बीएफ ब्लू सिनेमा

छवि स्रोत,वीडियो में सेक्सी आनी चाहिए

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी ब्लू फिल्म बताओ: बीएफ ब्लू सिनेमा, मेरी आंखों में झांकता हुआ प्रशांत बोला- आपको स्मूच करके मजा आ गया भाभी.

12 जुलाई सेक्सी वीडियो

गौतम ने मेरी चुदाई किस तरह की, वो सब मैं मेरी जवानी की कहानी के अगले भाग में लिखूंगी, आप अपनी राय मुझे कमेंट्स में बताएं. चुदाती सेक्सीक्योंकि देवर जानते थे कि वो तो घर पर ही रहते हैं लेकिन उनके दोस्त रोहित को यह मौका नहीं मिलता है.

किचन में जाने के लिए उनके बेडरूम के सामने से जाना पड़ता है, जो उनके बेडरूम के बाद बगल में है. सेक्सी वीडियो कव्वालीमैंने खुश होते हुए कहा- भाभी, आप मुझे बस एक मौका दो, फिर मैं बताता हूं कि असली सुख किसे कहते हैं.

मैं उसके पास गयी और उसकी जांघ पर हाथ रख कर सहलाते हुए उसके बगल में लेट गयी.बीएफ ब्लू सिनेमा: में ना तो कहीं शेखर लिखा था और ना ही अभी तक उसने धारा को अपना नाम बताया था.

दोस्तो … क्या नज़ारा था वो!मामी की गांड बिलकुल गोरी और चिकनी थी। जिसकी दरार के बीच एक छोटा सा गुलाबी छेद … मन तो कर रहा था कि उसी छेद मे अपना लंड डाल दूँ!पर सोचा इतनी प्यारी सी गांड है … इसे फिर कभी बड़ी तसल्ली से चोदूंगा.मैंने उसकी तरफ सवालिया नजरों से देखा तो वो बोली- सर आप लेटे रहो … मैं सफाई कर रही हूं.

किसी भी हीरोइन की सेक्सी वीडियो - बीएफ ब्लू सिनेमा

शुरू में जब वो यहां रहने आई थीं और मैंने पहली बार भाभी को देखा था, तो देखता ही रह गया था.मैं- वो तो ठीक है, पर बताओ तो तुम्हें क्या पता चला?वो- वो जब कल सामने आओगे, तो तुमको पता चलेगा न!मैंने कहा- चलो ठीक है.

मैंने अपनी टी-शर्ट उतार कर किनारे रखी और अपने दोनों हाथों से अपने स्तनों को छुपा लिया. बीएफ ब्लू सिनेमा तभी मम्मी एक ट्रे में ऑमलेट, भजिया और कुछ खाने का सामान लेकर अन्दर पहुंच गईं.

मैंने कहा- हां भाभी आज मुझे अपनी और आपकी दोनों की जवानी की इस आग को बुझाना है.

बीएफ ब्लू सिनेमा?

मैंने उनका मांसल लौड़ा पकड़ कर उठाया और उनके सुन्दर आंड चूमने शुरू कर दिए. मैंने उनकी गांड के नीचे तकिया रखा और उनकी चूत के छेद पर लंड टिका दिया. जब मैंने स्तनों की चुदाई कर ली तो मैंने खुद ही आशारा के मुँह में लंड दे दिया.

मैं एकदम से शहज़ाद से सट गयी और उसने भी अपना हाथ बढ़ाते हुए मेरी कमर को पकड़ कर मुझे उठाया और अपनी गोद में बिठा लिया. शहज़ाद ने तुरंत मेरे दूध लपक कर पकड़ लिए और मेरे निप्पलों को अपनी उंगलियों में लेकर मींजने लगा. वो अपने पति के साथ ग्रुप सेक्स और लेस्बियन सेक्स का मजा उठा चुकी थी.

रुचि ने लाल रंग की ट्रांसपरेंट ब्रा और पैंटी पहन रखी थी, तो चंचल ने भी काली ब्रा और पैंटी डाल रखी थी. पिंकी लंड पर उछल उछल कर गांड पटकने लगी और मस्ती से चुदवाने लगी।अब दोनों तरफ से बराबर झटके लगने लगे और ऐसा लगने लगा जैसे दोनों एक-दूसरे को चोद रहे हों।पिंकी ने बताया कि रोमिल के लंड में इंफैक्शन हो गया है, जिस कारण उसने 5 दिनों से नहीं चोदा।अब पिंकी जल्दी जल्दी उछलने लगी और आहह हाँह उहह हह करके चूत से पानी छोड़ दिया. शहज़ाद ने गुस्से से उन दोनों को देखा लेकिन मैं उस वक़्त कोई झगड़ा नहीं चाहती थी तो मैंने शहज़ाद को रोक दिया.

