बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ

छवि स्रोत,कुत्ते और जानवर की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी नंगे: बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ, तब उनकी सास ने कहा- तूने बहुत अच्छा किया, तुझे ऐसा ही करना चाहिए था.

स्मार्ट गर्ल सेक्सी वीडियो

मिठाई का डिब्बा देते हुए मैंने रेखा को रिसेप्शन में आने के लिए धन्यवाद कहा. ब्लू फिल्म दिखाओ सेक्सी फिल्मवो भलभला कर झड़ उठी और उसका गर्म गर्म पानी मेरे लंड को महसूस होने लगा था.

मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अन्तर्वासना की मस्त सेक्स कहानी मजा ले रहे होंगे. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो पाकिस्तानीक्या माल थीं यार वो … उनकी उम्र करीब 42 के आस पास होगी, पर चेहरे पर चमक एकदम 30-32 की उम्र की भाभी जैसी थी.

पता नहीं मुझे क्या हुआ मैंने उसके लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ: विक्रांत मेरी ब्रा के ऊपर से ही मेरी एक एक चूची को दबाते हुए चाटने लगा.

अब इन लोगों ने पैंटी के अंदर के सारे बाल पहले शेव कर दिए।उसके बाद थर्मोलिसिस मशीन को हर जगह लगा लगा कर उन्होंने मेरी पूरी जगह को चिकना बना दिया.फिर मैंने सेक्सी नंगी चूत की चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और मैं पूरे जोश में भाभी चूत चुदाई करने लगा.

हॉट सेक्सी वीडियो देहाती सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ

मेरी गांड बहुत भारी है क्योंकि मेरे पति ने मेरी चूत से ज्यादामेरी गांड बजाईहै.कुछ देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके पैरों को अपने कंधे पर रख लिया.

मेरी भूखी नजरों को देख कर गुड़िया बुआ ने भी अपना आंचल थोड़ा ढलका दिया था, जिससे मुझे उनके मम्मों की गहराई और भी अधिक उत्तेजित करने लगी थी. बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ ये मुझे काफी बाद में पता लगा था कि उनके पति की उम्र उनसे काफी ज्यादा थी.

मेरे सामने बेड पर मेरी दीदी एकदम नंगी चुत खोले हुए नेहा से बात कर रही थीं.

बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ?

मैंने अपने दोस्तों को बियर पिला कर उन्हें प्रीति की फंसाने वाली सारी बात दी. मैं सोच रही थी कि शायद ये मेरी मजबूरी का फायदा उठाने की सोच रहा है. उसके मुंह से भी मस्त कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … ओह्ह … हाय सेक्सी … आह्ह … ऐसी टाइट कुंवारी चूत बहुत दिनों के बाद नसीब हुई है.

जैसे ही मैंने बाम उनके माथे पर लगाया मेरे शरीर में एक अजीब सी हरकत हुई और मेरा मन करने लगा कि मैं आँटी के पास चिपक कर सो जाऊँ. लवली कहने लगी- आशीष अब सब जान गये हैं और ये तभी राज़ी होगें जब उनको कोई चूत मिले. कुछ मिनटों तक ऐसे ही करते करते लंड वापस अपने विकराल रूप में आ गया और इस बार भाभी बिना वक़्त गंवाए लंड को चूसने लगी.

वो गान्ड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी और मैं उसको जोर जोर के धक्कों के साथ चोदे जा रहा था. जितनी देर में मेरा साथी मैडम को ये बात बताता … उतनी देर में मैं प्रिंसीपल सर के ऑफिस में चला गया और कमरे की लाइट्स ऑफ करके मैं दरवाजे के पीछे छिप गया. उस दिन के बाद से हम दोनों मां के सामने चुदाई करते रहते थे और मां देख कर चली जाती थी.

पांच मिनट के बाद जब मैं थकने लगी तो मौसा ने मुझे घोड़ी बना लिया और पीछे से मेरी चूत में लंड पेल दिया. डॉक्टर ने ताई के पैर पर बंधी हुई पट्टी को उतार दिया और कहा कि अब इनका पैर बिल्कुल ठीक है और ये चल फिर सकती हैं.

