बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई

छवि स्रोत,सेक्स फिल्म दिखाइए सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो ओपन सेक्सी पिक्चर: बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई, मैं सामान्य भाव से बोली- अरे बेटा तुम … क्या हुआ क्या चाहिए?वो हड़बड़ाते हुए मेरी छाती से नज़र हटाने की कोशिश करते हुए बोला- अरे वो मुझे प.

पंजाबी सेक्स गर्ल्स

उधर भाभी अपनी चूत को आगे आगे करती जा रही थीं- आहह हहह आआआ ऊउम मादरचोद … कुछ कर अब … भोसड़ी के आह हहह!मैंने अपना हाथ भाभी के ब्लाउज पर डाला और एक झटके में एक तरफ से फाड़ दिया. जाट वाली सेक्सी वीडियोफिर मैंने कहा- क्यों बहन के लोड़े … माँ चुद गयी ना … क्या तेरे लंड में इतना दम है कि तू मेरी प्यास बुझा सके?साहिल बोला- मां की चूत तेरी … बहन की लोड़ी … हमें छोड़ कर तो देख … फिर बताते हैं तुझे हम!फिर मैंने उसका लंड सहला दिया और उसके होंठों पर किस करना शुरू कर दिया.

सारी बात समझते ही मैं इतना खुश हुआ कि कुछ बोलने ही वाला था कि चाची ने उंगल होंठों पर रखकर चुप रहने का इशारा कर दिया. ब्लूटूथ दिसावरवो बोले- लीसा, मुझे भूख लगी है कुछ खाने का है?आंटी ने उनसे कहा- आप अन्दर चलो मैं आती हूँ.

क्या पहली बार सेक्स कर रहे हो?” दीदी की आवाज़ में कितनी मासूमियत थी.बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई: फिर उनका वह दोस्त एक दिन फिर से घर पर आया और मेरे देवर ने मुझे चाय बनाने के लिए कहा.

दस मिनट बाद मैंने उससे पूछा- तुमको मेरे मैसेज से कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है.मुझसे तो साली ने कहा था कि वो चंचल को थ्री-सम सेक्स के लिए बुला रही थी.

सिर्फ सेक्सी फिल्म - बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई

मैंने ये सुनते ही उसकी आंखों में देखा, तो उसकी आंखों में उदासी और वासना एक साथ थी.उसके साथ उसकी 20 साल की बेटी भी थी जिसके हाथ में स्नैक्स ओर पानी की बोतल थी.

ले देख कैसे निचोड़ा है तेरी बहन को!ये कह कर मैंने पूरी बेशर्मी के साथ अपना गाउन उतार दिया और बोली- देख तेरे दोनों जीजाओं ने तेरी जिज्जी को हर तरफ अच्छे से चोद कर निचोड़ दिया है. बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई उस दिन वो शाम तक एकदम मेरे जिस्म से चिपका रहा, मौका तो था कुछ करने का लेकिन घर में मेरे शौहर थे … इसी लिए उस दिन मैंने कोई बात आगे नहीं बढ़ाई.

फिर जैसे ही लॉकडाउन में थोड़ी ढील हुई, मैं नेहा को कार से घर ले आया.

बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई?

भाभी के मुँह से लार टपक कर बोबों पर आ रही थी, पर भाभी को मजा आ रहा था. फैमिली ग्रुप सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं, मेरे भाई, मेरी भानजी और भानजे हम चारों के बीच चुदाई हो चुकी थी. कुछ देर बाद मेरे शौहर का फिर से कॉल आया और वो बोले- कुछ देर में शहज़ाद आ रहा है.

उसने कहा- यही तो आपका सरप्राइज था जानू!मैं जानबूझ का भौंचक्का होने का नाटक कर रहा था, साथ ही बोल रहा था कि मैं इसे नहीं चोदने वाला. मेरी मम्मी ने मुझे बैठाया और बोली- राज, तुम्हारे नाना नानी अर्थात रश्मि के मम्मी पापा तीन चार दिन के लिए किसी जरूरी काम से आज बाहर गए हैं. मैंने फिर से उसे पकड़ा और उसके हाथ पीछे करके उसी की पीठ पर रखते हुए पकड़ लिए ताकि वो आगे को न हो सके.

