बीपी बीएफ देसी

छवि स्रोत,सेक्स वीडियो english

तस्वीर का शीर्षक ,

रामलाल के सेक्सी वीडियो: बीपी बीएफ देसी, [emailprotected]हॉट न्यूड गर्ल फक स्टोरी का अगला भाग:भाभी की चचेरी बहन की मस्त चूत चुदाई- 4.

भोजपुरी लड़की का सेक्सी वीडियो

कुछ धक्कों के बाद भाभी का दर्द कम हुआ और अब वो भी नीचे से अपनी कमर हिलाने लगीं. धूम 2 फुल मूवीवो लोअर में थी, मैं पीछे से उसके गले को चूम रहा था और एक हाथ से उसके मम्मे दबाने में लगा था.

ब्लाउज के अन्दर उसने लाल रेशमी ब्रा पहनी थी, जिसमें से उसके कसे हुए दूधिया मम्मे बहुत अच्छे लग रहे थे. हिंदी फुल मूवी सेक्सभाभी- क्या जरूरत ऐसी नौकरी की, वैसे ही तो एक महीने में एक बार कर पाते हैं.

रिलेशनशिप में फालतू का रोना धोना होता है, वो मुझे बिल्कुल पसंद नहीं है।मुझे स्ट्रेंजर लोगों और लड़कियों से बात करना बहुत पसंद है।एक रात को मैं एक स्ट्रेंजर वेबसाइट पर गया तो मुझे काफी समय बाद एक लड़की मिली जो कानपुर (बदला हुआ) से थी.बीपी बीएफ देसी: शनाया ने उसे अपनी बांहों में भर लिया और वो दोनों एक दूसरे को चूमने लगे.

मैंने इसके बाद उसके होंठों की तरफ लंड किया और उससे लंड चूसने का कहा.उसके मुँह से ज़ोर ज़ोर से आह्ह आह्ह की सिसकारियां निकलने लगीं, साथ की साथ मेरे हाथ उसकी चूचियों को भी मसल रहे थे, तो वो अपनी कामोत्तेजना के चरम पर आती जा रही थी.

सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी फिल्म - बीपी बीएफ देसी

माया- क्या हुआ?मैं- दीदी, मैं जीजा जी के पास अपना मोबाइल भूल गया था.अभी वो दो साल बाद बाहर अपने मामा के घर रह कर वापस आई थी तो कुछ अलग ही माल बन कर आई थी.

रिया तेज तेज सिसकारी भरने लगी और अपने दोनों हाथों से ज़ोर लगाकर मेरा मुँह अपनी चुत पर दबाने लगी. बीपी बीएफ देसी हार्दिक ने इस बार शनाया को घोड़ी बनाया और अपना लंड उसकी गांड पर रख दिया.

अब विलास से रहा नहीं गया, उसने मेरा लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगा.

बीपी बीएफ देसी?

ये सारी बातें हम लोग शाम को मिलकर मेरे घर की छत में बने ऊपर कमरे में होती थी. तभी पापा वहां आए और बोले- बेटा, इन लोगों को खाना खिला दिया?मैंने हां में सर हिलाया. वो मुस्कुरा कर बोलीं- लगता है सिंगल हो!मैंने पूछा- आपको कैसे पता?तो वो बोलीं कि टिंडर ऐप इंस्टॉल कर रखा है फोन में … इसलिए.

मेरा फोन खराब हो गया था, मैंने उसको ठीक करने के लिए दुकान पर दे दिया था. ये देख कर मैंने उससे पूछा कि क्या मैं जान सकता हूँ कि क्या हुआ?वह कुछ नहीं बोली, तभी बाकी का स्टाफ आने लगा. सौम्या डार्लिंग की चूत के लिए चटवाने का शायद ये पहला अहसास था इसीलिए वो लगभग दस मिनट में ही झड़ गई.