मैडम की आवाज़ आई- सर, आज सारा कुछ यहीं कर लेंगे … या उसी वाले कमरे में चलेंगे.

लवली अपने ससुर के मूसल लन्ड को देख कर मुस्कुराने लगी और उसने लंड को पकड़ कर अपने चूतड़ों में घुसा लिया.

वो कुछ नहीं बोली तो मेरी हिम्मत बढ़ गयी और मैं भाभी के बूब्स दबाने लगा. हालांकि उसके बाद, जब तक कॉलेज रहा … तब तक वो मेरी गर्लफ्रेंड ही बन कर रही … और हम लोगों ने कई बार चुदाई भी की. जैसे ही मां घोड़ी बनी तो उस आदमी ने माँ के चूतड़ों पर अपनी बेल्ट मारनी शुरू कर दी.

मुझे इतना मजा आया कि मैं आपको क्या बताऊं?भाभी मेरे लंड को जीभ निकाल कर ऊपर से ही चाटने लगी. उस आदमी ने कहा- जब पार्टी में शामिल किया है तो इनको भी पूरी पार्टी दिखाएंगे. पीले रंग की सिल्क की साड़ी पहने हुए रेखा को मैंने अपने सीने से लगा लिया.

पहली बार में दीदी को अजीब सा लगा लेकिन वो लंड को धीमे धीमे से चूसने लगीं.

मैंने भाभी की चुचियों को पकड़ा और कस कस कर दबाते हुए पीछे से चुदाई की अपनी स्पीड बढ़ा दी. स्कूटी चलाते हुए मैं जान बूझ कर ब्रेक लगा देती थी और मौसा को अपने बदन से चिपकाने की कोशिश करती. उसने मुझसे तुमको नौकरी से निकालने को लेकर मुझसे ये कहा कि अगर मैंने तुमको नहीं निकाला, तो वो ये बात फैला देगी कि मेरा तुम्हारे साथ अवैध सम्बन्ध है.

उस आदमी ने भी शायद ये देख लिया था, सो वो सुभाष से बोला- माफ करना सुभाष भाई आपसे बिना पूछे हमने मेहमान बढ़ा दिया, आपको बुरा तो नहीं लगा. मोनिका ने कहा- वाह दीदी … आज तो शिव की स्पीड बढ़ गई है … शिव क्या खाया है आज?मैंने कहा- तेरी चूत का जूस पिया था ना … इसलिए दम आ गया है. मेरी नोनवेज़ सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि मेरी बीवी और पापा का ये रिश्ता अब ससुर बहू के रिश्ते से हट कर पति पत्नी के रिश्ते जैसा हो रहा था.

थोड़ी देर बाद जब मेरा दर्द कम हुआ तो अमन ने धीरे से अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और जोर से लंड को मेरी चूत घुसा दिया.

जैसे ही हमने एक दूसरे के मुँह में अपनी जीभ डालने की कोशिश की, उनके शरीर से एक अलग सी सिहरन हुई. मैंने दो टिकट लिए और प्लेटफार्म पर खड़े होकर ट्रेन आने का इन्तजार करने लगे.

बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ उस रात मैंने इतनी चुम्मियां की थीं, जितनी आज तक कभी किसी को नहीं की होंगी. मैंने उससे पूछा- ग्रुप में कौन कौन रहेगा?तो उसने कहा- मेरे 3 दोस्त और उनकी गर्लफ्रेंड रहेंगी … हम सब बहुत मस्त चुदाई करेंगे.

बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ ये हिंदी की कामुक कहानिया कुछ महीने पहले की उस समय की है, जब मेरे चचेरे भाई की शादी तय हो गई थी. मामी ने जल्दी में अपने कपड़े सही किए … मगर उनका पेटीकोट अभी भी कुछ ऊपर को ही था.

ताई की चूत बहुत गर्म थी ऐसा लग रहा था जैसे उनकी चूत से गर्म गर्म भांप निकल रही हों.

