बीएफ लड़की और कुत्ते की

छवि स्रोत,सेक्सी निगम

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट सेक्सी वीडियो 2018: बीएफ लड़की और कुत्ते की, इससे वो तिलमिलने लगी थीं और मेरे सर को पकड़कर जोर जोर से अपनी गांड चूत में दबाने लगी थीं.

सेक्सी वीडियो वर्ल्ड कप

तभी अनन्या की मदभरी आवाजें आने लगीं और मैं फिर से कामवाली बाई से लेस्बियन को लेकर सवाल करने लगा. हॉट सेक्सी वीडियो हिंदी आवाज मेंएक तरफ से रश्मि के होंठ चुद रहे थे और दूसरी तरफ से उसकी फिल्म बन रही थी.

हम दोनों में वासना गहराने लगी और हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में कुश्ती लड़ने लगीं. सेक्सी वीडियो सेटमैं बहुत ज़्यादा गर्म हो गई थी और आशीष के होंठों को अपने होंठों से चबा कर किस करने लगी.

लेकिन उस दिन दोस्त कहीं बाहर गया हुआ था … तो मुझे नहीं मिला और मैं वापस घर आने को निकला.बीएफ लड़की और कुत्ते की: मैं उनके दोनों मम्मों को मसलने लगा और उनकी दोनों चूचियों को बारी बारी से पीने लगा.

अब तक हमारी चाय खत्म हो चुकी थी और हम दोनों काफ़ी बातें कर चुके थे.उन्होंने मेरा हाथ पकड़कर मुझे अपने करीब ले लिया और कहा- इतनी खूबसूरत हो तुम, ऐसे रूठा मत करो.

आदिवासी रोमांटिक सेक्सी - बीएफ लड़की और कुत्ते की

मैंने हैरानी से कहा- इतना लंबा!हां यही आज से तेरा मालिक है … और तुझे इसी की खिदमत करनी है.मैंने चुत में से लंड को बाहर निकाल लिया और मालती से कहा- सुबह होने वाली है.

चार दिन बाद मेरे घर से सबको फिर से बाहर जाना था, उस दिन फिर से मैंने जुगाड़ लगाया कि मैं घर पर ही रुक जाऊं और दिन भर आशीष का लंड चुत में लूं. बीएफ लड़की और कुत्ते की तभी मेरी दिमाग में एक शरारत सूझी कि क्यों न मैं भी बुआ को हल्दी लगा दूं.

मैंने लंड चैन से बाहर निकालने की एक्टिंग की और उससे कहा- नीतू जरा यहां आईओ!वो करीब आई, तो मैंने कहा- यार ये चैन नहीं खुल रही है, ज़रा खोल कर उसे बाहर निकाल दो.

बीएफ लड़की और कुत्ते की?

तो मेरी पत्नी उधर सभी से मेरा परिचय कुछ अपने रिश्तेदारों से करा रही थी. उफ … रंगोली की काली ब्रा से उसके बड़े बड़े गोरे गोरे दूध बाहर आने को बेताब थे. उसकी बातों से मुझे ये पता चला कि उसका पति उससे दस साल बड़ा है और इसकी वजह से वो अभी भी डिप्रेशन में रहती है.

उसने मम्मों को हाथ से दबा कर टाइट कर दिया और लंड आगे पीछे करवाने लगी. मैं शुरू से ही लड़कियों के साथ खेला और पढ़ता रहता था, तो मेरा स्वभाव लड़कियों जैसा हो गया था. नीचे लाल फूलों वाली पैंटी में अलीज़ा की बिना वालों वाली चूत गजब की फूली हुई लग रही थी.

मेरी चूत इस समय इतनी ज्यादा गीली और रसीली हो चुकी थी कि उसका पूरा लंड एक बार में ही अन्दर तक घुसता चला गया. उसकी स्माइल देख कर मेरा तो मन करने लगा कि इसको यहीं अपनी गोद में बिठा कर चोद दूं, पर ये पोर्न मूवी थोड़ी थी … जो ऐसा हो जाता. फिर उसने पूछा- तुम किस किसको चोद चुके हो बिल्डिंग में!मैंने कहा- रेखा आंटी और बुआ को भी.

