सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

छवि स्रोत,बीएफ अच्छा वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ क्राइम: सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी, अमित- अरे तुम मेरी जान हो, तुमसे नहीं कहूँगा तो किससे कहूँगा?मैं- अच्छा.

हिंदी बीएफ फुल वीडियो में

थोड़ी देर में फिर मैंने देखा कि भाभी कहीं दिख नहीं रही हैं तो मुझे लगा कि किसी काम से अन्दर गई होंगी. বাংলা সেক্স লোকালमैंने हंसते हुए कहा- क्या चाचा जी, आप भी तारीफ करना तो कोई आप से सीखे.

नमस्कार मित्रो,आज एक लम्बे अंतराल के बाद आप सबसे पुनः संवाद कर रहा हूँ. देसी लंड वीडियोउनकी इस हरकत से मेरे रोम रोम में सिहरन पैदा हो गई, मैं इंजॉय कर रही थी.

वहां उनके एक दोस्त के यहाँ एक फंक्शन है, मुझे शॉपिंग करनी थी इसलिए मैं नहीं गई.सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी: दीदी के आने से पूरे कमरे में परफ्यूम की भीनी भीनी खुश्बू फ़ैल गयी थी.

”मैं खुद को छुड़ाना चाह रही थी लेकिन उसने मेरी मचलती हुई कमर को कसकर पकड़ा हुआ था.मालूम है साशा, मैं नताशा को किसी मोटे लंड वाले काले आदमी के संग मिल कर चोदना चाहता हूँ… मेरी उसे दो दो मोटे लंडों को एक साथ चूसते हुए देखने की इच्छा है! तुम बुरा मत मानना, लेकिन तुम्हारा लंड इतना मोटा नहीं है… कम से कम मेरे जितना तो नहीं!”मैं इसके विरुद्ध नहीं, तुम्हें नताशा से पूछना चाहिए.

तामिळ सेक्स पिक्चर - सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

आपको किसी चीज की जरूरत होगी तो प्लीज आप हमें फोन कर दीजिये, आपका वीकेंड हैप्पी हो.साथ ही साथ अपने हाथों से रेणुका भाभी के कूल्हों को भी मैं मसल रहा था.

एक हाथ से मैं उसकी चूत की दाने को भी मसल रहा था, जिससे वो और भी मस्ती में आ रही थी. सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी मैंने चूत को चाटने की रफ़्तार भी तेज कर दी, देखते ही देखते वो अपनी गांड उठाते हुए झड़ गईं.

उसका पिंक कलर का 1 सेंटीमीटर का निप्पल खड़ा हुआ निप्पल देख कर तो मैं पागल हो गया और मुँह में लेकर उसे चूसने लगा.

सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी?

तीन सीट ही कन्फर्म हो पाई हैं, देखो आगे कुछ ना कुछ इंतज़ाम हो जाएगा. वो- मेरा नाम शीतल है, एक्चुयली मुझे आपसे कुछ काम था?मैं- हाँ जी, बोलिए… मैं अर्जुन हूँ, मैं आपकी क्या मदद कर सकता हूँ?वो- वो क्या है… मुझे अपनी कुतिया की क्रासिंग करवानी है और मुझे यहाँ की किसी ‘पैट शॉप’ का पता नहीं है जो मेरी हेल्प कर दे, क्या आप मेरी मदद करोगे? आपको तो पता होगा, आपके पास भी डोग्गी है!मैं- जी जरूर, जरूर मदद करूंगा. कुणाल- आंटी केला अच्छा है?आंटी- अभी ख़ाकर तो देखा नहीं कैसा बताऊं?कुणाल- तो ख़ाकर बताइए ना.

जब मेरी बीवी से अपनी कामुकता बर्दाश्त नहीं हुई तो उसने अमित को गाली देते हुए कहा- मादरचोद, अब घुसा भी दे अपने डंडे को मेरे छेद में!लेकिन अमित अब भी अपना लंड मेरी बीवी की कलित पर और चूत की दरार में ही रगड़ रहा था. लेकिन फिर मुझे एहसास हुआ कि मैं अभी बहुत छोटी मासूम सी हूँ जिस कारण सीनियर लड़कों का मुझे चोदने के अलावा किसी बात में कोई इंटरेस्ट नहीं है. मामी ने पूछा- कब आए हो?मैंने कहा- आज सुबह ही आया हूं… और अब आपको मिलने आ गया.

मैं उस दिन तक ठीक हो चुका था लेकिन कमजोरी थी इसलिए सोचा मंडे से क्लास जाऊंगा. यहाँ तक कि अमित ने भी उसे आजतक इतना गिफ्ट नहीं दिया होगा, जितना मुझे दे दिया था. मैंने झटका मारने से पहले उसके मुँह पर हाथ रख दिया था जिससे उसकी चीख की आवाज़ दब गयी लेकिन उसकी आँखों से आँसू गिरने लगे तो मैंने अपना हाथ हटा दिया तो वो कहने लगी- प्लीज इसे निकालो, बहुत दर्द हो रहा है.

