रोमांटिक हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,लड़कियों की चूत चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फ़िल्म: रोमांटिक हिंदी बीएफ, उन धोखेबाजों को भी गाली देते हुए मैं बड़बड़ा रहा था कि साले जानबूझकर मोटे चूचे वाली लड़कियों को बैठाते हैं ताकि उनको मेरे जैसे चूत के भूखे लड़के आराम से पैसे दे दें और वो इन फोकट के पैसों से फिर मजे लें.

थ्री एक्स ब्ल्यू फिल्म

मामा जी ने सारा सामान ऑटो में रखवाया, फिर मम्मी ने आंटी के पैर छुए. हिंदी सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो मेंमेरे लिए इस समय ऐसा अहसास था कि आम के पेड़ के नीचे खड़ी हूं … लेकिन आम नहीं ले पा रही हूं.

कुछ देर बाद मैंने फिर से चुत में उंगली डालनी चाही, पर फिर से मिस फायर हो गया. સેક્સી બીએફ વિડીયોचूंकि भाबी अभी मेरा लंड हिला रही थीं, तो मुझे बड़ा सुकून मिल रहा था.

शिल्पा- तुम्हें क्या है … तुम तो मजे करके चले जाते हो … संभालना तो मुझे पड़ता है.रोमांटिक हिंदी बीएफ: यदि पायल ने उसे ये सब न बताया होता तो शायद वो मुझसे अकेले मिलती या सीधे मेरे कमरे पर आने का सोचती.

इसलिए शायरा के होंठों को छोड़कर मैंने अपने हाथों के सहारे अपने ऊपर के शरीर को ऊपर उठा लिया.मैंने पूछा- और बताओ घर में सब ठीक है?उसने कहा- क्या बताऊं रूपा, मेरी वाइफ अभी कुछ दिन पहले संसार छोड़ कर चली गई है.

सास और जमाई सेक्सी वीडियो - रोमांटिक हिंदी बीएफ

जब बचपने में कोई नया नया जवान लौंडा अपना मस्त लंड मेरी चिकनी मक्खन सी गांड में लंड पेल रहा होता था.मेरे सामने उसे अपने कमरे में रुक जाने की कहने के अलावा और कोई चारा भी नहीं था.

फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और चोदते वक़्त उसके चूतड़ों को झापड़ मार मार कर इतने लाल कर दिए कि अब उसको वहां हाथ लगाने में भी दर्द हो रहा था. रोमांटिक हिंदी बीएफ न्यू सेक्सी स्टोरी में पढ़ें कि मकानमालिक की बेटी की चुदाई करते समय उसकी बड़ी बहन ने देख लिया.

मैंने भी इंतजार करना उचित नहीं समझा और उन्हें किस करते हुए धीरे-धीरे उनकी चूत में लंड डाल दिया.

रोमांटिक हिंदी बीएफ?

नमस्कार दोस्तो, मैं चंडीगढ़ से राकेश एक बार फिर अपनी एक उत्तेजक कहानी आप की खिदमत में पेश कर रहा हूँ. मुझे इतनी उत्तेजना हो गयी कि मेरा लंड फटने को हो गया और मैंने एकदम से वीर्य छोड़ दिया. मैंने प्रियंका को इशारा किया कि वो फ्रिज से आइस क्यूब (बर्फ के टुकड़े) लाकर दे.

पूजा जवान थी, कमसिन थी और अभी अभी अपने पति से चुदते हुए स्खलित नहीं हुई थी लिहाजा इस समय उसके जिस्म की गर्मी भी बाहर निकलने को आतुर थी. अभी तक मैंने अपने एक हाथ में पर्स पकड़ा हुआ था और दूसरे हाथ से ऊपर बस में जो पकड़ने के‌ लिए पाईप होता है, उसे पकड़ा हुआ था. मेरे मन में बस एक ही ख्याल आ रहा था कि एक बार सुगंधा भाभी के साथ सेक्स करने का मौका मिल जाए.

