बीएफ वीडियो चूत लंड

छवि स्रोत,गले की चेन की डिजाइन chandi

तस्वीर का शीर्षक ,

प्रेगनेंसी चेक कैसे करें: बीएफ वीडियो चूत लंड, मेरे ससुर जी गाँव के बहुत मशहूर पहलवान और जमींदार हैं, मेरे पति शहर में सरकारी नौकरी करते हैं.

इसकी सेक्सी

सुबह गांड की छेद में उंगली से तेल अन्दर तक लगाना है, जिससे मल त्यागने में ज़ोर न लगाना पड़े. अपनी चाची को चोदामैंने अपनी रात वाली चड्डी बाथरूम में ही छोड़ दी क्योंकि मुझे पता था कि मेरे नहाने के बाद ससुर जी भी नहाने आयेंगे.

उसने दीदी को ये भी लिख कर भेजा था कि वो भी जल्दी से किसी का लंड चख ले. मछली कैसे पकड़ी जाती हैकोमल बोली- पागल हो क्या … ऊपर अंशित है, वो नीचे आ गया तो!वो बोला- अरे वो तो सो गया होगा.

मेरे मम्मों को चूसते हुए जब वो अपने होंठों में लेकर मेरे निप्पल को चूसने लगा … तो मैं तो जैसे हवा में उड़ने लगी.बीएफ वीडियो चूत लंड: फिर मुझे किस करते हुए लंड गांड में से निकाला और बाजू में सोफे पर बैठ गए.

एक दिन मैं घर के बाहर बैठा था तो मैंने देखा कि आंटी और उनकी बेटी कहीं बाहर जा रही थीं.फिर मैं बोला- यार, मैंने भी कई भाभियों की चुदाई की है। मगर उन सब में तुम्हारे साथ सेक्स करने में बड़ा मजा आया.

मसूरी सेक्सी - बीएफ वीडियो चूत लंड

इतना सुनते ही मैंने उन्हें कमरे में लाकर बिस्तर पर बिठाया और उनके मुँह में लौड़ा दे दिया.फिर मैंने बोला- मैं बिना सुने ऐसा कुछ नहीं कर सकता, तुम पहले बताओ कि मुझे क्या क्या करना होगा.

फिर हसित ने रीना के पैरों को अपने हाथों का सहारा देते हुए खोल लिया और खड़े होकर रीना की चूत में अपना लंड लगा दिया. बीएफ वीडियो चूत लंड मैंने उसके सामने खड़े होकर लंड सहलाया और उससे पूछा- लेना है?वो मेरे इस बेलाग सवाल से सिटपिटा गई और उसने नजरें झुका लीं.

तभी मेरे सभी साथी और उसकी सहेलियां बाहर घूमने जाने लगे तो उसने अपनी सहेलियों के साथ जाने से मना कर दिया कि वह कक्ष में ही रूकेगी.

बीएफ वीडियो चूत लंड?

पर मैं एक समस्या था … मेरे साथ होने पर दोनों रोमांस नहीं कर पा रहे थे और ना कुछ और. उनके गोरे रंग के चूतड़ और बड़े बड़े चुचे देख कर मैंने अपना लंड पैंट से निकाल लिया और उन्हें देख कर मुठ मारने लगा. उन्होंने मुझे गाली दी- पेल दे भोसड़ी वाले … क्या दम नहीं है?मैंने उसी पल अपना लंड चुत में उतारने के लिए दाब दे दी.

मेरी शादी को 4 साल हो गए हैं और अभी मेरे पास 1 साल का बेबी है।मैं एक हाउसवाइफ हूं। मेरा फिगर एकदम मस्त है. हम दोनों को ऐसा लगने लगा था, जैसे हम दोनों एक दूसरे के लिए ही बने हैं. आस-पास के लड़के लड़कियों को देख कर भाभी ने मुझसे पूछा- तुम भी यहां अक्सर अपनी गर्लफ्रेंड के साथ आते होगे ना!मैंने भाभी को बताया- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

फिर उसने मेरा हाथ छोड़ा नहीं … और इस तरह अपने हाथ में मेरा हाथ लेकर बातें करता रहा. मैंने पहली बार जिस दिन भाभी को देखा था, उसी दिन सोच लिया था कि कैसे भी करके भाभी को चोदना ही है. वो नशीले अंदाज में बोली कि बाबू जो आज मैं पिलाती हूँ, पी लो शांति से.

