नेपाल वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी एचडी लड़कियों का

तस्वीर का शीर्षक ,

कृपा सेक्सी पिक्चर: नेपाल वीडियो बीएफ, इतना सुनने के बाद रवि मुझे बोले कि तुम बहुत सुंदर लगती हो और हो बहुत छोटी पर तुम्हारे नैन नक्श सब किसी मर्द को पागल कर दें.

डॉक्टर और नर्स

मैंने उसे तुरन्त ही अब अपने मुँह में भर लिया और जोरों से चूसने लगा. अंग्रेजी सेक्सी फुल एचडीमेरी कोई हरकत ना देखते हुए उसने मेरे बाल पकड़ कर अपनी चुत मेरे मुँह पे रगड़ना शुरू कर दिया.

उसके बाद वे खड़े हुए और मेरे पास आकर बोले- अरे वाह अन्नु … रेशमा ने तुझे कैसे तैयार किया है मेरे लिए. బిఎఫ్ డౌన్లోడ్मैं चुदासी सी बोल उठी- जेठ जी … यार अब मत तड़पाओ, मेरी चुत कब से आप के लंड के लिए तरस रही है.

लंड को जीभ से ऊपर से नीचे तक धुलाई करने के बाद नीना ने अपने गले में उतार लिया.नेपाल वीडियो बीएफ: मेरी बुआ का लड़का, जिसकी शादी 2 साल पहले ही हुई है, वो हैदराबाद में चार मीनार के पास में रहता है.

मैंने पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पे किस किया, तो नैना सिहर उठी और आह करने लगी.जगत अंकल ने कर में ही मुझे अपनी गोद में बिठा कर अपने लंड को मेरी चूत में पेल दिया था.

फुल सेक्सी - नेपाल वीडियो बीएफ

फिर जगत अंकल ने पीछे तरफ से मेरी स्कर्ट को ऊपर उठा दिया, तो मेरी गांड तक मैं बिल्कुल नंगी सी हो गई.मैंने कहा- ठीक है मम्मी जी!तभी मम्मी बोली- मैं तुम्हें मिस काल कर दूँगी!और चली गईं.

मामी को लगा मैं सो रही हूँ।मामी ने आवाज़ भी दी मुझे- अन्नु …मैं कुछ नहीं बोली. नेपाल वीडियो बीएफ मैं बाथरूम में घुस गया और गरम पानी बाल्टी में डालकर कपड़े उतार कर अपने लंड महाराज को आजाद कर दिया.

मेरी पानी का जोर इतना था कि उसकी वजह से उनका लंड चुत से सटक कर बाहर आ गया.

नेपाल वीडियो बीएफ?

दिन में एक दो बार मैं उसे लंड चुसवा ही देता और अपना माल उसके मुँह में ही निकालता, जिसे वो पी जाती. उसने छटपटा कर मुँह से लंड निकालने की कोशिश की, पर मैंने उसका सर कस कर पकड़ रखा था. उसको शादी में जाने तो नहीं मिला, लेकिन उसी वजह से शादी वाले दिन खाली घर में उसी के बिस्तर पर उसकी धुआंधार चुदाई का मजा हम दोनों ने दो बार उठाया.

मैंने उनको चूमा तो चाची फिर बोलीं- अच्छा ये बता तुझे कैसा लगा?मैंने कहा- चाची मुझे तो ऐसा लग रहा था. मैंने उससे कहा- तुम जे बी टी कर सकती हो, मैं आसानी से भोपाल में तुम्हारा दाखिला करवा दूंगा. उसने चुदास भरे स्वर में कहा- डार्लिंग अब बस भी करो … और जल्दी से अपना मूसल मेरी चुत में डाल दो.

पर छत्तू का लंड इतना मोटा था कि मुझे अन्दर से थोड़ा डर लगा, पर चुदने का मन इतना ज्यादा कर रहा था कि रहा नहीं जा रहा था. ऐसा करने से उनके मुँह से एक लंबी आह निकली और एक बड़े झटके के साथ लंड मेरे कलेजे तक पहुंच गया. रवि करीब 6-7 मिनट तक मेरी जम के चुदाई करते रहे और फिर एकदम से बोले कि वन्द्या पोजीशन चेंज कर ले.