उसे चलने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी … लेकिन थोड़ी देर बाद साली साहिबा ने सब अड्जस्ट कर लिया. कुछ देर बाद मेरे लंड ने वीर्य की धार छोड़ दी और मैं उसके ऊपर लेट गया.

ये सब देख मैं भी चुपके से बाहर निकाल गया और कुछ देर बाद घर पर आया तो मैंने मां को आवाज दी- मुझे भूख लगी है … मेरे लिए मैगी बना दो.

उनका नाम लेकर अक्सर हस्तमैथुन भी कर लेता था लेकिन मेरी उनको छूने की कभी हिम्मत नहीं हुई, ना ही कभी उन्होंने ऐसा कुछ किया, जिससे मुझे लगे कि वो मुझे पसंद करती हैं या मेरे साथ सेक्स करना चाहती हैं.

उसने अपने मम्मों पर ब्रा नहीं पहनी थी, जिसकी वजह से उसकी कुर्ती उतरते ही मुझे उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे थे. इसके बाद मैंने उसे ग्वालियर में कई बार चोदा और ग्वालियर को ही अपना कर्मक्षेत्र बना लिया. एकदम दूध सी सफेद और पूरे चेहरे पर कहीं कोई तिल तक का नामोनिशान नहीं था.

वो टीवी और फिल्मों में काम करना चाहती थी … क्योंकि वो बहुत सुंदर दिखती थी. उसने इस फोटो में लाल रंग की साड़ी के साथ स्लीवलैस ब्लाउज पहना हुआ था. उसने मुझे बताया कि वो पैरामेडिकल की स्टूडेन्ट है और उसके अब्बू सरकारी नौकरी करते हैं.

मैंने पूछा- यह क्या कर रहे हो आप?वो बोले- तेरे मालिक की खिदमत की तैयारी की तैयारी.

आंटी बोलीं- साले अब चोद ना … जल्दी से अपना लंड चुत में डाल दे … मेरी चुत में आग लगी है मादरचोद … मुझे चोद दे. मैंने कहा- भाभी क्या हुआ?वो कहने लगीं- अचानक पेलने से दर्द सा होता है, इसलिए डर से आगे हो जाती हूँ. उसने मेरे लंड का मजा कैसे लिया?सभी चूत की मालकिनों और लंड के मालिकों को मेरा नमस्कार!दोस्तो, मेरा नाम मनोज है और उम्र 35 साल की है.

उसने लंड हाथ में पकड़ लिया और आगे पीछे करके सुपारे को चमड़ी से आजाद कर दिया. अब मैं इस बात को दावे से कह सकता हूँ कि चुत चुदाई से ज्यादा लंड चुत की चुसाई में ज्यादा मजा आता है. मैं जेठ जी पर प्यार भरा गुस्सा दिखाते हुए उन्हें आंखों ही आंखों में इशारा करने लगी कि अभी नहीं.

वो धीमी आवाज में बोली- ये क्या चुभ रहा है?उसकी बात सुनकर मैं रुक गया और जरा उठ सा गया.

मुझे कमरे में आया देखकर वो हड़बड़ा गयी और बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- लैपटॉप देने आया था … हो गया मेरा प्रेजेंटेशन पूरा. मैं- आह चूस तो रही हूँ जान … क्या मस्त लौड़ा है तुम्हारा … मुझे इस लंड की रांड बना दो.

बीएफ लड़की और कुत्ते की फिर हम दोनों ने तय किया कि जब तक कमरे का इंतजाम नहीं हो जाता, तब तक यूं ही रगड़ सुख से हम काम चला लेंगे. भाभी 69 में बिस्तर पर लेट गईं और हम दोनों लंड चुत की चुसाई का मजा लेने लगे.

