एक्स सी बीएफ

छवि स्रोत,xxx.iii वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी सेक्सी बीपी बीएफ: एक्स सी बीएफ, पापा की नजरें साफ़ बता रही थीं कि मानो वो मम्मी को वहीं कच्चा चबा कर खा जाने के मूड में थे.

देवर भाभी के सेक्सी विडियो

मैं- लेकिन भाभी, मेरे आगे के दिन कैसे कटेंगे?भाभी- अरे कौन सा जंगल में रहने जा रहे हो. बोतल बीएफबाहर आकर मैं किचन में गया और कविता को पीछे से अपनी बांहों में भर लिया.

पर वह किसी तरह उसको शांत रखने की कोशिश कर रहा था यह सोचकर कि वो ज्योति के साथ रात को उसके कमरे में घंटों बैठकर उसको पढ़ाया करेगा और उसके कली जैसे बदन को नहारा करेगा. एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीपी पिक्चररोमा आंटी भी मुझे बहुत मानती थीं क्योंकि मैं उनसे बहुत खूब हिलमिल गया था.

मेरा फिगर देख कर हैरी नाम का वो अफ्रीकन पागल हो गया था जिसने मुझे मनाली के होटल में सारी रात में कई बार चोदा था.एक्स सी बीएफ: फहीमा की इतनी बेहतरीन चुदाई के दौर के बाद गहरी नींद में मुझे सपने भी फहीमा के ही आ रहे थे.

ये कह कर आंटी ने मेरे लंड को अपनी चूत के छेद पर सैट किया और बोलीं- धक्का मार!मैं भी उनकी आज्ञा का पालन करता जा रहा था.नीचे से नंगी।आसपास खड़े सभी लड़के मुझ नंगी अप्सरा के साथ नाचने लगे.

पूरी नंगी लड़कियां - एक्स सी बीएफ

मैं उसके साथ चुद कर एकदम से थक गई थी और लगातार लंड पेलने के कारण वो भी हांफने लगा था.शादी से पहले भी और शादी के बाद मैं अपनी सेक्स लाइफ से ज्यादा संतुष्ट नहीं थी.

मैंने कहा- कोई बात नहीं, तुम्हें इस मौसम में ऐसे नहीं छोड़ सकता, तुम्हारा बॉयफ्रेंड लेने आ रहा हो तो कोई बात नहीं है. एक्स सी बीएफ मैं अनजान बन कर बोला- किससे करवा दूँ, लड़का कौन है?तब अम्मी ने कार्तिक और अनुपम के बारे में बताया.

मैंने मंजू से पूछा कि रोहित ने कौन सी गोली खाई?वह बोली कि उसने वियाग्रा की टैबलेट खा ली है, अब वह रात भर चुदाई करेगा.

एक्स सी बीएफ?

उस रात उसे एक बार चोदने के बाद मैंने उसे उस रात और नहीं चोदा क्योंकि मैं उसके साथ कई दिन मजे लेना चाहता था. ” ऐसा मैंने उसको इशारे से समझा दिया।मेरे इशारे को समझकर वह कमरे में चली गयी और दरवाजा बंद कर लिया।मैं भी दबे पाँव वहाँ से निकल लिया।दूसरे दिन सुबह सबेरे ही रूपा मेरे कमरे में आ गयी।कल तुमने कुछ देखा क्या?” उसने पूछा।हाँ!” मैंने गर्दन हिलाते हुये कहा।किसी से कहोगे तो नहीं?” उसने तसल्ली करने के लिये पूछा।नहीं, भला दोस्तों के भी राज किसी को बताये जाते हैं. अब मैंने उसकी किस करनी शुरू की और अपने होंठों से उसके होंठों को जकड़ लिया.

मुझे भी उसकी तेज आहों और उत्तेजना से चिल्लाने में बहुत मजा आ रहा था. फिर पापा ने मम्मी के ब्लाउज के ऊपर के दो बटन को खोल दिया और अपने दोनों हाथों से मम्मी के कंधे के नीचे ले गए. फिर मैंने उसकी कैपरी उतार दी और उसकी मक्खन जैसी चिकनी और दूध सी गोरी सुडौल जांघों को चाटने लगा.

