सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में

छवि स्रोत,चुदाई वाला सेक्सी वीडियो दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

रेखा भाभी की चुदाई: सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में, मैंने श्वेता से कहा- मेरी जान अब दुखों का मौसम गया, अब तो सिर्फ प्यार प्यार और बस प्यार वाला मौसम होगा.

సెక్స్ vedioes

मेरे बहुत मना करने के बाद भी नहीं माने और पीछे से पेल कर मेरी गांड में भी लंड चलाया. हिंदी सेक्सी विीयोउसी समय सुनयना भाभी ने मुझे अपनी पैंट उतारने का इशारा किया, तो मैंने उसे भी उतार दिया.

मैंने पूछा- तुम्हें लंड चूसना और माल पीना ज्यादा पसंद है क्या?वो बोली- पहले नहीं था लेकिन लौड़े चूसते चूसते अब आदत हो गयी है और मैं चूसने का पूरा मजा लेती हूं. देवर भाभी की सेक्सी वीडियो चोदा चोदीमैंने उसकी पैंटी में हाथ देकर उसकी बुर को सहलाना शुरू कर दिया और तब तक रवीना ने उसकी पूरी नाइटी उतरवा दी.

मैं समझ गया कि भले ही इसकी शादी हो गई हो, मगर इसकी अभी एक अच्छी सुहागरात नहीं हुई है.सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में: क्या गजब की खूबसूरत थी वो … रेशम जैसे लम्बे लम्बे बाल, जो उसकी कमर तक आ रहे थे.

वो अपने हाथों से मेरे चेहरे को अपनी चूत में घुसा रही थी और मस्त मस्त आवाज़ निकाल रही थी.मेरी कोमल देह से कभी पत्तियां टकराती, तो कभी कुछ छोटी टहनियों मेरी मांसल जांघों को छेड़ देती.

सेक्सी वीडियो भाभी हिंदी - सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में

अन्तर्वासना का भाषा स्तर और शैली मुझे काफी पसंद है, जिसके लिए मैं अन्तर्वासना का आभार व्यक्त करता हूँ.दोपहर में बाजार में थोड़ा कम भीड़ होती है … और हम दोनों को भी उस समय ही फुर्सत रहती थी.

मौसी भी कुछ देर में सामान्य हो गयी और मैंने अब मौसी की गांड मारनी शुरू कर दी. सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में उसने अपने लंड पर खूब सारा थूक लगाया और मेरी भी गांड में थूक भर कर उंगली से अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने बाहर से आवाज लगाई- चाची!तो उन्होंने दरवाजा खोला और पलट कर खड़ी हो गईं, लेकिन कमाल ये था कि आज चाची ने टॉवेल से अपना निचला हिस्सा भर ढका हुआ था और ऊपर दोनों चूचियां को बस हाथ से ढककर खड़ी थीं.

सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में?

बस यही बोलने आई थी कि तू मौका देख कर प्रेरणा की चूत को लंड का सुख दे दे. अब तू सो जा और जो हुआ उसे भूल जाना!” वे बोले और फिर उठ कर चुपचाप नीचे चले गए. श्वेता अब तक इतनी गर्म हो गयी थी कि वो तरह तरह की मादक आवाजें निकालने लगी थी और बड़बड़ाने लगी थी.

उसकी चूचियां मेरे सीने से सट गयीं और मेरे मुंह से एक हल्की सी आह्ह … करके सिसकार निकल पड़ी. मगर मैं अबकी बार लम्बी पारी खेलना चाहता था इसलिए धीरे धीरे चोदते हुए डटा रहा. हालांकि इस सेक्स कहानी में अभी डॉक्टर सुरेश के लंड का कमाल भी आपको मीता की चुत में देखने मिलना बाकी था … मगर मुखिया के लंड से चुत चुदाई की सेक्स कहानी ने ही आपका मूड बना दिया होगा.

पन्ने पलटते पलटते एक डीप गले की पीठ पर डोरी वाली ब्लाउज पर मेरी नजर रूक गई. अचानक से मेरे पोतों (लंड के नीचे लटकती दो गोलियाँ) पर 2 नर्म सी उँगलियाँ रेंगी तो मैंने देखा कि प्रेरणा की छोटी बहन (मेरी भाभी) मेरे पोतों को सहला रही थी जो प्रेरणा भाभी की गांड पर टकरा रहे थे. नहीं नहीं, चुत को चूस रहे थे, तो मुझे इतना ज़्यादा मज़ा आ रहा था कि जिसे मैं शब्दों में नहीं बता सकती.

