मामा भांजी का बीएफ

छवि स्रोत,यूपी का सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

2019 की सेक्सी फोटो: मामा भांजी का बीएफ, उन्होंने मेरी गांड को गीला किया और मैं अभी कुछ समझ पाता कि बुआ ने एक अलग ही हरकत कर दी.

सेकसबीडीओ

मैंने जैसे ही उनकी पैंट नीचे की तो उनका 7 इंच का लन्ड मेरे मुंह पर आकर लगा. साईं बाबा कहानीमैंने गालों पर गुलाल लगाने के बाद भाभी के पीछे से उनको कसके पकड़ लिया.

मैं उसकी चूत जोरों से चाट रहा था, वो भी कामुक सिसकारियां भरते हुए मेरे लंड को मस्ती से चूस रही थी. 5 साल लड़की कातब कविता ने कहा कि मेरे लिए एक सीखी-सिखाई साथी को उसने छोड़ रखा है।उसका संकेत समझने में जरा भी देरी नहीं हुई मुझे.

अब दोनों ही चुदाई का मज़ा लेने लगे और धक्के पर धक्के मारने लगे।मैंने कहा- खन्ना जी तुम्हारी गांड चोदते हैं क्या?वो बोली- वो बुड्ढा क्या चोदेगा? उसके लन्ड में दम नहीं है। बस चार झटके मारकर सो जाता है और मुझे तड़पने के लिए छोड़ देता है।अब मैं जोर जोर से झटके मारने लगा और वो खुद अब मज़ा लेकर चुदाई करवाने लगी।मैंने उसे जमकर चोदा और फ़िर उसकी गान्ड में लन्ड का पानी छोड़ दिया.मामा भांजी का बीएफ: ज्योति- तो कहीं अपने ही भाई से तो नहीं दबवा रही छिनाल?स्नेहा ने मुस्कुराते हुए कहा- चुप कर छिनाल … शर्म कर वो मेरा भाई है, खसम नहीं.

मैंने नाराज़ हो कर कहा- ये क्या मतलब, अब क्या हो गया?चाची- पागल है तू, किसी को बता देगा तो मेरे जूते पड़ेंगे.वो हैरत से मुझे देखने लगी और बोली- आप क्या कह रहे हैं सब मेरे ऊपर से निकल रहा है.

दिल्ली कॉलेज का सेक्सी वीडियो - मामा भांजी का बीएफ

चाची के आने से 15 दिन पहले ही मेरा 18वां जन्मदिन मनाया गया था और उस दिन फोन पर जब चाची से बात हुई थी तो चाची ने जन्मदिन की बधाई देते हुए मुझसे कहा था- आज तुम 18 साल के हो गए हो, अब तुम्हें कोई स्पेशल गिफ्ट देना होगा.मैं यामिना के पीछे उसकी गोरी गाँड की गहरी खाई में लण्ड रखकर खड़ा हो गया.

उसकी आंखों से निकलता पानी अब रुक चुका था और खुद वो अपनी गांड हिलाना चालू कर चुकी थी. मामा भांजी का बीएफ मुझे तो कुछ समझ में नहीं आया कि प्राची मेरा वीर्य क्यों जमा कर रही थी.

वो अपने बेटे के छत पर सोये होने के कारण तेज स्वर में नहीं चिल्ला पा रही थीं.

मामा भांजी का बीएफ?

मैंने एक हाथ बढ़ाते हुए उसकी साड़ी के अंदर से उसकी चूत के ऊपर रख दिया. मैं सो गया और दूसरे दिन कल्पना मामी की गांड मारने के मीठे सपने देखने लगा. क्या तुम कोई नौकरी भी करते हो?मयंक- संगीता जी … मैं एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता हूं और आर्यन नौकरी की तलाश में है.

तो प्राची ने अपनी टी-शर्ट एक तरफ से ऊपर करके कहा- लो कर लो अपनी इच्छा पूरी. फिर मैंने उसका लोअर उतारा और उसे गोद में उठाकर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. मैंने लंड को उनके बंद होंठों पर रखा और वो लंड के सुपारे को सूंघने लगीं.

