सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी बीपी कन्नड

तस्वीर का शीर्षक ,

বেঙ্গলি সেক্স ফটো: सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो, उन दोनों को देख कर मैं कंफ्यूज था कि कैसे पहचानूं कि संध्या कौन है … क्योंकि पूजा को ये बात नहीं पता थी कि आज उसकी बहन भी चुदने वाली है.

न्यू अमेरिकन सेक्सी वीडियो

”वह अपने तगड़े लंड को सहलाते हुए बोला- अभी शुरुआत की, तो भी एक घंटा लगने ही वाला है नीतू डार्लिंग. सेक्सी वीडियो एचडी बिहार कीआपने अब तक मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागपुराने साथी के साथ सेक्स-4में पढ़ा कि सुरेश में मुझे इतना अधिक चोदा था कि मैं खुद को निष्प्राण समझने लगी थी.

मेरी इस प्यासी टीचर चूत चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी मैडम मेरे सामने नंगी हो गयी और मुझसे अपनी चूत चुदवाई. गुजराती सेक्सी वीडियो एचडी मेंमैं धीरे से बोला- कजरी भौजी, कहां खोई हो?इतना सुनते ही वो घबराहट के साथ साड़ी नीचे करके खड़ी हो गई और बोली- प्रभात बाबू आप ये क्या कर रहे हो … मुझे पेशाब करते देखने आ गए.

जैसे तैसे जोर लगा कर मामाजी ने मेरी गांड में डाला और मेरे ही ऊपर पसर गए.सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो: उसके फोन को देखते हुए मुझे उसमें अनिरूद्ध के नम्बर से नोटिफिकेशन मिली.

एक घंटे के इस इंटरवल के बाद हम तीनों फिर से चुदाई के लिए गर्म हो गए थे.मैंने कहा- जानू अभी तो आधी ही अन्दर गयी है … अभी तो मैं इसमें पूरा हाथ भर का अपना अन्दर डालूँगा.

फुल सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ - सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो

मैंने भी मन ही मन सोचा कि बड़े भैया की नौकरी बाहर होने के कारण प्रिया भाभी को भैया का ज्यादा साथ नहीं मिल पाता था.मैंने अपने लंड को पहले पूरी चुत पर से सहलाया, तो उसने गांड उठाते हुए कहा- भैया अब सब्र नहीं होता … जल्दी से अन्दर डाल दो … अब देर न करो … अपना लंड चुत के अन्दर पेलो.

उसने कहा कि आपका लंड इतना टाइट और बड़ा है … लेकिन कुछ निकल क्यों नहीं रहा. सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो प्रीति ने उसकी गांड पे कस कस के चांटे लगाए, कल्पना ने तो दांत ही गड़ा दिए.

जैसे ही मेरी पकड़ ढीली हुई निर्मला ने कहा- देखो तो, तुम तो अभी से ही झड़ने लगी, लंड से चुदने पर क्या होगा.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो?

उसके घोड़ी बनते ही मैंने फिर से अपने थूक से लंड को गीला किया और उसकी चुत में भी थूक लगा दिया. शायद महीनों बाद संभोग के सुख मिला … या अपना था, इसलिए उसके प्रति सोच बनी रही थी. एक दिन चाचा जब घर पर नहीं थे तो चाची ने काम के बहाने से मुझे रात को घर पर बुला लिया.

दोस्तो, ये थी मेरी गर्लफ्रेंड की सील तोड़ चुदाई … आपको मेरी ये गंदी कहानी कैसी लगी … कृपया मुझे जरूर बताएं, यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है. उस रात हम दोनों ने मोनिषा आंटी को रात भर चोदा और पांच बार मोनिषा आंटी को अपने लंड का रस पिलाया. वो बोली- फिर इतनी रात को किसकी याद में खोए हुए हो?मैंने कहा- सच कह दूं.

मेरी चुदाई हिंदी स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मुझे मेरी गर्लफ्रेंड ने दगा दिया. दो मिनट तक गांड चाटी और फिर उनकी गांड मारने के लिए मैंने आंटी को घोड़ी बना दिया. तो मैं तो निश्चिन्त था, कोई बेसब्री नहीं ज़ाहिर कर रहा था।उसकी चूत में पानी आ रहा था जो मुझे पार्लर में लगे आइनों में साफ़ दिख रहा था। उसकी चड्डी सामने से पूरी गीली हो गई थी और बंद कमरे में उसकी सुगंध भी आ रही थी.

