हिंदी में बीएफ सेक्सी में

छवि स्रोत,वीडियो डाउनलोडिंग सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडिओ कंपनी: हिंदी में बीएफ सेक्सी में, दोस्तो, मेरी कंपनी में एक शादीशुदा औरत काम करती थी, उसकी उम्र कोई 23 साल होगी.

हिंदी सैक्स कहानी

अपनी कुंवारी चुत पर एक मर्द की जीभ का अहसास पाते ही मेरे पूरे जिस्म में जैसे करंट दौड़ गया था. ब्लू सेक्सी वीडियो इंग्लिश सेक्सीमुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि निशा एक मंजी हुई खिलाड़िन की तरह चुदाई के इस खेल को इतनी अच्छी तरह खेल सकती है.

कमरे में काफी रोशनी थी तो में अर्शिया के बोबे और भी ज्यादा चमक रहे थे. सेक्सी फिल्म वीडियो चोदा चोदी वालासफर में उस मस्त माल का साथ था तो पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों ग्वालियर पहुंच गए.

मैंने जैसे ही बेडरूम का दरवाजा खोला तो रूम को देखकर मैं दंग रह गई क्योंकि रूम पूरी तरह से फूलों से सजा था.हिंदी में बीएफ सेक्सी में: रात को 3 बजे मामी अपने पति को छोड़कर हमारे पास आ गईं और हम तीनों ने फिर से थ्रीसम चुदाई का मजा किया.

मैंने कहा- अच्छी तो हैं … पर अगर उधर अपनी जान पहचान वाला कोई रहता होता … जो मुझे घुमा देता, तो ज्यादा अच्छा होता.फिर हम दोनों ने जल्दी से कपड़े पहने लेकिन हमारे कपड़े पहनने से पहले ज़ीनिया की मां आ गईं और उन्होंने हमें नंगा देख लिया.

शिल्पी राज सेक्स वीडियो वायरल - हिंदी में बीएफ सेक्सी में

”मुमताज मेरे लिए तो तुम आज भी वही मुमताज हो, आओ, बुर्का निकालकर आओ और नन्हीं मुमताज की तरह मेरी गोद में बैठो, मुझे अच्छा लगेगा और तुम्हें भी.मॉम की सिसकारियां निकनने लगी, वे आह उह उफ़ आ ह मार दिया जैसी आवाजें निकाल रही थी.

सोढ़ी अपनी मस्ती में रोशन में कंधे दबाता हुआ उसे अपने लंड पर ठांसता चला गया. हिंदी में बीएफ सेक्सी में क्या मैं आपसे मेल पर आगे भी बात कर सकती हूं?मैं- हां आप बिल्कुल कर सकती हो.

मैंने दीदी से पूछा- जीजा जी के अलावा भी किसी और को भी सैट किया है?तब दीदी ने हंस कर बताया कि अभी नहीं … मगर तुम्हारे जीजा का छोटा भाई भी मेरी चूचियों को घूरता रहता है.

हिंदी में बीएफ सेक्सी में?

फिर मैं फ्रिज से बर्फ ले आया और रंगोली के माथे से उसे हल्के से छुआता गया. मेरी इस हरकत से उसकी आंखें उबल पड़ीं और वो जोर से चिल्ला उठी- उई मां मर गई आह आह मेरी फट गई … आह अमित बाहर निकाल लो … मुझे बहुत दर्द हो रहा है. दोस्तो, मेरा नाम रश्मि है और इस वक़्त मैं एक 32 साल की शादीशुदा महिला हूँ.

मैंने एक उंगली अंजुमन की चूत में घुसाई और अन्दर की गहराई को महसूस करने लगा. मैंने कहा- सरोज अभी तो टाइम है … आओ बिस्तर पर लेट कर बातें करते हैं. रोहन- ठीक है, पर अभी मेरा लंड खड़ा है … इसे मुँह में लेकर शांत कर दो.

