बुर चोदा चोदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी चुदाई वाला वीडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वेदोस: बुर चोदा चोदी बीएफ, पर मज़ा बहुत आया।मैंने कहा- ठीक है, अब सो जा।उसने मेरे से पूछा- दोबारा घर आ जाऊं? जो हुआ उसके बारे में बता देते।मैंने कहा- नहीं, अभी सो जा … कल बताऊंगा।फिर वो गुड नाईट बोल कर सोने चली गयी। मैं भी खाना खाकर सोने चला गया।तो दोस्तो, आपको कैसी लगी अब तक की कहानी? छाया फिर से मेरे घर आयी या नहीं … और क्या हुआ उसके बाद? जानने के लिए अगले भाग का इंतज़ार कीजिये।[emailprotected].

चेहरा सेक्सी वीडियो

मगर मुझे ये जान कर हैरानी हुई कि मेरा लंड बिना किसी बाधा के चाची की गांड में सरकता चला गया था. सेक्सी पिक्चर नंगी चूत मारते हुएइसलिए मेरे पास आमिना के साथ आगे बढ़ने के सिवाय कोई दूसरा रास्ता नहीं था.

फिर उन लोगों ने भी जल्द ही लंड से चुदना तय कर लिया और परमीत तो पहले ही संजय को फंसाने में लगी थी. नानी जी की सेक्सी वीडियोफिर मैंने मिलने के लिए बोला तो तैयार हो गयी लेकिन मैं यहाँ घर पे और वो दिल्ली में।लेकिन कुछ दिन बाद मेरे पिता से कुछ कहा सुनी हो गयी तो मैंने जॉब ढूंढ ली नोएडा के हॉस्पिटल में.

मैं सुहास के लंड को मुँह में लेकर उसके साथ खेलने लगी, वो भी मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड से मेरे मुँह में धक्के मारने लगा.बुर चोदा चोदी बीएफ: भैया कभी दीदी की चुत में उंगली करने लगते थे, कभी उसमें जीभ डाल कर चाटने लगते थे.

मैं सुहास के लंड को मुँह में लेकर उसके साथ खेलने लगी, वो भी मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड से मेरे मुँह में धक्के मारने लगा.मैंने ओके कहा, मगर उसे किस करते करते ही हल्का-हल्का लंड हिलाने लगा.

देवर भाभी का नया सेक्सी वीडियो - बुर चोदा चोदी बीएफ

मैंने उनके वीर्य को हाथों में लेकर देखा, तो चिकना चिकना फिसलन भरा सा लगा.चूंकि विदेशियों के लंड तो लाजवाब होते ही हैं, ये सोचकर ही मेरे मन में बेचैनी होने लगी थी.

पलट के मैंने बेबी रानी को झपट के आलिंगन में बांध लिया और उसको गोदी में उठाकर उसके रसीले होंठों से अपने होंठ लगा दिए. बुर चोदा चोदी बीएफ मतलब संजना प्रतीक्षा के दूध दबाने और चूसने लगी और संयोगिता ने प्रतीक्षा की चूत चाटना शुरू कर दिया.

मैं सारे दिन जॉब पर गया और बस आंटी की चुदाई के बारे में ही सोचता रहा कि इस बार आंटी को नहीं छोडूंगा.

बुर चोदा चोदी बीएफ?

भले ही वो रिश्ते में मेरी साली है मगर उसके साथ सेक्स करने के बारे में मैंने कभी भी नहीं सोचा था. जब उनकी चुत को लंड नहीं मिल रहा था, तो वो ही क्यों कोई भी औरत बाहर मुँह मारने की कोशिश करने लगती है. संजू को इससे गुदगुदी हुई और वो बोली- छोड़ो मुझे … बेहूदे लड़के … मुझे गुदगुदी हो रही है.

और घोड़ी बन के अलमारी के दरवाजे में लगे शीशे की ओर मुंह कर लिया और कहा- ये लीजिये एंडर्सन, पेश है गर्म गर्म इंडियन चूत।एंडर्सन ने आव देखा ना ताव और घुटनों के बल बेड पे आ के मेरी चुत में अपना लंड रख दिया और मेरी पतली कमर को अपने बड़े बड़े हाथों से पकड़ के एक झटके में घुसा दिया।मेरी ज़ोर से ‘आउच …’ निकली और मेरा सिर ऊपर को उठ गया. मैं बोली- वाह यार, तेरे मजे हैं, पति ने ही घर में चुदाई का जुगाड़ करवा दिया है … जाते वक्त बता कर भी जाते हैं कि घर पर कोई नहीं है, आप आ जाना. थोड़ी देर यही सिलसिला चलता रहा, फिर वो चारों अंकल घूमते घूमते पार्क के और अन्दर जाने लगे.

