एचडी एचडी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी ठीक है

तस्वीर का शीर्षक ,

கருப்பு புண்டை: एचडी एचडी सेक्सी बीएफ, मैंने भी उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और फिर एक लम्बा चुम्बन किया.

हिंदी में सेक्सी इंडियन सेक्सी

इसी के साथ ही भाबी की आंखें बड़ी हो गईं और एक दर्द भरी कराह भी निकल गई. छोटी लड़कियों का सेक्सी वीडियो दिखाइएवो कोई न कोई जुगाड़ जरूर कर लेगी राज के लंड को मानसी की चूत तक पहुंचाने के लिए.

चूंकि मेरा दिमाग अब फोन की स्क्रीन पर मैसेज पढ़ने में व्यस्त हो गया था इसलिए शारीरिक गतिविधियों की तरफ इतना ध्यान नहीं जा रहा था. मधु शर्मा सेक्सी वीडियो वायरलअब मेरे दिल में विचार आया कि क्यों न मैं भाभी को अपने विशाल लंड के दर्शन करवा दूँ.

मॉम डैड कोई काम से गांव गए थे और भाई अपने दोस्तों के साथ घूमने और फ़िल्म देखने गए थे.एचडी एचडी सेक्सी बीएफ: जबकि हीना भी जानती थी कि साहिल समीरा के हाथ का नहीं बल्कि उसकी चूत का स्वाद चखना चाहता था.

भोला बोला- देख साले, आज तुझे भी हिरोइन जैसी मस्त आइटम का मजा मिल रहा है.मैंने देखा कि भाभी की चूत मेरे लंड को ऐसे लेने लगी थी जैसे बस वो झड़ने ही वाली है.

नवीन सेक्सी व्हिडिओ दिखाओ - एचडी एचडी सेक्सी बीएफ

वो दोनों भी अदला-बदली की चुदाई का आनंद लेना चाहते थे और जब मैंने हम चारों के साथ चुदाई का आनंद लेने के लिये हामी भर दी तो वो दोनों खुशी से उछल पड़े.सर से पांव तक भीगा हुआ मैं, कार चला कर वसुन्धरा को साथ लिए भरी बरसात में साढ़े सात बजे के लगभग धर्मपुर पहुंचा तो ऐसा लग रहा था कि जैसे हम किसी भूतिया नगर में पहुंच गए हों.

हाँ मेरे दोस्तों की बात अलग थी लेकिन यहां पर तो मैं अपनी रिश्तेदारी में आया हुआ था और वो मेरी भाभी लगती थी. एचडी एचडी सेक्सी बीएफ हेतल की बातों से लग रहा था कि वो मेरा लंड लेना चाहती थी और मानसी को राज का लंड लेने का मन कर रहा था.

अंदर डालने के तुरंत बाद ही वो उनको आगे पीछे करते हुए मेरी चूत में अंदर और बाहर चलाने लगा.

एचडी एचडी सेक्सी बीएफ?

वो मुझे चोदते चोदते मेरी चूची को भी मसल रहा था और कभी कभी वो मेरी चूत में उंगली भी कर रहा था. वो मेरे साथ कुल 4 दिन रही … और इन चार दिनों में वो मुझसे कितनी बार किन किन आसनों में चुदी, ये सब आपको लिखूंगा. मेरी हिंदी सेक्स कहानी मेरी और मेरे पड़ोस रहने वाली लड़की की पहली चुदाई की है.

मैंने अपनी किताब साइड में रख दी … और शोना की तरफ करवट लेके लेट गया. वो बोला- तो क्या फिर से मजा नहीं लेना चाहोगी?मैंने कहा- मन तो कर रहा है लेकिन भैया-भाभी आ जायेंगे तो उनको पता लग जायेगा और वैसे भी हम शादी में आये हुए हैं अगर किसी और ने देख लिया तो बहुत बदनामी हो जायेगी. मैंने भी अपना लंड निकाला और उस नजारे को देखते हुए वहीं पर मुट्ठ मारने लगा.

मेरा 2017 में वह आखरी साल था … तो मैंने सोचा कि इस साल थोड़ी मस्ती मजा करते हैं, कहीं घूमते फिरते हैं. पर मैं क्या करती … जो हो रहा था वो अनैच्छिक था, उस पर मेरा कोई बस नहीं चल रहा था. फिर एक दिन जब मैं अपने एक कॉलेज के समय के एक दोस्त से बात कर रहा था, तो मैंने उससे अपने साथ पढ़ने वाली लड़कियों के बारे में पूछा.

मैंने कहा- कोई पाप नहीं है, मैं आपसे सच्चा प्यार करता हूं और आपके लिए कुछ भी कर सकता हूं. अब उसने मेरी गांड के छेद पर भी उंगली का जादू चलाना शुरू कर दिया था.