मैं सोचता था कि सेक्स करना है रूपा भाभी से … अपने ख्यालों में उसको कई बार अपने नीचे लाया था. अब तक मैम ने भी मेरी पैंट घुटनों के नीचे सरका दी थी और मेरी अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को मसलने लगीं. गांड मारते मारते मैंने तीन इंच लंड बाहर निकाला और ऊपर से लंड पर तेल की धर टपकाते हुए गांड लंड दोनों को तेल में भिगो लिया.

अब वो आह करने लगी तो मैंने एक कदम और आगे बढ़ कर उसकी क्लिट को उंगली से छेड़ना शुरू कर दिया. फिर वो बोले- तुझे अपने मालिक को खुश करने के लिए थोड़ी मेहनत करनी पड़ेगी.

जागने पर मैंने देखा कि मैं आंटी समझ कर मेरी बहन के चूचे दबा रहा था.

जैसा कि मैंने आप सभी को बताया कि मैं अपनी ट्रेनिंग के बाद 1 महीने की छुट्टी पर आया था.

मैंने उसी समय अपनी दोनों टांगों से उनको जकड़ लिया ताकि वह तेज धक्के ना लगा सकें. चूंकि हमारा रिश्ता कुछ ऐसा था कि हम ज्यादा फ़्री होकर बात नहीं कर सकते थे इसलिए बात इशारों तक ही सीमित रही. धीरे धीरे मैं अपना एक हाथ उसकी चूत पर ले गया और चुत को कपड़ों के ऊपर से ही मसलने लगा.

अब मुझे उसके नहाने के टाइम का अंदाजा हो गया था।मैं उसी टाइम पर छत पर जाता था जब वो नहाने जाती थी।एक दिन तो जब वो नहाकर आई थी तो मैंने उसको ब्रा और पैंटी में भी देखा लेकिन उसकी इस अवस्था की मुझे केवल एक ही झलक मिल पायी।वो अपना तौलिया बाहर रख कर भूल गयी थी और जल्दी से दरवाजा खोलकर तौलिया उठाकर फिर से अंदर घुस गयी. मेरा रंग एकदम गोरा और 34d-28-36 का फिगर है, जो मेरे लंबे कद की वजह से मुझ पर खूब जंचता है. अब बाइक की स्पीड में आ रही हवा के झौंकों से भीगे हुए बदन पर सनसनी आने लगी.

मैं शादीशुदा हूँ लेकिन मैं लगती एकदम लड़की की तरह हूँ क्योंकि मैं अपने आपको बहुत फिट रखती हूँ.

सरिता भाभी ने उससे कहा- तुम कपड़े पहनो, मैं तुम्हारे लिए नाश्ता गर्म कर देती हूँ और चाय बना देती हूँ. मैंने अब भी झटके मारने जारी रखे और उसकी चूत को बुरी तरह से चोदते चोदते अपनी आखिरी बूंद भी उसकी चूत में छोड़ दी. जब सरिता भाभी सब्जी गर्म कर रही थी, तो उसकी चुचियां भी हिल रही थीं.

अन्दर से उसकी गुलाबी चूत सुर्ख हो रही थी और उसके बहते रस के कारण चमक रही थी. इस सबके बाद हम दोनों ने ही अभी अभी जो हुआ, उसका कोई जिक्र नहीं किया. मैम की गर्म सांसें उस मौसम में ब्लोअर का काम करने लगी थीं … या यूँ कह लो कि गर्म पानी या चाय से निकलती भाप का काम कर रही थीं.

उसने मेरी तरफ से कुछ भी आपत्ति नहीं देखी तो वो और जोर जोर से मेरी गांड को दबाने लगा.

दो तीन बार मैंने ऐसे किया मगर अभी भी भाभी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, शायद उसे भी अच्छा लग रहा होगा. ये सब देख मैं भी चुपके से बाहर निकाल गया और कुछ देर बाद घर पर आया तो मैंने मां को आवाज दी- मुझे भूख लगी है … मेरे लिए मैगी बना दो.

