बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर किन्नर

तस्वीर का शीर्षक ,

ப்ளூ ஃபிலிம் திரைப்படம்: बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो, मैंने भी उनकी चूची के निप्पल को अपने होंठों में दबाया और चूचे चूसने में लग गया.

भावना सेक्सी फिल्म

फिर चाचा ने उनकी टांगों को चौड़ी किया और चाची की चूत में लंड डाल कर हिलने लगे. वव सेक्सी पिक्चरदीदी ने जब कमरों का बंटवारा किया, तब मैं उनके भीतर छिपे रहस्य को समझ चुकी थी.

उन्होंने रूम में ले जाकर मुझे पलंग के पास खड़ा कर दिया और अपने कपड़े उतारने लगे. अमरपाली दुबे की सेक्सी फोटोमैं बोला- चलूं?वो बोली- हां … मुझको आज ही थोड़ी मरना है … अभी तो मैं एक महीना यहां ही हूँ.

मैं- अपनी जान से भी ज्यादा!आलिया- हा हा … अब चलें?मैं सोफे से खड़ा हो गया.बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो: अपना लंड मेरे को हाथ में देकर खुद से बोला कि मेरे लौड़े मियां … ध्यान से देख … तेरी रानी यही है.

फिर मेरी फुदी पर अपना लंड गाड़ते हुए एक ही झटके में सारा लंड मेरी फुदी में घुसेड़ दिया.उनकी कंपित ध्वनि के साथ ही लंड रूपी हब्शी डिल्डो महाराज चूत में जड़ तक पेवस्त हो गए.

गावरानी सेक्सी पिक्चर - बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो

चुत चुदाई के बाद मैंने चाची की गांड मारने के लिए भी बोला, पर उन्होंने मना कर दिया- मैं गांड नहीं मरवाती हूँ … मुझको दर्द होता है.जीजा जी नताशा के मम्मों को दबा रहे थे और वो दोनों अभी किस कर रहे थे.

उसने मुझसे कहा- क्या आप मुझे मेरे ऑफ़िस छोड़ सकते हो?मैंने कहा- उसी किरायेदार के साथ चली जाओ न. बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो तभी मामी की आवाज आई- शिवम अन्दर आ जाओ … अकेले बाहर क्या कर रहे हो?उनकी आवाज सुनकर सब कुछ भूल कर मैं जैसे ही रूम में अन्दर गया, तो एकदम हैरान हो गया क्योंकि मामी ने हल्के गुलाबी रंग की नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें उनका जिस्म ऐसे चमक रहा था … जैसे चांदी की अंगूठी पर सोने का मोती लगा हो.

उसकी बुर में वीर्यपात न हो इसलिये मैंने कॉण्डोम चढ़ा लिया और हनी को जमकर चोदा.

बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो?

हम सभी सामान्य होने की कोशिश कर रहे थे, पर मुझे लगा कि हम सब एक दूसरे को देखकर कामुकता का अनुभव कर रहे थे. वो मुझे देख हड़बड़ा गयी और शर्म से हथेलियों से अपने मुँह छुपा लिया. मैंने कभी सोचा नहीं था कि लड़की भी किसी मर्द के जिस्म की इतनी प्यासी हो सकती है.

और जोर से चोद और जोर से!वो ऐसे बोल बोल कर मुझे उत्साहित कर रही थी- चोद चोद … आज प्यासी मत छोड़ना मेरी चूत को … बहुत दिन हो गए थे इसे हथियार के दीदार किये हुए. मैं धीरे धीरे अपने लंड को उसकी चूचियों के बीच में हिलाते हुए रगड़ रहा था. लेकिन वो मुझे एक अच्छा दोस्त समझती थी, इसीलिए मैंने कभी प्रयास नहीं किया.

मैं भी चाची को गाली देते हुए चोदने में लगा था- ले मेरी जान चाची … साली न जाने कबसे मेरे लंड में तेरी चुत का भोसड़ा बनाने की तमन्ना थी … आह … ले. एक दूसरे की आंखों में आंखें डाल कर सफर का मजा और ऊपर से अंगों की रगड़न का हम मजे ले रहे थे. तो बाबू जी ने हंसते हुए बात टालने की कोशिश की और कहा- चलो जल्दी से संदीप को मंगल टीका लगा दो, फिर तुम सब गप्पें मारना और मेरा भी दुकान जाने का समय हो गया है.