फिर आलिया ने ये देखा तो उसने मेरे लंड को चूसकर साफ किया और बाथरूम में चली गई. वो बहुत गर्म हो चुकी थी। फिर मैंने उसकी पैंटी में मैंने जैसे हाथ डाला तो उसने हाथ पकड़ लिया और बोलने लगी- प्लीज मत करो, मर जाऊंगी मैं!लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और उसकी पैंटी में हाथ डाल दिया. रवीना की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’पर रवि नहीं माना बस अपने होंठों को उसके मुंह पर रख कर चीख रोक दी और धक्कम पेल मचा दी.

मेरी यह खासियत रही है कि मैं किसी भी लड़की का विश्वास बहुत जल्द जीत लेता हूं. मेरी गांड और सिल्क की गांड एक दूसरे की लए में लए मिलाते हुए अपने अंत की तरफ बढ़ चले.

उसने तो मुझे पूरा ही नंगा कर दिया था … जब कि मैंने उसकी ब्रा और पेंटी नहीं उतारी थी.

! गॉड … सी … ई … ई … ! स … स … स … ! आह … !”मेरे दोनों हाथों की दसों उंगलियां जैसे मक्ख़न मथ रही थी.

मेरी बीवी संजू ने जैसे ही रोहित को देखा तो चौंक कर बोली- अरे तुम अन्दर क्यों आ गए … रोज तो बाहर से ही आवाज लगाते थे. मैंने वसुंधरा को अपने साथ लिपटा कर उसके होंठों का एक भरपूर चुम्बन लिया और चुम्बन लेते-लेते अपने दाएं हाथ को वसुंधरा की पीठ पर लेजा कर वसुंधरा की ब्रा की हुक खोल दी. रवि ने उसे समझाया कि ऐसा नहीं हो सकता, बिजनेस मीना ढूंढ कर लायी थी और ऊपर से रवीना यहाँ थी नहीं तो वो क्या करता.

मैडम मेरे लंड से इस कदर खुश थीं कि कई बार तो उन्होंने मुझे अपने पास ही रात को रोका था और पूरी पूरी रात अपनी चुत की खुजली मेरे लंड से शांत करवाई थी. ऐसा कर तू संजय के पास चली जा और हम दूसरे दिन तेरा बर्थडे सेलिब्रेट कर लेंगे. लड़का उसे बिस्तर पर लेटा कर उसके बदन को चूमते हुए बुर सहलाते हुए होंठों को चूमते चूमते उसकी बुर में उंगली डाल कर मज़ा देने लगा.

शायद प्रियंका ने ही उसे ऐसा करने को कहा हो क्योंकि प्रियंका को लंड रस का फेशियल करवाना बहुत पसंद है.

मैंने बैठे-बैठे ही उसकी ब्रा का पीछे से हुक खोल दिया, फिर मैंने उसे आहिस्ता से लेटा दिया और उसके चेहरे पर चूमने लगा. फिर वो नीचे आ गया और मुझे अपने लौड़े पर बिठा लिया और नीचे से धक्के लगाने लगा।विशाल- ये काफी मस्त आसान था। मैं दीदी की कमर से पकड़ कर बैलेंस बनाये हुए था. तब करीब रात के 12 बज चुके थे।हमने थोड़ी बहुत मस्ती की और फिर से हम दोनों तैयार हो गए।अब हम दोनों का एक ही टारगेट था चुदाई!तो हम एक दूजे को किस करने लगे और मैं किस करते करते उनके बालों में हाथ डाल रहा था तो कभी पीठ पर फिरा रहा था.

वो क्या बोल रहे थे?मैं- डैड मेरे रिश्ते के बारे में बता रहे थे कि राजीव अंकल पांच दिन बाद रिश्ते की बात करने के लिए आ रहे हैं. वह होंठों को चूसते हुए अपना हाथ उसके एक चुचियों पर रख कर मसलने लगा. कुणाल ने अब उसके दोनों मम्मों को जोर जोर से मसलना शुरू किया और धक्के भी बढ़ा दिए.

अनिषा बोली- भाभी जी चलो आज दोपहर में इसके तबेले से दूध और चीक ले आते हैं.