हिंदी में बीएफ सेक्सी में कुछ देर पढ़ाने के बाद हमारी टीचर ने बताया कि आप सबको दो-दो के ग्रुप में मिल कर पांच चार्ट बनाना है … और सबको अलग अलग फ़ाइल करना है. इसी प्रकार किस करते हुए ही मैं धीरे से एक हाथ से उसकी जींस के ऊपर से ही लंड सहलाने लगी.

हिंदी में बीएफ सेक्सी में तुमने अपना वर्क कर लिया?निशा ने भी एकदम से अपना हाथ अपनी चूत से बाहर निकाला और इसी चक्कर में उसका स्कर्ट उसकी जांघों तक ऊपर हो गया. मुझे बेहद दर्द हो रहा था मगर मैंने उससे खुद को छुड़ाने की कोशिश नहीं की क्योंकि मुझे मालूम था कि बस ये दर्द थोड़ी देर ही होगा … मुझे इस दर्द को बर्दाश्त करना ही होगा.

ये सब देख मैं भी चुपके से बाहर निकाल गया और कुछ देर बाद घर पर आया तो मैंने मां को आवाज दी- मुझे भूख लगी है … मेरे लिए मैगी बना दो.

बीएफ वीडियो हीरोइन का

मैंने भी उनसे पूछा- तो फिर मैं आपको चाची नहीं तो क्या कहूं?तब उन्होंने कहा कि वह चाहती है कि मैं उसे मोटो कह कर बुलाऊं. वो अब मेरे सामने ही अपनी चुत में उंगली करने वाली आवाजें करने लगी थीं. मैं बोली- अंकल कुछ प्राब्लम तो नहीं हो जाएगी?अंकल जी बोले- कुछ नहीं होगा.

तभी भाभी ने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है क्या?तो मैंने न में सर हिलाया. अगले दिन सुबह उठकर मैंने अपने लण्ड की शेव की, नहाकर परफ्यूम लगाकर घर से निकला. Xxx भाभी हिंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की चुदक्कड़ माल भाभी को पटाया.

फिर मैं सीधा होकर नीचे लेट गया और उसे उठा कर उसको अपने लंड पर बैठा लिया.

उसने मेरी चुत को चाट चाट कर चिकनी कर दी थी, तो लंड को चुत के अन्दर जाने में जरा भी दिक्कत नहीं हो रही थी. अब चड्डी भी लूज़ हो गई थी, क्योंकि वो एक तरफ से खुल गई थी, तो अब पूरी गांड खोलना आसान हो गया था. थोड़ी देर बाद जेठ जी को सोता छोड़ मैंने अपने कपड़े पहन लिए और रसोई में काम करने चली गयी.

ये चमत्कार देख कर मैं हतप्रभ रह गया था और मेरा आत्मविश्वास फिर से लौट आया था. उसके बाद उसने मेरे लंड को मुँह में लेना चाहा तो मैं पलंग के किनारे पर बैठ गया और वो नीचे घुटनों पर बैठ कर मेरे लंड को मुँह में लेने लगी. दो मिनट बाद जब मैं नार्मल हुआ तो मैंने वापस अर्शिया की चुत से चड्डी हटाई और चुत को देखने लगा.

निशा बिल्कुल पूरी नंगी खड़ी हुई मेरी हवस और वासना से भरी आंखों के सामने थी. फिर चार दिन बाद मेरा जन्मदिन था, तो अब्बू ने मेरे घर में एक पार्टी रखी थी.

मैंने उससे बोला- आज स्कूटी लेकर तू आशीष के साथ चली जा, मेरी कुछ तबीयत ठीक नहीं है. उसने मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया और थोड़ी देर में ही पानी निकाल दिया. अब्बू ने अपने कुर्ते से अपना लण्ड पोंछा और फिर से मेरी बुर पर रखा, मेरी चूचियों को मुँह में लिया और धीरे धीरे लण्ड को अन्दर धकेलने लगे.

तो भाभी ने अपने हैट से लंड पकड़ के चूत के मुंह पर लगाया और मुझे डालने को कहा.

