हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली

छवि स्रोत,इंसान और जानवर सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

दो बहनों की कहानी: हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली, मैंने अपना मुँह हेमा चाची की चूचियों पर लगा दिया और बारी बारी से दोनों मम्मों को चूसने लग.

सेक्सी दी ोसिस

मैंने मैडम की मादक आवाज का सम्मान किया और अपना खड़ा लंड चुत में पेवस्त कर दिया. हिमाचल प्रदेश सेक्सउधर मामा के यहां मैं बारह बजे तक रूका, फिर मैं हाज़िमा आंटी के घर आ गया.

फिर हेमा चाची ने अपने ब्लाउज से मेरे लंड और अपनी चूत को पौंछा और बिस्तर की चादर को हटा कर कमरे के कोने में पटक दिया. लंड बुर कीवो भी गांड उठा उठाकर चुदाई करवाने लगी।मैंने अपने लौड़े को जल्दी जल्दी अंदर बाहर करना शुरु कर दिया और वो भी मजे से चुदने लगी.

मैंने कुछ नहीं कहा और उस नौ इंच वाली टेबलेट की याद करते हुए चुदाई की कल्पना करने लगा.हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली: जब चाची वाईपर से चबूतरे का पानी नीचे की ओर झुक कर खींच रही थीं, तो उस वक्त गुलाबी नाईटी से उनकी गांड मस्त उभर कर नजर आ रही थी.

उन्होंने रागिनी की ओर देखते हुए बोला- तुमको भी घूमना हो तो चली जाओ साहिल के साथ! मैं उसको बोल दूँ?रागिनी ने बिना मन के हां में सर हिलाया तो यह बात मेरी दादी समझ गयी.रियल ब्लैकमेल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की भाभी तन्हा और अकेली थी.

सील तोड़ा - हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली

मैं बोला- जब तक मेरा लंड दोबारा खड़ा होगा तब तक मैं तुम्हें रस्सी से बांध देता हूं.उसकी चूचियां लाल हो गयी थीं जो कि अब बहुत ज्यादा उत्तेजक लग रही थीं.

मैं अपनी बीवी की चुदाई के साथ साथ रिया की चुदाई करके उसको भी खुश रखता हूं. हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली मैं उनका साथ देने लगा और फिर कुछ देर बाद तो खुद ही गांड को उछालने लगा.

उसने होटल में जाने से मना कर दिया और बोली- नहीं होटल में नहीं … वहां बहुत खतरे वाली बात है.

हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली?

मैंने अपने हाथ आगे किये और शबाना भाभी की दोनों चूचियों को दबाते हुए उसकी गर्दन पर चूमना चालू कर दिया. काफी मस्ती से शबाना भाभी मेरे लंड को अपने गले अंतिम छोर तक ले जाकर चूसती रही. मैंने उसको ऐसे ही लेटे रहने को कहा और खुद उसकी बगल में आकर उसकी चूचियों को दबाने लगा.

लेकिन मेरा लन्ड थोड़ा सा ही आगे घुस पाया।भाभी दर्द से तड़पते हुए बार बार लंड को बाहर निकालने के लिए मिन्नते करने लगी।अब मुझे भाभी पर थोड़ा सा तरस आया और मैं मेरे लन्ड को भाभी की कसी हुई गांड में से बाहर निकालने लगा. इस कहानी के पहले भागभाभी की बहन चोदकर बीवी बना ली-1में मैंने आपको बताया था कि मेरी भाभी की बहन रीति को मैंने पटा लिया था. मैंने गोपनीयता के कारण सिस्टर इन लॉ सेक्स स्टोरी में सारे नाम बदल दिये हैं.

वो बोली- वो दोनों कहां हैं?मैंने बताया कि भाभी और प्रिया तो ऊपर वाले कमरे में चली गई. मैं रहने वाली पुणे की हूं और यहाँ फ़िलहाल एक आईटी कम्पनी में असिस्टेंट मैनेजर के तौर पर जॉब करती हूं. जिस वजह से आज जब विजय ने अपना मोटा लंड मेरी गांड में पेला, तो मेरी गांड ने ढीली होकर उसके मोटे लंड को लील लिया था.