जब बुढ़िया सेक्स का भूत खत्म हुआ तो मैंने देखा खिड़की पर लकी खड़ा है. मेरी उम्र अभी 21 साल हो गयी है और मेरी चुचियों का साइज बढ़ कर 36 इंच का हो गया है.

चूँकि भाभी की हाइट थोड़ी कम थी, जिसके कारण उसका हर अंग छोटा था … उसकी छोटी चूत थी, चुत का छेद एकदम से सिकुड़ा हुआ था.

इस घटना के बाद मेरी नजरें मां की चूत और मम्मों को नहीं भुला पा रही थीं.

जैसा उन्होंने मुझे देखा, मुझे उठा पाकर तीनों मेरे सीने से चिपक गईं. चाची- तो फिर नीचे हाथ लगा न!मैंने तुरंत चाची की चूत को पैंटी के ऊपर से हाथ की मुट्ठी में भींच लिया. मैंने कहा- अगर तुमको मुझसे प्यार है … तो तुम उनसे बात करना छोड़ दो.

उसने मुझे बताया कि उसके पति का 2 साल पहले एक्सीडेंट हो गया था, तब से वो अकेली है और किसी के साथ दोस्ती करके सेक्स करने का मतलब है कि अपनी प्राइवेसी को खत्म करना. दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी के पिछले भागमेरे सेक्सी जिस्म को मिले दो और लंडमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे पति अमित के दो दोस्त राजेश और प्रशांत मेरी चुदाई के लिए मुझे पटाने में लगे थे. यूँ तो मैं भी इस चैट रूम में आकर अक्सर लोगों से बातें करती रहती हूँ लेकिन कभी भी कोई ऐसा नहीं मिला जिसने ये जानने की कोशिश की हो कि मेरी क्या इच्छाएँ हैं.

भाभी ने मेरे बालों में हाथ डाल कर मेरे सर को अपनी दोनों टांगों के जोड़ तक कर दिया और अपनी चुत पर मेरे मुँह को टिका दिया.

मैंने पूछा- क्या हुआ मना क्यों कर रही हो आप?उन्होंने बताया कि उनकी चूत को आज तक किसी ने भी हाथ से नहीं छुआ है. वो बार बार यही बोलती जा रही थीं- आह आह उई आह … मेरी जान मुझे अपना बना ले. जब गांड लंड चिकने हो गए तो मीरा घोड़ी बन गयी और निखिल से बोली- आ जा बेटा … मार ले अपनी मौसी की मोटी गांड.

वो लोग कभी मेरी नंगी छाती दबाते थे और कभी मेरी चूत को छूने लगते थे. आज मैंने जीवन का एक अनूठा सबक सीख लिया था कि गांड कैसी भी फटी हुई क्यों न हो, फिर भी हवस अपना काम कर जाती है. उसने तुरंत मुझे फोन किया और हम दोनों धीरे-धीरे बातें करने लगे जिससे किसी को सुनाई नहीं दे और कोई शक भी न कर सके.

जानती है स्नेहा … मैं अपने भाई बहनों को बहुत तरसती हूं, काश कि मेरी भी छोटी या बड़ी बहन होती … या छोटा भाई होता, तो उन सबको इतना ही प्यार देती.

मैं समझ गया कि ये अन्दर से नंगी है और पूरी गर्म है, आज सही मौका है, चौका मार देना चाहिए. तभी ‘उठो न …’ की आवाज ने मुझे नींद से लाकर वास्तविकता में पटक दिया.

बीएफ ब्लू सिनेमा मैंने जानबूझ कर सामने से जाने के बाद मेन गेट बंद कर दिया और अब मैं चुपके से सीढ़ी से चढ़ कर ऊपर आ गई. मैं जाकर बाथरूम में नहाने लगी मेरी चूत पर बहुत ही हल्के से बाल थे तो मैंने सोचा अपनी चूत को चिकनी कर लिया जाए.

