बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी

छवि स्रोत,इंडियन सेक्सी दिखाएं वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ हिंदी पिक्चर फिल्म: बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी, फिर वो मेरे पीछे आ गया, इस बार उसने मुझे किस करना स्टार्ट कर दिया और शायद उसने अपने मुँह में सेक्स की गोली दबा रखी थी.

सेक्सी वीडियो सेक्सी ब्लूटूथ

सबसे बड़ी का नाम रेवती पटेल, दूसरी रिंकी पटेल और सबसे छोटी प्राची पटेल है. घोड़ा वाला सेक्सी घोड़ा वाला सेक्सीमैंने उसके चूतड़ों से कच्छी उतार दी और उसकी नमकीन चूत पर हाथ फेरने लगा।अब मैंने कोमल को पूरी नंगी कर दिया था, वो मेरे सामने पूरी की पूरी नंगी थी और उसकी मदहोशी भरी सांसें ‘आह्हह्ह.

उसने दरवाजे को कुंडी लगाई और मैंने भी देर ना करते हुए पीछे से ही चूचों को दोनों हाथों से पकड़ लिया. ja सेक्सी वीडियोफिर मैं वैसे ही नंगा बैठ कर टीवी देखने में लग गया और भाभी भी नंगी अवस्था में किचन में चली गईं.

जब तुम्हारा पानी निकला?अनु- लग रहा था कि अपने भाई का सिर पकड़ कर अपनी छूट में घुसा लूँ मुझे लगा कि मेरी चूत से ज्वालामुखी फटा हो.बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी: और बस मैंने उसका साथ देना शुरू कर दिया।वो मेरे होंठों को ऐसे चूम रही थी.

”तो जब मैं खिलती हुई कली थी और मेरी चूत में चुदने की इच्छायें पैदा होने लगी थीं तो तब तो तुम घर आ आ कर हफ्ता भर रुका करते थे न.मैं और जीजू हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करते करते थोड़ा घुल मिल गए और उधर मैं अपने ब्रेकअप को भी भूल गयी थी.

हिंदी मराठी बीपी सेक्सी वीडियो - बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी

यह कहानी उन लोगों के लिए है, जो सेक्स करते वक्त गालियां देना चाहते हैं.अर्जुन को क्यों रोक दिया वहाँ?बिहारी- इतनी भी भोली ना बनो मेरी जान.

जानकर बड़ा आश्चर्य हुआ कि वो मुझे जानती थी। मैं मोहल्ले में एक अच्छे आदमी की हैसियत से जाना जाता था।धीरे-धीरे उससे मुलाकातें बढ़ती गईं। उसने अपने पर्सनल प्रॉब्लम मुझसे शेयर करने शुरू कर दिए।मुझे उसके कहने-बोलने की तरह से एक बात समझ में आई. बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी मेरे मामा के घर मामा-मामी और उनकी दो बेटियाँ हैं उनकी सिर्फ दो बेटियां आनवी और अनु हैं.

तभी मुझेअपनी गर्लफ्रेंड की सहेली नाज की चुदाईका स्टाइल याद आया और मैं मधु को जमीन में हाथ के बल खड़ा कर उसके दोनों पैर अपनी कमर में क्रॉस करवा के उसकी चूत में लन्ड डाल कर चोदने लगा.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी?

तो अब उनके घर में सिर्फ़ मामी ही बची थीं।मैं बहुत खुश हुआ और मैंने घर में बोला- आज मैं अपने फ्रेंड्स के साथ उसके गाँव जा रहा हूँ. दूसरी बार दूध पीकर चुदाई की।तीसरी बार में मैंने उसकी गाण्ड के भी दीदार करके उसकी गाण्ड भी मारी।रात में करीब तीन बजे ध्यान आया कि ‘न्यू इयर ईव’ थी। हम दोनों रात को 3 बजे एक-दूसरे को ‘न्यू इयर’ विश करके नंगे ही सो गए। सुबह मेरी छ: बजे आँख खुली. उसे ये सब अच्छा लग रहा था।मैंने जींस खोली और उसकी पैंटी को खींच दिया। उसके बाद मैंने अपना जींस खोला.

जिससे उसने अपनी कमर को हवा में उठा लिया और उसके मुँह से आवाज आई- आआआ आआआआआ. और उसने मेरी निक्कर का इलास्टिक खींच कर उसे थोड़ा नीचे किया। मेरी निक्कर वाकयी लूज थी इसलिए वह तुरंत मेरे गोल कूल्हों से नीचे खिसक गई।मैंने भी उसे ऊपर नहीं किया. जैसे कमसिन लड़की की हो। वो किसी भी नजर से ऐसी लग ही नहीं रही थी कि ये चूत दो बच्चों की माँ है।मैंने अपने लंड के अगले वाले हिस्से को पकड़ कर पीछे की तरफ करके उसकी चूत के मुँह पर रख कर एक झटके में आधा लंड उसकी चूत में घुसा दिया।कोमल थोड़ा सा पीछे हटी लेकिन दूसरे झटके में मेरा लंड उसकी चिकनी चूत में पूरा चला गया।कोमल के मुँह से निकला- ऊईईईई.