मैंने भाभी से पूछा- बहन किससे चुदवाती हैं?वो बताने लगीं- मैं और मम्मी एक दिन शाम को 4 बजे के बाद मार्केट गए हुए थे, तो मैंने देखा कि प्रीति दो लड़के से बातें कर रही थी. लंड घुसते ही उसकी जोरदार चीख निकल गई … पर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उसकी चीख दबा दी.

राजशेखर- रिश्ता हमारा सही है, हमें तो केवल अपने बचे हुए जीवन को मजे से जीना है और जब तक किसी को पता नहीं चलता, ये गलत कैसे हो सकता है.

मैंने उसकी साड़ी को ऊपर किया, तो बोली- पहले मूत लेने दो प्रभात बाबू.

वे बड़ी देर तक मेरे ऊपर लेटे रहे, पर जब उनका लंड सिकुड़ गया, एकदम ठंडा पड़ गया, तब बाहर निकले. वो बोला- मेरे साथ स्मार्टनेस नहीं चलेगी, अभी कसके रगड़ दूंगा तो फड़फड़ाओगे. मैंने कहा- तुम मेरे पास मेरे सीने से लगकर सो जाओ, तुम्हें नींद आ जाएगी.

ये सोच कर मन में आग लगी हुई थी कि मेरे मामा को इतनी मस्त चूत चोदने के लिए मिल रही है. मैंने उसकी आंखों में देखा और इशारे में पूछा- आगे क्या?तभी उसने मुझे आंख मारते हुए बेड पर गिरा दिया और मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी. मैं भी ज्योति के ऊपर चढ़ गया और उसके ऊपर लेट कर मैं उसके मम्मों को चूसने लगा.

तुम्हारा पहली बार था ना इसलिए।आंटी पूर्ण संतुष्ट तो नहीं हुई थी पर वो खुश थी।थोड़ी देर हम एक दूसरे की बांहों में लेटे रहे.

मेरे लंड महाराज ने अपना शीश उठाना शुरू किया और उसकी दरार पे आके रुक गया. रात का खाना खाने के बाद मैं अपने कमरे में चला गया और सोनू का इंतजार करने लगा. वो बहुत कुछ ऐसा वैसा बोल रही थी, पर मैंने उसकी एक न सुनी और करीब 20 मिनट के बाद मेरा रस उसकी चुत में ही निकल गया.

अब मैं मौके की तलाश में था कि कब दीदी के साथ कोई न हो … उसी दिन मैं दीदी को लेकर वहां उड़ीसा भाग जाऊं और किसी को कुछ पता न चले. वापस आकर लाला माँ से बोला- भाभीजी, आपकी आपकी भैंस तो बहुत ही प्यासी लगती थी, एकदम से चुपचाप खड़ी रही, बड़े आराम से भैंसा आया और अपना काम कर गया. वो जब चलती थी तो अच्छे अच्छे मुरझाए हुए लोगों के लौड़े भी एक बार ठुमका मार देते थे। बिल्कुल एक साधारण जीवन जीने वाले एक प्रतिष्ठित परिवार की बहू थीं वो।मेरा यहाँ पहला साक्षात्कार भी उन्होंने ही लिया था जो लगभग आधे घंटे तक चला था.

बात आज से 2 हफ्ते के पहले की है जब सुशी मुझे मिलने के लिए बुलाती थी और हम दोनों चुदाई करने की कोशिश करते थे.

फिर एक दिन में भाभी के कमरे में बिना दरवाजा खटखटाए अन्दर चला गया, तो मैं देख कर दंग रह गया. लंड को मैंने चूत पर रगड़ा, तो ये अदा रागिनी को बहुत पसंद आई- हां … अपने लंड से मेरे वहां सहलाओ … आह बहुत अच्छा लग रहा है.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो मैंने ऊपर से ही चूचों को चाटना काटना शुरू किया, तो उसकी समीज गीली होने लगी. वो धीरे-धीरे मेरी पीठ सहला रहीं थीं, मैं उनके बालों से खेल रहा था।दस मिनट चले इस आलिंगन के बाद निशा जी ने बड़ी अप्रत्याशित पहल की.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो मगर गांव में जाने के बाद मां का फोन आया कि उनको अभी एक-दो दिन का वक्त और लगने वाला है. लाइट को हमने ऑन ही रखा क्योंकि सोनू को लाइट जला कर सोने की आदत थी और मुझे लाइट ऑफ करके.

