बीएफ देसी एक्स एक्स

छवि स्रोत,क्यूट गर्ल पिछ

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी मूवी सेक्सी इंडियन: बीएफ देसी एक्स एक्स, वैसे भी मैं उसको एक साथ दो लोगों का लंड चूसते देख चुका था उसके सामने तो ये कुछ ही नहीं था.

अमेरिका ब्लू पिक्चर

डायरेक्टर बोला- अब ये स्क्रीन टेस्ट सभी प्रोड्यूसर्स को दिखा कर मैं तुम्हें स्टार बना दूंगा. कोमल भाभी सेक्सी वीडियोउसकी लगातार 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुत चटाई के बाद मेरे अन्दर का गर्म गर्म माल उसके मुँह में ही निकल गया.

अर्शिया की ब्रा सिर्फ मम्मों पर टिकी थी, तो मैंने ब्रा को थोड़ा सा नीचे की तरफ खींचा, इससे उसकी ब्रा मम्मों से नीचे आ गई. मां शेरावाली की फोटोमैं रुका तो उन्होंने कहा- मेरी कितनी भी चीख निकले, तुम रुकना मत … आज मेरी चुत का भुर्ता बना दो.

अगर उससे कभी बात करने की कोशिश भी करूं … तो बहाना बना कर फोन काट देता है … और रात में भी उसका फोन बिज़ी भी जाता है.बीएफ देसी एक्स एक्स: उन्होंने जाते जाते मां से कहा- रात को तैयार रहना, मुझे अभी और प्यार करना है.

दस मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद जब मेरा माल निकलने की बारी आई … तो उसने कहा कि रस बाहर ही निकाल देना.मेरा मन कर रहा था कि इसके गोल मटोल गोरे गोरे मम्मों से सारा दूध निचोड़ कर पी जाऊं.

सेक्स इमेज फोटो - बीएफ देसी एक्स एक्स

एक दिन जब मैं घर पर अकेला था और अन्तर्वासना की गर्मागर्म कहानियां पढ़ रहा था, उस समय लौड़ा पजामे में खूब उछल-कूद मचा रहा था.मेरे नागराज सलमा की बिल में घुसकर फन पटक रहे थे और सलमा को डंक मार रहे थे.

मैं काफी देर से गर्म था तो भाभी ने मेरे लंड की मुठ मारने के बाद 5 मिनट में ही मेरे माल निकल गया और मेरी पैंट पर गिर गया. बीएफ देसी एक्स एक्स अब मेरी बारी थी, उसका माल निकालने की … तो मैं जोर से उंगली करने लगा.

चूंकि मैं दिल्ली अपने एक एग्जाम के सिलसिले में आया था … तो मेरा दोस्त या अन्य कोई भी मुझे बाहर ले जाने के फोर्स नहीं करता था.

बीएफ देसी एक्स एक्स?

फिर 69 में होकर हम दोनों ने एक दूसरे के लंड चुत को खाली किया और रस चाट कर कुछ निढाल हो गए. अब तक उनका ब्लाउज और ब्रा मैं पीछे से खोल चुका था और वो मेरी शर्ट के बटन खोल चुकी थीं. इधर मेरी पत्नी ने एक लड़के को जन्म दिया और उधर में अमिता के प्रेगनेंसी के 2-3 महीने तक मैंने जमकर चुदाई का मजा लिया.

अब हम तीनों कैंटीन में आ गए और अलीज़ा ने मुझे अपने टिफिन से खाना खिलाया. मेरी बुर अब्बू का लण्ड लेने के लिए बावली हो रही थी लेकिन मैं कुछ कह नहीं सकती थी. उन दिनों गर्मी का टाइम था और अर्शिया अपने साथ कुछ भी कपड़े भी नहीं लाई थी.