मेरा लंड फिर से तन गया और मैंने सोते हुए उनकी चूत में लंड डाल दिया और वो एकदम से उठ गईं. दीपक दरियादिली दिखाते हुए मेरे आगे आ गए ताकि मैं अपने कपड़े ठीक कर सकूं।ऐसा लग रहा था जैसे वो किसी अलग ही सोच में ये सब कर रहे हैं. सवारी को छोड़ने के बाद मैंने घर जाना ही उचित समझा क्योंकि शाम ढल चुकी थी और अंधेरा होने लगा था.

ज्योति- ऐसा क्या है मेरी आवाज़ में?मैं- एकदम लंड खड़ा कर देती है आपकी आवाज़!जैसे कि मैंने बताया हम पहले से ही बहुत खुल चुके थे और ऐसे लंड चूत शब्द का इस्तेमाल बहुत आसानी से एक दूसरे के साथ करते थे और फ़ोन सेक्स भी कर लेते थे. यह XX आंटी चुदाई कहानी शुरू के दिनों की है जब मैं चुदाई का धीरे-धीरे आदी होता जा रहा था.

जब मैं नमन भैया को खाना देने के लिए नीचे झुकी तो भैया की नजर सीधे मेरी गोरी चूचियों पर ही टिक गई थीं.

भाभी का बदन बिल्कुल चिकना गोरा और ऐसा था कि जहां पकड़ो, वहीं लाल हो जाए.

दोनों मादक भाव से चीख रही थीं ‘आआह आआह … उईई …’मैंने आज पहली बार अपनी बहन को दो लंड एक साथ लेते देखा था. चूंकि हमारा मोबाइल उसके आगे पड़ा हुआ था तो मैंने अपने हाथ उनकी बाजू के नीचे से निकलता था. पापा को देखकर मम्मी ने बहुत खुशी से उनका स्वागत किया और उनके पैर छूने के लिए नीचे झुकीं तो उनकी साड़ी का पल्लू नीचे गिर गया और उनके आधे से अधिक दूध बाहर दिखने लगे.

वो बोली- फिर क्या कहा था, तू बोल?मैंने कहा- तूने कहा था कि तेरे में कौन से कांटे लगे हैं, जो मैं तुझे झेल नहीं पाऊंगी. बाथरूम में जैसे ही मैं पेशाब करने के लिए बैठी, मेरी चूत से तेज धार निकल पड़ी. एक बार बीच में रिंकी बीमार हो गई तो उसकी मम्मी ने यानि मेरी काकड़ी ने मुझसे बोला- तू चला जा और उसको गाड़ी में बिठा देना.

वो मेरे बूब्स के निप्पलों को जोर जोर से मींजने और काटने लगा, इससे मुझे दर्द भी हो रहा था.

कुछ देर बाद उन्होंने मेरी चूत के नीचे से हाथ डाला और मुझे उठाकर बिस्तर पर लेटा दिया. उनका लंड पूरी तरह से ढीला पड़ गया था, मैं उसे फिर से खड़ा करने की कोशिश करती हुई जोर जोर से हिलाने लगी. मैंने भी अब शर्म छोड़ दी और उसके लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर घिसने लगी.

मैं अपनी जीभ से जोर जोर से किसी पागल कुत्ते की तरह उसकी गांड चाट रहा था. फिर कुछ और चीजें घटित हुईं, जिनकी वजह से चाची के प्रति मेरी सोच बदलती गयी और वासना बढ़ती गयी. उन्होंने मेरे गाल और होंठ किस करते हुए मेरे सीने पर अपने दहकते हुए होंठ रख दिए.

कुछ लोगों को यह कहानी थोड़ी उबाऊ लगी लेकिन आगे की कहानी को आकार देने के लिए वो ज़रूरी था।और बहुत से लोगों का ढेर सारा प्यार भी मिला जिसके लिए आप सभी का धन्यवाद.

मदन जी और मैंने मिलकर एक प्लान बनाया कि कैसे उन चारों से शादी की बात की जाए और शादी के बाद कैसे रहा जाए. मैंने गर्दन पर किस करते हुए अपनी निक्कर और अंडरवियर एक साथ अपनी टांगों से नीचे सरका दी और चाची की साड़ी पेटीकोट कमर से उठा दी.

एक्स सी बीएफ फिर हमने एक दूसरे को खूब रगड़ रगड़ कर नहलाया और फिर जाकर बिस्तर पर ऐसे ही नंगी सो गयी।लेस्बियन सिस डर्टी मस्ती पर अपने विचार अवश्य बताएं. आंटी की चूत से जितना पानी पहले से निकला हुआ था, मैं उस सबको अपनी जीभ से चाट कर साफ़ कर रहा था.