इससे वो बहुत जल्दी ही अपनी चरम पर पहुंच गयी और उसकी चुत से बहुत सारा पानी निकल गया. मैंने भी मौके की नज़ाकत समझते हुए वसुंधरा का हाथ पकड़ कर पजामे के ऊपर ही अपने लिंग पर रख दिया.

बुर चोदा चोदी बीएफ जैसे ही गड्ढे से बाइक निकलती तो आरती की चूचियां मेरी पीठ से सट जाती थीं. चारों छोकरियां बहुत मस्त और सेक्सी आइटम थीं, पर मेरी यह कहानी पहली मंजिल पर रहने वाले परिवार से जुड़ी है.

बुर चोदा चोदी बीएफ दस मिनट तक यूं ही पड़े रहने के बाद मैं उठ कर रेडी हुई और राहुल के ही साथ घूमने चली गई. मैंने बेबीरानी के कंधे पकड़ के उसको सीधा बिठाया और उसको उछाल उछाल के चोदना शुरू किया.

मेरी ज़िन्दगी में मैंने पहली बार चलती गाड़ी में सेक्स करने वाला था, वो भी तब … जब गाड़ी मैं खुद चला रहा था.

बीपी सेक्सी देसी

किस के साथ ही साथ मैंने अपने हाथों से उसके मम्मों और शरीर को सहलाना शुरू कर दिया. तभी नीरज के लंड से वीर्य का फव्वारा छूटा, जिसे संजू पूरा मुँह में लेकर गटक गई तथा नीरज के पूरा लंड को वीर्य रहित कर दिया. ये सोचकर मैं जैसे ही फ्लैट पहुंचा, तो देखता हूँ कि दूध वाला रोहित भी अभी तुरंत दूध लेकर आया था.

मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?बदले में उसने मेरे होंठों पर किस किया और लिपट कर बोली- आई लव यू. ”अब मेरी मम्मी ने अपने दामाद की पैंट की ज़िप खोली, हाथ डाल के लौड़ा बाहर निकाला और चूसने लगी।वो पूरा गर्म हो गया।चलो बेटा … आज मैं तुम्हें पूरे मज़े दूंगी लेकिन …”लेकिन क्या?”तुम कहोगे कि कितनी अजीब बातें करती है. इसके बाद उसने मुझे टेबल के सहारे घोड़ी बना दिया और मेरी चुत में पीछे से पिल पड़ा.

उस कंपनी के डाईरेक्टर कुणाल ने उन्हें अगले दिन आकर डॉक्यूमेंटेशन करने को कहा.

कुछ ही देर में हम चारों ने नाश्ता खत्म कर लिया और तैयार होने के लिए अपने अपने रूम में चले गए. फिर बातें करते करते अंकल ने रजाई के अन्दर मेरा लंड पकड़ लिया और बोले- तुम्हारा तो बहुत बड़ा है यार, इससे तो मेरी फट जाएगी. हम हिन्दुस्तानी लोगों की सोच ऐसी है कि डिलीवरी का समय नजदीक आता है तो सेक्स करना बंद कर देते हैं, जिसकी वजह से मसल्स टाइट होने लगती हैं और नार्मल डिलीवरी के समय कष्ट होता है.

अब क्या होगा?राजन बोला- डरो मत … कल में मेडिसिन ला दूंगा, ले लेना, कुछ नहीं होगा. दोनों पूरे नंगे हो गए थे और मेरे भी ने उस लड़की की चूत चाट कर उसे एक बार चरम आनन्द की हालत में पहुंचा दिया था. फिर मैंने कंडोम का पैकेट निकाला और उसमें का एक कंडोम लेकर चाची से कहा- इसे मेरे लंड को पहनाओ.

करीब 6 या 7 दिन बाद अंकल का फोन आया- गोविंद घर पर आ जा, मुझे तुझसे कुछ बात करनी है. उसकी चुत हल्की सी गुलाबी कलर की खुली सी दिखी, जिस पर एक भी बाल नहीं था.

कुणाल ने रवि को बेड पर लेटने का इशारा किया और फिर चुदाई रोक कर मीना से कहा कि वो रवि का लंड अपने चूत में बैठ कर ले. मेरे सिवा और भी लड़के आते थे पर वो इतने स्मार्ट नहीं थे कि प्रणीता मैडम को पटा सकें. उसकी नंगी चूचियों को देख कर मैंने उनको दबाना और चूसना शुरू कर दिया.

