बीएफ हिंदी में देवर भाभी

छवि स्रोत,सेक्सी बताओ सेक्सी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

బాయ్స్ సెక్స్: बीएफ हिंदी में देवर भाभी, फिर एक दिन मेरे घर वालों को नाना के यहाँ जाना पड़ा, लेकिन ट्रेनिंग के कारण हम दोनों नहीं जा सके.

एक्स एक्स लड़की सेक्सी वीडियो

भाभी की आँखों में हवस का नशा था, बिना कुछ बोले ही भाभी मेरा लंड चूसने लगीं. गावठी हिंदी सेक्सीदोस्तो, भाभियो और हॉट गर्ल्स, मैं आपका राज, कोटा, राजस्थान से आज आप लोगों को एक नई और सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ कि कैसे एक ब्यूटी पार्लर की मालकिन ने मुझसे चूत चुदवा कर मुझे जिगोलो बना दिया.

मैंने पूछा- क्या?वो बोला- ठंडा दे दो या फिर सादा पानी ए प्या दो।मैंने कहा- ठीक है, तुम नहा तो लो तब तक?उसने पूछा- गुसलखाना कित है. गांव की नंगी चुदाई सेक्सीमेरी सांसें वहीं सीने में घुटने लगीं, मुझे गहरा धक्का लगा। अब गम की जगह एक डर ने ले ली थी, मैं ज्यादा देर वहां पर रुक नहीं पाया।उसके जाने के गम का घाव अभी भरा भी नहीं था कि एक और सदमे ने मुझे हिलाकर रख दिया। अब मुझे भी दिन रात ये चिंता खाए जा रही थी कि कहीं मुझे भी एचआईवी तो नहीं लग गया.

दोपहर में मैंने खाना खाया और घर में बोला कि मैं अपने दोस्त के घर पढ़ाई के लिए जा रहा हूँ, कल सुबह आऊंगा.बीएफ हिंदी में देवर भाभी: तब ये दोनों खेतों में आई … पर क्यों?सवाल मेरे दिमाग में घूम ही रहा था कि मैंने देखा राहुल, मेरा एक और दोस्त वहां आ गया था.

जैसे इस साईट के रुल्स रेग्यूलेशन्स में कहा गया है कि कोई वास्तविक नाम, स्थल का उल्लेख नहीं होगा तो ये बात ध्यान में रखते हुए आवश्यक बदलाव किए गए हैं.पद्मिनी ने कहा- बापू टीचर के साथ कुछ ख़ास नहीं है… वह मुझको क्लास में बहुत देखता रहता था.

चूत लंड की सेक्सी वीडियो फिल्म - बीएफ हिंदी में देवर भाभी

या तेरा पहले से प्लान था?मैंने भाभी से कहा- ऐसा कुछ करने का नहीं सोचा था, वो तो पता नहीं कब हो गया.कम्पलीट होने तक, मुझे लड़कियों और भाभियों की चुदाई करने को बहुत मौके मिले.

मैंने उसे दुबारा फिर नीचे लिटा लिया और उसकी सूजी हुई चूत में लंड डाल कर चोदने लगा. बीएफ हिंदी में देवर भाभी मैं अभी एकदम गर्म हूँ। अहाना को फिर से गर्म कर के तब डालना।” मैंने खुद आगे बढ़ कर मौका ले लिया।ठीक है.

वल्लिका ने अन्दर जाते ही हेयर रिमूवर् क्रीम अपनी बगलों और चूत के ऊपर के बालों पे लगाकर उन्हें साफ किया.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी?

मैंने भी जोर जोर से कुछ धक्के लगाये और रितु की चूत में अपना वीर्य छोड़ दिया. ’ऐसे ही मैडम कुछ बड़बड़ाते हुए कराहते हुए सिसकती आवाज निकालने लगीं. फिर मैंने देर न करते हुए उसकी एक चूची को मुँह में ले लिया और दूसरी को हाथ से दबा रहा था.

उनके मादक और चुदास भरे शरीर को सहलाते सहलाते मेरा हाथ उनकी योनि पर आ चुका था. तब वो और ज्यादा मुझसे घुलमिल गई और बोली- दीदी, आप लेस्बीयन सेक्स कैसे करती हो और किससे करती हो?मैंने उसे सब कुछ बताया, बताते-2 वह गर्म हो गई और मेरे पेट पर सर रख लिया और बोली- दी आप तो बहुत अच्छी हो, क्या आप मेरे साथ लेस्बीयन सेक्स करोगी?मैंने कहा- हाँ क्यों नहीं!फिर मैंने दरवाजे को अन्दर से बन्द कर लिया और लाईट बन्द कर दी. कमरे में आने के बाद उन्होंने मुझसे पूछा- कहां चोट लगी है?मैंने अपनी टांग की तरफ इशारा किया.