मैंने उसको पकड़ कर नीचे लिटा दिया और उसके पैर अपने कंधों पर रख कर पूरा लंड चुत में पेल दिया. उसका हाथ जैसे ही मेरे लंड पर पड़ा मैंने उसे अपने ऊपर झुका लिया और उसके होंठों को जोर से चूसने लगा.

फिर मैंने पूछा- आपको मोमबत्ती से मजा आता है क्या?दीदी- अरे भाई, जब लंड ना हो तो उंगली भी डालनी पड़ती है।इस तरह से उस रात दीदी और मेरे बीच में सेक्स संबंध बन गये.

मैंने भाभी को गले देते हुए एक और झटका दिया- ले माँ की लौड़ी पूरा लंड ले.

वो चाहे सेक्स ही क्यों न हो!जिस तरह साहिल ने मेरी मदद की, अब वो सब की कर रहा है।अब मैंने मन ही मन में ये फैसला कर लिया कि मुझसे जितना हो सकेगा मैं साहिल के लिए नई चूत का इंतज़ाम करूंगी. उसके गले पर मेरे दांत का निशान पड़ गया और पूरा लाल हो गया।अब उसका बुरा हाल हो रहा था. एक महीने से मैं घर पर अकेली थी, उनको देखकर मेरा खुश हो जाना लाजिमी था.

’इसी तरह चुदते हुए मैं झड़ गई और कुछ देर में विजय भी मेरी गांड में ही झड़ गया. कुछ ही देर तक चुत को चूसा, तो माला मैडम की कराहें भरपूर वासना बिखेरने लगीं. कविता- हाह्ह … उफ्फ … उम्म … लगता है बहुत आग लगी हुई है तुम्हें!वो हंस रही थी लेकिन मुझे गुस्सा आ रहा था.

मेरा हाथ हेमा चाची की चूत पर आ गया था, जिस पर मैं हल्के से बाल महसूस कर रहा था.

मेरी निगाहें अपने घर के मर्दों की तरफ घूमने लगीं, तो सबसे पहले मेरी नजर मेरे ससुर पर गई. भले ही अलीमा झड़ गई थी मगर बलविंदर ने उसकी चूत की जीभ से चुदाई करना नहीं छोड़ा था; वो उसे लगातार चूसता रहा … अपनी जीभ से कुरेदता रहा. मैं उसकी चूचियां मसल देता था, उसके होंठों को काट लेता था, स्कर्ट में हाथ डालकर चूत में उंगली डाल देता था.

दो मिनट की सकिंग से लंड एकदम टाइट हो गया और सुमन ने अपने थूक से उसे अच्छी तरह गीला कर दिया था. मेरी मेल आईडी है[emailprotected]प्यासी भाभी सेक्सी कहानी का अगला भाग:दोस्त की बीवी की चुदाई की कहानी- 2. मेरे जाते ही सलमान ने मेरी अम्मी के दूध मसल दिए, इससे उनकी आह निकल गई.

मेरी एकदम से आह्ह निकल गयी और वो बोला- अभी तो कुछ किया भी नहीं मैंने जी.

सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपनी अम्मी के बारे में बता देता हूँ. दीदी पहले तो थोड़ी हिचकी लेकिन फिर एकदम से लंड को मुंह में भरकर चूसने लगी.

हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली मैडम ने दोनों हाथों से अपने ब्लाउज को खींचा, तो चट चट करते हुए उसके ब्लाउज के सारे बटन खुल गए और ब्लाउज ब्रा में कैद चूचियों पर झूल गया. उसने मुझे अपनी बांहों में खींच कर बिस्तर पर लेटाया और मुझसे लिपट कर लेट गया.

हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली एक दिन मैं अपनी शॉप के मालिक धीरज से बोली कि मेरी सैलरी बढ़ा दी जाए और सेल पर मिलने वाला कमीशन भी. मैं उसे अपने गदराए, मखमली और उभरे हुए स्तनों को दिखा कर ललचाने लगी।कुछ देर तक मुझे निहारने के बाद उसका लन्ड में कुछ हरकत होने लगी; जिसको वो हाथ से सही करने लगा.

मैं बाहर चला गया और 5 मिनट भीगने के बाद बहन को कॉल किया और कहा कि घर के बाहर हूं, गेट खोलो, भीग गया हूं।बहन ने दरवाजा खोला और उसके पीछे पीछे वो चारों लफंगे बाहर आये.