यह सुनकर रेवती तकिये के कवर को हाथ में लिए खड़ी की खड़ी रह गई और मुझे देखने लगी. उसने भी मुझे तिरछी नजरों से देखा और मुझे घायल करके चली गई।मैंने आज तक इतनी बार लड़कियों और आंटियों के साथ सेक्स किया है. मैंने झट से ‘हाँ’ कह दी।अब बस रात का इन्तजार था। मैं जिम जाने वालों में से तो था ही.

क्योंकि एशियाई लोग अमरीकियों के मुकाबले शारीरिक रूप से छोटे होते हैं. मैंने चूत में से लंड निकाला और उनके मुँह में पेल दिया।थोड़ा हिलाने के बाद मेरा रस निकल गया और आँटी सारा माल पी गई।उस रात मैंने भाभी को 3 बार चोदा।फिर सुबह हम दोनों साथ में नहाने चले गए।मैंने भाभी की गाण्ड भी मारी.

जब मैं दोपहर को उठा व बाहर गया तो वो बार-बार मुस्करा रही थीं।मैंने सोचा आज इन्हें क्या हो गया है, फिर मैंने जैसे ही उनसे पूछा- क्या बात है?तो बोलीं- देवर जी.

अब तक मैं पूरे जोश में आ गया था और पूरी स्पीड में उन्हें चोद रहा था.

पायल मन ही मन हँस कर मज़ा ले रही थी, उसने दोबारा मना कर दिया और सो गई।पुनीत- यार पायल. हम एकदम से अलग हो गए और दीवार से बाहर आ गए।मेरी मम्मी ने मुझे खाने के लिए आवाज़ दे दी। खाना खाने के बाद मैं पिंकी के बारे में ही सोचता रहा। अब मुझे उसको नंगी देखने का मन था।अगले दिन मैं जब पिंकी के घर गया. प्रिया की चूत में लंड जाते ही उसके होंठ और भी रसीले हो गए और अब मैं उसके होंठों का रस भी पी रहा था और धीरे धीरे अपने लंड से उसकी चूत की चुदाई भी कर रहा था.

मैंने अपने पति की तरफ़ देखा तो उन्होंने बोलना शुरू किया- यह प्लान तुम्हारे लिये मैंने और विकी की मैनेजर ने बनाया था. मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि यह हकीकत है या सपना … लेकिन जो भी हो, वह एक आनंददायक पल था और मैं उसे खोना नहीं चाह रहा था।मैंने अपना हाथ बढ़ाया और उसके स्तनों पर रख दिया, उसके शरीर में एक झनझनाहट मैंने महसूस की और अपने हाथों से मैंने उसके स्तनों को दबाना शुरु कर दिया. हम दोनों को और भी पांच मिनट हुए होंगे कि तभी पायल एकदम से ऐंठ गई और उसी चुत ने पानी छोड़ दिया.

इसलिए मैंने ज्यादा ध्यान भी नहीं दिया।जब मैं नहा कर बाहर आया तो मेरी बहन को देखा कि वो किताबें देख रही है। उसने मुझे देखा और थोड़ा सा मुस्कुराई। मैंने भी हल्की सी मुस्कान दी और मैं अपने कमरे में चला गया। मैं काफी थक गया था इसलिए बिस्तर पर लेटते ही मेरी आँख लग गई।रात के करीब 11 बजे मुझे मेरी बहन ने उठाया और कहा- खाना खा लो।मैं उठा और हाथ-मुँह धोकर खाने के लिए मेज़ पर गया.

जो बहुत ही स्वादिष्ट है और मैं अक्सर पीती रहती हूँ।यह सुनकर सपना ने भी शिखा से मेरे लंड से चुदने की इच्छा जाहिर की. मेरी चूत जीजू का पूरा लंड अन्दर ले ले कर खुश हो रही थी और मुझे बहुत शांति महसूस हो रहा था. मैंने उसकी सलवार और कच्छी पूरी उसके पैरों से उतारी, पैरों को किस किया.

’विवाहित और लव कपल्स सेक्स कैसे करेंकुछ लोग ये समझते हैं कि फोरप्ले से सेक्स की शुरूआत होती है. तो शिखा ने सपना को कपड़े उतारने से रोक दिया और कहा- वो तुम्हें बिना पैसों के नहीं चोदेगा. मैं देख रही हूँ।’यह कह कर मैंने फोन कट कर दिया।मुझे तो संतोष के आने का ध्यान ही नहीं रहा।मेरे फोन रखते चाचा ने चूत चोदना चालू कर दिया।मैं चाचा से बोली- हटो.

दादा जी ने अपनी धोती उतार कर फेंक दी और मैंने भी उनका साथ देते हुए उनका कुर्ता ऊपर को निकाल दिया.