उन्होंने मुझे पीछे को घुमाया और घोड़ी बनाकर मुझे करीबन 15 मिनट और चोदा. मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन उनके उस दोस्त ने मुझे बेड की तरफ धक्का दे दिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगा. मतलब मैं जो कह रहा हूँ कि जरा मोटी सी थी … वो आपको उसकी फिगर को पढ़कर समझ आ गया होगा.

एसी चैक करते टाइम मेरी नजरें उन मोहतरमा से हट ही नहीं रही थीं, उनके रसभरे उभार मुझे हद से ज्यादा पागल कर रहे थे. दस मिनट उसकी कोमल उंगलियों को चूस चूस कर अपने थूक से गीला कर चुका था.

”शबाना, आपकी शादी को बीस साल हो गये, आज आप पहली बार बाजार में दिखी हैं. बस कुछ 5 मिनटों में ही मैंने असीम को बुला लिया और राजीव सर के यहां से निकल गयी. दीदी ने अपनी गांड थोड़ी उठा भी दी थी, तो मेरी उंगली उनकी गांड में सटासट अन्दर बाहर होने लगी थी.

बीएफ वीडियो चाहिए वीडियो

उसका नाम विजय माथुर था, जो उत्तर प्रदेश के मथुरा से इस सुनहरे सपनों की नगरी मुंबई में आया था.

वो अपनी मालिश करने में व्यस्त थी और मैं उसके खुले पैरों के अंदर के बीच में अंदर उसकी चूत को देखने की कोशिश कर रहा था. ’बाहर से अनन्या की कोई आवाज नहीं आयी मगर मैं बस उसे छेद को फाड़ देना चाहता था. मुंतज़िर इस बार जोर से हंस पड़ीं और बोलीं- ओके बाबा … जितना जल्दी हो सके … आ जाना.

लेकिन मैं उसे तड़पाना चाहता था … इसलिए मैं उसकी बात को अनसुना करके जीभ को चुत में अन्दर बाहर करता रहा. मेरी मां शर्मा रही थीं और इशारों में जल्दी से चुत चुदाई के लिए भी कह रही थीं. सेक्सी वीडियो बीपी क्लिपभाई ने अलग-अलग सेक्स साईट से गांड मारने की पोजीशन देख देख कर मुझे चोदा था.

मुझे भी उस पर हर पल शक होता कि वो फिर से किसी और के लंड से चुदेगी, इसलिए मैं उसपर नज़र रखे रहता था. बार बार ऊपर नीचे करके लंड को मुँह में लेना … कभी जीभ से लंड के गुलाबी सुपारे को चाटना.

सच कहूँ दोस्तो, तो मुझे अब जिंदगी जीने में फिर से मज़ा आने लगा था और मौसी भी ये खेल पूरा खुल कर खेलती थीं. उन्होंने मेरा घूंघट उठाया, तो मैं शर्मा गई और अपने चेहरे को झुका कर छिपा लिया. मैं- खा जाओ न मेरे राजा … अह्ह्ह्ह … अपनी जया रानी को आज अपनी रंडी बना लो.

मैंने काफी पोर्न वीडियो मोबाइल में डाउनलोड कर लिए और शाम होने का इंतजार करने लगा. मेरा हाथ मुंतजिर के मम्मों पर कस गया और मैं उनके होंठों का रसपान करने लगा. लेकिन असली जिगोलो क्लब ढूंढ़ने के चक्कर में मेरे काफी पैसे और समय बर्बाद हो गए.

मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तन दबाता और चूमता रहा और उसकी गर्म गर्म सांसें तेज होने लगीं.

अब अंकल ने मां की चूत से लंड को बाहर निकाला तो मां की चूत से रस निकल रहा था. उफ … रंगोली की काली ब्रा से उसके बड़े बड़े गोरे गोरे दूध बाहर आने को बेताब थे.

