साउथ का सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्स पिक्चर सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी चुड़ै नंगी: साउथ का सेक्सी बीएफ, थोड़ी देर बहू की चुदाई करने के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा और वो झड़ गयी.

सनी लियॉन हॉट इमेज

बहू बोली- डैडी जी, आप अपने रूम में चलो, मैं आपका सरप्राइज लेकर आती हूँ. पिज्जा कैसे बनाते हैंउसकी चूत से उसका और मेरा पानी बहकर बाहर आ रहा था।फिर हम दोनों उठ कर बाथरूम गए और खुद को साफ कर वापस बेडरूम में आ गए.

चमन को सामने खड़ा करके कहा- देखो आगे से चोली ढीली होती है, तो पूरे चुचे साफ़ दिखते हैं. चूत का रसमैंने उसको बहुत बार बोला कि मैं उसे बॉयफ्रेंड-गर्लफ्रेंड वाला प्यार करता हूं लेकिन वो हर बार बात को यही कर टाल देती थी कि हम सिर्फ अच्छे दोस्त हैं.

साड़ी को हटाने के बाद मैंने उसके ब्लाउज को छुआ, तो इतने बड़े बड़े और गोरे गोरे चूचे ब्लाउज से बाहर आने को बेताब थे … और बहुत मुलायम थे.साउथ का सेक्सी बीएफ: दोस्तो, आपको मेरी कज़िन सिस्टर सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में बताना मत भूलना.

मगर मुझे ऐसा लगता है मेरा बेटा अपने काम की वजह से बहू की सही से चुदाई नहीं करता है.हमेशा तुम्हारा ही ख्याल आने लगा था। तुमसे मिलने को बेचैन होने लगी थी।मैंने मन ही मन कहा ‘बेचैन तो होगी ही बाबा जी का तो कमाल है।’मैंने कुछ खाने पीने का आर्डर दिया। हम बातें करने लगे.

सारा अली खान xxx - साउथ का सेक्सी बीएफ

मैं उसके होंठों को चूस रहा था और उसकी चूत में नीचे से लंड को भी सरका रहा था.बैडरूम में अँधेरा था, अंदर जाने से पहले रीना ने थोड़ा जोर से आवाज़ लगायी- दादा … क्या आप अंदर हैं?कोई जवाब नहीं!रीना हिम्मत करके अंदर गयी.

वे थोड़ा मेरी तरफ झुक कर बैठी हुई थी तो मुझे उनके बूब्स दिख रहे थे. साउथ का सेक्सी बीएफ तो इस प्रयास को भी पूरा एक महीना लग गया, तब वो चुदाई की लाइन पर आई!फिर वो दिन आ गया था जब हम एक होने वाले थे.

मैंने उंगली निकाली और लंड को एक झटके में पूरा चूत में उतार दिया और अपनी एक उंगली जो उसके चूत रस से गीली की थी, उसकी गांड में डाल दी.

साउथ का सेक्सी बीएफ?

उसकी बुर पर हाथ रख कर मैंने उसको सहलाते हुए कहा- तुम्हारी ये जो कुंवारी सी बुर है ये बहुत क्षमता रखती है. खुद के जन्मदिन पर वे मुझे डाइनिंग टेबल पर पूरी तरह नंगी लेटा कर और मेरे पेट पर केक रखकर केक काटते हैं. शादी के दो साल बाद ही मेरी पत्नी के साथ मेरा झगड़ा होना शुरू हो गया था.

मैंने फिर से गर्म करने के लिए उसके होंठों और मम्मों पर किस करना स्टार्ट किया, जिससे वो मुझे अपने ऊपर खींचने लगी. दीदी मुझे बार-बार धीमे चुदाई करने को कह रही थीं क्योंकि उनको असहनीय दर्द हो रहा था. उसको चुदाई के लिए तैयार करके मैंने नंगी टीचर की चूत मस्त तरीके से चोदी.

आज मेरी सेक्स की प्यास इतनी अधिक बढ़ गयी थी कि मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था. यात्रा पूर्ण कर दूसरे दिन वापस कटरा आये तो रेस्टोरेंट में खाना खाते हुए मैंने कहा कि मौसम बहुत अच्छा है, अगर तुम लोगों का मन हो तो श्रीनगर चला जाये. मैंने स्नेहा से कहा- चलो!जब स्नेहा तैयार होकर मेरे सामने आई तो ऐसा लगा जैसे कोई परी सामने खड़ी हो.