औरत को कैसे तैयार करें

जब मैंने उनका कड़ियल शरीर देखा, तो उसी पल मेरा मन किया कि इनसे लिपट जाऊं!पर वो मेरे ससुर थे और मैं ऐसा नहीं कर सकती थी. मेरे लंड के बाहर निकलते ही मेरा लंड बहुत ही चिपचिपा और लिसलिसा सा हो गया था. इतने में ही उसने दूसरा धक्का मारा और पूरा लंड शालू की टाइट चूत में उतार दिया.

फिर मैंने पैरों को उसके पैरों के बीच में फंसाकर अपनी पोजीशन फिक्स कर ली और उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूत को चोदने लगा. मैं उससे यही सब बातें करते हुए धीरे धीरे से लंड उसकी गांड में डालता जा रहा था. अगले दिन जब मैं स्कूल पहुंची तो वो पहले से ही क्लास में बैठा हुआ था.

उसके बाद हम एक ही रूम में सोये और रात को मैंने दो बार फिर से उसकी चूत मारी.

मेरी सिसकारियां अब मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रही थीं और अब बस मुझे किसी भी तरह लंड चाहिए था. थोड़ी देर बाद कल्पना का कॉल आया और उसने मुझसे कहा कि होटल की साइड वाली जूस की दुकान पर आ जाओ।मैं वहां पर बाइक लगा कर साइड की दुकान पर चला गया. दोस्तो, आप सभी को नमस्कार और सभी का बहुत बहुत धन्यवाद, जो आप लोगों ने मेरी सेक्स कहानीमामी की सहेली की चुदाईको इतना पसंद किया.

वो कामुक सिसकारियां भरने लगी- अहह … देवू आह!अचानक से वो पलटी और मुझे किस करने लगी. अब आगे की भाई की साली को चोदा कहानी:झड़ने के बाद कुछ देर तक हम लेटे रहे. इस पर जय बोला- तेरा पति गांडू है साला … इतनी कमसिन माल रंडी है तू … और वो तुझे सही से चोद भी नहीं सकता हैजय का पूरा लंड मेरी चुत की जड़ में पहुंच गया था.

मेरे कड़क लंड का अहसास पाकर उसने अपनी गांड को मेरे मस्त लंड के ऊपर सेट कर लिया और अब हम दोनों कुछ करने के मूड में थे। मेरे दोनों हाथ हिमानी की चूचियों को मसल रहे थे. इसलिये आपको बताया कि आप ही कुछ करो, हम दोनों की चुदाई का प्रोग्राम सैट करो.

मेरा लंड मेरी लोअर में तना हुआ उसकी पैंटी के ऊपर उसकी चूत पर चुभ रहा था. इधर बलविंदर अलीमा के चूचों को चूसे जा रहा था और बारी बारी से एक चूची को चूसता, दूसरे को दबाता. मैंने कहा- पहले एक बार लंड का पानी निकाल लेने दे, बाद में ये सब देखता हूँ.

एक तो नेहा के साथ खेलने के चलते मेरा लंड खड़ा था ऊपर से ये कविता की खुशबू और उसकी टाइट ड्रेस देखकर मुझे नशा होने लगा.

इतने में उन्होंने मुझे नीचे बिठाया और राहुल मेरे होंठों पर अपना लंड घिसाने लगा. इस सेक्स कहानी की हीरोइन यानि राजू भैया की पत्नी और मेरी भाभी जी का नाम महादेवी है. मेरे हाथों की गर्माहट ने उन्हें मदहोश कर दिया और धीरे धीरे उनका सोया हुआ शेर जागने लगा.

मैं निरंतर कभी भाभी की गांड की दरार में … तो कभी उनके दोनों कूल्हों पर अपना लंड रगड़ रहा था और भीड़ की वजह से किसी को कुछ नहीं पता चल पा रहा था. और उनके दो बच्चे जो अभी बहुत छोटे हैं।अपनी मामी का वर्णन मैं अपनी दूसरी कहानी पर बताऊंगा।अभी इसी कहानी पर आते हैं.