कुछ देर बाद मोना भाभी बोलीं- आआह्ह्ह्ह यश … ऊओह्ह्ह मेरा होने वाला है. मैंने चूत को इतना चाटा कि …मैं सारिका एक बार फिर से आप सबका अन्तर्वासना पर स्वागत करती हूं. मैंने उसकी पैंटी को चूस डाला और उसकी चूत की फांकें अब साफ नजर आने लगीं क्योंकि पैंटी गीली हो गयी थी.

फिर दोनों हाथों से उसके चूतड़ पकड़ कर फैला दिए और लंड अन्दर बाहर करने लगा. चाची दो चार धक्कों में ही बिल्कुल से अकड़ गईं और ‘आहहा हाह …’ करती हुई बोलीं- गई … मैं तो आआ आहह.

जब मेरी पड़ोस कीचाची से मेरे जिस्मानी संबंधबन गए, तो अब मैं चाची को मौक़ा मिलते ही चोदने लगा.

वो शायद इस दर्द को बर्दाश्त नहीं कर पायी थीं और उन्होंने समर्पण कर दिया था.

इसी बीच अमितेश और श्वेता के बीच के झगड़े के कारण उन्होंने अपने बेटे को उसके दादा-दादी के पास आगे की पढ़ाई के लिए भेज दिया था. एक बार कंपनी के काम के कारण भैया को पूरे एक महीने के लिए अमेरिका जाना था इसलिए उन्होंने मुझे भाभी का ख्याल रखने को कहा और वो निकल गए. मैं रनवीर और प्रमोद उन्हें कमरे में बिठा कर बाहर जाने लगे, तो सर बोले- आप चाहें तो हम लोग शेयर कर सकते हैं.

मानस को इसी बात का इंतजार था कि कब ये रंडी अपनी औकात पर आ जाए और फिर इसकी धुंआधार चुदाई का मजा मिल सके. फिर वो लोग चले गये मगर जाने से पहले उन्होंने साक्षी के करीबी लोगों को अपने घर आने का न्यौता दिया. मेरा मोटा लंड देख कर दीदी की आंखें चमक उठीं और उन्होंने खुद को चित पोजीशन में करते हुए मुझे ऊपर चढ़ने का इशारा कर दिया.

मैंने अपनी चुदाई की रफ्तार जारी रखी और यामिना को जगह जगह से नोचता काटता रहा.

स्नेहा की नजर अपनी मां की चूचियों पर चली गयी, जो लटकी हुई थीं- ये क्या है मॉम!उसने अपनी मां की एक चूची पकड़ी और बोली- लगता है रात में आप ऐसे ही सो गयी थीं. मैंने भी अपनी टीशर्ट और ट्रैक पैंट उतार दी जो पसीने से भीग चुकी थी।मुझे थोड़ी ताजा हवा की जरूरत है. तभी मामी बोलीं- कोई दिक्कत नहीं तू जोर लगा कर दम से चोद!इतना सुनने के बाद मैं और जोर से अपनी कमर को हिलाते हुए झटके मारने लगा.

उधर स्वाति को घोड़ी बनाए हुए आलोक मस्त चुदाई कर रहा था और इधर निधि मोहित का लंड चूसने लगी थी. जिंदगी में आज पहली बार किसी ने सोनम की संगमरमर सी चुत की ये हालत की थी. धीरे-धीरे सामने अंधेरा छटने लगा और एक बिस्तर नज़र आया जिसपर कोई औरत सुर्ख़ लाल रंग की साड़ी में लेटी हुई थी.

आपका दोस्त शिव राज सिंहमेरी मेल आईडी है[emailprotected]देसी कपल स्वैप स्टोरी का अगला भाग:फाइवसम ग्रुप सेक्स में चुदाई की मस्ती- 2.

वो 26 साल की थी और उसको देख कर कोई ये नहीं कह सकता था कि वो शादीशुदा है और दो बच्चों की माँ है. खीज़ कर मैंने कहा- क्या हुआ?चाची- चल हट, कोई आ जायेगा, मैं तेरे लिए दूध ला रही हूँ!और ऐसा कहते हुए चाची किचन में चली गई.

