देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,पंजाबी ओपन सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदी चोदा वीडियो सेक्सी: देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ, कविता भाभी- इसका इंतजाम भी मैं ही करूं?मैं उनकी तरफ याचना भरी नजरों से देखने लगा.

सनी लीओन सेक्सी वीडियो

उन्होंने मुझे अपने कमरे में सोने का कह दिया था और मैं चड्डी बनियान में ही उनके कमरे में उनके बेड पर बैठ गया था. पुसी सेक्समेरे लिए यह नज़ारा काफी आनंददायक था कि एक तरफ राशि कुतिया बन कर अपनी गांड हिला हिला कर मुझसे चुदवा रही थी और वहीं दूसरी ओर पल्लवी अविनाश पर बैठी उछल उछल कर चुद रही थी.

हम दोनों ने वाशरूम में खुद को साफ किया वापिस आकर मैं उसके पीछे लेट गया और उसे अपनी बांहों में ले लिया. एक्स एक्स एक्स फुलउसका सीना मेरे मम्मों को दबा रहा था … आआअहह … मैं पहली बार अपनी सहेली के ब्वॉयफ्रेंड रुमित के साथ नंगी चिपकी हुई थी.

अमनप्रीत कहने लगा कि यदि श्यामली अगर उसकी बीवी होती तो वह उसको दिन रात चोद रहता.देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ: फिर लगभग 11:00 बजे के करीब मेरी अचानक आंख खुली तो मैंने सोचा कि मेरी मम्मी की चुदाई तो शुरू हो गई होगी.

रोहिताश ने सीमांशी की साड़ी पेटीकोट उतार दिया था!अब मुझसे भी बरदाश्त नहीं हो रहा था, मैं पीछे से जाकर सीमांशी के बदन से चिपक गया.वो पूरा मन लगा लगा कर अपने पापा के लण्ड को चाट रही थी।कभी लण्ड के सुपारे को जीभ से रगड़ती और चूसने लगती। लण्ड के छेद को जीभ से छेड़ती। फिर लण्ड पर थूक कर अपने हाथों से मलती और फिर लण्ड को मुंह में भरकर चूसने लगती।रिया चूसते हुए बोली- डैड तुम्हारा लण्ड बहुत मस्त है। एकदम कड़क है.

বিএফ হিন্দি মে - देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ

दो फ़रवरी को शादी के बाद सात फ़रवरी को वसुंधरा अपने पति के साथ के जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड को उड़ जायेगी.उसकी उंगली अन्दर जाते ही मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ … और मेरे मुँह से चीख निकल गयी ‘आआहह.

कुछ देर बाद मेरी अम्मी झड़ गईं और थोड़ी देर वो वैसे ही निढाल पड़ी रहीं. देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ बातों में तो कर सकते हैं ना?”नीरा- हाँ बातों में कर लो मेरी जान!मैं- तो बताओ तुम किसी गैर मर्द से चूत चटवाओगी या गांड?नीरा- दोनों ही!मैंने उसे विश्वास दिलाया कि तुम मेरी वाइफ हो.

पूरा मजा लेने के लिए मैंने दीप्ति को अपनी गोद में उठाया और उसको छत वाले कमरे में लेकर चला गया.

देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ?

मुझे तो पसीने आने लगे, तीन रंडियों को एक साथ पेलने की क्षमता रखने वाला संदीप डांस के नाम से कैसे कांप रहा था, ये आप देखते, तो आप लोगों की भी हंसी छूट जाती. ऐसा कह कर स्वीटी आंटी ने अपने रसीले होंठों और गोरे गालों को मुझसे बचा लिया. इसका यह परिणाम था कि रोहित और मेरी सांसे पहले से तेज और गरम हो गयी थी।मेरा सारा ध्यान अब रोहित के लण्ड पर था जिससे मेरी काम करने की तेजी भी बहुत कम हो गयी थी.

मैंने देखा कि उसकी थोड़ी चाल भी बदल गई थी … क्योंकि उसने पहली बार अपनी गांड मरवाई थी. मैंने अपने भी कपड़े उतारे और रीना के बगल में लेटकर उसकी चूचियां चूसने लगा. तो मैंने अम्मी की ख़ुशी के लिए क्या किया?आज की माँ सेक्स स्टोरी हिंदी मेरे दोस्त की है.

अब दोनों ही चीख रही थी क्योंकि मैंने उनके बाल पकड़े हुए थे और उन दोनों को नीचे लंड के पास बैठा लिया था. तो मैंने उसे बोला- अगर आज के बाद मेरे साथ ऐसा किया तो तेरे टट्टे निकाल कर कंचे खेलूंगी उनसे! मुझे शालिनी जैसा मत समझना!ये बोलकर मैंने उसे छोड़ दिया और जाने लगी. मेरी नयी हिंदी में सेक्सी कहानी भी एक पुरानी क्लासमेट के साथ सेक्स की है.

