बीएफ नंगे सेक्सी

छवि स्रोत,सेक्स ब्लू ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

फुल एचडी सेक्सी न्यू: बीएफ नंगे सेक्सी, धीरे धीरे मेरा पूरा लंड उसके मुँह में समा गया जिस वो अंदर बाहर करके चूसती रही.

ब्लू फिल्म नई सेक्सी

उसकी चूत को चोदते हुए मैं देख रहा था कि उसके चूचे यहां-वहां जा रहे हैं. दुल्हन वाला बीएफकुंवारी चूत चोदने के ख्याल से ही मेरे लण्ड का मोटापा भी बढ़ गया था।अब गीतू को उठा कर मैंने उसका उसका चुम्बन लिया.

मैं भी क्या कर सकती थी; बस साइकिल जितना स्लो करके स्पीड ब्रेकर के ऊपर से निकाल सकती निकाल लेती थी. मोटा लैंड वाला सेक्सीमैंने मैडम की एक टांग को उठा कर सोफे पर रखा और उसकी चूत पर लंड को लगा दिया.

मैंने पूछा- तो फिर आपको डर नहीं लगा कि कहीं पापा को इस बारे में पता चल जाता तो?मां बोली- उस लड़के ने बस दो या तीन बार ही मेरी चुदाई की थी.बीएफ नंगे सेक्सी: नम्रता मेरी नाक पकड़ते हुए बोली- शरद अगर तेरी बात सही निकली, तो तुझे मेरे मर्द ने मेरी किस तरह चुदाई की, पूरी कहानी बताउंगी.

एक हाथ नीचे करके मैंने अपना लंड उसकी चुत पे सैट किया और एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर चला गया.धीरे-धीरे मैंने अपने दोनों हाथों की उँगलियों में वसुन्धरा के दोनों हाथों की उंगलियां पकड़ ली और वसुन्धरा के शरीर पर लंबवत लेट गया.

इंडियन पोर्न पोर्न वीडियो - बीएफ नंगे सेक्सी

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद उस लड़के ने अपनी पैंट को उतार दिया और अंडरवियर समेत उसे निकाल कर एक तरफ फेंक दिया.जब हम दोनों भाई घर पहुंचे तो वीणा ने अपनी इच्छाओं के बारे में बताया कि कैसे वह जवान हुई और कैसे उसने मेरी और रीना की चुदाई को चोरी छिपे देखा.

मामी बोलीं- बड़े नाजुक हो यार!मैं मामी के मुँह से यार शब्द सुनकर ज़रा चौंक गया. बीएफ नंगे सेक्सी मेरी पिछली कहानीभाई की दीवानीपढ़ कर कुछ अन्तर्वासना के पाठकों ने मुझे नया नाम चुलबुली मोनी दिया है, जो मेरे ऊपर सही जंचता है.

मेरी चूत बहुत दिनों के बाद इस तरह से रस की गगरी छलका रही थी जिसको रवि साथ-साथ पी जा रहा था.

बीएफ नंगे सेक्सी?

अब अजय ने मेरी गांड में लंड डाला, फिर जब तक वो गांड में झड़ नहीं गया, मुझे चोदता रहा. मैंने अपने फ्रेंड से उसके बारे में पूछा, तो उसने बताया कि ये उसी के गांव की रिश्तेदारी में आती है और दूर के रिश्ते में भाभी लगती है. अगले दिन शायना बुआ के चेहरे पर एक अलग ही खुशी थी, मानो जैसे उनको कोई खजाना मिल गया हो.

मैंने उसके चूचों पर तेल की बूंदें डाल दीं और उसके चूचों को मसाज देने लगा. और अपना लण्ड पारो की चुत में घुसा कर दनादन धक्के लगाने लग गया और कुछ देर बाद झड़ गया. मैंने उसको कस कर पकड़ा हुआ था, जिससे कि वो चाहकर भी अलग नहीं हो सकती थी.

इससे पहले कि वसुन्धरा कुछ शर्मो-हया दिखाती, मैंने फ़ौरन वसुन्धरा की दायीं कोहनी मोड़ कर उसकी बाज़ू ब्लाऊज़ की पकड़ से आज़ाद कर दी और अपना बायां हाथ उसकी बगल में से पीछे ले जा कर ब्रा का हुक खोल दिया और साथ ही अपना हाथ बाहर खींचते हुए साथ ही मेरी बायीं ओर वाला ब्रा का स्ट्रैप वसुन्धरा की पीठ से बाहर खींच कर वसुन्धरा की दायीं बाजू को ब्रा की पकड़ से भी आज़ाद दिया. बलवन्त ने मुझे घोड़ी बनाया और तेल की शीशी खोल कर ढेर सारा तेल मेरी गांड के छेद में डाल दिया. मैं राधिका के पूरे शरीर पर चूम रहा था, इस दौरान मैंने उसकी गर्दन पर लवबाइट भी किये.