अंगिका की आंखें देखने से ही नशीली लगती थी और शराब पीने के बाद तो ऐसा लग रहा था कि उसे चुरा कर अपने पास ही रख लूं!रात के दो बज चुके थे और मेरे अन्दर का शैतान अंगिका को नीचे पड़ी देखकर अपने आपे से बाहर हो चुका था. मैंने उसे उधर ही टेबल पर लिटा दिया और उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर उसे चोदने लगा.

जब मैंने पैंटी के अंदर हाथ डाला तो मेरी उंगलियां उसकी चूत के रस से चिपचिपी हो गयीं।दोस्तो, किसी जवान लड़की की चूत पर मेरी उंगलियों का वो पहला स्पर्श था.

फिर वो मेरे मम्मों को चूसते हुए बोले कि टीना मैं तुम्हें पाने के लिए न जाने कब से तड़प रहा था.

क्यों … मैंने सही कहा ना!सुमन ने खुले शब्दों में मुखिया को समझा दिया कि उसको पूरी रात रुक कर क्या क्या करना है. मैं और दानिश दिन भर बैठ कर मस्ती या गेम्स या कुछ स्टडी वग़ैरह करते रहते थे. आह क्या मस्त बूब्स थे यार … गोरे और भरे हुए दूध और उन पर पिंक निप्पल एकदम कड़क हो उठे थे.

वो मेरे लंड को पूरा मुंह में भर कर चूसने लगी और मैं उसकी चूत को काट काट कर जैसे खाने लगा. करीब 5 मिनट उनके होंठों को चूसने के बाद मैंने बोला- यही तो मेरा काम है … आपको खुश करना. मेरी कामुकता कहानी हिंदी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी चढ़ती जवानी अपनी मौसी के देवर के हवाले कर दी.

उस समय सुरेखा के एग्जाम चल रहे थे, इस कारण सुरेखा शादी में नहीं जा सकी थी.

अब भाभी की चूत भी कह रही थी कि और मत तड़पा इस प्यारी चूत को … डाल दो अपना लंड. फिर वो मेरी तरफ देख कर बोली- एनर्जी बूस्टर लेना है?मैंने कहा- हां मेरी जान बिना उसके तो मजा आने से रहा. उनको जैसे तीन छेद वाली एक डॉल मिल गयी थी और वो उससे मजा लेकर खेल रहे थे.

पारिज़ा- क्या हुआ?मैं- कुछ भी तो नहीं … वैसे कितने दिनों से हमने मजा नहीं किया. कमर मेरी 28 इंच की है, जिसे मटका कर जब मैं चलती हूँ, तो अपनी 36 इंच की गांड को अक्सर झटके देते हुए चलती हूं. जा आज से तेरी बकरी आज़ाद है और ये ले 500 रुपये, इनसे अपने लिए कुछ अच्छे कपड़े ले लेना.

वो बिना कुछ बोले मेरा लंड पकड़कर हिलाने लगी।फिर मैंने उससे कहा- अंदर नहीं घुसाऊँगा, बस बाहर से ही रगड़ लूंगा.

दरअसल उस पोजीशन में रुक पाना बिल्कुल ही असंभव जैसा था क्योंकि हम दोनों ही उत्तेजना के चरम पर थे और इस स्थिति में आनंद के सामने वादे और कसमें कमजोर पड़ जाते हैं. पापा आपका लंड बहुत तगड़ा भी है और आपके हाथ में मेरा भविष्य भी सुरक्षित है.

सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में थोड़ी देर बाद ज्योति मैडम ने मेरे लंड को पकड़ा और सहलाना शुरू कर दिया. पर इतनी तेज बारिश में हम घर कैसे जाएंगे … इतनी बारिश में तो हमको कोई ऑटो भी नहीं मिलेगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में अब तो मैं अपनी एक गर्लफ्रेंड को भी अपने घर पर ही लाकर उसे पेलता हूँ. फिर मैंने उसके हाथ को हटा कर अपना हाथ उसके चूतड़ों पर रखा और बंदर की तरह अपना लंड उसकी गांड में ऊपर नीचे करने लगा.