रात में जब वो टॉयलेट के लिए ड्राइंग रूम से हो कर गुज़रतीं, तो मन करता कि बस उन्हें अभी पकड़ के भींच लूँ, लेकिन मन मार कर रह जाता. इस बार भाभी ने मेरे लौड़े की सवारी गांठी और हम दोनों ने लंड चूत का खेल बीस मिनट तक खेला. हमने खाना साथ खाया, फिर उसने पूछा- गिफ्ट में क्या है?मैं बोला- तुम ही खोल कर देख लो.

वो अभी भी यही समझ रहा था कि यह उसकी माँ का उसके प्रति स्नेह है, हवस नहीं. अन्तर्वासना के प्यारे पाठको, आपको मेरी हिन्दी सेक्स कहानी कैसी लग रही है? मुझे मेल करके बतायें![emailprotected]कहानी का अगला भाग:ट्रेन में मिली महिला की सेक्स की प्यास-2.

मैं भी महेश से बहुत प्रभावित रहती थी और शायद मैं भी मन ही मन उसे पसंद करती थी.

’ उसकी चीख इसलिए निकली कि क्योंकि उसके लंड का धागा टूट गया था और मेरी तो सील टूटने से चीख निकला ही थी.

डिनर के बाद बेडरूम में मैं और पम्मी अकेले थे, जब तक निक्की काम खत्म करके नहीं आई थी. आप सुंदर हो, पैसा है आपके पास, आपके पापा आपकी शादी बड़ी धूमधाम से करेंगे. मैंने पूछा- आपको क्या पसंद है सेक्स में?तो उन्होंने कहा- वाइल्डली पुसी लिक करवाना.

मगर उस दिन के बाद हमारी किस्मत भी वो अपने साथ ले कर चली गई या यह कहूँ कि मैंने अपनी किस्मत भी उसके साथ भेज दी. फिर उसने अपने हाथ से मेरा लौड़ा अपनी चूत के छेद पे रखा और लंड पर बैठ गई. तो मैंने उन्हें बताया और उन्होंने अल्मारी से टावेल व कपड़े आदि निकाल कर बेड पे रख दिए.

मुझे बहुत गुस्सा आया तो मैंने निशा को बोला- दीदी, उस भाई के पैर अकड़ जाएंगे.

फिर उसने अचानक मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और मैं भी उसका लंड हिलाने लगी. तुम लोग भी आओ, तो मैं बोलता भाई को!हम लोग बोले- नेकी और पूछ पूछ… सारे भाई एक दिन ही वर्जिनिटी तोड़ते हैं. उसका एकदम नंगा बदन, बदन से फव्वारे का बहता हुआ पानी, उसके सिर से उतर कर गांड की तरफ जाता हुआ बड़ा मादक लग रहा था.

तो दोस्तो, आप सभी को मेरी चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ प्लीज़ मेरे को ज़रूर बताना!मेरी ईमेल आईडी है. सुरेश जी के सीधे लेटते ही मैं उनके पैरों के पास जाकर बैठ गया और जल्दी से उनकी लुंगी उतार दी. इस बार मैंने उसकी टांगों को उठा कर अपने कंधों पर ले ली थीं और उसके मुँह पर अपना मुँह लगा दिया था.

मैंने कई बार अपनी कहानी लिख कर भेजने का सोचा है लेकिन समय न मिल पाने के कारण कोई कहानी नहीं भेज सका.

उनकी मस्त गांड को सहलाते हुए दबाना शुरू किया तो वो कामुक सिसकारियां छोड़ने लगी थीं- अओउउहह मुउउउहह ऑश उन्हह बेबीयी!मैंने उनके नाज़ुक होंठ को अपने होंठ में लेकर चूसता तो कभी जीभ बाहर निकालकर हल्के से उनके होंठ को चाट लेता. उसने वल्लिका की गोरी चूचियों पे उभरे गुलाबी निप्पालों को चुटकी से मसल दिया.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी उससे बात होने लगी तब मालूम चला कि वो भी किसी आईटी कम्पनी में नौकरी करती थी. मैं हांफने लगी और अब उखड़े हुए स्वर में बोल रही थी, बिल्कुल अलग टूटी आवाज से- कमलेश सर प्लीज छोड़ दीजिए मुझे.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी मैंने मेल बॉक्स खोल कर देखा तो उसमें भाई ने मुझसे पूछा था कि तुम्हारी भाभी तुम्हें अपनी भाभी बनाना चाहती है. हट पगली… तू फिर शुरू हो गई… अब मेरी उम्र थोड़े ही है लंड लेने की…” साधना ने शर्माते हुए कहा।माँ जी… लंड लेने के लिए उम्र कोई मायने नहीं रखती… मैंने तो 80-80 साल की बुढ़िया का भी सुना है कि वो लंड लेती हैं। अगर आपको झूठ लग रहा हो तो नेट पर देख लो… जब तक चुत में आग है तब तक लंड लेने की लालसा औरत में रहती ही है.