मैं- तो फिर आप मुझे एक मौका दो ना भाभी आपकी सेवा करने का? अगर आपकी प्यास ठंडी न कर दी तो मेरा नाम बदल देना.

मैं बेडरूम में हूँ, आप यहां खुद को अपनी ही पारखी नज़र से एक नज़र निहारिये, ख़ास तौर पर अपने लहंगे को आगे से … बायीं ओर से.

उसने बताया कि वो पास के गांव से है … और पापा की यहां जॉब की वजह से उन्हें यहां रहने आना पड़ा. गिन्नी अपनी सीट से उतर कर ड्राइविंग सीट पर आई तो मैंने सीट थोड़ा सा पीछे खिसकाई और अपनी टांगें फैलाकर बीच में उसको बैठा लिया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:प्यासी चूत और भूखे लंड की कहानी-2.

कई बार काम करते हुए जब वह झुकती थी तो उसके बूब्स बाहर आ जाते थे जिनको चोरी छिपे मैं देखा करता था। उसके चूचों को देख कर मन करता था उनको अभी बाहर निकाल लूँ और अपने हाथों में लेकर जोर से दबाऊं और फिर उनको इतनी जोर से चूसूं कि उनमें से दूध निकल आये. वो एक ट्रांसपेरेंट नाइटी में थी, जो कि मुश्किल से उसकी जांघों तक की थी. फिर अचानक से बहुत तेज बिजली कड़की और मुझे एक पुरानी फिल्मों की तरह की एक हवेली नजर आई मैंने सोचा कि चलो रात तो बिताई जा सकती है।मैं उस हवेली की तरफ बढ़ चला.

वहां पर सब लोगों ने एक साथ मेरी शादी की वीडियो देखने के लिए प्लान किया हुआ है.

मैंने उसको बताया- मुझे जब भी मेरी चॉइस की लड़की मिलेगी, तो मैं अगले दिन ही शादी कर लूंगा. डर और आशंका के मारे मेरा बुरा हाल था जैसे किसी पेशेंट को ऑपरेशन थिएटर में जाने के पहले होता है. इसके बाद वो अपने कपड़े पहन कर जब नीचे जाने लगी, तो ताऊ जी ने बोला- यह बात किसी को बताना नहीं.

उन्होंने मुझे देखा और हैरानी से पूछा- अरे तुम … आज जॉब पर नहीं गया क्या?मैंने अन्दर आते हुए कहा- नहीं मुझे बैंक में काम था. मगर कुछ दिन बाद ही एक रेलवे भर्ती परीक्षा के लिये मेरा बुलावा आ गया जो कि बिलासपुर में होनी थी। भर्ती परीक्षा की ये बात कहीं से कमला चाची को भी पता चल गयी कि मैं भर्ती परीक्षा देने के लिये बिलासपुर जा रहा हूं, इसलिये अगले दिन ही कमला चाची मेरे पास आकर मुझसे पूछने लगी कि अगर तुम बिलासपुर जा रहे हो तो मोनी का भी कुछ सामान अपने साथ ले जाओगे क्या?वैसे मैं ये परीक्षा देने के लिये जाना नहीं चाहता था. कुछ देर ऋतु की चूत को चाटने के बाद उसने मेरी चुदासी हो चुकी बीवी को बैठा दिया और अपना लंड उसके मुंह में डाल दिया.

[emailprotected]इससे आगे की कहानी:मकान मालकिन की बड़ी बेटी भी चुद गयी.

मैंने दीदी से कहा- क्या आपको प्यास नहीं बुझानी?दीदी मेरा इशारा समझ गयी. मैंने कहा- भाभी आज बहुत दिनों बाद नींबू देखे हैं, उन्हें चूसने का दिल कर रहा है।भाभी मुस्कुराने लगी। भाभी भी मुझ से मजे लेने लगी।बोली- देवर जी, नींबू का पेड़ भाई साहब का है। उन से पूछ लो और नींबू चूस लो।मैं- ना जी, हम तो पेड़ से ही पूछेंगे। वो अपने नींबू चुसवायेगी या नहीं।जब मैं छोटा था तो उन भाभी के घर पर ही रहता था। बहुत बार मैंने उन्हें किस भी किया था और उनके मम्में भी दबाये थे.

एचडी एचडी सेक्सी बीएफ अब वह खुद भी नंगा हो जाता था और अपना लंड मेरे हाथ में थामकर मुझे कहता था- इसे सहलाओ. उनकी चुत आग की भट्टी की तरह तप कर गोल्डन रंग सी चमकती हुई दिख रही थी.

एचडी एचडी सेक्सी बीएफ बिना राहुल का जवाब सुने संगीता ने एक झटके में अपना कुरता उतार दिया. राहुल का दिमाग घूम रहा था, उसने कहा- आज नहीं कल!फ्रिज से राहुल ने बियर निकाली और नंगे होकर शावर के नीचे खड़ा हो गया और बियर पीते पीते नहाया.

