बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी

छवि स्रोत,12 साल के बच्चों की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी+विडिओ: बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी, मीता- मैं सवेरे जल्दी उठ जाती हूँ डॉक्टर बाबू … घर के भी काम होते हैं.

गुजराती सेक्सी पिक्चर आदिवासी

मेरा नाम विवेक जोशी है और मैं औरंगाबाद (महाराष्ट्र) का रहने वाला हूँ. सनी लियोन भोजपुरी[emailprotected]यंग हॉट लेस्बियन फ्रेंड स्टोरी का अगला भाग:शादी के बाद मेरी सुहागरात चुदाई की कहानी- 3.

फिर पांच मिनट के बाद उसने मुझे जोर से कसकर पकड़ लिया और वो जोर से आवाज करते हुए झड़ गयी. जवानी तेरी मुझको पागल कर गईमैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा कि किस तरह मैंने भाभी को पटाकर उनकी चुदाई की.

अब चौथे और अंतिम भाग में जानिये कि दो मर्दों के लंड से चुदकर मेरी नंगी चूत की परेशानी कैसे हल हुई?नंगी लेडी की मस्त चूत चुदाई कहानी के पिछले भागपति ने मुझे मेरे बॉस से चुदवा दिया- 3में मैंने बताया था कि हम दोनों पति पत्नी सर को रिसीव गये.बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी: तो दोस्तो, इस तरह से मेरी पहली चुदाई की शुरूआत मॉम की चुदाई से हुई थी.

’ चुदाई करने लगा और मुखिया का लंड भी अब एकदम लोहे जैसा सख्त हो गया था.मैं उनके पीछे चलते वक्त उनकी मटकती गांड देख रहा था, जिससे मुझे रहा नहीं गया और मैंने उनकी गांड पर एक चमाट लगा दी.

sar चैट वीडियो डाउनलोड - बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी

उस रात दोनों पागलों की तरह सेक्स के मजे ले रहे थे क्योंकि करीब दो महीने बाद वो दोनों सेक्स कर रहे थे.बाद में अवनी ने मुझे पूरी बात बताई कि उसने मामी को हम दोनों भाई-बहन की चुदाई वाली बात बता दी है.

उसका पेटीकोट सरसराता हुआ जमीन पर गिर गया और वो मेरे सामने एक आधे खुले ब्लाउज और पैंटी में थी. बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी अब संजना ने मधु से दो दिन बाद ही कह दिया- मुझे वहां पर बहुत खुजली होती है.

उसके बाद मैंने उसकी शर्ट खोलनी शुरू की और उसकी ब्रा को भी उतार दिया.

बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी?

अपने से बड़ी उम्र की कोई हो तो कहने ही क्या!मामी- ठीक है, अभी तो सही समय नहीं है, समय आयेगा तो देखेंगे. मैंने कहा- उसे इधर दिक्कत नहीं होगी?तो बीवी ने कहा- अरे कुछ दिक्कत नहीं होगी, फिर कुछ ही महीनों की तो बात है. पूरे दिन घूमने के बाद शाम को करण मुझे मेरे अपार्टमेंट के बाहर छोड़कर चला गया और मैं फाइल हाथ में लेकर बिल्डिंग की ओर आ गया.

उसके पिता को दिल की बिमारी थी और मैं नहीं चाहता था कि उसके पिता को मेरी वजह से कोई परेशानी हो. मैं अपने दोनों हाथों से आपके दोनों बड़े बड़े मम्मों को दबाऊंगा और उनका मजा लूंगा. मैं भी देर ना करते हुए उनकी टांगों के बीच में आ गया और अपना लंड उनकी चूत में लगाने लगा.

जब मुझसे बर्दाश्त न हुआ तो मैंने उसको नीचे पटका और उसकी चूत से उसकी पैंटी को फाड़कर अलग कर दिया. आंटी ने लंड के टोपे पर चूमा और मेरा कामरस में सना सुपारा अपने मुंह में भर लिया. वो बोली- शर्म नहीं आई तुझे बहन के साथ ये सब करते हुए?मैंने उसको सॉरी बोला और कहा- गलती हो गयी दीदी.

