बीएफ एच डी

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्सी वीडियो खपाखप

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लियोन बियफ: बीएफ एच डी, मैं खेत में अपनी साड़ी कमर तक अपने हाथों उठाकर नीचे से नंगी खड़ी थी और एक औरत मेरे नाजुक अंगों से छेड़छाड़ कर रही थी.

मियां खलिफा सेक्सी

मगर बोली कि वो गाण्ड बिस्तर पर मरवायेगी, अभी उसने उसकी चूत चोदने को बोला. सेक्सी पिक्चर करते हुए दिखाइए5 इंच मोटा और 8 इंच लम्बा लौड़ा बाहर निकाला और सीधा मेरे मुंह में घुसेड़ दिया.

लेकिन उसकी कसमसाहट इतनी अधिक थी कि यदि मैं उसको जकड़े हुए न होता, तो वो मुझसे छूट जाती. मुंबई मुंबई सेक्सीवहां आज हम दोनों नंगी थी और एक दूसरे से लिपटी हुई थी कि अचानक वहां तनु आ गयी और उसने हम दोनों को ऐसे नंगी हालत में देख लिया.

उसने मेरे लंड को अपनी चूत में लील लिया और पीछे से नीरज को इशारा कर दिया.बीएफ एच डी: उसने बड़े प्यार से रवीना को समझाया कि वो घबराए नहीं, ब्रांच का पूरा बिजनेस रवीना को मिलेगा.

उधर आने से पहले उन्होंने मुझे मेल पर बताया था कि उन्होंने ब्लैक रंग का टॉप पहना हुआ है और मुँह पर स्कार्फ बंधा हुआ है.उनकी साड़ी उनके कूल्हे की दरार में ऐसे फंसी थी कि दरवाजे में खिड़की का परदा अटका हो.

सेक्सी सेक्सी फुल पिक्चर - बीएफ एच डी

संजू की भारी चूचियां उसके भाई के हाथों में नहीं आ रही थीं वो संजू की चूचियों की घुंडियों को घुमाने लगा.मैंने इतने में ही भाई को पकड़ लिया और दिव्या ने भैया को पूरा का पूरा पानी में भिगो दिया.

मम्मी ने कहा- तो जाओ, स्वीटी आंटी के साथ चले जाओ … और उन्हें लखनऊ की फेमस जगहों पर घुमा लाओ. बीएफ एच डी थोड़ी देर बाद अक्षय और मैंने दोनों लड़कियों को बराबर में घोड़ी बना दिया और चोदना शुरु कर दिया।तभी मेरे दिमाग में एक आइडिया आया तो मैंने अक्षय को कान में वो आइडिया बता दिया जिसे सुनकर उसकी आंख भी चमक गयी.

फिर भी मैंने दरवाजा अन्दर से बंद किया और एक नाईट बल्ब चालू कर दिया.

बीएफ एच डी?

शर्ट के बटन खुले हुए, ढीली ब्रा, बिखरे बाल, आँखों में लाली, लिपस्टिक तो मैं खा ही चुका था. कुछ ही पल के बाद हम दोनों ही एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे और किस कर रहे थे. मैंने उसकी ब्रा को उसकी चूचियों से आजाद करते हुए बूब्स को नंगे कर दिया.

मैंने काफी ताकत से अपने अंगूठे के बाद के तीन अंगुलियों को उनके दोनों पैरों के बीच घुसाना शुरू कर दिया. उसके बाद हम बहुत थक गए थे, तो हम दोनों ने वॉशरूम में जा कर एक दूसरे को अच्छे से साफ किया. ऊपर से मेरे मुंह में उसकी चूचियां थीं और नीचे से उसकी चूत पर मेरा हाथ था.

मुझे अब ऐसा लग रहा था कि मेरा लोन पास हो गया है और मुझे जल्दी ही मार्जिन मनी जमा करनी है. जब उसको पता लगा कि मैं उसके पीछे आ रहा हूं तो उसने अपने कदमों की स्पीड तेज कर दी. मैं उसे देख कर आश्चर्यचकित होकर उसकी ओर बढ़ा … और पलंग पर जाकर उसके पास बैठ गया.