तुमने कितनी देर पहले कहा था कि खाना खाने के बाद बात करती हूँ और अभी तक इंतजार करवा रही हो. मैंने उंगली डालते ही जान लिया। इन लोगों ने बोला था कि एकदम से फ्रेश माल है.

अपनी लंबी जीभ निकाली और जितना हो सकता था उतनी जीभ, भाभी की नाभि में उतार कर गोल-गोल घुमाने लगा.

अगले दो दिन मैं टयूशन नहीं गया तो उसका फोन मेरी मॉम के पास आया कि सैंडी दो दिन से टयूशन क्यों नहीं आ रहा है?मॉम ने मुझे ज़बरदस्ती उसके पास टयूशन के लिए भेज दिया.

भाभी एकदम मेरे ऊपर भभकते कोयले की तरह बरस पड़ीं और बोलीं- भोसड़ी के… मैंने मना किया था कि तू अपना लंड किसी भी स्थिति में बाहर नहीं निकालना. चलिए फिर हाल ये तो बाद की बातें हैं कि मेरे साथ क्या हुआ मैं ये बताती हूँ. मैंने मेरे हाथ उसकी गांड की दरार में डाल दिया लेकिन माला ने तुरंत वहां से मेरा हाथ हटा दिया और कमर पर रख दिया.

तभी एक दर्जी आ गया, शायद भाभी ने उन्हें अपने ब्लाउज का नाप देने के लिए बुलाया था. वैसे एक बात बताऊँ वो रेड कलर की ड्रेस मैंने ही दी थी, अवी ने नहीं और उसमें साइड में कुछ है भी नहीं. दोनों पूरे नंगे बैठे थे कम्बल ओढ़ कर…दोनों ने मुझे डबल बेड पर अपने बीच में लिटा लिया और मेरे सेक्सी बदन पर से मेरे कपड़े एक एक करके उतारने लगे.

पहले मैं होकर आती हूँ फिर तुम!और मैंने सोचा कि क्यों न प्लान अभी से स्टार्ट कर दिया जाए… मैंने रोहण से कहा- रोहण, मैं यहीं कपड़े उतार दूँ? तुम्हें कोई परेशानी तो नहीं?रोहण ने कहा- ओके माँ!रोहण खुश हो रहा था और मुझे ही देख रहा था कपड़े उतारते हुए!मैंने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और उसमें से मेरा क्लीवेज दिखने लगा क्योंकि मैंने डीप नैक ब्लाउज पहना था.

इतनी टाइट चूत होने की वजह से रमेश को भी अपने लंड में थोड़ा दर्द का एहसास हुआ, पर उसको काजल की आँखों में आंसू देख कर थोड़ी देर रुकने का ख्याल आया. उसकी आहें निकल रही थी पर वे अपने होंठ दबा कर अपनी सिसकियाँ दबा रही थी. मैंने आकांक्षा से कहा- यहाँ ऑफिस में प्रॉब्लम हो सकती है, मेरा फ्लैट पास ही में है.

वो गर्दन हिलाकर मना करते हुए बोलीं- ना बाबा ना… रात को मौका दिया था तो तुमने मेरी हालत खराब कर दी थी. अब मेरी सास ब्रा पैन्टी में थी वो भी काली ब्रा और काली पैन्टी मस्त लग रही थी. मैं अब उन्हें ज़ोर से चूस रहा था और उसके मुख से अब सिसकारियों की आवाज़ आ रही थी- आअहह उह्ह ह्ह हाँ… और ज़ोर से चूसो, खा जाओ… अह्ह ह्ह्ह मेरी जान… आईई ईईईई… खा जाओ, और ज़ोर चूसो, दबा कर पी जाओ मेरे दोनों बूब्स को… अह्ह आईई.

मेरा पहला प्यार इरफान ही थे और मैंने अपनी लाइफ का पहला सेक्स हमारी सुहागरात को ही किया.

नीचे वाले में मम्मी पापा और छोटा भाई सोता है और ऊपर वाले कमरे में और मेरा भाई. फिर मैं भी पूरा नंगा हो गया और मैंने उसके हाथ में अपने लंड दे दिया.

सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी आज समझो एक दो लड़के तो गए काम से…मैं- हा हा… तुम अपने अमित को बचा कर रखना कि कहीं वो भी ना चला जाए. एक बार तो मुझे लगा कि अगर मेरी झांटें साफ़ होती तो मुझे आज ज्यादा मजा मिलता.

सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी वो बस की सीट पकड़ कर खड़ी थी और एकदम से पीछे से बढ़ते दबाब के कारण मेरी दादी के पैरों तक झुक गईं. स्वाति हिसाब चेक करती है तो वो निकिता को दान्तेती हुई कहती है कि ये क्या गलत हिसाब किताब कर रखा है.

लेकिन बहूरानी की बातों का अर्थ समझ कर मेरे दिमाग की बत्ती झक्क से जल उठी.

लोकल सेक्सी वीडियो बीएफ

तभी मुझे लगा कि मैं अब झड़ने वाला हूँ तो मैंने सिमरन से कहा- सिमरन जी मैं अब झड़ने वाला हूँ, बताओ मैं कहाँ झड़ूँ?सिमरन ने कहा- वीशु जी, आप मेरी चूत में ही झड़ जाओ!मैंने कुछ धक्के लगाये होंगे कि सिमरन की चूत में मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मैं थक कर सिमरन के ऊपर ही धम्म से गिर गया तो सिमरन मुझसे बेल की तरह से लिपट गई और मुझे बहुत देर तक चूमती रही. जैसे ही मैंने भाभी की चुत में लंड झाड़ा वो फिर से गलियाँ देने लगीं- साले हरामी मादरचोद मेरी चूत में क्यों झाड़ा. ये देख कर वो भी हँसने लगीं और कहने लगीं कि तुम सच में बहुत शर्मीले हो.

अब मुझे शर्म कम लगती थी, फिर उन्होंने वहीं मेरे साथ सेक्स किया, मुझे चोदा और अपना लंड चुसाया और फिर कमरे में लाकर फिर चोदा. वो बस की सीट पकड़ कर खड़ी थी और एकदम से पीछे से बढ़ते दबाब के कारण मेरी दादी के पैरों तक झुक गईं. जिसे ब्रायन ने अपने शोल्डर से निकाल कर, दूसरी तरफ उछाल दिया और अपना गले में पड़ा क्रॉस भी उतार कर टेबल पर रख दिया.

मैं हंसा- मेरी जान मुझसे क्या शरमाना… अभी तो बड़ी उछल उछल कर चुत की चुदाई करवा रही थीं… अब कैसी शर्म!भाभी मेरी तरफ गुस्से से आईं और बोलीं- बदमाश… कितना बेशरम हो गया है तू?मैं बोला- अरे जान… मुझे भी ज़ोर की लगी है… क्यों ना साथ में ही मूत लें.

यह सुन कर मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैं बोला- अनुष्का मेम, जो मुझे देखना है, वो आप दिखाओगी नहीं?ये सुन कर उसको थोड़ा गुस्सा आ गया और वो बोली- ऐसा क्या देखना है तुझे?मेरा लंड जो खड़ा था, वो भी उसने देख लिया था. उधर विकास और पूजा तो एक दूसरे के साथ चिपक कर बारिश और पानी का पूरा फायदा उठा रहे थे. मैं तो जन्नत में था दोस्तो… उसने मुझे सातवें आसमान पर पहुंचा दिया था.

कुछ मिनट बाद हम दोनों ने फिर पोज़िशन बदली और इस बार हम डॉगी स्टाइल में थे. मैं उन दोनों को आते देख के एक डीएम से पिलर के पीछे छिप गई ताकि मॉम मुझे ना देख सकें! दोनों को खुश देख कर मुझे समझ आ गया था कि दोनों ने रात वाला चुदाई का खेल फिर से खेला है. मैं कहना तो नहीं चाहता पर सच में पहली बार क़िसी का दर्द अपना दर्द जैसा लग रहा था.

फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी टीशर्ट के अंदर देना चाह तो उसने हाथ पकड़ लिया और बोली- यहाँ नहीं!और फिर हम दोनो रसोई से बाहर आ गए. वो कुछ नहीं बोली, मैंने मौका समझा और जल्दी से उसे बांहों में ले लिया.

अब तुम ही बताओ कि छोटी को कैसे ठीक किया जाये क्योंकि अपनी दोनों बेटियों के अच्छे या बुरे के लिए मैं स्वयं को जिम्मेदार समझती हूं।अभी तक मैं आंटी की कहानी सुन रहा था, उनकी कहानी कामुक थी, या वेदना से भरी ये आप पाठक गण तय कीजिए।और हाँ. अरे तेरे सहारे ही तो मैं ये भव सागर पार उतरूंगा ना!” मैं अपनी बीवी को चूमते हुए कहा. फिर रमेश ने मयूरी को खड़ा करके उसकी एक टांग सोफे पर रखा और खड़े-खड़े ही उसकी गांड में अपना लंड घुसा दिया.

चलो ये तो अब की बात है, मैं पिछली बातें बताती हूँ कि आखिर उस दिन के बाद क्या हुआ.