मैंने सॉरी कहा तो उसने कहा- कुछ नहीं … कभी जब उनका मन हो तब!तो मैंने पूछा कि और तुम्हारा मन हुआ तो?वो हंस दी और बोली- अभी तो सेक्स पूछने पर सॉरी कहा था … और वापस. रात में अंकल ने मुझे पास खींच लिया और कहा- सन्नो, कहीं तू औरत तो नहीं है?मैंने बोला- अंकल हूं तो नहीं, पर आप मुझे बना रहे हो. सौम्या डार्लिंग ने कुछ सोच कर कहा- अच्छा ठीक है, तुम अपना रस मेरे मम्मों पर गिरा दो … अपनी मलाई से मुझे नहला दो.

वो तेजी से चीखी- आआह मार डाला रे … मम्मी बहुत मोटा है … आह फट गई री मेरी चूत!मैंने झट से उसका मुँह अपने मुँह से दबा दिया जिससे उसकी आवाज किसी को सुनाई न दे जाए. मैंने सोच लिया था कि आज तो इस मोटी आंटी को पटा कर देखना ही है, चाहे कुछ भी हो जाए.

थोड़ी देर मैंने बहुत ज़िद की, बहुत मनाया तो उन्होंने कहा- अगर कुछ हो गया, किसी ने देख लिया तो?मैंने कहा- आंटी आप मुझ पर भरोसा रखो, कुछ नहीं होगा.

अंत में मेरी मजेदार फुल नाईट सेक्स की कहानी पढ़ने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरे चाहने वाले, मेरे प्रशंसको, लंबे और मोटे लण्ड वालो, शादीशुदा मर्दों और कुँवारे कड़क लण्ड वाले और गहरी चूत वाली मेरी बहनों … आप सभी का प्यार ऐसे ही अपनी शालू भाभी पर बना रहे।धन्यवाद.

शिखा बोली- भाई मैं आपकी बहन हूं, कोई सड़कछाप रंडी नहीं, हम यह नहीं कर सकते. मैं अपने बारे में बता दूँ कि मैं एक बाईसेक्सुअल लड़का हूं और आधी औरत मुझमें बसती है, जिसे हर तरह के लंड आकर्षित करते हैं. फिर उस रात कोसोनाली की पूरी रात चुदाईकिस प्रकार से हुई, ये सब आपने पढ़ा था.

वो मेरे पास आयी और आंख मारते हुए पूछने लगी- कैसी लग रही हूँ?मैंने हंसते हुए कहा- तुम मेरी तो जान निकाल रही हो. फिर कुछ देर यूं ही गर्मागर्म बातें करने बाद हम दोनों एक दूसरे को गुड नाइट बोल कर सो गए. अब मैंने उसे उठा कर सोफे पर बिठाया और उसका सूट सलवार दोनों को निकालकर फैंक दिया.

मैंने तभी दरवाज़े पर मैंने आशिया को देखा जो मेरी ओर थाली लेकर आ रही थी.

उस समय मैं अधिकांशत: घर पर ही रहता था और अलग अलग साइट पर कहानियां पढ़ता रहता था. हम दोनों बाहर रेस्टोरेन्ट में गए और मैंने दो प्लेट खाना ऑर्डर कर दिया. मैं अपनी टी-शर्ट उतारने ही वाला था कि उसने मुझे जोर से बेड पर धक्का दे दिया और वो मेरे ऊपर लेट गयी.

फिर से मैंने अपने लंड को चूत के छेद पर लगाकर एक धक्का लगाया तो लंड का सुपारा चूत में घुस गया. कुछ पल बाद चाची ने राहुल को बेड पर धकेल दिया और उसे अपने नीचे लिटा लिया. हम दोनों बाहर निकल आए और वो मुझसे बोली- साले जल्दी से किसी होटल में चल, मेरी चुत भभक रही है.

मैंने मजा किरकिरा न करते हुए उसकी चूची को दबाना शुरू कर दिया और साथ ही जीभ से उसके कान के पीछे चाटने लगा.

मैं मौसी की वासना से भरी सिसकारियों की आवाज़ सुनकर मैं और भी जोश में आ गया था. ये सुनकर श्रेया खुश हो गयी क्योंकि श्रेया ने वेब डिजाइनिंग का कोर्स किया हुआ था.