2 बजे के करीब मैंने उसको रूम में बुला लिया और कहा कि मेरा एक बार सेक्स करने का मन है. तभी मुझे नीचे कुछ गिरने की आवाज आई, तो मैं उठा और धीरे धीरे बिना आवाज़ किए नीचे आ गया. फिर कमल ने सामने से अपना लंड मेरे मुँह में डाला और मेरे मुँह को चोदने लगा.

बीपी दिखाइए हिंदी में

क्या तुम अभी 15000 रुपये दे सकते हो? बाद में सुमन तुम्हें लौटा देगी.

मैंने ध्यान दिया अमित मेरी बीवी की चुचियों की दरार को भूखी नजरों से देख रहा था. और कुछ अंदर के कपड़े मतलब ब्रा पेंटी भी लेकर घर आ गयी।अगले दिन मैं नहा कर ब्रा पहनी. और अभी कुछ दूर पहुंची थी कि मुझे याद आया कि मैं अपना लॉकेट जो सोने का था उसको वहीं भूल गयी.

वो मेरे टट्टों को सहलाते हुए लंड चूस रही थीं तो मेरी आंखें मदहोशी के आलम में बंद हो गई थीं. गर्म चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी बुआ के घर गया तो वहां मेरी बहन की सहेली मुझपर लाइन मारने लगी. मिया खलीफा sexआपको कुंवारी स्कूल गर्ल सेक्स कहानी कैसी मुझे अपने मैसेज में जरूर बताना.

उसके सीने पर दुपट्टा नहीं था और मशीन का हैंडल चलाते हुए उसकी चूचियां एक मदमस्त लय के साथ हिल रही थीं. मैं अपनी गलती समझ गया और तनिक लज्जित सा हो कर सिर नीचे करके खड़ा था.

रास्ते भर में मैंने अपनी साड़ी एकदम नाभि के नीचे कर लिया और फिर पल्लू इस तरह से ओढ़ा कि मेरी चूचियाँ दिखने लगी. मैं उससे यही सब बातें करते हुए धीरे धीरे से लंड उसकी गांड में डालता जा रहा था. तो मैं भी उसके पीछे हो ली।वो मेरी क्लास के अंदर गया और मैं क्लास के बगल वाली खिड़की पर आ कर खड़ी हो गयी.

फिर बिना उसकी सहमति लिए या उसकी कुछ सुने, मैं अन्दर वाले कमरे में आ गया. इस बार मैंने सीधा उसकी चुत पर हमला किया और एक झटके में ही दो इंच लंड चुत के अन्दर पेल दिया. हेमा चाची ने कहा- जरूर देखूंगी यार, क्या तुम्हारे पास ब्लू फिल्में हैं?मैंने कहा- हां चाची मैंने कुछ ब्लू फिल्में मोबाईल में सेव कर रखी थीं, कभी कभी हवस शांत करने के लिए देख लेता हूँ.

अंदर जाते वक़्त एडजस्टमेंट में मेरी टी-शर्ट जो पहले ही मेरे बदन से काफी चिपकी हुई थी, ऊपर चली गयी और मेरी शॉर्टपैंट में से मेरी गांड की दरार उजागर हो गयी.

तो कुछ नौकरी पाने के लिये मैंने आगे पढ़ने का फैसला लिया।मैं अब देखने लगी कि मैं क्या कर सकती हूँ. कुछ देर के बाद मैंने उसके सारे कपड़े निकाल कर अलग रख दिए और उसके चुचे देखने लगा.

मैंने उसकी पैंटी को हल्का सा नीचे की ओर किया और उसकी चूत के ऊपर वाले हिस्से पर अपने होठों से प्यारा से चुम्बन दे दिया. कमरे में काफी देर तक हम दोनों नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेटे लेटे बातें करते रहे. फिर वो शांत हुई और बोली- आपको पता था?मैं बोला- हां मुझे पहले से पता था.

इधर मैं धक्के पर धक्के देते हुए उससे कहा रहा था- आह बेबी … अभी मजा आने लगेगा … हहह. मेरे सामने मेरी सेक्सी बुआ का मदमस्त गोरा जिस्म, काली ब्रा और काली पैंटी में इतना हॉट लग रहा था कि मैं उन्हें अपलक देखने लगा. धीरे से मैंने उसकी चूत में अपना पूरा लौड़ा डाल दिया।वह थोड़ी उचकी मगर मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये फिर मैंने धीरे से धक्के देने शुरू कर दिये.

हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली इसके बाद मेरे हस्बैंड ने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मुझे चोदने लगे. फ्री सेक्स मॉम स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी सेक्सी मम्मी के साथ होटल रूम में लेटा था.

राधिका भाभी की चुदाई

प्यासी पड़ोसन Xxx कहानी के पिछले पिछले भागजवान पड़ोसन की चुत चुदाई कहानी- 1में अब तक आपने पढ़ा कि अंकिता ने मेरे लंड को झड़ा दिया था और वो अपने हाथ साफ़ करने बाथरूम में चली गई थी. जैसे ही मेरे लंड का सुपारा उसकी चूत के अंदर गया, वो चिल्ला उठी- मम्मी … उह … आह … उह!और कहने लगी- दर्द हो रहा है. मैंने सुलेखा से कहा- क्या सच में सेक्स मेरे मुताबिक़ होगा … तो प्लीज़ मेरे लंड को चूसो ना!एक बार को तो सुलेखा ने मना कर दिया, पर आज वो मुझे उदास नहीं करना चाहती थी.

मेरी दीदी ने कहा कि वो भी अभी उसके पास नहीं जा सकती मगर वो किसी के हाथ नोट्स को भिजवा देगी. फिर हेमा चाची नीचे झुक गईं और उन्होंने मेरे खड़े और फूले हुए लंड को अपने मुँह में ले लिया. वाल की सब्जीमेरे रहने के लगभग 3 महीने बाद हमारे पड़ोस के एक नए मकान में रूबी नाम की नई किराएदार और उसका पति रमेश आए थे.

मैं बोला- भाभी कुछ काम था?भाभी- हां, तुम्हारे भईया अभी तक नहीं आये हैं.

कुछ लोग तो अपने मन में दबी भावनाओं को ऊपर आने से रोक लेते हैं लेकिन कई बार ये भावनाएं हमारे ही मन पर बोझ बनकर उसे दबाने लगती हैं, इसलिए उनको बाहर लाना जरूरी हो जाता है. राहुल ने उसकी चूची बाहर निकाल ली थी और उस पर केक की क्रीम लगाकर चाट रहा था.

वो बोली- पापा, आप ये क्या कर रहे हो?ससुर नाटक करके बोला- ओह्ह, बेटी शालू! मुझे लगा तेरी सास सो रही है. लेकिन मेरी बदकिस्मती से भाभी के पेटीकोट का नाड़ा नहीं खुल पाया।पूजा भाभी को वापस मौका मिलते ही भाभी फिर से मेरे हाथों को पेटीकोट का नाड़ा खोलने से रोकने लगी और मैं भी भाभी का नाड़ा खोलने के लिए पूरी कोशिश करने लगा।आपको मेरी देसी न्यूड भाभी चूत कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. बीच बीच में मैं अपनी पहली उंगली और अंगूठे के बीच में उसकी चूची के निप्पल को जोर से भींच देता था.

अब हेमा चाची ने अपने कमरे में घुसते ही बैग पटक दिया और धड़ाम ने अपने बिस्तर में चित लेट गईं.

आह्ह … मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।फिर मेरी गांड तब फटी जब पीछे से दीदी ने आवाज दी. क्या तुम एक रात के लिये नीचे सो सकते हो?ये सुनते ही मेरे मन में लड्डू फूट गये. घर में कोई नहीं था और घर के सभी कमरे बंद पड़े थे, सिवाय मेरे कमरे के.

ब्यूटीफुल चुत फोटोजब उन्होंने मुझे ये बताया तो उस वक्त मैंने झूठा नाटक करके ये दिखाया कि मुझे बहुत बुरा लगा कि वो अकेले ही जा रहे हैं. वही मेरा ये पहला मौका था जब मैं किसी मर्द के आगोश में आई थी और वो भी एक साथ दो मर्द मुझे चोदने की तैयारी में लगे थे.

