बीएफ चुदाई दिखावो

छवि स्रोत,kumari सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की और घोड़े का सेक्स: बीएफ चुदाई दिखावो, मैं देख रहा था कि शुरुआत में उनकी जो तवज्जो में मेरी तरफ थी, वो धीरे धीरे अपनी सेक्स गतिविधियों की तरफ हो गई थी.

बिपी सेक्सी

मैंने उसकी दोनों चूचियां चूस कर लाल कर दी थीं। फिर मेरा भी पानी निकलने के करीब हो गया था. प्रेग्नेंट औरत का सेक्समैंने दीदी को अपनी बांहों में भरा और उनकी ब्रा की स्ट्रिप को खोल दिया.

हरामी और एक्सपिरिएंस्ड चोदू चिन्ना जानबूझ कर अपने कूल्हों को भी थोड़ा आगे की तरफ बढ़ा कर लण्ड का दबाव करोना की नाजुक पीठ पर बढ़ा देता. गणगौर पूजाबर्फ की ट्रे को मैंने एक ओर रखा और तनु को शहद की बोतल खोलने का इशारा किया.

उसने फिर से अपनी दोनों टांगें मेरी कमर में जकड़ लीं और मुझे किस करने लगी.बीएफ चुदाई दिखावो: करीब 3 बजे मेरी छुट्टी हुई और घर जाने के लिए कॉलेज से निकली और बस का इंतज़ार करने लगी.

मैंने उसको अपने ऊपर आने को बोला, तो उसने अपने हाथों से मेरे लंड को अपनी चूत पर सैट करके धीरे धीरे लंड को अपनी चूत के अन्दर उतार लिया.दोस्तो, अगर कोई लड़की सेक्स के बाद आपसे चिपक जाए तो समझ जाइये की आपकी मेहनत सफल हुई.

लड़की को लंड - बीएफ चुदाई दिखावो

उसने फिर मेरे अंडरवियर में हाथ दे दिया और मेरे लंड को हाथ में भर लिया.कविता ने खुश होते हुए कहा- मम्मी आप मेरी चिंता मत करना, मामा घर पर हैं, आप आराम से कल आ जाना.

वाओ … बहुत मजा आ रहा था उन्हें चोदने में!मैंने उन्हें जी भर कर चोदा, उनकीवासना को शांत किया. बीएफ चुदाई दिखावो मैंने इन तीनों के साथ कैसे सेक्स किया और आज तक कर रहा हूँ, ये सभी बातें मैं आपके साथ शेयर करना चाहता हूँ.

एक रात मेरी आंख खुली तो देखा कि अंधेरे में मेरी मां पापा का लंड चूस रही थी.

बीएफ चुदाई दिखावो?

फिर मैंने लंड बाहर निकाल कर बहुत सारा थूक उसकी गांड में डाला और अपने लंड पर भी लगाया. हालांकि आज से पहले मेरे दिल में प्रीति के लिए कोई ग़लत विचार नहीं था, पर कुछ महीनों पहले प्रीति एक बार भैया के मेरे घर आई थी. पांच-सात मिनट तक मैंने दीदी को लंड चुसवाया तो दीदी की सांस फूलने लगी.

ऐसा संदेश देखकर मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।उसने मेरा नंबर लिया और फिर हम फ़ोन पर बातें करने लगे।कॉलेज के बाद हम मिलने लगे। रात में धीरे धीरे रोमेंटिक से सेक्स चैट पर आ गए। अब मैं उसकी चूत के सपने देखने लगा था। और उसे भी बहुत इच्छा होने लगी थी. मैंने ऐसे ही किस करते करते अपना लंड थोड़ा बाहर निकाल कर उसके छेद में दूसरा जोरदार धक्का दे मारा. मैं खड़ा होकर बाथरूम में गया और अपने लंड को पानी से धो कर मैंने खुद को साफ़ किया.

कल्पना ने आगे से अपनी चूत के नीचे से मेरे लंड को पकड़ कर कहा- अब मारो धक्का. बाद में उसने एक सवाल फिर से किया, जिसे सुनकर मैंने भी खुलने का फैसला किया कि या तो वो सच में नादान है … या फिर बन रही है. हमेशा तुम्हारा ही ख्याल आने लगा था। तुमसे मिलने को बेचैन होने लगी थी।मैंने मन ही मन कहा ‘बेचैन तो होगी ही बाबा जी का तो कमाल है।’मैंने कुछ खाने पीने का आर्डर दिया। हम बातें करने लगे.