एक्स सी बीएफ मैंने उसकी गीली चूत में अपना लंड पूरा एक बार में डाल दिया और चोदने लगा. उसके बाद मैंने उसे घोड़ी बना दिया और अपने लंड पर बहुत सारा थूक लगा दिया.

उसके बाद मैंने अपना सारा पानी उसकी चूत में डाल दिया और उसके ऊपर ही गिर गया.

हिंदी वीडियो एक्स एक्स एक्स

मैं अपनी जीभ से जोर जोर से किसी पागल कुत्ते की तरह उसकी गांड चाट रहा था. कुछ देर बाद मम्मी मेरे रूम में आईं और उन्होंने दूध का खाली ग्लास उठाया और मुझे चैक किया कि मैं सोया हूँ या नहीं. वो बोलीं- मेरी अभी सही से चुदाई ही कहां हुई है, जो ये ढीली हो जाती.

मैंने देखा कि उनकी वाइट पैंटी चॉकलेट वाली आइसक्रीम से एकदम चॉकलेट रंग की हो गई थी. उनका नाम रूबी (बदला हुआ नाम) था और वह अभी 24 साल की ही थीं मतलब मुझसे केवल 3 साल बड़ी थीं. मेरे चाचा ट्रांसपोर्ट का काम करते हैं, इसलिए वो काम के सिलसिले में अधिकतर बाहर रहते हैं.

मैंने मन में सोचा आज इसके गाल पर मजाक मजाक में चुम्मी लेकर ही रहूँगा.

वो बनियान इतने गहरे गले की थी कि उसके मम्मों के बीच की खाई साफ़ दिख रही थी; नीचे नाभि भी दिख रही थी. सोनल ज़िन्दगी के मजे लेना चाहती थी इसलिए उसने अपना एक ब्वॉयफ्रेंड बना लिया था. फिर उसने वो डिलडो अपनी चूत के ऊपर बेल्ट से ऐसे लगा लिया जैसे आयेशा को सच में लंड हो.

मैंने महसूस किया कि अब उसका नशा मस्ती में बदल गया था और वो मुझे एक माल समझ कर चोदने की तैयारी में आ गया था. अचानक से मुझे अन्दर देखकर दोनों जल्दी से अलग हो गए और प्रिया ने अपने बदन पर चादर ढक ली. मुझे पता था कि ये चिल्लाएगी जरूर … इसलिए मैंने चुत फक़ से पहले उसकी दोनों चूचियाँ पकड़ीं और मुँह पर मुँह के करीब लगा कर लंड का जोरदार धक्का लगा दिया.

यह हॉट मामी Xxx स्टोरी मेरी और मेरी मामी मनीषा की चुदाई की कहानी है. मैं जोर जोर से उसके दोनों दूध को मसल रहा था और अब उसे थोड़ी तकलीफ भी हो रही थी.

लक्की ने मेरा नंबर लिया और कहा- मैं फोन करूंगी … तो आओगे ना?मैंने कहा- जी हाँ!वो बोली- तो बस आते रहना!फिर मैं अपने घर आ गया. आप चैक कर लीजिए, आप कैसे चैक करेंगे?मैं बोला- चैक करने के लिए तुम्हें अपने कपड़े तो निकालने ही पड़ेंगे. फिर मैंने उससे कहा- शादी के बाद तुम मेरे साथ रहने के लिए एक अलग फ्लैट में रहना.

फार्महाउस शहर के बाहर सुनसान में स्थित है और लगभग चार किलोमीटर का रास्ता एकदम सुनसान था.

हालांकि ऐसे सेक्स में मुझे भी मज़ा आता है तो मैंने भी ज्यादा विरोध नहीं किया. रोहित यह देखकर बोला- अब मुझे समझ में आया कि दरवाजा खोलने में इतनी देर क्यों लग रही थी. वो निढाल होकर विकास के ऊपर गिर गई लेकिन विकास ने अभी भी उसकी चूत की चुसाई करना नहीं छोड़ा.

विकास और ज्यादा खुलता जा रहा था और नेहा उसकी बातें ध्यान से सुन रही थी. मैंने उसकी कोशिश देखते हुए उसके चेहरे पर हाथ लगाया और कंधे पर रख दिया.

