बीएफ स्कूल टीचर

छवि स्रोत,घोड़ा वाला सेक्सी भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

સેક્સ વિડીયો: बीएफ स्कूल टीचर, साथियो, अब तक आपने जाना था कि प्रतिभा ने मेरी जंघा पर हाथ फेरना शुरू कर दिया था, जिसे मैंने पायल की मौजूदगी के चलते रोक दिया था.

नई नई शादी की सेक्सी वीडियो

उसने फोन उठा कर स्पीकर ऑन कर दिया और बोली- हां बोल रत्न!रत्न- क्या बात है रंडी? क्या जादू कर दिया तुमने रात वाले बुड्ढे पर?रिया हंसते हुए बोली- क्यों, क्या हुआ?रत्न- साला आज रात फिर वह तेरी चूत चुदाई की डिमांड कर बैठा है. सेक्सी हिंदी मूवी फिल्मेंतो मैंने भी सोचा कि अगर मेरी कोई फ्रेंड फ्री होगी तो उसे घर बुला लूंगी.

फिर …अच्छा जीजू सुनो तो सही एक मिनट!” निष्ठा ने मुझे पकड़ कर फिर से हिलाया. हिंदी बोल के सेक्सी वीडियोतभी अचानक भाभी जी तेज़ी से मेरे कमरे के अंदर आ गयी और कहने लगी- ये क्या कर रहे हो देवर जी?मैंने तुरंत फ्रेंची (अंडरवियर) को ऊपर किया।अब मैं क्या कहता … मैंने कहा- कु … कुच्छ … कुछ नहीं भाभी … बस वो ऐसे ही मैं तो …भाभी बोली- मैं सब देख रही थी.

ये गाली नहीं थी, ये तो उसकी प्रशंसा थी और दो अनुभवी के द्वंद्व की विधिवत शुरूआत थी.बीएफ स्कूल टीचर: कार्यक्रम का आयोजन करने वाले लोगों की टीम काफी बड़ी थी और मेरे नीचे बहुत सारे जूनियर भी काम करते थे.

मुझे यह देख कर अजीब सा हर्ष होता था कि इन चारों की चुदाई मैंने की है.मेरा लण्ड नेहा के मोटे, चिकने और गुदाज़ चूतड़ों की गहराई में लोअर के अंदर से ही घुस गया था.

कुंवारी लौंडिया की सेक्सी चुदाई - बीएफ स्कूल टीचर

भाभी- वैसे संजय, तुम्हारी गर्ल फ्रेंड तो खुश रहती होगी, कितने समझदार हो तुम, कितना ध्यान रखते हो.मेरी पड़ोसन भाभी के साथ सेक्स का मजा कहानी के पिछले भागपड़ोसन भाभी की मस्त चिकनी चुत की चुदाईमें अपने पढ़ा कि कैसे मैंने भाभी की जल्दीबाजी में चुदाई कर ली थी.

जो शायद मुकेश की मां ने महसूस कर लिया था, पर अपने पोते की खुशी उनके लिए ज्यादा जरूरी थी. बीएफ स्कूल टीचर शाही सर अपने उस दोस्त से बोले- अरे नहीं यार, अकेला नहीं … सब मिल बांट कर ही खाएंगे.

मैं जब भी भाभी को पकड़ता, तो मेरा मन करता कि इन्हें अभी बिस्तर पर पटक कर भाभी की चूत चोद दूं.

बीएफ स्कूल टीचर?

अब मैं उसका हाथ पकड़ लेता था और उसके कंधे भी सहला दिया करता था और वो कुछ नहीं बोलती थी. मैंने उनकी एक टांग सोफे पर रखवा दी और दूसरी टांग अपने हाथ में लेकर डॉगी सा बना दिया. दो-तीन बार तो उन लोगों ने बाहर लान में घुप्प अँधेरा करके वहां भी चुदाई की.

तब तक के लिए सभी चूतों को मेरे खड़े लन्ड का प्रणाम।[emailprotected]. शायद पायल उन लोगों से पूर्व परिचित थी, इसलिए उन लोगों ने भी पायल को पहचान लिया था. सुबह 6 बजे के करीब नेहा ने मुझे धीरे से हिलाया, तो मैं उठकर बैठ गया.