किसी तरह इंतज़ार की घड़ियां खत्म हुई और वो रात आ गई जिसका वो दोनों बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे. अब आगे बॉय एंड गर्ल सेक्स कहानी:यह कहानी सुनेंतब विशाल बोला- साली, तू मुझे खोलकर कर देख … फिर देख कैसे तुझे खुश करता हूं. मौसी- आह आह सुनो यार, अब रहा नहीं जा रहा है … मेरी मुनिया रानी पनिया रही है.

कुछ देर की मस्ती के बाद संगीता जोर से चिल्लाने लगी- आह मैं गई … आह चोदो जोर से … मेरा रस निकलने वाला है … बस फुल स्पीड से अपनी जान की चुदाई करते रहो. उस चपरासी का काला मूसल लौड़ा देख कर उसकी चुत ने अपना आपा खो दिया था.

उन्होंने कहा- बहू, आज तेरा गोरा सुन्दर जवान बदन देख कर मन पर काबू नहीं हो पा रहा है.

उसकी इस उत्तेजना से चूत चाटने पर अगले पांच मिनट में ही मैं एक बार फिर से झड़ गयी.

मैंने कई बार सोचा कि मैं भी अन्तर्वासना पर अपनी सेक्स कहानी शेयर करूं. मैंने शन्नो रंडी को बोला- साली तुझे लंड से चुदने का बहुत चस्का है?वो बोली- हां लंड मुझे बहुत पसंद हैं और मैं हमेशा सोचती थी कि मेरी चूत गांड में ऐसा लंड कब जाएगा. क्योंकि मैंने अन्तर्वासना और फ्री सेक्स कहानी पर बहुत सी सीलतोड़ चुदाई की कहानी पढ़ी थीं जिसमें लड़की की चुत की सील टूटती है … तो उसे बहुत दर्द होता है और चुत में से खून भी आता है.

मैंने उससे डॉक्टर को पापा का नाम बताने को बोला और बताया कि आज मेरी मम्मी का चैकअप होना था. खैर शेखर मुस्कराता हुआ धारा को एक बार फिर से खुद से लिपटाते हुए उसके होंठों का रसपान करने लगा और धीरे से अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को पूरी तरह से थाम लिया. अब मैंने संभाला मोर्चा और तेज-तेज धक्के देते हुये उसकी क्लिट को रगड़ने लगा.

अगर आप लोग भी गांड मारने के शौकीन हैं तो ग्लिसरीन लगाकर गांड मारें … आपकी बीवी या जीएफ को दर्द कम होगा.

मैं कभी उसके चूतड़ों को दबाता, कभी उसके बड़े बड़े मम्मों को मसलता, जो ठीक से मेरी हथेलियों में आ भी नहीं रहे थे. यह सुन कर शीना कुछ देर चुप हो गयी, फिर बोली- मैंने मम्मी पापा वाला वीडियो देखना है. आह ब्लैक नेट वाली ब्रा और पेंटी में क्या लग रहा था उसका बदन!मैंने उसकी केले के पेड़ के तने जैसी चिकनी जांघों और टांगों पर हाथ फेरा.

आप मुझे मेरी इस डर्टी चुदाई कहानी के लिए मेल और कमेंट्स करना न भूलें. औरत के बोबों में लंड डालकर चोदना आसान नहीं होता क्योंकि लंड फिसलने का नाम ही नहीं लेता. धारा ने अंदर कोई पैंटी नहीं पहनी थी।शेखर की पूरी हथेली धारा की गद्देदार चूत के ऊपर ठहर गई थी.

वो कभी अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल रही थीं, तो कभी मैं उनके मुँह में.

जींस से पूरे बदन की नाप मेरे बड़े बड़े नितम्बों का आकार और शर्ट के ऊपरी भाग से मम्मों की झलक किसी को भी आकर्षित करने के लिए काफी थी. मैंने बोला- हां भाबी, क्या बोल रही थीं आप!भाबी ने मुझे गौर से देखा और फिर आंखें इधर उधर करती हुई बोलीं- घर की सफाई करनी है … हेल्प करा दोगे थोड़ी!उनकी नजरों का पीछा करते हुए मुझे अहसास हुआ कि मेरा पोपट तो खड़ा है और मैंने अंडरवियर भी नहीं पहना है.

बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई मैंने उसे अपने मोबाइल पर उसकी मां की पिछली चुदाई की वीडियो क्लिप दिखा दी. वो फिर से चिल्लायी, पर अबकी बार उसकी आंखों में गुस्सा नहीं, प्यार और हवस थी.

बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई शेखर- क्या हुआ भाईसाब, कहाँ खो गए?शेखर ये चाल चल तो रहा था लेकिन कहीं ना कहीं उसके मन में ये डर भी था कि कहीं सच में उधर ललित ही ना निकले. मैंने एक दो झटके मारकर पूरा लण्ड अन्दर कर दिया तो कविता की आँख में आँसू आ गये.

अन्दर उसने ब्रा नहीं पहनी थी तो उसके दूध एकदम गोल और नोकदार खुल कर सामने आ गए थे.

सेक्सी बिपि विडियो

अब मुझे भी साफ साफ नजर आ रहा था कि वो भी मुझसे चुदने को उतना ही बेक़रार थीं, जितना मैं उनको चोदने को लेकर बेकरार था. थोड़ी देर के बाद उसे मजा आने लगा और वो अपनी गांड उठा कर मेरा साथ देने लगी. फिर कुछ देर बाद अम्मा ने आकर आवाज दी तो मैंने शटर उठाकर उन्हें अन्दर किया और खुद अपने घर आ गया.

वो बोली- राज तुम बहुत बुरे हो … इतना मस्त लौड़ा लेकर भी तुम अपनी प्यासी शन्नो को तड़पा रहे थे. लेकिन पहली बार लिख रहा हूँ तो शायद आप मुझे माफ़ करेंगे और मेरी इस सेक्सी भाबी हिंदी कहानी की सराहना भी करेंगे. भाभी पीछे से भी अपनी लचकती कमर के पूरे दर्शन करवाती थीं … और पेट का तो क्या कहना … भैनचोद ऐसा लगता था कि भाभी के पेट में ही लंड चुभा दूं.

आपको ये बीवी को चुदवाया स्टोरी कैसी लगी मुझे मेल में जरूर बताईयेगा.

वैसे भी इसकी चूत की सेवा नहीं हुई; इसके हिस्से की सारी मेहनत तो तू मुझ पर कर रहा है. गगन- साली, तुझे तो बचपन से चोदना था … मुझे लगा कि मां किसी और का नाम लेगी … शायद तेरे ब्वॉयफ्रेंड का. और हां … अभी बाहर चल कर तुम चाय लेना पसंद करोगे या कॉफी?फिर पहले आशारा बाहर गयी और उसके पांच मिनट बाद में भी तैयार होकर उसी रूम में आ गया.

वो अपनी बहन की चुदाई में इतना खो गया था कि हमारी तरफ मुड़कर भी नहीं देख रहा था. उसकी टांगें फ़ैल गई थीं और उसने मेरे लंड को अपनी चुत की फांकों में लगा दिया था. उसने मुझे भी सेक्स का भूखा समझ लिया होगा।ऐसे अनगिनत सवाल और ख़्याल शेखर के मन में दौड़ रहे थे.

तो आशारा ने खुद अपने उरोजों को दोनों हाथों से दबाकर लंड को घाटी में फंसा लिया. पूरे 20 मिनट तक वो मेरी मां की चुदाई करता रहा और आखिर में मां की चूत में ही झड़ गया.

शाम को मैं उठा तो देखा तमन्ना दीन-दुनिया से बेखबर नंगी ही सो रही थी. चाची लंड मुँह से निकालती हुई बोलीं- तुम तो कई कई दिन घर से गायब रहते हो. इतने में भाभी ने अपने शरीर को अकड़ा दिया और एक फुट ऊंची गांड उठाने लगीं.

मैंने तुरंत उसके होंठों से अपने होंठ सैट कर दिए और धीरे धीरे धक्के देने लगा.

मैं बोली- पैसे गिन लो, पूरे है ना!मेरी बात सुनकर उसको होश आया और वो खड़ा हो गया. जब भी हम दोनों का मन होता, हम दोनों खुल कर चुदाई का मजा ले लेते थे. बड़ी देर तक दोनों ने एक दूसरे की जीभ चूस चूस कर एक दूसरे की थूक को भी चाट लिया.