फिर वो बोली- राज, आज मुझे होश में ना आने दो।उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी और मेरे शरीर में हाथ फेरने लगी।अब तक मुझे भी उसका ऐसा करना अच्छा लगने लगा था। जवान लड़की अपनी चूत देने के लिए तैयार बैठी हो तो किसे बुरा लगेगा. क्योंकि चुत बहुत गीली हो चुकी थी तो लंड सरसराता हुआ अन्दर तक घुसता चला गया. मैं थोड़ी देर उसी मुद्रा में रुका रहा, उसके बाद मैंने धीरे धीरे अपने लंड को चुत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

मुझे भी मौका मिल गया, तो मैंने उसी के सामने अपनी शर्ट का बटन खोल कर उतार दी और वहीं टांग दी. धीरे धीरे वो मां के पेट पर किस करते करते उनकी नाभि को मुँह में भर कर चूसने लगे. पैरों में सफ़ेद जूते पहन कर मैंने खुद को आईने में देखा, तो आज मैं बहुत सेक्सी और कड़क माल लग रही थी.

हिंदी में बीएफ सेक्सी में मैं दीदी के ऊपर आ गया और दीदी को हग करते हुए उनके गले को चूमने लगा. लेखक की पिछली कहानी:सोते पति के सामने भाभी की चुत चुदाईदोस्तो, मेरा नाम सौरभ है.

कुत्तों की बीएफ सेक्सी

लॉकडाउन में मैं अपनी सेक्सी हॉट वाइफ की खूब चुदाई करता था। एक दिन मेरे दोस्त ने हमें सेक्स करते नंगे देख लिया। मैंने अपनी बीवी से पूछा कि वो मेरे दोस्त से चुदेगी?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अनिल है। मैं चंडीगढ़ का रहने वाला हूँ।मैं आज अपनी सेक्सी हॉट वाइफ की चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ. शब्बो ने अपनी कहानी बड़े विस्तार से सुनाई थी कि तमाम कोशिशों के बावजूद उसके अब्बू उसे चोद नहीं पाये थे. उस शाम के लिए मैंने एक बेहद आकर्षक काले रंग की साड़ी पहने का सोचा था और उस पर उसी रंग का एक बेहद ही सुंदर बैकलेस और स्लीवलेस ब्लाउज पहना था.

ये सुनकर मैं भी जोश में आ गया और बोला- आज रंडी सरोज साली जाटनी, बिहारी लंड से चुद रही है … आह जाटनी ले रंडी साली. मैंने अन्दर आकर पूछा- क्या हुआ मौसी?वो बोलीं- तू बैठ, मैं चाय बनाकर लाती हूँ. बिहार की नंगी सेक्सीभाभी- पढ़ाई तो होती रहेगी … ज्यादा पढ़ने के चक्कर में कहीं खेती ही न सूख जाए!मैं फिर से चौंक गया कि भाभी कौन सी खेती सूखने की बात कह रही हैं.

मैंने उसकी पैंटी साईड को करके उसकी चूत में अपनी उंगली पेल दी और फांकों को रगड़ते हुए उसकी चुत में उंगली चलाने लगा.

अब उसने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और अपने हाथों से मेरी टांगें चौड़ी कर फैला दीं. अबकी बार फिर से वो लड़का आशीष ही था जो मेरी बड़ी बहन का भी साजन बना हुआ था.

मेरी कुंवारी चूत में अपना घोड़े जैसा लंड सैट करके मेरे पास अपने होंठ ले आया और मुझे चूमने लगा. दो दिन में ही हम दोनों के बीच सेक्स को खुली खुली बात करना शुरू हो गया. मैंने उसे उकसाया था कि ज़ीनिया फेसबुक पर लड़कों से चैट करती है और उस पर नजर रखना जरूरी है.

मैं ये सब सामान कुछ इस तरह झुक कर रखती कि मेरे मम्मों की बीच की काफी गहरी गहराई उन तीनों अंकल को साफ़ साफ़ दिख जाती और सब मेरी जवानी को शराब के नशे में अपने अन्दर उतार रहे थे.