तुमने तो चोद चोदकर मुझे बेहाल कर दिया लेकिन उतना सुख भी दिया जो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. जैसे ही उसने मेरे बूब्स को अपने हाथ में भरा, मेरी चूत ने जवाब दे दिया, मेरी चूत का रस बहता हुआ मेरी टांगों तक जा पहुंचा.

उन्होंने मुझसे कहा- केतन, मैं कब से तुमसे मिलना चाहती थी लेकिन कुछ बात नहीं कर पा रही थी.

उसमें भी एक बार ही कर पाते है, अब उनमें आपके जैसा जोश कहाँ ससुर जी।ससुर जी का लन्ड खड़ा होने लगा था- बहू, अगर तुझे कुछ भी चाहिए तो मुझसे बोलना मैं तुझे दूँगा।मैं- अब एक जवान औरत को क्या चाहिए होता है, आपको तो पता ही होगा।यह बोल मैंने ससुर जी का लन्ड धोती के ऊपर से ही पकड़ लिया.

तभी उसने मुझे अपने ऊपर से हटा दिया और उसने करवट लेकर दीवार की तरफ मुँह कर लिया. वो मुझसे मिली तो उसने मुझे अपने गले से लगाने की बजाए मेरा हाथ पकड़ा और मुझे खींचती हुई स्टोर रूम में ले गई. उस समय मैं अपने रूम में था और दरवाजा थोड़ा बंद करके लंड हिला रहा था.

मैं मन ही मन सोचने लगा कि यदि आज उनको छोड़ दिया तो मार पक्का पड़ेगी. कभी जीभ से उन कड़क निप्पलों को हिलाता, तो कभी जीभ और तालू के बीच उन्हें जोर से दबा देता. रमेश- हज़ीरा यदि सीमा इस समय इधर हो, तो उसको कैसे मालूम पड़ेगा कि चूची चुसवाते हुए चुदवाने में कितना मजा आता है.

वैसे भी मुझे चुत चाटने में बहुत मज़ा आता है, तो मैं भाभी की चुत चाटने लगा.

मैं अभी कुछ समझ पाता कि साली ने मूतना शुरू कर दिया और मैंने मुँह हटाने की कोशिश की तो उसने मेरे सर को अपनी चूत पर दबाए रखा. मैं सोचने लगा था कि चाची इससे कैसे चुदती होंगी और क्या उनका दिल ने कभी मेरे लिए नहीं सोचा होगा. तो वो उठी और ‘मस्त राम की हसीन रातें …’ नामक किताब रैक पर से उतार कर मुस्कुराती हुई मेरी तरफ देखने लगी.

पर मैं एक समस्या था … मेरे साथ होने पर दोनों रोमांस नहीं कर पा रहे थे और ना कुछ और. मैं बेड पर ही लेटा रहा मगर भाभी की चुत फिर से लंड लंड करने लगी थी, तो वो मेरे ऊपर चढ़ गईं और मेरे लंड को अपनी चूत में सैट करने लगीं. मैंने पूछा- क्यों ठीक नहीं समझा?वो बोली- अरे यार मैं ज्यादा कुछ पूछती तो मम्मी को शक नहीं हो जाता कि मैं ज्यादा क्यों पूछ रही हूँ.

मैं चाचा के इरादे समझ गई थी कि ये घर के अन्दर मेरी खबर लेने नहीं, मेरी लेने आए हैं.

मैंने अपनी लुँगी ठीक से गाँठ लगाकर पहन ली और टीवी चालू करके बेड पर लेट गया. सामान लेने के बहाने वो थोड़ा और आगे को होते, जिससे थोड़ा दबाव बनता और उनका लंड मेरी गांड में और ज़्यादा टच होने लगता.

बीएफ वीडियो चूत लंड ओरल सेक्स लंड चुसाई कहानी पर आप अपने विचार मेरी मेल आईडी पर साझा कर सकते हैं. नेहा का साइज़ उस टाइम लगभग 32-28-34 का रहा होगा और उसकी हाइट 5 फुट 7 इंच थी.