इतनी सेक्सी फोटो

मैंने भी वीर्य से भरी शीशी को जेब से निकालकर हेमा चाची को दिखाया और कहा- चाची, मिस तो मैंने भी बहुत किया और ये देखो आपकी याद में मैंने ये शीशी पूरी भर दी. मैं भी बहुत खुश था कि हिमानी भी हमारे साथ बारात में चल रही थी।मन में कहीं ना कहीं बहुत प्रसन्नता थी कि हिमानी भी बारात में चल रही है।मैं भईया के साथ एक गाड़ी में बैठ गया और हिमानी मौहल्ले की अन्य औरतों व अपनी मम्मी के साथ बस में बैठ गई और ‘‘रानी मण्डप’’ दिल्ली के लिए हम सभी चल पड़े।‘‘रानी मण्डप’’ दिल्ली हम रात के लगभग 8. हम दोनों एकदम ठीक और फिट रहते थे, परन्तु फिर भी बच्चे का सुख नहीं पा रहे थे.

भाभी की इन मादक आवाजों से मैंने उसे सीधा लिटा दिया और उसकी चुत में अपना मुँह लगा दिया. मोना सिर्फ अपने हाथों में उसका लंड ही पकड़े हुई थी और अपना मुँह पीछे कर रही थी. अब मेरी जांघें अपने आप ही खुलकर उसके हाथ को अच्छी तरह से रास्ता देने लगीं ताकि उसकी उंगलियां मेरी चूत में और अंदर तक जा सकें.

लेकिन अब मैं उसे छोड़ने वाला नहीं था।ऐसे ही कुछ देर में उसके ऊपर रहा उसके होंठों को चूमने लगा. जब मैं उन्हें दवाई खिला रही होती थी, तो मेरा पल्लू गिर जाता था और मैं उसे ऊपर उठाने का जरा सा भी प्रयास नहीं करती थी. मनजीत ने सुमन के होंठों से अपने होंठ सटाये और उसने पूरा वीर्य सुमन के होंठों से साफ कर दिया.

सलमान ने अम्मी के हाथ से तेल की शीशी लेकर अम्मी की चुत और अपने लंड पर मल लिया. बात उस समय की है जब मैं जवानी को छू चुकी थी यानि कि जब मैं 19 साल की होने को थी.

साहिल ने भी पहले तो मज़े से अपनी जीभ से राजसी की चूत को खूब अच्छे से चाटा और फिर अपनी जीभ उसमें घुसाने लगा.

साधारणतया मैं करीब चालीस मिनट में अकादमी पहुंच जाता था, पर उस दिन मुझे अपने एक मित्र के हॉस्टल जाना था. सेक्सी चुदाई करतेलम्बे काले बाल, 34 के साइज के रसीले आम, 30 की बलखाती कमर और गांड के तो कहने ही क्या! उसको देखकर मन करता था कि चूत भले न मिले लेकिन इसकी गांड मिल जाये तो जिन्दगी संवर जाये. कंडोम चा उपयोगउसने झटके से मेरे अंडरवियर निकाल फेंका, तो मेरा लम्बा फौलादी लंड उसके सामने अपनी सुनामी दिखा रहा था. चलो अच्छा है इस वीर्य को मैं अपनी त्वचा पर मलूंगी, तो मेरी त्वचा कोमल और मुलायम बन जाएगी.

कुछ देर बाद उसने मुझे टेबल के सहारे से हटाया और मुझे हवा में ही झुका कर मेरी गांड एक बार फिर से पेलने लगा.

उनके कमरे में घुसते ही हेमा चाची को देखकर मेरे अन्दर हवस जागने लगी और मेरा लंड खड़ा हो गया. मैंने ओके कहा और फोन चालू रख कर मैं भाभी के पास उनको फोन देने आ गया. आंटी ने मेरी आंखों में देखा और उनके चेहरे की वासना मुझे अन्दर तक आंदोलित कर गई.

मैडम भी पूरी मस्ती में मेरा लन्ड मुंह में ले रही थी।मैंने पूरी जीभ उनकी चूत में घुसा दी और उनकी चूत को जीभ से ही चोदने लगा।लगभग 15 मिनट बाद मेरे लन्ड ने और मैडम की चूत ने एक साथ पानी छोड़ दिया।मैंने मैडम की चूत पर से अपना मुंह हटा लिया और उनकी चूत को पानी छोड़ते देखने लगा. वो बड़बड़ाए जा रही थी- और … आह्ह … और अंदर डालो मोहित … हह्ह … और अंदर तक चाट. लेकिन जैसे ही मैं गेट पर पहुंची तो देखा मेरे क्लास की एक लड़की रानी अंदर थी.