हनी की कमर पकड़कर लण्ड को अन्दर बाहर करते करते एक बार मैंने जोर से धक्का मारा तो पूरा लण्ड हनी की चूत के अन्दर हो गया. यदि आपको किसी अन्जान व्यक्ति या अजनबी शख्स के सामने निर्वस्त्र होने में कोई परेशानी नहीं होती है तो आप पुरूष कलाकार के साथ भी जा सकती हैं.

मेरा लंड पूरी तरह खड़ा हो गया था और पैंट के अन्दर से फुंफकार मार रहा था.

चिन्ना ने धीरे-धीरे आगे बढ़ाते हुए अपना मोटा लण्ड जड़ तक करोना की नाजुक सी चूत में बैठा दिया.

अंकल की बेटी अवनी की हाईट पांच फ़ीट सात इंच, रंग गोरा, फिगर 32बी-30-36 का था और बुआ की बेटी आयुषी का कद पांच फ़ीट आठ इंच था. सच में सामने जब मौसी अपनी ब्रा पहनने से पहले अपनी चूचियों में क्रीम मलती थीं, तो मेरा मन करता था कि दौड़ कर मौसी की चूचियों को मुँह में लेकर चूमता और चूसता ही रहूं. मैंने भी उनकी बात पर स्माइल देकर कहा- प्रिया भाभी अगर आप इतनी तन्हा मत रहा करो … मैं आपके लिए ही बना हूँ.

एक दिन की बात है कि हम लोग मेरे भाई के बर्थडे पर बाहर खाना खाने के लिए जा रहे थे. मुझे ये ऐसे मालूम था क्योंकि वो 28बी साइज़ की ब्रा पहनती थी, ये मैंने अभी ही देखा था, जब उसने अपनी ब्रा को निकाला था. अब चिन्ना सरक कर करोना की दोनों टांगों के बीच में आकर बैठ गया और अपने दोनों हाथ आगे बढ़ा कर दोनों चुटकियों में करोना के निप्पलों को पकड़ लिया और आगे झुक कर जीभ करोना के गीली चूत पर फिराई.

फिर थोड़ी थोड़ी देर में हल्के धक्के देते हुए मैंने अपना आधे से ज्यादा लंड उसकी गांड में डाल दिया और आगे पीछे करने लगा.

मेरे कुछ पूछने से पहले वे खुद बोले- कपड़े इस्तरी को गये हैं, आ जाएँगे. उस दिन मुझे पता चला कि भाभी का नाम सुमन है, वो भी मेरठ ज़िले की ही थी. आज मेरी सेक्स की प्यास इतनी अधिक बढ़ गयी थी कि मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था.

मैंने फिर लंड हाथ से उसकी गांड के गुलाबी छेद पर लगाया और झटका दिया. वो ये बात दीपावली की छुट्टी की है, तो अपने घर जाने से पहले वो एक दिन के लिए भैया के घर आई. मैं उसके नंगे बदन पर गिर गया और उसके होंठों पर होंठ रख कर चूसने लगा.

मैंने कहा- बहू उसका नाम है शालिनी!बहू बोली- वही न जो अपने घर से थोड़ा दूरी पर रहती है?मैंने कहा- हाँ बहू वही!बहू बोली- डैडी जी, वो तो काफी जवान है अभी.

आज की इस कहानी में भी मैं कोशिश करूंगा कि आप लोगों को इस सेक्स कहानी का पूरा मजा मिले. इस टी-शर्ट में मेरे 34 इंच के तने हुए मम्मे देख कर तो कोई भी बता देता कि मैंने उसके नीचे ब्लैक कलर की ब्रा पहनी थी.

साउथ का सेक्सी बीएफ मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और अपनी स्पीड को थोड़ा बढ़ा दिया. मैं समझ गया कि ये जल्दी ही लंड के नीचे आ जाएगी … और मैं चुत के लिए ज़्यादा भूखा नहीं रहूँगा.