उसके भीगे बदन को देखकर मेरा लंड फुफकार मारने लगा।फिर वो बोली- जा बेटा … मैं नहाकर आती हूँ।फिर मैं आकर वहीं पर पास में ही छुप गया. रामू रुक गया और आरिषा भाभी को किस करते हुए उसने एक और धक्का दे मारा. यह कहानी मेरी पिछली कुछ कहानियोंमस्त पड़ोसन भाभी दिल खोलकर चुदीट्रेन में मिली महिला की सेक्स की प्याससे जुड़ी हुई है क्योंकि मेरी पिछली कहानीमालकिन के साथ नौकरानी के मजेयहां पर नहीं छपती, तो शायद यह अनुभव मुझे सच में नहीं मिल पाता.

तीन घण्टे बाद मेरी आँख खुली, तो मैंने देखा कि वे दोनों मेरे सोए पड़े हैं. पंजाबी लड़की की चुदाई कहानी के पिछले भागबॉयफ्रेंड के बॉस ने मेरी गांड मार लीमें आपने पढ़ा किअंतर्वासना के सभी पाठकों का डॉली चड्ढा की और से फिर से स्वागत है। अपनी पिछली कहानी में बता चुकी हूं कि किस तरह रोहित के प्रमोशन के लिए मैंने योगेश तो अपनी चूत दी और योगेश मेरी चूत के साथ गांड भी मार कर चला गया.

मैं पूरी तरह से भाई से चिपकी हुई थी और मेरी चूचियां और दिव्या के हाथ दोनों ही भाई की पीठ से सटे हुए थे.

मैं बार बार उनके सामने झुक कर अपनी चूचियों का प्रदर्शन कर रही थी ताकि उनका ध्यान मेरी तड़पती जवानी पर जाये.

वो इस झटके से कराहते हुए कुछ आगे को हो गयी, जिससे मेरा लंड उसकी चुत से बाहर आ गया. हम दोनों ने ही अब पूरी जी-जान लगा कर चुदाई करना शुरू कर दी थी, जिससे मेरी और शायरा की सांसें अब फूल गयी थीं. शादी के बाद प्रारंभ में तो हमारी सेक्स लाइफ अच्छी चली किंतु बच्चे होने के बाद धीरे धीरे नीरसता आने लगी.

मैंने शायरा के पैरों को और खोलकर अपने लंड को पहले तो ठीक तरह से शायरा की चूत पर अड्जस्ट किया. अनामिका ने नंगी होते ही भाग कर बाथरूम में घुसकर दरवाजा बन्द कर लिया. मेरा मन कर रहा था कि साले को मार मारकर चटनी बना दूं लेकिन अभी मैं कुछ नहीं कर सकता था.

तब मामी बोलीं- आज कहां सोओगे?मैंने कहा- अहाते में … जहां रोज सोता हूँ.

न ही वो मुझसे ये कहता कि मैं किससे क्या बात करती हूं और दूसरे लड़कों को आकर्षित करती हूँ. एक दिन जब उसका फोन आया तो मैंने कहा कि जब मैं इशारा करूं तो मेरे घर आ जाये. चूंकि अहाते में कोई आता नहीं था और सब जानते थे कि मैं उधर रह कर पढ़ाई कर रहा हूँ … इसलिए कोई नहीं आता था.

जैसे जैसे लण्ड की ठोकर पड़ती … मालू आह … आह … कहकर मेरा जोश बढ़ा देती. देविका- तुम कहो तो मुझे एक घर पता है … तुम्हें आसानी से मिल भी जाएगा. शायरा के मम्मों पर मैंने पहले कुछ ज्यादा ही प्यार किया था … और उसके लाल लाल निशान अभी भी उसके दोनों मम्मों पर साफ नजर आ रहे थे.

हां एक बात मैं तुम से वायदा करती हूँ कि जो तुम बताओगी, वो मैं किसी और से नहीं कहूँगी.

चाय बनाते वक़्त मैंने उससे कहा- तुम जबसे दिल्ली गई हो, बहुत खूबसूरत हो गई हो. झड़ने के बाद हम दोनों अलग हुए, तो वे थोड़ा आराम करने के बाद मेरे को चूमने पर उतर आए … बार बार मेरे गले लगने लगे.

रोमांटिक हिंदी बीएफ इस बात को लेकर मेरी और शालया की बहुत सी बात होने लगीं और न जाने कब हम दोनों में प्यार हो गया, पता ही चला. कहीं काफ़ील फुल टल्ली हो गया, तो वो चुदाई में हमारे साथ शामिल नहीं हो पाएगा.