अंकुश हामी भरता हुआ खड़ा हो गया और उसने मेरे हाथ में अपना लंड फिर से थमा दिया. मैं- यदि तुम सबकी यही राय है, तो मैं अपने पतियों की इच्छा पूरी करूंगी. इसलिए भाभी ने वाइब्रेटर अपनी चूत में डाल लिया और खुद भी लेट कर पिंकी भाभी के निप्पल चाटने लगीं.

ট্রিপল এক্স বিপি ভিডিও

वो बोला- तू नाम बता उस मादरचोद का … जिसकी वजह से हमारी गांड मारी जाएगी.

ये बोल कर वो जोर जोर से मेरे लंड पर कूदने लगी ताकि मैं जल्दी झड़ जाऊं. हाफ गर्लफ्रेंड का अनुभव ही मिला मुझे … मेरी कोई गर्लफ्रेंड ऐसी नहीं रही जिसके साथ मैं सेक्स कर पाया. फ्री में चुदाई की कहानी में होली वाले दिन कॉलोनी के सारे जवान लड़के लड़कियों ने मिल कर होली खेली, मस्ती की, फिर खुली चुदाई का खेल खेला.

अब अम्मी की गांड में लंड सटासट चलने लगा था तो अम्मी भी मजे लेकर अपनी गांड मरवा रही थीं ‘आआह … ओओह …’बाबा ने लगभग 10 मिनट तक अम्मी की गांड मारी. फ्री सेक्स पोर्न कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने जानदार लंड से अपने बेटे की साली को चोद कर मजा दिया. हिंदी बीएफ फिल्म हिंदीउसके मम्मे अभी भी मेरी छातियों के नीचे ही दबे हुए थे।हम दोनों को इस स्थिति में देखकर रोहित भी मज़े ले रहा था।मैंने रोहित को उसके पीछे आकर उसके कन्धों को पकड़ कर उसे धीरे धीरे पीछे करने को बोला.

उसकी संगमरमर सी चिकनी कोमल टांगें इतनी मस्त थीं कि क्या बताऊं दोस्तो!मैं उसकी टांगों पर हाथ फेर रहा था. उसने मुझे नमस्कार किया और मैंने उसके सर पर हाथ रखते हुए उसे आशीर्वाद दिया और बरबस ही अपना हाथ उसके सर से ले जाकर उसकी पीठ पर रख दिया.

ज्योति- वाओ मेरे राजा … मेरी जवानी के सरताज … आज फुल डर्टी कर के चोद ले साले!मैं- हाँ मेरी रानी … ये देख हसीना … तेरी गांड तक नंगी होने लगी है अब … देख तेरी पैंटी उतार रहा हूँ तेरे चूतड़ों से!ज्योति- हाँ ले उतार यार … कर दे मुझे अल्फ नंगी आज … चूस ले अपनी जान की जवानी … ले … आह्ह. मैं अपने कमरे में और प्रिया को हमने गेस्ट रूम में कमरा दिया हुआ था जो कि थोड़ा अलग बना हुआ है. लेकिन पापा बोले- अरे वो क्या देगी, अभी 2 दिन पहले ही मैंने उधार दिए हुए 5000 रुपए मांगे थे लेकिन गुस्सा करके बहस करने लग गई और फिर बड़ी मुश्किल में 3000 दिए.

मेरा पूरा जिस्म पसीने से भीग गया था और मेरी सांस तेज रफ्तार में चल रही थी; दोनों दूध सांस के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे. दोस्तो, मैं फेहमिना इकबाल एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. ऐसा लगा कि अब और देर नहीं रुक पाऊंगी।धीरज चोदने के खेल में दीपक से ज्यादा माहिर था, वो योनि के हर हिस्से का सही इस्तेमाल जानता था।सर गांड मार ली आपने?” धीरज ने मुझे चोदते हुए हांफते हुए से दीपक से पूछा.

अब आगे हॉट मेड Xxx कहानी:फिर मुझे मौका मिल गया और मेरी सास की तबीयत खराब होने के कारण मेरी बीवी कुछ दिनों के लिए अपने मायके जाने वाली थी.

रिया ने कहा- बहनचोद पागल है, अगर इससे उनकी गांड मारी तो डिल्डो गांड में जाएगा, मगर आंखों की गोटियां बाहर आ जाएंगी. ये जान कर न जाने क्यों मेरे दिल को बहुत खुशी हुई कि प्रिया हमारे घर कुछ दिन रहेगी.