इस पर बापू ने कहा- अरी पगली, इतनी खूबसूरत जाँघें हैं तेरी, तेरी माँ से भी ज़्यादा खूबसूरत और सेक्सी हैं, देखने दे न… मुझको तो इनको खा जाने को मन करता है.

घड़ी सेक्सी वीडियो डाउनलोड

अब वो केक लेकर मेरे दोनों पैरों के बीच में बैठ गई, उसके मोटे मोटे मम्मे मेरे सामने झूल रहे थे, उंगली से केक की क्रीम को मेरे लंड और आंडों पर लगाने लगी. फिर हम नहाने के लिए उठ गए, लेकिन उससे चला नहीं जा रहा था और बेड़ की चादर पर खून और वीर्य पड़ा था. देर रात को मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि रचना मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर सहला रही थी.

अगर खुल कर कहूँ तो मेरे बाप ने अपनी वासना को बुझाने के लिए अपने पैसे के बलबूते पर तुमसे शादी की थी. भाभी की मस्ती बढ़ गई और उन्होंने अपनी टांगें खोल कर अपनी चूत चटाई का सुख लेना आरम्भ कर दिया. वन्द्या अब तू बता तुझे कैसा लगा?मैं हांफते हुए बोली- मुझे अभी भी कुछ होश नहीं, बिल्कुल पता नहीं कि क्या कहूं कैसे बताऊं? बस आज का ये दिन ये पल कभी नहीं भूलूंगी, बहुत ही मस्त बहुत ही सेक्सी टाइम रहा, मुझे बेइंतहा मजा आया.

मयूरी के लिए यह पहली बार था जब वो किसी का लंड अपने हाथ में ले रही थी.

तुम मुझे सब कुछ बताओ पूरी डिटेल में?सुनीता बताने लगी:अंकित की उंगली मेरी चूत के अन्दर थी. मैं- जब तुम्हें इतना पता है और 2 दिन का टाइम, सिर्फ़ एक कपड़ा उतारोगी या नहीं. और कुछ धक्कों के बाद उसने एक जोर से धक्का मारा और पूरा लंड चूत में चला गया.

फिर मैंने उसे उठाया और बेड पर ले जाकर उसकी चुत, जो एक साल से नहीं चुदी थी, उस पर अपना लंड रखा और धक्का दे दिया. पूरा बेड हिल रहा था चू चू की आवाज़ के साथ… उसका मखमली जिस्म मेरे जिस्म से चिपका था, हम दोनों पसीने के सने चिपके पड़े थे, थप थप की आवाज़ पूरे रूम में गूँज रही थी. तभी दिनेश मेरे बालों को पकड़कर बोला कि अब मेरा भी काम तमाम होने वाला है वन्द्या.

इस कारण वो और भी उत्तेजित हो गयी और उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में रखा और नीचे से लंड उठा कर झटका मार दिया. यह घटना मेरे साथ दस दिन पहले ही उस वक्त हुई थी, जब मैं अपने ऑफिस से अपने घर के लिए एमजी रोड से मेट्रो में चढ़ा था.

फिर बाहर के सब लोगों के जाने के बाद हम दोनों भी सोने के लिए चल दिए. मेरा मोटा लंड देख कर उसकी गांड फट गयी क्यूंकि इससे पहले उसने लंड के दर्शन नहीं किये थे। फिर मैंने अपना लंड उसे अपने मुँह में लेने को कहा. फिर उन्होंने कहा- अभी तो नहीं होगी ना!बड़े ही बेचैन लफ्जों में कही यह बात भी सही थी.

पर मुझे तो उसकी चूत से मतलब था और धोखे के बाद सिर्फ सेक्स बच जाता है.

मैंने तो पहले जूस ऑर्डर किया, पर जब मैडम को वोड्का के शॉट लगाते देखा तो मुझे भी हिम्मत आ गई और मैंने व्हिस्की आर्डर कर दी. फिर मैं धीरे धीरे से अपना हाथ मामी जी के पेटीकोट के नाड़े पर ले गया और उसे ज़ोर से पकड़ कर खींच डाला, जिससे मामी का पेटीकोट एकदम से नीचे गिर पड़ा. गोद में बैठा कर अपनी सास की चुदाई करने के बाद मैंने सीधे लेट कर उन्हें अपने ऊपर ले लिया.

