हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ

छवि स्रोत,देसी मुस्लिम सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडीओ चित्रपट: हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ, उस रात भी वैसा ही हुआ … मेरा हाथ उसकी चूची पर था और वो आज भी गहरी नींद में सो रही थी.

छक्कों की सेक्सी मूवी

शोभा मेरा लण्ड उसी खुशी के साथ चूसने लगी जैसे वह थोड़े देर पहले आइसक्रीम चूस रही थी।शोभा की सेक्सी बॉडी मेरी हवस और बढ़ा रही थी. हिन्दी शब्दकोश डाउनलोडउसके लिप्स को चूसते हुए वो चौकीदार बीच बीच में कामुक आवाजें भी कर रहा था- आह्ह … उम्म … ओह्ह … कितने रसीले होंठ हैं.

हम दोनों बेस्ट फ्रेंड थी तो एक दूसरे के घर जाना और रात को एक दूसरे के घर रुकना, हमारे लिए आम बात थी. बिहारी सेक्सी वीडियो डॉट कॉमफिर एक वक्त आया कि मेरा वीर्य निकला और वो सब उसके मुँह में ही गिर गया.

फिर उसने कहा- अपनी मोटी चूची ठीक वैसे ही चुसा न … जैसे मां दूध पिलाती है.हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ: उसके बाद रानी, काको और कृष्णा की चूत को चोद कर उनकी चूत को भी शांत किया.

इसलिए मैंने भी उस पर ध्यान देना छोड़ दिया और वो भी किसी और के साथ चुद रही थी.उसी समय जैसे ही धीरे से उमेश ने मेरी चूत पर काटा, मेरे मुँह से अहह निकल गया.

सुपर कैमरा - हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ

कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि मेरी बहन राजश्री ने पहली बार अपनी सील किससे तुड़वाई थी और आकाश के साथ चुदाई होने के बाद और क्या क्या हुआ.उसके बाएं पैर में मोच आ गयी थी जिस कारण से उससे चला नहीं जा रहा था.

फिर पता नहीं कैसे उसकी नजर मेरी ओर घूमी और उसने मुझे उसको घूरते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया. हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ वो बोली- क्यूं, अभी तक खड़ा नहीं हुआ क्या तेरा?मैंने कहा- खड़ा तो आपको देखते ही हो जाता है.

मैं बस मचल रही थी मछली की तरह उसकी बलिष्ठ बांहों में।फिर ऎसी ही कामुकता भरी मस्ती के बाद हम घर आ गए और वो भी अपने घर चला गया।हमारी बातें, कॉल, चैट व्हाट्सएप पर होने लगी।अमरीश मेरे से सीनियर था तो मुझे फेयरवेल की तैयारी करनी थी सिनियर के लिए और मेरी क्लास वालों ने जबरदस्त तैयारी की हुई थी.

हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ?

जब उनकी मां को पता चला तो वो भी टोनी का लंड लेने के लिए उतावली हो उठी. इससे पहले मेरे मन में भी कुछ धारणाएं थीं जो इस घटना के बाद से बदल गयी हैं. जब उसको ये अहसास हुआ कि मैं भी उसकी शरारत में उसका साथ दे रही हूं तो वो अपने लंड को मेरी गांड के बीच में धंसाने की कोशिश करने लगा.

पापाजी ने अपनी आँखें बंद कर ली थी और मेरी लंड चुसाई का मज़ा ले रहे थे. क्या तुम मुझसे चुदने के लिए यहाँ नहीं आई हो?वो कसकर मुझे अपनी बांहों में भरती हुई बोली- हाँ भैया, घूमना तो सिर्फ एक बहाना है. वे बोले- क्या देखा है?तो मैंने अपना मोबाइल निकाल के वो वीडियो चला दी और पापा जी को दे दी- ये देखिये अभिजीत क्या कर रहे हैं.