मौसी- आह आह … कितना हॉट है तू!मैं- फिर, अपनी जीभ को तुम्हारे दूधों के बीच में रख कर ऊपर नीचे करूंगा और थूक से पूरा क्लीवेज गीला कर दूंगा. तो मैं उनको बता दूं कि जिस लड़की या भाभी ने मेरे साथ सेक्स किया है, उसने कुछ सोच समझ कर और मुझपर भरोसा करके ही सेक्स किया होगा.

उसने खुद कभी नहीं सोचा होगा कि मैं उसके लंड को अपने मुँह में ले लूंगी. मैं दारू पीता तो था, मगर अंकल के सामने मुझे कुछ लिहाज याद आने लगा तो मैंने मना कर दिया. तभी उसने अचानक से एक जोर का झटका लगा दिया और फिर उसकी कुतिया रानी की गांड में राजा का सुपारा अन्दर और चीख बाहर आ गई.

सेक्सी लड़की कपड़े

कुछ देर में चाची ने अपनी टाँगों की कैंची को खोला और चाची के चूतड़ बहुत देर बाद नीचे गद्दे पर टिके.

मैं घर पर अकेला बोर हो जाता था … तो मैंने सोचा कि आपसे थोड़ी सी बात करने आ जाऊं. इतने में उसने फिर से एक झटका मारा और उसका भी पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया. वो मेरी बाहर निकली हुई चमड़ी को जोर जोर से दबा रहे थे और किसी भूखे गिद्ध की तरह देख रहे थे.

बंगालन भाभी- कितने स्वार्थी हो तुम रोहित!मैं- क्या हुआ भाभी … मैंने क्या किया!बंगालन भाभी- तुम्हें जरा भी शर्म नहीं आती … जब भूख लगी तो भाभी याद आ गयी और जब तेरी भाभी दिक्कत में है, तो तू उसकी मदद करने के बजाए उसे छोड़कर चला गया. फिर उसने मुझे अपने ऊपर कर लिया और बोला कि अब तुम खुद झटके मारो।मैं उसके लंड पर झटके देने लगी और खुद ही अपनी चूत को चुदवाने लगी. తెలుగు సెక్స్ సినిమాमैंने शीना को दोबारा पीठ के बल बेड पर लिटा दिया और खुद उसकी बगल में लेट कर उसके होंठ चूसने लगा.

शेखर- क्या हुआ भाईसाब, कहाँ खो गए?शेखर ये चाल चल तो रहा था लेकिन कहीं ना कहीं उसके मन में ये डर भी था कि कहीं सच में उधर ललित ही ना निकले. मां ने हाथ के इशारे से मुँह में आने के लिए कहा और मेरा पूरा लंड अपने गले तक दबा लिया.

मम्मी- निखिल, मैं भी तड़प रही थी एक मर्द के लिए, तेरे भैया तो 4-5 मिनट में ही फुस्स हो जाते थे. मैं इतना ज्यादा उत्तेजित हो गया था कि सिर्फ़ दो मिनट में ही झड़ गया. एक दिन मेरी पत्नी ने बताया कि उसके स्कूल में एक नई टीचर आई है सितारा.

अब तक धारा अपने घुटने पर बैठ कर शेखर के जींस के बटन खोलने में व्यस्त हो चुकी थी. कुंवारी लड़की की सेक्सी कहानी के पहले भागफोन पर ही लड़की पट गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि आशा नाम की लड़की अब जीजू की जगह मेरे साथ सेक्स चैट करने लगी थी. इस समय मैं एकदम किसी 18 साल की लौंडिया की तरह सज संवर कर और हाई हील्स पहन कर अपनी बेटी के आशिक़ के साथ रंगरेलियां मनाने को तैयार हो गयी थी.

उन्होंने मना किया तो मैंने खुद भाभी के सामने अपना लंड बाहर निकाला और भाभी की गांड दबाते हुए मुठ मारने लगा.

जब मैंने इसके विरोध में उसको बोला- तू जानता नहीं है … मैं अभी चिल्ला कर सबको बुला लूंगी. दीदी ने मुझे बेड पर धक्का देकर गिरा दिया था और मेरे होंठों को फिर से चूसने लगी थीं.

उस समय भाभी को देख कर किसी का भी मन बेईमान हो जाए और लंड खड़ा हो जाए. मेरी इस बात से वो एकदम से खुश सी हुई … लेकिन फिर शांत होते हुए बोली- ठीक है अम्मी, आप जाओ. मेरा भी लंड खड़ा होकर अंजू भाभी की गांड में जाने की नाकाम कोशिश करने लगा.