जैसे ही वो भैया कहती तो मेरे लंड में और ज्यादा जोश भर जाता और मैं और तेजी के साथ उसके होंठों को चूसने लगता. इस समुदाय में शौहर की मृत्यु बाद बीवी को दूसरा निकाह करने के तीन महीने तक दूसरे आदमी के साथ बैठना पड़ता है.

अपने पास आज ही का दिन है … कल की हमारी ट्रेन है … सोच लो!उसकी इस बात पर मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी तरफ खींच लिया.

वो ब्लैक कलर की नेट वाली ट्रांसपरेंट ब्रा और पेंटी थी, जो सिर्फ कहने के लिए ही ब्रा-पेंटी थी, उससे छुपता कुछ भी नहीं था.

फिर मैंने उनसे पूछा- क्या मैं आपसे इस नम्बर पर फोन लगा कर बात कर सकता हूँ?भाभी बोलीं- हां लगा लिया करो. फिर उसने मेरी पैंट और मेरे अंडरवियर को एक ही बार में उतार दिया और सीधा मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर ऐसे चूसने लगी, जैसे कई दिनों की भूखी हो. जैसे कि योनि के ऊपरी हिस्से पर एक गुलाब बनाना कामुकता को कितना बढ़ा सकता है, आप स्वयं कल्पना करके इसका अंदाजा लगा सकती हैं.

पापा ने मेरे घाघरे को इतना ही सरकाया था, जहां से मेरे कूल्हे की नाली और आगे से मेरी जांघें दिखने लग जाएं. सबके सामने सिर्फ मैम कहा करो, उसके अलावा सिर्फ तनु या तनवी।मैंने कहा- ओके तनवी।ये बोलकर मैं वहाँ से जाने लगा तो उन्होंने कहा- आज रात को आ जाना. भाभी मेरे दाहिने तरफ खड़ी थी भाभी ने मुझसे कहा- मैं तुम्हारे आगे आ जाती हूं तुम मुझे सुरक्षा दो.

सीमा के मुलायम चूचे जब मेरी छाती को मसलते, तो मुझे बहुत अच्छा लगता.

वो फोटोज में जितनी ज्यादा सेक्सी लगती थी उससे कहीं ज्यादा सेक्सी वो रियल में लग रही थी. और यदि मेरा यह आर्टिकल पाठक पाठिकाओं को पसंद आएगा तो मैं आगे कुछ और यौन समस्याएं भी आपके साथ शेयर करूंगा. पूरे सफर के दौरान मैंने एक बात नोटिस की थी कि सारिका पेप्सी की बड़ी शौकीन है, खाना चाहे न मिले लेकिन पेप्सी जरूर चाहिए.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:ट्रेन के सफर में मेरे शौहर की कारस्तानी-4. मैं वहीं कमरे में बैठा हुआ सोचने लगा कि आकांक्षा को यहां लाऊं या ना लाऊं. अब वो मेरे मुंह को अपनी जांघों के बीच में दबाने की कोशिश कर रही थी.

चूंकि मेरे बच्चे तो बाहर पढ़ते थे, तो पति के साथ ही जाने का विचार बना.

कल्पना रंडी के साथ चूत चुदाई की कहानी में मुझे क्या क्या अनुभव हुए, आगे के भाग में जरूर पढ़िएगा. फिर उस दिन उसको मैंने छोड़ दिया और बोला- आगे से ऐसा न हो … ध्यान रखना मरना अबकी बार तेरी गांड मार दूँगा.

बीएफ चुदाई दिखावो उसने फोन किया और बोली- आ जा तू मेरे घर … वो लड़का यहीं है … वो तुझे संतुष्ट कर देगा. उसने मेरे एक दूध को मुँह में पकड़ कर बच्चे की तरह चूसना शुरू किया और दूसरे को मसलना जारी रखा.

बीएफ चुदाई दिखावो ऐसा संदेश देखकर मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।उसने मेरा नंबर लिया और फिर हम फ़ोन पर बातें करने लगे।कॉलेज के बाद हम मिलने लगे। रात में धीरे धीरे रोमेंटिक से सेक्स चैट पर आ गए। अब मैं उसकी चूत के सपने देखने लगा था। और उसे भी बहुत इच्छा होने लगी थी. कहीं जाना होता था तो आंटी साड़ी पहनती थीं वरना घर में पेटीकोट-ब्लाउज या गाउन में रहती थीं.