बीएफ वीडियो चूत लंड इधर गगन और दिनकर दोनों मिलकर सुम्मी की चुत गांड मुँह में लंड चलाने लगे थे. मैंने चाची को ब्रा निकालने को कहा तो उन्होंने उठकर अपनी ब्रा का हुक खोल दिया.

नीचे से वह मेरे बूब्स को चूस रहा था।उसने मेरे सारे बदन को अपने आगोश में ले रखा था.

बीएफ कुत्ता का

सुबह 8:30 बजे मैं उसके रूम में पहुंचा था और तकरीबन 2 बजे तक हम दोनों नार्मल रहे. मैंने भाभी को लिटा दिया, उनके बूब्स दबाने लगा और उनकी गर्दन पर किस करने लगा. उस पर नेहा ने कहा कि मैं अकेली रह लूंगी, मुझे किसी के सहारे की ज़रूरत नहीं है.

मैंने उसे अपने लिए कपड़े चुनने को कहा लेकिन उसने मुझे अपनी पसंद का कपड़े लेने को कहा. अब दो हफ्ते बीत चुके थे, मैं और पारुल एक साथ स्कूल आते जाते अच्छे दोस्त बन चुके थे. थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना लंड का पानी मेरी गांड में छोड़ दिया और थक कर मेरे ऊपर गिर गए.

प्राची ने मेरे लंड पर धीरे से एक चपत लगाते हुए कहा- अब आज कुछ नहीं मिलेगा तुम्हारे इस चूहे को.

फिर मैंने एक दिन सोच ही लिया कि किसी भी तरह से दीदी को चुदाई के लिए मनाना ही है, चाहे कोई तरकीब लगानी पड़े. उन्होंने कहा- आआ … मज़ा आ गया … ज़ोर से चोदो।मैं अपना बड़ा लण्ड पूरा बाहर निकालता, फिर जोर से घुसेड़ देता।वो भी नीचे से धक्के मार रही थी और कह रही थी- ऋषि ज़ोर से चोदो … आआहा … आआह मज़ाअ आआ रहा है।फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों झड़ गये. मैंने पूछ ही लिया- मम्मी कब से आप प्यासी हो?तो वो बोली- लगभग 6 महीने हो गए.

ये सेक्स कहानी एक ऐसे नगर की कहानी है, जिधर हर परिवार को सेक्स में खुलापन पसंद था. फिर जैसे ही मैं उसकी नाभि पर अपनी जीभ फिराने लगा, वो तो पागल सी हो गई. अब तक जमीला को उसका सामान मिल चुका था, वो जाने लगी और उसने मुझे भी चलने का इशारा किया.

आज जीजाजी के बदले मैं अपनी जिया दीदी के गुलाबी होंठों को चूम रहा था. मैंने दरवाजा बंद करने की कोशिश की, तो उन्होंने कहा- अब दरवाजा क्यों बंद कर रहे हो.

चौथे दिन ट्यूशन जाते वक्त मैंने उन्हें फोन किया और अब रोज ही हमारी बातों का सिलसिला चालू हो गया. जब तक तू यहां है, तब तक मुझे चूसकर मजे लेने दे … फिर ना जाने फिर तुम कब आओगे. मैं किस करते करते उनकी बड़ी गांड को दबाने लगा और एक हाथ से उनके बूब्स मसलने लगा.

दोनों मिरर बिल्कुल आमने सामने लगे थे, जिससे बाहर का नजारा साफ दिख जाता था कि गेट पर कौन खड़ा है.

हमारे बीच इतना अधिक अपनापन हो गया था कि मैं कभी कभी बातों बातों में उनके गालों की चुटकी काटकर कह देता कि हाय भाभी आपके गाल कितने मुलायम हैं. उसमें भी एक बार ही कर पाते है, अब उनमें आपके जैसा जोश कहाँ ससुर जी।ससुर जी का लन्ड खड़ा होने लगा था- बहू, अगर तुझे कुछ भी चाहिए तो मुझसे बोलना मैं तुझे दूँगा।मैं- अब एक जवान औरत को क्या चाहिए होता है, आपको तो पता ही होगा।यह बोल मैंने ससुर जी का लन्ड धोती के ऊपर से ही पकड़ लिया. सामान लेने के बहाने वो थोड़ा और आगे को होते, जिससे थोड़ा दबाव बनता और उनका लंड मेरी गांड में और ज़्यादा टच होने लगता.