भाभी आंख नचाते हुए बोलीं- अच्छा … क्या क्या खूबसूरत दिख रहा है!मैंने कहा- बहुत कुछ भाभी.

एचडी बीएफ चलने वाला

अब वह पूरा लंड पेल कर पीछे से आराम से धक्के लगा रहा था और मैं मजे ले रही थी. चाचा ने उसे सोफे पर लेटा दिया और वो बारिश में पूरा भीगा हुआ था और कांप रहा था. मैं उसको नजर भर कर देख भी नहीं पाया था कि उसने अपनी बांहों का घेरा मेरे गले में डाल दिया.

उसने अपनी जांघों को भींच लिया और मेरे सिर को हाथों से दबा कर अपनी चूत को चुसवाने लगी. इस बार उसने मेरे लंड से हाथ को वापस तो नहीं खींचा लेकिन लंड को हाथ में पकड़ा भी नहीं. रिया- थैंक यू भैया।मैं- मुझे भी प्यार हो गया है तुझसे ये फोटो देख कर… हा हा हा!रिया- हप गंदे!मैं- मैंने तेरी सुहागरात वाली सभी फोटो भी देख ली हैं.

मगर अंधेरा होने के कारण वो देख नहीं पायी कि मैं जाग रहा हूं या सो रहा हूं.

राहुल- वहां तुम्हारे साथ में इतने दोस्त तो हैं … और डार्लिंग मेरी मजबूरी थी … वरना मैं जरूर वहां तुम्हारे साथ होता. मंगला- कहिए अफ़सर बाबू, अब मैं आपकी क्या सेवा करूं?बलराम- बहुत खेली खाई लगती है तू … तो ऐसे कपड़े पहन कर सेवा करेगी क्या?मंगला- अलग अलग मर्दों की अलग अलग पसंद होती है. मैं अंदर जाकर सोफे पर बैठ गया और वो कपड़े चेंज करने के लिए चली गयी.

इसलिए मुंह उठाकर चोदने चले आते हैं मगर मुझे चुदाई करने का काफी एक्सपीरियंस था इसलिए मिकी भी मजा ले रही थी. मां ने मेरे लंड को हाथ में भर लिया और मैं उसकी चूत को जोर जोर से सहलाने लगा. अमित अपनी जीभ मेरे मुंह में घुमाता। अमित ने मेरे चूचियों को दबोच लिया और हल्के हाथों से उन्हें मसलने लगा।अब मैं नशे में डूबी अधखुली आंखों से मजा लेने लगी।अमित ने टॉप के ऊपर से ही मेरे निप्पल को अपने नाखून से रगड़ा। मैं तिलमिला उठी और अपनी जांघों से उसे कमर से दबोच लिया.

मैं झटके देता हुआ स्खलित हो गया और मैंने अपने माल से मां के मुंह को भर दिया. अब मैंने उसकी गांड को प्यार से घपाघप प्यार से चोदता रहा और उसकी गर्दन, पीठ को चाटता रहा.

मेरे हस्बेंड ने मुझसे कहा- शोभा चलो, रोहित ने एक फाइव स्टार होटल में रूम बुक किया है और वह हमें बुला रहा है. मैं- फिर कब!दीदी- आज रात को तू अपनी छत से कूद कर मेरे ऊपर वाले कमरे में आ जाना. उसने डार्क ग्रीन कलर की पंजाबी कुर्ती और येलो रंग की चूड़ीदार पजामी और यलो रंग का ही दुपट्टा पहन रखा था। तेज़ दूधिया लाइट में उसका चांद सा मुखड़ा जैसे लाइट मार रहा था। वो मेरे आगे आगे सीढ़ी चढ़ने लगी.

मोती- क्या डालूं भैनचोद?प्रिया- अरे मादरचोद … अब क्यों तड़पा रहा है … डाल दे अपना लंड मेरी चूत में और बना ले रंडी अपनी … आह जी भर के चोद दे मुझे, आह साले आज से मैं तेरी रंडी हूं.