इसके लिए चिन्ना ने अगली बार करोना की चूची की एक घुंडी को टॉप के कपड़े के ऊपर से ही अपने खुरदुरे होठों में पकड़ लिया और दूसरी चूची की घुंडी को अपने एक हाथ ही चुटकी में पकड़ लिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ फुल एचडी में

मैंने दीदी के शर्ट को निकालने की कोशिश की लेकिन वो लेटी होने के कारण शर्ट नीचे दबा हुआ था. क्या पता यही वह वजह हो कि जो वे देखते हैं, वही मुझ पर प्रयोग करते हैं. मैंने कहा- पर आप मेरी वजह से उदास हो गयी हो न … इसलिए मुझे बुरा लग रहा है.

खासकर कि समृद्ध उच्च वर्ग के समाज में तो गुप्तांगों पर मेंहदी कला का चलन काफी लोकप्रिय प्रवृत्ति के रूप में देखा जाता है और यह काफी पुराना भी है. अपने दोनों हाथों से मैंने उसकी अगल बगलों से उसकी चूचियों को पकड़ लिया और उसके ऊपर लेट कर उसकी गांड पर लंड को घिसने लगा. जब कुछ मिनट बाद उसको होश आया, तो मुझे अपनी कोली में लेकर मुझे मेरे होंठों पर किस करते हुए सो गयी.

अपने मुंह पर उसने खुद अपना हाथ रख दिया ताकि शोर ना हो जाए और उसका छोटा भाई जाग ना जाए.

फिर वो बोली- अब चोद भी दे हरामी! मेरी जान निकालने का इरादा है क्या? अब और कितना तड़पायेगा मुझे?मैंने भी उसको और ज्यादा तड़पाना सही न जाना. घर पहुँचने पर बुआ के साथ में बिजी हो गयी और शाम को खाना खाने के बाद करीब 10 बजे छत पर आ गयी. उसकी इस अदा ने मुझे साफ़ बता दिया था कि आज मेरी बहन चुदने के लिए राजी हो गई है.

इसके बाद जब भी हमें मौका मिलता था हम चुदाई कर लेते थे।दोस्तो, यह मेरी पहली सेक्स कहानी है इसलिए मेरी गलतियों को माफ करना. बहू बोली- डैडी जी, कभी अपने गांड चाटी है?मैंने कहा- नहीं बहू कभी नहीं चाटी है. उसके चूतड़ों से होते हुए बारी बारी उसके दोनों पैरों की जांघों से होता हुआ उसकी एड़ियों तक चूमते हुए आया।अब मैंने खड़ा होकर निधि को पलट कर अपनी बांहों में भर लिया और उसके चेहरे को चूमने लगा.

मैंने तुरंत तनु को अपने पास खींचा और उसके मुंह में लंड को डाल दिया. चुदाई के समय होने वाली आह आउच की आवाजें सुनकर सारिका जाग गई लेकिन उसने तुरन्त अपनी आँखें बंद कर लीं और चुपचाप पड़ी रही.

मेरी सेक्स कहानी के पहले भागट्रेनी अफसर बनी मेरे लंड की रानी-1में अब तक आपने पढ़ा था कि नताशा की चुत का पानी मैं चाट लिया था, अब नताशा की बारी थी. मैं यह कहानी मुख्यतः उन लोगों के लिए लिख रहा हूँ जो लोग समझते हैं कि एक लड़का और एक लड़की सिर्फ दोस्त नहीं हो सकते. अंदर रूम में पापा भी थे और मैं अभी ये नहीं सोच पा रहा था कि मां के साथ शुरूआत कैसे करूं.

हर महीने में पहले हफ्ते के सात दिन हम लोग 3-3 चुदाई वाला कार्यक्रम करते थे। जिससे हम लोगों का भाईचारा बना रहता था.

एक बात जो अबकी बार मैंने नोटिस की वह ये कि नेहा का अंदाज मुझे कुछ बदला हुआ सा लगा. भाभी ने पूछा- आप क्या करते हो?तो मैंने बताया- भाभी, मैं पढ़ाई करने आया हूं दिल्ली में और यहां पढ़ाई करके घर जाऊंगा. इसके बाद हम दोनों ने अपने अपने कपड़े ठीक किए और थोड़ी देर में घर चले गए.