भाभी के तने हुए चूचों को दबाते हुए मैंने उनको फिर से मुंह में लिया और जोर से चूसने लगा.

सेक्सी हिंदी story

उसने कहा- अभी तुम जैसे उस अंग्रेजन को देख रहे थे, तो तुम्हारा मन क्या कर रहा था?मैंने कहा- कुछ नहीं … बस अन्दर थोड़ी गुदगुदी हुई. उसने अचानक मेरी योनि में लिंग अंत तक धंसा दिया और कसके मुझे पकड़ लिया. हम दोनों इतने उत्तेजित और गर्म थे कि हमने एक दूसरे का पूरा साथ दिया … हर दर्द पीड़ा को भूल कर एक दूसरे को आत्मसात करने की कोशिश कर रहे थे.

उसने क्या खाया और दिन भर क्या किया, किसने उसके साथ क्या-क्या छेड़छाड़ की और किस तरह से उसके शरीर को छुआ. वो फिर से मेरी ओर पीठ करके खड़ी हो गईं और अपने दोनों हाथ थोड़े ऊपर कर लिए. दोस्तो, मजा आ रहा है न? हॉट कहानी के अगले भाग में अपने रूम मेट की बहन मीरा की चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से लिखूँगा.

पर उस समय ये प्यार मोहब्बत करना तो दूर की बात, लोग आपस में बातें भी नहीं करते थे.

दस्तूर ने फ़ौरन मुझसे बोला- कहीं और नहीं … बल्कि कहीं एक रूम बुक करो. वो बोली- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- तुम्हें प्यार करने का मन कर रहा है आज।वो बोली- कोई देख लेगा तो?मैंने कहा- देख लेने दो. इसी हंसी मजाक के चलते मैं उनको कभी कभी टच भी कर लेता था, जिसका वो कभी बुरा नहीं मानती थीं.

वो बोली- सुला तो लूं लेकिन वो जगह तो तुम्हारे मामा की जगह है सोने के लिए. उसने अपना हाथ बाहर निकाल लिया और फिर मेरे कान में धीरे फुसफुसाते हुए बोली- घर पहुंच कर रात को आपका इंतजार करूंगी. मैंने उसे बताया कि कैसे मैं ससुराल वालों से परेशान होकर यहां आयी और अब यहां भी अकेली रहती हूँ … क्योंकि पति ज्यादातर बाहर रहते हैं.

सबसे पहले निर्मला और राजशेखर बिस्तर पर गए और जैसा कि प्रतिदिन की एक तरह की कामक्रीड़ा से ऊब चुके लोग केवल औपचारिक रूप से संभोग करते हैं, वैसा दर्शाने लगे. मैंने अपनी टांगों को उठा कर हवा में फैला दिया और उसे पूरी ताकत से पकड़ लिया.

दीदी मुस्कुराते हुए सोमेश के पास गई और सोमेश भैया की पैंट खोलकर उनका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. सुशी- हेल्लो!मैं- हाँ बोलो सुशी जी?सुशी- आ रहे हो क्या?मैं बोला- हाँ आ रहा हूँ … लेकिन आना किस तरफ से है?सुशी बोली- सामने वाले दरवाजे से … मैं दरवाजे के पास खड़ी हूँ।मैं बोला- ठीक है।मैं डरे सहमे 11 बजे के बाद उसके घर के पास पहुँचा और इधर उधर को देखने लगा कि कोई है तो नहीं. मोनिषा आंटी शायद घर का काम कर रही थीं, तो मैं खुद घर के अन्दर ही चला गया.

कब से करते हो?मैंने कहा- जी चार पाँच साल से!वे बोले- तुम हेन्डसम भी बहुत हो! बॉडी भी बना रखी है लड़कियां मरती होंगी.

मैं अन्दर गया, उस लड़की ने अपने मम्मों को से घुटने तक टॉवल बांधा हुआ था … बाल खुले हुए थे. वो सेक्स से हॉट हो कर धीरे धीरे अपनी गांड हिलाने लगी और कसके मुझसे चिपकने लगी. भाभी अभी भी सिर्फ ब्रा और पैंटी में थीं … इसलिए वो पैर खोल कर अपनी चूत पसार कर लेट गईं.