जब हम वहां से निकल रहे थे, तो दीदी की ननद और अंकिता दोनों बाहर आईं और बाय बोलीं. मेरा मुंह सीधा उनकी चूचियों पर जा लगा और मैं उनको जोर जोर से चूसते हुए पीने लगा.

चल, आज तेरे घर पर ही खेलते है … और आज इकबाल चिकन और व्हिस्की भी लाया है.

मैंने अपना कौमार्य, अपनी योनि की सील अपने पति के लिए ही बड़े जतन से बचा रखी थी और अब उसे उन्हें ही अर्पण करने की घड़ी आन पहुंची थी.

देसी लंड की कहानी में पढ़ें कि गाँव के मर्दों में शहर की चमकती चूत की चुदाई करने की कितनी लालसा होती है. बीस मिनट तक रणजीत ज़बरदस्त चुदाई करता रहा, उसके बाद दोनों एक साथ झड़ गए. देसी इंडियन सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैं किसी काम से रिश्ते में अपने भतीजे के घर गया.

पता नहीं कितनी चुदास भरी थी उसके अंदर।मैं कभी अपनी जीभ से तो कभी अपनी नाक उसकी चूत में रगड़ता रहा। मैं भी अपना होश खो बैठा था। मुझे भी होश नहीं रहा कि कितनी देर तक मैंने अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदा. मैंने हंस कर कहा- क्या यार … किसी अच्छी महक की बात भी न करूं, वैसे एक बात है, आजकल तुम कुछ ज्यादा ही सजने संवरने लगी हो. सुरेश- मीनू मैंने समझाया था ना … मुझसे मत शर्माओ, ऐसे तो कभी नहीं सीख पाओगी.

ठंड में 40 किलोमीटर का सफर तय करने के बाद जब मैं मौसी के पास पंहुचा तो ठंड के कारण मेरी हालत ख़राब हो रही थी.

उनकी चुदाई की शुरुआत कैसे हुई और मैंने उन्हें चोद कर कितना मजा दिया, ये सब मैं अपनी इस सेक्सी सिस्टर ब्रदर स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगा. मुझे लड़कों से बुर चुसवाना, चूचियां दबवाना, निप्पलों को दांतों तले कटवाना और कठोर चुदाई करवाना बहुत पसंद है. मैं कुछ करती, इससे पहले ही कासिब ने मेरे मुँह पर अपना हाथ रखा और मुझे उठाकर मेरे कमरे में ले जाने लगा.

अब एक जोर के झटके के साथ मैंने पूरा लिंग अंदर तक डाल दिया और उसके मुंह से जोर से चीख निकली- उफ्फ्फ … मर गयी भाभी … आआह … फट गयी मेरी चूत।इतने में ही मैंने स्पीड तेज कर दी. उसको नीचे लेटाकर लिंग एक बार में ही पूरा अंदर उसकी देसी चुत में पेल दिया. तो दोस्तो, कैसे लगी यंग गर्ल सेक्सी चूत स्टोरी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

वो दूसरी तरफ मुँह करके सोई हुई थी, तो मैंने अपना हाथ उसकी गांड पर फेर दिया.

मेरी सास का नाम संगीता है, उनके शरीर का फिगर साइज 34-28-36 का है, हाइट 5 फ़ीट 7 इंच है. मेरे पति से नजरें बचा कर मैंने एक बार फिर से समधी जी को अपने मम्मों की झलक दिखा दी थी.

बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी पूरी चूत पर केक लगा देने के बाद उसने एक छोटी मोमबत्ती मेरी चूत के अन्दर जरा सी घुसाते हुए खड़ी कर दी. मेरे पिताजी के दोस्त की एक बेटी थी और मेरे पिताजी चाह रहे थे कि मेरी शादी उनके दोस्त की बेटी के साथ हो जाये.

बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी उनका एकदम गोरा शरीर, चूत की झांटें और बगल में काले बाल देख कर मैं अपना लंड निकालकर हिलाने लगा. इस समय अगर उसे कोई 75 साल को बुड्डा भी देख लेता, तो उसे बिना चोदे न जाने देता.