मैंने कितनी बार तुमको अपने दिल की बात बताने की कोशिश की लेकिन तुमने कभी मेरी बात नहीं सुनी.

नंगी पिक्चर चलाएं

मेरी बहन लगातार मेरे 6 इंच के लंड को तनी हुई अवस्था में देखे जा रही थी. संतोष जी को अपने गांव में कुछ काम होने के वजह से एक महीने के लिए जाना पड़ गया. वहां उन्होंने मेरी नाइटी को निकाल दिया और मेरी चूचियों को ऊपर से दबाने लगे.

ताऊ जी ने अपने लंड को कोमल की गांड से निकाल लिया और उसके ऊपर से हट गए. अचानक मुझे मेरे लंड पर कुछ गर्म भाप और गीलेपन का अहसास हुआ, जिससे मेरी आंखें खुल गईं. मैंने कहा- आपको नंगी देख कर किसकी नीयत खराब नहीं होगी भाभी?वो बोली- हे भगवान, आज तेरे भैया से तेरी शादी की बात करनी ही पड़ेगी। इससे पहले मैं कुछ और कहता वो अपने कमरे में भाग गई।भाभी से इस तरह की सेक्सी बातें करने और उनकी कच्छी को उनके सामने ही सूंघने के बाद मेरे अंदर की प्यास बहुत ज्यादा बढ़ गई और मेरा लंड तन गया.

तब अंकल को पता चला कि मेरी मां की चूत ठीक से चुदी हुई नहीं है। अंकल यह देख कर खुश हुए.

मेरे लंड की मोटाई और लंबाई के कारण मेरा लंड दुनिया में कुछ ही लंडों में से एक था, जिसकी हर किसी लड़की, औरत … सबको जरूरत होती है. उसको देख कर कोई भी कह सकता है कि उसका नाम उसको बिल्कुल ही सूट करता है. मैं तो उसी दिन सब कर लेना चाहता था लेकिन मैं उसका भरोसा जीत कर आगे बढ़ना चाहता था.

वैसे वो काफी शर्मीली किस्म की लड़की थी लेकिन जब हम बात करती थी तो मेरे साथ वह खुल कर बात करती थी. ”फिर मेरा चेहरा अपनी जांघों के बीच में लेके उसने लौड़ा मेरे मुंह में दे दिया। मैं चूसने लगी।तभी अंशु आ गयी।अंशु कल कामिनी की मम्मी को बुला ले!”क्यों उनका यहां क्या काम?”अरे उसकी बेटी से हम दोनों शादी करेंगे तो उसके सामने करेंगे न!”वो मान जाएगी? कुछ गड़बड़ न हो जाए?”तू चिंता मत कर वो बहुत खुश होगी. कुछ देर बाद उसके नर्म होंठ मेरे गालों को छू कर निकल गए और अपनी लिपस्टिक का निशान छोड़ गए.

बबीता बोली- जितना मजा करना है आज ही कर लो मंजू, उसके बाद ऐसा मजा नहीं मिलेगा. मैं डॉगी स्टाइल में उसके ऊपर आ गयी और विक्की मेरे पीछे आकर मेरी चूत को चाटने लगा.

मैं बेकरारी के साथ बोली- अंकल नंगी करके दीदी की तरह …यह सुन वह ज़रा चौंका, पर मेरे जैसे ताज़े माल में वो इतना मगन था कि उसकी कुछ समझ ही नहीं पाया. थोड़ी देर बाद मैंने उसके गालों पर चुम्बन किया और अपने होंठ उसके होठों पर जमा दिये. फिर मैं परेशान हो गया, मैंने मानसी से कहा- ऐसे तो मैं तड़प कर ही मर जाऊंगा.

मैंने आपको अपनी पिछली सेक्स स्टोरीभाबी जी लंड पर हैंमें कैसे मैंने अपने लंड से भाबी की चुत और गांड की सेवा करके उन्हें खुश कर दिया था.

सुचिता ने अपनी स्कूटी निकाली और हम दोनों से बोली- बाई … एन्जॉय योर हनीमून …वो आंख मारते हुए निकल गई. आंटी ज्यादा भाव नहीं देती थी पर उनकी लड़कियों से बात हो जाती थी जब वो अपने कपड़े ऊपर सुखाने आती थी. लेकिन अगले ही मिनट में ही दोबारा से विक्की का लंड निहारिका की चूत में घुस गया था.

रीना के जन्मदिन के मौके पर मुझे भी वीणा जैसे शरीर की मालकिन की चुदाई करने का भरपूर मौका मिल रहा था। मैंने भी मन ही मन ठान लिया था कि आज वीणा को जब उसका पसंदीदा लंड मिलेगा तब उसे चोद-चोद कर उसका बुरा हाल कर दूंगा।बाथरूम से बाहर निकलकर रीना और मैंने खाना खाया। करीब 11:30 बज गए थे. मैंने अपनी टी-शर्ट उतारी और सीधे कम्बल में घुस कर कीर्ति से लिपट कर किस करना शुरू कर दिया.