बीपी बीएफ देसी फिर एक दो दिन बाद उसने अपने घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और उसे चूसने लगी. इस वक्त चाची का मुँह लंड से खेल रहा था तो राहुल ने खिड़की की ओर मुझे इशारा करके दिखाया कि कैसे चाची उसका लंड चूस रही थीं.

बीपी बीएफ देसी उसने कहा- अब क्या बनाओगे, एक काम करो … तुम आ जाओ मैं टिफ़िन पैक कर देती हूँ. अगर आपने इससे ज्यादा कुछ किया, तो मैं पागल हो जाऊंगी और मेरी आवाज निकलने लगेगी.

कहते हैं कि सबकी जिन्दगी में एक मौका ऐसा भी आता है, जब जिंदगी हमें वो पल दे जाती है, जब हम मौत के पास होते हैं … और सबसे हसीन पल बन जाता है.

हिंदी देहाती बीएफ सेक्सी फिल्म

मेरे पास मेरी और भी बहुत सी सच्ची कहानी है जो मैं आकर जल्दी शेयर करूंगा।[emailprotected]. इतना कह कर मैंने अपनी साली के गाउन को उतार दिया और वह सफेद ब्रा सामने आ गई. ‘उन्हहंह गंग गों …’अगले ही पल वो अपने मुँह से मेरा लंड निकालकर एक तरफ खड़ी हो गयी.

अब और बर्दाश्त नहीं कर सकती, डाल दो अपना ये प्यारा लंड मेरी चूत के अन्दर!मैंने भी देर ना करते हुए आंटी को कंधे से पकड़ा और झट से टंकी की दीवार पर टिका दिया, उनका एक पैर उठा लिया और उनके दोनों पैरों के बीच आकर अपने लंड उनकी चूत पर टिका दिया. यह सुनते ही मैंने उनकी पैंटी फाड़ डाली … भाबी की चिकनी चूत मेरे सामने लपलप कर रही थी. मैं उसकी गांड के पीछे उसके दोनों पैरों के बीच घुटनों पर खड़ा हो गया और अपना एक पैर उसके पैर के बाहर बेड पर पंजा टिकाकर रख दिया.

उधर विलियम ने भी दुबारा से मेरी चूत को अपने हाथों से चौड़ा करके जीभ दोबारा से मेरी चूत में दे दी.

फिर अपने मुंह से उसके मुंह में मयंक का सारा माल दिया।कुछ मिनट तक हम दोनों मयंक का वीर्य अपने थूक के साथ एक दूसरी के मुंह में डालती रही और फिर थोड़ा मैं तो थोड़ा सीमा उसका वीर्य पी गयी।हम दोनों खड़ी हुई और मयंक को बारी बारी लिप किस करके थैंक यू बोला. इतने में उसने पूछा- बोलो जनाब क्या बनाऊं आपके लिए?मैंने कहा- कुछ भी जो तुम्हें ठीक लगे. मैं पूरा का पूरा वीर्य पी चुकी थी लेकिन उसका लण्ड अभी भी धीरे-धीरे वीर्य मेरे मुंह में गिरा रहा था.

ऐसे करके 10-15 धक्के अन्दर को मारे ताकि मेरे लंड के लिए जगह बन जाए. यह कहते हुए उसने दोबारा मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया और पागलों की तरह लंड चूसने लगी. अब मैंने उसे अपने लंड की तरफ इशारा किया तो उसने झट से मेरा बॉक्सर निकाल दिया और मेरे लंड को पकड़ कर उस पर जीभ रगड़ने लगी.

[emailprotected]लेडी डॉक्टर पोर्न स्टोरी का अगला भाग:लेडी डॉक्टर ने मेरे लंड की खुजली का इलाज किया- 5. फिर मैंने पापा के लंड को अपनी चूत में ले लिया और उनके मोटे लंड से चूत चुदवाने लगी.

मैं हौले हौले से चाची की मैक्सी को ऊपर सरकाने लगा और उनकी टांग की चमड़ी से अपनी टांग को रगड़ सुख देने लगा. तो मैं अपनी पूरी रफ्तार से रुचिता की चुदाई में लग गया और वो दर्द और मजे के मिश्रण के साथ आवाज निकालने लगी. मेरी चुदक्कड़ पत्नी अपने दोनों हाथ से मेरा सर होंठों पर दबाने लगी और नीचे से अपनी चुत मेरे लंड पर थोड़ी देर तक दबा कर अकड़ गई और एकदम से निढाल हो गयी.

