से उसके होठों को रगड़ने लगा.

मैंने उससे पूछा- कहां निकालूं?वो बोली- अन्दर ही डाल दो, मैं पहली बार महसूस करना चाहती हूँ. सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो देवीवो मुझे नंगा देख कर मुस्कुराने लगी मुझे भी उसकी कामुक देह देख कर उत्तेजना होने लगी.

अब मैंने भाभी की चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और तेजी के साथ उसकी चूत में लंड को अंदर बाहर करते हुए उसकी चूत को बुरी तरह से रौंदने लगा.रांची सेक्सी बीएफ वीडियो: पांच मिनट तक उसने मेरे लंड को बहुत मस्ती में चूसा और फिर मैंने एक बार फिर से उसके मुंह में अपना माल निकाल दिया.

वो बोला- अच्छा ठीक है, अब तुम कहो तो आज का प्रोग्राम शुरू करें?इतना कह कर शिवम ने अपना अंडरवियर उतार कर मेरी बहन के हाथ में अपना लंड थमा दिया और सपना रिंकू के लंड को सहलाने लगी.वह मेरे 7 इंची लंड को देख कर बोली कि आज तो मजा आ जाएगा।चाची ने ललचायी हुई नजर से मेरे लंड को देखा और उसको मुंह में भर लिया.

17 साल की सेक्सी फिल्म - रांची सेक्सी बीएफ वीडियो

उसके बाद मैंने पीछे से जेनिफर की गर्दन को चूमते हुए उसके मस्त मम्मों को सहलाने लगा.ऐसे में अगर वो फिजा की सेक्स की ख्वाहिश को जगाने में कामयाब हो जाता है तो उसकी पांचों उंगली घी में होंगी.

इस भाई बहन की चूत चुदाई कहानी पर अपनी राय देने के लिए मुझे नीचे दी गयी मेल आईडी पर अपना मैसेज भेजें. रांची सेक्सी बीएफ वीडियो रात 12 बजे के करीब मेरी नींद खुली और मैं किचन में पानी पीने के लिए गया.

पापा खुश हो गए कि बेटे को घर मिल गया रहने के लिए… उनकी चिंता अब कम हो गयी थी.

रांची सेक्सी बीएफ वीडियो?

मैं वहीं पर खड़ा होकर उन दोनों की चुदाई की वीडियो बनाने में लगा हुआ था. अब मैंने उसके बारे में पूछा, तो उसने बताया कि मैं एक कंपनी में जॉब करता हूँ. आज के जमाने में हर इन्सान और हर माता पिता अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा देने की सोचता है.

ये भी डर था कि अगर लवली वहां पर गांव में किसी से पट गयी तो पूरे गांव में अलग से बदनामी हो जायेगी. मेरे लंड को लेते हुए वो बड़बड़ाने लगी- आह्ह … फाड़ डालो चूत को, मेरी प्यास मिटा दो. फिर दीदी ने कहा- आह शिव … तेज करो और तेज …मैंने धक्के की रफ्तार बढ़ाई, तो दीदी पन्द्रह मिनट में झड़ गईं और उन्होंने खुद ही नीचे होकर लौड़ा बाहर निकाल दिया.

उसके घर जाने पर जब मैं सोनाली को चोद रहा था, तभी कमरे में उसकी बहन आ गई और मैंने सोनाली के साथ उसकीबहन को भी चोद दिया. मैंने आकाश को छेड़ते हुए कहा- पत्नी के साथ नहीं, पत्नियों के साथ कहिये. यह थी मेरी चुदाई की एक छोटी सी दास्तान!मेरी कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया[emailprotected]पर भेज कर मेरा उत्साह बढ़ाएं।.

आज की सेक्स स्टोरी मेरे जीवन के उन मज़ेदार पलों की है, जिसको पढ़कर आपको भी आनन्द की अनुभूति होगी. फिर से दूसरे दिन जब भाभी ने नया स्टेटस डाला, तो मैंने फिर से नाइस पिक करके कमेंट किया.

अब मेरी चूत की गर्मी और अधिक हो गयी थी और मेरा मन चुदने के लिए करने लगा था.

वो बोला- गांड मराने से पहले दारू पिएगा?मैंने कुछ नहीं कहा, तो वो सामने बनी अलमारी से दारू का अद्धा और गिलास निकाल लाया.

