हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली

छवि स्रोत,बिहारी भाषा बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

राणी मुखर्जी सेक्स: हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली, मैंने कहा- यार मोहित ने मना किया है क्या कि जब मैं आ जाऊँ तभी करना!भाभी बोलीं- ऐसा तो नहीं है.

हिंदी बीएफ सेक्सी साडी

मैं धीरे धीरे लंड गांड के अन्दर डालने लगा और साथ में कमली को मसलने लगा. बिहार का सेक्सी बीएफ एचडीफच्च फच्च की आवाज से पूरा कमरा गूंजने लगा।थोड़ी देर बाद आंटी की चूत ने पानी छोड़ दिया और वो शांत हो गई.

उसने किसने? और तुम्हें कैसे पता कि दो‌ ही पैड थे, सच सच बताओ!मैं जानबूझकर अब घबराने‌ की एक्टिंग सी करने‌ लगा और हकलाते हुए बोला- न्. बीएफ वीडियो हिंदी हिंदी बीएफअदल बदल कर हम चारों ने भांति भांति के आसन में चुदाई की और इस बार हम दोनों गबरुओं ने उनके मुँह में माल झाड़ कर लंड साफ़ करवा लिए.

मैं उसकी तरफ देखने लगा कि ये तो ग्राहकों को देखने के लिए ही कह रहा है.हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली: जीजा जी के जाने के बाद जब वो मेरे लिए नाश्ता लेकर आयी, तो उससे बात होने लगी.

संध्या चाची- हां जानती हूँ, फिर मुझे अपनी अपनी सहेली की मां को तुमसे चुदवाना पड़ा था क्योंकि चाची और सहेली की मां दोनों मोटी हैं और वैसी ही यहां संगीता भाभी भी भरे बदन वाली हैं.सुबह होटल से नाश्ता आदि करके मैं कॉलेज जाने के लिए बस स्टॉप पर आया ही था कि मेरा ध्यान वहां पर खड़ी एक बेहद ही खूबसूरत लड़की ने खींच लिया.

सेक्सी एचडी इंग्लिश बीएफ - हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली

संजना ने अपने होंठों पर हल्की गुलाबी लिपिस्टिक लगाई थी और कानों में बड़े से ईयरिंग पहनी हुई थी.फिर ऊपर से इस तरह से बांधा कि मेरी एक तरफ की चुची पूरी खुली थी और उन दोनों चुचियों के बीच की गहराई भी दिख रही थी.

अब आगे हार्डकोर सेक्स इंडियन स्टोरी:मैंने कमल से कहा- चल अब बात यहीं खत्म कर. हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली अगर आप मुझसे प्राइवेट कॉल पर बात करना चाहते हैं या एक्सक्सक्स कामुक विडियो कॉल का आनंद उठाना चाहते हैं तोइस लिंक पर क्लिक करें।.

मेरे कुछ और पूछने से पहले ही उन्होंने बता दिया कि अभी उनके घर पर उसके अलावा कोई और नहीं है.

हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली?

रश्मि ने दोनों की बात को मान कर कहा- चलो, आज गांड का भी उद्घाटन करवा लेती हूं. शादी के बाद उसने खुद से मुझे अपना नम्बर दिया और मुझसे मेरा नम्बर मांगने लगी. करीब दस मिनट की चुदाई में भाभी की कसी हुई गांड की चुदाई में मोहित झड़ गए और बगल में लेट गए.

हम हाइवे के एक अच्छे होटल पर रुके और सबने‌ अपनी‌ अपनी पसन्द का नाश्ता किया. हम हाइवे के एक अच्छे होटल पर रुके और सबने‌ अपनी‌ अपनी पसन्द का नाश्ता किया. चुची छोड़ कर मैंने सलवार का नाडा़ पकड़ लिया तो चाची न मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- कोई आ गया त रुका नी जाता.

आफ़िया भाभी मुझसे पूछने लगीं- आप पहली बार आते समय गेट पर क्यों रुक गए थे?तो मैंने उनसे कहा- मैं आपकी सुंदरता में इतना खो गया था कि मुझे कुछ होश ही नहीं रहा. थोड़ी देर में ही मैंने लंड पर चुदाई चालू कर दी … और इसी तरह वो मेरे लंड को भी अपने मुँह में ले पा रहा था. किसी अनजान लड़के से दोस्ती करना क्या जरूरी था!मासी उदास होकर बोलीं- मैं तुझसे सब सच बता देना चाहती हूँ.