मैंने कहा- चाची कौन सी बिल्ली की बात कर रही हो?चाची बोलीं- हाथ भर का लंड लिए घूम रहा है और तुझे बिल्ली का पता नहीं है.

चोद लेना मुझे दबा कर जितना मन करे तुम्हारा!फिर हम दोनों ने अपना दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म के यूजर आईडी शेयर किए और रोज रात को बातचीत होने लगी।हमेशा हम दोनों सिर्फ सेक्स चैट करते थे और एक दूसरे को अपनी न्यूड्स शेयर करते थे।हम दोनों ने मिल कर एक डेट डिसाइड किया कानपुर में मिलने का।मैं ट्रेन से कानपुर गया. मैंने बिना देर किए उसके बदन से सारे कपड़े उतार फेंके और मैं भी पूरा नंगा हो गया. इसके बाद में तुम खुद ही लंड अपनी चूत में बार बार लेना चाहोगी, सिर्फ एक बार रेखा सहन कर लो … और फिर खुशियां ही खुशियां हैं मेरी जान!रेखा बोली- ठीक है हर्षद अब मैं तुम्हें नहीं रोकूंगी.

[emailprotected]सेक्सी कॉलेज गर्ल Xxx कहानी का अगला भाग:सेक्सी मम्मा से वासना भरा प्यार- 4. क्योंकि बड़े बुजुर्गों ने कहा है कि जल्दी का काम शैतान का होता है … और सब्र का फल मीठा होता है.

अब मैंने चाची के होंठों को चूसना शुरू किया और धीरे धीरे उसकी चूत में लंड के धक्के लगाने लगा. मैंने कहा- ये जेबाँ तो आज घर पर है, हम लोग कैसे मजा करेंगे?वो बोली- मुझे भी समझ नहीं आ रहा है. यहां मेरी बहन मुझे खाना परोसने के लिए जैसे ही झुकी तो मुझे उसके चुचे साफ दिखने लगे.

शादीशुदा औरतों की बीएफ

अनुषा मेरा लंड बाहर निकालने को कोशिश कर रही थी मगर मैं लंड मुँह में ही पेले रहा.

जब मैं दीदी की तरफ मुँह करता था तो वो लोग मुझे दीदी की तरफ मुँह करने ही नहीं दे रहे थे. जब मैंने जाकर देखा तो बाथरूम का गेट खुला था और अदिति अपने मोबाईल में एडल्ट फिल्म देखकर पूरी नंगी होकर अपनी चूत में उंगली कर रही थी. इतनी जोर से डालता है क्या कोई? एक तो तुम्हारा लंड इतना मोटा और लंबा भी है.

इतने में मेरी नजर भाभी के मम्मों पर नजर चली गई क्योंकि उन्होंने ढीली सी टी-शर्ट पहनी हुई थी. मेरे लंड महाशय की लम्बाई मोटाई इतनी है कि ये किसी सूखे कुंए से भी पानी निकाल दे. इंडियन होममेड सेक्सअभी दो मिनट ही बीते होंगे कि उसने करवट बदल कर अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया और लंड सहलाने लगी.

एक दिन प्रियंका ने मेरा लंड को अपने हाथ से पकड़ा और उसे सहलाने लगी. फिर मॉम ने मेरे लंड को अपनी चुत के छेद पर रखा और बोलने लगीं- मेरे राजा … जैसी चुदाई होटल में की थी, ठीक वैसे ही चुदाई आज भी कर दो.

डॉक्टर बोला- ऐसे नहीं!और उसने अपने दायें हाथ से मम्मी की चूची पकड़ कर जोर से दबा दिया. मेरा हाल भी ऐसा ही था लेकिन तभी शिल्पा ने मुझे एक बात बताई, जिसे सुन कर मेरे हाथ रुक गए. इससे वो बेकाबू हो गईं और अपनी आंखें बंद करके मादक सिसकारियां लेने लगी थीं.

