सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली

छवि स्रोत,गांव की सुहागरात वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

छोटी लड़कियों: सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली, मैं उसके गले और कान के पीछे किस करने लगा और एक हाथ से उसकी चुत को सहलाने लगा.

भोजपुरी नंगा बीएफ

फिर मैंने पूछा- आपके कितने बच्चे हैं?वो मुझसे बोलीं- आप ये सब क्यों पूछ रहे हो?मैंने बोला- बस ऐसे ही. क्सनक्सक्स हद सेक्समेरी मम्मी और दोनों छोटी बहनें हरियाणा के एक शहर रोहतक में रहती थीं और मेरे बड़ा भाई मुंबई में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता था.

काफी देर तक लंड को चूसने के बाद जब मुझे अहसास हुआ कि बस कुछ ही देर में मेरा काम तमाम होने वाला है तो मैंने उसको पीछे कर दिया क्योंकि मुझे उसकी चुदाई भी करनी थी. जेठ जी का लंडजिसकी चारदीवारी बनी हुई थी और वहां पर एक कमरा भी था, जिसमें पलंग पड़ा था और कमरे में दरवाजा भी लगा था.

फिर मेट्रो में सवार होने के बाद रीटा मेरे बेहद करीब आकर खड़ी हो गई.सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली: वो अपने दोनों हाथ अपने सर में घुमा रही थी और ‘आअह्ह उउउह आआई ईई मरर गईई …’ की आवाजें निकाल रही थी.

मैं कराह कर बोली- आंह भैया क्या कर रहे हो … फिर मैंने मम्मी को बोला कि देखो न मम्मी, भैया मुझे कितनी जोर से दबा रहा है.उसको बहुत अच्छा लगता और मुझे भी!फिर जब उसके पैरेंट्स ने उसकी शादी किसी और से तय कर दी तो मेरा दिल टूट गया.

राजस्थान के हिंदी बीएफ - सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली

वो बोली- लंड!इस दौरान मैं लंड चूत पर रगड़ रहा था और उसको ऐसे देख कर मुझे मजा आ रहा था.अब मेरे सामने लैपटॉप पर चुदती हुयी एक लड़की इतनी पास से दिख रही थी जैसे उसकी चूत मेरे बगल में हो.

मैंने कहा- क्यों?वो बोली- तुम सच्ची में लुल्ल हो … मैं पहली बार लंड ले रही हूँ मेरे प्यारे लुल्ल जी. सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली मेरी खिलती जवानी को चूसने के लिए मेरे इर्द-गिर्द भूखी निगाहें मुझे आगाह करती हैं कि मुझे खुद को सलामत रखने के लिए एक ऐसे मर्द की जरूरत है, जो मेरी रक्षा करे.

रीटा तो आनन्द में गोते लगा ही रही थी क्योंकि वो भी पहली बार ये सब अनुभव कर रही थी.

सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली?

मैं बोला- तुम बताओगी तो समझूँगा ना!हर्षद, साढ़े तीन महीने हो गए हैं. उन्होंने मेरी तरफ गुस्से से देखा और बोलीं- साले क्या इरादा है तेरा?मैं माफी मांगने लगा. रात को जब खाना खाकर मैं छत पर टहलने गया, तो रोज़ की तरह पम्मी आंटी मस्त सेक्सी सी मैक्सी पहन कर छत पर अपने दोनों बच्चों के साथ टहल रही थीं.

मैंने उसकी टांगें नीचे की … और उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर किस किया, उसके नीचे हाथ डालकर उसे अपनी बांहों में कस लिया. उसके चूतड़ लंड से टकरा रहे थे जिससे ठप ठप ठप ठप की मस्त आवाजें निकल रही थीं. मौसी के मुँह से भी सिसकारियां निकलने लगीं- आह … अम्म … ओह … आह अरुण और चूसो इन्हें … आंह और जोर से चूसो मजा आ रहा है.

मॉम एकदम जोश में थीं, वो बोलीं- कल कर लेना शादी … अभी पहले मेरी चुत की गर्मी शांत कर. उसने ये भी लिखा था कि रात को जल्दी मत सोना, मैं 11 बजे तुम्हें मैसेज करूंगी. उस समय हमारे बीच में चुदाई की कोई बात नहीं होती थी, बस किस वगैरह की बात होती थी कि किसने स्कूल में किसको किस किया, कौन किसकी गर्लफ्रेंड है.