वो लड़की उनके सामने तो बिल्कुल कमसिन उम्र की लड़की ही थी लेकिन दिखने में किसी हीरोइन से कम नहीं थी. मैंने बाथरूम में जाकर अपनी गांड में पिचकारी से पानी भरा और निकाल दिया. मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी ये बिग लंड की सेक्स कहानी बहुत पसंद आएगी.

उसी समय मेरी नजरें फिर से आसिफा से मिलीं तो आसिफा ने सिर हिलाते हुए इशारा किया कि मैं जो कर रहा हूँ, करता रहूँ. अब आगे गर्ल गर्ल सेक्स कहानी:अगली सुबह 10 बजे मेरी आंख खुली तो सब सो रहे थे. ये सफ़र मैंने उसके शरीर को चूमते और चाटते हुए चूत के पास अपना मुँह लगा कर पूरा किया.

एक्स सी बीएफ वो बोलीं भी कि सच में किसी लड़की को नहीं चोदे होगे तुम?फिर उन्होंने मेरी बनियान निकलवा कर अपनी साड़ी कमर तक कर ली और मेरे सीने पर लेट कर अपनी चूचियां मेरी छाती पर रगड़ने लगीं. मैं- हसीन चूत की हसीना … देख मेरे होंठ तेरी चूत को चुम्बन कर रहे हैं … देख मैं अपनी जीभ डाल रहा हूँ तेरी फुद्दी में … अब मेरी जीभ तेरी चूत में है … और अपनी चूत का रस निकाल मेरी जीभ पर … साली … चुदवा ले आज अपने यार से … ले हुस्न की मलिका और चूत की रानी.

सेक्सी नंगी देसी

मैं उसे देख उत्तेजित हो उठा और मैं सोचने लगा कि इसकी चूत चोदने को मिल जाए!हैलो फ्रेंड्स, मेरे पड़ोस में मेरा एक दोस्त रहता था. मैंने एक दिन अलफिया से मिलने का कहा तो अलफिया ने कहा- ठीक है, शनिवार को 11 बजे मिलते हैं. व्हिस्की पीते समय सुनील ने गुलाम वाला का वीडियो लगाया, उसमें गुलाम की नीलामी होती है.

मैं लगभग 15 मिनट तक चूत में पानी मारती रही, फिर जब मुझे शांति मिली तो मैंने मन ही मन सोच लिया कि इस मोहित की तो मैंने माँ चोद देनी है. चुदाई की समस्या के अलावा मुझे बच्चा नहीं हो रहा था तो मैंने और मीहांक ने एक फर्टिलिटी क्लिनिक में अपना टेस्ट करवाया. सेक्सी हिंदूमजे की अधिकता ने अपना रूप दिखाना शुरू किया तो नेहा विकास से कहने लगी- आंह फाड़ दो मेरी बुर को ….

उसने होंठ छुड़ा कर कहा- मुझे चिल्लाने तो दो … रोने दो, तुम अपना काम करो … आज रहम नहीं, मुझे सजा चाहिए है.

यहाँ क्या हो रहा है?सविता यह पता लगाने का बीड़ा उठाती है कि कि ये जुड़वां भाई अब बेचारी मासूम शोभा के साथ कौन सा नया खेल खेल रहे हैं।इस रहस्य का परिणाम जानने के लिए देखें सविता भाभी एपिसोड 24 का वीडियो।. वो आई तो मैंने उसे अपनी बांहों में कस लिया और हग किया; उसके होंठों को अपने होंठों से चूम लिया.

उसने लाल साड़ी पहनी हुई थी और सफेद रंग का ब्लाऊज पहना हुआ था।उस छोटे ब्लाऊज की वजह से उसकी चूचियां साफ़–साफ़ दिख रही थी जिसकी वजह से एक लकीर सी उसके सीने पर दिख रही थी।उसकी कमर के टायर भी दिख रहे थे।ऐसी सेक्सी औरत को देख कर मेरा लन्ड खड़ा हो गया था पर हाथ में फाइल होने की वजह से वह दिख नहीं रहा था।उसे देख कर मेरे अंदर उसके प्रति गंदे विचार आने लगे. वो कहते हैं ना कि कोई भी कहानी की शुरुआत के लिए किरदारों के इर्द गिर्द छोटे से छोटा कारण भी बहुत मायने रखता है. रिया ने उत्सुकतावश पूछा- कौन सा गेम?मैंने कहा- ट्रुथ या डेयर खेलते हैं.

