बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ

छवि स्रोत,ಸ್ಯಾರಿ ಸೆಕ್ಸ್

तस्वीर का शीर्षक ,

बफ वीडियो इंडियन: बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ, जिस वजह से मेरा लंड अब तेजी से एक पिस्टन की तरह उसकी चुत में अन्दर बाहर हो रहा था.

गर्ल सेक्सी फिल्म वीडियो

अब वो ये सोच रही थी कि आगे किस भाई से अपने चुत चुदवायेगी।फिर उसको ख्याल आया कि क्यूँ ना दोनों से एक साथ सेक्स का मजा लिया जाये?पर यह कठिन काम था… क्योंकि दो बड़े कारण थे – एक तो यह कि दोनों सगे भाई थे और दोनों को एक दूसरे के साथ मयूरी के सम्बन्धों के बारे में पता नहीं था. गेम खेलना चाहता हूंअब मैंने उसकी टी-शर्ट को हल्के हल्के ऊपर किया और उसकी पीठ को चूमने लगा.

इस बार मेरा लंड उसकी बच्चेदानी से टकरा गया, जिससे प्रिया को थोड़ा दर्द हुआ. बच्चे कैसे पैदासरिता मेरी तरफ पलटी और मुझसे कहा- यह तुम क्या कर रहे हो?मैंने कहा- क्या तुम्हें अच्छा नहीं लग रहा है?उसने कहा- नहीं नहीं … मुझे तो बहुत अच्छा लग रहा है.

ठीक 1:00 बजे दरवाजे की घंटी बजी, मैंने दरवाजा खोला तो देखा सामने सरिता खड़ी है.बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ: मेरा हाथ पकड़कर अपने लंड पर रख दिया और पूछा- कैसा लगा?मैंने कहा- बहुत अच्छा है.

फिर मैंने उसकी उम्र पूछी तो उसने बताया कि वो 28 साल की है और अभी तक उसका को बच्चा नहीं है.अपने लंड को थोड़ा सा सीधा करके अन्दर घुसेड़ो प्रियतम!” धीमे स्वर में हुंकारते हुए पत्नी ने मुझसे विनती की और मैंने थोड़ा नीचे को झुकते हुए अपनी स्थिति को सुधार लिया.

फुल सेक्सी पिक्चर ओपन - बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ

मेरी गर्म और गंदी कहानी के पहले दो भागोंशादी में चूत चुदवा कर आई मैं-1शादी में चूत चुदवा कर आई मैं-2में आपने पढ़ा कि मैं राजस्थान के एक गाँव में शादी में आई हुयी थी और मेरी चूत की आग मुझे जीने नहीं दे रही थी.हम दोनों एक सी विचारधारा की थी तो अपनी पर्सनल बातें भी करने लगी थी.

मैंने मुस्करा कर कहा- ठीक है भाभी!भाभी ने उनसे कहा- राज बहुत होशियार लड़का है, यह हिमानी को पढ़ा दिया करेगा. बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ इस बार वह अपने होंठों से जोर की ‘सी …’ निकलने से न रोक सकी।जब उसे पलट के कुछ बोलते न पाया तो मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और मैंने हाथ में थोड़ा और तेल लगा कर अपना पूरा ध्यान उसकी योनि पर फोकस कर दिया।उसे नीचे से ऊपर तक मसलना शुरू कर दिया.

इस बीच मैंने उन्हें घुमा कर सीधे किया और सीधे उनके गुलाबी मुलायम रस भरे होंठों को चूसने लगा.

बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ?

कैसे हो दोस्तो…मैं शालिनी जयपुर वाली…याद तो हूँ ना मैं…मेरी सेक्सी कहानियाँतो लगी शर्तजीजा मेरे पीछे पड़ागर्मी का इलाजपढ़ी हैं आपने…अब आगे की बात. शाम को थोड़ी देर टीवी देखा फिर रात का डिनर करने के बाद मैं अपने रूम में सोने चला गया. बस ये सोच कर ही मैं भाभी पर टूट पड़ा और साइड से उनके मम्मों को दबाने लगा.

मैं उठा और झट से अंडरवियर और पैंट पहन कर स्वाति के होंठों को प्यार से किस किया. रेशमा ने मेरे मुंह को अपने चूत के पानी से पूरे मुंह को भर दिया और मैं पूरा पानी उनका पी गया. फिर भी दिखावे के लिए छटपटा रही थी और बोल रही थी- ये गलत है, सोहेल मुझे नहीं छोड़ेगा.