आफ़िया भाभी ने मुझे हिलाकर कहा- क्या हुआ … क्या गेट पर ही सब कर लेने का इरादा है देवर जी? यहीं खड़े रहोगे या अन्दर भी आओगे?भाभी के हिलाने से मुझे होश आया और मैं रूम में आकर सोफे पर बैठ कर काफ़ील से बातें करते हुए फिर से भाभी को देखने लगा. अपने काम से निवृत होकर कमल ने एक नौकर को किसी महिला को कमली नाम बता कर उसे उसकी बेटी सहित बुलाया.

वो मेरे करीब आकर मेरी पैंट को निकालने लगी और मेरा अंडरवियर निकाल कर देखा.

इस बार पहली बार मेरी जीभ ने पूजा के मुँह के अन्दर जाकर रस लेना शुरू कर दिया था.

उसने बताया था कि उसके पति एक मल्टीनेशनल कंपनी में मार्केटिंग हेड हैं और पूरे महीने में केवल 10-12 दिन ही सिटी में रहते हैं. मैंने तुरन्त उसको रोका और पूछा- रुक क्यों गए?वो बोलने लगा- आपकी आंखें बंद हो गयी थीं … इसलिये मैंने समझा आप सो गई हैं … इसलिए जाने लगा. सुबह जब नींद खुली … तो मानवेन्द्र मेरे सिरहाने ही बैठा था और मुझे ही देख रहा था.

इसके बाद मैंने औंधे लेटे हुए ही उससे कहा- पहले देख कर आओ कि घर में सब सो गए हैं या नहीं … फिर सब कर लेना. वो मेरे सिर को लंड पर दबाये रहा और फिर धीरे धीरे उसकी पकड़ ढीली हो गयी. फिर मैंने उनकी चूत के बीच उभरे हुए भाग के साथ अपनी जीभ से कुछ देर खेला … तो वो बोलीं- मेरे ऊपर आ जाओ, मैं भी तुम्हारा लंड चूसती हूँ.

मैंने बोला- यार मैं कोई पैसे वाला नहीं हूँ एक साधारण सा जिम ट्रेनर हूँ.

मैंने कपड़ा लगाने वाली बात जानबूझकर फिर से कही, जिससे शायरा फिर से शर्मा गयी और मेरी पीठ पर मुक्का मारते हुए बोली- तुम … तुम ना, बस अब चुप करो. जिम में ट्रेनिंग के लिए और भी ट्रेनर हैं मगर लड़कियों को मैं ही सबसे पहले पसंद आता हूँ. रवि ने अपनी नसबंदी करा ली थी, तो कोई खतरा भी नहीं थापिंकी को रवि ने कम से कम दो दर्जन नाईट ड्रेसेज दिला रखी थीं, जिसमें छोटे से छोटे और झीने से झीने कपड़े होते थे, पर किसी भी इमरजेंसी के लिए दो-तीन गाउन भी रखे थे कि कभी अचानक से ऊपर से कर्नल साहब या रीमा जी का फोन आ जाए, तो तुरंत ऊपर जाया जा सके.

मामी हंस कर बोलीं- अच्छा पहले ये बताओ कि तुम इतनी जल्दी कैसे आ गए?मैं बोला- मामा बोले कि आज उनका खाना वहीं खेत में ले आओ. तो दोस्तो, ये मेरे पहले सेक्स की सच्ची सेक्स कहानी थी, जिसे मैंने आज आपके साथ शेयर कर दी है. इससे कुछ ही मिनट बाद मेरी चूत ने ढेर सारा पानी उसके मुँह में छोड़ दिया.

मैं पूरे जोश से बिन्नी की चूचियों का हर तरह से मर्दन करता रहा और लौड़े को चूत में चलाता रहा.

अभी मैं ये सब सोच ही रही थी कि उसने फिर मुझसे बोला- हैलो मैडम … कहां खो गईं … चलो ना!ये बोल कर वो ज़िद करने लगा. कैसे?कहानी शुरू करने से पहले सभी को नमस्ते!मेरा नाम सनी है। जैसा मेरा नाम है वैसे ही मेरे काम भी है। मेरी उम्र 22 साल है। मैं हिमाचल का रहने वाला हूँ।यह बात साल भर पहले की है।मैं कालेज की छुट्टी खत्म करके वापस शहर गया था.

हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली अन्तर्वासना भाभी की सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक भाभी ने मुझे सम्पर्क किया. अगले दिन मैं भी अपने हॉस्टल आ गया।शाम को मीनू का फ़ोन आया, उसने फिर से सॉरी बोला।मैंने बोला- कोई बात नहीं, वो सब बिल्कुल नॉर्मल था.

हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली उन दोनों को मैंने होटल में भी चोदा, उन दोनों को मेरी चूत चटाई बहुत पसंद आ गई थी. वो बोली- राज, तुम मेरी बहू को भी चोदते हो?मैंने कहा- हां, आपकी बहू की चुदाई भी इसी लंड से होती है और मैं उसे बच्चा भी दूंगा।मैंने कहा- डॉक्टर के लंड से भाभी खुश नहीं हैं.

पिछले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 2में अब तक आपने पढ़ा था कि प्रियंका ने अनामिका को मुझसे चुदने के लिए लगभग पटा लिया था.

भारत की बीएफ वीडियो

चाचा जी बोले- अरे इसका लंड तो मुरझा रहा है, चल सूरज बेड पर लेट जा, सुहानी को फिर चूस कर खड़ा करना पड़ेगा. वो दर्द से जोर से चीखी, लेकिन होटल का रूम पूरा बन्द था … तो बाहर आवाज नहीं गई. इसके बाद अनामिका मुझसे वीडियो कॉल पर अपने चूचे दिखाते हुए खुद को चुदवाने की बात करने लगी थी.

तब मेरी पहली चुदाई के बाद सुरभि मैम बाथरूम में थीं, मैंने उनको बुला लिया था. तो मैम ने उससे पूछा कि आज तुम अकेले कैसे! बाकी के दोनों लड़के कहां हैं?अभिषेक ने जवाब दिया कि वो दोनों नहीं पढ़ेंगे. प्रियंका ने थोड़ा रुक कर कुछ और तेल डाल दिया, जिससे अब उंगली अन्दर बाहर करने का खेल आराम से हो सके.

उसकी जीभ लगते ही मैं गुदगुदा गयी और सोची- मार दे बहनचोद … मैं सही में तेरी रंडी ही हूं.

मैं अब डेजी की चूचियों से खेल रहा था, उनको कसकर दबा रहा था, उसके निप्पलों को पी रहा था. मैं से लिफ्ट ग्राऊंड फ्लोर पर पहुंची और लिफ्ट से बाहर निकलने से पहले मैंने उसके टट्टों को पैंट के ऊपर से पकड़ कर जोर से भींचा और उसको गुडबाय कहा. मेरी बीवी पंकज के झड़कर मुरझा चुके लंड को एक हाथ से सहलाती हुई पंकज की जाँघों पर अपने मादक नितम्ब टिका कर बैठ गयी और मेरे लंड को चूसने लगी.

बस मुझे अब इंतज़ार था, तो उस सही वक़्त के आने का, शायद जो जल्द ही आने वाला था. बाद में हमारा उस शहर से ट्रांसफर हो गया और हम दूसरे शहर शिफ्ट हो गए. वीरवार को हम पुणे के लिए निकल गये थे और प्रेजेंटेशन रविवार तक चलना था जो कि अलग अलग पड़ाव में होना था.

मैं बेड पर गिरा तो वो मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे फिर से होंठ से होंठ लगा कर स्मूच करने लगीं. मेरी इस हरकत से वो मेरे इशारे को समझ गया और अपने दोनों हाथ मेरे दोनों चूचों पर रख कर एकदम जंगलियों जैसे दबाने लगा.

फिर मैंने उसके मुंह को चूत में दबा लिया और तेजी से उसके सिर को चूत पर दबाते हुए उसके होंठों को चूत पर रगड़वाने लगी. विमला ने अन्दर झांक कर देखा और बोली- क्या मैं अन्दर आ सकती हूँ!मैंने कहा- आपको इस तरह के बोल शोभा नहीं देते. मगर मैंने उनको कस कर पकड़ लिया और जोर जोर से उनकी बुर में अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा.

जैसा कि मैंने कहानी के पिछले अंक में बताया था कि कैसे गलतफ़हमी की वज़ह से मैंने अपनी प्यारी मां के साथ सम्भोग किया था और कैसे सुबह उठकर मैं पकड़ा गया.