’ननदोई जी ने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे गोरे गोरे मम्मों को अपने मुँह में लेकर चूसने लगे. ये किस्मत का खेल ही था, जो एक सामान्य घर के सामान्य से रिश्तों को कुछ ही घंटों में इतना विशेष बना दिया. मैंने उसके होंठों पर अपनी उंगली रख दी, तो उसने बिना एक सेकंड लगाए उसे अपने होंठों में दबा लिया.

उसे खड़ा करके, उसका मुँह अपनी तरफ करके अपनी टांगों पर बैठाया और कहा- चलो आ जाओ और अपने हाथों से अपनी चूत डालो, और हाँ दोनों की किस्सी जरूर कराना. थोड़ी देर में मैंने भाभी के ब्लाउज को खोल दिया और मैंने देखा कि ब्लू कलर की नेट वाली ब्रा में उनके मोटे मोटे चूचे क्या मस्त सेक्सी लग रहे थे.

अब तक आपने देखा कि कैसे विवेक ने मेरी चुदाई की और अब मैं और विवेक चुदाई की सारी हदें पार कर चुके थे. मैं पूरी नंगी थी, मेरे दूध अपने होठों में भर लिए। वहां एक ही बिस्तर लगा था, उसी बिस्तर में ले जाकर लिटा दिए. तो मुझसे देखा नहीं गया और उसे चुप कराया और उसका सिर अपने कंधे पर रख लिया, उसे हौसला दिया।तो वो कहने लगी- आप कभी मेरा एड्रेस इत्यादि नहीं मांगोगे और मेरे बोलने के बाद कभी मुझसे मिलने की कोशिश नहीं करोगे.

एक्स एक्स एक्स बीएफ बीपी

अब एड्रिआना तीसरी बार झड़ने को थी और मेरा भी लावा उगलने को मचल रहा था, जो किसी भी वक़्त बाहर आ सकता था.

मेरी भाभी किचन में हों तब मैं पीछे से जाऊँ और उनकी गांड की छेद में जीभ डाल कर चूमता रहूँ. कुछ देर बाद भाभी झड़ गईं तो मैंने भाभी को बेड के किनारे खड़ा करके कुतिया बना कर पीछे से लंड पेला और उनकी हचक कर चुदाई की. वो दिव्या जैसी थी, मीडियम सी… मुझसे अच्छी नहीं थी और तुम्हें इसके साथ चक्कर चलाना है और जो मन हो कर लेना, मेरी सगी बहन है.

अभी चाय वाले से चाभी लेकर मैंने ऑफिस का गेट खोला और अन्दर आकर बंद कर दिया. रोते रोते भाभी ने ध्यान ही नहीं दिया कि उनकी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा हुआ है. सिगरेट पीने वाली सेक्सीशिशिर मेरी चुचियों को छेड़ रहा था जबकि सुनील सलमा की गांड सहला रहा था.

अब आगे:मैं नीचे फर्श पर ही बैठ गया और मैंने बहूरानी के दोनों पैर उठा कर अपने कन्धों पर रख लिये और उसकी कमर में दोनों हाथ डाल कर उसे अपनी ओर खींच लिया जिससे उसकी चूत मेरे मुंह के ठीक सामने आ गयी… बिल्कुल करीब; उसकी एकदम सफाचट चिकनी क्लीन शेव्ड चूत मेरे सामने थी. मैं करीब 11 बजे मुरादाबाद पहुँच गया और मैंने रास्ते में ही शालिनी को फ़ोन कर दिया कि मैं आ रहा हूँ मेरी रानी.

मेरे पास दो कमरे थे, मकान मालिक तब बाहर गए थे, कोई फर्नीचर नहीं था, मैंने चटाई बिछाई, उस पर एक कम्बल बिछाया और बैठ गए. जैसे ही लंड अंदर घुसा मैंने पिंकी का मुँह बंद करने के लिए हाथ आगे बढ़ाया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और सारा घर आआईयईईईई. वो गुरुवार का दिन था जब मैंने ये बातें कि थी और मैंने सन्डे को वादा किया था कि गिफ्ट लाकर देना.

आज जो कहानी मैं बताने जा रहा हूँ वो सिर्फ़ एक स्टोरी ही नहीं है, वो मेरी रियल लाइफ की में घटी एक सच्ची चुदाई की घटना है, जो मेरे और मेरी मॉम के बीच हुई है, जो अबसे दो साल पहले घटी थी. फिर मैंने अपने हाथ उसके पीछे ले जाकर उसके दोनों चूतड़ों को अपने हाथों में लेकर सहलाए, जिसका मोनिका पर कोई असर नहीं दिखा. ये ही काम उसने मुझे उल्टा करके भी किया, मेरे कूल्हों को भी वो बहुत देर तक चूमता रहा.