मेरे अचानक इस तरह बोलने से उसने झट से मेरे लंड को मुँह से बाहर निकाला और मुझे देखने लगी. यात्रा बस संचालक के साथ मैं कई बार यात्रा कर चुका था इसलिए वो मुझसे आग्रह करने लगा. अगर वो दो मिनट भी मेरे लंड को इतने प्यार से हिला देती तो मेरा लंड पिचकारी उसके सिर के बालों तक फेंक देता.

देहाती सेक्सी एचडी वीडियो बीएफ

मैंने देखा कि नाभि के नीचे अपनी कमर पे उसने एक ज्वेलरी पहन रखी थी जो कि पतली सी चैन थी.

ये थी मेरे साथ घटी सच्ची घटना, जिसे मैंने आपके सामने प्रस्तुत किया. चूंकि हमारा पहला सेक्स था और उसकी चूत कुंवारी थी इसलिए मैं भी थोड़ा नर्वस हो रहा था. मैंने परवीन को अपनी बांहों में भर लिया और हम नींद के आगोश में चले गए.

कभी बाहर घूमने चले जाते तो कभी साथ में आइसक्रीम खाने के लिए निकल जाते थे. जैसे ही उसने मेरे बूब्स पर अपने दोनों हाथ रखे तो मेरी आह … निकल गयी. marathi सेक्सी व्हिडिओमुझे लग रहा था कि वो मेरे धक्के के साथ ही चूत की दीवारों को संकुचित कर लेती थी जिससे लंड बार-बार उसकी चूत पर रगड़ खा रहा था.

उस दिन मानसी ने मौसी के अंदर मर्दों के लिए दबी हुई भावनाओं को कुरेदने का काम तो कर दिया था, अब आगे का मोर्चा मुझे संभालना था. मैंने उसको फोन किया तो उसने कहा कि मेरे भैया ने घर पर ताला लगा दिया है ताकि मैं कहीं बाहर न जा सकूं.

काफी देर तक चुम्बन के साथ साथ मैं उसके स्तन को भी दबा दबाकर उसका दूध निकालता रहा. मैंने कहा- भाभी, क्या आपको मेरे साथ अच्छा लग रहा है?भाभी ने मेरे गाल पर हाथ फेर दिया और कहा- मैं इसी प्यार की तो भूखी हूँ. मैं बोली- धीरे डाल साले कुत्ते … साले अपने लंबे लंड से क्या मेरी चुत फाड़ देगा?वह बोला- रुक जा मेरी रंडी … अभी तो शुरूआत है, आगे आगे देख क्या होता है.

फिर धीरे धीरे मैं उनके करीब रहने से मेरा उनके प्रति आकर्षण बढ़ने लगा और शायद वो भी मुझको धीरे धीरे पसंद करने लगी थीं. वो बोल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तभी मैंने परवीन को कंधों से पकड़कर कस लिया और एक जोरदार धक्का दे मारा. आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊह, उफ उफ, बस करो, यह आवाजें रुकने के बजाय और तेज करने का काम कर रही थीं.

करीब 20 मिनट तक हम लोग किस करते रहे और साथ साथ मैं उसकी दोनों चुचियों को भी दबा रहा था.

जब हिरेन 18 की उम्र को पार कर रहा था तो एक दिन मैंने सुबह के वक्त उसका लंड उसकी पैंट में तना हुआ देखा था. इसके बाद उसकी ब्रा निकाल कर उसके मम्मों को मुँह में लेकर चूसना शुरू किया.

मैं ऐसे ही चूसते हुए उसके एक मम्मे को ब्रा के ऊपर से ही मुँह में लेने लगा. चाची बोली- आह्ह … हरामखोर, ये चूत थी, तुम्हारा लंड इसको भोसड़ा बना रहा है. मैंने ध्यान से देखा कि उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी जिससे मुझे उसके कड़क निप्पल की नोकें ऊपर से ही साफ़ दिख रही थीं.

आंटी ज्यादा भाव नहीं देती थी पर उनकी लड़कियों से बात हो जाती थी जब वो अपने कपड़े ऊपर सुखाने आती थी. मैं उसकी किताबों को साफ कर रही थी तो मुझे उसके कमरे में उसकी पढ़ाई की किताबों के नीचे एक नंगी तस्वीरों वाली मैगजीन मिली. सुमन बोली- नहीं, मैंने टेबलेट ले ली है और अभी घर पर कोई नहीं है मम्मी पापा भी आने वाले हैं.