मामा भांजी का बीएफ अब मैंने उनकी टांगें फैला दीं और उनके होंठों को फिर से चूमते हुए उनके लोअर में हाथ डाल दिया. वो बोला- मेम अगर आपकी जगह कोई पुरुष अधिकारी होता, तो मेरा काम इतनी जल्दी नहीं होता.

मामा भांजी का बीएफ com/indian-wife/sex-chudai-kahani/में रमण नामक जिम ट्रेनर की एंट्री हो चुकी थी. बड़ी भाभी को मैं पहले भी चोद चुका हूँ मगर छोटी भाभी को मैंने कभी नहीं चोदा था.

जब उससे सहन नहीं हुआ तो मुझसे बोली- सर, प्लीज, अब डालो न!आप इस सेक्सी औरत की चुदाई कहानी पर अपने विचार कमेंट्स में ही लिखें.

गुजराती सेक्सी बीएफ मूवी

अब मैंने उठने का यत्न किया, तो भाभी ने मेरे हाथ को पकड़ते हुए मुझे वापस बिठा दिया. फिर मैंने पेटीकोट को थोड़ा ऊपर करके उनकी कमर को प्यार से सहलाने लगा. हॉट दीदी ने मेरी तरफ वासना भरी नजरों से देखा और कहा- क्यों सिगरेट पीने का मन क्यों करने लगा?मैंने उनकी तनी हुई चूचियों के देखते हुए कहा- बस अभी कुछ मूड हो गया है.

पड़ोसी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि कैसे एक बाप बेटे ने एक साथ अपने पड़ोसी की बीवी को उसी के सामने पूरी नंगी करके चोद दिया. चाची ने अपने बालों को खोल रखा था और हाथों और मुँह पर नाईट क्रीम की मालिश कर रही थी. कभी मैं पापा का लंड हिलाता कभी दबाता और कभी लंड की चमड़ी हटाकर मुँह में लेकर चूसता.

मुझे लग रहा था कि उस कागज में सेक्स कब करना है वक्त, दिन और जगह वगैरह के बारे में लिखा होगा.

उनका पूरा सामान मंजिल पर बिखरा हुआ पड़ा था और मजदूर आकर एक एक करके सामान घर में लेकर जा रहे थे. सामने से पैंट इतनी टाइट थी कि चाची की चूत उसमें से फूलकर बिल्कुल बाहर दिखाई दे रही थी. खैर … जैसे तैसे पांच मिनट निकले और भाभी ने पॉलीथिन निकाल दी और उसे बाहर कहीं रख आईं.

जैसे ही भाभी को पता चला कि मैं उनकी चुत में झड़ गया तो भाभी मुझसे लड़ने लगीं और गालियां देने लगीं- बहन के लौड़े, हरामजादे, मादरचोद अन्दर क्यों झड़ा. अगर शायरा मुझे दोस्त बना कर ही रखना चाहती है, तो यही सही पर शायरा इस तरह उदास नहीं होने दूँगा. ये समझ कर मैंने अपना हाथ चूचियों से निकाल कर धीरे से नीचे ले गया और उसकी छोटी बुर को सहलाने लगा.

भाभी का पति यानि मेरा बड़ा भाई टूरिस्ट गाइड है और वो घर पर बहुत ही कम आ पाता है. वो हंसते हुए मेरे बूब्स का मुआयना करने लगे और बोले- ये पैंटी जब तक मैं ना कहूं बाहर ना आ जाये.

अभी मैं अपने ख्यालों में डूबी हुई थी और इससे पहले कि मैं कुछ और सोच पाती, अशोक ने मेरे पास आकर कार का हॉर्न बजा दिया. अब मेरा फुल मूड बन चुका था और उसे जल्दी से चोदने का मन करने लगा था. हम सब नीचे वाले कमरों तक जाने की कोशिश करने लगे लेकिन बहुत तेज़ बारिश और हवा की वजह से हम नीचे नहीं जा पाए.

सोनम की मखमली गांड को दबाए उसके चूतड़ कम से काम चालीस इंच के रहे होंगे.

