डॉक्टर नर्स का बीएफ

छवि स्रोत,कृष्णा मधु के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मौसी की चुदाई की सेक्सी: डॉक्टर नर्स का बीएफ, अब तू भी मुझे प्यार कर मेरे लंड को सहला, उससे खेल… क्योंकि आज के बाद तुझे उसी से सुकून मिलेगा.

समानता के सेक्सी वीडियो

ऋतु हाँफते हुए मुझे गाली देती हुई बोली- साआआअले बड़े मजे ले रहा था!वो शायद दोपहर वाली बात कर रही थी. मराठी इंडियन सेक्सी विडिओउफ़ सस्स बहुत जलन हो रही है।संजय- अरे अभी तो तेरी चुत में मेरा पूरा लंड गया था.

इस तरह तीन लड़कों ने एक साथ दो घंटों तक उसे तरह तरह से पोर्न फिल्म की स्टाइल में चोदा फिर अपना पानी भी उसके बालों में मुंह में चूत में गांड में सब जगह भर दिया. हिंदी सेक्सी देहाती बफसुमित ने उसके दोनों बोबे पकड़ कर दबा दिये और एक निपल को मुँह में लेकर चूसने लगा.

मॉंटी उसके पास जाकर बैठ गया, अब सुमन को समझ नहीं आ रहा था कि उसको कैसे कहें और क्या कहें.डॉक्टर नर्स का बीएफ: वो पैन्ट के ऊपर से ही मेरे लवड़े को मसलने लगी और मेरे पप्पू ने भी अपना आकार लेना शुरू कर दिया था.

बीस दिन बीत गए, अगले दिन मैडम उठ कर आवास पर गई होगी कि एक मरीज आ गया, मैं उसका नम्बर लगा कर उसे बैठा कर मैडम को बुलाने उसके आवास पर गया और सीधा मैडम के कमरे घुस गया.अब आगे:रोज की तरह अंगूरी रसोई में खाना बना रही थी, लेकिन आज थोड़ी परेशान दिख रही थी, शायद अम्माजी की बात को लेकर परेशान थी.

16 सेक्सी पिक्चर - डॉक्टर नर्स का बीएफ

मैं तो जब मिलता हूँ, हमेशा उसे लिप लॉक किस करके मिलता हूँ, क्योंकि वो दिखने में तो है ही सुन्दर, दूसरा अपने होंठों पे रेड कलर की लिपस्टिक के साथ कातिलाना मुस्कान रखती है.अपने बन्दों की नुमाइश के लिए कभी गुलफाम कली उनके पास भी जाती तब वे लोग उसकी चूचियों को ऊपर से ही दबा कर आनन्द प्राप्त कर लेते थे.

मेरी नोन वेज स्टोरी में आपने पढ़ा कि मेरा यार हम दोनों सहेलियों का लेस्बियन सेक्स देख रहा था. डॉक्टर नर्स का बीएफ उधर मैडम सिसिया रही थीं- उम्म… ऊं… ऊं… आई… ई ई सी… सी उफ़… उफ़ हाई… मजा आ रहा है!मैडम को अब चुदाई का भुत सवार हो गया था उसको चुदाई में खूब मजा आ रहा था, वो लगातार बड़बड़ाए जा रही थीं- ‘ऊइई… उफ्फ… हईही… जोर से अशोक… और जोर से… बहुत मजा आ रहा है.

आज पहली बार उसने कैपरी और टीशर्ट पहनी थी… खुले बालों में वो बहुत खूबसूरत लग रही थी.

डॉक्टर नर्स का बीएफ?

वो सिहर उठी और मेरे गालों पर हाथ फेरते हुए अपने चुचे को दबाने लगी- आआहहह… ऊऊऊ उफ़…मैंने चाटना जारी रखा. फक मोर!’ नताशा एक मंजी हुई पोर्न एक्ट्रेस की तरह चेहरे पर एकदम नेचुरल भाव लाकर चिल्ला रहा थी!‘चलो अब दोनों के लंड एक साथ चूसो!’ झड़ने से बचने की खातिर लड़कों ने थोड़ी देर को चुदाई रोक दी और रुस्लान ने नताशा का सिर पकड़ कर आज्ञा दी. मेरा होश जाने लगा, उसने मुझे सम्हाला और मेरी ब्रा और पेंटी भी उतार दी और मुझे वही पर उस स्लैब पर बैठा दिया जिस पर मैं खाना बना रही थी। और मेरे बूब्स को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

मैं उनको जोर-जोर से चूसने लगा।साला पहली बार इतने रसीले आम चूस रहा था. मेरे बदन से ठंडी लहर दौड़ गयी, सिहर गयी मैं… पूरी लगन से रिया मेरे निप्पल चूस रही थी, अपने दांतों से काट खा रही थी. चलिए आज मैं ही चाय बनाता हूँ।मैं किचन में चला गया। मैं चाय बनाने को बर्तन गैस पर रखा और मैंने जानबूझ कर कटोरी अपने ऊपर गिराते हुए चिल्लाया। मुझे भी दर्द हो रहा था.

उसने क्या किया, मैं नहीं जानती, मैं वैसे ही लेटी और सोई तो सीधी सुबह ही नींद खुली।अब कोमल सिर्फ सीनियर नहीं थी, अब वो मेरी बहुत अच्छी सहेली बन गई थी।कहानी जारी रहेगी. पर किसी भाभी को छेड़ने या चोदने के बारे में सोचने से इसलिए भी एक डर मन में होता था कि अगर पड़ोस में शोर मच गया तब तो सैम तू तो गया फिर तो जो तेरी गांड कुटाई होगी वो अलग और जो बेइज्जती होगी वो अलग!इसलिए यार, माल को दूर से देखो और अपने हाथ का इस्तेमाल करो, मैं इसी सिद्धान्त पर टिका रहा. मैंने उसकी चूत को ध्यान से देखा… बिल्कुल चिकनी, बिना बाल की, लगता था आज ही उसने सफाई की हो.