अपनी गांड को थोड़ा और आगे बढ़ाते ही चिन्ना के अनुभवी लण्ड को करोना बेटी के कुंवारी चूत की झिल्ली महसूस हुई और झिल्ली पर कड़क लण्ड का प्रेशर पड़ते ही अब तक हवस में मस्तायी करोना के माथे पर पसीना सा आ गया. फिर उसने भी मेरे लंड पर आईसक्रीम मल दी और मेरे दोनों अंडकोष को भी आईसक्रीम लगा दी.

फिर …फिर वो मेरा लंड चूसकर घर चली गयी।अगले महीने … एक दिन सीमा बोली- अब तो मेरी इच्छा पूरी कर दो। तुम नामर्द हो क्या? जो एक लड़की आगे से तुमको चोदने के लिए कह रही है और तुम कुछ करते ही नहीं।मुझे बड़ा गुस्सा आया। फिर उसे मैंने घर से निकाल दिया।आगे कैसे उसने रात के 4 बजे मेरी नींद उड़ाई? यह तो मैं सोच भी नहीं सकता था. हमारे घर के मेन डोर की दो चाबियां थीं जिनमें से एक मेरे पास रहती थी और दूसरी भैया के पास. फिर उसने कहा- अब क्या होगा?तो मैंने कहा- मेरे को अब यहीं पर सब कुछ करना पड़ेगा.

सेक्सी बीएफ प्लीज

वैसे तो मुझे कोई इस तरह देखे तो अच्छा नहीं लगता मगर मैं भी उसकी जानदार बॉडी को देख रही थी.

मामा जॉब के कारण बाहर रहते हैं तो मुझे लगता था मामी की चूत लंड की प्यासी होगी. सेक्स में बढ़ती रुचि और जागरूकता आजकल युवाओं को नये प्रयोग करने के लिए प्रेरित करती है. पैंटी के ऊपर से ही बहन की बुर का मुआयना किया, तो लगा कि उसकी बुर पर बहुत सारे बाल हैं, जो काफी घने लग रहे थे.

उसके खेत में मटर के पास में ईख भी बोई गई थी।मैं चोरी से ईख के खेतों से होते हुए मटर के खेत में पहुँच गया. तो उन्होंने बहुत ही प्यार और नजाकत से कहा- आज मैं तुम्हारे जिस्म के एक-एक अंग और हिस्से का मुआयना कर रहा हूँ. राजस्थानी बीपीमैं उसे खींच कर अपने कमरे में ले आया। दरवाजे और खिड़कियां बंद कर के मैंने फटाफट कपड़े उतारे और उसके जिस्म में बचे हुए कपड़ों को अलग किया.

टूर का पांचवां दिन था, पैर में हल्की सी मोच के कारण नीलम हम लोगों के साथ घूमने के लिए तैयार नहीं हुई तो मैं, सुधा व कमल घूमने निकल पड़े. एकदम सभी लोगों ने करोना को देखा और करोना इस अचानक मिली तवज्जो से गदगद हो गई.

फिर मैंने स्कर्ट रूपी घूंघट को उठाया और अपनीं बहन की प्यारी सी गांड देख कर मुझे मजा आ गया. रानी की आँखें बंद थी और हल्की सी प्यार भरी आवाज ‘आह’ उसके मुँह से निकली. टेलर के लंड से चुत चुदाई की कहानी का पूरा मजा आपको अगले भाग में लिखूंगी.

मुझे समझ नहीं आ रहा था कि उसके इस जवाब पर मैं कैसे प्रतिक्रिया दूं. चुदाई करते हुए हम दोनों साथ में झड़े और वो मेरे लंड से चूत चुदाई करवा कर खुश हो गयी. मैंने अपना वीर्य उनकी चूत में इसलिए नहीं छोड़ा था क्योंकि वो प्रेगनेंट हो जाती तो सब गड़ाबड़ा जाता.

मैंने कहा- आप मुझे बहुत अच्छे लगे हैं, आप मुझे जितना मर्जी चोद लीजिए।मेरी ऐसी गरम बातें सुनकर फिर उनको मजा आने लगा.

वो मेरे पेट पर आ गए और धीरे-धीरे मेरी कमर के नीचे पूरे शरीर को घुमाने लगे. मेरी चालू मां की चीख निकल गई और वह थोड़ा बेड की तरफ ऊपर की ओर उठ गई.