इस चुदाई की स्टोरी हिंदी में आप पढ़ेंगे कि कैसे आर्यन अपनी जिंदगी में एक पैसेवाली जवान विधवा औरत को चोद रहा है. ये सुनकर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे और मैंने दीदी की तरफ देखा तो दीदी ने भी आंख दबा कर मुस्कान दे दी. उसके बाद जैसे ही उसके नीचे के वस्त्रों को हटाया तो उसकी साफ चिकनी योनि दिखी.

दीदी की मदभरी आह निकल गई- आह आराम से चूस बेटू … लगती है … आराम से कर … आज ये दोनों आम तुम्हारे लिए ही हैं. लेकिन उससे पहले आप सभी से मैं एक बात कह देना चाहती हूं कि मेरी सभी कहानियां सच्ची होती हैं अपनी काल्पनिक कहानियों के शुरुआत में ही मैं उसे काल्पनिक कहानी बता देती हूं.

शायद वो तो चाहती ही बस ये थी कि अगर मैं सच में उसका दोस्त हूँ या उसको प्यार करता हूँ, तो मैं खुद उसके पास आऊं. शर्मीली सी रेणु को शेखर ने अपने प्रेम से इतना सराबोर कर रखा था कि अब वो खुलकर उसे उकसाने लगी थी. उसका हाथ मेरे सिर पर आ गया और वो मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी.

व्यापारी बीएफ

मैं एक्टिंग करते हुए बोली- नहीं डॉक्टर साहब छोड़ दो मुझे … मुझ गरीब अबला के साथ ऐसा मत करो.

मैंने बहुत सारा तेल मामी की गांड पर गिरा दिया और मामी को घुटने मोड़ने को कहा. मैं साड़ी और पेटीकोट की बंधन से आजाद होना चाहती थी इसलिए मैंने दोनों को नीचे खिसका दिया. इस तरह से कई मिनट तक मैंने उसकी चुदाई की और फिर मेरा माल भी निकलने को हो गया.

पर रनवीर मचल गया- सर, क्या मैं शामिल हो सकता हूं … सर सर प्लीज!सर मान गए और मैं बाजार चला गया. दीदी सिर्फ तौलिया लपेटे हुई थीं, जिस वजह से उनके बूब्स और हाथ पैर कमाल लग रहे थे. इंडियन वालीमैं ये तक सोचने लगा कि कहीं मैं कल शाम तक इस पागल औरत के साथ रहा, तो क्या पता नहीं कल तक मैं ज़िंदा रहूंगा या नहीं.

लंड चुत की साफ़ सफाई करने के बाद मैंने उसके पैर के तलवों पर तेल लगाया और बांहों में लेकर सो गया. मैंने फ़लक को वाशटब के किनारे पर बैठाया और उसके मुँह में लौड़ा डाल दिया.

अब मेरा लंड उसकी बच्चेदानी में आराम से पूरा सात इंच अन्दर समाहित होकर ठोकर दे रहा था. मैंने भाभी भाभी कहते हुए दोबारा आवाज लगाई।वो हड़बड़ा कर अपने कपड़े ठीक करते हुए उठी. मैंने कभी कभी ऑफिस में भी ड्रिंक ली थी, जिसके बारे में अलवीना को पता था, लेकिन उसने कभी किसी से नहीं कहा था.

प्रभात टांगें फैलाए आंखें बन्द किये मस्ती से लेटा था और गांड मराई का आनन्द ले रहा था. स्नेहा- ओये मंकी, भूतनी किसको बोला … तू कॉलेज चल तुझे वहीं बताती हूँ!चिराग- तो चलें … वैसे भी कॉलेज के लिए लेट हो रहा है. कुछ देर बाद मैंने हिम्मत की और उसकी बाजू में अपनी बाजू डाल दी और साइड से उसकी 32 डी साइज़ की चूची को ऐसे दबा दी, जैसे ये बेध्यानी में हो गया हो.

उसे, उसकी बेटी को सुलाना था … तो मां ने उसे बच्चे को लेकर अन्दर के रूम में ले जाने को कहा.

उसने मेरे पूरे चेहरे को चूम चूमकर गीला कर दिया और मेरे होंठों का तो बुरा हाल कर दिया था. मैंने उनकी सवालिया नजरों से देखा, तो विधि भाभी ने मुझे आंख मारी और गांड हिलाते हुए आवाज दे दी- रुक जा रांड … अभी दरवाजा खोल कर तुझे भी लौड़े दिलवा देती हूँ.