मैंने एक हाथ से भाभी की सलवार का नाड़ा खोल दिया और चुत को सहलाने लगा. दोस्तो, मैं बता दूं कि मैं गाना गाने का शौकीन हूं और ठीक ठाक गा भी लेता हूं.

इसका असर यह हुआ, जो लंड अभी तक नम्रता की जांघों के बीच सोया हुआ था.

चूतनिवास की पहली चुदाईमेरे प्रिय पाठको, यह किस्सा मेरी पहली पहली चुदाई का है.

जिम करने के बाद में अपने कमरे में नंगा होकर अपने लंड पर एक पचास ग्राम का वजन लटका कर लंड को ऊपर नीचे करता हूँ. मैं आज से तुम्हारी बीवी हूँ … आह इस चुत को फाड़ दो … मुझे ये बहुत तंग करती है … मैं तुम्हारी दासी हूँ. फिर उसने लड़की, जिसका नाम पारो था, उससे पूछा- पारो क्या तुम मेरे दोस्त आमिर से चुदना चाहती हो?तो मेरी बीवी बनी आपा सारा बोली- तो आमिर … फिर तुमने पारो को चोदा?मैंने कहा- थोड़ा सब्र रखो और पूरी कहानी सुनो!फिर मैंने कहानी आगे बढ़ाते हुए कहा:तो पारो शरमाते हुए बोली- इनका लण्ड तो तगड़ा है चुदाई में बहुत मजा आएगा.

कई बार उनका लंड ढीला होता है, मगर आधा आधा घंटा तक लंड चूस कर मैं उसे बड़ा बना ही लेती हूँ. प्रिया के पापा के ये फर्स्ट कज़न साहब अपनी पत्नी और बेटी वसुन्धरा समेत प्रिया की शादी से तीन दिन पहले से ही मेरे ही घर में अड्डा जमाये हुए थे. अब मोनी‌ के‌ नर्म मुलायम नितम्बों के स्पर्श से मैं इतना‌ अधिक उत्तेजित हो गया कि अपने लंड को उसके नितम्बों पर एक दो बार घिसते ही मैं अब अपने चर्म‌ पर पहुँच गया.

अब उससे आगे की कहानी सुनिए!मैं वैसे ही टॉवल लपेटे सोफे में बैठी थी और बॉस भी आकर मेरे बगल में बैठ गए.

मुझ पर ही भूत सवार था किसी मिल्ट्री-ऑफिसर को दामाद बनाने का और मेरी इस बेकार की जिद ने सब गुड़-गोबर कर दिया. आह्ह … जीजू … आपका लंड कितना मस्त है … दीदी तो बहुत किस्मत वाली है … ओह … और जोर से करो जीजू … आपके लंड को लेकर तो मेरी चुदास बढ़ती ही जा रही है. जब बाथरूम से मैं सिर्फ एक टॉवल में बाहर आई, तो देखा कि दोनों सिर्फ अंडरवियर में हैं और टॉवल से अपना बदन पौंछ रहे थे.

अगर आप इस कहानी के बारे में कुछ भी बात करना चाहते हैं तो मेल करके जरूर बताएं. वो फिर जानवर की तरह मुझे चोदने के साथ मेरे जिस्म को काटने लगा और मेरी चूचियों को जोर से भींचने और दबाने लगा. जब एक मम्मे से मन भर गया, तो फिर ऐसे ही उसके दूसरे चूचे को चूसने लगा.

कुछ देर उसकी चूत को चोदने के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत में ही वीर्य की पिचकारी लगानी शुरू कर दी.

जैसे ही मैंने चूत चाटना शुरू किया, वो मेरे सर को जोर जोर से अपनी चुत पे दबाने लगी. जब मुझसे रहा न गया तो मैंने उसको अपनी बगल में पटक लिया और उसकी पैंटी को खींच कर उसकी चूत को नंगी कर दिया.

बीएफ नंगे सेक्सी मैं टॉयलेट में जाकर पेशाब करने लगा और जब मैंने मूतने के बाद लंड को हिलाया तो लंड में हवस सी जाग उठी. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोलने लगी- कुछ नहीं … मेरी चुत को बहुत सुकून मिला है.