इस बीच हम दोनों ने दिल्ली घूमी, एक दूसरे को जाना, न जाने कितनी बार बाँहों में लिया, कितनी बार एक दूसरे को चूम के अपने प्यार को दर्शाया. अब मैं आपका ज्यादा समय ना लेते हुआ सीधा अपनी नयी आपबीती पर आता हूँ.

मुझे अन्दर से ब्लू-फिल्म देखने का बहुत मन था पर इतना टाइम ही नहीं मिल पा रहा था.

मैंने उनके वीर्य को हाथों में लेकर देखा, तो चिकना चिकना फिसलन भरा सा लगा.

उसका पूरा सम्मान करते हुए बाबू ने उतना ही लंड अन्दर बाहर करते हुए गांड मारना शुरू कर दी. दोस्तो,मेरी दो सेक्स कहानियाँप्रीति चूत चुदाने को मचल रही थीअनजान लड़की के साथ हसीं रातेंकाफी समय पूर्व अन्तर्वासना पर प्रकाशित हुई थी. वो बोली- अंदर आ जाओ।मैं डर डर के अंदर जाने लगा तो वो बोली- डरो मत, यहां कोई भी नहीं है.

लड़का- हां यार, तुम हो ही इतनी मस्त कि तुम्हें देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता है. पहले निप्पल चूसते, उसके बाद पूरा दूध मुँह में भर कर चूसते, तो मजा आ जा रहा था. मैंने उसे गोद में उठाया और रूम में लाकर बेड पर पटक दिया और उसकी काली कच्छी के ऊपर से उसकी चूत चाटने लगा.

मैं अपने रूम में आ गई और आज़ाद ख्यालों में डूबी ऐसे नंगी ही बेड पर लेट गई.

कुछ दिन बाद रोजी ने मिलने के लिए कहा तो मैंने कहा- चलो मूवी देख लेते हैं, मेरे कमरे पर नहीं मिल सकते. चाहे मैं कितना ही गरीब क्यों न रहूं, पर सब साफ सुथरा और अच्छा रखना मुझे पसंद था. कुमार- अच्छा … तुम बियर लोगी क्या?मैं- नहीं यार, मैं दिन में नहीं पीती, मुझे चढ़ जाती है … और अभी घर भी जाना है.

अपने एक हाथ से बाबू मेरे चूचियों के काले काले अंगूर सहला रहे थे, तो वो भी पूरा तन गए. सुहास ने मेरे मम्मों पर से मेरा हाथ हटाया और मुझे गोद में उठा कर बेड पर लेटा दिया. जब उनकी चुत को लंड नहीं मिल रहा था, तो वो ही क्यों कोई भी औरत बाहर मुँह मारने की कोशिश करने लगती है.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मकान मालिक ने चुत की प्यास बुझाई-2.

वसुंधरा के बिस्तर पर बैठे-बैठे नीचे की ओर सरकने की वजह से वसुंधरा की नाईटी नीचे से ऊपर की ओर सरक गयी थी या यूं कहिये कि वसुंधरा का जिस्म उस की नाईटी से नीचे की ओर से बाहर आ गया था जिस कारण वसुंधरा की गोरी-गोरी टांगें पिंडलियों से ऊपर तक और घुटनों से ज़रा सा नीचे तक अनावृत हो गयीं थी जिससे वसुंधरा क़तई बेख़बर थी. गुड्डी बुला सकते हैं आप मुझे!मैंने कहा- गुड्डी, आपसे मिल कर बहुत अच्छा लगा.

बीएफ एच डी तभी विक्की ने मुझे बताया कि मास्साब मैडम जी के चूतड़ दबा रहे थे और लेटकर देने को कह रहे थे. जब मैंने उसको अपने दोस्त के घर में चोदा था, उसके बाद मैंने उससे बोला था कि अब मुझे तुम्हारी गांड भी मारनी है.

बीएफ एच डी भाभी के होंठों पर मैंने अपने होंठ रख दिये और उनको लिप किस करने लगा. बल्लू की सेटिंग को देख कर कोई भी उसको अपने लंड के तले लेने के लिए सपने देखने लग सकता था.

उसने वीर्य चाटा और चटखारा लेते हुए सिगरेट को अपने होंठों से लगा लिया.