अब वो दिन दूर नहीं था, जब आलिया को मैं अपनी बांहों में लेकर उसके होंठों पर किस करूंगा. जिस दोस्त ने ये बात कही थी, उसकी ये बात सुनकर मुझे कुछ अज़ीब सा लगा.

आहहहा … क्या नज़ारा था … जेठजी का लंड, जिसे पहले राउंड में मैं देखने को तड़प गयी थी और पूरी चुदाई के दौरान देख ही नहीं पायी थी.

कोई 25 से 30 मिनट तक मैं लंड को मालकिन की चुत में आगे पीछे करता रहा.

कुछ देर बाद जब आदी भी स्कूल जाने लगा, तो मैंने आदी को बोल दिया- बाबू, मैं दिन में अपनी सहेली के यहां जा रही हूँ … ये लो एक चाबी, तुम घर आकर खाना खा लेना और गेट लॉक करके घर में ही रहना, कहीं जाना मत. सच कहूं तो वह दिन मेरी जिंदगी का बहुत अच्छा दिन था क्योंकि वह मुझे बहुत अच्छे तरीके से चोद रहा था जैसे हमेशा से मैं चाहती थी. अब तक मैंने सिर्फ अपनी सहेली के स्तनों के निप्पलों को मुंह में लिया था.

वो बोला- मैं तो तेरी गांड को ही भरना चाह रहा था मगर तेरी चूत का टेस्ट भी लेना था. मैंने उसकी घाघरी के ऊपर से उसकी जांघों को अपने हाथों से सहलाना शुरू कर दिया. मैंने कहा- साले चूतिया, अगर प्रोटीन खाकर बॉडी बनायेगा तो लंड भी खड़ा होना बंद हो जायेगा.

कुछ देर बाद संगीता आ गई, मैंने उसका टॉप उठाकर चूचियां निकाल लीं और संगीता को अपने पैरों के पास जमीन पर बिठाकर अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया.

मैं आंटी की छाती पर अबीर रगड़े जा रहा था और ‘आह उह आह …’ की आवाजें पूरे कमरे में गूंज रही थीं. तभी भाभी ने एकदम मेरे ऊपर आकर अपनी चूत को लंड पर फंसाया और रगड़ने लगीं. मैंने कहा- मेरा माल आने वाला है, कहां करूं?वो बोली- अन्दर ही डाल … मुझको ये सुख भोगना है … बीज अन्दर ही डाल.

आज हमारा इस तरह से मिलने का पहला अवसर था … लेकिन हम दोनों अच्छे से जानते थे कि आज हमारे प्यार की मंजिल को पाना है. मुझे मजा आ रहा था, मेरा जिस्म गर्म होने लगा था कामवासना की अग्नि से!और सामने वाला अब मेरी तरफ चेहरा कर के खड़ा हो गया और मेरे बूब्स को दबाने लगा. मैंने सिगरेट उसे पकड़ाई, तो वो नंगी ही बेड के हेड बोर्ड पर अपनी पीठ लगा कर अपनी टांगें क्रॉस करके कश लगाने लगी.

… इसीलिए तो आ जाती हूं ताकि साथ में मिलकर अपना प्रॉब्लम सॉल्व कर लें … आंटी प्रिया है कहां … दिखाई नहीं दे रही है?मम्मी- अच्छा है.

करीब 15 मिनट की लंड चुसाई के बाद उसने सारा लंड रस मेरे मुँह में छोड़ दिया और मैं उसे पी गयी. थोड़ी ही देर में उसने खुद ही अपनी चूत को मेरे लंड की तरफ धकेलना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो बस में उसे चोदे जा रहा था और प्रीति मेरा पूरा साथ देकर चुदवा रही थी. मालकिन मुझे देखते हुए बोली- सुरेश, तू भी अपनी पैन्ट और शर्ट निकाल दे.

बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो दोस्तो, मेरा नाम शाहीन शेख है, मैं अभी सिर्फ 30 साल की हुई हूँ। शादीशुदा हूँ, लेकिन अभी तक माँ नहीं बन पाई हूँ। शादी को 6 साल हो गए हैं, और मेरे शौहर पिछले 6 साल से हीअपना पूरा ज़ोर लगा रहे हैं। मगर फिर भी मेरी गोद खाली है।अब आप सब के लिए ऐसी कोई ऑफर नहीं है. पिंकी अपनी जीभ से मेरे पूरे लंड को रगड़ कर चाट रही थी, लंबा होने के बावजूद वो मेरे लंड को पूरा अंदर ले रही थी.