फिर एक दिन हम साथ में कॉलेज आये, उस दिन सुबह से ही मेरा पढ़ने का मन नहीं था. मेरे दोस्त के घर में मेरा दोस्त गौतम, उसकी बहन ज़ीनिया और उसके पापा अमरेश सिंह और उसकी मां रहती थींज़ीनिया की मां सविता सिंह के बारे में भी कुछ बताना चाहता हूँ. इससे वो एकदम से हड़बड़ा गईं और मेरी ओर देखते हुए पलट कर मेरे ऊपर आ गईं.

मैंने कहा- मैं तो तेरी अम्मा को भी चोद सकता हूं … लेकिन उससे मेरी गांड फटती है. और आंटी की लचकती कमर और भरी हुई थिरकती गांड को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता था.

मैंने कहा- बताओ तो क्या बात है?तब उसने बताया- ये मेरा ध्यान सही से नहीं रख पाते हैं.

फिर उन्होंने एक रोमांटिक किस किया … रंगोली ने अपनी पीठ प्रकाश को तरफ कर दी.

आपको तो मालूम ही है कि जींस एकदम चुस्त होती है और रात को काफी चुभती है … इसलिए जींस पहन कर तो सो ही नहीं सकते. मैं बोला- साली रंडी जाटनी … ले लौड़ा ले … आज सलाई तेरी चुत का कीमा बना दूँगा. मैं अभी भी अशी से बहुत प्यार करता था … लेकिन जब मेरे ज़हन में वो दोनों आते थे … तो मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मैं अशी की चीखें इमेजिन करके मुठ मार लेता था.

फिर कुछ देर बाद हमने खाना खाया और रात दस बजे घर की ओर वापस निकल पड़े. मैंने भी उसका नम्बर ले लिया और अलग होकर अपने अपने काम में इधर उधर हो गए. मेरे साथ शादी से पहले वो एक मेकअप आर्टिस्ट थी और मॉडल बनना चाहती थी.

फिर मैं अगले दिन से अपने काम में व्यस्त हो गया पर रश्मि अचानक से मोबाइल में बिज़ी रहने लगी.

फिर एक पल बाद उनकी प्यारी सी आवाज में एक बार फिर मेरे कानों में मिठास बन कर घुल गई- आप हमारा एसी कल जरूर ठीक कर देना … गर्मी के दिन है … बहुत परेशानी है. उसने मेरे बारे में पूछा तो मैंने उससे कहा कि मैं इंडिया के एक बहुत प्रतिष्ठित संस्थान से पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स कर रहा हूँ. हैप्पी न्यू इयर!बस इतना बोलकर उसने आंखों से भर कर मुझे देखा और चली गयी.

मैं कुत्ते की तरह अपनी जीभ से भाभी की गांड को फैलाकर मस्त चाटते हुए लव बाइट्स करने लगा. जैसे ही मैंने भाभी के मम्मों पर हाथ रख कर एक दूध दबाया, तो उनके मुँह से आह की आवाज निकल गई. मुझे खुद पर विश्वास ही नहीं हो रहा था कि जिन मैडम के मम्मों के नाम की मैं मुठ मारा करता था, आज उनकी चुत मेरी जीभ से चट रही है.

मैंने सोचा कि शायद आप व्यस्त हैं तो मैंने दीदी से पूछा था कि क्या भाई कुछ ज्यादा ही बिजी हैं, जो हमारी तरफ नहीं देख रहे हैं.

लण्ड को नाज की बुर में पेलते हुए मैंने एक जोर का धक्का मारा तो नाज की बुर की झिल्ली फाड़ते हुए मेरा लण्ड नाज की बच्चेदानी के मुँह तक पहुंच गया. रात में मैंने झक मार कर उससे हां कर दी तो वो खुश होकर मेरे लंड से खेलने लगी.