बीएफ नंगे सेक्सी मैं बोली- तो मुझसे ज्यादा गर्म मिली कोई?जीजा बोले- नहीं, तुझसे ज्यादा गर्म नहीं मिली मेरी रंडी. मैडम के पीछे पीछे मैं ड्राइंग रूम में चला गया और कापियों वाला गट्ठर एक टेबल पर रख दिया.

कभी-कभार आस्ट्रेलिया से प्रिया का फ़ोन आ जाता तो हैलो-हाय, क्या हाल है, कैसी हो, खुश तो हो?” जैसी रस्मी सी बातचीत भी हो जाती थी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी चोदा चोदी

हम चारों ही अजय के फ्लैट पे जाने वाले थे कि अचानक से स्वाति के पापा का फोन आ गया और उसे घर जाना पड़ा. मेरा पूरा लंड भाबी के मुँह में जाते ही मुझ पर न जाने कौन सा शैतान सवार हो गया, मैंने अपना लंड एकदम से भाबी के गले तक ठांस दिया. जब वो नहाकर बाहर आया तो मैंने उसे बाथरूम से निकलते हुए देख लिया था.

घबरा कर मेरी गांड फट गयी कि ये कहीं किसी से कुछ कह न दे! मगर शुक्र रहा कि उसने किसी से कुछ नहीं कहा और कुछ दवाइयां लेकर वह वापस अपने घर चली गई. वो बोली- ठीक है, लेकिन सुरक्षित जगह है कि नहीं, वहां कोई परेशानी तो नहीं होगी ना?मैंने उसको बोला- बाबू मेरा विश्वास करो कुछ भी नहीं होगा. लेकिन बाद में ये सब मामला खुला, तो भाभी खूब हंसीं और उन्होंने भी मुझसे इसी तरह से अपनी कुंवारी गांड का बाजा बजवा लिया.

मैंने सोचा कि ये मुझे नंगी चुदती तो देख ही चुका है, इससे क्या शर्म करूँ … मेरी हेल्प ही हो जाएगी.

क्या माल लग रही थी! मैं सारा नज़ारा साफ़ साफ़ देख रहा था। उसने पहले तो अपनी चूत को पेंटी के ऊपर से खुजलाया. ऐसा मैंने पहले कभी नहीं किया था उसके साथ। वो छूटने की कोशिश करने लगी। वो तेज-तेज सिसकारियाँ ले रही थी. ऊपर से आगे की तरफ बूब्स निकले हैं … तो नीचे पीछे की तरफ गांड उठी हुई है.

मैं इतनी गर्म थी कि बोली- कुत्तो, तुम दोनों चूत का भोसड़ा बनाओगे या इस गर्म गांड का भी कुछ करोगे. एक हम और एक शर्मा अंकल की फैमिली। शर्मा अंकल की बेटी की डेस्टिनेशन वेडिंग हो रही थी तो वो एक महीने के लिए शहर से बाहर गये हुए थे। ये बात मुझे पता थी। लेकिन शायद मेरी बहन को ये बात नहीं पता थी।पूरे फ्लोर पर मैं और मेरी नंगी बहन ही थे। मैंने सामान वहीं रखा. रवि ने जैसे ही लंड डाला और मुझे चोदने लगा, करीब नौ-दस धक्कों के बाद वह झड़ गया.

टीचर सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा कि हम दोनों बाजार से कुप्पी लाने के बाद एक दूसरे की गांड और चूत में मूत कर मजा लेने लगे. फिर उसने बुरके को ऊपर किया और मेरी लेगीस थोड़ा नीचे सरका के अन्दर हाथ डाल दिया और मेरी मुलायम गांड को दबाने लगा.

मैंने सोनल से पूछा- सोनल, मजा आया न?सोनल- बहुत ज्यादा, लेकिन दर्द हो रहा है. मेरे ससुर विकी से बोले- ठीक है बेटा, तुम दीदी को छोड़ आओ, फिर हमें लेने आ जाना. कभी कभी तो एक तेज़ कंपकंपी उसके शरीर में पैदा हो जाती जब वो सिसक सिसक कर मेरे कन्धों को ज़ोर से नोचती- राजे … हरामज़ादे राजे,” रानी ने फूली हुई साँस के साथ फुसफुसाते हुए कहा- हाथों को बूब्स पे कस के जमा ले … अब दिखा अपनी पूरी ताक़त … ठोक बॉक्सर के मुक्कों की तरह धक्के … बहनचोद हर धक्के से सिर तक धमक जानी चाहिए … चोद चोद कुत्ते चोद … भँभोड़ डाल इन मम्मों को … जल्दी कमीने.