मतलब अब मुझे सुधीर और राजेश्वर सर और मेरे चारों बॉयफ्रेंड यानि मेरे छह चोदनकर्ता मुझे रोज चोदते और बहुत ज्यादा मजा देते!मुझे भी उनसे रोज चुद कर बहुत मजा आता.

हिंदी सेक्सी पिक्चर वाली

कुछ देर बाद नीतू अलग हुई और शावर जैल लेकर मेरे और अपने जिस्म पर अच्छे मला. फिर कुछ देर मेरे लंड पर कूदने के बाद उसने अपनी गांड मेरे सामने उठा दी और घोड़ी बन गयी. मैं बोला कि कुछ नहीं होता यार … तुम यूँ समझो कि मैं यहां हूं ही नहीं.

फिर उन्होंने पलंग के पास कटोरी रखी और सारे दरवाजे अन्दर से बंद कर दिए. उसने लंड का स्पर्श चुत पर पाया तो अपनी गांड को उठाते हुए मुझे आंख मारी. वो बोली- क्यों, भाभी को चोदने का बहुत मन कर रहा है?मैंने सर हिला कर हां बोल दिया.

मैं अभी भी चुप थी, मेरा भाई फिर बोल पड़ा- दीदी, आप मुझ पर भरोसा कर सकते हो.

इतना कहकर मैंने शैली की बुर के लब खोलकर अपने लण्ड का सुपारा रखकर ठोंका तो सुपारा बुर के अन्दर हो गया, इसके बाद मैंने धीरे धीरे दबाकर लण्ड अन्दर करना शुरू किया तो आधा लण्ड भी अन्दर नहीं जा पाया. हर रात की तरह एक रात को मैं फ़ेसबुक पर भाभियों और आंटियों की प्रोफाइल चैक कर रहा था. आप सच में और भरोसे लायक हैं या नहीं! यह जानना चाहती हूं।उन्हीं दिनों मेरे घर में एक फंक्शन आया तो मुझे काम से बार-बार घर से बाहर जाना पड़ता था.

ऐसा उन्होंने तीन चार बार किया और आधा गलास वाइन मुझे पिलाई और आधा खुद पी गये।फिर उन्होंने मुझे बेड के कोने पर लिटाया और ऊपर की तरफ मुँह करने को कहा। मुझे उनके आँड और नौ इंच का लंड दिखाई दे रहा था। उन्होंने दूसरे ग्लास में अपने लोड़े को डुबोया और मेरे मुँह में डाल दिया।टेस्ट वनीला आइसक्रीम का था. आपको जवान लड़की की चुदाई की मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी प्लीज़ मेल करके मुझे जरूर बताएं. और हां आज मैं सच में बहुत ज्यादा खूबसूरत लग रही थी, कपड़ों की वजह से नहीं, बल्कि अंतर्मन की खुशी की वजह से.

मैं सायरा की तारीफ़ करूंगा कि उसने किस तरह हम दोनों को एडजस्ट किया था।फिर एक दौर आया, जब सायरा ने माँ बनने की इच्छा जतायी और अपनी इच्छा के अनुसार मेरे बीज को अपने अन्दर लेकर मातृ्त्व का आनन्द लिया. आदी घर में अन्दर आया, थोड़ी देर इधर उधर हुआ और 11 बजे मैंने उसे कमरे में भेज दिया.

मेरे दोनों पर्वतों का बराबर मर्दन करते हुए संदीप ने उन्हें सम्मान दिया और कुछ देर तक वहां अपनी जिह्वा का करतब दिखाने के बाद वापस चूत की और लौटने लगा. हम दोनों ही सेक्स करना चाहते थे, पर कहीं जगह का जुगाड़ नहीं बन पा रहा था. तो उसने मुझे कहा- ऐसी ही चैट करो, नहीं है व्हाटसअप नंबर!मैं बोला- ठीक है, नहीं देना है तो मत दो.

उसके बाद वो अचानक से बोला- बंध्या, साली कुतिया, मेरा रस बाहर आने वाला है … आह्ह … तेरी मस्त गांड को भर दूंगा आज मैं अपने रस से.

आपको कैसी लगी मेरी कालगर्ल बन कर इस नर्क से निकलने की क्सक्सक्स कहानी?मुझे मेल करके बताइएगा।[emailprotected]. हम सभी में से सबसे पहले मनु ने सोने चलने की बात कही, तो दीदी ने हम सबकी सुविधा के लिए मनु को परमीत के कमरे में भेज दिया और मुझे अपने साथ कमरे में ले आईं. फिर कुछ देर मेरे लंड पर कूदने के बाद उसने अपनी गांड मेरे सामने उठा दी और घोड़ी बन गयी.