बीएफ देसी एक्स एक्स फिर लंच हुआ तो सलमा ने मुझसे कहा- चलो बाहर कैंटीन में चल कर कुछ खाते हैं, वहीं टिफिन भी खा लेंगे. मेरी चूत इस समय इतनी ज्यादा गीली और रसीली हो चुकी थी कि उसका पूरा लंड एक बार में ही अन्दर तक घुसता चला गया.

बीएफ देसी एक्स एक्स उसी पल उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और वो अहसास आह … कितना मीठा था, मैं शब्दों में बयान ही नहीं कर पा रही हूँ. मैं उसके मम्मों को दबा रहा था और पीछे से इतनी जोर से पकड़ा हुआ था कि उसका छूटना नामुनकिन था.

धीरे धीरे उसने पहल करते हुए मेरे होंठ अपने होंठों में दबाए और धीरे धीरे चूसने लगी.

नंगी फिल्म वीडियो हिंदी

पर पांच सात बार डिप्स लगाते हुए मैंने अपनी ठोड़ी से उनकी गांड को रगड़ दिया. मेरी पिछली कहानी थी:ईमेल वाली गर्लफ्रेंड की चूत चुदाईमैं एक बार फिर से अपनी एक नई सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ. मेरा ध्यान बार बार ना चाहते हुए भी नन्दिनी की चूचियों पर जा रहा था.

अब भाभी छटपटा रही थीं और मुझसे छूटने की कोशिश कर भी रही थीं और मुझे पकड़े हुए भी थीं. जैसे ही आंटी को अहसास हुआ कि मैंने भी अपने लण्ड की शेव की है तो कटीली निगाहों से देखकर मुस्कुराने लगीं. मेरा हाथ मुंतजिर के मम्मों पर कस गया और मैं उनके होंठों का रसपान करने लगा.

तो मैंने सोचा यहाँ जगह कार सेक्स के लिए सही है, इधर तो कोई नहीं आएगा.

मैंने खुद के कपड़े ठीक करने का ऐसा नाटक किया जैसे मैंने कुछ देखा ही नहीं. इस सबके बावजूद मैं अपने जीवन में अजीब सा खालीपन महसूस कर रही थी और कुछ भी करने के बावजूद मैं इससे भर नहीं पा रही थी. उन्होंने आंख दबा कर कहा- अच्छा ये तो बता दो कि खाते कैसे हो?मैंने उनसे कहा- ठीक है, मैं आज शाम को जब आपके पास ट्यूशन के लिए आऊंगा, तब बता दूँगा.

अबकी बार मौसी ने अपना कुर्ता खुद ही ऊपर कर दिया और ब्रा में से मम्मों को बाहर कर दिया. यदि आपको कोई दिक्कत न हो, तो मैं आपके कमरे पर आ जाऊं?मैं उस टाइम अपने रूम पर रेस्ट कर रहा था तो मैंने अलीज़ा को बोला- हां इसमें दिक्कत कि क्या बात है, तुम मेरे रूम पर आ जाओ. लण्ड को नाज की बुर में पेलते हुए मैंने एक जोर का धक्का मारा तो नाज की बुर की झिल्ली फाड़ते हुए मेरा लण्ड नाज की बच्चेदानी के मुँह तक पहुंच गया.

लण्ड का सुपारा नाज की बच्चेदानी के मुँह से टकराता तो उसे दर्द होता लेकिन मैं बेरहमी से चोदता रहा. एकदम गहरी नाभि … जिसमें शहद डाल कर चूसने से पूरी जन्नत यहीं मिल जाए.

पर पांच सात बार डिप्स लगाते हुए मैंने अपनी ठोड़ी से उनकी गांड को रगड़ दिया. अभी भी भाई मुझे अपनी गोद में उछाल देते हैं तो कभी मुझे घोड़ी बना देते हैं. नाभि से होते हुई जब मैं वापस चुत पर गया तो पूरी चुत पानी से गीली हो चुकी थी.

ये देख कर मेरे होश उड़ गए कि मेरी जीएफ़ किसी और को ‘आई लव यू’ लिखती है.