तो दिन में यह सब कैसे हो पायेगा?”यार इसमें समस्या वाली कौन सी बात है तुम चाहो तो दिन में नहीं तो रात में भी तो हम यह सब कर ही सकते हैं. मुझे लग रहा था की बाबूजी का लौड़ा कोई साधारण लौड़ा नहीं है क्योंकि आज तक मुझे पहले कभी भी इतना आनंद नहीं आया था।बाबूजी ने मेरे ब्लाउज़ के बटन खोलने की कोशिश की पर जब नहीं खुले तो उन्होंने एक झटके में ब्लाउज़ के बटन तोड़ दिए और मेरे चूचे बुरी तरह मसल दिए उनके हाथ एक किसान के हाथ थे.

तभी मेरी आँख खुली और मैंने महसूस किया कि मेरी बहन रुकैय्या मेरे लण्ड पर हाथ फेर रही है.

लड़की जब प्यार से लौड़ा चूसती है और स्खलित होने पर वीर्य को पीती है तो लड़की की मस्ती, ख़ुशी और भीषण कामेच्छा उसके चेहरे पर बरसती हुई बेहद मादक लगती है.

आह्ह … उम्मआह्ह … जल्दी से कुछ करो अब यार। मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. और अपनी कोहनियां साली जी के घुटनों के नीचे लेजा कर उसके पैर मजबूती से दबा लिए. जब देखा मेमरानी लंड से खेल रही है तो बेबी रानी मटक के बोली- ओह हो ओह हो … क्या बात है पिंकी … लगता है हमारा आशिक़ तुझे पसंद आ गया?मेमरानी ने हंसकर कहा- हाँ आ गया … इसका नाम मैंने रुस्तम रख दिया है और इसके हथियार का नाम नाग … और ये मुझे मेम रानी कहा करेगा.

जीजा को बेड पर पटक कर मैंने उनके लंड पर चूत को सेट किया और खुद ही जीजा के लंड को अंदर लेने लगी. चित्रा- अब तुम लोग बोल रहे हो, तो मैं क्या बोलूं?तभी हमारा खाना आ गया और हम खाना खाते हुए बात करने लगे. मेरे ऐसा करने से वो चिहुंक गयी और मेरी शॉर्ट्स के ऊपर से उसने मेरा लंड दबा दियावो बोली- आह सर आपका लंड तो बहुत बड़ा लग रहा है … क्या मुझे दिखाओगे नहीं.

अब विशाल और सुनील दोनों ने ही प्रिया और रिंकी को नीचे लिटाया और उनकी टांगें ऊपर करके चुदाई शुरू की.

दोस्तो कैसे हो आप सब? कहानी के पिछले भागपड़ोसन भाभी से प्यार और फिर चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मेरी पड़ोसन भाभी पर मेरा दिल आ गया था. मैं और जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह गई मैं … और तेज पेल दे मेरी जान … और तेज … फाड़ दे मां के लौड़े … मेरी चूत को और तेजी से चोद दे. नताशा ने मेरे चूतड़ों पर थपकी देते हुए कहा- राज डार्लिंग, रेडी हो न!मैं- प्लीज़ धीमे.

एक समय आया कि मेरे लण्ड से फव्वारा छूटा और नीरा की चूत मेरे वीर्य से भर गई. रुकैय्या ने अलमारी से चमेली की खुशबू वाले तेल की शीशी निकाली और अपनी हथेली पर तेल लेकर मेरे लण्ड पर चुपड़ दिया और अपनी चूत पर हाथ फेरने लगी. भाभी की बात खत्म हो गई और वो मुझसे बोलीं- लगता है तुझे आज ही सब कुछ बताना पड़ेगा.

मैंने अपनी बीवी की नाइटी खोल दी और उसकी नाइटी को उसके बदन से अलग कर दिया.

मगर ये तो तुम बताओगी कि तुम मेरे लंड से कैसे खेलोगी?वो- तुम्हारे लंड को हाथ में लेकर मैं उसे सहलाऊंगी, उसे चूमूंगी … मुँह में भरके चूसूंगी. हर महीने एक सीमित पैसा घर से आता और किसी तरह बस हम दोनों रह रही थी।धीरे धीरे हम दोनों की ही जरूरत बढ़ने लगी हम बाहर घूमने जाती, बाहर खाना खाती, फ़िल्म देखती.

देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ अभी आगे बढ़ने का सही समय नहीं है।हम दोनों इतने धीमे धीमे बाते कर रहे थे कि हमारी आवाज़ हम दोनों के अलावा कोई और सुन भी नहीं सकता था।रोहित करीबन छह फीट का था रोहन के बराबर. ” रानी ने मुझ को बड़े ज़ोर से जकड़ रखा था, उसके लंबे तीखे नाख़ून मेरे पीठ में गड़े चले जा रहे थे और वो हाय हाय करके सीत्कार पर सीत्कार भरे जा रही थी.

देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ मुझे कुछ अजीब सा लगा लेकिन उन्होंने मुझे समझाया कि यह सब चलता है सेक्स में. मासिकधर्म आना शुरू होने के बाद लड़कियों में निखार आता है, इसे जवानी की दहलीज पर पहला कदम भी कह सकते हैं और शरीर भी अपने स्त्रीत्व को स्वीकार करके पूर्ण औरत के रूप में ढलने लगता है.

मैंने किस करना शुरू कर दिया और अपनी जीभ को भाभी के पेट और चूत के आस पास घुमाने लगा.

ब्लू फिल्म हिंदी में

कोमल- कैसी शर्त?मैं- मुझे आज तेरी गांड मारनी है … क्योंकि तेरी गांड बहुत मस्त लग रही है. रिंकी और प्रिया ने भी अपने कपड़े उतार दिए और बेड पर सुनील के इधर उधर लेट गयीं. अआह राम … इतना मजा तो मुझे अब तक मेरी गर्लफ्रेंड ने भी नहीं दिया था, जितना मजा चाची दे रही थीं.

मयंक उसकी नंगी चूचियों को देख कर अपना कंट्रोल खो बैठा और उसकी चूचियों को एक एक करके पीने लगा. मैं सुनीता मम्मी के निप्पलों को चूसते हुए अपने एक हाथ दो उंगलियों को उनकी चुत में डाले जा रहा था. अन्तर्वासना की कामुकता में खोए हुए दोस्तों को मेरा नमस्कार।मेरा नाम डेविल है। मैं जालंधर, पंजाब से हूं। मेरी उम्र 30 साल है।आज मैं आपको मेरी जिंदगी की रियल कहानी बताने जा रहा हूँ।यह कहानी 2016 की है जब मैं विदेश में रह रहा था। वहां मेरा अपना काम था। मेरा बदन ना ज्यादा पतला है ना ज्यादा मोटा.

उसके बाद मैं भी संजना के होंठों को किस करते हुए संजना ने भी इसमें मेरा पूरा साथ दिया.

अब बोलने की बारी अम्मी की थी- रुकैय्या बेटी, पिछले पच्चीस साल में मैंने तेरे अब्बू से तमाम बार गुजारिश की कि मेरा गांड मराने को मन करता है लेकिन इन्होंने मेरी इच्छा कभी परी नहीं की. मैंने मायरा की गांड पर भी तेल लगाया और उंगली डाल कर उसकी गांड में तेल को अंदर तक पहुंचाने लगा. तभी उसने मेरे अंडरवियर को भी नीचे खींच दिया और मुझे भी पूरा का पूरा नंगा कर दिया.

उन्होंने अपना सीधा पैर घुटने से मोड़ा और उस पर अपना हाथ टिकाया और उस पर रिमोट से टीवी को ऑन करके मूवी चलाने लगे. मेरे जीजू की बहन आलिया अमेरिका में अपना पढ़ाई का आखिरी सेम पूरा करने के लिए चली गई थी. उसके बाद अमनप्रीत ने अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया और चुसवाने लगा.

उसने हैरानी से मेरी ओर देखा और फिर कहा- अच्छा ठीक है, लेकिन जल्दी आना. अब चाहे तेरी सासु या कोई भी आ जाए, अब चुदाई से पहले तेरी मुक्ति नहीं है.

मैंने भाभी को इशारा करते हुए रूम की तरफ आने का कहा, तो उन्होंने सर हां में हिला दिया. अपना अपना लन्ड उनकी चूत में अंदर घुसाकर बेड की पास वाली लाइट जलाकर उन्हें सरप्राइज कर दिया। इस पर किसका क्या रिएक्शन था, ये आप आगे किए गए उनके वार्तालाप से समझने की कोशिश करियेगा. अब रानी ने मेरा अंडरवियर और बनियान दोनों उतार के मुझे नंगा कर दिया.

ऊंचा लम्बा कद, गोरा रंग, संगमरमर सा तराशा बदन, सुडौल चूचियां और ताजा ताजा शेव की हुई डबलरोटी की तरह फूली हुई चूत.

मेरे सॉरी बोलने पर वो एक मिनट में ही ठंडी हो गईं और हँस कर बोलीं- कोई बात नहीं. शिवानी भाभी को भी लंड चूसना पसंद नहीं है इसलिए मैंने उनको फोर्स नहीं किया. करीब पंद्रह मिनट लगादार चुदाई के बाद मैं हांफते हुए झड़ गया और उसी के ऊपर ढेर हो गया.

