हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ

छवि स्रोत,चलने वाली सेक्सी ब्लू पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी छोटी लड़की सेक्सी: हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ, अब मैं समझने लगी थी कि मेरी सहेलियों ने अपने ब्वॉयफ्रेंड क्यों बना रखे थे.

कल्पना का सेक्सी वीडियो

तू इधर उधर की बातों पर ध्यान मत दे और अपना काम कर, अपनी नौकरी पर ध्यान दे साले. सेक्सी मूवी लोगों ने यह भी खोजाविकास के साथ मेरी कई बार बात हो चुकी थी इसलिए हमारे बीच में ऐसा वैसा कुछ भी नहीं था.

धीरे धीरे ऐसे चूमते सहलाते हुए कांतिलाल ने मुझे अपने ऊपर चढ़ा लिया और फिर से लंबे चुम्बन और आलिंगन का दौर शुरू हो गया. सेक्सी फोटो भारतसंभोग की संतुष्टि और थकान ने मुझे सुला दिया था … पर अब कांतिलाल के रूप में एक और पड़ाव मेरे सामने आ गया था.

आफिस मैं उसे देख कर कोई नहीं कह सकता कि वो सेक्स मैं इतनी वाइल्ड हो सकती है। वो एक अच्छी पत्नी थी पर उसकी अपनी भी कई इच्छाएं थी जो उसने अपने पति से शेयर की थी पर उसका पति अपने बिज़नेस अपने काम की वजह से उससे वक़्त नहीं दे पाया।जिसका परिणाम हमारे बीच यह सेक्स सम्बन्ध बना।दुनिया की नज़रों में यह सम्बन्ध अनैतिक या अवैध हो सकता है.हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ: उसके बाद मैं उठ गया और उसके मुंह को अपनी तरफ करके उसके होंठों को चूसने लगा.

मैंने उसे अपने नीचे लिटाया और लंड को बहन की चूत की फांकों पर रखकर लंड सैट कर दिया.मैंने ये भी नोटिस किया कि चुदाई के वीडियो देख कर फरजाना के चेहरे पर भी रंग बदल गया था.

नाइट ड्रेस फॉर गर्ल्स - हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ

अब आप अन्दाजा लगा सकते हैं कि हमारा बिंदास ग्रुप कितना मस्ती खोर रहा होगा.आने से पहले कविता ने मुझसे बोला कि तुम्हारी वजह से रवि ने पहली बार किसी दूसरी महिला की तारीफ की और इसका बदला वो मुझसे जरूर लेगी.

मैंने सोचा था कि एक बार और मुझे अनीता की मोटी चूत को चोदने का मौका मिलने वाला है. हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ तभी मकान मालिक की आवाज आई और अलग होकर अपने कपड़े पहनने लगी और वहां से जल्दी से बाहर निकल गई.

राजशेखर ने वो बोतल पकड़ ली और जब केवल 10 सेकण्ड्स बचे हुए थे, तभी उल्टी गिनती शुरू हो गई.

हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ?

जब दो जिस्म आपस में बिना कपड़ों के मिलते हैं तो सुख दोगुना हो जाता है. रंग एकदम दूध के जैसा बिल्कुल सफेद है और घर में साड़ी पहनती हैं लेकिन जब चलती हैं तो उनकी साड़ी में उनकी गांड में फंस जाती है. मेरी सलाह पर मनु ने मेरे साथ मिलकर एक थोड़ा बड़ा घर किराए पर लिया और मैं मानव से रेगुलर ली अपनी चुदाई करवाने लगी।आगे हम लोगों ने अपनी चुदाई के तरीकों में क्या क्या बदलाव किए जिससे हमारी गे सेक्स लाइफ बहुत बेहतर हो गई.

मैं अब पूरे जोश में आ गई और मेरे भीतर ऐसा लगने लगा, जैसे ऊर्जा का भंडार फूट पड़ा हो. वो भीतर से 5 प्लास्टिक के छोटे छोटे गमले लाया, जिनमें रेत भरी हुई थी. लेखक की पिछली कहानी: गोवा में माँ को चोदागोवा में माँ को चोदायह भेनचोद भाई की सेक्स कहानी मेरे एक दोस्त की है.