हम बाहर मिले और शाम के वक्त मैंने उसके चूचों को दबा दिया और उसके होठों पर किस भी कर दिया. वास्तविकता भी ये थी कि हम दोनों लोग एक दूसरे के साथ सेक्स करना चाहते थे.

बहरहाल मनीषा की सलाह पर नीना ने अपनी चूत में अन्दर-बाहर चारों ओर दिन में चार-पांच बार बोराप्लस क्रीम को रब किया और साथ ही ब्ल्यू इंक भी लगाई.

मैंने धीरे से उसे बेड पे लिटाया, उसने झट से अपनी करवट बदल ली और दूसरी तरफ घूम कर लेट गयी.

मैंने देखा कि भाभी ने एक गाउन पहना हुआ था जिसमें उनका क्लीवेज बिल्कुल साफ-साफ दिखाई दे रहा था. सोनल के कमर के हिलने की स्पीड बढ़ती जा रही थी, जोर ज़ोर से उसके नितम्ब दादाजी के बदन पर टकरा रहे थे. सरोज चाची के गहरे गले के ब्लाउज से पल्लू के हट जाने से उनके गोरे गोरे मम्मे उनके जल्दी जल्दी पेंट साफ़ करने की वजह से मस्ती से हिल रहे थे.

वह उठी और अपनी साड़ी से चूत को पौंछते हुए उसे नीचे की और फिर नीचे बैठ गयी. मैंने दो पल रुक कर उनको सम्भलने का मौका दिया और तेज स्पीड से लंड को सरोज चाची की चूत में भेदने लगा. दादाजी ने अपने अंगूठे और उंगली से सोनल की चूत की पंखुड़ियां खोलीं, तो सोनल की चूत का दाना उनके सामने आ गया.

मैंने हल्के से तुम्हारे गालों को प्यार से छूकर अपने होंठों से चुम्बन लिया.

उसने मुझसे पूछा कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड है?तो मैंने उसको बोल दिया कि अभी तक तो कोई नहीं है. उसने अनु से बोला- चल रे साली कुतिया रंडी … मादरचोदी वेश्या … आज तुझे जन्नत की सैर कराऊंगा …उसने अनु की चूत में लंड को बड़ी जोर से आगे पीछे करना शुरू कर दिया. इस आसन में वो मुझे अपने ऊपर लाया और उसके बाद मुझे अपने लंड पर बैठा कर मुझे चोदने लगा.

उन्होंने चुदासी सी आवाज में कहा- नहीं, पानी डालने से फफोले आ सकते हैं. वो मुझसे अब मुझसे बोल रही थी- बेटा, अब न तड़पा … और अंदर डाल के इस निगोड़ी की सारी गर्मी मिटा दे!फिर उसने खुद ही अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत के मुँह पर सेट किया और मुझे अंदर पेलने को कहा. मैंने भाभी के पाँव को थोड़ा खड़े-खड़े खोला और उनकी चूत और चूतड़ों पर अच्छे से हाथ फिराया और फिर जमीन पर बैठ कर चूत को मुंह और जीभ से चाटने लगा.

उस दिन वह मुझसे अपने दोस्त के फ्लैट में मिलना चाहता था तो मैने भी हाँ कह दी.

अब मेरी बहन ने लंड को अपने मुँह के करीब किया और धीरे धीरे लंड का सुपारा चाटने लगी. मेरे मन में तो चोर घुसा हुआ था, मेरी गांड फटने लगी थी कि कहीं सरोज चाची मेरी मम्मी से कह न दें.

नेपाल वीडियो बीएफ यूं तो कभी सोचा न था कि सबकी गर्म गर्म कहानी पढ़ते पढ़ते एक दिन अपनी खुद की कहानी लिखूंगा. मैंने फिर से खिड़की को खोल लिया था और उसी के कमरे की तरफ बड़ी आशा भरी निगाहों से देखता हुआ लंड हिला रहा था.

नेपाल वीडियो बीएफ फिर जब भाभी से रहा नहीं गया तो उसने मुझे नीचे पटक लिया और मेरे अंडरवियर को नीचे खींच कर एकदम से मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया. मैंने सोचा कि कुछ पैसे आदि की बात से परेशान हैं तो मैंने कहा- भाभी सब ठीक हो जाएगा.

मेरी और नेहा की दोस्ती स्कूल के समय से है, वो और मैं हमेशा से एक दूसरे के राजदार रही हैं, पर हमने कभी एक दूसरे के साथ मजे लेने का नहीं सोचा था.