मैं भी ये ठीक समझी क्योंकि बुआ और मम्मी तो शाम को आने वाली थीं, तो मैं भी अपने घर में अकेले अकेले बोर हो जाती. दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है? अपने कमेंट्स जरूर भेजें!मेरा ईमेल है:[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरे बेटे की डायरी: बेटे ने अपनी माँ को चोदा-2.

जैसे ही सर ने अपनी अंडरवियर नीचे कर उतारी, मेरे सामने सर का कड़क खड़ा लंड था. राहुल का 6 इंच का मोटा लंड में अच्छे से अपने मुँह में लेकर उसको लंड चुसाई का सुख दे रही थी और राहुल अपनी जीभ और उंगलियो को मेरी चूत में डाल कर मुझे रगड़ सुख दे रहा था. कोई शर्म लिहाज तो है नहीं … इतने लोगों के बीच भी सब्र नहीं है आपको?” बहूरानी मुझे झिड़कती हुई बोली.

नंगा सेक्सी भाभी

पास आकर उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और नशीली आँखों से मुझे देखती मेरा सुपारा चूसने लगी.

हम दोनों लोग अब एक दूसरे से चैटिंग भी करने लगे और कुछ दिन के बाद हम दोनों लोग फ़ोन पर भी बातें करने लगे. यह देख कर जेम्स ने भी धक्के मारने शुरू कर दिए, इधर से जेम्स धक्का मारता और उधर से मैं धक्का मारता. मुझसे भी नहीं रहा जा रहा था, मैंने उसको बिस्तर पर लिटाया और लंड को उसकी चूत पर लगा कर एक जोरदार झटका लगा दिया.

वरुण- माँ आपने कहा था शॉपिंग मेरी पसंद से होगी, आप अपना साइज दो, मैं लेकर आता हूँ!सविता- ठीक है, 36डी 32 38फिर हमने इस साइज की 3 ब्रा पेंटी का सेट लिया और फिर हम घर के लिए निकल गए।जब हम कार में थे तो मेरे बेटे ने मुझसे पूछा- माँ शॉपिंग करके कैसा लगा?सविता- अच्छा लग रहा है!फिर हमने थोड़ी जनरल बातें की और घर पे आ गए. अब तक की इस चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि मेरी चुत पीयूष चाट रहा था और मैं लाल जी का लंड चूस रही थी, तभी दरवाजे पर दस्तक हुई. 14 साल का लड़की का सेक्सीचोद दो मेरी चूत को मेरे भाई… आह…विक्रम- हाँ मेरी बेहेना… आज से मैं तेरा भैया और सैयां दोनों हो गया… अब तेरी चूत को मैं खुद चोदूँगा.

अब मेरे लौड़े से भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने मुठ मार ली और आकर अपने बेड पर किताब खोलकर बैठ गया. मस्ती करने गई। पिंक पर्ल में पहुंचकर मैंने और सपना ने स्विमिंग पूल में नहाने के लिए अपने कपड़े उतारे। हम दोनों जैसे ही पानी में उतरी, मेरी शमीज भीग कर मेरे 32 साइज उरोजों से चिपक गई और मेरे चूचुक दिखाई देने लगे क्तोंकी उसके नीचे मैंने ब्रा नहीं पहनी थी.

जब उसकी समझ में आया तो बोला- ठीक है मगर मैं जब तक अपनी बहन को इसके लिए राज़ी ना कर लूँ. मेरे वर्कआउट करने से मेरा जिस्म का आकार बहुत ही आकर्षक बन गया है, जो किसी भी लड़के को मेरे जिस्म का दीवाना बना सकता है. मैं उसे बांहों में उठाये कमरे में घूमता रहा और बीच-बीच में उसकी चूत में थोड़ी-थोड़ी उंगली करता रहा.

मुझे परेशान समझ कर वो मेरे पास बैठ कर अपने हाथों से मेरे माथे को और मेरे चेहरे को सहलाने लगीं और मैं गहरी नींद में होने का नाटक करते हुए धीरे धीरे बड़बड़ाने लगा. बाकी आसपास की गलियों की लड़कियां भी यही बात करने लगीं और पद्मिनी से दूर रहने लगीं. आज तो दोपहर को सोने के वक्त भी उनके साथ सोने के लिए दो और आंटियां और आ गई थीं.

मैंने आज बहुत लो कट टॉप और जींस पहन रखी थी, जिससे उसे मेरे मम्मे कुछ ज़्यादा ही नज़र आ रहे थे.

चलते भी नहीं बन रहा था, ऐसे ही तेज़ दर्द गांड में हुआ तो मैं बोली कि कुत्तों ने कैसे चोदा कि उस समय बहुत मजा आया और अब दर्द हो रहा है. बस अब किसी दिन लाजवाब और जबरदस्त तरीक़े से घर पर आकर मेरी ठुकाई कर दो.