मैं रुक गया और उसकी चूत की गर्मी से अपनी लंड की फुंफकार को शांत करने लगा. जब वो अपनी बीवी से बात कर रहा था, मैं काव्या के पीछे खड़ा होकर चुपके से अपना लंड उसकी गांड पर रगड़ रहा था. उसके घर पर पहुंच कर जब हमने दरवाजे की घण्टी बजाई तो उसकी पत्नी ने दरवाजा ने खोला.

जब छठे फ्लोर लिफ्ट रुकी तो श्रेया आंटी ने मुझे लिफ्ट को रोक कर रखने के लिए कहा. अब उसने अपनी ब्रा भी उतार दी और अपनी गांड को आगे पीछे करते हुए मुझे लिप किस करने लगी.

एक पिचकारी ऊपर हवा में जाने के बाद बाकी का माल युक्ता के हाथ से होता हुआ उसकी उंगलियों में भर गया.

क्या देखा था मैंने?दोस्तो, मेरा नाम अभि है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ.

मेरी पहली सेक्स स्टोरी गाँव की सेक्सी लड़की, स्कूल की गर्लफ्रेंड सोनाली के साथ है, उस टाइम मैं 19 साल का था, मैंने 11 वीं पास करके बारहवीं में एडमिशन लिया था. अभी रवि को रमा की योनि को प्यार करते हुए थोड़ी ही देर हुई थी कि रमा काफी उत्तेजित हो उठी. मेरा इतना बोलना था कि सोनू ने मेरे लंड को वापिस से अपने मुंह में ले लिया और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.

फिर वो मेरे गले के चारों तरफ हाथ डाल कर मेरे होंठों को किस करने लगी. उन चारों लड़कों ने उसे मेरे सामने ही किस किया और उसने भी ना नहीं बोला. फिर मैंने दोनों गिलास आधे आधे भरे और उससे कहा- तुम मेरी रखैल हो न!वो बोली- हां.

मुझे दरअसल याद आया कि बचपन में हम गुड्डा गुड़िया और शादी ब्याह का खेल खेलते थे और कभी कभी मुहल्ले के सारे बच्चे मिलकर शादी ब्याह का खेल खेलते थे.

कॉलेज की पांच बिंदास सहेलियों ने अपनी शादीशुदा जिन्दगी से वक्त निकाल कर मुलाकात की और अपनी गुजरी जिन्दगी को याद करके उसे सभी पाठकों तक लाने का फैसला किया. उसने वो गमले हम पाँचों महिलाओं के हाथ में देकर कहा- तो आज का खेल ये है कि सभी महिलाएं अपने अपने गमलों के ऊपर करीब आधे फुट ऊंचाई से बैठ पेशाब करेंगी, उसके बाद इस खेल का राज खोला जाएगा. वो तड़फ उठी मगर मैंने उसकी तड़फन को नजरअंदाज करते हुए उसकी चूत में एक और जोर का धक्का मारा.

उसने मेरे साथ किस किस तरह से सेक्स किया … वो मैं आप सबको अगली बार बताऊंगा. मुझे कविता ने छोटी सी बोतल में कुछ दिया और कहा कि शराब नहीं पी सकती, तो कम से कम फ्रूटबियर तो पियो. मैंने थोड़ी देर तक उसने दूधों को पीना जारी रखा तो वो बोली- अब यही करते रहोगे क्या? या फिर बेडरूम में भी चलने का इरादा है?वो जैसे मुझे राह सी दिखा रही थी.

और मैंने उसे आगे कर दिया।जब मैंने उसकी गांड को देखा तो मुझे लगा कि ये बिल्कुल सील पैक है। फिर मन में आया कि आज भी कोई बिना चुदे रह सकती है क्या भला?उस दिन तो वो मुझे फिर नहीं दिखी।पर अगले दिन मैंने उसे सीढ़ियों पर मेरी ही क्लास में जाते हुए देखा.

”भाभी बोली- स्सस् … मेरे राजा … तुम्हारा लंड मेरी चूत की प्यास और बढ़ा देता है. नाइटी में चूचों के निप्पलों के ऊपर वाली जगह में एक स्टार जैसा कुछ चमकदार नग सा लगा था, जोकि उनके चूचों को और भी पूरा दिखाते हुए भी ढक रहा था.

हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ आपको इस बात को पढ़ कर कुछ अंदाजा तो हो ही गया होगा कि मेरी कहानी किस तरफ जाने वाली है. वो बोली- क्या हाथ देख लेते हो?मैंने कहा- हां तुम्हारे हाथ में खुद को ढूँढ रहा हूँ.

हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ तभी अमन ने मेरी बीवी के बोबे दबाते हुए कहा- रंडी बन जा हमारी … बहुत मज़े करेगी. फिर कमलनाथ ने रमा से पूछा- भाभी जी आज तो आपने कमाल कर दिया, ऐसी कामुक महिला आपको कहां से मिली?तभी रवि बोला- भाभीजी आपकी कोई सहेली आने वाली थी … उसका क्या हुआ?रमा ने उत्तर दिया- कल वो भी यहीं आ जाएगी.

मैं उनके पास गया, तो आंटी ने बताया- गुड़िया को तुमसे कुछ काम है और तुमको कुछ देर के लिए अपने साथ ले जाना चाहती हैं.

सेक्सी बीएफ आगरा वाली

श्रुति ने सुरेश के लंड को पूरा चाट कर साफ कर दिया और उसको अपने थूक से गीला कर दिया. कमलनाथ ने अपने दोनों हाथों को राजेश्वरी के सिर के अगल बगल रखा और झुक कर धक्का मारना शुरू कर दिया. मुझे देख कर उन्होंने पूछा कि कुछ खाओगे?मैंने कहा- नहीं!फिर मां बोलीं- शाम को हमको एक शादी में जाना है … मैं खाना बना दूं कि बाहर खाओगे?मैंने कहा- आप लोग चले जाना.

मैंने सुरेश से कहा कि अब देर न करो, पहले मेरी प्यास बुझा दो, बाद में खेल लेना. रात को जब मैं सेक्स फिल्में और कहानी पढ़कर घर आया, तो मुझे मेरी मॉम मेरी पत्नी के रूप में दिख रही थीं और ऐसा लग रहा था कि उन्हें अभी पकड़ कर चोद दूं. उस दिन के बाद तो मैंने सोनू के साथ कई बार चुदाई की।तो दोस्तो और मेरी प्यारी भाभियो, आपको मेरी चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बतायें.

जैसे ही मेरी जीभ स्वीटी की चूत में गई तो उसने बेड की चादर को नोचना शुरू कर दिया.

वो बीच बीच में बड़बड़ा रही थी और रुक रुक कर मेरे लंड को चूस रही थी. लिंग का सुपाड़ा जैसे ही रमा की योनि में घुसा, रमा ने ऐसा दिखाया, जैसे उसे न जाने कितना सुकून मिल गया हो. उसकी केले के तने जैसी जांघों के बारे में सोच कर लंड का बुरा हाल हो रहा था.

पहले तो मां ने मना कर दिया लेकिन फिर बाद में मां ने गाउन निकाल दिया. कुछ औपचारिक बातें हुईं हम दोनों के बीच और मैं अगले दिन से अपने काम पर जाने लगा।शुरुआत के कुछ दिन तो ज्यादा बातचीत हम दोनों के बीच नहीं हुई लेकिन मेरा ध्यान काम में कम रहता था और पूरे समय मैं बस सोनू को ही देखता रहता था. मैं जल्दी से बाहर आकर बाइक लेकर घर निकल गया और बाहर दरवाजे पर ही रुक गया.

फिर मैंने एक जोरदार धक्का दिया, तो मेरा लंड आधा से ज्यादा अन्दर चला गया. फिर भाभी ने अपने कपड़े उतार लिये और नंगी होकर बल्लू की गोद में आकर बैठ गई.

अपर्णा ने अपने दूध सहलाते हुए मुझसे पूछा- तुम कहां चले गए थे?मैंने कहा- मैं तुम्हें ही ढूंढ रहा था. मैं कुछ कहती, इससे पहले उन्होंने मेरा मुँह पकड़ कर अपना लिंग मेरे होंठों के पास लगा दिया. फिर मैंने उसके चूचों को पकड़ लिया और उसको कस कर बांहों में भरते हुए उसके चूचे भी साथ में दबाने लगा.

आप सबका धन्यवाद कि आप सभी ने मेरी पिछली सेक्स स्टोरी को, जो अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज साईट पर प्रकाशित हुई थी, इतना अधिक पसंद किया.