मैं पानी पीने के बहाने से चला और जाते हुए मैंने मोनी की गांड पर लंड छुआ दिया. रोनित उसके सामने ही था और रोनित ने अपना लंड उसके मुँह में दे रखा था. लेकिन एक दिन मैंने नंगी बहू को चूत उंगली करते देखा तो …हाय फ्रेन्ड्स कैसे हो … आप सभी लोगों का मैं तहे-दिल से शुक्रगुजार हूं कि आप लोगों नेबहू के साथ शारीरिक सम्बन्धसेक्स कहानी को बहुत पसंद किया और मेरी इस काल्पनिक देसी बहू की चुदाई कहानी को बहुत मजे लेकर पढ़ा.

फिर उन्होंने जीभ बाहर निकाली और सांप की तरह उसको मेरी चूत पर लहराने लगे. ’डॉक्टर बोला- ओके तो जरा आप सामने की तरफ खड़ी हो जाओ, ताकि मैं जान सकूं कि आपको क्या प्रॉबल्म है.

उसके आने के बाद मैंने भी बाथरूम में जाकर कपड़े उतारे और लंड धोकर एक बाथरोब पहन लिया. मैंने अब लन्ड को चूत में से निकाल कर उसके बूब्स के बीच में फंसा दिया और दोनों हाथों से उसके चूचों को भींच लिया. बल्कि उनके एक‌ दोस्त के रिश्तेदार के घर मुझे एक कमरा किराये पर दिलवा दिया.

नंगी बीएफ नंगी

तकरीबन 15 मिनट बाद मेरे शरीर में ऐंठन सी होने लगी और मेरी सारी गर्मी चुत से लावा बनकर निकलने लगी.

वो बोलीं- क्यों सता रहा है … अभी पहले जल्दी से अन्दर डाल दे … ये सब बाद में कर लियो. मेरा बहुत ख्याल रखती थी। मेरा जब मन होता था वो मुझसे चुदवा लेती थी. यूं ही दस मिनट के बाद उसने बोला- विवेक अब मुझसे रुका नहीं जाता, रात को जल्दी आना.

चूंकि अजय पहली बार भाई की ससुराल जा रहा था तो उसने एक बेग में दो रात के हिसाब से कुछ ज्यादा ही कपड़े रख लिए. इसलिए खिलाड़ी से चुदो … किसी को शक भी नहीं होगा और जवानी के पूरे मजे भी ले लोगी. हिंदी देसी बीएफ फुल एचडीप्रिया ने कहा भी कि गिलास में क्यों कर लायी तो मनीषा बोली कि ऐसे ही.

तभी मैंने उसके पजामे में एक हाथ डाल दिया, तो देखा कि उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी. संध्या- राजू डार्लिंग, एक बात बताओ आपको चुदाई के लिए मैच्योर औरत ही क्यों पसंद आती है, जबकि उनकी चूतें तो चुद चुद के ढीली हो जाती हैं और जवान लड़कियों की एकदम टाईट रहती हैं?राजू चाचा ने चाची की गीली चूत को सहलाते हुए कहा- एक तो मुझे उनकी बड़ी गांड अच्छी लगती है, दूसरे उनको चुदवा चुदवा कर अच्छा खासा एक्सपीरिएंस हो जाता है कि कब कैसे क्या और क्यों करना है … उन्हें वो सब पता होता है.

शॉवर से एक फव्वारा सा निकल फूटा और एक मेरे मन में टाँगें उठने लगीं. फोन रखते ही भाभी बोलीं- क्यों देवर जी अब तो खुश हो ना?मैंने भाभी को बांहों में भरके कहा- हां मेरी जान … मैं बहुत खुश हूं, वाकई आप मेरे दिल की तमन्ना पूरी कर दोगी. मैंने जानबूझ कर थोड़ा जोर से कहा … ताकि शायरा मुझे उस दिन के लिए पकड़ ले.

मैंने कहा- बिन्नी, ठीक है, हम अब नहीं करेंगे लेकिन थोड़ा प्यार तो कर ही सकते हैं. उसने भी मेरे लंड से निकले वीर्य के बूंद के एक-एक रस को अच्छे से चाट लिया. उन्होंने लंड के सुपारे पर थूक लगा कर मेरी गांड पर टिका ही दिया और अन्दर करने लगे.

मैं एक बार बाथरूम में चली गयी और जब मैं वापस आयी तो अभिषेक भी सो चुका था.