कोमल ने मेरे मुंह से जीभ निकाली और मेरे कान में कहा- बाबू, अमित मेरी जांघ पर हाथ रगड़ रहा है. दो दिन बाद उसका फोन आया- सर, मैं आज स्कूल नहीं गई हूँ, फ्री हूँ, कितने बजे आ सकती हूँ?मैंने घड़ी की ओर देखा, 11 बजे थे, मेरा क्लीनिक पर समय समाप्त हो रहा था. जाते हुए वे मुझे बोलकर गए हैं कि पीछे से उनका डॉगी अकेला रहेगा और वैसे भी उस एरिया में चोरियां होती हैं तो रश्मि को वहाँ दो तीन दिन के लिए भेज दिया जाए.

बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई फिर वो प्यार से बोले- बहनचोद, ढंग से चूस न … कभी वीडियो में नहीं देखा कि कैसे चूसते हैं. उसने एकदम से हाथ बढ़ा कर मेरे चेहरे से होते हुए मेरे गले और गहरी दूध घाटी को अपने कड़क हाथों से रगड़ कर साफ कर दिया.

नोएडा की चुदाई

आज पहली बार किसी से चुदाई के दौरान मेरा अपना हाथ अपनी चूत पर चला गया था. आधी बोतल रेड वाइन मीनू के जिस्म को छूकर उनके स्तनों को नहलाने लगी थी. जब कभी भी हम तीनों को टाइम मिलता था तो उस वक्त मेरे देवर पीछे रहते थे और उनका दोस्त आगे.

इसके पीछे एक पतली पट्टी थी, जिससे पीछे का सब हिस्सा खुला ही रहता था. अनिकेत हम दोनों को देखकर मुस्कराने लगे लेकिन शिवम की तो जैसे हवा ही निकल गयी. निरहुआ की पत्नी कौन हैये सब गलती से हो गया।शीना- वो वो … मेरा फोन रह गया था प्लीज वो दे दो.

उसकी आधी टाँगें अब भी बिस्तर के नीचे ही थीं और उसका लंड पूरी तरह से तनकर छत की ओर देख रहा था.

शहजाद मेरी चूचियां देखते हुए मुझसे बोला- सब कमरे खाली हैं, जिसमें आपको सोना हो सो जाओ. मैं उसी के सामने झुक कर तौलिया से अपना सिर पौंछते हुए उसका हाल-चाल पूछने लगी.

मैंने कहा- क्या दर्द होगा?वो बोला- देख ले … मैंने अभी तक जो किया, उसमें तुझे मजा ही आया है. वो धीरे धीरे हल्की सी नार्मल हुई और चिल्लाती हुई बोली- साले कुत्ते कमीने मुझे बता नहीं सकते थे कि अभी तुम्हारा आधा लंड ही चुत के अन्दर गया है!मैं सहमते हुए बोला- आपको ही लग रही थी कि जल्दी जल्दी करो … अब मैं क्या करता!वो कराहती हुई बोली- साले तूने मेरी तो जान ही निकाल दी आह्हह इहहह कितना मोटा लम्बा मूसल है साले … मेरी तो फट ही गई है. नेहा- हां तो? क्या अभय भैया ने तुझे नंगी देख लिया था … जो उसने तुम्हें वहीं पटक चोद दिया?ये कहती हुई नेहा मुस्कुरा दी.

मैंने भी चाची को किस किया और लंड अंदर डाले डाले उनके ऊपर ही सो गया.

वो बोली- सर, ये सब आप मम्मी को तो नहीं बताओगे न?मैं- नहीं, ये हम दोनों के बीच रहेगा. उधर से धारा का मैसेज आया और उसने शेखर को फटाफट तैयार होने के लिए कहा. तभी ऋतु ने कहा- अच्छा … तो प्रकाश भी तेरी ठीक से चुदाई करता है! उस साले ने तो कभी मुझे छुआ ही नहीं.

xxnx தமிழ்ऐसा नाटक कर रही थी कि मानो उसे पता ही न हो कि उसके नाइटी उतारने से मेरे लन्ड की हालत क्या हुई है लेकिन उसकी आँखों में शराब का नशा छाने लगा था. मैंने कहा- अरे यार तुम्हारे विचारों के बारे में पूछना क्या कोई गलत बात है?वो फिर से बोली- हां मुझे समझ आ रहा है कि तुम्हारे पूछने का मतलब क्या था.