खाला मेरी दोनों दुल्हनों को लेडी डॉक्टर के पास ले गयी और डॉक्टर ने सारा और ज़रीना दोनों को 3 दिन के लिए चुदाई ना करने का हुक्म दे दिया.

”आंटी अपना हाथ मेरे लोअर में डालकर मेरा लण्ड पकड़कर बोली- बहुत बड़ा है तेरा. कार रोज़ मैडम को स्कूल छोड़ने आती थी और छुट्टी के टाइम वापिस घर ले जाने आया करती थी. ”वसुन्धरा को अब समझ आया कि क्यों मैं उसके पुराने पहने हुए कपड़ों वाला अटैची कार में रखकर साथ ही होटल ले आया हूँ.

इस बार अपनी जीभ को मोड़ कर जीभ से चोदने लगा और एक उंगली को चाची की चूत में डाल दिया. उस दिन की चुदाई के बाद हम दोनों लोग रोज सेक्स तो नहीं करते हैं लेकिन हम दोनों लोगों को जब भी मौका मिलता है तो हम अपनी प्यास बुझा लेते हैं.

यही हुआ, जब उन्होंने धीरे धीरे अपना लंड मेरी गांड में डालना शुरू किया तो मुझे बहुत दर्द होने लगा लेकिन ना ही मैं चिल्ला सका और ना ही हिल सका. फिर बातों बातों में मैंने उससे पूछा- हिना जी, आपकी पुसी पर एक भी बाल नहीं है, क्या लगाती हो आप?तो वो बोली- पंकज जी, ये तो ऊपर वाले का उपहार है, जिसकी वजह से मेरी पुसी पर आज तक एक भी बाल नहीं आया … में कुछ लगाती भी नहीं हूँ, बस फेयर एंड लवली क्रीम लगाती हूँ. मैंने आंटी की साड़ी का पल्लू खींच दिया और आंटी का ब्लाउज दिखने लगा जिसमें उसके चूचे भरे हुए थे.

लड़की की चुदाई फिल्म

वो मेरे लंड को पकड़ना तो चाहती थी लेकिन शर्म के मारे पूरे तरह से खुल नहीं पा रही थी.

मेरे घर के लोग, जहां लाइन में खड़े थे, वहां पे मैं आ गई और उनके साथ बाजू में खड़ी हो गयी. उसका लंड बहुत मस्त था और मैं उसकी चुदाई से मदहोश हो गयी थी और मुझे उसके चोदने का स्टाइल भी बहुत अच्छा लग रहा था. हर उत्तेजक सीन पर मेरी नज़र नैना की तरफ जाती और वो मेरी तरफ आंख करके छिपी नज़रों से देख लेती.

उस दिन की चुदाई के बाद हम दोनों लोग रोज सेक्स तो नहीं करते हैं लेकिन हम दोनों लोगों को जब भी मौका मिलता है तो हम अपनी प्यास बुझा लेते हैं. वो अपनी बुर को पैंटी के ऊपर से रगड़ने लगी और मेरी गोलियों को भी दबाने लगी. रेखा मैडमअन्तर्वासना की कहानियां पढ़ते पढ़ते मेरे मन में भी चाह जगी कि कोई मेरी भी सत्य कथा लिखे जब मैं पहली बार शादी से पहले किसी से चुदी थी.

क्योंकि ये तो वही साड़ी थी, जिसे मैंने चुदाई करते वक़्त खिड़की से देखा था. लेकिन ब्लाउज में सही से मजा नहीं आ रहा था, इसलिए मैंने उसका ब्लाउज खोलने की कोशिश की.

दोस्तो, मेरा नाम प्रिन्स है, मैं इंदौर का रहने वाला हूँ और यह मेरी इस पटल पर पहली सेक्स कहानी है. क्या मस्त फिगर था भाभी जी का … मेरा लंड तो उनकी भरपूर जवानी को देख कर एकदम से खड़ा हो गया. पर उन्हें और कस के अपने से लिपटा लिया और दूध चुसाई का आनन्द लेने लगी.