शादी के अगले दिन जब मैं वापस घर आ रही थी तो उसने मुझे अपना फोन नम्बर दिया और बात करने को बोला. तो भाभी ने अपने हाथ से नीचे लंड को टटोला तो उनको काफी बाहर लग रहा था. अब मैं रुकने वाला नहीं था क्योंकि बड़ी मशक्कत के बाद ऐसा आनन्द आ रहा था.

सांडे का तेल लगाने से लण्ड जल्दी डिस्चार्ज नहीं होता और बुर को चिकना भी कर देता है. मार्केटिंग में एमबीए करने के बाद मुझे दिल्ली के ही एक बड़ी कॉरपोरेट कंपनी में जॉब मिल गयी और मैं पिछले 8 साल से उसी कंपनी से जुड़ी रही.

इससे नील की ‘आह्ह इइइ … अहह मम्मम मीईई …’ की मीठी सिसकारियां मुझे बहुत उत्तेजित कर रही थीं. मैं ये सुनकर दंग रह गया कि जो लड़की इतनी देर से सेक्स की बात ही नहीं कर पा रही थी, वो मेरे साथ नहाने की बात कह रही है. ये सुनकर मैंने अपने लोअर को भी घुटनों तक नीचे किया और लंड को बाहर निकाला.

লিওনের এক্স এক্স ভিডিও

वो लड़का कैसा होता क्या पता … ये तो अच्छा है कि आशीष जाना पहचाना है, कुछ गलत नहीं होगा.

इस तरह से मुझे कुछ थकावट सी होने लगी थी तो मैंने उसको फिर से बिस्तर पर लिटा दिया और दोनों पैरों को फैला कर हवा में उठा कर चुत चोदने लगा. ये सब बताते हुये मैंने उनके टी-शर्ट के ऊपर से अंदर देखा तो भाभी ने ब्रा नहीं पहनी थी. जिसमें लास्ट के बचे लोगों में मैं, मेरे फ्रेंड्स का ग्रुप, मेरे फ्रेंड सिद्धार्थ की फैमिली और उस औरत का पति और वो ही रह गए थे.

मुझे इस बात की खुशी है कि ये मेरा पहला और आखिरी अनुभव रहा है जिसको मैं आप सभी के सामने शेयर करने जा रहा हूं. तभी उन्होंने मेरा हाथ अपने मम्मों पर रख दिए और एक पल के लिए होंठ हटा कर बोलीं- ये बहुत पसंद हैं न आपको … आज से आपके हुए. सनी लियोन सेक्स ओपन वीडियोउसका नाम असीम है और वो हमारे ही मकान के पीछे सर्वेंट क्वार्टर में रहता है.

वो मुझे अंदर रूम में ले गए और बोले- लेट जाओ!मैंने साड़ी पहन रखी थी. वो कुछ बोलती, इससे पहले मैंने लंड मुँह में डाल दिया और झटके मारने लगा.

फिर भी मैंने भाभी से पूछा- ये सब ठीक है?तो उन्होंने कहा- अब सब देख तो लिया है. मैंने उसकी पीठ को थोड़ा तेज सहलाना शुरू किया और अगले ही पल अपने होंठों को खोलकर मैंने उसके होंठ चूसना शुरू कर दिए. उसने खुद को समेटा और बैग को अपनी कमर से नीचे की तरफ आगे लंड को ढकते हुए लटका लिया.

इसके कुछ सेकंड बाद उसने मुझे सहलाना शुरू किया और मेरी चूचियों को पीने लगा. नजदीकियों का मतलब शारीरिक सम्बन्ध, उपभोग या जिसे आज की खुली भाषा में सेक्स कहते हैं, वो सब नहीं था. मैं उन्हें देख कर रुका और उनसे पूछा- आपको क्या चाहिए … आप मुझको पिछले कुछ दिनों से देख रहे हो.