जैसे ही पूजा ने लंड अपनी चूत से निकाला, तो उसने देखा कि मेरे लंड और उसकी चूत पर ढेर सारा खून लगा था जिसे देख वो डर गई. अचानक रोड पर लगे जाखोद खेड़ा गांव का साइन बोर्ड देखकर मैंने सोचा हम पहुंचने वाले हैं और मैं खुश हो गया.

मानसी- जो मज़ा तुम्हारी हालत पतली करने में आ रहा है, वो और किसी चीज़ में नहीं आ सकता जस्सी!मैं- तुमने अभी तक लंड का मज़ा नहीं भोगा इसलिए ऐसे कह रही हो.

मैंने पूछा- क्यों?तो उन्होंने कहा- अब क्या बताऊँ?मैंने बोला- कोई बात नहीं.

उसने अपने चूतड़ थोड़ा उठाए और मैंने जीन्स को निकाल दिया। अब वो ब्लैक कलर को पेंटी में बड़ी ही खूबसूरत लग रही थी। मैंने ऊपर से उसकी चुत के ऊपर हाथ फेरा. वो तो जैसे तैयार ही बैठी थी मेरा फोन सुनने के लिये… ‘हाय अंकल जी, जल्दी से आ जाओ अब!’‘अरे आ तो गया ही हूँ लेकिन आना कहाँ है, भोपाल तो मैं पहली बार आया हूँ मुझे यहाँ का कुछ नहीं पता!’‘अंकल जी, आप एक नंबर प्लेटफोर्म के बाईं तरफ वाले गेट से बाहर आ जाओ, फिर किसी ऑटो वाले से मेरी बात कराओ, मैं उसे समझा दूंगी कि कहाँ आना है. मैंने भी मुस्कुराते हुए अपना पायजामा नीचे गिरा दिया और अपना खड़ा हुआ लंड उसे दिखाया.

’ बोला और पूछा- कौन?उन्होंने बोला- मैं तान्या की सहेली शिवानी बोल रही हूँ. मैंने क्या किया? टीना ने तुझसे मजाक किया था तुम्हारी नींद पूरी हो गई होगी तब तू उठ गया. वो देखने में बहुत खूबसूरत थी, उसकी लंबाई थोड़ी कम थी लेकिन मस्त चूचियां और उठी हुई गांड बहुत सेक्सी थी.

जिस लड़की को में पिछले 4 साल से पक्का दोस्त मानता था, आज मेरे साथ वो सब कुछ बांट रही थी.

मित्रो समाचार यह है कि रेखा ने राजे की वाइफ किरण यानि जूसी को पटा लिया और दोनों लंड खोर बहनें अब एक दूसरी के सामने चुदाई करती हैं. मैंने रोका तो मान गए लेकिन फिर दोबारा कुछ चढ़ी तो मेरी गांड में ही पेल दिया. नीचे से एंड्रयू चिकनी-गुलाबी चूत चोदने में मस्त था जबकि पीछे से स्वान गांड के परखच्चे उड़ाने में!मेरी शानदार-सुन्दर बीवी को अलग-अलग छेदों में चल रही संगीतमय चुदाई में इतना मजा आ रहा था कि वो समय-2 पर मेरे लंड को मुंह से निकाल कर अपने गालों पर थपकाने लग गई थी!यह मुझे इतना उत्तेजित कर गया, कि मैंने स्वान को एंड्रयू के संग मिलकर चूत मारने का आदेश दिया.

उसने मुझे पीछे से गले लगा लिया।वे बोली- ठीक है मैं तैयार हूँ।दीदी की चुदाई की यह हिंदी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और जोर-जोर से चूमने लगा। मेरे होंठ उसके होंठों पर थे और मैं खूब जोर से उसे चूस रहा था। फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुँह के अन्दर डाल दी, पहले तो उसने मना किया. जब उसने मुझे अपनी चूत चाटते हुए देखा तो वो सब समझ गई और उसके मुंह से सिसकारियाँ निकलने लगी. मेरा मन कर रहा है… तुम्हारे इन जवानी के छोटे छोटे फूलों का रस पीने का… मेरे होंठ बहुत प्यासे हैं… तुम्हारे ये रस कूप बहुत ही रसीले हैं…’‘ले तो रहा है…ओर क्या… अब.

सेक्स में जबरदस्ती करके मजा नहीं आता पर कभी-कभी आप सही टाइम पे जबरदस्ती नहीं करोगे तो आपको जो सेक्स का मजा होता है, वो नहीं मिलेगा.

मैं अपने आप पर काबू नहीं कर पाई, मैंने अपने देवर को उत्तेजित करने के लिए मेरी आहें निकालनी शुरू कर दी और अपने देवर को कहना शुरू कर दिया- यस कॉम ऑन आदी… और तेज़ मेरी चुदाई करो! अपनी भाभी की चुत को आज फाड़ दो!मेरे ये शब्द सुनते ही मेरे देवर में जैसे एक ताकत सी आ गई हो, उसने अपनी पूरी स्पीड बढ़ा दी और मेरी जबरदस्त चुदाई की. मैं भी नीचे से ऊपर कमर उठा उठा कर उन्हें चोद रहा था, बहुत मजा आ रहा था.