अब क्या करोगे … हिलाओ अब अकेले-अकेले!मैं कुछ नहीं बोला।वे धीरे से मेरे कान के पास मुंह लाकर बोले- बहू को मोटा लन्ड बहुत भाता है.

इंग्लिश सेक्सी नवीन

जब मामी पूरी तरह से तड़प गयी तो मैंने उनकी चूत से उंगली को बाहर निकाल लिया और चाट लिया. ज्यादा देर तक वो मेरे लंड को झेल नहीं पाई और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया जिससे वो निढाल हो गयी. दोस्तों उस समय गीता ने एक घाघरा यानि स्कर्ट जैसा कुछ पहना था और ऊपर एक पुरानी सी शर्ट पहनी थी.

मैंने कहा- सिमरन अब तुम मेरी मेहमान हो, तुम बैठो … मैं तुम्हारे लिए कुछ खाने को लाता हूँ. वो मेरे लम्बे मोटे लंड को पागलों की तरह पाकर कर हिलाने लगी और मेरे लंड पर लगभग टूट सी पड़ी. चलती बस में सुमन भाभी के साथ मस्ती होते होते किस तरह से उनकी चुत चुदाई का मजा आएगा, मैं बस यही सोचे जा रहा था.

इसको तो बड़े प्यार से धीरे धीरे खेलना चाहिए, तभी इसका असली मज़ा आता है.

उसने उसको हाथ से साफ किया और फिर नीचे झुककर मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया. साथ ही मैंने भी अपने सारे कपड़े निकाल दिए और सिर्फ अंडरवियर रहने दिया। मैडम पेट के बल लेट गयी. मैंने सोचा कि अगर अब मैंने पहल नहीं कि तो चाची जैसा माल फिर कभी हाथ नहीं लगेगा.

मैं आशा करता हूं कि आपको मेरी ये ब्रदर एंड सिस्टर सेक्स स्टोरी पसंद आएगी. रघु- बाबूजी, आज आप हमें चुदाई के तरीके सिख़ाओगे ना … रात को कितने बजे में आपको लेने आ जाऊं?सुरेश- हां सिखा तो दूंगा … मगर रात को ठीक नहीं. मेरे मुँह से चीख़ निकली, पर किसी तरह मैंने तकिये में मुँह दबा कर कन्ट्रोल किया.

गरिमा बोली- बहनचोद, तुझे छोडूंगी नहीं।फिर विक्रम ने रंग का पैकेट उठाया और साक्षी के पास गया। उसने आधा पैकेट साक्षी के सिर पर उड़ेल दिया। फिर कुछ रंग हाथ में लेकर साक्षी की टी शर्ट में डाल दिया।उसके बाद विक्रम ने साक्षी की टी शर्ट ऊपर की और उसकी चूचियों पर रंग लगाते हुए उसकी चूचियों को रगड़ने लगा।फिर साक्षी बोली- बहनचोद … छोड़ दे. जिस दिन मेरी ड्यूटी नहीं होती, तो भी उसको लेकर क्लास से बाहर चला जाता था.

गांड पर लगे लंड में तूफान उठा हुआ था और वो भाभी की गांड के छेद में अंदर घुसने के लिए गुहार लगा रहा था. चल भाग यहां से … और साली रंडी जाकर किसी रंडीखाने में बैठ कर अपनी चूत का भोसड़ा बनवा कर अपनी और अपने परिवार की इज्जत बढ़ा. मैं उसके मुंह को दबाये रहा और वो ऊँ … ऊँ … करके अपने दर्द को जता रही थी.

यहां तक कि मैंने कभी उनकी ब्रा और पैंटी को छत पर सूखते हुए भी नहीं देखा था.

मैंने उसको कूदने का इशारा किया तो वो ऊपर नीचे होने लगी लेकिन वो पूरा अंदर नहीं ले रही थी. मेरी गर्लफ्रेंड मधु ने मुझसे कहा कि अभी संजना का कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है, उसके जिस्म में जवानी की आग भरी पड़ी है, तो वो रात में मुझसे ही लिपट जाती है … लेकिन मुझे ये सब अच्छा नहीं लगता है. वो बोली- कहां होती हैं ये ग्रंथि?मैंने कहा- ये तो छूकर ही पता लग सकता है.