ये कहानी वहीं से शुरू होती है … जहां सेमाइक, मुनीर और शालिनी की कहानीखत्म हुई थी. हालांकि मैंने अपना लंड उसकी चूत में नहीं घुसा रखा था, सिर्फ ऊपर ऊपर से ही मजे लेने की कोशिश कर रहा था. वो चुदास में कामुक सीत्कार निकाल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ये क्या कर दिया … हां बस ऐसे ही यस यस बेबी चूस लो इन्हें … आह … न जाने ये इस पल के लिए कब से तड़प रहे थे’वो अपनी चुदास में न जाने क्या क्या बड़बड़ाती रही और मैं भी उसके मम्मों को चूसता और मसलता रहा.

और वे दोनों फिर मुस्कुरा दिये।फिर 32 नम्बर ही दिखाइए मैडम को!” मैंने थोड़ा खुलते हुए कहा।सेल्स गर्ल ने 32 की ब्रा निकाल कर दी जिसे देखकर नीलम बोली- मैं ट्राई करके आती हूं।शायद यह नीलम ने जानबूझकर कहा होगा क्योंकि उसका साइज उसे अच्छे से पता होगा. मैंने तारा से कहा- यहां कहां जा रही हो? अन्दर जंगल के सिवा कुछ नहीं है.

फिर मैंने उनका अंडरवियर निकाला, एकदम काला कम से कम दस इंच लंबा और मेरी कलाई से भी मोटा लंड था उनका.

मेरी उम्र अभी इक्कीस साल है और मेरे लंड का साइज़ सवा छह इंच है, लंड की मोटाई तीन इंच है.

चाची भी रुकने का नाम नहीं ले रही थीं, वो उसी तरह बेतहाशा अपनी भारी भरकम गांड को उछाले जा रही थीं. कृपया ऐसे सवाल न पूछें जिनका मैं जवाब न दूँ क्योंकि मैं अपने हर साथी की जानकारी गुप्त रखता हूँ।मेरी यह सेक्स कथा कुछ दिन पहले गए करवाचौथ की रात की है जब मैंने अपनी पड़ोसन को चुदाई का असली मज़ा दिया।मेरा नाम चन्दन है और मैं रेवाड़ी का रहने वाला हूँ। मेरी हाइट 5’10” है. फिर मैंने उसको सीधा बिस्तर पर लेटाया और उसकी कमर के नीचे दो तकिया लगा दिए.

चूंकि हमारा यह सेकंड राऊंड था, काफी देर तक हमारे लंड अपना कमाल दिखाते रहे. मैं अभी कुछ कहता या करता कि तभी इतना बोल कर उन्होंने अपना हाथ मेरे पजामे के अन्दर डाल दिया और मेरे लंड को धीरे धीरे सहलाने लगीं. कोई तुम्हारे सामने आँख उठा कर भी नहीं देख सकेगा, जब कोई जानेगा कि तुम किसके साथ रीलेशन रखती हो, तो वैसे ही चुप हो जाएगा.

फिर बहुत थकान के कारण दोनों बिस्तर पर कटे हुए वृक्ष की तरह गिर गए और आराम करने लगे.

आंटी इस चोट से इतनी अधिक कलप गई थीं कि वे मेरे होंठ को काटते हुए चीखना चाहती थीं, मगर मैंने उनके मुँह को पहले से ही अपने मुँह से बंद कर रखा था. थोड़ी देर बाद मैंने अपना हाथ उनकी जाँघों के बीच रखा और धीरे धीरे चुत पे ले गया. मैंने कहा- क्या मैं आपको जानता हूं?तो पूजा बोली- जब मेरे पीछे पीछे आकर मेरे बदन को निहारता है तो और कितना जानेगा?पूजा की यह बात सुनते ही मेरा लन्ड खड़ा हो गया, मैं समझ गया कि ये कौन सी भाभी है.

तुमने अन्दर क्यों किया?वो बोला- अरे यार रुका ही नहीं गया, मुझे चुदाई का कोई तजुर्बा नहीं है. मैंने पूछा- कहाँ पर पढ़ाना है?हिमानी की मम्मी कहने लगी- सारा घर खाली पड़ा है, जहाँ दिल करे वहां बैठ जाना. उन्होंने भी मेरा लंड चूस कर कड़ा कर दिया और फिर से चुदाई शुरू हो गयी.

दोस्तो यह थी मेरी वाईफ से सेक्स की सच्ची चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, कमेंट्स करके मुझे ज़रूर बताइएगा.

बाद में चुदास बढ़ गई तो मैंने उसके कुर्ते के अन्दर हाथ डाला और ब्रा के ऊपर से उसके स्तन दबाने लगा. मैंने कहा- जाओ पूजा … पूजा कर लो!तो पूजा बोली- थोड़ी देर रुको, जब सब ऊपर से नीचे चले जाएंगे, तब हम जाकर पूजा करेंगे.

बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था, फिर भी समझा गया कि दीदी सेक्स चाहती है. और तेरी गांड का तो कहना ही क्या, अब मैं तेरी गांड को चोदने जा रहा हूं.

बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ इसी बीच रशीद अपना एक और पैग खत्म करके आ गया और बोला- अब मैं इस गजब माल को चोदता हूँ. बाहर जाते समय उसने अपने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था ताकि मयूरी आराम से अपने कपड़े पहन सके.

मैंने बाथरूम के दरवाजे को हल्का सा धक्का दिया तो वो खुल गया, उसने सिटकनी नहीं लगाई थी.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी एचडी वीडियो

उनकी बात सुनकर ही मेरे तो मुँह में जैसे लड्डू आ गया कि अब तो अंकिता चुदाई के लिए तड़प रही होगी. हामी भरते हुए और डीके का मनोमन शुक्रिया अदा करते हुए मैं उन दोनों के पीछे पीछे बेडरूम में चला गया. एक था सुनील जो पुलिस में डीवाय एसपी है और दूसरा रशीद, जिसका स्क्रेप का बिजनेस है.

एक बार तो उसने मुझे मना कर दिया किन्तु मेरे कुछ जोर देने पर वो मान गयी, फिर हमने साथ में लंच किया तो बातों बातों में पता चला कि वो यहाँ अकेली रहती थी और उसे जयपुर आये काफी समय हो गया था, और पहले वो कहीं और जॉब करती थी।वो लंच नहीं लायी थी तो मैंने उससे अपना लंच शेयर किया इसलिए मेरा पेट नहीं भरा. ये मेरी और हॉट डिम्पल भाभी की चुदाई की कहानी आपको कैसी लग रही है, मेल लिख कर मुझे जरूर बतायें![emailprotected]कहानी का अगला भाग:हॉट भाभी से की चुदाई की शुरुआत-2. उसकी उम्र 21 साल है उसके शरीर की बनावट ऐसी है कि मोहल्ले और कॉलेज के सभी लड़के उसे भूखे कुत्ते की तरह देखते हैं … कि कब मौका मिले और कब उसकी जवानी लूट लें!और मेरी ननद का कहना है कि मैं उससे चार गुना ज़्यादा सेक्सी हूँ.

मैं उसकी टांगें खोल कर उसकी पजामी के फटे हुए हिस्से में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा … लेकिन वह जा नहीं पा रहा था, तो मैंने उसकी सलवार को थोड़ा और उधेड़ दिया और उसके बाद मैंने अपना लंड सलवार के अन्दर डाला.

कुछ ही देर में मैं उसके दोनों चूचों को पकड़ कर दबाने लगा और गांड में लंड से चुदाई करना जारी रखी. हां फर्स्ट टाइम थोड़ा दर्द होगा, वो तो वैसे भी तुम्हारी रियल सुहागरात है, तो दर्द तो होगा ही. मेरा लंड इतना टाइट हो गया था कि मानो बस प्रिया की चूत में जाने के लिए बेताब हो रहा था.

चूंकि हमारा यह सेकंड राऊंड था, काफी देर तक हमारे लंड अपना कमाल दिखाते रहे. मेरा खड़ा लंड देख कर मौसी ने बोला- ये क्या है?यह कहते हुए उन्होंने मेरे लंड को मेरे पजामे के ऊपर से ही पकड़ लिया और उसे धीरे धीरे हिलाने लगीं. मुझे चूंकि तुमसे मिलना था तो मैंने बहाना बना दिया और रिश्तेदार के यहां नहीं गई.

मैं करीब शाम को आठ बजे चाची के घर पहुंचा, चाची खाना बना रही थीं और चाचा हॉल में पड़े बिस्तर पर लेटे कोई किताब पढ़ रहे थे. मेरी हमेशा से ख्वाहिश थी कि किसी कमसिन लौंडे के साथ मैं सेक्स करूँ.

मैं आगे बढ़ने लगा और उसके पेट को चूम रहा था, तो वो इतनी सेक्सी आवाज निकाल रही थी कि बस मजा ही मजा का माहौल बन गया था. निप्पल को कभी दांतों से हल्का हल्का काटता तो कभी टॉफी की तरह जीभ से छूकर चूसने लगता. उसने महसूस किया कि सोचने मात्र से ही उसकी चुत में बहुत सारा पानी आ गया है.

फिर किस बात की कमी? और सबसे बड़ी बात आप किसके चक्कर में मुझे यहाँ खींच लाईं?तब वो बोलीं- छोड़ो उस मादरजात को.