फिर मैं उसके पैरों के पास गयी और उसकी जांघों को प्यार से चूमने लगी. तुम्हारी जगह कोई और होता, तो एक बार करने के बाद बार बार करने की धमकी‌ भी देता.

वो लंड को फिर से चूसने लगी।अफसाना ये देखकर मुस्कराते हुए उठी और अपनी मैक्सी पहन कर चली गयी. उसके बाद सायरा ने मेरी झांटों को कुतरना शुरू किया और फिर रिमूवर से मेरे भी बची खुची झांटों पर क्रीम मल दी. चाचा जी बोले- कोई नहीं धीरे धीरे सीख जाएगा … वरना सुहानी को मेरे पास ले आना, मैं फिर से सिखा दूंगा.

सिर को दबाकर उसने अपनी दोनों टाँगें हवा में उठा लीं और अपनी पुष्ट चिकनी जाँघों से उसके सिर को जकड़कर अपनी गाँड उछाल उछाल कर अपनी चूत को पंकज के मुँह पर रगड़ने लगी।पंकज इस मामले में लगभग अनाड़ी ही था. मैंने करीब पंद्रह मिनट ऐसे ही धकापेल लंड पेल कर सारा पानी मासी की चूत में निकाल दिया. यदि आप कुछ और बात करना चाहते हैं तो मुझे मेरी ईमेल पर भी लिख सकते हैं.

हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली पहले तो हम पुरानी हिन्दी फिल्मों के हीरो हीरोइन की तरह कॉलेज में यहां वहां घूमकर ही एक दूसरे की आंखों की प्यास बुझाते थे. देखने में दोनों किसी हीरो से कम नहीं थे लेकिन फिर भी दोनों के दोनों एक दूसरे से बिल्कुल अलग, एक पंजाबी गबरू, तो दूसरा किसी साउथ इंडियन मूवी का टपोरी डांस करने वाला श्यामल शरीर वाला राजकुमार.

सेक्सी बीएफ डीजे वीडियो

अब जब मुझे चूत की सख्त जरूरत थी तो सोचा कि क्यों न मौसी की लड़की की चूत चुदाई करने की कोशिश करूं. अनामिका अपने दोनों छेदों में मजा लेते हुए गर्म गर्म सांसें छोड़ने लगी थी. फिर बात ही बात में उसने अपना हाथ मेरी जांघ पर रख दिया और हल्के से सहलाने लगा.

उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और वीर्य उसकी चूत में भर गया।हम दोनों पसीने से लथपथ हो गए थे. मैंने पूछा- डॉक्टर ये क्या कर रहे हो?वो बोला- मिस नंदिनी, मुझ पर विश्वास रखिए. ममता की बीएफउनमें से एक बोला- इसको मेरे कमरे में ले चलते हैं वहां ढंग से इसे चोदेंगे.

उसने शायद मुझे पहचान‌ लिया था, इसलिए मुझे देखते ही उसके चेहरे के भाव बदल गए थे.

उसके कुछ दिन बाद लॉकडाउन लग गया और इस दौरान हम दोनों ने बहुत बार चुदाई का मजा लिया. उनकी हेयरी बॉडी मेरे पूरे शरीर से रगड़ खा रही थी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।इस तरह उनके बॉडी से अपने आपको रगड़ना साथ में मेरा लंड भी उनके लंड से रगड़ रहा था.

अनामिका बोली- अरे मतलब यही ना कि मैं जीजू से रगड़ कर चुदने वाली हूँ. उसने अपनी कमर से पट्टी उतार दी और चित लेट अपनी टांगें फ़ैलाए हुए मुझसे बोली- अब तुम मेरी चुत चाटो. प्रियंका- साली कमीनी ले ले … आज तुझे मजा न आए तो बताना … तेरी चूत बहुत कुछ झेल सकती है.

मैं- तुमने थप्पड़ मारा, तो मैं बोलूं भी ना?वो- लगता है तुम उस बात को ऐसे नहीं छोड़ोगे.

राजू चाचा- ले तेरी मां को चोदूं साली मेरी रंडी भाभी … कब से तरस रहा था तेरी गर्म चूत मारने के लिए, साली मेरी रांड … ले अपने देवर का मूसल ले. अब मानवेन्द्र मुझे उठाकर बेड की तरफ ले गया और मुझे बेड पर पटक दिया. मैं भी पीता था लेकिन उसके सामने पीना मुझे ठीक नहीं लग रहा था इसलिए मैंने मना कर दिया.