बीएफ लड़की और कुत्ते की हॉट गर्ल्स लव सेक्स … पति और उसके दोस्त का लंड ले चुकी एक बीवी की चूत की आग बुझाये नहीं बुझ रही थी। वो जानती थी कि पराये मर्द से सेक्स गलत है. अभी भी भाई मुझे अपनी गोद में उछाल देते हैं तो कभी मुझे घोड़ी बना देते हैं.

मैंने कहा- किस्मत वाला तो हूं तभी तो जाटनी को उसके घर में खानदानी पलंग पर तीन रात चोदा … वो भी कुंवारी जाटनी की सील तोड़ी.

बीएफ फिल्म लंड चूत वाली

बॉय बॉय सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक अमीर कमसिन चिकने लडके को गांड मरवाने की चाह थी. उसके बाद चाचा जी ने दुकान शहर में खोल ली है और चाची हमारे गाँव से दूर चली गयी हैं. मैं अपने ही ख्यालों में ही थी कि राजीव सर ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और मेरा ये सपना उनके होंठों के स्पर्श से टूट गया.

जुनैद मुझे चूम कर चले गए और जाते जाते वो मुझे अपना मोबाइल नम्बर लिख कर दे गए. रविवार की शाम मुझे उनके यहां जाना था, तो मैं शाम से ही तैयारी में लग गयी थी. मेरी उम्र 25 साल है, रंग गोरा है, हाईट 5 फुट 9 इंच है, दिखने में स्मार्ट दिखता हूं.

यह मेरी 44 साल की जिंदगी का पहला अनुभव था, जब मैं किसी मर्द का रस चाट रही थी.

इस भाग में बस इतना और जान लीजिए कि मेरी लंड चुसाई सिर्फ एक लंड तक ही सीमित नहीं रही थी. जैसे ही मैंने उनकी तरफ देखा, तो वो मुस्करा दीं और मेरे बगल में ही बैठ कर चाय पीने लगीं. उन्होंने मुझसे मेरी जानकारी लेते हुए पूछा- क्या तुम मेरी बेटी के साथ ही काम करते हो … रहने वाले किधर के हो?वगैरह वगैरह.

इस शारीरिक प्रतिक्रिया के अलावा मेरे दिमाग में यह चल रहा था कि कहीं ये गलत तो नहीं हो रहा है?हम दोनों ने कहां से शुरू किया था और कहां जा रहे है? नंबर दे दिए, तो कहीं कोई बड़ी प्रॉब्लम खड़ी ना हो जाए. मेरी समझ में ही नहीं आ रहा था कि उससे क्या और कैसे बात शुरू करूं, तो मैंने खाना खिलाने की बात से उससे बात करनी शुरू कर दी. दोस्तो, आपको मेरी जूनियर गर्ल सेक्स कहानी अच्छी लगी या नहीं? मुझे कमेंट्स में बताएं.

मैंने उसकी तरफ अपनी बांहें फैला कर पूछा- क्या मुझे इजाजत है कि मैं अपना सुनहरा पल पा सकूं!उसने उसी पल उठ कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और वो मेरे होंठों से होंठ लगा कर चूमने लगी. अंकल लंड को मां के मुँह से बाहर निकाला और देखने में ऐसा लग रहा था कि आज इस लंड से सच में मां की चुत फट ही जाएगी और जिस तरह से कुंवारी चुत सुहागरात में फट जाती है उसी तरह का खेल होने वाला है.

मैंने सुशी जी से कहा- जाओ जाकर देखो, कौन है?जब सुशी जी रूम से बाहर निकलीं, तो अपने मां पापा के रूम में झांक कर देखने लगीं. मैंने एक हाथ ऊपर ले जाकर उसके एक निप्पल को अपने अंगूठे और उंगली के बीच में पकड़ लिया और दबाने लगा. मैं धीरे धीरे उसके पैरों की सहलाने लगा और वो भी कोशिश करके धीरे धीरे मेरे पास को खिसक रही थी.