मैंने उसको बोला- मतलब ये पहली बार है … तो तुमको थोड़ा सा दर्द होगा, पर तुम चिंता मत करो. उसने मुझसे कहा कि यदि तुमको जैनब पसंद है, तो उससे अपनी बात कहते क्यों नहीं?मगर मैं ऐसा नहीं कह सकता था, शायद मेरा शर्मीलापन मुझे ऐसा करने देने के आड़े आ रहा था. वहां पर जाने के बाद भी मुझे मौका नहीं मिला और मैंने एक तरकीब निकाली.

अब बताओ, मसाज कर दूं?मैं-कर दो।स्वरा बिना कुछ बोले अलमारी से तेल निकालने लगी, फिर मेरी तरफ बढ़ी और बोली-सर चलिये उठ कर बैठिये. तब मैंने गुस्से से कहा- मैं कल आऊंगी और जरूर सीखूँगी।तो उसने कहा- कल 3:30 बजे आना. एक दिन उसने पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- पहले तुम बताओ … तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?वो- नहीं … मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है.

फिर वो बोला- मम्मी, अब आप अपनी टांगों को चौड़ी करके सही पोजीशन में बैठ जाओ.

मैंने पूछा- दीदी क्या हुआ?दीदी बोलीं- शिव, कल जब तुम मेरी चूत फाड़ कर गए थे न … मुझे पूरी रात दर्द हुआ था. अपनी तारीफ सुन कर चाची काफी खुश हो गयी और झूठा नाटक करते हुए मेरी पीठ पर हाथ से मारते हुए बोली- अच्छा, बहुत शैतान हो गया है तू, मैं चाची हूं तेरी. मैंने कैसे की?नमस्कार दोस्तो, ये मेरी पहली और सच्ची सेक्स कहानी है, जो मैं अन्तर्वासना के माध्यम से आप लोगों से साझा कर रहा हूँ.

मैंने भी सोच लिया था कि ये जब अपने आप मेरे पास आएगी, तब ही इससे दोस्ती करूंगा. जिस तरह से शिक्षा के प्रति लोगों की दिलचस्पी बढ़ी है उसे देखते हुए देश में एजुकेशन का रेश्यो भी काफी हद तक बढ़ गया है. बैट को पकड़ पकड़ कर स्ट्रोक लगाने वाला क्रिकेटर अब अपनी पत्नी की बॉल्स को मस्ती में भींच रहा था.

ये बोल कर पापा ने मेरी बीवी को एक आशिक की तरह अपनी बांहों में भर लिया.

मैंने जमीन पर घुटने मोड़ कर उनकी पैंटी को नीचे खींच दिया और चूत को दोनों हाथों की उंगलियों से महसूस करने लगा. फिर जब हमारी दोस्ती को काफी समय हो गया तब हम दोनों में खुल कर हंसी मजाक चलने लगा.

रांची सेक्सी बीएफ वीडियो उनको लड़की और औरत में फर्क नहीं पता है कि लड़की चोद रहा हूं कि औरत। दूसरी बात अगर तुमको यह अफसोस है कि तुम्हें ज्यादा उम्र की औरत मिली है और तेरा बाप एक कम उम्र की लवंडी का मालिक हो गया है तो अभी से बोल देना मुझे. मेरी इस बात पर पायल भाभी भी बोलीं- तो चोद न कुत्ते … भोसड़ी के तेरे लंड में ही दम नहीं था … मैं तो तुझसे उसी समय शादी में ही चुद जाती … मादरचोद तू बोलता तो … चल अभी ही सारी कसर निकाल दे हरामी … चोद साले जोर से … और जोर से पेल मां के लौड़े …ऐसे गालियां देते हुए चोदने का अलग ही मज़ा होता है दोस्तों … अगर अभी तक आपने ऐसा नहीं किया, तो एक बार ट्राई जरूर करना.

रांची सेक्सी बीएफ वीडियो मैंने कहा- हां, मुझे रिंकू सिंह का अहसान मानना चाहिए जो तुम्हें मुझसे मिलवाया. फिर वो एकदम से खड़ी हो गयी और मेरे कपड़ों को उसने जल्दी जल्दी से खोल कर उतार दिया.

भाभी का बदन मेरे बदन से रगड़ खाता हुआ नीचे जाने लगा और उसी रगड़ के कारण मेरा पजामा, जो कि ढीला था, भाभी को नीचे उतारने के साथ ही वो भी नीचे जा खिसका.