मध्य प्रदेश सेक्सी वीडियो हिंदी

वैशाली दीदी के होंठों पर मैंने एक हल्का सा चुम्मा दिया, जिसके जबाव में उन्होंने बंद आंखों से ही सुकून की एक स्माइल दी और मेरे सिर पर एक बार हाथ फेर दिया. कभी मेरी चूत से लंड निकाल कर वह मेरी गांड में डाल देता और गांड की चुदाई शुरू कर देता. उसके बाद मेरी मां एकदम से भूखी कुतिया सी मचल उठीं और हम दोनों के होंठ एक दूसरे से मिल गए.

मैंने उनको नमस्ते की और उनके किसी सवाल के आने से पहले ही वहां से निकल आया. उसके लन्ड से इतना माल निकला कि हम दोनों की हलक की प्यास बुझ गयी।हम दोनों समीर के बगल में लेट गई और कुछ देर बाद फिर अनामिका समीर का लन्ड चूसने लगी. अब सुनीता शायद थक चुकी थी लेकिन मेरा लंड अभी तक सर उठाए खड़ा हुआ था और अपनी विजय पताका फहराने के लिए लालायित था.

अब धारा की पीठ शेखर के सीने से और विशाल नितम्ब शेखर के लंड से चिपक गए. पहली ही नजर में उस पर दिल आ गया और मैं उसे पाने की योजना बनाने लगा. फिर मेरी गीली और गर्म चूत में अपनी जीभ घुसा घुसा कर मेरी चुत चाटने लगा.

नेहा- तुझे आगे और सुनना है या चूत की गर्मी निकालने के लिए ब्रेक चाहिए?स्नेहा- दीदू, थोड़ी देर बाद बात करते हैं. मैंने भी रिज़वाना से हंस कर कहा- उसे बोल दो कि मन हो तो इधर आकर लाइव फिल्म देख ले.

मुझे उसकी चुत चाटने में मजा नहीं आ रहा था तो मैंने उसकी चूत को थोड़ा ही चाटा और उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया.

मैंने आंटी की दुकान से अपने घर की जरूरत का सामान लिया और आंटी से कहा कि आंटी आपको कोई काम हो, तो आप मुझे बता देना. ಡಬ್ಲ್ಯೂ ಡಬ್ಲ್ಯೂ ಸೆಕ್ಸ್ ಫಿಲಂलाल स्कर्ट उसके घुटनों से थोड़ा ऊपर थी यानि उसकी गोरी जांघें बिल्कुल साफ दिख रही थी. सोफा सेट दिखाइएउसने बिना सोचे समझे पूछ लिया- हां बताओ तुम्हारा वो कितना बड़ा है?मैंने कहा- वो बड़ा है या नहीं … ये तो तुम्हें मेरी संगत करने से ही मालूम पड़ेगा कि मेरे पास कितना बड़ा है. मैंने कहा- कोई बात नहीं बाबू … आज अपनी चुत और गांड को दो मर्दों से फड़वा लो … लाइट भी नहीं है.

कुछ देर बाद प्रियंका गर्म हो गई तो उन दोनों ने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा कर दिया.

दोस्तो, अब इस सेक्स कहानी में मुझे उसकी चुदाई होने की उम्मीद जगने लगी थी. मैं अपनी गांड में ग्लिसरीन की ठंडक अभी महसूस ही कर रही थी कि इतने में प्रशांत ने लंड टिकाया और जोरदार झटका दे मारा. दोस्तो, अब इस सेक्स कहानी में मुझे उसकी चुदाई होने की उम्मीद जगने लगी थी.

अब क्या था … मैंने धीरे धीरे अपने लंड की रफ़्तार बढ़ा दी और मां की प्यार वाली सिसकारियां बढ़ने लगीं. मैं उससे दो दिनों से नहीं मिल पाया था, इसलिए मुझे उसके साथ कुछ वक्त बताने का मन कर रहा था. आप परिस्थिति समझ सकते हैं कि मेरी गांड फ़टी हुई थी … पैर और हाथ कांपने लग गए थे, होंठ सूख रहे थे.