बस इस बार माफ कर दो!”अब माफ तो तुझे एक ही शर्त पर करुंगा कि तुझे मेरी गर्लफ्रेंड बनना पड़ेगा। जब तू उसे फ़्रेंड बना कर यहाँ तक आ सकती है तो मैं तो तेरे गांव का हूँ. हनी की चूची अपने हाथ में दबोचते हुए मैंने कहा- सीमा, आज तुम्हारी चूची बहुत टाइट लग रही हैं.

ऐसे ही उत्तेजना में हम दोनों ने लंड की मुठ मारते हुए अपना-अपना पानी निकाल दिया. जब मैंने अन्तर्वासना की सेक्स कहानियों को पढ़ा, तो मुझे बड़ा अच्छा लगा. आप लोगों को एक बात बता दूं कि मेरे बच्चे में जीजू के स्पर्म का ही योगदान था.

தமன்னா செஸ் வீடியோ

जब भाई मेरे गालों को मुँह में भर कर ताबड़तोड़ चुंबन करता है … तो मैं मस्त हो जाती हूँ.

वो पर्दा निकल गया था … और भार्गव और तुषार कार के आईने में से मुझे लंड चूसता देख रहे थे. उफ्फ … क्या मजा आ रहा था!उसने मेरे बालों को पकड़ा और अचानक से मुझे ऊपर उठा कर किस करने लगा. वो पहले से ज्यादा खुलते हुए बोली- भड़वे आखिर इतना बड़ा लंड लेकर इस घर में रह रहा है, इसी घर में तेरी दो दो बहुएं हैं.

आह … आज सालों बाद कितना मस्त लंड मिला था … मेरे बेटे का जवान लंड देख कर मैं पागल हुए जा रही थी. मैं बोला- आह्ह, हां मालिक, मैं अपनी बीवी की ब्रा पैंटी भी पहनूंगा, उसी में आपकी सेवा करूंगा और उसको चुदते हुए देखूंगा. नंगा ब्लू फिल्मकरीब रात के 12 बजे होंगे मेरे कमरे के दरवाजे पर किसी की दस्तक हुई … जैसे मेरे तो टट्टे हाथ में आ गए.

मैंने कहा- इतने सारे माल दिख रहे हैं, तो फिर देर क्यों करता है … पटा ले किसी को. उसने मेरे लिंग को देखा और अपने हाथों से मेरे लिंग को पकड़ कर आगे पीछे करने लगी.

शायद उन्हें मेरी आवाज से पता चल गया था कि मैंने किसी और की चुदाई कर दी है।मैं भी कुछ देर बाद वहां से उठी और भाभी के पास आ गयी. वहां उसने मुझे उल्टा झुकाया और मेरी पैंटी मेरे शरीर से अलग कर दी और एक जोर का थप्पड़ मेरे चूतड़ों पर दे मारा. पता नहीं तुम्हारे पास क्या जादू है!यह कह कर दीपिका करवट लेकर मेरे सीने से फिर से चिपक गई.

मैंने फिर कहा- घबरा मत डार्लिंग, प्रियंका से पूछ कर देख कितना मज़ा आता है. इससे पहले उन दोनों को मेरा प्यारा, प्यार करने वाला, ख्याल रखने वाला रूप ही पता था. जब भी मेरी इज्जत जाती दिखी, उस दिन ये वीडियो आगे करके तुझे ही गुनाहगार साबित कर दूंगा.

उसके मम्मों को सहलाते ही मुझे समझ आ गया था कि अब तो उसके चूचे भी मस्त हो गए थे.

दीप्ति की गांड उसकी पजामी में कई बार ऐसी मस्त लगती थी कि अचंभित हो जाता था. मेरे बार बार कॉल करने पर उसने फोन उठाया और फोन उठाते ही मुझे गालियां देना शुरू कर दिया.

2-3 मिनट पल्लवी की गांड पेलने के बाद उसने लंड चूत में घुसाया और तेजी से मेरी बहन की चूत को चोदने लगा. अम्मी को हड्डी के रोग की दिक्कत थी, वो बहुत कम चलती फिरती थीं, लेकिन आज दर्द ज्यादा होने कारण शाम को जब ज़ेबा मुझे चाय देने आई, तो मैंने उसे रोक लिया और बोला- देखो ज़ेबा अम्मी हम दोनों की शादी करना चाहती हैं. मुझे बहुत मजा आ रहा था उस अपने अजनबी दोस्त के साथ।फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत पर सटाया; धीरे धीरे सारा लंड मेरी चूत में चला गया.