बीएफ ब्लू सिनेमा दोस्तो मेरी ये सेक्सी ऑफिस गर्ल की चुदाई आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. निखिल ने मीरा की कराहती हुई आवाज़ सुनी तो वो रुक कर बोला- मौसी दर्द हो रहा है क्या?वो बोली- नहीं, बस तू धक्के देता जा.

वह चाहती थी कि हम दोनों फिर मिलें और पूरे इत्मीनान से जिस्म के मजे लूटें.

ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म बताओ

अब सैम ने शुरूआत में धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करना शुरू किया और मां की चुत को सहज पाते ही उसने धमाचौकड़ी शुरू कर दी. फिर मेरी मां ने दो मिनट में ही सैम के लंड को झड़ा दिया और अन्दर बाथरूम में चली गईं. कुछ देर बाद मैंने फिर धक्का मारा, जिससे मेरा आधा लंड चूत के अन्दर पहुँच गया.

अभी मेरे लंड का टोपा ही अन्दर गया था कि उसकी आंखों में आंसू आ गए और चीख़ निकल गयी. वो कुछ नहीं बोलीं, वो बस मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर उंगलियों में उंगलियां फंसा कर मेरा हाथ मसलने लगीं. चूंकि मैं मिडल क्लास फैमिली से हूँ इसलिए ऊपर वाले से मुझे पैसों से गरीब बनाया है.

मीरा ने भी उसको उकसाने के लिए एक झीनी सी नाइटी पहनी थी जो उसकी जांघों से खुली थी.

उसके बाद वो पानी वाला चपरासी और अंत में कराटे वाले सर मेरी गांड खोल कर चले गए. सोनम की धमकी सुन कर उस चपरासी ने अपने हाथ जोड़े और वो सोनम से माफ़ी मांगने लगा- मैडम, गलती हो गयी आगे से नहीं होगा मैडम, प्लीज गरीब की नौकरी पर लात मत मारो, आप जो चाहें, मैं करने के लिए तैयार हूँ … पर किसी को मत बोलो, प्लीज मैडम. क्या पहली बार सेक्स कर रहे हो?” दीदी की आवाज़ में कितनी मासूमियत थी.

चूंकि मैं सिगरेट पीता था तो इस वक्त मुझे अपनी उत्तेजनावश सिगरेट पीने की तलब लग रही थी. चाची ने मुझे बेड पर बैठा दिया और मेरी टाँगों के बीच खड़ी हो कर ऊपर से चुन्नी ढीली कर दी जिससे उनकी चूचियाँ बाहर आ गई. मैंने कहा- क्या हुआ?उसने कहा- तुझे अच्छा लग रहा हो तो मैं आगे कुछ और करूं.

उसने मुझसे कहा- आप बहुत अच्छे इंसान हो, बहुत समझदार और बहुत सुंदर भी हो. उसके चुत चाटने से मैं और ज़्यादा तड़प उठी और अपनी कमर उठा कर उसके मुँह में अपनी चुत देने लगी.

तब कालेज के हॉस्टल की हालत रहने लायक नहीं थी तो हम 2 दोस्तो ने फैसला किया कि बाहर कहीं पीजी या फ्लैट लेकर रहते हैं. तभी प्रशांत ने मुझे स्मूच करने लगा और राजेश ने मेरे गाउन के नीचे से हाथ डालकर मेरी बिना पैंटी की चूत पर धावा बोल दिया. दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी के पिछले भागमेरे सेक्सी जिस्म को मिले दो और लंडमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे पति अमित के दो दोस्त राजेश और प्रशांत मेरी चुदाई के लिए मुझे पटाने में लगे थे.

तब उन्होंने कहा- ये सब करना है तुमको … मैं तुमको इन सब चीजों से दूर रखना चाहती थी … लेकिन तुम हो कि …मां के मुँह से ये सुन कर मैं और भी डर गया और शर्म से मैंने सर नीचे कर लिया.

मां बिस्तर पर चित लेटी ही थीं कि सैम ने उनके दोनों पैर पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और मेरी मां के दोनों पैरों को अपने कंधे पर ले लिए. किसी तरह शेखर ने अपनी आँखें खोलीं।उसका सर दर्द से फटा जा रहा था, होता भी क्यूँ नहीं … रात को सारी बोतल गटक गया था. रात को शराब पीने के बाद सबको नशा होने लगा और रोहन ने नेहा को नंगी करना शुरू कर दिया.