गुरबचन जी ने एक हवलदार को बुलाया और उससे बोला- साहब को बैठाओ और चाय पानी करवाओ … और ये अन्दर आना चाहे, तो उसे रोकना मत.

इसलिए मैंने मन बना लिया और हैरी के बताए हुए रूम नम्बर में जाने का फैसला कर लिया. मैंने लंड उसके मुँह में डाला और अन्दर तक पेल कर हिलाया, मेरा लंड उसके गले में चलता हुआ दिखने लगा. थोड़ी ही देर में उसका लंड एकदम से लोहे जैसा सख्त हो गया और वो मदांध हाथी सा चिंघाड़ता हुआ मेरी चूत में झड़ने लगा.

देहाती मोटीजब तक उसका पति नहीं आया, हम दोनों एक दूसरे के जिस्म से खेलते रहे और चूमाचाटी करते रहे. स्कार्पियो की सारी खिड़कियां खुली हुई थीं, सो मैं टहलते हुए दरवाजे के पास पहुंचा.

ऑंटी सेक्स व्हिडीओ एचडी

मैंने उसे बिस्तर पर पेट के बल लेटा दिया और उसकी दोनों टांगें फैला दीं. मुझे देख वो हल्के से मुस्कुराई और बोली- कुछ देर रुकिए, मैं नाश्ता लेकर आती हूँ. मदन जी बोले- संजय, तुम मेरे साथ पुणे चलो, सब्जी की दुकान में मेरी मदद करो.

” उन्होंने सामूहिक चुदाई का जिक्र किए बगैर मेरा चेहरा पढ़ते हुए कहा।मैंने भी बातचीत को खराब ना करते हुए मुस्कुरा के कहा- जी, एक्सक्यूज मी … मैं कुछ खा कर आती हूं, आप कुछ लेंगे?नही, नहीं तुम खाओ, सुबह से तुमने कुछ खाया कहां है, तुम्हारे भांग के नशे में रोशनी ने तुम्हें कमरे में ले जाकर सुला दिया था. पन्नी के जरा से खुले होने से मेरी नजर उसके घर पर पड़ी, तो नजारा देख कर मजा आ गया. उसकी कुंवारी बुर में लंड कैसे घुसा?हैलो फ्रेंड्स, मैं रॉकी आपको लूडो के खेल से चुदाई के खेल वाली मादक सेक्स कहानी सुना रहा था.

मैं समझ गया कि आंटी का मन तो है मगर उन्हें अहसास नहीं है कि मेरा मूड क्या है. आज पहली बार कोई औरत मेरा लंड चूस रही थी और मैं किसी भी टाइम झड़ सकता था. वो बोली- चलो मेरे रूम पर चलते हैं, मेरी कजिन भी गाँव गयी है, कल सुबह वापस आएगी!अब मेरे तो मन की मुराद ‘देसी गर्लफ्रेंड फक़’ पूरी हो रही थी, मैंने तुरंत हामी भर दी और कहा- चलो, तो पहले सामान ले लेते हैं.

आज की सेक्स कहानी का पूरा मजा लेने के लिए आप सभी को मेरी पिछली कहानीअम्मी ने मेरी बहन की चूत चुदवा कर रण्डी बनायापढ़नी होगी, तब ही आज की इस फॅमिली रंडी सेक्स कहानी के मजे ले पाओगे. वो कहते हैं ना कि कोई भी कहानी की शुरुआत के लिए किरदारों के इर्द गिर्द छोटे से छोटा कारण भी बहुत मायने रखता है.

फिर वो नीचे हुए और मेरे पैरों के पास बैठकर मेरे दोनों घुटनों को पकड़कर एक झटके में फैला दिया.

जैसे ही मैंने उसकी पैंटी को ऊपर से उतारा, उसने हाथ छुड़ाते हुए कहा- नहीं वहां कुछ नहीं करना. भाभी जी की नंगी फोटोजिससे हम दोनों की वासना जोर पकड़ने लगी थी और हम दोनों में वासना इस तरह से जाग गई थी कि अब बस एक लंड मिल जाता, तो मजा ही आ जाता. प्रीति जिंटा का बीएफधीरे धीरे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने उन्हें सीधा लेटा दिया. अब मैंने अपने लंड में भी बहुत सारा शैम्पू लगा लिया और संजना की गांड में दुबारा से शैम्पू भर दिया.

पहले उसने थोड़ा विरोध किया पर फिर उसको भी मजा आने लगा तो वो भी मुझे सहलाने लगी.