मैं घर से दूर रूम पर रहकर पढा़ई करता हूं और साथ ही साथ मैं जॉब की तैयारी भी करता हूं. भाभी- तो फिर सारा दिन क्या करते हो?मैं- भाभी बस ऐसे ही कभी टीवी देख लेता हूं तो कभी फोन में टाइम पास कर लेता हूं. अब उसको अच्छा लगने लगा और वो अपनी गांड उछाल-उछाल कर लंड को चूत में अपने अन्दर लेने लगी और जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्हह … अजय … क्या लंड है तुम्हारा! आह्ह … तुम तो सच में कमाल हो … अच्छी मेहमाननवाजी है … आह्ह चोदो … यार … और जोर से चोदो … आईई … आह्ह और तेज।मैंने धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ाते हुए अब जोर-जोर से उसकी चूत में लंड अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया.

साली जी, पहले इसमें तेल लगा दो अच्छी तरह से! फिर इसे प्यार से आगे पीछे करना तो ये जल्दी पानी छोड़ देगा और वापिस छोटा हो जाएगा. भाभी अपनी टांगों को मेरे शरीर के ऊपर चौड़ी करके मेरे ऊपर चढ़ गई और अपनी गोरी, चिकनी और भारी गांड को ऊपर उठाते हुए एक हाथ से मेरा लौड़ा अपनी चूत के चिकने छेद पर रखा और नीचे की ओर बैठने लगी.

हमें सोफे पर परेशानी हो रही थी तो मैंने उसको बोला- चल बेडरूम में चलते हैं.

उसके मुंह से अब कामुक आवाजें आना शुरू हो गयी थीं- आह्ह … आदित्य … नहीं … आह … उम्म … आह्ह … बस … ओह्ह.

लंड चुत का मिलन इतनी तेजी से हो रहा था कि ठप ठप की आवाज़ आने लगी थी. मैंने अगला सवाल दागा कि क्या तुम भी लंड का मजा ले चुकी हो?पम्मी ने कहा- उसने मुझसे कई बार कहा कि लंड ले लो, लेकिन मैंने मना कर दिया. वानी- प्लीज सर, मेरी गांड में उंगली मत डालो, इसमें अभी भी बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने एकदम अपने लंड को हाथ से पकड़ा और निक्कर के ऊपर से ही बिन्दू की उभरी हुई चूत पर रख दिया. मेरे मन में लड्डू से फूट रहे थे कि आज तो जरूर कुछ न कुछ कांड होने ही वाला है. मैंने अपने घर के पीछे वाली दीवार के सामने से गाड़ी को खड़ा कर दिया जिससे कोई हम दोनों को देख ना सके और मैंने गाड़ी बंद कर दी और उस पर निढाल हो गयी.

मैंने देखा, वहां मेरी काम वाली बाई शमा खड़ी खड़ी ये सब कुछ देख रही थी.

ओ ईईई करते हुए भाभी ने मुझे अपनी छाती से भींच लिया और उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया. वो बड़ी मस्ती से लंड चूस रही थी और मैं आंखें मूंदे लंड चुसाई का मजा ले रहा था. मैंने कहा- अबे, ये क्या कर रही हो?उसने जैसे खुश होकर मुझे अपने ऊपर खींच लिया और बोली- कब से बोल रही हूँ … रुक जाओ रुक जाओ … तुम्हें समझ नहीं आ रहा था क्या?मैंने कहा- तो इसका मतलब क्या हुआ … तुम मूत दोगी?उसने हंस कर मेरे चेहरे को पकड़ लिया और मुझे गाल पर माथे पर होंठों पर खूब चूमा.

मेरा भाई लंड ठोकता हुआ बोला- ले साली … और अन्दर ले … तू तो मेरी रंडी है ही साली. उसने वो जैली निकाली और अपनी दोनों हथेलियों में लेकर मेरे लंड के सामने आकर बैठ गई. मैंने वहां उतरते वक्त सबसे पूछा कि वो वैभव से मिलते हुए जाएंगे क्या? पर सबने पहले खुशी के पास जाने की इच्छा जाहिर की.

लॉकडाउन सेक्स स्टोरी का अगला भाग:लॉकडाउन में पीजी में सेक्स की मस्ती- 2.

नीचे वाले परिवार के डॉक्टर भैया रोज काम पर चले जाते थे और भाभी घर पर रहती थी. पायल ने मुस्कुराते हुए पास आकर कहा- अब आप प्रस्तुति के लिए तैयार रहें.

बीएफ स्कूल टीचर पूजा- नहीं, अभी तो बिल्कुल नहीं … मैं तैयार हो गयी हूँ … सब बिगड़ जाएगा. मैंने उसकी चूत में एक साथ पूरा लंड डाल दिया, जिससे उसकी चीख निकल गई.

बीएफ स्कूल टीचर और तुम्हारे बात करने का अंदाज बहुत प्यारा है और उससे भी ज्यादा तुम खुद प्यारी हो। अब तुम जा सकती हो।उसने चहक कर थैंक्यू सर कहा और जाने लगी. अगली बार लिखूंगा कि नैना मुझसे कैसे चुदी और बच्चा पैदा करने के लिए कहने लगी.