अब आगे की कहानी मेरे शब्दों में:रोहन बोला- राज भाई बोलो, चुप क्यों हो गए? बताओ आगे कैसे करना है? मैंने जो जो आपकी कहानी में पढ़ा था वो ही आजमाया और काम बनता नज़र आ रहा है. अनिकेत भैया बाथरूम के गेट पर आकर खड़े हो गए और दरवाजे को खटखटाने लगे.

‘पूरा पैसा खाते में कैसे जाएगा?’मैं समझ गया कि भाभी दोअर्थी बात कर रही थीं. इस समय भाभी झुक कर नाश्ता लगा रही थीं तो उनका क्लीवेज साफ दिख रहा था. उसकी उंगलियाँ पूरे कंधे पर फिसलने लगीं और तब जाकर शेखर को अहसास हुआ कि शायद आज धारा उसी तरह के ब्लाउज़ में थी जैसा उसने कल उसे अपने लैपटॉप की स्क्रीन पर देखा था.

भाभी देवर की एक्स एक्स वीडियो

अबकी बार मैंने बोला कि आपको किससे बात करनी है आप बार-बार फोन क्यों कर रहे हो?उधर से आवाज आई.

अब लंड का लगभग तीन चौथाई भाग धारा की चूत ने गटक लिया था। अब वो धीरे-धीरे अपनी कमर हिला कर लंड और चूत का मिलन करवाने लगी. मुझे नहीं पता था कि मेरा मौसेरा भाई मुझे दरवाजे की झिरी में से देख रहा है. मैं सोच रहा था कि ये टेस्ट कहां से बीच में आ गया? फोन पर तो ऐसी कोई बात नहीं हुई थी.

जाते जाते उसने रघु को कह दिया कि शायद वो आज रात वापस ना आए तो वो खाकर सो जाए. जैसे ही उसने मुझे देखा, तो भाग कर मेरे पास आ गया और मेरी साईकल लेकर अन्दर करने लगा. भारतीय सेक्सी वीडियो फुलखैर यही रोमांच तो चाहिए था शेखर को!धारा के होंठों पर उंगलियाँ फेर कर शेखर को महसूस हुआ कि उसके होंठ बिल्कुल गुलाब की नाज़ुक पंखुड़ियों की तरह से थे, जिसका रसपान करने को हर मर्द आतुर हो जाए.

ये कह कर उसने फिर से एक और झटका दे मारा और इसी के साथ मां की चूत में उसका लंड पूरा घुस गया. मगर एक खुशी भी थी मुझे कि मेरा भाई मेरी चूत का प्यासा होगा।विवेक इतना मादरचोद निकलेगा मुझे अंदाजा नहीं था। वो अपनी बहन की चूत का स्वाद लेने के लिए तैयार था।एक दिन घर पर कोई नहीं था और हमने उसी रात को चुदाई का प्लान बनाया।शाम को खाना खाने के बाद विवेक और लूसी अपने नाना नानी से कह आये कि हम वहीं पढ़कर सो जाएंगे.

नेहा- तू सच में चुदवा चुकी है क्या?ममता- हां यार, मैं सच कह रही हूं. उसके लिए चूत और गाँड के उभार पर दोनों तरफ से हलचल हो रही थी।अब एक बार फिर मैंने दांतों से नेहा की पैंटी पकड़ कर उसे उतारने की कोशिश की. सविता भाभी के अद्भुत आकर्षण, उत्तेजक गोलाइयों, सेक्स के बीच में वो जंगली और कामुक भावभंगिमाओं और बिस्तर में किसी भी लड़के को पागल कर देने वाली अदाओं के कारण ही हम पिछले काफी सालों से उससे प्यार करते रहे हैं.

लंड के कड़ेपन का अहसास होते ही धारा ने अपनी गांड को पीछे धकेलते हुए एक हाथ से लंड पकड़ कर अपनी गांड की दरार में रगड़ना शुरू कर दिया. मैं- तुम्हारा साइज क्या है?फ़लक- 34-32-34मैं- और गहराई?फ़लक- किस चीज की गहराई ?मैं- चूत की!फ़लक- मुझे क्या पता?मैं- आज नापकर बताऊँगा. उसके बाहर जाने के बाद मैंने दरवाजे बंद किए और कोमल के होंठ चूसने लगा.

भाभी मेरे सीने से चिपक कर तब तक मेरे ऊपर ही लेटी रहीं जब तक लंड अपने आप सुस्त होकर चुत से नहीं निकल गया.