खुजली की क्रीम

वो आसिफ की आंखों में अपने लिये प्यार और चाहत के भावों को साफ साफ देख सकती थी. मैंने आपको बताया था कि मेरा बेटा और मेरी बेटी आपस में प्यार करने लगे थे. मैंने अपने हाथ से मां का वह हाथ पकड़ लिया जिससे वह अपनी चूत को सहला रही थी.

उनको किस करते हुए ही मैं उनके गले, गालों और उनके कान की लौ को चूमने लगा. ‘फच्च फच्च फच्च’ की आवाज आने लगी चूत से!और आंटी मस्त होकर चुदवाने लगी. कुछ देर के बाद आकाश नीचे आया और जैसे ही उसकी नजर मुझ पर पड़ी वो मुझे देख कर एकदम से दंग सा रह गया.

मैंने बीच पर घूमते हुए मां से पूछा- आज क्या पहनोगी?वो बोली- शादी का जोड़ा.

दीदी ने अपनी जीभ को बाहर निकालते हुए मोनिका की चुत को कुरेदा तो मोनिका की भी एक तेज ‘आह. विश्वास तो आप कर सकते मुझ पर … मैं नहीं बोलूंगी अल्पना से!विवेक- हाँ मुझे तुम पर बहुत विश्वास है. मेरी गन्दी कहानी के पिछले भागगलती किसकी-1में मैंने आपको बताया था कि मेरा बेटा आकाश और मेरी बेटी के बीच सेक्स संबंध शुरू हो गया था.

और वो अपने बॉयफ्रेंड विवेक जो कि मेरा भी क्लासमेट दोस्त था उसे आने को बोल दे रही रही है।उस टाइम 1 बजे का टाइम था. कैमरा कुछ ऐसे रखा गया था कि सुराज और मनुषा की चुदाई कैमरे में रिकॉर्ड हो जाये. और मैंने उसकी फ्रेंची के ऊपर उसका लंड पकड़ लिया।वह बढ़ने लगा और फिर मैंने उसकी फ्रेंची को नीचे सरका दिया.

मैंने यह बात रात को ही सनी को बोल दी कि कल तुम मेरे घर आ जाना।अगले दिन 2 बजे मैंने कॉल किया- आ जाओ. मैंने कहा- तेरा दिमाग खराब हो गया है क्या आकाश? एक तो तुम दोनों भाई बहन ने मिल कर इतनी बड़ी गलती कर दी है और फिर ऊपर से तुम मुझसे ही बात नहीं कर रहे हो, और अब शराब भी पीने लगे हो, ये सब चल क्या रहा है?आकाश ने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

एक दिन दिव्या का फोन आया, जीजा जी नमस्ते कहने के बाद उसने पूछा- क्या कर रहे हैं?तुम्हारा इन्तजार. चुदाई के बाद मैंने उठ कर अपने कपड़े पहने और अपने बाहर वाले गार्ड रूम में आ गया. दीदी मेरी और सेक्सी अंदाज से देखने लगीं और फोन से तस्वीर लेने लगीं.

और मैंने उन्हें मुखमैथुन का सुख देने के लिए अपना मुंह वहाँ पर रख दिया और किस करने लगा।मुझे थोड़ा अजीब लगा लेकिन मैंने हमेशा सोचा था कि अपनी पार्टनर को ये सुख दूँगा।जैसे ही मैं वहाँ किस कर रहा था, उनकी सिसकारियाँ एकदम बढ़ती जा रहीं थीं। शायद बही ने बाह्भी की चूत कभी चाटी ही नहीं होगी.

इस बार तो दी बहुत शोर करने लगी- ओह यस फक मी येस्स … आह हाँ … उम्म्ह. मैं धीरे धीरे करके दीदी के बदन को चूमने लगा और दीदी के मुँह से कामुक आवाज़ निकालने लगीं. उस दिन काफी देर तक हम दोनों इस तरह से खुली खुली लंड चुत की बात की और मैंने तो अपना लंड हिला कर पानी निकाल लिया.

पापा को मैंने पहले ही सब कुछ समझा दिया है और मम्मी समझेगी कि यह सब नशे में हो रहा है. मैंने कहा- प्रतीक्षा, एक बार इसको मुंह में लेकर चूसो ना, बहुत मन कर रहा है.