इस बार मेरा पूरा लंड मेरी बहन सोनल की चूत में जा रहा था, जिससे सोनल की आंख में आंसू आ गए थे. एकदम से हुए इस हमले से मैं चिल्ला उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो बोले- बेब्स ईट्स बिगनिंग, वी हेव नॉट स्टार्टेड येट. पिचकारी पर पिचकारी छूटने लगी और सारा माल बुआ के होंठों पर गिरने लगा.

मैंने लण्ड पर क्रीम लगाई और उसकी चूत के लब खोलकर लण्ड का सुपारा रखकर दबाया तो सुपारा टप्प से आन्दर हो गया.

कहानी थोड़ी लंबी हो रही है क्योंकि मैं हूबहू जिए घटित हुए वैसे ही दृश्यों का वर्णन कर रहा हूँ. फिर काम निपटा कर वो चुपचाप मेरे साथ ही नीचे बिस्तर पर सो गयी।अपने दोस्तों के साथ मैं कभी कभी बियर तो पी लेता था मगर मैंने शराब कभी नहीं पी थी। वैसे उस बोतल में ज्यादा शराब भी नहीं थी बस दो या तीन पैग के करीब ही होगी.

तभी दादाजी ने बताया कि इसकी कोई हड्डी शायद गल कर इसकी योनि से बाहर निकल रही है. उसके पति उसके साथ कुछ करते या नहीं, इस पर भाभी की अभी तक कोई टिप्पणी नहीं हुई थी. कुछ देर में उन्होंने मेरी लाइफ के बारे में सवाल किये, मैं उनके सब सवालों के जवाब दे रही थी.

मैंने जैसे ही लंड मौसी की गांड पे लगाया, मौसी बोलीं- नहीं बेटा … मेरी आज तक किसी ने गांड नहीं मारी … ऐसा मत कर. आह्ह्ह … वाउउ … उसके शरीर का स्पर्श मुझे और ज़्यादा उत्तेजित कर रहा था. यूं तो मेरी जिन्दगी में बहुत से ऐसे वाकये हुए हैं जो मैं आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ लेकिन शुरूआत सबसे दिलचस्प किस्से के साथ करते हैं.

बीएफ नंगे सेक्सी मैंने अपने हाथ से अपनी चड्डी नीचे सरका दी और बोली- जरा यहाँ भी कर दो प्लीज! मुझे बहुत आराम मिल रहा है. पहले तो मैं थोड़ा घबरा रहा था क्योंकि मैं इससे पहले कभी किसी शादीशुदा औरत से नहीं मिला था.

बफ विडियो हिंदी

इतना सुनने के बाद मैंने धीरे से उसकी चूत पर लंड रख के एक झटका मारा. ”आंटी के इतना कहते ही मैंने आंटी की ओर करवट इस तरह से ली कि मेरा लण्ड आंटी की जांघ से छूने लगा. भाभी ने चूत में लंड की ठोकर लेते हुए मुझसे कहा- आज पहली बार मुझे औरत होने का मजा आ रहा है.

उस दिन उसने मुझसे वादा किया था कि आज मैं आपको एक पति के रूप में देखना चाहती हूँ. उस प्यार में अब हवस का मिठास मिलकर मेरी गीतू चाशनी से ज्यादा मीठी हो गई थी जिसका गर्म-गर्म रसीला बदन मैं अभी भोगना चाहता था. मामा भांजे की बीएफमैं ज्यादा जोर से चिल्ला भी नहीं सकती थी, वरना बदनामी मेरी ही होती.

मैं ड्राइवर भैया से बोला- आप ये बात मेरे घर पर किसी को नहीं बताना, तभी मैं ये नया गेम खेलूँगा.

जहां पेपर देने जाना था, वहां से ही थोड़ी दूर पर मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड एक हॉस्टल में रहती थी. ये तो अच्छा था कि मैंने अपने होंठ मौसी के होंठों पर ही रखा था, वरना मौसी की चीख बाहर तक सुनाई दे सकती थी.

मैंने अपने दाँत भींच लिए।मैंने ध्यान दिया, उत्तेजना में मैं चूतड़ दीवार से रगड़ रही थी। मेरी चूत नीचे गीली हो चुकी थी। मेरी चूत से पानी बह कर नीचे मेरी टांगों पर जा रहा था।तभी दरवाजा खुलने की आवाज मेरे कानों में आयी. थूक से लंड को गीला करके मैंने फिर से लंड को एक ही बार में पूरा घुसा दिया. मगर उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरे मुंह में जीभ डाल कर मेरी लार को पीने लगी.

रितेश जीजू ने मानसी के चूचों को अपने हाथ में भरा और उनको जोर से दबाते हुए मानसी के ऊपर लेटते चले गये.