मैंने पूछा- वो तुम हो ना!उसने कहा- तुम आ गए सच में?मैंने कहा- अब इतनी खूबसूरत लड़की सामने से डेट पर बुलाए … और वो भी रोते हुए, तो कोई गधा ही होगा जो सब छोड़ कर डेट पर ना आए. दस मिनट की चुसाई के बाद सरिता बोली- अब बस भी करो हर्षद … अपने सोहम के लिए भी थोड़ा दूध छोड़ दो.

आपको मेरी ये हॉट गर्लफ्रेंड Xxx कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.

उसने अपनी मम्मी से कह दिया- मुझे सिर और पेट में दर्द हो रहा है, मैं आपके साथ नहीं जा पाऊंगी.

मैं नहाने लगा और नहाने के बाद उधर बाथरूम में कहीं तौलिया नहीं दिखी, जोकि मुझे पहले से ही मालूम था. किसी के मुझसे जुड़े रहने की आकांक्षा को भी मैंने त्याग दिया क्योंकि ऐसा करना मुझे तकलीफ़ देता था. मैंने मुस्कान को इशारा किया तो वो आई और चाची के होंठों को चूमते हुए आवाज़ कम करने की कोशिश की.

शायद सौम्या डार्लिंग ने मेरी फूली हुई पैंट को देख लिया था और मेरी उत्तेजना को नोटिस भी कर लिया था. अब वो भी कमर हिलाकर मेरा जोश बढ़ा रही थी- और चोदो … भाई … आज फाड़ दो अपनी प्यारी बहन की चूत … ये बहुत दिन से आपसे चुदना चाहती थी ये … आज इसकी सारी गर्मी निकाल दो … चोद-चोद कर भोसड़ा कर दो. मैं उससे बात करने का प्रयास कर रहा था किन्तु वो मुझ पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रही थी.

सब मुझे ऐसे देख रहे थे जैसे मुझे मार डालेंगे … क्योंकि उस टाइम किसी लड़की से बात करने की हिम्मत किसी लड़के में नहीं होती थी.

मैं दिखने में हैंडसम हूं और मेरी बॉडी भी काफी अच्छी है क्योंकि मैं रोज जिम जाता हूं और ट्रेनिंग भी देता हूं. आपको मेरी ये देसी चाची की चुदाई हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे बताना न भूलें. ऐसा सोच मेरी गांड में खुजली रुकने का नाम नहीं ले रही थी पर मैं बस सो गया.

जब सुबह हम दोनों मिलते तो वहीं पर किसी शांत जगह को देख कर बातें करना और चुम्बन अर्थात चुम्मा-चाटी भी कर लिया करते थे. होटल का पूरा कमरा हम दोनों की चुदाई की पट … पट … और थप … थप … थप … की आवाजों से गूंज रहा था. शिखा के साथ आलिंगन करते समय उसकी तीस साईज के मम्मों के स्पर्श से मेरे काले उस्ताद जींस में अपना आकार ले चुके थे जिसे शिखा की सहेली ने देखकर हल्की मुस्कान दे दी.

दुल्हन सेक्स की प्यास से कभी लंड को हाथ से हिलाती हुई जोर जोर से चूसती, तो कभी टोपे पर जीभ से लिकलिक करके मजा देती.

मेरे मुंह की आवाजें उईई … उईई … उईई … माँ … उफ्फ उफ्फ की जगह यस … ओ या … फक … फक … फक … फक … या या बेबी … ओ गॉड या या या … मैं बदलती जा रही थी. दिखने में मैं बहुत स्मार्ट हूं सब लोग मुझे कहते हैं कि मैं एक मशहूर पंजाबी गायक परमिश वर्मा की तरह दिखता हूं।इसी कारण लड़कियां मेरी फोटो देखकर डेटिंग एप पर मुझसे बात करती थी.

सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली खाना सच में लाजवाब बना था, मैंने फ़ौरन फ़ोन निकाला और खाली बर्तन की फोटो ली और लिखा कि खाना सच में बहुत स्वादिष्ट था. मैंने कहा- अच्छा ये बात है तो मैं आगे का काम चालू करूं!वो बोलीं- साले लंड अन्दर पेल दिया और अब कह रहा है कि आगे करूं.

सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को यह लंड सकिंग सेक्स स्टोरी पसंद आएगी. मैंने चाची को कैसे चोदा?मेरा नाम रवि है और मैं एमपी का रहने वाला हूँ.

अगर बाजू वाले कमरे में कोई होगा तो है तो उसे पक्का समझ आ गया होगा कि इधर दमदार चुदाई हो रही है.

नई नवेली दुल्हन की चूत की चुदाई

इसका एक बड़ा कारण ये भी था कि ये पुराना रास्ता था और सड़क के नाम पर सिर्फ गड्डे थे. चुदाई खत्म होने के बाद प्राची ने मुझे किस करते हुए धन्यवाद कहा और बदले में मुझे एक और चूत दिलाने का वादा किया. खाला ने अपने मोबाइल में अन्तर्वासना में भाई-बहन की चुदाई कहानी खोल कर मेरी बहन को पढ़ा दी, जिसे पढ़कर वो शर्माने लगी.

खाना सच में लाजवाब बना था, मैंने फ़ौरन फ़ोन निकाला और खाली बर्तन की फोटो ली और लिखा कि खाना सच में बहुत स्वादिष्ट था. हम दोनों ही चुत और लंड का मिलन करवाना चाहते थे लेकिन कोचिंग में यह मुमकिन नहीं था. मैं सौम्या डार्लिंग का इशारा समझ गया और सौम्या को अपनी गोद से नीचे उतारकर नीचे बैठा दिया.

मैंने अदिति से पूछा- क्या तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है?वो कुछ नहीं बोली.

रात में मैंने उसकी दमदार चुदाई की थी तो सुबह मैं उसे देखना चाहता था. रात के समय खाना खाने के बाद मैंने सोशल साइट चैक की, तो देखा कि अनीता ने मेरे प्रपोजल के जवाब में हां लिखा था. उसने मेरे जिस्म को अपने प्यार की बूंदों से भपूर सींचा है, मेरे स्तनों को मसला और चूसा है.

वो मेरे ऊपर अपना सर रख कर लेटी हुई थी और बिल्कुल किसी बच्ची की तरह मुझे कसके चिपकी लेटी रही. भाई ने मेरे पैरों से होते हुए अपने हाथों को मेरी कमर की तरफ बढ़ाया, फिर मेरे चूतड़ों पर हाथ फेरने लगा. मुझे लंड चुसवाते समय ऐसा लग रहा था कि मैं जन्नत में सैर कर रहा हूँ.

सुमन भाभी एक बला थीं, जिन्हें देखने के बाद किसी बूढ़े का भी लंड टॉवर की तरह एकदम खड़ा हो जाए और अपना पानी छोड़ दे. मैं उसकी चूत में धक्का देता जा रहा था, शिल्पा की आवाज लगातार निकल रही थी.

मैं हाथ पैर हटा कर सोने का ड्रामा करने लगा ताकि उनको कुछ पता न चले. राहुल उठ कर चाची की टांगें चौड़ी करके उनके दोनों पैर अपने कंधों पर रख कर चुदाई की मुद्रा में आ गया. चुत रस भलभल करके रिसने लगा और भाभी ने अपने हाथों की मुट्ठियों से चादर को भींच लिया.

शायद वो एकदम कुँवारी थी या बहुत टाइम से चुदी नहीं होगी इसलिए अन्दर उंगली नहीं जा रही थी.

शॉवर लेकर मैंने नैना को टॉवल के लिए आवाज दी तो वो भी शॉवर लेने के लिए तैयार थी. सौम्या के साथ उसकी दो सहेलियां भी थीं और वो दोनों भी अन्दर आना चाहती थीं लेकिन सौम्या ने बहाना किया कि उसको पूरी नंगी होना होगा और उसको शर्म आती है. आठ बजे का समय देखा तो मैं एकदम से चौंक कर बोला- अरे इतना समय हो गया … मुझे होश ही नहीं रहा.