मैंने लंड मुँह में ठेला तो उसने थोड़ा सा लंड मुँह में लिया और चूसने लगी. कुछ देर बाद मैंने उसको अपनी गोद में बैठा लिया और उसकी चूचियां मसलने लगा.

मुझे सुनकर बड़ा दुःख हुआ लेक़िन मैं कुछ भी नहीं कर सकता था क्योंकि उसकी शादी जो हो चुकी थी. ये देख कर वो थोड़ा सा मुस्करा भी गयी थीं मगर उन्होंने कुछ कहा नहीं था. अब आगे देसी हॉट टीन गर्ल सेक्स कहानी:अब आगे मुझे देखना था कि जमीला की चूत मेरे लंड के नीचे कैसे आएगी.

एक्स एक्स एक्स भाभी के बीएफ

मैं भी उनके कपड़े उतारने लगी और उनके कंधे और बालों पर हाथ फिराने लगी.

मैंने उनकी कमर दबानी आरम्भ की तो मेरे हाथों ने उनकी ब्रा का हुक महसूस किया. क्या लग रही थीं … ऐसा लग रहा था कि आज पूरी रात मुझसे जम कर चुदने के मूड में हैं. उसी वक़्त मेरे ऑफिस का एक और सहकर्मी आ गया जो मेरे साथ काम कर चुका था.

तभी मैंने एक तरफ देखा तो पाया कि एक लड़का डिजिटल कैमरा से वीडियो रिकार्डिंग कर रहा है. उसने पहले ही सब साफ बोल दिया था कि हम दोस्त बन सकते हैं, उससे आगे कुछ नहीं. गार्डन में चुदाईफिर एक दिन उनका फोन आया कि मैं तुम्हारी बुआ को लेकर जबलपुर आ रहा हूं.

मैंने कंडोम को एक कागज में लपेट कर डस्टबिन में फेंक दिया ताकि मॉम को कोई शक ना हो. तभी रास्ते में एक गड्ढा आया तो मैंने ज़ोर से ब्रेक लगा दिए और लवी को झटका लगा तो उसे होश सा आया कि वो रास्ते में है.

मैं उसकी सुराहीदार गर्दन को हल्के से काटते हुए जीभ घुमाता जा रहा था. जब मैं अपने सास ससुर के कमरे के पास से गुजरी तो उनके कमरे से कुछ आवाज आई. दीदी- हम्म … ठीक है।फिर मैं बोला- दीदी, आपके बूब्स तो बहुत प्यारे हैं.

ये सुनकर भाभी एकदम खुश हो गईं और बोलीं- क्या सच में तुमने अभी तक सेक्स नहीं किया है?मैंने कहा- हां भाभी, आज मेरा पहली बार का सेक्स होने वाला है. कोई मेरीचुत का भुर्ताबनाता, कोई मेरी गांड का, जिसे अच्छा लगता वो मुझसे अपना लंड चुसवाता. उन्होंने अपनी टांगें पूरी तरह से खोल दीं मगर मैंने लंड अन्दर नहीं पेला.

ऐसा मजा आज तक कभी शब्बो को नसीब नहीं हुआ था।अपने नामर्द शौहर को मन में गाली देते हुए उसने अपनी आँखें बंद कर लीं और गांड के छेद पर हो रही मालिश का मजा लेने लगी- आह्ह्ह मालिक, मेरे खुदा … इतना मजा देते हो कि मैं मरने को तैयार हो जाती हूं। ऐसे ही करो छोटे मालिक … आज चाहे कुछ भी हो जाए … आपकी शब्बो रांड की गांड आपके लौड़े पर कुर्बान होने दो.

धीरे-धीरे चाची का विरोध कम हो गया और वह भी मुझसे धीरे-धीरे लिपटने लगीं. फिर आपको नगर के नियम नहीं मालूम हैं क्या … जिस दिन मेरी बहन की चुदाई होगी, वो पूरे नगर के सामने ऐलानिया चुदेगी.