मैं रोज अपनी प्यासी चूत को शांत करने के लिए इसमें टॉर्च डाला करती थी. मनु और मैंने कॉलेज से ही संदीप के घर जाने का प्लान बनाया था, क्योंकि परमीत ने अपने जाने के लिए पहले ही मना कर दिया था.

इधर नीचे से मनोज ने अपनी साली श्वेता की नंगी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. हम वापिस आ रहे थे कि अचानक स्कूटी झटके मारने लगी और फिर बंद हो गयी. चाची ने नीचे से अपनी गांड उठा कर लंड लेने की व्याकुलता दिखाई, तो मैंने चाची की चुत के छेद पर लंड फंसा कर एक ज़ोर का धक्का दे दिया.

లేడీస్ సెక్స్ వీడియో

मैंने उसकी चूची छोड़ कर उसके हाथ से सिगरेट ली और धुंआ उड़ाते हुए फिर से उसकी गांड में लंड चलाने लगा.

मैं इंदौर पहुंच कर प्रीति भाभी के बताए हुए ठिकाने पर पहुंच गया और भाभी की उस सहेली को कॉल किया. संतरों का रस पीते पीते मैंने अपना हाथ उसकी स्कर्ट में डालकर उसकी बुर मसलना शुरू कर दिया. बड़ा शर्मीला था … एक सप्ताह हो चला था पर वो बात बिल्कुल नहीं करता था.

अब मैं तेजी के साथ उसकी चूत में उंगली कर रहा था और उसके होंठों को चूसते हुए उसकी जीभ को खींच रहा था. फिर मैं अपने रूम में आई और अपने कपड़े उतार कर मैंने वही गोवा वाली नाइटी पहन ली. अनारकली तस्वीरें[emailprotected]चुदाई की कहानी का अगला भाग:फ़ेसबुक से वाली भाभी की जिस्म की आग-2.

चाचा का लंड खड़ा हुआ था और उन्होंने चाची की नाइटी को उठाकर उनकी चूत को नंगी कर दिया. इस समय कमरे में दोनों की कामुक आवाजें और फच फच फच की आवाजें गूंज रही थीं.

उनमें से एक ईमेल मुझे दिल्ली के राहुल गुप्ता का भी आया था जो बहुत ही मैच्योर व्यक्ति थे उनकी उम्र 40-42 साल के आसपास थी. नीतू शायद इसके लिए तैयार थी, उसने मस्ती से अपना निचला होंठ अपने दांतों में दबा लिया. उसने मुझ से पूछा- क्या आप आ सकते हो?तो मैंने कहा- अभी कुछ दिन पहले ही छुट्टी लेकर हम सोलन गए थे.

जीवन में पहली बार अपनी पत्नी को ही नंगी देखा था और अब सिल्क!सिल्क ने मेरी शर्ट उतार फेंकी थी. फिर मैंने घर पर आदी को कॉल करके बता दिया कि हम पहुंच गए हैं, मम्मी को बता देना. मैंने झट से उनके स्तन अपने हाथों में पकड़ कर उन्हें कचाकच दबाने लगा.

संगीता को दिलासा देते हुए मैं लण्ड को अन्दर सरकाना जारी रखे हुए था.

जब मैं बाहर आया, तो श्वेता दीदी ने मुझसे पूछा- क्या हुआ अर्णव … तू अभी तक सोया नहीं. फिर मुझे चूमते हुए सोफे पर ठीक उसी तरफ लिटा दिया, जैसे थोड़ी देर पहले वो लेट कर अपना लंड चुसवा रहे थे और खुद ठीक मेरी तरह ही मेरी दोनों टांगों के बीच बैठ गए.

हम दोनों नंगे ही उठे और एक दूसरे से चिपके हुए ही बाथरूम में घुस गए. शायद संदीप की बहन को भी अपनी किसी सहेली के यहां जाना था पर हमारे होने की वजह से वो नहीं जा रही थी. उसने ममता की चूत को ऐसा चूसा कि ममता तो कसमसा गयी और उसने अपना पानी छोड़ दिया.