पिछले कुछ दिनों से सुबह जब मैं सो कर उठती हूँ, तो मेरी छाती में दर्द रहता है … और हां मेरी फुन्नी में भी दर्द रहता है … वहां भी ऐसे ही निशान हैं. वो बोली- तो फिर देर किस बात की है! आह्ह … चोद दे बेटा … मेरी चूत लंड के लिए तड़प रही है।इतना सुनते ही मैंने चूचियों पर से मुंह को हटाया और उसकी चूत में दे दिया. तभी अचानक राज ने मेरी पैंटी निकाल दी और मेरा हाथ हटाकर अपने हाथ से मेरी चुत को सहलाने लगा.

घर आकर हमने अच्छी तरह से अपने जिस्मों को साफ किया और एक दूसरे से वादा लिया कि ये बात हम दोनों के बीच में ही रहेगी. साकेत में मिलने के बाद उसने बताया- मुझे तुमसे बातें करना अच्छा लगता है … और मैं तुम्हारे साथ अकेले में कुछ टाइम बिताना चाहती थी.

किस करते हुए मैं उसकी सेक्सी जांघ को सहलाने लगा क्योंकि पारिज़ा ने इस समय एक शॉर्ट पहनी थी, जिससे वो उत्तेजित होने लगी. हम लोगों को बीयर के मजे के साथ सेक्स देखने का भी मजा आ रहा थाअब आगे की गोवा सेक्स स्टोरी इन हिंदी:ऐसे ही वहां अनेक कपल मस्ती कर रहे थे. मैंने मनीषा की मम्मी से कहा- मैं उस कमरे में सोता हूँ, यह कमरा खाली ही रहता है, मनीषा को इसी में लिटा दीजिए, आप भी चाहें तो इसी में रूक जाइये.

जयपुर सेक्सी वीडियो बीएफ

मैंने अपने कपड़े पहने और उनसे कहा- अब चलता हूँ … कहीं दानिश ना आ जाए.

मैं उठ कर बेड से नीचे खड़ा हो गया और बैग से तेल की शीशी निकाली और अपने लंड पर तेल लगाने लगा. मुझे पता था कि मेरी झिल्ली या हाईमन एकदम सुरक्षित है जिसे मैंने अपनी सुहागरात को अपने पति को उपहार देने के लिए बड़े जतन से बचाए रखा था. पर तभी मीता ने एक ऐसी हरकत कर दी कि सुरेश के दिमाग़ में वासना सवार हो गई.

राज- तुम्हें तो सब कुछ पता है लेकिन यार डर लगता है कि कहीं कुछ प्रॉब्लम न हो, वरना मैं तो इस टाइम एक शॉट मारने को तैयार हूं. नाइटी पहनकर वो किचन में गयी और उसने खाना बनाया और हमने फिर खाना खाया. नव दुर्गा की फोटोजाते वक्त तुमने जो पीछे मुड़कर एक स्माइल दी थी ना … आज भी वो चेहरा मेरे सपनो में आता है.

अब मैं किस मुंह से तेरा सामना करूंगा, मुझे जीने का कोई अधिकार नहीं अब!मौसाजी रुआंसे स्वर में बोले- बिटिया रानी, मैं जा रहा हूं. फिर मेरे होंठों को चूम कर मेरा निचला होंठ चूसने लगे साथ ही वो मेरे स्तन दबाते मसलते जा रहे थे.

मैं उसके चूचों को ब्रा के ऊपर से ही चूसने लगा और फिर मैंने उसकी ब्रा को खोलकर साइड में फेंक दिया और उसके चूचों को अच्छे से बारी बारी से चूसने लगा. मैं भी उसके होंठों को, उसकी गर्दन को, उसके गालों को तो कभी उसकी चूचियों को चूम और चूस रहा था. अंजू के बाल ज़्यादा लम्बे नहीं थे परंतु अच्छे थे। आँखें बड़ी बड़ी थीं.

मैंने भी पहले उसे रोने दिया, जब वो थोड़ी ठीक हुई, तो मैंने पूछा- आखिर बात क्या है बेटी तुम क्यों रो रही हो?वो बोली- पापा मैं तो आज भी लंड को तरसती ही हूँ. वो मेरे खड़े लंड को महसूस करके हंसने लगी और बोली- तुम्हारा पप्पू जाग गया है. 6 फीट की लंबाई, 36C के चूचे, पेट सपाट, भारी चूतड़, केले के तने जैसी जाँघें। अगर उसकी शक्ल को छोड़ दें शरीर से बिल्कुल सोनाक्षी सिन्हा लगती है.