वहां पर मैंने देखा कि अनिरूद्ध और मेरी 22 साल की बहन दोनों एक दूसरे से चैट कर रहे थे. उसने मुझे फ़ोन थमा दिया और कहा कि मैं सरस्वती को दिखाऊं कि कैसे वो मेरी योनि चाट रहा है.

मुझे उसके मम्मों को चूसने में बड़ा ही मजा आ रहा था क्योंकि मैं पहली बार उसके मम्मों को चूस रहा था. पानी निकलने के बाद हम दोनों जोर जोर से सांसें लेने लगे और निढाल होकर गिर गए. जब आनन्द ने सोमेश के लिए ये सब कहा, तो उसी वक्त अचानक से नेहा दीदी ने तौलिया निकाल दी और नंगी होकर आनन्द के सामने बैठ गयी.

चाची को चोदा कहानी

दो मिनट तक गांड चाटी और फिर उनकी गांड मारने के लिए मैंने आंटी को घोड़ी बना दिया.

मेरा क़द 5 फुट 11 इंच है और लंड 6 इंच लम्बा है, जो किसी भी उम्र की प्यासी जवानी, लड़की भाभी या आंटी की चूत की आग बुझा सकता है. एक तरफ मेरा पति था, जिससे मुझे दो साल तक कोई शारीरिक सुख नहीं मिला था और आगे भी मिलने की कोई गारंटी नहीं थी. हम दोनों ने कोई पांच मिनट में एक दूसरे के लंड चुत पर लगी लिक्विड चॉकलेट को पूरी तरह चाट लिया था.

मेरे दोस्त ने कहा- कम्प्यूटर सही करने आया है … सिर्फ कम्प्यूटर पर ध्यान दे … मेरी गर्लफ्रेंड पर मत ध्यान दे … चूतिया कहीं का …मेरे दोस्त की ये बात उसकी गर्लफ्रेंड को कुछ अच्छी नहीं लगी. इस मामी सेक्स स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी चाची की भाभी यानि मेरी मामी को चोदा. मधु शर्मा का सेक्सी फोटोबस एक बार ऐसा जुगाड़ लगाओ कि तुम मैं और सारिका साथ रात भर मजे से चुदाई कर सकें.

हम लोग एक अच्छे परिवार से हैं और घर में किसी भी चीज की कोई कमी नहीं है. इंशा खड़ी थी और शिफा उसके सामने अपना लहंगा उठा कर बैठी थी, गोरी चिकनी टांगें, उसकी फुद्दी तो मैंने नहीं देख पाया, मगर कमर से लेकर नीचे तक खूबसूरत टांगें देख कर ही मेरा तो मन बहक गया.

उसका फिगर इतना मस्त है कि मुझे अपने भाई से जलन होने लगी थी कि कैसी माल हाथ लगी है उनको. जब से मैंने जवानी में कदम रखा है मुझे बॉडी बिल्डिंग का बहुत शौक रहा है. फिर मैंने आंटी को लेटाया और बिना देर किये आंटी की टांगों को फैलाया और अपने लंड को उनकी चुत के मुंह पर रख कर धीरे से लंड अंदर डाल दिया.

चूंकि मुझे भी नशा हो गया था, तो मैंने उस पंजाबी लड़की को किस कर दिया. मैंने एक ही रात में अपनी रिश्तेदारी की तीन लड़कियों की बुर की चुदाई की. बाद में मुझे एहसास हुआ कि मैं अंदर से एक प्यासी औरत हूँ जिसे एक मर्द का प्रेम चाहिए.

मैं शर्माने का नाटक करने लगी, तो निर्मला ने कहा- लगता है सबसे पहले तुम्हें ही तैयार करना पड़ेगा सारिका.

मैंने अपना लंड पीछे से उनकी चुत में डाला और तेज तेज धक्के मारने लगा. इसके बाद सुनील ने नितिन को रंग लगाया और फिर बाहर होली खेलने चला गया.

मैं उसको बचपन से ही जानता हूं और पसंद भी करता हूँ पर आज तक उससे कभी कह नहीं सका था. मेरा भी मजा देखो, घबराओ मत लगेगी नहीं।वे मुझे नए अनचुदे लौंडे की तरह समझा रहे थे जो पहली बार लंड का मजा ले रहा हो. मैंने झट से कहा- हां, इसमें इतना शरमाने की क्या बात है! मैं तुम्हारा दोस्त हूं.