भाभी की उम्र 25 साल थी और शादी के तीन साल बाद भी उनको सन्तान नहीं हुई थी. चूंकि मेरे मन में अभी भी उथल-पुथल मची हुई थी इसलिए उन मैग्जीन्स को देख कर भी मेरा लंड खड़ा नहीं हो पा रहा था. एक दिन मेरे पास भाभी का फोन आया- तुम्हारे भैया बहुत बीमार हैं और उनको इलाज के लिए दिल्ली ला रहे हैं.

अब हम दोनों को दारू चढ़ी हुई थी और उसी समय हम दोनों के बीच बात होते होते सेक्स लाइफ को लेकर बातचीत होने लगी. उसकी चूचियों से लेकर उसकी जालीदार पैंटी तक उसके जिस्म को घूरने लगा.

ये सब बहुत जल्द हो गया और यहीं से हम दोनों की दोस्ती कुछ आगे बढ़ गयी.

ममता को यह सब बताने का मेरा तात्पर्य था कि रोहित के साथ ममता एकदम से सहज रहे.

वही हुआ … उसने अपना बच्चा उठाया और उसे अपने मोटे मोटे चुचों से लगा लिया. मन ही मन मैं अपने लण्ड को सांत्वना दे रहा था कि सुमन की चूत की सैर जरूर करवाऊंगा, थोड़ा इंतजार कर बेटे. यह कोई मन-गढ़ंत कहानी नहीं है, यह हकीकत है, जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ.

मैंने दो मिनट तक उसकी चूत पर लंड से सहलाया और फिर उसकी चूत में लंड को घुसाने लगा. मैं मामी की चूत में उंगली डालने लगा तो मेरे हाथ में मेरा रस और मामी की चूत का रस लग गया. पापाजी ने ढेर सारा थूक अपने लंड पर लगाया और फिर मेरी चूत के छेद पर अपना लंड रख दिया.

तब मैंने मामी को मेज पर लिटाया और उनके दोनों पैर को कंधे पर रखलर अपना लंड मामी की चूत में डाल दिया और मामी को चोदने लगा.

मैंने उसके चूतड़ों को अपने हाथों से अपनी ओर खींच कर लंड को आगे धकेल दिया. मैंने ये पता करने के लिए कि भाभी दुबारा लंड देखती हैं या नहीं … एक पेपर उठा कर पढ़ने का नाटक करने लगा. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और उसने मेरा साथ देना शुरू कर दिया.

अजय अंकल भी अब यह बात अच्छे से समझते थे।मां बहुत सेक्सी तरीके से कह रही थी- अजय, अब डाल दो. उसने एक झटके से दरवाजा खोला और अंदर हाथ डाल कर एक झटके से मुझे बांह से पकड़ कर बाहर खींचा. मैंने एक बार सबकी नजरें बचा कर अपने उस हाथ को चूमा, जिसने मैम के मम्मे को पकड़ा था.

मां अपने भतीजे सोनू के लंड को एकदम अच्छे से चूस रही थी और सोनू के अंडकोष मुंह में भर रही थी.

सुबह उठते ही मैंने अपनी मुट्टो गुजरातिन को मैसेज किया- कितने बजे मिलने का है?उसका तुरंत रिप्लाय आया कि 12 बजे मॉल में. मैंने उसके चूचे मसलते हुए उसे धक्का दिया और कहा- नीतू अब लेट जाओ … अब मैं तुम्हें चोदूँगा.

हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ जब अपनी बहन को मैं स्कूल छोड़ने के लिए जाया करता था तो मैं देखा करता था कि रास्ते में एक सुनसान सा इलाका पड़ता है. मैंने उस भाभी की चूत और गांड चुदाई कर उसको सेक्स का असली मजा दिया, पढ़ें।मैं काफ़ी समय से अंतर्वासना का पाठक रहा हूँ.

हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ उसने कुछ अपने परिवार के बारे में बताया और मैं अपने परिवार के बारे में बताता रहा. अब तेरा जब मन करे चोद लेना अपनी मामी को! तुम्झे भी मजा मिल जाएगा और मेरे जिस्म की गर्मी भी कुछ कम हो जायेगी.