साउथ का सेक्सी बीएफ मैंने अपनी बहन की तरफ देखा तो उसने कहा- मैं समझ गई कि आप क्या कहना चाहते हो. जैसे ही उसकी चूत ने पानी छोड़ा, उसने अपने नाख़ून मेरी पीठ पर गड़ा दिए.

तो मैं उसके होठों को चूसने लगा।कुछ देर बाद जब उसे थोड़ा आराम मिला तब मैंने फिर से एक जोरदार झटका दिया।अब मेरा पूरा लंड उसकी बुर में चला गया और वह दर्द के मारे चिल्लाने लगी और अपने नाखून मेरे पीठ पर गढ़ाने लगी। मैं कुछ देर वैसे ही उसके ऊपर लेटा रहा.

पिक्चर बढ़िया सेक्सी

हम काफी धनी परिवार से हैं और मुंबई में रहने के कारण काफी आधुनिक सोच की जिन्दगी जीते हैं. क्या तुम चुदाई का धंधा करोगे?मैंने चुदाई के धंधे की सुनकर उससे पूछा- ये क्या हुआ?उसने बताया कि कॉलब्वॉय बनोगे? इसमें लड़कियां आंटियां या भाभियां अपनी चुत की आग शांत करवाने के लिए लंड की तलाश में रहती हैं. बहू का शरीर अकड़ने लगा वो कभी मुझे किस करती तो कभी मेरे छाती पर काटती तो कभी मेरे गले पर काटती.

इस सेक्स कहानी को पढ़ने वाली सारी लड़कियां, भाभियां और आंटियां अपनी चूत को खूब उंगली करेंगी. वैसे चाची के एक लड़का और एक लड़की थी लेकिन वो दोनों ही बाहर पढ़ाई कर रहे थे. जिससे उसने पहले मेरे चेहरे को ऊपर करके देखा और फिर मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

दोस्तो, आपको मेरी ये आपबीती कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपने विचारों से अवगत जरूर करवायें.

वो मेरी हर बात का खयाल रखता है और मैं भी उसको अपने पति के जैसे रखती हूं. फिर मेरे दिमाग में कुछ आया और मैं अपने बेटे विशाल के रूम की ओर चली. खाने के दौरान चिन्ना कनखियों से करोना के सौंदर्य को ही निहार रहा था। करोना भी मन ही मन अपने हुस्न पर गुमान कर रही थी।खाना खाने के बाद अचानक चिन्ना बस के नीचे चला गया और अटेंडेंट को भी नीचे बुला लिया.

उसकी चूत को देख कर ऐसा लग रहा था जैसे वो खुद ही मेरे लंड के द्वारा चुदने का इशारा दे रही हो. वो अपनी जुबान मेरे होंठों से रगड़ने लगी, मैंने अपना मुँह खोल कर उसकी जीभ को अन्दर ले लिया और चूसने लगा. उसके बड़े बड़े संतरे जैसे चूचे उसकी ब्रा से बाहर आने को बेताब दिख रहे थे.

रवि ने एक कम्बल निकाला और हमने उसे फैला कर कमर तक रख लिया और बीच में पत्ते फेंकने लगे. मैंने कहा- बहू, बात क्या है खाना क्यों नहीं खा रही हो?बहू बोली- मुझे आपसे बात नहीं करनी है.

बस किसी तरह एक सहारा मिला हुआ था, जिसे छोड़ना मेरे लिए आत्महत्या करने के समान था. वो बार बार एक ही बात दोहराये जा रही थी कि कहीं सेफ जगह ले चलना, कहीं कोई मुसीबत में ना पड़ जायें हम दोनों!हमने बुधवार को 11 बजे जाने का पक्का किया. मैं उठ कर बाहर गया तो दीदी ने मेरे तने हुए लंड पर भी सरसरी नजर मार ली.

यहां पर मैं ये देख कर हैरान हुआ कि मेरे पापा के लंड में पूरा तनाव नहीं था.

वो मान नहीं रही थी, पर मैंने उसके बाल पकड़कर उसका मुँह ज़मीन पर लगा दिया. फिर भाभी बोली- अच्छा, क्या याद करते हो मेरे बारे में?मैंने कहा- सब कुछ, जो जो मेरा मन करता है … आपको उस तरह से याद करके हिला लेता हूँ. वो सोच में पड़ गई और मैंने इसी का फायदा उठाकर उसके टॉप को उतारना शुरू कर दिया.