अंजू अब मुझे छेड़ रही थी और बार बार ये बोल कर चिढ़ा रही थी- टेढ़ा है, पर मेरा है।मेरा उससे बात करने का बिल्कुल मन नहीं कर रहा था.

तो मैंने चूत की प्यास बुझाने के लिए क्या किया?मेरा नाम पिंकी कविशा है। मैं मेरठ की रहने वाली हूँ। मेरी शादी को हुए 3 साल हो गए हैं। मेरे पति एक फैक्ट्री में सुपरवाइजर की पोस्ट पर काम करते हैं।वैसे तो मैं शादी के बाद से बहुत खुश और संतुष्ट हूँ मगर मेरी ज़िन्दगी की कहानी कुछ और है. भाभी मेरे ऊपर आ गयी और उसने गुदा पर लिंग सेट किया और अंदर लेकर कूदना शुरू कर दिया.

उस समय मेरे मन में कामुकता नहीं थी, मैं केवल मदद की सोचने में लगा था. जब सुषमा मैडम पानी लेने के लिए नीचे झुकीं, तो उनकी गांड मुझे पूरी नंगी दिखाई दी. फिर श्वेता ने कहा- भैया, अब मुझे गोद में उठा कर अपना लंड मेरी चूत में डालो और दो फेरे ले लो.

इतने में ही फराह की चूत ने ढेर सारा पानी निकाल दिया जिसको मैं उसकी चूत से खींच खींच कर पी गया. जब वो अपने घर से वापिस आईं … तो रात को सुषमा मैडम ने मुझे वीडियो कॉल किया. मैंने उनको बोला कि बाथरूम में जाकर पहले अच्छी तरह से चूत और गांड को धो आओ.

सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में पारिज़ा चुपचाप अपने बाप से चुद रही थी और अंकल हौले हौले से अपनी बेटी चोदते हुए उसकी चूत में लंड के धक्के लगा रहे थे. फिर मैंने विवेक को इशारे में बोला- रूम में अल्पना है … इसलिए मैं यहां कुछ नहीं करने दूंगी.

बीएफ जेंट्स जेंट्स

जब मुझे लगा कि उसने मुझे नहीं देखा, तो मैंने घड़ी में देखा और वो टाइम नोट करके मैं अपने फ्लैट में चला गया. मैं तुम्हें सब सिखा दूंगा, मगर एक बात का ध्यान रखना कि ये बात किसी को मत बताना. जैसे ही अंकल अन्दर आए, उन्होंने हमें मस्ती करते हुए देख लिया और वो हल्के से खांस कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने लगे.

मैं सिसकारियां लेते हुए बोला- आह्ह जान… बस दो मिनट और … अपनी चूत में मेरे लंड को भींच लो, मेरा पानी निकलने वाला है. मैंने उनके कूल्हों को अच्छी तरह पकड़ा और गीले लौड़े को उनकी गांड के छेद पर फिराने लगा. हाथी की सेक्सी पिक्चरफिर बहुत सारा तेल लगा कर उन्होंने मेरी चुत में अन्दर किया, तो मेरी चुत तो समझो छिल गई थी.

उन्होंने आगे कहा- ये तो बहुत अच्छी बात है, क्योंकि हम लोग कॉन्डम इस्तेमाल नहीं करते.

कुछ ही देर में मेरे लंड में दर्द होने लगा था लेकिन मैं कुछ नहीं कर सकता था उस समय. नाइटी पहनकर वो किचन में गयी और उसने खाना बनाया और हमने फिर खाना खाया.

अगर मिकी मुझे मेरा माल पीने के लिए मना नहीं करती तो मैं उसके साथ इस तरह से बेरहमी से लंड नहीं चुसवाता और न ही उसके गले में माल उतारता और न ही मुझे उसके मुंह में माल छोड़ने में इतना मजा आता. मेरा आधा लंड दिशा की चूत में घुस गया, तो दर्द के कारण वो रुक गयी लेकिन मैं नहीं रुका. यहां तो शहर की लड़कियां तक लंड नहीं चूसती फिर गांव की लड़कियां कैसे चूस लेती हैं? खैर, इन सब बातों का फायदा नहीं.

मयंक- क्या करवाने के लिए बोल रही थी!मैं- वो …मयंक- समझ गया … मैं तो जानता ही था कि एक ना एक दिन तेरी सहेली की ये फैंटेसी ज़रूर बाहर आ जाएगी.

