बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो

छवि स्रोत,नंगी पिक्चर सेक्सी आदिवासी

तस्वीर का शीर्षक ,

मेरा फेवरेट: बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो, उसमें पट्टियों का इस्तेमाल नहीं किया गया था बल्कि एक मोटा लंड उसमें सीधा टांगों के मिलने वाले स्थान पर बीच में चिपका दिया गया था.

सेक्सी वीडियो देवर भाभी फिल्म

ऐसा मुझ में तुमने क्या देख लिया जो इतना निहाल हुई जा रही हो?वो बोली- सच में मेरे साथ असली सेक्स तो आज ही हुआ है. चूड़ी वाला सेक्सी वीडियोफिर मैंने भाभी को मैसेज किया तो भाभी ने कहा- आपकी किस्मत कुछ ज्यादा ही अच्छी है.

इंडियन भाभीस चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की भाभी भी मेरे से चुद कर माँ बनना चाहती थी. हिंदी सेक्सी 10 साल लड़की काअब आगे की इंडियन भाभीस चुदाई कहानी:घर जाते समय भाभी ने मुझे एक किराने की दुकान पर रुकने को कहा.

शीला ने पूछ लिया- क्या देख रहे हैं साब?तो राजेश सकपका के बोला- तुम्हारे तलुवे बहुत गंदे हो रहे हैं.बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो: जैसे ही मैंने उसकी पैंटी की डोरी को खोलकर निकालने की कोशिश की उसने अपने नितम्ब उठा दिए.

”गुड्डी रानी ने कहा- हाँ यार है तो न मानने वाली बात … चलो टेस्ट कर ही लेते हैं … साले के हाथ भी बांध देंगे तो कैसे फील करेगा.गाँव वाली लड़की ने मुझे घर बुला कर नंगा किया और मेरे लंड को चूसने लगी पागलों की भाँति.

एचडी हरियाणवी सेक्सी वीडियो - बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो

उसकी बातें सुनकर मुझे जोश आ गया और मैंने उठ कर उसको अपनी बांहों में ले लिया.उसने पूछा- क्यों?मैंने कहा- मेरे मम्मी पापा मुझे रात के नौ बजे के बाद घर से बाहर भी नहीं निकलने देते हैं … तो गरबा के लिए कहां जाने देंगे.

और तुम किसी और वजह की बात कह रही थी?तो खुशी ने कहा- संदीप, मैं तुम्हें अपने करीब पाना चाहती हूँ. बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो मैं- घर पर ही कुछ बना लेते है, कल शनिवार है … मेरा ऑफ है, बहुत सारी बातें करेंगे.

अरे निष्ठा, तुम परेशान मत हो, उस नर्स ने दवा दी थी न, मैं अभी कुछ देर में ठीक हो जाऊंगा.

बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो?

जो मुझे बेहिसाब उत्तेजना से भर रहा था।अब किट्टू पुरे होश में आ चुकी थी और अब अपनी होती चुदाई का भरपूर आनंद ले रही थी।किट्टू के होंठों पर हल्की मुस्कान थी. मैं- लगता है तुमने शायद कुछ देर पहले ही एक वीडियो सेक्स चैट सेशन खत्म किया है. आज ऑफिस नहीं जाना क्या?रमेश अब सीधे अपने मतलब पर आते हुए बोला- हाँ जाऊँगा, मगर थोड़ी देर से जाऊँगा.

मैंने कहा- भाभी, प्लीज सोने दो ना!तभी अचानक भाभी ने मेरी चादर खींच दी. 10 12 झटकों के बाद साँड ने फिर अपने वीर्य से भैंस की चूत को भर दिया. जावेद मेरी ओर देखने लगा- उठो भाई … ज्यादा चिनमिना रही है क्या? लगता है भाई ने कसके रगड़ दी है.

रति चिढ़ते हुए बोली- हाँ हाँ … मुझे नहीं मालूम बिजनेस क्या होता है, अब जाओ और जाकर दोनों फ्रेश हो जाओ।थोड़ी देर बाद सभी फ्रेश होकर नाश्ता करने बैठ गये. का मतलब ब्लो जॉब मतलब मेरे इसको अपने मुंह में लेकर चूसना और हिलाने से मतलब मूठ मारना या मेरे इस को अपनी मुट्ठी में पकड़ कर इसे तेजी से आगे पीछे करना ताकि इसका पानी निकल जाय और मुझे दर्द से आराम मिल जाये, अब बोलो तुम कर सकोगी ये?” मैंने अपने खड़े लंड की तरफ इशारा करते हुए पूछाधत्त, मैं न करती ये काम!” उसके मुंह से एकदम से निकला. भाभी कहने लगी- राज, बताओ कमरा पसन्द आया?मैंने कहा- भाभी कमरा तो एकदम आलीशान है लेकिन इसका किराया कितना है?भाभी बोली- जो तुम देना चाहो दे देना.