अब मेरी सेक्सी दीदी की चूत चुदाई की कहानी में आगे क्या हुआ, वो मैं आपको इस कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. ये एक काल्पनिक दास्तान थी, जिसमें मैंने अपने मामा की शादीशुदा बेटी के साथ सेक्स किया था. मैंने कहा- ना तो नहीं करोगी?इस पर वो बोली- क्या चाहिए?मैं बोला कि ब्रा और पैंटी और वो भी तुम मुझे अपने पति के सामने दोगी.

भाभी की पीठ पर, मम्मों पर, निप्पलों पर, पेट पर मेरे दांत के काटने के निशान बने हुए थे. उसमें उसकी एक फ़्रेंड की वाट्सअप चैट खोल कर देखी, तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गईं. उसकी आंखों से मौन स्वीकृति मिलते ही मैंने उंगली को और अन्दर धकेला और अन्दर बाहर करने लगा.

बीएफ वीडियो चूत लंड मैंने गांड से लंड को बाहर निकाला तो फच्छ की आवाज के साथ लंड बाहर आ गया. जिया दीदी- मतबल आज की रात तुम अपनी दी को गर्लफ्रेंड बनाना चाहते हो!मैं- नहीं.

गावठी बीएफ सेक्सी

इधर भाभी को किस करने के बाद मैं मुस्कुरा दिया और उधर वो एक कदम पीछे को हटकर गुस्सा हो गई. लंड चूसने के बाद उसने कहा- अबे साले भोसड़ी के … तू तो बड़ी जल्दी झड़ गया?मैंने कहा- हां मेरा पहली बार था ना … इसलिए मुझसे रुका नहीं गया. फिर जब भाभी नहा कर बाहर निकलीं तो मैं पेशाब करने के बहाने से बाथरूम में घुस गया.

मैंने उसके कंधों पर दबाव बनाया और धीरे धीरे नीचे जाने का दवाब देने लगा. दीदी के मुंह से निकल रही दर्द भरी सिसकारियां सुनकर मैं और तेजी से दीदी की चूत को कुरेदने लगा और वो देखते ही देखते बहुत गर्म हो गयी. इंग्लिश पिक्चर वीडियो ब्लू पिक्चरमेरा शरीर औसत है और लंड भी ऐसा है कि किसी को भी संतुष्ट कर सकता हूँ.

मैंने उसे समझाया कि अगर बिना किसी के जाने चुदवा लो, तो कोई दिक्कत नहीं है.

सरिता- हर्षद तुम्हें पता है हमारी शादी को करीब डेढ़ साल होने को आया है, लेकिन मैं अभी तक कुंवारी ही हूँ. मैंने दीदी के मुंह पर हाथ रखते हुए इशारा किया कि आवाज ज्यादा तेज न निकाले वर्ना मां सुन लेगी.

चूंकि मोना भाभी मेरे पड़ोस में रहती थीं, तो मैं उनके घर जाया करता था. इस वजह से वो अभी नगर के किसी भी लंड के नीचे नहीं आ पाई थी, चमेली ने सिर्फ अपनेब्वॉयफ्रेंड के साथ ही चुदाई का मजालिया था. चाची ने भी मुझे उस लड़के को निकलते देख लिया था और वो समझ गई थीं कि मुझको पता चल गया है कि वो लड़का उनके घर क्यों आया था.

मैंने पूछा- जी बोलिए?उसने बोला- मैं मोनू … मुझे आपके जीजू ने भेजा है.

कभी चुत चोदने का मन नहीं करता क्या!सूरज बोला- भाई मुझे उसकी कोई चिंता नहीं है. एक मर्तबा मेरे दोस्त अरुण के साथ ये तय हुआ था कि संडे को एक्सट्रा क्लास के बहाने कैफे जाएंगे. चाची के मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं; उनकी सांसें तेज़ होने लगीं.

बुरचोदी वीडियोइससे आगे वह और आगे बढ़े … और मुझसे ब्रा पैंटी पहने हुए मेरी फोटो मांगी. थोड़ी देर में भाभी बोलीं- तेरे हाथों में तो जादू है राज … मुझे बहुत आराम मिल रहा है.