मैं अपने घर से गर्लफ्रेंड के घर मिलने के लिए जाने वाला था और मैंने उसकी कैसी गंदी चुदाई की और बहुत हार्ड चुत चोदी, जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते. मौसा जी अंधेरे में मेरे निकट बैठ गए- रूपांगी बेटा, मैंने तुझे हमेशा अपनी बेटी रूचि की ही तरह समझा और सम्मान दिया पर आज मुझसे ये घोर पाप हो गया; तुम्हारे उजले दामन पर दाग लगा दिया मैंने, अनर्थ कर डाला मैंने. वो बुड्डा अपनी धोती के ऊपर से ही अपने लौड़े को मसलने में लगा हुआ था.

मराठी मुलीची सेक्सी बीपीमैं- हां, पता है ये तो सुसु भी पी गया था तेरा।हैरानी से वो बोली- अच्छा तो सब कुछ देख गया था तू? कुत्ते अपनी बहन को नंगी देखते हुये शर्म नहीं आई?मैं- नंगी तो तुझे मैंने शादी से पहले ही देख लिया था. उनके मुँह से आह निकल गई … बोलीं- क्या कर रहे हो?मैंने उनसे बोला- आपकी गांड बहुत अच्छी लग रही है.

पंजाब की बीएफ वीडियो

Xxx इण्डिन अंकल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी भतीजी दूसरे शहर में पढ़ाई के लिए छोड़ने गया. फिर मैं उसके होंठों से जाम का मजा लेने के साथ साथ उसकी पकी हुई जवानी को चूसने लगा. मैंने अपनी पकड़ बनाए रखी और थोड़ा जोर लगा कर पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया.

मैंने उसकी ब्रा और पेंटी को उसके जिस्म से अलग करने में देर नहीं लगाई. तभी कुछ देर बाद प्रेरणा भाभी को भैया वापस घर छोड़ने आ गये क्योंकि रास्ते में ही उनकी तबियत बिगड़ने लगी थी. मैंने उसे परे हटाने का बहुत प्रयास किया पर उसमें पता नहीं कहां से इतनी ताकत आ गयी थी कि मुझे वो हिलने भी नहीं दे रही थी.

जैसे ही मोनिषा आयी, तो मैंने उससे पूछा- रात को नींद कैसी आयी?मोनिषा ने हंस कर कहा- भैया नींद तो बहुत ही बढ़िया आयी. और वे मेरी टांगें फैला कर उनके बीच में आकर बैठ गए और अपना लंड मेरी चूत के द्वार पर टिका दिया और चूत की फांकों पर उसे रगड़ने लगे. अन्तर्वासना की साइट पर मैं पिछले 4-5 सालों से हिंदी सेक्सी सटोरिया पढ़ रहा हूँ.

फिर उसने मेरे गालों पर किस किया और हम दोनों साथ में लेट कर टीवी देखने लगे. एक बार ट्राय करके तो देख। एक दो बार सेक्स हो गया तो उससे ही पता लग जायेगा कि वो तुझसे प्यार करती है या फिर टाइम पास कर रही है.

सुमन बिस्तर पर लेट गई और मुखिया उसके पास बैठ कर उसके पैरों को सहलाने लगा.

आज अंकल पहले से ज्यादा जोश में लग रहे थे और पूरे जोश में अपनी बेटी पारिज़ा की चुत पेल रहे थे. आम्रपाली की नंगी तस्वीरेंकालू- क्या बात है मालिक बहुत देर लगा दी आपने!मुखिया- साले कच्ची कली को भोग के आ रहा हूँ. हिंदी सेक्सी वीडियो गांव की देसीवो फुसफुसाकर बोली- छोड़िए न, ऊपर चलिए। मैंने उसकी गांड को एक हाथ से भींच दिया और फिर वो ऊपर जाने लगी. वो बोली- यार … आज पता नहीं कैसे चोदा है तुमने, मेरा मूत ही निकाल दिया.

इधर मेरे नीचे प्रेरणा भाभी थी और पीछे की ओर अपनी चूत में उँगली करती पड़ोसन भाभी को देख कर मेरा जोश बढ़ गया.