मैं भाभी का असली नाम बताना नहीं चाहता हूँ लेकिन इस कहानी में मैं उनको रिया भाभी कहूँगा. तो मैंने धक्के देने स्टार्ट कर दिए।अब पूरा कमरा सिसकारियों और मज़े की चीखों से गूंज रहा था।मैं ज़ोर-ज़ोर से धक्के देने लगा और उसके मुँह से ‘आआह.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी तो मैंने भी देर ना करते हुए पिंकी की चूत में लण्ड को डाल दिया और उसे जोर-जोर से चोदने लगा।पिंकी- आआआह्ह. प्लीज़ मुझे मेरी ईमेल आईडी[emailprotected]पर कमेंट्स करके जरुर बताईएगा कि आप सब लोगों को मेरी गांड चुदाई की कहानी कैसी लगी.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी तो लण्ड एक झटके में उनकी चूत के अन्दर घुसता चला गया।भाभी एकदम से चिल्लाई. उसकी आंखें उत्तेजना के ज्वार के कारण जल सी रही थीं और अब भी अपनी कमर को जोरों से उचका रही‌ थी.

वह मेरा पूरा साथ दे रही थी और मेरे हर चुंबन का बड़ी ही बेदर्दी तरीके से जवाब दे रही थी.

ब्लू पिक्चर बीएफ चोदा चोदी

भले ही हम दोनों की मंशा चुदाई की थी, लेकिन एकदम से चुदाई की मंशा एक दूसरे के सामने प्रकट कर देना भी ठीक नहीं होती है. रिया भाभी ने मेरे लंड पर कंडोम को पहनाया और कहा- अब जल्दी से करो जो करना है. विकास का लंड मुझे आनंदित करने के लिए काफ़ी था और उसकी जवानी का जोश भी मेरी चुत की आग को ठंडा करने के लिए बहुत था.

चाचा मेरे तमतमाते होंठों को चूमने लगे और मैं सेक्स में मान-मर्यादा भूल कर अपने ससुर के समान बुढ्ढे से बेहया बन गई थी ‘हाँ. ये ही थी मेरी आप बीती पहली बार सेक्स की कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल कीजिए, मेरी मेल आईडी है. मैं घर पर कह देता हूँ कि मैं आज नहीं आ सकता।रात को खाना खाने के बाद मैं छत पर खड़ा अपने लण्ड को सहला रहा था.

यह काम किसी जवान मर्द का है।’यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं यह सब चाचा को चिड़ाने और उकसाने के लिए कर रही थी और हुआ भी यही.

उनकी फिगर देखने में इतनी कमाल की है कि जो एक बार उन्हें देख ले, तो समझिए उसी वक्त उसका लंड खड़ा हो जाएगा. अब राजीव अंकल पूरी ताकत से जोर जोर से मेरी गांड में अपना लंड पूरा डाल कर जमकर चोदने लगे और मुझे बहुत गालियां देने लगे. उसके कपड़े उतारने के बाद मैंने उसको फिर से बेड पर लिटा दिया और उसकी चूत चाटना शुरू कर दिया.

पर वो भी निकल गया।ऐसे ही मेहनत करते-करते बहुत देर हो गई और जब तक ऊपर रखी पानी की टंकी जब तक खाली नहीं हुई. पर मुझे भी तुम्हारे साथ और पूजा के साथ सेक्स करना है।तो वो बोली- अभी मैं स्कूल के लिए लेट हो जाऊँगी. तो साक्षी ने ‘हाँ’ कर दी।पर उस अधेड़ उम्र के आदमी ने कहा- मैं 10000 रूपए पूरे वसूल करूँगा.

मैंने उनको बेड पर बुला लिया और हम दोनों बेड पर सीधी टांगें करके बैठ गए. भाभी के पति कभी एक दिन दो दिन, तो कभी एकाध हफ्ते के लिए ही घर आते हैं.

ये उसने बड़े बखूबी दर्शाया था।मेरी जाती जिंदगी के कुछ अनुभवों को जिनको मैं खुद बयान नहीं कर सकती थी. जिससे सोनी अब गर्म होने लगी।फिर मैंने सोनी का टॉप निकाल दिया और देखा. फिर मेरे गले में हाथ डालकर मुझे अपने ऊपर खींच कर किस करने लगीं।मैंने भी कुछ देर किस करते हुए उनकी चूत की फाँक पर अपना लण्ड रगड़ा।‘अन्दर डालो न.

उससे पहले सभी रिसती चूतों को मेरे खड़े लण्ड का सलाम और लौड़ों को प्रणाम.

मैं खाना खाने के बाद जब उठा तो मैंने देखा कि भाभी नहा कर बाहर निकल आई थी और अपने कमरे में बैठी हुई अपने बाल सुखा रही थी!वो इस वक्त बहुत सेक्सी लग रही थी, उसने नीचे ब्रा नहीं पहनी थी. ?’‘अन्दर धीरे-धीरे बड़ा होता महसूस हो रहा है मुझे।’मुझे हँसी छूट गई. मैंने मुस्कुराते हुए उन्हें शांत रहने को कहा और कैशियर को बुलाकर रकम केबिन में लाने के लिए कह दिया.

मैं आपके लिए वहाँ चाय लेकर आ रही हूँ।हम उठ कर बेडरूम में चले गए।संजय ने मुझे बता दिया था कि आज गीत की एक साथ चुदाई करेंगे और उसे बहुत ज्यादा मज़ा देंगे।उसने मुझे यह भी बताया था कि वो ऊपर ऊपर से शर्माती है. तो प्रिया बोली- ये सब अब रात में करना … मुझे तो अभी बस आपके साथ सोना है.