रात को मैं नवीन जी घर डिनर बनाने गई, उस वक्त तक नवीन जी आए नहीं थे. मैंने कल्पना भी नहीं की थी गैर मर्द की बीवी के साथ इस तरह से मस्ती करने में इतना मजा आने वाला है.

हमारे घर में सभी कमरे काफी बड़े बनाये हुए हैं, पलंग वगैरह भी बड़े बड़े पड़े हैं, तो आराम से ज़्यादा लोग सो सकते हैं. मीनू ने बहुत ही शर्माते हुए मेरी तरफ देखा और मुझसे कहा- भाई, प्लीज आप हाथ से कर लो. जैसे ही उसने टाइम देखा, तो 2 बज चुके थे तो वो बहुत तेज़ तेज़ रोने लगी.

ब्लू फिल्म सेक्सी देसी हिंदी

तो सेजल ने सोचा अगर उसके पति से कुछ नहीं हो रहा है तो क्यों ना वह उसके ससुर के साथ ही संबंध बना ले! हो सकता है कि उनको एक लड़का हो जाए।बलविंदर साहब पीछे अपने कपड़े बदल रहे थे वहां पर सेजल आयी और उन्हें पीछे पकड़ लिया। बलविंदर साहब ने कुछ भी नहीं बोला अब सेजल ने बलविंदर साहब को बेड पर गिरा दिया और उनके ऊपर बैठकर उनके छाती को चूमने लगी.

तभी मेरा दोस्त क्रिकेट के लिए बुलाने आया, तो मैं फ़ोन चार्जिंग पर लगा कर उसके साथ चला गया. उसकी गर्म चूत से फ़ज़्ज़, फच्च, पक पक की तेज आवाज़ आने लगी।रीना का बदन गर्म सा लगने लगा. उन्होंने मुझे अपने घर पर ही बुलाया था इसलिए मैं अच्छे से तैयार होकर उनके घर पर चला गया.

इस बार सैम ने पहली बार मेरी चुचियों के बीच में लंड फंसा कर मुझे चोदा. उसने मेरा लंड पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया और उसे दबाने लगी।कैसे भी करके आज मैं वर्षा को चोदने वाला था. बड़ा लड़कामैंने उसके होंठों की तरफ अपने होंठ बढ़ाए, तो उसने मेरा सर पकड़ कर अपनी चुत की ओर धकेल दिया.

जब कुछ मिनट बाद उसको होश आया, तो मुझे अपनी कोली में लेकर मुझे मेरे होंठों पर किस करते हुए सो गयी. सिम्मी और उसकी भाभी, भतीजे एक कमरे में, मैं अकेला गेस्ट रूम में।अब नींद किसे आनी थी … मैं सोच रहा था कि इतने करीब आकर हम मिल नहीं पा रहे हैं।इसी बात को सोच ही रहा था कि सिम्मी मेरे लिए पानी की बोतल ले कर आयी और कहने लगी- प्लीज मेरी गलती को माफ करो, मुझसे बात करो.

फिर मैंने पानी की बाल्टी जोर से गिरा दी और चिल्लाया कि ‘आआआ मैं गिर गया. आंटी एकदम से चिल्लाते हुए बोली- कहां डाल रहा है नालायक! मेरी गांड को फाड़ेगा क्या? मैंने चूत में लंड डालने के लिए कहा था. उन दोनों ने मेरी मां की गांड और चूत में एक साथ लंड देकर मेरी मां को चुदाई का अलग ही मजा दिया.

वो किचन में थी और पापा पीछे से उसके पिछवाड़े पर हाथ से सहला रहे थे. रीना के चेहरे पर मुझे कहीं भी किसी प्रकार की ग्लानि या शर्म नहीं दिख रही थी. अगर हमारे परिवार में इतनी खूबसूरत लड़कियां हों, तो क्यों कोई बाहर की लड़की को चोदना चाहेगा.

तभी नवीन जी ने मेरी एक चूची को जोर से मसला, तो मेरा मुँह कराह के चलते खुल गया और उसी वक्त नवीन सर ने मेरे मुँह में अपना लंड ठेल दिया.