उसने मुझसे कहा- राज, मालती को तुम कंडोम लगाकर चोदना और उसकी गांड को जमकर चोदना.

लड़के पैदा करने के बाद से शबाना और मुमताज की चूत कुछ ढीली हो गई थीं लेकिन नाज की चूत अभी भी कमसिन थी. कुछ देर में नाज सामान्य हो गई, शायद उसे मजा आने लगा था, अब वो भी रसपान और चुम्बन का जवाब देने लगी थी. मैं कपड़े धोने के बाद सुखाने के लिए छत में लेकर जाने लगी तो जेठ जी ने मेरे हाथ से बाल्टी ले ली और वो छत पर कपड़े सुखाने के लिए चले गए.

जल्दी ही वासना भड़क गई और हम दोनों एकदम नंगे एक दूसरे की बांहों में जकड़े हुए चूसा चूसी करने लगे. मैं चीख पाती कि तब तक आशीष ने अपने मुँह को मेरे मुँह में पूरा घुसा दिया.

मुंतज़िर- गुड मॉर्निंग फरमान कैसे हो!वो मुझे विश करके बातें करने लगीं. अब तो मेरा मन भर गया है उसके साथ!उसने कहा- अभी से आपका मन भर गया?मैंने कहा- हाँ!उसने कहा- आपके बच्चे कितने हैं?तो मैंने कहा- अभी प्रियंका 7 महीने से प्रेग्नेंट है. खिड़की पर जाली लगी है, जो रोशनी वाली साइड से दिखती है … लेकिन अंधरे वाली साइड से नहीं.

बीएफ हिंदी में कुंवारी लड़कियों की

ये कह कर उन्होंने मेरे पतली सी कमर में अपने हाथ को डाल दिया और खुद की गोद में खींच कर मुझको बैठा लिया.

उसके झटके तेज़ हो रहे थे और वो पागलों की तरह मेरी चुत चोदे जा रहा था. इस फेंटेसी Xxx स्टोरी में मैंने तारक मेहता का उल्टा चश्मा वाले सोढी और उसकी बीवी की गांड चुदाई की कल्पना की है. अब तो कभी कभी हम दोनों की घंटों बात होती, हम दोनों का एक दूसरे में इंटरेस्ट बढ़ने लगा था.

मेरे लंड की खासियत ये है कि जब ये किसी की चुत में जाता है तो उसकी पूरी तरह से संतुष्टि के बाद ही बाहर आता है. इसके अगले दिन मैंने उससे थोड़ी बात करने की कोशिश की, तो उसने मेरी तरफ ध्यान ही नहीं दिया. फुल सेक्सी पिक्चर राजस्थानीएक दिन मैंने भी सोचा कि क्यों न मेरे साथ जो घटना हुई, वो मैं आप लोगों के साथ साझा करूं.

मुझे प्रियंका ने यह भी बताया कि:अशी गमन के काफी करीब आ गयी थी लेकिन जब उसको अशी और गमन के बारे में पता चला तो गमन ने अशी को छोड़ दिया. तीन साल में पहली बार मैं और शरद एक दूसरे से इतने लंबे समय के लिए अलग रहे थे.

मैंने लंड निकाल लिया और हम दोनों बाथरूम में जाकर एक दूसरे को साफ़ करके फिर से बिस्तर पर आ गए. मौसी धीरे से बोलीं- कितना सारा था रे ऋषि … कब से सम्भाल के रखा था!मैंने कहा- आपको देख कर कुछ ज्यादा ही उत्तेजित हो गया था मौसी. दो दिन में ही हम दोनों के बीच सेक्स को खुली खुली बात करना शुरू हो गया.

तुम्हारा चाचा मुझे चोदता ही नहीं है!कुछ और ताबड़तोड़ झटकों के साथ मैं चाची की चूत में झड़ गया और वह भी मेरे साथ एक बार और झड़ गई. यह सेक्स कहानी आज से 3 साल पहले की है जब मैं कंपनी बदल करके पुणे से हैदराबाद नया नया आया था. बकरियों की देखभाल जुम्मन के अब्बा रमजान चचा करते थे और जुम्मन शाहगंज में साइकिल मरम्मत की दुकान चलाता था.