तुम ऐसा करो कि रिसेप्शन पर जाकर एक रूम बुक करो अपने लिए! उसका पेमेंट में कर दूंगा. आंटी काफी शौकीन लग रही थीं क्योंकि उनके पास लेटेस्ट ट्रेंड की सारी नाइट वियर्स थे और वैक्सिंग का सारा सामान भी था.

उन्होंने बोला- उधर कैसे?मैंने बोला कि रात को 2-3 बजे का टाइम ऐसा होता है कि सब लोग बहुत गहरी नींद में सोए रहते हैं और आपकी विंग में तो अभी आपके और आपके नीचे वाले फैमिली के अलावा और कोई है नहीं. और दोनों को होठों पर किस देकर आ गई और जाते जाते मेरे दोनों बूब्स के निप्पल बिकिनी में से भी दिखा गई।वापस घर आकर रात में डिनर कर बेडरूम मैं सोच रही थी कि उन दोनों को ऐसा क्या काम हो सकता है जिसके लिए मुझे पैसे भी देंगे. मैंने छत पर जाकर देखा कि नाना जी और नानी जी कब तक जागते हैं और सौम्या के कमरे में झांक भी देखता रहा कि सौम्या डार्लिंग किस टाइम नींद में होती है.

દેશી સેક્સ વિડીયો

अब रेखा ने अपने टांगें की पकड़ ढीली कर दी थी और अपने पैर फैला दिए थे.

लंड पेलते हुए धीरू बोले- तेरी गांड किसी छोरी से कम नहीं है, तू यदि किसी कोठे पर लग जाए तो लोग रंडियां छोड़ कर तेरे पीछे हो जाएं. मेरा उसे फिर से चोदने का मन करने लगा तो मैंने अदिति को होंठों पर किस किया. रेखा ने भी अपने हाथों से मुझे जकड़ लिया और मेरे होंठों और जीभ को चूसने लगी.

मैंने दीदी से पूछा- वो लोग क्या बोल रहे थे?दीदी ने कहा- कुछ नहीं, वो आपस में ही कुछ जोर जोर से बोल रहे थे. खाने के बाद मैं एक रूम में जहां फर्श पर गद्दा डला हुआ था जाकर लेट गया और कुछ देर में वो भी पास में लेट गई. ઇંગ્લિશ ફિલ્મ હિન્દીમાંऔर उसने क्या किया?दोस्तो, मैं हर्षद एक बार पुन: अपनी इस कामुक सेक्स कहानी में आप सभी का स्वागत करता हूँ.

अदिति अपने हॉस्टल के कमरे में शिफ्ट हो गई लेकिन कुछ दिन बाद उसकी तबियत खराब हो गई क्यूंकि उसके हॉस्टल में खाना अच्छा नहीं मिलता था. वो फिर से मादक सिसकारियां भरने लगीं और आह आह हम्म की आवाज़ करने लगीं.

ऐसा करो बारी बारी से चूस लो क्योंकि मुझे दोनों को चुसवाने में अलग अलग से मजा आ रहा था. कुछ देर बाद पापा ने भी मुझे अपनी तरफ खींच लिया और अपने सीने से चिपका लिया. उसने अपनी बर्थडे पर मेरे लंड से अपनी भाभी मिनी को चुदने के लिए भेज दिया था.

दूसरी तरफ केविन मेरी चूत को चाट रहा था।पर लांस से गांड चटवाने में मुझे ज्यादा मजा आ रहा था. फ्री यंग सेक्स कहानी में पढ़ें कि लेस्बियन सेक्स करने वाली लड़कियों में एक की शादी के बाद उसने कैसे अपनी सहेली को अपने पति के लंड से चुदवा दिया. मैंने कहा- आ गया समझ में?भाभी बोलीं- बड़े बदमाश हो … मेरी नीचे वाली किशमिश तक भी पहुंच गए.

शाम को 6:00 बजे तैयार होते हुए मैंने लाल ब्लाउज और गोल्डन बॉर्डर वाली काली साड़ी पहनी.