फिर पापाजी बोले- हंस क्यों रही हो बहू?मैंने कहा- आपकी बातों पर! पापाजी कल रात आपके लंड ने मेरी चूत माल से भर दी थी.

सपना चौधरी की सेक्सी फिल्में

मेरे लिए ये सबसे बड़ी आश्चर्य की बात थी कि उसने मेरी इस हरकत का कोई विरोध नहीं किया. मैंने आंटी को बताया कि मैं तुम्हें 7-8 महीनों से चोदने की सोच रहा था. मैंने उसे साफ मना कर दिया, मैंने कहा- जब तुम लोग मुझसे दोगुणा के किराया ले चुके हो तो अब मैं तुम्हारी बात क्यों मानूं?वो बोला- आपको किराया दिला देते हैं.

अब अजय अंकल ने माँ को उसी पोजीशन में किया और अब अजय अंकल का लंड मां के मुंह में और मां की चूत अंकल के मुंह के पास थी. मैंने उसके होंठों को चूसते हुए एक जोर का धक्का दे दिया और उसकी चूत से पुच… की आवाज हुई और लंड आधा उसकी चूत में घुस गया. पापाजी बोले- ये पहली बार हुआ है या हमेशा होता है?मैंने कहा- कई बार होता है.

अंकल एक हाथ से मेरा एक रसभरा मम्मा दबाते हुए दूसरे के चॉकलेटी चूचुक को अपने मुँह में भर कर चूसने लगे.

ये बात है लगभग 2011 के आस पास की है, जब लोगों के पास चायना के फीचर फ़ोन हुआ करते थे. फिर पापा ने मुझे नीचे गिराया और मेरी स्कर्ट ऊपर करके मेरी कच्छी को नीचे कर दिया. अब बारी सोनू की थी, सोनू ने मेरी मां को घोड़ी बनाया और मां की चूत पर फिर से थूक लगाया.

उसके बाद उसने मेरी गांड के छेद पर रख कर जोर से धक्का मारा तो उसका सुपारा मेरी गांड को चीरते हुए अंदर घुस गया।मैं दर्द से चिल्लाने ही वाला था कि उसने अपना हाथ मेरे मुँह पर रख दिया. माँ ने भाभी से बात की, तो भाभी ने बोला- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है … मैं उसको तैयार कर दूंगी. ब्रून का लंड काफी बड़ा और मोटा था, जिस वजह से उसकी बीवी के मुँह में लंड आधा ही जा पा रहा था.

मैं जानता हूं कि एक औरत की योनि में प्रवेश कराने के लिए 3 इंच का लंड काफी होता है, जो उसको संतुष्ट कर सकता है. वो दूध पिलाते हुए सो सी गई और तभी हवा के कारण उसकी साड़ी उसके मम्मों से उड़ गई.

क्योंकि घर पूरा खाली होगा तो सोनू अभिनव और माँ तीनों मिलकर चुदाई करेंगे. मैं एकदम से खुश हो गया और उसके हाथ को सहलाते हुए मैंने उससे कैफे के एक कोने में चलकर बैठने के लिए कहा. थोड़ी देर चुत चाटते ही वो बोलने लगीं- अब घुसा भी दो अपना लंड मेरी चूत में … क्यों देर कर रहे हो?मुझे भी उनको चोदने की जल्दी थी, तो मैं उठा और अपना लंड उनकी चूत पर लगा कर धीरे धीरे अन्दर घुसाने लगा.

जब माँ फिर से गर्म हो गई, तब अभिनव ने मां की टांग को हवा में उठा दिया और उसकी चूत में लंड लगा दिया.

उसकी गुलाबी पैंटी को जब मैंने नीचे उतारा, तो देखा उसकी चिकनी चूत और झांटें भी ट्रिम की हुई थीं. मोनिया की चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और वो बहुत ही छटपटाने लगी. चूत इतनी हॉट हो चुकी थी कि बस इसमें यश का लौड़ा अन्दर जाने की देर थी.