मैंने उसे पहले ही फोन से बता दिया था कि मैं अपने घर पर ये सब कहने वाली हूँ. उसी टाइम अचानक सीमा भाबी ने अपनी कमर थोड़ी सी हिलाई और मेरा लंड उनकी गांड की दरार में घुसने लगा. मगर जब मेरी बीवी ने व्हाट्एप पर तुम्हारी फोटो देखी थी तो उसको यकीन नहीं हो रहा था कि तुम कोई 34 साल के युवक हो.

मुझे अब मुझे ऐसा लगने लगा कि जो चीटियां अभी तक मेरे बदन पर रेंग रही थीं, वो अब दौड़ने लगी हैं. लोगों को पर्सनल ट्रेनिंग देने के लिए, जिसमें लड़के और लड़कियां, आदमी और महिलाएं सब आते थे.

मैं कुछ देर ऐसे ही मदहोशी की हालत में लेटा रहा और भाबी के कोमल हाथों के स्पर्श के बारे में सोचता रहा. तुम बोल रहे थे कि अपना 8 इंच का लंड मेरी चूत में डालोगे, रात भर चोदोगे, गांड भी मारोगे. मेरे लंड से गर्म गर्म वीर्य निकल कर भाभी की चिकनी चूत में भरने लगा.

जबरदस्त चुदाई वाला बीएफ

ध्यान से मैंने मां की चूत को देखा तो उनकी चूत से गीला सा पदार्थ निकल रहा था.

उसने अपनी मजबूरी मुझे बताई और कहा- जो नुकसान होगा वो भी मैं देने को तैयार हूं मगर आप जल्दी आ जाओ. हम दोनों ने होटल रूम में ही कुछ देर तक बैठ कर बातें की और उसके बाद हम होटल रूम से बाहर आ गए. लंड पूरा का पूरा चूत में उतर गया था और भाभी अब बल्लू के लंड पर उछलने की तैयारी कर रही थी.

मेरे लंड को उसकी गर्म चूत में जाकर बहुत मजा आ रहा था इसलिए मैं उसकी चूत का मजा लेना चाहता था. बाहर गांव था, नलिनी के परिवार के लोग होने के कारण वहां कुछ नहीं हो सकता था और ना ही कुछ आगे हो सका. भोजपुरी में गाना सेक्सी वीडियोमैंने कहा- इतनी जल्दी? क्या हुआ?तो उसने कहा- ज्यादा टाइम नहीं है … मेरे पति अभी सोए हुए हैं.

लेकिन कोई तरीका समझ में नहीं आ रहा था। मैं कभी-कभी कोई अश्लील फिल्म की सीडी लाकर रात में फिल्म भी देख लेता था जिससे मेरे मन में चुदाई करने की चाहत और तेज होती जा रही थी।एक दिन मैंने सोचा कि क्यूँ ना अपनी साली को पटाया जाए चुदाई के लिए … इससे मेरा काम बहुत आसान हो जाएगा और जब तक पत्नी नहीं आती है, तब तक जब भी मन करेगा, भरपूर मज़े ले सकूँगा. इस बीच चार लड़कों का एक गैंग आया और उसमें से एक ने पूछा- ओए रंडी … कितना लेगी … बड़ा मस्त लग रही है.

उसका पति वीजू भी घर में ही था इसलिए वह ज्यादा गुस्सा हो रही थी और उसने बल्लू से बात करने लिए दुकानदार को फोन लगवाकर बल्लू को बुलाया. फिर कुछ देर बाद मैं दोस्तों के साथ घूमने निकल गया और जब घर वापस आया, तो देखा वो मेरे घर आयी हुई थीं. साँसों के नॉर्मल होते ही सोनू बिस्तर से उठी और मुझे जोरदार किस करते हुए थैंक्यू कहने लगी.

मैं थोड़ा सा हिचक गया कि कहीं मैं जल्दी तो नहीं कर रहा हूं लेकिन दोस्तो बहुत बुरा हाल हो रहा था. फिर मैंने साराह से पूछा- घर में शहद नहीं है क्या?तो साराह ने कहा- फ्रिज में है. क्रीम कलर के सलवार और सूट में अपनी सीट के पीछे शरीर का वजन टिकाये वो दोनों आंखों को बंद करके बैठी हुई थी.