उसकी इस हरकत से उसे चूमते हुए भी मेरी चीख निकल गयी- अम्म …सिम्मी ने मादक आवाज़ में कहा- इट्स सो हार्ड … बहुत सख़्त है. घर आकर मैं या तो सबके साथ कुछ देर टी वी देख लेता, या फिर सो जाता था. इस वक्त उनकी छुट्टियां चल रही थीं इसलिये प्रिया व उसका भाई सारा दिन घर में ही रहते थे.

बीएफ सेक्सी वीडियो देहाती लड़की का

ताकि उनको कोई शक न हो।घर से मैं बाहर चला गया और उनके आने के बाद आकर बताया- सुबह से दोस्त के साथ था।कोमल भी यह सुनकर मुस्कुराने लगी। ऐसे ही जब भी मौका मिलता.

तो वो मेरे लंड को पकड़ कर बोलीं- इसको लण्ड बोलते हैं।जैसे ही उन्होंने मेरा लौड़ा पकड़ा. शायद उसे पता था कि उस चैन से मैं उसे पहचान लूंगा इसलिये उसने वो चैन पहनना अब बन्द कर दिया था. अन्दर ही झड़ो।मैं रस छोड़ा और मेरे पूरे माल को गीतिका ने गटक लिया।हम दोनों चिपक कर लेट गए। कुछ ही देर में उसकी गर्मी से मेरा लण्ड फिर से खड़ा हो गया.

मैंने लंड पर दबाव देते हुए उसके मुँह में घुसेड़ने की कोशिश करते हुए कहा- पूरा मुँह में लो ना. प्रिया मेरे लंड को चूस तो रही थी … मगर उसे शायद मेरे लंड को चूसना अच्छा नहीं लग रहा था क्योंकि मेरे लंड को चूसते हुए वो बार बार थूक भी रही थी. ट्रिपल सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदीथोड़ी देर बाद वो सामान्य हुई और मुझे डांटने लगी कि कोई इतनी जोर से भी कोई धक्का मारता है.

लेकिन मैं थोड़ा अपनी जवानी में अपने परिवार से आगे निकल गई हूँ और अपनी प्यासी चूत को शांत करने के लिए मैंने अपने जीजू से ही दैहिक सम्बन्ध बना लिए. मैं अपने सांवले हाथों में अंकल के खड़े और गोरे लंड को कस के पकड़ कर अपनी जीभ से धीरे धीरे चाट रही थी.

उसका पूरा अर्धनग्न शरीर मेरे शरीर पर था और वो अपने शरीर को ऊपर-नीचे रगड़ने लगी। मुझे भी मेरे लंड में कुछ ज़यादा ही तनाव हो गया।ऐसा लगा मैं निकलने वाला हूँ. यहां मैं बता दूँ कि माइक के मुकाबले मुनीर योनि के खेल में माहिर लग रही थी. फिर मेरे गले में हाथ डालकर मुझे अपने ऊपर खींच कर किस करने लगीं।मैंने भी कुछ देर किस करते हुए उनकी चूत की फाँक पर अपना लण्ड रगड़ा।‘अन्दर डालो न.

मैंने उनको नंगी देखा तो अपना ट्राउज़र भी उतार दिया और अपने हाथ से बुआ जी के हाथ को पकड़ कर अपने लंड पे रख दिया. तभी वो फिर से गुस्सा में उठी और मुझे फिर से एक झापड़ मारते हुए बोली- गांड पे कौन किस करेगा भोसड़ी के. वो पूछने लगी कि गिफ्ट कैसा है?मैंने उसे थैंक्स कहा और बताया कि ये बूट मुझे बहुत पसंद हैं.

जैसे ही मॉम डैड की गोद में गिरीं … डैड ने उसी जगह से मॉम को धक्के मार मार कर चोदना शुरू कर दिया.

तो मैंने यह बात बताई। हम दोनों दोस्त एक-दूसरे से झूठ नहीं बोलते थे. क्या बोलते हो, इन्हें सजा दूं या नहीं?मां चुदवा अपनी।” मैंने थोड़े झल्लाये लहजे में कहा और वह ‘हो हो …’ कर के हंसने लगी।मां क्यों … मैं ही चुदवाऊँगी इन भड़वों से। चलो रे सजा झेलो.

फिर ऊपर किया और बोले- वन्द्या की चूत की सुगंध जाने कैसी है बहुत मस्त टेस्टी और साफ-सुथरी माल है ये, आज हम दोनों के लौड़े से यह पागल हो जाएगी. इतना कहकर भाई बिस्तर पर आ गया और मेरी गाण्ड को सहलाने लगा, पीछे से मेरी गांड को चाटने लगा, मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ घुसाने लगा।मै- उफ्फ. वो सोच रही थी कि मैं उसे पहचानता हूं तो शायद उसकी मदद करूंगा लेकिन मैं भी मामले को बढ़ने देना चाहता था ताकि सभी जगह से निराश होने के बाद जब वो मेरे पास आए और मैं उसकी मदद कर दूँ, तो वो मुझे कुछ भाव देने लगे और मेरी अहमियत उसे पता लगे.