उसके बाद उसने मेरी छाती को चूमा चाटा और फिर वो नीचे की तरफ जाने लगी. वो रास्ते में मेरे हाथों को नीचे करवाते रहे और अपने खड़े लंड के पास ले गये। मैं आराम से पीछे बैठे बैठे यही सोच रहा था कि उनको मेरी कितनी चिंता है और वो बस मेरे गिर जाने के डर से ही बार बार मेरा हाथ टाइट करवा रहे हैं. वे मुझे चूसते हुए एक एक करके मेरे सारे कपड़े निकालने लगे और धीरे-धीरे मुझे पूरी नंगी कर दिया.

बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो मेरी गांड पहली बार चुदी थी, मेरी गांड फट चुकी थी, उसने बहुत दर्द हो रहा था. पांच मिनट तक आहिस्ता आहिस्ता से वो मेरी चूत में लंड को अंदर-बाहर करते रहे.

मुरालीलाल

अगले ही पल दीदी ने अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और मुझे प्यार करने लगी. वो वासना में इतनी जल रही थी कि क्या बोल रही थी, उसको भी नहीं पता था. इस वजह लगभग 1-2 घंटे के लिए सड़क बंद हो गई पानी भरने के कारण। इस शहर की एक कनेक्टिंग रोड है जहाँ पानी भर जाता है फिर पंप से उस को खाली करते हैं.

मेरी अभी उनसे नजर हटी नहीं थी कि तभी उसने अपनी पैंटी उतारकर मेरी नजरों के सामने कमर हिलाई. मैं सोचने लगा था कि यदि इस मादरचोद अंकल की जगह मैं अपनी मॉम की चुदाई कर रहा होता तो बहुत प्यार से उनकी चूत की चुदाई करता. सेक्सी पिक्चर चित्र वालामैं जब से आया हूँ यही सोच रहा हूँ कि तुम्हारी चूत जब लण्ड मांगती होगी तो तुम क्या करती होगी? मुझे देखो मेरा क्या हाल हो रहा है!”इतना कहकर मैंने मनीषा का हाथ अपने टनटनाये लण्ड पर रख दिया और अपने होंठ मनीषा के होठों पर.

दीदी अनुभवी थीं … इसलिए लीड रोल में थीं और मैं बस उन्हें फॉलो कर रही थी.

आप लोगों को तो पता ही है दोस्तो … कि पंजाबी लोग गांड मारने के कितने शौकीन होते हैं. इतना कह कर अब अपना अंगूठा निकाल कर विवेक ने अपनी जीभ को मेरी चूत में डालना शुरू कर दिया.

ओह्ह आह आह्ह आअह आआह उफ्फ!”चूत का खट्टा रस मैं पी रहा था चूत को चाटते हुए और सिल्क ‘आय हिश स स उफ़ ओह्ह आह आअह आआह बस … बस … बस … संदीप लीव मी फ़क मी संदीप!’ कर रही थी. जिस दोस्त ने ये बात कही थी, उसकी ये बात सुनकर मुझे कुछ अज़ीब सा लगा. मेरा दोस्त कान में कहने लगा लगता है, तू भी इसे देख कर पागल हो गया है.

शान को छोड़ कर ज़ेबा से जन्मे बच्चे मेरे बेटे भी थे और भांजे भी थे.

मैं- पहले तेरी चुत का स्वाद तो चख लेने दे साली कुतिया … मैं अभी चुत और चाटूँगा और तेरी चुत का रस पियूंगा … फिर तुझे लंड नसीब होगा. शायद लंड को साफ करने गया था।तो मैं ऊपर चली गई तो ऊपर के कमरे बंद थे. मेरा दिल जोरों से धड़क रहा था, क्योंकि मैं बहुत बड़ा कदम उठाने जा रहा था.

सेक्सी डॉग वालीमनु ने थोड़ी सुस्ती से जवाब दिया- दीदी वो दोनों अन्दर बातें कर रहे हैं. मैंने उसको समझाते हुए कहा- पागल हो गया है क्या, हम लोग शादी में आये हुए हैं.

बच्चों का खेलने का गेम

आलिया मुझे उठाने के लिए आवाज लगाई- ओ मेरे प्यारे राजा … अब उठ जा … सुबह के आठ बज गए हैं, हमें शॉपिंग करने जाना है. सभी पाठकों को भी बहुत-बहुत धन्यवाद जिन्होंने मेरी कहानीमैं भी जिगोलो बन गयाको पढ़कर मेल किया, लेकिन उन पाठकों से मैं एक अनुरोध करना चाहता हूं कि हम किसी के साथ भी सेक्स करते हैं इसका मतलब यह नहीं है कि उसका नाम मोबाइल नंबर पता सार्वजनिक किया जाए. मैंने उसकी चूत में उंगली डालते हुए उसकी चूत का हस्तमैथुन करना शुरू कर दिया.