डॉक्टर नर्स का बीएफ पर आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें।[emailprotected]मामाभानजी की चुदाईहोगी या नहीं, कहानी के अगले भाग में पढ़ें!. थोड़ी देर बाद एक 50 साल का आदमी मेघा के पास आकर उससे डांस के लिए बोला, मेघा ने भी ‘हाँ’ कर दी.

डॉक्टर नर्स का बीएफ तू रुक मैं अभी तेरी माँ को पटा कर आती हूँ।टीना जल्दी से बाहर गई और हेमा जी को एक झूठी कहानी सुना दी कि उनके कल टेस्ट हैं मगर ये बात अर्जेंट उसको पता लगी। अब उन दोनों ने तैयारी भी नहीं की है।हेमा- हे राम. वो छेद के पास खड़ी हुई अपनी बुर में डिल्डो अन्दर बाहर कर रही थी… बिल्कुल नंगी.

चलो, क्लास का टाइम हो गया है।टीना के बोलने के बाद साहिल और अजय उनके साथ चले गए और पीछे से संजय ने उन दोनों की क्लास ले ली।संजय- बहन के लंड.

सेक्सी पिक्चर के गाने वीडियो

तभी राजे ने हुम्म्म हुम्म्म हुम्म्म करके पूरी ताक़त से अंधाधुंध धक्के टिकाये. मेरा राज़ तो खुल चुका था इसलिए मैं दबी आवाज़ में बोला- चाची, आपको तो सब पता चल गया है अब आप से क्या छिपाना. मैंने गुस्से में उन्हें नीचे पटक कर टांगें फैला दीं और एकदम जोर से चुत को पीने लगा, उनकी आह निकल गई.

तभी धड़धड़ाती हुई रीना कमरे में दाखिल हुई और शिकायत भरे लहज़े में बोली- मम्मी… तुम भी न! क्या किये जा रही हो… मैंने संगीता को बोल दिया फूफाजी के लिए चाय और पापा के लिए कॉफ़ी बनाने के लिए!संगीता खाना बनाने वाली नौकरानी है. अब जल्दी से आकर मेरी प्यास बुझाइए ना।मैंने गुप्ता जी को संजना के पास जाने का इशारा किया और खुद एक कोने में चुपचाप बैठ गया। गुप्ता जी संजना के पास गए और बैठ गए और अपने कांपते होंठों को संजना के होंठों से सटा दिए। एकाएक संजना बोली- ये आपके होंठों को क्या हो गया. मैंने भी अपनी पैन्ट और चड्डी उतार दी और कीकू की चड्डी को अपने लंड पे लपेट लिया.

मेरे ओके बोलते ही वो अपने बेड पर घोड़ी बन गई और सलवार खोल कर उन्होंने अपनी गांड मेरी तरफ कर दी.

खैर मैंने चाची को बोला- हो गया, कपड़े ठीक कर लीजिए!और मैंने दवा सीमा के रूम में रख दी. और कहा- इस लंड से मेरी गांड चोदो!मैंने तुंरत ही अपने मांग रख दी- ये तो मेरे लिए है… मैं लूंगी इसे!‘ठीक है. ऐसा लगता है आज नींद पूरी हो गई, तभी आँख खुल गई और ये दीदी कौन है?टीना- हा हा हा देखा सुमन.

दोस्तो, मैं आपको बता दूँ कि चोदने का असली मजा तो शादीशुदा औरतों को चोदने में ही है क्योंकि उनका शरीर और मम्मे पूरे भरे जाते हैं. तो इससे अच्छा हम ही इसको बता देते हैं।टीना की बात सुनकर फ्लॉरा चौंक गई। उसने अपने मुँह पर हाथ लगा लिया था।साहिल- प्लीज़ यार टीना. हम दोनों एक-दूसरे के नंगे जिस्मों पर निढाल पड़े थे। जैसे ही टाइम देखा, तो जल्दी-जल्दी कपड़े पहने और वहाँ से निकल पड़े। वे दोनों पूरे रास्ते मेरे लंड को दबाते रहे.

शायद उसे भी पता था जिस बुर की खुशबू वो कई बार ले चुका है, आज उसमें जाने का वक़्त आ गया. वो मेरी चूत के छेद पर अपनी अंगुली को रखकर चूत के दोनों होंठों को हल्का सा सहलाकर बोली- इसमें जब पहली बार तुम्हारे पति का वो जायेगा तब उसको और तुमको बहुत मजा आयेगा.

मैं समझ गया कि अब उसे मजा आ रहा है, मैं भी देर किये बिना ही मैं उसे जोर-जोर से चोदने लगा. इतनी बात सुन कर तो मेरी हवा सरक गई, मेरी गांड फट गई… दिमाग ने काम करना बंद कर दिया. उसने पीटर का लंड छोड़ा और मेरी तरफ मुड़कर कहा- ये तो कहीं भाग नहीं रहा.

ऋषिका बेड से उतरी और बेल की तरह लिपट गई रयान से… रयान ने भी उसे जोर से भींच लिया.

आज मुझे बहुत काम है और हाँ कल सुबह आप आओगे तो आपके लिए एक सरप्राइज भी होगा. गोल, कड़ी और कसी चूची थी मैडम की… देख देख कर मेरा दिमाग खराब हो रहा था. मैंने साड़ी नीचे की, अबचाची के चूतड़थोड़े नंगे हो गए, चाची के चूतड़ एकदम गोरे थे, दूध जैसा उजला…मैंने रुई से चूतड़ पर रगड़ा और सूई चुभो दी.

बस सबसे पहले में उनकी नोकों को अपने होंठों के बीच दबाना चाहूँगा।साहिल- अबे चुप. ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लंड उसकी चूत की सिलाई को ही फाड़ कर रख देगा.