और तुम्हारा पानी पिया, बस उसी दिन से मैं तुम्हें चोदना चाहता था। तुम बोलो कि कैसा लगा?वो बोली- मुझे भी बहुत मज़ा आया. वो उतना ही ज़्यादा ब्रूटल डिमाँड करेगा।फिर मैंने उससे पूछा- यह प्राब्लम ठीक कैसे होगी?तो उसने कहा- कुछ ही दिनों में यह ठीक हो जाएगा. मैंने उसको गाल पर किस किया तो आज मुझे इस अकेले माहौल में बहुत मज़ा आया और वो भी चुदास के चक्कर में एकदम से सिहर उठी.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी मैंने उससे पूछा- कि क्या ऐसा पहले कभी करते हुए देखा है क्या?पायल- हां देखा है. तो मुझे भी घबराहट हो रही थी कि पहली बार 7 इंच का लंबा और मोटा लंड अन्दर ले रही हूँ बहुत दर्द होगा।उसने फिर से मेरे होंठों को अपने होंठों में भर लिया.

बीएफ एचडी सेक्सी वीडियो हिंदी

उसके सामने जैसे ही लंड चूसने वाला सीन आया तो मैंने उसको दिखाते हुए कहा- चल अब तू शुरू हो जा. लेकिन वो अपनी चुत के झड़ने से एकदम शिथिल हो गई थी, इसलिए उसने मेरे ऊपर से हटने की जल्दी नहीं दिखाई. मैंने जब उसे देखा तो मेरा दिल उसकी जवानी को भागने के लिए मचलने लगा.

मैंने फोन उठाया तो सीधा ही बोली- अबे साले, मुझे चोद कर कहाँ भाग गए. तो मैं अपना सर पीछे रख कर सोने लगा।लगभग 15 मिनट के बाद मुझे महसूस हुआ कि मैं अपने हाथ कहाँ रखूँ. सेक्सी भेजो कार्टूनउसने कैमरे की ओर देख कर मुझे हैलो कहा क्योंकि वो जानती थी कि मैं ही देख रही हूँ और वो मेरी प्रोफाइल पहचानती है.

दोस्तो, मैं आपकी दोस्त कविता एक बार फिर से आप लोगों के सामने हाज़िर हूँ.

मादरचोद, साली, रांड, छीनाल, चोदीचे तुझ्या गांडीत पहिले मी लंड घालणार आहे, नंतर मी तुझी पुच्ची झवीन. गंदा सा?” थोड़ी देर बाद उसने पूछा।अगर हम संसर्ग से पहले अपने अंगों की अच्छी तरह से सफाई कर लें तो क्यों खराब लगेगा? बाधा तो दिमाग में रहती है। जब किसी को मन से स्वीकार कर लो तो उसका कुछ भी अस्वीकार्य नहीं रह जाता।”कितना अच्छा लग रहा है.

उसकी चूत के दीदार के लिए आंदोलित था, ऊपर-नीचे करते हुए नीलम की चूत को उसने सलामी दी।उसे देखकर नीलम बड़ी खुश हुई।‘मैं इसे चूसूँ. मैंने पूजा से पूछा- क्या हुआ?पूजा बोली- रोड में एक टैंकर के साथ एक बस और एक ट्रक का एक्सिडेंट हो गया है और इसलिए पुलिस ने रोड ब्लॉक कर दिया है. मेरे गांव की एक लड़की है, उसका नाम अंतिमा है और वो मेरी सगी चाची की बहन है.

मेरी चूत तो इतनी गर्म थी कि मैं खुद चाहती थी कि मेरी अब चुदाई हो जाए बस.

फिर उन्होंने अपने शर्ट को ऊँचा किया और पैन्ट की चेन वाले स्थान पर अपना हाथ रखकर बोले- चलो बेटा, तुम भी क्या याद रखोगे? मैं दिखता हूँ तुम्हें फिल्म. मयूरी ने अपनी नंगी माँ को अपनी तरफ जोर से खींचा और अपने होंठ उसके होंठों से जोड़ दिए. वहाँ कभी-कभार बासी खाना गरम करके दे देते हैं और नजदीक कोई होटल या फिर इसका बंदोबस्त नहीं है।तब मैंने कहा- ऐसा थोड़ी चलता है.

देसी सेक्सी पिक्चर चोदने वालीतो मैंने उससे पूछा- तुम्हारे दोनों बच्चे कहाँ हैं?उसने बतय- दोनों दादी वाले हैं, तो साथ में शादी में गए हुए हैं. लेकिन नहीं बताया सिर्फ़ रोती रही।तभी मैंने भाभी के हाथ पर हाथ रखा और कहा- प्लीज़ बताओ न?तभी अचानक से हाथ लगते ही भाभी ने उठ कर मुझे गले से लगा लिया.