हो सकता है तुम्हारा कौमार्य भी भंग कर दें।मुझे कुछ मेल मिले जिसमें मुझे कहा गया कि मैं कहानी मे सेक्सी शब्दों का इस्तेमाल करूँ तो इस बार में कोशिश करूंगी कि मेरी कहानी में अश्लील शब्द भी शुमार हों ताकि पाठकों को मजा भी आए, लड़कों के लंड खड़े हो जाएँ और लड़कियों की चूत गीली हो जाए।हाँ तो … मुझे इतना तो यकीन था कि चाचा घर पर किसी को वीडियो नहीं दिखाएंगे. एक दिन मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है क्या?तो उसने शर्माते हुए ना में इशारा किया. उसने जवाब दिया- देखो अगर भावुक हो कर कुछ भी करोगी तो जिंदगी में सफल नहीं हो पाओगी.

मम्मी घर में मखमली नाइटी पहन कर घूमा करती थी जो उसके बदन से पूरी चिपकी रहती थी जिससे उसके बड़े बड़े चुचे और मटकती गांड एकदम झलकती रहती थी. कुछ देर लेटे रहने के बाद वह बाथरूम गई और नहा धोकर, अपनी यूनिफार्म पहन कर जाने लगी. कुछ भी नहीं… दोनों को इस वक्त कुछ भी याद नहीं था; दोनों बस एक दूसरे के हो जाना चाहते थे.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी इसके बाद हम शादी में आ गए क्योंकि जहां शादी थी, वो जगह भी नजदीक ही थी. अब मेरा पूरा लंड स्वाति की चुत में जा रहा था और स्वाति भाभी मस्ती से अपनी चूचियों को उछालते हुए अपनी चुदास शांत करवा रही थी.

सेक्सी फिल्म देसी लड़की

”कुछ ही देर में शायद वो झड़ने के करीब थी, मुझे भी ऐसा ही लगा रहा था कि मेरा भी आने वाला है, मैंने उससे कहा- अन्दर ही निकाल दूँ?तो वो बोली- हां, अपनी गरमी अन्दर ही डाल दो जानू!हम दोनों ही साथ झड़ गए. मेरे हर धक्के पर मेरी बीवी मुँह से मादक आवाज निकाल कर जवाब देती थी, वो कहती थी- आह… चोदो मेरी चुत को जोर से चोदो… चोदकर चुत में से सब पानी निकाल दो… आह… मजा आ रहा है. जब शादी ब्याह जैसा उन्मुक्त माहौल मिले तो तमन्नाएं कुछ ज्यादा ही मचलने लगतीं हैं.

और मैं हल्के हल्के से अपनी बुआ की बेटी के स्तनों के साथ खेलने लगा।मैं और वो थोड़ा दूर थे इसलिए थोड़ी परेशानी हो रही थी, मैंने हाथ हटा लिया तो वो तड़प उठी और उठकर बैठ गई क्योंकि कमरे में सब थे इसलिए कुछ बोली नहीं, बस उठकर बाहर चली गई. मैंने उससे पूछा- दिव्या, तुम खुश हो ना?उसने नजरें उठा कर मेरी आँखों में देखा और बोली- आप खुश हैं ना?मैंने पलकें झपका कर हाँ में उत्तर दिया तो वो फिर मेरे सीने से लग गयी. पढ़ने वाली लड़की का सेक्सीजब हम फौजियों की परेड देखने लगे तो मेरी बहन मुझसे आगे खड़ी हुई थी उसने बहुत ही अच्छा पंजाबी सूट डाल रखा था जिससे वह बहुत ही खूबसूरत लग रही थी और उसकी सफ़ेद रंग की ब्रा साफ साफ दिखाई दे रही थी.

वरुण- दिखाओ?सेल्समैन- मैडम का साइज क्या होगा?वरुण- साइज का तो आईडिया नहीं है, तुम्हें क्या लगता है क्या साइज होगा?सेल्समैन- सर, मेरे हिसाब से 36 आयेगा मैडम को!वरुण- एक काम करो 34 निकाल दो, मैं ट्राई करवा लेता हूँ.

मैं फ्री था इसलिये मुझे भेजा जा रहा था।मैं खुशी से पागल हो गया, मैंने फोन करके मौसी को बताया कि मैं कल आ रहा हूँ, तैयार हो जाओ. मैंने थोड़ा और जोर लगाया और लंड घुसते ही उसकी चूत से खून निकलने लगा.