इस घटना को बताने के लिए मुझे अन्तर्वासना से ज्यादा अच्छा मंच नहीं मिला कोई.

फिर मैंने उसकी जीन्स में पीछे हाथ डाल कर उसकी गांड को दबाना शुरू कर दिया और दोनों फिर से एक दूसरे होंठों को चूसने लगे. इस वक्त उसकी चूचियां मेरी छाती पर हिलते हुए मुझे बड़ा मजा दे रही थी.

हम सब के मन के साथ उसने थोड़े छेड़खानी की, हम सब आज भी एक दूसरे के साथ हैं और सबकी भावनाएं समझते हैं, सबको सम्मान देते हैं. सबसे पहले कमलनाथ तैयार हो गया और उसने मुझे बुलाया, पर मैंने मना कर दिया, तो सब लोग मुझे जोर देने लगे. उस दिन मां ने मुझे डांट भी दिया था लेकिन बाद में सब कुछ नॉर्मल होता चला गया.

मैं तुम्हारी हर कमी को पूरा कर दूँगी।अब भला सामने से ही कोई मस्त सी प्यासी चूत खुद को चुदवाने का न्यौता दे रही हो तो कौन ऐसे मौके को हाथ से जाने देगा. साफ होने के बाद मैंने ध्यान से देखा तो वो अंदर से लाल थी लेकिन बाहर से उसकी चूत के होंठ काले थे. दोस्तो, शायद मेरी जवानी की भड़कती हुई वासना ने मुझे अंकल को हां करने के लिए तैयार कर दिया था। फिर उसके दो दिन के बाद मैंने एक कागज़ पर लिख कर उनको दे दिया।मेरा जवाब पढ़ कर वो बहुत खुश हुए और उन्होंने भी एक कागज पर लिख कर मुझे इसके लिए धन्यवाद दिया.

हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ फिर उसे मैं गार्डन में लेकर गयी, वहां मैंने उसके साथ बहुत किसिंग की. राजशेखर ने मेरे साथ कभी संभोग नहीं किया था, तो उसने सबसे पहले मुझसे ही पूछा.

बीएफ चलती है

मगर अभी मैं यह नहीं दिखा रहा था कि मैं उनकी चूत को चादने की फिराक में हूं. यह कहानी तब की है जब मैं 20 साल का था और मेरे कॉलेज का फर्स्ट ईयर था. अनिल उसकी चूत में अपना प्यासा फन फनाता लंड डाल कर धक्के पर धक्के दे रहा था.

और फिर अपनी ब्रा में से निकाल कर मेरे मुँह में अपना चूचा दे दिया और बोली- चूसो इसे … काटो इसे!मैंने बारी बारी से उसके दोनों चूचुकों को मुँह में भर भर के पिया, खूब काटा और चूसा।उसके दोनों चूचे लाल हो गए थे. बाकी 6 लोग जिनमें अब एक कपल रह जोड़ी जीएफ बीएफ की थी, बाकी आपस में दोस्त ही बचे थे. कर्नाटक सेक्सी व्हिडीओमुझे पता नहीं क्या हो गया कि मैंने अपना मुँह अन्दर घुसा दिया और चूत के गुलाबी होंठों को चूसने लगा.

मैंने मौसी को मेरे बिस्तर पर आने के लिए कह दिया और हम साथ में सोने लगे.

चुदाई के बाद वो पूछने लगी कि आज लंड कैसे चला गया?मैंने कहा- मेरा लंड तुम्हारे उस घोंसले में फंस कर रह जाता था. मेरी योनि की मांसपेशियां अकड़ने लगीं और योनि की दीवारों से तेज़ तरल रिसने लगा.

तब भाबी बोली- तुम एक काम करो, तुम यहां बेड पर बैठ जाओ और मुझे तुम्हारे लंड पर सरसों का तेल लगाना पड़ेगा. फिर धीरे-धीरे जैसे-जैसे मैं पारंगत होता गया तो मेरी और दीदी की जवानी खिलती चली गई. लेकिन हम दोनों को ही भाई बहन का रिश्ता एक अनजानी सी डोर से बांधे हुए है.

उसकी तड़प देख कर मैंने बिना देरी किये अपना लौड़ा उसकी चूत में घुसा दिया.