मारने वाला सेक्सी वीडियो

तो मैं बोला- ठीक है शीना, अगर तुम सब कुछ खुल कर सुनना चाहती हो तो सुनो. तुम्हारे हाथ क्या कर रहे हैं?वह बोली- मैं कुछ भी नहीं कर रही हूँ!पर उसकी चुदासी आवाज से मैं समझ गया कि वह अपनी चूत को सहला रही है. किस करते हुए मैं एक हाथ से उनके एक चूतड़ को मसल रहा था और दूसरा हाथ उनकी चूची पर लगा था.

थोड़ी देर के बाद उन्होंने मेरी चूची को मुँह में भर लिया और चूसने लगे.

धारा- हम्म। हो सकता है आपको भी ये सुख मिल जाए?शेखर यह पढ़ कर बस मुस्करा दिया और उसने जवाब में भी बस एक स्माइली भेज दी.

तो उस दिन गगन, विक्रम, अभिजीत, गगन का बाप अजय मिलकर प्रिया की चुत चाटने आगे आ गए. मैं अपने घर में बने मंदिर में रखे अपनी स्वर्गीय माँ के चित्र के सामने ले आया और माँ को सम्बोधित करते हुए कहा- माँ, यह सितारा है, मेरी दोस्त है, आशीर्वाद दो कि हमारी दोस्ती, हमारा प्यार और विश्वास बना रहे. अंग्रेजी एचडी सेक्सी वीडियोआंटी दूध चुसवाते हुए बोलीं- आज तक किसी ने मुझे ऐसे प्यार नहीं किया … अहह … चूस भोसड़ी के … आह बहुत मज़ा आ रहा है.

मैंने देखा कि अमित की हालत तो उन तीनों में सबसे ज्यादा खराब हो गई थी. वो बाहर से मेरी गांड चाट रहा था और उंगली अन्दर बाहर करने में लगा था. [emailprotected]रोमांटिक भाभी की वासना की कहानी का अगला भाग:अफसर की बीवी ने चपरासी से चुत गांड चुदवाई- 2.

ये देख कर रीमा ने रूम का दरवाजा लगा दिया और वो उस किताब को मस्ती से देखने लगी. वो देसी कुतिया सी बिलबिलाती हुई आवाजें कर रही थी और मैं डॉबरमैन कुत्ता सा उसकी चूत को भोसड़ा बनाने पर तुला हुआ था.

उसने पूछा- कहां पर?मैंने गांड की तरफ इशारा किया तो वो बोला कि उधर दवाई लगानी पड़ेगी.

खैर उसने अपना काम जारी रखा और अब थोड़ा हल्के हाथों से धारा के विशाल उभारों का मज़ा लेने लगा. वो बोले- तो वैसे ही चूस न … ये क्या कर रहा है!अब मुझे अच्छे से लंड चूसना था वरना और खेल बिगड़ जाता. उस चपरासी का काला मूसल लौड़ा देख कर उसकी चुत ने अपना आपा खो दिया था.

कुता सेकसी अब मैंने उसके पैरों को कंधे पर रख कर लंड को बुर के छेद पर सैट करके जोर से लंड को बुर में पेल दिया. वो मेरे सारे बाल समेटते हुए और मेरी चुचियों को देखते हुए मेरे बालों बांधा और कुछ देर बाद वो वहां से चला गया.

मेरा मन कर रहा था कि वो मेरे निप्पलों को यूं ही चूसता रहे बस!आकाश ने बड़े आराम से मेरे दोनों निप्पलों को प्यार से चूसा. उन्होंने मुझे पास की दीवार पर टिकाया और मेरे दोनों हाथों को अपने एक हाथ से पकड़ कर ऊपर कर दिया. फिर अपनी लार से गीली उंगली नीतू के मुंह में घुसेड़ दी जिसे नीतू ने एक बार अपनी जीभ से छू लिया।जैसे ही रूपाली ने अपने होंठ उसके होंठ पर रखे थे वैसे ही नीतू आँखें बंद हो गई और उसकी सांसें रुक गई।बड़ी हिम्मत करके रूपाली ने उसके होंठ चूमने शुरू किये।रूपाली नीतू के होंठ चूम तो रही थी लेकिन नीतू किसी भी तरह का कोई सहयोग नहीं कर रही थी.