मुझे कमरे में आया देखकर वो हड़बड़ा गयी और बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- लैपटॉप देने आया था … हो गया मेरा प्रेजेंटेशन पूरा.

हालांकि मैं थोड़ा शर्मीला हूँ तो सुबह से उसने ही बात करने की पहल की. और उस समय मेरी नजर वाशरूम के दरवाजे से अंदर गयी तो में अचानक शॉक हो गया.

फिर अपने होंठों को उसकी ब्रा के ऊपर लगाकर उसकी चूचियों को चूसने लगा. मुझे उम्मीद है कि ये स्लीपिंग सिस्टर सेक्स कहानी आपको काफी पसंद आएगी. उसके बाद बारिश में भीगती हुई मैंने अपनी बहन आरू को गोद में उठा लिया और उसने भी मुझे जोर से पकड़ लिया.

मगर मेरे दिमाग में कीड़ा घुस गया था तो मैं अब उसका फ़ोन हर रोज चोरी छुपे चैक करने लगा. तब मुझे मैनेजर नवीन ने कहा- क्यों अंजलि, साहब को बहुत खुश रखती है … मुझे भी मौका दे दे खुश कर दे … आखिर मैंने ही तुझे इंटरव्यू में सिलेक्ट किया था. भाभी की चूत की गर्माहट और पंखुड़ियों जैसी चूत कि फांकों रगड़ते हुए मानो चूम सा रहा था.

बीएफ देसी एक्स एक्स नमस्कार दोस्तो, मैं आपका राज शर्मा, हिन्दी देसी चुदाई की कहानी की साइट अन्तर्वासना पर आपका लौड़ा खड़ा करने और चुत गीली करने के नजरिए से स्वागत करता हूँ. कुछ देर बाद मैं भाभी की गांड को चांटे लगाते हुए मसलने लगा; अपनी गर्मागर्म सांसों को उनकी रसीली सी चूत पर हल्के से छोड़ने लगा और अपनी जीभ से चूत को फिर से चाटना शुरू कर दिया.

सेक्सी ब्लू हिंदी चुदाई

रोहन- अह्ह्ह्ह मेरी रानी तुम्हें पाने के लिए दो महीने से सपने देख रहा हूँ. मैंने उन्हें बताया- हां जी क्या काम है?उन्होंने मुझे फ़ोन पर ही अपने एसी की समस्या बताई. उसी दिन मैंने ज़ीनिया के फेसबुक को खोल कर देखा कि वो एक लड़के से सेक्स चैट कर रही थी.

दीदी की टांगें खुलने लगी थीं और उनकी भूरी चुत अपना जलवा बिखेरने लगी थी. उसके पानी का फव्वारा इतना तेज था कि उसकी चुत से टपकने वाला रस उसकी जांघों से होते हुए नीचे बहने लगा. साली की चुदाई की कहानीमैं जैसे जैसे लंड चूत में अन्दर डालता, तो ‘फच …’ और बाहर निकालता तो ‘पूच्छ.

तो मैंने मॉम को थोड़ा घुमा कर पीछे से पकड़ लिया और अपना लौड़ा मॉम की गांड की दरार में रगड़ने लगा.

अर्शिया का फिगर देखते ही मेरा हाथ मेरे लंड पर चला गया लेकिन मैंने कण्ट्रोल किया. हम दोनों की आंखें एक दूसरे की आंखों में स्थिर हो गईं और कुछ आश्चर्यचकित सी रह गईं.

एक मिनट के घर्षण में मेर पूरा लौड़ा उसकी चूत में आराम से आने जाने लगा. इससे उसे मजा आने लगा और आवाजें करती ही उछल उछल कर लंड अन्दर तक लेने लगी थी. मैंने अब भी उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं देखी तो मैं दूसरे हाथ से अर्शिया के पेट और नाभि को सहलाने लगा.