रोमांटिक हिंदी बीएफ ”भाभी बोली- ठीक है तू जा अब! काफ़ी देर हो गई है हमें बात करते हुए! तेरे भैया भी लण्ड पर तेल लगा कर बैठे हैं. सिमरन की पिछली कहानी थी: जॉब के बदले जवान लड़के को बनाया सेक्स गुलाम https://www.

अच्छा रामू तुम मेरी बात मानोगे?रामू- हां बोलिए भाभी जी, मैं आपकी सारी बात मानूंगा.

सेक्सी विडिओ विडिओ

उसे थोड़ा दर्द हुआ।मैं थोड़ी देर रुका, उसकी चूचियाँ चूसने लगा और फिर धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा. लेकिन ये बताओ कि तुम फीस कितनी लोगे?मैं बोला- मैडम मेरा तो पहली बार है. वो पूरा लंड अपने मुँह में घुसाना चाह रही थी, लेकिन लंड लम्बा था, तो उसके गले तक पहुंच कर रुक जा रहा था.

प्लीज़ जल्दी करो!ये दारू का नशा था जो पूजा स्खलित होने के लिये लालायित थी. तो वो खुशी खुशी तैयार हो गई और मैं उस मसाजर प्रिंस के साथ अपनी फेंटेंसी पूरी करने की योजना बनाने लगा. रात्रि के 11 बजे मुकेश और संगीता कमरे में बिलकुल नंगे बैठे एक दूसरे से खिलवाड़ कर रहे थे और चुदाई की तेज तेज कामुक सिसकारियों की आवाजें आ रही थीं.

जैसे-जैसे मेरी जवानी हिलोरें मारने लगी … इंटरनेट पर सेक्स तलाशा तो पहली बार में ही अन्तर्वासना साईट हाथ लग गई.

उसने आरिषा भाभी की गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया था जिससे आरिषा भाभी और भी पागल हो गईं. मैंने कहा- अब बताओ।वो बोली- राज तुम इतने दिन से क्यों नहीं आये?मैंने कहा- काम ज्यादा है और खन्ना सर भी हैं तो मैं कैसे आता? वैसे भी दिन के समय में आना ठीक नहीं है भाभी, कोई आ गया तो दिक्कत हो जाएगी।वो बोली- तुम्हारे खन्ना सर उनकी अम्मा और बेटे को लेकर मेरठ गए हैं. जल्दी से अपने इस मूसल लन्ड को मेरी चूत में डालो। फाड़ दो आज मेरी चूत को चोद चोदकर।मैं भी उसकी बात सुन कर जोश में आ गया औरर उसको दीवार के पास घोड़ी बना दिया.

हालांकि मुझे रोज रोज ऐसा करना कभी भी अच्छा नहीं लगा था और इस वजह से हमारे बीच कई बार झगड़े भी हुए. वो मुझे चोदने लायक माल तो लगा था, मगर मैं उसकी मर्जी के खिलाफ कैसे कुछ कर सकता था. वो मेरी चूचियों को बहुत ही बेदर्दी से मसले जा रहा था और बीच-बीच में अपने हाथ को पीछे करके मेरी चूत के अन्दर उंगली चला रहा था.

तभी दीदी बोली- आज क्या हो गया है तुम्हें … ऐसा क्यों कर रहे हो? तबीयत तो ठीक है तुम्हारी. यूं ही चूसते चूमते मेरा एक हाथ उसके आमों से खेल रहा था, तो दूसरे हाथ से उसकी मखमली मलाईदार चुत को सहला रहा था.

मगर मेरे पास तो बस पॉकेट मनी‌ से जोड़ तोड़ कर सारे ही छह सौ साढ़े छह रुपए के करीब पड़े थे. उसका एक निप्पल मैंने अपने मुंह में भर लिया और दूसरे बूब को अपने हाथ से दबाने लगा. अपनी पैंट को निकाले बिना ही उन्होंने लंड को बाहर निकाल लिया और मेरी चूत पर लंड को टच करने लगे.

एक शाम मेरा दोस्त मुझे अपने साथ जबरदस्ती अपनी कसम देकर बाजार लेकर चला गया.

उसने दर्द का डॉ दिखाया लेकिन …दोस्तो, मैं राकेश एक बार फिर से अपनी फ्रेंड नीरू की गांड मारी की सेक्स कहानी के अगले भाग को लिख रहा हूँ, मजा लीजिएगा. जब वो मस्त हो गयी, तो एक एक करके दो उंगलियां उसकी गांड में डाल कर चलाने लगा. मैं वैसा ही कर रहा था, इसीलिए शायरा मुझे अपने दिल से किस कर रही थी.