फिर वे बोले- सोने के लिए थोड़े न आए है हम यहां … आज तो हम पूरी रात प्यार करेंगे. तभी मैंने दूसरा धक्का भी उसकी चूत में दे मारा और पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. वैसे अन्तर्वासना पर इससे पहले भी मेरी एक कहानीउतावली सोनमप्रकाशित हुई थी जिसको एक लेखक जवाहर ने लिखा था.

देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ और फिर रोहित ने हल्के झटकों के साथ अपना वीर्य स्खलन शुरू कर दिया।‘आहाह हहह … उहह हहह …’ गर्म वीर्य का स्पर्श अपने शरीर पर पाकर मेरा मन में सिसकारियां फूटने लगी. उसने कहा- आंटी फिलहाल तो मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है … लेकिन कुछ लड़कियां जरूर मुझे पसंद करती हैं.

गांव की देसी चूत की चुदाई

फिर उसने अपना लंड पकड़ा और मेरा मुँह नीचे लेजाकर अपने टट्टे मेरे मुंह में दे दिए. अब वो पल जब मेरे करीब था तो मैंने भी जोश में आकर ज्ञान के लंड पर अपने होंठों को फिराना शुरू कर दिया. तो वो बोली- मैं कौनसा कोई वादा मांग रही हूँ? बस गर्लफ्रेंड ही तो बनना चाहती हूँ।मैंने कहा- मैं तुम्हारा दोस्त बन कर रहूँगा हमेशा और कभी तुम्हारा साथ नहीं छोडूंगा।फिर ये बात आई गयी हो गयी।कुछ दिनों बाद जिस लड़की को मैं पसंद करता था उसकी सगाई हो गयी.

वो भी पिछले 10 साल से अनछुई थी। मेरे लिए तो वो कुंवारी लड़की से कम नहीं थी। मैं उसको हर तरह से भोगना चाहता था।वैसे भी वो मस्त गोरी माल थी और गोरी औरत मुझे काफी पसंद है।हम दोनों होटल के कमरे में गए. जिससे उम्मीद है कि मेरी मम्मी की चूत की खुजली थोड़ी शांत जरूर हो गयी होगी. दुकान में चुदाईवो मेरी चुचियों को देखने के लिए इतने व्याकुल हो गए कि उन्होंने मेरे टॉप को को जोर से खींचना चालू कर दिया.

मेरे थोड़ा छटपटाने के बाद उन्होंने मुझे अपने होंठों की गिरफ्त से आज़ाद कर दिया.

सुबह जब मैं उठा तो अखबार लेने के लिए बाहर निकला, पर अन्दर आते वक़्त मैं दरवाजा बंद करना भूल गया. बेबी रानी ने गुड्डी रानी के बालों को लपेटे तो रखा मगर इतना ढीला कर दिया जिससे वो आराम से चूस सके.

इसलिए फिर धीरे-धीरे वे अपना हाथ मेरे पेट से होते हुए मेरे बूब्स तक ले आए और उन्हें ऊपर से हल्के हल्के ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगे।यह उस दिन पहली बार था कि मैं रात में भी साड़ी में ही सो गई थी वरना हस्बैंड के साथ तो मैं नाइटी में सोया करती थी. इस बात पर राहुल खुश हो गया और बोला- कि आज तो सच में बहुत मजा आने वाला है. उससे बात होने का यह मौका इसलिए खास था क्योंकि हम दोनों डेढ़ दशक बाद एक दूसरे से बात कर रहे थे.

मैंने भाभी को कॉल किया कि मैं कितनी देर में आऊं?भाभी बोली- बस दस मिनट में मैं आपको कॉल करूंगी.

मैंने और राशि ने स्विम सूट उतारे और नंगे होकर एक छोटे स्विम एरिया में चले गए. फिर उन्होंने और जोर लगाया और पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया और हल्के हल्के से धक्के लगाने लगे. इस समय ठंड भी शुरू हो ही रही थी और चुदाई करने के लिए कोई माल था नहीं.

बंगाली सेकसभाभी ने पूछा- क्या नया करना है?मैं खिड़की से सट के खड़ा हो गया, भाभी को मेरे पास खींचा और उन्हें किस किया. उधर बेबी रानी उसके कुचों को रगड़ते रगड़ते उसकी गांड जीभ से चोद रही थी.

चूत चाटने वाला सेक्सी वीडियो

खैर … मैं अपने घर अपने पैतृक गांव गई हुई थी, तो मैं अपने खेत घूमने को चली गई. मैंने कहा- नहीं … आज रात को साथ में सेक्स करेंगे और तुम्हारे ससुर के सामने करेंगे. थोड़ी देर बाद ही मोहित ने पूजा की शर्ट के बटन खोल दिये और उसकी शर्ट निकाल दी.