बहाने से तैरना सिखाते समय लंड भी छुलाया था, पर गांड में डाल नहीं पाए थे. लेस्बियन लव स्टोरी में पढ़ें कि मैंने एक बार लेस्बियन सेक्स किया तो मुझे नया सा लगा. उसका हज़्बेंड तो उससे दूर था ही, मेरे रूप में उसे एक दोस्त मिला था, उसको भी मैंने जाने अनजाने में उससे छीन लिया था.

मोना भाभी मस्ती में आवाज निकालने लगीं- ऊऊह्ह्ह … आआह्ह … मर गई …इसी तरह मैंने अपनी उंगलियों से भाभी की चूत में ढेर सारी क्रीम भर दी और कुछ अपने लंड पर भी लगा ली. हम दोनों के घर वालों की सोच सही थी क्योंकि हम दोनों भाइयों ने साथ में मिलकर बहुत सारी लड़कियां और भाभियों की चुदाई की थी. तब उसने मुझे एक एलबम दिखाया, जिसमें 4-5 नंगी लड़कियां और नंगे लड़के थे.

मामा भांजी का बीएफ मानस ने अपने हाथों से बालों की छोड़ दिया और सोनम की बड़ी गांड को कवर किये उसके गोरे चूतड़ों को फैला दिया. हिंदी वासना कहानी में पढ़ें कि जब एक विधवा माँ ने अपने बेटे को उसकी गर्लफ्रेंड की चुदाई करते देखा तो उसे कैसा महसूस हुआ.

कुत्ते वाली बीएफ लड़की के साथ

थोड़ी दूर चलने के बाद मैडम ने पूछा- तुम दोनों के नाम क्या है?फिर मैंने मेरा नाम बताया- जी मैडम, मेरा नाम आर्यन है. उसने सब कुछ देख लिया तो अब शर्म कैसी!बात खत्म हो गई और मुझे अब मम्मी पापा की चुदाई के साथ मजा लेने की मानो छूट मिल गई थी. भाभी- आज आपका कोई बहाना नहीं चलेगा, आज आपको मेरे हाथ की चाय पीकर ही जाना पड़ेगा.

कुछ देर बाद जब मेरे पति घर आये तो मैंने उनको उस लड़के से मिलवाया और उसने वही सब बताया जो मैंने उसे बोला था. वो एकदम मस्त हो गई और अब वो कभी अपनी कमर को ऊपर उठाती, तो कभी नीचे गिरा देती. चुदाती हुई लड़कियांमेरे पूरे गोटों को उन्होंने अपने मुँह में भर लिया और चाटने चूसने लगीं.

तूफान इतना तेज़ था और बारिश भी समय के हिसाब से कुछ ज्यादा हो रही थी.

मैंने कल्पना मामी से बोला- चलो मामी, आज मैं आपकी मालिश कर देता हूँ. चिराग- पापा, हम सब दोस्त लोग इस वीकेंड पर महाबलेश्वर घूम आएं?मुकेश- मैं तुम्हारी मम्मी को पहले ही बता चुका हूं, गर्मी की छुट्टियों में कश्मीर सब साथ चलेंगे, नेहा भी आ जाएगी और दामाद जी को भी ले चलेंगे.

नसीम भाईजान मुझसे हंसता देख कर बोले- मजाक समझ रहे हो … मैं सही कह रहा हूं. पहली बार मेरी चूत की रबड़ी को किसी ने अपने मुँह में लिया है … आहह राआहहुउउल्ल्ल और जोर से चुत चूस लो. बिना कुछ बोले मैं पापा को बाय कहकर वहां से अपनी गांड मटकाते हुए निकल गई.

वे मस्ती में थे, सो बोले- ऐसी कोई बात नहीं … आप अच्छी तरह निपट लें.

प्राची भी अपने दुधारू मम्मों से पंप निकाल कर कमीज डालकर बाहर आ गयी. मैं क्या बताऊं … इतना मजा तो मुझे अब तक किसी कुंवारी लौंडिया ने भी नहीं दिया था. पापा का गुस्सा देखकर मैं अपने पलंग पर चला गया और चुपचाप आंखें बंद करके लेट गया.