इसी प्रकार एक बार उसके जन्मदिन के कुछ दिन पहले हमने नागपुर में मिलने का प्लान किया. इसी दौरान उसने मेरी पैंट खोलना शुरू कर दिया और मैंने भी उसकी कमीज़ का एक एक बटन खोलना शुरू कर दिया. पर साली के कान में लीड लगी हुई थी जिस वजह से उसको कुछ सुनाई ही नहीं दिया.

हमारे होंठ इतने पास थे कि उसकी सांसें मेरे होंठों से भी टकरा रही थीं.

मैंने उसे समझाया- कल को कोई ना कोई तो तुम्हें चोदता ही, तो मैंने ही चोद दिया, तो क्या हुआ. मेरे दोस्त के आने के बाद हम रेलवे रूम की तरफ बढ़े तो पता लगा रूम अलॉट नहीं हुआ.

धीरे धीरे उसके जीभ चूत की गहराई में जाने लगी थी और शनाया की चूत हवा में उठ कर उसकी जीभ से चूस जाने का मजा ले रही थी. उसने मेरी टांगें ऊपर उठाईं और मेरी टांगों को मेरे सीने से मिला दीं. कम से कम बीस मिनट की चुदाई के बाद भाभी अकड़ने लगीं और बोली- अब बस कर दे.

मैंने उसे चूमते हुए अपना लंड उसकी चुत पर रगड़ दिया और सोफे पर जाकर बैठ गया. वो निढाल सी पड़ी पंखे की ओर देख रही थी और मैं उसकी ओर!उसका ये पल भर का सुकून ऐसा लग रहा था … जैसे उसको जन्नत मिल गयी हो. इसका अहसास उसकी ऊपर नीचे होती हुई छाती और बंद हुई आंखें भी बता रही थीं.

बीपी बीएफ देसी तभी उसमें से एक लड़का बोला- क्यों हल्ला मचा रहे हैं भैया, आप भी कर लीजिए न!कुछ देर बाद वह भी मान गया और बोला- इसको किसी ने अभी चोदा है?सबने न बोला. तो दोस्तो, यह थी मेरी असली कहानी!कृपया मेल करके बताइए कि आपको मेरी कहानी कैसी लगी।कमेंट बॉक्स में भी कमेंट करके बतायें.

सेक्सी दे सेक्सी बीएफ

मैंने अब सरिता को ऐसे ही नीचे ले लिया और मैं अपने घुटने के बल बैठ गया. जल्दी से मैंने उसके शर्ट को ऊपर किया, तो देखा कि शिल्पा ने ब्रा नहीं पहनी थी. कभी मैं एक दूध को पीता और दूसरे को हाथों से बड़ी बेरहमी से मसलता, उसकी निप्पल को चुटकी काट देता, तो कभी दूसरे दूध को मुँह में ले लेता और दूसरे वाले को अपनी हथेली से भींच देता.

मैंने सटासट 10-12 शॉट मारे और मेरा सारा माल नेहा की चूत में छूट गया. मुझे हैरान देख कर वो बोली- क्यों कैसा लगा सॉफ्टवेयर?मैं उसे देखता रहा, कुछ बोल ही नहीं पाया. ओल्ड ट्रैक्टरआज मैं सेक्सी चाची Xxx कहानी में आपको बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने अपनी चाची की चुदाई की.

मैंने सरिता का एक पैर बेड पर रख दिया और एक हाथ से तना हुआ लंड का सुपारा सरिता की चूत में डाल दिया.

मैंने बीएससी में एडमिशन ले लिया और अपनी मम्मा सौम्या के साथ मज़े भी लेता रहा. आपको कैसी लगी यह पंजाबी भाभी सेक्स कहानी! मेल और कमेंट में जरूर बताना.

मेरा भाई बड़े मनोयोग से मूवी देख रहा था और उसका हाथ उसके लोअर में था. दूसरी तरफ केविन मेरी चूत को चाट रहा था।पर लांस से गांड चटवाने में मुझे ज्यादा मजा आ रहा था. रेखा झूठा गुस्सा दिखाती हुई अपनी गांड मेरे लंड पर रगड़ती हुई बोली- हटो ना हर्षद … मुझे चाय बनाने दो.