उसने एक कपड़े से अपने आपको साफ़ किया और फिर दोनों के लिए दो गिलास में पानी लेकर आई. सुनील ने अपना ग्लास पायल के होंठों से लगा के पिला दिया … पायल एकदम से उठ गयी और थूकने लगी, बोली- ये क्या पिला दिया, इसमें कतरा सा क्या मिलाया है?सुनील हंसने लगा, मैंने देखा था सुनील ने मुठ मार के अपना वीर्य दारू में मिक्स करके पायल को पिला दिया था. जब हम दोनों नहा लिये तो सर मुझे अपनी गोद में उठा कर कमरे में ले गए.

फिर मैंने उसकी बंद आँखों को देखते हुए अपने सारे कपड़े उतार कर अपने लंड को उसकी जाँघों से चिपका दिया. वो बोलीं- हां इस हालत में आपके घर से निकलकर अपने घर जाऊँगी, तो आस पास वाले लोग बोलेंगे कि ये बिन मौसम कहां से भीग आयी.

देखती हूं कि तुम स्त्री मन को कितनी अच्छी तरह समझते हो।”मुझे ये सब बहुत अजीब लगता है नीलम!” मैंने कहा. मेरी बहन मेरे घर आई हुई है और हम दोनों ने एक दूसरी की झांटें साफ़ की. रजत ने दरवाजा खोला और बिना कुछ बोले वापिस आकर हॉल के सोफे पर बैठ गया और टीवी देखने लगा.

जानवर और लड़की वाला बीएफ

मेरी पत्नि सहमति में सिर हिलाते हुए बेड पर लेट चुके दीमा के पेट के ऊपर पैर फैला कर घुटने अगल-बगल में टिकाए हुए बैठ गई.

उन्होंने भी अपने हाथ को मेरी पैन्ट के अन्दर डाल दिया और मेरे लंड को सहलाने लगीं. घोड़ी सजी खड़ी थी और वो डी जे वाला फिर से कुड़कुड़ करने लगा था कि दो किलोमीटर दूर बारात जानी है कम से कम दो घंटे तो लगेंगे ही पहुँचने में और आठ यहीं बज चुके है. मेरी बहूरानी और कम्मो दोनों भी खूब जम के डांस कर रहीं थीं; मैंने जेब से रुपये निकाल कर उन दोनों के ऊपर से न्यौछावर कर बैंड वालों को दे दिये.

” कहते हुए उन्होंने मेरी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया।आहऽऽऽ… पापा…उम्म…” उनके स्पर्श से मेरी मादक सिसकारियाँ निकालनी शुरू हो गई।उम्म… यू आर सो स्वीट नीतू… तुम्हें खाने का मन कर रहा है. एक महीने पहले ही मैंने सरकारी नौकरी जॉइन की है, तो मुझे गांव से शहर आना पड़ा. सेक्सी सीमा चुदाईउसकी चुत पे हाथ लगाने पर बहुत चिकनाहट महसूस हुई, शायद वो अपनी चुत में तेल लगाकर आई थी.

आप तो ख़तरनाक मूड में लग रही हो?ज़्यादा बातें मत करो, बस आज तुम मुझे खूब सारा प्यार करो. मैंने सोचा कि किसी भी लंड पर विश्वास करना बेवकूफी ही होगी, इसलिए मैंने उससे कहा- जब तक भैया कोई तारीख निश्चित नहीं करते, हम लोग कोर्ट मैरिज कर लेते हैं.

उधर माइक और मुनीर से मिलने की उत्सुकता भी थी और मुझे भय भी था कि आज क्या होगा. आज कल सभी लड़कियां यही करती हैं, इसमें कोई बुराई नहीं … जो चीज करना ही है उसमें कुछ पैसे मिल जाएं तो क्या बुरी बात है।मुझे अंकित की यह बात सच में पसंद आई और अच्छी लगी पर मैं उसे अभी कुछ नहीं बोली. फिर मैं खुद ही सुपारे की गंध सूंघने लगी और ऐसा देख कर अंकल ने अपना हाथ मेरे सिर से हटा लिया और मुझे खुद ही सुपारा सूंघने दिया.

मेरा स्कूल एक ग्रामीण क्षेत्र में है, इसलिये इस प्रकार की कोई बात होने पर अभिभावक अपनी लड़कियों को स्कूल से निकाल लेते थे. कुछ देर बाद वो आई तो बोली- चलो हम लोग बाहर जाकर कहीं कॉफी पी कर आते हैं. भाभी को धकेल के दीवार से लगा दिया और होंठों को जोर जोर से चूसने लगा.

अदिति बेटा चलें फिर? वो सामान चेक करना है नहीं तो देर हो जायेगी फिर.