रोहित मेरे बूब्स बहुत जोर से दबा रहा था जिस वजह से मुझे दर्द होने लगा. कुछ देर चोदने के बाद मैंने लंड रस उसकी गांड में छोड़ दिया और मैं झड़ कर उसके ऊपर औंधा हो गया. और जैसे उसने कहा था, मैं प्लेटफोर्म से बाहर निकला और एक खाली ऑटो वाले से स्नेहा की बात कराई और बैठ कर निकल लिया.

मूवी हिंदी सेक्सी

शालू बोली- उसमें क्या करना होता है?मैंने कहा- उसमें तुम मेरी पत्नी बनोगी और मैं तेरा पति बनूंगा.

फिर उसने मुझे हस्त मैथुन के बारे में सब कुछ बताया, सेक्स क्या होता है, कैसे होता है, बच्चा कैसे होता है, पीरियड्स क्या होते हैं, सब समझाया, और ये भी बताया कि जब मेरे लुल्ले का दर्द बिल्कुल ठीक हो जाएगा, तब हम क्या क्या करेंगे. मेरी दोनों चुची और भी उभर कर मामा के मुँह में समा गयी, मामा जी का एक हाथ मेरी कमर को पकड़े था और दूसरा हाथ मेरी गांड के पीछे से मेरी चूत सहला रहा था, मुझे बहुत ही ज़्यादा मज़ा आने लगा था. मैंने कहा- मुझे बहुत मजा आया।तो वो बोला- इससे भी ज्यादा मजा चाहिए?मैंने ‘हाँ’ में सर हिला दिया तो वो बोला- सबसे ज्यादा मज़ा जब आता है जब मज़ा, सजा जैसे मिले।मैंने कहा- क्या मतलब?तो उसने एक जोरदार पंच मेरे बोबे पर मारा.

मल्लिका ए आलिया का हुक्म मतलब पत्थर पर लकीर, कोई किन्तु परन्तु की गुंजाइश ही नहीं. दोनों की पाव रोटी जैसी चूत पीछे को उभर आई और दोनों चूत एकदम क्लीन शेव और चिकनी. 2022 का न्यू सेक्सी वीडियोएक दिन दोपहर में मम्मी पड़ोस में गई हुई थीं और बहन कॉलेज का भी कॉलेज था तो कालेज में थी, सिर्फ मैं और पूजा ही घर पर थे पर पूजा उस समय सो रही थी.

और अपनी क्लास में जा।संजय- हम में से किसी एक को किस कर या वो सामने प्रिंसीपल मैम आ रही हैं तो उनको जोरदार थप्पड़ मार… अगर ये दोनों तेरे बस के नहीं तो तीसरा और लास्ट टास्क बहुत आसान है, रात को हम पार्टी करेंगे, उसमें शामिल हो जाओ! सिम्पल !फ्लॉरा ने थोड़ी देर सोचा फिर टीना के बारे में पूछा कि पार्टी में वो भी आएगी क्या?संजय- हाँ वो भी आएगी, डर मत सिंपल पार्टी होगी।फ्लॉरा- ओके, मैं पार्टी में आऊंगी. आप मुझे यहाँ लाए हो, अब जिसके लिए ये सब लिया है ये तो उसी को पता होगा ना।अनीता- किसके लिए शॉपिंग हो रही है.

मैं दूसरे दिन का इंतजार करने लगा और सुबह उनके पति के काम पर जाने के बाद मैं उनके फ्लैट पर जा पहुँचा. चूत में अभी से सुरसुराहट होने लगी और चुचुक में तेज़ी से बढ़ती हुई अकड़न का अनुभव होने लगा. मीना की बात सुनकर मोना के चेहरे पे अलग ही खुशी साफ नज़र आ रही थी, जिसे देख मीना भी मुस्कुरा दी.

सेक्स स्टोरी पढ़ता और धीरे-धीरे उसने मुझे भी साथ में मिला लिया। अब हम दोनों को लड़की चोदने का भूत सवार हो गया, मगर लड़की लाते कहाँ से, ये एक दिक्कत थी।मोना आराम से सुन रही थी मगर सुधीर इतना बोलकर चुप हो गया।मोना- अरे क्या हुआ आगे तो बोलो?सुधीर- सॉरी मैंने इतने गंदे शब्दों का यूज किया. जैसे ही उन्होंने संदीप को देखा, वे मुस्कुराए और तीनों आपस में एक-दूसरे को देखकर हंसने लगे. नमस्कारमोना रानी के शब्द समाप्ततो पाठक पाठिकाओ, आपने इस इंडियन चूत चुदाई कहानी में पढ़ा कि कैसे इस बदमाश मोनारानी ने अपने पति के सामने मुझसे चुदाई का सपना पूरा किया.

अब तो मैं आपकी हो ही गई हूँ जैसे चाहो करो मेरे साथ!’हम लोग ऐसे ही बातें कर रहे थे कि उसकी चूत सिकुड़ गई और मेरे लंड बाहर निकल गया.

मैं भाभी के होंठ को चूसने लगा और दस मिनट बाद भाभी गर्म हो गईं, उनके मुँह से ‘उह उह आह. आपको बुरा तो नहीं लगा ना?मोना ने झुक कर अपने दूध हिलाते हुए कहा- अरे मैंने अभी तो कहा.