हिंदीबियफ

उसके माल की इतनी मात्रा देख कर ऐसा लग रहा था कि अगर ये मेरी चूत में छूट जाता तो मुझे गर्भवती बना देता और मैं मनोहर के बच्चे की मां बन जाती. मैंने उससे कहा कि मैं उसके घर चला जाता हूँ।प्रदीप ने थोड़ा रुक कर जाने को कहा ताकि वो अपनी माँ को बता सके।कुछ देर के बाद प्रदीप का फोन आया और उसने मुझे थोड़ी देर के बाद जाने के लिए कहा. आपको तो मालूम ही है कि मेरा पार्लर लड़कियों को मसाज के लिए ट्रेनिंग देता है.

चूतड़ों पर हल्का सा दबाव पड़़ता तो अपनी एड़ियां उठा कर रेखा मेरे और करीब आ जाती. ये देख कर मुझे पक्का हो गया कि आंटी मेरा ही सोच कर ताका-झांकी कर रही हैं. मकान मालिक हमारी ही तरफ का था, इसलिए उससे हमारी अच्छी जान पहचान हो गई.

मैंने उसको रोका तो उसने मेरे हाथ झटक दिये और अगले ही पल मेरी पजामी खींच दी.

उसके बाद मैंने अपना पैर बुआ के पैर पर आंख मारते हुए रगड़ा, जिससे वह नजरें झुका कर मुस्कुरा दीं. मनोहर अपने हाथों में भर कर मेरे बड़े बड़े चूचे दबा रहा था और बीच बीच में मेरे चूतड़ों पर थप्पड़ मार रहा था. राज भी मेरे बड़े मम्मों को खूब काटते सहलाते हुए मुझे मजा देने लगा था.

अगली सुबह फिर दोपहर तक डॉक्टर ने हम लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी और मैं सहेली को उसके घर ले गयी. यहां मैं आप लोगों से ये नहीं बोलूंगा कि मेरा लंड घोड़े के जैसा दस इंच लम्बा और काफी मोटा है … न मैं ये कहूंगा कि मेरे लंड की ताकत इतनी है कि मैं घंटों तक चुत चोद सकता हूँ. तभी मौसा ने जेब से एक गोली निकाल कर उनको दी और बोले- ये नींद की गोली है.

बुआ ने हंस कर कहा कि अगर तुम मुझे 2-3 महीने तक रहने दोगे, तो कोई बात नहीं … मैं तुम्हारे पास रह लूंगी. निगार आंटी ने मुझे उन दोनों के जाने के समय की फोटो और ट्रेन वगैरह की जाकारी दे दी.

तुम उनके काम में टांग क्यों फंसा रही हो?मां बोली- जब वो लोग करते हैं तो मेरा दिमाग भी खराब हो जाता है. मैं झट से 69 की पोजीशन में हो गया और मामी के मुँह में अपना लंड डाल दिया. उसने मुझे सीने से लगा कर मुझे खूब चूमा और कहा- अब्बू आपने आज गांड और चूत दोनों में खूब मजा दिया … सच कहूँ अब्बू … तो सुबह सुबह चुदने का अलग ही मजा है.

मैं सोनम के चेहरे को दोनों हाथों से पकड़ कर उसके लाल लाल होंठों पर किस करने लगा, जिसमें सोनम भी मेरा साथ दे रही थी.

मैंने पूछा, तो बोलीं- तुम्हारा मुँह गंदा हो गया है … अब ऐसे कभी मत करना … मुझे अच्छा नहीं लगता. मैं स्कूल में बायलॉजी की स्टूडेंट थी तो किसी भी चीज के बारे में पूरा रिसर्च कर डालती थी. चाय नाश्ता मुझे पकड़ाते हुए बोली- कल की रात मेरी जिन्दगी की बहुत ही खूबसूरत रात थी.

उनके इस बर्ताव से मेरा आश्चर्य सातवें आसमान पर था कि आज मैडम इतना मस्त माल लग रही थीं और प्रिंसीपल सर कुछ घास ही नहीं डाल रहे हैं. वो मेरे सामने नग्न अवस्था में थे और दीदी भी बेड पर नग्न अवस्था में लेटी थीं.

क्योंकि अभी तक हम लोगों ने ओरल सेक्स नहीं किया था, वो इससे कुछ गंदा महसूस करती थी. कुछ ही दिन पहले की बात है, पूरे देश में लॉकडाउन की वजह से सब कुछ बंद हो गया था, तो सब्जी लेने दूर जाना पड़ता था और सब्जियां भी सुबह ही लानी पड़ती थीं. साथ ही वो मेरे लंड को और उसकी गोटियों को अपने हाथों से सहला भी रही थी.