इधर मैं नहाने के लिये बाथरूम के लिए उठी तो मुझसे चला भी नहीं जा रहा था. उसके बाद मैंने उसे एक दिन फिर उसके मौसेरे भाई के साथ पकड़ा और बातें सुना कर हमेशा के लिए छोड़ दिया. कुछ देर तक मैं स्तब्ध सा उसकी रेशम जैसी चिकनी मुलायम टांगों की सुंदरता आँखों में बसाता रहा, फिर रेखा को हौले से उठाकर उसकी शमीज़ भी उतार डाली.

मैं यही सोच कर एक दिन पिंकी से बोली कि पिंकी देख तो यह मेल मेरी आइडी पर कहाँ से आई है.

अब मैंने उसे लेटाया और उसकी कमर के नीचे अपने कपड़े व उसकी कमीज़ और सलवार को रख दिया, जिससे उसकी चूत उभर गई. उसने पद्मिनी के ब्लाउज के सभी बटन खोल दिए थे और पद्मिनी की ब्रा पर अपनी जीभ चला रहा था, जिससे पद्मिनी कसमसा रही थी. उसके बाद हम और वो मेट्रो में साथ हो लिए और पहुँच गए अपने चुदाई वाली जगह.

सेक्सी बर्तनडिनर के बाद बेडरूम में मैं और पम्मी अकेले थे, जब तक निक्की काम खत्म करके नहीं आई थी. रूम में जाकर मैंने दरवाज़ा अंदर से बंद कर दिया और दोनों एक दूसरे के गले लग गए जैसे हम दोनों जन्मों के बिछड़े आज मिले हों!काफी देर तक हम एक दूसरे के गले लगे रहे, फिर हम बेड पर आ गए और एक दूसरे को किस करने लगे.

काजल काजल राघवानी के सेक्सी वीडियो

उसके गालों पर, मुँह पर, गले पर, उसके पूरे जिस्म को सहलाते हुए चूमने लगा. मैंने तीनों के लिये एक एक और पेग बनाया और हम धीरे धीरे सिप लेने लगे. उसकी बात सुनकर मुझे भी चुदास चढ़ने लगी और मैं भी अब आंटी में इंटरेस्ट दिखाने लगा.

उसका जरा सा गेहुंआ रंग भारी धूप की तेज रोशनी के कारण रूम के अंदर एकदम सोने जैसे चमक रहा था. वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल रहा था और मुझे धीरे धीरे चोद रहा था. उसके बाद तो हर हफ्ते दस दिन में हम चुदाई समारोह आयोजित कर ही लेते थे.

फिर मेरा इशारा पाते ही उन्होंने एक तेज़ धार छोड़ी, सर्रर्र… करके उनकी पेशाब मेरे मुँह में आने लगी. अब हम दोनों ही रितु को चोद रहे थे, मैं मुँह को चोद रहा था और जेम्स चूत को!कुछ देर बाद मैं बोला- जेम्स, अब मुझे इसे चोदने दो और तुम आगे आ जाओ!अब रितु को हमने बेड पर ले लिया, वह घोड़ी बन गयी और जेम्स के लंड को चूसने लगी और मैंने पीछे से उसकी चूत पर लंड लगाया और चोदने लगा. हर कोई तुझे चोदने के लिए पागल रहता होगा, वन्द्या भैन की लौड़ी तेरे से मस्त माल, तेरे से बड़ी छिनाल.

अब मैंने उनकी दोनों टांगों को उठाकर अपने कंधे पर रख लिया और अपना लिंग अन्दर डाल कर जोर जोर से झटके देना शुरू कर दिया. मैं 2-3 मिनट तो चाची के ऊपर ही पड़ा रहा, फिर चाची ने मुझे उनके ऊपर से उठने को कहा.

उसे बाद में पता लगा कि वो उन लड़कों को ब्लैकमेल कर रहा था कि जल्दी से पैसे निकालो वरना में पुलिस बुलाता हूँ कि तुम लोगों ने एक मासूम का *** कर दिया है.

जिस वजह से मैं कहीं आता-जाता नहीं था। मैं सारा दिन कमरे में या तो टीवी देखता. काली लड़कियों की सेक्सी पिक्चरमैंने लंड निकालने की कोशिश की लेकिन वो मेरे ऊपर था, तो कुछ नहीं कर सकती थी. लड़की जानवर वाला सेक्सीपद्मिनी जाते हुए बाहर से चिल्ला कर जवाब दिया- हाँ बापू आज वापस आने के बाद ज़रूर बताऊँगी… बाय बाय बापू…पद्मिनी बापू को एक फ्लाइंग किस हवा में उछालते हुए हंस दी. मैंने लंड को चुत पर लगाकर ज़ोर से झटका मारा तो मेरा लंड चुत में अन्दर घुसाकर चुदाई चालू कर दी.