कुछ ही मिनट में हम दोनों के कपड़े उतर गए थे और मैंने आलिया को बेड पर पटक दिया.

मैं उसके बालों को भी सहला रही थी और सुहास भी मेरा पूरा साथ दे रहा था. उसने अपना हाथ मेरी चूत और पेट के बीच वाले हिस्से पर रखकर सहलाया और ऊंगलियों को आगे ले जाकर चूत के दाने को सहलाने लगी. आह क्या मुलायम चूचे थे यार! आज भी वो सीन याद आता है, तो मेरा शेर जाग जाता है.

मैंने उसे खड़ा किया और उसकी गांड पर हाथ फेरते हुए उसकी चूत को थोंग से आजाद करके उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी चूत चाटने लगा. चाची उनके हाथ को मेरे बालों में डाल के मुझे बहुत प्यार करते हुए किस कर रही थी.

मैंने एक ही धक्के में अपना 9 इंच का लंड उसकी चूत में पेल दिया और आगे पीछे करने लगा. उसकी मदद से मैंने मकान मालिक की चारों लड़कियों को कैसे चोदा, ये मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा. उन्होंने लंड सहलाते हुए कहा- बोलो क्या समझना है?मैंने कुछ नहीं कहा और आंखों को उनके लंड पर ही गड़ाए रही.

नंगी सीन दिखाइए

मैं मोना को जब भी देखता, तो उसकी नजरों में मुझे अपने लिए एक खास चमक दिखाई पड़ती.

उसने कुछ नहीं पहना था अंदर से।और फिर मैं उसकी चुचियों पर आ गया।उसकी मोटी मोटी चुचियाँ मुझे पागल कर रही थी, मैं खूब जोर जोर से आशना की चुचियों को मसल रहा था। वो आहें भर रही थी।अब मैंने उसकी एक चूची अपने मुंह में भरी और चूसने लगा. स … बस … झड़ गयी … आह … मेरी चूत तुम्हारे … लंडों … पे झड गयी मेरी जवानी … का रस निकाल गया तुम्हारे जवान लंड के … आगे आई उई … ब. उसके बाद मैंने मिताली भाभी की छोटी सी चूत के मुँह पर अपने होंठ टिका दिए.

देर करना मुनासिब नहीं था इसलिए मैं उठा और उसके ड्रेसिंग टेबल से क्रीम की शीशी उठा लाया. मैंने कहा- वो कैसे?आंटी बोलीं- तेरे अंकल तो शादी में मुझे भी साथ में ले जा रहे थे. भोजपुरी में सेक्सी डांस वीडियोजब ये बात उस लड़की तो पता चली कि प्रियंका मेरी गर्लफ्रेंड है, तो वो भी मुझे छोड़कर चली गयी.

जब उनकी चुत को लंड नहीं मिल रहा था, तो वो ही क्यों कोई भी औरत बाहर मुँह मारने की कोशिश करने लगती है. फिर उसने मेरे सामने ही अनिषा की गर्म चूत में अपना मूसल सैट कर दिया.

उस चांदनी की हल्की रोशनी में वो मेरे हथियार को हाथ में लेकर घूरते हुये सहलाने लगीं. मेरा ध्यान हसन पर था और पता नहीं कब रजत मेरी मालिश करते हुए मेरी जांघों तक पहुंचने लगा. उसने मुझे व्हाट्सएप पर ढेर सारी पिक्स भेजी अपनी और मैंने भी उसे अपनी पिक्स भेजी.

उसने कहा- क्या भइया, क्या है आपको?मैंने कहा- तेरी स्किन (त्वचा) कितनी सॉफ्ट (मुलायम) है. मैंने सुमित को दिन में फोन करके कह दिया- आज मैं शाम को जिम नहीं जाऊंगा. एकदम नमकीन और खट्टी सी मलाई ने मेरी आंखों में वासना का नशा भर दिया था.

मैं उसे और ज्यादा गर्म करना चाहता था ताकि वो चुदाई में मेरा पूरा साथ दे सके.

उसके आते ही ना सीधा हमारे बीच में सेक्स हुआ और ना कुछ!और जैसे जैसे हुआ, वैसे आपको बता रही हूं।फिर हमने बहुत सारी बातें की. पिछली सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने कैसे अपनी बीवी को एक दूध वाले कमसिन लड़के रोहित से चुदवाया था.

