मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो रोमांस वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्स साड़ी वीडियो: मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर, उसके बाद उसी दिन मैंने उसे एक बार फिर चोदा और अब तो मैं रानी को जब भी मौका मिलता.

रेखा सेक्सी

काकी पिंक गाउन में थीं, जिसमें उनके खरबूजे जैसे स्तन, पतली कामुक कमर और उनकी उठी हुई गांड आह. हिंदी बफ दिखाएँऔर अब इस तरह का कोई भी काम हो तो सीधे उसी से कहा करो बस थोड़ा घुमा कर कह दिया करो.

मेरी पिछली कहानीबहूरानी की चूत की प्यासके बारे में मुझे सौ से अधिक ई मेल्स मिले हैं जिनमें अधिकाँश ने मेरे लेखन की प्रशंसा करने के साथ ही उनकी अपनी सेक्स कथा लिखने का अनुरोध किया है; मैं उन सभी प्रशंसकों को धन्यवाद देता हूं और आशा है कि यह लेख सभी के लिए उपयोगी होगा. ब्लू पिक्चर ओपन सेक्सी वीडियोयही सोचकर मैंने सरिता को अपने साथ अपने फ्लैट पर चलने को कहा और वो तैयार हो गई.

पर वो डरी हुई थी क्योंकि उसके भाई को पता होने के बाद भी उसके भाई ने उस लड़के को कुछ नहीं कहा, उल्टा मोनिका को डांटा.मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर: मैं जब अमदाबाद में जॉब करता था, तब मैंने एक प्रोफ़ेशनल कोर्स में पार्ट टाइम एडमिशन लिया था, जिसकी क्लास शाम को होती थीं.

मैंने अपने दोनों हाथ उसकी कमर पर रख दिए तो उसने इसका कोई विरोध नहीं किया.अरे मेरे पापा और मेरी चूत के मिलन की पूरी कहानी मेरी सेक्सी आवाज में सुन कर मजा लें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तमब्राउज़र क्रोम Chrome है.

फौजी की फोटो डाउनलोड - मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर

अब मुझे कोई मौका नहीं देना तुम्हें… तुम जंगली हो… अच्छा हुआ यह मेरा पहली बार नहीं था वरना मेरी तो तुम जान ही निकाल देते.अब मैंने वीडियो के अनुसार मीतू को उठा कर अपनी गोद में बिठा लिया और बूब्स को चूसने लग गया.

ये देख कर मुझसे और ना रहा गया और मैंने अपनी जीभ उनके मम्मों पर रख दी. मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर पर मैंने उसे नहीं छोड़ा और उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और उसे नीचे से नंगी कर दिया.

वहां पर भाभी ने मेरे लंड से कॉंडम हटाया और टॉयलेट में फ्लश कर दिया.

मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर?

मैंने लंड को पूरा अन्दर तक डाल दिया, और उसकी चूत में गरम गरम माल छोड़ दिया. दूध जैसा रंग, पूरी 5 फुट 6 इंच लंबी, एकदम मस्त फिगर 32-28-36 की होगी. जब मामी ने मेरा लंड अपने हाथ में लिया तो उन्होंने कहा- तेरा लंड तो बहुत बड़ा है.

हमारे नौकर ने हमारा डिनर बना दिया था और घर भी साफ कर दिया था।मैंने ड्राइवर और नौकर को दस दिन की छुटी दे दी तो अब घर में हम दोनों ही थे रोहण और मैं!मैंने रोहण से कहा- रोहण चलो, हम फ्रेश हो जाते हैं. अब मैं भाभी के मम्मों पर भी जीभ से खेलने लगा, उनके निप्पलों पर उंगली फिराने लगा. तो माँ ने कहा- रुक तू… मैं देखती हूँ कुछ!एक दिन मैं और पापा नाश्ता कर रहे थे तो माँ बोली- राजेश बेटा, आज शाम से तू अपनी रीना मौसी के घर रुक जाना, क्यूँकि तुम्हारे मौसाजी बाहर गए हुए हैं.

अब मेरे बेटे का ट्रान्सफर बंगलौर हो गया है, कंपनी की तरफ से फ़्लैट भी मिला है तो बेटा बहू बंगलौर में ही रहते हैं अब. मैं बैठ गया और अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया और एक दमदार शॉट लगा दिया. मैं उनके बदन को अच्छी तरह निहार रहा था, मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

ऊपर टॉप पहना, पर उसके बटन बंद नहीं किए ताकि अमित को और ज्यादा आकर्षित कर सकूँ. फिर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये जिससे वो हिल गयी, उसकी आँखें खुल गयी और मेरी आँखों से मिल गयी.

फिर वो 9 बजे स्टैंड पर मिली, मैं उसे लेकर कुछ दूरी पर नहर के किनारे एक अरहर के खेत में ले गया.

तभी जो अंकल मुंह में डाले थे, उन्होंने अपने लंड का रस मेरे मुंह में भर दिया और मैं गट से पी भी गई और लंड को पूरा चाट चाट के उनका लंड साफ कर दिया.