फिर ऋतु ने डिल्डो उठाया और अपनी बुर में डालकर तेजी से अन्दर बाहर करने लगी. सुमन पहले ही गर्म थी। अब उंगली ने अपना कमाल दिखाया और सुमन की चुत झड़ने लगी। उसका पूरा हाथ चुत रस से भर गया।काफ़ी देर तक सुमन वैसे ही पड़ी रही फिर वॉशरूम जाकर उसने अपनी चुत को साफ किया और बिस्तर पर आकर नंगी लेट गई। अब उसके दिमाग़ में लंड की पिक चल रही थी कि कैसे वो उसकी चुत में जाएगा. तूने तो ठीक से चुत को चूसने भी नहीं दिया।मोना- कब से वासना की आग में जल रही थी.

आखिर में वो दिन आ गया, हम सुबह में मापुसा में मिले और मोरजिम में एक होटल का रूम भाड़े पर लेके उसमें आ गए. मैं बैठ अपने लंड को सहला रहा था, और एक हाथ से कीकू के कभी बोबे तो कभी उसकी जांघ को सहला रहा था. पिंकी अब चुप थी लेकिन उसकी देह से लग रहा था कि उसे भी मजा आ रहा है!मैंने दोनों हाथों से अब कस क़स के उसके जोबन को मसलना शुरू कर दिया और फिर उसके कान में बोला- सुनो ना… एक बार तुम्हारे रसीले जोबन को चूम लूं… बस एक बार इन…इन.

डॉक्टर नर्स का बीएफ ड्राईवर ने उस औरत से कुछ पूछा, और कमरे के अंदर चला गया, तब तक मैं उस औरत के पास पहुंचा और उस औरत से पूछा- कुछ खाने की व्यवस्था है?उस औरत ने कहा- हाँ हो जायेगी. मैं हमेशा उससे उसकी पढ़ाई की ही बात करता था और उसे अच्छा करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करता रहता था.

செக்ஷ் படம்

फाड़ दे मेरी चूत को आज!मैं- साली रांड… इतना चोदूँगा कि याद रखेगी… ले साली. कहिये क्या काम था मेरे से?मैं- आपको ज्योति ने बताया होगा न मेरे काम के बारे में!राजे- नहीं कुछ खास डिटेल में नहीं बताया. 30 बज चुके थे और सूरज आसमान में फिर से अपनी लाल रोशनी बिखेरता हुआ चमकने की तैयारी में था.

ज़रा मुझे भी बताओ मेरे भाई?दोस्तो मॉंटी सीधा सा लड़का था, उसके दोस्त भी ठीक से थे, इसलिए ये सेक्स की बातों से दूर था, इसका तो बस पढ़ाई में ध्यान रहता था। अब बेचारा इसको क्या पता था कि इसकी बहन एक पक्की रंडी है जो तरह-तरह के लंड देख और खा चुकी है।मॉंटी- पता नहीं अपने आप ही होती है। एक तो सुबह जब सोकर उठता हूँ, तब और कभी जब जोर से सूसू आती है जब।टीना- अच्छा ये बात है. जॉन ने फ्लॉरा की टी-शर्ट उतार दी, उसके सामने उसकी नारंगियां उछलते हुए आ गईं. हिंदी सेक्सी वीडियो मां बेटे की चुदाईमैं बोली- लाखों में है और मुझे सिर्फ दस हज़ार?तो वो सीधा पचास हज़ार पे आ गया और बोला- इससे ज्यादा नहीं दे सकता.

वो आगे आईं और मेरा मुंह बंद करते हुए बोली- इतने दिन कहाँ थे?मैं हकलाते हुए बोला- बबबब.

आपको कुछ तो लेना ही पड़ेगा।सुधीर के मन में तो था कि मोना के रसीले होंठों को पी जाए. दूर से ऐसा लग रहा था जैसे कैटरीना कैफ़ हो। उसके तने हुए चूचे भी 36″ के होंगे.

वो मुझे अब अलग करने लिये झटके मार रही थी, मैं पूरा झड़ने के बाद उठ गया. मैं भी उसकी चूत में लंड की ठोकर लगता हुआ सिसकारते हुआ उसकी हर बात का जवाब दे रहा था- आह चुद साली चुद. कभी मारी नहीं क्या?मैंने ‘ना’ बोला तो बोला- आज शाम को ग्राउंड में आना.

कैसी हेल्प चाहिए आपको?गुलशन- अरे वो मेरे कपड़ा व्यापार के एक बहुत बड़े सेठ हैं, उनकी बेटी लन्दन से आई हुई है.

जग्गी बोला- साले ने काट लिया!मुंह से लंड निकलते ही दर्द के मारे मेरी चीख निकल गई- आ… हह… नहीं!इतना होते ही जग्गी ने मेरे मुंह पर हाथ रख दिया और इसके चलते संदीप और राजू का जोश और बढ़ गया. लेकिन दरवाज़ा खुला देख कर मैं बाथरूम के दरवाज़े के पास जा कर अंदर झाँका तो देखा पूर्ण नग्न माला कपड़े धो रही थी. वो मुझसे बेतहाशा लिपटने लगी, उसकी चूत में लहरें उठने लगी और उसकी चूत ने मुँह फ़ाड़ कर पानी उगल दिया.