उस पर निर्मला ने पूछा- वो कैसे?तो उसने बताया कि जिसकी योनि की नसें और मांसपेशियां अधिक ताकतवर होती हैं, वो ज्यादा दबाव से पेशाब कर सकती है और रेत में ज्यादा गहरी छाप बना सकती है. कमलनाथ- हां यार बहुत मजा आता है, तुम्हारी दीदी तो मेरे भइया का लंड मजे से लेती हैं. मेरे चूतड़ गठीले और काफी बड़े दिख रहे थे और टॉप ऐसा था, जिसकी गर्दन बहुत अधिक खुली थी और उसमें से मेरे एक तिहाई स्तन साफ़ दिख रहे थे.

தமிழ்செக்ஸ் காலேஜ்आपको मेरी क्सक्सक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं … प्लीज मुझे मेल कीजिए. फिर एकदम से आंटी दरवाजा खोल कर अंदर आ गई और उन्होंने मुझे ब्लू फिल्म देखते हुए अपने लंड को हिलाते हुए देख लिया.

चुदाई हिंदी वीडियो बीएफ

टीना- भाई, ये तुम क्या बोल रहे हो, तुम्हारा दिमाग़ तो ठीक है?मैं- हां … पर क्या करूं … मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ. नजदीक जाकर मैंने उसे कॉल किया और पूछा कि मैं सीधा अन्दर आ जाऊं?तो उसने कहा कि नहीं … रुको तो … पहले मुझको देखने दो, बाहर कोई है तो नहीं … अगर किसी ने देख लिया, तो मेरा यहां रहना मुश्किल हो जाएगा. फिर थोड़ी देर के बाद उसने अपना पेंट खोल दिया और लिंग बाहर निकाल मुझे चूसने को कहा.

जब मैं बाहर आया तो वो मुझे पसीने से लथपथ देख कर बोली- क्या हुआ? तबियत तो ठीक है?मैंने कहा- नहीं … इतना सब देखने के बाद मैं तो आराम करना चाहूंगा. मैंने पूछा- मजा आया?वो बोली- मजा तो बहुत आया … पर आप बहुत बड़े बहनचोद हो … ट्रेन में ही चोद दिया. मैंने नर्वस हो कर कहा- मेम आपका नाम क्या है?उन्होंने अपना नाम संगीता बताया.

कितना मोटा है!दुबारा उसने हाथ में ले लिया- नौ इंची का होगा!वह मेरे से चिपका था, बोला- तेरे को लौडिया दिलाऊंगा. उसकी आंखें क्या मस्त झील सी गहरी थीं कि बस एक बार देख लूं, तो घायल ही हो गया. अब इसके बाद बाकी के मर्द ये सोच में पड़ गए कि कैसे अपनी अपनी योग्यता साबित करें.

डॉक्टर साहब उठे, अपने कपड़े पहने और बोले- अब तुम परसों आना, मैं शिलाजीत या वियाग्रा खाकर आऊंगा तब तुम्हें जन्नत का मजा दूँगा. तभी मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मेरे माल से उसका मुँह भर गया जिसको वो पी गई।थोड़ी देर तक हम दोनों वैसे ही शांत पड़े रहे.

मैं खुश था लेकिन मैं तब फूला नहीं समा रहा था जब मैंने मम्मी के साथ उसी हॉस्टल गर्ल पूजा को देखा.

मैं समझ गई थी कि हम जिस उम्र से गुजर रहे हैं, उस उम्र में योनि में नमी जल्दी नहीं आती है. इंडिया वाली सेक्सीरेनू चाची उस वक्त घर में अकेली थी और उसने काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी जिसमें वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी. हिंदी सेक्सी ब्लू फुल एचडीयह मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की ट्रू स्टोरी है, जिसके लिए आपके मेल का स्वागत रहेगा. पीछे से ब्लाउज की एक पतली सी पट्टी होने के कारण पूरी पीठ लगभग नंगी रहती है.

जब उसने ये बताया कि उसका पति उसे वह सुख नहीं दे पाता है, जो उसे मिलना चाहिए.

मैं बोली- अब जल्दी से मेरे अन्दर आ जाओ … वरना मैं ऐसे ही झड़ जाऊंगी. बल्लू ने भाभी को अपनी गोद में उठा लिया और फिर कमरे में अंदर ले गया. पहले तो हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ देखा और फिर एक दूसरे की चूमने लगे.