विनोद भाई साहब की सरकारी नौकरी की वजह से उनको इतनी प्यारी बीवी मिली थी. इधर ननद अपनी शॉर्ट्स उतार कर नंगी हो गयी और मेरे मुँह पर अपनी चूत लगा कर उसकी रगड़ाई करवाने लगी.

हम दोनों अब करवट ले कर लेट हुए थे और एक दूसरे को बांहों में जकड़े हुए थे.

उसे पैसे की तो कोई दिक्कत है ही नहीं क्योंकि राजेश उसे अच्छा वेतन और इनाम देता रहता है.

रवि रमेश की ओर देख कर बोला- क्या हुआ जनाब? होश उड़ गये न? मेरे भी होश ऐसे ही उड़ गये थे. यहां पर हर कोई मंहगे कपड़े और मंहगे जेवरों से सुसज्जित था, खूबसूरत महिलाएं और हैंडसम पुरूषों की भरमार थी. लौड़ा रानी के परदे को फाड़ता हुआ धम्म से पूरा घुस गया और रानी की बच्चेदानी को चूमने लगा.

उन्होंने आई आई टी दिल्ली से इंजीनियरिंग की थी और मैंने दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी से अपनी इंजीनियरिंग की थी. कुछ मिनट बाद वो लोग चले गए और अब प्रिंसीपल सर ने अपनी कुर्सी को पीछे कर दिया. उस समय दिवेश भी वहीं थे, तो उन्होंने भी बोला- हां हां निशा जी आप बिल्कुल चिंता मत करिये … रमित अब रेगुलर हमारे यहां ही खाएगा.

इसलिए शाम को भी हमारी मुलाकात नहीं हो पाई।उस रात फिर अकेले बहुत तड़प हुई.

इसलिए मैंने अपनी गीली चूत को उसके पूरे चेहरे पर रगड़ा ताकि उसका लंड तैयार हो जाये और फिर मैं अपनी टांगें फैला कर उसके लंड पर बैठने लगी. आ गए! चलो अपना सामान निकाल लो और मसाज शुरू करो क्योंकि मुझे एक मीटिंग अटेंड करनी है, उसके लिए मुझे फ्रेश माइंड चाहिए और 5 बजे तक मुझे फ्री कर दो. कल मार लेना मेरी गांड।उसके बाद 4 बजे सुबह जल्दी में अपने घर आ गया।अगले दिन संडे था तो पढ़ाई का बहाना बना कर जरीना के घर चला गया.

फिर मैं उठकर वॉशरूम गया और मुँह हाथ धोकर बाहर आया, तो देखा कि उसने अपने कपड़े पहन लिए थे. उसकी चूत बहुत गीली होने के बावजूद भी वह दर्द से कराह उठी। मगर उसने किसी तरह की आवाज नहीं की. उधर गुड्डी रानी चूं चूं किये जा रही थी कि मुझे इस तरह से क्यों नहीं चोदा.

इस लाइव वीडियो सेक्स चैट के द्वारा मुझे मेरी कुछ दबी हुई बाप बेटी की चुदाई की कामुक लालसाएं जानने में मदद मिली.

और गाड़ी जैसे-जैसे आगे बढ़ी तो होटल के हर कोने की सजावट देखते ही बनती थी. मेरी जिन्दगी में हुई ऐसी बहुत सी कामुक घटनाएं जो मैं अपनी इन कहानियों के माध्यम से बताऊंगी.

बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो मैंने तुरंत झुक कर चूत को चूमना और चाटना शुरू किया; चूत चाटने से साली जी फुल मस्ती में आ गयी और अपनी ऐड़ियां बेड पर रगड़ने लगी. मेरी पिछली सेक्स कहानीकामवाली की कुंवारी बेटी की चुदाईमें आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी कामवाली शांति बाई की सेक्सी बेटी की चुदाई की.

बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो मैंने पूछा- ऐसा क्या है?वो बोला- क्या अकेले आप ही मस्ती लोगे … मुझे भी लेने दो. मैं अभी अपने बैग में से अपनी ड्रेस निकाल ही रही थी कि रुमित, भार्गव और तुषार जल्दी जल्दी कार में बैठने लगे.

उसने हरे रंग का ढीला सा सलवार टॉप पहना था और उसके नीचे सफेद लैगिंग पहनी थी, जो उसकी गांड से नीचे वाले हिस्से को मस्त सी शेप दे रही थी.