उन्होंने पूछा- आप कब शादी कर रहे हो?मैंने कहा- अभी पढ़ाई तो पूरी हो जाए … फिर देखता हूँ.

उसने कैसे मुझे अपनी अन्तर्वासना के जाल में फंसा कर अपनी चूत चुदवायी? पढ़ें. मेरी सहायता करते हुए उसने अपना जींस उतारकर नीचे कर दिया और मैं भी उसकी चड्डी उतारने लगी.

मैंने उससे बोला- आज स्कूटी लेकर तू आशीष के साथ चली जा, मेरी कुछ तबीयत ठीक नहीं है. इसके लिए पहले तो वो नहीं मानी लेकिन बाद में जब मैंने उसको स्क्रीनशॉट दिखाए … तो वो चुप हो गई. भाभी का फिगर 38-34-40 का था, काफ़ी भरा हुआ बदन, मस्त चाल और मेरे लंड का हाल-बेहाल कर देने वाली उनकी वो अदाएं लंड को हिनहिनाने पर मजबूर कर देती थीं.

फिर भाभी ने सोचा कि वो इन दिनों का फायदा उठाएगी और विजय के लंड से प्यास बुझाएगी. मैं रंगोली के कमरे में गया, वो बिस्तर पर औंधे मुँह करके सोई हुई थी. और मैंने सुमन को पलट कर घोड़ी बना दिया, उसकी गांड के छेद में उंगली डालने लगा.

बीएफ लड़की और कुत्ते की वो दोनों ही काफी मौज मस्ती करने वाले व्यक्ति थे और अक्सर अपनी गर्लफ्रेंड्स को कमरे में लेकर आते थे. बकरी बनने से औरत की बुर टाइट हो जाती है और लण्ड बहुत फँसकर अन्दर बाहर होता है.

पत्रिका सेक्सी बीएफ

आंटी की कामवासना से भरी तेज स्वर में सिसकारियां भी निकल रही थीं- ओह्ह ओह्ह आह आह!पूरे रूम में ‘फच फच. उसको इतना ज्यादा मज़ा आ रहा था कि वो मादक आवाजों से चिल्ला रही थी- आह और और जोर से … आह अअउ … आह. मैं आरू का मदमस्त गोरा बदन पागल होने लगा और मैं तुरन्त उसके ऊपर चढ़ गया; उसके मम्मों को बुरी तरह मसलने और चूसने लगा.

तो आपने ये क्यों किया?तो भाभी बोली- गुस्सा तो थी लेकिन जब तुमने सब सच्चाई बताई तो गुस्सा चला गया. ”मुझे मेरी बांहों में कसके जकड़ कर राजीव अपना सारा वीर्य मेरी चूत में ही उतारने लगे. बीवी का सेक्सी वीडियोयहां तो कोई लड़की भी नहीं मिलेगी जिससे बातें करते हुए टाइमपास हो जाए.

रात को खाने के बाद हम दोनों जब साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे तो वह मुझसे बोला- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ.

मैं उस वक्त 12वीं कक्षा में पढ़ता था और उस अपने गांव से दूर शहर में किराए पर कमरा लेकर रहता था. तभी उन्होंने पैंट की चेन खोलकर मेरा लंड बाहर निकाल लिया उसे सहलाने लगी.

तभी मैं झड़ने लगा और मैंने सारा माल अपने हाथ में लेकर पीछे से उसकी साड़ी के अन्दर डाल दिया. सर को पहली बार मैं इस हाल में देख रही थी और ये सोच भी रही थी कि वो सही भी हैं. वो आह आह करने लगी तो मैंने एक निप्पल को अपने होंठों में भर लिया और दांतों से काटते हुए चुभलाने लगा.