देहाती सेक्सी राजस्थानीमैं समझ रहा था कि वो क्या कर रही है पर अपने जज्बात दिखाकर मैं बात को खराब नहीं करना चाहता था. मैंने पीटर की तरफ देखा तो वो इस कदर हमें देख रहा था जैसे कोई जलजला देख रहा हो.

sex vídeos

अगर यहाँ पर कोई भी लड़का किसी लड़की को किस करता है या फिर हाथ फेरता है तो लड़की एक मिनट के अन्दर उस उसकी बांहों में आ जाती है।फिर उसने मेरी पेंटी उतार दी और मेरी बुर को किस करने लगा। वो अपनी जीभ मेरी बुर के अन्दर डाल कर उसे चूसने लगा और मैं पागल होने लगी।ये सब कुछ मेरे साथ पहली बार हो रहा था। मेरा भाई मेरी बुर को बहुत जोर-जोर से किस करने लगा। पता नहीं मुझे क्या होने लगा मैं पागल होने लगी. जब मैंने उसके मम्मों को हाथ में लिया तो ऐसा लगा जैसे कि मैं स्वर्ग में बैठ कर किसी परी के मम्मों को हाथ में लेकर चूसने जा रहा हूँ. उस आदमी ने मेरी बहन की गांड में थूक लगाने के बाद अपने लंड पर भी थूक लगा लिया.

थोड़ी देर बाद मैं सो गई लेकिन अचानक रात को किसी हलचल से मेरी नींद खुल गयी. तभी नीचे से रुचिका, सुलेखा और नेहा आईं, सभी के हाथ में कुछ न कुछ सामान था. तुम सब ऐसे वहशी बनोगे तब तो समझो स्कीम फेल ही हो गई।साहिल- यार सब लोग चुप हो जाओ.

उसने कोई रिएक्शन नहीं दिया और पानी वाले के पास पानी की बोतल लेने लगा. फटी हुई एड़ियाँ गायब थीं, नाख़ून साफ सुथरे और हाथों के नाख़ून वाली नेल पोलिश में रंगे हुऐ थे. ’ ये कहते हुए अंकल ने लंड को बुर के छेद के पास लगाया और मैं हिम्मत कर उनके तने हुऐ लंड पर बैठने लगी। बुर गीली थी.

मैं अन्तर्वासना में पहली बार चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ कि मैंने अपनी मामी की चुदाई कैसे की. एक दिन मेरे अंकल की चुनावी ड्यूटी लग गई और आंटी मामा के यहाँ गई हुई थीं, उधर कोई बीमार था.

वाकयी मुरुगन मुझे जबरदस्त तरीके से चोद रहे थे और मैं भी अब उनका बड़ा लंड लीलने में अभ्यस्त हो गई थी तो मुझे भी इस मूसल लंड से चुदने में मजा आ रहा था.

पानी देकर उसने कहा- मैं अभी आती हूँ चेंज करके… आप बैठो!तो मैंने कहा- रहने दो, अच्छी लग रही हो!वो हल्का सा मुस्करा दी. माधुरी सिंह का सेक्सी वीडियोफिर रफीक बोला- भाई राजेश, तुम मेरे और मोहन के गेस्ट हो इसलिए बोलो जमीला को कैसे चोदोगे?मैं बोला- भाई, मैं जमीला को योगिराज की सवारी करवाऊंगा और घोड़ी बना के शावर के नीचे चोदूँगा।फिर उधर रफीक जमीला को चोदने लगा और जमीला बोलने लगी- हय राजेश, ऐसे ही चोदो अपने योगिराज से!इधर मैं कोमल को घोड़ी बना कर चोद रहा था. सपना सपना चौधरी की सेक्सी वीडियोमैंने कीकू को अपने हिसाब से सेट किया और अपना लंड उसकी चूत में डाला तो अंदर सुमित का माल भरा पड़ा था. ऐसा करते ही उसने अपने बदन को जोरदार झटका दिया और जोर से चीखी, ‘आईइ अहाह अहह्ह अह्ह्ह्ह अशोक… अह्ह्ह्ह!’ और अपने हाथ से तुरन्त मेरे हाथ को पकड़ लिया.

मैं भी ऋतु के बारे में और आने वाले समय के बारे में सोचता हुआ अपनी आगे की योजनायें बनाने लगा.

मैंने सोचा कि शायद ये लोग भी मेरी तरह ही टहलने आए होंगे क्योंकि गांव में अक्सर जवान लड़के शाम को घूमने फिरने शौच आदि करने या फिर दारू-वारू पीने नहर जैसी जगहों पर ही जाते हैं. वो मेरे लंड की ओर देख ही रही थी पर कुछ नहीं बोल पाई और मेरे वीर्य को अपने साड़ी और पेट पर से साफ करने लगीं. साथ ही मैंने उसे चाय या पानी के बारे में पूछा तो उसने मना कर दिया और कहा- नहीं, चलो चलते हैं।मैंने कहा- ठीक है.

अनु आंटी मेरे पास आकर मुझसे सट कर बैठ गई- हमेशा अंकित से ही मिलने आते हो क्या? मैं तुम्हें अच्छी नहीं लगती?मैं- नहीं आंटी, ऐसी कोई बात नहीं है… अच्छे तो लगते ही हो आप!आंटी- फिर क्या बात है… अच्छी लगती हूँ तो मिलने नहीं आ सकते?यह कहते हुये वो मेरे जांघ पर हाथ फिराने लगी. काफी देर तक झटके मारने के बाद पूजा का शरीर अकड़ने लगा और वो झड़ गई और बेड पर औंधे मुंह गिर पड़ी, पर मेरा अभी बाकी था तो मैं उसके ऊपर ही लेट गया. वो रैंगिंग वाली बात तुम सीनियर्स की कैटेगरी में आती हो।फ्लॉरा- ओह कोई बात नहीं.

भाभी की चूत की चुदाई सेक्सी

मैं मन ही मन मुस्कुरा रहा था कि जैसा हमने सोचा था, सब वैसा ही हुआ बल्कि उससे भी अच्छा हुआ क्योंकि पैसों के साथ साथ पूजा ने मेरा लंड भी चूसा और अपनी चूत भी चुसवाई. फिर उसने बिस्तर की चादर अपनी मुट्ठियों में जकड़ ली और अपनी कमर बार बार ऊपर उचकाने लगी. मैंने मुड़ कर रोने जैसी सूरत बना कर राहुल को देखा… उसने तुंरत ही लंड निकल लिया.