नंगा थिएटर

मैंने पूछा कि क्या तुम दोनों में सब कुछ खुला है?पम्मी बोली- हां हम दोनों लेस्बो हैं और एक दूसरे की चुत पर इस अल्कोहल मिक्स वाली लिक्विड जैली को लगा कर मजा लेते हैं. तो मैंने उसको रोका- अगर तुम ऐसे ही झड़ गए तो मेरी चूत कर क्या होगा?वो बोला- मेरी जान, तुम्हरी चूत की आग तो मैं शांत कर दूंगा. फिर दोनों ने अपने आप डिसाइड कर लिया कि जो पहले मेरे तन से मिडी को उतारेगा, वो पहले चूत चोदेगा.

हम वॉशरूम जाकर एक दूसरे को धोकर वापस बाहर आ गये और नंगे बदन ही एक दूसरे से लिपट कर सो गये।इस जीजा साली सेक्स की कहानी पर अपने कमेंट्स के जरिये फीडबैक दें।लेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दिया जा रहा है. गांड मारने का जो सुख मेरी सगी बीवी ने मुझे कभी नहीं दिया था वही सुख उसकी छोटी सगी बहिन मुझे दे रही थी. ’आंटी लंड घुसते ही बहुत जोर से चीख पड़ीं … पर मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और थोड़ा रुक रुक कर उनको किस करने लगा.

फिर क्या था दोनों रानियां लग गयीं पीछे कि राजे कुछ खोपड़ी लगा और सोच कि होटल में रिस्की सेक्स कैसे किया जाए.

वो बार बार कॉल पर कॉल करती रही तो फिर आखिर में मुझे उसकी कॉल उठानी पड़ी. रात भर भीगने के कारण और बाइक ड्राइव करने से पैर जैसे मन मन भर के भारी हो रहे थे. उसने पूछा- क्यों?मैंने कहा- मेरे मम्मी पापा मुझे रात के नौ बजे के बाद घर से बाहर भी नहीं निकलने देते हैं … तो गरबा के लिए कहां जाने देंगे.

आप सबको मेरी किस्मत कैसी लग रही है, आप अपनी राय मुझे इस पते पर दे सकते हैं. लंड सूखा होने की वजह से दर्द से मैं कराह गयी और राजीव को ऊपर से हटाने लगी. बातों बातों में मैंने उससे उस दिन वाली बात पूछी और कहा- तुम उस दिन मुझे गंदा क्यों कह रही थी?वो हंसने लगी और बोली- और क्या कहूं?पढ़ाई की किताब में कोई ऐसी गंदी किताब रखता है क्या?मैंने कहा- कैसी किताब?वो बोली- अच्छा तुम्हें नहीं पता?मैं- नहीं तो!फिर वो बोली- नाम बताऊं क्या?मैंने कहा- हां, बताओ, मुझे भी तो पता चले.

मुझसे ठीक नीचे वाली फ्लोर पर रजत भैया रहते थे, जो एक बड़ी कंपनी में वाइस प्रेसीडेंट, सेल्स थे. भाभी मेरी तरफ चकित होकर देखने लगीं और मैं मुस्कुराता हुआ वापस अपनी जगह पर आकर बैठ गया.

अन्तर्वासना का हर पाठक जिसको पाना चाहता है वो खुद मेरे पास चल कर आई थी. ये कह कर सलीम मेरा हौसला बढ़ाते रहे- आह … फाड़ डालो फाड़ डालो … और जोर से … आह रगड़ दो … मेरी लाल कर दो. सरोज ने अंदर आते ही मेरे लोअर को नीचा करके मेरा लंड पकड़ लिया और उसे हाथ से आगे पीछे करने लगी.

मैंने लण्ड बाहर निकाल कर पैंटी को अपने लण्ड पर रगड़ा और उसे लण्ड पर लटका लिया.

चाचा ने अपनी बनियान उतार दी और हमें अपने पास खींचकर हमारा कुर्ता ऊपर उठा दिया. तभी मैंने देखा भैंसा के पेट के नीचे उसके लण्ड वाली जगह हरकत हुई और उसमें से गुलाबी गाजर जैसा थोड़ा सा लण्ड दिखाई दिया. साथ ही लगा की कहीं आसपास ही गिरी है बिजली!और तुरन्त लाइट चली गयी और पूरे घर में घुप्प अंधेरा छा गया.

घुटनों तक कि स्कर्ट में उनकी गोरी और गुदाज पिंडलियाँ और घुटने के पीछे का चौड़ा भाग बहुत ही सेक्सी लग रहा था. कहानी अगले भाग में जारी है। आप कहानी पर कमेंट करके बतायें कि कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मैसेज करने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग कर सकते हैं।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:रिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदा-2.