पानी के अंदर ही मैंने मां की पैंटी को साइड में किया और अपना लंड डाल दिया. मुझे इस समय उसकी मदमस्त चूचियां देख कर बड़ा मजा आ रहा था वो मुझे अपने दोनों मम्मों को बारी बारी से चुसवाते हुए लंड पर कूद रही थी. मैंने एक लड़की से पूछा- हिना कहां है?उसने मुझे बताया कि आज तो वो कॉलेज आई ही नहीं है.

नहाने वाली सेक्सी

फिर मैं उनके होंठों को चूसने लगा ‘उम्म्म पुच्च्च पुच्च्च उम्म्म्म …’ बहुत मजा आ रहा था उनके होंठों को चूसने में!‘उम्म्म्म पुच्च्च्च पुच्च्च’फिर आंटी बोली- देर हो रही है.

एक बार तो मैं भी बिदक गया मगर फिर मैंने सिचुएश को कंट्रोल करते हुए स्वरा की ओर देख कर कहा- हम्म … क्या आर्डर करूं स्वरा?मैं अपना हाथ पीछे करते हुए बोला।कुछ भी सर, ओनियन उत्तपम मंगा लीजिये. वो मेरी तरफ देख कर बोली- अब तू बता कि तू किसका शीरा लेती है?मैंने भी दबी जुबान में बता दिया- मैं भी अपने भाई के लंड का शीरा लेती हूँ. भाभी ने मुझे धकेलते हुए कहा- जल्दी हटो … लगता है तुम्हारे भैया आ गए हैं … चलो भागो जल्दी से अपने कमरे में.

जब भी वो कोई उत्तेजक सेक्स कहानी पढ़ती हैं, तो उनका मन चोदाई का आनन्द लेने का हो जाता है. तो कभी न तो पैसे की कमी आई, न कोई काम करने की ज़रूरत ही महसूस हुई।सारा दिन घर में खाली ही होती थी, वही आदत पड़ गई।पति भी बहुत प्यार करते थे, तो किसी चीज़ की कमी नहीं थी. इंडियन सेक्सी देसी भाभीखैर उस वक़्त टीवी शो में कोई हॉरर मूवी चल रही थी, जोकि मुझे बिल्कुल पसंद नहीं होती.

वो उछल कर हटना चाह रही थी लेकिन मैं उसकी कमर दोनों हाथों से जकड़ कर जोर जोर से अंदर बाहर करने लगा. मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपना सारा रस भाभी की चूत के अन्दर ही छोड़ दिया.

उनमें एक अलग ही बात होती थी जो पोर्न में मुझे नहीं मिल पाती थी। गे सेक्स स्टोरी पढ़ते हुए मुझे ज्यादा मजा आता था. मैंने मां की टांगों को पकड़ लिया उसकी चूत में लंड लगा कर मैंने एक धक्का अंदर की ओर दे दिया जिससे मेरा लंड मां की चूत में जा घुसा. उसके बाद मैंने क्या किया?दोस्तो, मेरा नाम अनीश है और मैं इंदौर मध्य प्रदेश से हूं.

मोनिका ने मेरे 7 इंची लंड को अपने हाथ में पकड़ा और उसकी गर्मी को महसूस करते हुए उसको प्यार से सहलाने लगी. उनका जिससे मन होता है वो उससे सेक्स कर लेते हैं और उनको ऐसा करने से कोई रोकता भी नहीं है. अगले ही पल मैं भी अपना संयम खो बैठा और जेनिफर का साथ देते हुए उसके गुलाबी होंठों को चूमने लगा.

पर अब नींद नहीं आ रही थी।10 मिनट बाद मैंने शुभम को कॉल कर के रूम में आने को कहा।शुभम मेरे रूम में आया, मैं पहले ही अपने कपड़े उतार चुकी थी।उसके रूम में आते ही मैं अपने बेड पर घुटनो के बल बैठ कर अपनी चादर हटाते हुये कहा- चाची की चुदाई हो गयी.

मैं समझ गया कि जरूर भाभी के दिल में मेरे लिए कुछ तो खिचड़ी पक रही है. फिर मैंने उसको उल्टा लेटा दिया और उसकी गांड को उंगली से सहलाने लगा.