गुस्से में फ़ोन बिस्तर पर पटक कर दीदी बाहर आई और बोली- मेरी सास ने बुलाया है… यहीं शहर में… बोली हैं कि सफ़ेद साड़ी पहन कर आओ.

मेरे एक निप्पल को वो चूम रहा था तो दूसरे निप्पल को हाथों से मसल रहा था. फिर 8-10 झटकों के बाद उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मुँह खोल कर ज़ोर ज़ोर से साँस लेते हुए आवाजें निकालने लगी.

मैं उसे तड़पा रहा था मगर उसकी जल्दी और टाइम को देखते हुए मैंने धक्का मार दिया, लंड फिसल गया. वैसे तो उनकी सेक्स लाइफ शुरू से ही अच्छी थी, लेकिन पिछले 4-5 सालों में माया की वासना बढ़ने लगी थी. अब मेरे चूतड़ दिखने लगे थे, अगर इससे नीचे करती तो आगे बुर दिखनी शुरू ही हो जाती.

घर दिखाने तो हम भी साथ जा सकते हैं, वो अकेला क्यों गया है और तब तक हम क्या बाहर खड़े होकर झक मारें?राजीव- अरे इसको क्या पूछता है, ये तो उसी की बोली बोलेगा. तभी अनुराग का कॉल आ गया और मैंने उससे 2 मिनट बात की तो बॉस ने देखा कि मैं आई फ़ोन 7 यूज़ कर रही हूँ।इससे उन्होंने नए फोन की पार्टी मांग ली. खाना खाने और बाकी समय उनके सर मुझसे ज्यादा ही बातें कर रहे थे और किसी ना किसी बहाने से मेरे करीब ही रहते थे.

सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी उस लड़के के घर जाकर पूछा कि वो कहाँ है?उसके घर वालों ने कहा कि कहीं बाहर गया है. तो मैंने उससे कहा- थोड़ी देर ही दर्द होगा, फिर मजा आयेगा!और उसे किस करने लगा और उसकी चूची चूसने लगा.

बीएफ पिक्चर ब्लू पिक्चर सेक्सी

उनका मदमस्त शरीर देख कर मेरा भी सब्र टूट गया और मैंने उन्हें अपनी बांहों में भर कर किस करने लगा. अब मैं भी रोहण का पूरा साथ देने लगी और मजा लेते हुए धक्का मार कर चुदाई का मजा दुगना कर रही थी. लेकिन शादी में जाना भी जरूरी था तो मैंने उससे कहा- रुको, मैं तुम्हें अभी बताता हूँ.

मम्मी राधिका ने उसे अपने मुँह के पास किया, सूंघ कर देखा, पति की मौत के एक लम्बे अरसे बाद लंड की जानी पहचानी खुशबू पाते ही, उनकी गदराई हुई चूत पसीजने लगी. मैं मन ही मन सोचने लगा कि हो ना हो भाभी का मन कुछ ना कुछ करने का सोच रहा है. ऑंटी के साथ सेक्सी व्हिडिओउसकी उम्र कोई 25-26 साल थी, वो थोड़ी सांवली थी पर दिखने में एकदम कमाल का माल थी.

मैं रात को मामी के घर पहुंचा, मामी मुझे देख कर बहुत खुश हुईं, उन्होंने दरवाजे पे ही मुझे किस कर दिया.

थोड़ी थकी लग रही हो क्या ज्यादा काम किया क्या?”ही ही ही,,, तुम भी न सविता. शाम को 7 बजे के करीब सविता और मेघा ने ड्रेस चेंज करके सेक्सी ड्रेस पहन ली.

तो एक लड़की का मेल भी आया जिसने अपना नाम ममता (काल्पनिक) बताया और बताया कि वह दिल्ली की रहने वाली है. नहीं समझी?”फिर मैंने बताया- किसी को अपना नंबर दिया था, याद है?तो उसने कहा- ओह तुम हो. मैंने चुदाई जारी रखी, पूनम को मैंने अब डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और लंड को चुत में घुसा कर फिर चुदाई शुरू की.

इसके बाद भाभी जी से मैं धीरे धीरे खुलने लगा, पहले तो मैं उनके साथ नार्मल बातें ही करता था, फिर धीरे धीरे सेक्सी बातें भी करने लगा.

चूँकि मॉम के कमरे में अटैच बाथरूम था इसलिए उनको इस वक्त किसी बात की चिंता नहीं थी. अब एक होंठों पर किस होना बाकी था, लेकिन वो अभी ही 5 किस ज्यादा कर चुका था. तभी अंकल लोगों ने मेरी लैगी को नीचे उतार दिया और पैन्टी भी… पैंटी जैसे नीचे उतार रहे थे कि सुरेश अंकल पैंटी को चाटने लगे और बोले-साली की चूत बह रही है, देखो कितनी चुदासी है! तीनों बहुत दारु पिये हुए थे दारू की बहुत बदबू आ रही थी.