मैं- न केवल तुम एक शानदार सामाजिक काम करने के शिखर पर हो, बल्कि आज तो इस साड़ी में गजब की खूबसूरत भी लग रही हो. वैसे प्रतिभा का शरीर ही बता रहा था कि वो एक्सरसाईज करके अपने आप को फिट रखती है. और तभी अचानक से सामने एक पत्थर था जो मैंने देखा नहीं और उस पे टायर को चढ़ा दिया जिससे हम दोनों उछल गये और उसने अपने हाथों में मेरे बूब्स को थाम लिया।अब गाड़ी मैंने रोक दी तो उसने तुरंत हाथ हटा लिया और फिर से मुझसे चलने को बोला.

भाभी की चूत मारी

अब अखिल भी नीचे आया और मुझे देखकर बोला- क्या लग रही हो आप!मैं बोली- अच्छा अब ज़्यादा तारीफ मत करो और चलो।हम दोनों बाहर आए और मालकिन के गाड़ी से हम लोग पार्टी में आ गये।वहाँ सबकी नज़र मुझ पर ही थी.

उस सेक्स कहानी को लेकर आप सभी के बहुत सारे मेल भी आए, जिनका मैं दिल से शुक्रिया अदा करता हूँ. मैंने कहा- भाभी, वो मैं रात को सपना देख रहा था, तभी ऐसा हो गया।दोस्तो, मैं टाइम बढाने वाली कोई गोली या दवाई नहीं खाता हूँ. भाभी बोली- मजा आ रहा है या नहीं?मैंने भाभी के कान में धीरे से कहा- जब ऊपर से कर रही थी तो ज्यादा मजा आ रहा था.

इसीलिए मैं तो कहता हूँ कि आप हम दोनों की बातें उनके सामने कभी मत किया करो. उनसे छूटने के बाद मैं खड़ी हुई और अपने कपड़े पहन कर खुद को सही करने लगी. ब्लू फिल्म फोटो सेक्सीमैं बातचीत करते हुए उसकी सुंदरता के साथ उसके व्यक्तित्व को समझने का प्रयत्न कर रहा था.

मैंने सरोज को बेड पर बैठा दिया और खड़े खड़े लंड को उसके होंठों पर लगा दिया. मैं- क्या दे दूं गुंजन?वो- अपना लंड दे दो जीजू … डाल दो प्लीज!मैं- कहां डाल दूं मेरी रानी?वो- मेरी चूत में डाल दो अपना लंड … जीजू प्लीज।तड़पाने के मकसद से मैं फिर बोला- तुम्हें दर्द होगा रानी.

चुदवाते हुए देसी हॉट भाभी बड़बड़ा रही थी- आह्ह … संजय … शादी को इतने साल हो गये हैं … मगर चुदाई का असली मजा आ पहली बार आया है … ओह्ह … मैं तो मर ही जाऊंगी … चोद दे … आह्ह … फाड़ दे … आह्ह … और जोर से चोद।मैं पूरी ताकत झोंक कर भाभी की चूत को फाड़ने लगा. भाभी जी की चुत में से एक मस्त महक आ रही थी, जिससे मैं और भी गर्म हो गया था. तो वो हैरान होकर बोली- अजय, यह क्या है? सिर्फ एक ही पेग क्यों?मैं- इस शराब की बोतल में वो नशा कहाँ है जो तुम्हारें में है.

इस पर बहुत ही सेक्सी मॉडल्स हैं और सबसे अच्छी बात यह कि एक बार टाइप करने पर ही मनचाहे रिजल्ट्स मिल जाते हैं. फिर मैंने लंड को निकाला और सीधा अपने होंठों का हमला उसकी चूत पर कर दिया. रमेश- क्या बात है, नाराज़ हो मुझसे?रति ने उसकी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

अगर सैट हो जाती तो कसम से पूरी रात चोदता।भाभी को बस में उल्टियाँ होने लगती हैं.

उसकी इस हरकत ने मुझे और दीवाना कर दिया और मैं भी उसके साथ पागलों सा लग गया. जिया- हम्म … सच में राज बहुत लक्की है … वर्ना उसे आप जैसी शादीशुदा औरत के साथ मजा करने को थोड़ा मिलता.

इसके बाद मैंने स्वरा की झांटों में पानी लगाया, फिर फोम लगाया और उसकी झांटें रेज़र से साफ करने लगा. मैं उनके सामने बैठ गई, तो उन्होंने मुझे बिल्कुल अपनी कुर्सी के बगल में बैठने के लिए कहा. मैं अभी सिर्फ 24 साल का हूँ, अभी शादी नहीं हुई है। अभी मैं पढ़ रहा हूँ.