हॉट स्टूडेंट सेक्स कहानी मेरे पास अंग्रेजी पढ़ने आने वाली खूबसूरत लड़की की है. उसने कहा- अच्छा … इसलिए आप ‘मन भर गया’ कह रहो हो!फिर मैंने पूछ लिया कि आपके पति कैसे हैं?तो उसका चेहरा नीचे की ओर झुक गया और धीमी आवाज में कहने लगी- ठीक है!लेकिन मैं उसके चेहरे पर प्यास देख रहा था. फिर अपनी उंगलियों से भाभी की चूत को सहलाते और रगड़ते हुए गांड को जीभ से चाटने लगा.

జర్మనీ సెక్స్ వీడియోస్उसने अपनी गांड तेल से सराबोर कर ली, अपने दोनों चूतड़ों को भी गीले कर लिए, मेरा पूरा लंड भी तेल से सान दिया. वो अपनी जीभ को चूत के अन्दर डालकर सहलाता रहा और मेरी बहन अपनी चुत चटवाती रही.

हिंदी भाभी की चुदाई बीएफ

उस 31 दिसंबर की रात के लगभग ग्यारह बजे पार्टी अपनी जवानी पर आ गयी थी. वैसे तो मैं ज्यादा पीता नहीं, पर उस दिन दिशा की मदमस्त जवानी का नशा कम करने के लिए दारू का नशा जरूरी लगने लगा था. मैं एकदम से सिहर उठी और अगले ही पल उसने मुझे जीभ से चोदना चालू कर दिया.

मैं बकरा बनकर शब्बो के पीछे आ गया और बकरी की बुर फैलाकर अपने लण्ड का सुपारा रख दिया. वो मादक स्वर में बोली- रियांश अब सहा नहीं जाता, प्लीज प्लीज लंड चुत में डाल दो. हम दोनों के परिवारों में काफी अच्छे सम्बन्ध थे, इस वजह से मैं ज्यादा हिम्मत नहीं कर पा रहा था कि कहीं हमारे परिवारों के बीच कोई कटुता न पैदा हो जाए.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे आज चुदाई नहीं … सिर्फ चुसाई ही होने वाली है. अंकल मुझे बाइक से उतार कर बोले- तुम अन्दर चलो, मैं बस 10 मिनट में आता हूँ. वो लंड की गर्मी से बेहद कामुक हो उठी और अपनी गांड उठाकर लंड चुत में लेने की कोशिश करने लगी.

वो ब्रेड को अपने हाथ से उठाने के बजाए उसे अपने मुँह में दबा कर मेरे मुँह में डाल रही थी. जैसे तैसे करके मैंने शॉर्ट्स पहना मगर लोअर के अन्दर जो शेर था वो बैठा ही नहीं था.

आशीष मुझे सहारा देने के लिए आगे आया और उसने मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे पकड़ लिया.

जैसे वो बैठी थी, तो अन्दर घुसाने में दो तीन बार उसके मुँह पर भी लंड लग गया था. सेक्सी वीडियो ट्रेनचाची मेरे लंड को अपनी गांड में अच्छे से महसूस कर रही थी और उन्होंने पीछे की ओर दबाव देना शुरू कर दिय़ा. अंग्रेजी सेक्सी वालीसच में दोस्तो, मुझे अंकल जी से चुदने में बहुत मज़ा आने लगा था, इसलिए मैंने आज तक किसी लड़के को अपना बॉयफ्रेंड नहीं बनाया. लेकिन एक बात मुझे साफ़ लगी कि इतने समय तक अपनी गर्लफ्रेंड से दूर रहने के कारण उसके ब्वॉयफ्रेंड ने भी कोई और लड़की ढूँढ ली होगी जो उसको जवानी के सुख भी दे रही होगी.

मैंने हरियाणवी में कहा- अब तू म्हारी लुगाई सै और तेरे शरीर में मारा हक है.

हैलो फ्रेंड्स, ये फेंटेसी Xxx स्टोरी एक कल्पना पर आधारित है, इससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की मंशा नहीं है. आपको मेरी सिस्टर हॉट सेक्स स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके बताएं. इधर मेरी पत्नी ने एक लड़के को जन्म दिया और उधर में अमिता के प्रेगनेंसी के 2-3 महीने तक मैंने जमकर चुदाई का मजा लिया.