फिर मैंने निशा की जांघों को चौड़ा किया और उसकी चूत में घी को टपकाने लगा.

होंठ चूसते हुए उसकी चुत पर पहला धक्का लगाया, तो लंड छिटक कर ऊपर आ गया. डॉक्टर Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी मम्मी की अन्तर्वासना अस्पताल में एक डॉक्टर ने बढ़ायी. इस बार उन्होंने मेरे लंड को हाथ लगाया और पकड़ते हुए बोलीं- ये तो बहुत ही मोटा और कड़क है.

लड़कियों का बोबातब मैं उसके कान में बोला- अब हम क्या करें, आप तो पहुंचने वाले हो?शिखा- जितना बन सके, कर लेते हैं, वैसे भी ये हमारी आखिरी मुलाक़ात ही तो होने वाली है. मैं धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा और मॉम की सिसकारियों के साथ गाली भी बक रही थी- साले मां के लौड़े … तू मादरचोद बन गया हरामी कुतिया के पिल्ले … जल्दी से चोद!इससे मेरा जोश बढ़ गया करीब 15 मिनट तक घनघोर चुदाई के बाद हम झड़ गए और वहीं सो गए.

नेपाल का बीएफ वीडियो

निशा ने मुझे अपनी नशीली आंखों से देखा और अपने पतले और लाल होंठों से मेरे मुँह पर लगे उसकी चूत के रस को चाटने लगी. उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी लोवर में डाल दिया और अपनी चूत पर रख दिया. उसके बाद वह कोचिंग लेने दिल्ली चली गयी और उसके जाने के बाद मैं भी एक बार उससे मिलने दिल्ली चला गया.

मैंने भी 69 में आने का फैसला ले लिया और उसकी चूत को जीभ से चाट कर साफ कर दिया. उन्होंने मेरे हाथों को छोड़ दिया और मैंने अपने हाथों से उनकी कमर को पकड़ लिया. पांच मिनट तक यूँ ही उनके मुँह के अन्दर जीभ डालकर होंठों का रसपान करता रहा.

शायद मेरी सिसकारी में इतनी आवाज तो आने लगी थी कि मेरे मुख से 6-7 इंच दूर उसके कान तक जा रही थी. अगर किसी लड़की भाभी को लंड देखने का मन हो, तो वो बिंदास मुझे मेरे ईमेल पर मैसेज कर सकती हैं. उन्होंने अपनी चड्डी से चुत को पौंछ दिया और मुझे चुत चाटने का इशारा करने लगीं.

कोई दस मिनट तक मुझे इसी पोज में रगड़ कर चोदने के बाद उसने लंड खींच लिया और मुझे डॉगी स्टाइल में होने को कहा. मैंने उसको इतना विश्वास दिला दिया था कि वह मुझे अपना बेस्ट फ्रेंड माने.

दो बजे तक मैं भी एसी रिपेयरिंग के काम से फ्री हो गया और मैं मुंतजिर से आम के पैसे लेकर अपने वर्कशॉप पर आ गया.

मैं सोच में पड़ गयी थी कि सिर्फ 6 महीने दूर रह कर, मैं इतनी अकेली महसूस करती थी … तो राजीव सर इतने साल से अकेले हैं … उन पर क्या बीतती होगी. इतिहास सेक्सवो जल्द ही नीचे हाथ फेर कर मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चुत सहलाने लगा. वीडियो नंगी फिल्ममैं भी उस टाइम शहर में नया नया आया था और मुझे आंटी भाभी से बात करना बहुत अच्छा लगता था. रंगोली भी जोश में छटपटा रही थी; वो खुद अपने हाथ से अपने दूध पकड़ पकड़ कर साहिल के मुँह में देकर चुसवा रही थी.

हैलो मैं अनुज मिश्रा आपको सेक्स कहानी के पहले भागजींस टॉप वाली सेक्सी पड़ोसन को पटायामें सुना रहा था कि भाभी मुझसे चुदने के लिए राजी हो गई थीं और उन्होंने मुझे अगले दिन के लिए कहा था.