प्रीति के शब्दों में:पिछले कई घंटे से मेरा भाई मुझे अलग अलग तरीकों से उत्तेजित कर रहा था. मेरी एक खास बात है, मैं जल्दी नहीं झड़ता … कम से कम आधे घंटे तक लगा रहता हूँ और ज्यादा से ज्यादा डेढ़ से दो घंटे तक बिना थके चूत पेल सकता हूँ. भाबी भी अपनी दोनों टांगें खोल कर अपनी भारी गांड मेरे लंड पर लगा देतीं, जिससे मेरा मूसल भाबी की गांड फाड़ता हुआ अन्दर बाहर होकर उनको चोदता जा रहा था.

हिंदी ब्लू पिक्चर ब्लूउसने आंखें बंद किये हुए हल्की मुस्कान के साथ ‘उम्मम …’ की धीमी सीत्कार ली. फिर धीरे धीरे करके मैंने अपनी पूरी जबान को चूत के छेद में डाल दी और अपनी एक उंगली के ऊपर थूक लगा के मैंने उसकी गांड के छेद में पिरो डाली.

दिशा सेक्सी वीडियो

मैंने उसकी बात को अनसुना करते हुए एक जोर का झटका दे मारा और फिर से मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. लड़का चाहे +2 पास/फेल हो लेकिन अगर बिज़नेस में दो तीन लाख़ रुपया महीना कमाता हो तो उसको सी ए, एम बी ए, कॉलेज की प्रोफ़ेसर, यहां तक कि आई ए एस, पी सी एस लड़की भी आम मिल जाती है. मैंने उसके लंड को अपने मुँह में ले लिया, शुरू शुरू में तो थोड़ा अजीब लगा, पर फिर मुझे मज़ा आने लगा.

हमने कई बार साथ कई सेल्फियां लीं, जिसमें किसी में वो मुझे पीछे से बांहों में लिए था, तो किसी में मैं उसकी नंगी पीठ पर हथेलियां घुमाती रहती थी. राजेन्द्र ने मेरी तरफ देखा तो मैंने बताया कि वनिता का फोन था और वो इधर ही आ रही है. मैं ठरकी तो था ही इसलिए सोनिया या अनामिका की चुत चुदाई के बारे में भी सोचकर मुठ मार लिया करता था.

फिर मैंने एक जोर का झटका मारा, अबकी बार मेरा आधा से ज्यादा लंड उसकी चुत में घुस गया था. उस सब के बाद तो मुझ में और वसुन्धरा में इतना फ़ासला बढ़ गया है कि वसुन्धरा को मुझ से बात किये भी मुद्दत हो गयी है. वैसे भी औरत की चूत जवानी में इतनी ज्यादा टाइट होती है कि चुदाई के बाद किसी मर्द को पता नहीं लग पाता कि वह पहले भी चुदी हुई है.

हम स्त्रियों को पुरुष की वैसी मंशा भांपने में सिद्धि होती है और मैं इन पुरुषों की आँखों से समझती थी कि मुझे कौन किस नज़र से देखता है. आंटी अंकल के सामने डॉगी स्टाइल में आ गईं, जिससे उनकी गांड और चुत पूरी तरह खुल गयी थी.

आंटी के इस लुक को कई बार मैं अपनी अम्मी पर इमेजिन करता हूँ कि वो इस साड़ी और ब्लाउज वाले स्टाइल में कैसी लगेंगी … क्योंकि मेरी अम्मी की नाभि भी शायरा आंटी जैसी ही है.

मुझसे अब रुका नहीं जा रहा था, उसको वहीं पर सोफ़े पर लेटा कर उसकी सलवार को खोल कर उसकी बुर को पैंटी के ऊपर से चूसने लगा. गुजराती सेक्सी बीपी एचडीउसी का नतीजा था कि प्रीति बहन के नंगे बदने से मेरी नजरें हट ही नहीं रही थीं. सेक्स हिंदी सेक्सी हिंदीअरे रंडी! तेरे भोसड़े पर तो अपनी पूरी जवानी कुर्बान कर दूँ!! ऐसा सेक्सी भोसड़ा है तेरा!” रवि सिर उठाकर बोला और फिर से चाटने लगा. माँ के मुँह पे हाथ होने के कारण उनकी आवाज नहीं निकली, मगर आंसू निकल आए, जो मेरे हाथ को छू कर नीचे गिरे.