अपने नए जुड़े पाठकों से कहना चाहता हूँ कि अगर आपको इस सेक्स कहानी का पूरा मजा लेना है, तो इससे पहले की मेरी सेक्स कहानीदो बहनों के साथ थ्रीसम चोदन-1औरगर्लफ्रेंड की बहन की कामवासनाजरूर पढ़ें. इसी कशमकश मैं मेरी नींद लग गयी।कुछ देर बाद जब डोरबेल बजी तो मेरी नींद खुल गयी. मेरी चूत में से पानी निकलना शुरू हो गया लेकिन देवर जी की जीभ का अहसास मुझे और पागल कर रहा था; वे बहुत प्यार से मेरी चूत को चाट रहे थे.

मैंने दरवाजा खोला और पूछा- चाचा, आज जल्दी आ गये?कहने लगे- हां स्कूल में मन नहीं लग रहा था इसलिए चला आया. मेरे लण्ड के डिस्चार्ज का टाइम करीब आया और मेरे लण्ड का सुपारा संतरे की तरह मोटा हो गया तो मैंने कहा- हनी, मैं आ रहा हूँ, सम्भाल लेना. मेरे प्यारे मित्रो … मैं पहली बार कहानी लिख रही हूँ तो कोई गलती हो जाये तो माफ़ कर देना.

अब मुझे भी भाई का लंड चूसने और उसका पानी पीने में मज़ा आने लग गया था. जीजा जी- उनका नाम अविनाश है, उम्र 30 साल है, दिखने में सुंदर और मस्तमौला व्यक्तित्व.

फर्स्ट फ्लोर के एक बेडरूम में अम्मी और अब्बू तथा दूसरे में मैं और मुझसे तीन साल बड़ी मेरी बहन रुकैय्या सोते थे.

कुछ न नुकर के बाद मैंने धीरे धीरे सीमांशी की जांघों को सहलाना शुरू कर दिया. ब्लू फिल्में भेजोअब हम दोनों एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में एक दूसरे को चूम चूस रहे थे. जी सेक्स वीडियोउसके ब्लाउज और पेटीकोट के बीच का नग्न भाग काफी गोरा और सेक्सी दिख रहा था. ऐसे हम चारों मजाक मस्ती करते हुए हंस रहे थे, तो उधर वो चारों भी हंस रही थीं.

नताशा ने मेरे चूतड़ों पर थपकी देते हुए कहा- राज डार्लिंग, रेडी हो न!मैं- प्लीज़ धीमे.

मेरी पत्नी और सलहज के जाते ही मैंने पिज्जा ऑर्डर कर दिया और कोकाकोला की बॉटल व दो गिलास लेकर गिन्नी के बगल में बैठ गया. सीमा ने फिर कहा- क्यों प्रियंका को क्या प्रॉब्लम है?मैंने कहा- साली, तुझे ज्यादा मज़ा देना है न … इसलिए!और साथ ही मैंने सीमा को घोड़ी बनने को बोल दिया ताकि पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दूँ. मैंने दीपिका के घुटनों को फिर खोला और उसके सुलगते हुए गुलाबी छेद पर फिर से अपने होंठ रख दिये.

अपने कपड़े खोल कर दिखा दे कि ब्रा पेन्टी पहनी है, मैं तेरी बात मान लूंगा. ऐसा करने से बहू एकदम जोर से चीख पड़ी- पापा मुझे छोड़ो!उसकी आवाज कहीं पड़ोस में नहीं चली जाए, उससे पहले दोनों नितम्बों के पीछे एक हाथ से उसे साधे रखा … क्योंकि वो लम्बाई में मेरे से ठिगनी थी. उसने चूस चूस कर मेरे लंड को फिर खड़ा कर दिया और पैर चौड़े करके गिड़गिड़ाने लगी.

ગાન્ડ મારવાનો વિડીયો

फिर मैं उसके स्तन बारी बारी से चूसने लगा और दबाने मसलने लगा साथ ही उसके निप्पलस चुटकियों में भर करे नींबू की तरह हौले हौले निचोड़ने लगा. रानी के होंठों के दोनों कोनों से लार बहकर एक लकीर की सूरत में दिखाई दे थी. मैंने उनके नजदीक जाकर कहा- ये गलत है … औरतें का सीधे नीचे नहीं, धीरे धीरे पहले ऊपर.

मैं उसकी सुंदरता को निहार रहा था और वो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी.

उन्होंने लंड चूसना सिखा ही दिया था … बाकी मूवी में जो हो रहा था, वो सब मैंने करने की कोशिश की.