जो ऐसी फ़िल्म देखते हो?तो मैंने कहा- क्या करूँ आंटी… अब मेरी उम्र ही ऐसी है कि इसके बिना गुजारा ही नहीं होता।वो कुछ नहीं बोलीं और बर्तन धोकर चली गईं।उनके जाने के बाद मैं फिर फिल्म देखने लगा. अब थोड़ा बताएं कि उनके बीच सेक्स सुनियोजित है या अचानक बिना किसी योजना के हो गया. फिर एक दिन मेरे क्लास का सबसे अमीर और दिखने में भी अच्छे लड़के ने मुझसे दोस्ती करने को कहा.

सच में माया मुझे तुम सब कुछ देने को तैयार हो?”अमित के बात करने के तरीके से माया को सब समझ आ गया कि ये चोदने के चक्कर में है लेकिन इस वक्त उसे वो फाइल चाहिए थी जो कि कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण थी. अब रात के 2 बजे थे, सब शादी की कारण उधर फंक्शन में थे, उस वजह से घर में उस वक़्त कोई नहीं था. मैं कॉलेज गई हुई थी कि हमारी टीचर को दिल का दौरा पड़ा और क्लास में ही उनकी मौत हो गई.

वो जैसे ही मेरे पास आया तो उसने देखा कि मेरा लंड बाहर ही है, आरजू उसकी गोदी में थी, अभी भी और जब मेरे पास आया तो उसने आरजू की चूत को मेरे लंड पर रख दिया फिर मैं उसे चोदने लगा।आरजू मुझसे लिपट गयी और रोने लगी, मानो उसे प्यार हो गया हो, वो मुझे लिप किस करने को बोली.

मैं हाथ से लंड मुठियाने लगी और मैं सोच रही थी कि अब इस लंड से तो पहले से भी ज्यादा मजा आयेगा. अकीरा का यह पहला अनुभव था ऊपर से इतने हैवी लन्ड की मुठ मारते मारते वो सच में थक गई थी पर वो विक्रांत का मजा खराब नहीं करना चाहती थी इसिलए वो नीचे झुकी और अपना पूरा मुँह खोल के लन्ड को मुँह में ले लिया पर सिर्फ टोपे से उसका मुँह भर गया।मुँह की गर्मी विक्रांत से बर्दाश्त न हुई और एक लंबी आह के साथ उसने अकीरा के मुँह में ही झड़ना शुरू कर दिया। अकीरा का मुँह वीर्य से भर गया, होंठ वीर्य से लथपथ हो गए. भूमिका- आई एम् सो हैप्पी!वो बोली- और बताओ क्या कर रहे हो आप?मैं- बस तुमने मेरी नींद उड़ा दी है, तुम्हारे बारे में ही सोच रहा था सुबह से!भूमिका- अच्छा जी, तो चलो अब सो जाओ मेला बाबू, रात बहुत हो गयी सुबह मिलते हैं क्लास में!मैं- अच्छा ठीक है, मैडम और हस्बैंड वाली फीलिंग आ रही है।चलो, मैंने आपको बहुत बोर कर दिया यह सेक्स साईट है यहां सेक्सी स्टोरी होंनी चाहिए मैं अपनी लव स्टोरी सुनाने लगा.

मैं तो मदहोश होने लगी थी क्योंकि मेरे सिर पर तो दवाई का असर था और मेरे साथ क्या हो रहा था, मुझे कुछ नहीं पता था. इस दरमियान छोटी ने फिर वही बात दोहराई- क्या तुम भी मुझे चोदोगे?सभी सर झुका कर खाना खाने लगे, तो छोटी ने फिर कहा. तभी गीतांजलि बोली- इसे चूसना चाहेगी?तो सिमरन ने मना कर दिया, तो गीतांजलि बोली- इसके लंड को चूसकर तो देख, तुझे मुख से लंड निकालने का मन नहीं करेगा.

उसने मेरे स्कर्ट को खोलते हुए मेरी छोटी सी लाल चड्डी नीचे सरका दी और फिर मेरे छोटे छोटे चूतड़ों को विपरीत दिशा में खोला और मेरी गांड पर अपने लंड के टोपे को रगड़ने लगा.

आकांक्षा और मैं दोनों ही इस खेल में ऐसे रम गए थे कि हमें आस पड़ोस की दीन दुनिया की फ़िक्र ही नहीं रही, मैंने उसकी जीन्स उतारने के लिए उसकी जीन्स के बटन को खोला तो उसने मेरा हाथ झटक दिया. अब आंटी संतुष्ट थीं।उन्होंने कहा- तुम्हारा लण्ड बहुत ज़बरदस्त है। बहुत मजा आता है चुद कर!उस दिन के बाद आज तक मैं आंटी को नियमित रूप से चोद रहा हूँ और वो मेरे से पूर्णतया संतुष्ट हैं।यह मेरी पहली चुदाई की स्टोरी है.

मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर नमस्कार मित्रो,आज एक लम्बे अंतराल के बाद आप सबसे पुनः संवाद कर रहा हूँ. हो सकता है कुछ भाभी प्रेमी देवर इन सब से अलग कुछ और इच्छाएं अपनी भाभी से पूरी करवाना चाहते होंगे, वे सब मुझे लिखें जो इच्छाएं यहाँ लिखने से रह गई हैं.

मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर फिर हमने दिन भर चुदाई की, मैंने रात में भाभी मां को नंगी करके छत पर भी चोदा. रिया का लंड मेरी सास ने दस मिनट तक चूसा और रिया मेरी चूत चाट रही थी, मुझे मजा आ रहा था कि तभी मैं चिल्लाई- आहहह… हहह… अहह… ओहहहह… मा मरर गई!और मेरी चूत ने बहुत तेजी से रिया के मुँह में चूत का गर्म गर्म पानी छोड़ दिया और रिया मेरी चूत कर सारा पानी पी गई.

शाम को खाना कहते हुए करीब हम लोग आठ बजे होटल पहुंचे, कमरे में गए और फ्रेश हो कर टी वी देखने लगे.

बीपी सेक्सी हीरो मराठी

मामी ने पूछा- कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा- नहीं मामी, नहीं है. फिर क्या था दोस्तो, मैंने अपना लंड निकाला और चूत के ऊपर लंड को रख कर अन्दर धकेलने लगा. उसकी चूत और मुँह दोनों एक साथ दो लंडों से, जो कि उसके अपने ही सगे भाइयों के लंड थे.

कुछ देर बाद वो हांफते हुए बोले- मैं झड़ने वाला हूँ बीज कहाँ डालूँ?मैंने कहा- जब बीज आ रहा है, तो मेरी चूत में ही बो दो. अब उसने मेरे लंड को फिर से चूमना शुरू किया और चूमते चूमते उसने मेरा लंड मुंह में ले लिया, पहले तो सिर्फ काफी देर तक लंड के टोपे को ही चूसती रही. मैंने उस की टांगों से उसकी पेंटी को अलग कर दिया तो जो गुलाबी नजारा सामने था.

मैं आगे बैठी ही थी कि उसने पीछे से मेरी ड्रेस की चैन खोल दी और आगे खींच के मेरे बूब्स खोल दिए और एक हाथ से दबाने लगा फिर अपना लंड लोअर से बाहर निकला और मुझसे कहा कि इसे पकड़ कर आगे पीछे करो.

दीपिका की आँखों से आँसू बहने लगे थे, मैं उन आँसुओं को पी गया और उसके माथे पर किस करके उसके मम्मों को चूसने लगा. मैं- ये बात तुम मुझसे भी या किसी से भी नहीं बताओगे, जब तक मैं नहीं कहूँगी. क्या बताऊँ दोस्तो … उस समय वो किसी हूर की परी से कम नहीं लग रही थी.

पहले मैं होकर आती हूँ फिर तुम!और मैंने सोचा कि क्यों न प्लान अभी से स्टार्ट कर दिया जाए… मैंने रोहण से कहा- रोहण, मैं यहीं कपड़े उतार दूँ? तुम्हें कोई परेशानी तो नहीं?रोहण ने कहा- ओके माँ!रोहण खुश हो रहा था और मुझे ही देख रहा था कपड़े उतारते हुए!मैंने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और उसमें से मेरा क्लीवेज दिखने लगा क्योंकि मैंने डीप नैक ब्लाउज पहना था. बारिश रुकने के बाद मौसम सुहाना हो गया और बगल के घर की औरतें ऊपर छत पर आ गयी. मैंने अपना लंड पजामे से बाहर निकाला और अपने लंड को निशाने पर रख कर फटाफट से एक धक्का मारा, मगर लंड फिसल गया नीचे की तरफ। सुल्ताना मेरा उतावलापन देख कर हंस पड़ी और उसने अपने हाथ में लंड पकड़ कर उसको निशाने पर यानि अपनी चूत के छेद पर लगाया और मुझे धक्का मारने को कहा.

तब मैं मीना को बोली- मीना अब तुम सागर को बाथरूम ले जाओगी, अपने हाथों से सागर का लंड साफ करोगी और बाद में मेरी चुत भी. जब मेरी भाभी के पति यानी मेरे भैया उनके आस पास ही हों, तब मैं उन से और सब से बच कर भाभी की छाती की गोलाई नाप सकूँ और हो सके तो भाभी की चूत को स्पर्श करके चूत में उंगली भी डालनी है.

लेकिन मैंने उसे कस कर पकड़ लिया था अन्यथा वो मुझ से छूट जाती और वो मुझसे कभी नहीं चुदती. मेरे पास ओर कोई रास्ता नहीं था, जैसे ही इंडियन चुत में उंगली डाली तो वो सिहर उठी और तड़फ कर बोली- उफ्फ़ हमम्म्म… अरे ईई जीजा जी ये क्या कर दिया. फिर एकदम से मेम ने फिर मुझसे मेरे बारे में पूछा कि मैं करता क्या हूँ? रहता कहाँ हूँ? वगैरह वगैरह.

अरे अब थोड़ा धरम करम में भी मन लगाया करो!” रानी जी ने मुझे ज्ञान दिया.