दोनों हाथों से मम्मी की कमर पकड़कर जोर का झटका मारा और पूरा लण्ड पेल दिया. आह्ह … हाह… ओह … याह … करते हुए मैंने पूरा माल उसके मुंह में खाली कर दिया.

लेकिन दोबारा निकलने ही वाला था तो फिर मैंने उससे कहा- क्या मैं तुम्हारे अंदर अपना रस छोड़ दूं?उसने मुझे मना कर दिया. तभी उसने अपने हाथ पीछे ले जाकर लहंगे में डाल दिए और मेरे चूतड़ पकड़ कर कहा- तेरे चूतड़ बड़े सालिड हैं. मैं बोला- अगर मैं आपसे प्यार करना चाहूँ … तो क्या आप मुझसे प्यार करोगी?वो बिंदास बोलीं- हां करूंगी न … लेकिन किसी को बताना मत.

मैंने पूछा- कब?कल्पना ने कहा- तुम्हें याद है मैंने तुम्हें कहा था कि मैं तुम्हें कॉल करूंगी. बहू ने अपनी टाँगें मेरी पीठ पर बांध दी और खुद भी नीचे से धक्के लगाकर मेरा साथ देने लगी. और शाम के 7:00 बजे निकल गए भैया!फिर मैं भाभी के रूम पर गया और उनका दरवाजा खटखटाया.

साउथ का सेक्सी बीएफ छोटी छोटी कार मेरे उभारों पर, मेरी नाभि, मेरे पेट, मेरी जाँघों और मेरी योनि पर घुमाते रहे. यह बात करीब चौदह साल पहले की है, जब मैं 26 साल का था और वह 28 साल की थी.

हिंदी पिक्चर सेक्सी वीडियो सॉन्ग

भाभी ने हंसते हुए पूछा- मेरी साड़ी तो गीली नहीं की है न?मैंने कहा- नहीं. नितिन ने मुझसे पूछा- कहां चलें?मैंने मुस्कुराते हुए कहा- जहां तुम्हें करते हुए शर्म न आए. उसके बाद निधि ने अपने दोनों हाथों से अपनी चूचियों को ढक लिया। मैं निधि की पीठ पर अपने होंठों से चूमते हुए नीचे आने लगा.

वो कुछ देर पहले ही चूत की सील तुड़वा चुकी थी इसलिए उसकी चूत में जलन होने लगी और चीखने लगी. सुबह जब मैं उठा तो दीदी का मेरी ओर देखने का नजरिया बदला बदला सा था. मोनी सेक्सी वीडियोबहू बोली- डैडी जी, आप हफ्ते में एक बार तो आ सकते हैं ना मेरे लिए?मैंने कहा- बहू, अगर मैं हर हफ्ते आऊंगा तो बेटे को शक हो जायेगा कि पापा हर हफ्ते क्यों आते हैं.

इधर मैंने नसरीन को लिटा कर उसकी चुत को सहलाना और रगड़ना शुरू कर दिया.

लंड का सुपारा घुसवाते ही उसे हल्का दर्द हुआ, मैंने घी टपकाते हुए गांड की चिकनाई बढ़ा दी. उधर तनु की सिसकारियां भी कुछ ऐसा ही इशारा कर रही थीं कि वो झड़ने वाली है.

जब उससे बर्दाश्त न हुआ तो उसने मुझे पीछे धकेला और अपने नंगे बदन पर चादर डाल ली. तनु के पोजीशन लेते ही अब उसकी चूत और गांड दोनों मेरे सामने उभरी हुई थीं. दोस्तो, भले ही मैं उस दिन भाग के आ गई थी पर मुझे बहुत बेचैनी हो रही थी.

मैंने कभी बहू के बूब्स दबाते हुए उसकी गांड माँरता तो कभी उसके बाल खींचते हुए.

मैंने देखा कि उसकी चूत से उसका सारा वीर्य बह कर मेरे लंड से मेरी गोटियों को लग कर नीचे बिस्तर पर लग रहा था. बाप के लगाए पेड़ का यह फल बहुत मीठा है … और मैं चाहती हूँ कि नसरीन के रूप में ये मीठा फल तू ही खाए. इसलिए मैंने उसे वापस कॉल लगाया और पूछा- कहां रह गई हो … मैं कितनी देर तुम्हारा वेट कर रहा हूँ.