एचडी एचडी सेक्सी बीएफ आगे मैं बताऊंगी कि मैंने और मेरे बेटे ने कैसे शादी की और हम हनीमून में गोवा गए. अब्बू ने छिपकली को शुक्रिया करते हए कहा- तो उस छिपकली की वजह से मुझे तुम्हारा ये हसीं जिस्म मिला.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी मूवी इंडियन

उसने कोशिश करके अपने लंड का टोपा ही डाला था कि मेरी जान निकलने लगी. मैंने कहा- चूसो इसे!इस पर वो बोली- ठीक है, लेकिन ज़्यादा नहीं!मैंने कहा- हाँ!और उसने मेरे लंड का चिकनापन अपनी साड़ी से साफ किया और मुँह में लेने लगी. ऊपर बढ़ते हुए मैंने उसकी चूत पर देखा, तो उसकी बिना चुदी चूत हल्की झीनी सी कैप्री में फूली हुई नजर आ रही थी.

फिर प्रिया ने कहा- तुमने टीटी से ये क्यों कहा कि तुम मेरे मंगेतर हो।मैं- वो इसलिए कि टीटी तुम्हें परेशान ना करे और तुम्हें फाइन ना देना पड़े।प्रिया- जब तुम्हें पता था कि ये मेरी सीट नहीं है तो अपनी सीट क्यों दी?मै- बताया तो है कि आपको दिक्कत ना हो इसलिए!प्रिया- और तुम?मैं- बैठे बैठे सो जाता. ” नितिन मेरे इस व्यवहार से थोड़ा चौंक गया, मुझे दूर धकेलते हुए उसने पूरा दरवाजा खोला।बाहर देखा तो और दो लोग खड़े थे और मुझे देख कर मुस्कुरा रहे थे, मुझे बहुत शर्मिंदगी महसूस हुई।वो दोनों नितिन के कलीग थे, नितिन ने उन दोनों की पहचान कराई वे वही पर नितिन से थोड़ा दूर खड़े थे।ये मेरे कलीग हैं, जहाँ पर मेरी ट्रेनिंग थी, ये वहीं पर काम करते हैं. एक्सएक्सएक्स देसी सेक्सी वीडियोफिर मैंने उसकी ब्रा को उतारा और उसके चूचों के बीच में तने हुए उसके भूरे रंग के निप्पलों को दांतों से काटा तो उसने मेरा सिर पकड़ कर अपने चूचों पर दबाते हुए मुझे अपने सीने में छिपा लिया.

मैंने थोड़ा हिम्मत करके बोल दिया- पिलाना है, तो अपना पिलाओ … तो कुछ बात बने.

तब तक मैंने 10:30 के शो की टिकट ले ली और पारुल का इंतज़ार करने लगा. मैं- सच!दीक्षा- अरे हां बाबा सच … अब बोलो!मैं- दीक्षा मैं बहुत दिन से फील कर रहा हूँ कि मैं तुमसे प्यार करने लगा हूँ, आई रियली लव यू.

फिर अब्बू ने अपनी जीभ मेरी बीवी की गर्म चूत के आस पास घुमाना शुरू कर दिया. फिर उसके बाद मैंने भाभी की गांड भी मारी लेकिन वह कहानी मैं आपको फिर कभी बताऊंगा. चूंकि मेरा दिमाग अब फोन की स्क्रीन पर मैसेज पढ़ने में व्यस्त हो गया था इसलिए शारीरिक गतिविधियों की तरफ इतना ध्यान नहीं जा रहा था.

वो रुक गयी और बोली- बताओ क्या करना है?मैंने कहा- मुझे और पीनी है … तुमने मेरा सारा नशा ही उतार दिया.

फिर हम दोनों विक्की के दाएं बाएं लेट गए और उसकी छाती पर हाथ फिराने लगे. मैं बीच में सबको रोकते हुए बोला- देखो बच्चा आप लोगों की लाइफ को बचा सकता है. उसकी आंखें फटी की फटी रह गई और वह बिना आंख झपकाये मेरे बूब्स को देखता रहा.

हिंदी सेक्सी नंगा फिल्मउसका लंड मेरी चूत में पूरा फंस गया था और चूत को पूरी फैलाता हुआ अंदर और बाहर हो रहा था. जैसे ही रीना ने फ्लैट का दरवाजा खोला वह बोली- वाह राज, क्या बात है! इस चुदाई मंच को तो तुमने बड़ा ही मनमोहक बना रखा है, शानदार खुशबू और क्या सफाई है, रंग बिरंगी रोशनी। बिल्कुल वैसा ही जैसा कि हमने सीमा और श्लोक के साथ सामूहिक अदला-बदली करते वक़्त सजाया था।मैं- जी रीना जी, बातों को एक तरफ रखिए.