ब्लू फिल्म हिंदी पिक्चर फिल्म

जब मैंने उठ कर लंड को बाहर निकाला तो देखा कि कॉन्डम पर खून लगा हुआ था और ताई की गांड से भी खून आ रहा था.

सभी चूत की मालकिनों को उनकी चूत चाटते हुए और लंड धारियों को खड़े लंड का दीदार कराते हुए मेरा नमस्कार. मैंने टोस्टर वाले पार्सल को खोलने की कोशिश की, लेकिन वो पार्सल नहीं खुला. आह्ह … उनकी गर्म और मुलायम सी कोमल जांघ जो कि बहुत चिकनी थी, जब मेरे लंड के ऊपर आ गयी तो मुझे गजब की उत्तेजना होने लगी.

फिर ऐसे ही दौर चलता रहा, मेरी गर्लफ्रेंड आती रहीं और पिंकी सबका ख्याल रखती रही. जैसे ही भाभी का कोमल हाथ मेरे लंड पर लगा तो नसों में एक अलग ही खिंचाव बढ़ने लगा. बिहार के साड़ी वाली सेक्सी वीडियोरुकने के बाद मैंने उसी पोजीशन में अपने ऊपर और आंटी के ऊपर पानी डाला और फिर मैं धक्कापेल चुदाई करने लगा.

कॉलेज में मेरी दोस्ती सुमित नाम के एक लड़के से हुई और एक दिन वो मुझे घुमाने के लिए चिड़ियाघर में ले गया. इस प्रमोशन में मुझे अलग फ्लैट मिला था, जिसमें आज मैं अपने पुराने फ्लैट के साथियों के साथ एक पार्टी करने वाला था.

मैंने उस समय अपनी बारहवीं की परीक्षा पास कर ली थी और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए अपने शहर से बाहर कोटा पढ़ने के लिए गया था. जो आदमी मेरे रहते में मेरी वाईफ को एक रंडी समझ कर मेरे ही सामने अपने चमचों के साथ चोद सकता है. और गूंज रही थी मेरी चूत में लंड के अंदर बाहर होने की फच फच की आवाज।बीच-बीच में नीरव मेरे नितंबों पर थप्पड़ भी मार रहा था जिस थाप भी बहुत मधुर लगती थी।मानव और नीरव दोनों ने अपनी चुदाई की स्पीड दुगनी कर दी।क्या मजेदार अनुभव था।क्योंकि मानव मुझे गाड़ी में एक बार चोद चुका था इसलिए वह भी इतना जल्दी नहीं झड़ने वाला था.

जब मां रघु के लंड पर बैठ कर चुद रही थी तो मैंने रूम की लाइट जला दी. मेरी वासना बढ़ती ही जा रही थी, सो मैंने अपने रूम का गेट खोलकर बैठना शुरू कर दिया. फिर उसके पांच मिनट के बाद मेरे लंड से भी वीर्य निकल पड़ा और मैंने सारा माल उसकी चूत में उगल दिया.

अब इन लोगों ने पैंटी के अंदर के सारे बाल पहले शेव कर दिए।उसके बाद थर्मोलिसिस मशीन को हर जगह लगा लगा कर उन्होंने मेरी पूरी जगह को चिकना बना दिया.

नमस्कार दोस्तो, आप लोगों ने मेरी पिछली कहानीमौसेरी बहन की कुंवारी चूत की सील तोड़ चुदाईमें पढ़ा था कि किस प्रकार मैंने अपनी मौसी कि लड़की की चुदाई करके उसकी कुंवारी चूत की सील तोड़ी थी. मां को अब पता चल चुका था कि मैं भी जागा हुआ हूं क्योंकि नींद में ही इतना सब कुछ होना संभव नहीं था.

भाभी अपने एक हाथ को अपने सर के नीचे दबा कर सो रही थीं और दूसरे हाथ से मेरे लंड का मुआयना कर रही थीं. कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे दी गयी ईमेल आईडी पर मैसेज करें. और मैं घर जाते ही सबसे पहले उसे अपनी चूत में ले लूँ।राजेश जी ने मेरे कंधे को पकड़ कर हिलाया- ओ मैडम, कहाँ खो गई, क्या डिल्डो के सपने लेने लगी।मैं शर्मा गई.