पेशाब करती हुई औरत

मैंने उसे यह बात बड़ी मुश्किल से समझाई कि ये सब इत्तेफ़ाक़ से हो गये. उसके बाद मैंने उसकी शर्ट के बटन खोल दिए और उसकी छाती पर किस करने लगी. वो ऊपर चला गया और उसके जाते ही मेरे आंसू आ गए, जो रुक ही नहीं रहे थे.

मैंने अब चाची की चूत की फांकों को खोलकर उसकी चूत के अंदर अपनी जीभ डाल दी. और फिर अपने आप मेरी आंखें बंद हो गयी, मैं उस लम्हे में डूब गयी।फिर मैं और वो एक दूसरे के होंठों को चूस रहे थे। लगभग दो मिनट तक मुझे किस करने के बाद उसने मुझे छोड़ दिया। मैंने आँखें खोली, अब मेरा डर निकल चुका था और मैं मुसकुराते हुए नीचे देख रही थी।हर्षिल बोला- यार तुम इतनी मासूम सी हो दिखने में … कि ज़बरदस्ती करने का दिल नहीं कर रहा।और मैं मुस्कुरा दी।कहानी अगले भाग में समाप्त होगी. भाभी मस्ती में लहरा उठी और उसने अपनी चूत कस ली और बड़बड़ाने लगी- हां.

मेरी आयु तेईस साल की है मेरा बचपन से ही दूसरे धर्म की भाभियों और लड़कियों में बीता और मैं उनमें ही ज्यादा इंट्रेस्टेड रहता था.

क्या मस्त लड़की थी तुम? जैसे ओस की पहली बूंद, जो सवेरे सवेरे घास के पत्तों पर हल्के से गिरती है. महेश ने मेरे पीछे खिसक कर मुझे अपनी गोदी में लिटा लिया और मेरा सर अपनी गोदी में रख लिया. नेहा आंटी की वो सेक्स के लिए उत्तेजित करने वाली दवाई ने अपना कमाल दिखा दिया था.

ये सब देविका मैडम के जीवन का भी पहला अनुभव था जब उसने किसी गैर मर्द को अपना आशिक बना लिया था. मैंने भी अब पूरे जोश में आकर उसकी चूचियों को चूसना शुरू कर दिया मानो आज ही उनका सारा रस निचोड़ कर पी जाऊंगा. मैंने इधर उधर देखा, दादाजी के रूम का दरवाजा खुला हुआ था और अन्दर से टेबल लैंप की लाइट बाहर आ रही थी.

मैं नीचे लेट गया और सोनू को अपने ऊपर चढ़ा लिया और उसे बोला कि मेरे लंड को अपनी चूत में घुसा कर मेरे ऊपर लेट जाए. फिर से गाउन नीचे कर देती … ये सोच कर कि न जाने कब दोनों में से किसी की नजर मुझ पर पड़ जाए.

इस वक्त मैंने उसके लंड को अपने मुँह से निकाल दिया था और बस अपनी चूत चटवाने का मजा ले रही थी. उन्होंने खींच कर मेरी समीज और टी-शर्ट भी ऊपर करके जल्दी से उतार दिया. उसके बाद मैंने अपनी चूत में उंगली की लेकिन मैं शांत नहीं हो पाई थी.

मैंने भी अपनी चूत को खोल सा दिया, ताकि मुझे भी जीजा जी की उंगली का मजा अपनी चूत में मिल सके.

मैंने सोनू से कहा- सोनू हम अपनी फ्रेंडशिप की शुरुआत कैसे करें?सोनू ने कहा- मुझे नहीं पता, आप ही बताओ?मैंने कहा- ठीक है, पहले हाथ मिलाओ और फिर खड़ी हो जाओ. पति ने मेरी गांड में उंगली करना शुरू की, जिससे मुझे शुरूआती दर्द हुआ, पर तेल से सनी उंगली ने मेरी गांड में अन्दर तक जाकर मुझे गुदगुदी करना शुरू कर दी. मेरी तो जान निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मगर उसने कुछ देर का विराम दे दिया.