बीएफ बीएफ ww2 system requirements

मैं तो सोच रहा था कि पता नहीं भैया इस सेक्स की प्यासी भाभी के सामने कैसे टिक पाते होंगे. खाना खाने के बाद कोमल एक लोटे में पानी लेकर और डिब्बे में तेल लेकर जैसे ही ताऊ जी के पास जाने लगी. लेकिन अब मैं भी जवान था और इतना समझने लगा था कि सामने वाला इन्सान आप में कुछ रुचि ले रहा है तो जरूर उसके मन में कुछ न कुछ बात होगी.

मैंने उसके पति को अपनी बांहों में कस लिया, उससे कहा- ये लो और अच्छी तरह से पी जाओ इसे. जोन्स ने अपना एक हाथ मेरी जांघ पे रखा हुआ था और हल्के हल्के सहला रहा था. इसके बाद कैसे मैंने उसको दोबारा चोदा, नहाते हुए कैसे उसकी गांड मारी, वो सब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगा.

मैं नीचे की तरफ ही था कि उसने मेरी गर्दन को पकड़ा और अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया. अब आगे शुक्रवार का मुझे बेसब्री से इन्तजार था, जब मेरी कमसिन चूत को अंकल का फौलादी लौड़ा फाड़ने वाला था. आह … मर गई … कल रात ही तो किया था यार … अब बाहर भी निकालो … जलन हो रही है.

मैं- आई प्रॉमिस यू चाची … ये बात हमारे बीच में ही रहेगीचाची- अच्छा … चल बेडरूम में चल. मुझे पता है कुछ तो ऐसे सोच रहे होंगे कि काश रश्मि (मेरी बीवी) की चूचियों में वो अपना लंड रगड़ दें और रश्मि की चूत को अपने माल से भर दें.

फिर एक लड़की से मेरी शादी हो गयी … नाम अंशु। सुहागरात भी हुई और मैंने उसे चोदा भी पर मज़ा नहीं आया। वो उपिंदर के साथ चिपक के उससे दबवाने का, उसका चूसने का, उससे मरवाने का मज़ा कुछ और ही था।पर शादीशुदा ज़िन्दगी चलने लगी, हम दोनों सेक्स के मामले में खुल गए।शादी के 8- 10 दिन बाद अंशु बोली- तुम्हारी चुचियाँ बड़ी प्यारी हैं, मेरा मसलने का, चूसने का मन करता है.

दिशा को अपने ऊपर किया गया कमेन्ट याद था, इसलिए उसने भी राधिका का मजा लेना चाहा. सनी लियोन का नंगा सेक्सी वीडियोमगर हमारे बीच में ओरल सेक्स बहुत बार हो चुका था और होता ही रहता था. सेक्सी वीडियो हॉट एक्स एक्स एक्सबहुत देर लगा दी? कहाँ रह गयी थी?वो … संजीवनी आंटी?”कौन संजीवनी?”वो … सामने वाली बंगालन आंटी”ओह … क्या हुआ उसे?”हुआ तुछ नहीं”तो?”उसने मुझे लोक लिया था?”क्यों?” मेरी झुंझलाहट बढ़ती जा रही थी।वो … वो मुझे घल पल ताम तलने ता पूछ लही थी?”फिर?”मैंने मना तल दिया. तभी मामा ने मुझे रोकते हुए कहा- अरे शकील, कल तुम जॉब से सीधे यहीं आ जाना.

मैंने उसको कुछ कॉस्मेटिक का सामान भी दिलवाया ताकि वो सज-संवर कर मेरे साथ संभोग करे.

जब उसे लगा कि उसकी गांड अच्छे से गीली हो चुकी है, तो वो फिर हटी और इस बार लंड को गांड के मुहाने में लगाकर उस पर दबाव देने लगी. मैं अक्सर सपनों में भी या तो किसी की गांड मार रहा होता या अपनी गांड मरवा रहा होता था. सुपारा तो जैसे तैसे फिसलता हुआ मेरी चूत में घुस गया; मैंने और जोर से लण्ड को चूत से दबाया तो फिर दर्द के मारे मेरी चीख निकल गयी और मैं उनके ऊपर से हट गयी.

लेकिन मैं कुछ कर नहीं पाया, क्योंकि मैं अभी उन्हें किस का जबाव देने लायक स्थिति में नहीं था. चाची ने उससे बोला- देखो, वो तुम्हारे बाप के समान हैं, दूसरे घर के होकर भी पूरे दिन खेतों में देख रेख करते हैं. मुझे उसके आने की आहट हुई तो मैंने आंखें बंद कर ली और सोने का नाटक करने लगा.