सेक्सी वीडियो चोदते हैंवो उचक कर हल्के से चीख पड़ीं- आआह … इतनी जल्दी क्या है … आराम आराम से करो न!मैंने कहा- हां अब आराम से ही करूंगा. मैं सोनिया वर्मा आपको इन्सेस्ट सेक्स कहानी की रसधार में भिगोने फिर से हाजिर हूँ.

बीएफ बीएफ फिल्म वीडियो में बीएफ

इस पर सुधीर खुद ही बोला- सर नमकीन कहिये, नमकीन लौंडा … यही तो आप प्रभात को कहते हैं न. सेक्स स्लेव पोर्न कहानी में पढ़ें कि लिफ्ट में एक लड़के ने मेरी गांड पर अपना लंड लगा दिया. मेरा मन बस ये ही सोचता रहता था कि किसी तरह एक बार चाची की गांड दबाने या उस पर लौड़ा रखकर भिड़ाने का मौका मिल जाता, तो मैं अपनी किस्मत को जीवन भर सराहता.

मुझसे रहा नहीं गया और मैं एकदम से भाभी की गर्दन और सीने पर किस करने लगा. मैंने फ्रॉक पहनने के बाद अच्छे से मेकअप किया और पहले जैसी बनकर बाहर निकल आयी. उसने कहा- बेटी मैं इस घर की नौकरानी हूँ … साब जब कहीं बाहर जाते हैं, तब मैं घर का ख्याल रखती हूँ.

मैंने रूम में आते ही फटाफट अपने कपड़े उतार फेंके, केवल ब्रा पैंटी पहने बाथरूम में गई और जल्दी वापस आ कर नाईट गाउन पहन कर चाची के बगल वाले रूम में आ गई. स्नेहा- अपनी किस्मत ऐसी कहां है यार … जो ये निगोड़ी चूचियां किसी मर्द के हाथों दब जाएं. मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]मेरी चुदाई की तमन्ना की कहानी का अगला भाग:चूत की प्यास बुझाने नौकरी पर रखा लंड- 2.

मेरे लण्ड को मुँह भर कर उसने मेरी पुरानी गर्लफ्रैंड की याद दिला; मगर अभी मैं उसकी बात नहीं करूंगा. इस अवस्था में उसका पूरा लंड मेरी गांड के अंदर था।मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

वो मेरे पास आकर रिक्वेस्ट करने लगी और कहने लगी कि बिना किट के हम काम कैसे करेंगे क्योंकि वो उस सरकारी काम लिए अपने क्षेत्र में नियुक्त की गई थी और उसके पास उस कार्य को करने का लैटर भी था।मैंने सभी के नाम चेक किये तो सूचि में एक नाम दो बार लिखा हुआ मिला.

उसने आज ब्लैक कलर की मिनी स्कर्ट पहनी थी, जो उसकी पैंटी के नीचे तक आ रही थी. वीडियो शूटिंगफ़लक- अभी थैंक्स बाकी है क्या?मैं- अरे, अभी तो प्रैक्टिकल इंटरव्यू चल रहा था. सेक्ष फोटोमैं तो आपको यही सलाह दूंगा कि आप अपने पति के पास ही चली जाओ अभी, कल सुबह अपने मायके चली जाना. उसका एक हाथ अब सोनम की चुदी-चुदाई चुत में दो उंगलियां घुसाकर उसे भी जिन्दा रखे था.

मेरा कुछ ही देर में छूटने वाला था, तो मैंने बुआ से कहा- मेरा 2-4 मिनट में होने को है.

वो भी संतुष्ट हो गई थी क्योंकि पहली बार इतने बड़े लंड से उसकी चुदाई हो रही थी. लंड को मुँह में आगे पीछे करते करते बीच में ही मैंने पूरा लंड उसके मुँह में डाल कर उसके सिर को मेरे लंड पर दबाये रखा. चिराग- तुम लोगों में से पहले यहां कौन कौन आ चुका है?उसने बारी बारी सबकी तरफ देखा.