” विक्रांत ने रिप्लाई किया।40?”थोड़ी और…”45?”नहीं… 55 रिटार्यड आर्मी ऑफिसर!”ओह गॉड!”क्या हुआ?”तुम 55 के तो नहीं लगते… मैरिड?”हाँ तीन बच्चे हैं, वाइफ की डेथ को 10 साल हो गए. माया ने जैसे ही कॉफी लेने के लिए हाथ बढ़ाया, कॉफी माया की साड़ी पर गिर गई. क्या आप रात को मेरे साथ घूमने चल सकती हो?उस ने थोड़ा मना किया लेकिन उस की सहेली ने बोला- जीजू, चिंता मत करो; ये आपके साथ घूमने ज़रूर आएगी.

मॉम सूट में थीं लेकिन सूट में भी उनके चूचे और गांड ऐसे हॉट लुक दे रहे थे कि बस समझो क़यामत जैसा सीन था. मैंने उस की टांगों से उसकी पेंटी को अलग कर दिया तो जो गुलाबी नजारा सामने था.

दोस्तो, मेरे जीवन में सिमरन ही एक ऐसी लड़की है जिसकी चूत या गांड में अपना लंड फ्री ऑफ़ कॉस्ट देता हूँ क्योंकि उससे मैं धंधा नहीं करता. मालूम है साशा, मैं नताशा को किसी मोटे लंड वाले काले आदमी के संग मिल कर चोदना चाहता हूँ… मेरी उसे दो दो मोटे लंडों को एक साथ चूसते हुए देखने की इच्छा है! तुम बुरा मत मानना, लेकिन तुम्हारा लंड इतना मोटा नहीं है… कम से कम मेरे जितना तो नहीं!”मैं इसके विरुद्ध नहीं, तुम्हें नताशा से पूछना चाहिए. थोड़ी देर बाद हमने शावर लिया और रोहण बाहर चला गया और मेरा यह प्लान सफल हो गया था.

सेक्सी फिल्म राजस्थानी मारवाड़ी

इसके एवज में वो हर ग्राहक से एक मोटी रकम वसूलती हैं, उसका 50% मुझे रेणुका मैडम को पे करना पड़ता है.

थोड़ी देर के बाद मेरा लंड पकड़ कर धीरे धीरे अपनी चुत के अन्दर घुसाने लगी. हाँ जब तुम्हारा लंड लड़की या औरत की चूत या गांड में पूरा घुस जाए, तब थोड़ा रुकना चाहिए लेकिन लंड फिर भी बाहर मत निकालना ओके. मेरे दिमाग में भाभी के बारे जो इच्छाएँ है जो मैं आप सब अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के पाठकों को बता रहा हूँ.

’मैंने पूनम के पेटीकोट का नाड़ा खोल उसका पेटीकोट खींच कर निकाल दिया. पर यह थी कौन और उसे कैसे जानती थी? सवाल पेचीदा था और टाइम कम!उसने जल्दी से ब्लू जीन्स और सफेद शर्ट पहनी और घर से बाहर निकल गया. गांव की लड़कियों की ब्लू फिल्मउन्हें जमीन पर लिटा कर उनके दोनों पैर फैला दिए और फिर से चूत में लंड डाल कर चोदने लगा.

उसने मेरे लंड को एक हाथ से पकड़ा और उसका सुपारा खोल कर लंड के छेद जहाँ से सू सू और बीज निकलता है, पर एक जोरदार चुम्बन जड़ दिया और मेरे लंड के नंगे सुपारे को अपने मुँह में डाल लिया और उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. उसका फिगर भी कुछ खास तो नहीं है, पर फिर भी बता दूँ कि 28 के चुचे, 26 की कमर और 28 इंच की गांड है.

मैंने गीतांजलि से पूछा- कैसी हो और यहाँ कैसे खड़ी हो?उसने कहा- मैं सिमरन के घर जा रही हूँ। क्या आप भी उसके घर जा रहे हो?मैंने बताया कि मैंने उसके इंस्टीट्यूट में इंगलिश बोलने का कोर्स करना था जिसके लिये एडमीशन फॉर्म फिल करना है, इसलिये उसने मुझे आज अपने घर बुलाया है, मैं वहीं जा रहा हूँ. अब भाभी थोड़ा चिढ़कर मेरी छाती पर मुक्के मारने लगीं- यू नॉटी बॉय… मैं तुमसे कभी बात नहीं करूँगी. नमस्कार दोस्तो, मैं मयंक, आपके लिए एक मजेदार हिंदी में देसी सेक्स स्टोरी लेकर हाज़िर हूँ.

मैंने कहा- अब भाभी प्रेग्नेंट है क्या?सुभाष बोला- नहीं यार, ये ही तो झंझट है. तब मुझसे रहा नहीं गया और मैं दौड़ कर उनके पास पहुंच गया, ऐसे भी मैंने दो बजे तक इंतजार कैसे किया था वो मैं ही समझ सकता हूं।उनके घर पहुँचा तो आंटी ने मुझे बैठने को कहा, वो थोड़ी निराश सी लग रही थी, मैं भी नाराज था तो बातें कम ही हुई, और मैं जहां रोज बैठता हूं वहीं जाकर बैठ गया. विधवा होने पर भी इतनी डिज़ाइनर और ब्रांडेड ब्रा? मैं सोच में डूब गया.