कुछ ही दिनों में वो पकड़ा पकड़ी भी होने लगी, जिसके बहाने मैं उसके और करीब हो जाती. फिर मैं सीधा होकर नीचे लेट गया और उसे उठा कर उसको अपने लंड पर बैठा लिया. हम दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा भी रहे थे, आंखों ही आंखों में बातें हो रही थीं.

हिंदी बीएफ वाली वीडियो

मैंने उससे पूछा- क्या तुम मेरे साथ शादी करोगी?वो हंस दी और बोली- तुमको मेरी सारी बातें मालूम हैं … फिर भी?मैंने कहा- अशी तुम मेरी मुहब्बत हो और मैं तुमसे सच्चा प्यार करता था … करता हूँ … और करता रहूंगा. हम रोज़ यूँ ही चुदाई करेंगे कुड़िये … आह … आह … ले!सोढ़ी पूरे उत्साह में आकर ज़ोर से पिल पड़ा और सोफे पर बैठे बैठे ही रोशन की गांड में लंड को ज़ोरों से अन्दर बाहर करने लगा. शाहगंज, जौनपुर के एक छोटे से गांव में मेरी चूनी, पशु आहार जैसे चोकर खल, भूसी की दुकान थी.

वो एक जीरो फिगर वाली प्यारी सी लड़की थी, उसके खुले हुए बाल हवा में लहर रहे थे.

लेकिन ये तो बताओ कि ये सब तुमने कब और कैसे सीखा?अभी भी उसका हाथ मेरे हाथ में ही था और एक हाथ से मैं उसको सामान्य करने के बहाने से उसकी पीठ को सहला रहा था.

निशा- हां, चूस भोसड़ी के … और जोर से चूस मां के लवड़े … पी जा सारा चूत का रस … आह आज तुझे मैं अपना मूत भी पिलाऊंगी साले गांडू. मुझे उनकी चूचियों को नंगी देखने का मौका एक बार मिला था, जब वो आंगन में नहा रही थीं और मैं गलती से आंगन में पहुंच गया था. मर्दों की सेक्सीये कुछ सेकंड की छुअन मेरे 44 साल के जीवन में पहला अनुभव था जिसमें सिर्फ छुअन से मेरे बदन के तार झनझना गए थे.

मैंने उनसे कहा- मेरा निकलने वाला है … कहां निकालूं?तभी मुंतज़िर ने मुझसे बोला- मेरे मुँह में निकालना. कैसे हो मेरी कमसिन प्यासी नमकीन चूत वाली आंटी, भाभी, गर्ल्स और दोस्तो. उसने कहा- दोपहर में चलेंगे, तब भीड़ नहीं होती है, उस समय हॉस्पिटल भी खाली रहेगा.

पार्टी अब खत्म होने ही वाली थी कि तभी संजना मेरे पास आयी और मुस्कुरा कर बोली- मैं भी जानती हूँ कि तुम वो राउंड क्यों हारे थे. रविवार को शरद, किरणदीप और सुरजीत अक्सर ड्रिंक्स लेते और कभी कभी मैं भी उनके साथ कुछ पैग लगा लेती थी.

मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसना दबाना शुरू कर दिया.

कोमल को राहत मिली और वो अपनी कोहनियों पर आते हुए मेरी तरफ ऐसे देखने लगी, जैसे उसको भरोसा न हो. मैंने अपने आपको संयमित किया और एक अच्छे पड़ोसी होने के नाते मुस्कुरा कर उनका अभिवादन किया, साथ ही अन्दर आने के लिए भी कहा. उसने हामी भर दी तो मैं पिज़्ज़ा ऑर्डर कर दिया और व्हिस्की की बॉटल और दो ग्लास निकाल लाया.

టీన్ సెక్స్ వీడియో आखिर उसने मेरी बात नहीं मानी और मुझसे कहने लगी कि मैं अपने मायके पूना जा रही हूँ. दूसरी बार आप कब चुद गईं … बताओ न!तब दीदी बोलीं- रात में 2 बजे के बाद मैं विक्की से चुदी थी.