मेरी इस मुस्कान को सिम्मी ने देख लिया और दोनों हाथों से अपने चेहरे को ढक दिया और अपनी जाँघों को आपस में भींच दिया।मैं उसकी जाँघों पर किस करते हुए सिम्मी के नर्म पैरों की उंगलियों पर किस करने लगा, फिर मैंने सिम्मी के पैर के अंगूठे को अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसने लगा. कोमल दीदी बोलीं- शिव, मेरा क्या होगा?मैं रुक गया और दीदी से बोला- दीदी, मैं आपको भी प्यार करता हूं. वह मुझे अपनी चूत की फोटो भी भेजती थी और मैं भी अपने लंड की फोटो भेजता था। हम बहुत मजे करते थे।लेकिन अब हमारी बात नहीं होती। कुछ कारणों से हम अलग हो गए।तो दोस्तो, आपको मेरी गर्लफ्रेंड की सेक्स स्टोरी कैसी लगी? मेल करके बताना![emailprotected].

भाभी के मुँह से एक दर्द भरी आह निकलने को हुई, जो उन्होंने अपने होंठों में ही दबा ली. जब सुनीता के बारे में पता लगा कि उसको शिवम भी चोदता है तो मुझे बुरा लगा. फिर मैंने भी हैलो किया और बोला- नहीं यार … तुमको बस इस रूप में आज पहली बार देख रहा हूँ न.

रांची सेक्सी बीएफ वीडियो एक दिन उन्होंने मुझसे पूछा कि आप क्या काम करते हो?मैंने उनसे झूठ बोल दिया कि मैं जॉब करता हूँ और अहमदाबाद में एसजी हाईवे पर ही मेरा आफिस है. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:भाभी देवर के बीच की सेक्स कहानी-3.

सेक्स के बारे में जानकारी दें

मुझे भी यकीन नहीं हो रहा था कि मेरी पीठ के पीछे मेरे ही घर में इतना कुछ हो रहा है. शिवकुमार बोला- ठीक है, मैंने तो इसलिए पूछ लिया था कि आकाश ने बताया था आपके बारे में कि किस तरह आप दोनों ने शादी की थी और आकाश ने किस तरह से आपकी मदद की है. सोनिया भी लंड को मुंह से निकाल कर बोली- हाह … हां भैया, आप मुझे छोड़कर कभी मत जाना.

फिर एक दिन रात को उसका फ़ोन आया … तो उसने मुझे बताया कि उसके मम्मी पापा कल किसी काम से शहर से बाहर जा रहे हैं … तो तुम सुबह नौ बजे मेरे घर पर आ जाना. लेकिन वह नहीं जानता कि उसे कैसे चोदना है।वह मुझसे बोला- दी … प्लीज मुझे सिखाओ। मुझे पता है कि तुम हमेशा बहुत सारे लड़कों के साथ चुदाई करती हो।मैंने कहा- ठीक है, मैं तुम्हें सिखाऊंगी. कैटरीना का फुल सेक्सी वीडियोमुझसे उसने कहा- आपने कहा था कि अगर मैं अपनी किसी सहेली से आपको नहीं मिलवाऊँगी तो आप मेरा ही नंबर लगा दोगे.

जब उसने खुद अपने गले तक लंड लिया तो मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा लंड कितनी अच्छी जगह पर है.

कुछ ही समय में मैंने हिना के बारे में पूरा पता निकाल लिया और घर आ गया. पूरे रास्ते मैंने भगवान से प्रार्थना की कि हे भगवान सिर्फ एक बार मैं इसको चोदना चाहता हूं.

फिर उन्होंने कहा कि अब लंड पेले ही पड़े रहोगे … धक्के मारना स्टार्ट करो न. जब वो ये ना कर सकी तो उसने मुझे क्या दिया?नमस्कार दोस्तो! मेरा नाम विकास है, मैं भारत के हृदय स्थली से हूं। 26 साल का सीधा साधा नौजवान जो अपने जीवन में मस्त और एक अच्छे कार्यालय में मानव संसाधन अधिकारी (HR Officer) के पद पर कार्यरत हूँ।मैं अन्य लेखकों की तरह बहुत बढ़ा चढ़ाकर तो नहीं लिखूंगा. दीदी लगातार दर्द के मारे जोरों से कामुक आवाजें निकाल रही थीं और मुझे धीमे करने को कह रही थीं … लेकिन मैं तेज़ी से दीदी की चुदाई कर रहा था.