बीएफ भेजो सेक्स वीडियोलड़के की गांड मारने की बात सुनकर मुझे कुछ हंसी सी आई कि ये जैल इधर मिलने का क्या मतलब हो सकता है. ये बात सुन कर सनी बोला- तुम्हारी चुदाई तुम्हारे बेटे को भी पता है … तो क्या तुम उसको भी चोदने दोगी?मेरी मां बोलीं- हां दे दूंगी.

सेक्सी जबरदस्त बीएफ

मामा लोग अमीर थे और उनका घर भी दो मंजिला बना था जिसमें ग्यारह कमरे बने थे. फिर वो सीढ़ियों से वापिस आईं और दरवाजा बंद करके कैरम बोर्ड को ऐसे सैट कर दिया कि कोई आए, तो उसे लगे कि हम दोनों नीचे बैठ कर खेल रहे हों. चूत और लंड की चिकनाहट इतनी ज्यादा थी कि चूत में लंड फिसलता चला गया और ऐसे जा घुसा जैसे कि केक में चाकू घुस जाता है.

मैं- सॉरी, अगर मैंने कुछ गलत कह दिया तो … मेरी वजह से तुम्हारी आंख में आसू आ गए. मुझे मजा आ रहा था क्योंकि वो मेरे पैर को बहुत मस्त तरीके से चाट रहा था. वो मुझे आगे पीछे हिलाते हुए लंड घुसाए धक्के मार रहे थे और मैं बेड में आगे पीछे हिल रही थी.

चाचा जी बोले- तो ये ले फिर!और घपक करके अपना पूरा लंड एक झटके में ही मेरी चूत में घुसा दिया. रास्ते में मैंने उसकी कमर पर हाथ रखा और बिल्कुल उससे चिपक कर बैठ गया. दर्द के मारे मेरी तो जान निकल रही थी लेकिन अब वह रुकने वाला नहीं था।वह लगातार मुझे चोदता जा रहा था.

मेरी चूत तो शांत नहीं हुई और दूसरी को पटाने चला था … चोद साले उसकी गर्लफ्रेंड की चूत को जोर से चोद। आह्ह … क्या लौड़ा है रे … आह्ह … पूरा घुसाकर चोद … आह्ह … फाड़ दे।मैं भी पूरी ताकत लगाकर उसकी चूत में धक्के लगाने लगा और वो चुदाई में जैसे मदहोश होने लगी. मामी ने भी अपने दोनों पैरों से मुझे लॉक कर लिया और मेरी बांहों में अपने जिस्म को थमा कर मजा लेने लगीं.

आपने हर समय मेरा इतना साथ दिया, मेरे अन्दर की औरत को समझा, मेरी सारी शारीरिक जरूरतें आपने पूरी की.

ग्यारह बजने में अभी टाइम था तो हम लोग बाहर मेडिकल स्टोर से से कामवर्धक गोलियां और बियर शॉप से 8 बियर के कैन ले कर आ गए. सेक्सी वीडियो बीएफ दिल्लीइसी वजह से बस में भीड़ कम थी।ज़्यादातर मैं बैठने के लिए विंडो सीट ही पसंद करता हूँ. नई बहू की बीएफदूसरे दिन में फिर से चित्रा से चिपक कर बैठा और फिर से अपना लंड उसकी गांड से लगा दिया. मैंने उसकी चुत की झांटों को साफ़ किया और उसने मेरे लंड की झांटों का जंगल साफ़ किया.

मैं- अरे वाह खरबूजे और तरबूज का रस चूसने के बाद अब आम की बारी आ गई … मस्त है.

बिन्नी ने बताया कि उसके मम्मी पापा दोनों सर्विस करते हैं और संडे को उनकी छुट्टी होती है. मगर बात करने के बाद जब मैं केबिन से बाहर आया, तो देखा‌ कि एक लड़की उस दुकान में खड़ी‌ हुई थी. वासना स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि मैं अपनी सहेली के बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स का मजा लेना चाहती थी.

मुझे अब एक ही चीज में मजा आता था, और वो ये था कि मैं अपने पति को गुलाम बनाकर रखती थी. प्रियंका ने एकदम से लंड बाहर निकालने की कोशिश की मगर उसके ना चाहते हुए भी मैं उसका सर पकड़ कर उसके मुँह में ही लंड झाड़ने लगा. मैंने बड़े प्रेम से तौलिये से न्यूड भाभी का पूरा बदन पौंछा और भाभी ने मेरा बदन पौंछा.