मकान मालिक किसी से कोई मतलब नहीं रखता था पर मालकिन जल्दी ही मुझ से घुल मिल गयी उसी ने मुझे बाकी सभी किराएदारों से मिलवाया।पहली मंजिल पर होने के कारण जो भी सीढ़ियों से ऊपर को जाता. वो ब्लैक कलर की नेट वाली ट्रांसपरेंट ब्रा और पेंटी थी, जो सिर्फ कहने के लिए ही ब्रा-पेंटी थी, उससे छुपता कुछ भी नहीं था. बहुत मॉडर्न पेंटी थी उसकी!बहू मेरे बेटे का लंड चूस रही थी और इधर मैं अपना लंड हिला रहा था.

मैंने देखा कि उसने अपने कंधे पर मेरे नाम का टैटू बना रखा था। मैंने पूछा- सिम्मी, ये कब लिखाया? और इसे लिखाते समय दर्द कितना हुआ?सिम्मी ने जावब दिया- ये आपके लिए सरप्राइज था. इसी बीच मैं एक दिन उससे चैट कर रहा था, तो हमारी बातें सैक्स रिलेटेड होने लगीं. उनसे मैंने पूछ लिया कि आपके घर पर कोई होगा तो क्या करेंगे?उन्होंने बताया कि वो घर पर अकेली ही हैं.

बीएफ चुदाई दिखावो कल्पना ने उठ कर मुझे किस किया और दूसरा कंडोम मेरे लंड पर चढ़ा कर वो बेड पर डॉगी स्टाइल में आ गयी. मैंने उनके सर को पीछे करके उनके होंठों को चूमा, कानों में गर्म सांसों को छोड़ा, इससे वो चुदवाने के लिए मचल उठीं.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती सेक्स

मैंने फिर से दूसरी आई डी बनाई और प्राथना की कि मुझे ब्लॉक न करे।मैं अलग अलग तरीके ढूंढने लगा. उसको मजा आने लगा और वो बस आंख बंद करके अपने मम्मों की चुसाई और रगड़ाई का मजा लेने लगी. घर पहुँचने पर बुआ के साथ में बिजी हो गयी और शाम को खाना खाने के बाद करीब 10 बजे छत पर आ गयी.

अब तुम्हारे लंड राजा को कभी चूत की कमी महसूस नहीं होने दूँगी, यह मेरा वादा है. सुमित मोटरसाइकिल से उतरा और अपने दोस्तों को जो पीछे बैठे थे उनसे बोला- अरे यार वो तो उतर जायेंगे तुम हां तो बोलो पहले. जीजा ने साली की चुदाई कीजब एक दो मिनट तक कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने दोबारा से ट्राई करने की सोची.

एक दिन मेरी मौसी की बेटी से फोन पर बात हुई तो उसने पूछा कि कोई गर्लफ्रेंड बना ली या …दोस्तो, मेरा नाम रोहन है और मैं कल्याण का रहने वाला हूं.

सारिका की गांड से लण्ड निकाल कर मैंने उसे लिटा दिया और चूतड़ों के नीचे तकिया रखकर उसकी टांगें फैला दीं और उसकी चूत में लण्ड पेल दिया और घोड़ा दौड़ा दिया. उसे इतनी समझ नहीं थी कि ये लाल रंग चादर और चिन्ना के लण्ड पे कहाँ से लगा।सुबह जब करोना उठी तो सुबह के 8 बज रहे थे, वह जल्दी से अपनी दिनचर्या से गुजरकर जब वह अपने कमरे से बाहर आई.

उसके बाद अनिल मेरे ऊपर चढ़ मुझे बहुत चोदा और कुछ देर दर्द होने के बाद मुझे भी मज़ा आ रहा था. थोड़ी देर बाद मैंने फिर एक धक्का दिया और इस बार मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया और रोने लगी. वो बोल रही थी- प्लीज विक्की … अब नहीं!और बार बार मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत में घुसाने की कोशिश कर रही थी.

मैंने कहा- अब क्या होगा?तभी मीनू ने अपनी किसी नर्सिंग वाली दोस्त तरुणा को फ़ोन करके सारा मामला बताया.

इस तरह से एक हफ्ते में ही वो मुझसे पूरा खुल गई थी और अब तो वो भी नंगी होकर मुझे तेल मालिश करने लगी थी. मैंने उसका सिर पकड़ लिया और उसके सिर को दबाते हुए उसके मुंह को अपने लंड पर नीचे दबाने लगा. उसके चूचे बहुत बड़े थे और वो इतना मज़ा दे रहे थे कि मुझे पता ही नहीं लगा कि कितनी देर मैं उनको मसलता रहा.