सनी लियोन हिंदी में बीएफ

मेरे जीजू से मुझे बात करके अच्छा लगता था और मैं भी अब उनको पसंद करती थी लेकिन उनसे सेक्स करने के बारे में नहीं सोचती थी. ’ ये कहकर और ज़ोर से खींच रहा था। तभी पिंकी को मेरे लण्ड का एहसास हुआ. यह सुनकर रेवती तकिये के कवर को हाथ में लिए खड़ी की खड़ी रह गई और मुझे देखने लगी.

साथ ही दूसरे हाथ से मसाज के स्टाईल में सख्ती से उसके नर्म और फैले हुए वक्ष दबाने लगा।इसी अवस्था में धीरे-धीरे धक्के लगाने लगा।दूसरी बार इस आसन में चुद रही हूँ।” बीच में उसने भारी सांसों के साथ कहा।अच्छा लग रहा है?”बहुत ज्यादा। जोर जोर से धक्के लगाओ जानेमन. अब उसके साथ मैं भी उसका साथ दे रही थी।वो मुझे कमरे में ले गया, फिर उसने मेरे चूचे दबाना शुरू कर दिए और पता ही नहीं चला कब उसने मुझे ब्रा और पैन्टी में कर दिया।अब उसने मेरी ब्रा और पैन्टी भी उतार दिए. वहाँ कितने लोगों के साथ एक ही दिन में मेरी बुर चुद जाती थी और अब तो केवल आप ही चोद रहे हो शायद एक से अधिक मर्द से चुदने कि आदत पड़ गई है.

’कुछ देर चोदने के बाद मैंने उठ कर भाभी को उठाया और भाभी को अब मैं खड़े कर चोदने लगा।भाभी भी साथ दे रही थीं और मस्त हो कर चुद रही थीं।भाभी दो बार झड़ चुकी थीं और अब मैं भी झड़ने वाला था।मैंने पूछा- भाभी कहाँ निकालूँ?उन्होंने कहा- रूको. तो हमने साथ में नाश्ता किया।वो मुझसे बोली- तुमने मुझे बहुत मजा कराया. फिर मैंने उससे पूछा- और करोगे क्या?तो वो बोला- सर आप रात में रूम खुला रखना.

अब तक मैं बार बार चुद चुकी हूँ।इतना कहते ही मेरे सारे दोस्तों के कान खड़े हो गए।विजय ने फिर उसे अपनी गोद में बिठाया और कहा- तभी हम सोच रहे थे. इससे पहले आप मेरी चूत में एक बार लण्ड उतार कर मुझे मस्ती से सराबोर कर दो.

मेरे अन्दर आते ही उसने पूछा कि साग कैसा लगा?मैंने कहा- सच में बहुत बढ़िया था.

तो मैंने देखा कि मेरी सीट से दो सीट छोड़ कर उसकी सीट थी। मैंने कोई ज्यादा ध्यान नहीं दिया. puja का सेक्सी वीडियोउसके बाद जीजू जब भी हमारे घर आते हैं तो हम दोनों मौक़ा बना कर सेक्स करते हैं. का चोपड़ा सेक्सी फोटोइस बीच अब मुझे उसकी चूतड़ दिखे तो मन हुआ कि अभी गांड में लंड को ही डाल दूँ. दोस्तो पहली बार की चुदाई में बहुत उत्सुकता होती है और काफ़ी चीजें अजीब लगती हैं.

तो मैंने चाची के हाथ हटा दिए और पूरा लंड अन्दर करके चुप्पे लगवाने लगा।उनके थूक से मेरा लंड एकदम गीला और चिकना हो गया था।चाची ‘गूं.

मैं भी अपने कुछ डाउट भैया से क्लियर कर लिया करूँगी और मुझे पढ़ाई में कुछ हेल्प हो जाएगी।फिर अनु अपनी दोस्त से मिलने उसके घर चली गई। मौसा जी तो पहले ही जा चुके थे। अब 2-3 घंटे के लिए मैं और मौसी अकेले थे।मौसी नहाने चली गईं. पर मुझे कभी चुदाई का चांस नहीं मिला।हमारे पड़ोस में किराए से रहने के लिए नई फैमिली आई। पति-पत्नी और उनके चार और छह साल के दो लड़के की छोटी सी फैमिली थी।कुछ ही दिनों में मेरी बच्चों से अच्छी दोस्ती हो गई, इस बहाने से मैं उनके घर जाने लगा।कल्पना चाची सांवली थीं. भरी दोपहरी सब तरफ गर्मी के मारे सन्नाटा था … और मॉम डैड का एक रूम में ये सेक्सी खेल खेल रहे थे, जो मजेदार और अनोखा ही था.

गरम तो रहेगा ही।’ मैंने हँसकर कहा।पर जैसे ही मैंने हॉट डॉग का नाम लिया. मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसकी पेंटी खोली तो उसकी चिकनी चुत देख कर मैं फिर से पागल हो गया और उसकी चुत चाटने लगा. फिर उसकी ब्रा को खोलने लगा। तभी मुझे एहसास हुआ कि उसके ऊपर टी-शर्ट भी पहन रखी है। फिर मैंने उसकी टी-शर्ट उतारी.