इंडियन गर्लफ्रेंड सेक्स

इस पर अनिषा बोली- ठीक है, मैं बैग तैयार रखती हूँ … आप घर कितने बजे तक आओगे?जीजू बोले- मैं दो बजे तक आ जाउंगा. भाभी के सारे कपड़े उतारने के बाद मैंने उन्हें गले लगा लिया और एक किस की. उसके उठे हुए मांसल चूतड़, उसकी गांड की गहरी खाई को, थिरकते चूतड़ को और बल खाती पतली कमर को देख कर, सिल्क को भी मेरी आह सुनाई दे गई, उसने मुस्कुराते हुए मुझे पलट के देखा और फिर टॉयलेट में घुस गई.

अपने जिस्म को एकदम चिकना और खुशबूदार करने के बाद मैंने पैंटी पहन ली. नेहा- आह अमित … अब अच्छा लग रहा है … हां ऐसे ही उईईई … आह एई उह आह माई मर गई. एक बार मैंने रंगे हाथ देख लिया था, साली गलती मानने की जगह कहने लगी कि जीजा साली में तो थोड़ा बहुत चलता है.

फिर हम नाश्ता करने लगे और उसके बाद मैं अपने रूम में बैग लेने के लिए आ गया.

ब्लोवर के आगे उसके कपड़े सूख गए थे, उसने अपने को सही किया, अपने कागज़ इकट्ठे किये और रवि को उठाया. अपने लंड को हाथ में लेकर मेरी नाक और माथे पर पटकते हुए वो पट-पट की आवाज करने लगा. सुमन आ गई और शादी की तैयारी के दौरान उससे मुलाकातें स्वाभाविक थीं और आंटी से कोई डर था नहीं इसलिये हमारे चुदाई कार्यक्रम चलते रहे.

गजब की आग थी मेरी बीवी में … उसकी आंखों में काम वासना भरी हुई थी … जबकि थोड़ी देर पहले वो दोनों छेदों में लंड ले चुकी थी. जैसे मेरे अंदर परम-रचियता खुद बोल उठा- अपने होश कायम रखते हुए मज़बूती से थाम ले इस क्षण को, लीन हो जा इस पल में … यही है जीवन का वर्तमान एंवम इकलौता जीवंत क्षण. धीरे-धीरे मैंने अपने दोनों हाथों की उँगलियों में वसुन्धरा के दोनों हाथों की उंगलियां जकड़ ली और वसुंधरा के दोनों हाथ उस के सर के साथ बिस्तर पर दबा कर वसुन्धरा के शरीर पर ज़रा सा टेढ़ा हो कर लंबवत लेट गया.

करीब पांच मिनट बाद मैंने दीदी को घुमाकर उनकी ब्रा को निकाल दिया और दीदी के कातिलाना मम्मों को पीछे से दबाने लगा, जिससे दीदी सीत्कार करने लगीं. बाइसेप्स और ट्राइसेप्स करने के दौरान उसने लगातार अपना लंड उस लड़की की गांड पर सटाये रखा.

मैंने कहा- मेरी फ्रेंड तैयार है, आप लोग उसके साथ पार्टी कर लीजिये। मुझे जरूरी काम है, मैं जा रही हूँ।वो दोनों लड़के तन्वी को घूर के देखने लगे. अंकल मेरे लंड को धीरे-धीरे सहला रहे थे और साथ में मेरे होंठ चूस रहे थे. तभी ऑटो वाले ने ऑटो रोक के कहा- इस गली के अंदर ऑटो घूम नहीं पाएगा, आपको यहीं उतरना पडे़गा.

और छाया ने भी गेम रोक दिया था, बस उसके हाथ कीबोर्ड पर थे और आँखें बंद थी.

ना ही कभी जेठजी ने ऐसी वैसी हरकत की, जिससे मैं कुछ समझ पाती … और ना ही कभी मेरे मन में जेठजी के साथ ऐसा कुछ करने का ख्याल आया था. मैंने फिर से अपने होंठों को उसकी गर्दन पर घुमाना शुरू कर दिया और बेतहाशा चूमने लगा. मैं जब नताशा के कमरे में गया, तब वो बाथरूम में नहा रही थी, इसलिए मैं बिना कुछ बोले चुपचाप बेड पर बैठ गया.

मैं और मेरी सहेली कामुकता वश नंगी होकर लेसबीयन सेक्स करने लगी और फिर एक दूसरी की चूत में उंगली करके दोनों झड़ गयी. वो बोली- मेरे भाई का तुम्हारे लंड से छोटा है … उसका इतना अन्दर तक नहीं जाता.