कई लोगों से खुल कर चुदवाने लगी।तब एक दिन अम्मी जान ने पूछा- कितने लण्ड खाती है तेरी बुरचोदी बुर बेटी मदीहा?मैंने कहा- ये सवाल मुझसे नहीं मेरी बुरचोदी बुर से पूछो अम्मी जान। मेरी बुर तो बस लण्ड खाती चली जाती है गिनती कभी नहीं!फ्री फॅमिली चुदाई कहानी पढ़ कर आपको बहुत अजीब लगा होगा ना? लेकिन होता यही है हमारे घर में![emailprotected]लेखिका की पिछली कहानी:मैं बुरचोदी सन्नी लियोनी की तरह ट्रेन में चुदी. हमारी गोल्ड क्लास की सबसे ऊपर कार्नर वाली सीट थी तो हमें किसी के देखने का भी डर नहीं था.

नीचे मेरा लंड सरिता की चूत पर रगड़ खा रहा था; उसकी चूचियां मेरे सीने पर रगड़ खा रही थीं. कुछ देर में मैंने चाची की पैंटी पर माल गिरा दिया और उसके बाद ब्रा पैंटी पानी से साफ करके रख दी. मुझे इस तरह से देखते हुए निशा बोली- क्या हुआ … ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने कहा- तुमको देख रहा हूँ … सच में बहुत हॉट लग रही हो.

वो मुझे सब बताती थी कि उसके होने वाले पति ने उससे क्या कहा और उसको कैसा फील हुआ. मैंने अपने आपको संभाला और भाभी से पूछा- अब आप मुझे डिटेल में बताओ कि आपकी क्यों जिंदगी खराब हुई है?भाभी रोते रोते बताने लगीं- मेरी अरेंज मैरिज है और मैरिज हुए 4 साल हो गए हैं. तो मैं यूं ही रुक गया और फिर धक्का मारा तो मेरा सुपारा उसकी चूत में घुस गया.

सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली मैंने कहा- बेल क्यों नहीं?वो बोली- बस बातें बनानी आती हैं कुछ दिमाग नहीं चलता. वो कराहती हुई बोली- आह जान मर गई … मैंने इतना बड़ा लंड कभी लिया ही नहीं था … मेरी चुत में दर्द हो रहा है … आह एक बार निकाल लो प्लीज़ फट जाएगी मेरी … प्लीज़ निकाल लो.

સેકસી જંગલ

वहां क्या हुआ?मित्रो, मेरा नाम देव है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मैं भाभी के साथ उनके पति के जैसे रहने लगा और नौ महीने बाद भाभी ने एक सुंदर सी बेटी को जन्म दिया. वो अपने एक हाथ से अपनी चूत में उंगली कर रही थी और दूसरे हाथ से अपने दूध मसल रही थी.

अब शिल्पा के होंठों के चुम्बन के साथ ही साथ मैं जोर जोर से उसकी चुदाई कर रहा था. वीर्य किधर लोगी?भाबी बोलीं- मेरे अन्दर ही झड़ जाओ,लगभग दो मिनट के बाद हम दोनों साथ में झड़ गए. দিদি কি চুদাইफिर उसने अपनी बातें बताईं कि कैसे उसका पति उसको हर समय चोदना चाहता है.

हम दूसरे राउंड के बाद मार्केट में घूमने गए थे तो आते वक़्त मैं लेकर आया था.

कुछ देर बाद जैसे ही मेरा कुर्ता फिर से ऊपर को हुआ तो फिर किसी ने मेरी गांड पर हाथ रख कर दबा दिया. कोई ऐसी जगह है जहाँ सिर्फ हम दोनों हों … वहां दिखा दूंगा।कहते हुए मैंने अपने हाथ को हटा लिया.

अभी मेरा आधा ही लंड उसके अन्दर गया था कि वो एकदम से चिल्लाई और अपने मुँह पर हाथ रख लिया. फिर बाद में मैं और भाभी एक साथ नहाकर फ्रेश हो गए और भाभी भी खुशी से झूम उठी थीं. मैंने उसको कॉल किया तो उसने बताया कि अभी उसका पति घर पर है, इसलिए उसे थोड़ा टाइम लगेगा.

अब आगे हॉट गर्ल फक स्टोरी:कुछ पल बाद मैंने एक कपड़े से उसके पेट को साफ किया और उसको कसके अपनी बांहों में ले लिया.

उन्होंने बताया कि मौसा जी को कोई काम के सिलसिले से मुंबई जाना है और उन्हें लगभग एक हफ़्ता लगेगा. लिफ्ट खुलते ही लड़का मेरा बैग उठाकर बाहर निकल गया और रूम की तरफ जाने लगा. उसने हंसकर और आंख मारकर मुझे देखा और गांड मटकाती हुई अन्दर चली गयी.