और मैंने अपने चेहरे के सामने लहराते उसके उठे हुए एक निप्पल को अपने मुँह में भर लिया.

योगा सेक्सी वीडियो दिखाइए

” सानिया का बदन अकड़ने सा लगा था।वो रोमांच के मारे एक किलकारी सी मारते हुए अपने हाथ से मेरे हाथ को अपनी बुर से हटाने की कोशिश करने लगी।सानू मेरी जान! तुम बहुत खूबसूरत हो. निष्ठा भी लगभग साथ ही स्खलित होने लगी और उसने मुझे पूरी ताकत से अपनी भुजाओं में बांध लिया. मैं भी उनकी चुचियों को मसलकर बोला- अदिति, अब मेरा लंड सिर्फ तुम्हारा ही है.

मैं गुरुग्राम में एक बिल्डिंग के टॉप फ्लोर पर रहता था, जहां पर एक कमरा, छोटा सा किचन और टॉयलेट था. मैं ऐसा करते हुए नेहा को लेकर बेडरूम में चक्कर लगाने लगा और नेहा आंनद से अपना सिर इधर उधर मारती रही. और नीचे लिखा था- आजा मेरी जान, और ले ले इसे अपनी गुलाबी चूत में!मेसेज पढ़ कर, देख कर एक बार तो मुझे गलत भी लगा कि यार चलो ये तो मियां बीवी की आपसी बात है.

मैं उनके सामने आकर अपने पैरों को फैला कर झुक झुक कर उनको अपनी मखमली गांड दिखाने लगी.

लण्ड अन्दर जाते ही, आह की आवाज निकाल कर सिसकारी भरते हुए शांति बोली- आपका लण्ड बहुत तगड़ा है, साहब. वो शरमाते हुए एकदम नशीली आवाज में धीरे से बोली- चोदो ना!मैं बोला- फिर से कहो!वो फिर से उसी अंदाज में बोली- मुझे चोदो ना प्लीज!मैंने तुरंत कॉन्डोम का पाउच उसे पकड़ा दिया. फिर मैंने अपने लंड के टोपे पर सौतेली मम्मी की चुत का रस लगाकर उसे चिकना कर दिया और उनकी फूली हुई गुलाबी चुत की फांकों में लंड रखकर अपने हाथों से लंड को दबाते हुए टोपा अन्दर डाल दिया.

अब जब आपके शहर में हैं तो उम्मीद है कि अब तो परेशानी का सवाल ही नहीं होना चाहिए. लड़की की गांड मारने में भी इतना मज़ा आता होगा इसका तो मुझे अंदाजा ही नहीं था. मगर अगर हाथ लगता और वो उठ जाती तो। तो सोचा छूना नहीं है, सिर्फ देखना है। मगर सिर्फ देख कर क्या होगा।तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और लवी के मम्मों को देख कर मुट्ठ मरने लगा।ये भी सोचा कि इसके नंगे मम्मों की मोबाइल पर फोटो ले लूँ.

अपने होंठ उसके गालों पर फिराते हुए मैंने धीरे से उसकी गर्दन और कानों पर भी होंठ फिरा दिए. उधर से मुकेश का फोन आया- मांजी को अस्पताल में भर्ती कर दिया है … लेकिन मांजी भाभी को बुला रही हैं.

मैंने उसे टिम के बारे में पूछा तो वो बोला- टिम और मैं दोनों साथ आ गए हैं. हमारे बिल्कुल साथ ही नेहा की चूचियों को संजय अपने होंठों और जीभ से चूसने लगा जिससे नेहा भी मस्त होने लगी. होटल में आने के बाद थकान इतनी ज्यादा हुई कि नंगे ही पड़ गये और एक दूसरे के साथ चिपक कर पूरा दिन सोते रहे.

रमेश- हाँ रवि बोल, कहाँ है तू?रवि- अरे वहीं, अपने पुराने अड्डे पर, होटल मूनलाइट में।रमेश- सफर कैसा रहा?रवि- बिल्कुल ठीक रहा, अब यह सब छोड़ और यह बता तू कब आ रहा है?रमेश- मैं शाम को 7 बजे तक आ जाऊँगा.

मैं बोला- अभी दूसरा कोई रास्ता नहीं है अदिति … जो होता है, हो जाने दो. मुझसे भी रहा नहीं गया, तो मैंने उन्हें अपनी बांहों में कसकर पकड़ा और उनके गाल, होंठ और गर्दन पर चूमने लगा. काफी देर तक कोशिश करने के बावजूद जब परम अपना लण्ड मेरी गांड में नहीं डाल पाये तो झल्लाकर बोले- तुम्हारी सब सहेलियां मादरचोद हैं, तुमको उल्टा सीधा पढ़ाती हैं.