जब मैं स्टेज पर आया, तो मेरा दोस्त पूछने लगा- कहां चला गया था? कितनी देर लगा दी. तो मैंने आंटी की चुत से लंड निकाला और उनकी सहेली की चुत में पेल दिया. जाते हुए वो बोली- अगर आपको ऐतराज न हो तो शाम को एक छोटी सी पार्टी मेरे यहां करते हैं, जिसमें ड्रिंक का भी इंतजाम होगा.

बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ मैंने कईयों को चोदा था लेकिन इस भाभी के साथ जो मजा आ रहा था वो किसी और के साथ अब तक नहीं आया था. प्रिया ने गहरी सांस लेते हुए कहा- जा कहां रहे हो … मेरी तड़प तो मिटा दो.

ડબલ સેક્સ

मुझे क्या परेशानी होगी भला? अगर प्रदीप ने मुझे पहले बता दिया होता तो मैं पहले ही आ जाता. मामी ने जल्दी में अपने कपड़े सही किए … मगर उनका पेटीकोट अभी भी कुछ ऊपर को ही था. फिर मैंने धीरे धीरे आंटी के बारे में सारी जानकारी निकालनी शुरू की कि आंटी कब क्या करती हैं … किधर जाती हैं.

जब मोसी बाहर आई तो मेरे लन्ड को देख कर मुस्कुराने लगी और बोली- क्या हुआ?मैंने बोला- भैंसा खुल गया है. अगले दिन उनके लेटने के बाद मैं उनके लंड को सहलाने लगी तो उन्होंने मेरा हाथ हटा दिया. देसी इंडियन सेक्सी वीडियो एचडीइस वजह से उसका लंड मेरे गले तक उतरने लगा … मगर अबकी बार वो इस बात का ध्यान रख रहा था कि लंड अन्दर देर तक न रखे.

अब मुझे उसकी चड्डी हम दोनों के मिलन में बहुत बड़ी अड़चन लगने लगी थी.

दीदी मेरे खड़े लंड को अपनी कमर से दबाते हुए मेरी ओर देखकर मुस्कराने लगीं. जिनके किस्से मैं अपनी हर एक कहानी में आपको बताऊंगा।आज मैं आपको अपनी सबसे पहली चुदाई के बारे में बताता हूँ जो मैंने 19 साल की मदमस्त पंजाबन के साथ की। अपनी पढ़ाई के बाद मैं जॉब करने पंजाब आ गया।मेरा स्वभाव बहुत मिलनसार है जिससे थोड़े समय में ही सबके साथ घुलमिल गया। कंपनी की तरफ से मुझे एक रूम दिया गया जो वहीं के निवासी का था.

जब तुम मुझे अपनी बांहों में लोगे। तुम्हारी सलाह मान कर मैंने आज से गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन शुरू कर दिया है।हम लोग काफी देर इधर-उधर की बातें करते रहे. अब मैंने दीदी की बाईं चूची का निप्पल मुंह में लेकर चूसना शुरू किया और दायीं निप्पल को अंगूठे और उंगलियों की सहायता से मसलने लगा. उसके मम्मों को देख कर मुझे बाहर से ही लग रहा था कि मानो सनी लियोनी के बूब्स हैं.

उसके बाद पापा ने मेरे चेहरे के पकड़ा और मेरे होंठों पर होंठ रख कर चूसने लगे.

बारात आने वाली थी तभी ललिता ने मुझसे कहा- बारात आने पर जयमाल होगी, फिर डिनर होगा. जीजा जी के हाथ में फोन था और हम दोनों भाई बहन जीजा जी के सामने नंगे थे. दोनों को जिम का बहुत शौक है … और वो रेग्युलर जिम और स्विमिंग करते हैं.

सेक्सी डॉग जानवरक्योंकि घर वालों को मेरी आदतें मालूम थीं कि मैं काफी लड़कीबाज किस्म का हूं, इसलिए उन्होंने इस बात पर विशेष ध्यान दिया था. फिर वो एक तरफ हो गयी और मौसा ने मुझे पकड़ कर अपने ऊपर कर लिया और खुद नीचे लेट गये.