सेक्सी गाने वीडियो सेक्सीमुझे नहीं पता था कि ऐसा क्यों हुआ?तो उसके बाद मुझे अपनी बुआ की बेटी की चुदाई करने का मौक़ा नहीं मिला. मेरी भाभी को बच्चा होने वाला है तो मुझे जाना पड़ेगा।कुछ देर बाद मीनू अपने वही बड़े गले वाली टीशर्ट पहन कर आ गयी और मेरे पास बैठ गयी.

ಐಶ್ವರ್ಯ ಸೆಕ್ಸ್

अब तक सफलता हासिल नहीं हुई है, लेकिन जिस तरह का माहौल बन चुका है, उससे उम्मीद हो गई थी कि चुत लंड का मिलन जरूर होगा. मैं भी उन्हें अपना साथ देने लगा था और उनके बालों को सहलाते हुए लंड चुसवा रहा था. मैं बोली- ठीक है … रात में कोई बाधा नहीं है … लेकिन इतनी सुबह ब्रेकफास्ट बनाने आने में मुझे देर हो जाएगी.

इसके बाद नीचे आते हुए मैंने उसकी चूचियों को चूमा, उसकी चूचियों को हाथों में पकड़ कर दबाना शुरू कर दिया. मुझे देख कर भाभी ने कहा कि अब तो इतना सब होने के बाद घर में ऐसे भी रहा जा सकता है. धीरे धीरे वो फिर से गर्म हो गई और मुझे लंड उसकी चुत में डालने को बोलने लगी.

जैसे ही उसने मेरी पैंट को खोल कर नीचे किया तो पैंट के साथ ही मेरी चड्डी भी खिंच गयी और लंड एकदम से उछल कर उसके मुंह पर जाकर लगा. अगले दिन मैं किसी जरूरी काम से एक दिन के लिए अपने कॉलेज दिल्ली चला गया. अगले दिन मैं कॉलेज नहीं गई क्योंकि मुझे पता था आज मोहन भाई ट्रायल के लिए आएगा.

मैं- निशु, मुझे भी इस वक्त का इंतजार था कि कब तुम मेरी बांहों में होगी. मैं शर्म के मारे गड़ी जा रही थी क्योंकि मेरी योनि से योनि रस लगातार बह रहा था और जिस्म वासना की आग में जल रहा था.

फिर मैंने उसे छोड़ कर आगे आकर उसके बदन से साड़ी का पल्लू हटाया और जोर से उसके होंठ चूसने लगा.

तब मैंने बताया कि मैं सोचता हूँ किसी दिन आपके घर आऊं, तो आप अकेली हों, फिर मैं आपसे अपने प्यार का इज़हार करता हूँ. फर्स्ट पोजीशन सेक्सउसके लंड से थोड़ा पानी आने लगा था जिससे उसके लंड की चमड़ी बड़े आराम से आगे पीछे हो रही थी. सेक्सी वीडियो एकदम ओपनमेरी इस कज़िन सिस्टर सेक्स स्टोरी पर आप कमेंट के जरिये भी अपने विचार रख सकते हैं. न वो कुछ कह रही थी और न मैं कुछ कह रहा था लेकिन दोनों के ही मन में वही आग सी उठी हुई थी शायद.

सैम ने किस करते हुए मेरे पेंटी में हाथ डाला और मेरी चूत पर हाथ घुमाने लगा.

मैंने कहा- बहू, जो तुमने देखा उसी वजह से तुम खाना नहीं खा रही हो?बहू बोली- डैडी जी, आपको शर्म नहीं आती एक काम वाली के साथ ये सब करते हुए?मैंने कहा- बहू, मेरी कुछ जरूरतें हैं. अब जब भी मम्मी बाथरूम में जातीं, मैं मोबाइल में पोर्न फिल्म को चालू कर देता. मेरी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा, जब नसरीन ने अपनी बांहों से मेरी पीठ को जकड़ लिया.