आह्ह … मेरी जान … सुराज … फक मी माय डियर … आई लव यू माय सेक्सी हस्बेंड।सुराज- ओह्ह … माय स्लट वाइफ … आई लव यू टू … आह्ह … ओह्ह!चुदाई की गर्मी की वजह से दोनों का ही बदन पूरी तरह से पसीना पसीना हो रहा था.

कुछ देर के बाद बाद मैंने उसकी सलवार पूरी तरह से निकाल दी और एक हाथ को उसकी नंगी टांगों पर फेरने लगा. इस कारण से उसके सफेद रंग के टॉप में जो कि पूरा का पूरा गीला हो गया था, उसके अंदर फिजा ने सफेद रंग की समीज पहनी हुई थी जो गीली होने के कारण उसके बदन से चिपक गयी थी. उसी को याद करते हुए हम दिन में खेलते हुए वैसे ही एक दूसरे की सूसू को चूसते थे और मज़े करते थे.

मोटा गांड वाला सेक्सीरीना की नजर डेरिक पर गयी तो उसे भी मालूम चल गया कि मेरा दोस्त उसके बूब्स को घूर रहा है. एक पल बाद भाभी कमरे में चाय लेकर आ गईं और मुझसे बोलीं- तुम्हें फिल्म कैसी लगी?मैंने चेहरे पर जा सी मुस्कान लाते हुए कहा- अच्छी थी.

वैष्णो देवी पिक्चर

रिया जी का ध्यान भी मेरे पैंट की जिप पर चला गया और वो अपने मुँह पर हाथ रखते हुए शर्मा गईं. इतना सुनने की ही देर थी कि मैंने उनका चेहरा पकड़ लिया और उनके होंठों का रसपान करने लगा. एक एक करके मैंने स्मृति के और अपने सारे कपड़े उतारे, उसको बाहों लेकर उसके होंठों का रसपान करने लगा.

प्रभा आंटी की चूत पर हाथ फेरते हुए मैंने उनकी गांड के छेद पर अंगूठा रगड़ा तो आंटी कसमसाने लगीं और मेरा लण्ड पकड़ कर अपनी चूत पर रख दिया. रिया जी- मुझे आपसे लम्बी बातचीत करने से कोई परहेज नहीं है, लेकिन ये भी मैं साफ़ कर दूं कि मैं किसी से भी भावनात्मक रूप से नहीं जुड़ सकती हूँ. उनकी पत्नी यानि पूजा भाभी की कम उम्र होने की वजह से उनकी शारीरिक बनावट भी बहुत सुंदर थी.

फिर बिना उनसे पूछे मैंने भाभी की साड़ी घुटने तक ऊपर कर दी और आयोडेक्स लगाने लगा. आज रिया जी की चुत चोदाई की कहानी ही आपके सामने पेश कर रहा हूँ, आनन्द लीजिएगा. मैं बोला- आप घर में अकेली हो, मैं आपके पास रुक जाता हूँ … शाम तक आपके पापा आ जाएंगे … तब चला जाऊंगा.

वो थोड़े गुस्से में मेरे पास आईं, मुझसे फोन लिया और काटकर डाइनिंग टेबल पर फेंक दिया. आप मुझे लड़की को पटाने के तरीके बताना फिर उसे मैं यहाँ लाकर आपके सामने उसकी गांड में अपना लंड घुसाउँगा.

वो बोली- 18 साल से ठंडी पड़ी हुई है जवानी, आज जब लंड मिला है तो झड़ ही जाएगी.

वो अपने लंड की पिचकारियां मेरी चुत में छोड़ते हुए बोला- आआहह … मज़ा आ गया यार. सेक्सी लोड करे वालामैं थोड़ा पतला जरूर हूं मगर मेरे लंड का साइज 6 इंच है और ये चार इंच मोटा है. सेक्सी नेकेड डांसमैंने कहा- निराश मत हो, अब तेरा जब मन करे चुदवा लेना। पर पूजा की जगह लेने की कोशिश मत करना. मैं- अरे भाभी मेरे लंड का पानी तो निकल गया आपकी गांड को देखकर, उफ़ मज़ा आ गया.

भूमिका को कुछ समझ में नहीं आ रहा था लेकिन उसको मजा बहुत ज्यादा आ रहा था और वह सी सी की आवाजें कर रही थी.