बीएफ दिखाइए भाई

हॉट भाभी सेक्स कहानी जयपुर की रहने वाली एक मस्त चालू भाभी की है जिसे हर वक्त नए नए लंड की तलाश रहती है. तब तक उसकी बेटी भी सो चुकी थी तो अब मैंने उसके दूसरे उरोज को मुँह में भर लिया और दूध पीने लगा. मैं- आप चिंता मत करो दीदी, अगर हमारा प्रेम मिलाप इसी तरह से चलता रहा तो तुम जरूर प्रेग्नेंट हो जाओगी.

फिर मैं पेट को चूमते हुए उनकी नाभि तक आया और नाभि को चूसने लगा, काटने लगा. वो मेरे नीचे जाते जाते अपने सर ऊपर करके और आंखें बंद करके कुछ बड़बड़ा रही थी. मैंने कहा- हां बोलो … आग लगा कर किधर भाग गई?जमीला ने हंस कर कहा- कहां हो मेरे राजा जी!मैं- पता नहीं, अभी जब से तुमसे मिला हूँ कुछ होश नहीं कि मैं कौन हूँ और कहां हूँ … बस तुम ही तुम मेरे ख्यालों में गूंज रही हो.

कैसे हुआ ये सब और इसका पता कैसे चला, हम दोनों फिर से कैसे मिले, वो सब जानिए अगली सेक्स कहानी में!पर पहले माय बेस्ट फ्रेंड वाइफ Xxx स्टोरी पर अपने कमेंट और मेरी मेल पर मुझे जरूर बताएं. क्या तुम नहीं चाहती कि और मजे लो?वो मुझे चूमती हुई बोली- बहुत बदमाश हो तुम!मैं उसकी चूचियां रगड़ने लगा. सच बताऊं दोस्तो … इस पोज में मेरी चुत में पति के लंड के जबरदस्त स्ट्रोक लगते हैं और पति का पूरा लंड मेरी चुत में घुस जाता है.

उसने कहा कि वो लोग कल शाम तक घर आएंगे।इतना सुनते ही भाभी खुश हो गयी और मेरे बगल में लेट गई।भाभी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और कहने लगी- तुमने मुझे आज जो सुख दिया है, मैं उसे कभी नहीं भुला पाऊंगी।मैंने फिर भाभी के होंठों को किस करना शुरू कर दिया. दोस्तो, भाभी कीबहन ने मुझसे कैसे चुदवायाऔर किस किस तरह से सेक्स कहानी में घुमाव आया.

मैंने अपने प्यारे पति को अपनी तरफ खींच लिया और उनका तना हुआ लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

वह गर्लफ्रेंड को साथ लाना चाहता था लेकिन किसी वजह से वह साथ नहीं आ पाई. पायल की डिजाइन दिखाओरीना को किस करते हुए हसित उसके पेट तक पहुंच गया और पेट पर किस करते हुए पेटीकोट के ऊपर से किस करने लगा. एम एक्स प्लेयर डाउनलोडहम लोग फिर से डांस करने लगे लेकिन इस बार राज मेरे साथ फ्री होकर डांस कर रहे थे. हालांकि इतने समय में सर ने ये जान लिया था कि मैं पब्लिक बस से आती हूँ, तो वो मेरा पीछा करने लगे.

मैंने कहा- ओके … मैं अपना पानी कहां निकालूं?वो बोली- मेरी चुत प्यासी है, इसे पानी से भर दो.

कहीं मां ने देख तो नहीं लिया?सोचकर मैंने किसी तरह से जवाब दिया- हां, रात में देर तक पढ़ाई कर रहा था और लेट सोया था. कोई दस मिनट की चुदाई में भाभी झड़ गईं और उनके बाद मैं भी उन्हीं की चुत में झड़ गया. लंड का सारा माल चूत में छोड़ दिया और उसके ऊपर ही लेट कर उसको किस करता रहा.

तो भाभी ने बताया- मैंने आते जाते उस पान ठेले पर आपको दो-तीन बार देखा था. सरिता की चुत को मैंने गौर से देखा तो चुत में सूजन आ गयी थी, फूल गयी थी. फूफा जी मुझे उठा कर बेड पर ले आए और मेरी सेंडल उन्होंने खुद ही उतार दी.