पत्नी ने अपनी मैक्सी के अन्दर से अपने दोनों मम्मों को बाहर निकाल दिया और मेरा सर पीछे से पकड़ कर निप्पल पर लगा दिया.

जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो वो मेरे नीचे से कसमसाने लगी और मुझे अपनी तरफ खींचने लगी. कुछ देर बाद मुकेश ने उठकर मेरे चेहरे पर हाथ रखा और जल्द ही मेरा हाथ पकड़कर मुझे घुमा दिया. हम दोनों फिर से लग गए और आधे घंटे तक मैंने विलास की गांड की पलंगतोड़ चुदाई की.

रक्षाबंधन कब का हैमेरी सासु मां भी उसकी साइड लेती हैं क्योंकि वो मुझसे ज्यादा दहेज लेकर आई थी. अक्सर माइक लिए लोगों का मनोरंजन करते, बच्चों को गेम्स खिलाते देखा है.

बीएफ जी वीडियो

लेकिन सिर्फ खूबसूरती शारीरिक आकर्षण तक ही सीमित नहीं होती।आकांक्षा सभी पैमानों में खूबसूरत थी. रेखा बोली- बहुत जालिम हो तुम हर्षद … और कितना तड़पाओगे मुझे?मैं- रेखा अब मैं अलग पोजीशन में तुम्हारी चूत चूसूंगा. कुछ देर बाद अंधेरा होने लगा तो मेरे चाचा के लड़के ने बोला कि वो हलवाइयों के पास जा रहा है.

जैसे ही दरवाजे से अन्दर गया तो मुझे डाक्टर रेखा ने अपनी बांहों में कस लिया. उसकी गर्दन को चूम कर बूब्स पर लव बाइट्स देते हुए मैं उसको चूम रहा था. मैं एक हाथ में लंड पकड़कर, लंड का सुपारा रेखा की गीली चूत के मुँह पर रगड़ने लगा.

एक बार की बात है जब मेरी कमर में दर्द हो रहा था तो मेरे जेठ का बड़ा बेटा अंकेश बोला- चाची जी, आपकी मालिश करने की जरूरत है. ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो कोई भूल चूक हो सकती है, अत: पहले ही माफी मांग रहा हूँ. मैं रुका और उसको पलटा कर उल्टा लिटा दिया, उसे डॉगी वाली पोजीशन में सैट कर दिया.

देखते ही देखते उसका लंड असली आकार में आ गया, काफी लम्बा और मोटा था. तो मैं नॉर्मल ही उसे विश कर दिया और लगे हाथ मजाक में उससे पार्टी के लिए भी कह दिया.

मैंने उसे अपने नीचे ले लिया क्योंकि पहली बार में लड़की कोलंड की सवारीनहीं कराई जा सकती थी.

वो चाहती थी कि मैं उसको अपने कमरे में ले जाकर चोद दूं या चूम लूं किन्तु मैनेजर की वजह से ऐसा ना हो सका. डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स वाई जेडवह अपने काम में लगा रहा और उसने मेरे गले पर, सीने में, किस करना शुरू कर दिया. सेक्सी वीडियो डॉट कॉम अंग्रेजीमैंने इधर उधर देखा, पुलकित नहीं दिखा तो मैंने अकेले ही जाने का सोचा. मौसी- अच्छा!मैं- हां मौसी, आप दिखने में हो ही इतने सुंदर कि मैं अपने आपको रोक नहीं पाया.

मैंने ऐसे ही सरिता को बेड पर लिटाया और उसके सर के नीचे तकिया रख दिया.

मैंने उसको कॉल किया तो उसने बताया कि अभी उसका पति घर पर है, इसलिए उसे थोड़ा टाइम लगेगा. दस मिनट की चुसाई के बाद सरिता बोली- अब बस भी करो हर्षद … अपने सोहम के लिए भी थोड़ा दूध छोड़ दो. लेकिन मेरा लौड़ा उनकी गांड के छेद में घुसा नहीं!तो मैंने और इस बार जोर से धक्का दिया तो आधा लोड़ा मेरी बहन की गांड के छेद में घुस गया.