रिया- सागर जी, क्या कर रहे हो?मैं- कुछ नहीं जी … बस ऐसे ही खाली हूं. और मैंने उससे वादा किया कि मैं भी इस बारे में किसी से बात नहीं करूंगा. मामी भी मेरे बालों को सहला सहला कर मुझे प्यार कर रही थी और मुझे चूम रही थी.

मैंने उनसे पूछा भी कि भाभी आपको उठने में कोई दिक्कत हो तो मैं आपके पास ही रह जाऊं. अब आगे:सिम्मी के बदन से काफी उत्तेजित खुशबू आ रही थी, उसके सामने महंगा से महंगा परफ्यूम फेल था, मैं उसके बदन से आ रही खुशबू का आनंद ले रहा था। अब मैंने सिम्मी को बिस्तर पर पटक दिया सिम्मी एक दम से पलट गई अब सिम्मी की पीठ मेरे सामने थी।मैंने उसकी पीठ पर किस करना शुरू किया साथ ही जीभ की सहायता से सिम्मी की पीठ पर लकीरें खींचना शुरू किया. वहां से निकलते वक़्त मैंने भाभी को किस किया और बाय बोल कर वहां से चला आया.

लड़कियों का रोमांस

अब मेरा लंड खड़ा हो गया था, तो मेरा एक हाथ दीदी की पैंटी में गया और उनकी चूत रगड़ने लगा. उस होल से मैंने दूसरी तरफ देखा तो मेरी बहन पूरी तरह से नंगी पड़ी हुई थी. कुछ देर बाद पता नहीं उसे क्या सूझा कि उसने मेरे माथे पर किस कर दिया.

मगर कभी भी उसने ये जाहिर नहीं होने दिया कि वो मेरी हरकतों को समझ भी रही है.

मनुषा ने सुराज के लंड को देखा और मुस्कराकर मटकती हुई अंदर जाने लगी.

घर के दूसरे सदस्यों की बात करूं तो मेरी मां का नाम सुधा है जो कि 40 वर्ष की है. उस पर पहले से खून के दाग पड़े थे।सिम्मी ने उसे मेरे हाथ से खींचा और अपने पास रख दिया और अपने कपड़ों को पहनने लगी. सेक्सी चोदने वाली चलने वालीमिस्त्री मेरी बीवी को अपनी गोद में उठाए हुए ज़ोर ज़ोर से पेलने लगा.

उसके बाद हम थोड़ी देर लेटे रहे और फिर मैं तैयार हो कर अपने घर आ गया. उसने पूछा- आपका छोटू कितना बड़ा है?मैंने कहा- वो इंची टेप से नापने से ज्यादा तब ठीक रहेगा, जब खुद ही टेलर को अपना नाप ट्रायल रूम में जाकर देगा. मैं दीदी के पेट पर हाथ फेर रहा था और उनसे जानने की कोशिश कर रहा था कि कल जो मोटा सा उनके पेट के नीचे महसूस हो रहा था, वो आज कहां गया है.

जैसे ही भाभी ने अपने पैर उठा कर दीवार को लांघने की कोशिश की तो भाभी की साड़ी ऊपर उठ गयी. मुझे काफी गुस्सा आ रहा था और मैंने गुस्से में सोनिया को तीन-चार झापड़ लगा दिये.

फिर मैडम ने लंड चुत में एडजस्ट किया और अपनी कमर हिलाना शुरू कर दिया.

आज पहली बार मुझे झुंझलाहट हुई कि साली इसका फोन भी इसी वक़्त आना था. मनुषा की चूचियां भी बहुत ही सेक्सी लग रही थीं जो सुराज के सीने से दब गयी थी. मैंने पूछा- बाथरूम में क्या कर रही थी?जी कुछ नहीं, पेशाब करने गई थी.

रानी मुखर्जी की फोटो सेक्सी भाभी मेरे लंड को एक लॉलीपॉप की तरह चूस रही थीं … साथ में मेरी गोटियों को भी हाथ से सहला रही थीं. अगले दिन जब मैं ऑफिस जाने के लिए तैयार होकर पीछे बालकनी में तौलिया डालने के लिए आया तो मैंने देखा कि पीछे की बालकनी में कुछ कपड़े गिरे हुए थे.