कभी रानी मेरी जीभ को चूसती, तो कभी मैं उसकी जीभ को अपने होंठों से चाटता. उनकी गुलाबी चुत को जब मैंने देखा, तो मेरा लंड खड़ा होकर उनकी चुत को सलामी देने लगा. वह धीरे धीरे लंड पर गांड चलाने लगी उसके बूब्स मेरे मुँह में लगने लगे.

वो सब औरतें ठीक मेरे पास ही खड़ी थीं क्यूंकि बस में काफी भीड़ भी थी और कोई सीट खाली नहीं थी. फिर उसने मुझे उठाया और बेड पर आने का इशारा करते हुए मुझसे कहा- साली रंडी … तू बड़ी मस्त माल है. रितिका की इस कमसिन मादक फिगर में देखते ही उसे चोद देने का मन करने लगता था.

देहाती हिंदी एचडी बीएफ

वो मादक सिसकारियां ले रही थी और ‘हहह आह उम्मह आहहां आह हहह …’ करके लंड को अपनी गांड में दबाने लगी थी. तुझे तेरे मालिक यानि मेरे लंड को पाने के लिए अभी और मेहनत करनी पड़ेगी. हम दोनों ही समझ चुके थे कि चुदाई का मूड है, पर शुरुआत कैसे हो … ये कशमकश चल रही थी.

कुछ देर में हम दोनों फिर से मूड में आ गए और मैं आंटी की चुत में उंगली करने लगा.

सुबह 6:00 बजे जब हमारी नींद खुली, तब वह मेरे मम्मों के ऊपर मुँह डाले सोए हुए थे.

पहले तो उसने विरोध किया लेकिन फिर उसने भी मेरा साथ दिया और हम एक दूसरे को चूमने चाटने लगे. नील ने कहा- आप जैसे गबरू इंसान से चुदना हर किसी की किसमत में नहीं होता. सिलाई कटिंग हिंदीमैंने करीब 5 मिनट तक भाभी का मुख चोदन किया, फिर अपना पूरा पानी उनके मुँह में ही निकाल दिया.

इंडियन एक्ट्रेस बॉलीवुड सेक्स देखने के बाद मैं वहां से निकल कर घर आ गया. अब आगे हॉट सिस्टर सेक्स:अर्शिया की जांघें एकदम मुलायम गोरी गोरी रेशमी लग रही थीं. मैं जब दीदी के पास पहुंचा, तो दीदी ने मेरे लिए नाश्ते पानी का इंतजाम किया और कुछ ही देर बाद उन्होंने मेरे साथ मार्केट चलने की बात कही.

अंकल मेरी मां के एक मम्मे को एक हाथ से मसल रहे थे, तो दूसरे को मुँह में भर कर चूस रहे थे. इसलिए मैंने उसे आंखों से ही चोदा और बाथरूम में जाकर उसकी दो मर्दों से एक साथ चुदाई की याद करके मुठ मार ली.

एक दिन उन्होंने मुझे अपने घर पर ये कह कर बुलाया कि आज उनका जन्मदिन है.

मैंने पूछा- आज नाज नहीं आई?अम्मी कहती हैं कि नाज अब बड़ी हो गई है, अब बिना बुर्के के कहीं नहीं जायेगी. अब सक्सेना मुझे किसी भी समय मुझसे सेक्स कर लेता है और मैं भी मजे करती हूँ. आने वाले वक्त में क्या हुआ, वो मैं आपको अपनी अगली कहानियों में जरूर बताऊंगी.

चुटकुला चुटकुला चुटकुला मैं रात को साड़ी निकाल कर नाइटी में सोती हूँ और इस ड्रेस में जेठ जी के सामने नहीं जाती हूँ. उस दिन सुबह के 11:30 बज रहे थे और हाउस क्लीनिंग की घंटी बजाने से हम दोनों की नींद खुली.