कई बार मैं विशाल को खुद ही मेरे बदन को छूने का मौका देती थी ताकि वो मुझे पटक कर चोद दे. अगली सुबह लगभग दस बज रहे होंगे, श्वेता दीदी मेरे घर आई … वो अपने हाथ में वहीं कॉपी लिए हुए थी, जो दीदी ने कल श्वेता दीदी को दी थी … मेरी दीदी और मम्मी थोड़ा जल्दी में थीं. जी हां … आपने ठीक समझा, दरवाजा खोलने वाली लड़की कोई और नहीं, वो जीन्स वाली मॉडल थी.

इस सेक्स कहानी को शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में कुछ बताना चाहूंगा. मैंने उनकी गांड के दरार में तेल डाला और उनकी गांड देखते हुए उंगलियां ऊपर नीचे करने लगा. दरअसल समंदर के पानी में से निकलते हुए उसकी सेक्सी मस्क्यूलर बॉडी, स्पीडो को सरकाते हुए दिखने वाले उसके आंधे नंगे चूतड़ और आगे की ओर उसके लंड का उभार देखने के लिए ही मैं वो गाना बार-बार देखा करता था.

मोमबत्तियों को बुझाने के बाद, वसुंधरा के बहुत मना करने के बावज़ूद मैं सभी जूठे बर्तन डाइनिंग टेबल पर से उठा-उठा कर किचन में सिंक में रखने लगा और वसुंधरा किचन में कॉफ़ी बनाने लगी. जब उसने अपना लंड बाहर निकाला तो उसका वीर्य मेरी चूत से निकलकर मेरी जाँघों पर बहने लगा.

रेखा मेरे लण्ड के पास आई, उसे छूकर दोनों हाथ से प्रणाम किया और बोली- मेरी तौबा, अब आज नहीं … फिर किसी दिन!मैंने कहा- जैसी तुम्हारी मर्जी.

” कहकर उसको अपने सीने से लगाया और उसकी चूचियां अपनी छाती से रगड़ने लगा, साथ ही साथ मैंने उसकी बुर में ऊंगली चलाना शुरू कर दिया. कौन सा कंडोम सबसे अच्छा हैमैंने आलिया को बेड पर पटक दिया … और आलिया के ऊपर चढ़कर उसके होंठों को चूमने लगा. 𝐭𝐚𝐦𝐢𝐥 𝐬𝐞𝐱 𝐯𝐢𝐝𝐞𝐨𝐬सेक्स के साथ ही अपनी पुरानी यादें ताजा की और फिर वहां से दुबारा मिलने का वादा करके चले आए. मैं दीदी के बदन को चूमने लगा और उनकी ब्रा को निकाल कर उसके रसीले मम्मों को मसलने लगा.

दोस्तो, पिछले साल मेरी एक सेक्सी कहानीदोस्त की कुंवारी मौसी को चोदाअन्तर्वासना पर आई थी जिसे आप पाठकों ने काफी पसंद किया था.

उसके बाद हम दोनों के बीच में क्या हुआ? पूनम के जिस्म को लेकर मेरे दिल में वासना की जो चिंगारी उठी थी उसका क्या हुआ? रेशमा के साथ और क्या-क्या किया? वो सब मैं आपको अपनी आने वाली कहानियों में बताऊंगा. मैंने कहा- तुम किस प्रोजेक्ट की बात कर रही हो?उसने मेरे लंड को हाथ से मसला और कहा- इसको अन्दर करने वाला प्रोजेक्ट कह रही हूँ. तभी उन्होंने कहा- पहले अपने घर पर जाओ और कह कर आओ कि भाभी को कुछ काम है, इसलिए मुझे वहां 2-3 घंटे लगेंगे.

रेखा के चूतड़ के नीचे दो मोटे मोटे तकिये रखे तो उसकी चूत आसमान में टंग गई, उसकी दोनों टांगें हवा में तैर रही थीं. फिर मैं स्नेहा भाभी की कमर में किस करने लगा और हाथ को प्यार से उनकी कमर पर सहलाने लगा, जिससे स्नेहा भाभी को और भी मजा आने लगा था. मैं मन में सोचने लगा माय गॉड … कोई टाइम का इतना पक्का कैसे हो सकता है.