मेरी बहन सरिता इस तरह उसकी चूत चूसने चाटने से बिल्कुल पागल सी हो गई और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी.

बस चली तो एक दम से मुझे आवाज़ सुनाई दी, मैंने देखा कि ये वही माल थी, जिस को मैंने देखा था. कुछ मिनट बाद रश्मि होश में आई… मैंने उसे दिखाया कि ये तूने क्या कर दिया देख!तो हंस कर बोली- इसके लिए तुम ही जिम्मेदार हो.

भूमिका- आई एम् सो हैप्पी!वो बोली- और बताओ क्या कर रहे हो आप?मैं- बस तुमने मेरी नींद उड़ा दी है, तुम्हारे बारे में ही सोच रहा था सुबह से!भूमिका- अच्छा जी, तो चलो अब सो जाओ मेला बाबू, रात बहुत हो गयी सुबह मिलते हैं क्लास में!मैं- अच्छा ठीक है, मैडम और हस्बैंड वाली फीलिंग आ रही है।चलो, मैंने आपको बहुत बोर कर दिया यह सेक्स साईट है यहां सेक्सी स्टोरी होंनी चाहिए मैं अपनी लव स्टोरी सुनाने लगा. मेरी बहन को अबोध होने के ये मालूम ही नहीं चला था कि ये बच्ची कौन है, जिसे हम लोग पाल रहे हैं. मैं- ये सब क्यों किया मोना?मोना- तो फिर क्या करती मैं रवि? मुझे भी तो अपनी लाइफ एन्जॉय करनी थी.

यह सुन कर वो थोड़ी चौंक गई और मुझे घूरने लगी, क्योंकि क्लास में उसको सब मैडम ही बुलाते थे. लेकिन उनकी कामुकता परवान चढ़ी थी तो वो मेरी मैक्सी के ऊपर से मेरी चुचियों को दबाने लगे. सीमा- ये लंड मुझे दे चूसने को, हरामी साले क्या मस्त लौड़ा ले कर बैठा है.

मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर तीस पेंतीस तक की गांड मराने वालों की गांड मारने को भी तैयार रहते थे. नी… उम्म म्‍म्माआह…” मैंने लंड डालते ही वापिस स्पीड से चोदना शुरू कर दिया और साथ ही दीदी के कन्धों को हल्के हल्के काटने लगा.

গুজরাটি ভিডিও সেক্সি

इसके बाद मैं आगे बढ़ा और उसकी सलवार में हाथ डालने लगा, तो उसने डालने नहीं दिया. तभी दरवाजे पर आहट हुई, मैंने अपने कपड़े जल्दी से पहने बाल बिखरे हुए ही थे. मैंने उसकी चुत को चाटना चालू किया, फांकों के बीच में जीभ फेरना चालू किया.

अब उसने सोफे पर लेट कर मुझे चूत में लंड डालने का इशारा किया और कहा- आराम से डालना… बहुत बड़ा है!मैं उसकी टांगों के बीच में आ गया और चूत को मस्त डॉगी स्टाइल से चाटा, जिससे वो मस्ती में आ कर कराहने लगी और चुदासी सी बोली- और मत तड़पाओ यार… जल्दी से डाल दो. दोनों पुरुष बारी बारी से उसके होठों को चूमते हुए होटल की तरफ बढ़ने लगे और मैं उनके पीछे. नए गाना सेक्सी”उनके जाने के थोड़ी देर बाद मैंने मेघा को कॉल कर दिया कि वो संजय को बाय बोल कर आ जाए तो मेघा आ गई.

अपनी चूत की खुजली को मिटाने का भी यह एक सही तरीका है, इसमें ना बाहर की बदनामी का डर, ना कुछ.

मैंने उसकी टी-शर्ट उतारी तो देखा कि उसने परपल कलर की ब्रा पहनी हुई थी. अब आगे:इधर नीचे राजेंद्र अंकल मेरी चूत को जोर से अंदर तक जीभ से चाटने लगे, मैं कामुकता के वश में होकर उनके लंड को खुद से बहुत रगड़ने लगी.

लेकिन 15 अगस्त को जब हम शाम को कार से घूमने निकले, तब ऐसा कुछ हो गया जिससे में और वो एक दूसरे की तरफ आकर्षित हो गये. भी बहन की जांघों के आपस में टकराने से कमरे में फच फच पट पट की आवाजें अंजलि दीदी और मेरी चुदासी आवाजों से मिक्स हो रही थी. एक दूसरे को बॉडी लोशन से मसाज़ किया और मैंने बिना चड्डी के ही लोवर पहन लिया.

आज माया ने साड़ी पहनी थी और जैसे ही माया ने फाइल उतारने के लिए अपना हाथ बढ़ाया, उसे अपने पेट पे एक हाथ महसूस हुआ.