मैंने खाना खाकर उससे जाने के लिये बोला तो उसने कहा- क्या तुम एक दिन यहां नहीं रूक सकते?मैं बोला- कल सोमवार है मैडम.

भाभी बोलीं कि आज मुझे मेरी चूत की मस्त चुदाई करवानी है, तो पहले मैं आपके लंड को एक बार मुँह में डाल कर पानी निकाल देती हूँ, फिर दुबारा से आपका लंड मेरी चूत की अच्छे से चुदाई भी करेगा और आप मेरे को अच्छे से गर्म भी करना. मैं थोड़ा रुक गया और बड़े प्यार से उनकी पीठ को सहलाता हुआ चूमने लगा. मैंने धीरे से अपनी पेंट और अंडरवियर भी उतार दिया और धीरे से दीदी की पेंटी भी निकाल दी.

मेरी सास बोलीं- क्या आज मेरे पेटीकोट को भी अन्दर डाल दोगे?तो मैंने कहा- पेटीकोट ही नहीं उसके नीचे पेंटी भी होगी ना. ये कहते हुए अनीता दीदी ने लैपटॉप पे चुदाई वाले फोल्डर को मेरे सामने ही ओपन कर दिया. मैंने जरा सा हाथ नीचे किया तो पता चला कि कुछ गीला और चिपचिपा सा द्रव्य उसकी पेंटी से लगा है.

राजस्थान की छोरी की सेक्सी वीडियो

वो बिस्तर पर लेट गयी, मैंने उसकी टांगों को फैलाया तो उसकी चुत मेरे सामने थी, मैंने अपने लंड को चुत के ऊपर रगड़ा, उसकी चुत के पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया. फिर भी मैंने हार न मानते हुए टोपे से लेकर उसका लौड़े पर इस तरह इस तरह मुँह का झटका मारा कि लौड़ा मेरे हलक तक चला गया। मुठ्ठियां एक और बार भींची और फिर एक बार पूरा निकाला और हलक तक ले गयी. फिर मयूरी को अचानक कुछ याद आया और विक्रम के होंठों से अलग होते हुए बोली- भैया… तुम्हारा लंड… मुझे वो देखना है.

तीनों ने अपना कॉलेज और कोचिंग छोड़कर तब तक घर में रहने का निर्णय लेते हैं जब तक उनके माता-पिता वापिस नहीं आ गए और इस दौरान घर में बस चुदाई ही चुदाई चलती रही.

आपने मेरी पहली कहानीप्यासी ननद और भाभी की जयपुर के रास्ते में चूत चुदाईपढ़ी.

फिर वल्लिका ने कहा- बाबा क्या आप मेरे साथ संबंध बनाएंगे?बाबा ने क्रोध से कहा- ये क्या कह रही हो तुम?वल्लिका ने कहा- मुझे क्षमा करें प्रभु. मैं तो उसे ही देख रहा था, इतने में मुस्कान ने पूछा- बुक्स किस तरफ मिल रही हैं?मैंने मुस्कान को उंगली के इशारे से बताया कि बुक्स वहां मिल रही हैं, पर उससे बात करते टाइम मैंने उसके हाथ में एक रिसीप्ट थी, जिससे बुक्स लेते हैं. सेक्सी वीडियो 10 साल की लड़कियांइधर मेरी चूत में मनोहर काफी देर से अपना लंड डाले जमके मेरी चुदाई कर रहा था.

रात होने लगी तो मैंने सोचा कि आज रात मौसी मुझे अपने पास नहीं लिटायेगी. मुझे पता था कि वो चुदक्कड़ है, मेरा उनके घर आना जाना भी था, एक दिन उनकी सीडी कंप्यूटर में अटक गयी थी तो उसने मुझे बुलाया और बोली- सीडी अटक गयी है निकाल दो. फिर मैंने लहंगे का नाड़ा खोल कर उतार दिया दिया और उनकी चूत पैंटी के ऊपर ही हाथ फेरने लगा.

चुदाई करते समय दूसरे को चुदाई करते देखना भी हम चारों को एक अलग सी उत्तेजना दे रहा था. अब मैं कोमल की गर्दन पर किस करने लगा और एक कान को मुँह में लेकर काटने लगा.

अब मैं पूरी तरह से झड़ने की चरम सीमा पर थी, मैंने कहा- अनुप्रिया, मैं झड़ने वाली हूँ.