देसी मॉडलमैंने मौके का फायदा उठाते हुए अपनी कार एकदम उसके पास ले जाकर रोक दी और दरवाजा खोल दिया. मैं किसी भी हालत में तुम्हारा मूसल जैसा लंड अपनी चूत में लेकर बरसों की प्यास बुझवा लूंगी हर्षद.

नई दुल्हन का सुहागरात

खुल कर पूछो। ये कॉलेज नहीं, मेरा घर है, मैं अकेला हूँ, तुम भी अकेली हो। कहो तो मैं दरवाजा बंद दूँ ताकि कोई और आ न सके।मैं उठा और बंद भी कर दिया दरवाजा।वह बोली- सर, देखिये मैं एक मज़हबी लड़की हूँ। मैंने अपने कुनबे के कई लण्ड देखे हैं. मैं चाहता हूँ कि तुम उसके जन्मदिन पर उसके साथ चुदाई करो, मुझे ख़ुशी होगी. मगर मैं देख रहा था कि उनकी नज़र किचन में कम … और मेरे कमरे में ज़्यादा थी कि यहां पर क्या क्या हुआ है.

थोड़ी देर में मेरा माल निशा के मुँह में निकल गया और वह भी बड़े प्यार से मेरा सारा रस पी गई. वैसे तो देखने में मैं हैंडसम था लेकिन छोटे शहर से आने के कारण मुझे शहर के चलन के बारे ज़्यादा कुछ पता नहीं था. दो मिनट में ही भाभी की चुत ने पानी छोड़ दिया, मैं सारा पानी पी गया.

मैं बाथरूम से जैसे ही बाहर आया तो देखा कि शिल्पा रूम में आई हुई थी. इस सबमें वो दुबारा तैयार हो गया था लेकिन मेरी अब हिम्मत नहीं थी कि उसके साथ एक राउंड और करूं. वैसे तो वो रोज ही मेरी हर बात मानती थी पर आज कुछ ज्यादा ही मचल रही थी.

मैंने धीरे से उनके हाथ को टच किया तो उनकी हार्ट बीट को नार्मल पाया. वो बोली- क्यों हंस रहे हो?मैंने कहा- अरे पागल तेरे चूचों का नम्बर ले रहा हूँ.

फिर वो कुतिया वाली पोजीशन में आ गयी और धीरे धीरे मेरे लंड पर अपनी गांड सैट करने लगी.

मुझे लंड पेल कर ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने भट्टी में लंड डाल दिया हो. सेक्सी देसी वीडियो बीएफमुझे ऐसा लग रहा था, जब मैंने उसकी चूत मारी थी, वो ही टाइम वापिस आ गया हो. बीएफ youtube musicजब वो अपनी गांड मटका कर चलती हैं ना … तो कसम से मैं उन्हें देखता ही रह जाता हूँ. मैं शिल्पा की जांघों पर हाथ से सहलाता रहा और साथ ही साथ उसको चूमता भी रहा.

इसके बाद जब तुम्हारे खेत में मैं बीज बोऊंगा न … तो नौ महीने बाद फसल भी इसी छेद से निकलेगी.

चाची ने कहा- ऋषभ, अब मेरी चूत में अपना लंड डाल दो … मुझसे नहीं रहा जाता. मैंने उससे कहा कि भाभी मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में भर लो और जोर जोर से चूसो. मेरा पालन पोषण अम्मी ने ही किया इसलिए अम्मी को हम बहुत प्यार करते हैं.

मैं- उसकी मम्मी को गर्व होगा कि उसके बेटे ने अपनी वर्जिनिटी एक ऐसी औरत के साथ तोड़ी है जो उसकी मम्मी से बिल्कुल अलग है।तो दोस्तो, ये था सुपरमार्केट में मेरा सेक्स एडवेंचर!आपको इस इंडियन सेक्सी गर्ल नंगी चुदाई की कहानी में मजा आया होगा. मैंने भी ‘आई लव यू … आई लव यू …’ बोलते उसके होंठों से अपने होंठ लगा लिए और जोर जोर से उसके होंठों को चूमने लगा. क्लिप भेजने के बाद मैंने उससे सॉरी कहा तो वो बोली- अरे यार, सॉरी किस बात की.