उसी वक़्त मेरी नजर एक लड़की पर पड़ी जिसने हल्के नीले रंग की साड़ी पहनी हुई थी. वो मेरी कच्छी के ऊपर से मेरी चूत की फांक पर हल्की हल्की उंगली फिरा रही थी जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. बाद में जब मैं चरम सीमा पर आ गया तो मैंने अपनी स्पीड शताब्दी एक्सप्रेस के जैसी बढ़ाई और उनकी चूत में पूरा लंड पेलने लगा.

आपको मैंने पिछली सेक्स कहानीमेरी बीवी की ताबड़तोड़ चुदाईमें बताया था कि पुलिस अधिकारी गुरबचन जी अपने दो साथियों के साथ मेरी बीवी को चोदने मेरे घर आ गए थे. जबकि मैं जब नहाकर निकलता था तब एक गमछा कमर में और दूसरा गमछा अपनी छाती पर लपेटकर ऐसे निकलता था, जैसे मैं मदन जी से अपने स्तन छुपा रहा हूँ. बीच बीच में वो ‘ओह समीर … उफ़्फ़ आह ऊहह … अम्मी मर गई …’ जैसी आवाजें निकालती, जिससे मेरी उत्तेजना और बढ़ जाती.

इंग्लिश पिक्चर नंगी सेक्सी

तभी मैंने एक झटका दिया और आधे से ज्यादा लंड उसके मुँह में पेल दिया. लेकिन हम दोनों काफी थकी हुई थीं, तो हमने ज्यादा कुछ नहीं किया और जाकर सो गईं. मैं बेवकूफ, चुदाई को जितना समझता था, उतने से अंदाजा लगाया कि मेरे मोटे लंड की वजह से चाची को दर्द हो रहा है.

मदन जी ने मेरे होंठ चूम लिए और धीरे धीरे मेरी गांड की चुदाई करने लगा.

[emailprotected]लेस्बियन्ज़ लव कहानी का अगला भाग:भतीजी के घर में घमासान- 2.

आपको गोदी में बैठा देख कर भी तो कोई कुछ कह सकता है, तो गुब्बारे से खेलने में कोई क्या कहेगा. दोस्तो, एक औरत जब अपनी चुदाई की मस्ती में आ जाती है तो वो मर्द की हर गाली को, उसके हर मर्दाना काम को बड़ी ख़ुशी से लेती है. जानवर और लेडीस का बीएफमैं पहले भी अपने पति के साथ व्हिस्की पीती रही हूँ तो कोई दिक्कत नहीं थी.

मैं उसे बाहर लेकर आई और रिया और आयेशा को भी उठाया और उन्हें चलने को बोला. मैंने अपना लंड उनकी चूत से निकाला और अपनी तीन उंगली डाल के चूत चोदने लगा ताकि उनको पता ना लगे कि मैं क्या करने वाला हूँ. मैं समझ गया कि लड़की की चूत से पानी निकलता है क्योंकि हो सकता है कि वो अपने बॉयफ्रेंड से फोन पर गर्म बातें करती हो या फोन पर कुछ गंदी वीडियो देखती हो.

मैंने उसकी दोनों टांगें हवा में उठा कर चूत में लंड अन्दर सरकाया और टांगों को अपने कंधों पर रखकर उसकी गर्दन पकड़ कर उसकी चुदाई की स्पीड तेज कर दी. इसी बीच मेरे हज़्बेंड की पोस्टिंग करीमनगर हो गयी जो हैदराबाद से 300 किलोमीटर की दूरी पर है.

इतने में मैंने देखा कि पुलकित ने रिया की चूत में लंड डालकर चुदाई करनी शुरू कर दी थी.

झड़ते वक़्त के आनन्द का बयान नहीं कर सकता दोस्तो!अब चुदाई का मजा मिलने लगा था. रात में दस बजे से चोदना चालू किया गया था और चोदते चोदते एक बज गया था. ’आकांक्षा तेज चोदने से मना भी कर रही थी लेकिन साथ में गांड उठा कर लंड के मज़े भी ले रही थी.

सेक्सी बीएफ बीपी एक दो बार मैंने लंड को चूत के बाहर दीवारों पर रगड़ा और हल्का सा अन्दर डाला. पहले दिन पिंकी अपने बच्चे को लेकर आई और अपने बच्चे को एक तरफ लिटा दिया.