उसका हाथ मेरी जांघ पर होते हुए मेरे उछलते लंड पर आकर टिक गया और उसने मेरे लंड को दबा दिया. अपने से बड़ी उम्र की कोई हो तो कहने ही क्या!मामी- ठीक है, अभी तो सही समय नहीं है, समय आयेगा तो देखेंगे.

मैंने भाभी को पलट लिया और अब वो पीठ के बल लेट गयी और उसके मोटे मोटे चूचे ऊपर आकर विपरीत दिशाओं में डोल गये. उसकी पतली कमर के नीचे बड़ी बॉम्ब जैसी गांड देख लो, या तनी हुई मस्त चुचियां हों, या स्लिम पेट हो. कुछ मिनट की सकिंग करवाने के बाद मैंने उसे अपने ऊपर खींचा और किस करने लगा.

बसों की सेक्सी

बस आपको देखा, तो आपकी आंखों में वासना नज़र आई … और मैं खुद प्यासी थी, तो आपसे चुदवा ली.

भाभी के होंठों को अच्छी तरह से चूसने के बाद अब मैंने तुरंत भाभी के ब्लाउज के ऊपर से साड़ी के पल्लू को हटा दिया।अब भाभी के बड़े बड़े पपीते जैसे बोबे मेरे सामने थे। अब मैं भाभी के बोबों को चूमने लगा और दोनों हाथों से दबाने लगा. उसने दोनों हाथों से मेरी कमर को पकड़ लिया था और मेरी गांड की जबरदस्त मरम्मत कर रहा था. जब पहली बार कोई लड़की आपका लंड मुँह में लेती है, तब समझो जन्नत का सुख मिलने लगता है.

वे अपना लंड बाहर तक निकालते और पूरे वेग से वापिस मेरी चूत में घुसेड़ दे रहे थे. तेरे पति के सामने कुतिया बना कर चोदूंगा तुझे … तेरी चूत में मेरी बीवी की चूत से कई गुना ज्यादा मजा है. बड़े सेक्सउसकी चीख से पूरा कमरा गूँज गया।अब मैंने उसकी चूत की तरफ देखा तो मेरा लंड और चादर दोनों ही खून से सन गये थे.

कुछ देर बाद मां ने कहा- चलो बेटा बहुत देर हो गई, अब तुम अपने रूम में जाकर पढ़ाई करो. जितनी चुदास मेरी चूत में रहती है उतनी ही जल्दी मुझे आपको अपनी चूत की चुदाई की कहानी बताने की भी रहती है.

अब दुनिया के नियम इंसानों के लिए बने हैं, लंड और चुत इन नियमों को नहीं मानते. सबसे बड़ी बात जगह की समस्या थी जहां मैं पूरी निर्वस्त्र होकर अपनी योनि से खेल सकूं. उसने जाते टाइम मेरे हाथ में एक छोटा सा बैग पकड़ा दिया और गले लग कर मिली.

तभी एक दिन मैंने देखा कि अम्मी करीब 6-30 बजे रूम से आकर पहले मेरे कमरे में आईं. कुछ दिन बाद फिर मैंने कहा- भाभी, कोई दूसरी फ़ोटो भेजिए न!इस बार उन्होंने चार फोटो भेज दीं. कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने सोनिया को कली से फूल बनाया.

पहले तो मैं पीछे हटा लेकिन फिर मुझे लगा कि चूत मिल रही है तो …सभी पाठकों को मेरा नमस्कार.

फिर ऐसे ही देखते देखते मैंने उसकी चूत में लंड चलाते हुए पूरा अंदर सरका दिया. मैंने एक बार फिर से नताशा को बेड पर पटका और जोर से उसके गुलाबी होंठों को चूसने लगा.