भाभी मुझे गाड़ी धीरे चलाने को बोल रही थीं और मैं कन्फ्यूज था कि पता नहीं इनके मन में क्या चल रहा है. मेरी आंटी बिहार में अपने पति के साथ एक साधारण से मकान में ही रहती थी. फिर मैंने अलमारी खोली और अपनी पसंदीदा ब्राज़ीलियन शॉर्ट पैंटी निकाली.

बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो जिसका मतलब था कि वो किसी भी समय झड़ने वाली थी।मेरा भी लण्ड ऐसा खिंचाव पहली बार महसूस कर रहा था. मैंने उसके मुँह से फ़ोर-सम की बात सुकर उसे तरेरा, तो वो भी हंसने लगा.

एक्स वीडियो राजस्थान

मैं अपने आप को खुशकिस्मत समझ रहा था कि इतनी सुंदर और पढ़ी लिखी लेडी की चूत में मेरा लण्ड जाने वाला है. पर उसके ज़ोर से मेरे लण्ड को ही दिशा मिली जिससे वो जरा अंदर को जगह बनाता दिखा।किट्टू समझ गयी कि उसकी सब मेहनत व्यर्थ है और मैं ऐसे नहीं मानने वाला. तभी सरोज ने ड्राइंग रूम का दरवाजा गैलरी की तरफ से बंद किया और मेरे साथ दीवान पर बैठ गई.

आज मैं आपको जिस घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ वो मेरे लिये जिंदगी की ओर से किसी खूबसूरत तोहफे जैसा है. जैसे ही मैंने मुट्ठी भींची, ब्रा का हुक टूट कर अलग हो गया और चुचे पके हुए आम जैसे आज़ाद हो गए. सनी लियॉन का बफ सेक्सीचुदवाते हुए देसी हॉट भाभी बड़बड़ा रही थी- आह्ह … संजय … शादी को इतने साल हो गये हैं … मगर चुदाई का असली मजा आ पहली बार आया है … ओह्ह … मैं तो मर ही जाऊंगी … चोद दे … आह्ह … फाड़ दे … आह्ह … और जोर से चोद।मैं पूरी ताकत झोंक कर भाभी की चूत को फाड़ने लगा.

इस दरम्यान एक एजुकेटेड महिला को भोजन करवाते समय उसे मेरे मुँह की शराब की महक महसूस हुई, तो वो थाली में हाथ धोकर उठ गई.

चूंकि और कुछ ज्यादा करने को कुछ था नहीं तो इस बार नीचे के हिस्से की शामत आई रही. मैं बोली- साले तू तो बहनचोद था ही … और अब अपनी बहन को दूसरों से चुदते भी देखना चाहता है.

वो तेजी से मेरी चूत में धक्के लगा कर मुझे अंदर तक पेल रहा था और मैं जैसे पागल होने लगी थी. भैया ऑफिस जा चुके थे और भाभी रसोई में चाय बना रही थी।भाभी ने मुझे तिरछी नजर से देखा और कहा- उठ गए देवर जी … चाय नाश्ता तैयार है, दे दूँ?मैंने कहा- भाभी मैंने अभी ब्रश नहीं किया है. आकाश अपने रूम के अंदर नहीं गया बल्कि लड़कियों के रूम की तरफ गया तो उसे बाहर से ही रवीना और कविता की खिलखिलाहट सुनाई दी.

उसमे मेरी 36″ की बड़ी चूचियां एकदम टाइट थी जो बिल्कुल बाहर को बहुत ज़्यादा दिख रही थी.

जब आधे से ज्यादा खीरा मेरी चूत में चला गया तो भाभी मेरे ऊपर चढ़ गई और उन्होंने खीरे को अपनी चूत के ऊपरी भाग पर लगा कर मेरे ऊपर जोर डाला तो खीरा मेरी चूत की गर्म दीवारों को फैलाता हुआ पूरा अंदर जा घुसा और भाभी की जांघें मेरी जांघों पर पूरी बैठ गई जिससे हम दोनों की चूतें आपस में चिपक गई और मेरी आनंद से सीत्कार निकल गई. रवि ने उसको पकड़ कर फिर से पीछे खींचा और उसकी चूचियों को जोर जोर से दबाते हुए उसकी गर्दन को चूमने लगा. अब हमारे केवल होंठ ही नहीं, पूरे बदन एक दूसरे से रगड़ सुख पा रहे थे.

ब्लू पिक्चर बढ़िया वाली सेक्सीगुड्डी रानी की कुमारी चूत बेहद टाइट थी, जैसी हर बिन चुदी बुर हुआ करती है. ”किस बात का?”वो घर वालों को पता चल गया तो बापू तो मुझे जान से ही मार डालेगा.