हिंदी सेक्सी चुदाई की बीएफ

एक दिन जब मैं उनके ड्राइंग रूम में बैठा था और उनके साथ बातें कर रहा था तो तभी उनका बेबी रोने लगा और वो उसे चुप कराने बेडरूम में चली गईं. उससे पूछा- यदि मैं अपनी बीवी को तलाक़ दे दूँ, तब क्या तुम मेरी बीवी से शादी करोगे?प्रेमी ने कहा- हां ज़रूर करूंगा. फिर मैं दीदी के पैरों में बैठ गया, दीदी की चूत पर मुंह लगाकर उसकी चूत को चाटने लगा.

जब तक मैं अपने लंड का पानी नहीं निकाल लेता, तब तक मुझे चैन नहीं मिलता था.

भैया बोल रहे थे- ऐसी बहन हर घर में हो तो किसी भाई को सेक्स मूवी देखने जरूरत नहीं होगी.

फिर पता नहीं मेरी क्या समझ में आया कि मैंने अपना हाथ उसके निक्कर के पास ले जाकर उसकी निक्कर खोलने की कोशिश की. जिया दीदी के कातिलाना मम्मों को मसलते हुए मैं अलग ही सुख और लज्जत महसूस कर रहा था. चोदने वाला शायरीमैं उसको किसी काम में बुला लूँगा और तुम चुपचाप अन्दर आकर सीधे मेरे ऑफिस में आ जाना.

वे तो हांफती हुई जमीन पर ही बैठ गई, मैंने हाथ पकड़ कर उन्हें उठाया और सीने से लगा लिया. जैसा कि वह ब्रा के साथ तौलिया में बैठी थीं और बैठते समय उनकी थोड़ी सी पैंटी मुझे दिखाई दे रही थी जो मुझे एक उत्तेजना दे रही थी. मुझे लगा था कि चाची अभी तक नींद में ही हैं लेकिन वो इस सबका मज़ा ले रही थीं.

अबकी बार कहानी के बाद मेरी चूत के चाहने वालों ने मुझे कई नए नाम भी दे दिए अपनी मेल के जरिये …जैसे गदराई घोड़ी, मदमस्त हथिनी, चूत की मल्लिका, काम की महादेवी वगैरा वगैर नए नामों से मुझे नवाजा!आप सभी को ज्यादा इंतजार नहीं करवा कर सीधे आज की हॉट भाभी सेक्स कहानी पर आती हूँ. कुछ पल बाद ही मेरे दिमाग में आया कि क्यों न पेशाब के बहाने अपना लंड अपनी मम्मी को दिखा दूँ.

अंगिका को देखते हुए मैंने कहा- घबरा मत मादरचोद … तुझे भी अपनी रखैल बना कर चोदूंगा.

तो जल्दी से काम करना होगा।अंगिका वहां से चली गई और मैंने मुग्धा को बांहों में लेकर चूसना शुरु किया. हमारी घनिष्ठता इतनी अधिक थी कि हम दोनों हर तरह की बातें कर लेते हैं, फिर चाहे वो सेक्स की बातें ही क्यों न हों. बहुत दिनों बाद भरी दुपहर में मेरी चुत और गांड की मस्त चुदाई जो हुई थी.

नेपाली चोदा चोदी फिर पता नहीं उसकी आंखों में देखते ही मुझे क्या हो गया था कि मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था. वो मेरा लंड अपने दोनों हाथों से मसलकर बोली- और मेरी नींद तुम्हारे इस मूसल जैसे लंड ने चुरायी है.

बारिश में भीगे हुए दोनों के ठंडे बदन, बांहों में आते ही गर्माने लगे थे. मेरी चुदाई से परेशान सासु जी ने अपने बेटे यानि मेरे पति से अपनी चुदाई करवाई और जैसे मैंने सासु जी को अपनी चुदाई दिखाई, उन्होंने भी मुझे अपनी दिखाई. जैसे जैसे मैं ऊपर जाता गया, उनकी टांग की मांसपेशियाँ मुलायम होती जा रही थी.