वो किचन में नाइटी में खड़ी थी और मैंने जाते ही उसकी गांड पर लंड सटा दिया. अब जब भी मुझे मन करता था, मैं उनका ब्लाउज ऊपर करके उनके निप्पलों पर मुँह लगा कर चूसने लगता था. पर अब भाभी के स्तनों को चूस कर अब ये होना एक संकोच तो जाहिर करेगा ही.

मैं ज्यादा कुछ कर भी नहीं सकता था क्योंकि रात होने के बाद भी कोई देख सकता था. अब रहा नहीं जा रहा है … मेरी चूत से पानी निकल रहा है जानू, जल्दी से कुछ करो. फिर उसके पेट और नाभि को चूमते हुए मैं उसकी चूत के ऊपर वाले हिस्से पर चूमने लगा.

बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी फिर जब लंड से गोंद जैसा चिपचिपा रस निकलने लगा तो अचानक अपने मुंह में लेकर वो लंड को चूसने ही लग गयी. उसके बाद चचा ने मेरी गांड चुदाई कैसे की और मुझे उनके लंड से चुदकर कैसा लगा, मजा आया या गांड फटी? ये सारी बात मैं आपको अपनी अगली स्टोरी में बताऊंगा.

सेक्सी वीडियो boy

मुखिया- लेकिन वो जाग गया, तो क्या होगा!सुमन- आप भी ना बहुत सवाल करते हो. वहां सर्वसुविधा युक्त दो कमरे भी बने हैं और वहां कोई रहता भी नहीं, वहीं चलेंगे और शाम तक लौट आयेंगे. मगर चुदाई का जो मजा उस दिन मुझे मिला उसके अहसास को शब्दों में बता पाना मुश्किल है.

वो सीत्कार करने लगी- आह … कमीने साले भोसड़ी के जोर जोर से कर … तभी निकलेगा. मैंने चूत में उंगली दे दी और अंदर बाहर करते हुए आंटी के होंठों को चूसता रहा. हिंदी सेक्सी वीडियो में एचडीकई बार मन में ख्याल आते हैं कि कहीं बाहर ही मुंह मारकर अपने जिस्म की प्यास को शांत कर लूं लेकिन इज्जत जाने का भी उतना ही डर रहता है.

सर ने मेरी चूचियों को पकड़ कर मसल दिया और बोले- यहीं झुक झाओ, जब तक तेरे पति आते हैं एक बार पीछे से चोद दूं.

जब मुझे यहां का काम समझ आ जायेगा और थोड़ा सेटल हो जाऊंगा तो तुम्हें अपने पास बुला लूंगा. उसको पकड़ कर मैंने अपने पास कर लिया और उसका चेहरा उठाकर उसके होंठों से होंठों को मिला दिया.

जाते हुए अंकल ने कहा- मैं गांव जा रहा हूं कुछ दिन के लिये, यहां पर तुम्हारी आंटी को तुम्हारे भरोसे छोड़कर जा रहा हूं. जब भी लंड उसके बोबे पर पटकता तो चूचा रबड़ की गेंद के जैसे उछल जाता. अब दोनों खुलकर मज़ा करना … क्योंकि तुम्हारी चुत अब ठीक से खुल गई है.

यारो, अगर कोई भी चूत किसी भी लंड को इस तरह से अंडरवियर में देख लेती है तो फिर उस चूत को बार बार लंड का नज़ारा याद आता है और फिर वो चूत चुदने के लिए धीरे धीरे तैयार होने लग जाती है।उसी दिन सीमा मामी ने पूछा- बात कहां तक पहुंची?मैंने कहा- अभी तो भाभी को केवल लंड के ही दर्शन करवाए हैं।मामी बोली- ये तो अच्छा किया.

रघु ने अपनी बीवी की चुदाई के बाद सिर्फ उसकी चुत में लंड का वीर्य छोड़ने की मना करके बाकी की चुदाई करने के लिए कह दिया था. मैं एक गांव से हूँ, लेकिन मैं गांव में कम और शहर में ज्यादा रहा हूँ. उन्हें देख कर मेरा मन करता था कि अभी लौड़ा निकाल कर उन्हें साइड में ले जाकर ठोक दूं.