राजा रानी रिजल्ट

लंड लेते ही भाभी ने एक मादक सिसकारी ली और धीरे धीरे ऊपर नीचे होने लगीं. अधिकारी- अरे नहीं सर आप 10 मिनट का टाइम दो, मैं आप का काम करता हूँ आप बाहर इंतज़ार करें. इसके बाद भाभी ने मेरी आंखों पर काजल लगा दिया और होंठों पर लिप लाइनर लगा दिया.

मोटी होने के कारण उसको घोड़ी बने रहने में दिक्कत होने लगी तो बेड पर लिटा दिया और खड़े खड़े चोद दिया.

वो भी मेरे होंठों पर जीभ फेर रही थी और बहुत बहिशयाना तरीके से मेरे होंठ काट रही थी.

इधर मेरी चूत का भी इतना बुरा हाल हो गया था कि मैं अपनी पूरी ताकत लगा कर अपनी बहन के मुंह में अपनी चूत को धकेल रही थी और साथ ही अपने हाथों से वक्षों को दबा दबा कर मजा ले रही थी. गांड और चूचियां देख कर किसी का भी लंड उसको चोदने के लिए तड़प सकता था. पंजाबी का सेक्सी फोटोइस गर्म सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा कि संदीप ने मेरे दोनों पर्वतों का बराबर मर्दन करते हुए सम्मान दिया और कुछ देर तक वहां अपनी जिह्वा का करतब दिखाने के बाद वापस चूत की ओर लौटने लगा.

अभी मैं इस चुसाई का मजा ले ही रहा था कि तभी एकदम से उसने मेरे लंड के सुपारे को मुँह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी. तभी उसने अचानक से गेट खोला और कहा- अरे भाभी आप?मैं- मुझे लगा सब ठीक तो है, तो चेक करने आयी आखिर पड़ोसी हूँ. तो मैंने उसे खड़ा करते हुए कहा कि बस डार्लिंग तुम शेल्फ को पकड़ कर घोड़ी बन जाओ, थोड़ी देर में मेरा भी छूट जाएगा.

अब मेरी चिकनी चूत उनके सामने थी, मैंने अपनी चूत के बाल यानि झांटे साफ़ करके आयी थी, मुझे पता था कि आज मेरी पैंटी उतर जाने वाली है. आंटी- आह मनोज … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मनोज आह आह आह उह!आंटी की कामुक आवाज़ों ने तो मेरा भी लंड खड़ा कर दिया.

मैंने अब उसकी साड़ी को पूरा उतार दिया और मेरे सामने एक और उपहार था, पिंकी ने साड़ी के नीचे पेटीकोट एवम् पेंटी भी नहीं पहनी थी.

कल जो कुछ हुआ था, वो मेरे और मनु के लिए सिर्फ एक सबक ही था, लेकिन परमीत के लिए जैसे एक घटना थी. मैं मालकिन की दोनों जांघों में जाकर बैठ गया और उनकी जांघें दबाने लगा. उधर से परमीत शॉर्ट्स टी-शर्ट में और मनु लोवर टी-शर्ट में गजब ढाते हुए निकलीं.

सेक्सी बंगाली चुदाई मैं- अभी फार्महाउस खाली है क्या?प्रीत- हां खाली है … क्यों क्या हुआ?मैं- क्या मैं वहां एक दिन रह सकती हूं … प्लीज़ डार्लिंग. मैं तुरंत अपना लंड उसके मुँह में डालने लगा लेकिन प्रीति ना-नुकुर करते मेरा लंड अपने मुँह में ले ही लिया और धीरे धीरे चूसने लगी.

अब दीदी एकदम नंगी हालत में बिना कुछ कहे अपनी पीठ को अंकल की तरफ़ करके लेटी हुई थीं. तभी अभय बोला- यार, मैं भी नंगा हो जाता हूं और इसकी भी यह नाइटी उतार देते हैं।विवेक बोला- अभय जी, आप अपने कपड़े उतार लो. ब्वायफ्रेंड के साथ तो सेक्स नहीं हो सकता था क्योंकि मेरा कोई ब्वायफ्रेंड बना ही नहीं था.

छोटी बच्ची का सेक्स वीडियो एचडी

मैं- आह … बिल्कुल मेरे पति जैसे कर रहा है, चोद साले चोद!रोहित- ले साली भाभी, ले चुद चुद. … इसीलिए तो आ जाती हूं ताकि साथ में मिलकर अपना प्रॉब्लम सॉल्व कर लें … आंटी प्रिया है कहां … दिखाई नहीं दे रही है?मम्मी- अच्छा है. उन्होंने कहा- मैं इस समय तुम्हारा पति हूं और पत्नी को पति की बात माननी चाहिए.