मैं खुद में ही खोया हुआ था तो मैंने ध्यान नहीं दिया और खाना खाने लगा. जब वो मेरे पास आया, तो मैं अपनी बर्थ पर लेटा था और यूट्यूब पर एक वीडियो देख रहा था.

मैंने उनमें एक को कैसे गर्म करके चुदाई के लिए मनाया?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अर्जुन है और ये मेरी अन्तर्वासना पर पहली कहानी है. मैं उसे पकड़ कर फूंक मारने लगा तो उसने अपना हाथ छुड़ाया और अंदर आकर अपना सामान रखने लगी. अनिल ने उसकी चूत में ढेर सारा थूक डाला, जिससे वो बहकर पिंकी की गांड तक आ रहा था.

साउथ इंडियन ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ

अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद में मैं दिल्ली आ गया था जॉब ढूंढने के लिए। अब आप सब को पता है कितना कॉम्पिटिशन है जॉब तलाश करने में.

फिर धीरे धीरे मॉम ने अंकल के लंड को पूरा मुँह में लिया और चूसने लगी. मेरी एक सहेली रीमा भी थी, वो भी सर को लाइन मारने में कमी नहीं करती थी. बात ये है कि मैं रमेश को किसी भी बात पर कुछ भी कहूँ, वो सीधे मुँह जवाब ही नहीं देता है.

मैंने अपना मुँह मामी की चूत में लगा दिया और उनकी चूत का सारा पानी अपने मुँह में भर लिया. ओरल सेक्स (किसी का लौड़ा मुँह में ले कर चूसना) … ये मैं पहली बार कर रही थी, तो मुझे शुरू में थोड़ी दिक्कत हुई … लेकिन मैंने पोर्न वीडियो में देखा था कि लंड को कैसे चूसा जाता है. सेक्स चूत लंडमैं छटपटाने लगी।फिर रोहित एक हाथ से मेरी कमीज़ (कुर्ती) ऊपर करने लगा और कुछ ही सेकंड में उसने मेरी कुर्ती उतार कर अलग रख दी.

इस पर रामू ने पूछा- क्या हुआ भाभी! बहुत ज़्यादा दर्द हो रहा है क्या?आरिषा- हां रामू. कुछ ही देर में उसने खुद से अपनी चुत खोल दी और अपनी चुत पर मेरी जीभ की रगड़ का मजा लेने लगी.

अब तक आपने इस हॉट भाभी डबल चुदाई कहानी के पहले भागनशीली भाभी की डबल चुदाई की चाहमें पढ़ा था कि बिस्तर पर चित लेटी हुई न्यासा अपने दोनों हाथों में हम दोनों के मोटे लंड पकड़ कर सहलाते हुए एक मस्तानी रांड सी दिख रही थी. अब उसी खिड़की से अभिषेक पहले खुद अन्दर गया और मुझे भी अन्दर खींच लिया. मैं- ज़ारा!ज़ारा- मुझे आपसे कोई बात नहीं करनी!मैं- सॉरी यार! मेरा मूड खराब था!वो और ज्यादा सिसकने लगी.

आप तो जानते ही हैं कि जब 18 साल के बाद की जवानी उभरकर आती है तो चेहरे पर अलग ही नूर होता है. हम दोनों फोन पर बात कर रहे थे और राहुल शरारत करते हुए शिल्पा के मम्मों को सहला रहा था. मेरे पति ने जब देखा कि मैं फिर से राजी हो गई हूं तो वह अलग हो गए और प्रीत मुझे लेटा कर मेरे ऊपर चढ़ गया.

मैं प्रीति के होंठों को चबा रहा था और प्रीति के निप्पल को अपने मजबूत हाथों से नोंच रहा था.

तो ये भी मान गयी और उसके बाद इसने ही ये सब प्लान किया और मैं कल शाम को ही बस से यहां आकर होटल ले लिया।मैंने नीरू के कान में पूछा- हम इसके सामने सेक्स कैसे करेंगे?नीरू- तुम उसकी चिंता छोड़ दो, चलो अब तुम्हारा दूसरा सरप्राइज़ खोल देती हूं. शायरा की गर्म गर्म चूत में लंड डालने में और रगड़ने में मज़ा आ रहा था इसलिए मैं धीरे धीरे धक्के मार रहा था और शायरा सिसकारियां लेते हुए मेरा जोश बढ़ा रही‌ थी.