मैंने कहा- ठीक है।फिर उसने मुझसे कहा- आप मुझे अपने घर कब बुला रही हो?मैंने उसे कहा- जल्द ही!एक दिन मेरे हस्बैंड कहीं बाहर गए थे, उन्हें अगले दिन आना था. दोस्तो, मेरा नाम इमरान खान है और मैं देश की राजधानी दिल्ली के पास हरियाणा के एक शहर फरीदाबाद का रहने वाला हूँ. मैं- क्यों ना हम अपनी-अपनी बहन को अपना पार्टनर बना लें!अविनाश- आजकल तुझे अपनी दीदी पर बहुत प्यार आ रहा है.

फिर थोड़ी मेहनत के बाद मैंने एक बहुत अच्छी मन में कामुकता भर देने वाली कविता लिख कर भेजी. वसुंधरा ने अपने पांवों की कैंची सी बना कर जुड़ी हुईं अपनी दोनों एड़ियां मेरे नितम्बों पर टिका दी. उसका एक हाथ मेरी जांघ को सहला रहा था और दूसरा हाथ मेरी नंगी पीठ को.

बुर चोदा चोदी बीएफ मैं अंदर छात्रों को पढ़ा रही थी और मेरे दिमाग में एक डर लगा हुआ था कि कहीं उन दोनों ने किसी को बोल ना दिया हो. वो नंगे बदन ही फ्रेश होने के लिए धीरे धीरे लंगड़ाते हुए बाथरूम में जाने लगी.

हनीप्रीत का सेक्सी वीडियो

साइकोलॉजिस्टज़ ठीक ही कहते हैं कि स्त्री अपने प्रेमी में अपने पिता का अक़्स ढूँढती है. मैंने उस लड़के से कहा- ये आप क्या बकवास बातें कर रहे हो!इतना कहते ही उसने मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. तब देखना कविता कैसे बनती है।मेरी बात समझ कर उसने एक पिक भेजी, जो पहले वाली पिक से अलग थी, ये भी बिना चेहरे की ही थी, और इस पिक में लड़की के साथ एक तीन चार साल की बच्ची भी थी।मैंने कहा- इस बार की पिक अलग लग रही है।तो उसने कहा- ये मेरी पड़ोस वाली भाभी की है.

पर उससे ज्यादा बड़ा सवाल था कि क्या इसे कल के बारे में भी पता चल गया? कि कल मैं इसके पति और पति के दोस्त के साथ?मैं यही सब सोच रही थी कि उसने बोला- लगता है मैं गलत समय आ गयी हूँ. मैं उसे बेडरूम में ले आई, तो उसने कहा- यार यहां नहीं … यहां तुम्हारा भाई आ जाएगा … हम बाहर वाले बाथरूम में ही चलते हैं, वहीं ठीक रहेगा. वीडियो फिल्म ब्लू पिक्चर सेक्सीफिर मैंने उसे कहा- हटो शैतान … मुझे खाना बनाने दो!उसने मुझे छोड़ दिया और किचन की स्लैब पर ही बैठ गया।मैं किचन में खड़ी खड़ी उसके लिए खाना बना रही थी.

मेरी सांसें काफी तेज़ी से चल रही थीं,मैंने वहीं दरवाजे की आड़ से आवाज लगाई- हां बोलिए कोई काम है क्या?वो बोले- अरे शायद तुम्हारा फ़ोन बंद है … तुम्हारे पति ने मेरे पास फ़ोन किया है, लो उससे बात कर लो … उसे कोई जरूरी काम है शायद.

फिर मैंने उसे कहा- हटो शैतान … मुझे खाना बनाने दो!उसने मुझे छोड़ दिया और किचन की स्लैब पर ही बैठ गया।मैं किचन में खड़ी खड़ी उसके लिए खाना बना रही थी. फिर मैंने एक बार जल्दी से उसको कुतिया बना कर उसकी चुदाई की … और माल को उसकी चुत में ही भर दिया.

आज पहली बार मैंने उसके मम्मों की तरफ ध्यान से देखा था, जो मुझे आज बहुत मस्त लग रहे थे. परमीत और हसन, दोनों ही इस अवस्था में कुछ देर रुक गए और फिर कुछ देर में संयत होने लगे. मुझे तो अपनी आंखों पर विश्वास ही नहीं हो रहा था कि चूत और गांड दोनों के फट जाने के बावजूद परमीत आनन्द लेने लगी थी और उनका साथ देने लगी थी.

फिर मैं अपने खड़े लंड के साथ दीदी के कमरे में गया, जहां जीजा जी दीदी को पेल रहे थे.