मां ने पूछा तो मैंने कह दिया कि ये लोग फार्म हाउस चलेंगे हमारे साथ.

यह देख कर मेरे अंदर सेक्स जग गया और मैंने धीरे से अपनी माँ के चूचों पर हाथ रख कर उनको आहिस्ता से दबाना शुरू कर दिया. दस मिनट धक्कम पेल के बाद उसने मुझे ऊपर लिया और मैं ऊपर से चुदने लगी. आप सभी को मेरी पहली कहानीप्यासी औरत की मालिश और चुत की चुदाईपसंद आई, उसका शुक्रिया.

उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख कर अपने 6 इंच के लंड से बड़ी कोशिश के बाद हल्का सा झटका मारा, तो थोड़ा सा लंड अन्दर जाते ही सील टूट गई और खून निकल आया. मैंने वैसा ही किया फिर उसने मुझे गोद में उठा कर अपनी कमर से लटका लिया. उस दिन पहली बार किसी ने मुझसे यूं रेस्टोरेंट के केबिन में चुदाई करवाई.

इंडियन सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो

ऐसा लग रहा था कि फरवरी की सर्दी में फूल की कोई कली खिलने के लिए बस सूरज की किरणों की गर्माहट मिलने का इंतजार कर रही है. इसी समय दिमाग में थोड़ा मस्ती करने को सूझा … सोचा ज्यादा तो नहीं, पर थोड़ी देर के लिए मस्ती तो कर ही सकता हूँ. यदि आपने एक महीने के लिए अपनी योनि को पूर्ण आराम दिया और उसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की तो वह पुन: संकुचित होना शुरू कर देगी.

हम दोनों में धीरे-धीरे दोस्ती हो गई लेकिन कुछ दिन के बाद उसने वह जॉब छोड़ दी और वह दूसरे शहर में चली गयी.

उसकी गांड एकदम हाहाकार मचा रही थी, इस पोजीशन में मुझे उसकी गांड का भूरा छेद दिख रहा था, जो बहुत दिलनशी लग रहा था.

मैंने उनके खुले मुँह में लंड डाल दिया और उनका मुँह पकड़ कर धकाधक लंड देने लगा. वसुन्धरा की दोनों कलाईयों पर ढ़ेरों बाल नुमाया थे तो यक़ीनन टांगों का भी यही हाल होगा. ब्लू फिल्म सेक्सी नई नईउन्होंने मुझे अब सोफे पे लिटा दिया और मेरी गोरी जांघों को फैला दिया.

हम दोनों बिल्कुल खो गए थे, उसके साथ किस करने में मुझे लगा ही नहीं कि हम दोनों अभी कल ही तो मिले हैं. इसलिए रात में किसी लौंडे को लाकर अपनी लड़कियों को चुदवाने को कह रहा है. फिर रात को भी कुणाल और सुमिना के बारे में ही सोचता रहा। मगर किया भी क्या जा सकता था, इसलिए ज्यादा सोचने का कुछ फायदा ही नहीं था।ऐसे ही सोचते-सोचते मुझे नींद आ गई.

उस रात मैंने तीन बार उसको चोदा और सुबह के करीब चार बजे वह उठ कर अपने कमरे में गई. दो-तीन मिनट में ही मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मैं भी शांत हो गया.

जब वो अपनी लड़कियों से मज़ा लेता था, तो मेरे जैसी लड़की से लिफ्ट पाकर तो फ़ौरन तैयार हो जाता.

मैंने डरते डरते धीरे से अपना हाथ मामी के मम्मों पे डाला और उनका एक दूध हल्के सा दबा दिया. मैंने बोला- अरे यार तेरे पति क्या सोचेंगे?तो वो बोली- कुछ नहीं, मैं बात कर लूंगी … और आज रात का खाना तू मेरे घर पर ही खाना. उसके बाद उसने फिर आंखों ही आंखों में मुझे उसके घर आने का इशारा किया तब कहीं जाकर मेरी समझ में आया कि वह मुझे अपने घर बुला रही है.

बाप बेटी का फुल सेक्सी वीडियो ”मैंने कटोरा पलट के थोड़ी रबड़ी दायीं चूची के ऊपर और थोड़ी बायीं चूची पर टपका दी. इस विराम के बाद दोबारा से ताऊ ने उनकी चूत में लंड पेलना शुरू कर दिया.