जंगल एक्स

सुनीता यह देखकर हैरान रह गई कि मनोज में अम्मी को घोड़ी बना रखा था और उसका लंड अम्मी की गांड में था. मैंने दोबारा से किसिंग शुरू कर दी और मेरे हाथ उसकी ब्रा से होते हुए उसकी ब्रा के अंदर पहुंच गये. मगर मैंने उसकी चीख की परवाह न करते हुए उसे धकापेल चोदना शुरू कर दिया.

मैंने लंड निकाला, तो अगले ही पल वो घोड़ी बन गईं और पीछे से चुदाई करने का इशारा करने लगीं. पहली चुदाई का एहसास इतना सुखद था कि उसे मैं जिन्दगी भर नहीं भूल सकता. पहले वो कह रही थी- छोड़ो मुझे!लेकिन कुछ देर बाद कह रही थी- और तेजी से चोदो मुझे!उसकी यह बात सुनकर मैं बेड पर गिरा.

तभी प्रीति ने मुझसे पूछा- मैं कैसी लग रही हूँ?मैंने कहा- बस पूछो मत … सेक्सी तो तुम हो ही … ऊपर से ये ड्रेस तुम्हें शोला बना रही है. फिर वो पल भी आ गया और अमन ने अपनी स्पीड तेज़ कर दी और 15-20 जोरदार झटकों के बाद अमन ने मेरी चूत में अपना गर्म गर्म माल छोड़ दिया और मैं पूरी अंदर तक जैसे भर सी गयी. और तभी मेरे नितम्बों पर एक जोरदार चटाक के साथ गुरु का थप्पड़ पड़ा व एक चेतावनी भी- नंदन, गुरूजी नहीं … बलविंदर, समझे?गुरूजी ने किवाड़ पर सांकल लगाई और मुझे लेकर अंदर आ गए.

पूछने पर मां ने बताया कि उनको शक है कि बहन का चक्कर किसी लड़के के साथ चल रहा है. तुम अब अपने लंड को मेरी चूत में घुसा दो और चोद-चोद कर अपना सारा माल मेरी चुत के अन्दर भर दो.

तो उसने मुझे इस सेक्सी अवतार में नहीं देखा। मैं घर बाहर से लॉक कर के निकल गई।बाहर निकलते ही काफी लोग मुझे घूरने लगे।मैंने ऑटो किया और स्कूल चल दी। स्कूल में अंदर जाकर मैंने उस मास्टर के बारे में एक महिला कर्मचारी से पूछा तो उसने जवाब दिया कि उनकी क्लास चल रही है.

मैंने इस बार दोस्त की मम्मी की चूत में मेरा लंड एक ही झटके में घुसा दिया. ஒலிய செக்ஸி வீடியோतो मैंने क्या किया?हमारे बगल वाला घर शुक्ला जी का था, शुक्ला जी एक बैंक में मैनेजर थे और आजकल पश्चिमी उत्तरप्रदेश के किसी शहर में पोस्टेड थे व महीने में एक दो बार ही घर आ पाते थे. हिंदी देहाती सेक्सी वीडियो हिंदी मेंमैं समझ गई कि इसने मेरे गिलास में कोई उत्तेजना बढ़ाने वाली दवा डाली है. जब मां आयी तो हम तीनों नॉर्मल ही बर्ताव कर रहे थे जैसे हमारे बीच में कुछ हुआ ही न हो.

कुछ कुछ उड़ती हुई बातें भी मुझे उनके कमरे में झाँकने के लिए मजबूर कर रही थीं.

मौसा ने मैडम को अपने घुटनों में नीचे बैठा लिया और उसके मुंह के सामने अपना अंडरवियर उतार दिया. दीदी बरामदे में खड़ी होकर पड़ोस की एक लड़की से बात कर रही थी।दीदी बहुत ही खूबसूरत लड़की थी. तभी चारपाई की तरफ हाथ बढ़ा कर मामा ने तकिया उठा लिया और मेरे चूतड़ों के नीचे रखकर मुझे लिटा दिया.