उनके मुँह से लगातार सिसकारियां निकल रही थीं, जो मेरे कानों में पड़ कर मेरा जोश बढ़ाने लगीं. मैं उसको चूमे जा रहा था और प्रिया ने मुझे धक्के देकर हटाने की कोशिश करते हुए कहा- नहीं … मुझे नहीं करना … आईईई … मम्मीईईई … इसे तुम बाहर निकाल लो … प्प् …प्लीज!लेकिन मैं अपने लंड को प्रिया की चुत में घुसाये हुए उससे लिपटा रहा और उसके गालों को चूमने चाटने लगा.

हमारे बराबर वाली कोठी में मेरे ताऊ जी का बेटा विजय राज सिंह और उसकी पत्नी नेहा रहते थे. दिनेश के बदन में कुछ कपड़े थे, वह भी उसने पूरे उतार दिए और पूरा नंगा हो कर मेरे सामने तरफ आ गया. मैं उसकी चिकनी चमेली चूत को देख कर मदमस्त हो गया और एकदम से उसके ऊपर चढ़ने को हो गया.

अचानक उन्होंने मेरे सिर को पकड़ कर एक ज़ोर से झटका मेरे मुँह में मार दिया और अपना पूरा लंड मेरे मुँह में गले तक घुसेड़ दिया. जब मनीषा हल्की शांत सी हो गई तो मैंने फिर से उसकी नाइटी को हल्का सा ऊपर उठाना चालू किया. ये देख कर एक बाजू सुनील और दूसरी में मैं उसकी बांहों को किस करने लगे और उत्तेजना बढ़ने पर उसे काटने लगे.

बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ वो मेरी तारीफ करने लगा और उसके बाद उस लड़के ने मुझे किस करना शुरू कर दिया. एक से दो दिन हो गए और दो से चार दिन हो गए, लेकिन उसका कॉल नहीं आया.

सेक्स वीडियो बीएफ सेक्स सेक्स सेक्स

उस लड़की ने कहा- नहीं मैडम, यह हमारे घर पर भी काम कर चुकी है और बहुत सही है. चाचा भी नीचे से कमर चलाते हुए चाची की हिलती हुई चुचियों पर नजर टिकाए हुए थे. यह देख कर कि ये नौकरानी भी चालू माल है तो मैंने उसके हाथ को जोर से दबा दिया.

रात को 12 बज रहे थे, अचानक आंटी की कॉल आयी और मुझसे बोलीं- तेरे अंकल सो रहे हैं. वॉशरूम से बाहर आने के बाद मेरी नज़र मनीषा के रूम पर गई, उसके रूम के अन्दर की लाइट अभी भी जल रही थी. सेक्सी वाला गाना वीडियो मेंफिर सर मेरी टांगों से किस करते हुए मेरी गांड के पास आए और उन्होंने मेरी गांड खोली.

मगर जब उसको पता लगा कि जो लड़की उससे शादी कर सकती थी, वो उसकी माँ बन गई है तो वो बाप से लड़ते हुए अगले दिन ही वापिस चला गया.

ये महक सुपारे की थी, जोकि मेरी नाक में घुसने लगी और मैं कुछ मस्त हो गयी. बीच बीच में वो लंड निकाल कर मेरी चूत को चाट कर मुझे चोदे जा रहा था.

तब मुझे याद आया कि इस समय तो वो दोनों काम पर गयी होंगी, तो मैं वहीं बाइक साइड में लगाकर इंतजार करने लगा. खैर ये तो अभी पता चल ही जाएगा, मैंने फिर से अपने लंड को ठीक जगह पर लगाया और अबकी बार मैंने थोड़ा जोर से धक्का दे दिया. मेरी आँखों के सामने उसके गोल गोल गोरे चूतड़ों वाली मखमली गांड ही मंडरा रही थी.

वैसे मुझे उन चारों से कोई रंज नहीं था, उन्होंने मुझे गांड चुदाई का एक नया अनुभव दिया था जिसका दर्द भरा आनन्द मैंने भी लिया था.

वो पहले तो विरोध करती रहीं, फिर कुछ पलों बाद ही उनकी योनि में फिर से जोश आने लगा और वो धीरे धीरे टाइट होने लगी. मैं स्नान करके बाहर आया तो रेशमा उसी रूम में ही थी, मुझे बोली- फ्रेश हो गए?मैंने कहा- हाँ जी रेशमा जी, अब तो मैंने आपको फ्रेश करना है!उन्होंने भी बड़ी कातिल मुस्कान के साथ कहा- जी हां, अब दो दिन तक मैं तुमसे फ्रेश होऊँगी, चिंता मत करो!मैं भी खुश हो गया. पर थोड़ा टोपा अन्दर जाते ही पायल जग गई और उसके मुँह से हल्की सी चीख निकल गई.

सेक्सी पार्लर वीडियोमैं आंटी को अपनी बांहों में लेकर प्यार से गालों पर चूमता, तो कभी नाक पर, तो कभी माथे पर और गले पर चूमने लगा. फिर उन्होंने एक दो झटके मारे और सारा वीर्य मेरे गाले में उतार दिया, जो सीधे अन्दर तक चला गया.