प्रिया से ऐसी हरकत की मुझे कोई उम्मीद ही नहीं थी, वो जोरों से मेरे गालों व होंठों को चूमे जा रही थी और मुँह से!ऐसा क्या है उसके पास हैअंअंअं … है … अंअं …हअं … ऐसा क्या है … बोल‌अ …बोलअ … क्या है? उसके पास जो, मेरे पास नहीं … हैअंअं?”वो कांपती हुई आवाजें निकालते हुए सिसक रही थी. अब उसने अपनी छाती खोल के बच्चे को दूध पिलाना शुरू किया, बच्चे के दूध चूसने की आवाज मेरे कानों में आ रही थी.

दस मिनट में उसने मेरे लंड का पानी निकाल दिया और वह मेरे लंड का सारा पानी पी गई. अभी तू जिस पोजीशन में है, सिर्फ तुझे देख कर ही मैं पागल हो रहा हूं वन्द्या, तू बड़ी मस्त लगती है. कुछ देर बाद अंकल ने अपना लंड निकाला और अरुणा के मुँह को पकड़कर उस पर सारा माल झड़ा दिया.

सोकसीवीडीयो

लेकिन फिर भी मैं उससे बात न कह पाया, न ही उसने मुझसे कोई ऐसे बात कही, जिससे मुझे लगता कि वो मुझमें रुचि ले रही है.

मेरे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था तो मैंने मामा जी पूछा इसके बारे में तो उन्होंने बताया कि शादी का बाकी प्रोग्राम भवन में है इसलिए सभी को भवन जाना है. उसकी स्लिम, चिकनी और एकदम फेयर बॉडी देख कर बुड्डों का भी लंड खड़ा हो जाए. मैं अब धीरे से उठकर नेहा के ऊपर आ गया और उसके नंगे बदन से किसी जौंक की तरह चिपक गया.

करीब 5 फुट 5 इंच की लम्बाई और 34सी के चूचों के साथ मालिनी 23-24 साल की लड़की लग रही थी. मैंने अपना लंड भी बाहर निकाल लिया था, तो एकता अपने हाथों से उसे भी ऊपर नीचे कर रही थी. सेक्सी सेक्सी पिक्चर व्हिडिओइसलिए भाइयो, किसी से दिल मत लगाओ, जो मिले उसे चोद लो या उससे चुद लो.

अब मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी क्योंकि मैं अरुणा से बहुत प्रेम करता था. मैंने रमेश को पास वाली टेबल पर बैठकर नजारा देखने के लिए कहा और रमेश ने हां में सर हिलाते रूपा की साड़ी उठाई और चुपचाप बैठ गया.

क्योंकि चुदाई की मस्ती के चलते ये होश ही था कि लंड का रस और चूत की मलाई किधर टपक रही थी. हम दोनो के मुँह से सिसकारी निकलती मगर वो झूले के घूमने की आवाज की वजह से कोई नहीं सुन पाता था. उन्होंने मेरा लौड़ा पकड़ लिया, तो उनको पेंट के अन्दर से लंड तम्बू बनाये हुए लंड मजा देने लगा.

जी … अच्छा लग रहा है!” मैंने जवाब दिया और फिर से उनके मेरे होंठों पर लंड रखते ही मैंने अपने मुँह को खोल लिया. फिर मैं ही उठ गई किधर गयी चुड़ैल…” मैं मन ही मन उसे गाली देते हुए उसे ढूंढने लगी. मैं तड़पने लगी, दर्द से छटपटाने लगी, बहुत तेजी से दर्द हो रहा था, मेरी आंखों से आंसू निकलने लगे.

पुष्कर मेले में घूम कर हम अजमेर के फेमस होटल से खाना पैक करवा कर अपने फ्लैट पर आ गए.

ठंड का दिन था, तो थोड़ी बहुत उसने हंसी मजाक भी किया, जो मुझे बुरा नहीं लगा. मैंने देख कर बोला- ब्यूटीफुल!मैंने धीरे से बारी बारी उसके निप्पलों पे किस किया.

मैंने उससे कहा कि कोई बात नहीं … तू अनिल से सब कुछ कर, मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं … पर तुझे मेरी दो शर्त माननी होगी. अब मैंने उसकी आदत ऐसी बना दी है कि वह अपनी चूत में 2 लंड लेकर एक गांड में भी ले लेती है, मतलब मेरी बीवी अब एक साथ 3 लंड भी ले सकती है. उसके बाद उसने जो जोरदार धक्के लगाने शुरू किये, वो मज़े मैं बता नहीं सकता.