मैंने भी टाइम ना लगाते हुए पूछा- किस पोजीशन में चुदोगी?उसके बोली- घोड़ी बनाकर चोद दो. तुझे ये कहां मिली और कैसे ये सब कुछ हुआ?मैंने उनको विस्तार से सारी बात बताई. लंड और चूत ये दो ऐसे अंग हैं जो एक दूसरे की झलक भर भी पा लें तो तुरंत मचलने लगते हैं.

सनी लियोन की फिल्म

वह- तुम्हें सब पता है, तुम्हें किसने बताया?मैं- अरे मूवी में देखी है. विपिन भईया ने कहा अगर धन नहीं है तो फिर यहाँ बैठ कर क्यों समय व्यर्थ कर रहे हो? अपने घर लौट जाओ. फिर उसकी एक चूची अपने मुँह में भरकर उसे बेतहाशा उसका निप्पल चूसने लगा।साथ ही मैंने अपनी उँगली भी उसकी बुर में चलानी शुरू कर दी।कुछ ही पलों में उसकी सिसकारियाँ निकलने लगीं।जब मैंने देखा कि उसकी नींद खुल रही है तो मैंने उसके निप्पल को ज़ोर से काट लिया।वो एकदम सकपकाकर उछलकर बैठ गयी.

फिर उसने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर उसकी गर्मी महसूस की और उससे खेलने लगी. दीदी से मैं बोला- दीदी मैं लोवर उतार दूं क्या?उन्होंने खुद मेरा लोवर और निक्कर दोनों को नीचे खींच कर उतार दिया और अपनी लैगी को पैर मोड़ कर निकाल कर फेंक दिया.

एक दिन मेरे एक दोस्त ने बताया कि उस औरत सुनीता को शिवम सिंह भी चोदता है.

मुझे ज़्यादा देर नहीं लगी ऐसी भाभी ढूंढ़ने में जिसे देखकर मुझें मेरीं माँ याद आती हो. वो किसी ना किसी तरह से मेरे जवान गर्म बदन को छूता रहता।10 दिन में मैं सीख गई।फिर उसने पूछा- अब प्रोफेशनल सीखना है या नहीं?मैंने कहा- हां क्यों नहीं!तो उसने कहा- कल प्रोफ़ेशनल सिखाऊँगा। पर कपड़े प्रोफ़ेशनल वाले पहनकर आने होंगे।मैंने पूछा- वो क्या होते हैं?उसने कहा- इंग्लिश मूवी नहीं देखती क्या?मैंने कहा- देखती हूं. इतने में रिया ने मेरी पैंट को खोला और चड्डी समेत मुझे नीचे से नंगा कर दिया.

फिर अगले दिन हम सॉरी बोलना चाह रहे थे लेकिन आप हमें देख ही नहीं रहे थे. [emailprotected]हॉट गर्ल की बुर चुदाई की कहानी का अगला भाग:हॉट गर्ल की बुर चुदाई की कहानी-2. ये सब इतनी जल्दी से कैसे कर लिया मां?वो बोली- राजा चौंको मत, मैं ये सब नीचे से ही पहन कर आई हुई थी.

उसे देख कर तो मेरा लौड़ा उसे 21 तोपों की सलामी दे रहा था और पैंट में से बस आज़ाद होना चाह रहा था.

रांची सेक्सी बीएफ वीडियो: पर मैं ना तो आप लोग से मिल सकती हूं, न ही आप लोग के साथ सेक्स कर सकती हूं. ”अगली रात की तैयारी में मैंने अपनी झांटें साफ कीं और शिलाजीत के दो कैपसूल खाकर दूध पी लिया.

सेक्सी कहानियां हिंदी में पढ़ते रहे इस प्यारी सी साईट पर![emailprotected]कहानी का अगला भाग:गलती किसकी-2. मैं उनकी नीचे सरकी हुई सलवार और पेंटी को उनकी टांगों से निकाल दिया और भाभी को एकदम नंगी कर दिया. विवेक- अच्छा बुला लेती ना यार! वैसे मुझे लगा कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड नहीं होगा.

उसको नीचे लिटा कर उसकी चूत में उसने उंगली करना शुरू कर दिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा.

मैंने कहा- तुम भी तो इतनी ही खुशनसीब हो जो मेरे ही बेटे से अपनी चूत मरवाती हो. दो-तीन मिनट में ही उसने मेरी जान निकाल दी और फिर मेरी चूत में ही झड़ने लगा. चूंकि मैं अपने यहां पर अकेला ही था इसलिए किसी के आने का डर भी नहीं था.