उस समय मेरी होने वाली बीवी की पढ़ाई चल रही थी और आज शादी के बाद भी उसकी पढ़ाई चालू ही है. फिर संगीता बोली- मेरी खुद की कंपनी है और कई कंपनियों के साथ मैं बिजनेस पार्टनर भी हूं. शायद साक्षी ने इससे पहले चुदाई नहीं करवाई थी इसलिए उसको अपने पति के लंड में ही मजा आ रहा था.

xxx.iii वीडियो बीएफ हिंदी

मैं हॉट दीदी की गांड मारने की सोचने लगा कि दीदी को कुतिया बना कर उनकी गांड मारूंगा तो मजा आ जाएगा. भाभी की टांगें क्या खुलीं … जन्नत आ दरवाजा लपलप करता हुआ सामने आ गया. मैं थोड़ा ऊपर उठा तो चाची ने झट से मुझे नीचे झुका कर धीरे से फुसफुसा कर कहा- ऊपर मत उठो और जल्दी से मेरे साथ लेट जाओ.

फिर भी मैं अपने 20 साल के जवान लंड की मुठ नहीं मार पा रहा था क्योंकि हर वक्त ये डर रहता था कि कहीं मुठ मारते हुए मम्मी पापा के द्वारा पकड़ा न जाऊं.

मैं उसे अपनी गोद में बिठा कर शर्बत दे ही रहा था कि भाभी ने मना किया और जो गिलास खुद के लिए लाई थीं, वो उसे दे दिया.

मुझे ये मौक़ा कैसे मिला … और उसके बाद से आजकल मैं कैसे अपनी भाभियों को चोद पा रहा हूँ. कॉफी पीने के बाद उसने एक लिफाफा निकाल कर मेरी तरफ रखा और बोला कि देखिए इन्कार ना कीजिएगा. होठों को गुलाबी कैसे करेंयामिना- वो कैसे होती है?मैं बेड पर लेट गया और यामिना से बोला तुम अपनी चूचियों और चूत को मेरे सारे शरीर पर रगड़ कर मसाज करो.

मैंने फिर से निर्मला जी चूचे दबाये और इस बार एक निप्पल भी पकड़ कर मसल दिया. फिर वो चले गए, मुझे भी काफी पैसे मिल गए थे … तो मैंने भी सीमा को एक छोटी पार्टी दी और घर आ गई. एक दो बार ऊपर नीचे होकर अलवीना ने पूरा लंड चुत में ले लिया था और अब वो जोरों से मेरा लंड चुत की जड़ तक ले रही थी.

फिर उसने कहा कि चलो शुरू करते हैं।उसने मेरी टीशर्ट उतार दी और खुद अपनी टी-शर्ट उतार दी. मेरा लंड भी नयी गांड में जगह बनाने के प्रयास में थोड़ा छिल गया था जिसका अहसास मुझे लंड के तिल्ले में हो रही जलन से हुआ.

मेरी फ्रेंड सेक्स स्टोरी पर अपने सुझाव और राय के लिए मुझे नीचे दी गई ईमेल पर संपर्क करें.

परंतु जब बाद में उसे पता चला कि उसके प्रेमी का भी एक चक्कर था तो वह उससे अलग हो गई थी. उस टाइम मुझे ऐसा लग रहा था कि पूरी लाइफ मेरा लंड उसके मुँह में ही घुसा रहे. एक मिनट से भी कम समय में भाभी जोर जोर से आहें भर रही थीं- आह शुभ यू आर सो गुड … आह … आह.

जिओचैट को हम सबको कैंटीन खाना खाने के लिए ले जाया गया। हम सबकी तब तक आपस में पहचान हो चुकी थी. तुम अच्छे परिवार से लगती हो, फिर ये सब कैसे!मैंने कहा- आंटी घर में पैसों की प्रॉब्लम थी … इसलिए.

इसलिए मैं आने से पहले एक पेनकिलर और एक गर्भनिरोधक गोली साथ लेकर आया था. मैं इस बार गिरने लगा तो उन्होंने मेरा लंड बाहर निकलवा दिया और कंडोम हटाकर अपने हाथ से लंड की मुठ मारने लगीं और सारा पानी अपने मम्मों पर ले लिया. ममता जी की चीख इस बार कुछ ज्यादा ही तेज निकली थी और इस बार वो छटपटाई भी थीं.