उसने बताया कि जब वह सो रही हो, उस समय कोई अजनबी इंसान उसकी बिस्तर पर आकर आहिस्ता आहिस्ता उसके कपड़े उतार कर उसे नंगी करता जाए और नींद की हालत में ही उसके जिस्म के हर एक अंग के साथ खिलवाड़ करे और उत्तेजक हरकतें करता रहे. ऐसा नहीं था कि मुझे वो पसंद नहीं थी लेकिन कभी उसके बारे में गलत ख्याल नहीं आये. लाला माँ को घूरता, मगर माँ को पता नहीं अच्छा लगता, या वो इस बात की परवाह ही नहीं करती थीं.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो उसने दीदी की चूत पर लंड को लगाया और उसकी चूत में लंड को धीरे धीरे अंदर डालने लगा. वो जगह क्या थी … जानते हो … जहां से उनके गोल गोल और गोरे गोरे चूतड़ों की गहराई चालू हो रही थी.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो खतरनाक

उसी समय मैं भी वहीं उन सबके सामने आ गया … तो मुझे देख कर सब औरतें चुप हो गईं. ये सुनकर मॉम बोलीं- मतलब अब तुम मुझे पैसों के लिए चुदवाओगे?मैंने कहा- नहीं … किसी से कोई काम निकलवाना होगा, तो उससे चुदवाऊंगा. मामा ने दोबारा से मामी को मनाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने फिर मामा को फिर अपने बदन को छूने नहीं दिया.

मैं सामान्य नजरों से उसे देखे जा रही थी और वो भी बीच बीच में मुझे देखता मगर उसकी आँखों में सिवाए वासना के कुछ नहीं दिख रहा था. इस बात की जानकारी आपको नहीं होगी शायद?मैंने कहा- हाँ, मुझे आपके बारे में कुछ नहीं पता।जिया- मुझे रूबी से ज़रूरी काम था, इसलिए जल्दबाज़ी में उसे काल किए बिना ही आ गई।उनकी हड़बड़ाहट देखते हुए मैंने पूछा- क्या ज़रूरी काम है? बता दें, यदि मैं कर सकूँगा तो कर दूँगा. बीपी व्हिडिओ सेक्सी इंडियनतो प्लीज़ मुझे मेल ज़रूर करें जिससे आगे भी मैं मेरी रिश्तों में चुदाई की स्टोरी आप लोगों के साथ शेयर करता रहूँ!मेरी मेल आई डी है[emailprotected].

उसके कूल्हों में जवानी का थोड़ा सा उभार और लचकती हुई पतली कमर उसे मानो कामुकता की देवी बना देता है.

मैंने कहा- पापा इस समय छुट्टी चल रही हैं … इसलिए थोड़ा देर तक सोता हूँ. मेरा मन बेक़ाबू हो रहा था, तो मैंने उसके पैंट के अन्दर से ही उसके लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगी.

मैंने पीछे से कहा- हां मैं हूँ न!दोनों लड़कियां एकदम से चौंकी, पीछे मुड़ीं … उनके लहंगे नीचे गिरे और उनकी गोरी नंगी टांगें छुप गईं. मेरे हाथ उसके स्तनों को दबाते हुए उनका दूध निचोड़ने की कोशिश कर रहे थे. बहन से सेक्स का ऐसा कामुक नजारा देख कर मेरा लंड भी बेकाबू होने लगा था.

राजशेखर- रिश्ता हमारा सही है, हमें तो केवल अपने बचे हुए जीवन को मजे से जीना है और जब तक किसी को पता नहीं चलता, ये गलत कैसे हो सकता है.

एक बस मैं ही सबसे खराब नसीब वाला हूँ … काश कोई मेरे लिए भी बनी होती. मैं गाना गुनगुनाते हुए बाहर निकला ताकि मामी का ध्यान मेरी तरफ जाये. उसने मेरे कच्छे को भी नीचे खींच दिया और फिर मेरे लंड को सीधा मुंह में भर कर जोर से चूसने लगी.

हिंदी सेक्सी वीडियो पाकिस्तानफिर भी हम कभी ना कभी तो चुदाई कर ही लेते हैं।मेरी मोहब्बत आंटी के लिए कम नहीं हुई है और आंटी भी मुझसे बहुत मोहब्बत करने लगी हैं।दोस्तो, मेरी कहानी पसंद आये तो लाईक जरूर करना।धन्यवाद![emailprotected]. मेरे मामा शरीर से काफी हट्टे कट्टे थे लेकिन उनका लंड देखा तो मुझे यकीन नहीं हुआ.