पंजाबी बीएफ सेक्सी पंजाबी सेक्सी

मेरा थोड़ा सा लंड चुत में घुस गया और दीदी की हल्की सी आह निकल गई क्योंकि जीजाजी का लंड मेरे लंड से छोटा है तो जिया दीदी को आज थोड़ी दिक्कत हो रही होगी. मैंने उससे पूछा कि तू हंस क्यों रहा है?वो बोला- क्या तुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ शादी करनी थी?मैंने कहा- नहीं. लेकिन ये सब तब होगा, जब शिल्पा मेरे कमरे में मेरे लंड से चुदने को राजी होगी.

मैं इतनी जोर से झटका मार रहा था कि मेरा लंड सीधा उसकी गर्भाशय की दीवार से जाकर टकरा रहा था. मैंने कहा- नहीं बोल ना!उसने कहा- यार हमारी दोस्ती करीब पच्चीस साल पुरानी है और मैं बिना किसी भूमिका के कहना चाहता हूँ कि मैं रीना से सेक्स करने की इच्छा मन में दबाए हुए हूँ.

भैया लेट गए और भाभी एक हाथ में सिगरेट लिए हुए भैया के कड़क लंड को चूमने लगीं.

वो बोली- तुम्हारे दोस्त ने आज तक कभी इन्हें छुआ ही नहीं, तो क्या होगा. उसने मुझसे कहा कि- बेशक वह माल हो गई है, लेकिन तुम क्या चाहते हो?तब मैंने उससे कहा- अगर तुम सहमत हो तो मैं तुम दोनों के साथ एक ही समय पर सोना चाहता हूँ. यह मेरी पहली चुदाई की कहानी थी पंजाबी भाभी के साथ!आपको कैसी लगी, ज़रूर बताना.

उसने मुझसे पूछा- तुम मेरे बारे में क्या क्या जानते हो?मैंने कहा- कुछ ख़ास नहीं … बस तुम्हारा नाम मालूम है कि तुम टीना हो. उनका पूरा लंड मेरी गांड में था और तभी मेरे प्यारे पति के लंड ने गर्म गर्म लावा मेरी गांड में छोड़ दिया. ये मुझे बहुत प्यार करती है और मेरा ख्याल रखती है। बस कुछ चीजें इससे चूक जाती हैं वो तुम पूरा करती हो।मुग्धा को देखते हुए मैंने कहा- ठीक यही बात तुम पर भी है.

वे उन्नाव में एक बैंक में कर्मचारी हैं।अब आप मन्नत भाभी को चूत की प्यासी भाभी भी कह सकते हैं क्योंकि उनके शौहर का नवंबर 2019 में कार एक्सीडेंट में देहांत हो गया था।लेकिन बैंक में होने के कारण उनको पैसे की दिक्कत नहीं थी.

बीएफ वीडियो चूत लंड: उसने गांड हिला कर इशारा किया, तो मैंने धक्के देना चालू कर दिया और जोर जोर से चोदने लगा. सोहल ने हनी की चुदास को समझ लिया और वो उसकी टांगों को खींच कर उसे बेड के किनारे पर ले आया.

चीटिंग सेक्स हिंदी स्टोरी मेरी बड़ी बहन की एक अनजान आदमी से चुदाई की है. कुछ पल बाद उसने अपने मुँह से मेरे लंड के सुपारे पर ढेर सारा थूक टपका दिया और सुपारा मुँह में लेकर चूसने लगा. बस में बहुत ज्यादा भीड़ थी, हम दोनों के सीटों के बीच में खड़े हो गए.

इस बार मैंने भी सोचा कि अपने जीवन की एक सच्ची घटना को हिंदी में भाभी की चुदाई कहानी के रूप में आपसे साझा करूं.

दीदी ने जैसे ही दरवाज़ा खोला तो उसकी सीधी नज़र मेरे मोटे लम्बे खड़े लंड पर गयी. मैंने उसके सामने खड़े होकर लंड सहलाया और उससे पूछा- लेना है?वो मेरे इस बेलाग सवाल से सिटपिटा गई और उसने नजरें झुका लीं. मैंने पूछ ही लिया- मम्मी कब से आप प्यासी हो?तो वो बोली- लगभग 6 महीने हो गए.