मैं- अरे भाभी आप ऊपर … इतना बड़ा सर्प्राइज़!भाभी- मैं तो हर रोज ऊपर आती हूँ, नीचे धूप नहीं आती है न … और बेटे की हर रोज मालिश करनी होती है. प्रीति को देख कर लग रहा था कि उस पर शराब का और मुझ पर उसका नशा छाने लगा है.

मां भी मुझे चूमकर बोलीं- चलती बस में तो तूने मेरी हालत खराब कर दी थी. वह धीरे धीरे नीचे होते हुए लंड पर बैठने लगी और मेरे मोटे लंड को अपनी तंग चूत में समाने की कोशिश करने लगी. जिया मेडिकल की पढ़ाई कर रही है … और जिया, यह राज मेरा एक्स-बॉयफ्रेंड है, जो फिलहाल कॉलेज के आखिरी साल में है और मुंबई में रहता है.

खुल्लम खुल्ला सेक्सी वीडियो फिल्म

उसकी आवाज निकल रही थी- आह जान आज मुझे वह खुशी दे दो … जिसके लिए मैं इतने बरसों से तरस रही थी … मैं प्यासी हूँ … मेरी प्यास बुझा दो.

इस टीचर सेक्स स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको अपने रंडी बनने की कहानी को आगे लिखूंगी. मैं- ओ शशि!मैं शशि भाभी के गालों को चूमने लगा, वो भी मेरा साथ देने लगीं. अब अनीता ने मुझसे कहा- क्यों सर जी, किस किस ने चुंबन किया … पहचान की नहीं! किसका चुंबन सबसे खास था, जरा बताओ तो?मैंने अब रूमाल आंख से हटा दिया.

तुम्हारे जैसी सेक्सी भाभी पर रोल प्ले सेक्स में पैसा खर्च करके मैं पूरी तरह से संतुष्ट हूं. पीजी में अगर कभी कोई इमरजेंसी होती है तो बाहर खड़ा गार्ड उनसे पूछकर ही गेट खोलता है और इस बात की रजिस्टर में एंट्री होती है. सुहागरात वाली सेक्सी वीडियो चुदाईसभी पाठक पाठिकाओं को चूतनिवास के लंड का इकत्तीस बार तुनक तुनक के सलाम.

मैं जॉकी का फ्रेंची अंडरवियर पहनता हूँ तो उसमें लिंग अलग ही पता चल जाता है जो लोग पहनते हैं, वो समझ गये होंगे. मगर काफी देर से मुझे समझ ही नहीं आ रहा है कि आप दोनों में किससे परेशानी को हल करवाया जाए.

पर इस कमसिन बाला को इस प्रकार बेरहमी से नहीं चोदना मेरे जैसे शरीफ आदमी के लिए वाजिब नहीं था। मैं चुपचाप बिना कोई हरकत किए उसके ऊपर ऐसे ही बना रहा।पिछले 3-4 दिनों में मेरे मन में यह ख्याल भी जरूर आया था कि मैं कमसिन लड़की के साथ नाइंसाफी सी कर रहा हूँ। मेरे जैसे सभ्य परिवार में रहने वाले सामाजिक व्यक्ति के लिए यह सब उचित नहीं है. फिर संभलते हुए बोला- मुझे आप अच्छी लगती हैं इसीलिए!वो उठीं और कमर पर हाथ रखते हुए बोलीं- क्या क्या अच्छा लगता है तुझे मेरे में … तफसील से बताओ. वो बोली- तुम्हारी कोई है?मैंने कहा- नहीं यार … मुझे कौन पसंद करेगी?वो बोली- क्यों नहीं करेगी?मैंने कहा- तो तुम कर लो!इस पर वो हाथ छुड़ा कर हंसती हुई भाग गई और मैं अपना लंड मसल कर रह गया.

निष्ठा की गांड में मेरा पूरा लंड समा चुका था और मैं धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करते हुए उसकी गांड मारने लगा था. जब मैं बालाघाट जाता, तो उसी के घर रहकर उसकी वाइफ के साथ रात गुजारता. ऐसे ही उसका दूसरा स्तन भी अपने मुंह में ले लेता और कभी कभी अपनी जीभ को गीत के दोनों मम्मों के बीच में घुमाता.

मैंने अपने हाथों से नेहा के दोनों चूतड़ों को पकड़ा और उन्हें उठा उठा कर लंड पर पटकने लगा.