उन्होंने अपना वीर्य मम्मी की चूत पर गिरा दिया और बगल में औंधे हो कर सो गए. पूरे रूम में हम दोनों के अंगों के माल रस की मनमोहक सुगंध भरी पड़ी थी. फिर मैंने उसे खड़ा किया और अपनी गोद में उठा कर उसके नितम्बों को पकड़ कर दबाने लगा.

हम दोनों एक दूसरे के जिस्मों से खेल रहे थे कि बीच में अंगिका की बेस्ट फ्रेंड का कॉल आ गया. मैंने उसका बैग खोला तो उसमें से ब्रांडी की बोतल के साथ सिगरेट का पैकेट और माचिस को भी निकाल लिया. जैसे जैसे मैं किस करते हुए उसके मम्मों को सहला रहा था, वैसे वो भी मेरे लंड को लोवर के ऊपर से सहलाने लगी और मैं उत्तेजित होने लगा.

एक्स एक्स एक्स एक्स बीएफ ब्लू पिक्चर

मैंने दोनों हाथों की दो उंगलियों को कैंची जैसी बनाया और उनके निपल्लों को उंगलियों के सहारे दबाते हुए मींजने लगा. मेरा लौड़ा न केवल अपने पूरे शबाब पर था … बल्कि उनकी मोटी गांड में फूल कर मोटा हो रहा था. आज मैं अपने निजी सेक्स जीवन को जिस मजे से एन्जॉय कर रही हूं मैंने अपने बारे में कभी खुद सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं आगे जाकर ऐसी निकलूंगी या ऐसी बन जाऊँगी.

मैंने उनकी चूत में उंगली डाली और चूत के पानी को लेकर उनकी गांड पर फिराने लगा.

मैं सिर्फ पेटीकोट में थी और ऊपर सिर्फ वो डोरी वाला अधखुला ब्लाउज था.

मैंने सिसकारते हुए कहा- आह्हह … आने वाला है रेशमा।उसने चूसते हुए ही हाथ से इशारा किया- आने दो. गाँव की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुखिया ने नए आये थानेदार की सेवा के लिए एक गर्म लड़की को भेज दिया. సేక్స్ వీడియోస్ తెలుగుगर्म वीर्य की 6 से 7 धारें मैंने चुत में छोड़ीं और सुनयना भाभी के साइड में लेट गया.

मंगला- आह ज़ोर से चोदो साहेब जी, एयेए उइ आह पूरा घुसाओ आह फाड़ दो मेरी चुत को … एयेए आह मैं गई … एयेए गई. ठंडा मक्खन लेकर मैडम ने थोड़ा मेरे लंड पर लगाया और लंड को चूसने लगीं. कुछ देर बुर चाटने के बाद मैंने रवीना की चूत में लंड पेल दिया और उसको चोदने लगा.

मैं खिड़की से उन दोनों की चुदाई देखने लगा और अपने मोबाइल से उनकी चुदाई का वीडियो बनाने लगा. जैसे ही मैंने उसकी चूत के दाने पर अपनी जीभ रगड़नी शुरू की वो तो मानो किसी और दुनिया में पहुंच गई! उसने मेरा सर अपनी टांगों में दबा लिया और मेरे लम्बे लम्बे बालों को पकड़ कर वो मेरा मुंह अपनी चूत में लगातार दबा रही थी.

जैसे तैसे मैंने अपने आपको चादर में लपेट लिया और उसकी कॉल को रिसीव किया.

मेरी बीवी की गांड कैसे चोदी उसके अब्बू ने!दोस्तो, मैं कामिल अपनी सेक्सी बीबी और उसके अब्बू के बीच की चुदाई की कहानी का आखिरी भाग आपके सामने पेश कर रहा हूँ, मजा लीजिएगा. वो मेरी जांघों पर चूत के आसपास चूमने लगा और मेरे बदन में जैसे बिजली के झटके लगने लगे. कुछ देर की चुदाई के बाद हम दोनों का पानी निकल गया और हम इतने थक गए कि ऐसे ही नंगे एक दूसरे की बांहों में सो गए.

ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ‘महक … महक … तू ठीक तो है ना?’इस आवाज से मेरा ध्यान टूटा, जो उस हुस्न परी के सीने पर नजरों में गड़ा हुआ था. उसके बाद बड़ी तेजी से भाभी अपनी गांड से उठा उठा कर चुत की चुदाई करवाने लगीं.