हिंदी आवाज में एचडी बीएफ

रात में मेरी नींद अचानक से खुली मुझे ऐसा लगा कि प्रिया मुझसे लिपटी हुई है।मैंने आँख खोली और देखा तो दंग रह गया प्रिया पूरी की पूरी नंगी मुझसे लिपटी हुई थी. कज़न सिस्टर की चुदाई की ये सेक्सी देसी स्टोरी आपको जरूर पसंद आयेगी. मैं थक गया था और हांफता हुआ मैं अपर्णा के ऊपर ही लेट गया।अपर्णा अपनी चुदाई से पूरी तरह संतुष्ट हो गयी थी.

चाची Xxx कहानी आपको पसंद आयी या नहीं … मुझे पहले इसके बारे में बतायें.

मेरी मां ने सनी को बोला कि तू किसी और को मत बताना, तुझे जो चाहिए, वो मैं दूंगी.

वहीं अनामिका बोल रही थी- रंडी साली, तेरी तो चूत ने तीन तीन बार पिलवा लिया है … तेरी क्यों जल रही है भैन की लौड़ी. दोस्तो, मैं एक महिला में सबसे पहले उसके चुचे देखता हूँ और सेक्स में वहीं से स्टार्ट करता हूँ. अफ्रीका बीएफ वीडियोआगे क्या हुआ, इसको मैं अपनी इस वासना स्टोरी इन हिंदी के अगले भाग में लिखूंगी.

शरीर से शरीर चिपकते ही बिन्नी मुझसे एक बार फिर ज़ोर से लिपट गई और बोली- लेकिन करना नहीं है, मैं कल दुबारा आ जाऊंगी. संध्या चाची- अच्छा देवर जी, अब आप इतने बड़े हो गए कि अपनी भाभी को चोद सको. मैं उसके गालों पर अपनी उंगलियां फेरने लगा, जिससे वो मदहोश होती जा रही थी.

दस मिनट तक उसकी गांड में लंड ताबड़तोड़ चला और गांड में ही वीर्य छोड़ दिया. वो- तुम मेरी इतनी तारीफ करते हो फिर भी … या फिर बस मुझे पटाने के लिए ही तारीफ करते हो?मैं- तारीफ … तारीफ तो तुम हो ही ऐसी कि तुम्हें देखते ही अपने आप मुँह से निकल गई.

उसके बाद वो पीछे से ही मेरे ऊपर चढ़ गया और मेरी गांड में अपना लंड डाल कर मुझे चोदने लगा.

तो मैंने तुरंत उस बालों वाले लंड की दो-तीन फोटो खींचे … और उनमें से एक उन्हें भेज दी. मैंने अनामिका से पूछा- क्या सच में तुम ऐसे चुदवाना चाहती हो?अनामिका ने अपने मम्मों से बिना हाथ हटाए थोड़ी दबी आवाज में कहा- हां जीजू, मुझको पहली चुदाई रोमांटिक तरीके से याद रखनी है. इस पर रवि बोला- नहीं, तुम ही बोल देना और उसको बोल देना कि वो पापा के साथ डिनर ना ले.

सेक्सी वीडियो बीएफ दिखाइए हिंदी में इतने में उसने मुझे पलंग पर लिटा दिया और वो मेरी गांड को चाटने में बिजी ही गया. कहानी के पिछले भागपड़ोसन के साथ होटल में सेक्स का मजामें अब तक आपने पढ़ा कि भाभी ने मेरी थ्री-सम सेक्स की इच्छा को जानकर अपनी सहेली ट्विंकल को बुलाने के लिए फोन उठा लिया था.

उसने किसने? और तुम्हें कैसे पता कि दो‌ ही पैड थे, सच सच बताओ!मैं जानबूझकर अब घबराने‌ की एक्टिंग सी करने‌ लगा और हकलाते हुए बोला- न्. डॉक्टर से मैंने सीरियसली पूछा- सच में कल मुझे छुट्टी दे रहे हो क्या?तो डॉक्टर बोला- वैसे यहां अब एडमिट की जरूरत तो नहीं है. फ्रेश हुए चाय नाश्ते के बाद करीब आठ बजे हम लोगों ने स्टार्ट किया था.