वह गुस्से में बोली- तू कुत्ता ही रहेगा हरामजादे … साले बहनचोद जा मर … बाथरूम में जाकर हल्का हो जा. रिश्तों में चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, कृपया कमेंट्स करके जरूर बताएं. कल्पना के मुँह से अब बस सिसकारियां निकल रही थीं- आहा … आ … और अन्दर थोड़ा धीरे धीरे डालो … आहा मजा आ रहा है.

देवर भाभी का डांस

अब अजय उसके मुंह की ओर गया और उसने एक बार फिर से अपनी बीवी के मुंह में लंड दे दिया. फिर में डांस फ्लोर पर जाकर बियर पीते पीते डांस करते हुए उस लड़की को देखे जा रहा था. एक दिन मैंने निश्चय कर ही लिया कि आज उसे प्रपोज कर के ही रहूंगी और अपनी चूत चुदवा कर रहूंगी.

लंड घुसते ही एकदम से आकांक्षा के मुँह से सिसकारी निकल गई- आह हहहहह …मैं ऐसे ही लंड अन्दर डाले डाले आकांक्षा को किस करने लगा और धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मेरे इतना कहते ही वो और ज्यादा इमोशनल हो गयी और मेरे सीने से लग गई.

मैं बहुत शर्मनाक स्थिति में हो गई थी मेरे कूल्हे ऊपर उठे हुए थे और मेरी कूल्हे की लकीर इस अवस्था में खुल गई थी मेरा मल द्वार और योनि भी खुल गई थी. फिर भाभी उठी और बोली अपनी सहेली से- तू उसका लंड चाट, मैं इसके मुंह पर बैठकर चूत चटवाती हूं. चोदा चोदिउसकी गरम चुत में एक बार को उंगली घुसाने में मुझे थोड़ा जोर भी लगाना पड़ा.

कुछ मिनट तक आराम से बहन को चोदा, फिर मैंने एकदम अपनी रफ्तार ज्यादा कर दी. कुछ देर चुत चूसने के बाद वो खड़ा हुआ और मेरे एक चूचुक को मुँह में लेकर जोर से काटा. अपनी दुकान और मकान बेच दिया और हम लोग कानपुर से सैकड़ों किलोमीटर दूर भुवनेश्वर में आकर बस गये, जहां हमें कोई नहीं जानता था.

वो बोली- तू तो खल्लास हो गया, अब मेरा क्या?मैंने हांफते हुए कहा- कुछ देर रुको यार, मुझे थोड़ा टाइम दो. कभी उसके होंठों को, कभी उसके गालों को, कभी उसकी गर्दन को, तो कभी उसकी चूचियों पर किस कर रहा था.

छोटी छोटी कार मेरे उभारों पर, मेरी नाभि, मेरे पेट, मेरी जाँघों और मेरी योनि पर घुमाते रहे.

मेरे दोस्त कीबीवी की चुदाईसे उसको मेरे बड़ा लंड का चस्का लग गया था और मैं ज्यादा समय तक भी चोदता हूँ. डबल रोटी की तरह फूली हुई गुलाबी रंग की चूत के चिथड़े उड़ने का समय करीब आ गया था. मामी बोली- कोई बात नहीं, मैं तुम्हें सिखा दूंगी लेकिन ये बात किसी से कहना मत.

ब्लू सेक्सी खुला मैंने बेटे से पूछा- बहू आज जिम नहीं जा रही है?तभी बहू बाहर आयी और बोली- नहीं डैडी जी, बस मन नहीं है. उस वक़्त मैं इतना ज्यादा चिल्लाई थी, उस वक़्त जो दर्द हुआ था, वो आज हुआ है.

वो बोलीं- और क्या क्या जाता है गर्लफ्रेंड के साथ?मैं बोला- आपको तो पता होगा, शादी से पहले भाईसाहब भी तो आपके साथ करते होंगे वो सब. फिर उसने अपने कपड़े उतारे और एक एक करके मेरे भी सारे कपड़े उतार दिए. इधर मैंने बर्फ और शहद दोनों को अपने हाथ में एक साथ लेकर उसकी चूत पर मल दिया.