जानवरों की फुल सेक्सी वीडियोउसने मुझसे पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- पहले थी. कुछ देर बाद पीछे मुड़कर देखा तो वह मुझे देख रही थी। मैं नहाता रहा और फिर उसकी तरफ मैंने देखा नहीं.

हरियाणवी ब्लू फिल्म सेक्सी

मोनिषा ने मुझे सोते देखा, तो उसने मेरा हाथ अपनी पैन्टी से निकाला और वो भी सो गई. मैंने उनको फिर से एक बार पेड़ पर झुकाया और साड़ी पेटीकोट उठाकर चुत में लंड लगा दिया. 20 मिनट की चुदाई के बाद मेरा पानी निकलने लगा और मैंने अपने लंड का सारा माल उसकी गांड में भर दिया.

वैसे तो कई लोग अपनी पहली चुदाई की कहानी सुनाते हैं, पर मेरी ये सेक्स कहानी नीला और मेरी शायद 10-12 बाद सेक्स का मजा लेने के बाद की चुदाई की कहानी है. पापा- बेटा सारे कार्ड पहुंचा दिए?मैं- हां पापा, बस अब रसिक अंकल के घर का कार्ड बाकी है, मैं उनके घर ही जा रहा हूँ. मौसी ने पूछा- क्या हुआ बेटा डीडी? तुम्हें इतनी ज्यादा सर्दी कैसे लग रही है?मैंने कहा- पता नहीं मौसी, मुझे भी कुछ समझ में नहीं आ रहा है.

कालू- ये दोनों बाप बेटे बाहर क्यों आए हैं … काम नहीं कर रहे क्या?मुखिया- वही पुराना रोना है इनका … हिसाब कर दो हमारा. इतना बोलकर सुरेश उसकी चुत पर टूट पड़ा और नमकीन चुत की रसभरी फांकों को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा. वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … मामूजान … चोद दो … आह्ह … मुझे भी चुदाई का मजा लेना है … आह्ह … आपका लंड कितना बड़ा है … ओह्ह … मजा आयेगा … जल्दी चोदो.

मैं पीठ के बल पीछे गिर गया और आंटी के सिर को अपने लंड पर दबाते हुए आंख बंद करके लंड चुसवाने का मजा लेने लगा. आपको मेरी यह स्टोरी कैसी लगी, मुझे अपने कमेंट्स और मेल में जरूर बतायें.

मैं नीला को सरप्राईज देना चाहता था और चाहता था कि आज उसे पूरा निचोड़ कर रख दूँ.

मैं- पर क्यों दीदी?दीक्षा- यार आगे की मैं सिर्फ अपने बीएफ को ही दूंगी. देसी नंबरमैंने उसे इतनी अधिक दारू पिला दी थी कि अब उसे दर्द महसूस नहीं होने वाला था. मद्रासी सेक्स व्हिडीओउनकी इस तरह की ड्रेस में उनका सेक्सी जिस्म और भी उभर कर सामने दिखने लगा था. कालू- मालिक … वो शम्भू की बेटी आज काम पर नहीं आई … उसकी तबीयत ठीक नहीं है.

मैंने ट्रेन में अपना स्लीपर सीट ले लिया और कुछ देर के बाद ट्रेन चल पड़ी.

फिर नखरे क्यों कर रही थीं?रुक्मणी- कुणाल, जब से तुम मुझ पर डोरे डाल रहे थे. मैंने उनसे कुछ देर बात की और कहा कि शाम की मेरी स्पेन की वापिस की फ्लाइट है. दोस्तो, अब अपनी इस हॉट किस स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको अपनी भाभी की चुदाई की कहानी को पूरा लिखूंगा.