आई हेट यू गूगलमैंने उसके बालों को पकड़ कर उसके सिर को पीछे खींच दिया तो उसे दर्द हुआ और उसके गुलाबी होंठ खुल गये. नसरीन ने घर पर सुल्ताना को फोन करके बोल दिया कि आज रात मैं अंजलि दीदी के घर रुकूंगी … तुम दोनों अपना ध्यान रखना.

सेक्सी वीडियो बीएफ चाहिए एचडी

मैंने धीरे-धीरे उनकी चूचियों पर किस करना शुरू किया, उनके मुंह से तेज तेज सिसकारियां निकलने लगी. मैंने उसकी चूत की फांकों को फैलाकर उसकी चूत में अपनी जीभ डाल दी और उसकी चूत चूसने लगा. मैंने कहा- आप मुझे बहुत अच्छे लगे हैं, आप मुझे जितना मर्जी चोद लीजिए।मेरी ऐसी गरम बातें सुनकर फिर उनको मजा आने लगा.

हैलो फ्रेंड्स, आप लोगों ने मेरी दो सेक्स कहानीकामुकता वश ऑफिस में मेरी चूत की चुदाईफुफेरे भाई ने मेरी चूत फ़ाड़ीबहुत पसन्द की और मुझे हजारों की तादाद में ईमेल मिले. तब हम एक दूसरे के बदन को चूम चाट रहे थे।यह सब करने से मेरी वासना जाग उठी थी तो फिर मैं उनका लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. मैं एक अच्छी डांसर हूं इसलिए उनकी सोच से भी ज्यादा उत्तेजक तरीके से मैं अपने पति के सामने कामुक नृत्य करते हुए अपने जिस्म से शादी के जोड़े को हटाकर अपने जिस्म की नुमाइश से करते हुए नग्न होती चली गई.

कुछ देर रुक कर मैंने फिर से उसकी चूत में लंड को अंदर सरकाना शुरू किया. जब रचना भाभी को अपनी गांड पर मेरा लंड महसूस हुआ तो उसने मुझसे पीछे पलट के कहा- क्या कर रहे हो अबन?मैंने कहा- माफ करना भाभी, गलती से लग गया. मैंने उससे पूछा- शिप्रा मज़ा आ रहा है ना!उसने कहा- भाई काफी दिन से कोई बॉयफ्रेंड नहीं था … इसलिए मजबूरी में तुमसे करवाने को तैयार हुई, पर तुमने पूरा मज़ा दे दिया या.

मैंने सोचा इस नाटक को ख़त्म करके असली खेल का मज़ा लेने का यही सही टाइम है, तो मैं नीद खुलने का बहाना बनाते हुए उठा और चौंकते हुए बैठ गया. उसने चमन को कहा- चोली पर दोनों साइड में आधा आधा इंच तुरपाई कर दे, तब तक मैं इसके लहंगे की फिटिंग देखता हूं.

मैंने सोचा कि यही मौका है, मैं बोला कि आज कोई नहीं देख रहा, तो तू भी अपने कपड़े उतार दे.

भाभी की गांड चुदाई की कहानी मैं अगली बार लिखूंगा, तब तक आप मुझे मेल करके जरूर बताएं कि आपको मेरी कहानी कैसी लगी?[emailprotected]. गुजराती भाभी का सेक्सी वीडियोवे तौलिया से अपने बदन को छिपाने का ड्रामा करतीं लेकिन मुझे उनकी चूचियां और गांड की गोलाई दिख ही जाती थीं. सेक्सी ब्लू इंग्लिश मेंमैं- ओके … यार नताशा अब तो भूख लग रही है … चलो कुछ खाते हैं … साथ में बियर और दारू भी पीते हैं. मगर फिर उसने मुझे पीछे की ओर धकेला और फिर मेरे अंडरवियर को निकाल दिया.

उसका हुस्न देख कर मेरे अंदर भी जोश आ गया और हम दोनों ने ओरल सेक्स का भरपूर मजा लिया.

मामी ने मुट्ठी बना कर अपने हाथ से दिखाते हुए कहा कि इस तरह से अपने लंड को मुट्ठी में भर लो. वो दर्द से चिल्ला उठी लेकिन मैंने तभी उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया. उसे देख कर वो एकदम चौंक गयी और मुझसे पूछा- आपको कुछ और भी हो रहा है?मैंने कहा- और क्या?तो उसने मेरे को वो रैपर दिखाया.