मुझे अन्दर झाँकने के लिए कोई सुराख नहीं मिला … पर शायद नसीब ने साथ दे दिया. मैंने दरवाजे पर उसका नाम पढ़ा और कन्फर्म किया कि यही वो घर है, जिधर मुझे बुलाया गया है.

मेरी गर्म बीवी को देख कर उसका लण्ड खड़ा हो गया और वीडियो कॉल पर दिखाने लगा. चाची ने कहा- कोई बात नहीं, तू हमारे साथ ही सो जाना डबलबेड तो है, इतनी तो जगह रहती है. मैंने उससे कहा- मेरे लंड से फिर से चुदने के लिए तैयार हो?उसने कहा- हां, कभी भी और कहीं भी.

व्वेक्सएक्स

मेरे ज्यादा पूछने पर उसने बताया कि वो अपनी उंगलियों और हाथों से ही खुद को शांत कर लेती है.

मेरे मुँह से निकल गया दिन में ये बच्चा परेशान करता है और शाम को बच्चे के पापा. लेकिन सिर्फ एक ही लड़का था जिसके साथ सोनू की फोटो वगैरा थी।मैं समझ गया कि वही अभिनव है. पूरा माल चाटने के बाद वो बोली- आह्ह … बहुत ही गाढ़ा और स्वादिष्ट है.

मैंने अपनी उंगली को थोड़ी देर उसकी चुत में चला कर उसकी चुत को लिसलिसा किया और इसके बाद कुछ क्रीम अपने लंड के टोपे पर भी लगा ली. मेरी जीमेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:टीचर संग प्यार के रंग-2. मां बेटे की सेक्सी फोटोपापा जी मेरे पास आ गए और वो भी बिल्कुल नजदीक … मगर उन्होंने मुझे अभी तक टच नहीं किया था.

और अभी तक कोई दुकान भी नहीं खुली है कि तुम्हें मैं दवा मंगा के दे सकूं. फिर वो उठ कर पेशाब करने चली गयी और वापस आकर लाईट बंद कर नाइट बल्ब जलाकर बिना कपड़े बदले ही अपने बेड पर आकर सो गयी.

अभी थोड़ी दूर चले ही थे कि अचानक एक अंधेरी जगह पर गाड़ी रोककर दोनों पेशाब करने लगे. दोस्तो, मैं विजय कपूर एक बार से आप लोगों के लिए अपनी एक नई कहानी लेकर आया हूं. एक बार मधुर ने मुझे अपने रूम में नीचे ही पकड़ लिया और मुझे किस करने लगा.

उसने रोना बंद किया और फिर से आगे बताने लगी कि उसने अपनी मन की वासना को कैसे दबा कर रखा. वो मुझे पागलों की तरह किस करने में ऐसे लगी थी, जैसे चुदाई के लिए कोई मरी जा रही सी लड़की हो. बस फिर तो मेरे लंड के इंजन ने कामिनी की चूत में चुदाई की ट्रेन चला दी.

पूरी कहानी समझकर मैंने कृति से कहा- इस बार जब तुम्हारा मासिक हो तो उसके आठवें दिन एक सप्ताह के लिए अपने मायके आ जाओ, ईश्वर चाहेगा तो तुम्हारी सास का मुंह बंद हो जायेगा.

मॉम नशीले अंदाज में बोलीं- ये क्या कर रहा है?Mom Sex Ki Meri Kahaniमैं कुछ नहीं बोला. जब वो मेरे साथ बैठ कर बातें कर रही थी तो मेरी नजर उसकी छाती के उभारों पर जैसे रुक सी जाती थी.

वो मेरे दूध मसलता हुआ बोल रहा था- आह सविता मेरी जान … चूस ले इस लंड को बहुत तड़पाया है तूने इसको … वाहह मेरी रानी और ज़ोर से चूसो … एकदम अन्दर तक लो. मेरी मॉम को व्हिस्की पीना बहुत पसंद है और मुझे भी उनके साथ ही पीने में मज़ा आता है. करीब दस मिनट बाद मेरा रस निकलने वाला था तो मैंने उससे कहा- मेरा होने वाला है.