ब्लू पिक्चर सेक्सी वाला दिखाइए

मैं आपकी पूसी को सक् करूंगा आपकी ऐस को लिक् करूंगा और आपको बिल्कुल खा जाऊंगा. हनी की कमर पकड़कर लण्ड को अन्दर बाहर करते करते एक बार मैंने जोर से धक्का मारा तो पूरा लण्ड हनी की चूत के अन्दर हो गया. दीदी अपनी चुत में उंगली डालने लगीं, जिससे उनकी उंगली मेरे वीर्य से सन गई.

पर आप मुझसे एक वादा कीजिए कि आप छोटी को कुछ नहीं बताएंगी?भाभी ने कहा- मैं वादा करती हूँ. कोई दस पंद्रह मिनट के बाद मेरे को अजीब सा फील होने लग गया और मेरा लंड भी खड़ा हो गया.

अब तुम डॉगी स्टाइल की बात करने लगे हो?मैंने हंस कर कहा- मुझे ब्लू फिल्म का अनुभव तो था, मगर चुत चुदाई का ज्ञान तुमने ही मुझे दिया है.

इस बार उनके चूतड़ों के नीचे दो तकिये रखे जिससे चूत का मुंह आसमान की तरफ हो गया. बाद में उसने एक सवाल फिर से किया, जिसे सुनकर मैंने भी खुलने का फैसला किया कि या तो वो सच में नादान है … या फिर बन रही है. फिर हम लोग लेट गए क्योंकि हम दोनों थोड़ा थक गए थे इसलिए थोड़ा आराम करने लगे.

गांड उछाल उछाल कर लंड चुत में डलवा रही थी और अपने मुँह से सेक्सी आवाज़ निकाल रही थी. आपका नाम क्या है?मैंने उसके सवाल का कुछ जवाब नहीं दिया तो सुमित ने कहा- क्या हुआ मैडम? सिर्फ नाम ही तो पूछा है यार … उसमें क्या दिक्कत है?तो मैंने फिर मैंने गुस्से में कहा- मेरा नाम पल्लवी है कोई प्रॉब्लम?सुमित ने कहा- अरे यार पल्लवी … क्या हुआ … इतना क्यूँ गुस्सा हो, क्या बात है कोई टेंशन?मैंने कहा- यार, आधा घंटा हो गया बस का इंतज़ार करते … लेकिन बस नहीं आई. उसने मेरे चूचुक देखे और बोला- बहन की लौड़ी साली … कल मैंने कहा था, अगर निप्पल खड़े नहीं होंगे, तो फिटिंग ठीक नहीं आएगी.

अब अजय अंकल माँ को उसी पोजीशन में लेके सोफे में बैठ गए और विशु ने माँ के मुह में लंड दे दिया.

साउथ का सेक्सी बीएफ: उसने तौलिये से मेरी हेल्प की और मैंने भी इसी बीच अपना लंड कई बार उसके टच किया. विशु का लंड आधा मां के अंदर घुस चुका था और मां हर धक्के में थोड़ा सा ऊपर की ओर उठती थी.

भाभी ने जीभ से बचा हुआ वीर्य अपने हाथ से साफ़ किया और मेरी तरफ देख कर कहा- कोई बात नहीं … वो अचानक से हुआ इसलिए मुझे थोड़ा अजीब लगा. जैसे ही वो अन्दर आयी, मैंने जल्दी से कमरे के दरवाजे को बंद किया और पीछे से उसको कसके पकड़ लिया. मुझे पहले इस तरह की घटनाओं पर यकीन नहीं होता था जब तक कि इस तरह की घटना मेरे साथ नहीं हुई थी.

वह मुझसे पूछने लगा कि आप कहां जा रहे हो?मैंने उसे बताया कि मैं अपने मामा के यहां दिल्ली जा रहा हूं.

और उसके बाद बहू बर्तन रखकर वापस आयी, बोली- अब बताओ डैडी जी, कौन है वो औरत?मैंने कहा- बहू, बस ये बातें किसी को पता नहीं चलनी चाहियें. मेरे कदमों की आवाज़ सुनकर भाभी ने ऊपर मेरी तरफ देखा और मुस्कुराने लगी. दो तीन बार धीरे धीरे करने के बाद जब दो तीन शॉट जोर से मारे तो मम्मी चिल्ला पड़ी.