चोदा चोदी वीडियो फिल्म

कुछ देर इसी आसन में ठोकने के बाद साहिल ने राजसी की पीठ को पकड़ कर अपने सीने से उसकी छाती को चिपका लिया. वो मेरी तरफ गांड करके लेट गई।मैंने पीछे से उसकी चूत में लन्ड लगाया और एक झटके में ही उसकी चूत में पूरा लन्ड डाल दिया।मैं उसको तेज़ तेज़ चोदने लगा।लगभग पांच मिनट बाद मैंने उसको डॉगी स्टाइल में आने को बोला. मैंने हिमानी को बेड पर अपनी गोदी में बिठा लिया और उसकी कड़क गांड में अपना मस्त लंड दबाते हुए उसे प्यार करने लगा.

हम दोनों ने कपड़े पहने और मैंने मेडिकल से दर्द की और गर्भनिरोधक गोली लाकर उसे दी और मैं अपने घर आ गया.

मेरी आह्ह की आवाज सुनकर हेमा चाची भी अब तक समझ चुकी थीं कि मैं अन्दर से पूरा सेक्स से भरा हुआ हूँ.

बल्कि अगर वो साहिल को देख लेती तो; वो एक बहुत बड़ी चुदक्कड़ लौंडिया है मेरी फ्रेंड वो हमेशा चूत चुदाई की बात करती है. खुद मैं नीचे छुपा हुआ था लेकिन मोबाइल का कैमरा शीशे पर चिपका दिया था मैंने. मनीषा कोइराला की सेक्सओये होये … लंड चुसवाते ही क्या मजा आने लगा था … उस समय मैं बस पागल होने के कगार पर आ गया था.

फिर बिना उसकी सहमति लिए या उसकी कुछ सुने, मैं अन्दर वाले कमरे में आ गया. मेरा सुपारा उसकी चूत में फंस गया और कपड़े के अंदर से ही उसके मुंह से जोर की चीख निकली. इससे साहिल एकदम से चौंक कर पीछे घूमा।पूनम बोली- क्या हुआ? मैं ही हूँ.

मेरी प्यासी भाभी सेक्सी कहानी थोड़ी लम्बी है लेकिन मुझे उम्मीद है कि आपको इतना अधिक मजा आएगा कि आप दो बार झड़ जाएंगे या जाएंगी. आदित्य ने बहन को अपने कंधों पर बैठा रखा था और अपना मुँह उसकी चूत में घुसा रखा था.

कुछ ही देर की चुदाई में मुझे ऐसा लग रहा था किसी भी क्षण वह अपना पानी मेरे चेतक पर फेंक देगी … और हुआ भी यही.

उसने मेरा एक हाथ अपने कंधे पर रखा और मुझसे अपने सहारे से चलने को कहा. बलविंदर उसे हवस भरी नजर से देखते हुए अपने होंठों पर जीभ फिराते हुए बोला- बेबी, इसे किस करना नहीं चाहोगी!अलीमा लंड सहलाते हुए बोली- पता नहीं इसका स्वाद कैसा होगा … लेकिन फ्रेंड्स से मैंने सुना है कि इसको चूसने में बहुत आनन्द आता है. वो दोनों मजा ले रहे थे कि कोई 40-45 साल का एक आदमी उस क्वार्टर की ओर आ धमका.

किन्नर के साथ सेक्स योगिता ने मेरे मुख पर चूत को रख दिया और मैं उसकी चूत को जीभ से चोदने लगा. कैसे?नमस्कार दोस्तो, मैं आपका दोस्त सुमित एक बार फिर से एक देसी चूत की गर्म कहानी के साथ हाजिर हूँ.

उन्होंने एक टीशर्ट और लोवर डाली हुई थी और टीशर्ट का गला बहुत बड़ा था. मैंने भाभी की पैंटी को उतारा और जोर से उसकी फुद्दी को हथेली से रगड़ने लगा. मैंने उस दिन खाना आने से पहले दो पैग लिए और खाना आया तो खाकर एक सिगरेट फूंकते हुए भाभी की ब्रा पैंटी वाली छवि को अपने दिमाग में उकेरने लगा.