मैं जानता था कि वो मुझे घर बुलाना चाह रही थी और जब मैं नहीं गया तो उसके आत्म सम्मान पर एक चोट सी लगी थी. मैं सुबह उठा, तो देखा मेरा दोस्त अनमोल अब तक सो ही रहा था और बहन रसोई में थी. जैसे ही मैंने उनका लंड पकड़ा, पापाजी की आँख खुल गयी और वो मुझे देखने लगे.

हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ शहर जाने के लिए दो रास्ते हैं, एक जो मेन रोड है और एक बाई पास रोड है जो सुनसान रहता है. दोनों बहनों ने मेरी बात मान ली और मुझे पूरा नंगा करके मुझ पर टूट पड़ीं.

आदर्श विद्या मंदिर

ताई जी के कोई लड़की नहीं थी, इसलिए हिमानी को सभी कामों के लिए याद किया जा रहा था. मैम चाय बनाने किचन में जाने लगीं, तो मेरी आंखों में उनकी बड़ी सी गांड मटकने लगी … गांड बड़ी मस्ती से ऊपर नीचे हो रही थी. मुझे शुरू में थोड़ी दिक्कत हुई लेकिन फिर मैं आसानी से उसके लंड को चूसने लगी.

मुझे पता चला कि मेरा भाई अपनी चाची को अपने दोस्त के घर ले जाने वाला है. हालांकि इसमें आधी से अधिक कहानियां बनावटी होती हैं पर इनमें भी इतना सेक्स होता है कि लंड खड़ा हुए बिना नहीं रहता है. आदिवासी सेक्स आदिवासी सेक्समेरे ससुर के हाथ बहू की गांड को दबा रहे थे और बाहर पति अपने लंड हिला रहे थे.

उसने मना कर दिया, बोली- ऐसा कौन करता है?तब मैंने कहा- सभी करती हैं, लन्ड में से निकलने वाला माल को पीने के बाद लड़कियाँ और खूबसूरत हो जाती हैं। तुम्हें भी अच्छा लगेगा.

”आह … यह सपना नहीं … सच्चाई है … अहह … अच्छी कुटाई हो रही है मेरी … आह … मेरी चुत को इतना मजा पहले कभी नहीं मिला था. वो दूध पिलाते हुए सो सी गई और तभी हवा के कारण उसकी साड़ी उसके मम्मों से उड़ गई.

उधर का हाल देखकर मैं दंग रह गयी।उसमें मेरी जूनियर लड़की नंगी कमोड पर बैठी हुई थी और मेरी क्लास का लड़का उसकी चूत को चाट रहा था।इस दृश्य को देखकर मैं भी गर्म हो गयी और मेरी उंगली अपनी चूत में चली गयी। यह पहली बार मैंने अपनी चूत के अंदर उंगली डाली थी. मैं अभी बाकी था इसलिए मैंने पोजीशन बदल कर उसे डॉगी स्टाइल में किया और उसे जमकर चोदने लगा. अन्तर्वासना की सारी कहानियां पढ़ी हैं मैंने! मैं पहली बार कहानी लिख रहा हूँ अगर कोई गलती हो तो माफी चाहता हूँ।जो कहानी मैं लिखने जा रहा हूँ वो बिल्कुल ही सच्ची घटना है जिसमें रत्ती भर भी मिलावट नहीं है.

मगर मेरे साथ एक दिक्कत ये थी कि मेरे लंड में गुदगुदी होकर माल निकलने को हो जाता था और फिर से रह जाता था.

थोड़ी देर में पापाजी बाहर आये तो वो ट्रैक सूट पहने थे और मुझे नंगी देखकर पापाजी बोले- बहू अपने कपड़े पहन लो और अपने रूम में जाओ. ऐसा करने के बाद प्रशांत ने कहा- आज से मैं सीमा का पति हूँ और सीमा मेरी पत्नी है. वो बताने लगती थी कि उसकी चूत मेरे साथ बात करते हुए ही बहने लगती थी.