तीन रात और तीन दिन में मैंने और चाची ने लगभग 10-12 चुदाई के सेशन पूरे किए. धीरे धीरे उन दोनों को मैं अपने हुस्न के जलवे दिखा रही थी और वो दोनों उसमें फंसते भी जा रहे थे.

अबकी बार मैंने बोला कि आपको किससे बात करनी है आप बार-बार फोन क्यों कर रहे हो?उधर से आवाज आई. उसने बिना देरी किए मेरी पैंटी को निकाल दिया और सीधे मेरी चूत पर अपना लंड रखकर एक जोरदार धक्का दे मारा. कामुक फ़िल्में और कामुक कहानियाँ पढ़-पढ़ कर ललित उन सबको असल ज़िंदगी में भी आज़माना चाहता था.

मैं सब सवाल जवाब भूल कर दोनों हाथों से उनके चुचे ज़ोर से मसलने लगा था. दोपहर में उसने जो धारा से बात की थी उसके बारे में ललित को कैसे पता?या फिर धारा ने दोपहर की सारी बात ललित से बता दी हो ऐसा भी हो सकता है. ’इतना बोलती हुई ज्योति कटे वृक्ष के जैसे चिराग की बांहों में झूल गई.

बीएफ ब्लू सिनेमा सितारा ने माँ को प्रणाम किया तो मैंने मंदिर में रखे सिन्दूर से सितारा की मांग भर दी. चाची ने उसी प्रकार अपने घुटने मोड़कर चूत और चूतड़ों को थोड़ा सा ऊपर उठा दिया.

लड़की को पेशाब करते हुए दिखाएं

फिर मैंने बंगालन भाभी की तरफ देखा, तो वो मुस्कुराकर चली गईं … पर जाते जाते मेरी भाभी को आंख मार कर गईं. स्क्रीन पर चल रही फ़िल्म को बंद कर जैसे ही शेखर ने चैट रूम खोला तो उसकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. पहले तो वह लड़की मेरे नीचे वाली सीट पर बैठी हुई थी, बाद में उठकर लोअर साइड बर्थ पर आ गई.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसकी चूचियों पर रगड़ना शुरू कर दिया. फिर मैंने उन्हें कंधों से पकड़ कर नीचे बैठने का इशारा किया, तो वो घुटनों पर बैठ गईं और लंड चूसने लगीं. ओल्ड लेडी सेक्सी फिल्मइसमें आपको क्या अच्छा लगा और क्या बुरा लगा, वो जरूर बताना ताकि मेरी अगली कहानी इससे भी ज्यादा दिलचस्प हो.

मैंने भगवान की प्रतिमा के सामने कहा- सितारा, मैं यहाँ इसलिए आया हूँ कि मैं भगवान के सामने कह सकूँ कि मैं तुमसे अपना रिश्ता पूरी ईमानदारी से निभाऊंगा.

ये सुख उसे कभी उसकी बीवी ने भी नहीं दिया था लेकिन अभी थोड़ी देर पहले हो रही लंड चुसाई ने उसे ये अहसास दिलाया था कि शायद मुँह में झड़ने का सुख उसे आज मिल ही जाएगा. उनका शरीर थोड़ा गठीला जरूर था, पर पूरे शरीर में बाल थे, पेट बाहर निकला हुआ था.

मैं- वो तो ठीक है शीना, अगर ये बात किसी को पता चल गई तो?शीना- कौन बताएगा अंकल, क्या आप बताओगे किसी को?उसकी ये बात सुन कर मैं निरुतर हो गया और मैंने दरवाजा बंद कर के उसे गोद में उठाया और बेडरूम में ले गया, उसे बेड पर लिटा दिया. चुदाई इतनी जोर से हो रही थी कि लंड के घर्षण से चाची की चूत सुलगने लगी और चाची तरह-तरह की आवाजें निकालने लगी. उसके बहुत देर तक बोलने से मैं मना नहीं कर पाया और आखिर मुझे भी गांड मरवाने की खुजली हो रही थी.

तब तक भाभी ने अपने ब्लाउज के चिटकनी बटन एक झटके में खोल कर मेरे सामने अपने दूध खोल दिए.

भाभी ने भी मेरे लौड़े का सारा रस खा लिया और चाट चाट कर लंड साफ कर दिया. शेखर ने बस एक चांस लिया था ये सोच कर कि शायद कुछ बात बन जाए और धारा उसे वो रोमांच देने को राज़ी हो जाए. जिससे कि मैं आपके सामने और अच्छी अच्छी कहानियां लेकर हाजिर हो सकूं.