देहाती बीएफ देखने वाला

मेरी इस आदत की वजह से मेरी बीवी मुझसे परेशान थी।लेकिन वो शुरू में मुझसे बहुत खुश थी. जब मैं रात को अपने घर आया तो रिया भाभी भी थोड़ी देर में मेरे घर आ गईं. उस वक़्त तो ये भी होश नहीं रहा कि हम कहाँ खड़े हैं।मैंने वक़्त की नजाकत को समझते हुए अपने बाहुपाश में उसको जकड़ लिया और उसके मदिरा से लबालब भरे हुए दो प्यालों पर अपने प्यासे होंठ रख दिए और ऐसे उन्हें चूसने लगा जैसे कि जन्मों के प्यासे रेगिस्तान में मूसलाधार बारिश हो रही हो।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !जिंदगी जीने में इतना मजा पहले कभी नहीं आया.

”लेकिन आज न तो आपका लन्ड कामयाब हो पायेगा … न ही मेरी चूत उसे अपने भीतर समाने देगी! देख लेना … आप चाहे मुझे कितना ही जला लें! मेरी वासना की आग को आप कितना भी भड़का दो पर आज न चुदूँगी मैं आपसे! देख लेना!” मीता ने अपनी बड़ी बड़ी कजरारी आँखें मटकाते हुए मुझे चैलेंज किया.

तभी तो वो तुम्हारी चूत चाट रहा था।फिर मैं रात को घर आया और मौसी से कहा- मेरा सिर दर्द कर रहा है.

उसने भी मेरे लोअर के ऊपर से ही मेरे लौड़े को पकड़ लिया, लौड़ा पकड़ कर बोली- वाह… इतना मोटा. एक दो जगह वो दाखिला देने‌ के लिये तैयार भी हो गए थे, तो मैंने मना कर दिया. सेक्सी चूत ब्लूमैंने दुबारा उनकी चूत पर लंड लगाया और ज़ोर से धक्का लगाया और इस बार मेरा लंड एक ही झटके में पूरा अन्दर घुस गया।चाची को बहुत दर्द हो रहा था चाची उऊहह ऊऊऊओह.

उन्हें खुश करना होगा।मेरे बॉस ने कहा कि वो दो आदमी हैं तुमको दोनों को खुश करना होगा।मैं करती. मैं और मेरा भाई हँसने लगा कि गिलास कैसे बनेगा।तब मेरा भाई दूसरे कमरे में चला गया। आंटी चौकड़ी मार कर बैठ गई थीं. ऐसा कहते हुए मेरी गांड में राज अंकल ने अपना लंड रख दिया और फिर बहुत सारा अपना थूक निकाल कर मेरी गांड के छेद पर लगा दिया.

मेरी चूत का पानी उसकी चूत में निकल गया, उसने अपना मुँह हटा लिया, बोली- दीदी, आपकी चूत से बहुत सारा पानी निकल रहा है. शीतल कुछ सोचते हुए- अच्छा… अगर तुमसे एकदम बर्दाश्त नहीं हो रहा तो तुम एक काम कर सकती हो!मयूरी (ख़ुशी से)- क्या माँ?शीतल- तुम हस्त-मैथुन कर सकती हो…मयूरी- माँ… मुझे पता है कि हस्त-मैथुन क्या होता है… पर मैंने किया नहीं है कभी… और मुझे थोड़ा अजीब लगता है अपने हाथ से ये सब करने में…शीतल- अरे… इसमें अजीब क्या है? सब लड़कियाँ करती हैं.

जब मैंने सुबह फोन निकाला तो जो वीडियो उसमें शूट हुआ था, उसको देख करके मैं दंग रह गया.

कुछ देर बाद कोई हलचल न होने के बाद मैंने फिर से अपना लौड़ा उसके पीछे चिपका दिया. कोई लेना- देना बाकी नहीं रहेगा।मैं चौंक गया और समझ गया कि उसे बहुत जरूरत है।मैं बोला- पापा घर में हैं।वो मुस्कुरा कर बोली- मैं देख कर आई. वो ये सब बोलकर चीखने लगीं और मैं उनकी चूचियों को दबाता रहा।केवल 5 मिनट के बाद उनकी चूचियां लाल हो गईं, फिर मैं उनकी चूचियों पर झापड़ मारने लगा, वो दर्द से चीख रही थीं- छोड़ दे हर्ष.

सेक्सी झवाझवी सेक्स मैं रात 8 बजे घर पहुंचा और हम सबने साथ में खाना खाया और खाना खा करके मैं जल्दी से काम खत्म करने में उसकी हेल्प करने लगा. उनका गोरे रंग का मोटा और तननाया हुआ लंड, जो 7 इंच का होगा और 2 इंच मोटे पाइप जैसे आकार का लंड मेरे मुँह में घुस कर आगे पीछे होने लगा.

उसी वक़्त मैंने लंड उसके खुले मुँह में घुसेड़ दिया और हाथ से सर को लंड पर दबाए रखा. उसने हमारे सामने कोई गोली खा ली थी, जिससे मुझे लगता था कि वो कोई देसी वियाग्रा थी. कभी ऐसा मौका नहीं मिलेगा।वो चुप हो गई और अभी सोच ही रही थी कि मैंने एकदम से पास जाकर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्सी व्हिडिओ

गोली खाने से मेरा तो पानी अभी आना नहीं था, पर शायद प्रिया अभी तक एक बार झड़ चुकी थी. प्रिया के गर्म गर्म थूक के अहसास से मेरे लंड में भी अब हल्की उत्तेजना सी आ गयी थी. फिर वो मेरे पीछे आ गया, इस बार उसने मुझे किस करना स्टार्ट कर दिया और शायद उसने अपने मुँह में सेक्स की गोली दबा रखी थी.