उसने अपने पैरों को इधर उधर करके अपना लंड अपनी बहन की चूत में पेल दिया. मैं- सबसे पहले कौन जाएगा?अविनाश- राज सबसे पहले तुम जाओ … इस बार हमें किसी भी हालत में जीतना ही है. इतने में सुमित ने जिम ट्रेनर के पास काउंटर पर हम दोनों की पहले महीने की फीस जमा करवा दी.

यार भाभी का सेक्सी वीडियोमैं- ब्रा!इस बार सही जवाब हुआ और दूसरी पहेली को मैंने पढ़ना शुरू किया. अब तो मुझे पक्का लग रहा था कि मुझे ट्रेन नहीं मिलने वाली।मैंने अपने पति को फ़ोन किया और यह बात बताई और मैंने कहा- अगर ट्रेन नहीं मिलती है तो मैं अपनी सहेली के यहाँ चली जाऊँगी.

देवर भाभी सेक्सी चुदाई

फिर मैं धीमे से दीदी को पेलने लगा, जिससे दीदी कामुक आवाजें करने लगीं. उस दिन मुठ मारने का एक अलग ही मज़ा आया और कब सो गया, मुझे पता ही नहीं चला. तभी मैं जिया के होंठों को घूमने लगा और वो सभी हम दोनों को देखने लगे.

ऐईईईइ ई ई ईई जानवर …”ऐसे अचानक प्रहार से सिल्क संभल भी न पाई और पूरा लण्ड उसकी चूत में समा गया. बस उसकी ये बात सुन कर मेरे दिमाग में एक खुरापाती आईडिया ने जन्म ले लिया कि क्यों न मैं जतिन सर से चुदवा लूं!पर मुझे बहुत डर लग रहा था. मैंने जंगली बनते हुए एकदम से उसकी पिंक सेक्सी सी नाइटी फाड़ दी।उसने मुझे रोका और सोफे पर बैठने को बोला और पानी पिलाया और कहा- जब बुलाऊं, तब बेडरूम में आ जाना।मैं वहीं बैठकर उसका इन्तजार करने लगा।15 मिनट बाद उसने आवाज दी।मैंने देखा कि वो लाल साड़ी में खड़ी है और एकदम दुल्हन की तरह सजी हुई है। उसके हाथ में दूध का ग्लास था.

उसको बिना ये जताये कि मैं उसकी तरफ ध्यान दे रहा हूं, मैंने बाइसेप्स पुलिंग एक्सरसाइज़ शुरू कर दी. जब मेरी चूत का दर्द कुछ कम हुआ, तो मैं उचक उचक कर अपने बाप का लंड घपाघप लेने लगी थी. मैं उससे नशीले अंदाज में बोली- आज कोई नहीं आएगा … मुझे बहुत आग लगी है, यहीं ठीक रहेगा.

पर रवीना एक्साइटिड थी, बोली- मेरी चिंता मत कीजिये, मैं पंद्रह मिनट में आपके होटल पहुँच रही हूँ. मैंने उससे पूरी बात समझी और तुरंत उसके साथ अपनी बाईक पर अस्पताल के लिए निकल गया.

मैं उनका सिर पकड़ के लंड को उनके मुंह में अंदर तक डाल रहा था और उन्हें कह रहा था- चाची चूस मेरा लंड … और तेज चूस!चाची भी जोर जोर से मेरा लंड चूस रही थी.

वसुंधरा की दोनों छतियों का दबाब मैं साफ़ तौर पर अपनी छाती महसूस कर पा रहा था. सेक्सी फिल्म हिंदी नंगी वीडियोरंग के मामले में ये कहा जा सकता है कि ये पिक या कैमरे का कमाल हो सकता है, पर मैंने भले उसके चेहरे को नहीं देखा था. बेसन की सेक्सी वीडियोमैंने अपनी सलहज प्रियंका को बड़े प्यार से अपनी गोद में उठाया और सोफा पर ले आया. उस दौरान जब मैं तड़पती, तो वो अपने मजबूत हाथों से मुझे जकड़ लेता और मुझे अपने लंड का पूरा मज़ा देने लगता.

और मुस्कान के चूतड़ों की तरफ़ अपने चूतड़ लगा कर सीमा सतीश की बांहों लिपटी हुई थी.