वो धीरे धीरे सिसकारी भरने लगीं और फिर मामी ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी. मेरे सामने चिकनी नंगी पीठ दिखी और लंड को ढके हुए उनके नागिन से काले बाल. उस वक्त तो मैं बावला होकर उठ गया और उनको पटक कर उनकी कमर पर हल्का वजन देकर बैठ गया.

भोजपुरी बीयफ

फल सब्जी की दुकान से जो मुनाफा होता है, वह हम सातों में बराबर बंटता है. ज्योति कह रही थी- बस भी करो, कुछ नहीं होगा, मैं थकी हुई हूँ और जाकर सोना है मैंने तो! आप दोनों आपस में करते रहना जो भी करना है. उसकी सांसें थम गई थीं, जब मैंने अपनी गोटी उसके बिल्कुल दो घर पीछे रखी.

ऐश्वर्या राय जैसी आँखें और बड़े चूतड़ों में छिपी गांड मटका जब चलती है तो पीछे से मटकते चूतड़ देखकर पूरी सेक्सी लगती है. ध्यान रहे कि ये सब बातें मैं और ज्योति फोन पर कर रहे थे और उधर असलियत में रोहित ज्योति को चोद रहा था या नंगी करके चोदने वाला था.

मैंने ध्यान दिया कि केवल लंड के ऊपर ही हल्दी नहीं लगी थी, बल्कि टोपे के अन्दर भी हल्दी लगाई गई थी.

उसने अपने भाई की टी-शर्ट को फटाफट उतार दिया और पैंट का हुक खोल कर जांघिया समेत नीचे करने लगी. अपने भाई की इन सारी हरकतों का प्रत्युत्तर, नेहा बस उसका लंड चूसने से दे रही थी. [emailprotected]माँ की चुत की कहानी का अगला भाग:होटल में स्टेप मॉम की मस्त चुत चुदाई- 2.

क्रॉसड्रेसर ग्रुप सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं लड़की बन कर अपने छह चोदुओं से गांड मरवाती हूँ. तूने यहां आना क्यों छोड़ दिया है? पहले की तरह आया-जाया कर, मैं कुछ नहीं कहूँगी. वो उसे हाथ में लेकर मेरी पीठ और चूतड़ों पर मारते और मुँह खोलने को कहते.

गांड में उंगली डालते ही वो उत्तेजित होकर पलट गई,पलटते ही उसने गांड दीवार की तरफ अपना सिर ऊपर की ओर कर लिया और साथ ही वो जोर से चिल्लाई- ओह समीर क्या कर रहे हो … आज मुझे मार ही डालोगे क्या?मैंने कहा- नहीं मेरी जान, तुम अब तक चुदाई के जिस मजे से वंचित रही हो … मैं आज उसको पूरा कर रहा हूँ.

एक्स सी बीएफ: मगर चाची ने उसको हॉस्टल में रखा और हॉस्टल भी ऐसा कि बिना अनुमति कोई नहीं मिल सकता … और तो और कोई फोन भी नहीं रख सकता था. तो अंकल बोले- थोड़ी देर रुक जा कुतिया, तुझे मेरे लौड़े से बहुत मज़ा आएगा.

फिर अचानक उसने मुँह हटाया और बोली- आज तुम मेरी मांग भी भरोगे ताकि मैं सदा के लिए तुम्हारी बेगम बन जाऊं. मैंने संजना को पलट कर अपने ऊपर बैठा लिया और उसकी गांड में अपना लंड डाल दिया. मैं गाड़ी चलाते चलाते चोदने की कोशिश करूंगा क्योंकि इस रास्ते में गांव वाले आते जाते रहते हैं, रुकी गाड़ी में ये सब करना ठीक नहीं होगा.

चुदाई के साथ ही साथ आनन्द के मारे वो बड़बड़ाने भी लगी- आह उह … चोदो और जम कर चोदो नीत … आंह आज पूरा फाड़ कर रख दो … मेरी बुर का भोसड़ा बना दो.

आयेशा ने उसे धक्का देकर अपने से दूर कर दिया और कहा- भोसड़ी के, आज हम नहीं, तुम मरवाओगे. मगर अब मैंने सोच लिया था कि मुझे अपनी चचेरी बहन पावनी को चोदना ही है. मैं पवन की बहन यानि भाभी की ननद को चोदना चाहता था और उसके चक्कर में भाभी के पास आता जाता रहता था.