मौसा ने मेरी ब्रा को खोल दिया और मेरी अनछुई चूचियां पहली बार किसी अधेड़ उम्र के पुरूष के सामने तन कर खड़ी हो गयीं. पर सबके बार बार कहने पर हम दोनों अपनी अपनी गाड़ी में बैठ गए और एक दूसरे को विदा कह दिया. फिर पारुल ने सोफे पर मेरी टाँगें फैलायीं और घुटने के बल बैठ कर मेरा लंड उसने अपने मुंह में भर लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

सेक्स वीडियो एचडीxxx

अपनी यात्रा के लिए मैंने एक प्राइवेट बस में स्लीपर की नीचे वाली सीट बुक करवाई थी. वो आदमी जिसकी शक्ल भैंसे जैसी थी, मुझसे बोला- तू चुप रह … वरना यहीं पर पटक कर मारूंगा. ये थी मेरी देसी गांड की कहानी दोस्तो, आपको अच्छी लगी या नहीं? मुझे कमेंट्स और मैसेज में बतायें.

फिर उसे अपने दांतों से खींच लिया और उसकी देसीचुत नंगी होती चली गयी.

दीदी ने सिगरेट को ट्रे में बुझा दिया और मेरी तरफ नशीली आंखों से देखने लगीं.

उसकी चूत से निकला कामरस और मेरे लंड से निकला कामरस दोनों के ही मिल जाने से उसकी चूत काफी गीली लग रही थी और एकदम से फिसलन भरी हो गयी थी. पर वो हर बार मुझे मना कर देती रही और कहती रही कि अब्बू मुझे आपके लंड की लत गयी है. छत्तीसगढ़ी मेंजब मुझे ये मालूम चला तो मानो मेरे नसीब जग गए थे कि अब बेधड़क चुदाई होगी … लेकिन डिलीवरी के बाद.

तभी मैंने उसके मम्मों को थोड़ी जोर से दबा दिया, तो वो एकदम से चिल्लाने लगी- आह … क्या कर रहे हो … मुझे दर्द हो रहा है अनु. जैसा फिगर मैंने देखा था, रियलिटी में वो उससे भी ज्यादा सेक्सी लग रही थी. तो उसने मेड को बताया कि मैं उसके मायके से उसके लिए करवाचौथ की सरगी ले कर आया हूँ.

पूरी यात्रा के मध्य में मैं गांव के खेतों को सिमटते उनकी जगह को छोटी छोटी सी झुग्गी झोपड़ियों में बदलते हुए देख रहा था. अंदर जाकर मैंने उनको बेड पर लेटाया और बोला- आप आराम करो, मैं चाय लेकर आता हूं.

मैंने उसके अंडरगार्मेंट्स छुपा दिये जो कि वह नहाने के बाद बाहर सुखाने के लिए डाल देती थी.

मैंने कागज उठाए और आंटी से कहा- ठीक है आंटी, मैं कल से काम शुरू कर देता हूँ. वहां मार्केट से मैंने उनको एक सेक्सी ड्रेस दिलवा दी जिसके साथ में ब्लैक ब्रा, पैंटी, बैकलेस और स्लीवलेस ब्लाउज वाली साड़ी भी थी. थोड़ी देर बाद जब मेरा दर्द कम हुआ तो अमन ने धीरे से अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और जोर से लंड को मेरी चूत घुसा दिया.

सेक्सी शॉट बताओ अब बस इंतजार था कि मम्मी और पट जाये तो पूरा घर ही चुदाईमय माहौल का हो जायेगा. मैंने उनके पास गया तो सासू मां बोली- मेरा मन भी कर रहा है चुदाई का मजा लेने के लिए.

मैं सोचने लगा कि मैं तो यहां चुत चोदने आया था … लेकिन अब लग रहा था कि मेरी नंगी गांड मारी जाएगी. मैंने कहा- अच्छा … आप क्या करती हैं?वो बोलीं- मेरा खुद का बिज़नेस है … मैं वो करती हूँ. तो मैंने कहा- चाची मेरा होने वाला है … रस कहां निकालूं?उन्होंने कहा- अन्दर ही निकाल दे … बड़े दिनों बाद ही सही, पर मेरी चूत को शांति मिल जाएगी.