जैसे ही मैं अपना पहला शॉट मारने वाला था कि मेरा फौलाद जैसा लंड सिकुड़ कर रह गया. एक दिन मुझे अपने सेल फोन में पड़ोस की लड़की का नंगा फोटो दिखाया और कहने लगा कि मैंने इसको चोदा है. मैंने धक्के तेज कर दिए और मेरा लंड उसकी चूत की दीवारों को रगड़ कर उसका गर्म गर्म पानी निकाल रहा था, जो मैं अपने लंड पर महसूस कर रहा था.

मोटू पतलू वीडियोमामी ने कहा- ऐसी क्या बात है मुझमें कि मैं तेरे को अच्छी लगती हूं?मैंने कहा- आप हो ही इतनी सेक्सी फिगर वाली… हर कोई आपको पसंद करेगा. मैं रेणुका भाभी को सीधा करके उनके मोटे मोटे मम्मों से दूध पीने लगा.

जापानीज सेक्स

मैंने उसकी जीन्स और टी-शर्ट उतार दी और उसका पूरा बदन चूमना स्टार्ट कर दिया. मेरे सामने पेंटी में कैद मुमताज़ की गांड लगभग 32 इंच की, नंगी मलाईदार कमर 29 इंच की और उसके तने हुए मम्मे 36 इंच के थे. मैं मना करने लगी, मगर दोनों नहीं माने, रोहण ने गाऊन के ऊपर से सहलाना शुरू कर दिया.

इतने में उसने फिर से दोनों टांगें मेरे कमर में फंसाई और उसका पूरा बदन अकड़ गया, वो झड़ चुकी थी और उसका नंगा बदन काँप रहा था, मैंने अपना लंड निकाला और मैं बिस्तर पे लेट गया और बोला- मेरे ऊपर आ जाओ!वो मेरे ऊपर आयी और मेरा लंड फिर से अपने बुर में फिट किया और खुद ही उछलने लगी. दोस्तो, दिन ऐसे ही गुजरते गए, हमारी बात आगे बढ़ नहीं रही थी क्योंकि वो बहुत पढ़ती थी. हाँ रानी, मैं भी तड़प रहा था तुम्हारे लिए!” यह कहते हुए रोहण ने गाउन नीचे गिरा दिया, साड़ी के पतले कपड़े से मौसी का भरा हुआ बदन दिखलाई दे रहा था.

मैंने उसकी तरफ ध्यान से देखने लगा, वो परेशान थी, शायद फोन का लॉक चूल गई थी. मैं कच्ची उम्र से ही चुदवा रही थी, तो मुझसे चुदाई की आग सम्हाले नहीं सम्भल रही थी. तो मैं कैसे तेरे भैया के बच्चे की मैं कैसे माँ बन सकती हूँ?मैंने भाभी से पूछा- भाभी चूत कैसी होती है?भाभी एकदम जोर जोर से हँसने लगीं- कमाल है तू चूत नहीं जानता मतलब तूने अभी तक चूत नहीं देखी?मैंने कहा- नहीं.

उसने मेरी पैन्ट खोल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया और उसे मुख में लेकर कुल्फी की तरह होंठों से चूसने लगी. उसने आरजू को वहीं चोदना शुरू कर दिया। आरजू की मादक आवाजें मुझे मदहोश कर रही थी, ऐसा मन कर रहा था कि अभी मैं आरजू को पकड़ कर चोद दूँ।आरजू की चुचियाँ हवा में झूल रही थी, और वो इतनी तेज आवाजें निकाल रही थी कि दूर वाला भी कोई सुन सकता था पर मैं और रीनू मामी एकदम शांत होकर उनकी चुदाई देख रहे थे.

मैंने अपने होंठों में उसका एक निप्पल ले लिया और काफी देर तक मैं उसके मम्मों को पीता रहा और काटता रहा.

इसके बाद हम दोनों नहा कर कमरे में आ गए और ऐसे ही नंगे एक दूसरे की बांहों में सो गए. नंगी फोटो सेक्सीये क्या कह रहे हैं आप? आप और नाना एक साथ माँ को चोदते थे?रमेश- और माँ हमसे भी चुदना चाहती थी? तो ये बात उसने कभी बताया क्यों नहीं. टॉयलेट कैसे करते हैंपर मैं शुरू हो गया ‘हूं हूं…’ मैंने अपना एक हाथ उसकी गर्दन पर लपेट लिया उसका एक जोरदार चुम्बन लेकर बोला- यार! गांड मराने में थोड़ी तो लगती है तभी तो मजा आता है. अमित- तो मैं क्या हेल्प कर सकता हूँ इसमें?सन्नी- सर आप तो माहिर हो इस काम में… हर रोज नई गर्लफ्रेंड होती है आपकी.