𝚡𝚡𝚡 𝚟𝚒𝚍𝚎𝚘चुत पे छोटे छोटे बाल थे शायद कुछ दिन पहले ही उसने अपनी झांटें बनाई होंगी. अरे तेरे सहारे ही तो मैं ये भव सागर पार उतरूंगा ना!” मैं अपनी बीवी को चूमते हुए कहा.

उड़ीसा के बीएफ

जीजाजी ने अपने लंड पर थूक मला और अली के चूतड़ एक हाथ से टटोले, गांड उंगली से टटोली और अली की गांड पर अपना लम्बा मोटा मस्त लंड टिकाया, एक धक्का दिया और पेल दिया. ” विक्रांत ने बुरा मानते हुए कहा।हा हा हा… तुम तो नाराज़ हो गए… मैं तो मजाक कर रही थी। मुझे भी तुम कहना ही अच्छा लगता है आखिर हम दोस्त हैं? हैं ना?”हां दोस्त तो हैं… अब मुझे आफिस के लिए सच में देर हो रही है… आफिस पहुँच के रिप्लाई करूँगा. वो भी मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अन्दर की ओर धक्का लगा रही थी और हर धक्के के साथ उसकी आहें निकल रही थीं.

मैंने कुछ और टुनयाया तो बाद में भाभी मान गईं और बोलीं- पहली बार में उस दिन बहुत दर्द हुआ था. करीब 15 मिनट की तगड़ी चुदाई के बाद मैं भाभी की चूत में निकलने को हुआ, तभी भाभी ने मुझसे कहा- राहुल मुझे लंड चूसना है. अचानक मेरे लंड ने अपना सारा पानी उनकी गांड के छेद में छोड़ दिया और मैं उनके ऊपर निढाल हो गया.

मुश्किल से मैंने सिमरन को 10 मिनट ही चोदा होगा कि उसे बहुत मजा आने के कारण वो झड़ गई लेकिन मैं लगातार धक्के लगाता रहा और मैंने उसे अलग अलग पोजीशन में काफी देर तक लगातार चोदा. विधवा होने पर भी इतनी डिज़ाइनर और ब्रांडेड ब्रा? मैं सोच में डूब गया. मैं बड़ी हो चुकी थी लेकिन कम उम्र की मासूम सी दिखती थी, इस लिए हर कोई मुझे ही चोदना चाहता था.

मेरे दोनों नन्हें चुचे उनके हाथों में थे और हर धक्के के साथ वो मेरे चुचे भींच देते. लेकिन मैंने आपको ये बात बताई है, सिमरन को मत बोलना और मुझे उसके घर से थोड़ा पहले ही उतार देना जिससे उसे यह पता न चल जाये कि मैं आपसे आज मिल चुकी हूँ। वीशु जी, फॉर्म फिल अप करना तो एक बहाना है, असल में सिमरन आपका खड़ा हुआ लंड देखना चाहती है.

और मेरे साथ भी यही हुआ, कोई भी भाई अगर वो जवान है तो कभी मना नहीं करेगा.

राधिका का लंड चूसना बदस्तूर जारी था, साथ ही साथ वो उसकी गोलियों से भी खेल रही थीं. ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म बीएफयहाँ जैसे ही मैंने उसकी बेटी को देखा में झटका खा गया क्योंकि कांफ्रेंस के दौरान मैं उससे दो बार मिल चुका था. सनी लियोन बीएफ पिक्चरइसके बाद मैंने उसके साथ थोड़ी देर इधर उधर की बात की और उससे दोस्ती के लिए बोला. मैंने लंड को तेज़ी से चूत में पेलना जारी रखा और साथ ही नीचे होकर बूब्स को हाथों से मसलने और चूसने लगा, दीदी के हाथ भी अब बेडशीट से हटा कर मेरे सर पर आ गये थे वो भी मेरे सर को बड़े प्यार से एक हाथ से सहला रही थी और साथ ही एक हाथ को मेरी पीठ पर घुमाने लगी थी.

उसने पार्किंग में खड़ी अपनी कार में मुझे ले जाकर मेरी लाल चड्डी खींच दी और स्कर्ट ऊपर करके अन्दर ही झुका दिया.

मैंने दिव्या से पूछा- क्या करूँ?तो उसने कहा- चली जा, एक लंड और सही. मैं वहीं लेट गया और पिंकी मेरे पेट के पास बैठ कर एक मैगज़ीन पढ़ने लगी. ” विक्रांत ने रिप्लाई किया।हा… हा… अच्छा यह बताओ तुम्हारी उम्र क्या है विक्की?”क्यों?”बस ऐसे ही पता तो चले कि कौन है जिसे मैं हॉट लगती हूँ.