दीदी की तड़प समझकर हमने स्पीड और बढ़ा दी, पर दीदी की चूत पर श्वेत मोतियों को देखकर हमने स्पीड नियमित गति से कम करना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद मैंने दीदी को अपनी गोद में बैठा कर उनके गांड पर लंड सैट कर दिया. मैंने फ्रिज से बर्फ निकाली और उसके उसके छोटे छोटे टुकड़ों को सुरभि के बदन पर रगड़ने लगा.

सेक्स हॉट इंडियन

इधर रजत ने लंड डाल कर शांति बनाई रखी और उधर संजय ने हसन से सीख लेकर गांड को धीरे धीरे तैयार कर लिया.

मुझे दया आ गयी, मैंने उन्हें अपनी सीट दे दी। मैं खड़ी होकर सफर करने लगी।उस धक्का मुक्की और झटकों की वजह से मैं कई बार अपने बगल की सीट पर बैठे आदमी से भिड़ जाती. कुछ ही देर में उनका लंड एक बार फिर फड़फड़ाने लगा और हम दोनों का आलिंगन फिर शुरू हो गया. अगर तुम्हें मेरे साथ मजा आये तो फिर उसके हिसाब से ही हम पैसे तय कर लेंगे.

जिया- नो वे …राज- नीरज तू एक काम कर … कंडोम लेकर आ … प्लीज़ वरना तेरी बीवी प्रेग्नेंट हो जाएगी. फिर मैंने उसके बूब्स, जो 32″ साइज के थे, को धीरे से दबाया और उसकी गर्दन पे किस किया. सेक्सी वीडियो दिखाओ वीडियो सेक्सीमैं- क्यों ना आज रात हम चारों उन चारों को तड़पाएं, जैसे उस दिन उन्होंने हमें तड़पाया था.

तो मैंने जाकर जॉब जॉइन कर ली और उसके कुछ समय बाद में उससे एक मॉल में मिला. हम बहुत बातें करते थे हमारे आने वाले बच्चे के बारे में!उन्होंने मुझे प्रोमिस किया है कि वे मेरे साथ सेक्स का आनंद लेती रहेंगी और मुझे भी मजा देती रहेंगी।धन्यवाद।[emailprotected].

बेशक दारू ने सबके सर घुमा रखे थे मगर हम उसके बाद देर रात को चुपचाप अपने घर चली गई।अगले दिन छुट्टी थी तो सब देर से उठी और उठते ही सबने एक दूसरी से बात करी।कल बेशक हमने बेशर्मी की सभी हदें पार कर दी थी मगर आज हमें बड़ी शर्म आ रही थी. ये सुन कर वन्दना हंसने लगी और बोली- ऐसा कौन सा सीन रह गया, जो तुम लोग दिन में शूट नहीं कर पाए. वो थोड़ी सी भी ब्रेक मारता, तो मैं उससे चिपक जाती और मेरे बड़े बड़े दूध उसकी पीठ से चिपक जाते.

अब तक में 9 लोगों से चुदाई करवा चुकी हूँ और दसवां लंड अनिषा के घर पर दूधवाले का लेने वाली हूँ. वो नंगे बदन ही फ्रेश होने के लिए धीरे धीरे लंगड़ाते हुए बाथरूम में जाने लगी. हमारी बातों में अडल्ट जोक होने लगे और अब तो कभी कभी हम दोनों फोन सेक्स भी करने लगे थे.

काफी देर हम दोनों ने कुछ नहीं बोला पर एक दूसरे की बाँहों में संतुष्टि के साथ लिपटे थे.

मैं उसके पास पहुंची तो उसने बोला- मैडम जी, मेरा लड़का बहुत बिगड़ गया है. दीदी- आहह भाई, क्या कर रहा है … साले … अपनी बहन की चुदाई कर रहा है या ठुकाई कर रहा है … आह लगती है.

मुँह से कामुक आवाजें निकलने लगी- ओह सिल्क लव यू!मैंने सिल्क की दोनों टांगों को फैला कर नीचे चूतड़ों में हाथ लगा कर उठा लिया. उससे फ़ोन पर तो मेरी रोज़ बात हो ही रही थी, तो उसकी चिंता भी साफ़ झलक रही थी. शादी के बाद सुमन अपनी ससुराल चली गई और मनोज अपनी पत्नी कविता के साथ हनीमून पर.