मैंने सोनू से कहा- सोनू हम अपनी फ्रेंडशिप की शुरुआत कैसे करें?सोनू ने कहा- मुझे नहीं पता, आप ही बताओ?मैंने कहा- ठीक है, पहले हाथ मिलाओ और फिर खड़ी हो जाओ. वास्तव में प्रशांत के गदहलंड की धक्कमपेल से बेचारी नीना की चूत का भुर्ता बन गया था. होंठों को चूसते हुए मैं उसके गोरे चिकने नंगे बदन को भी सहला रहा था, जिससे उसकी सांसें अब फिर से भारी होने लगीं.

नेपाल वीडियो बीएफ कोई दस मिनट उसको चोदने के बाद वो ज़ोर ज़ोर से बोलने लगी और मुझे खींच कर चिपकाने लगी, उसके नाखून मेरी पीठ में चुभ रहे थे. कल भी मेरे पति घर से बाहर रहेंगे, आप कल रात का खाना खाने घर आ जाना.

पुलिस वाले की चुदाई

मैंने मुस्कुराते हुए उससे कहा- अरे रूपा डार्लिंग जरा यहां खड़ी हो जाओ. एक बार मैंने जेठ जी के ऊपर बैठ कर उन्हें जम कर चोदा, तो जेठ जी ने भी खड़े खड़े मुझे दीवार से सटाकर चोद डाला. मैं हैरान हो गयी कि मम्मी गुस्से नहीं हुई बल्कि मुस्कुरा के बोलीं- मेरे ये क्यों देख रहे हो, तुम्हारे पास तो एक गर्लफ्रैंड है न.

आह्ह … उई माँ … आह्ह … कहते ही भाभी की चूत ने एक बार फिर से पानी छोड़ दिया. मैं समझ गया कि बेटा मुदित तेरा काम तो हो गया, तू अपना बोरिया बिस्तर समेट ले और यहां से निकल ले. लैंड मोटा करने की दवाईउसकी कमर मेरी जीभ के साथ चलने लगी, उह आह … की आवाजें कमरे में गूंजने लगीं.

मैं भी झड़ने वाला था … तो मैंने नेहा आंटी की गर्दन पकड़ कर बोला- चल अब मेरा लंड चूस.

आप सभी तो जानते ही होंगे, हरियाणा की लड़कियां क्या गोरी चिट्टी और भरे पूरे बदन की होती हैं. हमें देखते ही एकदम एकता की तरफ बढ़ कर उसे गले लगाया और बोली- ओ माय स्वीट भाभी … कितने दिन लगा दिए इंदौर में, यहाँ मैं अकेले बोर हो रही थी.

मैंने साथ ये भी कहा कि मैं जल्दी ही कंपनी को बोल कर किसी दूसरी सोसाइटी में फ्लैट ले लूँगा ताकि बात यहीं दब जाए. आनन्द से मेरे दोनों हाथ अब अपने आप ही सुलेखा भाभी की पीठ पर से रेंगते हुए उनके बड़े बड़े और गोलाकार नितम्बों पर आ गए. मैं- शर्म नहीं आती है भतीजे से चुदवाने में?चाची- अगर शर्म करती तो ऐसी चुदाई कहाँ से करवा पाती.

बस तेरे दूध थोड़े छोटे हैं पर आज रात ही उन्हें दबा दबा कर बड़ा कर देंगे, तू चिंता मत कर!वो मेरी नाभि में अपनी उंगली चलाने लगा और एक हाथ से मेरे दूध दबाने लगा.

अचानक वो मेरे पास आई और मुझसे बोली कि आशु क्या तुम मेरी स्टडी में मेरी मदद कर सकते हो?मैं मन ही मन खुश हुआ, जिसे मैं हर रात अपने सपनों में चोदता था, आज वो ही मेरे पास आई है. वह कोई न कोई बहाना बनाकर बाहर निकलती थी और मेरे कमरे की ओर देख कर वापस चली जाती थी. मैंने कहा- हां पता तो है, मगर जो तुम्हारे पास वो तो मुझे भी नहीं पता.

लिंडसे लोहानमैंने भी हंस कर उसे चूमते हुए उसकी रेशम सी चिकनी नंगी जांघों पर हाथ चलाने लगा. हमें ये भी नहीं पता था कि मेरे बेडरूम की खिड़की और दरवाजा दोनों खुले रह गए थे.