मैंने अपना अगला कामदेव का तीर फेंका और निशा के कोमल से हाथ को आराम से चूमा. जेठ जी बेड से नीचे उतरे और उन्होंने जल्द ही अपने सारे कपड़े भी उतार दिए. कुछ ही देर में आंटी का पेटीकोट जांघों तक उठ गया और उनके ब्लाउज से उनकी चूचियां मुझे गर्म करने लगीं.

अरे ब्लू पिक्चर सेक्सी

अंजुमन की मादक सिसकारियां निकल रही थीं- उम्म आहहह इस्स ऊई मां मर गई. इसका अंदाजा मुझे था कि जेठजी के लंड का साइज़ मेरे पति से बड़ा होगा क्योंकि वो शरीर से ताकतवर हैं. आप लोग भी बताइएगा कि अपना लंड तो नहीं चुसवाना है अपनी जया रानी से अपनी लंड की रानी से.

मैंने पूछा- कैसे?बंगालन आंटी बोलीं- तुम्हारा सारा माल मेरे बाथरूम की दरवाजे पर रह गया था … जिसे तुम साफ़ करना भूल गए थे. दोस्तो, इस बात से तो मैं आश्वस्त था कि निशा कितनी ही चिल्लाए, इसकी आवाज घर से बाहर नहीं जाएगी.

फिर उन्होंने अपनी छोटी उंगली वैसलीन की डिब्बी से भरी और मेरी मुलायम गांड की ओर ले गए.

जैसे ही हम दोनों ने कमरे में घुस कर उसे लॉक किया, हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. इतना कहकर नाज ने अपने घाघरे का नाड़ा ढीला किया और बुर्का व घाघरा अपने कंधों तक उठा दिया. दस मिनट की किसिंग के बाद नवीन ने मेरा टॉप उतार दिया और मैंने नवीन की शर्ट उतार दी.

मैंने उसकी पोजीशन बदली और उसकी टांगें हवा में उठा करचुत में लंड पेल कर चुदाईकी ट्रेन चला दी. एक हाथ से उन्होंने मेरे एक दूध को दबाया हुआ था और दूसरे हाथ से मेरी जांघों को पकड़े हुए थे. सेक्सी स्टूडेंट की कहानी में पढ़ें कि 19 साल की एक लड़की को लंड खाने की तलब लगी हुई थी.

मुमताज ने मेरे लण्ड को चूमा तो मैंने लण्ड का सुपारा उसके मुँह में दे दिया.

बीएफ देसी एक्स एक्स: उसमें पीछे की तरफ से सीन था कि लड़की नंगी लेटी हुई लड़के के ऊपर बैठकर उचक रही है. किसी का कोई डर नहीं था … बस चरम सुख का आनन्द जो मुझे चाहिए था, मिल रहा था.

ये सुनकर मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से लंड अन्दर-बाहर करने लगा. अब्बू मेरी टाँगों के बीच आकर मेरी बुर चाटने लगे, साथ साथ में मेरे निप्पल्स से छेड़छाड़ कर रहे थे. तीन रात सुमन को उसके घर में ही चोदा था, जो तुम्हारा खानदानी पलंग है … उसी में लिटाकर पेल दिया था.

रेखा आंटी मेरे से दूर हटने की कोशिश कर रही थीं लेकिन मैंने उन्हें ऐसे जकड़कर रखा था कि वो कसमसाने के अलावा कुछ कर ही नहीं पाईं.

इस बीच शीना भाभी ने मुझे बताया कि चार महीने हो गए उसने सेक्स नहीं किया. मैं उनके दूध भींच रहा था और वो मुझे होंठों पर किस पर किस बरसा रही थीं. लेकिन अब निशा के दिल की धड़कन बढ़ चुकी थी, जो मेरे कानों तक भी आ रही थी.