मैं भाभी को मनाने लगा कि भाभी मेरी बात का ये मतलब नहीं था … वो तो मुझे मन में आया कि आपकी तारीफ़ करनी चाहिए इसलिए मैंने ऐसा कह दिया. अब कॉलेज में मुझे 5-6 महीने हो गए थे, तो अब मुझे लड़कों के प्रपोजल आने लगे थे. वो देखने में एकदम मस्त लगती है, खासकर जब वो हंसती है तो कयामत ढहाती है.

बीएफ एच डी आंटी ने भी टाँगें थोड़ी चौड़ी कर दी जो मुझे चूत का रस पीने का आमंत्रित कर रही थी।फिर मैं भी पूरी जुबान चूत में डाल कर ज़ोर ज़ोर से चाट रहा था. इतने में सुमित ने जिम ट्रेनर के पास काउंटर पर हम दोनों की पहले महीने की फीस जमा करवा दी.

हिंदी पिक्चर वीडियो सेक्स

दूरी इतनी है कि महीने में कभी एक बार ही रजनी के पास जा पाता है, तभी दो दिन के लिए रुक जाता है. उसके बाद मैंने तेल की शीशी ली और उसकी गांड में उंगली से तेल अंदर तक लगा दिया. उसने पास रखे डिल्डो को उठाया और उसे मेरी वासना से तड़प रही गीली चूत के दाने पर रगड़ने लगी.

थोड़ी देर सोचती रही फिर बोली कि आप मुझे बेबी कह सकते हैं … बेबी मेरा घर का नाम है लेकिन ये नाम इतनी लड़कियों का होता है कि कोई रिस्क नहीं है. हसन और रजत तो जिगोलो थे और प्रोफेशनल होने के कारण उनका खुद पर कंट्रोल और उनकी चुदाई की स्टेमिना अकल्पनीय थी. सेक्सी वीडियो चोदा चोदी मजेदारएक मीठा सा दर्द और इसके साथ जो आनन्द मिल रहा था, शायद दुनिया में वो आनन्द मुझे कहीं और नहीं मिल सकता था.

क्या बताऊं दोस्तो … मेरी गर्लफ्रेंड की कुंवारी चूत से एकदम मीठा रस निकालने लगा। उसकी चूत काफी मीठी थी।वापस ऊपर आकर मैंने उसके होंठ चूसे उसे भी उसकी चूत का रस टेस्ट करवाया।मैं- क्रिया, क्या तुम भी लन्ड चूसना पसंद करोगी?क्रिया- नहीं, मुझे घिन आती है.

फिर परमीत ने कहा- साफ-साफ बताओ … तुम कहना क्या चाहते हो?तब संजय ने कहा- यार परमीत तुम हर बार चुदाई के समय कहती हो ना … काश तुम्हारे तीनों छेदों को शानदार लंड मिले … तो लो आज मैंने तुम्हारी इच्छा पूरी कर दी. मेरे सामने दीदी की मोटी जांघें बड़ी मादक दिख रही थीं … ऊपर से दीदी हद से ज्यादा गोरी भी थी … बाप रे बाप मैंने पहले ऐसा नहीं देखा था.

वो चारों आराम से बैठकर टीवी देख रही थीं और हम चारों खड़े रहकर मसाज कर रहे थे. अभी मैं बिल्कुल नंगी थी और सुहास भी नंगा ही मेरे बाजू में आकर लेट गया. उसको तो मैं बाद में देख लूंगी, मगर अभी मेरी चूत में जो आग लगी हुई है उसको मुझे किसी भी हाल में शांत करना है.

कुछ देर के बाद लंड ने चुत में अपनी जगह बना ली और लगातार मम्मों, होंठों चूसने से वो भी थोड़ी नॉर्मल हो गई.

मैं पहले से ही उत्तेजित थी और उसकी हरकतें मुझे मदहोशी की हालत में ले आयी. अब मैंने भाई को और ज्यादा उत्तेजित करने के लिए उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैं पूछने लगी- मेरे जीजा ने और क्या बताया है आप लोगों को मेरे बारे में?अभय बोला:हम लोग एक दिन ऐसे ही दारू पी रहे थे.