सेक्सी मूवी भाभी के साथ

वासना की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने भाभी की वासना शांत की? भाई की शादी हुई तो भाभी से मेरी दोस्ती हो गयी. भाभी उल्टी लेटी हुई थीं। मैं उनके पैरों के पास बैठ गया और धीरे धीरे उनके पैरों पे अपने होठों को रख कर चूमने लगा।ऐसा करते ही भाभी सिहर गईं और उठकर बैठ गई।मैंने उनसे माफ़ी मांगी और उन्होंने मुस्कुराते हुए अपने होठों को एक बार फिर मेरे होठों से जोड़ दिया। हम दोनों 15 मिनट तक एक दूसरे को चूमते रहे. जब किसी तरफ से मैं अपने लिए फुद्दी का जुगाड़ नहीं कर पाया, तो मैंने खुद ही अपनी लुल्ली हिलानी शुरू की और मुझे इसमे मज़ा आने लगा.

इस तरह दोस्तो … मैंने इन आंटी की गांड चोदी और गांड में जीभ और चूत चाटी. ठीक इसी के बाद उसने मुझ पर जोर देना शुरू कर दिया कि प्रीति के साथ उसकी मुलाकात करवाऊं. मेरा दिल करता कि पकड़ कर चोद दूँ, लेकिन डर था, क्योंकि घर में नानी रहती थीं और कहीं प्रियंका चिल्ला दी, तो सब रायता फ़ैल जाएगा.

मेरा अंडरवियर उतरते ही अन्दर कैद सात इंच का फड़ाफड़ाता हुआ लंड उसके हाथों की पकड़ में आ गया था. फिर मैंने पूछा- कब आयी?तो उसने बताया … और फिर दो मिनट में मैंने पढ़ाई और घर का हालचाल पूछ लिया. इतना सुनने के बाद मैं थोड़ा शरारती अंदाज़ में बोला- आप इतनी जवान दिखती हो … मेरी उम्र की ही हो, अब मैं आपको आंटी तो बुला नहीं सकता … तो आप ही बताइए कि मैं आपको क्या बोलूं … आप जो बोलेंगी, मैं आपको वही बुलाऊंगा.

वे न चीखे … न चिल्लाए … बस थोड़ा हूं हूं किया और बोले- आंह … रुकना मत; पूरा डाल दो. जब भी मामी ने बुलाया, मैं मामी के घर गया और मामी को चोदा पूरे मजे से!तो दोस्तो, इस तरह से मैंने अपनी चुदक्कड़ मामी को चोदा, उनकी चूत की सफाई और चुदाई दोनों ही कर डाली.

मैं कैसी मस्ती से अपनी चूत चुदवा रही हूँ और हम दोनों एक दूसरे को सेक्स का मजा दे रहे हैं.

जैसे तैसे जोर लगा कर मामाजी ने मेरी गांड में डाला और मेरे ही ऊपर पसर गए. अम्रपाली दुबे सेक्सीउसकी चूत का गर्म नमकीन पानी मेरे मुँह में भरने के बाद मेरी छाती पर गिरने लगा. छोरी के सेक्सी वीडियोमैंने भाभी की चूचियों को ब्रा पर से ही रगड़ना और चूसना शुरू कर दिया. मैंने तुरंत मामी के चूचों को दबा दिया और उनको सूट के ऊपर से ही किस करने लगा.

ज्योति ने खुद को मुझसे छुड़ाया और बोली कि ये क्या कर रहे हो महेंद्र?मैंने डरते-डरते कहा- ज्योति तुम मुझे बहुत ही अच्छी लगती हो … तुम मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ ना!वो बोली- मैं तुम्हारे दोस्त आयुष से फ्रेंडशिप नहीं तोड़ सकती … क्योंकि उसने मेरी बहुत बार कठिन समय में सहायता की है.

भाभी ने भी अपने हाथों से मेरा सिर जोर से अपनी चुत में दबा लिया और सेक्स भरी आवाज से कहने लगीं- आह कितना मस्त चूत चूसते हो … आह खा जाओ देवर जी … मेरी चूत को खा जाओ … आहह … चूसो चूसो खा जाओ अअम्म … आंह … मर गयी … देवर जी अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है … अब मेरी चुत में अपना लंड पेल दो. उन्होंने मेरा रिजल्ट देखा और अंग्रेजी में अच्छे नम्बर देख कर मुझे शाबाशी दी. मेरे छोटे साले की लड़की इंशा सामने एक दीवार के साथ पीठ टिका कर बैठी थी, साथ में उसकी सहेली थी.