बर्फ की ठंडक महसूस करते ही अनामिका आंख खोलते हुए बोली- आह जीजू क्या कर रहे हो … बहुत ठंडा लग रहा है. सास की साड़ी उतार कर मैंने किचन के फर्श पर फेंक दी और उनको गोद में उठा कर गेस्ट रूम में ले आया. कालगर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं काम के सिलसिले में होटल में रुकी तो मेरी चूत लंड मांगने लगी.

मैं धीमे से उसके कान में बोला- जब मैं सो रहा था तो अनामिका मेरा पूरा लंड मुँह में लेकर चूस रही थी. मैं तो खेला खाया था मगर मैंने भी अब तक कुंवारी चुत का उद्घाटन नहीं किया था तो मुझे भी उसको चोदने की मस्ती चढ़ रही थी. अब मैंने नवीन को सबक सिखाने और उससे बदला लेकर उसके किये की सजा देने की सोच ली थी.

रोमांटिक हिंदी बीएफ अब मैं भी उसकी चूत चाटने लगा और धीरे से एक उंगली उसकी गांड में डाल दी. मैंने अपनी बाइक उसके घर के अन्दर खड़ी की और उसके पीछे पीछे अन्दर पहुंच गया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर चोदा चोदी सेक्सी

लेकिन वो वैसा सुखद अहसास नहीं दे रहा था जैसा डॉक्टर के दबाने पर मिलता है. उसने अपने कपड़े उतार फेंके और पिंकी को भी बिठा कर उसकी टी-शर्ट उतार दी. उसकी इस हरकत से पहले से कामरस त्यागने को तैयार बैठी मैंने फिर से कामरस त्याग दिया.

एक दिन …दोस्तो, मुझे पता है कि आप सभी को अन्तर्वासना पर एक से बढ़ कर एक सेक्स कहानियां पढ़ने को मिलती हैं और आप सभी पढ़ कर मजा करते हैं. उसने कमरे में आते ही जल्दी से अपनी जींस उतार दी और अंडरवियर उतार कर पलंग पर औंधा लेट गया. इंडियन सेक्स करते हुएउसने पैर नहीं हटाया तो मैं अपना पैर रखे रहा। मुझे टीचर एंड स्टूडेंट सेक्स साकार होता दिखने लगा.

मम्मों को दबाने और निप्पलों को छेड़ने से धीरे-धीरे उनकी मादक सिसकारियां निकलने लगीं.

बल्कि आप तो ऐसा बोलो आज आपका भाई आपकी ननद को लोड़ा दिए बिना नहीं मानेगा. ’ का मैसेज आ गया था और वो मुझे अकेले में मिलकर अलग ढंग से इजहार करने की इच्छा रख रहा था.

अब आगे की हॉट भाभी डबल चुदाई कहानी:मैंने उसके दूध मसलते हुए पूछा- पहले तुम किसके लंड से चुदना चाहोगी?उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लेते हुए मुझसे चुदने को कहा. मैं इस बात को परख रहा था कि मेरे हाथ फेरने से भाभी का क्या रिएक्शन होता है. मैंने ये सुनते ही अपनी स्पीड थोड़ी और बढ़ाई और दो मिनट में ही मैं उसकी चुत में झड़ गया.

उसने सुनील से पूछा- तू मेरे साथ चलेगा या घर पर ही रहेगा?सुनील बोला- नहीं तू जा … और अच्छा है जितनी देर में आये.

मैं बोला- क्या पता ये लोग नकली लगाकर घूमते हों?वो बोली- नहीं, ये क्या बात है, नकली कैसे लगेगा? और लग भी गया तो उसके साथ वो सारी चीजें तो नहीं हो सकती जो असली के साथ होती हैं. उसने हंस कर कहा- अच्छा जी, कौन सा गाना याद आ गया … ज़रा मुझे भी सुनाओ. थोड़ी देर में ही भाभी की हिम्मत जवाब दे गई और मादरजात नंगी भाभीजान बेड पर पसर गईं.