अंग्रेजी सेक्सी व्हिडीओ पिक्चरमैंने 2 मिनट तक उसके होंठों को किस किया और उसके मम्मों को दबाता रहा. फिर उसने अपना एक हाथ मेरे लोअर के ऊपर से ही लन्ड पर रख दिया और उसे सहलाने लगी और मैं उसे चूमते हुए उसकी गांड सहला रहा था.

बीएफ फिल्म दिखा

लेकिन वो मुझे हाथ से चुप रहने का इशारा कर मेरे लंड को लगातार चूसता रहा. मैंने उन चारों के साथ कैसे सेक्स किया?कहानी के पिछले भागदफ्तर में आकर चुद गयी मैंमें आपने पढ़ा किमैंने चार लड़कों को अपने घर बुलाया रात में …दिन में मैंने अपने बॉस से चुदकर अपनी वासना शांत की. अंजू भाभी इठलाती हुई उठकर मेरे पास आईं और मादक अंदाज में बोलीं- क्या हुआ माय लव.

तो मैंने बांध दी और ये पूछने को हुई कि ये खोली क्यूँ?पर तभी मेरा फोन बज गया. इस पर मीरा मुस्कुराई और उसने निखिल को बताया कि मैंने तुमको रीमा की चुदाई करते देख लिया था. पर मैं काम और कामसूत्र को हमेशा अलग रखता हूं, हमारे रिश्ते काफी प्रोफेशनल थे.

मैंने सोचा कि शायद बेटे की वजह से इन्होने अंधेरा किया है, तो मैं बिस्तर की तरफ आने लगा. आप मुझे मेल करें![emailprotected]हॉट लड़की सेक्स कहानी का अगला भाग:दोस्त की चालू बहन की चुत में मेरा लंड- 2. शायद राज कुछ ज्यादा ही गुस्से में आ गया था, किस करते करते उसने मेरे होंठो को काट लिया जिससे कि उसमें से हल्का खून भी आने लगा.

उनके जिस्म की रगड़ मुझे मिलने लगी और मेरी आंखें वासना से तप्त हो गईं. उस वक्त भी मेरी ब्रा का साइज 34 का था और मेरी उभरी हुई गांड लोगों को काफी आकर्षित करती थी।शुरू से ही मेरे उभार काफी टाइट और तने हुए थे।मेरे घर में मेरी माँ और पापा दीदी की शादी को लेकर काफी परेशान रहते थे।मैं बस अपनी पढ़ाई पर ही ध्यान रखती थी।कॉलेज में मेरी कई सहेलियां बनी जिनके कारण ही मुझे सेक्स में रुचि होने लगी.

पिछली कहानी में आपने पढ़ लिया था कि नेहा अपनी छोटी बहन स्नेहा के साथ अपने चाचा चाची की चुदाई का लाइव टेलीकास्ट सुना रही थी.

उन्होंने मुझसे पूछा- खाना हो गया?मैंने जवाब दिया- नहीं आज टिफ़िन नहीं आया है तो मैं मैगी बना लूंगा. हिंदी सेक्सी एचडी फुल एचडीअभी 6 महीने पहले सितारा अपने पति से झगड़ा करके वापस आ गई है और तलाक का मुकदमा कर दिया है. देवर के सेक्सी वीडियोपैग बनाकर शेखर ने एक बड़ा सा घूँट अपने हलक के अंदर लिया और एक लम्बी साँस भरी. शेखर ने अपने हाथ में पकड़ा ग्लास एक ही साँस में गटक लिया और तेज़ी से कीबोर्ड पर अपनी उँगलियाँ चलाने लगा- हैल्लो ललित भाई… कैसे हैं?इस बार भी शेखर ने वही तरकीब अपनाई जो उसने दोपहर में यह जानने के लिए किया था कि उस तरफ़ ललित है या फिर धारा.

5 मिनट में ही अमित जोर जोर से झटके देने लगा तो मैं समझ गयी कि यह झड़ने वाला है.

नशे में होने के कारण वो और भी सेक्सी और चुदास से भरी हुई लग रही थीं. मैंने अपनी नाक कि नोक से आंटी की चुत के दाने को रगड़ दिया तो आंटी ने मेरे सर को थामा और अपनी चुत में घुसाने की कोशिश करने लगीं. उधर स्टेज के सामने बने अजय के कमरे में प्रिया भी नंगी हो गई थी, लेकिन लोग उसको चोद नहीं सकते थे.