हमने बड़े मजे से खाना खाया और इस दौरान हम दीदी से और ज्यादा घुल-मिल गए … या कहा जाए, तो खुल गए. चित्रा- अब पूरी रात सिर्फ किस ही करोगे या आगे भी कुछ करोगे?दीदी की बात सुनकर मैंने आलिया को घुमा दिया और उसकी ब्रा का हुक खोल कर निकाल दिया.

उसके बाद एक हफ्ते बाद मैंने उससे हाय लिख कर मैसेज किया तो उसने भी हाय में रिप्लाई किया.

हमने समय का पता ही नहीं चला।जल्दी से मैंने कपड़े पहने और आते समय मैंने मैम और नाज़िमा को किस किया. फिर वो उठा और अपना नाईट गाउन लपेट कर बाहर निकल गया।मैं भी उठी और बाथरूम में जाकर अपने बदन को साफ करके वापस आकर लेट गई।आगे की कहानी पढ़िये अगले भाग में।दोस्तो, मेरी चूत की बड़े अरबी लंड से चुदाई की यह सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके बताइएगा।[emailprotected]. संजू अलग होते हुए बोली- बहुत भूख लगी है, चलो पहले खाना खा लेते हैं.

जिसकी मदहोश कर देनें वाली महक के कारण मैं अपने आपको रोक नहीं सका और मैंने नीचे रुख करते हुए मामी की चूत को चूम लिया. उन्हीं दिनों मैंने फिट रहने के लिए और अच्छा फिगर बनाने के लिए जिम जाना शुरू कर दिया. आअह आह आह उफ्फ …” की तेज़ सिसकारी सिल्क के मुँह से निकली और फिर मैं बारी बारी से दोनों जांघों को चाटने लगा जीभ निकाल कर!मेरे हाथ खुदबखुद चूत पे पहुंच गए, पैंटी के ऊपर से उसको मसलने लगा.

वसुंधरा के होंठ मेरी नाभि पर और दोनों उरोज़ मेरी दोनों जांघों के साथ कस कर सटे हुए थे.

बीएफ सेक्सी चुदाई का वीडियो: मैं वहीं पास में चाय ठेले पर चाय पी नाश्ता किया और बाइक उठा कर घर आ गया. अंकल बोले- मतलब?मम्मी अपने पल्लू को हटाते हुए बोलीं- अगर आप का मन हो, तो आप मेरे साथ ट्राई कर लो.

वो हांफते हुए बोले- कोई बात नहीं जान, मैंने दरवाजे को अंदर से लॉक किया हुआ है. अंकल मुस्कुरा कर बोले- नेकी और पूछ पूछ … प्यासे की प्यास बुझाना तो बड़ा नेक काम होता है … फिर मैं क्यों नहीं आपकी बात मानूँगा. मैंने उनके हाथों को ऊपर कर दिया और मैं उसकी बगलों (आर्मपिट) को चाटने लगी.

वो मेरी पीठ पर अपने दांतों से काट रहा था और अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों चूचों को बहुत जोर जोर से दबा रहा था।कुछ देर में मेरे दूध एकदम लाल हो गए और बहुत जलन होने लगी।फिर उसने अपना एक हाथ मेरे चूत में लगा दिया, अपनी दो उंगलियां मेरी चूत में घुसेड़ दी और जोर से अंदर बाहर निकालने लगा। फिर उसने अपनी एक और उंगली मेरे गांड में पेल दी.

ससुर जी ने अंदर आते ही मुझे आवाज़ लगाते हुए कहा- कोमल बेटा, चाय बाद में बनाना. बाहर बेटे ने जिद पकड़ ली कि रात को मूवी देखेंगे और डिनर बाहर ही करेंगे. जैसे ही मेरे दिमाग में यह ख्याल आया, मैं उठा और सायरा के बेड रूम से उसके लिये उसकी साड़ी-ब्लाउज के साथ मैचिंग ब्रा-पैन्टी लाकर अपने बेड पर रख दिये और वही आराम कुर्सी पर आंख मूंद कर बैठ गया।थोड़ी देर के बाद सायरा की पायल की झंकार मेरे कानों में पड़ने से मेरी आँखें खुल गयी.