पापा अब आप मेरे पति भी हो, अब आपकी तुली को जल्द से जल्द मां बना दो … ताकि आपकी तुली एक संपूर्ण स्त्री बन जाए. तभी उसने मुझे बुलाया और कहा- यश तुम मेरे लिए ये सामान ला सकते हो?मैंने कह दिया- हां ला दूंगा. कॉफी पीने के दो मिनट के अंदर ही उसकी दादी को नींद आने लगी और वो हमारे सामने ही बेड पर लेट कर सो गयी.

डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स एक्स बीएफ सेक्सी

मैंने अपनी गोद में उठा कर भाभी को कार से उतारा और उनको अंदर ले जाकर लेटा दिया. सुरजीत सर बोले- टीना, मेरे लंड में क्या कांटे लगे हैं … एक बार मन से मेरे लंड को लेकर तो देखो … मजा न आए तो कहना. अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने रेशमा और बंगाली भाभी को सेक्स का मजा दिया.

वो खुश हो गई और उसने अपने गुलाबी होंठों को गिलास से टच करके एक बड़ा सा सिप लिया. राज- मुझे तो ऐसे कामों में यार डर लगता है … मगर तुम्हें ऐसा क्यों लगा कि मुझे लड़की की जरूरत है?मैं- मैं बीच पर देख रही थी कि कैसे तुम्हारा उठ रहा था.

मैंने उससे पूछा- चुलबुली मतलब?वो हंस पड़ी- अरे यार चुलबुली का मतलब नहीं समझते हो … क्या पूरे लल्लू हो!मुझे उसकी बात से हंसी आ गई.

मालिनी तो जैसे बस ये चाह रही थी कि किसी तरह कोई उसके बदन की सारी गर्मी निकाल दे. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि काउंटर पर क्या कहूं?जैसे तैसे हिम्मत जुटा कर मैंने काउंटर पर बैठे आदमी से कहा- रूम नं. फिर धीरे से उसने मेरे हाथों को पकड़ा और मेरी चूचियों से मेरे हाथों का पर्दा हटा दिया.

मैं सोच रहा था कि अगर मिकी मेरे रूम में आ जाये तो उसके साथ पूरी रात भर मैं नंगा होकर सो सकता हूं और उसकी जितनी चाहे और जैसे चाहे चुदाई कर सकता हूं. उसको क्या होना था, पर गीता बेचारी एक कमसिन कच्ची कली थी, जो इतनी ज़बरदस्त चुसाई को बर्दाश्त ना कर पाई और मुखिया के मुँह में ही झड़ गई. सुरजीत सर का लंड वाकयी बहुत लम्बा था … जिसके कारण मुझे पूरा लंड लेने में उबकाई सी भी आ रही थी.

मेरा मन कर रहा था कि उसकी पैंटी को उतार कर उसकी बुर में जीभ दे दूं.

सेक्सी बीएफ चुदाई वाला हिंदी में: दिशा ने मेरा लंड अपने मुँह से बाहर निकाला और बोली- आह … धीरे से करो ना डियर … मैं भागी नहीं जा रही हूँ. उसने चिपके हुए ही अपने पैरों से खींच कर मेरा शॉर्ट्स उतार दिया … फिर मेरी टी-शर्ट भी उतार दी.

मैं समझ गयी और बोली- 10000 लूंगी और मुझे सुबह यहीं लाकर छोड़ना पड़ेगा. तभी मोनिषा ने जैसे ही टीवी ऑन किया, तो टीवी पर चुदाई की पोर्न मूवीज चालू हो गई. घर पहुंचते ही हम लोगों का जबरदस्त स्वागत हुआ क्योंकि हम लोग चार पांच साल के बाद गांव गए थे.

मैं इलेक्ट्रॉनिक आइटम में ख़ास तौर से किसी भी फ़ोन में कैसी भी प्रॉब्लम हो, मैं ठीक कर लेता हूँ.

जाते जाते एक विनती है कि तुम मेरा पाप क्षमा कर देना और इस अंधेरे कमरे में हमारे बीच क्या हुआ इसे कभी किसी को मत बताना. इसी के साथ मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था, तो मैं एक हाथ से अपने लंड को सहलाने लगा. तभी कुछ देर बाद मुझसे रहा नहीं गया और मैं भाभी के मुँह को चूत समझ कर धक्के लगाने लगा.