सिक्योरिटी सेक्स

थोड़ी बातचीत के बाद मैंने उसको पूछा- खाना खा लो!तो वो बोला- मैं खाकर आया हूँ. मेरा जिस्म एक एथलीट का है। मेरा लन्ड करीब 6 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। मैं अभी बीटेक के आखिरी सेमेस्टर में हूँ।यह कहानी आज से करीब 1 साल पहले की है जो कि मेरी दीदी के साथ मेरे संबंध की है. भाभी के झूठ से सब डर गये और अगले महीने ही हम दोनों की शादी करवा दी गयी.

वैद्य को दिखाया पर वो ठीक नहीं हुई।तो लाजों की माँ को किसी ने कहा कि मंदिर वाले बाबा को भी दिखा ले एक बार!कि कुछ भूत प्रेत का साया ना हो।तो वो लाजो को लेकर बाबा के पास गई. कई बार ऐसा होता था कि दीदी को हम बनी हुई सब्जी दे दिया करते थे क्योंकि वो तो अकेली ही रहती थी.

आँखें बंद करके मैं लेटा हुआ था लेकिन जब मैंने उसकी आवाज़ सुनी तो मैंने तुरंत अपनी आँखें खोलीं.

अभी बमुश्किल पांच मिनट ही बीते होंगे कि शबाना का जिस्म ढीला पड़ने लगा और वो मेरे मुँह में अपनी जुबान डाल बैठी. वो सिसकारने लगी- ओह्ह … कमॉन … आह्ह … यस … नाइस … ओह्ह … जोर से … आह्ह … ओह्ह … ओ गॉड … आह्ह।उसकी चूचियों का बुरा हाल करने के बाद मैं नीचे उसकी पैंटी पर आया और उसकी चूत को नंगी कर दिया. फिर उसने मेरी बहन से कहा- जब भी मेरे लंड को तेरी चूत की जरूरत होगी तो तू मेरे पास चुदवाने के लिए आ जाना.

मैंने ये सोचा था कि सर को नंगा भी देख लूंगा और उनका मोटा लंड भी चूस लूंगा. वो मेरे ऊपर चढ़ गया और मुझे एक स्मूच किया और बोला- मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं. उम्र 34 की थी लेकिन देखकर कोई बता नहीं सकता था कि वो इतनी उम्र की होगी.

जिसके बाद वो थोड़ा आगे होकर खड़ी हो गयी जिससे साहिल का लौड़ा उनके मुँह पे छुए।अब बार बार हो भी यही रहा था।कुछ देर बाद जब साहिल अपने दोनों हाथों से कुछ करने लगा.

हिंदी बीएफ चिल्लाने वाली: घर में मैं और मेरी बहन ही थे और हम दोनों के संघर्ष की ही ये कहानी है. किसी तरह मुझे उसकी चूत मारनी थी इसलिए मैंने कुछ प्रतिक्रिया नहीं दी और चुपचाप हाथ हटा लिया.

फिर उसका पानी निकल गया और वो लेटी लेटी ही मेरे मुंह में अपनी चूत धकेल रही थी. जवान जिस्म थे, तो जल्दी ही फिर से आग लग गई और हम दोनों ने फिर से चुदाई की. भाभी मस्त होकर मेरा सर सहला रही थीं और कह रही थीं- आज जैसा मजा कभी नहीं आया.

इतना बोलकर मैंने दीदी को नीचे अपने घुटनों में झुका लिया और वो दबाव देने पर बैठ गयीं.

फिर मैंने उसको बोल दिया कि कभी इस तरह की कोई इमरजेंसी हो तो मुझे बोल दिया करो. जब से होश संभाला है, तब से अब तक मैंने कई लौंडों की गांड मारी है और कई से मरवाई भी है. थोड़ी देर बाद उनकी चूत से उनका चूत रस निकलने लगा। मैंने वो पूरा चाट कर साफ किया।वो पूरी मस्ती में मेरा लन्ड चूस रही थी इसलिए मेरे लन्ड ने भी उनके मुंह में ही पूरा माल उड़ेल दिया।मैम पूरा माल निगल गई।हम दोनों शांत हो चुके थे.