हम दोनों एक बार थक से गये थे और लंड डिस्चार्ज होने की वजह से अभी चूत चोदने के लिए लंड में इतनी जल्दी तनाव आना कठिन था. कुछ पल बाद जब मैं उनसे छुड़ाने के लिए पलटी, तो वो मेरे नीचे आ गए और मैं उनके ऊपर चढ़ गई.

उसकी प्यास अब उंगली से नहीं बुझती।मैं तो उसकी चैट पढ़ कर निहाल हो गया. अब आप सोओगी कैसे?रिंकी- मैं तुम्हारे अंकल के बदन की गर्मी ले लेती हूं और वो मेरी गर्मी ले लेते हैं. सच बताऊं दोस्तो … मामी की चुत मारने से ज़्यादा मजा तो उनकी गांड मारने में आ रहा था.

तो मैंने उसको बोला- अब करो!वो सीधा हो गया और मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगा. मैं बोली- तो उड़ा न साले … भैन्चोद … मैं तो कब से लंड लेने के लिए तैयार हूं. ऐसा नहीं कि मैंने तुम्हें कभी नोटिस नहीं किया लेकिन मैं आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं कर पाई.

बीएफ स्कूल टीचर मैंने उनकी एक टांग सोफे पर रखवा दी और दूसरी टांग अपने हाथ में लेकर डॉगी सा बना दिया. मामी मेरे मुँह से गालियां सुनकर मस्त हो गईं और कहने लगीं- हां अतुल, मुझे अपनी रंडी बना कर चोद दे … तेरे मुँह से मुझे गाली सुनने में बड़ा मजा आ रहा है … चोद हरामी साले कुत्ते चोद मुझे कमीने … फाड़ दे मेरी चुत को … आह मजा आ रहा है.

बरसात सेक्सी

क्योंकि तुम्हारा प्यार पाकर चूत तो हार जीत छोड़कर तुम्हारी गुलामी करने लगेगी. क्यों?”पता नहीं”एक बात बताऊँ?”क्या?”पिछली दो रातों में मुझे भी नींद नहीं आई. कुछ देर तक इसी स्पीड से चुदाई करने के बाद रमेश झड़ने लगा- आह्ह … आहाह आआ … मैं गया … आआह … ओहह … यस्स… करते हुए रमेश ने अपनी बीवी की चूत में अपना माल भर दिया.

विक्की मेरी चूत से निकलने वाले पानी की हर एक बूंद को पी गया और चूंकि मैंने उसको मना नहीं किया था इसलिए वो मेरी चूत का पूरा पानी चाटने के बाद फिर भी चूत को चाटता ही रहा. अब क्यों तरसा रहे हो आप …जल्दी से चुदाई करो न, अब रहा नहीं जाता!”इसके बाद हमारे लंड-चूत के बीच वो भीषण संग्राम छिड़ा कि जिसका वर्णन करूं तो सब रिपीट ही लगेगा. सेक्सी वीडियो चूत माराजितना रेट मैंने आपके लिए फिक्स किया है उससे एक पैसा ज्यादा मत देना उस हरामखोर रत्नलाल को।तभी रवि ने रिया को रोकते हुए कहा- अरे सुन, तू ही अपना नम्बर दे दे.

कुछ ही देर के बाद मैं बर्दाश्त करने की हालत में नहीं रही और मेरी चूत एकदम से झड़ने लगी.

वो जैली बड़ी ठंडी सी थी, मैं समझ गया कि यही वो अल्कोहल मिक्स वाली लिक्विड जैली है. थोड़ी देर में भाभी ऊपर छत पर आईं, तब मुझे पता चला कि वो हर रोज धूप के लिए ऊपर आ जाती थीं … क्योंकि छत का दरवाजा खुला ही रहता था.

सच कहूं तो उस समय मुझे अपने लंड पर बहुत गुस्सा आ रहा था कि इसे कोई तमीज तो है ही नहीं; बस आसपास किसी चूत की उपस्थिति का आभास भर हुआ और ये महाशय तन गये खुश हो के!अगर निष्ठा की नज़र उस उभार पर पड़ गयी तो वो क्या सोचेगी मेरे बारे में?यह सोच कर मैंने अपना ध्यान कहीं और लगाने की बहुत कोशिश की कि मैं उत्तेजना फील न करूं. ऐसा नहीं था कि सिर्फ मैं ही पागल हो रहा था … भाभी का भी यही हाल था, वे भी मेरे लंड को अपनी चूत में लेकर अपनी अन्तर्वासना ठंडी करना चाहती थी. अपने होंठ मैंने उसके लंड के सुपारे पर टिका दिये और उसके प्रीकम को उसके लंड पर चारों ओर फैला दिया.