अब प्रिया ने अपनी चुत चटवाते हुए गगन से कहा- गगन तुम अपने लंड का पानी रोमा की चुत में ही निकालना. दोस्तो, मैं अमित शर्मा एक बार फिर से आपको अपनी ताई और भाभी की चुत चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ. अनायास ही मेरी नजर पड़ गई, तो क्या देखती हूँ कि चाचा पूरे नंगे थे और चाची उनकी गोद में पूरी नंगी बैठी थीं.

नंगी चुदाई की ब्लू फिल्म

कुछ ही पलों में रीमा मस्ती से कहने लगी- आह ज़ोर ज़ोर से चोदो … आह मजा आ रहा है आज मुझे इतना चोदो कि मेरी पूरी चुत खाली हो जाए. मेरी मां ने मुस्कुरा कर सैम को देखा, तो सैम ने आंख मारते हुए कहा- मजा आया?मेरी मां ने सर झुका कर कहा- हां बहुत. तब जवान लड़कों को देखकर भाभी की चूत की खुजली हुई कि ये लौंडे 19-20 साल के नौजवान हैं और इनके ताजगी से भरे हुए लंड मेरे लिए एक खिलौना बन सकते हैं।ये सब और इससे आगे इस वीडियो में देख कर मजा लें.

जींस के मोटे कपड़े की वजह से लंड को पूरी तरह से मुट्ठी में भर पाना आसान नहीं था.

मेरे मन में ख्याल आने लगे कि अगर इसने अपनी माँ को बताया तो क्या होगा.

कुछ देर बाद प्रियंका गर्म हो गई तो उन दोनों ने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा कर दिया. तभी हंसते हुए रोमिल बोला- राज भाई, आज तुम अपनी भाभी को खुश कर दो।मैंने फिर से झटके मारना शुरू कर दिया और बोला- रोमिल भाई, आप सो जाओ मैं भाभी को बिल्कुल खुश करके ही रूकने वाला हूं आज!अब मेरी शर्म जा चुकी थी, मैं बोला- पिंकी, अब तू जल्दी से लेट जा!और मैं उसके ऊपर आ गया और चोदने लगा. हिंदी सेक्सी ब्लू वीडियो दिखाओउसने भले ही अपने दोनों छेदों में लंड ले लिया था, पर मुँह में कभी नहीं लिया था.

एक मिनट बाद फिर से एक झटका मारा तो इस बार मेरा पूरा लंड चूत के अन्दर चला गया. लेकिन मुझे चूत के दर्शन कराने से पहले ही …दोस्तो, मैं राज आपको हसबेंड वाइफ़ सेक्स कहानी के पहले भागपति की अपनी पत्नी की चूत चुदवाने की लालसामें अपने पाठक की उसकी बीवी को गैर मर्द से चुदवाने की इच्छा की कहानी बता रहा था. कुछ देर सोच कर शीना ने ओके कहा और बोली- मैं कल सुबह कॉलेज टाइम में आ सकती हूं.

फ़लक की सुडौल गोरी जांघें के बीच चूत पर दो इंच की दरार दिखाई दे रही थी जिसके बाहर दो मोटे गुदाज़ भगोष्ठ खड़े थे. अनायास ही शेखर के हाथ उठने लगे और उसने सामने खड़ी धारा के शरीर का स्पर्श पाने की लालसा में धारा की तरफ़ हाथ बढ़ाया.

मैं तो हर वक्त बस यही सोचता रहता था कि आखिर ये भाबी बिना सेक्स के इतने इतने दिन तक कैसे रहती होंगी.

मैं झट से लेट गया और उसने थोड़ा सा तेल हाथ में लिया और टॉवेल ऊपर करके लंड के पास लगाने लगी. अब लकी मुझसे गिड़गिड़ाने लगा और कहने लगा- इसको डिलीट कर दो … किसी को मत दिखाना. फरियाल ने मुझे गले से लगाते हुए कहा- पंकज, अगली बार तुम बस मेरी चूत ही चोदना, गांड नहीं.

सेक्सी वीडियो अच्छा वाला चाहिए मेरे पति के दोस्त ने मेरी गांड मारी मेरे ही घर में! वो मेरी चूत दो तीन बार चोद चुके थे. मुझे इसमें भला क्या एतराज़ होता, बल्कि मुझे तो अंकल के साथ अकेले की सोचकर अन्दर से अच्छा लग रहा था.