पिवळी साडी

वह हॉर्नी थी पर उसको चुदाई नहीं करवानी थी मगर चोदने जैसाप्यार करने वाला डैडीचाहिए था. दोस्तो, अभी मेरी कहानियां शुरू हुई हैं … आगे और भी रंगीन रातों वाली सेक्स कहानियां लेकर आऊंगा. मैं उसे किसी होटल में ले जाना चाह रहा था मगर शालू होटल जाने की बात से डर रही थी.

लगभग 20 मिनट बाद मैंने सौम्या को गोद से नीचे उतारा और सौम्या को बेड पर पीठ के बल लिटा दिया.

मिनी ने अपने पर्स से वैसलीन की डिब्बी निकाली और काफी वैसलीन मेरे लंड पर लगा दी और कुछ अपनी चुत पर.

उसने धीरे-धीरे अपना लण्ड दोबारा से मेरे मुंह में हिला कर वीर्य पूरा गिरा दिया. राहुल- और चाची को पता चल गया तो?मैं- लाइट ऑफ होने के बाद कुछ पता नहीं चलेगा बे. मां और बेटे की बीएफ हिंदीमैंने नीचे जानबूझकर अंडरवियर नहीं पहना था ताकि उसे मेरा फूला लंड कुछ ज्यादा समझ आ जाए.

मैंने कहा- अभी मुझे तुम्हारी चूत कितने दिन तक मिलेगी?शिल्पा बोली- वो मेरे मन के ऊपर है. मैंने उसके होंठों से अपने होंठ नहीं हटाए थे, जिससे वो चिल्ला न सकी. तो उसने एक शर्बत का गिलास मेरे हाथ में थमा दिया और बोली- लो पी लो, तुम्हें अच्छा लगेगा हर्षद.

मेरे जिन दोस्तों ने अपना लंड किसी औरत से चुसवाया है, उन्हें पता होगा कि मैं कैसा महसूस कर रहा होऊंगा. मैंने दीदी के ब्लाउज का हुक खोल दिया और उनके एक स्तन के निप्पल को अपनी जीभ से कुरेद कर अपने होंठों में दबाकर चूसने लगा.

वो उत्तेजित अवस्था में मुझे बार बार बोल रही थीं- राजू मत तड़पा मुझे.

वो जब भी अपने सामने माशूक लौंडे को देखते हैं, उनकी गांड में लुकलुकी होने लगती है. मैंने उसे भरोसा दिलाया- मैं तुम्हारी इज्जत पर आंच तक नहीं आने दूंगा. उसी समय मेरी जॉब लग गई थी तो मैं उसके साथ ही दिल्ली शिफ्ट हो गया था.

भाभी जी की नंगी फोटो उन्होंने मुझसे कहा- कुछ दिन के लिए अमित हमारे घर पर रहने के लिए आ रहा है, तो तुम इस बात का ध्यान रखना कि जब तक वो हमारे पास रहे, उसे किसी चीज की कमी महसूस ना हो. मैं उसके मुंह से अपनी गांड चोदने की बात सुनकर शरमा गई … शर्मा कर उसके गले लग गई.

यदि वो हां कहता है तो ही हम यह टास्क करेंगे वरना और कोई नई युक्ति लगाएंगी।रात को जब सब सो गए, तब हमने जगह का मुआयना करना था. हैलो मेरे कामुक मित्रो, मेरा नाम शाहबाज़ है और मैं पुणे महाराष्ट्र से हूँ. मैंने उससे कहा- अगर आपको प्रॉब्लम ना हो, तो मैं आपको घर छोड़ देता हूँ.

क्सनक्सक्स हिंदी वीडियो

वो अन्दर से टिश्यू पेपर्स लेकर आयी और उसने मेरा पूरा लंड और अंडकोष टिश्यू से साफ कर दिया; फिर उंगली से मलहम को लगा दिया. मैंने आहिस्ता से अपना तना हुआ लंड सरिता की चूत से बाहर निकाला, तो चूतरस बाहर बहने लगा था. जैसे ट्रेन प्लेटफार्म से निकलने के बाद अपनी रफ्तार बढ़ाती रहती है, वैसे ही विलियम की रफ्तार भी बढ़ती रचा रही थी.