चोदो मुझे

क्योंकि दूसरी बार की चुदाई से पहले कुछ देर तक हम दोनों ने ओरल सेक्स का मजा सोफे पर बैठ कर लिया था. मैंने कहा- जो करना है, यहीं कर लो, ये तो अब इसकी मर्ज़ी से ही बाहर आएगा. हम फ्लैट के अन्दर आ गए तो उसने मुझे पानी दिया और मुझे अपनी स्टोरी के बारे में थोड़ा बताया कि उसने शादी के बाद पति की काम शक्ति से मायूस होने पर अपने देवर को पटा लिया था, पर उसका लंड भी छोटा निकला, जिससे उसको संतुष्टि नहीं मिली.

उसके बाद जब सोनू खड़ी हो गई तो मैंने खड़े होकर उस को बांहों में लिया और उसे होंठों पर किस कर लिया. मैंने लंड बाहर खींच लिया और उसको घोड़ी बना कर उसके पीछे से लंड डालकर चूत में लंड के धक्के देने लगा. फिर उसने कहा- मैंने एक कहानी पढ़ी थी, उसमें एक आदमी अपनी बीवी को दूसरे मर्द से चुदवाता है.

मुझे भी नहीं पता, वैसे भी जगत अंकल का लौड़ा इतना बड़ा नहीं था, फिर भी मेरी चूत बहुत टाइट थी. जैसा सोनू बताया करती थी उससे तो कहीं ज्यादा सुंदर थी उसकी मां देखने में. उसके चुचे मेरे दोनों हाथ में मानो दो गेंदें हों, इस प्रकार समा गई थीं.

बलवंत के साथ बिताई रात जितनी खतरनाक थी ( पढ़िये मेरी कहानीवह खतरनाक शाम) उतनी ही हसीन इसके साथ बिताई वह रात थी, रात के बीतते हर प्रहर ने मुझे भी तृप्त किया और उसे भी. और मैं उंगली जोर जोर से उसकी चूत में घुसाने लगा उसके कपड़ों के ऊपर से.

मैंने कई बार कोशिश भी की कि उसको अपना लंड चुसा दूँ लेकिन वह हमेशा मुझसे यह कहकर मना कर देती थी कि उसको लंड मुंह में लेना पसंद नहीं है.

हम दोनों जोश में थे, तब उन्होंने मुझसे बोला- मनीषा आज तो दो हो जायें?मैं उनका इशारा समझ चुकी थी, मैंने ना में इशारा किया।परंतु वे नहीं माने. कुलधरा गांव की फिल्मआनन्द भी मेरे जैसे उसकी चूत में उंगली डालकर उसका पानी निकाल रहा था. भोजपुरी गाना दीजिए तोआज मेरी छुट्टी है, आपके बेटे और बहू बच्चे को लेकर डॉक्टर के पास रूटीन चेकअप के लिए गए हैं. पापा घर पर थे नहीं!फिर उस समय दिन में तो हम लोगों ने कुछ नहीं किया.

अब फिर से मैंने उसकी चूत के मुहाने पर अपने लंड का सुपारा लगाया हल्का सा अंदर दबाया इस बार चिकना होने की वजह से मेरा सुपारा पायल की चूत के अंदर समा गया.

अब वो आह आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… अया आह … की आवाज़ निकालते हुए चुदाई के मज़े ले रही थी. मेरा खोलना ही हुआ की उन्होंने मेरी अंडरवियर में हाथ घुसाते हुए मेरी चिकनी गांड को सहलाना शुरू कर दिया. फिर मैंने उससे पलंग पर उल्टा लिटा कर उसके हाथ मोड़ कर उससे चोदने लगा, इस आसन में वो एकदम से मजे में आ गई और सीत्कार भर कर बोल रही थी- आह.

लंड क्या घुसा, स्वीटी बड़ी जोर से चिल्लाई- आइइइई मर … गईइ रॉकी … साले मेरी चूत फट गईइ …वो जोर जोर से रोने लगी. जब मैं उसके सीने पे किस कर रहा था तो नैंना मेरे बालों में हाथ फिराने लगी. महेश अभी मुझे बहुत मस्त चोद ही रहा था कि अचानक अन्दर रूम में दो बहुत हट्टे कट्टे लोग आ गए और पीछे से सुनील भी आ गया.