सेक्सी लड़का लड़की का सेक्स

वो ऊपर ऊपर से मना कर रही थीं … लेकिन मेरे साथ साथ मज़ा भी ले रही थीं. पिंकी आह उम्मह ऊह हह हाँहह करके लंड लेने लगी।मैंने उसकी चूचियों को मसलना शुरू कर दिया और होंठों को चूसने लगा और झटके मारने लगा।अब पिंकी भी ज्यादा उत्तेजित हो गई थी और हहह आहह हहह करके अपनी गांड चलाने लगी।मैंने पीठ के बल लेट कर पिंकी को इशारा किया तो वो मेरे लंड पर बैठ गई और उछलने लगी।मेरा लंड सट्ट सटृ अंदर बाहर होने लगा. भाभी ने पूछा- कुछ देर बाद क्यों?मैंने कहा- मुझे यहां आपसे कुछ काम है और इधर के ऑफिस स्टाफ तक तो रुकना ही है.

इससे मेरा लंड अपने विकराल रूप में आ चुका था और पूरा उफान मार रहा था. भाभी ने भैया के फोन काफी देर तक बात की शायद कोई घरेलू बात चल रही थी.

उनके हस्बैंड सी आर पी एफ में थे, तो 7-8 महीने में एक बार ही कुछ दिनों के लिए आ पाते थे.

भाभी अब मुझसे खुल कर बातें करती थीं, तो अब मैं उनके साथ सेक्स की हल्की फुल्की बातें भी कर लिया करता था. https://thumb-v5.xhcdn.com/a/U6rwAYPym5q0fQwA8DIAnA/010/985/395/526x298.t.webm. उफ़्फ़ … शेखर … ये क्या कर दिया तुमने!” अपनी चूत को यूँ शेखर की हथेली में पकड़े जाने पर धारा की कामुक सिसकारी निकल गयी.

सार्थक का घर दो मंजिल का है, जिसमें नीचे उसके मम्मी पापा और प्रज्ञा रहते हैं और ऊपर सार्थक और उर्वशी का कमरा है. चिराग- अच्छा मैं गंदा … पानी खुद ने गंदा करवाया और इल्जाम मुझ पर? अब इसका मैं क्या करूं?ज्योति खड़े लंड को देखने लगी. सारी बात समझते ही मैं इतना खुश हुआ कि कुछ बोलने ही वाला था कि चाची ने उंगल होंठों पर रखकर चुप रहने का इशारा कर दिया.

वो चुत का रस चाटता चला गया और उसने मेरी चुत चाट कर एकदम क्लीन कर दी.

बीएफ फिल्म सेक्स चुदाई: मैंने कहा- मुझे खुद भी तुमसे मिलने की जल्दी है फरियाल, मगर रास्ते में चैकिंग बहुत ज्यादा हो रही है … इसलिए समय लग रहा है. जब मेरा लंड संगीता के मुँह में होता, तो संगीता हाथ से मयंक के लंड को जोर जोर से हिलाती.

दूसरे दिन से हम दोनों एक दूसरे के साथ पहले जैसे रहने की कोशिश करने लगे. फिर मैंने शीना को खड़ा किया और उसकी दोनों टांगें थोड़ी चौड़ी की और उसकी उसकी चूत को कच्छी के ऊपर से ही चाटने लगा. [emailprotected]क्यूट न स्वीट गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरी चूत का लंड से पहला साक्षात्कार- 2.

मगर मैंने भी एक शर्त रखी थी कि ना तो मैं किसी की नज़र के सामने आऊँगी और ना ही मैं उसे अपनी नज़रों से देखना चाहूँगी.

मैं सारी बात सुन कर मज़े ले रहा था कि इतने में वो बोला- क्या तुम मेरी मां को चोदना चाहते हो?मैंने सकपका गया और बोला- क्या बात कर रहा है बे … वो तेरी मां है और मैं उनको कैसे चोद सकता हूँ. सैम ने मां की निक्कर … जो वो पहनने वाली थीं, उसे एक हाथ से नीचे खींच रखी थी और दूसरे हाथ की 3 उंगलियां मां की चूत में घुसाई हुई थीं. कुंवारी लड़की की सेक्सी कहानी के पहले भागफोन पर ही लड़की पट गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि आशा नाम की लड़की अब जीजू की जगह मेरे साथ सेक्स चैट करने लगी थी.