वो मान ही नहीं रही थी, तो मैंने अपना एक पैर उसके सर पर रखा और उसे माल चाटने के लिए कहा. तो हुआ यूं कि मेरी बहन, बुआ की लड़की और अंकल की लड़की तीनों बेड पर सोने लगीं. जीजाजी 5 दिन नहीं आने वाले थे, इस वजह से उन 5 दिनों तक सुबह से शाम तक जब मन हुआ, मैंने नन्दिनी के साथ बहुत मजा किया मतलब सेक्स किया.

baap bete बीएफ सेक्सी

आप लोगों को मां-बेटे की ये चुदाई की कहानी कैसी लगी, इसके बारे में मुझे नीचे दी गयी ईमेल आईडी पर जरूर बताना. उसने पहले बाथरूम में जाकर मेरी बोतल में थोड़ी बची दारू देखी और बोटल उठा ली. अंत में उसकी बुर की लकीर के अगल बगल ही बाल बच गए थे, तो मैंने उसकी बुर की लकीर के अन्दर से उंगली करके उसकी बुर की फांकों को फैलाया.

अपना लण्ड पकड़ कर मैंने हनी की चूत पर रगड़ना शुरू किया तो हनी मस्त होने लगी.

ये कह कर फ़ोन पर बात करते हुए मुझे देख कर वो उस रंडी के साथ हंसने लगा.

श्वेता बोली- अब क्या हुआ भैया!मैंने कहा- गोटियां बहुत नाजुक होती हैं … तू हल्के हाथ से लगा … और अब रहने दे. एक दिन नसरीन की मां को हॉस्पिटल में एडमिड करना पड़ा और हॉस्पिटल की फीस के लिए उसके सामने समस्या खड़ी हो गई. एक्सएक्सएक्सवीमेरा लंड एकदम से सिकुड़ गया और कंडोम के बाहर कल्पना का वीर्य लगा हुआ था.

दीदी भी उस दिन बाहर गई थीं, इसलिए मैं कमरे उस वीडियो को देखकर अपने लंड को लोवर के ऊपर से सहला रहा था. अब वो सिसकारते हुए कह रही थी- आह्ह … और तेज … आह्ह और तेज … करो … जोर से … आह्ह … अम्म … याह…. एक बार तो जब तुम दोनों सो रहे थे, तो वो अपना लंड हाथ में लिए तेरे कमरे में आ गया था और उसने वहीं पर मुठ मारी थी.

इसी बीच हम दोबारा से गर्म होने लगे तो हम दोनों ने एक बार फिर जोरदार चुदाई की।दूसरी बार चुदाई करने के बाद काफी देर तक यूं ही आपस में चिपके रहे नंगे पड़े रहे और आपस में बातें करते रहे. इसका कारण ये था कि मेरे पति की कमाई बहुत कम थी, जिस वजह से हम लोग कहीं भी ज्यादा आते जाते नहीं थे.

फिर मैंने भाभी की सहेली को बेड पर लिटाया और उनकी टांगें अपने कंधे पर रखकर अपना लंड भाभी की चूत में डाल दिया और चुदाई करने लगा.

अब वो बोल रही थी- आंह और तेज़ … और तेज़!यही कुछ 15-20 मिनट में हम दोनों झड़ गए. तीस मिनट बाद मेरे दोनों हाथ दुखने लगे तो मैंने कहा- अब मुझ से नहीं हो रहा. आगे से भी ब्लाउज का भी गला काफ़ी गहरा था, जिसमें मेरे बूब्स पूरे साफ़ नज़र आ रहे थे.

मधु भोजपुरी xxx अब उनकी वजह से तेरे भाई को लंड दो तीन घंटे तक खड़ा रहेगा और लंड में तब तक दर्द रहेगा जब तक लंड से वीर्य नहीं निकलता. वे यह कह रहे थे कि मेरे पराए मर्द के साथ संभोग को वे खुद देखना भी चाहते हैं.

उसको शांत होने में दस मिनट लगे उसकी सांसों की धक धक मुझे भी बाहर सुनाई दे रही थी. मैं दोस्ती में ज्यादा विश्वास रखता हूँ, बेबजह प्यार के झमेलों में नहीं. पर मैं अपनी ख़ुशी दबाते हुए बोली- ठीक है सर … मैं कब से आऊं?नवीन जी बोले- आज रात डिनर से शुरू कर दो.