और आंटी की लचकती कमर और भरी हुई थिरकती गांड को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता था.

उन्होंने कहा- चलो ठीक है, मैं तुम्हें फोन करके बताऊंगा कि कब आना है. मैंने झटपट अपने कपड़े उतार दिए और अपना लम्बा मोटा लंड मैडम के सामने लहरा दिया. तो मैंने पूछ लिया- शीना, क्या तुम मेरी गर्ल फ्रेंड बनोगी?उसने झट से हां में रिप्लाई कर दिया.

सेक्सी भोजपुरी एचडी मेंमैं फिर से बोला- तू खोल न … कौन सा आज तुझे पहली बार नंगा देख रहा हूँ. फिर मैं उसके होंठों की तरफ बढ़ा, जो लाल सुर्ख गुलाबी ऐसे लग रहे थे, जैसे दुनिया के सारे रस आज इसी के होंठों में भरे हुए हैं.

ट्विंकल खन्ना के बीएफ

मैंने उसके गले को पकड़ कर नीचे खींच लिया और जोर जोर से किस करने लगा. पहले ही धक्के में मेरा लंड आधा उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. वो मेरे पहलू में लेटने को हुई तो मैंने उसे खींच कर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूचियों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

उसी समय वो एकदम से उठ गईं और उन्होंने कहा- ये तुम क्या कर रहे हो?मैंने न जाने किस झौंक में कह दिया- आंटी मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा है. मेरा व्यवहार भी काफी अच्छा था; मैं जल्दी ही सभी से घुल-मिल जाता था. गांड मारते मारते मैंने तीन इंच लंड बाहर निकाला और ऊपर से लंड पर तेल की धर टपकाते हुए गांड लंड दोनों को तेल में भिगो लिया.

इससे मेरी उत्तेजना सातवें आसमान पर पहुंच गयी और मैं एकदम से जंगली हो गयी. मेरा लंड उनकी बच्चेदानी पर टक्कर मार रहा था, शायद इसीलिए उनका ये हाल हो रहा था. सड़क वैसे ही कच्ची थी, तो सब कुछ हिल-डुल रहा था और हरकत करना भी आसान था.

मैं बोला- हनी आधा घंटा हो गया है, बारात के आने का भी टाइम भी हो रहा है, हमें चलना चाहिए. हम दोनों की आंखें एक दूसरे की आंखों में स्थिर हो गईं और कुछ आश्चर्यचकित सी रह गईं.

”शबाना, आपकी शादी को बीस साल हो गये, आज आप पहली बार बाजार में दिखी हैं.

मेरे अन्दर इतना सेक्स आ गया था कि मैं जोर जोर से सिसकारियाँ लेने लगी. बंगाली रंडी का सेक्सी वीडियोपहले तो वो थोड़ी हिचकिचाईं … उन्होंने मुझे हल्का सा धक्का देना चाहा. देसी सेक्सी वीडियो खेत वालीकुछ देर के बाद जेठ जी ने चुदाई का तरीका बदल दिया, वे मुझे पीछे से चोदने लगे. दोस्तो, मेरी ये ब्रदर एंड सिस्टर सेक्सी स्टोरी आपको कैसी लग रही है … प्लीज़ मेल करना न भूलें.

जब हम दोनों जगह अदल बदल करने लगे तो जगह की अल्पता कहो या उसकी कामुकता … वो मेरे शरीर से पूरा रगड़ता हुआ मेरी जगह आ गया.

उसकी ब्रा निकालने के बाद उसके दोनों खरबूजे मेरी आंख में रतौंधी पैदा करने लगे थे. मैंने कहा- आप एक बार इसे आजमा कर देखो … सारा गम गलत न हो जाए तो कहना. ये क्या कर रहे हो चचा?”कुछ नहीं कर रहा!” इतना कहते कहते मैंने उसे बाँहों में जकड़ लिया और बुर्के के ऊपर से ही चूमने लगा.