उसके जाने के बाद मेरी बहन नज़मा हैरानी से बोली- ये क्या चक्कर है?मैंने बोला- वो मेरी माशूका आने वाली थी … और हम दोनों गोवा जाने वाले थे. मैं उसकी चूत में लंड को डालने लगा तो मेरा मोटा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था. सारिका कंवल[emailprotected]कहानी का दूसरा भाग:खेल वही भूमिका नयी-2.

सेक्सी साडीवाली बीएफ

तभी राजशेखर ने मुझे बिस्तर पर एकाएक गिरा दिया और मेरे साथ खुद भी मेरे ऊपर आ गिरा. हम तीनों एक ही बिस्तर पर बैठे हुए थे और अपनी टांगों पर कम्बल डाला हुआ था. उनके ये मदमस्त मम्मे मुझे तो क्या … हर किसी को बरबस ही उनका लुत्फ़ उठाने को मजबूर कर देते थे.

तब के बाद से मैंने लड़कियों पर विश्वास करना छोड़ दिया और तबसे ही सिंगल हूँ.

इस बार मैंने थोड़ी जोर से ट्राई किया और मेरा लंड का सुपाड़ा उनकी चूत के अन्दर चला गया.

हालांकि मैंने कई लड़कियों के साथ सेक्स किया लेकिन उस जैसी आज तक नहीं मिली।मेरी लंबाई 6 फुट है और रंग सांवला है।उस समय मेरी उम्र 24 की थी गर्मियां चल रही थी जब मैंने उसे पहली बार मम्मी के स्कूल में देखा था. अब तक आपने मेरी इस दिलकश हॉट गर्ल अनल सेक्स स्टोरीकमसिन लड़की की कुंवारी गांड में सख्त लंडमें जाना था कि मैं नजमी को दुबारा भी चोद चुका था. साडीवाली औरत का सेक्सी व्हिडिओरोज रोज पति के उसी लौड़े को लेते लेते सब कुछ ही दिन में थक गयी थीं.

राजशेखर अब एकदम अलग अलग तरह से धक्के मार रहा था और मैं यकीन से कह सकती हूं कि उसका एक एक धक्का निर्मला की बच्चेदानी पर जोरदार चोट कर रहा होगा. दोपहर में मेरे खाने की थाली लेकर आई तो मुझसे बोली- जीजू, नमिता दीदी भी आपके साथ …मैंने कहा- नमिता तो जब आयेगी तब आयेगी, फिलहाल तुम तो आओ. मैंने एकदम से उनको पकड़ कर चारपाई पर डाल लिया और उनको चूमने लगा।वो भी मेरा साथ दे रही थी.

कुछ ही पलों मैं उसके लिंग से मेरी योनि में हो रही रगड़ से प्यार करने लगी. कविता बिल्कुल सुस्त पड़ गई थी, पर धक्कों की मार से वो भी एक सुर में कराहने लगी.

उसने अपना लिंग जोर से एक बार आगे पीछे किया और फिर उसे मेरी योनि की छेद पर सटा कर आसन ले लिया.

आपको बुर्कानशीं भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी अपने मेल जरूर कीजिएगा. राजशेखर ने रमा के ब्लाउज के ऊपर से उसके स्तनों को दबाना शुरू कर दिया था. लेकिन तू साली चुदक्कड़ यहां दूसरे के लंड के साथ रंगरेलियां मना रही है.

मराठी सेक्सी वीडियो हिंदी में मेरी साली अपने कपड़े बदल रही थी, उसके शरीर पर केवल ब्रा और पेंटी थी, उसका शरीर बिल्कुल संगमरमर की तरह चिकना था. रंग एकदम दूध के जैसा बिल्कुल सफेद है और घर में साड़ी पहनती हैं लेकिन जब चलती हैं तो उनकी साड़ी में उनकी गांड में फंस जाती है.

अब मैं क्या करूं? इस अन्तर्वासना साईट पर लाखों पाठक हैं और काफी समझदार भी हैं. यह कहते हुए मेरी नजर उसके चूचों पर जा रही थी और मेरा लंड पहले से ही टाइट होना शुरू हो गया था. अचानक मेरा पैर उसकी टांगों के बीच में चला गया और उसकी टांगों से टकराने लगा था.