बीएफ दिखा दे वीडियो

मैं सीधा रूम में आकर पैग खत्म करके बिना उसको बताए उसके घर से निकल गया. उनकी चुत देख कर तो मेरा मन करता था कि चाटता ही रहूं और चाट कर चूत का सारा रस पी लूं. मुझे लगा कि अब तक गुस्सा हो चुकी है लेकिन वह मुझसे बिल्कुल भी गुस्सा नहीं थी।वह मुझे देखकर थोड़ा थोड़ा हंस रही थी.

कैसी बातें कर रहे हो तुम डैडी जी के बारे में?”अरे यार, वो भी तो इंसान हैं. और फिर उसने एक हाथ मेरे वक्ष स्थल पर रखकर बेदर्दी से दबाना शुरू किया और अपना दूसरा हाथ मेरी निहायत चिकनी और स्निग्ध योनि को सहलाना शुरू किया.

सीमा मेरे सिर को अपनी चूत के अन्दर दबाने लगी और मैं अपनी जीभ को उसकी चूत की गहराई तक लेकर जाने लगा.

कुछ मिनट के बाद मैंने कल्पना से कहा- अब मैं तुम्हारी चुत चुसाई करता हूँ. यहाँ लोग बहुत खुल कर और विस्तार से अपनी बात नहीं लिख पाते हैं क्योंकि यह कॉलम सिर्फ एक पेज का होता है प्रकाशक अपने स्तर पर अपनी पत्रिका के पाठकों के स्तर के अनुसार समस्याओं को संपादित करते हैं, सेंसर भी करते हैं. उधर रहने वाले सभी लोग गरीब घर से थे और सभी मजदूरी करने वाले रहते थे.

तो जब इस बार बहू ने फिर से गाड़ी रोकी तो मैंने अपने हाथ बहू की कमर पर लगा दिए और उसकी कमर जोर से पकड़ ली. फिर उसके बाद 2 महीने बाद मैंने भाभी से पूछा- भाभी, भैया क्या करते हैं?तो उन्होंने बताया- वे एक प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर हैं और नाइट शिफ्ट की ड्यूटी करते हैं. तब उसने कहा- हम तो खुश हैं ही, अब आप भी खुश है ना?मैंने उससे कहा- आप दोनों आज मिलने आई हैं तो मैं तो खुश हूँ ही!इसके बाद मैंने डेरी मिल्क के चॉकलेट ज्योति को खाने को दिया।ज्योति ने मुझसे कहा- जाइये जीजा जी, दीदी के साथ अकेले में आराम से मिल लीजिये.

मेरे होंठ दीपिका की चूत पर लगते ही उसके शरीर में सिरहन सी दौड़ गयी.

बीएफ चुदाई दिखावो: मैंने देखा कि दूध निकालने की वजह से चाची के निप्पल्स कुछ ज्यादा ही बड़े लग रहे थे. हम कम से कम 10 मिनट तक चुदाई करते रहे और हम दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया।उस रात हमने तीन बार चुदाई की और वो पूरी रात मेरे पास मेरे बेड पर मेरे रूम में ही सोयी रही.

अब शायद पापा से भी कंट्रोल नहीं हो रहा था तो पापा बोले- बहू तुम अभी नहायी भी नहीं … तो मैं तुम्हारे पूरे शरीर पर गीला कपड़ा फेर देता हूँ. जैसे ही हम दोनों रूम में गए, उसने कहा- पहले रूम का दरवाजा अच्छे से बंद कर दो. मैंने समय बर्बाद ना करते हुए उसको हल्का सा ऊपर खींचा … वो जैसे ही ऊपर देखी … मैं उसको किस करने लगा … वो भी मेरा साथ दे रही थी … फिर मैंने उसकी 2 और पोजीशन में 45 मिनट कर चुदाई की.

इस स्थिति में भी इस तरह की कला का सहारा लिया जाता है ताकि कमजोर पड़ चुकी कामाग्नि को फिर से भड़काया जा सके.

करीब 15 मिनट तक चली इस चुदाई में हम दोनों थक गए और पसीना पसीना हो गए थे. मैंने पवन के दोस्तों से पूछताछ की तो पता चला कि उसके घर वालों ने उसे मुझसे दूर रहने के लिए कहा है क्योंकि मेरा स्टेटस और उसका स्टेटस अलग अलग है. उसके बूब्स बहुत बड़े हैं, जो हमेशा उसकी ड्रेस को फाड़कर बाहर आने को तैयार रहते थे.