फिल्म साजन का घर

जैसे ही राजेश ने ये कहा, शीला उससे चिपट गयी, बोली- साहब, हम गरीब आदमी हैं, हमें इतना सुख कहाँ. इससे मेरा ध्यान उसकी बड़ी बड़ी चुचियों पर चला गया और मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. फिर जरीना नीचे से धक्के लगाने लगी। तो मैं समझ गया कि लड़की तैयार है। फिर मैंने धीरे धीरे स्पीड बढ़ा दी।जरीना- आआः आह आह अम्मी … धीरे चोदो … फ़ाड़ दोगे क्या आज ही?मै- नहीं मेरी जान … ऐसे थोड़ी ना फ़ाड़ दूंगा.

अरे कहा न कोई ख़ास बात नहीं, तू किचन में जा वहां आलमारी में दवाइयां रखी रहती हैं, देख कोई पेन किलर हो तो. तो थोड़ा डर भी लगता था कि कहीं किसी को संदेह ना हो जाए।”तुम तो निरे फट्टू (डरपोक) हो. वैसे अभी हर कोई सजधज कर ही वहां बैठा था और महिलाओं के लिए तो ऐसे कार्यक्रम सौंदर्य प्रतिस्पर्धा का मैदान ही होता है.

वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी।किस करने में वो पूरी माहिर थी।मैं अपना एक हाथ उसके पीछे ले गया और पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा। वो भी ऊपर से ही मेरे लंड को सहला रही थी।अब मैंने उसका ड्रेस उतार दिया और वो सिर्फ ब्रा पेंटी में आ गयी।उसका गोरा बदन और ऊपर से गुलाबी रंग की ब्रा और पेंटी पूरा कहर ढा रही थी।उसने भी मेरे कपड़े उतार दिये और मैं सिर्फ चड्डी में आ गया।मैं उसका गोरा बदन को देख ही रहा था. मैंने अपने नंगे जिस्म को शीशे में देखा और खुद से ही बोली- आज किसी न किसी हैंडसम जवान लड़के को मेरे इस खूबसूरत जिस्म की खुशामद करने का मौका जरूर मिलेगा. आंटी ने मुझसे एक दो बातें मेरे घर के बारे में पूछी और फिर बोली- देखो राज, मैंने बहुत दुनिया देखी है, मैं तुमसे अब जो बातें करने जा रही हूँ वे मैं अपने परिवार की इन लड़कियों को ध्यान में रखकर कर रही हूँ.

शादीशुदा ने तो रोज दिन-रात सुहागरात मनाई होगी और कुंवारों ने रोज हाथ से बजाई होगी. निष्ठा ने गले में सोने की चेन पहिन रखी थी जिसका लॉकेट उसकी क्लीवेज में कहीं गुम था.

इससे मैं और ज्यादा तेजी से तुम्हारे लंड पर कूद कूद कर उसको अपनी चूत में लूंगी.

सबसे मेरी नजरों ही नजरों में और होंठों की मुस्कान के साथ अभिवादन हुआ और तभी एक युवक ने मेरे लिए जगह खाली की और मैं वैभव के साथ औपचारिक अभिवादन करके उसके बगल में बैठ गया. सेक्सी फिल्म चलने वाली दिखाएंकुछ देर बाद मेरी हालत सामान्य हुई, तब उन्होंने एक नैपकिन पेपर उठाया और बिना अपना लंड बाहर निकाले मेरी चूत से निकल रहे खून को पौंछ दिया. शाहिद कपूर सेक्सी वीडियोमैंने उसका और ज्यादा पानी निकालने के लिए अब जीभ को और तेज कर दिया ताकि उसका स्खलन हो जाए. टॉप के नीचे वह हमेशा हल्के रंग की लैगिंग पहनती थी जो बहुत ही टाइट फिटिंग वाली होती थी.

सच में दोस्तो … इस बार मेरा लंड बड़ी आसानी से मामी की गांड थोड़ा सा घुस गया.

सिर्फ टिकट के लिए नाम पता बता दो।मैंने कहा- तुमसे अब क्या डरना, मेरा असली नाम ही संदीप है. किसी मशीन की तरह से ही शमा ने शाही सर के मुँह में फंसा 200 का नोट अपने मुँह में पकड़ लिया. क्या तुम ये बताने का कष्ट करोगी कि तुम तीनों इस कार की बैकसीट में क्या कर रहे थे? जरा बताओ कि वो दोनों सभ्य पुरूष किस पोजीशन में तुम्हारी शादीशुदा चूत को मार रहे थे इस वक्त? मुझे लगता है कि तुमने इस राइड का पूरा मजा लिया होगा क्योंकि तुम्हारी गाड़ी इसमें लगातार 20 मिनट तक हिलती रही थी.