हम अपनी सीट पर जा बैठे।अन्दर आते वक़्त चिंता थी कि कहीं ज्यादा लोग न हो, पर जैसा सोचा वैसा पाया। पूरी बालकनी में हमें मिलाकर केवल 4 लोग थे.

जब हम दोनों की दोस्ती और गहरी हुई, तो मैं भी उन्हें अपने घर ही बुला लेती. ये सोच कर उस रात मुझसे रहा नहीं गया और मेरा हाथ नीरजा के टॉप के ऊपर उसके मम्मों पर चला गया. वीकेंड में मैं अपना सारा स्ट्रेस निकालना चाह रही थी (उसके साथ ही कुछ और भी)।मैंने अपने कई दोस्तों के पास फोन किया लेकिन कोई भी उस रात को फ्री नहीं था.

सेक्सी वीडियो एंड डॉगउसने वापस से पूछा- तुम ये क्या कर रहे थे … बताओ नहीं, तो मैं यहां पर सब को बता दूंगी. उन्होंने मेरी कोशिश असफल होते देख कर कहा कि जीजाजी आपकी वैसे भी फ्लाइट अभी बुक नहीं हुई है और आज तक आपको अनीता की सुसराल जाने का काम भी नहीं पड़ा, तो आप ऐसा कीजिए कि अनीता को अपने साथ लेकर उसे उसकी सुसराल छोड़ कर वहीं से मुंबई चले जाना.

सेक्सी वीडियो मराठी एक्स एक्स

मेरी सास ने भी मुझसे कहा- आपकी तबियत ठीक नहीं लगती, आप निष्ठा को लेकर घर चले जाओ. मजा आ गया तुझे चोद कर।रवि- हां साली … सच में तू कड़क माल है।रिया- मगर सेठ तुम्हारी भी बातें सच निकलीं. कुछ देर ऐसे ही लंड चूसने के बाद हम सभी अलग अलग हुए और नेहा बाथरूम में भाग गयी.

उसी बीच भाभी ने मेरे कान में कहा कि तुम मुकेश से मांजी को हस्पताल में एडमिट करवा सकते हो?मैंने कहा- हां, ये तो आराम से हो जाएगा. बस पांच मिनट में।मैंने जल्दी से एक उत्तेजक खुशबू वाला मर्दों का डिओ लगाया और टीशर्ट व जीन्स पहन कर उसके घर पहुंच गया. इस मस्ती में ही मेरा दूसरा हाथ बाजूवाली औरत की चुत के पास हिल रहा था.

वो अपनी चूत के दाने को मसलने लगी और मैं तेजी से लंड को पूरी ताकत लगा कर रगड़ने लगा. इसके भी तो अरमान होंगे न और इसका तन मन भी तो मचल रहा होगा न अपने सारे अरमान तेरे साथ पूरे करने के लिए!शायद ये भी यही सोच रही हो कि घर का ऐसा एकांत फिर जीवन में मिले या न मिले; ऐसे में जीजू मुझे चोद लें तो चोद लें मैं थोड़े बहुत नखरे दिखा कर फिर ख़ुशी ख़ुशी चुदवा लूंगी और कुछ नहीं बोलूंगी; ये भी तो इस तरह एकांत का फायदा उठाना चाह रही होगी कि नहीं? जरा इस तरह से सोच न उल्लू. इन सब से निपट कर साली जी ने शर्मिष्ठा के कपड़े और गहने यथा स्थान रख दिए और सादा सा सलवार कुर्ता पहिन लिया.

वो दबे पाँव ऊपर गया, तो उसने महसूस किया कि रवि ने उसकी आहट सुन कर ही लाईट बंद की है. मेरे एक टूरिस्ट मित्र से, जो धार्मिक यात्रा करवाता था, उससे मेरी मित्रता अच्छी थी.

उसका 48 इंच का सीना आज भी कसाव लिए हुए है और जब वो मदमस्त हथिनी की तरह चलती है, तो एक दूसरे से रगड़ खाते कूल्हों को देख कर लंड फुंफकार मारने पर मजबूर हो जाता है.

पर मैंने उसे और मजबूती से थाम लिया और उसके कान की लौ मुंह में भर के चूसने चुभलाने लगा साथ ही उसके नितम्ब मसलने लगा. बिहार के सेक्सी भेजोफिर वो पैन्ट की चैन खोलने लगी और सबसे कहा- आईंदा ध्यान रखना कोई रंडी का चुंबन देखने की बात कहे … मतलब वो लंड पर लड़की के होंठों को पाना चाहता है. सेक्सी व्हिडिओ मधूनअब उसने उसके लंड को चूत में ले लिया और उस पर उछलते हुए सिसकारने लगी. पहली बार उसकी चूत मिली थी इसलिए मैं ज्यादा देर नहीं टिक पाया और उसकी चूत में झड़ गया.