बोलने के लिए क्या दवाएं

हम दोनों ही एक दूसरे के होंठों को चूसते हुए अब अपने अपने अंगों के रस का स्वाद ले रहे थे, जो कि अजीब तो था मगर काफी उत्तेजक भी लग रहा था. हम सब रेलवे स्टेशन पर मिले, मैंने सबका अभिवादन किया और पियू को भी हेलो कहा. तभी मुझे खिड़की पर किसी के होने का आभास सा हुआ, जिससे मेरी नजर खिड़की पर चली गयी, जो कि हल्की सी खुली हुई थी.

चुदाई के बाद जो सुकून और संतुष्टि उसके चेहरे पर थी, वो मैंने इससे पहली कभी नहीं देखी थी.

मुझे कुछ देर दर्द हुआ पर गांड का कोरापन खत्म होते ही मुझे बहुत अच्छा लगने लगा था.

वह बोले- वन्द्या, तू बहुत गर्म लड़की है, आज तुझे चोद चोद के एकदम मस्त कर दूंगा. उसने जब तक पूरा डिल्डो मेरी चूत में ना घुसेड़ दिया, तब तक चैन नहीं लिया. हिंदी सेक्सी पिक्चर चाहिएमुझे चोदने के इरादे से आये हुए मेरे जेठ जी ने अन्दर अंडरगारमेंट्स भी नहीं पहने हुए थे.

मुझे उसकी चूत बड़ी टाइट लगी, मैंने जैसे तैसे दो इंच लंड उसकी चूत के अन्दर किया. इस तरह के अवसर जब बार बार पड़ने लगे तो मैं और मेरी सहेली के पति में अच्छी दोस्ती हो गयी. मैंने भी सोचा मौका है, मैंने मालिनी को बांहों में लिया और कहा- मालिनी तो मेरी जान है.

मेरे भी मुर्दा पड़े लंड में अब जान आने लग गयी थी और आये भी क्यों नहीं? प्रिया के जैसी कमसिन नवयौवना के दूध जैसे सफेद उन्नत उभारों को देखकर तो किसी बूढ़े के लंड में भी जान आ जाए, फिर मैं तो जवान हूँ. जब चाची से और ज्यादा बर्दाश्त नहीं हुआ तो चाची ने मुझसे बेडरूम में चलने के लिए कह ही दिया.

यह देखकर उन्होंने अनुप्रिया के बूब्स पकड़ लिये और चूसने लगी और उसी अवस्था में बेड पर आकर गिर गयी दोनों!मैं उठी और मैंने दरवाजे को बन्द किया.

कुछ देर बाद मैंने उनकी मेक्सी में अपना एक हाथ डाल दिया था मैं अब उनके बूब्स को महसूस करने लगा था. मैंने अब देर ना करते हुए अपने सुपारे को सही से उसके प्रवेशद्वार पर लगाया और एक जोर का धक्का लगा दिया. वंदना ने मेरे पास आकर मुझसे पूछा- तुम परेशान क्यों देख रहे हो?तब मैंने उससे कहा- कल ही तो मिली हो और आज ऐसे छोड़ कर जा रही हो.

उदयपुर सेक्सी वीडियो तभी पीछे से जो मियां अंकल थे, उन्होंने भी मेरे कूल्हों को फैलाकर अपना लंड मेरी गांड में डाल कर अन्दर तक पेल दिया. पर असल में अरुणा को मजा आ रहा था उसने अपना हाथ अंकल के शरीर पर रख दिया था.

ठीक 9 बजते ही नेहा तो स्कूल चली गई, पर मैं मकान मालकिन के जाने का इंतजार कर रहा था. मैंने उसकी पैंट को खोलकर उसे नीचे खींच दिया और उसकी फ्रेंची में तना हुआ उसका बड़ा सा लंड मेरी आंखों के सामने आ गया. मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ तो एक दिन मेरे बॉस ने कहा कि तुम्हें कल ही कोलकाता के लिए निकलना पड़ेगा.

एक्स एक्स एक्स डाउनलोड वीडियो

मैं- ये तो बताओ … क्या क्या तैयारी की?नूपुर- मैंने बाल हटाये हैं, कमरे की सफाई की है और आपके लिए कुछ बनाया भी है … और भी बहुत कुछ किया, लेकिन आपने मेरे दिल तोड़ दिया. इस तरह से मालती और मैं घर से बाहर निकले और एक होटल में जाकर कॉफी पीने के लिए बैठ गए. दोनों तरफ से खून निकल आया है, पर तू सिर्फ 20 मिनट में ही फुल गरम हो कर रेडी हो गई.