फिर उन्होंने मेरी पैंटी में हाथ डाल दिया और मेरी चूत को सहलाने लगे. जब वापस ऑफिस गया तो अपने पार्टनर को सब बता दिया तो मेरे पार्टनर ने मुझे बताया कि वो इसके पहले जिस पुणे की कंपनी में काम करती थी, वहीं के एक लड़के से शादी की लेकिन दो महीने के भीतर ही उसका पति चल बसा और यहाँ पर अपने मायके में रहती है. वो लौंडा यह बात सुन कर बोला- चाचा जैसा जबरदस्त लंड असफेर में कितऊं नईंया, केवल झांसी से एक नईम ड्राइवर है, ऊको भी ऐसई भयंकर लंड है.

लेटेस्ट सेक्स बीएफ

पापाजी इस बात के खिलाफ हैं तो जब तक शादी नहीं हो जाएगी तब तक हम ऐसे बातें नहीं कर सकते. मैं भी मोनिका को पसन्द करने लगा, उसमें तब बचपना था और मुझ पर मेरी जवानी भारी पड़ रही थी. वो बोला- कैसे मनाओगी इसे?लड़की ने कहा- ये मुझ पर छोड़ो, लड़की लड़की को पढ़ सकती है कि वो क्या चाहती है.

भाभी बोलीं- अब सर ही हिलाता रहेगा या अब मुझे गरम भी करेगा?मैंने भाभी से कहा- मुझे नहीं आता आप ही बताओ?भाभी ने अपना माथा पकड़ लिया और बोली कि मैं किस अनाड़ी के चक्कर में पड़ गई?मैं उनकी तरफ चूतियों सा मुँह बाए खड़ा था.

फिर मैंने अपना लंड हाथ में लिया और उस पर थोड़ा तेल लगाया क्योंकि मैं भी पहली बार चोदने जा रहा था और खुशबू भी पहली बार चुद रही थी.

बॉबी भाई मुझसे करीब 3 साल बड़े थे, इसलिए मैं उन्हें भैया कह कर पुकारता था. अभी थोड़ी देर में मैं एक और पारी खेलूँगा, उसमें मैं तुम्हारे सारे शिकवे दूर कर दूँगा. एक्स एक्स एक्स बीपी पंजाबीफिर हुआ यूं कि उन दिनों जाड़े का मौसम था, रात के 2:30 बजे के करीब मेरी नींद खुली, तो मैंने सोचा क्यों ना आज भाई का लंड देखा जाए.

फिर विवेक के दोस्त ने कहा- तुम लोग क्या लोगे? चाय या कॉफी?विवेक ने कहा- ना यार, तू कोल्ड ड्रिंक ले आ. मुझे बहुत बुरा लगा कि मेरी मम्मी को वह नीग्रो मेरे सामने ही चोदने जा रहा था. फिर मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा और इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चुत के अन्दर चला गया.

अनुष्का ने अपनी टांगें थोड़ी खोलीं और मुझसे बोली- सैंडी उस दिन क्या देखने को बोल रहे थे तुम?मैंने डरते डरते ऊपर देखा तो नज़र सीधे उसकी टांगों के बीच में गई. लेकिन जैसे मैंने दरवाजा खोला है तुरंत जैसे मेरे पैरों के नीचे जमीन नहीं रही क्योंकि वो अमित ही था और उसके हाथों में एक गिफ्ट पैक था.

वे एक रिटायर फौजी थे, लौंडों की गांड मारने के आशिक थे, जिस लड़के के पीछे पड़ जाते उसकी गांड में लंड पेल कर ही मानते थे.

मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी लाल रंग की लिपस्टिक होंठों पे लगायें और मैं उनके होंठ जीभ से चाटता रहूँ. और मैं उसे लेकर किचन में कॉफ़ी बनाने चली गई और वहीं खोल कर देखा तो एक प्यारा सा जीन्स टॉप था. जिसमें मुझे लड़की या औरतों की फुलबॉडी मसाज और उनकी जरूरत के हिसाब से उनकी चुदाई भी करनी पड़ती है और कभी कभी रेणुका मैडम मुझे होम सर्विस के लिए भी भेजती हैं.

क्सक्सक्स स्टूडेंट मधु ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और अपने हाथ से ही मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत के छेद पट टिका कर रखा और मुझे एक झटका मारने को कहा. मैंने धक्के तेज कर दिए और मेरा लंड उसकी चूत की दीवारों को रगड़ कर उसका गर्म गर्म पानी निकाल रहा था, जो मैं अपने लंड पर महसूस कर रहा था.