बंगाली सेक्सी भेजो सेक्सीमाई के कपड़े पहने होने के कारण सब कुछ ढीला था, सो सब जगह हाथ आसानी से जा रहा था. बहुत देर के बाद विमला आयी और उसी जगह जगह खड़ी होकर इधर उधर देखने लगी.

एचडी में सेक्सी सेक्सी

मैं अपने घर में सबसे छोटा हूं और इसी बात का फायदा मुझे आज भी मिल रहा है. मैं कोई लेखक नहीं हूँ, इसलिए कुछ ग़लती हुई हो, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर देना. अब मैंने उसकी गांड को थाम लिया और पूरी ताकत के साथ उसकी चूत में धक्के लगाने लगा.

फिर हम दोनों ने अपनी जगह बदल ली और बदली हुई गांड को बिना रुके चोदने लगे. हॉल के बीचों बीच एक मेज को लगाया गया था, जिस पर खूबसूरत तीन लेयर वाला खूबसूरत सा केक रखा था. मैंने अपना मोबाइल निकाला और वहीं अपनी बाइक पर बैठकर मोबाइल चलाने लगा.

”वो कैसे?”जब मैंने बाइक की लाइट में इसके उभार देखे तो सोचा पैडेड ब्रा पहनी होगी। पर ये तो असली चूचियाँ हैं, मस्त हाथ में आ रही हैं. अब मीना जैसी जवां, सेक्सी और सलीकेदार लड़की अगर किसी से छाती भिड़ा दे तो लल्लू का भी खड़ा हो जाएगा … यहाँ तो रवि था जिसके लंड को एक महीने से दाना पानी नहीं मिला था. एक बजे तक यह प्रैक्टिकल समाप्त हो जाये, फिर लंच होगा उसके बाद दो बजे से तुम्हारा करा दूंगी.

और डॉक्टर कह रही थीं कि अपने पति से यह दवा लगवा लेना, अन्दर तक लगानी है. जबरदस्त दर्द का एहसास हुआ, पर मैं होंठों को दाबे हुए, आंखों में आंसू ला कर तड़फ गई.

अपनी योनि के भगनासे पर मेरे लिंग-मुंड की बार-बार रगड़ लगने से वसुंधरा के काम-आनंद में तो सहस्र गुना वृद्धि हो गयी और वसुंधरा का काम-शिखर छूना महज़ वक़्त की बात रह गया था.

तो कुछ देर बाद आवाज़ आयी- आह … याहया … साहीईल्ल आहा …मैं समझ गया कि वो गर्म रही है. मराठी रंगोलीमैंने भी अपने हाथ की उंगली को अपने मुँह में रख ली और मैडम की चुत के नमकीन अमृत का स्वाद लेने लगा. नंगी सेक्सी चुदाई वाला वीडियोतब मैंने प्रीति को सीधा लेटा करके अपने लंड को प्रीति की चिकनी बिना बालों वाली चूत पर रख कर प्रीति के मुँह में अपना मुँह डालकर एक शॉट मारा. दोपहर में उसका फोन आया- पापा को आज भी यहीं रुकना पड़ेगा, तुम कुछ खाने का ला सको, तो ले आना.

होंठों से होंठ … छाती से छाती लेकिन दोनों की जांघों के ऊपरी सिरे थोड़ा दूर-दूर.

वो थर्राते हुए बोली- आह धीरे से कीजिये ना … लग रहा है जैसे पेशाब निकल जाएगी. मैं मनु के साथ लेस्बियन कर चुकी थी उसके बावजूद मैं उससे नजर नहीं मिला पा रही थी. काम-उत्तेजना वश वसुंधरा रह-रह कर बिस्तर पर अपना जिस्म तोड़-मरोड़ रही थी और इधर मैं वसुंधरा को अपने आगोश में कस कर समेटे हुए इत्मीनान से वसुंधरा के काम-ज्वाला को भड़कते हुए देख रहा था … देख तो क्या रहा था बल्कि आग में घी ही डाल रहा था.

उसने मुझे बेड पर पटक लिया और पीठ के बल लिटा कर मेरी टांगों को चौड़ी कर लिया. मैं- अच्छा … तो अब आपको अपनी इज़्ज़त की कुछ नहीं पड़ी है?भाभी- उस समय मुझे वैसा लगा था, मगर जब मैंने सोचा कि तू तो इस घर का ही सदस्य है … तुझसे बात करूंगी, तो मुझे किसी बात की चिंता नहीं रहेगी. गुस्सा इस बात का था मुझे कि अंशी ने उस वक्त मेरे दोस्त के लिए कहा था कि यदि ये भी मुझे चोदेगा, तो मैं उससे नहीं चुदूंगी.