सबका जवाब नहीं दिया जा सकता इसलिए जो पाठक सबसे ज्यादा एक जैसे सवाल करते हैं, उनके जवाब देकर आज की कहानी से शुरुआत करती हूँ.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… शालू… आह… मर जाऊंगी… ओह गॉड… इतना अच्छा लग रहा है आह…” अकीरा मदहोश होकर बड़बड़ाने लगी तथा अपनी ब्रा को खोल कर अपने स्तनों को मसलने लगी. वाह आह्ह्ह उम्म्म उईईईई माँ मर गई उफ… आआआः आआः माअर ले आज तू मेरी आआ आआआआः माआआर ले साआले… मेरा पति तो नामर्द है फ़ाआआड़ देईई तू ऊ… आआअज मेरी ईईई चूत साआले हराम की ईईई औलाद… कुत्ते कमीने… आज तू अपनी माआआआँ की गाअंड माअर ले. जब वो ऑफिस में अंदर आई तो शायद उसने बोर्ड देखा कि चप्पल बाहर उतारनी हैं और जब सैंडल उतारने को झुकी वो तो मैंने देखा कि उसने गहरे गले का ब्लाउज पहना है.

उसके आगे की ना मैंने सोची थी न मोनिका ने, मैं बस अपने दिल की फीलिंग्स उसे बताना चाहता था. वो दोनों हाथों से बस का ऊपर वाला डंडा पकड़ कर खड़ी हो गईं और उनका लड़का हमारे बीच में आ गया. मेरे दिमाग़ में बत्ती जली कि इसका कोई और प्लान तो नहीं है?थोड़ी देर में उसने कॉल किया- कोई देख नहीं रहा, आ जाओ.

नर्स के सेक्सी वीडियो

वो जैसे ही पीछे मुड़ी, अपनी बहन की गांड देख कर मेरे मुँह से आह निकल गई. लेकिन दो मिनट बाद ही मैंने उसे रोक दिया क्योंकि इससे तो मेरा स्खलन हो जाता. मैं आपको बता दूँ महेश और उसके सभी दोस्तो ने एक फ्लैट रेंट पर लिया हुआ था, जिसमें 2 कमरे, हॉल और किचन थे बाथरूम अटॅच्ड थे.

मेरी सास ने जब उसको देखा तो वो खुश हो कर बोली- अरे निशा, तुम सही कह रही थी, ये रिया तो सही में लड़की ही लग रही है!हमने रिया को पहले ड्राइंगरूम में बैठाया, चाय वे पिलाई और फिर रिया का रहने इन्तजाम मेरे ही कमरे में किया गया.

मॉम की चुदाई की इस कहानी के पिछले भागसेक्सी विधवा मॉम की चुदाई का मजामें आपने पढ़ा कि मेरी मॉम विधवा है, बहुत सेक्सी है.

अनामिका मस्ती में पागल हो गई और अपनी चुत में लंड डालने की माँग करने लगी।रमन ने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ा और अपनी पत्नी की चुत पर दबा दिया। तभी रमन ने मेरे लंड पर अपने हाथों से कंडोम लगा कर अनामिका की चुत पर दबा दिया. मुंबई में रहता हूँ और मैं अपने दोस्तो में, अपने एरिया में सबको अच्छा लगता हूँ. कॉटन की साड़ी दिखाएंअब मैं लोड़े को सुपारे तक उसकी चूत से बाहर लाता और फिर जड़ तक घुसा देता.

यह कहते हुए काजल एक अच्छे बच्चे की तरह अपने पापा के आदेश का पालन किया. मेरा लंड जो मैंने पहले से ही जीन्स की चैन खोल के निकाला हुआ था, वो मैंने पीछे से मॉम की जाँघों में घुसा कर उनको बेड पर नीचे झुका दिया और उनके ऊपर चढ़ गया. माया के मोटे मोटे मम्मे उस्मान के सीने से रगड़ने लगे, लेकिन इससे बेखबर माया तो बस कैमरा छीनना चाहती थी.

जाते जाते मुस्कुरा कर वो बोली- कुछ गलतियां इंसान अक्सर करता रहता है. घर आने के बाद भाभी मुस्कुराते हुए मुझसे बैठने का कह कर अपने रूम में चली गईं और थोड़ी देर बाद बाहर आकर बोलीं- शेखर भाई साहब हम दोनों को दुबारा मार्केट में उसी दुकान पर जाना पड़ेगा.

हम दोनों ने पूरी तरह से 69 की पोज़िशन ले ली और लंड चूत की चुसाई का मजा लेने लगे.

मेरे दिमाग में एक प्लान आया और मैंने सोचा कि क्यों न इस छुट्टी का फायदा उठाया जाए।अब मैंने ठान लिया था कि मैं अपने बेटे को फंसा कर रहूंगी और अपने बेटे से अपनी चुदाई की प्यास बुझा कर रहूंगी।मैंने अपने बेटे से कहा- रोहण, हम कल शॉपिंग करने चलेंगे।रोहण ने कहा- ठीक है माँ!हम सो गए. मेरी आँखों के सामने बस भाभी के मम्मे ही घूम रहे थे, पर जैसे तैसे भाभी सेक्स के बारे में सोच सोच कर मुठ मार कर सो गया. मुझे जागते देख कर मेरी बेटी रेखा शरमाने लगी लेकिन पिंकी तो पूरी रंडी बन चुकी थी.

लड़का लड़की की चोदा चोदी उसने वो पानी चाट लिया, मैंने स्माइल किया और हम बाथरूम में से बाहर आ गए. जब तक कहानी पूरी न हो तो उसका मजा नहीं आता, इसलिए मैं जहाँ तक लिख सका लिख दिया.