उन्होंने एक एक करके दोनों छेद दिखाए जिसमें ऊपर वाला छेद मूतने के लिए बताया कि इस वाले छेद से मूत निकलता है और नीचे वाले छेद में लंड घुसेड़ा जाता है. मेरी आँखों से निकली हुई आंसू की धारा मेरे गाल से बहती हुई गले तक आ रही थी. उसने लंड का सुपारा गांड में पेला, सुपारा अंदर डालने के साथ ही उसने अपना एक हाथ मेरी कमर से लपेटा और उसका दूसरा हाथ मेरी गर्दन को लपेटे था और मुझे धीरे से धक्का दे कर ताकत से औंधा कर दिया और वह मेरे ऊपर हो गया.

बीएफ सेक्स स्टोरी

यह बात तब की है जब मैं मार्किट गई थी तो वहां अवी का दोस्त मिला जिसने उसकी बर्थडे पार्टी पर मेरे साथ डांस किया था. तभी चाचा मेरे सामने आकर खड़े हो गए और बोलने लगे- चोदो… क्या मस्त चूत है, 3 – 3 लंड ले रही है. सन्नी- नहीं सर, वो बात नहीं करनी… और दफ़ा करो उस करण को, अब मेरा कोई दोस्त नहीं करण नाम का… मेरा कोई रिश्ता नहीं उसके साथ, साला जहाँ मरता है मरे, अच्छा किया जो आपने उसको अपनी टीम में नहीं लिया, और मैं सॉरी बोलना चाहता हूँ कि मैंने उस हरामी करण की वजह से आप लोगों से झगड़ा किया था, सॉरी सर.

मैं थोड़ा सा डर गया था कि कहीं भाभी भैया या मम्मी से कुछ कह नहीं दें, पर भाभी ने कुछ नहीं कहा. फिर कुणाल ने अपने बैग से केला और संतरा निकाल कर दो दो संतरे सबके हाथ में दे दिए.

अब तक आपने इस इंडियन सेक्स स्टोरी के पिछले भाग में पढ़ा था कि मैं अपने गाँव गई हुई थी, मेरे गाँव में एक लड़के ने मुझे पकड़ लिया था और मेरी गांड की तरफ से मेरी जाँघों में लंड रगड़ कर माल निकाल कर भाग गया था.

तो सागर- क्यों दीदी, ऐसा क्यों कह रही हो मेरे जीजू के बारे में?मीना- भैया उनका लंड छोटा है सिर्फ 4 इंच का और वीर्य भी 5 मिनट में ही निकल जाता है. मौसी के कोई बच्चे नहीं थे, शादी को करीब 8 साल हो चुके थे, अंकल एक फैक्टरी में काम करते थे. वो दाने पर मेरी जीभ की रगड़ से पागल होने लगी और मेरे बाल पकड़ कर चूत पर दबाने लगी.

तभी मैं अपना एक हाथ उनकी छाती के पास ले गया और दूध दबाकर देखा तो वाकयी उनके दूध औरतों जैसे थे. दोनों के जाते मैंने पिंकी को लंड पर बैठा लिया, उसके होंठ चूसने लगा और चूची मसलने लगा. मेरी पिछली कहानियों में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने और रिया ने हरदम धकापेल सामूहिक सेक्स का लुत्फ़ उठाया।मेरी सारी कहानियां पढ़ कर मुझे दो हजार से ऊपर फैन मेल्स आये.

अगर पैसे लेकर करने देती तो मैं दे देता, जितना वो लेती पर वो तुम्हारी सहेली है और सीधी भी है.

सेक्स सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी: मैं जब सामान उठा रहा था, तो मैंने देखा उसमें 5 अलग अलग कलर की पेंटी और सेम कलर की 5 ब्रा थीं. अंकल ने मुझसे कहा- बेटा अब सब सो गए हैं, अब पहले मैं तुम्हें किस करूँगा.

घर आने के बाद भाभी मुस्कुराते हुए मुझसे बैठने का कह कर अपने रूम में चली गईं और थोड़ी देर बाद बाहर आकर बोलीं- शेखर भाई साहब हम दोनों को दुबारा मार्केट में उसी दुकान पर जाना पड़ेगा. रात के 10 बजे होंगे, तब चाची बच्चों को सुला कर मेरे कमरे में आ गईं और दरवाजा बंद कर दिया. मैंने आपको बताया था कि ये हम दोनों का ही पहली बार था, हम दोनों ही नये थे और हमें नहीं पता था कि कैसे करना है.

थोड़ी देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड उठा कर कहने लगी- आह और जोर से.

तभी मेरा ध्यान गांड में अंदर बाहर होते लंड पर गया जिस पर खून लगा हुआ था. मैंने बहुत ही मेहनत से पढ़ाई की और अपनी 11 वीं की परीक्षा बहुत ही अच्छे नंबर से पास की. वो मुझे सिखाने लगी, पर मैं तो उसे चोदना चाहता था, तो मैं किसी न किसी बहाने उसे छू रहा था.