मारवाड़ी लड़की सेक्स वीडियो

इसका एक कारण ये भी था कि हम दोनों के पास अपने शरीर की जरूरतों को पूरा करने का विकल्प मौजूद था. साहब हमेशा कहते रहते थे कि खाली समय में इस कम्प्यूटर पर टपर टपर करो, खराब तो होगा नहीं … हां कुछ सीख ही जाओगी. मैंने जितनी बातें ऊपर लिखी हैं, उनमें से सारी खूबी मेरी गीत के उन्नत उभारों में मौजूद थे, मैंने उसकी संपूर्ण गोलाई को महसूस किया, उसके काल्पनिक स्पर्श के अहसास मात्र ने ही मुझे अन्दर तक रोमांचित कर दिया, लंडदेव ने उसकी सुंदर घाटी में सैर करने की इच्छा जाहिर करते हुए फुंफकार मारी, तो मेरे होंठों और हाथों की उंगलियों में उसके आकर्षक चूचुकों को सोचकर थिरकन हो गई.

वो मुस्कुरा दिया और बोला- मेम साहब आप … इधर?तब जीजू मुझसे बोले- ठीक है आप लोग दूध लेकर वापस चले जाना.

हम सबने उससे कहा- वाहह रे, तू तो अब तबीयत का बहाना बना के छुट्टी भी लेने लगी है.

दोनों पूरे नंगे हो गए थे और मेरे भी ने उस लड़की की चूत चाट कर उसे एक बार चरम आनन्द की हालत में पहुंचा दिया था. कल रात को भी …मैं- कल कब?आदी- कल जब आप वो मॉल वाले भैया के साथ सेक्स कर रही थीं. हिंदी सेक्सी फोटो नंगामैंने उस लड़के को गाली देते हुए कहा कि मादरचोद बोट पर तो तेरे लंड की प्यास बुझाई थी.

नेहा की शादी में अब बस दो दिन बचे थे और आज रात हम दोनों उसके ही रूम में मिलने वाले थे. उसकी बुर का पानी मेरे लंड को भिगोते हुए मेरी जांघों को भिगो रहा था. वहां से निकल कर मैं चंडीगढ़ पंहुचा और सिल्क के घर पहुंच के उनके माता पिता से मिला, उनको भी सारी बात बताई.

इतना सुनना था कि उसने मेरी चड्डी पर हाथ रख कर कहा- हाय … आज तो मेरी चूत फटने वाली लगती है. फिर नीचे हाथ ले जाकर जैसे ही बाबू ने हरा भरा जंगली प्रदेश साफ सुथरा पाया, तो बोल पड़े- साली चुदक्कड़ … आज अपने चूत का संभाल कर रख … इसका दही बना कर रख दूंगा.

एक दिन की बात है कि ट्रेनर एक कोने में खड़ा होकर अपने लंड पर लंगोट बांध रहा था.

फिर उसने मेरे हाथों को छोड़ दिया और मेरे चूतड़ों को पकड़ कर मेरी गांड की चुदाई करने लगा. मेरी हालत तो जैसे काटो तो खून नहीं, मैं उनके सामने लगभग नंगी खड़ी थी. मैंने भी तय कर लिया था कि जब तक रूमानी जी की इच्छा नहीं होगी, मैं उनसे कुछ भी ऐसा जानने की कोशिश नहीं करूंगा.

मुसलमान की सेक्सी वीडियो पिक्चर भाभी बोली- जी भर कर चोद दिया न उसको?मैं बोला- हां भाभी, जैसे आपने कहा था वैसे ही चोद दिया आपकी बहन को. मेरी बीवी संजू ने जैसे ही रोहित को देखा तो चौंक कर बोली- अरे तुम अन्दर क्यों आ गए … रोज तो बाहर से ही आवाज लगाते थे.