कुछ देर तक चोदने के बाद मां से अंकल ने कुछ कहा तो मां ने हां में सिर हिला दिया. अब अंकल ने मां की चूत से लंड को बाहर निकाला तो मां की चूत से रस निकल रहा था. वो सूखा पेटीकोट उसी तरह से अपने मम्मों पर बांध कर बाहर आ गईं, मैं उनको इस तरह से आया देख कर पगला गया.

हिंदी बीएफ सेक्सी चुदाई हिंदी में

ऐसा कहते ही मैंने उसके दोनों चूचों को कसके अपने हाथों में जकड़ लिया. मैं अपनी गांड उठाते हुए मजा ले रही थी और कह रही थी- आह और जोर से और जोर से!सारा कमरा हमारी कामुक आवाजों की वजह से गूंजने लगा था. फिर कामवाली बाई ने अनन्या को उठाया और मुझे चित लिटा कर मेरे खड़े लंड पर बैठा दिया.

जागने पर मैंने देखा कि मैं आंटी समझ कर मेरी बहन के चूचे दबा रहा था.

मुझे रात को नींद नहीं आती थी और मैं रोज़ उसके और गमन के बारे में सोचता रहता था.

तीन साल में पहली बार मैं और शरद एक दूसरे से इतने लंबे समय के लिए अलग रहे थे. फिर मैं धीरे धीरे उसके हाथ पर अपना गाल सहलाता रहा और वो कुछ नहीं बोली. इंडियन सेक्सी ग्रुपनजदीकियों का मतलब शारीरिक सम्बन्ध, उपभोग या जिसे आज की खुली भाषा में सेक्स कहते हैं, वो सब नहीं था.

इंतज़ार करते करते कॉलेज टाइम खत्म हुआ और मैं मैम को बाइक पर लेकर घर की तरफ निकल गया. उसने मेरे 8 इंच के लण्ड को महसूस कर लिया था जल्दी से!वह सॉरी कहकर सीधी खड़ी हो गई, कहने लगी- सॉरी, ये गलती से हाथ रखा गया. दोस्तो, मेरी कंपनी में एक शादीशुदा औरत काम करती थी, उसकी उम्र कोई 23 साल होगी.

ऐसे में जब लड़की खुद ही इतनी चुदासी हो तो उसके चेहरे को देखते हुए जोर जोर से धक्के मारकर उसकी आहें निकलवाना और भी ज्यादा मजा देता है. मैं उसके होंठों के रस को चूस लेना चाहता था क्योंकि पहली बार मुझे अपने आप से ये सुख नहीं मिल रहा था.

मैं अनजान बनी कोई प्रतिक्रिया नहीं देती, सिर्फ उसकी तरफ देख कर नजर हटा लेती.

ओहह … मेरी नजरें चुधियां गईं, मैडम जिस स्थिति में लेटी थीं, वो किसी का भी लंड खड़ा कर सकता था. इस मुलाकात में मैंने एक बात पर गौर किया कि उसकी मम्मी मुझे छुप छुपकर बड़े ही सेक्सी अंदाज से देख रही थीं. मेरी चुदाई का तीसरा राउंड साढ़े ग्यारह बजे से शुरू हुआ, जिसमें आशीष ने मेरी चूत और गांड का एकदम भुर्ता बना दिया.

सेक्सी तो सेक्सी हैलो फ्रेंड्स, ये फेंटेसी Xxx स्टोरी एक कल्पना पर आधारित है, इससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की मंशा नहीं है. मैंने अपनी चड्डी और कैपरी भी खोल दी और अर्शिया के पैरों के बीच बैठ कर अर्शिया की चुत पर लंड को रगड़ने लगा.

मैंने कहा- क्या!उसने अपनी जेब से एक लिक्विड चॉकलेट की शीशी निकाली और मेरी तरफ बढ़ा दी. जब रघु ने श्रेया को ये सब बताया, तो श्रेया बोली- मतलब वो सेक्स करेगा, तभी रोल देगा. दीदी के मुंह से जोर की चीख निकलती, इससे पहले मैंने उनके होंठों को जोरों से जकड़ा और चूसने लगा.