पंजाबी सेक्सी बीएफ हिंदी में

उसने उसके चूचे छोड़ दिए और अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी चूत में सीधी दो उंगलियां पेल दीं. अब आगे:वो- तुम्हें शर्म नहीं आती?मैं- लो अब इसमें क्या शर्माना, हम 21 वीं सेंचुरी में रहते हैं, यहां तक कि पढ़े लिखे भी हैं. फिर मैं बाथरूम की ओर जा ही रही थी कि दरवाजे पर खटखटाने की आवाज हुई.

मैं बस आंखें बन्द करके अपनी महिला मित्रों के साथ की गई चुदाइयों को याद कर रहा था. मैं- कभी आपने उनकी मारी?असलम- ज्यादा तो नहीं, मैं उनसे तीन चार साल छोटा था और तब दुबला पतला लौंडा ही था.

वो दर्द से कलप रही थी लेकिन मेरा एक हाथ उसके मुँह पर जमा था जिससे उसकी तेज आवाज में चीख नहीं निकल पा रही थी.

दस मिनट के बाद मुझे निशि और रोहिणी की मादक सिसकियों की आवाजें सुनाई देने लगी थी, जो बता रही थीं कि उनको कितना मजा आ रहा था. अब आगे की कहानी:प्रमिला और एकता की चुदाई होने के बाद हम तीनों शांत हो गये थे. वो भी बिना कपड़े उतारे हुए … क्योंकि न जाने मुझे ऐसा क्यों लग रहा है कि आज तुम्हारे भैया जल्दी घर वापस आ जाएंगे.

वो हंस दी और बोली- मेरा मन तो करता है मगर आप मेरे भाई हो न इस वजह से मेरी हिम्मत नहीं होती. हैलो फ्रेंड्स, मैं रूपा फिर से आपको अपनी सहेली के ब्वॉयफ्रेंड से अपनी चुत चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. इब के करेगा? जा कोई आ जावगा?मैं बोला- लंड न ठंडा तो कर दे इब।चाची बिना बोले बाहर गई, चारों तरफ देखा, फिर अन्दर आ गयी और लंड पकड़ कर हिलाने लगी।मैंने चाची का मुंह पकड़ कर होंठ मिला लिए और मैं जोर जोर से चूसने लगा.

हालांकि रूम हीटर चल रहा था, पर आज सर्दी कुछ ज्यादा थी और काफी देर से दरवाजा भी खुला हुआ था जिस वजह से रूम गर्म नहीं हो पाया था.

हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो चलने वाली: जब मैं बाहर निकलती हूँ, तो सबकी नज़रें मेरी चूचियों और गांड पर ही होती है क्योंकि मैं बहुत खुले और फैशनेबल कपड़े पहनती हूँ … जिससे मेरा पूरा शरीर परफेक्ट दिखे और लगे कि हां मैं बहुत चुदक्कड़ माल हूँ. मगर एक डर भी लग रहा था कि कहीं कोई जाग न जाए और खामखां में रायता फ़ैल जाए.

दोस्तो, आपको मेरी दुबई सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं? तो प्लीज़ मुझे मेल करके बताईएगा. तो वो किसी ना किसी बहाने प्लाट में रुकी रहती और हमारे बाथरूम की तरफ देखती. मैंने भी उसका साथ बराबरी से दिया और उसको ये नहीं मालूम चलने दिया कि मैं मानसी नहीं रूपा हूँ.

मोहित- अरे अरे, ये क्या … क्यों रो रही हो?वह मेरी आंखों में आए आंसुओं को पौंछते हुए बोला.

चूंकि मैं घर में अकेला था तो मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया और सोचा कि कोई नहीं आयेगा इस वक्त।मैं अपने रूम में था और अपने कमरे के बेड पर लैपटॉप लेकर पड़ा हुआ था. मेरी गांड उठ कर लंड लीलने को मचल रही थी मगर मैं शांत होकर उसके लंड की उत्तेजना को परखती रही. वो अब अपनी लोवर को नीचे खिसका कर अपने लंड को मेरी सेक्सी बीवी की चूत पर रगड़ रहा था।सुमन की मादक और उन्मुक्त सिसकारियों से पूरा कमरा गूंज रहा था और कमरे में सुमन के शरीर से निकलती रज की महक फैली हुई थी।उसे इस तरह बेचैन होकर मादक सिसकारियाँ भरते मैंने आज तक कभी नहीं देखा था.