नम्रता ने भी अपनी टांगों को फैला लिया, जिससे वो चूत को मसलवाने का और मजा ले सके. जैसे ही मैंने घुंडी को चूसना शुरू किया, काजल के मुँह से एक तेज और मादक सिसकारी निकल पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…उसकी ये सीत्कार इतनी तेज़ थी कि अगर कोई नीचे होता, तो पक्के में आवाज़ सुनकर ऊपर आ जाता. उसके मुँह से तेज आवाजें आने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ्फ …’मुझे उसके मुँह से निकलती आवाजें और जोश दिला रही थीं.

ब्लू वीडियो फिल्म सेक्स

उसकी सांसें थोड़ी नार्मल हुई। उसका डर कम हुआ। तब तक मैं उसके चेहरे के पास ही था, उसकी खुशबू को महसूस कर रहा था। उसकी गर्म सांसें मेरे चेहरे से टकरा रही थी।मैं बस उसके चहरे को देखे जा रहा था। उसकी आँखों पर काली पट्टी थी, लाल सुर्ख होंठ, बाल खुले हुए. फिर उसने मुझे अपने ऊपर ले लिया और मैं ऊपर नीचे होकर अपनी गांड चुदवाती रही. मैं सोनल को छोड़कर बेड पर लेट गया और वो दोनों फ्रेश होने के लिए चली गईं.

मैं जोर से चीख पड़ी- उई माँआह … मर गई … अंकल छोड़ दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं आपके हाथ जोड़ती हूँ. कोई 5 मिनट बाद वो आयी और चहकती हुई बोली- चाचू अमेरीकन पाई: बुक ऑफ लव देखनी है.

बेताब तो मैं भी बहुत हो रहा था लेकिन मैं उसकी बेताबी देखना चाहता था.

अब तो वो भी अपने डर को भूलकर मुझपर टूट पड़ा और सीधा मेरे दूध में हमला बोल दिया, अपने हाथ से मेरे दोनों दूध को मस्त मसलने लगा. राजे आज तू यह रबड़ी मेरे दूधों पर रख के खाएगा … देख कितना मज़ा आएगा मादरचोद … तू भी क्या याद रखेगा कि क्या रबड़ी खायी थी. उसकी चूत बिल्कुल साफ तो नहीं लग रही थी मगर उस पर ज्यादा घने और बड़े बाल भी मुझे महसूस नहीं हो रहे थे.

उसकी ब्रा और टॉप दोनों ही मैंने दूर फेंक दिए और उसकी चुचियों को मुँह में लेके चूसने लगा. फिर उसने अपना लंड मेरी चुत पर सैट किया और मैं लंड ले कर ऊपर नीचे होकर मज़े लेने लगी. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कोई गर्म चाकू मेरी बुर में डाल दिया गया हो.

उसने पानी पिया और प्यार से मेरी गांड पे चुमटी काट के कार लेके मेरे घर वालों को लाने चला गया.

बीएफ नंगे सेक्सी: वसुन्धरा के वक्ष पर मचलती मेरी उँगलियों की जुम्बिश और वसुन्धरा के मुंह से निकलने वाली सिसकारियों की तेज़ी में ग़ज़ब का तारतम्य था. इसे देखकर मुझे नहीं लगता कि मैं ज्यादा देर अपने आप पर काबू कर पाऊंगा और अगर मुझ पर एक बार उत्तेजना हावी हो गई तो फिर मैं केवल अपने मन की करूंगा।वीणा-ठीक है राज भैया! आज मैं अपने मन की करवाती हूं। मैं अपने सबसे पसंदीदा सेक्स आसन 69 में आपके लन्ड को अपने मुंह में निचोड़ना चाहूंगी.

मैंने अपनी बुक वगैरह सब एक ओर रख दीं और उसके लैपटॉप की ओर देख रही थी. पिछले दो घंटों से अलग अलग तरीकों से गर्म होने के बाद फाइनली मेरी चुदाई होने जा रही थी. मैंने किस खत्म करने के बाद उसे बेड पे लिटा दिया और खुद अपनी शर्ट उतार कर उसके ऊपर आ गया.

फिर मैंने उनको वह कहानी बताई जब मेरे जीजा के भाई सुरेंद्र और उनके मकान मालिक ने मुझे मिल कर चोदा था.

उस रात उसने पिंक टॉप और ब्लैक जींस पहन रखी थी जोकि मैंने उतार दी थी. अभी जैसे ही मैं बाथरूम में घुसता, मुझे माँ की सिसकारियां सुनाई दीं. काफी देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद मैंने उसकी गांड में अपना माल गिरा दिया और फिर हम दोनों भाई-बहन सो गये.