शायद प्रीति को भी अहसास हो गया था कि मैं यह सब जानबूझकर कर रहा हूँ तो प्रीति ने एकदम से मेरी पैंट की जिप पर हाथ रखा और मेरे तने हुए लंड को दबा दिया. सरोज कभी मेरे लंड को चूमती, कभी होठों के ऊपर रगड़ती और कभी उसको मुंह में भर लेती. उसके बाद हम दोनों गाड़ी लेकर फ्लैट के लिए निकल गये और रास्ते में हमने गंदे सेक्स का मजा लेने के लिए कुछ चीजें भी ले लीं.

वीडियो हॉट वीडियो

फिर वैभव ने जैसे ही दूसरी लड़की की ओर अपना रूख किया, जो लैगीज सूट पहन कर आई थी. अब और आगे नहीं!मैंने भी कहा- अब एक साहित्यकार को छेड़ा है, तो सुनना तो पड़ेगा ही!उसने कहा- साहित्यकार हो … ये जान कर ही तो आपको प्रशंसा के लिए कहा. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि वक्ष नोकदार ही था और नितम्ब भी काफी उभरा हुआ था.

दोस्तो, पता नहीं उस वक्त मेरे मन में क्या आया कि मैंने अपने पैर के पंजे से विक्की की टांग पर सहलाना शुरू कर दिया और नीचे से सहलाते हुए मैंने ऊपर की ओर उसकी जांघों के बीच में उसके टट्टों तक सहलाते हुए उसकी गोलियों को जोर से दबा दिया.

उसने नीचे से लंड को पकड़ कर चूत के मुहाने पर सैट किया और उस पर बैठती चली गई.

आंटी के घर से अपने घर आने के बाद मैंने दोस्त को वो सारा वाकया बताया सिवाय आंटी के नंगे जिस्म और चूत में उंगली करने के।मैंने किसी और औरत की कहानी उसको बता दी. धीरे धीरे उस पर खुमारी चढ़ने लगी। मैंने उसके स्तनों को धीरे से मसलते हुए उसकी गर्दन पर काटा और धीरे धीरे उसके ब्लाउज के हुक खोल कर उसका ब्लाउज उतार दिया. सेक्सी सेक्स वीडियो एक्समैंने अपने लंड को उसकी चुत में बिना हिलाए डाले रखा और उसे मज़ा देने लगा.

प्रतिभा ने मोबाइल निकाल कर कॉल अटैंड करते हुए कहा- हां वैभव, हम पहुंच गए. तो चलिए शुरू करते हैं।दोस्तो, मैंने भाभी की सुहागरात की चुदाई लाइव देखी थी. मैंने उसे अपने नीचे लिया और उसकी चुत की फांकों पर लंड का सुपारा घिसने लगा.

एक तो वो अनुभवी होती हैं, दूसरी बात ये कि वो किसी तरह की कोई नखरा नहीं करती हैं … और भरपूर प्यार भी देती हैं. और मैं लेटे लेटे ही घूम के उसके मुंह की तरफ आ गयी।मेरे खुले बाल सुनील के चेहरे के साइड में झूल रहे थे और हम दोनों एक दूसरे की आंखों में देख के मुस्कुरा रहे थे।मैंने हल्की सी आवाज में कहा- डालो ना यार प्लीज!उसने बोला- ठीक है.

मैं बोली- तो उड़ा न साले … भैन्चोद … मैं तो कब से लंड लेने के लिए तैयार हूं.

उसके होंठों पर मेरी चूत का रस लगा हुआ था और वो उसको अपनी जीभ से चाट कर मजा ले रहा था. मैं उसे किस करने लगा और हाथ से उसकी चूची दबा रहा था और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा।दोस्तो, आपको बता दूं कि कुंवारी चूत को चोदने से पहले उसे तैयार करना पड़ता है. अस्मि- तो क्या आप मुझे चोदना चाहोगे डैडी? यदि नहीं तो फिर आपके लंड को मेरी चूत देख कर इस तरह खड़ा नहीं होना चाहिए था.

सेक्सी लड़कियों से बात करना मैंने सरोज के टॉप को बाहर निकाल दिया और उसकी स्कर्ट के इलास्टिक में उंगलियां देकर नीचे खींच दिया. कभी बाहर भी आना हो तो नैंसी ही आती हैं क्योंकि अनिल तो पीने और ठोकने के बाद टुन्न होकर सो जाते हैं.