हालांकि हॉस्पिटल पहुंचने से 15 या 20 मिनट पहले नीना ने डॉक्टर साहब को अपने आने की सूचना दे दी थी. जिसने अभी तक ना पढ़ी हो … वो पहले इन्हें जरूर पढ़ लें, ताकि इस सेक्स कहानी का पूरा मजा आए. कार सेक्स ऑन रोड से निपटने के बाद हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और वहां से रवाना हो गए.

उघडी झाव झावी

मयंक ने लंड को छेद पर फिर से लगाया और जोर से अन्दर की तरफ पेल दिया. काफ़ी देर तक धारा का कोई जवाब नहीं आने से शेखर एक मिश्रित से मनोभाव लेकर बिस्तर से उठा और अपनी बालकनी में टहलने लगा. वो बोलीं- मैं तुम पर भरोसा कर रही हूँ, तुम मेरी इज्जत का ख्याल रखना.

आप मेरी मेल आईडी पर मेल और कमेंट्स जरूर करें और बताएं कि यह फ्रेंड मॉम सेक्स कहानी आपको कैसे लगी?[emailprotected]फ्रेंड मॉम सेक्स कहानी जारी रहेगी. दरअसल मैंने उसे कामोत्तेजक क्रीम दी थी जिसे चूत के अन्दर लगाने से औरत चुदासी हो जाती है.

सैम अपनी कमर पर एक हाथ रखे हुए था और वो अपने दूसरे हाथ से मेरी मां का सर अपने लंड की तरफ दबा रहा था.

अनायास ही मेरी नजर पड़ गई, तो क्या देखती हूँ कि चाचा पूरे नंगे थे और चाची उनकी गोद में पूरी नंगी बैठी थीं. मैंने अपना हाथ उसकी जांघों पर रख दिया और बोला कि आप अकेली हो और अंकल भी आपको टाइम नहीं दे पाते, तो कोई दोस्त बना लो. फिर हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे और लम्बी लम्बी सांसें लेते हुए अपनी आंखें मूंद लीं.

उनकी बेटी के साथ खेलने जाता था और वो भी उसके साथ मेरा खेलना पसंद करती थीं. अब मैंने आव देखा ना ताव दबोच लिया उसे बिस्तर पर!पैंटी की स्ट्रिप एक तरफ की और डाल दिया पूरा लंड उसकी चूत में!तीन-चार झटकों में ही तमन्ना की चूत ने हथियार डाल दिये और वो लिपलॉक करती हुयी मेरे बदन से जोंक सी चिपक गयी. अब गौतम भी अपने दोनों हाथों से मेरे सर को पकड़कर मेरे मुँह को चोद रहा था.

मैं अपनी मां को काफी देर से चोद रहा था और लगातार झटके मारे जा रहा था.

बीएफ ब्लू सिनेमा: लंड का सुपारा छेद पर लगा था … जैसे ही छेद ने मुंह खोला … मैंने जोर से झटका लगा दिया. नमस्कार दोस्तो, मैं राज़ शर्मा हिन्दी सेक्स कहानी पर आपका स्वागत करता हूं.

मैंने किचन में जाते ही अंजू भाभी को पीछे से पकड़ लिया और उनको किस करने लगा. ज्योति उसकी तरफ मुँह फाड़े देख रही थी- तूने अपनी दीदी की चुदाई भी देख ली?स्नेहा- हां … और मैंने अपनी बुआ की बेटी की चूत भी कई बार देखी है. मैंने टेलर के पास कपड़ा लेकर जाने के लिए एक बहुत ढीली टी-शर्ट बिना ब्रा के पहनी और नीचे स्कर्ट बिना पैंटी के पहन ली.

मैं लण्ड अंदर डाले फ़लक के ऊपर लेटा रहा और जगह जगह से फ़लक को चूमता रहा.

’थोड़ी देर और उसकी चूत को चाटने के बाद जब उसकी चूत पूरी तरह से पानी से गीली हो गई. अभी दो मिनट ही हुए होंगे कि अचानक से मॉम डैड के बात करते हुए अन्दर आने की आवाज आई. तभी चंचल ने मुझे दुबारा कॉल किया- क्या आप अभी मेरे पास आ सकते हो?मैंने पूछा- कहां और क्यों?चंचल ने कहा- आपको चोदना था न?मैंने ‘हां.