पर मेरी कसी हुई चूत में उसका पूरा लंड जा रहा था तो मैं थोड़ा दर्द भी महसूस कर रही थी. जैसे ही मैं पहुँचा तो तुरंत मुस्कान का फ़ोन आया, वो बोली- घर वाले शादी में चले गए, कहाँ हो तुम? अब मेरे घर आओ!मैं बोला- दरवाज़ा तो खोलो, तुम्हारे घर के सामने खड़ा हूँ. हम तीनों ने एक और पेग बनाया, यह रितु का तीसरा और हमारा चौथा पेग था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो पुरानी एक बार उसका कोई प्रोजेक्ट बनाना था तो उसने कहा कि वो अकेली अपने रूम पर नहीं जाग सकती. तब मैंने उसे मज़ाक ही मज़ाक में ताना मारा कि तुम जिसके भी साथ होती हो वो ऐसे ही बस पकड़ता है.

वो बाथरूम में अन्दर आ गए और उन्होंने मुझे कसकर अपनी बांहों में लिया. क्योंकि मुझे नहीं पता है कि मेरा परदा जिम जाने की वजह से टूट गया है या नहीं. उसके बाद जब भी हमें मौका मिलता, हम चुदाई करते हैं और खूब मजा लेते हैं.

देहाती में सेक्सी चुदाई

इस सब सामान को खरीदते हुए अब मेरा मन भी चुदाई के लिए बेकाबू होने लगा था. उनके मोटे तने हुए चूचे और मोटी गांड देख कर मैं मुठ मार कर काम चलाता था. शुक्रवार की रात को उन्होंने मुझे फोन करके अपने बंगले पर बुलाया और मुझसे काफी देर तक बात की.

रात को 1 या 2 बज रहे होंगे, तभी नींद में मेरा एक हाथ तुषार भैया की कमर पर चला गया और मैं उनसे चिपक कर सोने लगा. ड्यूटी खत्म होने के बाद वह आपके पास आ जाएगी, लेकिन मिस्टर राज! मेरी एक रिक्वेस्ट है कि आप जूली के साथ जरा अच्छा बिहेव करें, जिससे वह आगे न बोल सके.

और फिर वो अगर ये करने में कामयाब हो जाती है तो वो पापा को भी चोद सकती है क्यूँकि इसके बाद माँ मयूरी को अपने बाप से चुदने के लिए मना नहीं कर पायेगी क्योंकि वो खुद अपने दो जवान बेटों से चुद रही होगी.

जब लंड नहीं घुसा तो मैंने अपने लंड पर क्रीम लगाई और फिर अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया. मैंने लंड का पानी चुत के अन्दर ही निकाल दिया और निढाल होकर उसके ऊपर गिर गया. खैर जब इसकी बात हो ही गयी तो मैं अपनी वर्जिनिटी लूज़िंग की कहानी से शुरू करता हूँ.

मैं बोली- यह ठीक नहीं है चाचा, आप मुझसे बहुत बड़े हैं, मुझे छोड़ दीजिए, भगवान के लिए मेरे साथ ऐसा मत करिए. अब उठाओ भी मुझे!मैंने जब उन्हें नीचे से उनकी गांड को थामते हुए अपनी गोदी में उठाया तो मेरे अन्दर एक सनसनी सी दौड़ गई. इसी बीच कीकु जवाब दे गया, काँपते हुए उसने अपना पानी रूबी के मुँह में छोड़ दिया.

मेरा गर्म, आकार में बड़ा लिंग पूरी तरह से गीली हो चुकी योनि में घुस गया.

बीएफ हिंदी में देवर भाभी: मैं- सब सही है तुम्हें करना है या नहीं?बोली- नहीं!मैंने कहा- करना पड़ेगा!और फिर मैं गुस्सा हो गया. क्या तुम ब्लू-फिल्म की बात कर रहे हो?उसने बोला- हां वन्द्या ब्लू फिल्म में लड़का लड़की दोनों मिलकर सेक्स करते हैं.

थोड़े से बच्चे बाहर हॉल में बैठे थे और बृजेश उन्हें कुछ पढ़ा रहा था. उसकी दोनों टांगें मेरी टांगों के बाहर थी और उसकी गांड और चुत के बीच में मेरा लंड टिका हुआ था. आख़िर वो मेरी दोस्त है, उसका अगर मैं ख्याल नहीं रखूँगी, तो कौन रखेगा.

फिर मैंने उसे उठाया और बेड पर ले जाकर उसकी चुत, जो एक साल से नहीं चुदी थी, उस पर अपना लंड रखा और धक्का दे दिया.

मैंने उसे बुलाया और पूछा- कैसे खड़े हो?तो वो मेरी टेबल के पास आ गया और उसने अपना नाम बताया. मुझे लगा वो शायद अपने बेटे से मिलने आया होगा इसलिए मैंने उसे बैठने को बोल दिया, पर वो मेरे पास आया और बोला- मुझे आपसे कुछ बात करनी है. ये उन्होंने भी देखा कि मैंने उनके अंडरवियर के लंड वाली जगह पर अपनी पेंटी डाली और बनियान के ऊपर अपनी ब्रा लटका दी.