मेरे लिए यह नज़ारा काफी आनंददायक था कि एक तरफ राशि कुतिया बन कर अपनी गांड हिला हिला कर मुझसे चुदवा रही थी और वहीं दूसरी ओर पल्लवी अविनाश पर बैठी उछल उछल कर चुद रही थी. मुझे माफ़ कर दो।अरे मैं ना आता तो तू अभी चुदवा ही लेती न। अब रूक, तेरी मां को बताता हूं घर जाकर कि ये लड़की स्कूल में चुदवाने जा रही है, पढ़ने नहीं।”नहीं-नहीं, ऐसा मत करना, वरना कल से मेरा स्कूल आना बंद कर देगी मेरी मां। ये बात मेरे बाप को पता चल गई तो, वो तो मुझे जिंदा ही मार देंगे। मैं कसम खाती हूं, आज से उस लड़के से कभी नहीं मिलूंगी। जैसा तुम कहोगे वैसा ही करुंगी. ब्लू फिल्म देखना है हिंदी मेंहालांकि हम दोनों एक दूसरे को स्कूल के समय से ही जानते थे मगर चूंकि अब मैं भी जवान था और वो भी जवान हो रही थी तो इसलिए इन सब बातों की तरफ अनायास ही मेरा ध्यान चला जाता था.

उनके सामने बैठते हुए अपने लंड को चूत पर सैट करते हुए हुम्म किया और बाबू का लंड अन्दर घुस गया. उसने अपना गिरा हुए पल्लू को समेटना चाहा, तो रोहित ने पल्लू को पकड़ लिया और बोला- भाभी प्लीज इसे खोल दो ना. हालांकि इतना टाईम कभी नहीं मिलता था कि कुछ ज्यादा कर पाएं … पर हम ज्यादातर किस विस कर लेते हैं.

उसके बाद मैं जितने दिन गाँव रहा और जब भी मुझे गांव जाने का मौका मिला, हम दोनों चुदाई कर लेते थे. मैंने भाभी के सामने गुलाब का फूल आगे कर दिया और आंखें खोलने के लिए कहा.

उसने अपनी दोनों टांगें क्रॉस करके मेरा सिर अपनी चूत पर दबा दिया और कुछ देर बाद उसने झटके से अपनी गांड उठायी और ‘आ आ आह.

फिर एक उंगली मेरे दोनों नितंबों के बीच से होते हुए मेरे नीचे तक ले जाती और ऊपर नीचे करती. हमने जल्दी जल्दी एक दूसरे को संभाला और अपने अपने कपड़े ठीक करके बैठ गए. मैं भी मुस्कुरा कर निकल लेता।एक दिन जब हमारे आस-पास कोई नहीं था वो मेरे सामने ही साड़ी के ऊपर से ही अपनी चूत खुजलाने लगी।यह मेरे लिए साफ इशारा था कि उसकी चूत अब लण्ड मांग रही है.

सेक्सी चुदाई हिंदी मूवी और मैं सिर्फ़ सुपारे को ही बाहर निकाले बिना अन्दर ही अन्दर हिलाने लगा। कुछ देर में सपना को भी अच्छा लगने लगा. अब आगे:कुछ देर बाद मैंने कोमल की चुत से लंड निकाल कर उसे घोड़ी बना दिया और कोमल गांड हिलाते हुए लंड का इन्तजार करने लगी.

”हट!”ऐ जान! मेरी गोद में बैठ जाओ ना?”और फिर वह मनमोहक मुस्कान के साथ बड़ी अदा से मेरी गोद में आकर बैठ गई।मेरा लंड तो उसके गोल नितम्बों के नीचे दब कर जैसे निहाल ही हुआ जा रहा था। दूध पीने के दौरान मैं उसके गालों को भी चूमता रहा और उसके उरोजों को भी मसलता रहा। नताशा को भला कोई ऐतराज कैसे हो सकता था वह तो सम्मोहित हुई बस आह … ऊंह करती रही।प्रेम, खाने के बारे में क्या विचार है?”भई जो बनाओगी खा लेंगे. थोड़ी देर में वो शांत हो कर अपना हाथ ढीला करते हुए बेड पर गिर पड़ी, पर उसकी कमर अभी भी मेरी कमर से सटी हुई थी … जिस कारण से मेरा लंड अभी भी चूत के अन्दर था. मैंने उससे कहा- रानी अब अगर किसी को मालूम पड़ गया, तो फिर मैं आज की पूरी वीडियो बना कर अपने मोबाईल में रखूंगा.

हिंदी चुदाई वाली फिल्म

पिंकी अपनी गांड उठाते हुए कहते जा रही थी- आह … अंकल और जोर से … और जोर से …वो अपने हाथ से भी मेरी कमर को सहारा देकर मुझे बता रही थी कि लंड को किस तरफ से अन्दर करने पर उसे ज्यादा मजा आ रहा था. तो मैंने दोहराया- फिर और कौन?इस पर प्रतिभा ने एक लफ्ज भी नहीं कहा और मुस्कुरा कर अपने कमरे में चली गई. फिर उनके धक्के इतने तेज हो गये कि चूत में लंड का प्रेशर बर्दाश्त के बाहर हो गया.