सुनील को भी मेरी स्थिति के बारे में पता चल रहा था और वह भी गहरे धक्के लगाकर मुझे अपने चरम पर पहुंचाने मैं मदद करने लगा. देखो भाई हमारे पास पैसे की कमी नहीं है, मैं तुम्हें मुँहमांगी रकम दूँगा … बस मुझे एक वारिस दे दो. बुआ मेरे लंड को टटोलते हुए बोलीं- हां, तू भी तो पूरा मर्द हो गया है.

सेक्सी चित्रपट सेक्सी

तो मैंने क्या किया?मैं जानू शर्मा आज आपके सामने अपनी एक सच्ची चोदने की कहानी बताने जा रहा हूँ. जब वंदना मैम बाहर आईं, तो उनके कुर्ते से हर बार से ज्यादा उनके मम्मों की झलक दिख रही थी. मैंने उसे वापस धक्का देकर लेटा दिया वो छोटी थी, तो मैंने उसे दबोचे रखा और उसकी चूत में लंड घुसा दिया.

मैंने उसकी बालों वाली चूत में लंड को पेलते हुए चूत की चुदाई की स्पीड तेज कर दी.

उसने कहा- मैडम, अंदर नहीं आने दोगी?तो झट से मैंने उनको रास्ता दिया.

मॉम ने जब उसे देखा तो बोलीं- अनिल तुम यहाँ कैसे?अनिल मॉम के पास गया और बोला- हां आंटी … आज मन किया तो नहाने आ गया. मैं बोला- एक शर्त पर … अगर आप हमको अपने हुस्न का जलवा एक बार दिखा दो तो. देहाती भाई बहन का सेक्सीअब मामाजी बोले- अब ढीली हो गई!उन्होंने तेल भीगा अपना लंड मेरी गांड पर टिकाया, बोले- डाल रहा हूं, ढीली रखना, कसना नहीं, बिलकुल परेशानी नहीं होगी.

वो हंस दिया और वोला- सोच ले मेरी जान … मैं तुझे जंगल के रास्ते से ले जाने वाला हूँ. मैं धीरे से मुस्कुरा दिया, पूजा ने मेरी तरफ गौर से देखा, उसने मुझे इशारे से अकेले में बुलाया और पूछा कि आखिर तुमने ऐसा क्यों किया?मैंने कहा- जान जैसे तुमने किया, वैसे उसने किया. उन्होंने मुझे धक्का देकर पीछे किया, तो मैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी बोलीं- मुझे थोड़ा अजीब लग रहा है.

हम लोगों की चुदाई से रूम ख़राब हो गया था तो मैंने रूम को ठीक किया और उसके बाद मैं नहाने लगी. उस टाइम उसने ऑरेंज कलर का कुर्ता और ब्लू कलर की जीन्स पहनी थी, जिसमें वह कमाल की पटाखा लग रही थी.

अनिल ने लंड निकाला और कहा- अब मैं जा रहा हूँ … लेकिन तेरी चूत को बाद में चोदूंगा.

यह मेरी पहली कहानी है, अतः लेखन में हुई ग़लती को नज़र अंदाज कर कहानी पर ध्यान दें। मेरी शादी को दो वर्ष हो चुके हैं और इस समय मैं एक मल्टीनेशनल कम्पनी में मैनजर के पद पर कार्यरत हूँ. इधर भाभी ने उस मूली को पतली तरफ से चाकू थोड़ा सा काटा, उस सिरे को गोल लिया लंड के टोपे की तरह पर कंडोम को अच्छे से चढ़ा दिया. कुछ ही देर में ज़रीना का पानी निकलने लगा और मैंने वहां से मुँह हटा कर सीधा उसके मुँह से लगा दिया.

रवीना टंडन का पति मगर जब मैंने आंखें खोल कर देखा तो वो अपनी सलवार के ऊपर से ही अपनी चूत को मसल रही थी. मैंने कहा- तुम मेरे पास मेरे सीने से लगकर सो जाओ, तुम्हें नींद आ जाएगी.