जिससे उसके लौड़े का साइज़ बड़ा हो गया।अब उसने फिर से मुझे अपना लंड मुँह में लेने को कहा. शादी के दिन भी शादी के रात भी मेरे साथ इस तरह से हुआ कि आप लोग इमेजिन भी नहीं कर सकते.

तो पिंकी भी डोर नॉक करने लगी तो हमने अपने-अपने कपड़े पहने और बाहर आ गए।पिंकी हम दोनों को देख कर मुस्कुराने लगी और फिर उसने कॉफ़ी बना कर हमें दी और कॉफ़ी पीकर हम वहाँ से निकल पड़े।वो मुझे मेरे कॉलेज छोड़कर चला गया और मुझे जाते समय एक अच्छा सा ‘फ्रेंच किस’ भी किया।तो दोस्तो, यह थी मेरी रियल स्टोरी.

मैं पेंटी में अपने सीने से लगाई हुए चादर को संभालते हुए दादा जी को सॉरी बोलने लगी. तो आनवी ने तुरन्त अपनी चूत मेरे मुँह में लगा दी।अब मैं उसकी चूत चाट ही रहा था कि मादरचोदी ने मेरे मुँह में पेशाब कर दी और मैं उसकी पेशाब पीने लगा।फिर मैंने उसको नीचे करके उसकी गाण्ड में तीन सेल वाला तेल लगाकर लाईटली लौड़ा पेल दिया. परन्तु उन दोनों ने मुझे मना लिया और अन्दर से मेरा भी मन अब इस मौके का फायदा उठाने का था.

अब मेरी दोनों तरफ से चुदाई हो रही थी … मुँह से भी और चूत से भी … इसी तरह दादा पोता ने मिलकर मेरी चूत को करीब 4 घंटे तक चोदा. मैंने अपने होंठों को बुआजी के होंठों में लगा कर उनको चूसना चालू कर दिया उनकी जीभ को अपने मुँह में लेकर में बड़े मजे से चूम चाट रहा था. पर मेरा ध्यान उन्हीं की तरफ था।सोनिका एक बहुत ही बला की खूबसूरत लड़की थी, उसका बदन तो जैसे अप्सराओं जैसा था मानो बनाने वाले ने उसे बड़ी ही फुर्सत में बनाया हो।बड़ी-बड़ी आँखें.

तब मुझको भी याद आया और मैं खुश हो गया क्योंकि उन खण्डहरों में बहुत चुदाई होती थी.

बीएफ ब्लू फिल्म सेक्स मूवी: पर समय के साथ सब नॉर्मल हो गया।पहले मैं मामी के घर ज़्यादा नहीं जाता था और मेरे मन में मामी के बारे में कोई ग़लत बात नहीं थी।पर एक दिन मैं और मेरा दोस्त बाइक पर उनके घर के आगे से जा रहे थे. अभी 5 मिनट में लौड़ा खड़ा हो जाएगा। उसके बाद ना कहना कि बस करो मैं थक गई हूँ.

वो खाने के लिए बैठ गए।काका ने खाने के साथ ‘जूस’ भी दे दिया।अब वो खाने के साथ बातें करने लगे, जब खाना फिनिश हो गया तो सोने के लिए सब अपने कमरों में चले गए।पायल को पता था. मैं बोला- जान चालू करें फिर से … जो ट्रेलर देखा था, उसको मूवी बनाना तो होगा ना. तुम छत का दरवाजा खोल के रखना।मैंने कहा- मैं रात में दरवाजा खुला रखूंगा, 11 बजे आ जाना, ओके.

वो और भी कामुक हुए जा रही थी।फिर मैंने और नीचे आकर उसकी जींस का बटन खोल दिया और चैन भी खोल दी, धीरे से उस मचलती जवानी की पैन्ट को निकाल दिया।उसने पिंक कलर की पैन्टी पहनी हुई थी, दोस्तो, अब वो सिर्फ ब्रा और पैन्टी में थी… क्या बताऊँ क्या बला की खूबसूरत लग रही थी वो.

ऐसा बोल कर वो मेरे पीछे आ गए और मुझे कमर से पकड़ के अपने शरीर से चिपका लिया. तो उसने हाथ में लौड़ा पकड़ कर छेद पर लगाया और बोली- अब ज़ोर लगा।मैंने वही किया, मैंने धीरे से अपना लण्ड उसकी चूत पर रखा और एक अच्छा झटका मारा और उसको बहुत दर्द हुआ. मैंने मनीष को फ़ोन करके बताया कि आज क्या हुआ तो वो बहुत खुश हुआ कि भैया पांच दिन नहीं रहेंगे तो भाभी को चोदने का मौका मिल जाएगा.