फिर मैंने उन्हें टेबल से नीचे उतारा और दीवार से सटाया और उनकी एक टांग उठा कर चोदने लगा. कोई थोड़ी सी भी ज़बरदस्ती दिखाता, तुरंत डरने की एक्टिंग करते हुए चड्डी सरकाती हुई झुक जाती. मैंने तुरंत अपनी उंगली हटा कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और स्मूच करने लगा.

ফুল এইচডি সেক্সি ভিডিও

अंजलि ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी बड़ी गांड को मटकाते हुए मुझे बगल वाले कमरे में ले चली. और वो अगले ही दिन से कैंप में जाने लगे और हम दोनों के लिए मौज हो गयी। मेरा भाई उस वक़्त बहुत छोटा था. मैंने जयपुर में ही रिद्धि-सिद्धि चौराहे पर होटल में मंगलवार के लिए एक रूम बुक कर लिया.

साथ ही पीछे से मॉम की चुत में लंड के धक्के पे धक्का मारे जा रहा था. ऐसा सुन कर मामी हंसने लगी और मुझे हल्की से कोहनी मारी और बोली- राज…!!इसके बाद तो मैं उनसे और ज्यादा खुल गया, फिर मैं उनको देखने लगा, मेरी नज़र उनके बूब्स पर गयी, मैं उन्हें देखता ही रहा, एक बार तो उन्होंने इस हरकत को देख लिया लेकिन मुझे टोका नहीं… जिससे मेरी हिम्मत बढ़ गयी, मैंने उनसे बोला- बहुत प्यारे हैं ये!तो मामी हंसने लगी.

अब आंटी का लड़का हमारे बीच में आ खड़ा हुआ, वो मेरा दोस्त नहीं है मगर मुझसे बात कर लेता है.

उधर गाड़ी भी बहुत रफ़्तार से चल रही थी, इधर चुत चाटना भी रफ्तार पकड़ रहा था. फिर अगले दिन मैं जल्दी से पीछे गया और उनके आने के बाद मैंने फ़ोन पर बात की और उनसे अपने ब्लाउज़ खोल कर अपने मम्मे दिखाने को कहा तो उन्होंने मना कर दिया. मैंने मामी के मम्मों को बहुत दबाया और मेरा हाथ सीधा उनकी नीचे चूत पे आ गया.

फिर हमेशा की तरह सुबह मैं उठते ही फिर से ऑनलाइन हुआ और नोटिफिकेशन्स चैक करने लगा. ऐसी बातें मैंने अमित से की मतलब मैं अपने मन से अमित के सामने और उसे अपने सामने नंगा बिना कपड़ों के देखने का तरीका बता दिया था. मैं पिछले काफी सालों से अन्तर्वासना से जुड़ा हुआ हूँ और मैंने इस पर प्रकाशित लगभग सारी सेक्स कहानियाँ पढ़ी हैं.

बातों ही बातों मैं ये भी भूल गया था कि मैंने सिर्फ ट्रेकसूट का पजामा पहना था अंडरवियर नहीं पहनी थी.

मराठी सेक्स बीएफ पिक्चर: राधिका का लंड चूसना बदस्तूर जारी था, साथ ही साथ वो उसकी गोलियों से भी खेल रही थीं. यह सुनते ही मैंने शार्ट्स नीचे की ओर किया, मेरा लंड बिल्कुल स्ट्रेट खड़ा देख कर वो हंसने लगी, वो बोली- लंड तो तेरा बहुत बड़ा है.

अभी वो लड़का हमारे ही मकान बनाने का काम करता है, मैंने उसे पटा लिया है. उस दिन मैं तैयार हो रही थी कि दिव्या ने कहा- आज तुम तो क़यामत लग रही हो. वो- क्यों क्या हुआ? तुम तो चार दिन की बात कर रहे थे, अभी तो सिर्फ 2 हुए हैं.

मैंने पूछा- जानेमन कहां डालूँ?उसने चिल्ला कर कहा- चूतिये अभी से माँ बनाना है क्या?ये सुनते ही मैंने लंड निकाला और ज़ोर से हिलाने लगा.

तभी मुझे लगा कि मैं अब झड़ने वाला हूँ तो मैंने सिमरन से कहा- सिमरन जी मैं अब झड़ने वाला हूँ, बताओ मैं कहाँ झड़ूँ?सिमरन ने कहा- वीशु जी, आप मेरी चूत में ही झड़ जाओ!मैंने कुछ धक्के लगाये होंगे कि सिमरन की चूत में मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मैं थक कर सिमरन के ऊपर ही धम्म से गिर गया तो सिमरन मुझसे बेल की तरह से लिपट गई और मुझे बहुत देर तक चूमती रही. ” मैंने कहा और खुद को जोर से चिकोटी काट के सजा दी कि यह बात मुझे पहले क्यों नहीं सूझी कि बहूरानी मुझे ट्रेन से ही चलने के लिए क्यों जोर दे रही है. फिर ससुर मोहन लाल ने अपनी जुबान बहू मयूरी की गांड के छेद पर रख दी और जुबान गांड के छेद पर चलाने लगा.