त्रिफला बीएफ

तभी उसने अपने हाथों से मेरे कंधों पर ज़ोर डाला और एक ज़ोर की सिसकारी मारके मेरे लंड पर पानी की बौछार कर दी. दो कमरे उन लोगों के उठने बैठने के लिए और एक कमरे को उन्होंने स्टोर रूम बना रखा था. मेरी सफ़ेद रूसी गुड़िया ने अपना मुंह खोल कर हल्की-हल्की कराह भरते हुए अपने सीधे हाथ से नितम्ब को भरसक चीरने की चेष्ठा के साथ अपने बचपन के दोस्त और अपने पति के लंडों को अपनी गांड में घुसवाना प्रारंभ कर दिया.

मैं मन में ‘मिलने का मन कर रहा था या चुदवाने का मन कर रहा था’- ओके. मैं- मैडम थोड़ा तो वेट करो … अब हमें 3 घंटे तक कोई डिस्टर्ब नहीं करेगा. तो क्या मैं अपना जाना कैंसिल करके अदिति बहूरानी की हेल्प लूं कम्मो को चोदने में? वही कोई जुगाड़ फिट कर सकती थी धर्मशाला में … पर क्या बहूरानी तैयार होगी इसके लिए?नहीं, वो कभी नहीं राजी होगी ऐसा काम करवाने के लिए.

यों तो हमने कई बार सेक्स किया था, लेकिन इस बार का कुछ ऐसा अलग हुआ जो मैंने भी सोचा नहीं था. अरे अच्छे से अच्छा ही दिलवाएंगे तुझे, मेरे कहने का मतलब तेरे फोन में तुझे क्या क्या देखना है?” ऐसा कहते हुए मैंने अपने हाथ की उँगलियों से उसकी पीठ पर हारमोनियम सी बजाई. उस टाइम मेरा लंड फड़फड़ाते हुए काले नाग की तरह बाहर आने को बेताब था.

उसने अपनी आँखें इस कदर बंद की हुई थीं, जिससे साफ़ दिख रहा था कि वो दर्द को भरपूर सहने की कोशिश कर रही थी. अब मेरी प्यारी सी छोटी चूत उसके सामने खुली पड़ी थी वो मेरी चूत को अपनी उंगलियों से छूने लगा तो मैं बोली- यार, अपने लंड से छुओ, उंगली से नहीं!वो मुस्कुराया और अपनी पैन्ट और चड्डी निकाल दी.

हम दोनों लोग सब कुछ भूल गए थे कि हम लोग पार्क में हैं और एक दूसरे को चूम रहे हैं.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं कम्मो को धर्मशाला के कमरे में ले आया था. पिक्चर फिल्म सेक्सी मूवीइसी के साथ-साथ मेरी मामी भी डिस्चार्ज हो कर इस चुदाई को सम्पन्न कर चुकी थीं. ಸೆಕ್ಸ್ ರೋಮ್ಯಾನ್ಸ್वो भी मेरी पास वाली चेयर पर आकर बैठ गए और मेरा हाथ अपने हाथों में पकड़ कर मुझसे बोला कि वो मुझे बहुत पसंद करते हैं. इसलिए मैं सारे घर के दरवाजों को चैक किया और उनको अच्छे से बंद कर दिया.

उसने कोई हरकत नहीं की तो मैं धीरे धीरे अपना लंड उसकी गांड से रगड़ने लगा.

मैं- चुप साली … ज्यादा बक बक मत कर और इसे चाट के साफ कर!वो वही बेड के नीचे बैठी और मेरे लंड को चाटने लगी। मानसी अपनी माँ के सामने मेरे लंड को मुँह में लेकर आगे पीछे अच्छे से चाट रही थी. ” नेहा ने खींच कर मुझे खड़ा कर दिया और पजामे के ऊपर से खड़ा लंड अपने हाथ में ले कर दबा दिया. मयूरी ने अपने शॉर्ट्स के अंदर हाथ डाल के अपनी चूत में एक उंगली डाली और थोड़ी देर हल्के हल्के मजे लेने के बाद वो अपनी इस प्यारी माँ की तरफ बढ़ी.

अब तक इस हॉट गर्ल सेक्स कहानीवो बरसात की हसीन शाम-1में आपने जाना कि मेरे मोहल्ले की शादीशुदा हॉट गर्ल पायल को हम तीन दोस्तों ने चुदाई के लिए राजी कर लिया था. यह देखकर मुझसे भी नहीं रहा गया और दीमा के लंड के बाहर निकलने की प्रतीक्षा कर मैंने भी उसी तरह मुंह-चुदाई प्रारंभ कर दी. मैं यह सुन कर घबरा गई और बोली- मैंने सुना है कि इसमें बहुत तकलीफ होती है और दर्द कई दिनों तक रहेगा.