यह कहते हुए वह तुरंत नंगा हो गया और उसने मेरी नाइटी भी उतार कर फेंक दी. उस दिन जब उनका फोन आया, तो हम दोनों ने बात बात में मूवी जाने का पक्का कर लिया.

मेरी बीवी नीना तो इतनी उदार दिल की मालकिन है कि जब भी कोई अजनबी तक उसकी चूत के करीब आया, तो वह प्रशांत की ‘चक्की’ स्टाइल का न केवल राज जरूर शेयर करने की सोच ली, बल्कि खुद इस खास चुदाई का प्रैक्टिकल भी बड़े ढंग से कर ली.

हम दोनों का पानी बहने लगा था … मेरा लंड दो- तीन पिचकरी छोड़ कर शांत हो गया और हम दोनों हांफने लगे थे. उसके बाद खाला मेरे ऊपर झुक गयी और हम लिप किस करते हुए लय से चोदने में लग गए. मेरी गांड चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी जरूर बताना और प्लीज़ मुझसे कोई उम्मीद न करना.

वो मेरे सीने पर अपने हाथ रख कर चूत चुदवाते हुए कहने लगी- आह राज और जोर से करो. उसकी जुबान एक बियर में ही लड़खड़ाने लगी थी और दूसरी भी उसने आधी खत्म कर दी. साढ़े अठारह साल की छोटी उम्र में ही मेरी शादी हो गई। मौसी ने अच्छे घर का लड़का ढूंढ़ लिया क्योंकि मैं खूबसूरत थी और जवान भी थी। लड़के की अपनी दुकान थी ऑटो रिपेयर की.

मैं अब भी उसकी तरफ देख‌कर मुस्कुरा रहा था, जिससे वो चिढ़ सी गयी और मेरे कपड़ों को उतारने के लिए उन्हें पकड़ कर जोरों से नोचने लगी.

नेपाल वीडियो बीएफ: फिर मैंने अपना अंडरवियर उतारा और अपना लंड उसके हाथों में सौंप दिया. अमित का बड़ा लण्ड अब मेरे सामने था, जिसे मैं अपने मुंह मे लेकर चूसे जा रही थी और वो भी मेरी चूत को ऐसे चूसने में लगा हुआ था कि खा ही जाएगा। उसकी चुसाई से आनंदित होकर मैं उसके मुंह में जल्दी ही झड़ गई और उस रस को वो साथ-साथ पी भी गया.

रूपा ने पीछे मुड़ कर मेरी ओर देखते हुए कहा- उफ़फ्फ़ हटिए मालिक क्या कर रहे हैं … कोई देख लेगा. यह खेल‌ खेलते खेलते मुझे‌ बहुत देर हो गयी थी, इसलिए मैं अब चरमोत्कर्ष के करीब ही था‌ मगर सुलेखा भाभी का एक बार रसखलित हो चुका था इसलिए मुझे पता था कि अबकी बार वो स्खलन में थोड़ा समय लेंगी. मैं समझ ही नहीं पा रहा था कि सभी लोग मेरी जिन्दगी के साथ क्या मजाक कर रहे हैं… मुझे बिना पूछे मेरी शादी तय कर दी?फिर मैंने सोचा अकेले रहने से अच्छा है शादी कर लेना ठीक रहेगा.

कुछ देर बाद वो झड़ने वाला था। मैंने भी अपने हाथों से उसके कंधों को पकड़ रखा था और उसके पैरों को अपने पैरों से जकड़ रखा था.

तभी उसने अपना हाथ पीछे से मेरी चूत पर रखकर कहा- तुम कल की दादाजी की हरकत की वजह से नाराज हो क्या?मैं एक पल के लिए तो चौंक गई कि सोनल ये सब कह रही है मतलब उसकी रजामंदी से ही दादाजी वो सब कर रहे थे. मेरे पति को शक ना हो इसलिए मैं अपनी पति के बाहर जाने के बाद ही अपनी सहेली के पति से बात करती थी. अपने‌ लंड‌ के सुपारे को नेहा की मुनिया पर घिसते हुए मैंने फिर से एक बार नेहा के चेहरे की तरफ देखा.