धीरे धीरे उसके झटके भी कम पड़ने लगे और वीर्य की बूंदें भी कम होती चली गईं. रागिनी- अभी तक कितनी लड़कियों के साथ किया है?मैं- बहुत सारी … कुछ शादीशुदा थीं, कुछ सिंगल, कुछ विधवा … पर ज़्यादातर शादी शुदा ही मेरे साथ रहीं. ”वह अपने तगड़े लंड को सहलाते हुए बोला- अभी शुरुआत की, तो भी एक घंटा लगने ही वाला है नीतू डार्लिंग.

सेक्सी हिंदी चुदाई मूवी

उसके 34 साइज के बूब्स, 26 की कमर और 36 के चूतड़ देख कर मेरा लन्ड तन कर खड़ा हो गया था. अचानक भाभी बोली- आज मुझे बाजार से सामान लाने के लिए तुम्हारी जरूरत है. जैसे ही गांठ खोली, मैंने देखा कि उन्होंने ब्लू कलर की ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी.

एक औपचारिक मुलाकात के बाद हमने अपने मोबाइल नम्बर एक दूसरे को दे दिए थे. अब मैं जन्मजात नंगा था। मैंने भाभी को सीधा लिटाया और खुद उनके पैरों के पास आ गया।मैंने भाभी के पैरों के तलवे चाटने शुरु किये.

मेरा लंड एक ही झटके में रीता की चूत को फाड़ता हुआ उसकी चूत में जड़ तक घुसता चला गया.

मैंने आंटी को उठाया और एक ही झटके में उनकी ब्रा को निकाल कर उनकी दोनों चूचियां को दोनों हाथों से दबा दबा कर चूसने लगा. मैंने हंसते हुए कहा- जब एकदम से लंड गया न … तभी तो जीवन भर मुझे रखोगी कि हां किसी मर्द का लंड घुसा था. ऐसा कहते हुए मैं उसकी गोद में ही अपना सर ठीक से जमा कर किताब पढ़ने लगा.

जब मैं अपने दोनों हाथों को कस देता, तो मेरा मुँह भाभी के सीने में दब जाता और भाभी भी मेरा सिर पकड़ कर अपने सीने में दबाने लगती. दोस्तो … चुत और लंड सिर्फ चुदाई के लिए बने होते हैं, इसलिए आप अपनी झिझक खत्म करके मेरी चालू मॉम की चुदाई की कहानी पर अपने कमेंट्स बिंदास लिखिए, मुझे अच्छा लगेगा. मैंने अपना मुँह उसके चूचों पर रख कर फ्रॉक के ऊपर चूमना शुरू कर दिया.

खूब पैसे भी मिलते थे, सो मुझे उसके घर की हर चुत को रगड़ने में मजा आने लगा था.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो: एक बार उनको काम के सिलसिले में ब्राज़ील के बीच (समुद्र तट) और कल्चर पर एपिसोड बनाने थे. रसोई का काम खत्म होने के बाद मैं साहब के कमरे में सफाई करने के लिए गई.

मोनिषा आंटी ने कहा- नवीन मेरी चूत में जल्दी से अपने इस मूसल लंड को उतार दो … मैं चाहती हूं कि तुम्हारा लंड मेरी चूत की गहराई को नापे. इसके कुछ देर बाद 69 का खेल हुआ और इस तरह हमने उस दिन 3 बार जबरदस्त चुदाई की. पहले तो चूतिये ने साफ़ मना कर दिया- मैं तो बाजार जाकर नहीं लाने वाला.

उसे रिकवर होने में और अपने पैरों पर खड़ा होने मैं एक साल लगा, पर वह पहले की तरह चल नहीं सकते था.

मेरे छोटे साले की लड़की इंशा सामने एक दीवार के साथ पीठ टिका कर बैठी थी, साथ में उसकी सहेली थी. मेरी मां को भी कोई भी देखते ही सबसे पहले उनकी गांड मारने की सोचने लगता है. इनमें से साधारण मजे भी है और कुछ अश्लील भी होते हैं जैसा जिसका ग्रुप हो और अब जैसा कि सबको पता है कि जहां एक समय कॉलगर्ल मिला करती थी मर्दों के लिए, अब ठीक उसी तर्ज पर प्लेबॉय या जिगोलो ब्वॉय भी उपलब्ध हैं और वह भी पूरी निजता के साथ!यदि किसी पाठक, पाठिका ने एकता कपूर की वेब सीरीज xxx देखी है तो पता होगा कि आजकल यह सब कितना कॉमन होता जा रहा है.