बीएफ सेक्सी वीडियो फुल बीएफ

अगले ही पल हम दोनों एक दूसरे से चिपक गए और मेरे और मेरी परी के बीच में वो सभी घटनाएं घटने लगीं, जो एक पति पत्नी के बीच होती हैं. मैंने दीदी को अपनी तरफ घुमा कर उनके मम्मों को देखा तो क्या उठान था … दीदी के मम्मे एकदम तने हुए मुझे ललचा रहे थे. शायरा के पास जाने के लिए मैं अब एक सेकेंड भी गंवाना नहीं चाहता था … इसलिए मैं तुरन्त ही नीचे शायरा के घर आ गया.

मैंने उनसे कहा- देवर जी, बड़ी देर से समझ पाए … मैं तो कबसे आपका प्यार पाने के लिए तरस रही थी. थोड़ी देर में शीतल ने बेल बजायी, श्वेता ने दरवाज़ा खोला और वो दोनों बैठकर बातें करने लगीं.

मेरे दिमाग में पता नहीं क्या आया, मैं एकदम से निर्मला जी के सामने उनसे सटकर खड़ा हो गया और उनके हाथों से कंडोम का पैकेट ले कर टेबल पर रख दिया.

मेरा लण्ड चूत की डिमांड करने लगा तो मैंने अपना जॉकी उतारा और अपने लण्ड की खाल चार छह बार आगे पीछे करके जीनिया की चूत में डाल दिया. इस चुदाई की स्टोरी हिंदी में आप पढ़ेंगे कि कैसे आर्यन अपनी जिंदगी में एक पैसेवाली जवान विधवा औरत को चोद रहा है. मैंने भी अपना हाथ उसके लंड पर लगाया, उसका लंड एकदम कठोर हो चुका था.

तभी अचानक सुलतान बाथरूम से बाहर आया और नीचे लेटकर मेरे आण्ड चाटने लगा. अब आगे देसी नंगी भाभी की सेक्स कहानी:उससे मिलने का वादा करके मैं घर वापस तो गया लेकिन ऐसा लग रहा था कि कुछ वहीं पर छूट सा गया।ना मैं उन लम्हों को भुला पाया और न ही रेनू।तड़प क्या होती है, मुझे अब पता चल रहा था। उसके पति ने उसके सारे सोशल अकॉउंट बन्द करवा दिए थे. जिन लोगों ने ये महसूस किया है, वो इस समय उत्तेजना के चरम पर पहुंच चुके होंगे.

थोड़ी देर में ही रीना दीदी फिर से गर्म हो चुकी थीं … इसलिए वो मुझे पटक कर सीने पर सवार हो गईं और लंड पर चुत टिका कर उछलने-कूदने लगीं.

मामा भांजी का बीएफ: कुछ ही देर में मामी एकदम से अकड़ गईं और मेरे मुँह में उनका पानी आ गया. उसने एक कमरे की ओर इशारा करके मेरी कमर में हाथ डाल दिया और मुझे उसमें ले गया.

शायद साक्षी ने इससे पहले चुदाई नहीं करवाई थी इसलिए उसको अपने पति के लंड में ही मजा आ रहा था. बीच बीच में बुआ की गांड पर थूक देता, जिससे मेरे लंड को भी थोड़ी चिकनाहट मिल जाती. कुछ दिनों के बाद हम जिम की कैंटीन में भी मिलने लगे, साथ में जूस पीते थे.

अब अगली बार मैं प्रभात के साथ आए सुधीर जी … और उनके साथ एक नए शख्श असलम की गांड चुदाई की कहानी लिखूंगा.

मेरा रूम ऊपर की फ्लोर में है और साथ का जब कोई मेहमान आता था तो वो उसमें रहा करता था. मैं हल्के हल्के लंड को अन्दर बाहर करने लगा और भाभी की चुदाई करने लगा. शायद भैया का लौड़ा मेरे लौड़े से छोटा होगा, तभी भाभी को मेरे लौड़े के प्रहार से इतना दर्द हो रहा था.