चुदाई विडियोजब उसने मेरे चेहरे के भाव देखे तो उसने आगे बढ़कर मेरा हाथ पकड़ लिया और अपने हाथ में लेकर बोला- भाभी, मैं आपसे प्यार करने लगा हूं. मुकेश- डार्लिंग तेरी चूत, अब चूत नहीं रही … फट के ढीला भोसड़ा हो गई है उसमें मुझे मजा नहीं आता.

भाभी के सेक्सी वीडियो देहाती

आपके मेल में मुझे ज्यादा रिस्पॉन्स मिला, तो हॉट मॉम सेक्स स्टोरी का अगला भाग भी जल्दी ही पेश करूंगा. सुगंधा भाभी की बातों से इतना तो पक्का हो गया था कि उनका भी चुदाई का मन है … लेकिन वो डर रही थीं. उनकी दर्द भरी आवाजें सुनकर रामू रुक गया और आरिषा भाभी को किस करने लगा.

हमारे घर में मेरे अलावा मेरे पिता (साहिल) जिनकी आयु 46 साल और मेरी प्यारी मॉम (शालिनी) जिनकी आयु 42 साल है, हम तीनों ही रहते हैं. उस बंदे ने तीन चार जगह फोन घुमा कर हमारे लिए पास ही के एक होटल में ठहरने की व्यवस्था करवा दी. जैसे-जैसे मेरी जवानी हिलोरें मारने लगी … इंटरनेट पर सेक्स तलाशा तो पहली बार में ही अन्तर्वासना साईट हाथ लग गई.

जिससे रामू बेड पर आरिषा के ऊपर ही गिर गया और आरिषा भाभी ने एकदम से अपने होंठ उसके होंठों से लगा दिए. अब आगे फुद्दी और लंड की कहानी:मैं और विजय उसके घर पर पहुंच गए और हम दोनों घर के अंदर गए. सबसे पहले मेरे पति को कोरोना हो गया और मेरे पति से मेरे सास और ससुर को भी कोरोना हो गया.

कभी कभी साहिल मैं और आयेशा तीनो वीडियो कॉल पर सेक्स चैट कर लेते थे. मैं एक टॉर्चर सेक्स आपको बताना चाहती हूं जब मैं एक जिम प्रशिक्षक के रूप में काम कर रही थी.

मैं अभी साढ़ू की मौत को साली के सामने जाहिर नहीं होने देना चाहता था.

उसकी कोलम पीठ पर हाथ फेरते हुए ऐसा लग रहा था जैसे मैं संगमरमर के चिकने पत्थर पर हाथ फेर रहा हूं. भाई और बहन की सेक्सी वीडियोमैं अपने यार के पूरे लंड को मस्ती से चूसने लगी और आगे पीछे करने लगी. கிராமத்து தமிழ் செக்ஸ்वो सो रही थी मैंने एक लैटर लिख कर रख दिया कि मेरी फ्लाइट थी, इसलिए मैं जा रहा हूँ होटल के काउंटर पर पेमेंट करके निकल जाऊंगा. फर्स्ट सेक्स स्टोरी में क्या अच्छा लगा और क्या बुरा लगा ये भी बतायें.

मुझे रहा न गया और मैं एक बार फिर बोली- डॉक्टर, इस चूत का भी इलाज कर दीजिए.

करीब 45 मिनट बाद एक आखिरी क्लास में ले जाकर उसने अपना सारा वीर्य मेरी गांड में निकाल दिया. मैंने पूछा- बोल खुश है ना!वो बोला- जी, आपने इसे पता नहीं क्या खिला दिया है. मैं- जरा एक बार ये भी तो देखूं, जो इनको खरीदने में तुम‌ इतना शर्मा रही थी.

एक रात जब वो गहरी नींद में थी तब मैंने उसकी योनि को चाटना शुरू कर दिया. अब शिवानी ने मुझसे कहा- मैंने एक और ऐसी ही नाइटी तुम्हारे लिए रखी है, उसे तुम डाल लो. तभी चाची ने अपने सूट की कमीज़ निकाली, उनकी बड़ी बड़ी चुचियां ब्रा में क़ैद दिखने लगी थीं.