मारवाड़ी कॉलेज सेक्सअंकल ने मुझे उठाकर मेरी टी-शर्ट और ब्रा को उतार कर मेरी पैंटी के पास फेंक दिया. मैं ब्रा के उपर से ही मॉम के निप्पलों को अपने दांतों से दबाते हुए चूस रहा था.

सेक्सी गाने दिखाओ

मैं पूरी जबान अंदर मामी की चूत में डाल कर चाटता रहा, अंदर तक पूरी जीभ घुसा चाटते हुए अंदर बाहर करता तो मामी पूरी काँप जाती. जब मैंने इस घटना को अपनी आंखों के सामने होते हुए देखा तो मुझे भी एक पल के लिए तो यकीन नहीं हुआ. उसका कारण ये था कि रानी ने एक सिंगल पीस वाली शॉर्ट ड्रेस पहनी हुई थी जिसमें उसकी मोटी मोटी जांघें साफ़ दिख रही थीं.

नर्स के मोटे-मोटे बूब्स और उठी हुई गांड को देख कर मैं भी मजा ले रहा था. मेरे राजू, अगर तुम चाहो तो तुम ही मेरा बुखार उतार सकते हो।इसी बीच मैंने उससे बोला- तुम अपनी मर्यादा भूल चुकी हो. मेरी मॉम ने मुझसे इतना खुलापन शायद इसीलिए रखा था ताकि हमारी दौलत का कोई नाजायज फायदा न उठाए और हमे ब्लैकमेल आदि न करे.

इंस्पेक्टर ने मुस्कराकर कहा- बको?मैंने एक ही सांस में सारा वाकया सुना दिया. अमीषा ने कहा- यहां जंगल क्यों उगाया हुआ है?मैंने कहा- मुझे थोड़ी पता था कि ये तुम्हारे गुफा की सैर करेगा. राजा- अच्छा … ये बात … बोलो तो रात भर के लिए रुक जाऊं क्या?अंजलि- हां, प्लीज.

शाम को मैंने बिस्तर से उतर कर कुर्सी पर बैठ कर खाना खाया और सोने के लिए बिस्तर पर लेट गया. मां पिताजी के धोखे के बाद टूट सी गयी थीं और उनका मेरे सिवाए कोई और नहीं था.

थोड़ी देर बाद हम दोनों ने कपड़े पहने और उसने मुझे अपना नंबर दिया और घर का पता दिया.

मैंने एक टाप और शॉर्ट पहना क्योंकि टॉप बिना कंधों और बांहों का था तो मैंने ब्रा भी उतार दी. मैन एनिमल सेक्स वीडियोऔर मैं उनके साथ थोड़ा क्लोज हुई तो वो मुझे डांटने लगे और फिर हमारा झगड़ा होने लगा. राजस्थानी मूवी सेक्समैंने अपने बेटे को बताया- बस मैं यहां से अभी निकल रही हूँ … और कुछ देर में घर आ जाऊंगी. अब ये तो मामी का मानो खेल हो गया कि वो हर दस बारह धक्कों के बाद चुत से लंड अलग कर देतीं और सीड़ियों की तरफ देखने चली जातीं और देखतीं कि कोई आ तो नहीं रहा है.

इसी पकड़म पकड़ाई में मेरे हाथ में भाभी की साड़ी आ गयी, तो मैंने वो खींच कर निकाल दी.

मेरी चचेरी बहन ने अपने मामा की लड़की को मुझसे चुदवाने के लिए बुला लिया था. मेरे बहुत कहने पर उन्होंने धीरे से जीभ निकाल कर सुपारा चाटा … और जीभ हटा ली. मैंने इस बार छोटी के मम्मे चूसते हुए उसे चोदा वो बड़ी तबियत से गांड उठा रही थी.