मैं अपनी चूत को मसलते हुए इतनी चुदासी हो जाती हूं कि मन करने लगता है कि मेरे बदन में जितने भी छेद हैं उन सब में मैं लंड डलवा लूं. पर उससे ज्यादा बड़ा सवाल था कि क्या इसे कल के बारे में भी पता चल गया? कि कल मैं इसके पति और पति के दोस्त के साथ?मैं यही सब सोच रही थी कि उसने बोला- लगता है मैं गलत समय आ गयी हूँ. अब परमीत ने फिर भड़क कर कहा- रंडी बनाकर तमाशा बनाना चाहते हो मेरा … और इसे आधुनिक विचार समझते हो.

वीडियो सेक्सी वाली

फिर मैंने नीलू को अपने सामने खड़ा किया और उसके बूब्स चुसने शुरू कर दिए अक्षय नीचे बैठकर अभी भी नीलू की चूत चाट रहा था. अभी-अभी जवान हुई मेरी फूल सी चूत में मानो परमीत ने चाकू से चीरा लगा दिया था. मुझे अलका का रोना जैसे और उत्तेजक बना रहा था और मेरा लंड पहले से ज्यादा प्रचंड होता जा रहा था.

मलाई जैसे मुलायम चिकने और बेहद हसीन पैरों के स्पर्श से मेरी चुदास कई गुना बढ़ गई और मैंने दीवानावार रानी के पैरों को चाटना शुरू कर दिया. तभी दिव्या ने मेरे कान में कहा- साली पागल हो गई है क्या, मेरी चूत यहां तड़प रही है तू इनको जाने के लिए कह रही है!तभी उन लड़कों में से जो दिव्या के साथ था वो दिव्या को गोद में उठा कर दूर चला गया.

चाची के सांवली होने की वजह से चाचा गोरी लड़कियों और औरतों के चक्कर में अक्सर ही घर के बाहर रहते हैं.

मैंने उससे पूछा- आज का क्या प्रोग्राम है?वो बोली- कुछ खास नहीं … फ्री हूं. मैंने देखा कि उसने एकदम से अपनी टीशर्ट को उठा कर अपनी ठुड्डी के नीचे दबा दिया. चाची की चूचियों का साइज नॉर्मल है, लेकिन गांड बहुत ही उभरी हुई … कामुकता से लबरेज है.

लेकिन बढ़ती उम्र के साथ रसूखदार घरों की लड़कियों पर पाबंदियां भी बढ़ने लगती हैं. लेकिन यहां से जाने के बाद तुंरत आलिया के बारे में मॉम-डैड से बात कर लेना. मैंने घर जाते वक्त बाहर निकल कर परमीत से कहा- मैं तेरे साथ नहीं जा रही हूँ, तू अकेले ही जाना.

उन्होंने बोला कि शिवाजी नगर तक जाकर आना है … लेकिन याद है ना, मोबाइल बंद और नो पिक.

बीएफ एच डी: मुझसे ये भी कहते नहीं बना कि मैं अभी कुछ देर में उनसे बात करे लेती हूँ. बाबू मेरी चूचियों को ऐसे खींचते हुए भींच रहे थे, मानो गाय का दूध दूह रहे हों.

उसने मेरी चूचियों को जोर से मसलते हुए मेरी गांड में अपना माल गिरा डाला. ”इससे पहले कितने लण्ड देखे हैं?” इतना पूछते पूछते मैंने कविता को लिटाकर अपना लण्ड फिर से उसकी चूत में पेल दिया. जब चाय पीते पीते और ज़ायरा के गदराए बदन को देखते हुये मेरे लौड़े ने अंगड़ाई सी ली, तो ज़ायरा का ध्यान भी मेरी पैंट की तरफ गया और उसने देख लिया के पैंट के अंदर मेरा लंड बल खा रहा है।मैं जानबूझ कर इस बात से अंजान बना रहा क्योंकि मुझे पता था के ज़ायरा मेरे लंड को देख रही है.

वो चिल्लाने लगी- उई … माँ मर गई … बचा लो मुझे … ये मुझे मार डालेगा.

पर पहले तो उसने मना कर दिया था लेकिन बाद में उसने कहा था कि बाद में देखूँगी. वो सामने से गन्नों को हटाती रास्ता बना रही थी, मैं उसके पीछे चलती जा रही थी. उसके चेहरे पर आ रहे लट ऐसे लग रहे थे … मानो कि वो मेरी गीत के लिए वाद्ययंत्र पर संगीत देने के लिए आतुर हो रहे हों.