सेक्सी पिक्चर साउथ की

हाँ कभी उनसे सेक्स के बारे में नहीं सोचा था क्योंकि मुझसे वो काफी बड़े थे। मगर माँ को क्या ज़रूरतआ पड़ी। पापा भी तो माँ की हर ज़रूरत की पूर्ति करते ही होंगे, या फिर अरविंद सर ने माँ को पटा लिया।पर अगर वो चाहते तो मुझे भी पटा सकते थे. दोनों ही नशे में थे इसलिए सोचने और समझने की शक्ति दोनों की ही खत्म हो चुकी थी. मैं सोफिया के ऊपर चढ़ गया और उसके ऊपर लेटते हुए उसको किस करने लगा और मेरे लन्ड को उसकी चूत पर ठहरा दिया.

वो टांगें फैला कर गांड उठाते हुए ‘सीईई सीईई …’ करके मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी.

बहुत ही कामुक नजारा चल रहा था वो … जिसे देख मेरे खाली हाथ को भी अब एक काम सूझ गया.

अंशिका अब मेरे मुंह पर अपनी चूत को आगे पीछे करके मेरी जीभ पे रगड़ रही थी।मेरा लंड अभी भी सपना को चोद रहा था। सपना झड़ने के कगार पर थी. मैं भी पीछे-पीछे गया- यार जरूरी है!ज़ारा- तो जाओ! मैंने कब रोका है?मैं- तुम नाराज हो!ज़ारा- नहीं! किसने कहा?मैं- तुम्हारे चेहरे ने!ज़ारा- मेरा चेहरा तो ये भी कहता होगा कि आप मुझसे एक लम्हा भी दूर ना हों?मैं- जान! जरूरी है!ज़ारा- तो जाओ ना! किसने रोका है?मैं- ज़ारा प्लीज समझो!ज़ारा- मैं तो पहले दिन ही समझ गयी थी! चलो खाना लगाने दो अब!उसने खाना लगाया. ஆன்ட்டி வீடியோ செக்ஸ்उस वक्त मेरी शादी हुए तीन साल हो गये थे और मैं एक बेटे का बाप भी बन चुका था.

सच सच बोल क्या देख रहा था?मैं डर गया और बोला- दीदी, मैं आपको ही देख रहा था. मैं बोला- बस जान … एक बार दर्द होगा और फिर ऐसा मजा आयेगा कि तुम खुद लेने को बोलोगी. जाने का उसका मन भी नहीं था और मेरा भी नहीं था … मगर मुझे तो ऊपर होटल में जाकर अपनी वाली के साथ भी शिफ्ट लगानी थी.

गांड के नीचे दो तकिये रखने की वजह से रेखा की चूत का मुंह आसमान की तरफ हो गया था. मैं- वैसे मैं तो अब भी तैयार हूँ … आप चाहो तो!मैं भी उनके साथ मस्ती के मूड में बात करने लगा था.

हमने फोन पर बात करके घर रेंट पर ले लिया और मैं देविका को थैंक्स कहने के लिए जैसे ही पीछे घूमा, वो ठीक मेरे पीछे ही खड़ी थी.

मुझे उसकी बात से हंसी आ गई और मैंने हंसते हुए ही बोला- ऐसा नहीं है … वो सच में ही इतने बड़े होते हैं. फिर उस दिन उसने मेरी लोअर में हाथ डाला और मेरी पैंटी के ऊपर से चूत को छेड़ने लगा. मगर मुझे आज भी याद है, जब मैंने भाभी की चड्डी उतारी थी, तो चड्ढी जांघों से सरकने की आवाज हो रही थी.

लैंड सेक्स जैसे ही उसने पैर फैलाए, उसकी चुत थोड़ी सी फैल गई और हल्की सी पानी पानी सी गुलाबी रंग की दिखी. हम दोनों की दिल की धड़कनें भी बढ़ती जा रही थीं … क्योंकि इस समय हम दोनों एक दूसरे के पार्टनर को चीट कर रहे थे.

मेरे फिगर के हिसाब से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि मैं एक तरह से पूरीचोदू मालहूं. उसकी मौसी सास वीणा के आ जाने से मैंने मौसी उर्फ वीणा की चुदाई भी की. जितनी भी मेरी नज़रों से गुजरे, जिनको मैंने उस रूप में देखना चाहा, तो सभी के सभी चाहते थे कि उनको फ्रेश लड़की मिले.