मैंने कहा- सर हटाओ न!वो बोलीं- क्या है … टेक ले लेने दो न!मैं कुछ नहीं बोला. वो बोलीं- सिर्फ बोलोगे ही, या कुछ करोगे भी!मैंने उनसे कहा- मैं आपको अपने पास खींच लूंगा और आपके कोमल सी कमर में हाथ डाल कर आपके इन सेक्सी होंठों को अपने होंठ के अन्दर ले लूंगा. अब आगे लंड चूसने की कहानी:महेश- क्या कर रही हो तुम … बस देख लिया ना, अब हटो भी.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी बुरचोदी

उसने मेरी कमर के नीचे एक तकिया रखा जिससे मेरी गांड उसके लन्ड की पोजीशन पर आ गयी. वो बोली- ये क्या कर रहा है तू?मैंने कहा- कुछ नहीं, बस ऐसे ही लग गया. मैं चलता हूं भाभी, सुमन भाभी भी खाने के लिए मेरा इंतज़ार कर रही होंगी.

जेठ और बहू की चुदाई की स्टोरी में पढ़ें कि चाचा को उनकी बहू की चुदाई करते देख मेरा मन भी उसकी जवानी भोगने को करने लगा.

मगर आप मुझे मेल करके जरूर लिखें कि आपको इस छोटी चूत की कहानी में कितना मजा आ रहा है.

इसके बाद उसने मेरी अंडरवियर अपने दांतों में पकड़ी और नीचे खिसका दी. वो बोला- क्या बात है, नीचे से चड्डी पहनने लगे हो?मैंने मुस्कराते हुए कहा- क्या करें … आजकल लन्ड ज्यादा ही शैतान हो गया है. घोड़ा सेक्सतू स्कूल की जितनी पगार एक महीने में लाती है … वो तो तू एक दिन में कमा लेगी.

हैरानी की बात थी कि मेरा वीर्य छूटने के बाद भी रजिया ने मेरे लंड को मुंह से नहीं निकाला. वो पीछे से अपनी ब्रा के हुक खोलने लगी और कुछ ही पल के बाद उसकी ब्रा उसकी चूचियों से अलग हो गयी थी. लगभग 5 मिनट बाद मैं बुआ में पीछे लेट गया और पीछे से अपना लंड उनकी चूत में डाल कर धक्के मारने लगा.

मुखिया ने मौका देख कर अपना लंड उसकी गांड से सटा दिया और उसके कूल्हे पर एक हाथ रख कर वो झुक गया. कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और दूसरे राउंड में मैंने आधे घंटे तक मॉम की चुदाई की.

अब्बू की वासना से भरी नजरों से लग रहा था कि वो मन में सोच रहे हैं कि अभी रुको, आज फाड़ कर रख दूंगा तेरी चूत को … आज इतना चुदाई करूंगा कि चूत का भोसड़ा बन जाएगा.

थोड़ी बहुत इधर-उधर की बातें होने के बाद मैंने धीरे से पूछा- क्या आपको मसाज करवाना पसन्द है?उन्होंने थोड़ा सोचने के बाद बोला- ठीक है, पहले तुम मसाज ही कर दो।मैंने उसको कपड़े निकालने को कहा तो मैडम ने पैंटी को छोड़कर बाकी सब कपड़े निकाल दिए. उसकी चूचियों के बारे में सोचकर मेरा लंड 2 मिनट में ही पानी छोड़ दिया करता था. अब अगले दिन मामाजी और भैया के खेत पर जाने के बाद बड़ी मामी, उर्मिला मामी और अर्चना भाभी भी खेत पर चली गईं। अब घर में मैं, सीमा मामी और पूजा भाभी ही थे। पूजा भाभी को चोदने का इससे अच्छा मौका नहीं मिल सकता था.

इंडियन सेक्स वीडियो रिकॉर्डिंग अब वो घर में ही रहती है और कहीं ज्यादा न बिगड़े इससे अच्छा है यहां काम में हाथ बंटाए ताकि मुझे भी आराम मिले।भाभी की तरफ आँख मारते हुए मैं बोला- आराम तो मिलेगा आपको, ये तो तय है और मेरा काम तो समझो आपको करना ही नहीं पड़ेगा. फ्रेंड्स, राहुल रीमा की सीलपैक चुत की चुदाई करने से पहले हर तरह का आनन्द लूटने में लगा हुआ था.