इससे पहले वो कुछ बोलते, शीला ने व्हिस्की उनके गिलास में डाली और सोडा उनके हिसाब से दाल कर इसे क्यूब से टॉप उप कर दिया और मुस्कुराते हुए दोनों को गिलास थमा दिए. वो रवि और रजनी जिन्होंने शादी के पहले साल में घर पर शायद ही कभी कपड़े पहने हों, अब बहुत सयंमित रहना पड़ता था. मैं समझ गई थी कि वो क्या चाहते हैं, पर मैं उनके साथ वो सब नहीं करना चाहती थी.

चाची की चूचियों का साइज नॉर्मल है, लेकिन गांड बहुत ही उभरी हुई … कामुकता से लबरेज है. ”सासू जी, आप तो इतनी मस्त हो कि मुझसे रहा ही नहीं जा रहा। चलो बिस्तर पे चलते हैं. तब मैंने उससे उसका नंबर ले लिया कि कल जब आऊंगा तब पहले फोन कर दूंगा तैयार रहना तुम!क्रिया- ठीक है।उसके बाद अगले दिन जब मैं उसे लेने गया तब वह पीले रंग के सूट में क्या गजब लग रही थी क्या बताऊं आपको।बस उस दिन के बाद से ही हम दोनों की कहानी चल पड़ी। हम लोग काफी देर तक एक दूसरे से बातें करते साथ कोचिंग आते जाते.

भाई बहन का सेक्स वीडियो ओपन

राजन ने पर्स रखा और गाड़ी निकाल कर दोनों राजपुर रोड से होते हुए सिकंदरा की ओर निकल गए. उसने स्खलन के वक्त मेरी घुंडियों को कसके मरोड़ दिया, जिससे मैं और तड़प गई. दोस्तो, गांडुओं की जिन्दगी में ऐसी घटनाएं जाने अन्जाने घटती रहती हैं.

मैंने पीछे से जाकर उसे पकड़ लिया, मेरा लंड जो उसकी गांड देख कर खड़ा हो गया था.

गोरी-गोरी रोम-रहित पिंडलियाँ, गोरे गद्देदार पैर जिन में सम-अनुपात पांच-पांच उंगलियां, सब कुछ ऐन वाह-वाह था.

फिर वो बोली- ये तो बहुत गहरी होगी ना? मेरे मर्द का ही बहुत बड़ा है, मैं तो झेल नहीं पाती. मुझे किसी तरह से भैया को भी दो तीन दिन के लिए घर से दूर रखने का प्लान बनाना था. हॉट भाभी की चुदाई सेक्सी वीडियोहमने उन तीनों लड़कों से फिर से मिलने का वादा किया और वो फिर से हमारी चुदाई की बात कहने लगे.

मैंने उसकी तरफ हाथ उठाकर हेलो कहा और पूछा- सुनो जानम, आपको किस नाम से पुकारूँ? वैसे टीवी पर देखने से मैं आपका असली नाम जानता हूँ लेकिन लूंगा वही नाम जो आप बताएंगी. अब मेरा बेइमान मन खुद पर कब तक काबू कर पाता, तो उसने भी अपने मतलब की चीज ढूंढनी चाही. क्यूं क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, आप उस दिन कह रहे थे कि आप भी इसी जिम में में जाते हो एक्सरसाइज़ करने के लिए.

खाने से पहले राहुल ने उसे ड्रिंक्स ऑफर करी तो रवि ने मीना की वजह से मना कर दिया. घड़ी पर नजर पड़ी, तो सात बज चुके थे और हम तीनों सहेलियां ऐसे ही पड़ी थीं.

वो दोनों मेरी तरफ हैरानी से देखते हुए बोले- अब और कौन सा सरप्राइज़ रह गया है?मैंने कहा- उसके लिए तुम दोनों को पहले अपनी आंखें बंद करनी होंगी.

मेरा तो नाम आप सभी जानते ही हो, जो नहीं जानते हैं, उनको मैं बता दूँ कि मेरा नाम शुभम है, मैं उत्तर प्रदेश के नोएडा से हूँ. मुझसे कब तक कंट्रोल होता! मैं चाह रही थी ये बन्द हो जाये पर पता नहीं क्यों मेरी चूत से पानी रिसने लगा था और मेरी जांघों को गीला कर रहा था. तर्जनी और मध्यमा ऊँगली ने अंगूठे के साथ मिल कर जैसे ही वसुंधरा की नाईटी थोड़ी सी ऊपर उठायी, पूरी पाँचों की पांचों शरारती उंगलियां, हथेली समेत नाईटी के अंदर समा गयीं.