पर छोटा लंड भी इतना दर्द करेगा ये मैंने सोचा नहीं था। मैं ये खुशी फील करना चाहती थी. एक दिन कॉलेज के ट्रिप पर हम सब गोवा गए थे और उधर हम दोनों ने एक ही रूम शेयर किया था.

रिया इतनी गर्म हो गयी कि उसकी सिसकारियां कमरे की दीवारों को जैसे तोड़ने पर उतारू हो गयीं.

और तुम दोनों किस विषय पर बातें कर रही हो?फिर मैंने मनु से कहा- और तू कमीनी ये सब कैसे जानती है?मनु ने मुस्कुरा कर मेरा कान पकड़ते हुए जवाब दिया- परमीत जो बता रही है, उसे मासिक धर्म का आना कहते हैं. मुझे माफ़ कर दो।अरे मैं ना आता तो तू अभी चुदवा ही लेती न। अब रूक, तेरी मां को बताता हूं घर जाकर कि ये लड़की स्कूल में चुदवाने जा रही है, पढ़ने नहीं।”नहीं-नहीं, ऐसा मत करना, वरना कल से मेरा स्कूल आना बंद कर देगी मेरी मां। ये बात मेरे बाप को पता चल गई तो, वो तो मुझे जिंदा ही मार देंगे। मैं कसम खाती हूं, आज से उस लड़के से कभी नहीं मिलूंगी। जैसा तुम कहोगे वैसा ही करुंगी. मैंने उसे बोला- अमन नहीं, राज कहो!नीरा चरम पर थी उसने ‘राज और तेज करो … राज चोदो मुझे! अहह!’ करते हुए स्खलन कर दिया.

नताशा की मादक आवाजें पूरे कमरे में गूंजने लगी थीं और उधर आकाश मेरी दीदी के बदन से खेलने में लगा था. मेरी पिछली पारिवारिक चुदाई की कहानीमौसी की चुदाई:में आपने पढ़ा कि उत्तेजनावश किस तरह रोहित ने मेरी जांघों को चोद कर अपने लण्ड को शांत किया।अब आगे:कुछ देर बाद जब डोरबेल बजी तो मेरी नींद खुल गयी. दीपिका की चीख निकल गई और वो बोल पड़ी- उई माँ!! इत्ता बड़ा और मोटा!! असली है क्या?मैंने कहा- छू कर देखो.

बिना उसे बर्बाद किए, वो अपने मुँह में पूरा डाल लेने की कोशिश कर रहे थे.

देसी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ: उस रात मैंने अम्मी के साथ व्हिस्की का मजा भी लिया और अम्मी ने मुझे सिगरेट भी पिलाई. जीजू ने कहा- एक दिन पहले बता देना तो मैं आ जाऊंगा।और जीजाजी वापस चले गये।कोई 20 दिन के बाद नज़मा के मामू के यहां पर कोई प्रोग्राम था तो उसके अम्मी अब्बू वहां गए और नज़मा की एग्जाम होने की वजह से उसे नहीं लेकर गए। और उसके पास रहने के लिए मुझे बोल कर गए।जैसे ही उसके अम्मी अब्बू गए तो मैंने जीजाजी से बात कर ली और कहा- आज मौका है मेरी सहेली का काम करने का!तो जीजाजी ने कहा- मैं रात को 10 बजे आ जाऊंगा.

आपको मेरी स्कूल फ्रेंड की हिंदी में सेक्सी कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपने मेल जरूर भेजें. चुत को चाट चाट कर मैंने पूरी साफ कर दी … साथ में एक उंगली उसकी चूत में डाल कर हिलाने लगा. पर मैंने हाथ हटा लिया और उससे कहा कि साले तुम बहुत ठरकी हो … मुझे क्या गर्लफ्रेंड समझ लिया है.

जब मैं उसके बताए पते पर पहुंचा, तो मालूम हुआ कि ये पता उस अपार्टमेन्ट का था, जहां वो रहती थी.

उसके बाद दूसरे चरण में श्लोक (मेरी बीवी का भाई) यानि मेरा साला आया, जो अपनी बीवी के साथ याराना में शामिल हो गया. फिर मैंने बिना रुके ताबड़तोड़ आठ दस धक्के पूरी ताकत से साली जी की चूत में और लगा दिए ताकि चूत अच्छे से खुल जाये. मगर मुझे क्या पता था कि मेरे वापस आने पर मुझे एक नयी चूत मिल जाएगी.