इसलिए अब ये जी जी लगाने का सिस्टम खत्म करो, सिर्फ नाम से बुलाना ठीक रहेगा.

पर ‘आपका ही इंतजार’ मुझे इस शब्द में रहस्य नजर आया।लेकिन मेरी दुविधा उस अपसरा जैसी महिला ने स्वंय दूर कर दी. वो वापसी में जाते हुए अपनी स्कूटर को गड्डों से कुदाते बचाते हुए जा रहा था. मैंने सरोज के दोनों गालों को अपने हाथों में लिया और उसके मुंह की चुदाई करने लगा.

अभी हम लोगों को स्कूल तक पहुंचने में आधा घंटा लगना था, तो हम दोनों वहां से निकल गए. अगले दिन सुबह मां के डिस्चार्ज हो जाने के बाद मुकेश भाभी और मां को लेकर जाने लगा, तो भाभी मुझे बहुत हसरत भरी नज़रों से देख रही थीं. उस लड़की ने कहा कि वो किसी और के साथ डेट पर चली गयी है और वो तुमसे ब्रेकअप कर रही है.

सेक्सी वीडियो देखने वाली चुदाई

सरोज ने दोनों कपड़े निकाले और चौड़ी टांगें फैला कर बेड पर लेट गई और मुझसे कहने लगी- आओ मेरे राजा, चोदो अपनी रानी को. मगर आज यात्रा की थकावट या पैग ज्यादा पीने के कारण मैं स्खलित नहीं हो रहा था. आप टेंशन मत लीजिए नैना जी अब आपकी जिंदगी में सिर्फ मज़ा ही मज़ा होगा.

वो बोली- ठीक है फिर, जाओ।उसको हग करके मैं अपने ऑफिस के लिए निकल गया.

मैंने फिर से अपने बूब्स को दबाया और विक्की ने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

अगले ही पल उसकी चूत पानी छोड़े जा रही थी और मैं उसे चाटे जा रहा था. शायद ये पोर्न का कमाल था, पर वो जो भी कर रही थी … वो सब मेरी ‘आह आह. रोमांटिक सेक्सी वीडियो भाभी कीआ गए! चलो अपना सामान निकाल लो और मसाज शुरू करो क्योंकि मुझे एक मीटिंग अटेंड करनी है, उसके लिए मुझे फ्रेश माइंड चाहिए और 5 बजे तक मुझे फ्री कर दो.

तो सानिया आश्चर्य से मेरी ओर देखने लगी।लगता है इस प्रीति नामक बला ने हमारी इस सानूजान को और भी बहुत कुछ सिखाया और समझाया भी होगा।पर लड़कियां बॉय फ्रेंड को थोड़े ही पटाती हैं? वो तो लड़के पटाते हैं. शीला के ब्लाउज का ऊपरी बटन खुला था तो दोनों संतरों की बीच की लाइन स्पष्ट दिख रही थी. उसने अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ा और एक स्तन मेरे मुँह में डाल कर बोली- रणदीप तड़पाओ मत … पूरा चूसो इन्हें!बस फिर क्या था … मेरी कामदेवी मुझे अपने स्तन का अमृत पिलाने लगी थी.

मैं नेहा के होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा और साथ ही उसके मम्मों को अपनी छाती के नीचे दबा कर उसे मज़ा भी देने लगा. जिया ने मुझे अपनी बांहों में ले लिया तो मैं उसके होंठों को चूमने लगा.

रति- अरे आप आ गये!रमेश अंदर आया और उसने रिया को कस कर गले से लगा लिया.

नैना ने मुझसे पूछा- कल आप क्या कर रहे हैं? मैं घर पर अकेली हूं अगर आपको बुरा ना लगे, तो आपके लिए कल का खाना मेरे यहां है. नेहा के मम्में गीत के मम्मों से थोड़ा बड़े हैं और मैंने गीत की एक चूची को अपने होंठों में ले लिया और उसे चूसता हुआ उसके ऊपर अपनी जीभ घुमाने लगा. दो-तीन बार तो उन लोगों ने बाहर लान में घुप्प अँधेरा करके वहां भी चुदाई की.

चैट सेक्सी वीडियो मैंने भी तुरंत उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके सिर पर थपकी देता हुआ उसे किसी छोटे बच्चे की तरह पुचकारने लगा. नैना चिल्लाने लगी- आह … चोदो और जोर से चोदो … दो … याह … ह … ह … मज़ा आ रहा है ऐसे ही चोदो मेरी चूत को … आज इसकी सारी भूख मिटा दो अ…याह.