बीएफ एचडी बढ़िया-बढ़िया

फिर मैंने उनको दीवार से लगाया और उनके होंठों पर एक जोरदार से किस कर दिया. दीदी के कहने पर मैंने नीचे आकर उसकी चिकनी चूत को चाटना शुरू कर दिया. जब भी मिलेगी मैं आप लोगों को नई सेक्स कहानी के माध्यम से जरूर बताऊंगा.

फिर सुबह 4 बजे मैं अपने रूम पर चला गया क्योंकि भाभी ने कह दिया था कि किसी को पता नहीं चलना चाहिए कि मैं रात में उसके घर पर ही रुका हुआ था. तो मैं बोली- हां यार … मेरी तो किस्मत खराब थी कि मेरा बॉयफ्रेंड नहीं आ पाया.

सोने के कारण गाउन तो मैं पहले ही निकाल चुकी थी, जिसकी वजह से मेरे स्तनों का अधिकांश हिस्सा दिख रहा था.

वहां काफी भीड़ थी, देर लगती देख पापा मुझे छोड़कर बैंक चले गए और कह गये कि तुम्हारा काम हो जाये तो मुझे फोन करना. थोड़ी ही देर में आंटी के मुंह में ही मेरा वीर्य छोड़ दिया ओर आंटी ने चाट चाट के मेरे लन्ड को साफ़ कर दिया।फिर हम दोनों ने दोबारा किस करना शुरू कर दिया. फिर भाभी ने उंगली के इशारे से चूत चाटने को बोला और हम 69 की पोजिशन में आ गए और खूब चुसम चुसाई खेली.

अपने बदन पर ब्रा को एडजस्ट करते हुए मां मुझसे पूछ रही थी कि कैसी लग रही है. फिर वो बस इतना बोले- जाओ, चाय बनाओ।मैं तुरंत ही किचन में गई और चाय बनाने लगी।वापस आकर उनको चाय दी और हम दोनों चाय पीने लगे।चाय पीने के बाद उन्होंने मुझे अपने बगल में बैठने के लिए बोला और मैं उनके बगल में बैठ गई। उसके बाद उन्होंने मुझसे जो कहा उसकी उम्मीद कभी नहीं की थी मैंने।उन्होनें मेरा हाथ पकड़ लिया और मैं सहम सी गयी. फिर मैंने जबरदस्ती उसके हाथ को अपने लंड पर रखवा लिया और उसके हाथ को अपने लंड पर रगड़ने लगा.

एक दिन मम्मी शाम को रसोई में रात का खाना बना रही थीं और दीदी अपने रूम में थी.

हिंदी बीएफ सेक्सी देसी बीएफ: सोये हुए लंड को मैं मस्ती से चूसती रही और मैंने पांच मिनट के बाद उसके लंड को दोबारा से खड़ा कर दिया. इसी कारण आंटी की ननद आंटी के घर आयी हुई थी।तो मैं घर पर अकेला था तो आंटी ने खाना खाने के लिए मेरे को अपनी घर बुला लिया.

आंटी बोलीं- प्लीज यह किसी को मत बताईयो!मैंने कहा- आंटी आपकी कसम … यह मेरे तक ही रहेगा. उसकी केले के तने जैसी जांघों के बारे में सोच कर लंड का बुरा हाल हो रहा था. मैंने जब अपने नीचे देखा, तो उस वस्त्र के कटे हुए हिस्से की वजह से मेरी एक टांग बिल्कुल नंगी दिख रही थी और एक तरफ से मेरी योनि के बाल भी दिख रहे थे.

ब्लाउज थोड़ा कसा सा था, जिसकी वजह से मेरे स्तन उभर कर बाहर निकलने जैसे हो रहे थे.

फिर थोड़ी बहुत इधर उधर की बातें करने के बाद मेरे पति ने बात छेड़ी- जैसा कि सब लोग जानते हैं कि हम लोग यहां क्यों आए हैं. पहले तो मैंने सेक्स करना कैसा होता है, सिर्फ यह जानने के लिए किया था. थोड़ी देर बाद उसने मेरे लोअर को भी निकाल दिया और मेरे लंड को हाथ में पकड़ लिया.