सेक्सी फुल एचडी वीडियो 2021 मैंने एक पल के लिए उसके चेहरे की ओर देखा, तो वो आंख बंद किए हुए बस लंड का इंतज़ार कर रही थी. कविता की टांगें फैलाकर मैंने अपना मुंह उसकी चूत पर रख दिया और जीभ फेरने लगा.

जैसे ही मैं वसुंधरा वस्त्र-विहीन जिस्म पर ऊपर-नीचे अपनी जीभ फेरता या चुम्बन लेता, वसुन्धरा का पूरा शरीर तन जाता और सिहरन की लहरें वसुन्धरा के शरीर में उठनी शुरू जाती. मेरी स्थिति को भांपते हुए वे समझ रहे थे कि मैं अब विरोध कर नहीं सकती. मैं अन्तर्वासना की हिंदी सेक्स कहानी की इस साइट को पिछले 3 साल से पढ़ता आ रहा हूँ.

भाई बहन का सेक्सी वीडियो पिक्चर

वहां जाकर देखा तो आंटी मेरी तरफ पीठ करके खड़े होकर खाना बना रहीं थीं. गुलाबी सी छटा लिये उसकी चूत पर कामरस ऐसे लग रहा था जैसे फूल पर ओस की बूंदें. फिर हम नाश्ता करने लगे और उसके बाद मैं अपने रूम में बैग लेने के लिए आ गया.

उसने मेरी तरफ देखकर एक हल्की सी स्माइल दी और आधा कम्बल अपनी तरफ ले लिया. उसने मुँह से लण्ड निकल कर मेरी तरफ मेरी आँखों में देखा और हल्के से मुस्कुराई … जैसे कह रही हो खा जाऊं इस लण्ड को.

मैंने भी फिर से उसकी टांगों को खोला और धीरे धीरे उसकी चूत में लंड पेलने लगा.

उसका भी चुदाई करने का बहुत मन करने लगा था, पर साला रूम का कहीं जुगाड़ नहीं बन पा रहा था. प्रियंका थोड़ा आगे बढ़ कर ध्यान से देख रही थी जैसे वो भी ऐसा करने की तमन्ना रखती हो. क्योंकि उसके गाउन के गिरते ही वो एकदम से मेरे सामने नग्न खड़ी हुई थी एक भी धागा, उसके बदन पर नहीं था.

वो तीसरे छेद यानि गांड मराने की बात सुन कर चटक गई और बोली- सुन बे भोसड़ी के बाबा … गांड की तरफ देखा भी, तो लंड काट लूंगी. मेरा मन कह रहा था कि ये तुम्हारे बाबू हैं, यह गलत हो रहा है … पर शरीर साथ नहीं दे रहा था. मैंने अपने बगल में पड़े एक डण्डे को उठाया कि तब तक वो लड़की मेरे करीब आ चुकी थी.

फिर मैंने जीजा जी की बात सुनकर ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी और दीदी जीजा जी की ओर देखकर सेक्सी स्माइल करने लगीं.

बुर चोदा चोदी बीएफ: कुछ लड़कों ने मेरे चूतड़ों को देखने की भी मांग की।मेरी कहानी को इतना प्यार देने के लिए आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद।अक्षर मैं रात को टहलने के लिए छत पर चली जाती हूँ. मैंने भी हँस कर जवाब दिया- अगर पहले मिली होती तो शायद में ही तुम्हारा दोस्त बन चुका होता, वो भी अच्छे वाला.

चूमाचाटी के बाद मैंने नताशा का नाइट ड्रेस निकाल दिया और उसे घुमाकर पीछे से उसके कातिलाना मम्मों को दबाने लगा. वो जन्नत लग रही थी … बहुत हॉट लग रही थी … मुझे बहुत मस्त लग रहा था. मैं कुमार को कॉल किया और बोली- हैलो … मैं अपने भाई के साथ आ रही हूँ.

फिर नीरज ने उसकी शर्ट को उसके जिस्म से अलग कर दिया और संजू की कैपरी को भी खोल दिया.

वो- तुम डरो मत … हम दोनों का रिश्ता बिल्कुल ही किसी के सामने नहीं आएगा … केवल हम दोनों तक ही रहेगा. मैं- दीदी मैं आपकी ननद को नहीं, अपनी होने वाली गर्लफ्रेंड को तंग कर रहा हूं. Gigolo Sex Storyअपनी नंगी गांड को आगे पीछे करते हुए मैंने उसकी चूत चुदाई शुरू कर दी.