मैं तो पहले ही बहुत गर्म थी … लेकिन इन दोनों चूतियों को कौन समझाता कि मेरी चूत लंड मांग रही है. मैं तो जब से भैंसा और भैंस की चुदाई देखने लगी थी तभी से हरदम गर्म रहने लगी थी. वो बहुत खुश थी और मैं भी।बातों ही बातों में वो मुझ पर हक जताते हुए बोली- अब आज से तुम्हारा लंच डिनर सब मैं ही तैयार करूंगी.

ट्रिपल एक्स सेक्सी न्यू

जिनका है, उनको बधाई और उनसे लड़कियों के गर्भाशय को नुकसान न पहुंचाने के लिए प्रार्थना है. मेरे हिलते हुए मम्मों से एकदम साफ पता चल रहा था कि फिटिंग की टी-शर्ट में मैंने ब्रा नहीं पहनी हुई है. उनकी पत्नी शशि भाभी भी काफ़ी पढ़ी लिखी थीं, लेकिन आजकल घर पर ही रहती थीं.

मैंने वहीं जाकर उन्हें पीछे से पकड़ लिया और अपना लंड भाभी की गांड में घुसेड़ने लगा. चेहरा गोल है और जब मैं हंसता हूं तो मेरे गालों पर गड्ढे हो जाते हैं.

चूत, बहुत गरमा गर्म लण्ड है और तेज़ करो ना जल्दी जल्दी।”हाय मेरी रितु उफ़ आह आह तेरी गरम चूत, उफ़ह बहुत तंग आह और गहरी चूत है मेरी चुद्दो की अह अह्ह्ह्ह… रितु चूतड़ उछालो … अह अह हां ….

उसको तड़पाने के लिए मैं अपनी गोल गोल गांड को उसके सामने उचका कर चल रही थी और अपने चूतड़ों को अपनी हथेली में लेकर भींच रही थी. खैर नाश्ता तो नहीं भी करने से चल जाता है, पर फ्रेश होना और नहाना तो जरूरी ही था, क्योंकि शरीर की थकावट भी दूर करनी थी और गर्मी भी चढ़ने लगी थी. यहां तक कि अगर कोई लेट्रिन या बाथरूम में भी जाएगा, तो दरवाजे बंद नहीं करेगा.

फिर मैंने उसका टॉप उतारा और देखा कि रेशमी जालीवाली ब्रा में उसके दोनों दूध उठ बैठ रहे थे. भाभी भी मेरे होंठों को चूसते हुए अपनी गांड उचका कर लंड को लेती रही. अब राजेश ने उसे नीचे झुककर घोड़ी बना दिया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया.

शायद इस मामले में तुम मेरी मदद नहीं कर पाओगी, क्या तुम कर सकती हो?अस्मि- हां जरूर कर सकती हूं.

बीएफ स्कूल टीचर: मैंने सोचा था कि शायद नैना मुझसे थोड़ा नाराज़ होगी, गुस्सा करेगी और थोड़ा दूर रहेगी. मैं उसे किस करने लगा और हाथ से उसकी चूची दबा रहा था और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा।दोस्तो, आपको बता दूं कि कुंवारी चूत को चोदने से पहले उसे तैयार करना पड़ता है.

भाभी ने इस पर कुछ नहीं कहा और मुस्कुराते हुए किचन में काम करने लगीं. मेरी पैंटी को भी उतार दिया और मेरी दोनों टांगों को फैला कर मेरी चूत में अपना मुँह घुसा कर चूत चूसने और चाटने लगे. आज पहली बार इतना अद्भुत और रोमांचक अहसास हुआ है सेक्स में।मैंने उसकी बात काटते हुए उसे छेड़ते हुए कहा- मतलब आज से पहले तुम्हें मेरे साथ कभी मज़ा नहीं आया?इस पर वो थोड़ा गम्भीर हो कर बोली- नहीं, मेरा ये मतलब नहीं था.

मैं भी सोचते हुए कहने लगी- हां यार ईशिता … अब हम क्या करेंगे?ईशिता ने कहा- रुमित तुम एक काम करो.

अब मैं एक हाथ से कार चला रही थी और मेरा दूसरा हाथ उसकी छाती पर उसके निप्पलों को मसल कर भींच रहा था, उनको मरोड़ रहा था. )मैं प्रीति की ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा था और वो उतने ही जोर से मेरा हौसला बड़ा रही थी. मैंने कहा- मेरे साथ दोस्ती करोगी?उसने कहा- हां मुझे आपकी दोस्ती मंजूर है.