बीएफ बीएफ एचडी वाली बीएफ

शीतल- सॉरी बेटा… ज्यादा जोर से दबा दिया क्या मैंने?मयूरी- नहीं माँ… बहुत अच्छा लग रहा है… ऐसे ही करो न… आह!शीतल- ठीक है बेटा… तो तुम क्या कह रही थी?मयूरी- माँ… आप गुस्सा तो नहीं करोगे ना…शीतल- नहीं बेटा… आप बिना डरे अपनी बात बताओ?मयूरी- माँ… कुछ दिनों से मेरे मन में…शीतल- बोलो बेटा?मयूरी- वो… मैं …शीतल- अरे कोई बात नहीं बेटा… आप बताओ… क्या बात है… डरने की कोई जरूरत नहीं है. अब मैंने उनके पैरों से चूमना शुरू किया और उनकी जांघों व नाभि को किस करता हुआ दोनों स्तनों तक पहुंच कर उन्हें मुँह में भर कर चूसा, चूमा और जीभ से चाटने के साथ-साथ हाथों से भी दबाया, सहलाया व मरोड़ा. जगतदेव अंकल ने मेरी टांगों को चौड़ा करके मेरी एक टांग को अपने कंधे पर रख लिया और अपना लौड़ा अपने हाथ से पकड़ कर मेरी चूत के बीच में, जहाँ छेद है.

ऐसा करते करते उसने मेरा पूरा लंड मुँह में भर लिया और किसी रंडी की तरह लंड चूसने लगा.

यदि गड़बड़ हो जाती तो पता नहीं वो क्या सोचतीं और मेरी शिकायत मेरी जीएफ से कर देतीं तो सब कुछ बिगड़ जाता.

वो मस्त हो कर कह रही थीं- शाबाश ऐसे ही लगा रह!मैं उनके बूब्स से खेल रहा था और उनके मम्मे धीरे धीरे टाइट होकर बड़े होते जा रहे थे. मैं बिल्कुल वक्त न गंवाते हुए सीधा उसके पास गया और पूछा- क्या मैं यहां आपके साथ बैठ सकता हूँ?उसने हां में सर हिलाया और मैं उसके बाजू में बैठ गया. जाह्नवी कपूर की सेक्सी वीडियोकरीब एक डेढ़ घंटा खेलने के बाद सरिता ने कहा- यश अब थोड़ी देर सो जाते हैं.

उसने मेरी बीवी को सोहेल के दांतों से काटने के निशान वगैरह भी दिखाये थे. मैं उसको बोली- तुम अपने ऑफिस क्यों नहीं गए?तो वो बोला- मुझे काम करने का मन नहीं करता है. मैंने देखा कि कम्मो ने अब अपने पैर खोल लिए थे और अगली सीट से सिर टिकाये झुकी हुयी नज़रों से अपने पैरों की तरफ देख रही थी.

मैंने ऐसा ही किया, उनकी बॉडी पर साबुन लगाने लगा, उनके बूब्स, उनकी जांघों, उनके बॉल्स, उनके लंड पर और उनकी गांड पर साबुन लगा दिया. इसका टेस्ट थोड़ा नमकीन था, लेकिन मुझे बहुत पसंद आया और मैंने उनका सारा वीर्य चाट लिया.

वो मेरे ऊपर चढ़कर मेरे दूध को मसलने लगे और मेरे गुलाबी कमसिन होंठों को काटने लगे.

अब मैंने प्रिया की चूत में एक उंगली डाली तो प्रिया ‘ओह्ह … आह आआ आआह …’ करने लगी. उसकी चूत पर झांटों का ऊबड़ खाबड़ सा जंगल उगा हुआ था; झांटों के बाल कहीं एकदम छोटे छोटे जिनके बीच से खाल भी दिखती थी कहीं झांटें थोड़ी सी बड़ीं बड़ीं थीं. वो भी सुन्दर थी, मेरे मन में आया कि इसकी चूत भी चोदने को मिल जाये तो मजा आ जाए.

वीडियो आर्केस्ट्रा तभी मयूरी रसोई में पहुँची और पीछे से शीतल की दोनों चूचियों को जोर से दबाते हुए पूछने लगी- और मेरी चुड़क्कड़ माँ… खाना बन गया?शीतल- हाँ मेरी चुड़क्कड़ बेटी… खाना बन गया. मेरा दिल टूट गया। जब मैंने धीरज को ये बताया तो वो भी बहुत परेशान हुआ। कुछ दिनों बाद यह बात मेरी सास तक भी पहुँच गई। अब तो वो मेरे पति को मेरे विरुद्ध भड़काने लगी। यहाँ तक की उसको मुझसे तलाक़ लेकर दूसरी शादी करने के लिए भी कहने लगी.