अगले ही पल वो भी टांग घुमाता हुआ बाइक से नीचे था और उसकी जिप के बीच में से उसके काले से मोटे सांप जैसे लंड का तना हुआ डंडा चांद की चांदनी में बाइक की टंकी से से टकरा रहा था.

गौरव ने मेरी गांड में केवल दस बारह मिनट से ही लंड डाला था, लेकिन टाईट गांड में रगड़ खाकर लंड घुसने की वजह से उस तेइस साल के लड़के का और टिक पाना मुश्किल हो गया.

उसने एक हाथ से मेरे दोनों हाथ ऊपर कर दिए, बेड के सहारे पकड़ कर दबा दिए, पैर नीचे कर दिए फैला के… एक हाथ से वो मेरी चुची को दबा रहा था, कभी कभी नाभि को सहला रहा था, बीच बीच में मेरी आर्म पिट को चूम रहा था. मैं और मेरी दीदी किरण जो पूरी मेरे जैसी है, हाईट, वेट साइज़ फ़ीगर सब सेम है, हम दोनों बहनें हैं इस वजह से मॉम डैड के एक जैसे जींस हमारे अंदर हैं इसलिए ऐसा हुआ है कि हम एक जैसी हैं. सेक्सी वीडियो भेजो चुदाई वालीमैंने देखा भी मगर पापा ने मुझे फ़ौरन हटा दिया था इस बात का क्या मतलब हुआ?टीना- तेरे पापा प्यासे हैं, शायद इसी लिए तेरे जिस्म की गर्मी पाकर उनका लंड खड़ा हो गया, समझी कुछ!सुमन- नहीं दीदी, ये गलत है वो मेरे पापा हैं और मेरे बारे में गंदा कैसे सोच सकते हैं वो, नहीं नहीं.

मुझे दूर से उसके कड़क निपल्स साफ दिख रहे थे। उसकी सांसों की आवाज़ से लग रहा था कि वो डर रही थी।वो मेरे बिस्तर पर लेट गई और उसने धीरे से मेरे लंड को छुआ और धीरे-धीरे उसे सहलाने लगी। मेरा मान कर रहा था कि उसको पकड़ कर उसकी चूचियां दबा दूं. और ये दोनों दूसरे ही दिन आ पाएंगी, यह मैं जानता था जिससे मैं पूरी रात पूजा के साथ बिता सकता था. मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरी नींद लग गई। फिर कब रात हो गई मुझे कुछ होश ही था।सुबह जब मैं उठा तो देखा मामी खाना खाने बुला रही थीं और उनके चेहरे पर अभी भी सेक्स की मस्ती थी। फ़िर हमने खाना खाते हुए भी चुदाई की। अगले दिन मेरे माता-पिता आ गए।इसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता था.

मेरी अनुपस्थिति में चाची ने जब मेरे द्वारा खोले गए फ़ोल्डर की सभी फोटो एवं वीडियो देख लिए थे तब उन्होंने एक दूसरे फ़ोल्डर को खोल लिया था. हाँ थोड़ा पचड़ा था इस कहानी में क्योंकि मुझे उन आंटी का नाम भी मालूम नहीं था.

हम दोनों भाइयों में कभी कोई पर्दा नहीं था, रात की बात याद कर के हम दोनों उसकी ब्रा और पेंटी को सूंघते हुये मुट्ठ मारी और कीकू की ब्रा के एक एक कप में अपना अपना माल गिराया.

मेरी पिछली लघु रचनाचाची की चुदाई फटाफट वालीको पढ़ने के लिए बहुत धन्यवाद. पूजा का मन नहीं था मगर संजय ने उसको कपड़े पहना दिए, फिर वो उसको पढ़ाने लग गया. नीचे लेटे हुआ चंगेज़ मेरी धर्मपत्नि की कमर को पकड़ कर अपने लंड पर पटक रहा था, जबकि पीछे से रुस्लान उसकी गांड पर हाथ टिकाए, अपने लंड को उसकी फटी जा रही गांड में ठूँसे जा रहा था.

बच्चे कैसे पैदा होता है हमने तय किया कि अगले दिन दोपहर को स्कूल से आने के बाद हम ये शो करेंगे… मम्मी पापा के आने से पहले. रयान ने नई ब्रांच ज्वाइन करी, शुरू के 15 दिन के लिए बैंक ने होटल मैं व्यवस्था कर दी.

हाय मेरे रजा… चोद दो… हाय…जोर से छोड़ो ना…आज तो फाड़ दो मेरी चूत को… लगा. उसकी माँ का नाम भावना है जो दिखने में एकदम सेक्सी थी उनके बूब्स की तो क्या बात. ओह्ह्ह… आअह्ह्ह्ह… मर गई!बहुत जोर से झटका मारा था मेरे देवर ने… मेरी आँखों से आँसू निकल आये, आज तक किसी ने भी इतनी जोर से मुझे झटका नहीं मारा था। आदी का आधा लंड मेरी चुत के अंदर था मेरे मुँह से जोर की चीख निकली मगर उस चीख को सुनने वाला कोई भी नहीं था.