नंगे पिक्चर सेक्सी पिक्चर

अब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा के अधरों का रस चूसते हुए सोच रहा था कि होंठों का रस इतना मीठा है … तो इसकी चुत का रस कितना टेस्टी होगा. अब डॉक्टर साहब ऊंह आंह करते हुए बोले- आपका बड़ा मोटा है … दर्द हो रहा है. फिर मैंने लकड़ी की छड़ी उठाई और उसकी जांघों के अंदरूनी हिस्से पर मारने लगी.

लंड को चूत में फिट करने के बाद मैंने उससे ऊपर नीचे करते हुए चुदाई करने को कहा. मैं बीच में रूका और उससे पूछा- यार कोई कष्ट तो नहीं है?वह बोला- लगे रहें सर जी … हमें तो लंड के झटके झेलने की काफी आदत है.

मेरे दिमाग में उनके चूचे इस कदर घुस चुके थे कि उनको सोच सोच कर मैंने कई बार मुठ मार चुका था.

तभी पंकज ने पूरा दम लगा कर अगले एक ही धक्के में अपना पूरा लंड जड़ तक सुमन की पनियायी हुई चूत में घुसा दिया।सुमन पंकज के इस भीषण लंड प्रहार को नहीं झेल पायी और वो निढाल होकर पंकज की छाती पर पड़ गयी।वो उस समय भी अपनी मस्त गाँड को घुमाते हुए पंकज के लंड को जकड़ कर अपनी चूत से लंड को रिड़क रही थी. उस ठंड के मौसम में अनुपमा को देख देख कर घर पर मैंने दो तीन बार मुट्ठियां पेल दी थी। बस सोचता ही रहता था कि कैसा इसकी जवानी को पाऊंगा।पर तभी एक ऐसा दिन आया जिसने मेरी जिंदगी बदल दी।हुआ यूं कि घर वाले रिश्तेदारी में शादी में जाने वाले थे. काटने से हमें दर्द हो रहा था … मगर वो दर्द हमारा जोश और अधिक बढ़ा रहा था.

शिल्पा बिना कुछ बोले घोड़ी बन गई क्योंकि इस समय वो मेरी बीवी कम राहुल की गलफ्रेंड ज्यादा थी और उसे चुदने में मजा भी आ रहा था. इतने में मालविका अपनी अलमारी से डिल्डो निकाल कर लाई जो कि 9 इंच लंबा और 3 इंच मोटा होगा। उसने उसे अपनी कमर पे बांध लिया. वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मैं उसकी चूत को नाइटी के ऊपर से सहलाने लगा.

आप बताओ आपको क्या चाहिए?मैंने बोला- सोच लो … बाद में मना मत कर देना.

रोमांटिक हिंदी बीएफ: मल्लिका शेरावत अब लेटी हुई थी और इमरान हाशमी उसकी जांघों को हाथों से सहला रहा था. मैंने उसको वहीं पड़ी एक टेबल पर झुका दिया और अपने लंड को उसकी चुत पर रगड़ने लगा.

इतनी देर में खाना आ गया और विजय ने तौलिया पहने हुए ही सोफ़े के सामने पड़ी मेज पर खाना लगा दिया. शायद मैं कुछ ज्यादा ही डर रहा था, इस वजह से कि कहीं कुछ गड़बड़ हो गयी तो चूत तो हाथ आएगी नहीं, उल्टा घर वालों को पता चल गया तो अच्छे से गांड टूटेगी और बदनामी अलग से होगी. अभी आपकीगांड को चोदनाहै ना … इसीलिए इसे नरम कर रहा हूँ ताकि आपकी गांड में लंड डालूं … तो आपको ज्यादा दर्द ना हो.

कैसा लगेगा जब वो मेरे सामने नंगा खड़ा होगा और मैं उसके सामने नंगी हो जाऊँगी.

जैसे मैं उनकी चूत में उंगली डालता, तो वो ‘उह्ह्ह अह्ह उईई मां मार डाला रे …’ की मादक आवाजें निकाल देतीं. रूम में मैं अंदर गया और उसे बेड पर बिठा दिया और दरवाजे को लॉक कर लिया।मैं उसकी ओर गया उसके बगल में बैठ गया।मैंने कहा- श्रुति … मैंने इस दिन का बहुत इन्तजार किया है …आई लव यू!इतना बोलकर मैंने उसे टाइट हग कर लिया. जो पता मुझे बताया गया था वहां पर जाकर देखा तो कोई कंपनी थी ही नहीं वहां.