और जब तेरा दर्द ठीक हो जाएगा तब मैं तुझे फिर चोद दूंगा और मैं तुझे पूरी जिंदगी लंगड़ी बनाकर रखूँगा।यह सुनकर हंसी सी आ गई मुझे!मम्मी दर्द में कराह रही थी और अजय अंकल का लंड बिल्कुल किसी मिसाइल की तरह मां की चूत के अंदर घुस रहा था और बाहर निकल रहा था. मेरे कमरे में घुसने के बाद मैंने दरवाजे पर कान लगा कर महसूस किया कि वो दो मिनट तक मेरे रूम के बाहर खड़ा रहा. मुझे भी कुछ अजीब सा लगा और खुद पर गुस्सा भी आया, डर भी लगा कि सोनल कहीं ये बात बड़ी मम्मी को बता ना दे.

गोवा की ब्लू पिक्चर

क्या कोई महिला भी किसी पुरूष का फायदा उठा सकती है?जवाब है- हां, उठा सकती है. उसकी चूत की सील तोड़ने वाली चुदाई की कहानी के बारे में आप जानना चाहते हैं तो मुझे कमेंट्स में बतायें. मॉम ने अपनी चूचियों की थोड़ा सहलाया और अपने निप्पल पकड़ कर चुचों को आगे खींचते हुए अपनी आंखें बंद करके मजा लिया.

तभी पति ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरी टांगें खोलकर देखने लगे जहां पापाजी का माल सूख चुका था.

अब तो भाभी खुल करगर्लफ्रेंड के साथ सेक्सकी बातें भी पूछ लिया करती थी.

उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और छह लंड खाने के बाद भी अंजलि की चूत एकदम गुलाबी थी. मैं अपनी अंडरवियर उतार कर लोअर पहन के सो गया।2 घण्टे बाद बुआ मुझे उठाने आई. हिंदी फिल्म के सेक्सी वीडियोउसके बाद भी आयशा के साथ बहुत कुछ हुआ लेकिन वो सब मैं आपको अपनी अगली कहानियों में बताऊंगा.

अगर आप दोनों जाने के लिए एकदम रेडी हों, तो मैं अभी व्यवस्था करवा देता हूँ. उसके जाते ही सबसे पहले मैंने अन्दर जाकर मुठ मारी, तब जाकर मेरा लंड शांत हुआ. मां अपने भतीजे सोनू के लंड को एकदम अच्छे से चूस रही थी और सोनू के अंडकोष मुंह में भर रही थी.

वो उठ कर मेरे लंड को चूसने लगी और जैसे ही मैं झड़ने को हुआ, मैंने उससे चेताया. क्या बताऊं यारो … क्या लग रही थी वो! फोटो में वह उतना खूबसूरत नहीं दिख रही थी लेकिन रियल में क्या लग रही थी.

अब मुझे उसकी चुदाई के साथ और दूसरी बड़े बड़े रईसों की बीवियों और लड़कियों को चोदने का मजा काफी बार मिलता रहता है.

मैंने भी ससुर के लंड को पूरा मुँह के अंदर लेना चाहा मगर कामयाब नहीं हो पायी. मैंने उससे सिगरेट की इसलिए पूछी थी क्योंकि कई लड़कियों को धुंआ से दिक्कत होती है. उन दोनों ने रानी की चूत को चाट कर साफ कर दिया और फिर मेरे लंड को भी चाट कर साफ कर दिया.

सट्टा मटका न्यू गोल्डन सागर वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मसल मसल कर उसने मेरे लंड को एकदम से सख्त रॉड जैसा बना दिया. चाची मुझे अपने बेटे जैसा ही मानती है और उनके अपने बच्चे की तरह ही मेरा खयाल भी रखती है.

कुछ देर बाद फिर मेरे लंड ने उफान मारा और मैं अब खेल खत्म करना चाहता था, पर वो बुरी तरह से थक चुकी थी. अगली सुबह जब मैं आने लगा, तो उसने मुझे कहा कि टच में रहना … मुझे तुम्हारी जरूरत बार बार पड़ेगी. अब वो दोनों मुझे तैराकी सिखाने के बहाने से मेरे पूरे बदन को छूने लगे थे.