मैं फुल स्पीड में उसकी चुत की धज्जियां उड़ाने लगा- ले मादरचोद छिनाल साली रंडी ले तेरी बहन को चोदूँ साली हरामिन. बस अब मैंने झट से उसका हाथ पकड़ लिया और कहा- तुम्हारी चूड़ियां बहुत सुंदर हैं, बिल्कुल तुम्हारी तरह. उसने मुझे एक पार्क की लोकेशन सेंड की और मैं वहीं पर उसका इंतजार करने लगा.

बीएफ वीडियो चलने वाला हिंदी

चुदायी की आग में हम दोनों ही जल रहे थे और आज इस आग को शांत करने का समय आ गया था. इतना सुनने के बाद वो बहुत खुश हो गयी और मेरे गले में अपना भार डाल कर अपने होंठों को मेरे होंठों से जोड़ दिया. जैसा कि मुझे अंदाजा था, थोड़ी ही देर में सौम्या डार्लिंग मेरा पूरा साथ देने लगी थी.

तुम एक दिन के लिए आओ ना!मैंने कहा- वीडियो कॉल करो ना … हम आमने सामने बातें करेंगे.

ये थी देसी सेक्सी हॉट गर्ल चुदाई कहानी, आपको कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.

वो दिखने में सुंदर, कद साढ़े पांच फिट और फिगर 34-30-36 का, बाहर निकले कूल्हे, बहुत ही सेक्सी फिगर. चाय खत्म होते ही सोनाली ने उठकर दरवाजा अन्दर से बंद कर दिया और हम दोनों ऊपर बेडरूम में आ गए. सेक्सी मूवीस डाउनलोडवो हार्दिक से बोली- अब नहीं रहा जा रहा … जल्दी से लंड डाल दे चूत में.

अम्मी और खाला एक दूसरे के मम्मों को दबाने लगीं और फिर से चुदाई शुरू हो गयी. हम दोनों की हिलती हुई कमर और साथ में उसकी चूत का गीलापन, उसके पायजामा से मेरे लोअर के ऊपर महसूस हो रहा था. उसने कहा- एक गेम है, उसमें तुम्हें सामने वाले की सारी बात माननी पड़ेगी.

उसकी चुत न जाने कितनी गीली हो चुकी थी कि पूरा कमरा फच फच की आवाज से गूंज रहा था. लेकिन जैसे ही मेरा हाथ उसकी चुत की तरफ़ जाने लगा, तो उसने मेरे हाथ को रास्ते में ही रोक दिया.

हम दोनों बाथरूम में गए और मैंने जय का लंड साफ़ किया और उसने मेरी बुर पानी से धोई!मेरी बुर चुदकर लाल हो गई थी।जय का लंड साफ़ करने के बाद में बाथरूम में ही उसका लंड चूसने लगी.

मैंने उससे पास में अपने होटल चलकर बैठने का प्रस्ताव रखा जिसे शिखा ने थोड़ी सकुचाहट के बाद मान लिया. मैं- हट्ट पागल, जान से प्यारी बहन को भी भला कोई मारता हैं क्या?शिखा- बातें देकर ही तो आज आपने अपने लंड के नीचे डाल रखा है. वहां से आते हुए दोपहर हो गई पर भैया को कहीं और जगह भी जाना था तो उन्होंने मुझे घर पर छोड़ दिया.

मोना लीज़ा फिर धीरे धीरे ‘आप कैसे हो …’ ‘आप आज अच्छी लग रही हो …’ ‘आप टीचर पेरेंट्स मीटिंग में जाने वाली हो. मैं करीब दस मिनट तक ऐसे ही पायल की चूत में उंगली करता रहा, तो उसमें से कुछ चिपचिपा सा माल निकल आया.

मुझे पता था एक सप्ताह बाद ही मामा की लड़की की शादी है, तो मम्मी पापा वहीं चले जाएंगे. मैं उसके चूतड़ों पर हाथ फेरते फेरते उसकी गांड पर उंगली फेरते हुए कहने लगा- तो बहुत दिनों से इसे कुछ मिला?शायद मेरी सुन कर उसकी गांड हरकत करने लगी थी. भाबी- क्या सच में तुम्हारा इतना बड़ा है?मैंने कहा- आप बोलो तो अभी दिखा दूँ?भाबी- हां दिखाओ.

बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो सेक्सी

लेकिन जैसे ही मेरा हाथ उसकी चुत की तरफ़ जाने लगा, तो उसने मेरे हाथ को रास्ते में ही रोक दिया. जब भी मैं धक्का देता तो उसके चूतड़ों से रगड़ कर मेरा लंड चूत के अन्दर जा रहा था. उसका क्या करूं?कभी कभी तो मन करता है काश मेरे पति मुझे भी अपने साथ ले जाते क्योंकि रात को जेठ जी के रूम बहुत ही ज्यादा कामुक आवाजें आती हैं जो मुझे गर्म कर देती हैं।अब जेठ बहू Xxx कहानी का मजा लें.

लगभग 20 मिनट बाद मैंने सौम्या को गोद से नीचे उतारा और सौम्या को बेड पर पीठ के बल लिटा दिया. वो बोली- क्यों?मैंने कहा- तुम पर मेरा लंड नहीं सम्भला तो ये तो और भी दर्द देगा.

मैं जल्दी से चाभी को लेकर ऊपर आया और निशा के रूम के बाहर खड़ा हो गया.

काफी देर तक लंड को चूसने के बाद जब मुझे अहसास हुआ कि बस कुछ ही देर में मेरा काम तमाम होने वाला है तो मैंने उसको पीछे कर दिया क्योंकि मुझे उसकी चुदाई भी करनी थी. उसी समय मेरी जॉब लग गई थी तो मैं उसके साथ ही दिल्ली शिफ्ट हो गया था. हॉस्टल से आने के बाद मैं अपनी मम्मी को देख कर उत्तेजित तो ज़रूर हुआ था पर उनकी चुदाई करने का मन अब ज्यादा करने लगा था.

अम्मी ने मुझसे पूछा- कोई दिक्कत तो नहीं होगी?मैंने कहा- नहीं, कोई दिक्कत नहीं. वहां जाकर मैंने दूर से भाभी से पूछा- क्या हुआ भाभी … अब आपकी तबियत तो ठीक है न?उन्होंने रूखे स्वर में कहा- तुम अपना काम करो, मैं ठीक हूँ. वो जोर से चीखी … पर मैं रुका नहीं।सिसकारियाँ भरते हुए उसने कहा- हाँ ऐसे ही … आह … मजा आ रहा है!मैंने कहा- बहुत!और उसे चूमने लगा।तभी उसने मुझे कस के पकड़ लिया और खाली हो गई।मैं अभी भी चोद रहा था.

कैसे मैं उससे चुद सकी, ये मैं आपको लेडी हॉर्नी सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.

बीपी बीएफ देसी: मम्मी ने सलवार सूट पहना और अपनी जवानी की गर्मी से मेरे लंड को झुलसाने लगीं. पर साली के कान में लीड लगी हुई थी जिस वजह से उसको कुछ सुनाई ही नहीं दिया.

फिर मोहन ने विशाल के पास जाकर कहा- रवि दूसरी बार गांड मरवाने के लिए राज़ी है. शायद इतने सालों से नहीं चुदने के कारण मम्मी की चूत किसी जवान लड़की जैसी हो गयी थी. ये सारी बातें हम लोग शाम को मिलकर मेरे घर की छत में बने ऊपर कमरे में होती थी.

मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और लंड को दूसरे हाथ से पकड़ कर उसकी चूत पर रगड़ने लगा.

उसी समय मेरे घर से कॉल आया और घर वालों ने पूछा- घर कब आओगे?मैंने कहा- अभी तो एग्जाम 3 दिन डिले हो गए हैं. मुझे नहीं पता था कि ये कोचिंग क्लास मेरे लंड के लिए वरदान साबित होगी. मैंने बाथरूम में उसके साथ कुछ नहीं किया हालांकि वो तो रेडी थी पर उसे दर्द तो हो ही रहा था.