हिंदी सेक्स वीडियो ब्लू

मैंने अपनी चप्पल खोल कर अपना बायां पैर उनके दायें पैर के ऊपर रख लिया और बायां हाथ उनके लंड के करीब रख दिया. कुछ ही पलों में उन्होंने अपने दोनों पैरों को मेरे सिर पर दबा कर अपनी चुत का पानी छोड़ दिया और शांत हो गईं. उसने अपनी साड़ी को ऊपर करके अपनी पैंटी उतार दी और पापा के ऊपर बैठ गयी.

मैंने कईयों को चोदा था लेकिन इस भाभी के साथ जो मजा आ रहा था वो किसी और के साथ अब तक नहीं आया था. आंटी ने भी मेरा लंड अभी ही देखा था तो आंटी के मुँह में भी पानी आ गया.

उसकी बात सुन कर मैं जोर से हंसने लगा और बोला- कोई बात नहीं, तुझे भी सिखा दूंगा.

मेरी पड़ोस की सहेली जो कि उसकी बहन लगती थी उसकी वजह से हम मिले और हमारी दोस्ती हुई। फिर हम एक साथ घूमने लगे, बातें करने लगे और हम करीब होते गए।तब से ही हम फोन पर भी बात करने लगे।वो मुझसे उम्र में थोड़ा बड़ा था पर हमें कोई दिक्कत नहीं थी। जब हम मिले थे तब मैं उस वक्त बारहवीं में थी और उसकी पढ़ाई खत्म होने वाली थी. मैं डर गया था कि वो डांटेंगी मगर उन्होंने कहा- चल उठ जा, मैं तेरा रूम साफ कर देती हूं, पता नहीं क्या क्या गिरा रखा है. उसने अपने पिता से भी अपनी चूत चुदवा ली और फिर लवली, उसकी मां और उसके पापा एक साथ तीनों मिल कर चुदाई का मजा लेने लगे.

तो दोस्तो, लंड वाले पाठक अपना लंड हिलाते हुए और चुत वाली सहेलियां अपनी चुत में उंगली करते हुए मेरी इस कहानी का मज़ा लेने के लिए तैयार हो जाएं. आप भी ध्यान रखें कि 15 दिनों तक इस घर में ऐसा कोई काम नहीं होगा अब. बीच रास्ते में पूछने लगा- गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं।वो बोला- फिर तेरा मन करता है तो कैसे काम चलाता है?मैंने कहा- किस चीज का मन?वो बोला- ज्यादा भोला मत बन, जब तेरी लुल्ली कड़क होती है तो कुछ तो करता होगा?मैं शरमाने लगा तो वो बोला- शरमा मत, तू भी मर्द है और मैं भी। बता कैसे शांत करता है?मैं कुछ नहीं बोला.

मौसी मौसा को डांटते हुए बोली- काम के ना काज के, घर पर निठल्ले ही बैठे रहते हो.

बीएफ सेक्सी दिखाइए बीएफ: मैंने कुछ देर की चुदाई के बाद लंड खींचा और उसको डॉगी स्टाइल में होने को बोला. मेरी मां की गांड को उन दोनों ने मिल कर मार मार कर टमाटर से भी ज्यादा लाल कर दिया था.

मैं कॉन्डम लेने गया तो आंटी सिसकारते हुए चूत में लंड डालने के मिन्नत कर रही थी. आंटी के होंठ चूसते हुए ही मैंने उनकी साड़ी के ऊपर से ही उनके मम्मों पर अपने हाथ जमा दिए और मसलने लगा. उन दोनों के बात करने के अंदाज से देख कर पता लग रहा था कि दोनों बस में एक साथ सफर करने वाली हैं.

वो बिस्तर पर मेरी तरफ पीठ करके लेट गईं, तो मैं समझ गया कि मामी क्या चाह रही हैं.

करवाचौथ से लगभग तीन दिन पहले शुक्रवार को जब मैं शाम को घर आ रहा था, तो आंटी घर के गेट पर ही मिल गईं. दो मिनट में ही मैंने उनकी गांड तेल से भर दी ताकि लंड आसानी से फिसल कर ताई की गांड में घुस जाये. मैं- जीजा जी मुझे माफ करना और आप जो सोच रहे हैं, वो बिल्कुल गलत है.