ब्लू पिक्चर मूवी बीएफ

नम्रता ने भी अपनी जीभ को सुपारे पर चलाई और फिर मुँह के अन्दर लंड को ले लिया, तभी लंड ने वीर्य रस को छोड़ना शुरू कर दिया. अपनी ओर से ग्रीन सिगनल दिखाती हुई मैं फ़ौरन अपना हाथ चूत पर ले गई और अपनी पेंटी से ही चुत को खुजलाते हुए उसको देखने लगी. आप सीमा के बारे में अनाप-शनाप बोले जा रहे थे कि बहुत दिन हुए चुदाई किए। आज सीमा तेरी फाड़ डालूंगा। आप और मैं दोनों नशे में धुतथे। मैंने आपको हाथ पकड़ कर रोकना चाहा लेकिन रोक नहीं पाया।वैसे भी जब हम कल शराब पी रहे थे तो मेरी शराब की मात्रा आप से दोगुना थी।अतः मैं वहीं सोफे पर गिर गया.

अगर कोई सुन ले तो क्या कहेगा … इस बात से हम दोनों को कोई असर नहीं था.

बेबी को बेड पर लिटाकर मैंने उसके निप्पल चूसने शुरू कर दिये और चूत सहलाने लगा.

तभी उसकी आवाजें तेज हो गयीं और वो जोर से झड़ने लग गयी।लेकिन मैं पहले लंड चुसाई से एक बार झड़ चुका था तो मेरा नहीं हुआ था. अश्लील मुसकान के साथ मेरी फांक को मसलते हुए वो बोला- चुदवा देंगे, पूरा मज़ा दिलवाएंगे, पर पहले चुदवाने लायक तो हो जाओ. आंटी सेक्सी नंगीउसने तुरंत ही एक थपकी मेरी चूचियों पर दे दी और मुझे मज़े से अपनी बांहों में भरकर कहा- अपने अंकल से क्यों शरमाती हो … तुम बड़ी हो गई हो, खूब दबवाकर मज़ा लिया करो.

लेकिन जब रात को वो मेरी बांहों में लेटी हुई थी तो मैंने फिर से उसको नंगी कर दिया. मुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड के लंड से चुदने में इतना मजा कभी नहीं आया जितना कि तुम्हारे लंड से आया. अब आगे:अगली सुबह हम नाश्ते की मेज पर तीनों मिले। तीनों के चेहरे पर एक अजीब सी मुस्कुराहट थी। इधर वीणा और विक्रम दोनों जानना चाहते थे कि अदला-बदली संपन्न करने के लिए मेरे दिमाग में क्या चल रहा है?मैंने दोनों के सामने ही रीना को फोन लगाया और बात करने लगा। उधर रीना को पता नहीं था कि हम दोनों की बातें विक्रम और वीणा भी सुन रहे हैं.

हुआ यूं कि मुझे एक जगह अच्छी जॉब मिल रही थी तो मैंने वहाँ मेरे डॉक्यूमेंट भेजने थे. उसकी चूत किसी भट्टी की तरह गर्म थी और मेरे लण्ड को अंदर की ओर खींचे जा रही थी, जैसे मुझे पूरा ही अपने अंदर समा लेना चाहती हो.

मुझे लगने लगा कि कहीं उसने ये बात अपने पति को या सास को बता दी, तो मैं तो गया काम से.

मैंने गेट पे उसे रोका और बोला- दीदी, तुम गेम पूरा नहीं कर पाईं, इसकी सजा तो तुम्हें मिलेगी. चाहे मुझे अपने हाथों से ही मुट्ठ ही क्यों न मारनी पड़े। लण्ड तो मेरा हर समय, हर जगह खड़ा ही रहता है। मगर अपने लंड की प्यास तो रात को ही बुझा पाता हूं।बहुत दिनों से मेरे लण्ड को चूत के दर्शन नहीं हुए थे, तो मैंने सोचा कि चंडीगढ़ में तो किसी भी लड़की, आंटी और भाभियों की चूतों को मेरी जरूरत ही नहीं है। शायद सबकी चूतें शांत होंगी. उसके पैर दोनों घुटनों से मुड़े हुए सामने की तरफ थे और हाथ घुटनों पर रखे थे.

हिंदी सेक्सी वीडियो लड़की की साहिल ने हीना के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को चोदने लगा और मजे में सिसकारने लगा- उम्म्ह… अहह… हय… याह…फिर साहिल ने हीना की चूचियों को भींचना शुरू कर दिया. तो वो हंसने लगी, उसने कहा- सिर्फ देखो मत, उन्हें भी कुछ दिखाओ, फिर देखो कितना मजा आता है.

उसने वीडियो देखके फ़ोन वापिस कर दिया … लेकिन वो मुझे देखे जा रही थी. मेरी गलती को सुधारने तथा अपनी राय मुझे[emailprotected]पर जरूर मेल करें. फिर उन्होंने मेरी बीबी की ब्रा को भी उतार दिया। अब अब्बू मेरी कौसर के होंठों पर अपने होंठ रखते हुए उसे चूमने लगे.