मैं फैमिली सेक्स कहानी पढ़ता जरूर था लेकिन मेरे साथ कभी वास्तविकता में ऐसा कुछ घटित नहीं हुआ था. मैं समझ गया था कि अब्बू अब अम्मी का ब्लाउज़ उतार कर उन्हें पूरी नंगी कर देंगे. अगली सेक्स कहानी में मैं बताऊंगा कि शबाना के साथ गांड चुदाई कैसे हुई.

सेक्सी ब्लू हिंदी फिल्म सेक्सी

भाभी का पेट बाहर ज्यादा निकल आया था इसलिए उनके साथ में अब कुछ नहीं हो पाता था. वो साया कौन था और कितने मज़े से सुमन को चोद कर चला गया, अब ये तो आगे चलकर ही पता लगेगा. उनकी प्यारी बहू आधे हाथ की दूरी पर खड़ी होकर चापाकल चला रही थी। अभी सूरज की किरणों से पूरी तरह सुबह का आगमन नहीं हुआ था.

मैंने भाभी की चूत पर मुँह लगाकर जीभ अन्दर सरका दी और दाने को रगड़ना शुरू कर दिया. फिर एक दिन मैंने आंटी के घर से जोर-जोर से लड़ाई होने की आवाजें सुनाई दीं.

अचानक एक आग सी शरीर में पैदा हुई और मैं जोरदार टक्कर के साथ अपना सारा माल उसकी चूत में भरने लगा.

वो भी चुत चुसवाते हुए गर्म सिसकारियां लेने लगीं- आह जान मजा आ गया तुमने तो आज मेरी दिली तमन्ना पूरी कर दी. मैं उसकी चूचियों को दबाते हुए अपना लंड चूत में डालकर मौसी को चोद रहा था. वो ऊपर से लेकर नीचे तक भूसे में सन चुकी थी। पूरे बालों में भूसा ही भूसा भर चुका था।चूत की झांटों में चारों ओर भूसा अटा पड़ा था। मैंने चूचियों को दबाया और चूत को जोर से हथेली से सहला दिया.

सुमन- क्यों ऐसा क्या खास चोदता है वो?मुखिया- बस एक बार ही हरी ने उस कामवाली को चोदा था, तब से वो उसके लंड के ही गुणगान करती है. फिर पानी निकालने ने टाइम मैंने लंड खींचा और उसको नीचे बैठा कर उसके मुँह में लंड दे दिया. फिर उन्होंने मुझे बुलाया और बोलीं- बेटा हर्ष तुम शाम को आ सकते हो क्या?मैं बोला- हां आंटी जी, बिल्कुल आ सकता हूं.

वो जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह्ह … फाड़ दे … और तेज … आह्ह … आईई … चो … ओ … द … आह्ह … और चोद … भुर्ता बना दे इस चूत का।मैं भी जोश में ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा.

बीएफ सेक्सी राजस्थानी एचडी: मैं वैसे ही आधी नींद में था और उस मस्त महक से मैं बाकी का भी सब कुछ भूल कर उन्हें पकड़े सोता रहा. कुछ देर के बाद आंटी की चूत ने पानी छोड़ दिया मैंने उसकी चूत को चाट चाट कर साफ कर दिया.

फिर जब मैं तिलक में गया, तो अंकिता उस टाइम मेरे पास आ कर खड़ी हो गई. पीठ को चूमने के बाद मैंने आंटी को सीधा किया और उसके चूचों को चूसने लगा. कुछ ही देर में भाभी मिन्नतें करने लगी- बस … अब चोद दो देवरजी … बहुत दिनों से लंड नहीं लिया है मैंने.

मैंने कहा- भाभी एक बार मेरे लंड भी चूस दो?लंड चूसने से उसने मना कर दिया.

जब भाभी आईं, तब उन्होंने सफ़ेद रंग की लैंगिंग्स और काले रंग की कुर्ती पहनी हुई थी, जिसमें से उनके शरीर का पूरा आकार एकदम साफ़ दिखाई दे रहा था. रणजीत- वाह रे मुनिया, तू तो बहुत बड़ी हो गई रे, तेरी भाबी बता रही थी तू भी उसका काम में बराबर साथ दे रही है. सुमन- नहीं मुखिया जी, मैंने अपने कानों से किसी के रोने की आवाज़ सुनी है.