व्हिडिओ सेक्सी पिक्चर ओपन

रात को लगभग तीन बजे दरवाज़ा खड़कने की आवाज़ से मेरी नींद खुल गई और जब मैंने उठ कर देखा तो पाया की रसोई की ओर वाली बालकनी का खुला दरवाज़ा हवा के तेज़ झोंके से खुल बंद रहा था. दीदी सिसकारियाँ भरने लगी- आअहह… आआहह… मम्म्मम… आआ आआआ आआआअहह…वो सिसकारते हुए बोल रही थी- ओह भाई, ऐसे ही, ऐसे ही अपनी दीदी की चूत चुदाई कर, हाँ हाँ और जोर से, इसी तरह से ज़ोर-ज़ोर से धक्का लगाओ भाई, इसी प्रकार से चोदो मुझे… आह… सीईईई. आज तक ऐसा नहीं हुआ कि हम किसी को बिना रैंगिंग के जाने दें और दूसरी बात उसको ग्रुप में शामिल भी कर लिया, ये बात कुछ समझ नहीं आ रही?संजय- मेरी जान इसी लिए तो आई एम द ग्रेट संजय.

जो कहानी मैं सुनाने जा रही हूँ वह अन्य कहानियों की तरह बनावटी नहीं हैं. उनके होंठों को देखा तो लगा कि जैसे उसने पूरी रात सिर्फ मेरी बहन के होंठों को ही चूसा है.

’ की आवाजें आने लगीं।आंटी कुछ पलों बाद मेरे ऊपर आ गईं और पूरे जोर से मेरे लंड के ऊपर चूत को घुसा दिया।कसम से मैं अपने आपको रोक नहीं सका। पहली बार चूत की गरमी को महसूस किया था।वो बोलीं- आह.

अब दीदी अपने दोनों हाथों से मेरे दूध मसल रही थी और अपने मुंह से चूम रही थी, मेरे दूध को पीने की कोशिश कर रही थी. ‘ओके स्नेहा, जब तुम ठीक समझो, मुझे फोन कर देना और किसी बात का टेंशन नहीं लेना!’ मैंने उसका गाल थपथपाते हुए कहा. मेरी सेक्स स्टोरी में आपने अब तक पढ़ा था कि टीना सुमन को डिल्डो (नकली लंड) दिखाते हुए टास्क के बारे में बता रही थी।अब आगे.

वो सोफ़े पर बैठा ब्ल्यु फ़िल्म देख रहा था और उसका पायजामा उतरा हुआ था. जब उसने महसूस किया कि पूजा एकदम बेजान पड़ी है, तो एक बार तो संजय भी डर गया कि कहीं बुर फट तो नहीं गई. मोना मेरी बहू है, इसको रूलाऊंगा तो भगवान नाराज़ होंगे। इसको तो बड़े प्यार से चोदूंगा जैसे राधा की सील तोड़ी है.

मेरी तो आँख लग गई। अचानक सिसकारियों की आवाज सुनाई दी, मैंने आँखे खोली तो देखा कि मामाजी मेरे बाजू में नहीं थे और मॉम को चूम रहे थे। तब पता चला कि दोनों ने कपड़े क्यों नहीं पहने थे। पहली चुदाई के बाद भी की दोनों को एक बार सेक्स करके प्यास नहीं बुझी थी.

डॉक्टर नर्स का बीएफ: कुछ देर इधर-उधर की बातें करके वो सो गईं और मैं भी उनके बारे में भी सोचते-सोचते सो गया. मुझे पीछे से बिस्तर के साथ दबे हुए उनके बूब्स दिखाई दे रहे थे जिन्हें मैं बीच बीच मैं मालिश के बहाने छू रहा था, वो भी मजे से आँखें बंद करके लेटी हुई थी.

लेकिन हमारी चुदक्कड़ नताशा को इन सारी टेक्निकल डिटेल्स से कोई लेना देना नहीं था, वो तो बस स्वान के गर्दभ लंड को पूरे मनोयोग से चूसने में लगी हुई थी, जबकि एंड्रयू संग हमारे दो-दो लंड उसकी गांड की गहराई नापने में लगे हुए थे. चाची ने मुझे किस किया और थोड़ी गांड उठा कर इशारा किया ‘अब धक्के मारो…’ तो मैं भी शुरू हो गया. मैंने दरवाज़े का सहारा लिया और खुद को संभाला, भगवान को कोसते हुए चीखकर कहा- मुझे ही गे क्यों बनाया तूने… ऐसी नर्क भरी जिंदगी से अच्छा तो मुझे मौत आ जाए!भगवान और अपने भाग्य को कोसता हुआ मैं किसी तरह लंगड़ाते हुए कोठरी से बाहर निकला और बैग उठाकर पगडंडी पर मेन रोड की तरफ देखा.

एक बड़ी सी बिल्डिंग के बाहर गुलशन जी की गाड़ी रुकी और फिर वो बिल्डिंग में एक फ्लैट के बाहर जाकर बेल दबाने लगे.

तुम सब ऐसे वहशी बनोगे तब तो समझो स्कीम फेल ही हो गई।साहिल- यार सब लोग चुप हो जाओ. जब सब कोठे से चले गये गुलफाम कली ने अंगूरी को देखा एक कोने में खड़े दूर, ऐसे पहले कभी नहीं हुआ था कि गुलफाम कली के कोठे पे कोई औरत आई हो, वो भी अंगूरी जैसी शरीफ!गुलफाम कली को अंगूरी को अपने कोठे पे देख थोड़ा अचरज हुआ फिर भी उसने अंगूरी और पास में खड़े सक्सेना को ‘आदाब अर्ज़ है. वो दोनों हाथ कमर पर टिकाए हुए वहाँ पर सुकून से मूत रहा था… मतलब उसने अपना लंड पकड़ भी नहीं रखा था फिर भी उसकी धार काफी दूर तक जा रही थी.