देसी बिहारी माँ गण्ड नेवड़

उसने मेरी कमर में नोंचते हुए कहा- आंह … लगती है जान … क्या उखाड़ ही लोगे. तुम्हारा ये लौड़ा तो मेरी छोटी सी चूत का कबाड़ा बना देगा।वो अब चुदाई के लिए पूरी तरह से तड़प रही थी और इधर मेरे लण्ड को भी बड़ी बेचैनी हो रही थी उसकी चूत में जाने के लिए. वो भी चिल्लाने लगी- आह … मजा आ रहा है … चोदो चोदो … और जोर से चोदो … भोसड़ा बना दो बुर का जानू … आज से मैं तुम्हारी हो गई … जब दिल चाहे मुझे चोद लेना … मैं तुम्हारी रंडी हूँ … मुझे अपनी वाइफ बना लो.

लंड के साइज़ तो मैंने कभी नाप लिया नहीं है इसलिए मैं यहां पर साइज नहीं लिख रहा हूं. मैंने उसकी गांड की दरार में उसके गाउन के ऊपर से ही उसके चूतड़ों में लंड को दबाना शुरू कर दिया.

इसलिए उसने रानी की लेगिंग्स को आधा उतार कर नीचे कर दिया और चुत को चूसने लगा.

बड़ी मुश्किल से मैंने अपनी शादी की रस्में खत्म कीं और फिर चुदाई के लिए तैयारी करने लगा. अब मैंने उसकी गांड और बुर पे चॉकलेट लगाया और पूरी शिद्दत से चूसने चाटने लगा. मेरे उन मुश्किल दिनों में सीमा ने ही मुझे सहारा दिया और मुझे उस अंधेरे में से बाहर निकाला.

मैंने उसके मम्मों को ललचाई निगाहों से देखा और कहा- लो नीतू पहले मिठाई खा लो, फिर पानी पी लो. उनके होंठों को चूसते हुए मुझे भाभी के मीडियम साइज के बूब्स दबाने में काफी मजा आ रहा था. चाची हँसते हुए बोली- मैंने तो बचपन में बहुत बार तुझे नंगा देखा हुआ है.

पापाजी मेरे बूब्स से होते हुए मेरे पेट पर आ गए और मेरी कमर को चाटने लगे.

हिंदी सेक्सी गर्ल्स बीएफ: मैंने गिड़गिडा़ते हुए कहा- इंस्पेक्टर साब! अंदर नहीं निकलना, मैं प्रेग्नेन्ट हो जाऊंगी. मैं उसकी जीभ को चूसने लगा।कुछ देर तक उसकी जीभ चूसने के बाद मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में डाल दी और वो मेरी जीभ चूसने लगी।करीब दस मिनट तक हम ऐसे ही चुम्माचाटी करते रहे।अब तक पीहू पूरी तरह चुदाई की मस्ती में आ गयी थी.

आधा लंड घुसते ही मॉम के कंठ से एक आह निकली और उसके बाद मॉम मादक सिसकारियां लेने लगीं. तेल से मम्मों और चूत को घिसने के बाद मॉम ने एक नई फैंसी सी ब्रा और पेंटी निकाली. अब मैं भी भाभी की चूत में लंड देकर उसकी चूत को चोद देने के लिए बेताब था.

इसलिए मैंने भी उस पर ध्यान देना छोड़ दिया और वो भी किसी और के साथ चुद रही थी.

इसके बाद मैं उनको बेडरूम में ले गया और दरवाज़ा अन्दर से बंद करके उनसे चिपक गया. मैं घर पर गया, तो देखा भाभी रसोई में कुछ काम कर रही थीं और भैया बाहर शराब पी रहे थे. मैं सोनिया रावत उम्मीद क़रती हूँ कि आप सब अपने अपने लंड हिला रहे होंगे.