एक तो ऐसी लड़की मिलती नहीं, मिली तो सेक्स के लिए आसानी से तैयार होती नहीं और हमने कुछ करने की कोशिश की तो हंगामा अलग से होने का खतरा रहता है. फिर हम एक साथ बाथरूम में गए और एक दूसरे को अच्छी तरह साफ़ करके साथ नहाए, चाय पी और बातें करने लगे. अब तक जैसा कि मैं सोच रहा था कि उसने पहले भी ये सब किया होगा वैसा लग नहीं रहा था.

बीएफ इंजॉय

चाचा अपने लंड से नीचे चाची की चूत चोद रहे थे और ऊपर अपनी जीभ से चाची के मुँह को चोद रहे थे. मैं बाहर जाने लगी, तभी मुनीर ने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा- रुको … हम सब तुम्हारे लिए ही तो यहां आए हैं. इतने में प्रिया ‘ओह … आह … मर गई … मैं गई …’ करते हुए झड़ गई और वहीं 20 से 25 झटके मारते हुए मुझे भी लगा कि अब मेरा निकलने वाला है.

रजत ने दरवाजा खोला और बिना कुछ बोले वापिस आकर हॉल के सोफे पर बैठ गया और टीवी देखने लगा. ब्लाउज बीच में से थोड़ा सा कटा हुआ था, जिसमें से उसके बड़े बड़े मम्मों की थोड़ी सी झलक दिख रही थी.

इस कहानी में मैंने अपनी सेक्स भरी कल्पना से, जो कुछ मेरे दिमाग में आया लिख दिया.

मेरे लंड के झटके के साथ आंटी अपने मुँह से मादक सिसकारियां निकालते हुए मुझे साथ देने लगीं. मामी को मन भरके चोदने के बाद भी मैं उनके आगोश से बाहर नहीं निकल पाया था. अब वो मेरी चूत में जोर जोर से धक्के मार मार कर अपना लंड अन्दर कर रहा था.

बाद में मेरे भाई ने मुझे बताया था कि वो बहुत सारी लड़कियों को चोद चुका था और उसको सेक्स कर बहुत अच्छा अनुभव है. मैंने जोर से झटका मार दिया, मुझे पता था कि लंड घुसेगा तो वो बहुत चिल्लायेगी और रोयेगी. उसने कहा- बहुत तरसाया है तुमने मुझे, जब भी मैंने तुम्हें ज़रा सा हाथ लगाने की कोशिश की.

एक सप्ताह हो गया था, घर वालों को गांव गए हुए और पूछो मत हम दोनों ने ये वीक कितना मजा किया.

बीएफ एचडी चुदाई वाली बीएफ: एक दिन मैंने उसे मैसेज किया- क्या कर रही हो?तो वो बोली- फ्री बैठी हूँ. अब मैं वैसे ही आधे लंड को सपना की चूत में अन्दर बाहर करने लगा और एक हाथ से उसके स्तन दबाने लगा.

जिस जिस्म को देखने हम पिछले एक वीक से तड़प रहे थे, बिना लाइट के उस हुस्न को कैसे देखेंगे. पूरा बड़ा हॉल जैसा रूम था, जिसमें 10×10 का एक बेड लगा हुआ था, उस बेड को ताजे फूलों से खूबसूरत तरीके से सजाया जा रहा था. अभी तो आज हम तीनों ही तेरे चूत और गांड की खुजली मिटायेंगे और देख हम तीनों ही तुझे जन्नत से भी ज्यादा मजा अभी दिए देते हैं.

देखना है तुझे?उसने मुझे अपने ऊपर से धकेलते हुए कहा- तुम लड़कों का कभी पेट नहीं भरता, सही कहा है किसी ने, तुम लोगों का दिल और दिमाग दोनों तुम लोगों के पैंट के अन्दर होता है.

क्योंकि उसकी चूत सफाचट थी और मुझे उसकी चूत से बड़ी मस्त महक आ रही थी. मैंने पूछा- कौन है वो खुश नसीब जिसे तुम चाहते हो?वो बोला- छोड़ो … अब बताना भी ठीक नहीं होगा. उसने मुझे बताया कि इसकी रिपोर्ट बनाने के लिए तुम्हें 3-4 दिन शहर से दूर जा कर गांव में निरीक्षण करना पड़ेगा और वहां जाकर लोगों से पूछना पड़ेगा कि वो इस बारे में क्या सोचते हैं और उनसे लिखवाना भी होता है ताकि रिपोर्ट को कोई ग़लत ना कह सके.