सनी लियोन एक्स फिल्म

मधु की मादक कराहें सुबह से ही कमरे को मदहोशी में डुबोने लगी थीं- अहआहआ … उईई. भाभी की गांड पर लंड को सटा कर मैं उनकी गांड पर लंड को ऊपर नीचे रगड़ने लगा. कुल नौ दस घंटे का रास्ता था, तो दिन मैं चार बजे की बस पकड़ के बारह घर पहुंच जाया करता था.

मैं डॉगी स्टाइल में उसके ऊपर आ गयी और विक्की मेरे पीछे आकर मेरी चूत को चाटने लगा. मैंने पेरेंट्स से पूछ लिया- मैं बबीता को बुला लूँ क्या?पेरेंट्स ने बबीता को बुलाने के लिए हाँ कह दिया और मैंने उसको बुला लिया.

मैंने अपने बाएं हाथ से धीरे से नाड़े की गाँठ खोल दी जिसका वसुन्धरा को रत्ती-भर भी अहसास नहीं हुआ.

मेरे उंगली करने से भाभी का भी बुरा हाल हो गया।उन्होंने मुझे कस कर पकड़ लिया औऱ बोली- देवर जी, तुमने मुझे बहका दिया अब और मत तड़पाओ और डाल दो अपना ये गर्म हथियार मेरी चूत में। अब सहन नहीं होता।मैंने भाभी को घुमा कर झुका लिया. बातों-बातों में आंटी ने मुझसे पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने बोला- नहीं, मेरी अभी तक कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. फिर वो बोली- कंवर साहब, मुझे भी ज़मीन पर सोने में बड़ी परेशानी होती है.

फिर दोनों उरोजों के बीच से उसके पेट को चाटते हुए उसकी गहरी नाभि पर पहुंचा. उनकी दाढ़ी मेरी मां के बूब्स पर चुभ रही थी जिसकी वजह से मां को थोड़ी तकलीफ हो रही थी। कुछ देर तक मेरी मां के दूध के साथ खेलने के बाद अंकल ने उसकी साड़ी खोल दी और साथ ही पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया और साड़ी और पेटीकोट को उतार कर अलग कर दिया।अब मेरी मां सिर्फ सफेद ब्रा और नीली पैंटी में अंकल के सामने खड़ी थी. मैंने बोला- अदिति मैं तुम्हें बहुत चाहने लगा हूँ और तुमसे बहुत प्यार करने लगा हूँ, पहले दिन से ही जब से तुम्हें ट्रेन में देखा है.

इसी समय मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी और जैसे ही हम दोनों के नंगे जिस्म एक दूसरे से मिले, तो मानो भूसे में आग सी लग गयी.

एचडी एचडी सेक्सी बीएफ: मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं उनको नहीं, वो मुझे चोदने वाली हैं, क्योंकि जब मैंने अपना हाथ उनकी साड़ी के अन्दर गांड पे ले जाना चाहा, तो उन्होंने मना नहीं किया था … बस ‘उन्ह …’ कह कर झटक दिया था. अंकल जी ने दम साध कर लण्ड को चूत में धकेल दिया पर वो स्लिप मार गया; उन्होंने फिर से कोशिश की तो लण्ड मेरे योनिपटल से आ टकराया और मैं चीख पड़ी.

मैं ऐसे लेटा आराम से मैगजीन पढ़ता रहता, वह भी बहुत मन लगाकर मेरे लंड को चूसता … पूरा-पूरा लंड अपने मुँह में गप से रख लेता. मैं फिर भी खुश हूँ तेरे लिए, तू मेरा इतना सा काम नहीं कर सकती?मैंने कहा- मैं क्या कर सकती हूँ? हर्षिल का लंड पकड़ के तेरी चूत में तो नहीं डाल सकती ना!उसने कहा- जैसे मैंने उसे तेरी सील तोड़ने के लिए सेट किया था, ऐसे ही तू मेरा करवा दे बस एक बार।मैंने सोचा कि तन्वी ने मेरी इतनी मदद की है, शादी में भी मेरी सेटिंग करने में मदद की तो मुझे भी अपनी सहेली की मदद करनी चाहिए. सेक्स करते करते बीच में हमने स्टाइल बदल दिया और जीतू मुझे घोड़ी बना कर मुझे चोदने लगा.

वो बोली- आप तो उस दिन के बाद ऐसे गायब हुए कि आज 2 महीने बाद मिले हो.

मैंने देखा कि ऋतु की गांड से एक तरल पदार्थ बह कर बाहर निकल रहा था जो उसकी चूत की तरफ जा रहा था. वहां जाते ही एक लड़की, जो मेरा इंटरव्यू लेने आयी थी, मैं उसे देखता ही रह गया. तभी तन्वी ने एक बॉक्स मेरे हाथ में रख दिया और बोला- ये मेरी तरफ से गिफ्ट।मैंने उसे खोला तो उसमें मेरे लिए साड़ी के मैचिंग रंग का ब्लाउज़ और पेटीकोट था।मैंने दोनों शुक्रिया कहा.