काजल राघवानी बीएफ सेक्सी

मैंने उसकी जांघों को चौड़ा किया और अपना पूरा जोर लगा कर एक ही धक्के में अपने साढ़े छह इंच के लौड़े को उसकी चूत में घुसा दिया. भाभी बोलीं- अब समय मिल रहा है आपको हमारी शादी के बाद … इतने दिन याद ही नहीं आई क्या? इन्होंने न जाने कितनी बार आपको याद करते हुए मुझे बताया था कि राज मेरा सबसे प्यारा दोस्त है. मैं भी इस सब का पूरा आनन्द लेते हुए उसके सोये लंड को सहला कर उसे फिर से जगाने की कोशिश में थी.

वो पेट के बल लेट गए और मैं उनकी पीठ पर तेल टपका कर अपने नर्म मुलायम हाथों से मालिश करने लगी. कुछ देर बाद वो बिस्तर से नीचे उतर गई और बोली- राज तुम मुझे दुल्हन बनाकर चोदो.

मैंने कपड़े निकालते समय देखा कि उसके ब्रा की साइज बहुत बड़ी थी और चूचे तो मानो ऐसे थिरक रहे थे कि बस चूसने से ही कामुकता शांत हो सकती थी.

मेरे झटके मारने से वो तेजी से चीख उठीं लेकिन मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में कैद कर लिया था और जेबा की आवाज नहीं निकल पाई. मैंने अपने सर को हल्के से जुम्बिश देते हुए उन्हें आदाब किया और अपने काम करने में वापस लग गया. मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसकी पीठ के पीछे हाथ लेजाकर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया.

वो उन्ह आह करके सिहर उठी और बोली- धीरे से करना … तुम्हारा बहुत मोटा है. वो दृश्य कितना उत्तेजना पैदा करने वाला था … उफ़ … मेरा लौड़ा उफान मारने लगा. जैसे ही मैं गिरने को हुई, तो आशीष ने मुझे पकड़ लिया और उसका हाथ मेरे चूतड़ों पर आ पड़ा.

मैंने कहा- इसका नाम क्या है?वो आंखों से मुझे गुस्साती हुई बोलीं- साला पूरा हरामी हो गया है.

बीएफ लड़की और कुत्ते की: लंड क्या घुसा … मेरी सारी जवानी निचुड़ गई और मेरी चुत में इतनी जोर से दर्द हुआ कि मैं छटपटा कर कार्तिकेय के होंठों से अपने होंठ छुड़वाने की जद्दोजहद करने लगी. ”ओह्ह शुक्रिया सर!”रश्मि, यार प्लीज कम से कम अकेले में तो मुझे सर मत कहा करो … बड़ा फॉर्मल सा लगता है.

अब्बू ने अपने कुर्ते से अपना लण्ड पोंछा और फिर से मेरी बुर पर रखा, मेरी चूचियों को मुँह में लिया और धीरे धीरे लण्ड को अन्दर धकेलने लगे. जब किसी ने मेरे घर की कॉलबेल बजाई, तब मैं बाथरूम में थी और अपनी चुत में उंगली कर रही थी. वह भी मेरे लंड को दोबारा मुंह में लेकर खड़ा करने की कोशिश करने लगी.

पहले अपनी गांड फिर से तेल में एकदम गीली कर ले और अपनी गांड के छेद पर लंड सैट करके एक साथ झटके से लंड पर कूद जाना.

नाभि से होते हुई जब मैं वापस चुत पर गया तो पूरी चुत पानी से गीली हो चुकी थी. मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी मकान मालकिन की बड़ी बेटी मालती की चुदाई की है, जिसको उसकी सगी छोटी बहन ने ही मेरे बिस्तर तक पहुंचाया था. बड़ी बहन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं बहन की शादी के बाद उसकी ससुराल गया तो मेरी दीदी मेरा इन्तजार कर रही थी.