अगली सुबह मेरी वापसी की ट्रेन थी, जुवेरिया मुझे स्टेशन ड्रॉप करने भी आई।तो दोस्तो, आपको मेरी ये स्ट्रेंजर लड़की की चूत कीचुदाई की सत्य कथाकैसी लगी।अगर इस Xxx विडो सेक्स कहानी में कोई गलती हो तो मुझे माफ करना और उसको सही करने की राय आप मेरे ईमेल पर दे सकते हैं।मेरा मेल आईडी है[emailprotected]. उस दिन रीता एक अधिकारी के रूम से जैसे ही बाहर निकली कि उसका पैर अचानक मुड़ गया और उसमें मोच आ गई.

जो एक औरत के लिए दर्द भरा ही होता है और मीठा भी होता है,उसका लण्ड मेरी चूत में समाए जा रहा था.

हॉट देसी आंटी सेक्स कहानी मेरे दोस्त की मामी की है, वो मेरे पड़ोस में रहती थी. खाने के बाद माया दीदी ने मेरी ओर देखा और बोलीं- राजू तुम तो काफी बड़े हो गए हो. जब हमें दो जिस्म एक जान होने का मौक़ा मिला तो …कहानी के पिछले भागप्यार का इज़हार और पहला चुम्बनमें आपने पढ़ा कि मैं अपनी क्लासमेट आकांक्षा से अपने प्यार का इज़हार कर चुका था.

सरिता ने बॉटल अपनी अलमाँरी में रख दी और सब बर्तन लेकर नीचे चली गयी. उसने मुझे नीचे झुकाकर मेरे मुँह में अपना लंड डाल दिया और जोर जोर से मेरा मुँह चोदने लगा. मैं मैडम को देखे जा रहा था कि इतने में वो बोली- क्या देख रहे हो?मैंने देखा और कहा- मैडम, आप इतनी फिट होते हुए भी जिम जॉइन कर रही हैं … क्या आप पहले से ही किसी जिम में एक्सरसाइज करती थीं?मैडम ने खुश होते हुए कहा- नहीं, मैं घर पर ही थोड़ी बहुत एक्सरसाइज कर लिया करती थी, लेकिन मेरी फ्रेंड्स इस जिम में आती हैं.

मैंने भी चांस लेकर उसकी चुदाई करने की सोची और अपना हाथ सीधे ले जाकर उसकी चुत पर रख दिया.

सेक्सी बीएफ दिल्ली वाली: सेक्स की तड़प इतनी ज्यादा थी कि मैं उसकी दीवार को कूदकर अन्दर चला गया. फिर मैंने अपने लंड उसकी गांड में टेक दिया।मैंने लंड पर थूक लगाया और एक झटके में उसकी गांड में पेल दिया.

मैं- कोई बात नहीं दीदी वैसे भी जब कमरे से बाहर था, तो बहुत प्यार करने जैसी आवाजें आ रही थीं. मैं- क्यों नहीं भाभी … आप अपने हाथों से ही देख लो न!इस बात पर भाभी ने आगे बढ़ कर मेरे पैंट को खोल दिया और मेरे निक्कर को नीचे करके मेरे लंड को अपने हाथों में ले लिया. तो रेखा हंस कर बोली- बहनचोद … जिस समय तू मुझे चोद रहा था तब तूने नहीं सोचा कि हम ये रिस्क कैसे ले रही हैं.

मैं उठकर सरिता के बाजू में लेट गया सरिता उठकर बैठ गयी और वो अपनी चूत की तरफ देखकर बोली- हर्षद, देखो ना कितना सारा रस बह गया है.

पम्मी आंटी भी अब थोड़ा खुल कर सिसकारियां भरने लगी थीं और उनके हाथ मेरे सर को पकड़ने के लिए आगे बढ़ने लगे थे. उसने अपनी टांगें मेरी टांगों से ऐसे चिपका दीं, जैसे वो बहुत सालों से लंड की भूखी हो. कहानी के पहले भागमेरी खाला मुझे पटाकर चुद गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी खाला मेरी बहन को मेरे लौड़े के लिए सैट करने में लगी थीं.