उसकी मक्खन सी मुलायम और कसी हुई चुत पर मैंने हाथ फेरना शुरू कर दिया. नेहा अपनी नजर की कटार और थिरकते होंठों से सैलाब लाने की कुव्वत रखती थी. उसकी चूत के रस से गीली होकर उसकी सलवार उसकी जांघों से जैसे चिपक सी गयी थी.

मीना बाजार सट्टा

अपने पैर लपेटकर जैसे ही वो पहली दफा मेरे लंड पर उछली तो उसकी चूत में दर्द सा उठा और वो एकदम से उछल कर नीचे गर गयी और अपनी चूत को दोनों हाथों से दबाते हुए टांगों को भींच लिया. इधर मेरे लंड से रस का फव्वारा सा निकल निकल कर उसकी सलवार को भिगोने लगा था. इस बार मैंने थोड़ा जोर से धक्का लगाया था, जिससे थोड़ा सा लंड चुत में घुस गया और वो चिल्ला उठी.

वैभव मुझे देखते ही ललक कर मुझसे मिला, पहले हाथ मिलाया, फिर गले मिलकर पीठ थपथपाई. मम्मी का चेहरा मैं अपनी तरफ करके उन्हें चूमकर बोला- कैसा लगा अदिति?अदिति के चेहरे पर कुछ अजीब सा आनन्द साफ़ दिख रहा था.

रमेश बोला- चल रवि, अब इसकी रंडी की गांड भी चोद ले तू, इसकी गांड में घुसा घुसा कर चोद साली को।रवि ने अपना लंड रिया की गांड में पेल कर चोदना शुरू कर दिया.

मैंने कहा- कैसी बेचैनी … खुल कर बताओ क्या हुआ है?वो मेरे करीब आकर बैठ गई और कहने लगी- बस आपकी याद आ गई, तो फोन कर दिया. गुड्डी रानी की कुमारी चूत बेहद टाइट थी, जैसी हर बिन चुदी बुर हुआ करती है. मैंने भाभी को उनके चूतड़ों से पकड़ कर अपनी ओर खींचते हुए लण्ड को भाभी की चूत में ठोक दिया.

उसकी चुत का रसीला, चिपचिपा पानी मैं साफ़ महसूस कर रहा था, जिसने मेरी हवस और भी बढ़ा दी. भाभी कमरे का दरवाजा खोल कर जैसे ही बिजली जलाने लगी, मैंने भाभी को पीछे से बांहों में जकड़ लिया. जिया- क्या भाभी आप भी ना!जिया ने अपनी चुत को तौलिया से साफ किया और वो दोनों बाथरूम से बाहर आ गईं.

मैंने दुबारा से खीरे को थोड़ा बाहर निकाला और उसे अपने छेद पर फिर फिट करके नीचे दबाया तो भाभी ने अबकी बार अपनी चूत को थोड़ा टाइट कर लिया था जिससे खीरे का दूसरा सिरा मेरी चूत में थोड़ा घुस गया और मेरी भी मजे से चीख निकल गई … आह … भाभी … मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है.

बीएफ फिल्म चुदाई वीडियो: बाहर आते ही उसकी नजर रवि का लंड चूस रही उस लड़की पर पड़ी तो उसके होश उड़ गये. किसी न किसी बहाने मैं लवी के बिस्तर के पास जा खड़ा होता, उसके कभी आधे, कभी पूरे नंगे स्तनों को देखता और मुट्ठ मारता।मगर हर दिन के साथ मेरी हिम्मत बढ़ती जा रही थी.

मेरी पिछली सेक्स कहानीएक अनजान लड़की को दिया सम्पूर्ण आनन्दमें भर भरके प्यार देने के लिए आपको धन्यवाद. कोई पांच मिनट में ही वो फिर से गरमा गईं और बोलने लगीं कि ये सब बाद में तुम खूब कर लेना मेरी जान … मगर अभी एक बार प्लीज मुझे चोद दो. उसने डांट खाकर टांय टांय करनी तो बंद कर दी मगर मुंह में कुछ कुछ मुनमुन करती रही.

लेकिन अब मैंने किसी भी विषय पर ज्यादा सोचने के बजाए शादी पर फोकस किया.

मैं- तो अब मेरा भी पानी निकालो।उसने पूछा- कैसे?मैं- मेरे लंड को तेजी से हिलाओ और ऊपर नीचे करो. उसकी सांसें एकदम भांप की तरह गर्म हो चुकी थीं। फिर वो जल्दी से मेरी तरफ घूम गयी. लगभग 10-12 झटकों के बाद साँड ने अपनी हरकत बंद की और भैंस की चूत में अपने वीर्य की धार बहा दी और जैसे ही लंड बाहर निकाला भैंस की चूत से गरल गरल कर ढेर सारा वीर्य और पानी बाहर आया.