तभी अंकल ने मम्मी को प्यार से समझाया और कहा- सुशीला, तुम्हें मालूम है कि मैं तुमसे प्यार करता हूं. कुछ ही देर में मुमताज की बुर गीली हो गई तो मैंने अपना सिर मुमताज की जाँघों के बीच रख दिया. अब हम दोनों में ही मिलने के लिए बहुत उत्सुकता थी क्योंकि मैं उससे सेक्स चैट के माध्यम से तो बहुत खुल चुका था … लेकिन सामने से उसके साथ मिलने का ये पहला मौका था.

बीएफ सेक्सी कैटरीना कैफ की

मैं तैयार होकर अभी बैठी ही थी कि जेठ जी का फोन आ गया- मैं बाहर आ आ गया, तुम जल्दी से आ जाओ. ज़िन्दगी में पहली बार मैं अपने आपको चुदाई के लिए इस तरह तरसती हुई देख रही थी. उसका एक हाथ मेरी नंगी पीठ को सहला रहा था और दूसरा हाथ मेरे उभरे हुए चूतड़ों पर था.

फिर रश्मि सोफ़े पर बैठ गई और डायरेक्टर उसे पोज देने और एक्टिंग करना समझा रहा था. माथे से नाक, नाक से होंठ, होंठ से गला, गले से दोनों निप्पल, फिर धीरे धीरे नाभि.

मैंने नन्दिनी से कुछ खाने के लिए पूछा, तो नन्दिनी ने कहा- आप अपनी चाय की बहुत तारीफ करते हैं.

यह मेरी 44 साल की जिंदगी का पहला अनुभव था, जब मैं किसी मर्द का रस चाट रही थी. हफ्ते में दो तीन बार सामान ले जाती थी और हर महीने हिसाब चुकता कर देती थी. उसकी लगातार 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुत चटाई के बाद मेरे अन्दर का गर्म गर्म माल उसके मुँह में ही निकल गया.

अब हम दोनों बारी बारी से अपने होंठों से एक दूसरे को दारू पिलाते गए. हालांकि इस सफ़र के दौरान उसने मेरे साथ सेक्स को लेकर बात करने में बड़ा संकोच दिखाया था. अब तो मैं उसको छेड़ भी देता था कि आज रात को क्या क्या देखा … और वह ‘धत्त.

मैं चौंकते हुए बोला- मुझे भी नहीं पता कि खुद पर कैसे कंट्रोल कर पाया.

हिंदी में बीएफ सेक्सी में: दोनों मम्मों के बीच की घाटी ऐसी थी कि लगा बस उसको चूमने के समय निप्पल कान तक पहुंच जाएंगे. उसने एकदम से पलट कर मुझे देखा तो उसने पाया कि उसकी चुत की चुदाई हो रही है.

ये जानकर मैं बहुत निराश हुआ क्योंकि मैं अभी भी उससे बहुत प्यार करता था. तो मेल करो न यार … और हां अगली बार मैं अपनी बहनों की चुदाई भी लिखने वाली हूँ. दोस्तो, आप चाहें कितना भी रोक कर देखो … पर जिस्म की भूख हर बांध को तोड़कर ही रहती है.

उसकी कसी हुई चूत को मेरा लंड चोदकर मस्त हो रहा था और इसलिए मेरे झटके रुकने का नाम नहीं ले रहे थे.

फिर वो अपने एक हाथ से मेरी चुत को दबाने लगे, मुझे बहुत शर्म आ रही थी … लेकिन चुदने का मन भी कर रहा था इसलिए मैंने उन्हें मना नहीं किया. लेकिन अब निशा के दिल की धड़कन बढ़ चुकी थी, जो मेरे कानों तक भी आ रही थी. अब मेरी आंखों के सामने उसकी चुत के ऊपर सिर्फ एक ही वस्त्र बचा था … वो थी पैंटी.